नई पोस्ट करें

सामना ने संपादकीय में BJP नेता किरीट सोमैया को बताया देशद्रोही, कहा- जूते मारो!

2022-10-01 05:46:13 089

सामनानेसंपादकीयमेंBJPनेताकिरीटसोमैयाकोबतायादेशद्रोहीकहाजूतेमारोदिल्ली में रहते हैं और इलेक्ट्रिक वाहन चलाते हैं तो खुश हो जाइए, आपको मिलने जा रहे हैं 18 हजार चार्जिंग पॉइंट्स******दिल्ली में इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए प्रमुख सड़कों पर अब कर्बसाइड चार्जिंग की सुविधा मिल सकेगी। इसके लिए पीडब्ल्यूडी की सड़कों पर ईवी चार्जिंग पॉइंट स्थापित करने की योजना बनाई जा रही है। कर्बसाइड चार्जिंग, विश्व स्तर पर एक उभरती हुई तकनीक है, जिसमें इलेक्ट्रिक वाहन को सड़क के किनारे खड़ा कर स्ट्रीट लाइट, लैंप पोस्ट या चार्जिंग पोस्ट के माध्यम से चार्ज किया जा सकता है। पिछले महीने, दिल्ली सरकार ने दिल्ली में चार्जिंग और स्वैपिंग इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए 3 साल की कार्य योजना तैयार की। जिसमें 18 हजार चार्जिंग पॉइंट बनाने का लक्ष्य रखा गया था। इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए कर्बसाइड चार्जिंग महत्वपूर्ण रणनीति है। इसके तहत मौजूदा सिविक और इलेक्ट्रिकल इंफ्रास्ट्रक्चर का इस्तेमाल किया जाता है।दिल्ली में डायलॉग एंड डेवलपमेंट कमीशन ने सोमवार को इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए कर्बसाइड चार्जिंग स्थापित करने के लिए एक बैठक बुलाई। डीडीसी की ओर से उपाध्यक्ष जैस्मिन शाह की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में परिवहन विभाग, लोक निर्माण विभाग, दिल्ली ट्रांसको लिमिटेड (डीटीएल), बीएसईएस राजधानी पावर लिमिटेड, बीएसईएस यमुना पावर लिमिटेड, और टाटा पावर दिल्ली डिस्ट्रीब्यूशन लिमिटेड के अधिकारियों ने भाग लिया।बैठक में निर्णय लिया गया कि कर्बसाइड चार्जिंग के लिए लैंप पोस्ट और ऑन-स्ट्रीट पार्किंग की साइटों के करीब खाली पड़े सबस्टेशन का इस्तेमाल किया जाएगा। यह प्रक्रिया पायलट प्रोजेक्ट में सभी तीनों डिस्कॉम में 100 कर्बसाइड चार्जर स्थापित कर शुरू होगी। पायलट प्रोजेक्ट को डीडीसी के निर्देशन में डिजाइन किया जाएगा। पीडब्ल्यूडी सड़कों पर कर्बसाइड चार्जर लगाने की जिम्मेदारी डिस्कॉम की होगी। दिल्ली में पीडब्ल्यूडी की 1400 किलोमीटर लंबी सड़कें हैं। जिनमें करीब 1 लाख लैम्प पोस्ट हैं। पायलट प्रोजेक्ट की सफलता के बाद इसका पूरी दिल्ली में विस्तार किया जाएगा। दिल्ली की सभी प्रमुख सड़कों पर ईवी चार्जर लगाने का लक्ष्य है। कर्बसाइड चार्जिंग से दोपहिया और तिपहिया वाहनों को सुविधाजनक चार्जिंग का विकल्प मिलेगा। इसके अलावा जिन आवासीय कॉलोनियों में पार्किंग की सुविधा ठीक नहीं है, वहां इनकी महत्वपूर्ण भूमिका होगी। इसके तहत सड़क पर पार्किंग के साथ वाणिज्यिक बाजारों और सरकारी कार्यालयों के क्षेत्र का भी उपयोग किया जा सकता है।बैठक के दौरान सामने आया कि विश्व स्तर पर लंदन और न्यूयॉर्क जैसे शहरों में कर्बसाइड चार्जिंग सफल रही है। वहां 30 से 50 फीसदी कार चालक रात में स्ट्रीट साइड पार्किंग का उपयोग करते हैं। यूके में 5500 से अधिक कर्बसाइड ईवी चार्जर लगाए गए हैं, जिनमें से 80 फीसदी लंदन में ही हैं। न्यूयॉर्क ने भी इसी तरह के पायलट प्रोजेक्ट लागू किए हैं। बैठक में स्टेकहोल्डर्स द्वारा पहल की सराहना की गई। डिस्कॉम उन सड़कों की पहचान करेगा, जहां पायलट प्रोजेक्ट के तहत 100 ईवी चार्जर शुरू किए जा सकते हैं। परिवहन विभाग के ईवी सेल के साथ दिल्ली ट्रांसको लिमिटेड (डीटीएल) इसके संचालन की नोडल एजेंसी होगी। दिल्ली सरकार ने अगले 3 सालों में 5 हजार से अधिक कर्बसाइड चार्जर लगाने का लक्ष्य रखा है।डीडीसी उपाध्यक्ष जैस्मिन शाह ने कहा कि दिल्ली पहले ही देश में सबसे अधिक 2500 से अधिक ईवी चार्जिंग पॉइंट स्थापित कर चुकी हैं। अब इसी तरह दिल्ली सरकार सभी प्रमुख सड़कों पर इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए कार्बसाइड चार्जिंग सुविधा स्थापित करेगी। कर्बसाइड चार्जिंग एक शानदार पहल है। जिसे दिल्ली सरकार दोपहिया-तिपहिया इलैक्ट्रिक वाहनों के लिए 24 घंटे चार्जिंग सुनिश्चित करने के लिए लागू कर रही है।

सामनानेसंपादकीयमेंBJPनेताकिरीटसोमैयाकोबतायादेशद्रोहीकहाजूतेमारोएयरइंडिया अगले दो-तीन साल में 500 पायलट और 1,500 विमानकर्मियों की करेगी नियुक्ति****** एयरइंडिया अगले दो से तीन साल में 500 पायलट और चालक दल के लिए 1,500 से अधिक लोगों की नियुक्ति करेगी। इस दौरान कंपनी के बेड़े में बड़े विस्तार होने की उम्मीद है। एयर इंडिया के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि फिलहाल एयरइंडिया के पास 858 पायलट हैं और पिछले दो साल में करीब 100 पायलट कंपनी छोड़ गए हैं। इसके अलावा सरकारी विमान कंपनी विस्तार करने की तैयारी कर रही है। इसको देखते हुए भर्तियां की जाएंगी।एयर इंडिया के महाप्रबंधक (परिचालन) एन शिवरामकृष्णन ने कहा, हम अपने बेड़े के आकार में विस्तार के मद्देनजर अगले दो से तीन साल में 700 और पायलट की नियुक्ति पर विचार कर रहे हैं। पिछले साल अगस्त से लेकर अब तक हमने 250 पायलट नियुक्त किए हैं। इसलिए करीब 500 और पायलट की नियुक्ति कर रहे हैं। 