नई पोस्ट करें

Udaipur Murder Case: कन्हैयालाल हत्याकांड में सबसे बड़ा खुलासा, दर्जी के हत्यारे रियाज से 17 जून को मिला था गौहर चिश्ती- सूत्र

2022-10-01 05:40:21 222

कन्हैयालालहत्याकांडमेंसबसेबड़ाखुलासादर्जीकेहत्यारेरियाजसे17जूनकोमिलाथागौहरचिश्तीसूत्रPHOTOS: जब दंगों की आग में जली थी दिल्ली, फिर याद आया 2 साल पहले का वो खौफनाक मंजर****** दिल्ली के में हनुमान जन्मोत्सव के दौरान शोभा यात्रा निकालते वक्त दो समुदाय के बीच में पथराव की घटना सामने आई है। इस घटना में पुलिसकर्मी सहित कई लोग घायल हुए हैं जिन्हें बाबू जगजीवन राम अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। वहीं, आपको बता दें कि दो साल पहले भी दिल्लीवासियों ने दंगों का गहरा दंश झेला है। फरवरी, 2020 में उत्तर-पूर्वी दिल्ली में संशोधित नागरिकता कानून () के समर्थकों एवं विरोधियों के बीच हिंसा के बाद सांप्रदायिक दंगा भड़क गया था जिसमें कम से कम 53 लोगों की जान चली गई थी और 700 से अधिक घायल हुए थे।हालात इस कदर बिगड़ चुके थे कि कुछ भयभीत लोगों ने हमेशा के लिए अपना आशियाना छोड़ दिया। बाकी पीड़ितों ने जिंदगी को फिर से पटरी पर लाने के लिए फिर से शुरुआत की लेकिन दो साल बाद भी वह भयावह मंजर भूल नहीं पाए, जो उन्होंने 23 फरवरी 2020 से 26 फरवरी 2020 के दौरान देखा। यहां अब भी उस दरिंदगी के निशान आसानी से दिख जाते हैं।इस मामले में दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल और क्राइम ब्रांच का कहना था कि दंगों के पीछे एक गहरी साज़िश थी। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल का कहना था कि जामिया कॉर्डिनेशन कमेटी (जेसीसी), पॉपुलर फ्रंट ऑफ़ इंडिया (पीएफ़आई), पिंजरा तोड़, यूनाइटेड अगेंस्ट हेट से जुड़े लोगों ने साज़िश के तहत दिल्ली में दंगे कराए।24 फरवरी को दिल्ली के चांदबाग इलाके में प्रदर्शनकारियों की भीड़ ने दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल रतनलाल की हत्या कर दी थी। पुलिस के मुताबिक, उस वक्त 20 गुनहगार भी चांदबाग में इकट्ठा हुई भीड़ का हिस्सा थे। चांदबाग में हुई हिंसा में ही IPS अधिकारी और शाहदरा के डीसीपी अमित शर्मा पर भी जानलेवा हमला किया गया था। इसी इलाके में हुई हिंसा में दिल्ली पुलिस के ACP अनुज कुमार पर भी जानलेवा हमला हुआ था।हाल ही में दिल्ली की एक अदालत ने जेएनयू के पूर्व छात्र उमर खालिद को फरवरी 2020 में हुए दिल्ली दंगों से संबंधित व्यापक षड्यंत्र के एक मामले में जमानत देने से इनकार कर दिया है। बता दें, अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश अमिताभ रावत ने 3 मार्च को खालिद और अभियोजन पक्ष के वकील की दलीलें सुनने के बाद आदेश सुरक्षित रख लिया था। सुनवाई के दौरान आरोपी ने अदालत से कहा था कि अभियोजन पक्ष के पास उसके खिलाफ मुकदमा चलाने के लिए सबूतों का अभाव है।खालिद और कई अन्य लोगों के खिलाफ फरवरी 2020 के दंगों के सिलसिले में आतंकवाद विरोधी कानून 'यूएपीए' के तहत मामला दर्ज किया गया है। दंगों में 53 लोग मारे गए थे और 700 से अधिक लोग घायल हो गए थे। फरवरी 2020 में CAA और NRC के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के दौरान हिंसा भड़क गई थी। खालिद के अलावा, कार्यकर्ता खालिद सैफी, जेएनयू छात्रा नताशा नरवाल व देवांगना कालिता, जामिया समन्वय समिति की सदस्य सफूरा जरगर, आम आदमी पार्टी (आप) के पूर्व निगम पार्षद ताहिर हुसैन और कई अन्य लोगों के खिलाफ भी यूएपीए के तहत मामला दर्ज किया गया था।

कन्हैयालालहत्याकांडमेंसबसेबड़ाखुलासादर्जीकेहत्यारेरियाजसे17जूनकोमिलाथागौहरचिश्तीसूत्रSmriti Irani on Rahul Gandhi: राहुल गांधी के ईडी के सामने पेशी पर सामने आया स्मृति ईरानी का बयान, कही ये बात******Highlightsराहुल गांधी की ED के सामने आज पेशी पर बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कड़ा हमला बोला है । उन्होंने कहा कि, “आज गांधी परिवार का भ्रष्टाचार पूरे देश के सामने आ गया है । राहुल गांधी की ED के सामने पेशी भ्रष्टाचार के मामले में हो रही है ।"उन्होंने कहा कि, “कांग्रेस पार्टी आज सरेआम भ्रष्टाचार के समर्थन में है । वे जांच एजेंसी में दवाब डालने की कोशिश कर रहे हैं । यह प्रदर्शन गांधी खानदान की संपत्ति बचाने के लिए किया जा रहा है ।जो जेल से बेल पर हैं ,उन्होंने घोषणा की है कि आओ दिल्ली को घेरो क्योंकि हमारा भ्रष्टाचार पकड़ा गया है।"उन्होंने कहा कि, "एक परिवार को रियल इस्टेट का बिजनेस करने के लिए कंपनी की शेयर होल्डिंग दी गयी। 