नई पोस्ट करें

Neeraj Chopra: वर्ल्ड चैंपियनशिप में इतिहास रचने पर नीरज चोपड़ा की नजर, दबाव से दूर रहना चैंपियन एथलीट का टारगेट

2022-10-01 06:13:38 569

वर्ल्डचैंपियनशिपमेंइतिहासरचनेपरनीरजचोपड़ाकीनजरदबावसेदूररहनाचैंपियनएथलीटकाटारगेटमोदी राज में दोगुना से ज्यादा बढ़ी डेबिट कार्ड धारकों की संख्या, क्रेडिट कार्ड की संख्या में 80% का उछाल****** प्रधानमंत्री के कार्यकाल में देश की बैंकिंग व्यवस्था में तेजी से सुधार हुआ है और देश में का इस्तेमाल करने वालों की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हुई है। इसके अलावा की संख्या में करी 26 प्रतिशत औरमशीनों (POS) की संख्या में 177 प्रतिशत की जोरदार बढ़ोतरी दर्ज की गई है। प्रधानमंत्री मोदी ने मई 2014 के दौरान प्रधानमंत्री पद की शपथ ली थी, (RBI) के आंकड़ों के मुताबिक मई 2014 के दौरान देश में ATM मशीनों की संख्या 1,64,491 थी जो नवंबर 2017 में 2,06,703 दर्ज की गई है। इसी तरह मई 2014 में प्वाइंट ऑफ सेल मशीनों की संख्या सिर्फ 10,65,599 थी जो नवंबर 2017 में बढ़कर 29,98,733 तक पहुंच गई है।RBI के आंकड़ों के मुताबिक मई 2014 के दौरान देश में कुल क्रेडिट कार्ड की संख्या 1,93,91,187 थी लेकिन पिछले साल नवंबर में यह आंकड़ा 3,47,75,605 तक पहुंच गया है। देश में सबसे ज्यादा क्रेडिट कार्ड देश के सबसे बड़े बैंक HDFC के हैं, नवंबर 2017 में के क्रेडिट कार्ड की संख्या 99,76,842 दर्ज की गई है। इसके बाद सबसे बड़े सरकारी बैंक का स्थान है, नवंबर 2017 में SBI के क्रेडिट कार्ड धारकों की संख्या 56,41,724 दर्ज की गई है। इसके बाद एक्सिज बैंक और आईसीआईसीआई बैंक का स्थान है।RBI के आंकड़ों के मुताबिक मई 2014 से लेकर नवंबर 2017 तक देश में डेबिट कार्ड धारकों की संख्या में दोगुना से ज्यादा का इजाफा हुआ है। मई 2017 के दौरान देश में सिर्फ 40,17,22,424 डेबिट कार्ड धारक थे लेकिन नवंबर 2017 में यह आंकड़ा 83,28,88,354 तक पहुंच चुका है।

वर्ल्डचैंपियनशिपमेंइतिहासरचनेपरनीरजचोपड़ाकीनजरदबावसेदूररहनाचैंपियनएथलीटकाटारगेटसात साल की सानवी नेगी ने टाइगर श्रॉफ को दी मात, 33 सेकंड में 52 बैकफ्लिप कर बनाया विश्व रिकॉर्ड******बॉलीवुड अभिनेता टाइगर श्रॉफ को 7 वर्षीय 'डीआईडी लिटिल मास्टर्स 5' की प्रतियोगी सानवी नेगी ने बैकफ्लिप चैलेंज में हरा दिया। उसने टाइगर को बैकफ्लिप चैलेंज में उसके खिलाफ कम्पटीशन करने के लिए चुनौती दी। सानवी ने 33 सेकंड में 52 बैकफ्लिप करने के बाद सबसे तेज बैकफ्लिप करने का विश्व रिकॉर्ड बनाया है। ने बताया, "सानवी को बैकफ्लिप करते देखना रोमांचक था। मेरा व्यक्तिगत रूप से मानना है कि लगातार बैकफ्लिप करने के लिए पर्याप्त आत्मविश्वास होने के लिए बहुत अभ्यास करना पड़ता है और वह पहले से ही इस कम उम्र में एक रिकॉर्ड रखती है। मैंने उसके साथ कम्पटीशन करने की कोशिश की, लेकिन मेरे पास अपनी हार स्वीकार करने के अलावा कोई विकल्प नहीं था। वह वास्तव में अद्भुत है।"इसके साथ ही 'डीआईडी लिटिल मास्टर्स 5' में दिवंगत किशोर कुमार की पत्नी लीना चंद्रवरकर विशेष अतिथि के रूप में दिखाई दीं।दिग्गज अभिनेत्री लीना चंद्रवरकर ने 'डीआईडी लिटिल मास्टर्स 5' में बताया कि किस तरह दिवंगत किशोर कुमार ने उन्हें पहली बार मिलने का प्रस्ताव दिया था, लेकिन उन्होंने इसे ठुकरा दिया था।लीना लोकप्रिय पाश्र्व गायक सुदेश भोसले के साथ एक विशेष अतिथि के रूप में दिखाई दीं। जब होस्ट जय भानुशाली ने दिवंगत गायक की पत्नी से उनकी प्रेम कहानी के बारे में पूछा तो लीना ने बताया कि उन्होंने किशोर कुमार से मिलने का प्रस्ताव ठुकरा दिया था। फिर एक रात जब उनके पिता ने उन्हें मुसीबत कहा तो उन्होंने अपना घर छोड़ने का फैसला कर लिया। उन्होंने किशोर कुमार का नंबर डायल किया और उनसे पूछा कि क्या वह उनसे शादी करना चाहेंगे।'डीआईडी लिटिल मास्टर्स' जी टीवी पर प्रसारित होता है।वर्ल्डचैंपियनशिपमेंइतिहासरचनेपरनीरजचोपड़ाकीनजरदबावसेदूररहनाचैंपियनएथलीटकाटारगेटMaharashtra: 'शिवसेना सिर्फ बाबा ठाकरे की, इसे पैसों के जरिए हाईजैक नहीं कर सकते' - संजय राउत******Highlightsमहाराष्ट्र में सत्ता गंवाने के बाद शिवसेना नेता और राज्यसभा सांसद संजय राउत का बड़ा बयान सामने आया है। संजय राउत ने कहा है कि चुनावों में उनकी पार्टी महाराष्ट्र में अपने दम पर 100 सीटें जीतेगी। उन्होंने कहा, "मुझे उम्मीद है शिवसेना 100 सीटें जीतेगी। उद्धव ठाकरे ने कहा है कि राज्य में मध्यावधि चुनाव होने दें, स्पष्ट हो जाएगा कि कौन जीतता है और कौन हारता है।"संजय राउत ने कहा कि, ‘शिवसेना बाबा ठाकरे की है। किसी और की नहीं हो सकती। आप इसे पैसों के जरिए हाईजैक नहीं कर सकते। उन्होंने कहा, "हमें अब भी उम्मीद है कि ये विधायक लौट आएंगे। बागियों से हमारी हमेशा बातचीत होती थी। ये हमारे लोग हैं, वापस आएंगे। सुबह का भूला अगर शाम को घर आ जाए तो उसे भूला नहीं कहते।" आपको बता दें कि शिवसेना के कई विधायकों ने एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में आलाकमान के खिलाफ बगावत कर दी थी। जिसके बाद उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र की महाविकास अघाड़ी सरकार को सत्ता से बेदखल होना पड़ा था।वहीं महाराष्ट्र में हुए तख्तापलट को गलत बताते हुए टीएमसी प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि, शिवसेना के बागी विधायकों को सिर्फ पैसा ही नहीं बल्कि कुछ और भी दिया गया। जब यह ‘कुछ’ सामने आएगा तो बड़ा खुलासा होगा।’गौरतलब है कि 21 जून को एमएलसी चुनावों के बाद महाराष्ट्र में राजनीतिक भूचाल आया हुआ था। शिवसेना के कई विधायकों ने एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में उद्धव ठाकरे के खिलाफ बगावत कर दी थी। वे शिंदे के साथ सबसे पहले 22 जून को सूरत पहुंचे। यहां से सभी विधायक गुवाहाटी चले गए। इसके बाद एक-एक करके शिवसेना के 40 से अधिक विधायक शिंदे गुट के साथ हो गए। इस तरह उद्धव ठाकरे के पास सिर्फ 16 विधायक बचे। एकनाथ शिंदे गुट के विधायकों ने महाविकास अघाड़ी सरकार से समर्थन वापस ले लिया। इस दौरान सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद फ्लोर टेस्ट से पहले ही मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने इस्तीफा दे दिया था। जिसके बाद शिंदे गुट ने भाजपा के साथ मिलकर महाराष्ट्र में नई सरकार का गठन किया। एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री बने, जबकि पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को उपमुख्यमंत्री बनाया गया।

