नई पोस्ट करें

Aaj Ka Panchang 11 August 2022: जानिए गुरुवार का पंचांग, राहुकाल, शुभ मुहूर्त और सूर्योदय-सूर्यास्त का समय

2022-10-01 05:31:25 048

जानिएगुरुवारकापंचांगराहुकालशुभमुहूर्तऔरसूर्योदयसूर्यास्तकासमयIFFM 2022: रणवीर सिंह को फिल्म '83' के लिए मिला एक्टर ऑफ द ईयर का अवार्ड, फैंस बोले 'आप डिजर्व करते हैं'******Highlightsरणवीर सिंह ने जब से न्यूड फोटोशूट करवाया था तब से वह और भी ज्यादा चर्चा में हैं। वहीं रणवीर सिंह को लेकर एक अच्छी खबर आई है। फ़िल्म '83' में भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान कपिल देव की भूमिका में अपने करियर का बेस्ट परफॉर्मेंस देने वाले बॉलीवुड सुपरस्टार रणवीर सिंह को प्रतिष्ठित इंडियन फ़िल्म फेस्टिवल ऑफ मेलबर्न (IIFM) में बेस्ट एक्टर ऑफ द ईयर का अवार्ड मिला है।कबीर खान द्वारा निर्देशित '83' की रिलीज के बाद से ही अपनी बेहतरीन परफॉर्मेंस से रणवीर ने अवॉर्ड फंक्शन में अपना जलवा बिखेरा है। उनका कहना है कि '83' उनकी शानदार फिल्मोग्राफी में हमेशा सबसे अधिक पसंद की जाने वाली फिल्मों में से एक रहेगी। ओमिक्रॉन जब पीक पर था उस वक्त '83' को 12.64 करोड़ की ओपनिंग मिली और भारत में इसने कुल 110 करोड़ रुपये का कलेक्शन किया। '83' का कुल ग्लोबल कलेक्शन 200 करोड़ का है। कोविड महामारी के बाद के बॉलीवुड फिल्मों के परिणामों को देखते हुए, '83' का बॉक्स ऑफिस रिजल्ट अभी भी बॉलीवुड के लिए एक बहुत बड़ा प्लस है।रणवीर कहते हैं, "मैं IFFM के सभी जूरी मेंबर्स को धन्यवाद देना चाहता हूं, जिन्होंने मेरे करियर की बेहतरीन फ़िल्म '83' में कपिल देव की भूमिका के लिए बेस्ट एक्टर ऑफ द ईयर का अवार्ड दिया। यह हमेशा मेरी फिल्मोग्राफी की सबसे पसंदीदा फिल्मों में से एक रहेगी।" उन्होंने कहा, "लेकिन तारीफों से ज्यादा, फ़िल्म को बनाने के प्रोसेस को मैं हमेशा संजो कर रखूंगा। मुझे यह मौका देने के लिए, मुझे गाइड करने के लिए और अपनी लीडरशिप से मुझे प्रेरित करने के लिए मैं कबीर सर का आभारी हूं। इस सम्मान को मैं '83' की कास्ट एंड क्रू के साथ शेयर करता हूं जो मेरे लिए बहुत प्रिय है।रणवीर इस सम्मान को कपिल देव की विश्व कप विजेता टीम के हर सदस्य को समर्पित करते हैं। वे कहते हैं, "मैं यह सम्मान कपिल के डेविल्स को समर्पित करता हूं, जो सपने देखने की हिम्मत करने वाले जेंटलमेन का एक बेहतरीन ग्रुप है, जिन्होंने अपनी कोशिशों और उपलब्धियों के जरिए हमें दिखाया कि हम भारतीय दुनिया में बेस्ट हो सकते हैं।"किरदार में समा जाने की अपनी असाधारण खासियत की वजह से रणवीर को सर्वसम्मति से उनकी पीढ़ी का बेस्ट एक्टर समझा जाता है। 'बैंड बाजा बारात' में अपनी डेब्यू से लेकर 'लुटेरा' और 'बाजीराव मस्तानी' तक, 'पद्मावत' से 'सिम्बा' तक, 'गली बॉय' से '83' तक - रणवीर ने पिछले 10 वर्षों में भारतीय सिनेमा के इतिहास में सबसे शानदार परफॉर्मेंसेज दी हैं।हाल ही में जारी IIHB TIARA रिसर्च में, रणवीर देश के कूलेस्ट सुपरस्टार की लिस्ट में सबसे ऊपर हैं। यह एक बहुत ही अहम ब्रांड एट्रिब्यूट है जो उन्हें ब्रांड एंडोर्समेंट स्पेस में सबसे अधिक मांग वाला चेहरा बनाती है। इसी रिसर्च के अनुसार रणवीर बॉलीवुड में ट्रेंडिएस्ट सुपरस्टार होने के मामले में भी टॉप पर हैं। वर्तमान में रणवीर की ब्रांड वैल्यू 158 मिलियन अमरीकी डालर है, जो 2020 की उनकी 102.93 मिलियन अमरीकी डालर की ब्रांड वैल्यूएशन में अच्छी ग्रोथ को दर्शाता है। वह वर्तमान में भारत के मोस्ट वैल्यूड फ़िल्म पर्सनालिटी हैं।आपको बता दें कि रणवीर सिंह इन दिनों अपनी आगामी फिल्म 'रॉकी और रानी की प्रेम कहानी' की शूटिंग में बिजी हैं। इस फिल्म में एक बार फिर वह आलिया भट्ट के साथ नजर आएंगे। रोहिट शेट्टी की सर्कस और सिंबा 2 में नजर आने वाले हैं। हाल ही में वह आलिया के साथ 'कॉफी विद करण 7' में मेहमान बनकर पहुंचे थे।

जानिएगुरुवारकापंचांगराहुकालशुभमुहूर्तऔरसूर्योदयसूर्यास्तकासमयGujarat Riots: सुप्रीम कोर्ट में तीस्ता की जमानत याचिका पर आज फिर होगी सुनवाई, कल SC ने की टिप्पणी******Highlights गुजरात दंगों से जुड़े साजिश मामले में एक्टिविस्ट तीस्ता सीतलवाड़ की जमानत याचिका पर सुप्रीम कोर्ट आज फिर सुनवाई करेगी। यह सुनवाई दोपहर 2 बजे से शुरू होनी है। इससे पहले इस मामले में गुरुवार को कोर्ट में सुनवाई हुई, जहां कोर्ट ने सॉलिसिटर जनरल से पूछा था कितीस्ता के खिलाफ न तो UAPA और न ही POTA का केस दर्ज है, फिर भी 2 महीने से आपने उन्हें कस्टडी में क्यों रखा है?तीस्ता की जमानत का विरोध करते हुए सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि मामला हाईकोर्ट में चल रहा है, इसलिए आप वहीं सुनवाई होने दें। मेहता ने इस दौरान कहा कि सुप्रीम कोर्ट पूरी तरह आंखें बंद करके न रखे, लेकिन आंखें पूरी खोले भी नहीं। मामले की सुनवाई चीफ जस्टिस यूयू ललित की बेंच ने की। तीस्ता की ओर से वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल पेश हुए, तो वहीं गुजरात सरकार की ओर से सॉलिसिटर जनरल मेहता पेश हुए।सुप्रीम कोर्ट में गुजरात सरकार ने 30 अगस्त को हलफनामा दाखिल कर तीस्ता की जमानत का विरोध किया था। सरकार ने कहा, तीस्ता के खिलाफ FIR न केवल सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर आधारित है, बल्कि सबूतों द्वारा भी आधारित है। अब तक की गई जांच में FIR को सही ठहराने के लिए उस सामग्री को रिकॉर्ड में लाया गया है, जो स्पष्ट करती है कि तीस्ता ने राजनीतिक, वित्तीय और अन्य भौतिक लाभ प्राप्त करने के लिए अन्य आरोपियों के साथ मिलकर आपराधिक कृत्य किए थे।