नई पोस्ट करें

Shri Krishna Janmabhoomi Dispute: श्री कृष्ण जन्मभूमि विवाद पर इलाहाबाद हाईकोर्ट में आज हुई सुनवाई, मथुरा जिला अदालत को दिया ये आदेश

2022-10-01 05:57:00 920

श्रीकृष्णजन्मभूमिविवादपरइलाहाबादहाईकोर्टमेंआजहुईसुनवाईमथुराजिलाअदालतकोदियायेआदेशभारत में प्‍याज की बढ़ती कीमतों को रोकने के लिए पाकिस्‍तान से होगा आयात, MMTC ने बोलियां की आमंत्रित******MMTC floats bids for import of 2,000 tonnes of onionsसरकारी स्वामित्व वाली ने प्‍याज की घरेलू आपूर्ति में सुधार लाने और बढ़ती कीमतों पर अंकुश लगाने के लिए पाकिस्तान, मिस्र, चीन और अफगानिस्तान जैसे देशों से 2,000 टन प्याज आयात के लिए बोलियां आमंत्रित की हैं। एमएमटीसी द्वारा इस साल जारी की गई यह पहली निविदा है। प्याज के भंडार की कमी की वजह से देश के अधिकांश हिस्सों में प्याज की खुदरा कीमत 50 रुपए प्रति किलोग्राम तक पहुंचने के बाद सरकार ने इसके आयात का फैसला किया है। एमएमटीसी के अनुसार, पाकिस्तान, मिस्र, चीन, अफगानिस्तान या किसी अन्य स्थान से 2,000 टन प्याज आयात के लिए बोलियां आमंत्रित की गई हैं। बोलियां 24 सितंबर से पहले जमा करानी होगी और यह 10 अक्टूबर तक वैध होगी।प्याज की खेप नवंबर के अंतिम सप्ताह तक बंदरगाह पर पहुंच जानी चाहिए। बोलीदाताओं को विभिन्न स्थान के प्याज के लिए अलग-अलग बोली अमेरिकी डॉलर में लगानी होगी। यह बोली न्यूनतम 500 टन प्याज के लिए लगानी होगी। अंतर्देशीय कंटेनर डिपो के मामले में, न्यूनतम बोली की मात्रा 250 टन के लिए होगी। आवश्यकता के आधार पर वास्तविक आपूर्ति का ऑर्डर, 250 टन प्याज की मात्रा के लिए विनियमित किया जाएगा।250 टन की इस मात्रा को, निविदा में प्राप्त कीमतों के आधार पर बढ़ाया या घटाया जा सकता है। एमएमटीसी ने पिछले साल भी प्याज की घरेलू आपूर्ति बढ़ाने और कीमतों को नियंत्रित करने के लिए प्याज का आयात किया था। केंद्रीय सहकारी एजेंसी नाफेड तथा सरकारी उपक्रम मदर डेयरी भी रियायती दरों पर दिल्ली के बाजारों में प्‍याज की आपूर्ति बढ़ा रही है। महाराष्ट्र और कर्नाटक जैसे प्रमुख प्याज उत्पादक राज्यों में खरीफ (गर्मी) फसल की कमी के चलते प्याज की कीमतें बढ़ गई हैं।

श्रीकृष्णजन्मभूमिविवादपरइलाहाबादहाईकोर्टमेंआजहुईसुनवाईमथुराजिलाअदालतकोदियायेआदेशHDFC बैंक का Q3 नेट प्रॉफि‍ट 15 प्रतिशत बढ़ा, HCL को तीसरी तिमाही में हुआ 2,070 करोड़ रुपए का मुनाफा****** HDFC बैंक का चालू वित्‍त वर्ष की तीसरी तिमाही में शुद्ध मुनाफज्ञ 15.14 प्रतिशत बढ़कर 3,865.33 करोड़ रुपए रहा है। देश में सॉफ्टवेयर क्षेत्र की चौथी बड़ी कंपनी एचसीएल टेक्‍नोलॉजी का चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में एकीकृत शुद्ध लाभ 7.8 प्रतिशत बढ़कर 2,070 करोड़ रुपए हो गया।प्राइवेट सेक्‍टर के इस बैंक को पिछले वित्‍त वर्ष की समान तिमाही में 3,356.84 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ था। दिसंबर 2016 तिमाही में बैंक की कुल आय 13.48 प्रतिशत बढ़कर 20,748.27 करोड़ रुपए रही, जो पिछले साल की समान अवधि में 18,283.31 करोड़ रुपए थी।कंपनी ने बंबई शेयर बाजार को भेजी सूचना में यह जानकारी दी है। एक साल पहले इसी अवधि में कंपनी का शुद्ध लाभ 1,920 करोड़ रुपए रहा था।चालू वित्त वर्ष की अक्‍टूबर से दिसंबर अवधि में कंपनी का एकीकृत राजस्व 14.2 प्रतिशत बढ़कर 11,814 करोड़ रुपए पर पहुंच गया।श्रीकृष्णजन्मभूमिविवादपरइलाहाबादहाईकोर्टमेंआजहुईसुनवाईमथुराजिलाअदालतकोदियायेआदेशआगरा: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के दफ्तर में मारपीट व पथराव के मामले में 10 लोग गिरफ्तार******Highlightsआगरा में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के दफ्तर पर मारपीट और पथराव के मामले में पुलिस अलर्ट मोड पर आ गई है। आगरा मारपीट केस में पुलिस ने अब तक 10 लोगों को गिरफ्तार किया है और बाकी आरोपियों की तलाश में दबिश दे रही है। ये वारदात बीती रात की बताई जा रही है।आगरा के लोहामंडी थाना इलाके में के सेवा भारती कार्यालय के बाहर संप्रदाय विशेष के लोग शराब पी रहे थे। कार्यालय में मौजूद लोगों ने उन्हें यहां शराब पीने से मना किया, जिसके बाद वहां कुछ देर बहस हुई और फिर ये लोग सेवा भारती के कार्यालय के अंदर घुस गए और वहां मौजूद लोगों से मारपीट करने लगे।अपराधी और उपद्रवियों ने RSS दफ्तर पर पथराव किया और जमकर तोड़फोड़ की। समुदाय विशेष के लोगों की इस हरकत से वहां पर काफी आक्रोश है। कार्यालय में घुसकर इनके हमला करने की खबर फैलते ही लोगों की भीड़ एकत्र हो गई। सेवा भारती और अन्य संघठनों ने रात में ही लोहामंडी थाने का घेराव किया और आरोपियों पर सख्त कार्रवाई की मांग की। फिलहाल पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ NSA और गैंगस्टर एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है। अब तक 10 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