Neeraj Chopra: वर्ल्ड चैंपियनशिप में इतिहास रचने पर नीरज चोपड़ा की नजर, दबाव से दूर रहना चैंपियन एथलीट का टारगेट

वर्ल्डचैंपियनशिपमेंइतिहासरचनेपरनीरजचोपड़ाकीनजरदबावसेदूररहनाचैंपियनएथलीटकाटारगेटऑटो सेक्टर में मांग नहीं सुधरी तो डीलर कर सकते हैं बड़ी संख्या में छंटनी: एसोसिएशन******Corona Crisisनई दिल्ली। वाहन डीलरों के संगठन फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (फाडा) ने आशंका जताई है कि कोरोना वायरस महामारी की वजह से डीलरों के स्तर पर बड़े पैमाने पर नौकरियां जा सकती हैं। फाडा का मानना है कि डीलरों के स्तर पर काम करने वालों को बड़ी संख्या में रोजगार से हाथ धोना पड़ सकता है। यह स्थिति पिछले साल से अधिक बुरी होने वाली है जबकि वाहन बाजार में लंबे समय तक जारी सुस्ती की वजह से करीब दो लाख लोगों को नौकरी गंवानी पड़ी थी।फाडा ने हालांकि, कहा कि इस बारे में सही तस्वीर इस महीने के अंत तक उभरकर सामने आएगी। उस समय एसोसिएशन एक सर्वे कराएगी जिससे पता चलेगा कि उसके डीलर सदस्य अपने आउटलेट्स और श्रमबल में कमी को लेकर क्या योजना बना रहे हैं। यह पूछे जाने पर कि क्या इस बात की आशंका है कि डीलरशिप में कोविड-19 के प्रभाव की वजह से 2019 की तुलना में अधिक नौकरियां जा सकती हैं, फाडा के अध्यक्ष हर्षराज काले ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘यदि मांग नहीं सुधरती है, तो निश्चित रूप से ऐसा होगा।’’ बिक्री में भारी गिरावट के बीच पिछले साल मई से जून के दौरान देश भर में वाहन डीलरशिप द्वारा करीब दो लाख नौकरियों की कटौती की गई थी। हालांकि, काले ने इसके साथ ही कहा कि कोविड-19 की वजह से किस तरह की नौकिरयों में कमी आएगी, इसकी स्पष्ट तस्वीर इस महीने के अंत तक ही सामने आएगी।अप्रैल और मई में पूरी तरह लॉकडाउन रहा, ऐसे में आप यह अंदाजा नहीं लगा सकते कि मांग की स्थिति अब क्या रहेगी। उन्होंने कहा कि जून के अंत तक ही यह पता चलेगा कि इस महामारी ने अर्थव्यवस्था को कितनी चोट पहुंचाई है। कौन सा बाजार क्षेत्र, शहरी और ग्रामीण में से, अधिक प्रभावित हुआ है। या फिर दोनों पर असर पड़ा है। साथ ही यह भी पता चलेगा कि उच्च वर्ग या मध्यम वर्ग पर कोविड-19 की मार अधिक पड़ी है।वर्ल्डचैंपियनशिपमेंइतिहासरचनेपरनीरजचोपड़ाकीनजरदबावसेदूररहनाचैंपियनएथलीटकाटारगेटमहामारी की दूसरी लहर का असर दिखा कमजोर, जनवरी-जून में 8 प्रमुख शहरों में घरों की बिक्री 67% बढ़ी******Housing sales up 67pc in 8 cities during Jan-Juneअचल संपत्ति बाजार अनुसंधान एवं परामर्श कंपनी नाइट फ्रैंक इंडिया की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक कोविड-19 की दूसरी लहर के बावजूद देश के प्रमुख आठ शहरों में जनवरी-जून अवधि के दौरान घ्‍ज्ञरों की बिक्री में 67 प्रतिशत का उछाला देखने को मिला है। छह माह में कुल 99,416 घरों की बिक्री हुई, जिसमें सबसे ज्‍यादा मांग मुंबई और पुणे में दर्ज की गई। वहीं दिल्ली-राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में घरों की बिक्री सालाना आधार पर 111 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 11,474 इकाई रही। पिछले साल यह संख्या 5,446 थी। नाइट फ्रैंक इंडिया ने आठ शहरों- मुंबई महानगरीय क्षेत्र (एमएमआर), दिल्ली-एनसीआर, कोलकाता, चेन्नई, बेंगलुरु, हैदराबाद, पुणे और अहमदाबाद के लिए अपनी रिपोर्ट इंडिया रियल एस्टेट- रेजिडेंशियल, जनवरी-जून 2021 जारी की। रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली-एनसीआर में 2021 कैलेंडर वर्ष की पहली छमाही में की पेशकश भी 2020 के 1,422 इकाइयों से 107 प्रतिशत बढ़कर 2,943 इकाई हो गई।नाइट फ्रैंक इंडिया के कार्यकारी निदेशक (उत्तर) मुदस्सीर जैदी ने कहा कि दिल्ली एनसीआर के घरों के बाजार को महामारी की पहली लहर के दुष्परिणामों का प्रभाव झेलना पड़ा था क्योंकि सब जगह अनिश्चितता छाई हुई थी। रिपोर्ट के अनुसार डेवलपर्स द्वारा कम ब्याज दरों के साथ भुगतान विकल्पों में लचीलापन, और घरों की स्थिर कीमतें जैसी प्रोत्साहन योजनाओं ने लोगों की घर खरीदने की भावना को दोबारा प्रेरित किया।नाइटफ्रैंक की रिपोर्ट के अनुसार एनसीआर में विशेष रुप से 2020 की पहली तिमाही और 2020 चौथी तिमाही के दौरान घरों की बिक्री में पुनरुत्थान दिखाई देना शुरु हुआ और यह रुझान 2021 की पहली तिमाही में भी जारी रहा। एनसीआर में मूल्य श्रेणी के हिसाब से 2021 की पहली छमाही के दौरान एनसीआर में 1 करोड़ रुपये से ज़्यादा मूल्य के घरों की बिक्री की संख्या सबसे ज़्यादा रही। कुल बिक्री में इस श्रेणी के मकानों का हिस्सा 2020 की पहली छमाही के 28 प्रतिशत की तुलना में 39 प्रतिशत रहा। इसी तरह 50 लाख रुपये से कम कीमत वाले घरों का हिस्सा 36 प्रतिशत रहा, जो 2020 की पहली छमाही में 41 प्रतिशत था।50 लाख रुपये और 1 करोड़ रुपये के बीच की कीमत वाले घरों की बिक्री का हिस्सा 2021 की पहली छमाही में घटकर 25 प्रतिशत हो गया, जो साल 2020 की पहली छमाही में 31 प्रतिशत था। रिपोर्ट के मुताबिक इस दौरान संख्या के हिसाब से गुरुग्राम में नए घरों की बिक्री में उल्लेखनीय सुधार देखा गया। कुल बिक्री में इसकी हिस्सेदारी साल 2020 की पहली छमाही में 27 प्रतिशत से बढ़कर 2021 की पहली छमाही में 32 प्रतिशत हो गई। कुल बिक्री में ग्रेटर नोएडा क्षेत्र की स्थिति 34 प्रतिशत हिस्सेदारी के साथ अपने पहले के स्तर पर बनी रही। इस दौरान नोएडा की हिस्सेदारी में गिरावट देखी गई, जो साल 2020 की पहली छमाही के 18 प्रतिशत से घटकर 2021 की पहली छमाही में 15 प्रतिशत रही।वर्ल्डचैंपियनशिपमेंइतिहासरचनेपरनीरजचोपड़ाकीनजरदबावसेदूररहनाचैंपियनएथलीटकाटारगेटPM Modi Letter: मुस्लिम देश UAE के राष्ट्रपति को प्रधानमंत्री मोदी ने भेजी ये खास 'चिट्ठी', जानिए आखिर क्या बातें कहीं******Highlightsप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुस्लिम देश संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के राष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान को एक चिट्ठी लिखकर दोनों देशों के बीच रणनीतिक संबंधों को मजबूत बनाने और साझा हितों की पूर्ति के लिए उन्हें विकसित करने की संभावनाएं तलाशने पर जोर दिया है। यूएई के आधिकारिक मीडिया ने यह जानकारी दी। प्रधानमंत्री मोदी की यह चिट्ठी विदेश मंत्री एस जयशंकर ने यूएई के राष्ट्रपति को उस समय सौंपी, जब उन्होंने शुक्रवार को खाड़ी देश की अपनी यात्रा के दौरान दुबंई में उनसे मुलाकात की थी।