2002 के गुजरात दंगों के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने तत्कालीन CM नरेंद्र मोदी को क्लीन चिट देने वाली SIT रिपोर्ट के खिलाफ याचिका को 24 जून को खारिज कर दिया था। ये पेटिशन जकिया जाफरी ने दाखिल की थी। जकिया जाफरी के पति एहसान जाफरी की मौत इन दंगों में हुई थी।सुप्रीम कोर्ट ने था कहा कि जकिया की पेटिशन में मेरिट नहीं है। कोर्ट ने यह भी कहा था कि मामले में को-पेटिशनर तीस्ता ने जकिया जाफरी की भावनाओं के साथ खिलवाड़ किया। कोर्ट ने तीस्ता की भूमिका की जांच की बात कही थी। इसके बाद अहमदाबाद क्राइम ब्रांच ने 25 जून को तीस्ता को मुंबई से गिरफ्तार कर लिया था।जानिएगुरुवारकापंचांगराहुकालशुभमुहूर्तऔरसूर्योदयसूर्यास्तकासमयMaharana Pratap Jayanti 2020: महान योद्धा महाराणा प्रताप के अनमोल विचार, जो देंगे आपको जीवन जीने का सबक******अंग्रेजीकैलेंडर के अनुसार 9 मई 1540 में महान योद्धा, अद्भुत साहस के प्रतीक महाराणा प्रताप का जन्म हुआ था। वहीं हिंदू कैलेंडर की बात करें तो ज्येष्ठ मास की शुक्ल पक्ष की तीसरी तिथि को जन्म हुआ था। जिसके अनुसार 25 मई को मनाई जाएगी।राजस्थान का राजपूत समाज का एक बड़ा तबका उनका जन्मदिन हिन्दू तिथि के हिसाब से मनाता है।वैसे तो महाराणा प्रताप ने मुगलों से कई लड़ाइयां लड़ीं लेकिन सबसे ऐतिहासिक लड़ाई थी- हल्दीघाटी का युद्ध। इस युद्ध में मानसिंह के नेतृत्व वाली अकबर की विशाल सेना से आमना-सामना हुआ। जिसमें अकबर के पास 85000 सैनिक थे और महाराणा प्रताप के पास सिर्फ 20 हजार सैनिक थे। इसके बावजूद महाराणा प्रताप ने हार नहीं मानी और स्वतंत्रता के लिए संघर्ष करते रहे। यह जंग 18 जून 1576 में लड़ी गई थी। महाराणा प्रताप के पास सबसे प्रिय चेतक नाम का एक घोड़ा था। उसकी फुर्ती, रफ्तार और बहादुरी की कई लड़ाइयां जीतने में अहम भूमिका निभाई थी।महाराणा प्रताप सिंह सिसोदिया उदयपुर, मेवाड़ में सिसोदिया राजपूत राजवंश के राजा थे। उनका स्वाभिमान, पराक्रम, वीरता, साहस के सामने बड़े से बड़े युद्धाओं ने घुटने टेक दिए थे। आइए जानते है कि महाराणा प्रताप की जयंती में उनके कुछ खास विचार। जो आपको जिंदगी के लिए एक अच्छा सबक होगे।प्रत्येक मनुष्य का गौरव एवं आत्मसम्मान उसकी सबसे बड़ी कमाई होती है। इसलिए सदा इनकी रक्षा करनी चाहिए।जो मनुष्य विकट से विकट परिस्थितियों में भी झुकते नहीं हैं, हार नहीं मानते, वह हार कर भी जीत जाते हैं।कष्ट, विपत्ति और संकट हमारे जीवन को मजबूत और अनुभवी बनाते हैं। इनसे घबराना या दूर भागना नहीं चाहिएं बल्कि धैर्य और प्रसनन्नतापूर्वक इनका सामना करना चाहिएं।समय बहुत बलवान होता है। यह एक राजा को भी घास की रोटियां खिला सकता है।सत्य, परिश्रम और धैर्ये सुखमय जीवन के साधन है। परन्तु अन्याय के प्रतिकार के लिए हिंसा भी उतनी ही जरूरी है।जो सुख मे अतिप्रसन्न और विपत्ति से डर कर झुक जाते हैं, उन्हे ना ही सफलता मिलती है और न ही इतिहास मे जगह।अपनों से बड़ों के आगे झुक कर समस्त संसार को झुकाया जा सकता है।अपने और अपने परिवार के अलावा जो अपने राष्ट्र के बारे मे सोचे वही सच्चा नागरिक होता है।अपने कर्मो से वर्तमान को इतना विशवास दिला दो कि वो भविष्य को भी अच्छा होने पर मजबूर कर दे।सम्मानहीन व्यक्ति मुर्दे के सामान है।एक शासक का पहला कर्तव्य अपने राज्य का गौरव और सम्मान बचाने का होता है।

Aaj Ka Panchang 11 August 2022: जानिए गुरुवार का पंचांग, राहुकाल, शुभ मुहूर्त और सूर्योदय-सूर्यास्त का समय

जानिएगुरुवारकापंचांगराहुकालशुभमुहूर्तऔरसूर्योदयसूर्यास्तकासमयSARKARI NAUKARI 2019: 12वीं पास उम्मीदवारों के लिए सुनहरा अवसर, केवल इंटरव्‍यू से मिलेगी ये सरकारी नौकरी******आंध्र प्रदेश स्टेट बेवरेज कॉर्पोरेशन लिमिटेड (APSBCL) में अनेक पदों पर भर्तियां होने जा रही हैं। आपको बता दें कि कुल सेल्समैन और सेल्स सुपरवाइजर के 11 हजार से ज्यादा पदों पर ये भर्तियां होने जा रही हैं। बता दें कि इन पदों के लिए उम्मीदवार की न्यूनतम आयु सीमा 21 साल और अधिकतम आयु सीमा 40 साल निर्धारित की गई है।के पदों पर आवेदन करने वाले उम्मीदवार के पास मान्यता प्राप्त संस्थान से कंप्यूटर कोर्स की डिग्री होनी चाहिए। इसके अलावा कंप्यूटर की अच्छी समझ होनी अनिवार्य है। किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से कक्षा 12वीं पास की होना जरूरी है।उम्मीदवार की न्यूनतम आयु सीमा 21 साल और अधिकतम आयु सीमा 40 साल होनी चाहिए।इन पदों पर आवेदन करने के लिए कोई आवेदन शुल्क नहीं है।उम्मीदवार इन पदों पर आवेदन करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट apsbcl.aponline.gov.in पर जा सकते हैं।पदों पर चयन इंटरव्यू के आधार पर किया जाएगा।जानिएगुरुवारकापंचांगराहुकालशुभमुहूर्तऔरसूर्योदयसूर्यास्तकासमयCoWIN Portal: को-विन पोर्टल से डेटा लीक हुआ है! स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिया ये जवाब******Highlights केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को जोर देते हुए कहा कि ‘को-विन’ पोर्टल से कोई डेटा लीक नहीं हुआ है तथा लोगों के बारे में पूरी जानकारी सुरक्षित है क्योंकि यह डिजिटल मंच किसी व्यक्ति का ना तो पता और ना ही कोविड-19 टीकाकरण के लिए आरटी-पीसीआर जांच के नतीजों को एकत्र करता है। ने एक बयान में कहा, ‘‘मीडिया में आई कई खबरों में दावा किया गया है कि को-विन पोर्टल में एकत्रित डेटा ऑनलाइन लीक हो गया है।’’ बयान में कहा गया है, ‘‘यह स्पष्ट किया जाता है कि को-विन पोर्टल से कोई डेटा लीक नहीं हुआ है और लोगों पूरा डेटा इस डिजिटल मंच पर सुरक्षित है।’’इसमें कहा गया है, ‘‘यह भी स्पष्ट किया जाता है कि प्रथम दृष्टया यह दावा सत्य नहीं है और केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय खबरों की सच्चाई के बारे में पड़ताल करेगा क्योंकि को-विन लोगों का ना तो पता और ना ही कोविड-19 टीकाकरण के लिए आरटी-पीसीआर जांच के नतीजे एकत्र करता है।’’साइबर सुरक्षा शोधकर्ता राजशेखर राजहरिया ने ट्वीट किया कि व्यक्तिगत पहचान योग्य जानकारी (PII) जिसमें नाम और कोविड-19 परिणाम शामिल हैं, एक सामग्री वितरण नेटवर्क के माध्यम से सार्वजनिक की गई है। राजहरिया ने ट्वीट में कहा, ‘PII, जिसमें कोविड-19 आरटीपीसीआर रिजल्ट और कोविन डेटा का नाम, मोबाइल, पता आदि शामिल हैं, एक सरकारी सीडीएन के माध्यम से लीक हो रहे हैं। गूगल ने लगभग 8 लाख सार्वजनिक और निजी सरकारी दस्तावेजों को सर्च इंजन में क्रमबद्ध किया है। लोगों का डेटा अब ‘डार्कवेब’ पर सूचीबद्ध है. इसे तेजी से हटाए जाने की जरूरत है।’ इस संबंध में ईमेल के जरिए पूछे गए सवाल का अभी इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय ने जवाब नहीं मिला है।लीक हुए डेटा को ‘रेड फोरम’ की वेबसाइट पर बिक्री के लिए रखा गया है, जहां एक साइबर अपराधी ने 20,000 से अधिक लोगों के व्यक्तिगत डेटा होने का दावा किया। रेड फोरम पर डाले गए डाटा में लोगों का नाम, उम्र, लिंग, मोबाइल नंबर, पता, तारीख और कोविड-19 रिपोर्ट को दिखाया गया है। सरकार ने इस तरह की खबरों को खारिज किया है। उसने साफ किया है कि पूरा डेटा सेफ है, किसी को घबराने की जरूरत नहीं है। रेड फोरम पर साझा किए गए नमूना दस्तावेज से पता चलता है कि लीक डेटा कोविन पोर्टल पर अपलोड करने के लिए था।लाभार्थियों के लिए एक मोबाइल नंबर का उपयोग करके अब छह सदस्यों के पंजीकरण की सुविधा के लिए कोविन पोर्टल को अपग्रेड किया गया है। कोविन पर मोबाइल नंबर या आधार नंबर, या किसी अन्य पहचान दस्तावेज का उपयोग करके टीकाकरण के लिए पंजीकरण करने का एक मंच है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बयान में कहा, "4 सदस्यों की मौजूदा सीमा के बजाय, अब 6 सदस्यों को को-विन पर एक मोबाइल नंबर का उपयोग करके पंजीकृत किया जा सकता है।"लाभार्थियों के लिए को-विन की विभिन्न उपयोगिता सुविधाओं पर अद्यतनों की निरंतरता में, को-विन खाते में एक मुद्दा उठाना के तहत एक सुविधा शुरू की गई है, जिसके माध्यम से अगर कोई लाभार्थी पूरी तरह से वैक्सीनेडेट है या सिर्फ एक डोज के साथ वैक्सीनेटेड है, तो वो अपने वैक्सीनेशन स्टेटस में अपने स्टेटस के मुताबिक बदलाव कर सकता है।इस कार्यक्षमता के साथ, उपयोगकर्ताओं को अब अपने टीकाकरण की स्थिति में गलतियों को सुधारने की अनुमति है। कई राज्यों में डेटा गड़बड़ियों की शिकायतें मिलने के बाद उपयोगकर्ताओं के लिए बहुत आवश्यक सुविधा उपलब्ध कराई गई है। रेज अ इश्यू यूटिलिटी के माध्यम से ऑनलाइन अनुरोध सबमिट करने के बाद परिवर्तनों में 3-7 दिन लग सकते हैं। इस तरह के लाभार्थी अपनी देय टीके की खुराक प्राप्त कर सकते हैं, मौजूदा मानक दिशानिर्देशों के अनुसार, एक बार सिस्टम में नई टीकाकरण स्थिति सफलतापूर्वक अपडेट हो जाने के बाद टीकाकरण केंद्र निकटतम हो सकता है।()जानिएगुरुवारकापंचांगराहुकालशुभमुहूर्तऔरसूर्योदयसूर्यास्तकासमय3 years of Pulwama Attack: पुलवामा अटैक: जानिए कहां त​क पहुंची जांच, अटैक के बाद क्या-क्या घटित हुआ******Highlights कृतज्ञ राष्ट्र आज देश आज पुलवामा में हुए सीआरपीएफ जवानों पर हमले की तीसरी बरसी पर शहीदों को नमन कर रहा है। पुलवामा में शहीद इन जवानों पर हुए अटैक ने मानवीयता की सारी हदें पार कर दी थीं। देश का खून खौल रहा था कि कैसे इसका बदला लिया जाए, तब पीएम मोदी ने ताल ठोंककर राष्ट्र को भरोसा दिलाया था कि पा​क ने बड़ी गलती कर दी है,बदला लेकर रहेंगे। इसके बाद बालाकोट में बम गिराए गए। दरअसल, इन सभी घटनाओं का एक सिलसिला है। पुलवामा अटैक के बाद क्या कुछ घटित हुआ। हम इन सब बातों को आज पुलवामा की तीसरी बरसी पर एक-एक करके सिलसिलेवार तरीके से समझेंगे।जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग से करीब 2500 जवानों को लेकर 78 बसों में सीआरपीएफ का काफिला गुजर रहा था। सड़क पर उस दिन भी सामान्य आवाजाही थी। सीआरपीएफ का काफिला पुलवामा पहुंचा ही था, तभी सड़क की दूसरे तरफ से आ रही एक कार ने सीआरपीएफ के काफिले के साथ चल रहे वाहन में टक्‍कर मार दी। जैसे ही सामने से आ रही एसयूवी जवानों के काफिले से टकराई, वैसे ही उसमें विस्‍फोट हो गया। इस घातक हमले में सीआरपीएफ के 40 बहादुर जवान शहीद हो गए और इस विस्फोट की आग से देश जल गया।26 फरवरी की देर रात और 27 फरवरी की सुबह करीब 3 बजे भारतीय विमान पाकिस्तानी सीमा में दाखिल हुए और बालाकोट में जैश के ठिकानों पर ताबड़तोड़ कई बम दागे। पाकिस्तान ने मौके की गंभीरता को देखते हुए अपने एफ-16 विमान एक्टिव किए, लेकिन तब तक भारतीय वायुसेना अपना काम कर चुकी थी। भारत की ओर से इस हमले में सैकड़ों की संख्या में आतंकवादियों के मारे जाने का दावा किया गया। वहीं, देश के लोगों ने इस सर्जिकल स्ट्राइक को सराहनीय कदम बताया था।पुलवामा अटैक की तैयारियां अंदर ही अंदर चल रही थीं। वहीं दूसरी ओर पीएम मोदी देश के आक्रोश पर स्ट्राइक करने से पहले लगभग रोज भरोसे वाले बयान दे रहे थे।