Shri Krishna Janmabhoomi Dispute: श्री कृष्ण जन्मभूमि विवाद पर इलाहाबाद हाईकोर्ट में आज हुई सुनवाई, मथुरा जिला अदालत को दिया ये आदेश

श्रीकृष्णजन्मभूमिविवादपरइलाहाबादहाईकोर्टमेंआजहुईसुनवाईमथुराजिलाअदालतकोदियायेआदेशBJP Chintan Shivir: गुजरात में बीजेपी का चिंतन शिविर आज खत्म हुआ, बैठक में इन अहम मुद्दों पर हुई चर्चा******गुजरात बीजेपी ने साल 2022 के विधानसभा चुनावों की तैयारियां शुरू कर दी हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए अहमदाबाद में गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में हुई 2 दिन की चिंतन बैठक आज खत्म हुई।इस बैठक में बीएल संतोष, भूपेंद्र यादव सहित केंद्र और राज्य के 40 बड़े नेता और पदाधिकारी शामिल हुए थे। बैठक के दौरान आने वाले चुनावों की रणनीति पर चर्चा हुई। इसमें उन बिंदुओं पर भी बात की गई कि किन सीटों पर बीजेपी पूर्व में कमजोर रही है और आने वाले चुनाव में कितने नए चेहरों को मौका दिया जाए।इसके अलावा बीजेपी ने अगले कुछ महीनों में पार्टी के विभिन्न मोर्चों के लिए नेताओं की जिम्मेदारियां भी तय कर दी हैं। हालांकि गुजरात में बीजेपी साल 2017 के मुकाबले मजबूत स्थिति में है, फिर भी पार्टी नई रणनीतियों पर विचार कर रही है।श्रीकृष्णजन्मभूमिविवादपरइलाहाबादहाईकोर्टमेंआजहुईसुनवाईमथुराजिलाअदालतकोदियायेआदेशसुनील छेत्री के बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत केन्या को हराकर भारत बना इंटरकॉन्टिनेंटल कप का चैंपियन******करिश्माई कप्तान के दो शानदार गोलों की बदौलत ने रविवार को हीरो इंटरकॉन्टिनेंटल कप के फाइनल मुकाबले में केन्या को 2-0 से हराकर खिताब अपने नाम किया। छेत्री ने पूरे टूर्नामेंट में बेहतरीन प्रदर्शन किया। उन्होंने कुल आठ गोल किए और भारत को खिताब तक पहुंचाया। भारतीय टीम के डिफेंस ने भी चार देशों की इस प्रतियोगिता में दमदार प्रदर्शन किया और चार मैचों में केवल एक गोल खाया।फाइनल मुकाबले में दो गोल दागने के साथ ही सुनील छेत्री ने अंतर्राष्ट्रीय फुटबाल में अपने देश के लिए सर्वाधिक गोल करने के मामले में अर्जेंटीना के महान खिलाड़ी लायनल मेसी की भी बराबरी कर ली है। मेसी और छेत्री ने अपने देश के लिए 64 गोल किए हैं।छेत्री ने आठवें मिनट में भारत को बढ़त दिलाई और फिर 29वें मिनट में एक और गोल दागकर मेस्सी की बराबरी कर ली। अपने 102वें अंतरराष्ट्रीय मैच खेल रहे 33 साल के छेत्री से अधिक गोल सक्रिय खिलाड़ियों में सिर्फ पुर्तगाल के सुपरस्टार क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने किए हैं। उनके नाम पर 150 मैचों में 81 गोल दर्ज हैं। छेत्री और मेस्सी हालांकि सर्वाधिक अंतरराष्ट्रीय गोल करने वाले खिलाड़ियों की सर्वकालिक सूची में संयुक्त रूप से 21वें स्थान पर हैं।भारत ने यूएई में 2019 में होने वाले एशियाई कप की तैयारी के मकसद से इस टूर्नामेंट का आयोजन किया था और इस प्रतियोगिता में उसकी खिताब जीत दर्शाती है कि छेत्री और उनकी टीम की तैयारी सही राह पर हैं। न्यूजीलैंड के खिलाफ पिछले मैच में 1-2 की शिकस्त के बाद भारतीय टीम आज बेहतर लय में दिखी। भारत को पहला बड़ा मौका सातवें मिनट में मिला जब कीनिया के बर्नार्ड ओगिंगा के फाउल के कारण मेजबान टीम को फ्री किक मिली।अनिरुद्ध थापा की फ्री किक सीधे कप्तान सुनील छेत्री के पास पहुंची जिन्होंने इसे गोल में पहुंचाकर भारत को आठवें मिनट में 1-0 से आगे कर दिया। भारत ने दो मिनट बाद एक और अच्छा मूव बनाया लेकिन इस बार छेत्री को अन्य खिलाड़ियों से सहयोग नहीं मिला। ओगिंगा और ओवेला ओचींग ने कीनिया के लिए अच्छा मौका बनाया लेकिन भारतीय डिफेंडरों ने उनके हमले को नाकाम कर दिया।