400 पायलट के लिए विज्ञापन जारी किए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि पिछले साल एयरइंडिया ने 200 प्रशिक्षु पायलट नियुक्त करने की योजना बनाई थी पर उसमें सिर्फ 78 पायलट नियुक्त किए जा सके। अब वे पायलट विभिन्न वायु मार्गों पर उड़ान भर रहे हैं। उम्मीद है कि इस साल दिसंबर तक करीब 150 पायलट प्रशिक्षण पूरा कर लेंगे।Air India spl menuशिवरामकृष्णन ने कहा, हमने चालक दल सदस्य के तौर पर 3,000 लोगों को नियुक्त करने की योजना बनाई है। इसके अलावा हम अगले दो-तीन साल में 1,500 से अधिक चालक दल सदस्य नियुक्त करने पर विचार कर रहे हैं। पायलटों के लिए प्रशिक्षण सुविधा के संबंध में अधिकारी ने कहा कि फिलहाल उनके हैदराबाद में तीन और मुंबई में चार सिम्यूलेटर हैं। हैदराबाद के सिम्यूलेटर ए320 से संबद्ध हैं जबकि मुंबई के चार सिम्यूलेटर बोइंग परिवार के विमानों से सम्बद्ध हैं।सामनानेसंपादकीयमेंBJPनेताकिरीटसोमैयाकोबतायादेशद्रोहीकहाजूतेमारोपीएम मोदी ने कहा कोल सेक्टर को लॉकडाउन से मिली मुक्ति, 41 कोयला खदानों की नीलामी प्रक्रिया शुरू******PM Modiप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 41 कोयला खदानों की नीलामी प्रक्रिया की आज शुरुआत की। इस मौके पर प्रधानमंत्री ने कहा कि आज हम कोयला खदानों को लॉकडाउन से बाहर निकाल रहे हैं। भारत कोयले का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक है। लेकिन भारत कोयले को आयात भी करता है। उन्होंने यूपीए के समय में हुए कोयला घोटाले का ध्यान दिलाते हुए कहा कि पहले कोयला सेक्टर में बड़े बड़े घोटाले हुए। जिसके कारण इस क्षेत्र में निवेश नहीं आया। उन्होंने कहा कि जल्द की भारत एनर्जी सेक्टर में आत्मनिर्भर बनेगा। उन्होंने कहा कि अब कोयला सेक्टर पूरी तरह से खुल गया है। निजी क्षेत्र अब कोयले के क्षेत्र में बड़ा निवेश कर सकता है।प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में कोयला सेक्टर में बड़े सुधारों की मांग दशकों से की जा रही है। अब सरकार के कदम से इस क्षेत्र में नया निवेश आएगा और लाखों नौकरियों के अवसर पैदा होंगे।इस मौके पर कोयला और खान मंत्री प्रहलाद जोशी भी मौजूद हैं।पीएम ने कहा कि भारत में दुनिया का चौथा सबसे बड़ा कोयला भंडार है, दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक है। लेकिन भारत कोयले का दूसरा सबसे बड़ा आयातक भी है। करोड़ों भारतीयों के मन में यही सवाल उठता रहा है कि ये विडंबना क्यों है। दशकों से कोयला क्षेत्र को कैप्टिव और नॉन कैप्टिव के जाल में बांध कर रखा गया था। इन्हें कॉम्पटीशन से बाहर रखा गया। घोटालों के चलते देश के कोल सेक्टर में निवेश भी कम होता था और इसकी कार्यक्षमता पर भी सवाल रहता है।कोयला मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि इन कोयला ब्लाक की वाणज्यिक खनन में अगले पांच से सात साल में करीब 33,000 करोड़ रुपये का निवेश अनुमानित है। ये ब्लाक राज्य सरकारों को सालाना 20,000 करोड़ रुपये का राजस्व देंगे। मंत्रालय ने कहा कि कोयला खनन क्षेत्र में नीलामी प्रक्रिया की शुरूआत आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत की गयी घोषणाओं का हिस्सा है। बयान के अनुसार, ‘‘प्रधानमंत्री नीलामी प्रक्रिया शुरू किये जाने के मौके पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करेंगे और और खनन क्षेत्र में आत्म-निर्भरता हासिल करने के अपने दृष्टिकोण को रखेंगे। खनन क्षेत्र बिजली, इस्पात, एल्युमीनियम, स्पांजी आयर जैसे कई बुनियादी उद्योगों के लिये कच्चे माल का मुख्य स्रोत है।’’बयान के अनुसार, ‘‘कोयेला क्षेत्र में आत्मनिर्भरता हासिल करने के लिये कोयला मंत्रालय उद्योग मंडल फिक्की के साथ मिलकर 41 कोयला खदानें की नीलामी की प्रक्रिया शुरू कर रहा है...।’’ ये खदान 22.5 करोड़ टन उत्पादन की क्षमता रखते हैं। इसके आधार पर सरकार का कहना है कि ये खदान देश में 2025-26 तक अनुमानित कुल कोयला उत्पादन में करीब 15 प्रतिश्त का योगदान देंगे।’’ इससे सीधे एवं परोक्ष रूप से 2.8 लाख से अधिक लोगों को रोजगार मिलने की संभावना है। इसमें सीधे तौर पर करीब 70,000 लोगों को रोजगाार मिलने की उम्मीद है।मंत्रालय ने कहा, ‘‘यह नीलामी प्रक्रिया कोयला क्षेत्र को वाणिज्यिक खनन के लिये खोलने की एक शुरूआत है। इससे देश ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने में आत्म निर्भर होगा और औद्योगिक विकास को गति मिलेगी।’’ कार्यक्रम को फिक्की की अध्यक्ष संगीता रेड्डी, वेदांता समूह के चेयरमैन अनिल अग्रवाल, टाटा संस के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन भी संबोधित करेंगे। सरकार ने पिछले महीने राजस्व हिस्सेदारी आधार पर वाणिज्यिक खनन के तौर-तरीकों को मंजूरी दी थी। प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति (सीसीईए) की बैठक में इस आशय का निर्णय किया गया था।

सामना ने संपादकीय में BJP नेता किरीट सोमैया को बताया देशद्रोही, कहा- जूते मारो!