सुबह प्रधानमंत्री आवास पर कैबिनेट कमीटी ऑन सिक्योरिटी की बैठक हुई। बैठक के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, सेना को फ्री हैंड दे दिया गाय है। हमें अपने सैनिकों पर पूरा भरोसा है।मैं आतंकी संगठनों को और उनके सरपरस्तों को कहना चाहता हूं कि वो बहुत बड़ी गलती कर गए हैं। मैं देश को भरोसा देता हूं कि हमले के पीछे जो ताकते हैं, इस हमले के जो भी गुनहगार हैं, उन्हें उनके किए की सज़ा अवश्य मिलेगी।महाराष्ट्र के धुले और यवतमाल में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि "पुलवामा हमले के मुजरिमों को न्याय के कटघरे में लाया जाएगा और दुनिया को महसूस होगा कि भारत अब नया भारत है जिसकी नई दूरदर्शिता है और हर आंसू का बदला लिया जाएगा।बिहार के बरौनी में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जो आग आपके दिल में है वही आग मेरे दिल में भी है।पीएम मोदी ने कहा कि पुलवामा आतंकी हमला बताता है कि दोनों पड़ोसी देशों के बीच वार्ता का समय समाप्त हो गया है। उन्होंने विश्व समुदाय से एकजुट होकर आतंकवाद और उसे समर्थन देने वालों के खिलाफ सख्ती से कार्रवाई करने का आह्वान किया।भारतीय वायुसेना के मिग-21 ने पाकिस्तानी वायुसेना के एक एफ़-16 को मार गिराया। बहादुर अभिनंदन ने पाक एफ 16 विमाना को मार गिराया, लेकिन इस दौरान वे लाइन आॅफ कंट्रोल के उस तरह विमान गिरने से कूद गए। पाकिस्तान ने विंग कमांडर अभिनंदन को गिरफ़्तार कर दो दिनों के बाद रिहा कर दिया। इस हवाई हमले के बाद पाकिस्तान की रिपोर्ट में कहा गया है कि भारतीय सैन्य विमानों ने मुजफ्फराबाद के पास उनके हवाई क्षेत्र का उल्लंघन किया।पाक पर बालाकोट में हमले के पहले से ही राफेल की दरकार भारतीय वायुसेना को थी, लेकिन बालाकोट हमले बाद उसी साल यानी अक्टूबर 2019 में भारत को पहला राफेल मिला। रूस मेंरक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने प्रथम राफेल लड़ाकू विमान सौंपे जाने के समारोह के दौरान उसकी पूजा की। राफेल की पूजा का फोटो और वीडियो काफी चर्चित रहा था। राफेल जेट का पहला जत्था 29 जुलाई, 2020 को पहुंचा था ।पुलवामा: 40 हजार किलोमीटर का सफर तय करके देशभर से 40 उन शहीद जवानों के घर से मिट्टी स्मारक पहुंची। 40 जवानों की याद में लेथपुरा कैंप में एक स्मारक बनाया इस दिन राष्ट्र को समर्पित किया। सीआरपीएफ का लेथपुरा कैंप घटनास्थल के करीब है उसी के अंदर यह स्मारक बनाया गया।रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट ने जुलाई 2020 में कहा कि भारत को दसां एविएशन से कुल 26 राफेल विमान प्राप्त हो चुके हैं। 36 में से 26 विमान पुलवामा हमले के करीब -करीब एक-सवा साल के भीतर हमें प्राप्त हो गए।पुलवामा हमले की जांच के लिए अमेरिकी जांच एजेंसी FBI ने भी NIA की मदद की थी। एनआईए ने चार्जशीट में बताया था कि इस आतंकी घटना को अंजाम देने में जैश-ए-मोहम्मद ने आईएसआई के अलावा पाकिस्तान की सरकारी एजेंसी की भी मदद ली थी।पुलवामा आतंकी हमले की जांच कर रही एनआईए अभी तक यह पता नहीं लगा सकी है कि आत्‍मघाती हम हमलावर ने कार में रखने के लिए इतने उच्‍च कोटि के विस्‍फोटक को कहां से हासिल किया। 14 फरवरी 2019 को जैश-ए-मोहम्‍मद के आतंकवादी आदिल अहमद डार ने अपनी विस्‍फोटकों से लदी कार को पुलवामा के नजदीक श्रीनगर हाइवे पर सीआरपीएफ की बस से टकरा दिया था। फरेंसिक विशेषज्ञों की रिपोर्ट के मुताबिक पुलवामा हमले में 25 किलो प्‍लास्टिक विस्‍फोटक का इस्‍तेमाल किया गया था। एनआईए के एक अधिकारी ने कहा कि जिन विस्‍फोटकों को कार में रखा गया था, उनमें अमोनियम नाइट्रेट, नाइट्रोग्‍लीसरीन और आरडीएक्‍स शामिल था।एक लंबे समय तक इस घटना की जांच चलती रही और चार्जशीट दाखिल करने में एक साल से ज्यादा की देर को लेकर विपक्ष और कई लोग सरकार पर सवाल उठाते रहे। हालांकि एनआईए ने मामले की पूरी छानबीन और गहन जांच के बाद अगस्त 2020 में 13,500 पन्नों की चार्जशीट दाखिल की। इस चार्जशीट में जैश-ए-मोहम्‍मद सरगना मसूद अजहर समेत 19 आतंकी और सहयोगियों को आरोपी बनाया गया। मुख्‍य हमलावर आदिल अहमद डार महज 23 साल का था. वह पुलवामा के काकापोरा का रहने वाला था। घटना को अंजाम देने के एक साल पहले ही वर्ष 2018 में वह जैश-ए-मोहम्‍मद से जुड़ा था।चार्जशीट में जिन आतंकियों को आरोपी बनाया गया था, उनमें से आदिल अहमद डार, सज्जाद अहमद भट, मुदसिर अहमद खान, कारी यासिर, कामरान अली और उमर फारूक मारे जा चुके थे. 7 आतंकियों को गिरफ्तार कर लिया गया था. मसूद अजहर, अम्मार अल्वी और असगर अल्वी पाकिस्तान में हैं. जबकि समीर अहमद डार, मोहम्मद इस्माइल अल्वी और अशाक अहमद फरार थे। 14 फरवरी को पुलवामा हमले के बाद जैश ने वीडियो जारी कर इसकी जिम्मेदारी ली थी. फोरेंसिक रिपोर्ट और आईपी एड्रेस से सामने आया था कि ये वीडियो पाकिस्तान से जारी किया गया है. भारत पहले दिन से ही इस हमले को पाकिस्तान समर्थित आतंकी हमला बता रहा था. लेकिन पाकिस्तान ने तो ये बातें मानी ही नहीं. भारत ने जब जब बालाकोट एयर स्ट्राइक (Balakot Air Strike) की तो भी पाकिस्तान ने मानने से इनकार कर दिया कि उसकी सरजमीं पर आतंकी पल रहे हैं।16 जनवरी 2022 को NIA ने इस हमले में सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल की। इसमें बताया गया है कि पुलवामा हमले में पाकिस्तान का हाथ होने की बात नकारने के लिए ISI ने लश्कर-ए-मुस्तफा (LeM) नाम के आतंकी संगठन को बनाया था। ये प्लान मसूद अजहर के भाई मुफ्ती उर्फ अब्दुल रौफ का था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, लश्कर-ए-मुस्तफा में बिहार और यूपी से हथियारों की तस्करी के नाम पर युवाओं को भर्ती किया जाता था। बाद में इनसे आतंकी गतिविधियां करवाई जाती थीं। ऐसा बताने की कोशिश की गई कि पुलवामा हमले के पीछे जैश नहीं बल्कि लश्कर-ए-मुस्तफा है और इसमें भारतीय युवा ही शामिल हैं।