छेत्री ने 29वें मिनट में एक और गोल दागकर भारत को 2-0 की बढ़त दिलाई। भारतीय कप्तान ने अनस एडाथोडिका के लंबे पास को अपने कब्जे में लिया और फिर कीनिया के अतुडो और किबवागे को पछाड़ते हुए आगे बढ़े।छेत्री ने इसके बाद अपने दमदार शाट से गोलकीपर पैट्रिक मतासी को छकाते हुए गोल दागा। छेत्री का मौजूद टूर्नामेंट के चार मैचों में यह आठवां गोल था। ओगिंगा को फाउल करने पर 35वें जबकि कप्तान मुसा मोहम्मद को 43वें मिनट में पीला कार्ड दिखाया गया। भारतीय टीम मध्यांतर तक 2-0 से आगे थी। दूसरे हाफ में दोनों टीमों ने कई अच्छे मूव बनाए लेकिन किसी भी टीम को गोल करने में सफल नहीं मिली।श्रीकृष्णजन्मभूमिविवादपरइलाहाबादहाईकोर्टमेंआजहुईसुनवाईमथुराजिलाअदालतकोदियायेआदेशJNU Violence: जेएनयू में हुई हिंसक झड़प के विरोध में AISA का विरोध प्रदर्शन आज, एबीवीपी के छात्रों को गिरफ्तार करने की मांग******Highlights जेएनयू में रामनवमी के मौके पर हुई हिंसक झड़प का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। ABVP और लेफ्ट के बीच हुई झड़प के बाद लेफ्ट कार्यकर्ता सड़कों पर उतर आए हैं और विरोध प्रदर्शन की तैयारी में हैं। AISA ने आज यानी 11 अप्रैल को दिल्लीपुलिसहेडक्वार्टर के सामने विरोध प्रदर्शन करने का ऐलान किया है।AISA ने इस विरोध प्रदर्शन के लिए पोस्टर भी जारी किया है। जिसमें लिखा है कि जेएनयू हिंसा के लिए जिम्मेदार एबीवीपी के गुंडों को गिरफ्तार करें। इस पोस्टर में ने ये भी लिखा है कि स्टूडेंट्स पर हमला हुआ, महिलाओं का शोषण किया गया, मुस्लिम वेंडर्स अपमानित किए गए और ये सब फूड च्वाइस के नाम पर हुआ है।पोस्टर के जरिए AISA ने अपील करते हुए कहा है कि विरोध प्रदर्शन को दिल्ली पुलिस हेडक्वार्टर पर ज्वाइन करें। विरोध के लिए 11 अप्रैल दिन में 2 बजे का समय दिया गया है। जेएनएयूएसयू ने भी इस मामले में एफआईआर की मांग की है और एबीवीपी के गुंडों को गिरफ्तार करने की अपील की है। इस मामले में जेएनएयू के एसएफआई यूनिट के प्रेसीडेंट हरेंद्र शेषमा का भी बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि जो वीडियो सामने आ रहे हैं, उसमें लेफ्ट की हिंसा को साफ देखा जा सकता है।इससे पहले AISA ने ट्वीट कर ये जानकारी दी थी कि जेएनयू में एबीवीपी की गुंडागर्दी के खिलाफ जेएनयू के सैंकड़ों स्टूडेंट्स का मार्च जारी है। वसंत कुंज पुलिस स्टेशन दिल्ली का घेराव जारी है। खाने-पहनने की आजादी पर हमला नहीं चलेगा। संघी गुंडे पर दिल्ली पुलिस को कार्रवाई करना होगा।इस मामले में कावेरी हॉस्टल की मेस कमेटी ने डीन को एक पत्र भी लिखा है। इस पत्र में कमेटी ने बताया है कि मेस में 10 अप्रैल को चिकन और वेज खाना बना था और ये स्टूडेंट्स को सुनिश्चित करना था कि वह क्या खाना चाहते हैं। इसी बीच स्टूडेंट्स का एक ग्रुप मेस में आया और उसने लोगों से चिकन ना बनाने के लिए कहा। इस बीच गालीगलौच और हाथापाई भी की गई। इस मामले के सामने आने के बाद स्थिति सामान्य नहीं है। हम जेएनयू प्रशासन से ये मांग करते हैं कि वो दोषियों पर सख्त कार्रवाई करे।

Shri Krishna Janmabhoomi Dispute: श्री कृष्ण जन्मभूमि विवाद पर इलाहाबाद हाईकोर्ट में आज हुई सुनवाई, मथुरा जिला अदालत को दिया ये आदेश

श्रीकृष्णजन्मभूमिविवादपरइलाहाबादहाईकोर्टमेंआजहुईसुनवाईमथुराजिलाअदालतकोदियायेआदेशकोरोना से जंग में पतंजलि करेगी 25 करोड़ की मदद, कर्मचारी भी देंगे 1-1 दिन का वेतन******नई दिल्ली। कोरोना के खिलाफ जंग में पतंजलि 25 करोड़ रुपये की मदद देगी। आज स्वामी रामदेव ने मदद का ऐलान किया है। स्वामी रामदेव के मुताबिक पतंजलि की तरफ से ये मदद प्रधानमंत्री की अपील के बाद की गई है। इस रकम को पीएम केयर फंड में जमा कराया जाएगा।स्वामी रामदेव के मुताबिक पतंजलि और उसकी सहयोगी कंपनियों के कर्मचारी भी अपनी 1-1 दिन का वेतन भी फंड में देंगे। उन्होने पतंजलि से जुड़े श्रद्धालुओं से भी फंड में दान करने की अपील की है। इसके साथ ही स्वामी रामदेव ने कहा कि पतंजलि की 5 सस्थाएं किसी भी आपातकाल से निपटने के लिए सेवाएं देने के लिए तैयार हैं।