नई पोस्ट करें

भारतीय रेल ने रचा इतिहास, वित्त वर्ष 2020-21 में बेचा 4573 करोड़ रुपये का स्क्रैप

2022-10-01 06:12:07 344

भारतीयरेलनेरचाइतिहासवित्तवर्ष202021मेंबेचा4573करोड़रुपयेकास्क्रैपसंकट में 11 हजार लोगों के काम आया लोकसभा स्पीकर ओम बिरला का कंट्रोल रूम****** कोरोना वायरस की चुनौती के बीच जनता की मदद के लिए लोकसभा स्पीकर की पहल पर स्थापित कंट्रोल रूम 11 हजार लोगों को मदद पहुंचाने में सफल रहा है। लोकसभा सचिवालय में स्थापित यह कंट्रोल रूम सांसदों और विधायकों के बीच समन्वय कर राहत कार्यों का संचालन कर रहा है। लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने लॉकडाउन के दौरान सांसदों और विधायकों के जरिए जरूरतमंदों की मदद के लिए लोकसभा सचिवालय में कंट्रोल रूम अप्रैल में स्थापित कराया था।27 अप्रैल से 31 मई के दौरान कंट्रोल रूम को कुल एक हजार कॉल मिली। इस दौरान नियंत्रण कक्ष ने करीब 11000 व्यक्तियों को पुनर्वास से लेकर हर तरह की मदद की। यह जानकारी लोकसभा सचिवालय ने दी है।दरअसल, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने, बीते 21 अप्रैल, को राज्य विधानमंडलों के पीठासीन अधिकारियों के साथ हुई वीडियो कॉफ्रेंसिंग के दौरान कंट्रोल रूम की जरूरत महसूस की थी। उनके निर्देश पर बाद में संसद भवन के लोकसभा सचिवालय में यह नियंत्रण कक्ष स्थापित हुआ था। इस कंट्रोल रूम के जरिए देश भर के सांसद, विधायक और आम जनता के बीच संपर्क स्थापित होना सुलभ हुआ है। जिससे राहत कार्यों का आसानी से संचालन हो रहा है।

भारतीयरेलनेरचाइतिहासवित्तवर्ष202021मेंबेचा4573करोड़रुपयेकास्क्रैपवर्ल्ड कप से पहले कीवी टीम को लगा झटका, चोट के कारण टॉम लाथम नहीं खेलेंगे भारत के खिलाफ मैच******लंदन| न्यूजीलैंड के विकेटकीपर-बल्लेबाज टॉम लाथम चोटिल होने के कारण भारत और वेस्टइंडीज के खिलाफ होने वाले अभ्यास मैच में नहीं खेलेंगे। इंग्लैंड एंड वेल्स में 30 मई से शुरू होने वाले विश्व कप के लिए रवाना होने से पहले इस महीने की शुरुआत में लाथम को आस्ट्रेलिया-11 के खिलाफ हुए एक मैच उंगली में चोट लग गई थी।ऐसा माना जा रहा था कि लाथम 28 मई को वेस्टइंडीज के खिलाफ होने वाले अभ्यास मैच में खेलेंगे, लेकिन गुरुवार को कप्तान केन विलियम्सन ने विकेटकीपर-बल्लेबाज के न खेलने की पुष्टि की।'क्रिकेटवर्ल्डकप डॉट कॉम' ने विलियम्सन के हवाले से बताया, "टॉम पहले दो अभ्यास मैचों के लिए उपस्थित नहीं होंगे। हम उम्मीद करते है कि वह जल्द ठीक हो जाएंगे और हम आने वाले दिनों में उनकी स्थिति को देखते हुए निर्णय लेंगे।"चोटिल होने के कारण लाथम के आगामी टूर्नामेंट में खेलने पर भी संशय बरकरार है। न्यूजीलैंड का पहला मैच एक जून को श्रीलंका के खिलाफ होगा। टॉम ब्लंडेल उनकी जगह टीम में शामिल हो सकते हैं।भारतीयरेलनेरचाइतिहासवित्तवर्ष202021मेंबेचा4573करोड़रुपयेकास्क्रैपये शख्स 40 साल से कम उम्र में बना सबसे अमीर भारतीय******दिव्यांक तुराखिया 40 साल से कम उम्र के सबसे अमीर भारतीय, लिस्ट के 45 में से 42 नाम बेंगलुरू सेमीडिया.नेट के दिव्यांक तुराखिया 40 साल से कम उम्र के सबसे अधिक बन गए हैं। उनकी कुल संपदा (नेटवर्थ) 12,500 करोड़ रुपये है। ‘आईआईएफएल वेल्थ-हुरुन इंडिया 40 एंड अंडर सेल्फ मेड रिच लिस्ट 2021‘ में शामिल 45 लोगों में ज्यादातर स्टार्टअप उद्यमी हैं। प्रत्येक की संपदा 1,000 करोड़ रुपये से अधिक आंकी गई है। सूची के अनुसार, ब्राउजरस्टैक के सह-संस्थापक नकुल अग्रवाल (38) और रितेश अरोड़ा (37) दोनों 12,400 करोड़ रुपये की संपदा के साथ दूसरे स्थान पर है। इस साल सूची में 31 नए उद्यमी शामिल हुए हैं।दिव्यांक तुराखिया देश के सबसे युवा एवं प्रतिभाशाली कारोबारी हैं। दिव्यांक ने मीडिया.नेट की स्थापना एक आईटी फर्म के रूप में की थी। बाद में 2016 में उन्होंने एक चीनी कंसोर्टियम को यह कंपनी 900 मिलियन डॉलर में बेच दी थी। यह उस वक्त की तीसरी सबसे बड़ी आईटी डील थी।पालो आल्टो की कॉनफ्लूएंट की नेहा नारखेडे और परिवार 12,200 करोड़ रुपये की संपदा के साथ चौथे स्थान पर है। इस सूची में ओला के भाविश अग्रवाल भी हैं। उनका नेटवर्थ इस साल 15 सितंबर तक दोगुना से अधिक होकर 7,500 करोड़ रुपये हो गया। वह सूची में नौवें स्थान पर हैं। फ्लिपकार्ट के सह-संस्थापक सचिन बंसल और बिन्नी बंसल सूची में अग्रवाल से ऊपर हैं।बेंगलुरु को भारत की सिलकॉन घाटी कहा जाता है। सूची में शामिल 45 नामों में से 42 यहां से आते हैं। विभिन्न क्षेत्रों की बात की जाए, तो सूची में सॉफ्टेवयर और सेवा क्षेत्र का सबसे अधिक योगदान है। उसके बाद क्रमश: परिवहन और लॉजिस्टिक्स, मनोरंजन और वित्तीय सेवाओं का नंबर आता है।

भारतीय रेल ने रचा इतिहास, वित्त वर्ष 2020-21 में बेचा 4573 करोड़ रुपये का स्क्रैप