Aaj Ka Panchang 11 August 2022: जानिए गुरुवार का पंचांग, राहुकाल, शुभ मुहूर्त और सूर्योदय-सूर्यास्त का समय

जानिएगुरुवारकापंचांगराहुकालशुभमुहूर्तऔरसूर्योदयसूर्यास्तकासमयNach Baliye 9: पहली बार रिश्ते पर खुलकर बोलीं उर्वशी ढोलकिया, शादी को लेकर किया खुलासा******स्टार प्लस पर आने वाले डांस रिएलिटी शो दर्शकों की उम्मीदों पर खरा उतर रहा है। न सिर्फ डांस, बल्कि कंटेस्टेंट्स की पर्सनल लाइफ को लेकर भी ये शो सुर्खियों में हैं। में कोमोलिका का किरदार निभाने वाली एक्ट्रेस भी इस शो का हिस्सा हैं और अपने एक्स ब्वॉयफ्रेंड के साथ डांस करती नज़र आ रही हैं। इसी शो में उर्वशी ने अपने रिश्ते के बारे में खुलकर बात की है।स्टार प्लस ने एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें दिखाया गया है कि पहली बार शो पर उर्वशी के दोनों बेटे भी आए हैं। शो में बतौर जज नज़र आ रही रवीना टंडन ने जब उनसे सवाल पूछा कि पहली बार अपनी मां के ब्वॉयफ्रेंड को कब देखा तो उन्होंने मजेदार किस्सा सुनाया।इसके बाद रवीना ने पूछा कि क्या कभी इस वजह से रैगिंग हुई तो उन्होंने कहा कि 'कोमोलिका' के किरदार की वजह से किसी ने उनकी रैगिंग करने की हिम्मत ही नहीं की।वहीं, जब रवीना ने उर्वशी से पूछा कि वो शादी कब कर रही हैं तो एक्ट्रेस ने कहा, 'मैं एक वक्त पर शादी करना चाहती थी, लेकिन अनुज कमिटमेंट देने को तैयार नहीं थे।' इस पर अनुज ने कहा कि उस वक्त वह जिम्मेदारी उठाने के लिए पूरी तरह तैयार नहीं थे।बता दें कि उर्वशी ने'कसौटी जिंदगी की' सीरियल में कोमोलिका का किरदार निभाया था, जो लोगों को बहुत पसंद आया था।जानिएगुरुवारकापंचांगराहुकालशुभमुहूर्तऔरसूर्योदयसूर्यास्तकासमयकच्चे तंबाकू पर पांच प्रतिशत GST वापस ले सरकार : तंबाकू किसान संगठन****** तंबाकू किसानों के एक संगठन ने सरकार से अनुरोध किया है कि कच्चे तंबाकू पर से वस्‍तु एवं सेवा कर (GST) की पांच प्रतिशत दर को वापस लिया जाए और इसे किसी अन्य कृषि उत्पाद की तरह ही कर के दायरे से बाहर रखा जाए। फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया फार्मर एसोसिएशंस (FAIFA) ने एक बयान में कहा कि GST के बाद तंबाकू की पत्तियों और कच्चे तंबाकू की कीमत में गिरावट आने का डर है। पूरे आंध्र प्रदेश में तंबाकू किसानों ने सभी मंचों पर तंबाकू की नीलामी को रोक दिया है।सरकार ने GST के तहत बैंकों के केंद्रीयकृत पंजीकरण के नियम जारी किए, हर राज्‍य के लिए कराना होगा अलग रजिस्‍ट्रेशनसंगठन ने तंबाकू पर कर को अवास्तविक बताते हुए कहा कि इससे लाखों किसानों की आजीविका प्रभावित होगी। सरकार 18 जून को GST समीक्षा बैठक में इस पर विचार करे। FAIFA के वाइस प्रेसिडेंट गड्डे शेषागिरी राव ने कहा कि सदर्न ब्‍लैक सॉयल क्षेत्र के विभिन्‍न नीलामी मंच से जुड़े किसानों ने तंबाकू की पत्तियों पर लगाए गए 5 प्रतिशत GST के विरोध में अपने उत्‍पाद बाजार में न लाने का निर्णय किया है।वित्‍त मंत्री ने हाइब्रिड कारों के GST पर पुनर्विचार नहीं करने के दिए संकेत, 18% कर की वाहन उद्योग ने की थी मांगFAIFA के अनुसार, कच्‍चा तंबाकू और अनमैन्‍युफैक्‍चर्ड तंबाकू पर केंद्रीय उत्‍पाद शुल्‍क की छूट चरण सिंह सरकार के समय से ही मिलती रही है। एसोसिएशन ने अन्‍य कृषि फसलों की तरह ही तंबाकू को भी टैक्‍स से दायर रखने का अनुरोध किया है।

Aaj Ka Panchang 11 August 2022: जानिए गुरुवार का पंचांग, राहुकाल, शुभ मुहूर्त और सूर्योदय-सूर्यास्त का समय

जानिएगुरुवारकापंचांगराहुकालशुभमुहूर्तऔरसूर्योदयसूर्यास्तकासमयभारतीय शेयर बाजार में बढ़ रही है विदेशी निवेशक की रुचि, अप्रैल-नवंबर में 1800 FPI ने कराया रजिस्‍ट्रेशन******विदेशी निवेशक भारत की वृद्धि को लेकर सकारात्‍मक हैं। विदेशी निवेशकों की भारतीय शेयर बाजार में रुचि लगातार बढ़ रही है। यही वजह है कि चालू वित्त वर्ष के शुरुआती आठ महीनों के दौरान सेबी के पास 1,800 से अधिक विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने अपना रजिस्‍ट्रेशन कराया है।सेबी से प्राप्त ताजा आंकड़ों के अनुसार शेयर बाजार में वित्त वर्ष 2014-15 के दौरान कुल 1,444 नए एफपीआई ने पंजीकरण कराया था। केंद्र में मोदी सरकार बनने के बाद विदेशी निवेशकों की धारणा को काफी प्रोत्साहन मिला है।आंकड़ों के विश्लेषण से पता चलता है कि वित्‍त वर्ष 2015-16 में अप्रैल से नवंबर के दौरान 1,813 अतिरिक्त एफपीआई को पूंजी बाजार नियामक सेबी से मंजूरी मिली है। इसके साथ ही इस प्रकार के निवेशकों की कुल संख्या 3,257 तक पहुंच गई है। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने 2014 में ऐसे नियम जारी किए, जिसके तहत विदेशी निवेशकों की विभिन्न श्रेणियों को एक नई श्रेणी एफपीआई में समाहित कर दिया गया।नए नियमों के तहत एफपीआई को उनके कारोबारी जोखिम और अपने ग्राहक को जानिए (केवाईसी) जरूरतों को देखते हुए तीन वर्गों में बांटा गया है। इसके अलावा उनके लिए रजिस्‍ट्रेशन की अन्य प्रक्रियाओं को सरल बनाया गया है। नए नियमों के तहत एफपीआई को स्थायी रजिस्‍ट्रेशन दिया गया, जबकि इससे पहले भारतीय बाजारों में निवेश की इच्छुक विदेशी इकाईयों को एक साल या फिर पांच साल के लिए मंजूरी दी जाती थी।बहरहाल, नए नियम के तहत रजिस्‍ट्रेशन तब तक बना रहेगा, जब तक कि उसे निलंबित अथवा निरस्त नहीं किया जाता या फिर एफपीआई खुद इसे नहीं छोड़ देता है।