सामनानेसंपादकीयमेंBJPनेताकिरीटसोमैयाकोबतायादेशद्रोहीकहाजूतेमारोIncome tax return भरने से पहले इन पेपरों को कर लें इकट्ठा, बाद में नहीं होगी कोई परेशानी******Income tax returnHighlightsअसेसमेंट ईयर 2022-23 के लिए आयकर रिटर्न भरने के लिए ई-फाइलिंग पोर्टल चालू हो गया है। ऐसे में आप भी अपना इनकम टैक्‍स रिटर्न भरने की तैयारी कर रहे होंगे। क्‍या आपको पता है कि रिटर्न भरते वक्‍त फॉर्म में कई जरूरी जानकारी मांगी जाती है। उन जानकारियों को देने के लिए आपके पास उससे जुड़े पेपर होना जरूरी है। अगर, पेपर नहीं होंगे तो आप सही से अपना आईटीआर नहीं भर पाएंगे। आज हम आपको बता रहे हैं कि आईटीआर भरते समय किन-किन पेपरों की जरूरत पड़ेगी।आप नौकरी में हैं तो आपको एम्‍प्‍लायर की ओर से फॉर्म 16 मिला होगा। इस फॉर्म में आपके एम्‍प्‍लायर द्वारा काटे गए टैक्‍स और इनकम का पता चलता है। अगर, अभी तक आपके एम्प्लायर से आपको फॉर्म 16 नहीं मिला है तो जल्द से जल्द यह फॉर्म प्राप्‍त करें, क्‍योंकि इनकम टैक्‍स भरते वक्‍त फॉर्म 16 नहीं होने पर रिटर्न फाइल करना काफी कठिन हो जाता है। अगर, किसी कारण बस आपको फॉर्म 16 नहीं है तो आप अपनी सैलरी स्लिप के सहारे भी रिटर्न भर सकते हैं। इसमें भी प्रत्येक महीने काटे गए टीडीएस की जानकारी रहती है।सैलरी के अलावा अगर आपके पास आय के दूसरे स्रोत हैं और इस पर टीडीएस कटौती हुई है तो रिटर्न फाइल से पहले टीडीएस सर्टिफिकेट जरूर प्राप्‍त कर लें। उदाहरण के तौर पर आपको रेंटल इनकम, शेयर, एफडी से आय हुई है और इस पर टीडीएस कटा है तो इसका सर्टिफिकेट प्राप्‍त कर लें।फॉर्म 26AS रिटर्न फाइल करने के लिए जरूरी पेपरों में से एक है। इस फॉर्म से आप पता कर सकते हैं कि कंपनियों या बैंक ने जो टीडीएस काटा है, उसे सरकार के पास जमा कराया गया है या नहीं। इस फॉर्म को ऑनलाइन डाउनलोड कर सकते हैं। अगर, आप दूसरी बार रिटर्न भर रहे हैं तो आपके पास यूजर नेम और पासवर्ड होंगे। इनका उपयोग कर आप पर लॉगइन कर पता कर सकते हैं कि कंपनी या बैंक ने आपका पैसा सरकार के पास जमा किया है या नहीं।अगर, आप पहली बार रिटर्न भरने जा रहे हैं तो इस साइट पर जाकर रजिस्‍टर योर सेल्फ पर रजिस्‍टर करना होगा। आपका यूजर नेम और आपका पैन नंबर होगा। पासवर्ड आप खुद जेनरेट कर सकते हैं। लॉगिन करने के बाद फॉर्म 26AS पर क्लिक कर डाउनलोड कर सकते हैं।रिटर्न भरने में बैंक अकाउंट्स का ब्‍योरा देना होता है। इसलिए भरने से पहले अपने सभी बैंक अकाउंट का स्‍टेटमेंट्स निकाल लें। इस स्टेटमेंट्स से आपको बैंक में जमा पैसे पर कुल इंटरेस्‍ट की जानकारी मिल जाएगी। ब्याज से मिली जानकारी को भी आपको इनकम टैक्‍स रिटर्न भरते समय डालना होता है। अगर, यह जानकारी छूट जाती है या गलत दी जाती है तो इनकम टैक्‍स विभाग आपके ऊपर जुर्माना लगा सकता है और अधिक शुल्‍क वसूल कर सकता है।इनकम टैक्‍स की विभिन्‍न धाराओं के अनुसार कर छूट के पेपर रिटर्न भरते समय आपके पास होने चाहिए। उदाहरण के तौर पर आपने 80C, 80D या 80E आदि के तहत छूट ली है तो उसके पेपर आपके पास होने चाहिए। हालांकि, यह जानकारी आपको फॉर्म 16 से भी मिल जाएगी, लेकिन पेपर होने से क्रॉस चेक करने में सहूलियत होगी।रिटर्न भरने के लिए आपके पास पैन नंबर और आधार कार्ड नंबर होने चाहिए। ऊपर दिए गए सभी पेपर ऑनलाइन रिटर्न फाइल करने से पहले इकट्ठे कर लें, इससे बिना गलती के रिटर्न भरने में आसानी होगी। इससे गलती के चांस कम होंगे।सामनानेसंपादकीयमेंBJPनेताकिरीटसोमैयाकोबतायादेशद्रोहीकहाजूतेमारोAsia Cup 2022: पाकिस्तान के लिए खतरे की घंटी, पंत और जडेजा ने बढ़ाई मुश्किलें, देखें Video******Highlights एशिया कप 2022 में 28 अगस्त को भारत और पाकिस्तान के बीच महामुकाबला होगा। दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में होने वाले इस मैच से पहले हर टीम के चुनिंदा महारथियों का नाम सबकी जुबान पर है। सरहद के दोनों ओर के दिग्गज और फैंस जिन चार खिलाड़ियों की बात कर रहे हैं वे हैं भारतीय कप्तान रोहित शर्मा, महान बल्लेबाज विराट कोहली, पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान।भारत-पाकिस्तान मुकाबले के लिए बताए जा रहे खतरनाक खिलाड़ियों की टोली से इतर दो छुपे रुस्तम लगातार अपने स्किल और एग्रेशन से खुद को तराश रहे हैं। ये दो खिलाड़ी हैं भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत और ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा।क्रिकेट वर्ल्ड के सबसे बड़े आर्च राइवल्स के बीच होने वाले मुकाबले से पहले दोनों मुल्कों के खिलाड़ी लगातार नेट्स पर पसीना बहा रहे हैं। तमाम बड़े धुरंधरों के प्रैक्टिस के वीडियो भी लगातार शेयर हो रहे हैं। इसी कड़ी में बीसीसीआई ने ऋषभ पंत और रवींद्र जडेजा का भी एक वीडियो शेयर किया है जिसमें ये दोनों ताबड़तोड़ शॉट लगाते नजर आ रहे हैं।इस वीडियो में ये दोनों भारतीय खिलाड़ी सामने चाहे स्पिनर हो या तेज गेंदबाज सबको लगभग हर गेंद पर गगनचुंबी शॉट्स लगा रहे हैं। इसमें जडेजा हेलीकॉप्टर शॉट खेलते भी नजर आते हैं जबकि पंत अपने ट्रेडमार्क स्टाइल में फ्लिक शॉट लगाकर गेंद को सिक्स के लिए हिट करते हैं। पंत और जडेजा नेट्स पर बल्लेबाजी के दौरान कई आकर्षक स्ट्रेट ड्राइव लगाते भी नजर आते हैं।