नई पोस्ट करें

JSW स्टील का शुद्ध लाभ तीन गुना बढ़कर हुआ 1,009 करोड़ रुपए, NIIT का मुनाफा 70 प्रतिशत बढ़ा

2022-10-01 05:50:29 655

स्टीलकाशुद्धलाभतीनगुनाबढ़करहुआ1009करोड़रुपएNIITकामुनाफा70प्रतिशतबढ़ामध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार का ‘हिंदुत्ववादी कार्ड’, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उठाए सवाल****** मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार हिंदुत्व के एजेंडे को अपना हथियार बनाने के लिए तैयार है। सरकार ने अगले साल होने वाले नगर निगम चुनाव से पहले प्रदेश में 'राम वन पद गमन' कॉरिडोर को विकसित करने का ऐलान किया है। दो चरणों में बनने वाले इस कॉरिडोर के मद्देनजर सरकार ने पहले चरण के लिए 10 करोड़ रुपये की स्वीकृति दे दी है। कमलनाथ सरकार के मंत्री का मानना है कि जब 'राम वन पद गमन' बन जाएगा तो कमलनाथ सरकार उसी 'राम वन पद गमन' पर चलेगी। यह कॉरिडोर उस रास्ते पर बनेगा, जहां-जहां से वनवास के दौरान राम और सीता चित्रकूट से लेकर अमरकंटक तक गए थे।'राम वन पद गमन' कॉरिडोर बधवारा (कटनी), राम घाट (जबलपुर), रामनगर (मंडला), डिंडोरी, शहडोल से होकर अमरकंटक पहुंचेगा। दरअसल, मध्य प्रदेश में अगले साल नगरीय निकायों के चुनाव होने वाले हैं। अभी प्रदेश की 16 नगर निगमों में भाजपा सत्ता में है। वहीं, नगर पालिकाओं और पंचायतों में भी अधिकतर में भाजपा काबिज है। ऐसे में जबकि भाजपा के एजेंडे में शामिल रहा अयोध्या का राम मंदिर बनने वाला है तो मध्य प्रदेश में कांग्रेस ने भी अपनी हिंदुत्ववादी छवि चमकाने की योजना तैयार की है। मुख्यमंत्री कमलनाथ के निर्देशों के बाद सरकार ने अपनी हिंदुत्ववादी छवि चमकाने के लिए 'राम वन पद गमन' कॉरिडोर के लिए प्लान तैयार किया है।'राम वन पद गमन' कॉरिडोर के लिए उन सभी स्थानों को चुना गया है, जहां राम और सीता वनवास के दौरान गए थे। सभी रास्तों पर पड़ने वाले धार्मिक स्थलों को जोड़ने के लिए सड़क का निर्माण किया जाना है। बड़े मंदिरों और मठों के आस-पास आस्था के मुताबिक विकास की बात कही जा रही है। श्रद्धालुओं को मंदिर के पास ठहराने के लिए नए भवन तैयार होंगे। धार्मिक स्थलों को जोड़ने के लिए सर्किट हाउस बनाया जाएगा। धार्मिक पर्यटन सर्किट के साथ-साथ छोटे-छोटे मंदिरों को भी जोड़ने की बात कही जा रही है।सूत्रों के मुताबिक, आध्यात्मिक विभाग ने 'राम वन पद गमन' कॉरिडोर का जो ब्लू प्रिंट तैयार किया है, उसके मुताबिक यह 20 करोड़ से ज्यादा का प्रोजेक्ट है। हालांकि, सरकार का मानना है कि जितना भी बजट लगेगा, उसमें कमी नहीं की जाएगी। लेकिन, 15 सालों तक सत्ता में रही भाजपा के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का मानना है कि सरकार के पास पैसा खर्च करने के लिए बजट ही नहीं है, 10 करोड़ खर्च कर राम वनपथ गमन बनाना ऊंट के मुंह में जीरा है।शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि "ऊंट के मुंह में जीरा भी नहीं है। यह केवल राम के नाम का लाभ कैसे उठाएं इसलिए तुरंत 'राम वन पद गमन' कॉरिडोर के लिए 10 करोड़ रुपये दे दिए। 10 करोड़ में क्या होगा? पहले चुनाव में बड़ी-बड़ी बातें की थीं, तब से अब तक कुछ नहीं किया।"

स्टीलकाशुद्धलाभतीनगुनाबढ़करहुआ1009करोड़रुपएNIITकामुनाफा70प्रतिशतबढ़ा2007 T20 WC फाइनल को लेकर छलका पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर का दर्द, कहा मिस्बाह कर सकते थे ये काम******पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर अजहर महमूद को लगता है कि वर्ल्ड टी20 के उद्घाटन संस्करण में भारत की जीत ने कैसे उस समय दुनिया भर में टी20 क्रिकेट को बदल दिया। जोहान्सबर्ग में खेले गए फाइनल मुकाबले में महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई वाली युवा टीम इंडिया ने अपने चिर प्रतिद्विंदी पाकिस्तान को 5 रन से मात दी थी। महमूद ने भारत की इस जीत के बारे में बात करते हुए कहा कि इसी जीत से भारत में आईपीएल की शुरुआत हुई थी।महमूद ने विजडन के द ग्रेटेस्ट राइवलरी पॉडकास्ट पर कहा "भारत टी 20 विश्व कप से पहले उत्सुक नहीं था। वे टेस्ट मैच क्रिकेट और एक दिवसीय क्रिकेट पर अधिक ध्यान केंद्रित कर रहे थे। भारतीय क्रिकेट को टी20 विश्वकप जीतने से काफी बढ़ावा मिला, जिसके बाद वहां आईपीएल का जन्म हुआ। यह देखकर बहुत अच्छा लगा।''इस दौरान महमूद ने मिस्बाह उल हक के उस शॉट की भी बात की जिसकी वजह से पाकिस्तान को हार का सामना करना पड़ा था। पाकिस्तान को आखिरी ओवर में जीत के लिए 13 रनों की जरूरत थी। मिस्बाह ने दूसरी ही गेंद पर छक्का लगाकर मैच का रुख अपनी ओर पलट लिया था, लेकिन ओवर की तीसरी गेंद उन्होंने विकेट के पीछे स्कूप शॉट लगाया और वो श्रीसंत के हाथों कैच आउट हुए।मिस्बाह के इस शॉट के बारे में महमूद ने कहा "दुर्भाग्य से पाकिस्तान हारने वाली टीम बनी। मिस्बाह उल हक इतना अच्छा खेल रहे थे लेकिन अंत में, उन्होंने उस स्कूप शॉट को खेलने की कोशिश की। वह जोगिंदर शर्मा पर सीधे छक्के लगा सकते थे, लेकिन उन्होंने एक फैंसी स्कूप के साथ जाने की कोशिश की। जब उन्होंने ये शॉट लगाया तो मैं सोफे पर कूद रहा थे, लेकिन जब कैच पकड़ी गई तो मैं सोच रहा था कि ये क्या हो रहा है।"