जयशंकर इस सप्ताह यूएई-भारत संयुक्त समिति के 14वें सत्र और यूएई-भारत सामरिक वार्ता के तीसरे सत्र की बैठकों में हिस्सा लेने के लिए संयुक्त अरब अमीरात में थे। यूएई की आधिकारिक समाचार एजेंसी ‘डब्ल्यूएएम’ ने बताया कि चिट्ठी दोनों देशों के बीच रणनीतिक संबंधों को मजबूत बनाने और साझा हितों की पूर्ति के लिए इन्हें विकसित करने की संभावनाएं तलाशने से संबंधित है। ‘डब्ल्यूएएम’ के मुताबिक, बैठक के दौरान दोनों पक्षों ने द्विपक्षीय संबंधों के विभिन्न पहलुओं और व्यापक रणनीतिक साझेदारी और यूएई-भारत व्यापक आर्थिक भागीदारी समझौते (सीईपीए) के ढांचे के भीतर आपसी रिश्ते को आगे बढ़ाने के लिए सहयोग के महत्व पर चर्चा की है।इसके अलावा उन्होंने आपसी चिंता के कई क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर भी बातचीत की। जयशंकर ने शुक्रवार को एक ट्वीट में कहा, ‘मेरी आवभगत के लिए राष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान को धन्यवाद। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की व्यक्तिगत बधाई और हार्दिक शुभकामनाओं से राष्ट्रपति को अवगत कराया। हमारी व्यापक रणनीतिक साझेदारी को अधिक ऊंचाइयों पर ले जाने में उनके मार्गदर्शन को हम अत्यंत महत्व देते हैं।’वित्त वर्ष 2021-22 में दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय व्यापार करीब 72 अरब अमेरिकी डॉलर का था। यूएई भारत का तीसरा सबसे बड़ा व्यापार भागीदार और दूसरा सबसे बड़ा निर्यात गंतव्य है। भारत में यूएई से प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) पिछले कुछ वर्षों में लगातार बढ़ा है और वर्तमान में यह 12 अरब अमेरिकी डॉलर से अधिक है। भारतीय प्रवासी समुदाय यूएई में सबसे बड़ा जातीय समुदाय है, जो देश की आबादी का लगभग 35 प्रतिशत है।वर्ष 2020-21 के लिए लगभग 16 अरब अमेरिकी डॉलर की राशि के साथ यूएई (अमेरिका और चीन के बाद) भारत का तीसरा सबसे बड़ा निर्यात गंतव्य रहा। यूएई के संबंध में भारत वर्ष 2020 में लगभग 27.93 अरब अमेरीकी डॉलर के गैर-तेल व्यापार के साथ तीसरा सबसे बड़ा व्यापारिक भागीदार देश बनकर उभरा है।

Neeraj Chopra: वर्ल्ड चैंपियनशिप में इतिहास रचने पर नीरज चोपड़ा की नजर, दबाव से दूर रहना चैंपियन एथलीट का टारगेट

वर्ल्डचैंपियनशिपमेंइतिहासरचनेपरनीरजचोपड़ाकीनजरदबावसेदूररहनाचैंपियनएथलीटकाटारगेटBollywood Wrap: कमाल आर खान आपत्तिजनक ट्वीट के कारण गिरफ्तार, शिल्पा शेट्टी ने धूमधाम से किया बप्पा का स्वागत****** बड़े पर्दे से लेकर छोटे पर्दे तक की हर जानकारी पर लोगों की नज़र रहती है। एंटरटेनमेंट और गॉसिप की दुनिया पर लोगों की पैनी नज़रे रहती हैं। क्योंकि यहां हर पल कुछ नया होता ही रहता है। ऐसे में टीवी जगत हो या बॉलीवुड दोनों इंडस्ट्री की सारी बड़ी खबरें लेकर हम आपके सामने आए हैं। चलिए जानते हैं आज की 5 बड़ी खबरों के बारे में... टीवी शो 'अनुपमा' (Anupamaa) बीते दो साल से TRP का बादशाह बना हुआ है। इस शो में रूपाली गांगुली (Rupali Ganguly), गौरव खन्ना (Gaurav Khanna) और सुधांशु पांडे (Sudhanshu Pandey) मुख्य किरदार निभा रहे हैं। शो में अनुपमा और अनुज कपाड़िया की केमिस्ट्री फैन्स को खूब पसंद आती है। इसी बीच अब वह पल आ चुका है जिसका लोगों को कई महीनों से इंतजार था। शो में आज यानी मंगलवार के एपिसोड में किंजल की डिलीवरी होने वाली है। लेकिन इस खुशी के आते ही शाह परिवार में बहुत कुछ बदल गया है। दादा-दादी बनते ही अनुपमा और वनराज के बीच कुछ ऐसा होने वाला है जिसे देखकर अनुज कपाड़िया को जलन होगी। बॉलीवुड फिल्मों और फिल्मी सितारों पर सवाल उठाने वाले, उन पर विवादित बयान देने वाले और हर बार अजीब रिव्यू देकर सुर्खियां बटोरने वाले फिल्म क्रिटिक कमाल आर खान (KRK) एक बार फिर सुर्खियों में हैं। इस बार वह किसी रिव्यू के कारण नहीं बल्कि पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद चर्चा में हैं। जी हां! केआरके को मलाड पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। विवादों में रहने वाले KRK के खिलाफ मलाड पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज की गई थी, जिसके बाद उन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। कमाल ने 2020 में एक नामचीन व्यक्ति पर आपत्तिजनक ट्वीट किया था। जिसके बाद मलाड पुलिस स्टेशन में FIR दर्ज कराई गई थी।पंजाबी फिल्म उद्योग में खुद को स्थापित कर चुकीं अभिनेत्री सरगुन मेहता (Sargun Mehta) अक्षय कुमार (Akshay Kumar), रकुल प्रीत सिंह (Rakul Preet Singh), चंद्रचूण सिंह के साथ 'कठपुतली' (Cuttputlli) में नजर आएंगी। रंजीत तिवारी के निर्देशन में बनी यह सरगुन की ओटीटी डेब्यू होगी। सरगुन ने इस बारे में बताया है कि वह सात साल के लंबे गेप के बाद एक हिंदी प्रोजेक्ट कर रही हैं। सरगुन मेहता (Sargun Mehta) कहती हैं, "मैं अपनी ओटीटी पारी शुरू करने और सात साल के लंबे अंतराल के बाद हिंदी में कुछ करने के लिए बहुत उत्साहित हूं। बॉलीवुड एक्ट्रेस और एक्स मिस यूनिवर्स सुष्मिता सेन इन दिनों अपनी पर्सनल लाइफ को लेकर खूब सुर्खिया बटोर रही हैं। दरअसल, आईपीएल के पूर्व चेयरमैन ललित मोदी ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट से लोगों को जानकारी दी थी कि वह सुष्मिता सेन को डेट कर रहे हैं। जिसके बाद से ही दोनों को लेकर लोग कई तरह की चर्चा कर रहे हैं। फिलहाल, सुष्मिता सेन एक बार फिर से अपने रिश्ते को लेकर सुर्ख़ियों में हैं। इस बार वह अपने एक्स बॉयफ्रेंड रोहमन शॉल के साथ नजर आई हैं। इस दौरान उनके साथ उनकी बेटी रिनी सेन भी थी। सुष्मिता सेन और रोहमन शॉल का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। अभी कुछ दिन पहले सुष्मिता की माँ के जन्मदिन के मौके पर भी रोहमन को उनके घर पर देखा गया था।शिल्पा शेट्टी ने हर साल की तरह इस साल भी अपने घर पर गणपति का स्वागत किया। बता दें शिल्पा ने अपने टूटे हुए पैर के साथ खूब धूमधाम से स्वागत किया बप्पा के स्वागत में कोई कसर नहीं छोड़ी। शिल्पा शेट्टी की भगवान में गहरी आस्था है और ये एक्ट्रेस हमेशा ही पूजा करती दिखाई देती है। शिल्पा शेट्टी हर साल गणेश जी को अपने घर लाकर आती हैं उनकी सेवा करती हैं और फिर धूमधाम के साथ विसर्जन करती हैं। बता दें शिल्पा शेट्टी ने हाल ही में रोहित शेट्टी की पुलिस ड्रामा ‘इंडियन पुलिस फोर्स’ की शूटिंग के दौरान खुद को घायल कर लिया था।