2010 में यंग इंडिया बनाई गई। इसके बाद AJL के 9 करोड़ शेयर यंग इंडिया को 99 % शेयर हासिल करके कांग्रेस पार्टी ने AJL को 90 करोड़ का लोन और माफ कर दिया।" उन्होंने कांग्रेस पार्टी से सवाल पूछते हुए कहा कि, "क्या कांग्रेस को दान करनेवाले लोगों की मंशा थी कि उनका पैसा ऐसी कंपनी को सौंप दे जिसका मालिकाना हक गांधी परिवार को दे दी जाए। 2016 में यंग इंडिया ने स्वीकार किया कि उन्होंने चैरिटी का एक भी काम नहीं किया।"कांग्रेस पार्टी के द्वारा दिल्ली समेत देशभर के शहरों में हो रहे प्रदर्शन को लेकर उन्होंने कहा कि, "यह प्रदर्शन लोकतंत्र को बचाने का प्रयास नहीं बल्कि गांधी परिवार की 2000 करोड़ की संपत्ति बचाने के प्रयास के लिए किया जा रहा है। गांधी खानदान को इस सवाल का जवाब देना चाहिए कि जांच एजेंसी पर दबाव क्यों बनाया जा रहा है? एक अखबार की कंपनी रियल स्टेट बिजनेस में रूचि क्यों ले रही है?"कन्हैयालालहत्याकांडमेंसबसेबड़ाखुलासादर्जीकेहत्यारेरियाजसे17जूनकोमिलाथागौहरचिश्तीसूत्रIBM इंडिया ने 130 कर्मचारियों को बनाया करोड़पति, FY2015-16 में इन्‍हें मिला एक करोड़ रुपए से अधिक वेतन******आईटी कंपनी IBM इंडिया के लिए भारत एक चमकता स्‍थल है और कंपनी यहां लगातार वृद्धि हासिल कर रही है। इस वृद्धि का लाभ कर्मचारियों को भी भरपूर मिल रहा है। वित्‍त वर्ष 2015-16 में आईबीएम इंडिया ने 130 कर्मचारियों को एक करोड़ रुपए से ज्‍यादा वेतन दिया है। वहीं दूसरी ओर देश की दूसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी इंफोसिस में एक करोड़ से अधिक वेतन पाने वाले कर्मचारियों की संख्‍या समान वित्‍त वर्ष में मात्र 49 रही। आईबीएम के पास 1.3 लाख कर्मचारी हैं।आईबीएम के जापान बिजनेस में गिरावट आने और चीन में कमजोर प्रदर्शन की वजह से एशिया महाद्वीप बिजनेस की ग्रोथ घटी, जिसकी वजह से भारत के प्रदर्शन पर कंपनी की विशेष नजर थी।आईबीएम इंडिया के चार प्रमुख बिजनेस सेगमेंट हैं- हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर, फाइनेंसिंग और सेल ऑफ सर्विसेस (घरेलू आईटी सर्विसेस और एक्‍सपोर्ट आईटी सर्विसेस सहित)।India's best employers

Udaipur Murder Case: कन्हैयालाल हत्याकांड में सबसे बड़ा खुलासा, दर्जी के हत्यारे रियाज से 17 जून को मिला था गौहर चिश्ती- सूत्र

कन्हैयालालहत्याकांडमेंसबसेबड़ाखुलासादर्जीकेहत्यारेरियाजसे17जूनकोमिलाथागौहरचिश्तीसूत्रहर समस्याओं से छुटकारा दिलाएगा लहसुनिया रत्न, लेकिन ये लोग भूलकर भी न पहने******Highlightsलहसुनिया रत्न केतु का रत्‍न होता है। यह रत्न बेहद चमकीला होता है। इसकी अपनी विशेष बनावट के कारण इसे अंग्रेजी में 'कैट्स आई (Cats Eyes) कहा जाता है।ज्योतिषों के अनुसार, जब कुंडली में मौजूद केतु आपके लिए परेशानी का कारण बने तो लहसुनिया रत्न धारण करना शुभ माना जाता है। इसे धारण करने से आपको हर तरह की समस्याओं से छुटकारा मिलने के साथ-साथ मानसिक रूप से भी शांति मिलती है। जानिए किन लोगों को लहसुनिया पहनना चाहिए और किन्हें नहीं।कन्हैयालालहत्याकांडमेंसबसेबड़ाखुलासादर्जीकेहत्यारेरियाजसे17जूनकोमिलाथागौहरचिश्तीसूत्ररिश्तों को दीजिए गर्माहट की डोज, नए साल 2020 में ये बदलाव जीना सिखा देंगे आपको****** शुरू हो रहा है। बीते साल से आपको काफी शिकायतें रही होंगी, कुछ बने होंगे तो कुछ टूटे भी होंगे। लेकिन टूटे रिश्तों को जोड़ने को लिए नए साल के मौके को हाथ से मत जाने दीजिए। वक्त रेत की तरह हाथों से तेजी से फिसल जाता है, जो इन रिश्तों को वक्त के साथ नहीं जी पाता वो बाद में पछताता है। क्या वाकई आपने पिछले साल अपनी जिंदगी को सकून से जिया। अगर नहीं तो कुछ प्लानिंग कीजिए ताकि आप जिंदगी को सही मायनों में जी सकें। रिश्तों की गर्माहट को बनाए रखने के लिए कुछ छोटे छोटे जतन करेंगे होंगे और आपके रिश्ते फिर खिलखिलाकर हंस पड़ेंगे। बस इन छोटे छोटे तरीके को करते वक्त चेहरे और दिल में खुशी रखिएगा।पड़ोसी चुने नहीं जा सकते, ये आपको किस्मत से मिलते हैं। ये लाइन आपने भी कई बार सुनी होगी। अब आपके ऊपर है कि पड़ोसी से कैसे रिश्ते चाहते हैं, जैसे रिश्ते चाहते हैं, उसकी पहल खुद कीजिए...बातचीत कीजिए, घर जाइए, लंच या डिनर पर बुलाइए, याद रखिए इमरजैंसी में यही काम आएंगे, इसलिए इनके भी काम आइए। निकलते बढ़ते हाय हैलो, वीकेंड पर कुछ पार्टी जैसा, ज्यादा नहीं तो कटोरियों के जरिए मीठे की आवाजाही रिश्तों में स्वाद घोल देती है।आपको याद है कि आप अपने पार्टनर के साथ डिनर डेट पर आखिरी बार कब गए थे। लो जी, दफ्तर की भागदौड़ में भूल गए...