श्रीकृष्णजन्मभूमिविवादपरइलाहाबादहाईकोर्टमेंआजहुईसुनवाईमथुराजिलाअदालतकोदियायेआदेशरेलवे के फ्लेक्सी-फेयर परेशान यात्रियों के लिए अच्छी खबर, 40 गाड़ियों के टिकट पर हट सकता है ये नियम******Railway can remove flexi fares system in 40 trains sources says राजधानी, शताब्दी या दुरंतो गाड़ियों से सफर करने वाले रेल यात्रियों के लिए अच्छी खबर है, सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक भारतीयरेल 40 गाड़ियों से पॉलिसी के नियम को हटा सकता है। इस नियम की वजह से कई बार रेल का टिकट हवाई टिकट से भी महंगा हो जाता है जिस वजह से रेलवे की सितंबर 2016 में लॉन्च हुई इस डायनामिक प्राइसिंग पॉलिसी का काफी विरोध होता रहा है। इतना ही नहीं, सूत्रों की जानकारी के मुताबिक जिन 102 गाड़ियों में अभी यह पॉलिसी बनी रहेगी उनमें गाड़ी छूटने से कुछ समय पहले की जाने वाली बुकिंग में रेलवे 50 प्रतिशत तक का डिस्काउंट भी दे सकता है।रेलवे ने सितंबर 2016 में फ्लेक्सी फेयर पॉलिसी को लागू किया था, इस नियम को 44 राजधानी, 46 शताब्दी और 52 दुरंतो गाड़ियों में लागू किया गया था। लेकिन इस नियम की वजह से कई बार रेलगाड़ी का टिकट हवाई जहाज के टिकट से भी महंगा हो जाता है।

Shri Krishna Janmabhoomi Dispute: श्री कृष्ण जन्मभूमि विवाद पर इलाहाबाद हाईकोर्ट में आज हुई सुनवाई, मथुरा जिला अदालत को दिया ये आदेश

श्रीकृष्णजन्मभूमिविवादपरइलाहाबादहाईकोर्टमेंआजहुईसुनवाईमथुराजिलाअदालतकोदियायेआदेशNitin Gadkari: किसी को भी ‘इस्तेमाल करो फेको’ की दौर में शामिल नहीं होना चाहिए: गडकरी******Highlightsहाल में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के संसदीय बोर्ड से हटाए जाने को लेकर चर्चा में रहे नितिन गडकरी ने कहा, ‘किसी को भी ‘इस्तेमाल करो फेको’ की दौर में नहीं शामिल होना चाहिए। अच्छे दिन हों या बुरे दिन, जब एक बार किसी का हाथ थाम लें, उसे थामें रहें। उगते सूरज की पूजा न करें।’’ गडकरी ने याद किया कि जब वह छात्र नेता थे, तब कांग्रेस नेता श्रीकांत जिचकर ने उन्हें बेहतर भविष्य के लिए कांग्रेस में शामिल होने के लिए कहा था। केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘‘मैंने श्रीकांत से कहा, मैं कुएं में कूदकर मर जाऊंगा, लेकिन कांग्रेस में शामिल नहीं होऊंगा, क्योंकि मुझे कांग्रेस की विचारधारा पसंद नहीं है।’’हारने पर आदमी का अंत नहीं होता: गडकरीगडकरी ने कहा कि युवा उद्यमियों को पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन की आत्मकथा का वाक्य याद रखना चाहिए कि हारने पर आदमी का अंत नहीं होता है, लेकिन जब वह हार मान लेता है तो वह खत्म हो जाता है। शनिवार को गडकरी नागपुर में उद्यमियों की एक बैठक को संबोधित कर रहे थे।, इस दौरान उन्होंने यह बात कही। उन्होंने यह भी कहा कि जो कोई भी व्यवसाय, सामाजिक कार्य या राजनीति में है, उसके लिए मानवीय संबंध सबसे बड़ी ताकत है।बीजेपी संसदीय बोर्ड में गडकरी को नहीं मिली जगहहाल ही में बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने नए बीजेपी संसदीय बोर्ड और केंद्रीय चुनाव समिति का गठन किया। संसदीय बोर्ड से केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान को हटा दिया गया। इस बार बीजेपी ने बोर्ड में कई नए चेहरों को जगह दी, जिसमें बी एस येदियुरप्पा, सर्वानंद सोनोवाल और के लक्ष्मण को शामिल किया गया है।बता दें, बीजेपी का हालही में बिहार में जेडीयू के साथ गठबंधन टूटा है। इसके बाद बीजेपी का अपने सदीय बोर्ड में बदलाव करना एक अहम कदम है। बीजेपी कोर ग्रुप की मीटिंग में गृह मंत्री अमित शाह ने कहा भी था कि जेडीयू के अलग होने से अगले लोकसभा चुनाव में हमें फर्क नहीं पड़ेगा। उन्होंने कहा कि 35 सीट पर जीत का टारगेट रखकर चुनाव लड़ेंगे और जीतेंगे। इस दौरान शाह ने प्रदेश संगठन के नेताओं को जी जान से जुटने को कहा और कोर ग्रुप के सभी नेताओं को हर जिले में प्रवास शुरू करने को कहा।