वर्ल्डचैंपियनशिपमेंइतिहासरचनेपरनीरजचोपड़ाकीनजरदबावसेदूररहनाचैंपियनएथलीटकाटारगेटबाबर आजम और मोहम्मद रिजवान ने की शिखर धवन और डेविड वार्नर की बराबरी, जानिए कैसे******Highlightsपाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही तीन टी20 सीरीज का दूसरा मैच पाकिस्तान ने जीत लिया है। पहला मैच जीतकर इंग्लैंड ने सीरीज में लीड बनाई थी, लेकिन पाकिस्तान ने पलटवार कर सीरीज को बराबरी पर ला दिया है। सीरीज में कुल मिलाकर सात मैच खेले जाने हैं। सीरीज के इस दूसरे मैच में सबसे ज्यादा चर्चा पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम की हो रही है, जो आउट ऑफ फार्म चल रहे थे, लेकिन इस मैच में न केवल वे फार्म में लौटे, बल्कि शानदार शतक भी जड़ दिया। बाबर आजम का ये टी20 इंटरनेशनल में दूसरा शतक है। कप्तान बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान के बीच पहले विकेट के लिए 200 रन की साझेदारी हुई। इस पार्टनरशिप के साथ ही बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान की जोड़ी ने भारत के शिखर धवन और डेविड वार्नर की बराबरी कर ली हैंटी20 क्रिकेट में अब तक सबसे ज्यादा शतकीय साझेदारी का रिकॉर्ड आईपीएल में सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेलने वाले शिखर धवन और डेविड वार्नर के नाम पर है। इन दोनों ने मिलकर छह बार 100 रन से ज्यादा की साझेदारी की है। शिखर धवन और डेविड वार्नर इस दौरान 2280 रन बनाए हैं और औसत 47.23 का है। ये छह शतकीय साझेदारी उन्होंने कुल मिलाकर 48 मैचों में पूरी की थी। वहीं अगर बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान की बात करें तो इन्होंने 31 पारियों में ही छह शतकीय पार्टनरशिप जोड़ दी हैं। इस दौरान इन दोनों ने 1621 रन बनाए हैं और इनका औसत 55.89 का है। सीरीज के दूसरे ही मैच में कप्तान बाबर आजम फार्म में आ गए हैं, अगर उनका ये फार्म इसी तरह से जारी रहा तो ये पक्का है कि इंग्लैंड की टीम के लिए आने वाले मैचों में वे और भी ज्यादा मुश्किल खड़ी करेंगे।पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच खेले गए दूसरे मैच की बात की जाए तो इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 199 रन बनाए थे और पाकिस्तान के सामने 200 रनों का टारगेट रख दिया था। इंग्लैंड की ओर से कप्तान मोईन अली ने 23 गेंदों पर 55 रन बनाए, जो टीम की ओर से सर्वश्रेष्ठ स्कोर है। पाकिस्तान की ओर से बतौर सलामी बल्लेबाज मैदान में उतरे बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान ने आते ही हमला बोल दिया। खासतौर पर रिजवान ज्यादा आक्रामक नजर आ रहे थे। लेकिन जैसे ही बाबर आजम के बल्ले के बीच में गेंद आनी शुरू हुई तो वे भी तेजी से रन बनाने में जुट गए। दोनों ने मिलकर इंग्लैंड के बल्लेबाजों की खूब धुनाई की। पाकिस्तान का एक भी विकेट नहीं गिरा और टीम ने तीन गेंद शेष रहते ही दिया गया टारगेट हासिल कर लिया और सीरीज में भी बराबरी कर ली।

Neeraj Chopra: वर्ल्ड चैंपियनशिप में इतिहास रचने पर नीरज चोपड़ा की नजर, दबाव से दूर रहना चैंपियन एथलीट का टारगेट

वर्ल्डचैंपियनशिपमेंइतिहासरचनेपरनीरजचोपड़ाकीनजरदबावसेदूररहनाचैंपियनएथलीटकाटारगेटRam temple garbhagriha darshan: अयोध्या में राम मंदिर के गर्भगृह में जनवरी 2024 से दर्शन कर सकेंगे श्रद्धालु: चंपत राय******Highlights: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं गोरक्षपीठ के महंत योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने बुधवार को राम मंदिर के पवित्र गर्भगृह का शिलापूजन किया। उन्होंने कहा कि यह मंदिर ‘राष्ट्र मंदिर’ और लोगों की आस्था का प्रतीक होगा। योगी ने कहा कि मंदिर निर्माण का कार्य पूरी गति से आगे बढ़ेगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्याथ ने गर्भगृह (Ram Mandir Garbhgriha) की आधारशिला रखी, और गर्भगृह में 9 स्थानों पर कुल 22 शिलायें रखी गई हैं। अब इन शिलाओ के ऊपर ही मंदिर का निर्माण होगा।श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने इंडिया टीवी से कहा कि 14 जनवरी 2024 को मकर संक्रांति पर भक्त गर्भगृह में भगवान राम के दर्शन कर सकेंगे। बुधवार को मुख्यमत्री योगी ने जिन शिलाओं से गर्भगृह में काम शुरू किया, वे पिंक सैंडस्टोन की हैं जो राजस्थान के भरतपुर की बंसी पहाड़पुर से आई हैं। इन पत्थरों पर राजस्थान की सुंदर नक्काशी की जा रही है। साथ मे अयोध्या में 1990 से मंदिर के लिये पत्थर तराशने का काम चल रहा है। मंदिर में करीब 4.70 लाख क्यूबिक फीट नक्काशीदार सेंडस्टोन का इस्तेमाल होगा।

वर्ल्डचैंपियनशिपमेंइतिहासरचनेपरनीरजचोपड़ाकीनजरदबावसेदूररहनाचैंपियनएथलीटकाटारगेट1 सितंबर 2019 से बदल जाएंगे ये सब नियम, कहीं होगा फायदा तो कहीं होगा नुकसान, देखिए लिस्ट******many rules change from 1st September 2019 एक सितंबर 2019 यानी रविवार से देश में कई नियम बदल जाएंगे। जिसका सीधा असर हमारी जेब पर पड़ेगा। सितंबर महीने से , , , टैक्स, और से जुड़े कई नियमों में बदलाव होने जा रहा है। इनमें से कुछ आपको राहत देंगे तो कुछ आपकी सेविंग्स से होने वाले फायदे को कम करेंगे। ई-वॉलेट के लिए केवाईसी भी कराना जरूरी है, नहीं तो आपका ई-वॉलेट बंद कर दिया जाएगा। साथ ही ऑनलाइनरेल टिकट करना भी आपके लिए महंगा होने जा रहा है। आप भी एक नजर में जानिए 1 सितंबर से होने वाले खास बदलावों की पूरी लिस्ट।वर्ल्डचैंपियनशिपमेंइतिहासरचनेपरनीरजचोपड़ाकीनजरदबावसेदूररहनाचैंपियनएथलीटकाटारगेटNitish Kumar Oath Ceremony: नीतीश कुमार ने 8वीं बार बिहार के CM पद की शपथ ली, तेजस्वी यादव बने डिप्टी सीएम******Highlightsजेडीयू नेता नीतीश कुमार ने 8वीं बार बिहार के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली है। बिहार के राज्यपाल फागू चौहान ने नीतीश कुमार को राजभवन में बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई। वहीं आरजेडी नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने बिहार के उपमुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली है।बिहार के 8वीं बार सीएम बनने के बाद नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने पीएम मोदी (PM Modi)पर बड़ा हमला बोला। नीतीश (Nitish Kumar) ने कहा कि हम रहें या ना रहें, मोदी 2024 में नहीं रहेंगे। जो 2014 में आए वो 2024 में नहीं रहेंगे। उन्होंने कहा कि आप हमारी पार्टी के लोगों से पूछ लीजिए कि सबकी क्या स्थिति हुई। मैं मुख्यमंत्री (2020 में) बनना नहीं चाहता था। लेकिन मुझे दवाब दिया गया कि आप संभालिए। बाद के दिनों में जो कुछ भी हो रहा था, सब देख रहे थे। हमारी पार्टी के लोगों के कहने पर हम अलग हुए।बिहार की पूर्व सीएम रावड़ी देवी ने क्या कहा? तेजस्वी ने छुए नीतीश के पैरबिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने कहा कि बिहार की जनता के लिए बहुत अच्छा हुआ है। मैं जनता को धन्यवाद देती हूं। सब बहुत खुश हैं। उपमुख्यमंत्री बनने के बाद तेजस्वी यादव ने मां रावड़ी के पैर छूकर आशीर्वादलिया। इस दौरान रावड़ी काफी खुश नजर आईं।