एशिया कप के सबसे बड़े मुकाबले से पहले ये दोनों भारतीय खिलाड़ी जिस अंदाज में बल्लेबाजी कर रहे हैं वह पाकिस्तान की मुश्किलों को कई गुणा बढ़ा सकता है। पाकिस्तान के सबसे खतरनाक बल्लेबाज शाहीन शाह आफरीदी इंजरी के चलते पहले ही टीम से बाहर हो चुके हैं। उनके बाद युवा पाकिस्तानी गेंदबाज मोहम्मद वसीम जूनियर भी चोटिल होकर एशिया कप से अलग हो चुके हैं। पाकिस्तान पहले ही बैकफुट पर खड़ा है और ऐसे में पंत और जडेजा की आक्रामक बल्लेबाजी की ये झलक उसके रौंगटे खड़े कर सकता है। रोहित शर्मा (कप्तान), केएल राहुल, विराट कोहली, सूर्यकुमार यादव, ऋषभ पंत, दीपक हुड्डा, दिनेश कार्तिक, हार्दिक पंड्या, रवींद्र जडेजा, आर अश्विन, युजवेंद्र चहल, रवि बिश्नोई, भुवनेश्वर कुमार, अर्शदीप सिंह, आवेश खान। स्टैंडबाय: श्रेयस अय्यर, अक्षर पटेल, दीपक चाहर। बाबर आजम (कप्तान), शादाब खान, आसिफ अली, फखर जमां, हैदर अली, हारिस रऊफ, इफ्तिखार अहमद, खुशदिल शाह, मोहम्मद नवाज, मोहम्मद रिजवान, हसन अली, नसीम शाह, मोहम्मद हसनैन, शाहनवाज दहानी, उस्मान कादिर।सामनानेसंपादकीयमेंBJPनेताकिरीटसोमैयाकोबतायादेशद्रोहीकहाजूतेमारोMithun Varshik Rashifal 2019: आचार्य इंदू प्रकाश से जानिए मिथुन राशि का साल 2019 में क्‍या कहता है भाग्‍य?******मिथुन(Gamini) राशिफल वाले लोगों के लिए नए साल 2019 (Happy New Year 2018) में मिथुन वालों के लिये वर्ष 2019 का राशिफल कैसा रहेगा? क्या नव वर्ष आपके लिये तरक्की के रास्ते खोलेगा? क्या आपकी लाइफ में सुख समृद्धि में वृद्धि होगी? अपने 2019 के वार्षिक राशिफल के जरिये आप जानेंगें।मिथुन राशि के स्वामी बुध हैं जो कि वर्ष के आरंभ में आपकी राशि से छठे स्थान पर बृहस्पति के साथ विराजमान होंगे। यह संकेत कर रहे हैं कि आपकी लाइफ में इस वर्ष आपका कोई खास आपके लिये एक मार्गदर्शक की भूमिका निभा सकता है। यह आपका परिजन, आपका करीबी दोस्त या जिस भी क्षेत्र में आप किसी तरह की गाइडेंस के इच्छुक हैं उसका विशेषज्ञ हो सकता है। आपके विवेक व सूझ-बूझ से भी लोग आपसे प्रभावित हो सकते हैं। यह साल आपकी लाइफ में नये परिवर्तन लाने के संकेत कर रहा है। आपके लिये सलाह है कि इस वर्ष किसी का भी अनादर न करें। विशेषकर अपने से बड़ों का तो कतई भी नहीं। इस वर्ष आपको पितृ सुख की कमी खल सकती है। कुल मिलाकर वर्ष आपके लिये अच्छा रहेगा।करियर- के मामले में मिथुन राशि वालों आपको वर्ष 2019 में परिश्रम का पूरा फल मिलेगा। इस साल आप सरकारी क्षेत्र में अपना करियर बनाने के लिये कदम बढ़ा सकते हैं। प्राइवेट सेक्टर में जॉब कर रहे लोगों को भी सफलता मिलने के पूरे चांस हैं। नई नौकरी की तलाश में जुटे जातकों की मुराद जल्द ही पूरी हो सकती है। अभिनय, कला और संगीत से जुड़े हैं, तो आपकी तरक्की निश्चित है। मार्च-अप्रैल में कार्यस्थल पर काम का बोझ ज़्यादा रहेगा। हालांकि जून के बाद परिस्थितियाँ आपके अनुकुल रहेंगी। इस साल किसी नए व्यवसाय से जुड़ने पर आपको लाभ मिल सकता है। आमदनी में वृद्धि की प्रबल संभावना दिखाई दे रही है। साझेदारी में काम कर रहे हैं, तो पैसों के प्रति थोड़ा सतर्क रहने की जरूरत है। परिवार में आर्थिक रूप से आपकी कुछ जिम्मेदारियां बढ़ सकती हैं। वर्ष के दूसरे भाग में आपको कुछ राहत मिलेगी। दूसरों से बकाया पैसा वापस मिल सकता है। अगर आप खेती या भूमि से जुड़े किसी अन्य काम से संबंध रखते हैं, तो आपको साल के अंत में अच्छा मुनाफा मिल सकता है। अगर आप लोन के लिए आवेदन करना चाह रहे हैं, तो मार्च के बाद कर सकते हैं। दाम्पत्य जीवन के लिए यह साल सामान्य रहने वाला है। आपके नये संबंधों को परिवार का सहयोग मिल सकता है। बहुत दिनों से रिश्तों में चल रही उलझनें खत्म हो सकती हैं। आपका जीवनसाथी आपको समझने की कोशिश करेगा। आप अपनी बात उनके दिल तक पहुंचाने में सफल रहेंगे। जिनकी शादी अभी तक नहीं हुई है, वो किसी नए प्रेम-प्रसंग में पड़ सकते हैं। साल के अंत तक आपकी शादी के योग भी बने हुए हैं। इस साल घर-परिवार से जुड़ा कोई बड़ा फैसला लेते समय अपने जीवनसाथी की सलाह जरूर ले लें। आपको काफी मदद मिलेगी। इस साल आपका स्वास्थ्य ठीक रहेगा। जो लोग पहले से किसी बीमारी से ग्रस्त हैं, उनके स्वास्थ्य में सुधार आएगा। मानसिक शांति के लिए आध्यात्मिक विषयों की ओर आपका झुकाव रहेगा। मौसम परिवर्तन के समय आपको अपना खास ख्याल रखना चाहिए। आपको सर्दी, खांसी जुकाम की शिकायत हो सकती है। हृदय रोगियों और गर्भवती महिलाओं को अपने खान-पान का विशेष ध्यान रखने की जरूरत है। आप अपने डॉक्टर से डाइट चार्ट भी बनवा सकते हैं। साल के अंतिम चरण में आपकी सेहत दुरुस्त दिखेगी। आपके अंदर उत्साह और ऊर्जा देखने को मिलेगी।मिथुन राशि वालों साल 2019 में पढ़ाई के क्षेत्र में आपका प्रदर्शन बहुत ही अच्छा रहेगा। परीक्षा में अच्छे परिणाम आने के प्रबल योग हैं, लेकिन ध्यान रहे कोई व्यक्ति आपको भटकाने की कोशिश कर सकता है। आपको ऐसे लोगों से बचकर रहने की जरूरत है। अपने गुरुजनों से मार्गदर्शन लेते रहें, सब कुछ अच्छा होगा। बोर्ड परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्रों को अपनी पढ़ाई की शेडयूलिंग करने की जरूरत है। जो छात्र विदेशी भाषाएं सीख रहे हैं, उनको इस वर्ष अच्छे अवसर मिल सकते हैं। टूरिज्म के क्षेत्र में भी आपके लिए अपार संभावनाएं दिखाई दे रही हैं।

सामना ने संपादकीय में BJP नेता किरीट सोमैया को बताया देशद्रोही, कहा- जूते मारो!