महमूद ने तत्कालीन विकेटकीपर-बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी की प्रशंसा की, जिनके नेतृत्व में भारत ने टूर्नामेंट जीता। धोनी ने इस प्रारूप में टीम का नेतृत्व किया और भारतीय क्रिकेट इतिहास के सबसे सफल चरणों में से एक का निरीक्षण किया।धोनी की तारीफ में उन्होंने कहा "यह क्रिकेट का एक महान खेल था, विशेष रूप से भारतीय क्रिकेट के लिए। यह भारतीय क्रिकेट में एक महान लीडर एमएस धोनी का जन्म था। उन्होंने भारतीय क्रिकेट में मानसिकता और बहुत सी चीजों को बदल दिया, जिसके लिए वह श्रेय के हकदार हैं।"स्टीलकाशुद्धलाभतीनगुनाबढ़करहुआ1009करोड़रुपएNIITकामुनाफा70प्रतिशतबढ़ाHIV Cases in Lockdown-1: लॉकडाउन-1 के दौरान असुरक्षित सेक्स की वजह से 85 हजार लोग HIV संक्रमित हुए, महाराष्ट्र टॉप पर******वैश्विक कोरोना महामारी के कारण पूरी दुनिया में लॉकडाउन लगाया गया। इस दौरान वर्ष 2020 में 25 मार्च को देशभर में लॉकडाउन लगाने की घोषणा पीएम मोदी ने की थी। पूरा देश घरों में कैद था। एक आंकड़े के अनुसार पहले लॉकडाउन के दौरान असुरक्षित सेक्स की वजह से 85 हजार लोग एचआईवी संक्रमित हुए। देश के विभिन्न राज्यों के आंकड़ों को देखा जाए तो इसमें महाराष्ट्र राज्य सबसे टॉप पर रहा। जानिए लॉकडाउन 1 के दौरान कौनसे राज्य में असुरक्षित सेक्स की वजह से कितने लोग एचआईवी संक्रमित हुए।10 हजार 4986 हजार 9053 हजार 4885 हजार 4624 हजार 5902 हजार 7579 हजार 5218 हजार 9474 हजार 8833 हजार 037

JSW स्टील का शुद्ध लाभ तीन गुना बढ़कर हुआ 1,009 करोड़ रुपए, NIIT का मुनाफा 70 प्रतिशत बढ़ा

स्टीलकाशुद्धलाभतीनगुनाबढ़करहुआ1009करोड़रुपएNIITकामुनाफा70प्रतिशतबढ़ासामंथा रुथ प्रभु का इंस्टाग्राम हैंडल हुआ हैक, शेयर हो गया कुछ ऐसा कि देनी पड़ी सफाई******Highlights साउथ सिनेमा की सुपरस्टार सामंथा रुथ प्रभु सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव हैं। लेकिन वह यहां ज्यादातर अपने लेटेस्ट फोटोज और प्रोफेशल जानकारियां ही शेयर करती हैं। इसी बीच तेलंगाना के मंत्री के.टी. रामा राव सामंथा रूथ प्रभु के इंस्टाग्राम हैंडल पर दिखाई दिए और तुरंत उनके फैंस के बीच कई तरह की अटकलें शुरू हो गईं। बता दें कि के. टी. रामा राव राज्य के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव के बेटे भी हैं।पोस्ट को नोटिस करने के लिए, सामंथा के कुछ प्रशंसकों ने पोस्ट का एक स्क्रीनशॉट शेयर किया और पूछा कि क्या उनका अकाउंट हैक किया गया है। जिसके बाद कुछ ही मिनट बाद पोस्ट को हटा दिया गया और इसके बाद एक्ट्रेस के सोशल मीडिया मैनेजर ने इस बारे में सफाई पेश की।सामंथा के सोशल मीडिया मैनेजर, शेषंका बिनेश ने एक बयान में कहा: एक तकनीकी गड़बड़ी के कारण, इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट को सामंथा के अकाउंट पर गलती से क्रॉस-पोस्ट किया गया। हम मामले पर काम कर रहे हैं और टीम इंस्टाग्राम के साथ इसे आगे बढ़ाएंगे।आपको बता दें कि एक्ट्रेस के इंस्टाग्राम अकाउंट पर उनके प्रोफेशनल और पर्सनल लाइफ की तस्वीरें और वीडियो हैं। इसलिए, असामान्य पोस्ट ने लोगों का ध्यान खींचा। जिसके बाद लोगों ने सच सामने आने के पहले सामंथा के राजनीति में आने से लेकर उनके किसी पर्सनल कनेक्शन तक की बात कह डाली।इसे भी पढ़ें-स्टीलकाशुद्धलाभतीनगुनाबढ़करहुआ1009करोड़रुपएNIITकामुनाफा70प्रतिशतबढ़ाकरदाताओं के लिए खुशखबरी: 30 सितंबर नहीं बल्कि 30 नवंबर है आयकर रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तारीख******Last Date to file Income Tax Return ITR for 2019-20 आयकर विभाग ने आज एक बार फिर से कहा है कि वित्त वर्ष 2019-20 के लिए आयकर रिटर्न भरने की तारीख 30 नवंबर कर दी गई है। पहले यह तारीख 31 जुलाई थी फिर इसे बढ़ाकर 30 सितंबर किया गया था । आज आयकर विभाग ने एक बार फिर से वित्त वर्ष 2019-20 के लिए आयकर रिटर्न भरने की तारीख बढ़ा दी है। कोरोना काल को देखते हुए आयकर विभाग ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिए आयकर रिटर्न दाखिल करने की समय सीमा को लगातार बढ़ाया है।केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड() ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिए आयकर रिटर्न दाखिल करने की तारीख 30 सितंबर से बढ़ाकर अब 30 नवंबर, 2020 तक कर दिया है।बता दें कि, ने इससे पहले भी तीन बार आईटीआर दाखिल करने की तारीख को बढ़ाया जा चुका है। इससे पहले वित्त वर्ष 2019-20 के लिए 31 मार्च 2020 तक ITR फाइल करना था, इसके बाद बढ़ाकर इसे 30 जून 2020 कर दिया। फिर इसे बढ़ाकर 31 जुलाई आखिरी तारीख की गई और फिर इसे बढ़ाकर 30 सितंबर 2020 कर दिया गया और अब आयकर विभाग ने इसकी तारीख 30 नवंबर कर दी है।