नई पोस्ट करें

भारत में दौड़ेगी 600 किलोमीटर प्रति घंटे तक की रफ्तार से ट्रेने, रेल मंत्रालय की 6 विदेशी कंपनियों से बातचीत जारी

2022-10-01 06:15:09 813

भारतमेंदौड़ेगी600किलोमीटरप्रतिघंटेतककीरफ्तारसेट्रेनेरेलमंत्रालयकी6विदेशीकंपनियोंसेबातचीतजारीगोमती रिवर फ्रंट पर 27 करोड़ रुपये खर्च करेगी योगी सरकार******उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने ही को सजाने-संवारने का जिम्मा लखनऊ विकास प्राधिकरण को दे दिया है और इस पर लगभग 27 करोड़ रूपये खर्च किए जाएंगे। पूर्व मुख्यमंत्री की सरकार के दौरान गोमती रिवर फ्रंट के निर्माण की कवायद शुरू की गई थी। इस पर पूर्ववर्ती सरकार की ओर से काफी पैसा भी खर्च किया गया था लेकिन सरकार बदलने के बाद रिवर फ्रंट जांच के घेरे में आ गया था लेकिन एक वर्ष बीत जाने के बाद अब फिर से इस पर काम शुरू हो रहा है।लखनऊ विकास प्राधिकरण के अधिकारियों के मुताबिक प्राधिकरण की बैठक में इस बात का फैसला लिया गया। इसके लिए शासन की तरफ से 27 करोड़ रूपये जारी कर दिए गए हैं। विभाग के सूत्रों ने बताया कि रबर डैम से लेकर हनुमान सेतु तक विकसित लगभग 16 किलोमीटर लंबी रिवर फ्रंट की मरम्मत और इसके सौंदर्यीकरण के लिए विभाग की तरफ से प्रस्ताव शासन को पहले ही भेजा जा चुका था। इसके तहत यहां पर पेड़-पौधे, सफाई व्यवस्था का काम एलडीए ने करने की इच्छा जताई थी। लेकिन तब शासन स्तर पर निर्णय नहीं हो पाया था।लखनऊ विकास प्राधिकरण उद्यान विभाग के अधिकारी एसपी सिसोदिया के मुताबिक 370 एकड़ में फैले रिवर फ्रंट में गार्डेनिंग का काम एलडीए करेगा। विभाग के अधिकारियों के मुताबिक काम हाथ में आते ही पहले इसकी वीडियोग्राफी करवाकर शासन को भेजी जाएगी ताकि वर्तमान स्थिति का पता रहे। इसके बाद प्राधिकरण अपना काम शुरू करेगा।प्राधिकरण के उपाध्यक्ष प्रभु नारायण सिंह ने बताया कि रिवर फ्रंट पर गार्डनिंग के काम के लिए विभाग की तरफ से प्रस्ताव भेजा गया था। शासन की मंजूरी मिल गई है और इसके लिए 27 करोड़ की धनराशि भी जारी कर दी गई है।

भारतमेंदौड़ेगी600किलोमीटरप्रतिघंटेतककीरफ्तारसेट्रेनेरेलमंत्रालयकी6विदेशीकंपनियोंसेबातचीतजारीSkin Care : सेब का सिरका स्किन के लिए है बेहद फायदेमंद, बस इन बातों का रखें ध्यान******Highlights : खूबसूरत और शाइनिंग स्किन हर शख्स की ख्वाहिश होती है। फिर चाहे वो लड़का हो या लड़की। क्योंकि स्किन को बेहतरीन बनाने का चाह तो हर कोई रखता है। अक्सर लोग अपने स्किन को अच्छी बनाने के लिए तरह-तरह के प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल किया करते हैं। वहीं कुछ लोग घर पर ही नए-नए नुस्खों से अपनी स्किन के साथ एक्सपेरिमेंट्स करते हुए नज़र आते हैं। आज हम आपके लिए लेकर आए हैं और खास तरीका। जिसे आप आसानी से घर बैठे इस्तेमाल कर सकते हैं और अपनी स्किन को बेहतरीन बना सकते हैं।सेब का सिरका सेहत के लिए बहुत लाभकारी होता है। इसे एप्पल साइडर विनेगर (apple cider vinegar) भी कहा जाता है। इसे सेब से बनाया जाता है। इसकी खास बात ये है कि आप इस सिरके को लंबे समय तक स्टोर करके रख सकते हैं। ये जल्दी से खराब नहीं होता है। सेब के सिरके में कई विटामिन, एंजाइम, प्रोटीन और लाभ पहुंचाने वाले तत्व होते हैं। इसके अलावा इसमें एसिटिक एसिड की मात्रा काफी ज्यादा होती है।सेब का सिरका सेहत के साथ-साथ आपकी स्किन के लिए भी काफी अच्छा रहता है। आप इसे अपने स्किन केयर रुटीन में भी शामिल कर सकते हैं। सेब के सिरके के इस्तेमाल से एक्ने की समस्या दूर होती है। साथ इससे आपकी स्किन खूबसूरत और ब्राइट भी होती है। इतना ही नहीं इस सिरके में त्वचा के संक्रमण को कम करने और जलन को शांत करने वाले गुण भी पाए जाते हैं।भारतमेंदौड़ेगी600किलोमीटरप्रतिघंटेतककीरफ्तारसेट्रेनेरेलमंत्रालयकी6विदेशीकंपनियोंसेबातचीतजारीजानें, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पद की शपथ कब तक ले सकते हैं PTI चीफ इमरान खान****** की पार्टी ने घोषणा की है कि खान देश के स्वतंत्रता दिवस 14 अगस्त से पहले प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे। में अगली सरकार बनाने के इरादे से इमरान की पार्टी छोटे दलों और निर्दलीय उम्मीदवारों से संपर्क की कोशिश कर रही है। पाकिस्तान में 25 जुलाई को हुए के बाद पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी है, हालांकि पार्टी के पास खुद के दम पर सरकार बनाने के लिए जरूरी नहीं है।PTI नेता नईनुल हक ने बीती रात मीडिया को बताया कि संख्या बल पूरा करने के लिए सलाह-मशविरा जारी है।हक ने कहा, ‘हमने अपना काम कर लिया है और वह (इमरान खान) 14 अगस्त से पहले प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे।’ पाकिस्तान निर्वाचन आयोग (ECP) द्वारा घोषित पूरे संसदीय नतीजों के अनुसार PTI को 115 आम सीटें मिली हैं जो साधारण बहुमत से 12 कम हैं। PML-N एवं PPP को क्रमश: 64 और 43 सीटें मिली हैं। संसद के निचले सदन पाकिस्तान की नेशनल असेंबली (NA) में कुल 342 सदस्य हैं जिसमें से 272 सीटों का चुनाव सीधे तौर पर होता है। सरकार गठन के लिये 172 सीटें हासिल करना जरूरी है।