एनिवर्सरी, बर्थडे ही याद रखना जरूरी नहीं है, रिश्तों में गर्माहट होनी चाहिए, वरना एक्सपायरी लगते देर नहीं लगती। लौटते हुए मीठा ले आइए, आधी रात को कॉफी बनाकर पिलाइए, अचानक जल्दी घर पहुंच कर सरप्राइज दे दीजिए, बंक मारकर डेट पर चले जाइए। मेट्रो स्टेशन पर मिलना कैसा रहेगा? चोरी छिपे चैटिंग कीजिए, बिलकुल नए नवेले प्रेमियों की तरह। रीबूट होंगे रिश्ते तो ही मजबूत होंगे रिश्ते।कन्हैयालालहत्याकांडमेंसबसेबड़ाखुलासादर्जीकेहत्यारेरियाजसे17जूनकोमिलाथागौहरचिश्तीसूत्रCyber Attack: चीन पर अमेरिकी हैकरों ने किया हमला, एक खास विश्वविद्यालय को बनाया निशाना******Highlightsचीन और अमेरिका के बीच इस वक्त अघोषित वॉर चल रही है। अब जब दुनिया डिजिटल की ओर तेजी से बढ़ रही है तो हमले भी डिजिटल तरीके से हो रहे हैं। अमेरिका भी चीन पर ऐसे ही हमले कर रहा है। इस वक्त चीन का एक खास विश्वविद्यालय अमेरिकी हैकरों के हमलों से परेशान है। दरअसल, चीन का उत्तर-पश्चिमी पॉलिटेक्निक विश्वविद्यालय हाल में विदेशी साइबर हमलों से परेशान है।चीनी राष्ट्रीय कंप्यूटर वायरस आपातकालीन प्रतिक्रिया केंद्र और छिहू 360 प्रौद्योगिकी कंपनी ने 5 सितंबर को क्रमश: इस मामले की जांच रिपोर्ट जारी की। जांच से पता चला कि अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनएसए) के अधीनस्थ टेलर्ड एक्सेस ऑपरेशन कार्यालय (टीएओ) ने कई सालों से चीन के घरेलू नेटवर्क लक्ष्यों के खिलाफ हजारों दुर्भावनापूर्ण साइबर हमले किए और संबंधित नेटवर्क उपकरण पर नियंत्रण किया। इससे मूल्यवान डेटा की संदिग्ध चोरी की गई।उत्तर-पश्चिमी पॉलिटेक्निक विश्वविद्यालय के सूचना निर्माण और प्रबंधन कार्यालय के उप प्रमुख सोंग छ्यांग ने कहा कि हाल में विश्वविद्यालय के नेटवर्क सिस्टम में ट्रोजन प्रोग्राम का पता चला। इससे विश्वविद्यालय के सामान्य काम और व्यवस्था के लिए महत्वपूर्ण जोखिम का कारण बना। विश्वविद्यालय नेटवर्क सुरक्षा पर बड़ा ध्यान देता है और पुलिस को संबंधित स्थिति से अवगत करवाया।शीआन शहर के सार्वजनिक सुरक्षा विभाग ने शीघ्र ही जांच के लिए मामला दर्ज किया। चीनी राष्ट्रीय कंप्यूटर वायरस आपातकालीन प्रतिक्रिया केंद्र और छिहू 360 प्रौद्योगिकी कंपनी के संयुक्त तकनीक दल ने मामले के तकनीकी विश्लेषण में भाग लिया। प्रारंभिक खोज से पता चला कि संबंधित हमले एनएसए के टीएओ से आए। जांच से यह भी पता चला कि हाल के वर्षों में टीएओ ने चीन के घरेलू नेटवर्क लक्ष्यों के खिलाफ हजारों दुर्भावनापूर्ण साइबर हमले किए और दसियों हजारों नेटवर्क उपकरणों पर नियंत्रण किया। टीएओ ने 140 जीबी से अधिक मूल्यवान डेटा की चोरी की।

Udaipur Murder Case: कन्हैयालाल हत्याकांड में सबसे बड़ा खुलासा, दर्जी के हत्यारे रियाज से 17 जून को मिला था गौहर चिश्ती- सूत्र

कन्हैयालालहत्याकांडमेंसबसेबड़ाखुलासादर्जीकेहत्यारेरियाजसे17जूनकोमिलाथागौहरचिश्तीसूत्रAmazon Prime यूजर्स को तगड़ा झटका! 50% महंगी हुई मैंबरशिप फीस, जानिए नई दरें******Amazon Prime मैंबर्स को झटका, सालाना सब्सक्रिप्शन फीस 999 से बढ़कर होगी 1499 रुपये देश में ओटीटी प्लेटफॉर्म का मजा उठाने वाले यूजर्स को बड़ा झटका लगा है। अमेजन भारत में अपने प्राइम का मेंबरशिपशुल्क 50 प्रतिशत बढ़ाकर 1499 रुपये प्रति वर्ष करेगी। फिलहाल अमेजन प्राइम का वार्षिक शुल्क 999 रुपये है। कंपनी इसी के साथ ही प्रति माह और तीन महीने वाले सदस्यता शुल्क में भी बढ़ोतरी करेगी।अमेजन अपने प्राइम की सदस्यता के जरिये यूजर्स को ई कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर लाखों वस्तुओं की एक दिन में फ्री डिलिवरी तथा अमेजन प्राइम वीडियो प्लेटफॉर्म की सुविधा प्रदान करती है। अमेजन के एक प्रवक्ता ने बताया कि कंपनी भारत में अपने प्राइम की सदस्यता शुल्क में जल्द बदलाव करेगी।कंपनी के मुताबिक वार्षिक सदस्यता शुल्क को 999 से बढ़ाकर 1499 रुपये किया जाएगा। वहीं तीन महीने वाले सदस्य्ता शुल्क को 329 से बढ़ाकर 459 रुपये किया जाएगा। वहीं 129 रुपये के मासिक सदस्यता शुल्क को बढ़ाकर 179 रुपये किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कंपनी सदस्य्ता शुल्क में बदलाव की सही तारीख की घोषणा बाद में करेगी।कन्हैयालालहत्याकांडमेंसबसेबड़ाखुलासादर्जीकेहत्यारेरियाजसे17जूनकोमिलाथागौहरचिश्तीसूत्रPakistan Doctors: पाकिस्तान छोड़कर भारत आए हिंदू डॉक्टरों का होगा परमानेंट रजिस्ट्रेशन, जानिए पूरी प्रक्रिया******Highlightsपाकिस्तान से भारत में आए हिंदू डॉक्टरों ने के लिए भारत सरकार ने बड़ा फैसला किया है। अब पड़ोसी देश पाकिस्तान से आए हिन्दू डॉक्टर अब यहां भी स्थाई तौर पर रजिस्ट्रेशन प्राप्त कर सकेंगे। राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग इसके लिए एक परीक्षा आयोजित करेगा, जिसके बाद चयनित अभ्यर्थियों की घोषणा की जाएगी।