जानिएगुरुवारकापंचांगराहुकालशुभमुहूर्तऔरसूर्योदयसूर्यास्तकासमयआसिम रियाज ने बर्थडे पर रिलीज किया 'स्काई हाई' गाना, हिमांशी ने सेलिब्रेट किया जन्मदिन, देखें Photos******'बिग बॉस सीजन 13' के रनरअप आसिम रियाज आज अपना 28वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रहे हैं। अपने बर्थडे पर आसिम ने अपने फैंस को जबरदस्त तोहफा भी दिया है। आसिम ने अपना एक नया गाना 'स्काई हाई' रिलीज किया है। खास बात है कि इस गाने में आसिम के साथ उनकी करीबी दोस्त हिमांशी खुराना कैमियों में नजर आईं।इस गाने को आसिम रियाज और हिमांशी खुराना ने अपने आधिकारिक इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर किया है। इस वीडियो में हिमांशी के साथ-साथ आसिम रियाज के सगे भाई उमर रियाज भी नजर आ रहे हैं।आसिम रियाज ने 'बिग बॉस सीज 13' में सभी घरवालों के सामने हिमांशी को प्रपोज कर दिया था। तभी से ये दोनों एक साथ हैं। आसिम के बर्थडे पर हिमांशी और उनके कई दोस्त मौजूद थे। बर्थडे की तस्वीर को हिमांशी ने ट्विटर पर शेयर किया है। इसके साथ ही कैप्शन में लिखा- 'हैप्पी बर्थडे आसिम।'आसिम के बर्थडे सेलिब्रेशन की तस्वीर में पीछे का बैकग्राउंड काफी अट्रैक्टिव लग रहा है। पीछे की वॉल पर ढेर सारे बलून लगे हुए हैं जबकि सामने की टेबल पर 4 केक रखे हुए हैं। इसके साथ ही गुलाब के फूलों का एक गुलदस्ता भी नजर आ रहा है।इस तस्वीर के अलावा हिमांशी ने अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी पर आसिम के बर्थडे सेलिब्रेशन के कई वीडियो शेयर किए हैं। जिसमें आसिम और उनके दोस्त एक दूसरे को केक खिलाते हुए दिखाई दे रहे हैं।जानिएगुरुवारकापंचांगराहुकालशुभमुहूर्तऔरसूर्योदयसूर्यास्तकासमयUPSC 2021 Result: यूपीएससी के नतीजे घोषित, श्रुति शर्मा बनी आईएएस टॉपर, पहले चार टॉपरों में सभी लड़कियां******इस बार यूपीएससी परीक्षा में श्रुति शर्मा ने टॉप किया है। यूपीएससी मेंस परीक्षा 2021 में भाग लेने वाले अभ्यर्थी अपना परिणाम यूपीएससी की आधिकारिक वेबसाइट upsc.gov.in पर चेक कर सकते हैं। श्रुति शर्मा के बाद दूसरे नंबर पर अंकिता अग्रवाल, तीसरे पर गामिनी सिंगला और चौथे पर ऐश्वर्या वर्मा हैं।संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) सिविल सेवा मुख्य परीक्षा 2021 का रिजल्ट घोषित कर दिए हैं। इस बार यूपीएससी परीक्षा में श्रुति शर्मा ने टॉप किया है। श्रुति शर्मा के बाद अंकिता अग्रवाल को दूसरा स्थान और गामिनी सिंघला को तीसरा स्थान हासिल हुआ है। यूपीएससी सीएसई 2021 फाइनल रिजल्ट में कुल 685 अभ्यर्थियों को चयनित घोषित किया गया है। वहीं 80 अभ्यर्थियों को अनंतिम रूप से चयन केे लिए रिकमन्ड किया गया है। इसके अलावा एक अभ्यर्थी का रिजल्ट अभी रोका गया है।परीक्षार्थियों के मार्क्स रिजल्ट की घोषणा के करीब 15 दिन बाद जारी किए जाएंगे। आपको बता दें कि इससे पहले आयोग ने 17 मार्च को सिविल सेवा मुख्य परीक्षा 2021 का रिजल्ट जारी किया था। मुख्य परीक्षा पास करने वाले उम्मीदवारों के इंटरव्यू 5 अप्रैल से 26 मई 2022 तक लिए गए। यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2021 भर्ती के जरिए, आईएएस, आईएफएस, आईपीएस व ग्रुप ए व ग्रुप बी के 749 पदों को भरा जाएगा।हर वर्ष IAS, IPS ऑफिसर बनने का ख्वाब संजोने वाले लाखों उम्मीदवार यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा देते हैं। इस परीक्षा को देश की सबसे चुनौतिपूर्ण प्रतियोगी परीक्षाओं में से एक माना जाता है।यूपीएससी सिविल सेवा के जरिए इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विसेज (आईएएस), भारतीय पुलिस सर्विसेज (आईपीएस) और भारतीय फॉरेन सर्विसेज (आईएफएस), रेलवे ग्रुप ए (इंडियन रेलवे अकाउंट्स सर्विस), इंडियन पोस्टल सर्विसेज, भारतीय डाक सेवा, इंडियन ट्रेड सर्विसेज सहित अन्य सेवाओं के लिए चयन किया जाता है। यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा तीन चरणों - प्रारंभिक, मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार में आयोजित की जाती है। मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार में प्रदर्शन के आधार पर फाइनल मेरिट लिस्ट जारी होती है।

जानिएगुरुवारकापंचांगराहुकालशुभमुहूर्तऔरसूर्योदयसूर्यास्तकासमयSamsung Galaxy Note 7 ग्राहकों को भारत में भी मिलेगा रिफंड, प्री-बुकिंग करवाने वालों के लिए भी ऑफर!****** Samsung के भारतीय ग्राहकों के लिए एक अच्‍छी खबर है। कंपनी अपने सबसे विवादित फोन Samsung Galaxy Note 7 को भारत में भी वापस लेकर उसके पैसे वापस कर रही है। ऑनलाइन टेक मैगजीन BGR के मुताबिक कंपनी दुनिया के किसी भी देश से खरीदे गए गैलेक्‍सी नोट 7 स्‍मार्टफोन का रिफंड उपलब्‍ध करा रही है।भारत में प्री बुकिंग करवाने वाले ग्राहकों को भी शानदार ऑफर्स के साथ और उपलब्‍ध करा रही है।Samsung ने बैटरी में होने वाली समस्या के कारण इस डिवाइस की सेल पर रोक लगा दी है।अमेरिका ने विमान में सैमसंग गैलेक्सी नोट 7 ले जाने पर लगाया प्रतिबंध, आदेश न मानने पर होगा जुर्मानाsamsung galaxy Note7अगर Jio सिम एक्टिवेट होने के बावजूद नहीं उठा पा रहे ऑफर्स का लाभ, तो अपनाएं ये उपाएहालांकि कंपनी ने अभी तक भारतीय बाजार में ऑर्डर किए गए गैलेक्सी नोट 7 से जुड़ी किसी योजना या स्कीम के बारे में घोषणा नहीं की है।