भारतीयरेलनेरचाइतिहासवित्तवर्ष202021मेंबेचा4573करोड़रुपयेकास्क्रैपIPL 2018, CSK vs SRH: इन कारणों की वजह से फाइनल जीतने के इतने करीब आकर चूक गई सनराइजर्स हैदराबाद****** के पहले क्वालीफायर मुकाबले में को बेहद रोमांचक मैच में 2 विकेट से हार झेलनी पड़ी। हैदराबाद की टीम एक समय मुकाबले में बेहद मजबूत नजर आ रही थी लेकिन के बल्लेबाज ने उनके मुंह से जीत छीन ली। इस हार के साथ ही हैदराबाद की टीम के लिए फाइनल में पहुंचने की राह बेहद मुश्किल हो गई है। हालांकि टीम के पास अभी भी फाइनल में पहुंचने का एक मौका बाकी है। लेकिन सवाल ये उठता है कि आखिर टीम जीत के इतने करीब आकर हार कैसे गई? हैदराबाद से आखिर कहां चूक हो गई? आइए आपको बताते हैं कि क्या रहे हैदराबाद के हार के कारण। हैदराबाद की सबसे बड़ी ताकत उनका ऊपरी क्रम की बल्लेबाजी थी। जो कि हमेशा उन्हें अच्छी शुरुआत दिलाती रही है। लेकिन इस मैच में टीम की शुरुआत बेहद खराब रही और दोनों ओपनर सस्ते में पवेलियन लौट गए। टीम का पहला विकेट धवन के रूप में शून्य और दूसरा 34 पर ही गिर गया। दूसरे विकेट के रूप में श्रीवत्स गोस्वामी आउट हुए। ओपनिंग के बाद टीम का मिडिल ऑर्डर भी लड़खड़ा गया। मिडिल ऑर्डर में किसी भी बल्लेबाज ने बेहतरीन खेल नहीं दिखाया और पूरी बल्लेबाजी बिखर गई। जीसका खामियाजा टीम को भुगतना पडा़। मिडिल ऑर्डर में बड़े-बड़े नाम थे लेकिन कोई भी अपनी छाप नहीं छोड़ सका। मनीष पांडे को टीम ने करोड़ों रुपये में खरीदा था। माना जा रहा था कि पांडे इस साल अपनी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी से हैदराबाद को फायदा पहुंचाएंगे। लेकिन पांडे ऐसा कुछ नहीं कर सके और अपने फ्लॉप शो का खात्मा नहीं कर सके। पांडे ने इस मैच में 16 गेंदों में 8 रन की पारी खेली। विलियमसन की रणनीति भी हैदराबाद की हार के लिए जिम्मेदार रही। विलियमसन ने आखिरी ओवर में गेंदबाजी देने में चूक कर दी। पारी का 18वां ओवर विलियमसन ने कार्लोस ब्रेथवेट को दे दिया और उन्होंने अपने ओवर में मैच का कायापलट क दिया। हैदराबाद की हार का पांचवां और आखिरी कारण रहा डू प्लेसी को आउट ना कर पाना। डू प्लेसी ने अकेले दम पर मैच का पासा पलट दिया और टीम को 2 विकेट से जीत दिला दी। डू प्ललेसी ने ओपनिंग करते हुए 42 गेंदों में नाबाद 67 रनों की पारी खेली। अपनी पारी में डू प्लेसी ने 5 चौके और 4 छक्के लगाए।भारतीयरेलनेरचाइतिहासवित्तवर्ष202021मेंबेचा4573करोड़रुपयेकास्क्रैप'इनसाइड एज सीजन 3' की हुई घोषणा, 3 दिसंबर को स्ट्रीम होगी सीरीज******प्राइम वीडियो और एक्सेल मीडिया एंड एंटरटेनमेंट ने आज घोषणा की है कि अमेज़न ओरिजिनल सीरीज इनसाइड एज का तीसरे सीजन का 3 दिसंबर को ग्लोबल प्रीमियर किया जाएगा। करण अंशुमन द्वारा तैयार और कनिष्क वर्मा द्वारा निर्देशित किए गए इस सीजन का मंच पहले से बड़ा है, दांव ऊंचे हैं और गेम हमेशा से कहीं ज्यादा पर्सनल हो चुका है। पहले दो सीजन की सफलता के बाद क्रिकेट की डार्क अंडरबेली का गवाह बनने के लिए तैयार हो जाइए, क्योंकि सत्ता और लालच का अल्टीमेट गेम खुल गया है।एक्सेल मीडिया एंड एंटरटेनमेंट के प्रोड्यूसर रितेश सिधवानी ने कहा, "इनसाइड एज को दर्शकों और समीक्षकों की समान रूप से मिली जबरदस्त प्रतिक्रिया ने हमें एक और रोमांचक सीजन पेश करने के लिए प्रोत्साहित किया है। मुंबई मैवरिक्स के सफर को कालक्रम के अनुसार इतिहास में सजाते हुए इनसाइड एज का यह सीजन और भी दिलचस्प बन गया है। आखिरकार यह कई बाधाओं से जूझने वाली इस टीम की किस्मत का फैसला कर देगा। इनसाइड एज फ्रैंचाइज़ का तीसरा सीजन इस बात का सबूत है कि एक्सेल एंटरटेनमेंट में हम दिलचस्प फॉर्मैट के माध्यम से अपने रचनात्मक विजन को साकार करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हम प्राइम वीडियो पर इस शो के ग्लोबल प्रीमियर का इंतजार कर रहे हैं।”इनसाइड एज 3 में विवेक ओबरॉय, ऋचा चड्ढा, तनुज विरवानी, सयानी गुप्ता, आमिर बशीर, अमित सियाल, सपना पब्बी आदि सितारे नजर आएंगे।भारतीयरेलनेरचाइतिहासवित्तवर्ष202021मेंबेचा4573करोड़रुपयेकास्क्रैपAsian Games 2018: यहां जानिए 5वें दिन एशियाई खेलों में भारत कब, कहां और किस खेल में किससे भिड़ेगा, फुल शेड्यूल******यहां चल रहे 18वें एशियाई खेलों में चौथे दिन की सफलता के बाद भारत के सामने पांचवे दिन कई अहम खेलों में चुनौतियां होगी। पीवी सिंधु से लेकर साइना नेहवाल, अश्विनी पोनप्पा जैसे खिलाड़ी मेडल के लिए अपनी दावेदारी पेश करेंगे। यहां जानिए एशियाई खेलों में पांचवें दिन भारतीय दल का कार्यक्रम-पुरूषों का व्यक्तिगत रिकर्व : विश्वास, अतनु दासमहिलाओं का व्यक्तिगत रिकर्व : प्रोमिला दाइमेरी, दीपिका कुमारीमहिलाओं की वाल्ट : अरूणा बुद्धा रेड्डीपी वी सिंधू बनाम वू थि त्रांग (वियतनाम)साइना नेहवाल बनाम सुरैया ए (ईरान)अश्विनी पोनप्पा . सिक्की रेड्डी बनाम एंग तिंग येउंग . विंग युंग एंग (हांगकांग)रितुपर्णा पांडा . आरती सुनील बनाम चयनित सी . एम फाताइमास (थाईलैंड)प्रणव जैरी चोपड़ा . सिक्की रेड्डी बनाम लुइ यिंग गोह . पेंग सून चान (मलेशिया)अश्विनी पोनप्पा . सात्विक साइराज रांकीरेड्डी बनाम सैपश्री टी . देचापोल पी (थाईलैंड)सात्विक साइराज रांकीरेड्डी . चिराग शेट्टी बनाम योनी चुंग . चुन हेइ ताम (हांगकांग)मनु अत्री . बी सुमित रेड्डी बनाम रशीद अजफान मोहम्मद . मोहम्मद अहमद तोइफ (मालदीव)महिला पांच गुणा पांच ग्रुप ए भारत बनाम इंडोनेशियाकेनोइंग . कयाकिंग : सुबह आठ बजे सेमहिला एकल सेमीफाइनल : चम्पा मौर्य सुबह साढे चार बजे सेपुरूष सिंगल स्कल फाइनल : दत्तू बबन भोकानलपुरूष डबल स्कल फाइनल : ओम प्रकाश स्वर्ण सिंहमहिला पेयर फाइनल : संयुक्ता डुंग . हरप्रीत कौरमहिला डबल स्कल फाइनल : पूजा . सयाली शेकलेपुरूष पेयर फाइनल : मलकीत सिंह . गुरिंदर सिंहपुरूष लाइटवेट फोर फाइनलपुरूष डबल ट्रैप क्वालीफिकेशन : शरदुल विहान, अंकुर मित्तल (नौ बजे)महिला डबल ट्रैप फाइनल : वर्षा वर्मन और श्रेयसी सिंह (9 . 