भारत ने पाकिस्तान से आए उन हिंदू डॉक्टरों के लिए दरवाजे खोल दिए हैं, जो 31 दिसंबर 2014 के बाद अपना वतन छोड़कर यहां आ गए और प्रैक्टिस कर रहे हैं। राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग (एनएमसी) ने ऐसे लोगों से आवेदन मांगे हैं, जिन्होंने आधुनिक चिकित्सा या एलोपैथी की प्रैक्टिस करने के लिए जरूरी स्थायी रजिस्ट्रेशन अनुदान के लिए भारत की नागरिकता प्राप्त की है।एनएमसी के अंडरग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन बोर्ड (यूएमईबी) द्वारा शुक्रवार को जारी एक सार्वजनिक नोटिस के अनुसार, शॉर्टलिस्ट किए गए आवेदकों को आयोग या इसके द्वारा अधिकृत एजेंसी द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षा में बैठने की अनुमति दी जाएगी। एनएमसी ने जून में विशेषज्ञों के एक समूह का गठन किया था ताकि प्रस्तावित परीक्षण के लिए दिशा-निर्देश तैयार किए जा सकें। पाकिस्तान से प्रताड़ित अल्पसंख्यकों के बीच मेडिकल स्नातकों को सक्षम बनाने की भी पहल की गई है। इसके बाद वे यहां प्रैक्टिस करने के लिए स्थायी रजिस्ट्रेशन प्राप्त कर सकेंगे।यूएमईबी के अनुसार, आवेदक के पास एक वैध चिकित्सा योग्यता होनी चाहिए और भारत में प्रवास से पहले पाकिस्तान में प्रैक्टिस किया होना चाहिए। आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि 5 सितंबर है। आवेदकों को एनएमसी वेबसाइट पर दिए गए लिंक के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन भरने के लिए दिए गए निर्देशों का सख्ती से पालन करने की सलाह दी गई है। आयोग द्वारा ऑफलाइन आवेदनों पर विचार नहीं किया जाएगा। आयोग द्वारा संबंधित एजेंसियों और विभागों के परामर्श से सभी आवेदनों की जांच की जाएगी। शॉर्टलिस्ट किए गए आवेदकों को परीक्षा में बैठने की अनुमति दी जाएगी। नोटिस में कहा गया है, "परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले आवेदक भारत में आधुनिक चिकित्सा या एलोपैथी की प्रैक्टिस करने के लिए स्थायी रजिस्ट्रेशन के लिए पात्र होंगे।"

Udaipur Murder Case: कन्हैयालाल हत्याकांड में सबसे बड़ा खुलासा, दर्जी के हत्यारे रियाज से 17 जून को मिला था गौहर चिश्ती- सूत्र

कन्हैयालालहत्याकांडमेंसबसेबड़ाखुलासादर्जीकेहत्यारेरियाजसे17जूनकोमिलाथागौहरचिश्तीसूत्रगेहूं उत्पादन में पंजाब ने तोड़ा 20 साल का रिकार्ड, इस साल 129.93 लाख टन हुआ गेहूं का उत्पादन******Record production of wheat in Punjab में इस साल 129.93 लाख टन का उत्पादन हुआ है, जोकि पिछले 20 साल का रिकॉर्ड स्तर है। यह जानकारी शुक्रवार को खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग के एक अधिकारी ने दी। के प्रवक्ता ने बताया कि पंजाब की मंडियों में इस गेहूं की कुल आवक व खरीद पिछले 20 साल में सबसे ज्यादा हुई है। प्रदेश में गेहूं की खरीद एक अप्रैल 2019 से शुरू हुई थी।प्रदेश में गेहूं की कुल खरीद 129.93 लाख टन हुई है जिसमें सरकारी एजेंसियों ने 128.38 लाख टन गेहूं खरीदा है बाकी निजी कारोबारी ने खरीदा है। अधिकारी ने बताया कि प्रदेश की खरीद एजेंसियों ने गुरुवार तक के रूप में 20,013 करोड़ रुपए निर्गत किए गए हैं।

कन्हैयालालहत्याकांडमेंसबसेबड़ाखुलासादर्जीकेहत्यारेरियाजसे17जूनकोमिलाथागौहरचिश्तीसूत्रअंधेरे में भविष्‍य: देश के करीब 37 प्रतिशत स्कूलों में नहीं है बिजली कनेक्शन******देश के सभी गांव तक बिजली जरूर पहुंचा दी गई हो लेकिन भारत के करीब 37 प्रतिशत में आज भी बिजली उपलब्ध नहीं है । चौंकाने वाली बात यह है कि जहां गुजरात के 99 फीसदी स्‍कूलों में बिजली है वहीं असम के करीब 75 फीसदी स्‍कूलों में अभी तक बिजली कनेक्‍शन नहीं है। एकीकृत जिला शिक्षा प्रणाली सूचना :यूडीआईएसई: 2017-19 की रिपोर्ट के अनुसार, ‘‘ देश के केवल 63.14 स्कूलों में बिजली मौजूद थी, जबकि शेष स्‍कूलों में बिजली नहीं थी।’’इस विषय पर मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक का कहना है कि ‘दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना’ के अंतर्गत गांवों/ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली पहुंचाई जाती है । ऐसे स्कूल जिन्हें बिजली कनेक्शन की आवश्यकता है, वे राज्य विद्युत युटिलिटी से सम्पर्क कर सकते हैं और बिजली सेवा कनेक्शन मौजूदा नियमों के तहत राज्य विद्युत युटिलीटी द्वारा लगाया जाता है । ’’यूडीआईएसई: 2017-19 की रिपोर्ट के अनुसार, असम में 24.28 फीसदी स्‍कूलों में बिजली है, जबकि मेघालय के 26.34 प्रतिशत, बिहार में 45.82 %, मध्य प्रदेश 32.85%, मणिपुर 42.08%, ओडिशा 36.05% और त्रिपुरा 31.11% स्कूलों में बिजली कनेक्शन हैं ।