बहरहाल राजनीतिक गतिविधियों में तेजी आयी है और राजनीति की बिसात पर पर्याप्त संख्याबल जुटाने के लिए सभी दल खुली बैठकें और गुप्त संवाद कर रहे हैं। ‘डॉन’ की रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान की दो प्रमुख पार्टियां पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) और (PML-N), संसद में PTI को कड़ी टक्कर देने के इरादे से संयुक्त रणनीति बनाने के लिए आने वाले दिनों में बैठक कर सकती हैं। पाकिस्तान की इलेक्ट्रॉनिक मीडिया शनिवार से अहम सरकारी विभागों एवं संघीय कैबिनेट के संभावित सदस्यों के नाम पर अटकल लगा रही है।PTI के जिन नेताओं ने एक से अधिक सीट पर जीत दर्ज की है उन्हें अन्य सीट खाली करनी होगी क्योंकि कानून के अनुसार एक उम्मीदवार एक ही सीट का प्रतिनिधित्व कर सकता है। PTI के अध्यक्ष खान ने 5 सीटों से जीत दर्ज की है, इसलिए उन्हें 4 सीटें खाली करनी होगी। पूर्व गृह मंत्री चौधरी निसार अली खान को शिकस्त देने वाले तक्षशिला से गुलाम सरवर खान ने भी 2 NA सीटों पर जीत दर्ज की है इसलिए उन्हें भी एक सीट छोड़नी होगी। खैबर पख्तूनख्वा के पूर्व मुख्यमंत्री परवेज खटक ने भी नेशनल असेंबली और प्रांतीय असेंबली दोनों सीटों पर जीत दर्ज की है। इसलिए अगर PTI उन्हें मुख्यमंत्री के पद के लिए फिर से नामांकित करती है तो उन्हें भी NA सीट छोड़नी होगी। ऐसे में पार्टी की सीटें घटकर 109 हो जाएंगी।अखबार के अनुसार इन सब गणनाओं के बाद PTI नेतृत्व ने अब अन्य छोटे समूहों और निर्दलीय उम्मीदवारों से संपर्क करने का फैसला किया है। पार्टी पहले ही यह घोषणा कर चुकी है कि वह PML-N और PPP के साथ गठजोड़ नहीं करेगी। ‘डॉन’ की रिपोर्ट के अनुसार PTI के पूर्व महासचिव जहांगीर तरीन ने निर्दलीय उम्मीदवारों और मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट-पाकिस्तान (MQM-P) से संपर्क किया। एमक्यूएम-पी ने 6 सीटों पर जीत दर्ज की है जबकि 13 निर्दलीय उम्मीदवारों ने NA सीट पर जीत हासिल की है।अगर PTI को GDA, MQM-P, PML-Q और अवामी मुस्लिम लीग का समर्थन हासिल हो जाता है तब भी यह संख्या 122 हो पाएगी जो जरूरी संख्या बल से 15 कम है। यह आंकड़ा चुनाव में जीत दर्ज करने वाले निर्दलीय उम्मीदवारों की संख्या से अधिक है। जिन अन्य पार्टियों का NA में प्रतिनिधित्व है उनमें 3 सीटों के साथ बलूचिस्तान नेशनल पार्टी-मेंगल (BNP-M), एक-एक सीटों के साथ जम्हूरी वतन पार्टी, अवामी नेशनल पार्टी और पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसानियत शामिल है।PPP और PML-N ने चुनाव नतीजों को खारिज किया है। बहरहाल दोनों पार्टियों में सूत्रों ने ‘डॉन’ को बताया कि वे मुत्ताहिदा मजलिस-ए-अमल (एमएमए) द्वारा नेशनल असेंबली के शपथ ग्रहण सत्र के बहिष्कार के आह्वान का समर्थन नहीं करेंगे। एमएमए द्वारा आयोजित सर्वदलीय बैठक में हिस्सा लेने वाले के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘हमने संसद में आक्रामक विपक्ष की भूमिका निभाने का फैसला किया है।’ PPP के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि उन्होंने अहम संसदीय मंत्रालयों के चुनाव के लिये अब तक किसी रणनीति पर अंतिम निर्णय नहीं लिया है। PPP के अध्यक्ष ने चुनाव बाद के परिदृश्य में आगे की रणनीति पर राजनीतिक दलों के साथ चर्चा के लिये कल एक समिति का गठन किया है। सूत्रों ने बताया कि PPP और PML-N के बीच संपर्क हुए हैं और दोनों पार्टियों के नेता कुछ दिनों में बैठक कर सकते हैं।

भारत में दौड़ेगी 600 किलोमीटर प्रति घंटे तक की रफ्तार से ट्रेने, रेल मंत्रालय की 6 विदेशी कंपनियों से बातचीत जारी

भारतमेंदौड़ेगी600किलोमीटरप्रतिघंटेतककीरफ्तारसेट्रेनेरेलमंत्रालयकी6विदेशीकंपनियोंसेबातचीतजारीHijab Controversy: विदेश मंत्रालय ने कहा-आंतरिक मुद्दों पर ‘किसी अन्य मकसद से प्रेरित टिप्पणियां’ स्वीकार नहीं होंगी****** भारत ने कर्नाटक में कुछ शैक्षणिक संस्थानों में वर्दी संबंधी नियमों को लेकर विवाद पर कुछ देशों की आलोचना को शनिवार को खारिज कर दिया और कहा कि देश के आंतरिक मामलों पर ‘किसी अन्य मकसद से प्रेरित टिप्पणियां’ स्वीकार्य नहीं है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा कि जो लोग भारत को जानते हैं उन्हें वास्तविकताओं की पर्याप्त समझ होगी। उन्होंने कहा, ‘कर्नाटक के कुछ शैक्षणिक संस्थानों में वर्दी संबंधी नियमों से जुड़े मामले पर कर्नाटक उच्च न्यायालय विचार कर रहा है।’ उन्होंने कहा, ‘हमारे संवैधानिक ढांचे और तंत्र, लोकतांत्रिक लोकाचार तथा राजतंत्र के संदर्भ में मुद्दों पर विचार किया जाता है, उनका समाधान निकाला जाता है। जो लोग भारत को अच्छी तरह जानते हैं, उन्हें इन वास्तविकताओं की पर्याप्त समझ होगी। हमारे आंतरिक मुद्दों पर किसी अन्य मकसद से प्रेरित टिप्पणियां स्वीकार्य नहीं है।’ बागची ने कर्नाटक में कुछ शैक्षणिक संस्थानों में वर्दी संबंधी नियमों पर कुछ देशों की टिप्पणियों के बारे में मीडिया द्वारा सवाल पूछे जाने पर यह प्रतिक्रिया दी।गौरतलब है कि अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता को बढ़ावा देने के लिए अमेरिका के ‘एंबेसडर-एट-लार्ज’ राशिद हुसैन ने शुक्रवार को कहा कि स्कूलों में हिजाब पर प्रतिबंध ‘धार्मिक स्वतंत्रता का उल्लंघन’ है। पाकिस्तान ने बुधवार को इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायोग के प्रभारी को तलब किया और कर्नाटक में मुस्लिम छात्राओं को हिजाब पहनने से रोकने पर अपनी चिंताएं व्यक्त की थी।