बता दें कि रिटर्न ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरीकों से फाइल किया जा सकता है। जिन लोगों को रिफंड क्लेम करना है, उनके लिए रिटर्न की ई-फाइलिंग जरूरी है। अगर किसी व्यक्ति की आमदनी पांच लाख रुपए से कम है तो भी उसे रिटर्न ऑनलाइन ही भरना होगा। उधर 80 साल की आयु से ज्यादा के वरिष्ठ नागरिकों पर यह नियम लागू नहीं होगा। ऐसे लोग अपना रिटर्न ऑफलाइन भी भर सकते है। रिटर्न ऑनलाइन भरने के कई फायदे हैं। जिस रिटर्न को ऑनलाइन भरा जाता है, उनका रिफंड जल्दी तो आता ही है साथ ही उसे बैंक खाते में सीधे जमा कर दिया जाता है। एंड्रॉयड फोन के जरिए 'क्लीयर टैक्स एप' द्वारा रिटर्न फाइल की जा सकती है। इस एप की मदद से आप कुछ ही क्षण में आईटीआर फाइल कर सकते हैं। पैन कार्ड और जन्म तिथि के आधार पर आप अपने रिफंड की जानकारी भी ले सकते हैं। इसके लिए एंड्रॉयड फोन होना जरूरी है।​स्टीलकाशुद्धलाभतीनगुनाबढ़करहुआ1009करोड़रुपएNIITकामुनाफा70प्रतिशतबढ़ापूर्वोत्तर में भारी बारिश से दस मरे, असम में बाढ से 8.5 लाख लोग प्रभावित****** के कारण शुकवार को के कई हिस्सों में जमीन दरकने और मकान गिरने की घटनाओं में कम दस लोगों की मौत हो गई जबकि असम में साढ़े आठ लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। वहीं, बीते नौ दिनों में उत्तर प्रदेश में बारिश से जुड़ी घटनाओं में 14 लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि राजधानी दिल्ली को अभी बारिश का इंतजार है। शुक्रवार को गर्मी और उमस के बीच अधिकतम तापमान 38.3 डिग्री सेल्सियस रहा जो सामान्य से तीन डिग्री ऊपर है। राजधानी में 15-16 जुलाई को बारिश की उम्मीद है।उत्तर प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों में पिछले कई दिनों से रुक-रुककर हो रही बारिश का सिलसिला जल्द ही थम सकता है। दक्षिण-पश्चिमी मानसून प्रदेश के पूर्वी भागों में सक्रिय जबकि पश्चिमी हिस्सों में सामान्य है। पूर्वानुमान के मुताबिक पिछले करीब एक सप्ताह से प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर रुक-रुक कर हो रही बारिश में अब कमी आने की सम्भावना है। इससे उमस बढ़ने के प्रबल आसार हैं।उत्तर प्रदेश के राहत आयुक्त कार्यालय ने कहा कि तीन जुलाई से 11 जुलाई तक बारिश से जुड़ी घटनाओँ जिनमें बिजली गिरने, घर ढहने और दीवार गिरना शामिल है, में 14 लोगों की मौत हो गई है। इनमें तीन लोगों की मौत फतेहपुर में, महोबा, पीलीभीत, कानपुर देहात, सोनभद्र, हरदोई, कुशीनगर, प्रतापगढ़, सीतापुर, कन्नौज, बाराबंकी और जौनपुर में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई।केंद्रीय जल आयोग (सीडब्ल्यूसी) की गुरुवार की रिपोर्ट के अनुसार, कानपुर, प्रयागराज, मिर्जापुर, वाराणसी, गाजीपुर और बलिया में गंगा नदी में पानी बढ़ रहा है, जबकि रामगंगा नदी कालागढ़ (बिजनौर) और बरेली में उफान पर है। कालपी (जालौन) और नैनी (प्रयागराज) में यमुना का जलस्तर बढ़ रहा है। सीतापुर और सुल्तानपुर में गोमती नदी उफान पर है जबकि शारदा नदी पलियांकलां (लखीमपुर) में खतरे के निशान से ऊपर बह रही है और शारदा नगर में जलस्तर में इजाफा हुआ है।बारिश ने पंजाब और हरियाणा के बड़े हिस्सों को भी प्रभावित किया, जिससे अधिकांश जगहों पर अधिकतम तापमान सामान्य से नीचे आ गया। चंडीगढ़ में लगातार दूसरे दिन सुबह भारी बारिश हुई। पूर्वोत्तर में, असम में छह लोगों की मौत हो गई, अरुणाचल प्रदेश और मिजोरम में बारिश से संबंधित घटनाओं में दो-दो लोगों ने अपनी जान गंवाई।ब्रह्मपुत्र और उसकी सहायक नदियों के पानी से जूझ रहे असम राज्य के 33 जिलों में बाढ़ की स्थिति गंभीर बनी हुई है। यहां बाढ़ से छह लोगों की मौत हुई है और 8.7 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। पश्चिम बंगाल में सेतीझोरा और कालीझोरा के बीच लगभग पांच स्थानों पर पहाड़ियों का एक बड़ा हिस्सा ढह गया है और राजमार्ग अवरुद्ध हो गया है।सिक्किम में रांगपो और 32 नम्बर राजमार्ग पर भी भूस्खलन हुआ है और वहां युद्धस्तर पर मरम्मत और जीर्णोद्धार का काम चल रहा है, लेकिन भारी और लगातार बारिश से बाधा उत्पन्न हो रही है। पिछले तीन दिनों से लगातार हो रही बारिश ने उत्तर बंगाल में सामान्य जीवन को खतरे में डाल दिया है, जिससे निचले इलाकों में बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो रही है और पहाड़ी इलाकों में भूस्खलन हो रहा है। न्यूजलपाईगुड़ी और अलीपुरद्वार में पैसेंजर ट्रेन सेवा रोक दी गई है। नार्थ फ्रंटियर रेलवे अधिकारी ने यह जानकारी दी।

JSW स्टील का शुद्ध लाभ तीन गुना बढ़कर हुआ 1,009 करोड़ रुपए, NIIT का मुनाफा 70 प्रतिशत बढ़ा