श्रीकृष्णजन्मभूमिविवादपरइलाहाबादहाईकोर्टमेंआजहुईसुनवाईमथुराजिलाअदालतकोदियायेआदेशनोटबंदी के बाद डाकघरों में जमा हुए 32,631 करोड़ रुपए, एक्‍सचेंज किए गए 3680 करोड़ के नोट****** सरकार द्वारा 500 और 1,000 का नोट बंद करने की घोषणा के बाद देशभर में करीब 1.55 लाख डाकघरों में 32,631 करोड़ रुपये की राशि जमा हुई है।डाक विभाग के सचिव बी वी सुधाकर ने कहा कि इस दौरान डाकघरों ने 3,680 करोड़ रुपए के पुराने नोट बदले हैं।उन्‍होंने बताया कि 10 नवंबर से 24 नवंबर के दौरान हमने 3,680 करोड़ रुपए मूल्य के 578 लाख नोट बदले हैं।यह पूछे जाने पर कि ग्रामीण और शहरी इलाकों में कितने नोट बदले गए और कितने जमा हुए, सुधाकर ने कहा कि 88 प्रतिशत डाकघर ग्रामीण इलाकों में हैं। इस लिहाज से ज्यादातर लेनदेन ग्रामीण इलाकों में हुआ है।उन्होंने कहा कि विभाग ने इस बात की विशेष व्यवस्था की है कि नकदी ग्रामीण इलाकों के डाकघरों में पहुंच सके।श्रीकृष्णजन्मभूमिविवादपरइलाहाबादहाईकोर्टमेंआजहुईसुनवाईमथुराजिलाअदालतकोदियायेआदेशRang Panchami 2022: रंग पंचमी पर करें ये खास उपाय, हर संकट होगा दूर******Highlightsचैत्र कृष्ण पक्ष की उदया तिथि चतुर्थी और मंगलवार का दिन है। चतुर्थी तिथि मंगलवार को सुबह 6 बजकर 24 मिनट पर समाप्त हो चुकी है। फिलहाल पंचमी तिथि चल रही है। आज रंग पंचमी का त्योहार है। होली के बाद चैत्र कृष्ण पक्ष की पंचमी तिथि को का त्योहार मनाया जाता है। दरअसल बहुत-सी जगहों पर होली समेत पांच दिनों तक रंग खेलने की परंपरा है, यानि असल में होली का त्योहार रंग पंचमी के दिन सम्पूर्ण होता है।आचार्य इंदु प्रकाश के अनुसार महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, यू.पी, राजस्थान आदि जगहों पर विशेष रूप से ये त्योहार मनाया जाता है। होली की तरह ही इस दिन भी खूब अबीर-गुलाल उड़ाया जाता है और एक-दूसरे के रंग लगाया जाता है। आज वायुमंडल में रंग उड़ाने से या शरीर पर रंग लगाने से व्यक्ति के अंदर सकारात्मक शक्तियों का संचार होता है और आस-पास मौजूद नकारात्मक शक्तियां क्षीण हो जाती हैं।आइए आचार्य इंदु प्रकाश से जानते हैं आज किए जाने वाले विशेष उपायों की, जिसे करके आप अपने दाम्पत्य जीवन को बेहतर बनाने, भविष्य में अपनी तरक्की सुनिश्चित करने, अपने अन्दर पॉजिटिव उर्जा बरकरार रखने और अपनी आर्थिक स्थिति को और बेहतर बनाने में जरूर सफल होंगे।

श्रीकृष्णजन्मभूमिविवादपरइलाहाबादहाईकोर्टमेंआजहुईसुनवाईमथुराजिलाअदालतकोदियायेआदेशMost Influential Indians: इंडिया टीवी के एडिटर-इन-चीफ रजत शर्मा बने 'सबसे प्रभावशाली भारतीय'******Highlightsभारत की 75वें स्वतंत्रता की पूर्व संध्या पर, इंडिया टीवी के एडिटर-इन-चीफ रजत शर्मा को ब्रिटिश सम्राट से संबंधित लंदन ब्रिज पर आयोजित कार्यक्रम 'सबसे प्रभावशाली भारत' (Most Influential India) में 'सबसे प्रभावशाली भारतीय' (Most Influential Indians) के विशेष सम्मान से नवाजा गया। इस बेहद खास कार्यक्रम का आयोजन एलीट मैगजीन (ELITE Magazine) के एमडी पुरस्कार थडानी के नेतृत्व में किया गया। रजत शर्मा के साथ इस प्रतिष्ठित कार्यक्रम में इंडिया टीवी की एमडी रितु धवन भी शामिल हुईं। लंदन ब्रिज पर आयोजित इस कार्यक्रम 'सबसे प्रभावशाली भारत' में सद्गुरु और सोनू सूद जैसी हस्तियों को भी 'सबसे प्रभावशाली भारतीय' के सम्मान से पुरस्कृत किया गया।इस सम्मान के पीछे इंडिया टीवी के करोड़ों दर्शकों का प्यार और भरोसा है, जिन्होंने इंडिया टीवी को देश का सबसे ज्यादा लोकप्रिय हिंदी न्यूज चैनल बनाया है। रजत शर्मा का शो 'आपकी अदालत' पिछले 28 साल से देश का सबसे पसंदीदा शो बना हुआ है। वहीं रोज रात को प्रसारित होने वाला शो 'आज की बात' भी दर्शकों का सबसे पसंदीदा शो है।आपको बता दें कि रजत शर्मा सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म Twitter पर भी सबसे ज्यादा फॉलो किए जाने वाले भारतीय पत्रकार हैं। सोशल मीडिया कंसल्टेंट मैट नवारा के मुताबिक Twitter पर पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा फॉलो किए जाने वाले पत्रकारों में भी वह तीसरे नंबर पर हैं।जिम्मेदारी का अहसास कराता है अवॉर्डइस अवॉर्ड के मिलने पर एडिटर-इन-चीफ रजत शर्मा ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि कोई भी पुरस्कार हमेशा जिम्मेदारी का अहसास कराता है। इस अवॉर्ड से प्रेरणा मिलती है कि जो जिम्मेदारी दी गई है, मैं उसे अच्छी तरह से निभा सकूं। उन्होंने कहा कि लंदन ब्रिज पर आजादी का अमृत महोत्सव मनाना, इस पर हर हिंदुस्तानी को गर्व है। सबके साथ मिलकर यहां 'भारत माता की जय' कहें, यह अपने आप में प्राउड मोमेंट है।