इनपुट-एजेंसीभारतमेंदौड़ेगी600किलोमीटरप्रतिघंटेतककीरफ्तारसेट्रेनेरेलमंत्रालयकी6विदेशीकंपनियोंसेबातचीतजारी2020 में आयकर रिटर्न दाखिल करने वालों की संख्या 6 साल में दोगुना हुई******आयकर रिटर्न की संख्या्6 साल में दोगुनानई दिल्ली। ज्यादा से ज्यादा लोगों को टैक्स सिस्टम से जोड़ने की सरकार की कोशिश लगातार कामयाब हो रही है। 2014 से लेकर अब तक टैक्स रिटर्न दायर करने वालों की संख्या दोगुना हो गई है। वित्त मंत्री ने आज बजट भाषण में जानकारी दी की 2020 में टैक्स रिटर्न भरने वालों की संख्या 6.84 करोड़ हो गई, जो कि 2014 में 3.31 करोड़ थी। टैक्स रिटर्न का मतलब टैक्स देना नहीं होता ये सिर्फ अपनी आय को टैक्स विभाग के सामने घोषित करना होता है, विभाग आपके द्वारा घोषित आय के आधार पर तय करता है कि आप पर टैक्स की देनदारी बनती है या नहीं। हालांकि रिटर्न की वजह से आप सिस्टम में शामिल हो जाते हो और आय और उसपर टैक्स को लेकर पारदर्शिता बढ़ती है।भारतमेंदौड़ेगी600किलोमीटरप्रतिघंटेतककीरफ्तारसेट्रेनेरेलमंत्रालयकी6विदेशीकंपनियोंसेबातचीतजारीTaliban News: बदल गया तालिबान! IS हमले से ध्वस्त हुए गुरुद्वारे को बनाने में कर रहा मदद, पढ़िए डिटेल******Highlights अफगानिस्तान तालिबान राज शुरू होने के बाद अराजकता जैसा ही माहौल है। इस कारण दो माह पहले करते परवान गुरुद्वारे पर IS ने हमला किया था। इससे इमारत को काफी नुकसान पहुंचा था। अब तालिबान इसे फिर से बनाने में जुट गया है। इसे फिर से तैयार करने के लिए 40 लाख अफगानी रुपए लगा दिए हैं। साथ ही यहां पहरेदारी भी बढ़ा दी है। दो महीने पहले काबुल के करते परवान गुरुद्वारे पर इस्लामिक स्टेट खुरासान प्रांत (ISKP) का हमला हुआ था। जिसमें इस पवित्र इमारत को काफी नुकसान पहुंचा। 40 लाख अफगानी रुपये की राशि से इस समय अफगान कारीगर दीवारों पर पेंटिंग करने, फर्श की टाइलें बिछाने और मुख्य हॉल को अंतिम रूप दे रहे हैं। जहां गुरु ग्रंथ साहिब को रखा जाएगा।40 लाख अफगानी रुपयों की सहयोग राशि दीकाबुल में हिंदू-सिख समाज के प्रमुख और गुरुद्वारे को फिर से तैयार करने के काम की निगरानी रामसरन भसीन कर रहे हैं। भसीन ने कहा कि ‘तालिबान के इंजीनियरों सहित उनके कई लोग यहां आए, नुकसान का आकलन किया और हमें पैसे दिए। तालिबान ने 40 लाख अफगानी रुपये की राशि सहयोग के रूप में दी है। साथ ही पुनर्निर्माण को लगभग पूरी तरह से इस्लामिक अमीरात से फंड दिया गया है। हमने कोई फंड नहीं जुटाया है।’काबुल में गुरुद्वारा तैयार करने के बीच सुरक्षा के लिए कड़ा किया पहराभसीन ने कहा कि यह काबुल का सबसे प्रमुख गुरुद्वारा है। यहां पर तालिबान ने सुरक्षा के लिए कड़ा पहरा कर दिया है। इसे जल्द से जल्द फिर तैयार करना हमारी जिम्मेदारी है। भसीन ने बताया कि अगस्त माह के अंत तक गुरुद्वारा फिर बनकर तैयार हो जाएगा।सालभर पहले सत्ता में आया था तालिबान,गौरतलब है कि तालिबान ने एक साल पहले अफगानिस्तान की सत्ता फिर से ​हथिया ली थी। तब भारतीय नागरिक खासतौर पर सिख समुदाय के लोग भारत या अन्ये देशों की ओर पलायन कर गए थे। करते परवान गुरुद्वारे पर हमला करने के बाद तीन और जत्थों को बाहर निकाला गया।अफगानिस्तान में भारत ने की है खाद्यान्न की मददतालिबान ने शासन करने के बाद भले ही कट्टरपंथी आचरण न छोड़ा हो। लेकिन पहले के तालिबानी शासन के मुकाबले थोड़ा समझदारी से काम करना चाह रहा है। भारत ने भी तालिबान के शासन में अफगानिस्ताना की जनता के लिए खाद्यान्न हाल के समय में उपलब्ध कराया है। साथ ही भारतीय प्रतिनिधियों की बैठक भी तालिबान के साथ हुई है। इस पर पाकिस्तान को चिढ़ भी हुई।

भारत में दौड़ेगी 600 किलोमीटर प्रति घंटे तक की रफ्तार से ट्रेने, रेल मंत्रालय की 6 विदेशी कंपनियों से बातचीत जारी

भारतमेंदौड़ेगी600किलोमीटरप्रतिघंटेतककीरफ्तारसेट्रेनेरेलमंत्रालयकी6विदेशीकंपनियोंसेबातचीतजारीIPL 2018: इन दो कारणों की वजह से अब किसी भी हाल में नहीं हारेगी दिल्ली डेयरडेविल्स!****** के छठे मैच में आज का सामना से हो रहा है। दिल्ली की टीम ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया और इसी के साथ टीम की जीत भी तय हो गई। अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर टॉस का मैच जीतने से क्या संबंध है। तो हम आपको बता दें कि मौजूदा आईपीएल में अब तक उसी टीम को जीत मिली है जिसने टॉस जीतने के बाद गेंदबाजी चुनी है। अब तक हर मैच में कप्तानों ने इसी फॉर्मूले को अपनाया है और हर बार नतीजा उन्हीं के पक्ष में आया है। इस लिहाज से एक कारण दिल्ली की जीत का ये भी है।वहीं, दिल्ली की जीत के दूसरे कारण की बात करें तो टीम में दुनिया के सबसे विस्फोटक बल्लेबाज ग्लेन मैक्सवेल की वापसी हो गई है। मैक्सवेल पहले मैच में टीम का हिस्सा नहीं थे और उस मैच में टीम को उनकी कमी साफ तौर पर खली थी। लेकिन इस मैच में मैक्सवेल अपना जलवा दिखाने को पूरी तरह से तैयार नजर आ रहे हैं। मैक्सवेल की दिल्ली की टीम में कितनी अहमियत है ये कप्तान गंभीर के बयान से ही पता चल दाता है जो उन्होंने टॉस के बाद दिया। हमारी टीम अब पूरी ताकत के साथ मैदान पर उतर रही है। ग्लेन मैक्सवेल की वापसी हो चुकी है और वो बेहतरीन बल्लेबाज हैं। किसी को भी ये बताने की जरूरत नहीं है कि मैक्सवेल किस कदर खतनाक हैं। गौतम गंभीर, कॉलिन मुनरो, श्रेयस अय्यर, ऋषभ पंत, ग्लेन मैक्सवेल, विजय शंकर, क्रिस मॉरिस, राहुल तेवतिया, शहबाज नदीम, ट्रेंट बोल्ट, मोहम्मद शमी।