स्टीलकाशुद्धलाभतीनगुनाबढ़करहुआ1009करोड़रुपएNIITकामुनाफा70प्रतिशतबढ़ाराजस्थान हाईकोर्ट: पत्नी को संतान सुख देने के लिए पति को 15 दिन की पैरोल******राजस्थान हाई कोर्ट ने एक अनूठे मामले में एक व्यक्ति को 15 दिन की पैरोल इसलिए दी है, जिससे कि उसकी पत्नी को मातृत्व सुख प्राप्त हो सके। इस कैदी की पत्नी ने अपने ‘संतान के अधिकार’ का जिक्र करते हुए पति की रिहाई की मांग की थी। हाई कोर्ट की जोधपुर बेंच ने कैदी को पैरोल देने और संतान पैदा करने के अधिकारों को लेकर हिंदू, इस्लाम, ईसाई धर्म से जुड़े शास्त्रों की भी चर्चा की। हाई कोर्ट के जस्टिस संदीप मेहता और फरजंद अली ने कहा कि जेल में रहने के कारण कैदी की पत्नी की शारीरिक और भावनात्मक जरूरतें प्रभावित हुई हैं। इसी आधार पर कोर्ट ने उम्रकैद की सजा काट रहे 34 साल के नंदलाल के लिए 15 दिनों की पैरोल मंजूर की।दरअसल, कैदी नंदलाल अजमेर सेंट्रल जेल में बंद है। उसकी पत्नी ने जिला कलेक्टर और पैरोल कमिटी के चेयरमैन से अपील की थी। महिला ने पैरोल की मांग करते हुए कहा था कि वो कैदी की वैध पत्नी है और उनकी कोई संतान नहीं है। महिला ने इसके लिए अपने पति के जेल में रहने के दौरान ‘अच्छे व्यवहार’ का भी हवाला दिया था। उसका आवेदन कलेक्टर ऑफिस में पेंडिंग था। मामले की जल्द सुनवाई के लिए वो हाई कोर्ट पहुंच गईं।पिछले साल भी मिली थी 20 दिन की पैरोलकैदी नंदलाल को पिछले साल भी 20 दिनों की पैरोल दी गई थी। पत्नी ने हाई कोर्ट से कहा कि अपने पिछले पैरोल के दौरान उसका व्यवहार सही था और यह पैरोल सीमा खत्म होने पर उसने सरेंडर कर दिया था। नंदलाल अब तक 6 साल की सजा काट चुका है।कोर्ट ने क्या-क्या कहा?कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि कैदी की पत्नी बच्चे के अधिकार से वंचित रही है, जबकि ना तो उसने कोई अपराध किया है और ना ही उसे कोई सजा मिली है। कोर्ट ने कहा, 'वंश संरक्षण के उद्देश्य से बच्चा पैदा करने को धार्मिक ग्रंथों, भारतीय संस्कृति और अलग-अलग न्यायिक फैसलों में भी माना गया है। बच्चा होने से कैदी पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। पैरोल देने का मकसद यह भी है कि अपनी रिहाई के बाद कैदी शांतिपूर्ण तरीके से समाज की मुख्यधारा में शामिल हो पाएगा।'”चार पुरुषार्थों का जिक्रकोर्ट ने हिंदू धर्म के 16 संस्कारों का जिक्र किया, जिसमें पहला संस्कार गर्भधारण को बताया गया है। कोर्ट ने कहा कि यहूदी, ईसाई और दूसरे धर्मों में संतान पैदा करने की चर्चा है। इस्लाम का उदाहरण देते हुए कोर्ट ने कहा कि वंश संरक्षण इसके प्रमुख उद्देश्यों में एक है। कोर्ट ने हिंदू दर्शन में दर्ज चार पुरुषार्थ का भी जिक्र किया। कोर्ट ने कहा, 'हिंदू दर्शन में चार पुरुषार्थ हैं-धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष। जब एक कैदी जेल में होता है तो वह इन पुरुषार्थों से वंचित हो जाता है। इनमें से तीन पुरुषार्थ- धर्म, अर्थ और मोक्ष अकेले हासिल की जा सकती है, लेकिन काम ऐसा हिस्सा है जो शादी होने के बाद किसी के पति/पत्नी पर निर्भर करता है। ऐसी स्थिति में दोषी की निर्दोष पत्नी/पति इससे वंचित हो जाता है।'कोर्ट ने आगे कहा, 'ऐसे मामले में जब निर्दोष एक महिला है और वह मां बनना चाहती है, तो उस शादीशुदा महिला की इच्छा को पूरा करने के लिए स्टेट की जिम्मेदारी काफी महत्वपूर्ण हो जाती है। मां बनने पर महिला का स्त्रीत्व और निखर जाता है। परिवार और समाज में उसकी प्रतिष्ठा बढ़ जाती है। महिला के लिए जीवन में ऐसी स्थिति नहीं होनी चाहिए कि बिना उसकी गलती के वो अपने पति से कोई बच्चा पैदा ना कर पाए।'हाई कोर्ट ने संतान पैदा करने के अधिकार को संविधान के अनुच्छेद-21 के तहत दिए गए जीवन के अधिकार से भी जोड़ा। उसने कहा कि संविधान गारंटी देता है कि किसी व्यक्ति को उसकी जिंदगी और व्यक्तिगत स्वतंत्रता से वंचित नहीं किया जा सकता है। इसलिए दोषी कैदी के पति या पत्नी को संतान की चाहत से नहीं रोका जा सकता है।स्टीलकाशुद्धलाभतीनगुनाबढ़करहुआ1009करोड़रुपएNIITकामुनाफा70प्रतिशतबढ़ारणजी ट्रॉफी (फाइनल) : सौराष्ट्र ने पहले दिन बनाए 5 विकेट पर 206 रन******राजकोट| एवी बरोट (54) और विश्वराज जडेजा (54) के अर्धशतकों की मदद से सौराष्ट्र ने यहां सौराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम में बंगाल के खिलाफ जारी रणजी ट्रॉफी फाइनल मुकाबले के पहले दिन सोमवार को अपनी पहली पारी में दिन का खेल समाप्त होने तक पांच विकेट पर 206 रन का स्कोर बना लिया है। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी सौराष्ट्र को उसके दोनों ओपनरों हार्विक देसाई (38) और बरोट ने पहले विकेट के लिए 82 रनों की साझेदारी करके अच्छी शुरुआत दी।देसाई को शाहबाज अहमद ने अभिषेक रमन के हाथों कैच कराया। देसाई ने 111 गेंदों पर पांच चौके लगाए। उनके आउट होने के बाद बरोट भी टीम के कुल 113 के स्कोर पर दूसरे बल्लेबाज के रूप में पवेलियन लौट गए।बरोट ने 142 गेंदों पर छह चौके जड़े। सौराष्ट्र ने इसके बाद 163 के स्कोर पर विश्वराज को, 182 के स्कोर पर शेल्डन जैक्सन (14) और 206 के स्कोर पर चेतन सकारिया (4) का विकेट खोया।भारतीय टेस्ट बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा 24 गेंदों पर एक चौका लगाकर पांच रन के स्कोर पर रिटायर्ड हर्ट हुए।विश्वराज ने 92 गेंदों पर सात चौके जड़े। जैक्सन ने 15 गेंदों पर तीन चौका लगाया। अर्पित वासवदा 94 गेंदों पर तीन चौकों की मदद से 29 रन बनाकर नाबाद लौटे। सकारिया के आउट होते ही स्टंप्स की घोषणा कर दी गई।बंगाल की ओर से आकाश दीप ने अब तक तीन और इशान पोरेल तथा शाहबाज अहमद ने एक-एक विकेट लिए।

JSW स्टील का शुद्ध लाभ तीन गुना बढ़कर हुआ 1,009 करोड़ रुपए, NIIT का मुनाफा 70 प्रतिशत बढ़ा

