नई पोस्ट करें

नुसरत जहां और यश दासगुप्ता की फिल्म 'SOS कोलकाता' 1 अक्टूबर को होगी रिलीज

2022-10-01 05:39:51 155

नुसरतजहांऔरयशदासगुप्ताकीफिल्मSOSकोलकाता1अक्टूबरकोहोगीरिलीजDHFL मामले में पूर्व प्रमोटर वधावन की दूसरी अपील खारिज, जानिए क्या है पूरा मामला******dhflHighlightsराष्ट्रीय कंपनी विधि अपीलीय न्यायाधिकरण (एनसीएलएटी) ने कर्ज में डूबी कंपनी डीएचएफएल के संदर्भ में राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) की मुंबई पीठ के आदेश को खारिज कर दिया है।एनसीएलटी ने डीएचएफएल के प्रशासक को कंपनी के पूर्व प्रमोटर कपिल वधावन की दूसरी समाधान पेशकश को ऋणदाताओं के समक्ष विचार के लिए रखने को निर्देश दिया था। अपीलीय न्यायाधिकरण ने पाया कि एनसीएलटी ने वधावन के दूसरे प्रस्ताव पर विचार करने का आदेश इस तथ्य को नजरअंदाज करते हुए पारित किया है कि डीएचएफएल की ऋणदाताओं की समिति (सीओसी) पहले ही बहुमत से पीरामल कैपिटल एंड हाउसिंग फाइनेंस की समाधान योजना को मंजूरी दे चुकी है और प्रशासक ने इसे उसके समक्ष मंजूरी के लिए रखा है। एनसीएलएटी ने एबिक्स सिंगापुर के मामले में आए उच्चतम न्यायालय के हालिया फैसले का हवाला देते हुए कहा, सीओसी द्वारा समाधान योजना को मंजूरी देने के बाद संबंधित पक्षों के बीच किसी तरह की बातचीत की गुंजाइश नहीं बचती।एनसीएलएटी की तीन सदस्यीय पीठ ने 27 जनवरी, 2022 को पारित अपने फैसले में कहा, यह फैसला एनसीएलटी के अधिकार क्षेत्र से बाहर है। ऐसे में यह फैसला टिकने योग्य नहीं है और इसे खारिज किया जाता है। एनसीएलएटी ने यह निर्देश सीओसी, डीएचएफएल प्रशासक और पीरामल कैपिटल एंड हाउसिंग फाइनेंस की ओर से यूनियन बैंक ऑफ इंडिया द्वारा दायर याचिकाओं पर दिया है। इन याचिकाओं में एनसीएलटी के आदेश को चुनौती दी गई थी। इससे पहले 19 मई, 2021 को एनसीएलटी ने दीवान हाउसिंग फाइनेंस कॉरपोरेशन लिमिटेड (डीएचएफएल) के प्रशासक को निर्देश दिया था कि वह वधावन के दूसरे प्रस्ताव को सीओसी के समक्ष विचार, निर्णय और मतदान के लिए रखे और उसे 10 दिन के अंदर इसकी जानकारी दे। इस आदेश को सीओसी, प्रशासक और पीरामल ने अपीलीय न्यायाधिकरण के समक्ष चुनौती दी थी।अपीलीय न्यायाधिकरण के समक्ष इस अपील के लंबित रहने के दौरान एनसीएलटी ने सात जून, 2021 को पीरामल कैपिटल एंड हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड की समाधान योजना को मंजूरी देने का आदेश पारित किया था। याचिकाकर्ताओं का कहना था कि डीएचएफएल की कॉरपोरेट दिवाला समाधान प्रक्रिया (सीआईआरपी) के दौरान वधावन कई पत्र और प्रस्ताव भेजते रहे हैं। सीओसी का मानना है कि इस तरह के प्रस्तावों पर विचार करने की जरूरत नहीं है। वधावन का दूसरा प्रस्ताव भी अलग रूप में पहली पेशकश के समान ही है। डीएचएफएल के खिलाफ दिवाला एवं ऋणशोधन अक्षमता कार्रवाई 20 नवंबर, 2019 को शुरू की गई थी। एनसीएलटी ने डीएचएफएल के निदेशक मंडल को भंग कर दिया था और इसके कामकाज के प्रबंधन के लिए प्रशासक नियुक्त किया था।