सामनानेसंपादकीयमेंBJPनेताकिरीटसोमैयाकोबतायादेशद्रोहीकहाजूतेमारोKhatron Ke Khiladi 12: बिग बॉस 14 की विनर रुबीना दिलैक अब खतरों से खेलने के लिए हैं तैयार******Highlights मशहूर टीवी एक्ट्रेस रुबीना दिलैक स्टंट रियलिटी शो 'खतरों के खिलाड़ी 12' का हिस्सा बनने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। नए सीजन में होस्ट रोहित शेट्टी और प्रतियोगी नए रोमांच और कुछ असाधारण स्टंट के लिए केप टाउन की ओर बढ़ेंगे। 'बिग बॉस 14' की विजेता रुबीना शो का हिस्सा बनने और चुनौतियों का सामना करने के लिए उत्साहित हैं, उन्होंने कहा, "मैंने जीवन में कई बाधाओं को झेला है, जिसने मुझे मजबूत बनाया है और मैं 'खतरों के खिलाड़ी' में आने के लिए बहुत उत्साहित हूं।"उन्होंने आगे कहा, "मुझे विश्वास है कि रोहित शेट्टी सर के मार्गदर्शन से, मैंने अपने लिए जो कुछ भी निर्धारित किया है, उससे अधिक हासिल कर सकूंगी। मेरे सभी प्रशंसकों को बहुत प्यार और मैं चाहती हूं कि वे इस नए प्रयास में मेरा समर्थन करें।"पिछले सीजन में अर्जुन बिजलानी विजेता रहे थे और रुबीना को उम्मीद है कि वह इस सीजन में जीत हासिल करेंगी।सामनानेसंपादकीयमेंBJPनेताकिरीटसोमैयाकोबतायादेशद्रोहीकहाजूतेमारोAssam News: असम के एक गांव की पंचायत के फैसले पर व्यक्ति को जलाया गया जिंदा, जानें क्या है पूरा मामला******Highlights असम में नगांव जिले के एक गांव की पंचायत ने हैरान कर देने वाला फैसला लिया है। गांव की अवैध पंचायत ने एक व्यक्ति के खिलाफ उसे जिंदा जला देने का फरमान सुना दिया। और फैसले के बाद उस व्यक्ति को जिंदा जला भी दिया गया है। व्यक्ति पर एक महिला की हत्या करने का आरोप लगाया गया था। पुलिस ने रविवार को इसकी जानकारी दी।पुलिस अधीक्षक लीना डोले ने कहा कि पुलिस ने 35 वर्षीय रंजीत बोरदोलोई को आग के हवाले करने के आरोप में 3 महिलाओं सहित 5 लोगों को गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि घटना शनिवार रात समागुड़ी पुलिस थाना क्षेत्र के तहत आने वाले बोरलालुनगांव और ब्रह्मपुर बमुनी में हुई। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कुछ दिन पहले 22 वर्षीय एक महिला का तालाब से शव बरामद होने को लेकर जन सुनवाई तब हुई, जब एक दूसरी महिला ने दावा किया कि वह हत्या के इस घटना की चश्मदीद गवाह है। महिला ने कथित तौर पर बोरदोलोई सहित 5 लोगों को महिला की हत्या करते देखा था। अधिकारियों ने बताया कि ग्रामीण आरोपी को उसके घर से खींच कर लाए और एक पेड़ से बांध दिया और इसके बाद जनसुनवाई की गई।पुलिस अधिकारी ने बताया, "पहले व्यक्ति को पीटा गया और बाद में उसे जिंदा जला दिया गया। इसके बाद, ग्रामीणों ने झुलसे हुए शव को दफना दिया।" बोरदोलोई ने कथित तौर पर महिला की हत्या का अपराध कबूल किया था। अधिकारी ने बताया, "ग्रामीणों ने दावा किया कि व्यक्ति ने जादू-टोना करते हुए महिला की हत्या की थी। इसलिए उन्होंने उसे ऐसी ही सजा देने का फैसला किया।"पुलिस अधिकारी ने आगे कहा कि कब्र खोद कर शव को निकाल लिया गया है और उसे पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है और मामले की जांच जारी है। और शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए इलाके में सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

सामना ने संपादकीय में BJP नेता किरीट सोमैया को बताया देशद्रोही, कहा- जूते मारो!

सामनानेसंपादकीयमेंBJPनेताकिरीटसोमैयाकोबतायादेशद्रोहीकहाजूतेमारोPutin Iran Visit: NATO ने शुरू किया यूक्रेन युद्ध... पुतिन संग मीटिंग के बाद US पर भड़के खामनेई, ईरान-रूस के बीच हुई ये महाडील******Highlightsयूरोपीय देश यूक्रेन में बीते करीब पांच महीने से भीषण जंग चल रही है, जिसके लिए पश्चिमी देश रूस को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। लेकिन ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खामनेई का कहना है कि ये जंग तो अमेरिका के नेतृत्व वाले सैन्य गठबंधन नाटो (उत्तर अटलांटिक संधि संगठन) ने शुरू की है। उन्होंने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ तेहरान में बैठक करने के बाद नाटो को एक 'खतरनाक क्रिएचर' करार दिया है। खामनेई ने कहा कि पश्चिमी देश एक मजबूत और स्वतंत्र रूस के खिलाफ हैं। इन देशों यानी ईरान और रूस के बीच एक 40 बिलियन डॉलर की महाडील भी हुई है।पुतिन के साथ बैठक के बाद खामनेई ने कहा, 'युद्ध एक हिंसक और मुश्किल मुद्दा है और इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ ईरान भी इससे खुश नहीं है कि आम लोग इसकी चपेट में आएं।' लेकिन जहां यूक्रेन की बात है, तो आपको पहल करनी होगी, वहीं वो दूसरा पक्ष है, जिसने लड़ाई शुरू की है। उन्होंने कहा कि पश्चिमी देश एक मजबूत और स्वतंत्र रूस के खिलाफ हैं। ऐसे में अगर नाटो यूक्रेन में नहीं रुका, तो फिर वो भी वैसी ही जंग शुरू कर देगा और क्रीमिया को बहाना बनाएगा। क्रीमिया यूक्रेन का वही इलाका है, जिसपर रूस ने 2014 में कब्जा कर लिया था।ईरान के स्थानीय मीडिया के अनुसार, पुतिन ने कहा है कि यूक्रेन के युद्ध में आम नागरिकों की मौत एक बड़ी त्रासदी है। इसके साथ ही उन्होंने रूस की प्रतिक्रिया (यूक्रेन पर हमलों के लिए) के लिए पश्चिमी देशों को जिम्मेदार ठहराया है। रूसी राष्ट्रपति ने कहा है, 'कुछ पश्चिमी देशों का कहना है कि हम यूक्रेन की नाटो में सदस्यता के खिलाफ हैं। लेकिन हम अमेरिका के दबाव के कारण ऐसा कर रहे हैं।' ठीक इसी दौरान ईरान के राष्ट्रपति ने कहा कि रूस और ईरान ने इस क्षेत्र में स्थिरता और सुरक्षा बढ़ाई है। पश्चिम के विपरीत वो ईरान और रूस ही हैं, जो श्रेत्र में आतंकवाद को खत्म करने के लिए ईमानदारी और गंभीरता से सहयोग कर रहे हैं।ये पुतिन का ईरान का पांचवां दौरा है और यूक्रेन युद्ध शुरू होने के बाद से पूर्व सोवियत देश का पहला दौरा है। रूसी राष्ट्रपति ऐसे वक्त पर ईरान आए हैं, जब अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने हाल में ही इजरायलऔर सऊदी अरब का दौरा किया है। ये दोनों ही देश ईरान के दुश्मन माने जाते हैं। पुतिन के ईरान दौरे के समय दोनों देशों के बीच 40 बिलियन डॉलर की एक डील हुई है। इस डील के तहत तेल और गैस सेक्टर को विकसित किया जाएगा। ये समझौता ईरान की नेशनल ईरानियन तेल कंपनी और रूसी कंपनी गाजप्रोम के बीच हुआ है।