हालांकि लक्षद्वीप, चंडीगढ़ और दादरा और नगर हवेली के सभी स्कूलों में बिजली है, जबकि दिल्ली में 99.93 प्रतिशत स्कूलों में बिजली उपलब्‍ध है। आंध्रप्रदेश में 92.8 प्रतिशत, छत्तीसगढ़ में 70.38 प्रतिशत, गोवा में 99.54 प्रतिशत, गुजरात में 99.91 प्रतिशत, हरियाणा में 97.52 प्रतिशत, हिमाचल प्रदेश में 92.09 प्रतिशत, केरल में 96.91 प्रतिशत स्कूलों में बिजली कनेक्शन है ।रिपोर्ट के अनुसार, महाराष्ट्र में 85.83 प्रतिशत स्कूलों में बिजली कनेक्शन है जबकि झारखंड में 47.46 प्रतिशत, जम्मू कश्मीर में 36.63, पुदुचेरी में 99.86 , पंजाब में 99.55 , राजस्थान में 64.02, तमिलनाडु में 99.55, तेलंगाना में 89.89, उत्तर प्रदेश में 44.76, उत्तराखंड में 75.28 और पश्चिम बंगाल में 85.59 प्रतिशत स्कूलों में बिजली कनेक्शन है ।कन्हैयालालहत्याकांडमेंसबसेबड़ाखुलासादर्जीकेहत्यारेरियाजसे17जूनकोमिलाथागौहरचिश्तीसूत्रकोरोना पर संसद में 20 जुलाई को पीएम मोदी दे सकते हैं प्रजेंटेशन, आज से शुरू होगा मानसून सत्र******सूत्रों के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आगामी 20 जुलाई को संसद के दोनों सदनों में कोरोना वायरस को लेकर प्रेजेंटेशन दे सकते हैं। पीएम मोदी सभी दलों के नेताओं को देश में कोविड-19 की स्थिति पर एक प्रजेंटेशन 20 जुलाई को दे सकते हैं। न्यूज एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से कहा कि सभी दलों के नेताओं से चर्चा के बाद प्रजेंटेशन का समय तय किया जाएगा। वहीं, संसद के मानसून सत्र से पहले रविवार को सर्वदलीय बैठक बुलाई गई थी। बैठक में संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी ने घोषणा की कि मोदी दोनों सदनों के सदस्यों को 20 जुलाई को संबोधित करेंगे और महामारी पर बात करेंगे।सोमवार (19 जुलाई) से शुरू होने वाला 13 अगस्त तक चलेगा। संसद के मानसून सत्र (Parliament Monsoon Session 2021) से एक दिन पहले रविवार को सर्वदलीय बैठक में पीएम मोदी ने कहा कि विपक्ष का सुझाव महत्वपूर्ण होता है। बहस काफी मायने रखती है और सार्थक और स्वस्थ चर्चा होनी चाहिए। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि नियम के मुताबिक हर मुद्दे पर चर्चा करने को तैयार है। संसदीय कार्यमंत्री प्रहलाद जोशी ने बैठक के बाद बताया कि मानसून सत्र के मद्देनजर 33 दलों के सदन के नेताओं ने बैठक में हिस्सा लिया और कुल 40 से ज़्यादा नेता इसमें शामिल रहे। कई नेताओं ने अहम मुद्दों पर चर्चा को लेकर अपने सुझाव दिए हैं।सोमवारसे शुरू होने जा रहे संसद के मॉनसून सत्र के दौरान विभिन्न मुद्दों पर सरकार को घेरने के लिए विपक्षी दलों ने रविवार को रणनीति बनाई और कहा कि आम जनता से जुड़े विषयों को उठाने के लिए हरसंभव संसदीय साधनों का इस्तेमाल किया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा संसद के मॉनसून सत्र से पहले बुलाई गई सर्वदलीय बैठक के बाद राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे की पहल पर विपक्षी दलों के नेताओं ने आज अलग से एक बैठक की, जिसमें इस बात पर सहमति बनी कि विपक्षी सांसद सरकार पर विधेयकों को जल्दबाजी में पारित करने की जगह इन्हें संसद की स्थायी समितियों को भेजने के लिये दबाव बनाएंगे।एक विज्ञप्ति में यहां बताया गया कि विपक्षी नेताओं की बैठक में महंगाई, किसान आंदोलन, कोविड-19 ‘‘कुप्रबंधन’’ जैसे मुद्दों को मॉनसून सत्र में जोर-शोर से उठाने का निर्णय लिया गया। इस बैठक में उच्च सदन से राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष खड़गे, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख शरद पवार, तृणमूल कांग्रेस के डेरेक ओ ब्रायन, द्रमुक नेता तिरुचि शिवा, शिवसेना से संजय राउत, कांग्रेस के मुख्य सचेतक जयराम रमेश, उपनेता कांग्रेस आनंद शर्मा, माकपा से इलामारक करीम और भाकपा से विनय विश्वम शामिल हुए। बैठक में लोकसभा से कांग्रेस के अधीर रंजन चौधरी, आम आदमी पार्टी (आप) के भगवंत मान, आरएसपी के एनके प्रेमचंद्रन, आईयूएमएल के मोहम्मद बशीर, केरल कांग्रेस के थामसजी, शिवसेना के विनायक राउत आदि शामिल हुए।