15 से)पुरूष अंतिम 32 मुकाबले और महिला अंतिम 16 के मुकाबले (सुबह 8 . 30 से)पुरूष 50 मीटर बटरफ्लाय हीट्स : अंकुर कोठारी , वीरधवल खाड़े (7 . 30 से)पुरूषों की 100 मीटर फ्रीस्टाइल हीट : वीरधवल खाड़े, आरोन डिसूजा (7 . 50 से)पुरूषों की 200 मीटर बैकस्ट्रोक (श्रीहरि नटराज, अद्वैत)महिला एकल सेमीफाइनल : अंकिता रैना बनाम शुआइ झांगमिश्रित युगल क्वार्टर फाइनल : रोहन बोपन्ना . अंकिता रैना बनाम ए सुतजियादी सी बी रूंगकाट (इंडोनेशिया)पुरूष युगल सेमीफाइनल : रोहन बोपन्ना . दिविज शरण बनाम के उसुगी बनाम एस शिमाबुकुरो (जापान)पुरूष एकल क्वार्टर फाइनल : प्रज्ञेश गुणेश्वरन बनाम सूनवू क्वोन (कोरिया)महिला पूल बी मैचभारत बनाम कजाखस्तान : सुबह 8 . 30 बजे सेपुरूष 77 किलो : सतीश शिवलिंगम, अजय सिंह (9.30 बजे से)

भारतीय रेल ने रचा इतिहास, वित्त वर्ष 2020-21 में बेचा 4573 करोड़ रुपये का स्क्रैप

भारतीयरेलनेरचाइतिहासवित्तवर्ष202021मेंबेचा4573करोड़रुपयेकास्क्रैपUttarakhand election: उत्तराखंड में बोले पीएम- कांग्रेस होती तो योजनाओं के राशि का घोटाला कर देती******पीएम मोदी ने उत्तराखंड में आयोजित जनसभा में कहा कि उत्तराखंड एक भारत श्रेष्ठ भारत की तस्वीर है। उत्तराखंड में मिनी इंडिया की झलक दिखती है। यहां लोगों ने डबल इंजन की सरकार को चुना। उन्होंने कहा कि यहां लोगों को मुफ्त वैक्सीन मिली, लेकिन कोरोना को लेकर विपक्ष ने दुष्प्रचार किया। भारत की वैक्सीन को लगातार बदनाम किया गया। कांग्रेस लोगों का भला नहीं चाहती, लेकिन लोगों का उत्साह में चुनाव के नतीजों की झलक दिखती है। मोदी ने कहा कि ये 10 साल उत्तराखंड के लिए महत्वपूर्ण हैं। उत्तराखंड में पर्यटन और रोजगार पटरी पर लौट रहा है।पीएम ने कहा कि एमएसएमई का लाभ छोटे उद्योगों को हुआ है। हमने विकास को भी रफ्तार दी है और गरीबों की भी चिंता की है। कोरोना संकट के बावजूद पहाड़ों के दूर—दराज के गांवों तक हमने किसी को भूखा नहीं सोने दिया। पीएम गरीब कल्याण योजना के जरिए आज भी हर गरीब को मुफ्त राशन दिया जा रहा है। एक महिला के मोदी को आशीर्वाद देने के वीडियो पर मोदी ने कहा कि दूरदराज के गांवों की गरीब महिलाएं जिस प्रकार से मोदी को आशीर्वाद देती हैं, वह हमारा संकल्प और मजबूत करता है। माताओं—बहनों का आशीर्वाद मोदी के साथ खड़ा है तो मोदी उत्तराखंड के कल्याण के लिए कभी पीछे नहीं हटेगा। कोरोना से प्रभावितों के लिए धामी सरकार ने योजनाओं का खूब लाभ दिया। मुफ्त राशन पहले की सरकार होती तो मैं आपसे पूछता हूं कि आप तक पहुंचता क्या? ये लोग उसमें भी घोटाला कर देते। गैस सिलेंडर भी यदि कांग्रेस रहती तो क्या आप तक पहुंचता? बैंक के खाते कांग्रेस सरकार होती तो बिल्कुल नहीं खुलते। सरकार के खजाने से पैसा निकल जाता पर आप तक नहीं पहुंचता।कांग्रेस की दशकों से एक ही पॉलिसी रही है कि बड़े बड़े वादे करो और सरकार बनाओ, फिर घेाटाले करो। इस बार भी उनके किए गए वादे झूठ का पुलिंदा हैं। वे गरीब नहीं गरीबों को ही हटाने में दशकों तक लगे रहे। दशकों तक पहाड़ के लोगों को मूलभूत सुविधाओं से वंचित रखा गया। डबल इंजन की सरकार आपकी सुविधाओं के लिए काम कर रही है। इसका लाभ हमारी मां बहन और बेटियों को मिल रहा है।पीएम ने कहा कि हमने नई सड़कें बनाईं, आॅल वेदर रोड का काम भी पूरा होनो वाला है। इसका लाभ पर्यटन और उद्योग दोनों को ही मिलने वाला है। रेल् परियोजनाओं को कांग्रेस की सरकार ने दशकों तक लटकाए रखा था। रामपुर से रुद्रपुर के बीच सड़क फोरलेन का काम भी जल्द पूरा होने वाला है। रेल और रोड ट्रांसपोर्टेशन का काम तेजी से हो रहा है। यही फर्क है हमारी और उनकी सोच में। कांग्रेस ने पहाड़ों पर सड़कें बनाने पर सवाल उठाए थे, हमने सड़कें भी बनवाई हैं, रेल भी ला रहे हैं।पहाड़ के किसानों के लिए फूलों की खेती के साथ अनेक अवसर जड़े हुए हैं। हमारा शहद विदेशों तक पहुंच रहा है। इसलिए शहद के उत्पादन किसानों का नया रोजगार का जरिया बन गया है। देखते ही देखते यह नई पहचान बन जाएगा। सितारगंज में 40 एकड़ में प्लास्टिक औद्योगिक पार्क स्थापित किया जा रहा है। उत्तराखंड में घोटालों के चौके छक्के लगाने वाली कांग्रेस ने खनन माफियाओं के साथ मिलकर मां गंगा को भी नहर घोषित कर दिया था। यही उनमें और हमारे में फर्क है, हम गंगा की स्वच्छता के लिए काम करते हैं। वे वहां रेत खनन करके पैसे की चोरी करते हैं।