जानिएगुरुवारकापंचांगराहुकालशुभमुहूर्तऔरसूर्योदयसूर्यास्तकासमयनोरा फतेही का इंस्टाग्राम डिलीट, 37 मिलियन से ज्यादा फॉलोअर, लोग हैरान******एक्ट्रेस नोरा फतेही ने अचानक अपना इंस्टाग्राम डिलीट करके अपने करोड़ों प्रशंसकों को चौंका दिया है। नोरा ने कुछ घंटों पहले ही दुबई वेकेशन की फोटो शेयर की थी जिसमें वो शेर के साथ नजर आ रही थी। इसके बाद एकाएक उनके इंस्टा के डिलीट होने की खबर आते ही लोग चौंक गए।नोरा के इंस्टाग्राम पर करीब37 मिलियन से ज्यादा फॉलोअर हैं और उनके लिए ये खबर काफी चौंकाने वाली है।एक तरफ कहा जा रहा है कि इंस्टाग्राम को नोरा ने ही डिलीट किया है तो कई लोग ये कह रहे हैं कि उनका इंस्टाग्राम हैक होने के बाद डिलीट हुआ है। बहरहाल इस बात को लेकर नोरा की तरफ से कोई पुष्टि नहीं आई है।कुछ घंटों पहले तक नोरा दुबई से पोस्ट्स शेयर कर रही थीं. वेकेशन की कई फोटोज नोरा ने इंस्टाग्राम पर शेयर की थीं. यहां तक कि नोरा ने व्हाइट लायन्स संग फोटो शेयर की थी। उनकी लास्ट फोटो देखकर ऐसा नहीं लगता कि वो इतना बड़ा फैसला करने जा रही हैं लेकिन फैंस ये सोचकर परेशान हैं कि ऐसा कैसे हो गया।नोरा फतेही सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती थी और लगातार अपनी स्टनिंग फोटो पोस्ट करती रहती थी। दिलबर गर्ल के करोड़ोंं फॉलोअर थे और इनकी संख्या लगातार बढ़ती जा रही थी।नोरा फतेही के वर्कफ्रंट की बात करें तोगुरु रंधावा के साथ 'डांस मेरी रानी' में नजर आई थीं।

जानिएगुरुवारकापंचांगराहुकालशुभमुहूर्तऔरसूर्योदयसूर्यास्तकासमयKarva Chauth 2018: करवा चौथ पर अपने हाथों पर लगाएं ये बेहतरीन मेहंदी डिजाइन, हर कोई रह जाएंगा देखता******27 अक्टूबर को हिंदू धर्म में का त्यौहार है। जिसका सभी विवाहित महिलाओं को बेसब्री से इंतज़ार होता है। इसके साथ ही मनचाहा पति पाने के लिए अविवाहित लड़कियां बी निर्जला व्रत रखती है। सुहागन स्त्रियां अपने पति की लंबी उम्र के लिए व्रत, करवा माता की पूजा और सोलह श्रृंगार यही तो खासियत है इस त्यौहार की और सौलह श्रृंगार.. मेहंदी के बिना पूरा हो ही नहीं सकता।सुहाग का ही नहीं बल्कि सौभाग्य का भी प्रतीक है मेहंदी, तभी तो पति की लंबी उम्र के लिए रखे जाने वाले इस व्रत पर महिलाएं खासतौर से मेंहदी लगवाती हैं। 27 अक्टूबर यानि कि शनिवार को करवा चौथ है, जिसकी तैयारियां शुरू हो गई होंगी। कपड़ों से लेकर ज्वैलरी तक सभी कुछ फाइनल हो चुका है लेकिन हाथों में मेहंदी कैसी लगवाएं... जो न केवल आपके पिया को भाएं बल्कि आपको सबसे अलग भी महसूस करवाएं। समझ नहीं आ रहा कि अपने हाथों पर किस तरह की डिजाइन लगाएं। जिसकी हर कोई तारीफ करें। इसीलिए हम आपके लिए लेकर आएं है कुछ खूबसूरत मेहंदी डिजाइन्स। जिसे देखकर आप खुश हो जाएगा।यह डिजाइन काफी यूनिक है। इसे आप ट्राई कर सकती है। इसे लगाकर आपकी खूबसूरती में चार-चांद लग जाएगा।अगर आपका पहला करवा चौथ का व्रत है तो आप इस तरह की मेहंदी डिजाइन लगवा सकती हैय़ यह आप पर काफी अच्छी लगेगी।अगर आप हथेली के अलावा पीछे साइड में लगवाना चाहते है तो इस डिजाइन को लगवा सकते है। यह काफी खूबसूरत नजर आएगी।जानिएगुरुवारकापंचांगराहुकालशुभमुहूर्तऔरसूर्योदयसूर्यास्तकासमय2019-20 में GDP की वृद्धि दर 5 प्रतिशत रहने का अनुमान, विनिर्माण क्षेत्र में आई सबसे ज्‍यादा गिरावट******GDP seen dropping to 5 pc in 2019-20सरकार ने मंगलवार को वित्‍त वर्ष 2019-20 के लिए सकल घरेलू उत्‍पाद की वृद्धि दर का पहला अग्रिम अनुमान जारी किया है। सरकार ने कहा है कि चालू वित्‍त वर्ष 2019-20 में सकल घरेलू उत्‍पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर घटकर 5 प्रतिशत रहने का अनुमान है। पिछले वित्‍त वर्ष के मुकाबले यह वृद्धि दर काफी कम है। वित्‍त वर्ष 2018-19 में जीडीपी की वृद्धि दर 6.8 प्रतिशत रही थी। राष्‍ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) द्वारा मंगलवार को जारी राष्‍ट्रीय आय () के पहले अग्रिम अनुमान में कहा गया है कि आर्थिक वृद्धि दर में गिरावट की प्रमुख वजह विनिर्माण क्षेत्र की वृद्धि में कमी आना है। चालू वित्‍त वर्ष 2019-20 में विनिर्माण क्षेत्र की वृद्धि दर घटकर 2 प्रतिशत पन आने का अनुमान है, जो पिछले वित्‍त वर्ष में 6.2 प्रतिशत थी।अग्रिम अनुमान के अनुसार कृषि, निर्माण और बिजली, गैस और जलापूर्ति जैसे क्षेत्रों की वृद्धि दर भी नीचे आएगी। वहीं खनन, लोक प्रशासन और रक्षा जैसे क्षेत्रों की वृद्धि दर में मामूली सुधार का अनुमान है।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 05:25
उद्धरण 1 इमारत
पर्रिकर के निधन के बाद प्रदेश में भाजपा के लिए कोई सहानुभूति की लहर नहीं: चोडांकर****** उत्तरी लोकसभा सीट से कांग्रेस के उम्मीदवार गिरीश चोडांकर ने दावा किया है कि राज्य के चार बार मुख्यमंत्री रहे मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद सत्तारूढ़ भाजपा के लिए प्रदेश में सहानुभूति की कोई लहर नहीं है। साथ ही उन्होंने कहा कि महाराष्ट्रवादी गोमंतक पार्टी (एमजीपी) के कांग्रेस के साथ हाथ मिलाने के फैसले ने राज्य में पार्टी की चुनावी संभावनाओं को बेहतर किया है।चोडांकर भाजपा प्रत्याशी एवं केंद्रीय मंत्री श्रीपद नायक के खिलाफ चुनाव मैदान में हैं। चोडांकर ने शुक्रवार को अपने चुनावी प्रचार के दौरानकहा, “भाजपा नेताओं की उम्मीद के उलट, पर्रिकर के निधन के बाद पार्टी के लिए सहानुभूति की कोई लहर नहीं है।”उन्होंने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं का एक छोड़ा सा वर्ग है जो अब भी चुनाव में सहानुभूति का मुद्दा लेकर चल रहा है लेकिन पूरी पार्टी नहीं। गोवा प्रदेश कांग्रेस कमेटी (जीपीसीसी) के अध्यक्ष ने कहा, “मतदाताओं का छोटा सा वर्ग सहानुभूति में बह सकता है। लेकिन बड़े पैमाने पर मतदाताओं के बीच ऐसी कोई लहर नहीं है और वे कांग्रेस को सत्ता में लाने के लिए दृढ़ हैं।”पर्रिकर का इस साल 17 मार्च को निधन हो गया था। वह अग्नाशय के कैंसर से पीड़ित थे। चोडांकर ने कहा कि एमजीपी के समर्थन से गोवा में लोकसभा चुनावों के लिए कांग्रेस के दोनों उम्मीदवारों की चुनावी संभावनाओं को बल मिला है।