कन्हैयालालहत्याकांडमेंसबसेबड़ाखुलासादर्जीकेहत्यारेरियाजसे17जूनकोमिलाथागौहरचिश्तीसूत्रSmriti Irani on Rahul Gandhi: राहुल गांधी के ईडी के सामने पेशी पर सामने आया स्मृति ईरानी का बयान, कही ये बात******Highlightsराहुल गांधी की ED के सामने आज पेशी पर बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कड़ा हमला बोला है । उन्होंने कहा कि, “आज गांधी परिवार का भ्रष्टाचार पूरे देश के सामने आ गया है । राहुल गांधी की ED के सामने पेशी भ्रष्टाचार के मामले में हो रही है ।"उन्होंने कहा कि, “कांग्रेस पार्टी आज सरेआम भ्रष्टाचार के समर्थन में है । वे जांच एजेंसी में दवाब डालने की कोशिश कर रहे हैं । यह प्रदर्शन गांधी खानदान की संपत्ति बचाने के लिए किया जा रहा है ।जो जेल से बेल पर हैं ,उन्होंने घोषणा की है कि आओ दिल्ली को घेरो क्योंकि हमारा भ्रष्टाचार पकड़ा गया है।"उन्होंने कहा कि, "एक परिवार को रियल इस्टेट का बिजनेस करने के लिए कंपनी की शेयर होल्डिंग दी गयी। 2010 में यंग इंडिया बनाई गई। इसके बाद AJL के 9 करोड़ शेयर यंग इंडिया को 99 % शेयर हासिल करके कांग्रेस पार्टी ने AJL को 90 करोड़ का लोन और माफ कर दिया।" उन्होंने कांग्रेस पार्टी से सवाल पूछते हुए कहा कि, "क्या कांग्रेस को दान करनेवाले लोगों की मंशा थी कि उनका पैसा ऐसी कंपनी को सौंप दे जिसका मालिकाना हक गांधी परिवार को दे दी जाए। 2016 में यंग इंडिया ने स्वीकार किया कि उन्होंने चैरिटी का एक भी काम नहीं किया।"कांग्रेस पार्टी के द्वारा दिल्ली समेत देशभर के शहरों में हो रहे प्रदर्शन को लेकर उन्होंने कहा कि, "यह प्रदर्शन लोकतंत्र को बचाने का प्रयास नहीं बल्कि गांधी परिवार की 2000 करोड़ की संपत्ति बचाने के प्रयास के लिए किया जा रहा है। गांधी खानदान को इस सवाल का जवाब देना चाहिए कि जांच एजेंसी पर दबाव क्यों बनाया जा रहा है? एक अखबार की कंपनी रियल स्टेट बिजनेस में रूचि क्यों ले रही है?"कन्हैयालालहत्याकांडमेंसबसेबड़ाखुलासादर्जीकेहत्यारेरियाजसे17जूनकोमिलाथागौहरचिश्तीसूत्रIBM इंडिया ने 130 कर्मचारियों को बनाया करोड़पति, FY2015-16 में इन्‍हें मिला एक करोड़ रुपए से अधिक वेतन******आईटी कंपनी IBM इंडिया के लिए भारत एक चमकता स्‍थल है और कंपनी यहां लगातार वृद्धि हासिल कर रही है। इस वृद्धि का लाभ कर्मचारियों को भी भरपूर मिल रहा है। वित्‍त वर्ष 2015-16 में आईबीएम इंडिया ने 130 कर्मचारियों को एक करोड़ रुपए से ज्‍यादा वेतन दिया है। वहीं दूसरी ओर देश की दूसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी इंफोसिस में एक करोड़ से अधिक वेतन पाने वाले कर्मचारियों की संख्‍या समान वित्‍त वर्ष में मात्र 49 रही। आईबीएम के पास 1.3 लाख कर्मचारी हैं।आईबीएम के जापान बिजनेस में गिरावट आने और चीन में कमजोर प्रदर्शन की वजह से एशिया महाद्वीप बिजनेस की ग्रोथ घटी, जिसकी वजह से भारत के प्रदर्शन पर कंपनी की विशेष नजर थी।आईबीएम इंडिया के चार प्रमुख बिजनेस सेगमेंट हैं- हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर, फाइनेंसिंग और सेल ऑफ सर्विसेस (घरेलू आईटी सर्विसेस और एक्‍सपोर्ट आईटी सर्विसेस सहित)।India's best employers

कन्हैयालालहत्याकांडमेंसबसेबड़ाखुलासादर्जीकेहत्यारेरियाजसे17जूनकोमिलाथागौहरचिश्तीसूत्रहर समस्याओं से छुटकारा दिलाएगा लहसुनिया रत्न, लेकिन ये लोग भूलकर भी न पहने******Highlightsलहसुनिया रत्न केतु का रत्‍न होता है। यह रत्न बेहद चमकीला होता है। इसकी अपनी विशेष बनावट के कारण इसे अंग्रेजी में 'कैट्स आई (Cats Eyes) कहा जाता है।ज्योतिषों के अनुसार, जब कुंडली में मौजूद केतु आपके लिए परेशानी का कारण बने तो लहसुनिया रत्न धारण करना शुभ माना जाता है। इसे धारण करने से आपको हर तरह की समस्याओं से छुटकारा मिलने के साथ-साथ मानसिक रूप से भी शांति मिलती है। जानिए किन लोगों को लहसुनिया पहनना चाहिए और किन्हें नहीं।कन्हैयालालहत्याकांडमेंसबसेबड़ाखुलासादर्जीकेहत्यारेरियाजसे17जूनकोमिलाथागौहरचिश्तीसूत्ररिश्तों को दीजिए गर्माहट की डोज, नए साल 2020 में ये बदलाव जीना सिखा देंगे आपको****** शुरू हो रहा है। बीते साल से आपको काफी शिकायतें रही होंगी, कुछ बने होंगे तो कुछ टूटे भी होंगे। लेकिन टूटे रिश्तों को जोड़ने को लिए नए साल के मौके को हाथ से मत जाने दीजिए। वक्त रेत की तरह हाथों से तेजी से फिसल जाता है, जो इन रिश्तों को वक्त के साथ नहीं जी पाता वो बाद में पछताता है। क्या वाकई आपने पिछले साल अपनी जिंदगी को सकून से जिया। अगर नहीं तो कुछ प्लानिंग कीजिए ताकि आप जिंदगी को सही मायनों में जी सकें। रिश्तों की गर्माहट को बनाए रखने के लिए कुछ छोटे छोटे जतन करेंगे होंगे और आपके रिश्ते फिर खिलखिलाकर हंस पड़ेंगे। बस इन छोटे छोटे तरीके को करते वक्त चेहरे और दिल में खुशी रखिएगा।पड़ोसी चुने नहीं जा सकते, ये आपको किस्मत से मिलते हैं। ये लाइन आपने भी कई बार सुनी होगी। अब आपके ऊपर है कि पड़ोसी से कैसे रिश्ते चाहते हैं, जैसे रिश्ते चाहते हैं, उसकी पहल खुद कीजिए...बातचीत कीजिए, घर जाइए, लंच या डिनर पर बुलाइए, याद रखिए इमरजैंसी में यही काम आएंगे, इसलिए इनके भी काम आइए। निकलते बढ़ते हाय हैलो, वीकेंड पर कुछ पार्टी जैसा, ज्यादा नहीं तो कटोरियों के जरिए मीठे की आवाजाही रिश्तों में स्वाद घोल देती है।आपको याद है कि आप अपने पार्टनर के साथ डिनर डेट पर आखिरी बार कब गए थे। लो जी, दफ्तर की भागदौड़ में भूल गए...एनिवर्सरी, बर्थडे ही याद रखना जरूरी नहीं है, रिश्तों में गर्माहट होनी चाहिए, वरना एक्सपायरी लगते देर नहीं लगती। लौटते हुए मीठा ले आइए, आधी रात को कॉफी बनाकर पिलाइए, अचानक जल्दी घर पहुंच कर सरप्राइज दे दीजिए, बंक मारकर डेट पर चले जाइए। मेट्रो स्टेशन पर मिलना कैसा रहेगा? चोरी छिपे चैटिंग कीजिए, बिलकुल नए नवेले प्रेमियों की तरह। रीबूट होंगे रिश्ते तो ही मजबूत होंगे रिश्ते।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 06:02