श्रीकृष्णजन्मभूमिविवादपरइलाहाबादहाईकोर्टमेंआजहुईसुनवाईमथुराजिलाअदालतकोदियायेआदेशPadma Awards 2022: दिवंगत नेता कल्याण सिंह समेत 74 हस्तियों को किया जाएगा पद्म पुरस्कार से सम्मानित******Highlightsराष्ट्रपति रामनाथ कोविंद सोमवार को 74 हस्तियों को पद्म पुरस्कार से सम्मानित करेंगे जिनमें भारतीय जनता पार्टी के दिवंगत नेता कल्याण सिंह और अभिनेता विक्टर बनर्जी शामिल हैं। राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक समारोह में यह पुरस्कार दिए जाएंगे। इस साल 128 पद्म पुरस्कारों की घोषणा की गई है। पहला समारोह 21 मार्च को आयोजित किया गया था जिसमें 54 हस्तियों को पुरस्कार प्रदान किये गए थे।एक आधिकारिक बयान में कहा गया कि दूसरे समारोह के दौरान उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह (मरणोपरांत) तथा शास्त्रीय गायिका प्रभा आत्रे को पद्म विभूषण से सम्मानित किया जाएगा। इसके अलावा विक्टर बनर्जी तथा कोवैक्सीन टीके की निर्माता कंपनी बायोटेक के कृष्ण मूर्ति एल्ला और सुचित्रा कृष्ण एल्ला को पद्म भूषण प्रदान किये जाएगा। यह पुरस्कार तीन श्रेणियों- पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्म श्री में दिए जाते हैं। इस साल चार पद्म विभूषण, 17 पद्म भूषण और 107 पद्मश्री पुरस्कारों की घोषणा की गई है।

श्रीकृष्णजन्मभूमिविवादपरइलाहाबादहाईकोर्टमेंआजहुईसुनवाईमथुराजिलाअदालतकोदियायेआदेश2007 टी20 वर्ल्ड कप के बाद भारत क्यों नहीं जीत पाया खिताब? जानें क्या है कारण******आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप 2021 यूएई और ओमान में 17 अक्टूबर से शुरू होने जा रहा है। भारत इस टूर्नामेंट में अपने अभियान की शुरुआत 24 तारीख को पाकिस्तान के खिलाफ मुकाबला खेलकर करेगी। भारत सुपर 12 के दूसरे ग्रुप में है जिसमें भारत-पाकिस्तान के अलावा न्यूजीलैंड और अफगानिस्तान की टीमें भी है। इस ग्रुप में क्वालीफायर राउंड के बाद दो और टीमें भी जुड़ेगी।भारत की नजरें इस बार 14 साल के सूखे को खत्म करने पर होगी। टीम इंडिया ने महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई में आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप का पहला खिताब अपने नाम किया था। मगर उसके बाद 5 टी20 वर्ल्ड कप में भारत जीत हासिल नहीं कर पाया है। 2007 में खिताब जीने के बाद भारत 2009, 2010 और 2012 में दूसरे राउंड में ही बाहर हो गया था। 2014 में टीम इंडिया ने शानदार वापसी करते हुए फाइनल तक का सफर तय किया, लेकिन वहां उन्हें श्रीलंका के हाथों हार का सामना करना पड़ा। 2016 टी20 वर्ल्ड कप भारत में खेला गया था, सबको उम्मीद थी कि भारत यह वर्ल्ड कप जीत सकता है मगर सेमीफाइनल में वेस्टइंडीज की टीम ने भारत का सपना तोड़ दिया।आइए जानते हैं 2007 वर्ल्ड कप के बाद ऐसा क्या हुआ कि टीम इंडिया खिताब अपने नाम करने में कामयाब नहीं रही-उम्मीदों का बोझ बढ़ा2007 में जब भारत साउथ अफ्रीका में पहला वर्ल्ड कप खेलने गया था तो किसी को उम्मीद नहीं थी कि टीम यह खिताब जीतकर आएगी। मार्च 2007 में ही टीम इंडिया एकदिवसीय वर्ल्ड कप में बांग्लादेश के हाथों हार कर बाहर हुआ था। सितंबर में खेले गए इस वर्ल्ड कप में बीसीसीआई ने नए कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई में एक युवा टीम इस टूर्नामेंट में खेलने के लिए भेजी थी। उस टीम में सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़ और जहीर खान जैसे सितारे नहीं थे। क्रिकेट के नए फॉर्मेट का यह पहला वर्ल्ड कप था तो किसी ने इसे गंभीरता से नहीं लिया था। मगर धोनी की कप्तानी में भारत ने फाइनल में पाकिस्तान को चित किया और खिताब अपने नाम किया। इसके बाद पूरा देश इस वर्ल्ड कप को सीरियर लेने लगा और यहीं से टीम इंडिया पर उम्मीदों का बोझ बढ़ गया।टूर्नामेंट में कॉम्पिटीशन बढ़ा2007 वर्ल्ड कप के बाद इस फॉर्मेट ने पूरी दुनिया का ध्यान अपनी ओर खिंचा। टी20 वर्ल्ड कप के बाद भारत ने इंडियन प्रीमियर लीग शुरू की चिसने खूब सुर्खियां बटौरी, भारत को देखते-देखते कई देशों ने अपने यहां टी20 लीग का आयोजन कराना शुरू कर दिया। यहां से इस लीग में साल दर साल प्रतिस्पर्धा बढ़ती रही और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मजबूत टीमें तैयार होती रही। 70-80 के दशक तक वर्ल्ड क्रिकेट पर राज करने वाली वेस्टइंडीज की छवी धूमिल होने लगी थी, लेकिन इस फॉर्मेट ने एक बार फिर वेस्टइंडीज क्रिकेट को जिंदा कर दिया है। विंडीज की टीम ने 2012 और 2016 टी20 वर्ल्ड कप का खिताब अपने नाम किया। वेस्टइंडीज के अलावा इंग्लैंड, पाकिस्तान और अफगानिस्तान जैसी टीमें भी इस फॉर्मेट में अपना लोहा मनवा चुकी है।