स्टीलकाशुद्धलाभतीनगुनाबढ़करहुआ1009करोड़रुपएNIITकामुनाफा70प्रतिशतबढ़ाजमशेदपुर छोड़ हैदराबाद एफसी से जुड़े गोलकीपर सुब्रत पॉल******हैदराबाद| इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) की टीम हैदराबाद एफसी ने गोलकीपर सुब्रत पॉल के साथ दो साल का करार किया है। टीम ने गुरुवार को इस बात की जानकारी दी। सुब्रस इससे पहले जमशेदपुर एफसी में थे। उन्होंने आईएसएल 2019-20 में जमशेदपुर के लिए 15 मैच खेले थे।सुब्रत ने आईएसएल की आधिकारिक वेबसाइट पर जारी बयान में कहा, "हैदराबाद का नाम हमेशा से भारतीय फुटबाल के इतिहास का पर्यायवाची रहेगा। बीते वर्षो में यहां से कई अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी निकले हैं। दुर्भाग्य से इतने दिनों तक हमारे पास इस शहर के नाम का क्लब नहीं था, लेकिन अब है। मुझे हैदराबाद टीम में आने के लिए सोचने के लिए ज्यादा समय नहीं लगा।" उन्होंने कहा, "हैदराबाद का फुटबाल के प्रति प्यार और जुनून बेहतरीन है। मैं शानदार समर्थकों के सामने खेलने को तैयार हूं।"हैदराबाद के कोच अल्बर्ट रोका ने कहा, "सुब्रत आईएसएल में सबसे अनुभवी खिलाड़ियों में से एक हैं और वह बीते दशक से देश के लिए उच्च स्तर के लिए भी खेलते आ रहे हैं। वह इस देश में मौजूद सर्वश्रेष्ठ गोलकीपरों में से एक हैं और इसमें कोई शक नहीं है कि वह हमारी टीम में नेतृत्वक्षमता के साथ क्वालिटी लेकर आएंगे जो टीम में मौजूदा युवाओं की मदद करेंगे।"

स्टीलकाशुद्धलाभतीनगुनाबढ़करहुआ1009करोड़रुपएNIITकामुनाफा70प्रतिशतबढ़ादक्षिण अफ्रीका दौरे पर जाने से शाकिब ने किया इनकार, बीसीबी ने जताई नाराजगी******Highlightsदक्षिण अफ्रीका दौरे पर जाने से शाकिब अल हसन के इनकार पर बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने राष्ट्रीय टीम के प्रति उनकी प्रतिबद्धता पर सवाल उठाये हैं। बीसीबी अध्यक्ष नजमुल हसन ने कहा कि अगर आईपीएल की कोई टीम उन्हें चुन लेती तो क्या वह इसी तरह से ब्रेक लेते। उन्हें आईपीएल की मेगा नीलामी में किसी टीम ने नहीं खरीदा। अब उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से ब्रेक का हवाला देकर दौरे से बाहर रहने की इच्छा जताई है।पिछले सप्ताह इस महीने के आखिर में शुरू हो रहे दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिये उन्हें बांग्लादेश की वनडे और टेस्ट टीम में चुना गया। हसन ने ‘ईएसपीएन क्रिकइन्फो’ से कहा,‘‘ यह सोचना बिल्कुल तर्कसंगत है कि अगर उसकी मानसिक और शारीरिक स्थिति खराब होती तो वह आईपीएल नीलामी के लिये अपना नाम नहीं देता।’’ उन्होंने कहा ,‘‘ लेकिन उसने अपना नाम दिया । इसके मायने क्या यह है कि आईपीएल में चुने जाने पर भी वह ऐसा ही कहता। अगर वह बांग्लादेश के लिये खेलना नहीं चाहता तो हम कुछ नहीं कर सकते।’’ उन्होंने कहा ,‘‘ लेकिन वह लगातार नहीं कह सकता कि मैं खेलना चाहता हूं या मैं खेलना नहीं चाहता। हम जिनसे प्यार करते हैं, उनके साथ नरमी बरतते हैं लेकिन उन्हें भी पेशेवर होना होगा। अन्यथा हमें ऐसे फैसले लेने होंगे जो किसी को पसंद नहीं आयेंगे।’’ बता दें कि शाकिब ने आईपीएल के लिये उपलब्ध रहने के मकसद से दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला खेलने से इनकार कर दिया था।स्टीलकाशुद्धलाभतीनगुनाबढ़करहुआ1009करोड़रुपएNIITकामुनाफा70प्रतिशतबढ़ाWar: Jio को जवाब देने के लिए Airtel, Vodafone Idea ने घटाया रिंगर टाइम, अब फोन उठाने के लिए मिलेंगे आपको 25 सेकेंड******Airtel, Vodafone Idea cut ringer time to 25 seconds to counter Jioटेलीकॉम ऑपरेटर भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया ने अपने नेटवर्क से बाहर जाने वाली पर रिंग टाइम को घटाकर 25 सेकेंड कर दिया है। रिंग टाइम का आशय कॉल आने के समय फोन पर बजने वाली घंटी से है। आमतौर पर कॉल आने पर फोन की घंटी 40 से 45 सेकेंड तक बजती है लेकिन अब यह केवल 25 सेकेंड तक ही बजेगी। रिलायंस जियो के साथ प्रतिस्‍पर्धा के चलते एयरटेल और वोडाफोन आइडिया ने रिंगर टाइम घटाने का फैसला किया है। भारती एयरटेल और वोडफोन आइडिया द्वारा उठाए गए इस कदम का एक मकसद कॉल जुड़े रहने के समय के मुताबिक उसपर लगने वाले इंटरकनेक्‍ट उपयोग शुल्‍क (आईयूसी) की लागत घटाना भी है। भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने इंटरकनेक्‍ट शुल्‍क मामले में उसके किसी आध‍िकारिक निर्णय पर पहुंचने से पहले आपस में कड़ी प्रतिस्‍पर्धा में उलझी दूरसंचार कंपनियों से सर्वसम्‍मति से किसी समाधान पर पहुंचने के लिए कहा था।इंटरकनेक्‍ट उपयोग शुल्‍क किसी एक नेटवर्क को दूसरे नेटवर्क द्वारा दी जाने वाली सेवाओं पर दिया जाता है। इसमें जिस नेटवर्क से कॉल की जाती है, वह कॉल पहुंचने वाले नेटवर्क को यह शुल्‍क अदा करता है। अभी इसकी दर छह पैसा प्रति मिनट है। एयरटेल ने ट्राई को लिखे अपने पत्र में कहा है कि उसने फोन की घंटी बजने की अवधि को 25 सेकेंड तक सीमित करने का निर्णय लिया है। जियो के ऐसा करने के बाद यह फैसला लिया गया है। इससे ग्राहकों को असुविधा हो सकती है। ट्राई की ओर से इस संबंध में कोई स्‍पष्‍ट निर्देश ना होने के कारण कंपनी के कोई और विकल्‍प नहीं बचा है।वोडाफोन आइडिया ने भी चुनिंदा क्षेत्रों में फोन की घंटी बजने का समय घटाने का फैसला किया है। ट्राई से जुड़े सूत्रों ने बताया कि नियामक 14 अक्‍टूबर को कॉल किए जाने वाले व्‍यक्ति के फोन की घंटी बजने की समय-सीमा पर एक खुली चर्चा कराने की योजना बना रहा है।एयरटेल का कहना है कि फोन की घंटी बजने की अवधि कम करने से मिस्‍ड कॉल की संख्‍या बढ़ेगी। इससे किसी व्‍यक्ति को कॉल लगाने और साथ ही मिस्‍ट कॉल देखने के बाद वापस कॉल करने की संख्‍या भी बढ़ेगी। इससे ग्राहकों के अनुभव के साथ-साथ नेटवर्क की गुणवत्‍ता पर बुरा असर पड़़ेगा।