उद्धरण 1 इमारत
ऑफिस स्पेस की बढ़ी डिमांड, कंपनियां कर रही है विस्तार: CBRE****** संपत्ति परामर्शदाता कंपनी CBRE के अनुसार 2016 की दूसरी तिमाही में ऑफिस स्पेस की मांग 46 फीसदी बढ़कर 1.02 करोड़ वर्ग फीट से अधिक हो गई। फर्म का मानना है कि कंपनियों से मांग बढ़ने के कारण दूसरी तिमाही में ऑफि‍स स्‍पेस की खपत बढ़ी है।इसके अनुसार अप्रैल-जून तिमाही में कुल जगह खपत में लगभग 50 फीसदी हिस्सा राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर जिसमें दिल्ली, गुड़गांव व नोएडा शामिल है) व बेंगलुरु का रहा। CBRE साउथ एशिया के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक अंशुमान मैगजीन ने कहा, वैश्विक अर्थव्यवस्था में नरमी के बावजूद कॉरपोरेट जगत के लिए भारत सबसे पसंदीदा आउटसोर्सिंग गंतव्य बना हुआ है। सरकार की हालिया नीतिगत घोषणाओं तथा स्थिर घरेलू अर्थव्यवस्था से देश के रियल एस्टेट क्षेत्र में निवेश आकर्षित होने की उम्मीद है। इसके अनुसार कार्यालय जगह की मांग के लिहाज से सबसे अधिक मांग आईटी:आईटीईएस क्षेत्र से निकल रही है।आदित्य बिड़ला हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी को बीमा नियामक इरडा से पंजीकरण प्रमाणपत्र प्राप्त हो गया है। अब वह कारोबार शुरू करने के और करीब पहुंच चुकी है। यह कंपनी आदित्य बिड़ला नूवो की अनुषंगी की अनुषंगी कंपनी है। कंपनी ने बंबई शेयर बाजार को आज बताया कि आदित्य बिड़ला हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी को 11 जुलाई 2016 को स्वास्थ्य बीमा कारोबार शुरू करने के लिए भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (इरडा) से पंजीकरण प्रमाणपत्र मिल गया है। एडेलविस फाइनेंशियल सर्विसेज ने भी जानकारी दी है कि इरडा ने साधारण बीमा कंपनी शुरू करने के उसके आवेदन को स्वीकार कर लिया है। दिल्ली-NCR में पहली छमाही में ऑफिस के लिए जगह की मांग 39 फीसदी बढ़ी, लीज पर प्रॉपर्टी ले रहे हैं लोग Jaypee ने अल्ट्राटेक को बेचे जाने वाली संपत्ति के बढ़ाए दाम, अब 16,189 करोड़ रुपए की कीमत
2022-10-01 04:38
उद्धरण 2 इमारत
1 जून को केरल पहुंचेगा मानसून, IMD ने कहा बंगाल की खाड़ी में चक्रवात बनने से हुई प्रगति******Monsoon onset over Kerala on June 1, says IMD दक्षिणपश्चिम मानसून के अपने सामान्‍य समय यानी एक जून को केरल पहुंचने की संभावना है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने गुरुवार को कहा कि बंगाल की खाड़ी में चक्रवात के बनने से मानसून को आगे बढ़ने में मदद मिल रही है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने इससे पहले 15 मई को जारी किए गए अपने अनुमान में कहा था कि इस बार मानसून में देरी हो सकती है और यह केरल 5 जून तक पहुंचेगा। मानसून के केरल पहुंचने की सामान्‍य तारीख एक जून ही है। आईएमडी ने कहा है कि 31 मई से 4 जून के बीच दक्षिणपूर्व और उससे सटे पूर्व मध्‍य अरब सागर के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है। इसे देखते हुए, केरल में की शुरुआत के लिए 1 जून से परिस्थितियां अनुकूल होने की संभावना है। आईएमडी के मुताबिक इस साल देश में सामान्‍य मानसून रहेगा। मौसम पूर्वानुमान से जुड़ी निजी मौसम एजेंसियों ने मानसून के तय समय से पहले केरल पहुंचने का अनुमान व्‍यक्‍त किया था। केरल में मानसून पहुंचने के साथ ही देश में जून से सितंबर तक के चार महीने लंबे बरसात के मौसम की शुरुआत हो जाती है। सामान्य निर्धारित तिथि के अनुसार, मानसून एक जून को केरल पहुंचता है।स्काईमेट वेदर का कहना है कि मानसून 28 मई को ही केरल पहुंच जाएगा, वहीं वेदर कंपनी ने इसके लिए 31 मई की तारीख तय की है। बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती तूफान के कारण अंडमान-निकोबार द्वीपसमूह में मानसून अपनी सामान्य तारीख 22 मई से छह दिन पहले 16 मई तक आ सकता है। पिछले वर्ष अंडमान-निकोबार में मानसून अपनी तय तारीख से दो दिन पहले 18 मई को आ गया था लेकिन गति धीमी पड़ने से केरल में यह आठ जून को पहुंचा था और पूरे देश में मानसून की आमद 19 जुलाई को हुई थी।