गेंदबाजी अटैकभारत जब 2007 वर्ल्ड कप खेलने गया था तो टीम में हरभजन सिंह, इरफान पठान, आरपी सिंह, अजीत अगरकर, एस श्रीसंत और जोगिंदर शर्मा जैसे गेंदबाज थे। यह गेंदबाज हर एक मैच में परफॉर्म कर टीम की जीत में अहम भूमिका निभाते थे। 2007 टी20 वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले टॉप 10 गेंदबाजों में आरसीपी सिंह और इरफान पठान का नाम था। इसके बाद जरूर जहीर खान, रविंद्र जडेजा और इशांत शर्मा भारत के लिए टी20 वर्ल्ड कप खेले, लेकिन वह अपनी छाप छोड़ने में नाकाम रहे।परफेक्ट सलामी जोड़ीटी20 फॉर्मेट के लिए कहा जाता है कि इसमें अगर किसी टीम को सफलता हासिल करनी है तो उसके सलामी बल्लेबाजों को निरंतर परफॉर्म करना होगा। भारत जब 2007 टी20 वर्ल्ड कप खेलने गया था तो यह काम वीरेंद्र सहवाग और गौतम गंभी की जोड़ी ने करके दिखाया था। वीरेंद्र सहवाग और गौतम गंभीर की जोड़ी ने पहले टी20 में 274 रन जोड़े थे। मगर इसके बाद कभी भारत को एक परफेक्ट सलामी जोड़ी नहीं मिली। 2007 वर्ल्ड कप के बाद भारत ने रोहित शर्मा, दिनेश कार्तिक और मुरली विजय जैसे खिलाड़ियों को भी आजमाया लेकिन वो सफल नहीं हो पाए। 2014 में भारत को रोहित धवन के रूप में एक बेहतरीन सलामी जोड़ी मिली थी और उस वर्ल्ड कप में टीम इंडिया फाइनल तक पहुंचने में कामयाब रही थी।श्रीकृष्णजन्मभूमिविवादपरइलाहाबादहाईकोर्टमेंआजहुईसुनवाईमथुराजिलाअदालतकोदियायेआदेशGDP में इस साल आ सकती है 9.5 प्रतिशत गिरावट, जानिए RBI मौद्रिक नीति समिति बैठक की 13 मुख्य बातें******RBI says GDP likely to contract 9.5 pc in FY'21, know 13 main points of Monetary Policy Committee भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने शुक्रवार को कहा कि चालू वित्त वर्ष में अर्थव्यवस्था में 9.5 प्रतिशत की गिरावट आ सकती है। मौद्रिक नीति समिति की तीन दिन चली समीक्षा बैठक के बाद रिजर्व बैंक ने यह अनुमान व्यक्त किया है। इससे पहले केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) द्वारा जारी अनुमान के अनुसार पहली तिमाही में जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) में 23.9 प्रतिशत की गिरावट आई है। मौद्रिक नीति समिति की बुधवार को शुरू हुई बैठक के बाद आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था कोरोना वायरस के खिलाफ अभियान में निर्णायक चरण में प्रवेश कर रही है। अप्रैल-जून तिमाही में अर्थव्यवस्था में आई गिरावट अब पीछे रह गई है और अर्थव्यवस्था में उम्मीद की किरण दिखने लगी है। उन्होंने विनिर्माण क्षेत्र और ऊर्जा खपत में तेजी का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि मुद्रास्फीति भी 2020-21 की चौथी तिमाही में कम होकर तय लक्ष्य के दायरे में आ सकती है। उल्लेखनीय है कि खुदरा मुद्रास्फीति हाल के महीनों में छह प्रतिशत से ऊपर पहुंच गई। आरबीआई मौद्रिक नीति समीक्षा में मुख्य रूप से खुदरा मुद्रास्फीति (सीपीआई) पर गौर करता है। सरकार ने आरबीआई को दो प्रतिशत घट-बढ़ के साथ मुद्रास्फीति को 4 प्रतिशत पर रखने का लक्ष्य दिया हुआ है।दास ने कहा कि जीडीपी में चालू वित्त वर्ष में 9.5 प्रतिशत की गिरावट आने का अनुमान है। उन्होंने यह भी कहा कि चालू वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में अर्थव्यवस्था में तेजी आएगी और जनवरी-मार्च तिमाही में यह सकारात्मक दायरे में पहुंच सकती है।मौद्रिक नीति की समीक्षा बैठक की प्रमुख बातें

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 05:23
उद्धरण 1 इमारत