स्टीलकाशुद्धलाभतीनगुनाबढ़करहुआ1009करोड़रुपएNIITकामुनाफा70प्रतिशतबढ़ाLionel Messi: 7 बार के चैंपियन मेसी को लगा बड़ा झटका टॉप फुटबॉलर्स की लिस्ट से हुए बाहर******Highlights बार्सिलोना (Barcelona) से अलग होने के बाद स्टार फुटबॉल खिलाड़ी लियोनेल मेसी ( Lionel Messi) के लिए इस वक़्त कुछ भी सही नहीं चल रहा है। पेरिस सेंट-जर्मेन (पीएसजी) के लिए उनका प्रदर्शन बेहद खराब रहा है और जिन उम्मीदों से क्लब ने उनको खरीदा था उस पर लियोनेल मेसी खरे नहीं उतरे हैं। हालत इतने खराब हो गए थे कि एक मैच के बाद मेसी को बीच मैदान में अपने ही फैंस की नाराजगी का सामना करना पड़ गया था। इन सब के बीच उनको एक और बड़ा झटका लगा है। मेसी के साथ कुछ ऐसा हुआ जो उनके साथ पिछले 17 सालों में नहीं हुआ था।इस साल जारी हुई बैलोन डिओर की 30 खिलाड़ियों की नामित सूची में मेसी को जगह नहीं मिली है। साल 2005 से मेसी लगातार इस अवॉर्ड की लिस्ट का ना सिर्फ हिस्सा रहे हैं, बल्कि रिकॉर्ड 7 बार अपने नाम कर चुके हैं। लेकिन इस साल मेसी का इस लिस्ट में न होना सभी को चौंकाने वाला हैं। मेसी के साथ नेमार को भी इस साल बैलोन डिओर की लिस्ट में जगह नहीं मिली है। आपको बता दें कि मेसी साल 2009,2010,2011, 2012,2015,2019 और 2021 में अपने नाम कर चुके हैं।वही उनके चिर प्रतिद्वंदी खिलाड़ी क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने यह ख़िताब पांच बार अपने नाम किया है। इस बार बैलोन डिओर अवार्ड के लिए 30 खिलाड़ियों कि सूची में करीम बेंजेमा, मुहम्मद सालाह,रोबर्ट लेवांडोवस्की जैसे खिलाड़ियों ने अपनी जगह बनाई है। करीम बेंजेमा को इस साल अवार्ड जीतने के लिए प्रबल दावेदार माना जा रहा है। बेंजेमा ने इस साल रियाल मैड्रिड की तरफ से खेलते हुए 44 गोल दागे हैं।इस सत्र में पीएसजी की तरफ से खेलते हुए मेसी ने 34 मैचों में मात्र 11 गोल किए हैं जो कि उनके करियर का अब तक का सबसे खराब प्रदर्शन रहा है। मेसी जब से बार्सिलोना से अलग हुए हैं तब से उनकी फॉर्म नदारद है। बार्सिलोना के लिए खेलते हुए लियोनेल मेसी ने 778 मैचों में 672 गोल दागे हैं और 288 असिस्ट किए हैं। वही अर्जेंटीना की ओर से खेलते हुए 154 इंटरनेशनल मैचों में 86 गोल किए हैं।इस साल के बैलोन डिओर अवार्ड के विनर का ऐलान 17 अक्टूबर को होगा। पिछले दो बार से यह अवार्ड मेसी के नाम रहा है। साल 2020 में कोरोना के चलते है यह अवार्ड नहीं दिए गए थे।स्टीलकाशुद्धलाभतीनगुनाबढ़करहुआ1009करोड़रुपएNIITकामुनाफा70प्रतिशतबढ़ाChanakya Niti : घर में आने वाले आर्थिक संकट के ये हैं 5 संकेत, हो जाएं सावधान******आचार्य चाणक्य की नीतियां और विचार भले ही आपको थोड़े कठोर लगे लेकिन ये कठोरता ही जीवन की सच्चाई है। हम लोग भागदौड़ भरी जिंदगी में इन विचारों को भले ही नजरअंदाज कर दें लेकिन ये वचन जीवन की हर कसौटी पर आपकी मदद करेंगे। आचार्य चाणक्य के इन्हीं विचारों में से आज हम एक और विचार का विश्लेषण करेंगे। आज के विचार में आचार्य चाणक्य ने घर में आने वाले आर्थिक संकट के 5 संकेत बताए हैं। के इस कथन का अर्थ है कि जिस घर में ये संकेत दिखे तो समझ लेना कि उस घर में आर्थिक संकट आने वाला है। ये संकेत हैं- तुलसी के पौधे का सूख जाना, घर में क्लेश होना, शीशे का बार बार टूटना, पूजा पाठ ना करना और बड़े बुजुर्गों का तिरस्कार करना। हम आपको इन सभी संकेतों के बारे में एक-एक करके बताएंगे।पहला- तुलसी के पौधे का सूख जाना। तुलसी का पौधा हर एक घर में होता है। हिंदू धर्म में तुलसी के पौधे की पूजा अर्चना की जाती है और उसे शुभ माना जाता है। ऐसे में आचार्य चाणक्य का कहना है कि अगर किसी व्यक्ति के घर में तुलसी का पौधा एकाएक सूख रहा है तो ये आने वाले आर्थिक संकट का एक संकेत है।दूसरा-घर में क्लेश होना। ये तो आपने सुना होगा कि जब एक साथ कई बर्तन होते हैं तो उनमें आवाज जरूर होती है। इसका मतलब है कि अगर में कई लोग हैं तो उनके बीच विचारों का मतभेद हो सकता है। लेकिन अगर उनके बीच मन-भेद हो गया तो उस घर में हमेशा झगड़ा होता रहेगा। अगर किसी के घर में हमेशा क्लेश हो रहा है तो वो भी आने वाले आर्थिक संकट का संकेत है।तीसरा- शीशे का बार-बार टूटना। आचार्य चाणक्य का कहना है कि कांच का बार-बार टूटना भी आर्थिक संकट का संकेत है। ये धन हानि को दर्शाता है। इसके साथ ही ये घर में आने वाली दरिद्रता का एक संकेत है।चौथा- पूजा पाठ का ना होना। जिस घर में पूजा पाठ नहीं होता है वहां पर सुख और समृद्धि का वास नहीं होता है। वहां पर लोगों के बीच में प्यार कम हो जाता है और मतभेद ज्यादा हो जाता है। ये भी आने वाले आर्थिक संकट का एक संकेत है।पांचवां- बड़े-बुजुर्गों का तिरस्कार करना। बड़े बुजुर्गों का हमेशा सम्मान करना चाहिए। अगर आप उनका सम्मान नहीं करेंगे तो उनके दिल को चोट पहुंचेगी। उनके साथ इस तरह का व्यवहार करने वालाव्यक्ति जीवन में कभी भी खुश नहीं रह सकता। अगर किसी के घर में इस तरह का व्यवहार होता है तो उसके घर में सुख और समृद्धि का वास नहीं होता। इस तरह से ये भी आर्थिक संकट का एक संकेत है।