इस वर्ष मानसून सामान्य रहेगा। देश में 75 फीसदी तक बारिश जून से सितंबर में दक्षिण-पश्चिम मानसून से होती है यह देश में न केवल खेती के लिए महत्वपूर्ण है बल्कि जलाशयों में पानी भरने के साथ ही अर्थव्यवस्था के लिए भी जरूरी है जो मुख्य तौर पर कृषि आधारित है। वहीं देश में उत्तरपूर्वी मानसून भी बारिश लेकर आता है। उत्तरपूर्वी मानसून से अक्टूबर से दिसंबर के बीच तमिलनाडु, पुडुचेरी, केरल और आंध्र प्रदेश के हिस्सों में बारिश होती है। इस साल भारतीय मौसम विभाग ने 1960 से 2019 के आंकड़ों के आधार पर देश के विभिन्न हिस्सों में मानसून के सक्रिय होने और जाने की तारीखों को संशोधित किया है। पिछली तारीखें 1901 और 1940 के आंकड़ों पर आधारित थीं। केरल में मानसून आने की तारीख हालांकि अब भी एक जून ही है।राष्ट्रीय राजधानी में मानसून की नई सामान्य तारीख 23 जून से बढ़ाकर 27 जून कर दी गई है यानी दिल्ली में चार दिन की देरी से मानसून दस्तक देगा। इसी तरह से मुंबई और कोलकाता में मानसून की तारीख 10 जून से 11 जून की गई है और चेन्नई के लिए एक जून से चार जून की गई है। हालांकि उत्तर पश्चिम भारत के सुदूरवर्ती हिस्से में मानसून मौजूदा 15 जुलाई की अपेक्षा आठ जुलाई को पहुंच जाएगा। वहीं, मानसून के वापस जाने की तारीख दक्षिण भारत में 15 अक्टूबर है।
2022-10-01 04:36
उद्धरण 3 इमारत
Kerala: केरल में ऑनलाइन गेम रमी पर लग सकती है अंकुश, गेमिंग कानून में हो सकते हैं संशोधन******Highlights केरल सरकार ऑनलाइन गेमिंग को विनियमित करने के लिए अपने गेमिंग कानूनों में संशोधन करने पर विचार कर रही है। ऑनलाइन रमी को मशहूर हस्तियों द्वारा बढ़ावा देने और लोगों को ताश के खेल को लेकर आकर्षित करने के लिए बड़े पैमाने पर विज्ञापन अभियान चलाए जाने के कारण कई लोग कथित तौर पर वित्तीय बर्बादी का शिकार हो गए हैं और कुछ लोगों ने तो आत्महत्या भी कर ली है। इसे लेकर केरल सरकार सख्त नजर आ रहा है।मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने राज्य विधानसभा में कहा है कि सरकार पैसे के लिए खेले जाने वाले ऑनलाइन रमी गेम पर प्रतिबंध को रद्द करने के जस्टिस के आदेश के खिलाफ केरल हाईकोर्ट में अपनी अपील के परिणाम के आधार पर संशोधन लाने के बारे में विचार कर रही है। हालांकि, ऐसा होने तक पुलिस सहित राज्य के विभिन्न विभाग स्कूलों और कॉलेजों में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित कर रहे हैं। विजयन ने मंगलवार को कहा कि इसके अलावा, एक सामाजिक पुलिस व्यवस्था, छात्र पुलिस कैडेटों की विभिन्न योजनाएं और मीडिया के माध्यम से जागरूकता अभियान भी लोगों को इस तरह के खेलों के आदी होने से रोकने के लिए चलाए किए जा रहे हैं।मुख्यमंत्री ने यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फंट (यूडीएफ) विधायक ए.पी.अनिलकुमार के सवाल के जवाब में ये बातें कहीं जिसमें कुमार ने पूछा था कि पैसे के लिए खेले जाने वाले ऑनलाइन रमी खेलों पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए या नहीं? उन्होंने कहा था कि ऑनलाइन रमी ने कई लोगों को कथित तौर पर वित्तीय बोझ तले दबा दिया है और अन्य को आत्महत्या करने के लिए उकसाया है।विजयन ने कहा कि ऑनलाइन गेमिंग साइट्स पर बच्चे सहित किसी के लिए भी इस तरह का खेल खेलने के लिए अकाउंट खोलना आसान है और लोगों को बड़ी पुरस्कार राशि और अन्य आकर्षक पुरस्कारों के प्रस्तावों के माध्यम से लुभाया जाता है। इस तरह की साइटों के काम करने का तरीका यह है कि पहले लोगों को इस तरह के खेलों का आदी बनाने के लिए मुफ्त की पेशकश की जाए्र और उसके बाद उन्हें और अधिक खेलने और अधिक पैसा खर्च करने के लिए उकसाया जाए। जैसे-जैसे लोग खेलों से जुड़ते जाते हैं, उन्हें पता नहीं चलता कि वे किसके खिलाफ खेल रहे हैं और ऐसी खबरें हैं कि कृत्रिम बुद्धिमत्ता आधारित खेल अक्सर दूसरी तरफ कोई और खेल रहा होता है।मुख्यमंत्री ने कहा कि रमी जैसे ऑनलाइन गेम की लोकप्रियता में वृद्धि के साथ, लोन और ऑनलाइन लोन विज्ञापनों की पेशकश करने वाले मोबाइल ऐप में भी वृद्धि हुई है। जो लोग गेम पर पैसा गंवा देते हैं वे खेल जारी रखने के लिए लोन लेते हैं जो कथित तौर पर एक दुष्चक्र में बदल जाता है और उन्हें वित्तीय बर्बादी की ओर ले जाता है। राज्य सरकार ने पैसे के लिए खेले जाने वाले ऑनलाइन रमी गेम पर बैन लगाने के लिए पिछले साल फरवरी में केरल गेमिंग एक्ट 1960 में संशोधन किया था, लेकिन गेमिंग कंपनियों द्वारा दायर याचिकाओं पर सुनवाई के बाद सितंबर 2021 में इसे हाईकोर्ट ने रद्द कर दिया था।
वापसी