भारतमेंदौड़ेगी600किलोमीटरप्रतिघंटेतककीरफ्तारसेट्रेनेरेलमंत्रालयकी6विदेशीकंपनियोंसेबातचीतजारीDiwali 2019: जानें कब है दिवाली, इस दिन मनाया जाएगा धनतेरस और भैयादूज****** : हिंदू त्योहारों में से का पर्व बहुत ही खास है। यह त्योहार पूरे 5 दिन का होता है।भारत के इस सबसे ज्यादा मनाए जाने वाले त्योहार का संबंध भगवान राम के लंका विजय के बाद घर लौटने से जुड़ा है। जब रावण का वध करने के बाद भगवान राम अधोध्या लौटे थे तो अयोध्यावासिय़ों ने दीप जलाकर उनका स्वागत किया था। दिवाली का संबंध लक्ष्मी और कुबेर पूजा से भी है। पंचमहोत्सव रूपी इस पांच दिनों के त्योहार कीशुरूआत धनतेरस के साथ होती है और अंत भैयादूज के साथ होता है। इसके बीच में नरक चतुर्थी, गोवर्धन पूजा जैसे पर्व आते है। इन सब में सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण दिन दीपावली का दिन माना जाता है।इस बार दिवाली का त्योहार 27 अक्टूबर को मनाया जाएगा। शास्त्रों के अनुसार दीवालीकार्तिक मास की अमावस्या तिथि को मनाई जाती है जिस समय महानिशीथ काल होता है। जानें किस दिन है कौन सा पर्व।इस साल धनतेरस का त्योहार 25 अक्टूबर को मनाया जाएगा। इस दिन धन के देवता कुबेर की पूजा होता है। इस दिन ज्वैलरी, सोने के सिक्के, गैजेट्स, वाहन आदि खरीदना शुभ माना जाता है। इसलिए इस दिन छोटी ही सही लेकिन कुछ न कुछ खरीदें जरूर।छोटी दिवाली को ही नरक चतुर्दशी के नाम से जाना जाता है। इस बार ये त्योहार 26 अक्टूबर को मनाया जाएगा। यह दिन यम की पूजा के लिए निर्धारित है। इस दिन तक घर की सफाई की जाती है और रात के समय शौचालय और नालियों के पास तेल के दीपक जलाकर रखेजाते हैं।दिवाली को मुख्य त्योहार माना जाता है। इस दिन मां लक्ष्मी और गणपति की पूजा करने के साथ-साथ पूरे घर में दीपक या फिर लाइट्स के द्वारा रोशन किया जाता है। इस बार दिवाली का त्योहार 27 अक्टूबर को है।यह त्योहार दीपावली के बाद मनाया जाता है। इसे 'अन्नकूट' नाम से भी जाना जाता है। इस बार यह पर्व 28 अक्टूबर को पड़ रहा है। इस दिन घर के आंगन या बाहर गायर के गोबर से गोवर्धन पहाड़ की अल्पना बनाकर पूजा की जाती है। इसके साथ ही रात को रोजाना अन्नकूट भोग लगता है।लगातार 5 दिन चलने वाले त्योहार का भैया दूज के साथ समापन होता है। इस बार भैयादूज का त्योहार 29 अक्टूबर को मनाया जाएगा। यह त्योहार मुख्यरूप से भाई और बहन का होता है। इस दिन भाई और बहन मिलकर यमुना नदी में स्नान करके रक्षासूत्र बांधा जाता है। मान्यता है कि ऐसा करने से अकाल मृत्यु नहीं होती है।

भारत में दौड़ेगी 600 किलोमीटर प्रति घंटे तक की रफ्तार से ट्रेने, रेल मंत्रालय की 6 विदेशी कंपनियों से बातचीत जारी

भारतमेंदौड़ेगी600किलोमीटरप्रतिघंटेतककीरफ्तारसेट्रेनेरेलमंत्रालयकी6विदेशीकंपनियोंसेबातचीतजारीअलर्ट रहें ! कोविड संक्रमण के बाद कुछ ही घंटों में फैल सकता है ओमिक्रॉन******Highlightsएक विशेषज्ञ के मुताबिक, ओमिक्रॉन वेरिएंट द्वारा संक्रमित व्यक्ति से कुछ ही घंटों में वायरस फैल सकता है। दूसरी ओर, तीन से चार दिनों में कोविड महामारी ने तेजी पकड़ी है। यह जानकारी टास समाचार एजेंसी ने वेक्टर स्टेट रिसर्च सेंटर ऑफ वायरोलॉजी एंड बायोटेक्नोलॉजी की येकातेरिनबर्ग शाखा के प्रमुख अलेक्जेंडर सेम्योनोव के हवाले से दी। उन्होंने रोसिया-1 टेलीविजन चैनल के साथ एक साक्षात्कार में कहा, सबसे दुखद बात यह है कि, संक्रमण की तीव्रता के कारण तीन से चार दिनों में नहीं बल्कि लोग कुछ ही घंटों में कोविड से संक्रमित हो सकते हैं। साथ ही उन्होंने कहा, ओमिक्रॉन लगभग एक सप्ताह में ठीक हो जाता है।हांगकांग विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं के नेतृत्व में किए गए एक अध्ययन के अनुसार, ओमिक्रॉन डेल्टा वेरिएंट की तुलना में 70 गुना तेजी से फैलता है। 26 नवंबर को, विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने दक्षिण अफ्रीका में पाए जाने वाले बी.1.1.1.529 वेरिएंट को ओमिक्रॉन नाम दिया है। अब तक यह 120 से अधिक देशों में फैल चुका है, डेल्टा वेरिएंट से ज्यादा ओमिक्रॉन घातक बताया गया है।उधर रूस में कोरोना वायरस के नए स्वरूप ओमीक्रोन के चलते महामारी के मामलों में अब तक की सबसे बड़ी वृद्धि के बीच राजधानी मॉस्को में क्लिनिक अब 12-17 आयु वर्ग के बच्चों के लिए देश में विकसित कोविड रोधी टीके स्पूतनिक एम की पेशकश कर रहे हैं। अधिकारियों ने कहा कि यह टीका 12-17 आयु वर्ग के बच्चों के लिए पिछले सप्ताह रूस के कई क्षेत्रों में उपलब्ध हो गया और अब मॉस्को में 13 क्लिनिक संबंधित आयु समूह के बच्चों के लिए इसकी पेशकश कर रहे हैं।रूस में बच्चों का कोविड रोधी टीकाकरण ऐसे समय हो रहा है जब देश में रिकॉर्ड संख्या में महामारी के मामले सामने आ रहे हैं। देश में सोमवार को संक्रमण के 1, 24,070 नए मामले सामने आए जबकि इससे एक दिन पहले 1,21,228 मामले सामने आए थे।इनपुट-एजेंसी