नुसरतजहांऔरयशदासगुप्ताकीफिल्मSOSकोलकाता1अक्टूबरकोहोगीरिलीजUral Oil: भारत को मिल गया सस्ते तेल का खजाना! आ रही है यूराल क्रूड की सबसे बड़ी खेप******Crude oilHighlightsरूस यूक्रेन युद्ध के कारण कच्चा तेल बीते दो महीने से उफान पर है। दुनिया भर के गरीब देशों की अर्थव्यवस्थाएं इस महंगे तेल से तबाह हो रही हैं। लेकिन भारत को इस युद्ध के बीच सस्ते क्रूड का एक नया साझेदार मिल गया है। भारत अपनी जरूरत का मात्र 4 प्रतिशत क्रूड ही रूस से आयात करता है। लेकिन बदलते हालातों में रूसी तेल की सबसे बड़ी खेप भारत और चीन की ओर आ रही है।समाचार एजेंसी ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार फिलहाल रूसी तेल की एक रिकॉर्ड मात्रा बोर्ड टैंकरों पर है। रिपोर्ट के अनुसार रूस का करीब 74 मिलियन और 79 मिलियन बैरल तेल इस समय समुद्र के रास्ते में है। यह जो यूक्रेन पर फरवरी में हुए आक्रमण से ठीक पहले 27 मिलियन बैरल के मुकाबले दोगुना से अधिक है। मई में यह अंतर और बढ़ना तय है।भारत अप्रैल में रूसी यूराल क्रूड के सबसे बड़े खरीदार के रूप में उभरा है। यूक्रेन युद्ध के कारण रूस के पारंपरिक खरीदार यूरोपीय देश व्यापारिक सौदे नहीं कर रह हैं, जिसके कारण रूस का यूराल क्रूड अपने निचले स्तर पर है। फिलहाल ब्रेंट क्रूड ऑयल के मुकाबले यूराल क्रूड पर भारत को 40 डॉलर तक की छूट मिल रही है।कमोडिटी इंटेलिजेंस फर्म Kpler के आंकड़ों के अनुसार, रूस ने अप्रैल में भारत को 627,000 बैरल प्रति दिन कच्चे तेल का निर्यात किया, जबकि मार्च में यह 274,000 बैरल था वहीं फरवरी में यह शून्य था। केप्लर के आंकड़ों से पता चलता है कि यूरोप के कई रिफाइनर द्वारा प्रतिबंधों और बहिष्कार के बावजूद यूराल क्रूड का निर्यात औसतन 2.24 मिलियन बैरल प्रतिदिन है, जो मई 2019 के बाद से सबसे अधिक है।यूरोपीय देश परंपरागत रूप से रूसी तेल के खरीदार थे। यही कारण है कि रूस का एशियाई देशों से ज्यादा संपर्क नहीं था। लेकिन अब स्थिति बदली है। रूसी कच्चे तेल की बात करें तो 26 मई तक, यूराल ग्रेड का लगभग 57 मिलियन बैरल और रूसी ईएसपीओ क्रूड के 7.3 मिलियन बैरल कंटेनर इस समय समुद्री रास्ते में है, जबकि फरवरी के अंत में 19 मिलियन यूराल और 5.7 मिलियन ईएसपीओ एशिया के रास्ते में थे।