हम प्रदेश में 4 नए मेडिकल कॉलेज और 5 डिग्री कॉलेज खोलने जा रहे हैं। विकास कार्यो को लेकर कुछ लोग डबल इंजन सरकार का मुकाबला नहीं कर पा रहे हैं। अब उन्हें उत्तराखंड की संस्कति याद आ रही है, जिन्हें देश की संस्कति कभी याद नहीं आई। मेरे बंगाली भाइयों के लिए धामी सरकार को बधाई देता हूं कि उन्होंने इन्हे मां भारती का संतान के रूप में स्वीकार किेया। लेकिन आजादी के बाद से लेकर अभी तक उनके पहचान पत्र में लिखा हुआ रहता था— पूर्वी पाकिस्तान।भारतीयरेलनेरचाइतिहासवित्तवर्ष202021मेंबेचा4573करोड़रुपयेकास्क्रैपS&P 500 में आई 7 प्रतिशत से ज्‍यादा गिरावट, डाओ 2000 अंक से ज्यादा टूटा******Stock trading halted after S&P 500 falls 7 percentनई दिल्ली। अमेरिकी बाजारों पर कोरोना वायरस का डर हावी है। गुरुवार के कारोबार में अमेरिकी बाजार खुलने के साथ ही लुढ़क गए। गिरावट के बाद बाजार में 15 मिनट के लिए कारोबार को रोकना पड़ा। आज के शुरुआती कारोबार के दौरान एसएंडपी 500 में 7 फीसदी से ज्यादा की गिरावट देखने को मिली है। वहीं डाओ जोंस में 7.6 फीसदी और नैस्डेक में भी 7 फीसदी से ज्यादा की गिरावट है। शुरुआती कारोबार में ही डाओ जोंस में 2000 अंक से ज्यादा गिरावट देखने को मिली है। गिरावट के बाद स्रकिट लागू हो गया था। हालांकि अब एक बार फिर कारोबार शुरू हो चुका है। बाजार में गिरावट कोरोना वायरस की वजह से दुनिया भर में बढ़ते प्रतिबंधों के कारण देखने को मिल रही है। कई बड़े इवेंट रद्द हो चुके हैं वहीं कई देशों मे बाहर से आने जाने पर रोक लग चुकी है। इसकी वजह से बाजार को आशंका है कि कई संभावित सौदों पर असर देखने को मिलेगा वहीं एयरलाइन और टूरिज्म सेक्टर की कंपनियों का काम ठप पड़ सकता है।

भारतीय रेल ने रचा इतिहास, वित्त वर्ष 2020-21 में बेचा 4573 करोड़ रुपये का स्क्रैप

भारतीयरेलनेरचाइतिहासवित्तवर्ष202021मेंबेचा4573करोड़रुपयेकास्क्रैपदिल्ली में कोरोना मामलों में डराने वाला उछाल, 24 घंटे के भीतर 27561 नए केस, 40 और लोगों की मौत******Highlights दिल्ली में कोविड-19 से 40 और लोगों की मौत हो गई और संक्रमण के 27,561 नए मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही राष्ट्रीय राजधानी में संक्रमण दर बढ़कर 26.22 प्रतिशत हो गई है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा मंगलवार को यहां साझा किए गए आंकड़ों में यह जानकारी दी गई। विभाग ने कहा कि सोमवार को कुल 105102 नमूनों की जांच की गई।वहीं, आपको बता दें कि दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने बुधवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में पिछले पांच दिन से अस्पताल में भर्ती होने वाले कोविड-19 के मरीजों की संख्या स्थिर हैं, जिससे प्रतीत होता है कि कोरोना वायरस की मौजूदा लहर संभवत: चरम पर पहुंच चुकी है और दो-तीन दिन में मामले कम हो सकते हैं। उन्होंने आज बताया था कि दिल्ली में बुधवार को 25000 के आसपास नए मामले आ सकते हैं। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि संक्रमण दर या मामलों से मौजूदा लहर के चरम पर पहुंचने का अंदाजा नहीं लगाया जा सकता। अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की दर प्रमुख संकेतक है।मंत्री ने पत्रकारों से कहा, ‘‘हमने पाया है कि पिछले चार-पांच दिन से अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या स्थिर है और केवल 2200 बिस्तरों पर ही मरीज हैं। 85 प्रतिशत बिस्तर (बेड) खाली हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अस्पताल में भर्ती होने वाले कोविड-19 के मरीजों की संख्या स्थिर हैं, जिससे प्रतीत होता है कि मौजूदा लहर संभवत: चरम पर पहुंच चुकी है। हम दो-तीन दिन में मामले कम होते देख सकते हैं।’’ जैन ने कहा कि मुंबई में कोविड-19 के मामले कम होना शुरू हो गए हैं और दिल्ली में भी मामलों के जल्द कम होने की उम्मीद है।

भारतीयरेलनेरचाइतिहासवित्तवर्ष202021मेंबेचा4573करोड़रुपयेकास्क्रैपAzam Khan News: दिल्ली आकर आजम खान से मिले अखिलेश यादव, जेल से छूटने के बाद पहली मुलाकात******Highlightsसमाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में भर्ती अपनी पार्टी के विधायक (Azam Khan) को बुधवार को देखने पहुंचे। इस तरह की खबरें थी कि दोनों नेताओं के बीच मतभेद हैं। आजम खान को रविवार को नियमित स्वास्थ्य जांच के लिए अस्पताल के ‘मेडिसिन विभाग’ में भर्ती कराया गया था। अखिलेश यादव अस्पताल पहुंचे और उन्होंने यहां भर्ती आज़म खान से मुलाकात की। बाद में यूपी के पूर्व सीएम ने ट्विटर पर कहा, ‘‘अच्छी सेहत के लिए दुआएं,…आप जल्द स्वस्थ हों।” उन्होंने ट्विटर पर खान के साथ तस्वीरें भी पोस्ट की हैं।आपको बता दें कि यह मुलाकात ऐसे समय में हुई है जब आजम खान के गढ़ में लोकसभा का उपचुनाव होने जा रहा है। आजम खान ने विधानसभा चुनाव जीतने के बाद लोकसभा सीट छोड़ी है। 2 साल से ज्यादा समय तक सीतापुर जेल में बंद रहे आजम खान सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से नाराज बताए जा रहे हैं। आजम खान के करीबियों ने अखिलेश पर आरोप लगाया था कि बुरे वक्त में उन्होंने साथ नहीं निभाया।