भारतमेंदौड़ेगी600किलोमीटरप्रतिघंटेतककीरफ्तारसेट्रेनेरेलमंत्रालयकी6विदेशीकंपनियोंसेबातचीतजारीमायावती की प्रधानमंत्री पद की दावेदरी पर बोली कांग्रेस- सरकार हमारे नेतृत्व में बनेगी****** के चुनाव नहीं लड़ने और खुद को प्रधानमंत्री पद की दौड़ में रहने का संकेत देने की पृष्ठभूमि में कांग्रेस ने बुधवार को कहा कि 2019 में सरकार उसके नेतृत्व में बनेगी और जिन दलों के साथ मतभेद दिखाई दे रहा है वो भी साथ होंगे।पार्टी के मुख्य प्रवक्ता ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘जहां तक किसी व्यक्ति विशेष का चुनाव लड़ने या ना लड़ने का प्रश्न है, मुझे लगता है कि ये उनका अपना निर्णय हैं। वो एक अलग पार्टी में हैं और उसकी मुखिया हैं, हम उस पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहेंगे।’’यह पूछे जाने पर कि क्या चुनाव नहीं लड़ने के कारण मायावती प्रधानमंत्री पद की दौड़ से बाहर हो गई हैं तो उन्होंने, ‘‘मुझे लगता है कि आप विश्वास रखिए कांग्रेस के नेतृत्व में, 2019 में सरकार बनने वाली है और बहुत सारे साथी जो हैं, जिनसे आपको आज लगता है कि हमारा थोड़ा-थोड़ा मनभेद है या मतभेद है, उन सबको हम एक सूत्र में पिरो लेंगे।’’दरअसल, बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने बुधवार को आगामी लोकसभा चुनाव न लड़ने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि वह गठबंधन को जिताना चाहती हैं और उनके खुद चुनाव जीतने की बजाय गठबंधन की जीत जरूरी है। उन्होंने कहा कि वह जब चाहें, लोकसभा का चुनाव जीत सकती हैं। उनका गठबंधन बेहतर स्थिति में है। वह लोकसभा का चुनाव नहीं लड़ेंगी और आगे जरूरत पड़ने पर किसी भी सीट से चुनाव लड़ सकती हैं।भारतमेंदौड़ेगी600किलोमीटरप्रतिघंटेतककीरफ्तारसेट्रेनेरेलमंत्रालयकी6विदेशीकंपनियोंसेबातचीतजारीAmerica: अमेरिका के इलिनोइस में फ्रीडम डे परेड में फायरिंग, भीड़ पर चलाईं अंधाधुंध गोलियां******Highlightsअमेरिका में फ्रीडम डे परेड के दौरान फायरिंग की खबर सामने आई है। शिकागो के हाइलैंड पार्क इलाके में फ्रीडम डे परेड निकाली जा रहा थी। इसी परेड के दौरान ये गोलीबारी हुई है। गोलीबारी के बाद शिकागो के हाइलैंड इलाके मे अफरा-तफरी मच गई। इस शूटआउट में 5 लोगों के मरने की खबर आ रही है और कई लोगों के घायल होने की खबर है। पुलिस हमलावर की तलाश कर रही है। अमेरिका में 4 जुलाई को स्वतंत्रता दिवस समारोह मनाया जाता है। इस दौरान देशभर में जगह-जगह पर परेड का आयोजन किया जाता है। इसको लेकर इलिनोइस शहर के हाईलैंड पार्क में फ्रीडम डे परेड आयोजित की गई थी। इसी दौरान फ्रीडम डे परेड में भाग लेने वाले लोगों पर शूटर ने गोलीबारी शुरू कर दी। रिपोर्ट के मुताबिक एक छत से शूटर ने ताबड़तोड़ गोलीबारी की है। रिपोर्ट के मुताबिक इस गोलीबारी में कई लोगों को गोली लगने की खबर है। गोली चलाने वाला एक रिटेल शॉप की छत पर चढ़ गया और वहां से लोगों पर फायरिंग शुरू कर दी।बता दें कि हाल ही में अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने बंदूक हिंसा रोधी बिल को मंजूरी दी थी। इस विधेयक को डेमोक्रेटिक और रिपब्लिकन दोनों राजनीतिक दलों का समर्थन मिला। टेक्सास के एक स्कूल में एक बंदूकधारी शख्स ने अंधाधुंद फायरिंग में 19 छात्रों और दो शिक्षकों को बेरहमी से मार दिया था। इस घटना के बाद से ही देश में हथियार खरीदने संबंधी एक कड़े कानून के लिए सरकार पर दबाव बनाया जा रहा था। इसी तरह की आज फ्रीडम डे परेड में फायरिंग की घटना सामने आई है।अमेरिका को हिलाकर रख देने वाली गोलीबारी की घटनाओं के परिप्रेक्ष्य में बंदूक हिंसा रोधी कानून बेहद महत्वपूर्ण है। टेक्सास में हुई घटना से कुछ दिन पहले ‘नस्ली भावना’ रखने वाले 18 वर्षीय एक श्वेत युवक ने अमेरिका के बफेलो शहर के एक सुपरमार्केट में अंधाधुंध गोलबारी कर 10 अश्वेत लोगों की हत्या कर दी थी।

भारतमेंदौड़ेगी600किलोमीटरप्रतिघंटेतककीरफ्तारसेट्रेनेरेलमंत्रालयकी6विदेशीकंपनियोंसेबातचीतजारीRBI ने लगाया एयरटेल पेमेंट्स बैंक पर 5 करोड़ रुपए का जुर्माना, परिचालन निर्देशों और KYC नियमों का उल्‍लंघन करने का है आरोप****** ग्राहकों की अनुमति के बगैर खाते खाेलना एयरटेल को भारी पड़ा है। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने परिचालन दिशा-निर्देशों और अपने ग्राहक को जानो (केवाईसी) नियमों का उल्लंघन करने के लिए पर पांच करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया है।रिजर्व बैंक ने कंपनी पर यह जुर्माना बैंक के दस्तावेजों की जांच करने के बाद लगाया है। उसने पाया कि ग्राहकों की ओर से बिना किसी स्पष्ट रजामंदी के लोगों के खाते खोले गए। केंद्रीय बैंक ने एक बयान में कहा कि भारतीय रिजर्व बैंक ने सात मार्च 2018 को एयरटेल पेमेंट्स बैंक लिमिटेड पर पांच करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया है। उस पर यह जुर्माना केंद्रीय बैंक द्वारा जारी किए गए केवाईसी नियमों और भुगतान बैंक परिचालन के दिशा-निर्देशों की अवहेलना करने के लिए लगाया गया है। ग्राहकों की शिकायत थी कि उनकी बिना किसी स्पष्ट रजामंदी के एयरटेल पेमेंट्स बैंक ने उनके खाते खोले हैं। इसे लेकर मीडिया में भी खबरें आई थीं, जिस पर रिजर्व बैंक ने 20-22 नवंबर 2017 को बैंक का पर्यवेक्षण दौरा किया।पर्यवेक्षण रिपोर्ट के मुताबिक बैंक के दस्तावेजों में पाया गया कि उसने केवाईसी नियमों और भुगतान बैंक परिचालन के दिशा-निर्देशों की अवहेलना की है।इसके बाद रिजर्व बैंक ने 15 जनवरी को कंपनी को कारण बताओ नोटिस जारी किया और बैंक के उत्तर का आकलन करने के बाद उस पर यह मौद्रिक जुर्माना लगाने का निर्णय किया।एयरटेल पेमेंट्स बैंक ने पिछले साल जनवरी में अपना परिचालन शुरू किया था।