ईरान के पास दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा प्राकृतिक गैस का भंडार है। इस डील के तहत किश और नॉर्थ पारस गैस फील्ड के साथ ही 6 ऑयल फील्ड विकसित किए जाएंगे। ईरान के पास दुनिया में प्राकृतिक गैस का दूसरा सबसे बड़ा भंडार है, लेकिन पश्चिमी देशों के प्रतिबंधों के कारण वह इसे विकसित नहीं कर पा रहा है। इतना ही नहीं पश्चिमी कंपनियां भी यहां निवेश नहीं कर पा रहीं। इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवान ने कहा था कि तेहरान मॉस्को को "सैकड़ों" लड़ाकू ड्रोन उपलब्ध कराने की योजना बना रहा है, और ईरानी सैनिक अपने रूसी समकक्षों को ड्रोन का उपयोग करने के तरीके के बारे में प्रशिक्षित करेंगे।वहीं खामनेई का यह बयान पुतिन के अपने बयान से काफी मेल खाता है और पश्चिमी देशों के प्रतिबंधों का सामना कर रहे दोनों देशों के बीच नजदीकी का संकेत देता है। नाटो सहयोगियों ने पूर्वी यूरोप में अपनी सैन्य मौजूदगी बढ़ाई है और रूस के हमले का सामना करने के लिए यूक्रेन को हथियार मुहैया कराए हैं। रूस के आक्रमण के बाद से पुतिन की विदेश की यह दूसरी यात्रा है अैर इस दौरान उन्होंने ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी और तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन से भी मुलाकात की। इस दौरान नेताओं के बीच सीरिया में जारी संकट और वैश्विक खाद्य संकट को दूर करने के लिए यूक्रेन से अनाज के निर्यात को दोबारा शुरू करने के संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव पर भी चर्चा हुई।एर्दोआन के साथ मुलाकात के दौरान पुतिन ने यूक्रेन अनाज निर्यात संबंधी समझौता करने में मदद करने के वास्ते उनका आभार व्यक्त किया। पुतिन ने कहा, ‘सभी मुद्दे हल नहीं हुए हैं लेकिन कुछ प्रगति हुई, जो अच्छी बात है।’

सामनानेसंपादकीयमेंBJPनेताकिरीटसोमैयाकोबतायादेशद्रोहीकहाजूतेमारोICC ने लिया कड़ा फैसला, बॉल टेंपरिंग मामले में अब झेलना होगा 6 टेस्ट और 12 वनडे मैचों का बैन******हाल के दिनों में बढ़ रही बाल टेम्परिंग की घटनाओं को देखते हुए (आईसीसी) ने इसके दोषियों पर अब छह टेस्ट या 12 वनडे मैचों का प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है।आईसीसी ने यहां अपनी वार्षिक बैठक के दौरान यह फैसला लिया है। बैठक में इसके आचार सहिंता में भी बदलाव किया गया है। नए नियम के मुताबिक लेवल-2 के अपराध को अपग्रेड कर अब लेबल-3 का अपराध कर दिया गया है।पहले आठ निलंबन अंक मिलने पर खिलाड़ी पर चार टेस्ट या आठ वनडे मैचों का प्रतिबंध लगाया जाता था। लेकिन अब इसे बढ़ाकर 12 निलंबन अंक कर दिया गया है जिसके तहत अब खिलाड़ी पर छह टेस्ट या 12 वनडे मैचों का बैन लगाया जाएगा।मार्च में दक्षिण अफ्रीका में स्टीवन स्मिथ, डेविड वार्नर और कैमरून बेनक्राफ्ट को बाल टेम्परिंग का दोषी पाए जाने के बाद आईसीसी को लेवल-3 अपराध की सजा को और कठोर बनाने पर मजबूर होना पड़ा।क्रिकेट आस्ट्रेलिया (सीए) ने बाल टेम्परिंग मामले में स्मिथ और वार्नर पर एक-एक साल का जबकि बेनक्राफ्ट पर नौ माह का प्रतिबंध लगा रखा है। हाल के दिनों में श्रीलंका के कप्तान दिनेश चंडीमल पर भी बाल टेम्परिंग मामले में एक मैच का प्रतिबंध लगाया गया था।पूर्व भारतीय कप्तान अनिल कुंबले की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में निर्णय लिया गया कि आईसीसी अब आचार सहिंता के उल्लंघन मामले में कड़ी कार्रवाई करेगा। बैठक में मुख्य कार्यकारी डेविड रिचर्डसन भी मौजूद थे।क्रिकेट समिति ने यह भी कहा कि मैच रेफरी अब लेवल-1, 2 और लेवल-3 के अनुसार लगाए गए आरोपों की भी सुनवाई करेगा। इसके अलावा खिलाड़ियों के खराब व्यवहार के लिए कड़े प्रतिबंध लागाने का निर्णय किया गया है।सामनानेसंपादकीयमेंBJPनेताकिरीटसोमैयाकोबतायादेशद्रोहीकहाजूतेमारो'पुष्पा' से सामंथा का आइटम सॉन्ग 10 दिसंबर को होगा रिलीज****** सामंथा रुथ प्रभु अल्लू अर्जुन की आने वाली फिल्म 'पुष्पा' का पहला आइटम सॉन्ग तैयार हैं। पहले एक पोस्टर को रिलीज करने वाले निर्माताओं ने बुधवार को सामंथा का एक और पोस्टर रिलीज किया। 'पुष्पा: द राइज' के निर्माताओं ने घोषणा करते हुए कहा कि विशेष गीत 10 दिसंबर को रिलीज होगा। घोषणा के साथ, उन्होंने सेट से सामंथा की एक तस्वीर का अनावरण किया।'पुष्पा' के प्रोडक्शन हाउस ने गाने के नंबर की रिलीज की तारीख की घोषणा की थी। उन्होंने लिखा था कि इस सर्दी सामंथा के सिंजलिंग मूव्स मचाएंगे धमाल। 'द सिजलिंग सॉन्ग ऑफ द ईयर' 10 दिसंबर को होगा रिलीज।संगीतकार देवी श्री प्रसाद ने सामंथा के लिए एक जोशीला गीत तैयार किया है। प्रसाद की संगीत रचना तेलुगु फिल्मों में बेहतरीन आइटम नंबर देने के लिए जानी जाती है।सुकुमार द्वारा अभिनीत, 'पुष्पा' 24 दिसंबर को सिनेमाघरों में रिलीज हो रही है। अल्लू अर्जुन और रश्मिका मंदाना अभिनीत, फिल्म में फहद फासिल, सुनील, अनसूया भारद्वाज और अन्य भी प्रमुख भूमिकाओं में हैं।'पुष्पा' कई भाषाओं में रिलीज हो रही है। यह लाल चंदन की तस्करी पर आधारित कहानी है।

सामनानेसंपादकीयमेंBJPनेताकिरीटसोमैयाकोबतायादेशद्रोहीकहाजूतेमारोRajasthan News: राजस्थान के इस जिले में कांवड़ यात्रा निरस्त, 1 अगस्त तक इंटरनेट भी रहेगा बंद******Highlights राजस्थान के टोंक जिले में प्रशासन ने सुरक्षा कारणों से एक अगस्त तक इंटरनेट बंद कर दिया गया है। जिले के संभागीय आयुक्त ने शनिवार देर रात आदेश जारी कर कहा कि मालपुरा और टोडा क्षेत्र में 48 घंटों के लिए इंटरनेट बंद रहेगा। वहीं कांवड़ यात्रा के लिए प्रशासन ने पुराने मार्ग की जगह दूसरे मार्ग की व्यवस्था की है। हालांकि, शिव कांवड़यात्रा समिति ने दूसरे मार्ग से कांवड़यात्रा को निकालने की बात मानने से इंकार कर दिया है और कहा है कि परम्परागत मार्ग से कांवड़ यात्रा ना निकाले जाने देने को लेकर हम विरोध स्वरूप अपने कांवड़ यात्रा को निरस्त कर रहे हैं। जबकि प्रशासन ने कहा है कि जिले के बाकी परंपरागत मार्ग कांवड़ यात्रा के लिए खुले रहेंगे।