तेजस्वी यादव ने इस मौके पर सीएम नीतीश कुमार के भी पैर छूकर उनका आशीर्वाद लिया। इस बात की चारों तरफ काफी चर्चा भी रही कि तेजस्वी ने नीतीश कुमार के पैर छुए। ऐसा इसलिए भी हो रहा था क्योंकि एक दौर में आरजेडी और जेडीयू के रिश्ते बहुत खराब हो गए थे।सुशील मोदी ने नीतीश कुमार पर लगाया झूठ बोलने का आरोपबिहार बीजेपी नेता सुशील मोदी ने नीतीश कुमार (Nitish Kumar) पर हमला बोला है। सुशील ने कहा कि नीतीश कुमार सफेद झूठ बोल रहे हैं। जेडीयू के कहने पर आरसीपी को मंत्री बनाया गया। जिस पार्टी ने पांच बार नीतीश कुमार (Nitish Kumar) को मुख्यमंत्री बनाया, उसको उन्होंने धोखा दिया। 2020 में नरेंद्र मोदी के नाम पर जनादेश मिला। जब लगा कि स्थिति ठीक नहीं है तो नरेंद्र मोदी ने एक-एक दिन में कई रैलियां की और जान लगा दी। ये बिहार की जनता के साथ विश्वासघात है। बिहार के पिछड़े समाज के साथ विश्वासघात किया गया है।

वर्ल्डचैंपियनशिपमेंइतिहासरचनेपरनीरजचोपड़ाकीनजरदबावसेदूररहनाचैंपियनएथलीटकाटारगेटMaharashtra Cabinet Expansion: महाराष्ट्र में कैबिनेट विस्तार, सुप्रिया सुले ने BJP पर कसा तंज, विपक्षी नेताओं ने दी ये प्रतिक्रिया******Highlightsमहाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के 41 दिन बाद एकनाथ शिंदे ने अपने मंत्रिमंडल का विस्तार किया। बीजेपी से 9 और शिंदे गुट की शिवसेना से 9 विधायकों को मंत्री पद की शपथ दिलाई गई। हालांकि, इस मंत्रिमंडल में एक भी महिला को जगह नहीं दी गई। इसे लेकर सुप्रिया सुले ने प्रतिक्रिया जाहिर की है। साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक ट्वीट को शेयर करते हुए निशाना साधा है।सुप्रिया सुले ने कहा, "महिलाओं को आरक्षण देने वाला महाराष्ट्र देश का पहला राज्य था। दुर्भाग्य की बात है कि राज्य मंत्रिमंडल में 18 मंत्री हैं, लेकिन एक भी महिला नहीं। देश में 50% आबादी महिलाओं की है, लेकिन इस कैबिनेट में उनका प्रतिनिधित्व नहीं है। यह बीजेपी की मानसिकता को दर्शाता है।"एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले ने पीएम मोदी के ट्वीट को शेयर करते हुए सवाल किया, "पीएम कहते हैं कि देश के विकास के लिए महिला सशक्तिकरण जरूरी है। इसके लिए उन्हें सिर्फ 'होम मेकर' नहीं, बल्कि 'राष्ट्र निर्माता' होना चाहिए।" सुप्रिया सुले ने कहा कि यह राज्य की नारी शक्ति के साथ अन्याय है।विधानसभा में विपक्ष के नेता अजीत पवार ने भी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने अपने एक बयान में कहा, "आखिरकार इतने दिन बाद शपथ लेने के बाद महाराष्ट्र को कैबिनेट मिल गया, लेकिन अच्छा होता कि जिन लोगों को अभी तक क्लीन चिट नहीं मिली है, उन्हें कैबिनेट में शामिल नहीं किया जाता।"कैबिनेट विस्तार में किसी महिला को मंत्री पद की शपथ नहीं दिलाई गई, इसे लेकर शिंदे गुट के चीफ व्हिप भरत गोगावले का कहना है कि कैबिनेट विस्तार का यह पहला चरण है, इंतजार कीजिए, आगे महिलाओं को भी जगह दी जाएगी। हालांकि, इसे लेकर बीजेपी ने अभी प्रतिक्रिया नहीं दी है।गौरतलब है कि बीजेपी की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल समेत 18 विधायकों ने दक्षिण मुंबई में राज भवन में कैबिनेट मंत्री के तौर पर शपथ ली। इसके साथ ही महाराष्ट्र के मंत्रिमंडल में सदस्यों की संख्या अब 20 हो गई है, जो अधिकतम 43 सदस्यों की संख्या से आधी से भी कम है। एकनाथ शिंदे ने 30 जून को मुख्यमंत्री और देवेंद्र फडणवीस ने उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी।बीजेपी की ओर से मंत्रिमंडल में शामिल सदस्यों में राधाकृष्ण विखे पाटिल, सुधीर मुन्गंतीवार, चंद्रकांत पाटिल, विजयकुमार गावित, गिरीश महाजन, सुरेश खडे, रवींद्र चह्वाण, अतुल सावे और मंगलप्रभात लोढा शामिल हैं। शिंदे गुट से मंत्री पद की शपथ लेने वाले सदस्यों में गुलाबराव पाटिल, दादा भुसे, संजय राठौड़, संदीप भुमरे, उदय सामंत, तानाजी सावंत, अब्दुल सत्तार, दीपक केसरकर और शंभुराज देसाई शामिल हैं। शिंदे के एक सहायक ने बताया कि किसी राज्य मंत्री ने आज शपथ नहीं ली। बाद में फिर मंत्रिमंडल विस्तार होगा।वर्ल्डचैंपियनशिपमेंइतिहासरचनेपरनीरजचोपड़ाकीनजरदबावसेदूररहनाचैंपियनएथलीटकाटारगेटBJP Parliamentary Board Changed: 2024 पर बीजेपी की नजर, राजनीतिक चुनौतियों से निपटने के लिए कर रही बड़ा बदलाव******Highlightsभारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की निगाहें 2024 के लोकसभा चुनावों पर टिकी हैं और इसी के मद्देनजर वह संगठनात्मक मुद्दों एवं उभरती राजनीतिक चुनौतियों से निपटने के लिए अपनी कई प्रदेश इकाइयों में अहम पदों पर बदलाव जारी रख सकती है। भाजपा की शीर्ष संगठनात्मक संस्था, संसदीय बोर्ड के हालिया बदलाव में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को जगह नहीं मिलने की खबर भले ही अधिक सुर्खियों में रही हो, लेकिन भाजपा ने इसे सामाजिक और क्षेत्रीय रूप से अधिक प्रतिनिधित्व वाला बना दिया है। पहली बार, गैर-उच्च जातियां बोर्ड में बहुमत में हैं, क्योंकि पार्टी समाज के पारंपरिक रूप से कमजोर और पिछड़े वर्गों तक अपनी पहुंच जारी रखे हुए है।इससे पहले भी हुए थे बदलावइससे पहले, भाजपा के शीर्ष नेतृत्व ने कई राज्यों में बदलाव किए थे और अब वह अपनी उत्तर प्रदेश इकाई का नया अध्यक्ष नियुक्त कर सकते हैं और बिहार में कुछ नए चेहरों को ला सकते हैं, जहां जनता दल (यूनाइटेड) (जद-यू) ने अपनी पारंपरिक सहयोगी भाजपा का साथ छोड़कर राष्ट्रीय जनता दल (राजद)-कांग्रेस-वाम गठबंधन से हाथ मिला लिया। पिछले कुछ हफ्तों में भाजपा ने महाराष्ट्र, उत्तराखंड और छत्तीसगढ़ में प्रदेश अध्यक्षों की नियुक्ति की है और उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक और पश्चिम बंगाल सहित कई राज्यों में महत्वपूर्ण पदों पर बैठे लोगों में फेरबदल किया है।अधिकतर राज्यों में जबरदस्त बढ़त हासिल की थीसत्तारूढ़ दल ने 2019 में इनमें से अधिकतर राज्यों में जबरदस्त बढ़त हासिल की थी और पश्चिम बंगाल और तेलंगाना में भी लाभ हासिल किया था। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई के भविष्य को लेकर भी अटकलें लगाई जा रही हैं। आलोचकों ने राज्य में उनकी नेतृत्व क्षमता पर सवाल उठाया है, जहां विपक्षी कांग्रेस एक मजबूत ताकत बनी हुई है लेकिन भाजपा ने अब तक किसी भी बदलाव से इनकार किया है। बी.एस. येदियुरप्पा उम्र के लिहाज से वरिष्ठ हैं, लेकिन शक्तिशाली लिंगायत नेता को संसदीय बोर्ड में शामिल करने का निर्णय इसके एकमात्र दक्षिणी गढ़ में अपनी सामाजिक पहुंच को तेज करने के भाजपा के निरंतर प्रयास को उजागर करता है।उत्तर प्रदेश में भाजपा का दबदबा बना हुआ हैउत्तर प्रदेश के संगठन महासचिव सुनील बंसल को राष्ट्रीय भूमिका देना राज्य के मामलों में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रतिष्ठा की स्वीकृति के बावजूद दोनों नेताओं में कई मुद्दों पर मतभेद के बीच बंसल की क्षमताओं में भरोसे को दर्शाता है। सूत्रों ने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष के रूप में राज्य सरकार के मंत्री स्वतंत्र देव सिंह की जगह किसी नेता की नियुक्ति में पार्टी की पसंद में क्षेत्रीय और जातिगत समीकरण प्रभावी होंगे। पार्टी के एक नेता ने कहा कि उत्तर प्रदेश में भाजपा का दबदबा बना हुआ है और कहा कि उसके राष्ट्रीय नेतृत्व ने चुनावी सफलता के लिए हमेशा पार्टी की संगठनात्मक मशीनरी और राज्यों की सरकारों के बीच मजबूत समन्वय को प्राथमिकता दी है।