भारतमेंदौड़ेगी600किलोमीटरप्रतिघंटेतककीरफ्तारसेट्रेनेरेलमंत्रालयकी6विदेशीकंपनियोंसेबातचीतजारीIPL 2022: पंजाब किंग्स के पलटवार से हैरान थे केकेआर के कप्तान श्रेयस अय्यर, रसेल की तारीफ में कही यह बात******इंडियन प्रीमियर लीग 2022 के आठवें मुकाबले में कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम ने पंजाब किंग्स को 6 विकेट से हराकर टूर्नामेंट में अपनी दूसरी जीत दर्ज की। इस जीत के साथ ही केकेआर की टीम पॉइंट्स टेबल में अब 4 अंकों के साथ पहले स्थान पर आ गई है। मैच के बाद केकेआर के कप्तान श्रेयस अय्यर ने कहा कि उन्होंने पंजाब किंग्स से इस तरह की वापसी की उम्मीद नहीं की थी।उन्होंने कहा, ‘‘हम स्तब्ध थे- हमने इस तरह की वापसी की उम्मीद नहीं की थी, विशेषकर पहले ही ओवर में विकेट गंवाने के बाद। लेकिन जब मैंने उन्हें अच्छी टाइमिंग के साथ रन बनाते हुए देखा तो सोचा कि मैं भी ऐसा कर सकता हूं।’’श्रेयस ने कहा कि टीम के अनुभवी स्पिनरों ने उनका काम आसान कर दिया। उन्होंने कहा, ‘‘स्पिनरों ने मैदान पर मेरा काम आसान कर दिया। वे अपनी रणनीति के साथ उतरते हैं और टीम बैठक में वे पहले से ही अपनी योजनाएं तैयार रखते हैं। उन्हें पता है कि वे क्या कर रहे हैं।’’रसेल की सराहना करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘उसे इतनी असानी से बड़े शॉट खेलते हुए देखकर काफी राहत मिली। शानदार हिटिंग। उमेश के साथ मेरी बात हुई। उसे कहा कि उसकी उम्र बढ़ रही है लेकिन मैंने कहा कि वह और अधिक फिट और मजबूत हो रहा है। वह अभ्यास में कड़ी मेहनत कर रहा है। वह भूखा है और टीम को जिताना चाहता है। ’’इस मुकाबले में पंजाब किंग्स टीम ने महज 102 रन के स्कोर पर अपने 7 विकेट गंवा दिए थे। कप्तान मयंक अग्रवाल तो पहले ही ओवर में चलते बने लेकिन निचले क्रम ने टीम के स्कोर को किसी तरह 137 रन तक पहुंचाया। वहीं गेंदबाजी के दौरान पंजाब की टीम ने भी शुरुआत में अपना शिकंजा था और उन्होंने 51 रन के स्कोर पर 4 विकेट झटक लिए थे लेकिन इसके बाद आंद्रे रसेल की तूफानी बल्लेबाजी से केकेआर ने आसानी से मैच को 6 विकेट से अपने नाम लिया।

भारतमेंदौड़ेगी600किलोमीटरप्रतिघंटेतककीरफ्तारसेट्रेनेरेलमंत्रालयकी6विदेशीकंपनियोंसेबातचीतजारीअगले 5 साल में सरसों का उत्पादन 200 लाख टन करने का लक्ष्य: एसईए******अगले 5 साल में सरसों का उत्पादन 200 लाख टन करने का लक्ष्य : एसईए खाने के तेल के मामले में देश को आत्मनिर्भर बनाने के मकसद से अब घरेलू खाद्य तेल उद्योग ने अगले पांच साल में देश में सरसों का उत्पादन बढ़ाकर 200 लाख टन करने का लक्ष्य रखा है। इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए खाद्य तेल उद्योग संगठन सॉल्वेंट एक्स्ट्रक्टर्स एसोसिएशन (एसईए) ऑफ इंडिया ने मिशन मोड में काम करने का फैसला लिया है। एसईए ने इसके लिए 'मस्टर्ड मिशन' नाम से एक परियोजना शुरू की है, जिसका पायलट प्रोजेक्ट देश के प्रमुख सरसों उत्पादक राज्य राजस्थान के कोटा और बूंदी में शुरू किया गया है, जहां 2,500 किसानों को शामिल कर 100 मॉडल फार्म तैयार किए जाएंगे। यह जानकारी के कार्यकारी अध्यक्ष डॉ. बी. वी. मेहता ने आईएएनएस को दी। उन्होंने कहा कि सरसों देश की प्रमुख तिलहन फसल है और खाद्य तेल के रूप में सरसों के तेल का उपयोग काफी होता है, लिहाजा सरसों का उत्पादन बढ़ाकर देश को खाद्य तेल के मामले में आत्मनिर्भर बनाना घरेलू उद्योग का लक्ष्य है।उन्होंने बताया कि इसके लिए नीदरलैंड की एक गैर-सरकारी संस्था सॉलिडरीडाड के अनुभव का उपयोग किया जाएगा। डॉ. मेहता ने बताया कि मस्टर्ड मिशन में यह संस्था सहयोगी की भूमिका निभा रही है। देश में बीते कुछ महीनों से खाने के तेल की महंगाई को देखते हुए केंद्र सरकार ने भी प्रस्तावित राष्ट्रीय खाद्य तेल मिशन (एनएमईओ) की तैयारी तेज कर दी है।हाल ही में आईएएनएस को दिए एक साक्षात्कार में केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ने कहा कि सरकार जल्द ही राष्ट्रीय खाद्य तेल मिशन लांच करने वाली है। सूत्रों की मानें तो आगामी वित्त वर्ष में इस एनएमईओ को अमलीजामा पहनाया जाएगा।भारत खाने के तेल की अपनी जरूरतों का तकरीबन 70 फीसदी आयात करता है, जिसमें पाम तेल का आयात सबसे ज्यादा होता है। पाम तेल के सबसे बड़े उत्पादक इंडोनेशिया और मलेशिया में बायोडीजल कार्यक्रम में पाम तेल की खपत बढ़ने से भारत में इसका आयात महंगा हो गया है, जिसके कारण तमाम खाद्य तेलों के दाम में बीते कुछ महीने में काफी वृद्धि हुई है।भारतमेंदौड़ेगी600किलोमीटरप्रतिघंटेतककीरफ्तारसेट्रेनेरेलमंत्रालयकी6विदेशीकंपनियोंसेबातचीतजारीमध्य प्रदेश उपचुनाव में BJP बनाएगी '15 महीने बनाम विकास' का नैरेटिव****** में मंत्रिमंडल विस्तार के बाद भाजपा अब उपचुनाव की तैयारी कर रही है। विधानसभा का उपचुनाव शिवराज सरकार के स्थायित्व के लिए बेहद महत्वपूर्ण है। लिहाजा राज्य के दिग्गज नेताओं के आलावा कई केंद्रीय नेता भी इस चुनाव में कैम्पेन करेंगे। कोरोना काल होने की वजह से इस उपचुनाव में सोशल मिडिया और वर्चुअल रैली का सहारा लेगी। पार्टी सूत्रों ने बताया कि प्रचार अभियान के पहले दौर में, पार्टी 60 वर्चुअल रैलियां करेगी, जिसकी शुरुआत पिछले महीने हो गई है। दूसरे दौर में 24 रैलियां की जाएंगी जो अगस्त से शुरू होंगी। इन रैलियों को राज्य के नेताओं के अलावा केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी. नड्डा संबोधित करेंगे।इस बाबत मध्यप्रदेश भाजपा के नेता हितेश वाजपेयी का कहना है, कोरोना काल में प्रचार के सभी माध्यमों का इस्तेमाल किया जा रहा है। इसके अंतर्गत डिजिटल रैली और वर्चुअल रैली का आयोजन किया जा रहा है, ताकि घर घर पहुंचा जा सके। इन रैलियों के प्रति जनता का अच्छा समर्थन भी मिल रहा है और हम कह सकते हैं कि सभी 24 विधानसभा क्षेत्रों में हमारी जीत होगी।