प्रशासन का कहना है कि वह सारे कदम इसलिए उठा रहा है क्योंकि वह नहीं चाहता कि पिछली बार की तरह इस बार भी माहौल खराब हो। दरअसल पिछली बार मालपुरा और टोडा में एक समुदाय विशेष और कांवड़ यात्रियों के बीच कांवड़ यात्रा को लेकर विवाद हो गया था। इसी को देखते हुए प्रशासन ने इन इलाकों में 48 घंटे नेट बंद रखने की बात कही है ताकि स्थिति पहले की तरह खराब ना हो और अफवाहें ना फैलें।राजस्थान में बीते कई महीनों से सांप्रदायिक घटनाएं बढ़ी हैं। इसी को देखते हुए राज्य का पुलिस विभाग अलर्ट पर है। कांवड़ यात्रा के दौरान कई शहरों में सांप्रदायिक घटनाएं ना बढ़ें इसको सेकर पुलिस विभाग ने हर जगह व्यवस्था चाकचौबंध कर दी है। जबकि जयपुर के पुलिश कमिश्नरेट ने एक बयान जारी करते हुए कहा है कि कांवड़ यात्रा में शामिल होने के लिए कांवड़ियों का रजिस्ट्रेशन कराना आनिवार्य होगा।टोंक एसडीएम ने कांवड़यात्रा को लेकर कहा है कि कांवड़यात्रा की सुरक्षा को लेकर कई तरह के इंतजाम किए गए हैं। यात्रा के लिए नई सड़कें बनाई गई हैं। टोडारोड, केकडी और अजमेर रोड पर बैरिकेड्स लगाकर जाम से निजात पाने की कोशिश की गई है। वहीं लोगों को गांव-गांव जाकर धारा 144 के बारे में जागरुक कराया जा रहा है। जहां-जहां भी हमें संवेदनशील स्थिति नजर आ रही है, वहां-वहां हम पुलिस चौकियां बना रहे हैं। ताकि यात्रा के दौरान सुरक्षा और शांति बरकरार रहे।सामनानेसंपादकीयमेंBJPनेताकिरीटसोमैयाकोबतायादेशद्रोहीकहाजूतेमारोBeauty Tips: बॉडी टैनिंग से हो गए हैं परेशान, एलोवेरा के इस्तेमाल से करें अपनी समस्या का समाधान******Highlights: खूबसूरती की चाह भला किसे नहीं होती। खासतौर पर महिलाएं अपनी खूबसूरती के लिए न जाने कितने पैसे पानी की तरह बहा देती हैं। वहीं कुछ महिलाएं सुंदर दिखने के लिए आए दिन तरह-तरह के नुस्खे आज़माती रहती हैं। हालांकि खूबसूरत दिखने की चाह रखने में कोई बुराई नहीं है। कई बार आपने देखा होगा गर्मियों में अक्सर सभी को टैनिंग की समस्या का सामना करना पड़ता है। हाथों पर और पैरों पर कालापन दिखाई देने लगता है। जो दिखने में बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगता है। लेकिन अब घबराने की ज़रूरत नहीं है। एलोवेरा के इस्तेमाल से इसे कम किया जा सकता है।

सामनानेसंपादकीयमेंBJPनेताकिरीटसोमैयाकोबतायादेशद्रोहीकहाजूतेमारोTriple Talaq News: गुजरात में सजा का पहला मामला, तीन तलाक के मामले में क्लास-1 के अफसर को 1 साल कैद****** गुजरात के जिले में तीन तलाक के मामले में पालनपुर के एक कोर्ट ने एक अधिकारी को एक साल की सजा सुनाई है। अपनी पत्नी को तीन बार तलाक देने और दूसरी महिला से शादी करने वाले क्लास वन ऑफिसर को ये सजा सुनाई गई है। कोर्ट ने सजा के साथ आरोपी पर 5000 रुपये का जुर्माना भी लगाया। ट्रिपल तलाक के मामले में दोषी ठहराए जाने वाला यह राज्य का पहला मामला है।जलापूर्ति विभाग में प्रथम श्रेणी अधिकारी सरफराज बिहारी ने पत्नी को तीन बार तलाक कहकर तलाक दे दिया था। पत्नी ने द मुस्लिम विमेन प्रोटेक्शन ऑफ राइट एंड मैरिज एक्ट 2019 के तहत मामला दर्ज कराया था।तीन तलाक भारत में अपराध है। कानून में तीन तलाक को गैर कानूनी बनाते हुए 3 साल की सजा और जुर्माने का प्रावधान शामिल है। अगर मौखिक, लिखित या किसी अन्य माध्यम से पति अगर एक बार में अपनी पत्नी को तीन तलाक देता है तो वह अपराध की श्रेणी में आएगा। तीन तलाक देने पर पत्नी स्वयं या उसके करीबी रिश्तेदार ही इस बारे में केस दर्ज करा सकेंगे।सामनानेसंपादकीयमेंBJPनेताकिरीटसोमैयाकोबतायादेशद्रोहीकहाजूतेमारोJDU ने प्रवक्ता डॉ अजय आलोक समेत 4 सीनियर नेताओं को पार्टी से निकाला, केंद्रीय मंत्री से नजदीकी के चलते हुई कार्रवाई******Highlightsबिहार की सत्ताधारी जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) में सबकुछ ठीक नहीं चला रहा है। पार्टी ने पहले आरसीपी सिंह को किनारा किया और अब उनके करीबियों पर एक्शन ले रही है। जेडीयू ने पार्टी प्रवक्ता डॉ अजय आलोक सहित अपने चार वरिष्ठ नेताओं को पार्टी से निकाल दिया है। पार्टी प्रवक्ता डॉ अजय आलोक, प्रदेश महासचिव अनिल कुमार और विपिन कुमार यादव को पद से मुक्त करते हुए पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया गया है। वहीं, भंग समाज सेनानी के प्रकोष्ठ अध्यक्ष जितेंद्र नीरज को भी पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित किया गया है।इन नेताओं पर पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप है। जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुमार कुशवाहा ने अजय आलोक को पार्टी से निकाले जाने की पुष्टि की। उन्होंने कहा कि ये नेता पिछले कुछ दिनों से पार्टी के खिलाफ काम कर रहे थे। पार्टी से निकाले गए चारों नेता केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में मंत्री व पार्टी के पूर्व राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष आरसीपी सिंह के करीबी माने जाते हैं। इसके पहले जेडीयू ने आरसीपी सिंह को राज्‍यसभा नहीं भेजने का फैसला किया था, जिससे अब उनके केंद्र में मंत्री बने रहने पर सवाल खड़ा हो गया है।अनिल कुमार और विपिन कुमार पिछले कुछ दिनों से जेडीयू प्रदेश कार्यालय के बाहर केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह के कार्यक्रमों में एक्टिव दिख रहे थे। डॉ अजय आलोक ने भी पिछले दिनों राज्यसभा चुनाव के समय प्रत्याशी के चयन को लेकर सार्वजनिक रूप से आरसीपी सिंह के समर्थन में वक्तव्य दिया था।जेडीयू के सूत्रों के मुताबिक, पार्टी में रहकर अजय आलोक सार्वजनिक फोरम और डिबेट में बीजेपी की तरफदारी कर रहे थे। कई मौकों पर उन्होंने पार्टी लाइन से अलग भी बयान दिया था। अजय आलोक, बीएसपी से विधानसभा का चुनाव लड़ चुके हैं। वे एक डॉक्टर हैं और उनके पिता डॉक्टर गोपाल सिन्हा भी बिहार के जाने माने डॉक्टर हैं।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 05:37
उद्धरण 1 इमारत