स्टीलकाशुद्धलाभतीनगुनाबढ़करहुआ1009करोड़रुपएNIITकामुनाफा70प्रतिशतबढ़ाBigg Boss से बाहर होने के बाद पहली बार बोले प्रियांक शर्मा, 'नागिन 3' और करण जौहर की फिल्म पर कही यह बात****** बिग बॉस में इस बार चौंकाने वाला एविक्शन हुआ है, शो से प्रियांक शर्मा बाहर हो गए हैं। इसके साथ ही ‘बिग बॉस’ के घर में उनके सफर का अंत हो गया। प्रियांक के साथ लव त्यागी घर से बेघर होने के लिए नॉमिनेटेड थे। लेकिन लव सेव हो गए और प्रियांक घर से बेघर हो गए।‘वीकेंड का वार’ एपिसोड में शो के प्रस्तोता सलमान खान ने प्रियांक के ‘बिग बॉस 11’से बाहर निकलने की घोषणा की। शो से बाहर होने के बाद प्रियांक ने कहा, ‘‘मैं बेहद खुश हूं कि मैं शो में यहां तक पहुंचा। पेशेवर तौर पर यह साल मेरे लिये काफी अच्छा रहा। ‘रोडीज’ से ‘स्प्लिट्स विला’ से लेकर ‘बिग बॉस’ तक। मेरा मानना है कि ‘बिग बॉस’ ऐसा शो है जिसके बारे में अनुमान नहीं लगाया जा सकता है।’’प्रियांक से जब पूछा गया कि क्या उन्हें करण जौहर के साथ फिल्मकरने का मौका मिला है और आप अब फिल्में करेंगे, इस पर प्रियांक ने कहा- मुझे अभी घर से निकले 24 घंटेभी नहीं हुए हैं, तो मैं अभी से कुछ नहींकह सकताहूं, मुझेफिल्मऑफर हुई भी है या नहींइस बारे में मुझे कुछ नहीं पता है।''प्रियांक से 'नागिन 3' पर भी सवाल किया गया क्योंकि खबरें आई थीं कि एकता कपूर ने उन्हें'नागिन3' के लिए साइन करने का फैसला किया है। इस पर भी प्रियाकं ने यही कहा कि अभी तक मुझेबाहर क्या हो रहा है इस बारे में ज्यादा कुछ नहीं पता है। जैसे ही पता चलेगा वो इस बारे में बात करेंगे।बता दें, बिग बॉस में अब सिर्फ 6 कंटेस्टेंट बचे हैं। अब शो में विकास गुप्ता, शिल्पा शिंदे, हिना खान, लव त्यागी, आकाश ददलानी और पुनीश बचे हैं।स्टीलकाशुद्धलाभतीनगुनाबढ़करहुआ1009करोड़रुपएNIITकामुनाफा70प्रतिशतबढ़ाRanji Trophy: मनोज तिवारी ने शतक लगा मैदान पर ही किया था प्यार का इजहार, ऐसी है बंगाल के खेल मंत्री की लव स्टोरी******Highlightsपश्चिम बंगाल के खेल मंत्री और भारतीय क्रिकेटर मनोज तिवारी इन दिनों रणजी ट्रॉफी के नॉकआउट राउंड में अपनी टीम बंगाल का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। उन्होंने गुरुवार को सेमीफाइनल मुकाबले में मध्य प्रदेश के खिलाफ 102 रनों की शतकीय पारी खेली। अपना शतक पूरा करने के बाद उन्होंने इसे अनोखे अंदाज में सेलिब्रेट किया और अपनी जेब से एक लेटर निकालकर अपनी पत्नी सुष्मिता से प्यार का इजहार किया। उनका यह अंदाज सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है।इसी बीच उनकी पत्नी सुष्मिता रॉय भी ट्रेंड होने लगीं। दोनों की लव स्टोरी भी चर्चा का विषय बन गई। तिवारी की पत्नी ने भी उनके शतक के बाद इंस्टाग्राम पर एक वीडियो शेयर किया और पुष्पा के मशहूर डायलॉग, मैं झुकेगा नहीं... की स्टाइल में हैशटैग लिखा। साथ ही इन्हीं हैशटैग में सुष्मिता ने मनोज तिवारी को कभी नहीं रुकने वाला और खुद को एक गर्व महसूस करने वाली पत्नी भी लिखा।मनोज तिवारी और सुष्मिता रॉय की लव स्टोरी काफी रोचक है। सुष्मिता उत्तर प्रदेश की रहने वाली हैं और वह वहां के एक ब्राहम्ण परिवार से आती हैं। सोशल मीडिया पर भी वह काफी एक्टिव रहती हैं। मनोज और सुष्मिता की पहली मुलाकात 2006 में हुई थी। इसके करीब 6 साल तक वह दोनों एक दूसरे को डेट करते रहे। फिर जुलाई 2013 में दोनों ने शादी कर ली। वर्तमान में दोनों के दो बच्चे भी हैं।सुष्मिता रॉय खूबसूरती के मामले में किसी बॉलीवुड एक्ट्रेस से कम नहीं हैं। साल 2016 में जब यह कपल छुट्टी मनाने ग्रीस गया तो क्रिकेटर ने कुछ फोटो शेयर किए थे। बस वहां से ही सुष्मिता की सुंदरता के और ज्यादा चर्चे शुरू हो गए। इंस्टाग्राम पर सुष्मिता को 44 हजार से ज्यादा लोग फॉलो करते हैं। मनोज तिवारी ने भारत के लिए 12 वनडे और तीन टी20 मैच खेले हैं। इसके अलावा वह 98 आईपीएल मैच भी खेल चुके हैं। उन्होने साल 2008 में भारतीय टीम के लिए वनडे डेब्यू किया था जबकि टी20 में पहला मौका उन्हें 2011 में मिला था।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 07:18
उद्धरण 1 इमारत