गौरतलब है कि अन्य राज्यों की तरह यहां भी लोगों तक मैसेज पहुचाने में लिए भाजपा ने 65,000 व्हाट्सएप ग्रुप्स बनाए हैं। इन ग्रुप का भी इस्तेमाल चुनाव में किया जाएगा।इधर सोशल मीडिया के साथ साथ भाजपा विकास को भी बड़ा मुद्दा बनाने की तैयारी कर रही है। मध्यप्रदेश भाजपा के वरिष्ठ नेता और उपाध्यक्ष प्रभात झा ने इस पर आईएएनएस से कहा कि "15 महीने की कमलनाथ सरकार के विनाश और विकास के मुद्दे पर यह चुनाव लड़ा जाएगा और वैसे भी जनता तो सिर्फ विकास चाहती है। यही स्थायी मुद्दा है।चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुक्रवार यानी 10 जुलाई को रीवा में 750 मेगावाट की एशिया की सबसे बड़ी सौर ऊर्जा परियोजना के उद्घाटन को भी भुनाने की कोशिश भाजपा करेगी। इसके अलावा केन्द्र सरकार द्वारा प्रस्तावित चंबल एक्सप्रेस वे को भी बड़ा चुनावी मुद्दा बनाया जाएगा। इस बाबत चार जुलाई को सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, मुख्यमंत्री शिवराज चौहान, केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच चंबल एक्सप्रेस-वे की महत्वाकांक्षी परियोजना पर चर्चा की गई थी। उत्तर प्रदेश, राजस्थान और मध्य प्रदेश को जोड़ने वाला 400 किलोमीटर लंबा एक्सप्रेस-वे, भाजपा के सबसे बड़े चुनावी मुद्दों में से एक है। यह एक्सप्रेस वे ग्वालियर-चंबल क्षेत्र से होकर गुजरेगा, जिसमें 16 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र आते हैं।इन मुद्दों के अलावा भिंड या मुरैना में सैनिक स्कूल बनाए जाने की योजना को भी भाजपा उपचुनाव में जोर शोर से भुनाएगी। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने दिल्ली दौरे में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह से भिण्ड या मुरैना में सैनिक स्कूल की स्थापना में तेजी लाने का अनुरोध किया था।प्रदेश के बासमती चावल को जीआई टैग दिए जाने पर भी बात हो रही है, जिसको 13 जिलों में पैदा किया जा रहा है। यह भी बड़ा चुनावी मुद्दा बन सकता है, खासकर तब जब ये चावल उन्हीं क्षेत्रों में ज्यादा होता है, जहां उपचुनाव होने हैं। जाहिर है पार्टी विकास के नैरेटिव को बढ़ावा देने की रणनीति पर काम कर रही है, जिससे पूरे राज्य में विकास बनाम कमलनाथ की सरकार के पंद्रह महीने के कार्यकाल का माहौल बन जाए।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 05:43
उद्धरण 1 इमारत
Realme की होली सेल में 10000 रुपये सस्ता मिल रहा है ये फोन, इन प्रोडक्ट पर भी बड़ा डिस्काउंट******Realme की होली सेल में 10000 रुपये सस्ता मिल रहा है ये फोन, इन प्रोडक्ट पर भी बड़ा डिस्काउंटहोली के मौके पर तमाम कंपनियों ने अपने सेल के पिटारे खोल दिए हैं। इसी बीच बजट स्मार्टफोन क्षेत्र की दिग्गज कंपनी भी रियलमी होली डेज सेल लेकर आई है। इस सेल में कंपनी स्मार्टफोन्स, स्मार्ट टीवी, ईयरफोन्स से लेकर वियरेबल डिवाइस पर डिस्काउंट दे रही है। 26 मार्च यानी आज खत्म होने वाली है। इस सेल में कंपनी 500 रुपये से लकर 10,000 रुपये तक का डिस्काउंट दे रही है। इस सेल में कंपनी के C-series स्मार्टफोन्स, Narzo-series स्मार्टफोन के साथ-साथ प्रीमियम फ्लैगशिप डिवाइस आदि शामिल हैं।इस सेल में सबसे बड़ा डिस्काउंट Realme X50 Pro 5G फोन पर मिल रहा है। कंपनी 10,000 रुपये का डिस्काउंट दे रही है। जिसके बाद आप फोन के 8 जीबी रैम + 128 जीबी स्टोरेज वेरिएंट को 31,999 रुपये में खरीद सकेंगे और 12 जीबी रैम + 256 जीबी स्टोरेज वेरिएंट की कीमत 37,999 रुपये हो जाएगी। इसके अलावा Realme X3 फोन का 6 जीबी रैम + 128 जीबी स्टोरेज वेरिएंट 21,999 रुपये में खरीद के लिए उपलब्ध होगा। फोन का 8 जीबी रैम + 128 जीबी स्टोरेज को 22,999 रुपये में खरीदा जा सकेगा। यानी कि सेल में फोन में 3,000 रुपये का डिस्काउंट मिल रहा है। Realme X3 SuperZoom फोन को सेल में 5,000 रुपये के डिस्काउंड के साथ खरीदा जा सकेगा। फोन के 8 जीबी रैम + 128 जीबी स्टोरेज वेरिएंट की कीमत 22,999 रुपये है, जबकि 8 जीबी रैम + 256 जीबी स्टोरेज को 24,999 रुपये में और 12 जीबी रैम + 256 जीबी स्टोरेज वेरिएंट को 32,999 रुपये में खरीदा जा सकेगा।सेल में रियलमी के स्मार्टटीवी पर भी छूट मिल रही है। सेल में इस टीवी के 32 इंच वेरिएंट को 13,999 रुपये में और 43 इंच के वेरिएंट को 22,999 रुपये में खरीदा जा सकेगा। सेल में रियलमी स्मार्ट SLED TV 55 इंच और साउंड बार कॉम्बो को 43,999 रुपये में खरीद सकते हैं।रियलमी बड्स वायरलैस प्रो इस सेल में 3,400 रुपये में उपलब्ध हैं और रियलमी बड्स वायरलैस को 1,500 रुपये में खरीदा जा सकता है। रियलमी बड्स Q TWS को अब 1,999 रुपये की जगह 1,599 रुपये में खरीद सकेंगे और रियलमी वॉच को 3,999 रुपये में लॉन्च किया गया था, लेकिन इस सेल में आप इसे 3,499 रुपये में खरीद सकते हैं। रियलमी टूथ ब्रश 699 रुपये में मिल रहा है।
2022-10-01 03:59
उद्धरण 2 इमारत