इस मुलाकात के दौरान अखिलेश यादव भावुक नजर आए। बता दें कि इन दोनों नेताओं की मुलाकात एक लंबे समय के बाद हुई है। आजम खान के 27 महीने बाद जेल से बाहर आने के बाद दोनों के बीच ये पहली मुलाकात है। इसके कई राजनैतिक मायने भी निकाले जा रहे हैं। मालूम हो कि सेहत बिगड़ने पर बीते रविवार को आजम खान अस्पताल में भर्ती हुए थे। इस मुलाकात के दौरान आजम खान के बेटे विधायक अब्दुल्ला आजम भी उनके साथ मौजूद रहे।धोखाधड़ी के एक मामले में सुप्रीम कोर्ट से अंतरिम जमानत मिलने के बाद खान 20 मई को उत्तर प्रदेश की सीतापुर जेल से रिहा हुए थे। जेल में रहने के दौरान भी आजम खान की तबीयत खराब हुई थी। मई 2021 में आजम खान को कोरोना वायरस का संक्रमण हो गया था। साथ ही उनकी हालत ज्यादा खराब हो गई थी। इसके चलते आजम खान को लखनऊ के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था।भारतीयरेलनेरचाइतिहासवित्तवर्ष202021मेंबेचा4573करोड़रुपयेकास्क्रैपIRCTC ला रहा है ये खास सुविधा, वेबसाइट से झटपट बुक होगा रेल टिकट और फटाफट मिलेगा रिफंड******IRCTC की वेबसाइट के जरिए अब जल्‍द ही आप झटपट रेल टिकट की बुकिंग कर सकते हैं। अब पेमेंट ऑप्‍शन में आपका डेबिट कार्ड दिखे या नहीं लेकिन आप बड़ी आसानी से भुगतान कर सकेंगे। यही नहीं, रिफंड मिलने में भी अब आपको काफी कम वक्‍त लगेगा। दरअसल, IRCTC जल्‍द ही अपना पेमेंट एग्रीगेटर लेकर आ रहा है जिसका नाम है IRCTC-iPay। यह पेमेंट एग्रीगेटर सभी डेबिट, क्रेडिट कार्ड, नेट बैंकिंग, यूपीआई और डिजिटल वॉलेट से पेमेंट स्‍वीकार करेगा। IRCTC ने ट्वीट में लिखा है कि 'irctc.co.in पर अगस्त 2018 से अपना पेमेंट एग्रीगेटर IRCTC-iPay उपलब्ध होगा। इसके लिए पीसीआई-डीएसएस सिक्योरिटी सर्टिफिकेट हासिल हो गया है। यह सभी पेमेंट विकल्पों जैसे क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, इंटरनेशनल कार्ड, ऑटो डेबिट कार्ड, यूपीआई, वॉलेट्स आदि से भुगतान की सुविधा देगा।IRCTC के एक अधिकारी ने कहा पेमेंट एग्रीगेटर सिस्टम अधिकतर बैंकों के साथ सीधा जुड़ेगा और यह रिफंड के मामलों को जल्दी निपटाएगा। इस समय IRCTC की वेबसाइट पर डेबिट कार्ड पेमेंट ऑप्शन में केवल 6 बैंक हैं। जिनमें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, इंडियन ओवरसीज बैंक, केनरा बैंक, एचडीएफसी बैंक, एक्सिस बैंक और यूनाइडेट बैंक ऑफ इंडिया शामिल हैं। यदि किसी यूजर के पास किसी अन्य बैंक का डेबिट कार्ड है तो उसे थर्ड पार्टी वेंडर की मदद से पेमेंट करना पड़ता है।

भारतीयरेलनेरचाइतिहासवित्तवर्ष202021मेंबेचा4573करोड़रुपयेकास्क्रैपआपके घर में भी है तुलसी का पौधा तो इन बातों का रखें ध्यान, नहीं तो हो सकता है भारी नुकसान******Highlightsआपने अधिकतर घरों में तुलसी का पौधा लगा देखा होगा। तुलसी का पौधा वास्तु की दृष्टि से बहुत ही शुभ माना जाता है। इसे घर में लगाने से वास्तु संबंधी समस्याएं समाप्त हो जाती हैं। शास्त्रों में तुलसी के पौधे को लक्ष्मी का रूप बताया गया है यानि जहां पर तुलसी होती है वहां लक्ष्मी जी का आगमन होता ही है। यह एक अद्भुत औषधीय पौधा है।का पौधा घर में लगाने से निगेटिव ऊर्जा नष्ट होती है और पॉजिटिव ऊर्जा बढ़ती है। तुलसी का पौधा घर में आने वाली नकारात्मक ऊर्जा को रोकने के लिए भी एक अच्छा उपाय है। साथ ही यह परिवार की आर्थिक स्थिति के लिए भी शुभ होता है। तुलसी का पौधा घर में होने से मन को शांति और प्रसन्नता मिलती है, वहीं धर्म ग्रंथों के अनुसार जिस घर पर कोई मुसीबत आने वाली होती है तो उस घर से सबसे पहले लक्ष्मी यानी कि तुलसी चली जाती है क्योंकि दरिद्रता, अशांति या क्लेश जहां भी होता है वहां मां लक्ष्मी का निवास कभी नही होता।इस पौधे को लगाने के कुछ नियम है जिनका जरूर पालन करना चाहिए अन्यथा अशुभ फलों की प्राप्ति होती है और घर पर दुर्भाग्य का वास हो जाता है। जानिए वास्तु शास्त्र के अनुसार तुलसी का पौधा घर पर है तो किन बातों का ध्यान रखना जरूरी है चलिए जानते हैं-घर की दक्षिण दिशा में तुलसी का पौधा नहीं लगाना चाहिए, क्योंकि इससे आपको नुकसान हो सकता है।घर में कभी भी सूखा तुलसी का पौधा नहीं रखना चाहिए। इस तरह के पौधे को कुएं या किसी पवित्र स्थान पर बहा देना चाहिए और उस जगह पर नया पौधा लगाना चाहिए। दरअसल, तुलसी का पौधा बुध के कारण सूखता है, क्योंकि बुध ग्रह हरे का प्रतीक होता है और पेड़-पौधे, हरियाली के प्रतीक होते हैं। यह एक ऐसा ग्रह है जो दूसरों ग्रहों के अच्छे और बुरे प्रभाव जातक तक पंहुचाता है। बुध के प्रभाव से ही तुलसी के पौधे में फूल लगने लगते हैं।प्रत्येक रविवार, एकादशी और सूर्य व चंद्र ग्रहण के समय तुलसी में जल नहीं चढ़ाना चाहिए। साथ ही इन दिनों में और सूर्य छिपने के बाद तुलसी के पत्ते नहीं तोड़ने चाहिए।वास्तु में तुलसी के पौधे को छत पर रखने से दोष लगता है। इससे आपकी कुंडली में बुध की स्थिति कमजोर होती है। बुध का कमजोर होने का मतलब है कि घर में पैसों की कमी होना। अगर आपके घर में छत के अलावा कोई जगह नहीं है तो आप इसके साथ केले का पेड़ लगाएं। इन दोनों पेड़ों को एक साथ रोली से जोड़कर लगाएं।जो व्यक्ति गुरुवार के दिन तुलसी के पौधे में कच्चा दूध डालता है और रविवार को छोड़कर प्रतिदिन शाम को घी का दीपक जलाता है, उसके घर में सदा मां लक्ष्मी का वास रहता है।