वर्ल्डचैंपियनशिपमेंइतिहासरचनेपरनीरजचोपड़ाकीनजरदबावसेदूररहनाचैंपियनएथलीटकाटारगेटPatal Bhuvneshwar : पाताल भुवनेश्वर- ऐसे होगा कलयुग का अंत...!******Highlightsधरती पर एक जगह ऐसी भी है जहां एक ही स्थान पर पूरी सृष्टि के दर्शन होते हैं। सृष्टि की रचना से लेकर कलयुग का अंत कब और कैसे होगा इसका पूरा वर्णन यहां पर है। ये एकमात्र ऐसा स्थान है जहां पर चारों धामों के दर्शन एकसाथ होते हैं। शिवजी की जटाओं से अविरल बहती गंगा की धारा यहां नजर आती है तो अमृतकुंड के दर्शन भी यहां पर होते हैं। ऐरावत हाथी भी आपको यहां दिखाई देगा तो स्वर्ग का मार्ग भी यहां से शुरु होता है।सजीव की तरह लगती हैं निर्जीव आकृतियांसुना या पढ़ा तो आपने भी जरूर होगा कि इस पृथ्वी को शेषनाग ने अपने फन पर उठा रखा है लेकिन वो शेषनाग है कहां ? इसके जवाब में इसका उत्तर समुद्र सुनने को मिलता है। लेकिन यहां आपको शेषनाग के दर्शन भी होते हैं और यहां पर शेषनाग अपने फन पर पृथ्वी को धारण किए दिखाई देता है। ये सब सुनने में किसी कहानी की तरह लगे लेकिन धर्म में अगर आपकी जरा सी भी आस्था है तो इस स्थान पर पहुंचने के बाद आप इन चीजों पर यकीन करने से खुद को चाहकर भी नहीं रोक सकते। इस स्थान पर ऊपर वर्णित आकृतियां भले ही निर्जीव हो लेकिन वास्तव में ये इतनी सजीव लगती हैं कि आप इन्हें चाहकर भी नजरअंदाज नहीं कर सकते।पिथौरागढ़ जिले में है पाताल भुवनेश्वरदरअसल, बात हो रही है भारत के उत्तरी राज्य उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में स्थित पाताल भुवनेश्वर की। मुझे भी पाताल भुवनेश्वर जाने का मौका मिला। हल्दवानी से अल्मोड़ा, धौलछीना और सेराघाट होते हुए हम राई आगर पहुंचे। राई आगर से एक रास्ता बेरीनाग को जाता है जबकि दूसरा गंगोलीहाट को। गंगोलीहाट पहुंचने से करीब 6 किमी पहले एक रास्ता पाताल भुवनेश्वर को जाता है। पाताल भुवनेश्वर वाले मार्ग में सुनहरी चमक बिखेरती हिमालय की ऊंची चोटियों के मनमोहक दर्शन होते हैं।प्राचीन और रहस्यमयी गुफापाताल भुवनेश्वर दरअसल एक प्राचीन और रहस्यमयी गुफा है जो अपने आप में एक रहस्यमयी दुनिया को समेटे हुए है। गुफा के अंदर कैमरा और मोबाईल ले जाने की अनुमति नहीं है। ये गुफा विशालकाय पहाड़ी के करीब 90 फिट अंदर है। 90 फिट नीचे गुफा में उतरने के लिए चट्टानों के बीच संकरे टेढ़ी मेढ़े रास्ते से ढ़लान पर उतरना पड़ता है। देखने पर गुफा में उतरना नामुमकिन सा लगता है लेकिन गुफा में उतरने पर शरीर खुद ब खुद गुफा के संकरे रास्ते में अपने लिए जगह बना लेता है। करीब 90 फिट नीचे उतरने के बाद आप एक समतल स्थान पर पहुंच जाएंगे।पृथ्वी को अपने फन पर धारण किए शेषनागगुफा में पहुंचने पर एक अलग ही अनुभूति होती है। जैसे हम किसी काल्पनिक लोक में पहुंच गए हों। गुफा में रहस्यमयी आकृतियों का सच हैरान करने वाला है। गुफा में उतरते ही सबसे पहले गुफा के बायीं तरफ शेषनाग की एक विशाल आकृति दिखाई देती जिसके ऊपर विशालकाय अर्द्धगोलाकार चट्टान है जिसके बारे में कहा जाता है कि शेषनाग ने इसी स्थान पर पृथ्वी को अपने फन पर धारण किया है। गुफा में आगे बढ़ते हुए हम जिस स्थान पर चल रहे थे उसे शेषनाग का शरीर बताया जाता है, जिसकी आकृति सर्प की तरह है।ब्रह्म कमल से गिरती अमृत की बूंदेंकुछ आगे बढ़ने पर आदि गणेश के दर्शन होते हैं जिस पर ब्रह्म कमल से अमृत की बूंदे गिरती दिखाई देती हैं। यहीं पर केदारनाथ, बद्रीनाथ और अमरनाथ धाम के दर्शन होते हैं तो कालभैरव भी यहीं पर विराजमान हैं। कुछ आगे बढ़ने पर पाताल चंडिका के दर्शन होते हैं और चारों द्वार- पाप द्वार, रण द्वार, धर्म द्वार और मोक्ष द्वार भी यहां पर दिखाई देते हैं। कहते हैं कि त्रेता युग में रावण के अंत के साथ ही पाप द्वार बंद हो गया था जबकि महाभारत के युद्ध के बाद रण द्वार भी बंद हो गया था। धर्म और मोक्ष द्वारा का रास्ता यहां से जाता हुआ दिखाई देता है। आगे बढ़ने पर समुद्र मंथन से निकला पारिजात का पेड़ नज़र आता है तो ब्रह्मा जी के पांचवें मस्तक के दर्शन भी यहां पर होते हैं। गुफा के ऊपर से नीचे की ओर आती शिवजी की विशाल जटाओं के साथ ही 33 करोड़ देवी देवताओं के दर्शन भी इस स्थान पर होते हैं। शिव की जटाओं से बहती गंगा का अदभुत दृश्य मन को मोह लेता है।टेढ़ी गर्दन वाले हंस की आकृतिगुफा के दाहिनी ओर इसके ठीक सामने ब्रह्मकपाल और सप्तजलकुंड के दर्शन होते हैं जिसकी बगल में टेढ़ी गर्दन वाले एक हंस की आकृति दिखाई देती है।मानस खंड में वर्णन है कि हंस को कुंड में मौजूद अमृत की रक्षा करने का कार्य दिया गया था लेकिन लालच में आकर हंस ने खुद ही अमृत को पीने की चेष्टा की जिससे शिव जी के श्राप के चलते हंस की गर्द हमेशा के लिए टेढ़ी हो गयी।ब्रह्मा, विष्णु और महेश के एक साथ दर्शनगुफा में चार कदम आगे बढ़ने पर पाताल भुवनेश्वर- ब्रह्मा, विष्णु और महेश के एक साथ दर्शन होते है। गुफा में दाहिनी ओर कुछ ऊपर चढ़ने पर पांड़वों के दर्शन होते हैं। इसके पास से ही रामेश्वरम की गुफा का मार्ग और सबरीवन द्वारिका का रास्ता दिखाई देता है। साथ ही कुछ दूर पर काशी और कैलाश का मार्ग भी गुफा में नजर आता है। दाहिनी ओर बढ़ते हुए जब हम गुफा में आगे बढ़ते हैं तो एक स्थान पर चारों युग- कलयुग, सतयुग, द्वापर और त्रेता युग के लिंग के दर्शन होते हैं और इनके ऊपर समय चक्र दिखाई पड़ता है। इस चारों युगों के लिंग में कलयुग का लिंग सबसे बड़ा है। कहते हैं कि जिस दिन कलयुग का लिंग उसके ठीक ऊपर स्थापित समय चक्र को स्पर्श कर लेगा उस दिन प्रलय आ जाएगी और कलयुग का अंत हो जाएगा। कहा ये भी जाता है कि कलयुग का लिंग हजारों साल में तिल की आकृति के बराबर बढ़ता है।