Reliance Jio और airtel ग्राहकों को मिलेगा फायदा, कंपनियों ने अतिरिक्‍त स्‍पेक्‍ट्रम लगाया******Reliance Jio and airtel deploys additional 20 MHz spectrum to enhance subscriber experience अपने ग्राहकों को ब्रेहतर अनुभव देने के लिए दूरसंचार सेवा प्रदाता रिलायंस जियो और एयरटेल ने क्रमश: ओडिशा और हरियाणा में 20-20 मेगाहर्ट्ज अतिरिक्त स्पेक्ट्रम लगाया है। दोनों कंपनियों ने इस स्पेक्ट्रम का अधिग्रहण हालिया आयोजित स्‍पेक्‍ट्रम नीलामी में किया था। रिलायंस जियो इन्फोकॉम लि.(आरजेआईएल) ने मार्च में घोषणा की थी कि उसने दूरसंचार विभाग द्वारा आयोजित नीलामी में सभी 22 सर्किलों में स्पेक्ट्रम के इस्तेमाल का अधिकार हासिल किया है। ने इस दौरान 800 मेगाहर्ट्ज, 1800 मेगाहर्ट्ज और 2300 मेगाहर्ट्ज बैंड में अतिरिक्त स्पेक्ट्रम का अधिग्रहण किया था। ओडिशा में जियो ने 20 मेगाहर्ट्ज का अतिरिक्त स्पेक्ट्रम का अधिग्रहण किया था। इनमें से पांच मेगाहर्ट्ज 800 मेगाहर्ट्ज बैंड में, 5 मेगाहर्ट्ज 1800 मेगाहर्ट्ज बैंड और 10 मेगाहर्ट्ज का अधिग्रहण 2300 मेगाहर्ट्ज बैंड में किया था। जियो ने राज्य में 10,000 से अधिक नेटवर्क साइटों पर तीनों स्पेक्ट्रम का प्रयोग शुरू किया है। इसके साथ ही ओडिशा में जियो के पास 60 मेगाहर्ट्ज बैंडविड्थ उपलब्ध हो गई है। राज्य में जियो के 1.4 करोड़ मोबाइल ग्राहक हैं। राज्य में सकल राजस्व में जियो का 50 प्रतिशत हिस्सा है। राज्य में 4जी टॉवर्स की बढ़ती मांग के बीच जियो नेटवर्क को बढ़ा रही है।भारती एयरटेल ने अपने ग्राहकों को बेहतर नेटवर्क का अनुभव देने के लिए हरियाणा में 2300 मेगाहर्टज बैंड में अतिरिक्त 20 मेगाहर्टज स्पेक्ट्रम स्थापित किया है। भारती एयरटेल ने एक बयान में कहा कि अतिरिक्त स्पेक्ट्रम से कंपनी के नेटवर्क में उच्च रफ्तार वाली डेटा क्षमता को मजबूती मिलेगी और शहरी एवं ग्रामीण इलाकों में बेहतर नेटवर्क उपलब्ध कराने एवं डेटा की रफ्तार तेज करने में मदद मिलेगी। इससे कंपनी राजमार्गों एवं रेल मार्गों पर बेहतर कवरेज दे पाएंगी और साथ ही गांवों में ज्यादा उपयोगकर्ताओं को कंपनी से जोड़ने में मदद मिलेगी क्योंकि ज्यादा लोग उच्च रफ्तार वाली डेटा सेवा का इस्तेमाल करते हैं। भारती एयरटेल के हब सीइओ- अपर नॉर्थ मनु सूद ने कहा कि हरियाणा में सबसे ज्यादा 71.2 मेगाहर्टज के साथ, एयरटेल तेज रफ्तार वाली डेटा की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिहाज से सही स्थिति में पहुंच गया है।
2022-10-01 03:38
उद्धरण 3 इमारत
Stock Market में लगातार तीसरे हाहाकार, सेंसेक्स 1,020 अंक लुढ़ककर 58 हजार के करीब बंद******Highlights में नरम रुख के बीच घरेलू शेयर बाजार में शुक्रवार को लगातार तीसरे तीन भारी गिरावट दर्ज की गई और बीएसई सेंसेक्स 1,000 अंक से अधिक लुढ़ककर बंद हुआ। तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 1,020.80 अंक यानी 1.73 प्रतिशत की गिरावट के साथ 58,098.92 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान एक समय यह 1,137.77 अंक तक गिर गया था। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 302.45 अंक यानी 1.72 प्रतिशत की गिरावट के साथ 17,327.35 अंक पर बंद हुआ।सेंसेक्स के शेयरों में पावरग्रिड के शेयर में सबसे अधिक 7.93 प्रतिशत की गिरावट हुई। महिंद्रा एंड महिंद्रा, भारतीय स्टेट बैंक, बजाज फिनसर्व, बजाज फाइनेंस, एनटीपीसी, एचडीएफसी और इंडसइंड बैंक के शेयर भी प्रमुख रूप से नुकसान में रहे। दूसरी तरफ केवल सन फार्मा, टाटा स्टील और आईटीसी के शेयर लाभ के साथ बंद हुए। एशिया के अन्य बाजारों में दक्षिण कोरिया का कॉस्पी, जापान का निक्की, चीन का शंघाई कंपोजिट और हांगकांग का हैंगसेंग नुकसान में रहे। यूरोपीय शेयर बाजारों में शुरूआती कारोबार में गिरावट का रुख था। अमेरिकी बाजार में बृहस्पतिवार को गिरावट रही। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 1.87 प्रतिशत गिरकर 88.77 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया। बीएसई के आंकड़ों के अनुसार, विदेशी संस्थागत निवेशकों ने बृहस्पतिवार को शुद्ध रूप से 2,509.55 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचे।विदेशी बाजारों में अमेरिकी डॉलर के लगातार मजबूत बने रहने और निवेशकों के बीच जोखिम से दूर रहने की प्रवृत्ति हावी रहने से शुक्रवार को रुपया 19 पैसे गिरकर 80.98 रुपये प्रति डॉलर के सर्वकालिक निचले स्तर पर बंद हुआ। अंतर-बैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में भारतीय रुपया डॉलर के आगे पहली बार 81 रुपये का स्तर भी पार कर गया। एक समय रुपया 81.23 के स्तर तक लुढ़क गया था। हालांकि बाद में रुपये की स्थिति थोड़ी सुधरी और कारोबार के अंत में यह 80.98 रुपये प्रति डॉलर के भाव पर बंद हुआ। पिछले कारोबारी दिवस की तुलना में रुपये में 19 पैसे की बड़ी गिरावट दर्ज की गई। बृहस्पतिवार को रुपया एक ही दिन में 83 पैसे का गोता लगाते हुए 80.79 रुपये प्रति डॉलर के भाव पर रहा था। यह लगातार तीसरा दिन रहा जब अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये में गिरावट देखी गई। इन तीन दिनों में रुपये की कीमत 124 पैसे प्रति डॉलर तक गिर चुकी है। विदेशी मुद्रा कारोबारियों ने कहा कि यूक्रेन में हालात बिगड़ने की आशंका और अमेरिका एवं ब्रिटेन में ब्याज दरें बढ़ाए जाने से रुपये पर दबाव बढ़ा है। इसके अलावा विदेशी बाजारों में अमेरिकी मुद्रा की स्थिति मजबूत होने और घरेलू स्तर पर शेयर बाजारों में गिरावट का रुख रहने से भी रुपया दबाव में आया है। दुनिया की छह प्रमुख मुद्राओं के समक्ष डॉलर की मजबूती को आंकने वाला डॉलर सूचकांक 0.72 प्रतिशत चढ़कर 112.15 पर पहुंच गया।
वापसी