बिहार: सुशील मोदी ने पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी पर लगाए गंभीर आरोप****** (RJD) के अध्यक्ष के परिवार पर बेनामी संपत्ति को लेकर लगातार निशाना साध रहे बिहार (BJP) के वरिष्ठ नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री ने मंगलवार को लालू परिवार पर एक बार फिर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने दस्तावेजों के हवाले से कहा कि बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री और लालू प्रसाद की पत्नी पटना में 18 फ्लैटों और 18 पार्किंग स्थलों की मालकिन हैं।सुशील मोदी ने पटना में कहा, ‘पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के नाम पर पटना में 18 फ्लैट हैं, सभी फ्लैटों का कुल क्षेत्र 18,652 वर्ग फुट है, जिसकी कीमत 20 करोड़ रुपये से भी ज्यादा है।’ मोदी ने कहा कि लालू प्रसाद के रेल मंत्री रहते हुए राबड़ी देवी ने पटना शहर के दो अलग-अगल स्थानों -जलालपुर और शेखपुरा- में जमीन लिखवाई। उन्होंने आरोप लगाया कि राबड़ी देवी ने ऐसे लोगों से जमीन लिखवाई, जिनके परिवार के लोगों को रेलवे में नौकरी दी गई या फिर लालू प्रसाद के रेल मंत्री रहने के दौरान जिनकी मदद की गई।उन्होंने कहा, ‘इस जमीन को वर्ष 2011 में श्रेया कंस्ट्रक्शन कंपनी को फ्लैट बनाने के लिए सौंपा गया। जमीन पर बने 36 फ्लैटों में से श्रेया के पास 18 और राबड़ी देवी के नाम से 18 फ्लैट हैं।’ सुशील मोदी ने सवाल किया कि अपने आपको गरीबों का मसीहा कहने वाली राबड़ी देवी के पास ये फ्लैट कैसे और कहां से आए? उल्लेखनीय है कि मोदी इससे पहले भी लालू प्रसाद और उनके परिवार के खिलाफ कई गंभीर आरोप लगा चुके हैं। इनमें से कई आरोपों पर कार्रवाई भी हो चुकी है।
2022-10-01 03:24
उद्धरण 2 इमारत
ईरान में फंसे 250 भारतीयों में कोविड-19 की पुष्टि हुई है: केन्द्र ने न्यायालय को बताया******नयी दिल्ली: केन्द्र ने बुधवार को उच्चतम न्यायालय को सूचित किया कि ईरान के कौम में फंसे 250 भारतीय जायरीनों में कोरोनावायरस के संक्रमण की पुष्टि हुयी है और उन्हें नहीं निकाला गया है जबकि पांच सौ से ज्यादा दूसरे भारतीयों को वापस लाया जा चुका है। शीर्ष अदालत ने कहा कि वह भारतीय दूतावास को स्थिति पर लगातार निगाह रखने और ईरान में फंसे भारतीय के संपर्क में बने रहने का निर्देश देने के बारे में सोच रही है। न्यायमूर्ति धनन्जय वाई चन्द्रचूड़ और न्यायमूर्ति एम आर शाह की पीठ ने कहा कि वह इस मामले में याचिकाकर्ताओं के पक्ष में आदेश देगी ओर भारतीय दूतावास से कहेगी कि इनकी नयी जांच करायी जाये और उन्हें जब भी संभव हो स्वदेश लाने की संभावना पर गौर करे।पीठ ने टिप्पणी की कि सरकार इस मामले को गंभीरता से ले रही है। इससे पहले, सुनवाई शुरू होते ही केन्द्र की ओर से सालिसीटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि ईरान में फंसे अधिकांश भारतीयों को वापस लाया जा चुका है। याचिकाकर्ता मुस्तफा एमएच की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता संजय हेगड़े ने कहा कि ईरान में फंसे सभी भारतीयों को वापस नहीं लाया गया है और अभी भी करीब 250 भारतीय, जिनमें कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हो गयी है, अभी भी वहीं हैं और वे ईरानी अधिकारियों की रहम पर हैं।उन्होंने कहा कि न्यायालय को सालिसीटर जनरल को इन 250 भारतीयों को वापस लाने के बारे में आवश्यक निर्देश लेने के लिये कहें। मेहता ने कहा कि इस समय सारी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें रद्द हैं और संबंधित प्राधिकारियों को विदेश मंत्रालय के फैसले का इंतजार है। मेहता ने कहा, ‘‘ईरान में हमारा दूतावास वहां फंसे 250 भारतीयों के संपर्क में है। वे जब भी संभव होगा उन्हें वापस लायेंगे।’’ उन्होने कहा कि यह याचिका अब निरर्थक हो चुकी है। इस पर पीठ ने हेगड़े से कहा कि ईरान में फंसे लोगों का ध्यान रखा जा रहा है और इस मामले को अब सरकार पर छोड़ देना चाहिए। पीठ ने कहा, ‘‘आप इस मामले को आवश्यकता पड़ने पर फिर से उठा सकते हैं।’’हेगड़े ने कहा कि ईरान में अभी भी फंसे कई भारतीयों में इस वायरस के कोई लक्षण नहीं हैं और अगर उन्हें होटलों में ही ठहरने के लिये कहा गया है, जहां इस संक्रमण से प्रभावित लोगों को अलग रखा जा रहा है, तो वे भी इस वायरस की चपेट में आ सकते हैं। उन्होंने कहा कि ईरान में फंसे 250 लोगों के पास पैसा,दवा और दूसरी सुविधायें नहीं हैं। वैसे भी उन्हें लेह जैसे स्थान पर वापस क्यों नहीं लाया जा सकता? इसपर मेहता ने जवाब दिया कि ईरान से वापस लाकर लेह और दूसरे स्थान पर भेजे गये इन भारतीयों में से कई में अब कोरोनावायरस के लक्षण उभर आये हैं। पीठ ने कहा कि वह ईरान में फंसे भारतीयों की सेहत की स्थिति में सुधार होने पर उन्हें वापस लाने के बारे में आदेश देगी। ईरान कोरोना वायरस महामारी से सबसे अधिक प्रभावित होने वाले देशों में शामिल है और उसके यहां अब तक दो हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।
2022-10-01 03:17
उद्धरण 3 इमारत
महेश बाबू ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर इंडियन आर्मी को दिया ट्रिब्यूट, रिलीज किया Sarileru Neekevvaru का पहला गाना******स्वतंत्रता दिवस के मौके पर ने अपनी आने वाली फिल्म Sarileru Neekevvaru का पहला गाना रिलीज कर दिया है। गाने में आर्मी के जवानों के कुछ शॉर्ट्स का इस्तेमाल किया गया है। जिसमें वह युद्ध करते या भारतीयों को बचाते नजर आ रहे हैं। गाने के आखिरी में महेश बाबू आर्मी ड्रेस में नजर आ रहे हैं।इस गाने को 10 लाख से ज्यादा लोग देख चुके हैं। महेश बाबू ने गाने की एक फोटो सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए लिखा- उन सभी शहीदों को जिन्होंने हमारे राष्ट्र की सेवा के लिए अपना जीवन लगा दिया। हर उस सैनिक को, जो दुश्मन की रेखाओं के सामने बहादुर, लंबा और निडर खड़ा है ... चलो आज और हर रोज उनमें से एक को सलाम करते हैं! अपनी आजादी की वैल्यू करो.. ... जय हिंदफिल्म की बात करें तो Sarileru Neekevvaru का इंट्रो टीज़र महेश बाबू के जन्मदिन पर शेयर किया गया है। फिल्म में रश्मिका मंदाना, प्रकाश राज, विजयशांति, राम्या कृष्णन और राजेंद्र प्रसाद अहम किरदारों में नजर आएंगे। मई में इस फिल्म की घोषणा हुई थी। फिल्म का निर्देशन न अनिल रविपुडी कर रहे हैं, महेश बाबू की यह फिल्म अगले साल संक्रांति के मौके पर रिलीज होगी।
वापसी