Bitta Karate : बिट्टा कराटे के खिलाफ श्रीनगर कोर्ट में सबूत देगा टिक्कू परिवार, जानें क्या है पूरा मामला******Highlightsकश्मीरी पंडितों के नरसंहार के मामले में बिट्टा कराटे पर कानून का शंकजा अब कसने जा रहा है। बिट्टा कराटे उर्फ फारूख अहमद डार के खिलाफ सतीश टिक्कू के परिवार ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। सतीश टिक्कू का परिवार आज श्रीनगर कोर्ट में बिट्टा कराटे के खिलाफ सबूत पेश करेगा। टिक्कू परिवार सबूत के तौर पर उस टीवी शो का वीडियो पेश करेगा, जिसमें बिट्टा कराटे ने कश्मीरी पंडितों की हत्याएं कबूल की हैं।आपको बता दें कि बिट्टा कराटे कश्मीर घाटी में पंडितों के खिलाफ नरसंहार का चेहरा रहा है। उसने एक वीडियो शो में यह कबूल किया कि सतीश टिक्कू उसके हाथ से मारे गए पहले कश्मीरी पंडित थे।आतंकवाद का सबसे बड़ा और क्रूर चेहरा था बिट्टा90 के दशक में कश्मीर घाटी से कश्मीरी पंडितों ने बड़ी संख्या में पलायन किया था। उस दौरान बिट्टा कराटे को आतंकवाद का सबसे बड़ा और क्रूर चेहरा माना जाता था। बिट्टा जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट का प्रमुख चेहरा था। उसे सालों तक गिरफ्तार नहीं गया और वह घाटी में लगातार कश्मीरी पंडितों को निशाना बनाता रहा। इस दौरान बिट्टा ने अपने हाथों कम से कम 20 कश्मीरी पंडितों की हत्या की थी।20 से ज्यादा कश्मीरी पंडितों की हत्यावर्ष 1991 में अपने एक इंटरव्यू में उसने यह माना था कि 1990 में उसने 20 से ज्यादा कश्मीरी पंडितों की हत्या की थी। उसका यह इंटरव्यू टीवी पर प्रसारित हुआ था। बिट्टा कराटे को 'पंडितों का कसाई' कहकर पुकारा जाने लगा था।इस टीवी इंटरव्यू में बिट्टा कराटे ने सतीश टिक्कू की हत्या का भी जिक्र किया था। उसने यह कबूल किया था सतीश टिक्कू वह पहला शख्स था जिसकी उसने हत्या खी थी। बिट्टा कराटे ने यह कहा कि उसे ऊपर से ऐसा करने के लिए कहा गया था इसलिए उसने सतीश टिक्कू की हत्या की।
2022-10-01 07:10
उद्धरण 2 इमारत
Mehul Choksi : मेहुल चोकसी को मिली बड़ी राहत, डोमिनिका सरकार ने केस वापस लिया******Highlights पीएनबी घोटाले (PNB Scam) का आरोपी और भगोड़े मेहुल चोकसी (Mehul Choksi:) को डोमिनिका की सरकार ने बड़ी राहत देते हुए देश में अवैध रूप से दाखिल होने का मामला वापस ले लिया है। डोमिनिका की पुलिस ने 2021 में चौकसी पर अवैध रूप से दाखिल होने का आरोप लगाया गया था। चोकसी यह साबित करने में कामयाब रहा कि उसे एंटीगुआ और बारबुडा से किडनैप करके डोमिनिका लाया गया था। मेहुल चोकसी ने यह आरोप लगाया था कि उसे उसकी इच्छा के विरुद्ध डोमिनिका लाया गया।चोकसी भारत से फरार होने के बाद 2018 से एंटीगुआ एंड बारबुडा में रह रहा था और अचानक वहां से लापता हो गया था। बाद में उसे अवैध प्रवेश के लिए 23 मई को पड़ोसी देश डोमिनिका में गिरफ्तार किया गया था। मेहुल चोकसी पंजाब नेशनल बैंक में 13,500 करोड़ रुपये के घोटाले का आरोपी है और भारत की जांच एजेंसियों को उसकी तलाश है।अगवा कर डोमिनिका लाने का आरोप लगायाचोकसी ने अपनी दलील में कहा था कि वह एंटीगुआ एंड बारबुडा का नागरिक है जहां उसने अपने प्रत्यर्पण के कदम को चुनौती दी थी। उसने दावा किया कि भारतीय लोगों ने उसे एंटीगुआ एंड बारबुडा से अगवा किया और जबरन डोमिनिका लेकर आए। चोकसी ने दावा किया कि उसने डोमिनिका पुलिस को अपनी परेशानी बतायी थी लेकिन उन्होंने आरोपों की कोई जांच नहीं की।
2022-10-01 04:42
उद्धरण 3 इमारत
IPL 2021 : सीजन-14 के दूसरे भाग में दिल्ली कैपिटल्स के लिए सभी मुकाबले खेलना चाहते हैं एनरिक नॉर्टजे******दिल्ली कैपिटल्स के तेज गेंदबाज एनरिक नॉर्टजे ने कहा है कि वह 19 सितंबर से यूएई में शुरू हो रहे आईपीएल 2021 के दूसरे हाफ में सभी मुकाबलों में खेलना चाहते हैं। नॉर्टजे ने आईपीएल 2020 में दिल्ली के लिए 16 मैचों में 22 विकेट लिए और टीम को टूनार्मेंट के फाइनल में पहुंचने में मदद की।नॉर्टजे ने फ्रैंचाइजी द्वारा जारी एक रीलीज में कहा, ''यह वह जगह थी जहां आईपीएल में मेरे लिए चीजें होने लगी थी। लेकिन मैं इसे इस सीजन को मैच दर मैच खेलना चाहता हूं। आईपीएल के बाद भी बहुत कुछ आ रहा है। हमें कोशिश करनी होगी और याद रखना होगा कि हमने यहां क्या किया। उम्मीद है कि हम यूएई में जो पिछली बार हमने किया उसे दोहरा सकें।''27 साल के नॉर्टजे का मानना है कि आईपीएल 2021 का दूसरा चरण भारत में होने वाले टूर्नामेंट के पहले भाग से बिल्कुल अलग होगा।नॉर्टजे ने कहा, ''एक जगह पर जो काम किया वह दूसरी जगह काम नहीं करेगा इसलिए हमें इसे खेल के हिसाब से लेना होगा। यूएई में आने वाले खेल उन खेलों से पूरी तरह से अलग होने जा रहे हैं जो हमने पहले सीजन में किए थे। टूनार्मेंट के दूसरे चरण में अलग रणनीति। हमें अभी से तैयार रहना होगा।''इसके अलावा नॉर्टजे को लगता है कि यूएई में टी20 विश्व कप से पहले आईपीएल 2021 का दूसरा भाग खेलना निश्चित रूप से मेगा इवेंट में भाग लेने वाले सभी टी20 खिलाड़ियों के लिए एक बड़ा फायदा है।नॉर्टजे ने कहा, ''टी 20 विश्व कप से पहले आईपीएल खेलना निश्चित रूप से एक बड़ा फायदा है। हमारे पास परिस्थितियों के अनुकूल होने और यूएई में यहां विकेटों का पहला अनुभव प्राप्त करने का मौका है। मुझे लगता है कि प्रत्येक टीम जितना संभव हो सके हर चीज का आकलन करना चाहती है, लेकिन सबसे पहले हमें आईपीएल के लिए परिस्थितियों का आकलन करना होगा क्योंकि यह निश्चित रूप से अपने आप में एक बड़ा टूर्नामेंट है।''टेबल टॉपर्स दिल्ली कैपिटल्स आईपीएल 2021 के अपने दूसरे चरण की शुरूआत 22 सितंबर को दुबई में सबसे निचले स्थान पर काबिज सनराइजर्स हैदराबाद से करेगी।
वापसी