तुलसी के पत्‍तों को कभी भी नाखून से न तोड़ें, बल्कि उंगलियों के पोर की मदद से बहुत आराम से तोड़ें। तुलसी के पत्‍ते हमेशा इस तरह तोड़ना चाहिए।भारतीयरेलनेरचाइतिहासवित्तवर्ष202021मेंबेचा4573करोड़रुपयेकास्क्रैपJabalpur Fire: मध्य प्रदेश के जबलपुर में न्यू लाइफ मेडिसिटी अस्पताल में आग, अब तक 8 जलकर मरे; Video******Highlights मध्य प्रदेश के जबलपुर में न्यू लाइफ मेडिसिटी अस्पताल में भीषण आग लगने की खबर है। मौके पर आग बुझाने के लिए फायर ब्रिगेड की गाड़ियां पहुंचीं हैं। आग बुझाने और लोगों को सुरक्षित निकालने का काम जारी है। इस भयानक आग में अब तक 8 लोगों के मरने की खबर है और 23 लोग झुलसे हैं।जबलपुर के पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा ने बताया कि यह आग गोहलपुर थाना क्षेत्र में दमोह नाका के पास न्यू लाइफ मल्टीस्पेशलिटी अस्पताल में लगी। उन्होंने कहा कि प्रथम दृष्ट्या प्रतीत होता है कि शॉर्ट सर्किट के कारण यह आग लगी।सीएम शिवराज ने ट्वीट किया, "जबलपुर के एक अस्पताल में भीषण अग्नि दुर्घटना का दुखद समाचार प्राप्त हुआ है। स्थानीय प्रशासन और कलेक्टर से निरंतर संपर्क में हूं। मुख्य सचिव को संपूर्ण मामले पर नजर बनाये रखने के लिए निर्देश दिया है। राहत एवं बचाव के लिए हरसंभव प्रयास किये जा रहे हैं।" सीएम शिवराज ने अगले ट्वीट में लिखा, "दु:ख की इस घड़ी में शोकाकुल परिवार स्वयं को अकेला न समझें, मैं और संपूर्ण मध्यप्रदेश परिवार के साथ है। राज्य सरकार की ओर से मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपये और गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार रुपये की सहायता प्रदान की जायेगी। घायलों के संपूर्ण इलाज का व्यय भी सरकार वहन करेगी।वहीं केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी आग की घटना पर दुख व्यक्त किया है। सिंधिया ने अपने ट्वीट में लिखा, जबलपुर के न्यू लाइफ मल्टीस्पेशियलिटी हॉस्पिटल में आग लगने से कई लोगों के जान गंवाने की खबर दुखदायी है। ईश्वर इस हादसे में दिवंगत हुए नागरिकों की आत्मा को शांति और उनके परिजनों को ये आघात सहने की शक्ति प्रदान करे। हादसे में घायल नागरिकों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूँ|

भारतीयरेलनेरचाइतिहासवित्तवर्ष202021मेंबेचा4573करोड़रुपयेकास्क्रैपएमपी लोढ़ा हैं देश के सबसे अमरी रीयल एस्टेट उद्यमी, संपत्ति का मूल्‍य है 32,000 करोड़ रुपए******M P Lodha India's richest real estate entrepreneur with wealth of Rs 32,000 crलोढ़ा डेवलपर्स के और उनके परिवार को देश के रीयल एस्टेट क्षेत्र का सबसे अमीर उद्यमी आंका गया है। उनकी कुल संपत्तियां 31,960 करोड़ रुपए की हैं। इस सूची में डीएलएफ के राजीव सिंह दूसरे और एम्बैसी ग्रुप के संस्थापक जितेंद्र विरवानी तीसरे स्थान पर हैं। हुरुन रिपोर्ट और ग्रोही इंडिया ने सोमवार को ग्रोही हुरुन इंडिया रीयल एस्टेट रिच लिस्ट 2019 का तीसरा संस्करण जारी किया। इस रिपोर्ट में देश के रीयल एस्टेट क्षेत्र के अमीरों के बारे में जानकारी दी गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि 31,960 करोड़ रुपए की संपत्ति के साथ मंगल प्रभात लोढ़ा और मैक्रोटेक डेवलपर्स का परिवार (पुराना नाम लोढ़ा डेवलपर्स) सूची में पहले स्थान पर हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि लोढ़ा परिवार की संपत्ति 2019 में 18 प्रतिशत बढ़ी है। सूची में शामिल 99 अन्य भारतीयों की कुल संपत्ति का 12 प्रतिशत लोढ़ा परिवार के पास है।इस सूची में डीएलएफ के राजीव सिंह 25,080 करोड़ रुपए की संपत्ति के साथ दूसरे स्थान पर हैं। 2019 में उनकी संपत्तियां 42 प्रतिशत बढ़ीं। पिछले साल वह इस सूची में तीसरे स्थान पर थे। एम्बैसी प्रॉपर्टी डेवलपमेंट्स के जितेंद्र विरवानी 24,750 करोड़ रुपए की संपत्ति के साथ तीसरे स्थान पर हैं। यह सूची इन उद्यमियों की 30 सितंबर, 2019 तक संपत्तियों के आधार पर तैयार की गई है।रीयल एस्टेट क्षेत्र के अमीर उद्यमियों की सूची में हीरानंदानी कम्युनिटीज ग्रुप के निरंजन हीरानंदानी 17,030 करोड़ रुपए की संपत्ति के साथ चौथे, के रहेजा के चंद्रू रहेजा एवं परिवार 15,480 करोड़ रुपए के साथ पांचवें, ओबरॉय रीयल्टी के विकास ओबरॉय 13,910 करोड़ रुपए की संपत्तियों के साथ छठे और बागमाने डेवलपर्स के राजा बागमाने 9,960 करोड़ रुपए की संपत्ति के साथ सातवें स्थान पर हैं।हाउस ऑफ हीरानंदानी, सिंगापुर के सुरेंद्र हीरानंदानी 9,720 करोड़ रुपए की संपत्तियों के साथ आठवें, मुंबई के रनवाल डेवलपर्स के सुभाष रनवाल और परिवार 7,100 करोड़ रुपए की संपत्ति के साथ नौवें और पीरामल रीयल्टी के अजय पीरामल एवं परिवार 6,560 करोड़ रुपए की संपत्ति के साथ दसवें स्थान पर हैं।रिपोर्ट में कहा गया है कि रीयल एस्टेट क्षेत्र के दस सबसे अमीर उद्यमियों में से छह मुंबई के हैं। सौ सबसे अधिक अमीरों में से 37 मुंबई के हैं। इस सूची में दिल्ली और बेंगलुरु के 19-19 उद्यमियों के नाम शामिल किए गए हैं।