यूपी में 5 साल में बेरोजगारी दर 17 प्रतिशत से घटकर चार-पांच प्रतिशत रह गई: योगी आदित्यनाथ****** उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने शुक्रवार को दावा किया कि वर्ष 2016 में प्रदेश में 17 प्रतिशत से अधिक बेरोजगारी दर थी जो अब घटकर मात्र चार से पांच प्रतिशत रह गई है। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने शुक्रवार को यहां लोक भवन में विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के अन्तर्गत प्रशिक्षित लाभार्थियों को टूलकिट एवं प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अंतर्गत ऋण वितरित करने के बाद आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि ''पिछले डेढ़ वर्षों से पूरी दुनिया वैश्विक महामारी कोविड-19 से जूझ रही है, ऐसी परिस्थितियों में देश में लॉकडाउन लगाना पड़ा था और लॉकडाउन के दौरान 40 लाख से अधिक प्रवासी कामगार तथा श्रमिक प्रदेश में वापस आ गये थे।'' ने कहा कि ''इस दौरान परम्परागत कारीगरों, हस्तशिल्पियों तथा उद्यमियों ने ऐसा तंत्र विकसित किया, जिससे उनके स्वावलम्बन के साथ ही प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत बनाने की संकल्पना को गति मिली है।'' मुख्यमंत्री ने कहा कि ''प्रदेश की आबादी 24 करोड़ है, बेरोजगारी दर प्रदेश में देश के अन्य राज्यों की तुलना में बहुत कम है और वर्ष 2016 में प्रदेश में 17 प्रतिशत से अधिक बेरोजगारी दर थी, वहीं आज यह घटकर मात्र चार से पांच प्रतिशत रह गयी है।''शुक्रवार को जारी सरकारी बयान के अनुसार सम्पूर्ण प्रदेश में आयोजित इस कार्यक्रम के माध्यम से 21,000 लाभार्थियों को टूलकिट तथा 11,000 लाभार्थियों को प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अंतर्गत ऋण वितरित किया गया। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि इस वर्ष दीपोत्सव के अवसर पर अयोध्या में साढ़े सात लाख दीये जलाए जाने का लक्ष्य है और इन दीयों को अयोध्या में ही बनाया जायेगा।उन्होंने कहा कि आगामी छह अक्टूबर को नरेन्द्र मोदी के मुख्यमंत्री व प्रधानमंत्री के रूप में जनसेवा के 20 वर्ष पूर्ण हो रहे हैं और उन्होंने (मोदी) अपने नेतृत्व क्षमता से देश को एक नई दिशा प्रदान की है। उनकी जनसेवाओं को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा आज 17 सितम्बर से सात अक्टूबर, 2021 तक विकास उत्सव के रूप में आयोजित किया जा रहा है।योगी ने कहा कि विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के अन्तर्गत 68,400 से अधिक लोगों को प्रशिक्षित किया गया है। कार्यक्रम को सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम राज्यमंत्री चौधरी उदयभान सिंह समेत कई प्रमुख लोगों ने संबोधित किया।
2022-10-01 04:36
उद्धरण 2 इमारत
Nag Panchami 2022: कालसर्प दोष से हैं परेशान? नाग पंचमी पर करें ये उपाय******नाग पंचमी हर साल श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को मनाया जाता है। इस बार नाग पंचमी 2 अगस्त 2022 को मनाया जाएगा। नाग पंचमी के दिन नागों की पूजा की जाती है, उन्हें दूध पिलाया जाता है। नाग पंचमी पर नागों की पूजा करने से कुंडली के कालसर्प दोष खत्म हो जाता है। आप भी नाग पंचमी पर नाग की पूजा करके अपनी कुंडली से कालसर्प दोष को दूर कर सकते हैं।इस व्रत के एक दिन पूर्व यानि चतुर्थी को एक समय भोजन कर पंचमी तिथि को उपवास रखें। गरुड़ पुराण के अनुसार, व्रती अपने घर के दोनों ओर नागों को चित्रित करके उनकी विधि पूर्वक पूजा करें। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, पंचमी तिथि के स्वामी नाग हैं, इसलिए भक्तिभाव के साथ गंध, पुष्प, धूप, कच्चा दूध, खीर, भीगा हुआ बाजरा और घी से नाग देवता का पूजन करें। उन्हें लावा और दूध अर्पण करें। इस दिन सपेरों और ब्राह्मणों को भी लड्डू और दक्षिणा दान करें।
2022-10-01 04:34
उद्धरण 3 इमारत
नोटबंदी के बाद डाकघरों में जमा हुए 32,631 करोड़ रुपए, एक्‍सचेंज किए गए 3680 करोड़ के नोट****** सरकार द्वारा 500 और 1,000 का नोट बंद करने की घोषणा के बाद देशभर में करीब 1.55 लाख डाकघरों में 32,631 करोड़ रुपये की राशि जमा हुई है।डाक विभाग के सचिव बी वी सुधाकर ने कहा कि इस दौरान डाकघरों ने 3,680 करोड़ रुपए के पुराने नोट बदले हैं।उन्‍होंने बताया कि 10 नवंबर से 24 नवंबर के दौरान हमने 3,680 करोड़ रुपए मूल्य के 578 लाख नोट बदले हैं।यह पूछे जाने पर कि ग्रामीण और शहरी इलाकों में कितने नोट बदले गए और कितने जमा हुए, सुधाकर ने कहा कि 88 प्रतिशत डाकघर ग्रामीण इलाकों में हैं। इस लिहाज से ज्यादातर लेनदेन ग्रामीण इलाकों में हुआ है।उन्होंने कहा कि विभाग ने इस बात की विशेष व्यवस्था की है कि नकदी ग्रामीण इलाकों के डाकघरों में पहुंच सके।
वापसी
नई पोस्ट करें
440102
विषयों की संख्या
6785
पदों की संख्या
94657
उपयोगकर्ता संख्या
440102
ऑनलाइन
56