ऐरावत हाथी के एक हजार पांवों के दर्शनवापस जाने पर जब हम गुफा के प्रारंभ में पहुंचते हैं तो गुफा के बांयी तरफ गुफा की छत से नीचे को लटकते ऐरावत हाथी के एक हजार पांवों के दर्शन होते हैं। इसके साथ ही यहां पर मनोकामना कमंडल भी स्थापित है और मान्यता है कि मनोकामना कमंडल को छू कर सच्चे मन से मांगी हर मनोकामना जरुर पूर्ण होती है।स्कन्द पुराण में पाताल भुवनेश्वर गुफा का वर्णनकुल मिलाकर 160 मीटर लंबी पाताल भुवनेश्वर गुफा एक ऐसा स्थान है जहां पर एक ही स्थान पर न सिर्फ 33 करोड़ देवताओं का वास है बल्कि इस गुफा के दर्शन से चारों धाम- जगन्नाथ पुरी, रामेश्वरम, द्वारिकी पुरी और बद्रीनाथ धाम के दर्शन पूर्ण हो जाते हैं। पाताल भुवनेश्वर गुफा का विस्तृत वर्णन स्कन्द पुराण के मानस खंड के 103 अध्याय में मिलता है। पाताल भुवनेश्वर अपने आप में एक दैवीय संसार को समेटे हुए है। धर्म में अगर आपकी जरा सी भी आस्था है तो आप भी जीवन में एक बार पाताल भुवनेश्वर गुफा के दर्शन अवश्य कीजिएगा।वर्ल्डचैंपियनशिपमेंइतिहासरचनेपरनीरजचोपड़ाकीनजरदबावसेदूररहनाचैंपियनएथलीटकाटारगेट4 लाख से ज्‍यादा परिवारों को मिला मकान का मालिकाना हक, 80 करोड़ लोगों को मिलेगा 26 हजार करोड़ का फायदा******PM Modi distributed e-property cards under SWAMITVA scheme, Centre decided to provide free ration over 80 crore people प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के अवसर पर वर्चुअल कार्यक्रम के माध्यम से देश के 409945 ग्रामीण परिवारों को स्वामित्व योजना के अंतर्गत ई-प्रॉपर्टी कार्ड दे कर उन्हें उनके मकान का मालिकाना हक प्रदान किया। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने स्वामित्व योजना को पूरे देश में लागू किए जाने का शुभारंभ भी किया। प्रधानमंत्री जी ने राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय पंचायत पुरस्कार विजेता पंचायतों के बैंक खाते में बटन दबाकर सीधे पुरस्कार की धनराशि भी अंतरित की। इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि कोविड-19 की इस प्रतिकूलता में कोई भी परिवार भूखा ना सोए, गरीब से गरीब का भी चूल्हा जले, ये भी हमारी जिम्मेदारी है। भारत सरकार ने गरीब कल्याण योजना के तहत मुफ्त राशन देने की योजना को फिर से आगे बढ़ाया है। मई और जून के महीने में देश के हर गरीब को मुफ्त राशन मिलेगा। इसका लाभ 80 करोड़ से ज्यादा देशवासियों को होगा। इस पर केंद्र सरकार 26 हजार करोड़ रुपए से अधिक खर्च करेगी।प्रधानमंत्री ने स्वामित्व योजना में अब तक हुए कार्य की प्रशंसा करते हुए कहा कि स्वामित्व योजना गांव और गरीब के आत्मविश्वास को, आपसी विश्वास को और विकास को नई गति देने वाली है। आज गांव और गरीब को उसके घर का कानूनी दस्तावेज देने वाली यह अहम योजना पूरे देश में लागू की गई है। प्रधानमंत्री ने अब तक गांवों में कारोना के प्रसार को रोकने में पंचायतों की भूमिका की प्रशंसा भी की। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि एक साल पहले जब हम पंचायती राज दिवस पर मिले थे, तब पूरा देश कोरोना से मुकाबला कर रहा था। तब मैंने आपसे आग्रह किया था कि आप कोरोना को गांव में पहुंचने से रोकने में अपनी भूमिका निभाएं। आप सभी ने बड़ी कुशलता से, ना सिर्फ कोरोना को गांवों में पहुंचने से रोका, बल्कि गांव में जागरूकता पहुंचाने में भी बहुत बड़ी भूमिका निभाई। इस वर्ष भी हमारे सामने जो चुनौती है, वो चुनौती पहले से जरा ज्यादा है कि गांवों तक इस संक्रमण को किसी भी हालत में पहुंचने नहीं देना है, उसे रोकना ही है।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि पंचायतों को डिजिटल बनाने के लिए हर गांव को फाइबर नेट से जोड़ने का काम भी तेजी से चल रहा है। आज हर घर को शुद्ध जल देने के लिए चल रही जल जीवन मिशन जैसी बड़ी योजना की जिम्मेदारी पंचायतों को ही सौंपी गई है। आज गांव में रोजगार से लेकर गरीब को पक्का घर देने तक का जो व्यापक अभियान केंद्र सरकार चला रही है, वो ग्राम पंचायतों के माध्यम से ही आगे बढ़ रहा है।इस अवसर पर केंद्रीय पंचायती राज, ग्रामीण विकास, कृषि एवं किसान कल्याण और खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि विगत 7 वर्षों से हमेशा माननीय प्रधानमंत्री जी का राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के अवसर पर देशभर के पंचायत प्रतिनिधियों को मार्गदर्शन प्राप्त हुआ है। 24 अप्रैल पर पंचायती राज दिवस का आयोजन वर्चुअल हुआ हो अथवा सभागार में हमेशा प्रधानमंत्री जी ने उपस्थित होकर हम सभी का उत्साहवर्धन किया है। केद्रीय मंत्री श्री तोमर ने बताया कि देशभर में 5 करोड़ 70 लाख लोगों ने कार्यक्रम को ऑनलाइन देखने के लिए पंजीकरण कराया है।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 05:18
उद्धरण 1 इमारत
मंगल और बृहस्पति के बाद अब वैज्ञानिकों का अगला लक्ष्य यूरेनस ग्रह, यहां होती है 'हीरों की बारिश', NASA लॉन्च कर सकता है मिशन******Highlightsअमेरिका, चीन, यूएई और रूस समेत दुनिया के कई देश अंतरिक्ष के क्षेत्र में एक दूसरे से आगे निकलने की होड़ में लगे हुए हैं। इस समय चांद के अलावा सोलर सिस्टम के कई ग्रहों पर भी खोज तेज कर दी गई है। अभी तक मंगल, शनि और बृहस्पति ग्रह की ही चर्चा अधिक होती थी, लेकिन अब आपको ये बात जानकर हैरानी होगी कि सोलर सिस्टम के एक और ग्रह यूरेनस यानी अरुण ग्रह पर भी खोज शुरू हो सकती है। सोलर सिस्टम के मंगल और शनि ग्रह से जुड़ी खोज कर रहे शोधकर्ता अब यूरेनस ग्रह में दिलचस्पी दिखा रहे हैं। इसे लेकर अमेरिकी नेशनल अकैडमी ऑफ साइंसेज ने एक रिपोर्ट प्रकाशित की है।इसमें उसने अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा से कहा है कि यूरेनस ग्रह की खोज शुरू की जाए। इसमें कहा गया है कि अगले दशक के लिए यूरेनस ग्रह को प्रमुख कार्यक्रम घोषित किया जाए। यह अकैडमी हर 10 साल में ग्रहों की खोज से जुड़ी अमेरिका की प्राथमिकताओं को लेकर रिपोर्ट प्रकाशित करती है। सर्वे के प्रत्येक दशक पर रिपोर्ट का बहुत बड़ा प्रभाव पड़ता है, जिसका मतलब है कि नासा अब इस मिशन को अंजाम देने के लिए दबाव में है। वहीं यूरेनस में दिलचस्पी रखने वाले लोग इस रिपोर्ट के आने से खुश हैं। लीसेस्टर विश्वविद्यालय के प्लैनेटरी वैज्ञानिक प्रोफेसर लेह फ्लेचर का कहना है, यह जबरदस्त खबर है। सोलर सिस्टम में कुछ ऐसे स्थान हैं, जिनके बारे में हम यूरेनस से भी कम या ज्यादा जानते हैं। यहां तक ​​कि प्लूटो की भी जांच हो चुकी है, इसलिए यूरेनस मिशन होना चाहिए।