2022-10-01 04:17
उद्धरण 2 इमारत
प्रधानमंत्री योजना के तहत Aadhaar Card से 1% ब्याज पर मिल रहा लोन? जानिए सरकार ने क्या कहा******मोदी सरकार ने कोरोना संकट काल में लोगों को राहत देने के लिए कई तरह की योजनाएं चला रखी हैं। लेकिन कई लोग प्रधानमंत्री की ओर से चलायी जा रही योजनाओं का फर्जीवाड़ा करने में लगे हुए हैं। सोशल मीडिया पर वायरल दावा किया जा रहा है किप्रधानमंत्री योजना के तहत आधार कार्ड के जरिए केवल 1 प्रतिशत ब्याज पर लोन दिया जा रहा है। लेकिन अगर आपके पास भी लोन को लेकर इस तरह का कोई मैसेज या लिंक क्लिक करने के लिए आया है तो आप सावधान हो जाइए। आधार कार्ड के जरिए लोन दिलाने का यह मैसेज काफी वायरल हो रहा है।दरअसल, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म व्हाट्सएप (WhatsApp) पर साझा किए जा रहे एक मैसेज में यह दावा किया जा रहा है कि प्रधानमंत्री योजना के तहत (Aadhaar Card) के माध्यम से 1 प्रतिशत ब्याज पर लोन मिल रहा है। मैसेज में लिखा है कि 'प्रधानमंत्री योजना आधार कार्ड से लोन 1 प्रतिशत ब्याज 50 प्रतिशत छूट कॉल करें- 8126974825' । बता दें कि, अगर अब तक इन साइबर ठगों के झांसे में आकर अपनी डिटेल दे देते हैं तो आप ठगी के शिकार हो सकते हैं।बता दें कि, सरकारी एजेंसी पीआईबी भारत सरकार की नीतियों, कार्यक्रम पहल और उपलब्धियों के बारे में समाचार-पत्रों व इलेक्‍ट्रॉनिक मीडिया को सूचना देने वाली प्रमुख एजेंसी है। पीआईबी की फैक्ट चेक टीम इस तरह के फेक न्यूज से आपको आगाह करती रहती है। पीआईबी लगातार उन खबरों को लेकर लोगों को सतर्क करता रहा है जिससे अफवाह फैल सकती है। यह दावा फर्जी है। केंद्र सरकार द्वारा 'प्रधानमंत्री योजना' नामक ऐसी किसी योजना के तहत नहीं दिया जा रहा है। पीआईबी फैक्ट चेक ने अपने ट्वीट में ये भी कहा है कि आधार कार्ड से लोन मिलने का दावा करती यह 'प्रधानमंत्री योजना' फर्जी है।सरकार से जुड़ी कोई खबर सच है या फर्जी, यह जानने के लिए PIB Fact Check की मदद ली जा सकती है। कोई भी व्यक्ति PIB Fact Check को संदेहात्मक खबर का स्क्रीनशॉट, ट्वीट, फेसबुक पोस्ट या यूआरएल वॉट्सऐप नंबर 918799711259 पर भेज सकता है या फिर पर मेल कर सकता है। इसके अलावा आप ट्विटर पर @PIBFactCheck या इंस्‍टाग्राम पर /PIBFactCheck या फेसबुक पर /PIBFactCheck के जरिए भी संपर्क कर सकते हैं।
2022-10-01 02:59
उद्धरण 3 इमारत
Supreme Court on Stray Dogs: "आवारा कुत्तों को भी है खाने का अधिकार," सुप्रीम कोर्ट ने वापस लिया अंतरिम आदेश******Highlights सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को अपना वह अंतरिम आदेश वापस ले लिया, जिसके तहत उसने आवारा कुत्तों को खिलाने के अधिकार के संबंध में दिल्ली उच्च न्यायालय के 2021 के फैसले पर रोक लगाई थी। उच्च न्यायालय ने 2021 में अपने आदेश में कहा था कि आवारा कुत्तों को भी भोजन का अधिकार है और नागरिकों को उन्हें (कुत्तों को) खिलाने का अधिकार।शीर्ष अदालत ने एक गैर-सरकारी संगठन (एनजीओ) ‘ह्यूमैन फाउंडेशन फॉर पीपल एंड एनिमल्स’ की याचिका पर चार मार्च को इस आदेश पर यह कहते हुए रोक लगा दी थी कि इससे आवारा कुत्तों से खतरों की आशंका बढ़ेगी। न्यायमूर्ति उदय उमेश ललित, न्यायमूर्ति एस.रवीन्द्र भट तथा न्यायमूर्ति सुधांशु धूलिया की पीठ ने इन दलीलों का संज्ञान लिया कि उच्च न्यायालय का आदेश एक दीवानी मामले में सुनाया गया था, जिसमें दो निजी पक्षकार आमने-सामने थे और एनजीओ को इस मुकदमे में हस्तक्षेप करने का कोई अधिकार नहीं है।पीठ ने इस तथ्य का भी संज्ञान लिया कि असली मुकदमे के दोनों पक्षों के बीच विवाद का निस्तारण हो चुका था, इसलिए तीसरे पक्ष के इशारे पर मुकदमे को जारी रखने की जरूरत नहीं थी। अपने आदेश में शीर्ष अदालत ने कहा, ‘‘यह विशेष अनुमति याचिका (एसएलपी) दिल्ली उच्च न्यायालय के 24 जून 2021 के फैसले से उत्पन्न होती है। अपने फैसले के तहत न्यायाधीश कई निष्कर्ष पर पहुंचे हैं।’’न्यायालय ने कहा कि बाद में इस फैसले पर रोक लगा दी गयी थी। पीठ ने अपने आदेश में कहा, ‘‘यह याचिका (उच्च न्यायालय के) फैसले के खिलाफ अपील की अनुमति के लिए दायर की गई थी, क्योंकि एनजीओ इस वाद में पक्षकार नहीं था। ऐसा समझा जाता है कि मूल वाद के दोनों पक्षों ने मामला सुलझा लिया था। चूंकि मामला दोनों निजी पक्षों के बीच विवाद को लेकर था, इसलिए एसएलपी दायर करने की अनुमति मांगने का याचिकाकर्ता का कोई अधिकार नहीं है। हम, इसलिए याचिका का निस्तारण करते हैं और अंतरिम आदेश वापस लेते हैं।’’इससे पहले शीर्ष अदालत ने एनजीओ की अपील पर नोटिस जारी करते हुए भारतीय पशु कल्याण बोर्ड, दिल्ली सरकार और अन्य से भी जवाब मांगा था। दिल्ली उच्च न्यायालय ने कहा था कि आवारा कुत्तों को भोजन का अधिकार है और नागरिकों को सामुदायिक कुत्तों को खिलाने का अधिकार है। अदालत ने तब कहा था कि इस अधिकार का इस्तेमाल करते समय यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि इससे दूसरों के अधिकार का हनन न हो और उत्पीड़न न हो, साथ ही किसी के लिए यह परेशानी का सबब न बने।
वापसी