भारतीयरेलनेरचाइतिहासवित्तवर्ष202021मेंबेचा4573करोड़रुपयेकास्क्रैपअंकिता रैना ने अपना पहला डब्ल्यूटीए खिताब जीता, शीर्ष 100 में जगह बनाना तय******मेलबर्न। भारत की अंकिता रैना ने शुक्रवार को अपनी रूसी जोड़ीदार कैमिला रखिमोवा के साथ मिलकर फिलिप आइलैंड ट्राफी टेनिस टूर्नामेंट में महिला युगल का खिताब जीता जो उनका पहला डब्ल्यूटीए खिताब है। इस जीत से यह 28 वर्षीय भारतीय खिलाड़ी महिला युगल रैंकिंग में अपने करियर में पहली बार शीर्ष 100 में भी शामिल हो जाएगी। अंकिता और कैमिला की जोड़ी ने फाइनल में अन्ना बिलिनकोवा और अनस्तेसिया पोटापोवा की रूसी जोड़ी को 2-6, 6-4, 10-7 से हराया।भारतीय खिलाड़ी ने इस जीत से अपनी रूसी जोड़ीदार के साथ 8000 डालर बांटे और उन्हें 280 रैंकिंग अंक मिले। इससे वह अगले सप्ताह जारी होने वाली डब्ल्यूटीए रैंकिंग में 94वें स्थान पर पहुंच जाएगी। अंकिता अभी 115वें स्थान पर है। वह छह बार की ग्रैंडस्लैम चैंपियन सानिया मिर्जा के बाद शीर्ष 100 में जगह बनाने वाली दूसरी भारतीय महिला खिलाड़ी बनेंगी।अंकिता ने शुक्रवार की जीत से पहले आईटीएफ युगल खिताब और डब्ल्यूटीए 125के सीरीज जीती थी। पिछले दो सप्ताह अंकिता के लिये यादगार रहे। उन्होंने आस्ट्रेलियाई ओपन के महिला युगल में भाग लेकर ग्रैंडस्लैम में पदार्पण किया और डब्ल्यूटीए टूर्नामेंट के एकल में मुख्य ड्रा का एक दौर का मैच जीता।अंकिता ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘यह सप्ताह शानदार रहा। कैमिला और मैं पहली बार साथ में खेल रहे थे। हमने ड्रा से केवल 20 मिनट पहले हस्ताक्षर किये थे क्योंकि प्रवेश सूची को लेकर काफी भ्रम बना हुआ था। कैमिला आक्रामक होकर खेलती और उनके स्ट्रोक शानदार हैं। मैंने उसे केवल आक्रामक बने रहने के लिये कहा और उसने ऐसा किया।’’उन्होंने कहा, ‘‘पहला डब्ल्यूटीए खिताब और युगल रैंकिंग में शीर्ष 100 में जगह मिलना शानदार है। मैं अब एकल के शीर्ष 100 में जगह बनाने पर ध्यान दूंगी।’’अंकिता अगले सप्ताह एडीलेड इंटरनेशनल में खेलेगी।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 05:38
उद्धरण 1 इमारत
Bigg Boss 14: घरवालों का हौसला बढ़ाने आएंगे परिजन और दोस्त, किसे मिलेगा किसका सपोर्ट******फिनाले से पहले 'बिग बॉस 14' के घर में 'कनेक्शन वीक' शुरू होने वाला है। कुछ सप्ताह पहले हुए 'फैमिली वीक' की तरह ही 'कनेक्शन वीक' भी इमोशन्स से भरा होगा। इसे लेकर एक वीडियो सामने आया है जिसमें घरवाले अपनी फैमिली के किसी सदस्य या अपना खास दोस्त को देखकर खुशी से झूम उठते हैं। इससे ये साफ अंदाजा लगाया जा सकता है कि वीकेंड का वार सभी सदस्यों के लिए बेहद खास होने वाला है।राहुल महाजन ने इस शो में राखी सावंत, अर्शी खान और मनु पंजाबी के साथ एंट्री मारी थी। कुछ ही हफ्ते में राहुल इस शो से बाहर भी हो गए थे। राहुल अब 'बिग बॉस 14' में अभिनव शुक्ला को सपोर्ट करने आएंगे।मनु पंजाबी ने 'बिग बॉस 14' में चैलेंजर बनकर एंट्री ली थी, लेकिन पैरों में हुई इंजरी के चलते उन्हें इस शो को छोड़ना पड़ा था। खैर मनु इस बार घर में देवोलीना भट्टाचार्जी का कनेक्शन बनकर आएंगे।बिग बॉस 14' के घर में अली गोनी ने इस वजह से एंट्री ली थी क्योंकि वो अपनी दोस्त जैस्मिन भसीन को सपोर्ट करना चाहते थे। ऐसे में अब जरूरत पड़ने पर जैस्मिन भसीन इस शो में उनका कनेक्शन बनकर आने वाली हैं।राहुल वैद्य को सपोर्ट करने के लिए सिंगर तोशी सबरी एंट्री लेंगे। तोशी इंडस्ट्री में अपने बेबाक अंदाज के लिए जाने जाते हैं और ऐसे में उनका ये अंदाज राहुल के गेम को और भी स्ट्रॉन्ग करने में मदद करेगा।बिग बॉस 14' के घर में रुबीना दिलाइक सबसे मजबूत कंटेस्टेंट हैं। रुबीना को सोपर्ट करने के लिए उनकी बहन ज्योतिका दिलाइक घर में एंट्री लेंगी।बिग बॉस' के विजेता रह चुके बिंदु दारा सिंह इस शो में राखी सावंत का कनेक्शन बनकर एंट्री मारेंगे। बिंदू के आने यकीनन राखी का गेम और भी स्ट्रॉन्ग हो जाएगा।इस वीक में अर्शी खान के भाई की एंट्री होने वाली हैं। देखना होगा कि उनके भाई शो में आकर देवोलीना को करारा जवाब देते हैं या नहीं।
2022-10-01 05:28
उद्धरण 2 इमारत
Birbhum Violence : पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी आज रामपुरहाट का दौरा करेंगी, पीड़ित परिवार से करेंगी मुलाकात****** पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आज बीरभूम जिले के रामपुर हाट का दौरा करेंगी जहां में हिंसा के दौरान कथित तौर पर कुछ मकानों में आग लगा दी गई, जिसमें आठ लोगों की जल कर मौत हो गई। ममता ने इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा, ‘‘यह हमारी सरकार को बदनाम करने के लिए भाजपा, वाम दलों और कांग्रेस की कोशिश है। बीरभूम की घटना के लिए जिम्मेदार सभी लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी, चाहे वे किसी भी राजनीतिक दल से संबंध रखते हों।''मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘हमने थाना प्रभारी, उपसंभागीय पुलिस पदाधिकारी (एसडीपीओ) और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को हटा दिया है। पुलिस महानिदेशक कल से ही जिले में हैं। ’’ मुख्यमंत्री ने यहां एक कार्यक्रम के दौरान यह भी कहा कि उन्हें जिले का अपना दौरा एक दिन के लिए स्थगित करना पड़ा क्योंकि वहां पहले से जुटे हुए अन्य राजनीतिक दलों के साथ वह नहीं उलझना चाहती थीं। विपक्षी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि पार्टी के नेता घटनास्थल पर जाते समय 'लंगचा' (पड़ोसी बर्दवान जिले के शक्तिगढ़ क्षेत्र में बनने वाली मिठाई) का स्वाद लेने के लिए रुक गए।ममता ने अन्य राज्य में हिंसा की पुरानी घटनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि उनकी पार्टी के सांसदों को असम में हवाईअड्डे पर रोक दिया गया था, जहां वे एनआरसी (राष्ट्रीय नागरिक पंजी) का विरोध करने गये थे। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी के सांसदों को उत्तर प्रदेश में हाथरस और उन्नाव (जहां सामूहिक बलात्कार की घटनाएं हुई थी) में प्रवेश करने की अनुमति भी नहीं दी गई थी, लेकिन उनकी सरकार ने ऐसा कभी नहीं किया।उन्होंने कहा, ‘‘यह बंगाल है, उत्तर प्रदेश नहीं। हमने हर किसी को बीरभूम जाने दिया। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं बीरभूम हिंसा का बचाव नहीं कर रही, लेकिन इस तरह की घटनाएं उप्र, गुजरत, मध्य प्रदेश, बिहार और राजस्थान में अक्सर हुआ करती हैं।’’ विधानसभा में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी ने हालांकि कहा है कि उन्हें और उनकी पार्टी के अन्य सदस्यों को घटनास्थल पर जाने से रोका गया। बनर्जी ने कार्यक्रम के दौरान आरोप लगाया कि हिंसा की ऐसी घटनाएं पेट्रोल और अन्य वस्तुओं की कीमतों में वृद्धि जैसे चिंताजनक मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए रची गई साजिश का परिणाम हैं। उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा ने मीडिया को इस(बीरभूम हिंसा) पर शोर-शराबा करते रहने को कहा है। ’’ राज्यपाल जगदीप धनखड़ पर परोक्ष रूप से हमला बोलते हुए ममता ने कहा, ‘‘एक लाट साहेब यहां बैठे हुए हैं और बंगाल को सबसे खराब राज्य बता रहे हैं.
2022-10-01 04:59
उद्धरण 3 इमारत
Cannes 2019: स्टाइलिस्ट रिया कपूर ने किया खुलासा, कांस में इस लुक में नजर आएंगी सोनम कपूर****** 72वें कान्स फिल्म फेस्टिवल के रेड कार्पेट पर के लुक में सादगी और औचित्य, दोनों पर फोकस किया गया है।उनकी बहन और स्टाइलिस्ट व फिल्म निर्माता रिया कपूर ने ऐसा कहा।रिया ने कहा, "इस बार हम सादगी और शान में अपना ध्यान केन्द्रित कर रहे हैं।"रिया ने आगे कहा, "सोनम अभी अपनी जिंदगी के एक खूबसूरत दौर में हैं जहां वह काफी खुश, संतुष्ट और भावनात्मक रूप से सुरक्षित हैं। इसलिए कपड़े और लुक्स के जरिए इनकी झलक दिखनी चाहिए।"रिया न केवल कुछ खास समारोहों के लिए सोनम को स्टाइल किया है बल्कि वह उनके साथ 'आयशा', 'खूबसूरत'और 'वीरे दी वेडिंग' जैसी उनकी फिल्मों में बतौर निर्माता काम कर चुकी हैं।उन्होंने इस बात को सुनिश्चित किया कि सोनम को हर बार लोग अलग-अलग अंदाज में देखे।एक स्टाइलिस्ट होने के तौर पर उनका रेफरेंस पॉइंट क्या है, इस पर रिया ने कहा, "हम सभी सपने देखते हैं। हमें कहानियां सुनाना, किताबें पढ़ना, तस्वीरें देखना पसंद है और एक वक्त ऐसा भी आता है जब हम अपनी पसंदीदा कहानियों के किरदारों से जुड़ाव महसूस करने लगते हैं..बचपन में अर्न्तमुखी स्वभाव की होने की वजह से मैं अपना ज्यादातर वक्त किताबों को पढ़कर ही बिताती थी।"रिया ने कहा, "जब मैं किसी को स्टाइल करती हूं तब मैं किताबों या प्रतिष्ठित व्यक्तित्वों से प्रेरणा लेती हूं।"रिया ने यह भी कहा कि वह गायत्री देवी और ऑड्री हेपबर्न जैसी महिलाओं से बेहद प्रेरित हैं..उनकी लिस्ट में ऐसे और भी कई नाम हैं।जोया अख्तर द्वारा प्रदर्शित ज्वेलरी ब्रांड 'स्टाइल डाइजेस्ट' की लॉन्चिंग के मौके से इतर रिया ने कहा कि उनका मूड भी स्टाइलिंग में उनकी मदद करता है। रिया ने कहा, "कभी सुबह उठकर हमारा मन सेक्सी दिखने का करता है, कभी हम एलीगेंट दिखना चाहते हैं। इस वजह से हम अपने आप को मूड के आधार पर स्टाइल करते हैं।"बड़े समारोहों जैसे कि रेड कार्पेट या शादी में पहने जाने वाले आभूषणों को हम किसी आम समारोह में नहीं सकते हैं, यह महज एक धारणा है। इस पर रिया ने कहा कि इस तरह के आभूषणों को किसी भी सिंपल और एलीगेंट पहनावे के साथ मैच कर पहना जा सकता है।उनके लिए सबसे बेस्ट आउटफिट कौन सी है? इस सवाल का तुरंत जवाब देते हुए रिया 'साड़ी' का नाम लेती हैं।रिया ने कहा, "जिस तरह से पश्चिमी सभ्यता में गाउन का चलन है उसी तरह हमारे यहां लोग साड़ी को प्राथमिकता देते हैं। तो ऐसे में इसे थोड़ा सा कूल बनाने में क्या हर्ज है? मुझे लगता है कि आधुनिक ज्वैलरी को साड़ी से बेहतर किसी और पोशाक से मैच कर नहीं पहना जा सकता है। एक सिंपल सी साड़ी को मैं कुछ अच्छे आभूषणों के साथ मैच कर सकती हूं जो दिखने में बहुत ही सुंदर लगेगा।"फिल्मों में काम की बात करें तो रिया अपने आने वाले प्रोजेक्ट्स को लेकर बेहद उत्साहित हैं जिसे लेकर उनका काम जारी है और जिनका ऐलान जल्द ही किया जाएगा।
वापसी