13 मार्च, 1978 की रात को जर्मन-ब्रिटिश एस्ट्रोनॉमर विलियम हर्शल न्यू किंग गली में अपने दूरबीन से आकाश की ओर देख रहे थे। इस दौरान उन्होंने Zeta Tauri सितारे के सामने एक असामान्य मंद रोशनी देखी। वह कई दिनों तक इसकी तरफ देखते रहे और इसी से उन्हें पता चला कि वह चीज घूम रही है। शुरू में उन्हें लगा कि यह एक धूमकेतु है। लेकिन बाद में उन्हें पता चला कि यह सूर्य से दूर एक ग्रह है। उन्होंने इस तारे का नाम यूरेनस रखा।शोध के अनुसार, यूरेनस अपनेआप में एक बेहद ही खास ग्रह है। सौरमंडल के बाकी ग्रह अपनी धुरी पर सूर्य की परिक्रमा करते हैं। यूरेनस का केवल एक हिस्सा सूर्य की ओर रहता है। यह सूर्य से अधिक दूर नहीं है, फिर भी यह एक ठंडा ग्रह है। हालांकि 1986 में मानव निर्मित मशीन वोयागर-2 अंतरिक्ष यान इसके करीब से गुजरा था। उससे पता चला कि इस ग्रह का वायुमंडल हाइड्रोजन, हीलियम और मीथेन से बना है। इसके कई चंद्रमा हैं। और इसका चुंबकीय क्षेत्र भी बहुत मजबूत है। इस ग्रह पर हीरों की बारिश होती है। लेकिन ये धरती वाली बारिश की तरह नहीं है। बल्कि वैज्ञानिकों का कहना है कि यह एक वैज्ञानिक प्रक्रिया की वजह से बनते हैं।वैज्ञानिकों का मानना है कि गैस से बने इस ग्रह के अंदरूनी हिस्सों में वातावरणीय दबाव अधिक है। इसके कारण हाइड्रोजन और कार्बन के बॉन्ड टूट जाते हैं। जिसके कारण हीरे बरसने लगते हैं। यूरेनस के आकार की बात करें, तो यह पृथ्वी से 17 गुना बड़ा है। हाल ही के एक प्रयोग में वैज्ञानिकों ने यहां हीरे की बारिश होने की जानकारी दी थी।
2022-10-01 05:05
उद्धरण 2 इमारत
Team India : इस धाकड़ खिलाड़ी की हो सकती है टीम इंडिया में वापसी******Highlightsभारत और वेस्टइंडीज के बीच होने वाली टी20 सीरीज के लिए आज टीम इंडिया का ऐलान किया जा सकता है। वन डे सीरीज के लिए टीम का की घोषणा पहले ही हो गई है, लेकिन टी20 सीरीज के लिए नहीं हो सकी है। भारत और वेस्टइंडीज के बीच पहले तीन वन डे मैच होंगे, उसके बाद पांच टी20 मैच खेले जाने हैं। इस बीच टी20 सीरीज के लिए टीम इंडिया क्या होगी, इसको लेकर लगातार कयास लगाए जा रहे हैं। सूत्रों के हवाले से जो खबरें सामने आ रही हैं, उसमें ये भी कहा जा रहा है कि स्पिनर कुलदीप यादव की टी20 टीम में वापसी हो सकती है।कुलदीप यादव ने अपना आखिरी टी20 मैच इसी साल फरवरी में श्रीलंका के खिलाफ खेला था। हालांकि इससे पहले भी कुलदीप यादव लंबे समय तक टीम इंडिया से बाहर रहे। इसके बाद उनकी वापसी हुई थी। कुलदीप यादव लगातार आईपीएल खेलते रहे हैं। वे पहले केकेआर की टीम में थे, लेकिन उसके बाद केकेआर ने उन्हें रिलीज कर दिया और आईपीएल 2022 की नीलामी में दिल्ली कैपिटल्स ने उन्हें अपने पाले में कर लिया था। इस साल के आईपीएल में कुलदीप यादव की ओर से बेहतरीन प्रदर्शन देखने के लिए मिला और उन्होंने अपनी टीम दिल्ली कैपिटल्स के लिए कई मैच जीते भी साथ ही वे प्लेयर आफ द मैच भी बने। लेकिन अब जाकर उनकी वापसी की संभावना एक बार फिर नजर आने लगी है।टीम इंडिया में अगर कुलदीप यादव की एंट्री होती है तो देखना ये दिलचस्प होगा कि क्या युजवेंद्र चहल भी टीम में रहते हैं या फिर चहल को रेस्ट दिया जाता है। अगर दोनों एक साथ रहते हैं तो ​फिर कप्तान के लिए प्लेइंग इलेवन बनाना और भी सिरदर्द का काम हो जाएगा। क्योंकि वेस्टइंडीज की पिचों पर दोनों स्पिनर्स एक साथ खेलें, ये भी मुश्किल की नजर आता है। हालांकि ये सारी तस्वीर तभी साफ हो पाएगी, जब टीम इंडिया का ऐलान कर दिया जाएगा। दो दिन के इंतजार के बाद आज संभावना है कि टीम का ऐलान कर दिया जाएगा। देखना होगा कि किस खिलाड़ी को टीम में जगह मिलती है और कौन सा खिलाड़ी रेस्ट लेता है या ​किसे बाहर किया जाता है।
2022-10-01 03:50
उद्धरण 3 इमारत
Nancy Pelosi Taiwan: ताइवान के राष्ट्रपति कार्यालय की वेबसाइट हैक, चीनी हैकरों की करतूत!******Highlights अमेरिका की प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी मंगलवार की रात को ताइवान पहुंचीं। ताइवान की राष्ट्रपति साई इंग-वेन ने ताइपे एयरपोर्ट पर पहुंचकर पेलोसी का स्वागत किया। इस बीच ताइवान के राष्ट्रपति कार्यालय की वेबसाइट कुछ देर के लिए हैक हो गई थी, जिसे बाद में बहाल कर लिया गया। माना जा रहा है कि हैकिंग की इस बड़ी वारदात को पेलोसी की यात्रा से नाराज चीन के हैकरों ने अंजाम दिया है, हालांकि इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है।चीन ने अमेरिका को धमकी दी थी कि यदि पेलोसी ताइवान की यात्रा करती हैं तो इसके ‘गंभीर परिणाम’ भुगतने होंगे। चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने कहा, ‘ताइवान मुद्दे पर अमेरिका जिस तरह से विश्वासघात कर रहा है, इससे उसकी राष्ट्रीय विश्वसनीयता खत्म हो रही है। यह तय मानकर चलि एकि इशका नतीजा अच्छा नहीं होगा। अमेरिका के डराने-धमकाने वाले चेहरे ने इसे फिर से दुनिया की शांति के लिए सबसे बड़े खतरे के रूप में दिखाया है।’पेलोसी और उनके डेलिगेशन को ले जाने वाला प्लेन मंगलवार को मलेशिया से रवाना हुआ। मलेशिया में उन्होंने प्रधानमंत्री इस्माइल साबरी याकूब के साथ लंच किया। ताइवान के विदेश मंत्रालय ने इस बारे में टिप्पणी करने से इनकार किया था कि क्या पेलोसी यात्रा करेंगी। ताइवान में पेलोसी के भव्य स्वागत की तैयारी की गई है और ताइपे में 2 इमारतों पर LED डिस्प्ले पर स्वागत शब्द लिखे गए हैं जिनमें प्रतिष्ठित ताइपे 101 इमारत भी शामिल है। स्वागत शब्दों में लिखा है, ‘ताइवान में आपका स्वागत है, स्पीकर पेलोसी।’चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने मंगलवार को बीजिंग में कहा, ‘ और ताइवान ने उकसावे के लिए मिलीभगत की है, और चीन को आत्मरक्षा में कार्रवाई करने के लिए मजबूर किया जा रहा है।’ बता दें कि के ताइवान पहुंचने से कुछ समय पहले की सरकारी मीडिया ने कहा कि चीनी SU-35 लड़ाकू जेट ताइवान जलडमरूमध्य को ‘पार’ कर रहे हैं। हालांकि बयान में यह साफ नहीं किया गया कि ये लड़ाकू विमान कहां जा रहे थे या उनका प्लान क्या था। ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने भी कहा कि उसकी हवाई सीमा में चीन के 21 लड़ाकू विमान घुसे थे।इस बीच कुछ हैकर्स ने के राष्ट्रपति कार्यालय की वेबसाइट पर एक साइबर हमला किया, जिससे मंगलवार की शाम यह कुछ देर के लिए गायब हो गई। ताइवान के राष्ट्रपति कार्यालय ने बाद में कहा कि हमले के तुरंत बाद वेबसाइट को बहाल कर दिया गया। पेलोसी की यात्रा को लेकर जिस तरह चीन बौखलाया हुआ है, उससे माना जा रहा है कि यह हरकत चीन के हैकरों की है। हालांकि इस बात की अभी तक पुष्टि नहीं हो पाई है कि वेबसाइट को किसने हैक किया था।
वापसी