नुसरतजहांऔरयशदासगुप्ताकीफिल्मSOSकोलकाता1अक्टूबरकोहोगीरिलीजCommonwealth Games 2022: जूडो खिलाड़ी सुशीला देवी ने सिल्वर और विजय कुमार ने जीता ब्रॉन्ज, भारत के नाम हुए 8 पदक******Highlightsभारत की झोली में सोमवार 1 अगस्त की रात एक के बाद एक दो मेडल आए और देश को यह खुशखबरी मिली जूडो से। भारत की महिला जूडो खिलाड़ी ने देश के लिए सिल्वर मेडला जीता। कॉमनवेल्थ गेम्स में यह उनका दूसरा मेडल था। उन्हें जूडो प्रतिस्पर्धा के 48 किलोग्राम वर्ग के फाइनल में दक्षिण अफ्रीका की मिचेला व्हाइटबोई ने मात दी और उन्हें सिल्वर मेडल से संतोष करना पड़ा। वहीं अन्य पुरुष जूडो खिलाड़ी विजय कुमार ने 60 किलोग्राम कैटेगरी में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया।भारत के लिए 9 मेडल अब पक्के हो गए हैं। इससे पहले भारत ने 6 मेडल अभी तक वेटलिफ्टिंग में जीत लिए हैं और एक पदक सोमवार को ही लॉन बॉल टीम ने फाइनल में पहुंचकर पक्का किया है। भारत के लिए अभी तक तीन गोल्ड मेडल वेटलिफ्टर मीराबाई चानू, जेरेमी लालरिनुंगा और अचिंत शिवली ने जीते हैं। वहीं संकेत सरगर और बिंद्यारानी देवी ने सिल्वर मेडल अपने नाम किए। वहीं गुरुराज पुजारी ने ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया।इससे पहले सुशीला देवी ने क्वार्टरफाइनल मुकाबले में मलावी की हैरियत बोनफेस को और सेमीफाइनल में टॉप सीड मॉरिशियस की प्रिससिला मोरांड को हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई थी। गौरतलब है कि सुशीला देवी राष्ट्रमंडल खेलों में जूडो में भारत के लिए पदक जीतने वालीं पहली भारतीय महिला हैं। उन्होंने 2014 में हुए ग्लास्गो राष्ट्रमंडल खेलों में भी भारत के लिए सिल्वर मेडल जीता था। गोल्ड कोस्ट में हुए 2018 के कॉमनवेल्थ गेम्स में जूडो था नहीं।चौथे दिन के अन्य अपडेट की बात करें तो भारत के लिए57 किलोग्राम वर्ग में मोहम्मद हुसामुद्दीन ने क्वार्टरफाइनल में जगह बना ली है। उन्होंने बांग्लादेश के सलीम हुसैन को 5-0 से हराया। इससे पहले 51 किलोग्राम वर्ग में अमित पंघल ने भी अंतिम-8 में जगह पक्की कर ली थी। वहीं वेटिलिफ्टिंग में आज भारत के अजय सिंह के हाथ निराशा लगी और वह एक किलो से महज पीछे रहकर चौथे स्थान पर हे। लॉन बॉल टीम ने भी ऐतिहासिक जीत के साथ फाइनल में जगह बनाई

नुसरत जहां और यश दासगुप्ता की फिल्म 'SOS कोलकाता' 1 अक्टूबर को होगी रिलीज

नुसरतजहांऔरयशदासगुप्ताकीफिल्मSOSकोलकाता1अक्टूबरकोहोगीरिलीजभारतीय कंपनियों ने जनवरी से सितंबर के बीच आईपीओ से रिकॉर्ड 9.7 अरब डॉलर जुटाए******जनवरी से सितंबर के बीच कंपनियों ने जुटाई रिकॉर्ड रकमइनमें से आठ आईपीओ विविध औद्योगिक उत्पादों से संबंधित तथा पांच प्रौद्योगिकी खंड से थे। रिपोर्ट में कहा गया है, ‘‘तीसरी तिमाही में इन क्षेत्रों के आईपीओ से सबसे ऊंची राशि जुटाई गई। राशि के हिसाब से तीन सबसे बड़े आईपीओ जोमैटो, नुवोको विस्टास कॉर्प तथा केमप्लास्ट सनमार के रहे।’’ ईवाई के उभरते बाजार, प्रौद्योगिकी, मीडिया और दूरसंचार लीडर प्रशांत सिंघल ने कहा कि भारतीय आईपीओ बाजार में काफी तेजी है। ‘‘2017 की चौथी तिमाही के बाद से यह आईपीओ की दृष्टि से सबसे सक्रिय तिमाही रही।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अगली तिमाहियों के लिए परिदृश्य सकारात्मक है। इस दौरान कई नए अर्थव्यवस्था और प्रौद्योगिकी आधारित आईपीओ आने की उम्मीद है। शेयर बाजार अपने सर्वकालिक उच्चस्तर पर हैं जिससे प्राथमिक बाजार को प्रोत्साहन मिल रहा है।’’नुसरतजहांऔरयशदासगुप्ताकीफिल्मSOSकोलकाता1अक्टूबरकोहोगीरिलीजडायबिटीज पेशेंट के लिए असरदार हैं इन 3 पौधों की पत्तियां, अपने आप कंट्रोल में रहेगा ब्लड शुगर लेवल******डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है जिसकी चपेट में किसी भी उम्र का व्यक्ति आ रहा है। शुगर पेशेंट का अगर ब्लड शुगर लेवल नियंत्रण में नहीं रहा तो उससे लोगों को अन्य बीमारियां हो सकती हैं। इन बीमारियों में किडनी और दिल से संबंधित रोग शामिल हैं। इसी वजह से डायबिटीज पेशेंट को अपनी हेल्थ को लेकर सतर्क रहने की जरूरत है। मधुमेह पेशेंट डॉक्टर के परामर्श के अलावा कुछ घरेलू नुस्खे भी अपनाकर ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल कर सकतेहैं। ये घरेलू नुस्खे कुछ पौधे की पत्तियां हैं। इनका सेवन करके डायबिटीज को काबू में किया जा सकता है।नीम की पत्तियां कई औषधीय गुणों से युक्त होती हैं। ये तो सभी जानते हैं। लेकिन क्या आपको ये पता है नीम की पत्तियों का सेवन करके ब्लड शुगर लेवल को भी नियंत्रित किया जा सकता है। नीम की पत्तियों में मौजूद पोषक तत्व बालों की समस्याओं के अलावा त्वचा और डायबिटीज पेशेंट की समस्या को दूर करने में लाभकारी है। नीम की पत्तियों में ग्लाइकोसाइट्स और एंटी वायरल तत्व होते हैं। इसका सेवन करने से ग्लूकोज की मात्रा को कम करने में मदद मिलती है।नीम की पत्तियों के अलावा शुगर पेशेंट के लिए एलोवेरा भी काफी असरदार है। आयुर्वेद में एलोवेरा का इस्तेमाल कई तरह के रोगों को दूर करने के लिए किया जाता है। रोज सुबह खाली पेट अगर आप एलोवेरा जूस का सेवन करेंगे तो इससे कई रोगों में फायदा पहुंचेगा। इन रोगों में डायबिटीज भी शामिल है। एलोवेरा में कई पोषक तत्व होते हैं जो ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करने में आपकी मदद कर सकता है। ये खून में ग्लूकोज की मात्रा को नियंत्रित करने में सहायता करता है।गुणों का खजाना होने की वजह से तुलसी का पौधा हर एक के घर में होता है। तुलसी के पत्ते का पानी सेहत के लिए बहुत लाभदायक होता है। अगर आप शुगर की बीमारी से ग्रसित हैं तो तुलसी के पानी का सेवन करें। ये ना केवल ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करता है बल्कि सेहत के लिए भी लाभदायक होता है। तुलसी का पानी आप रोजाना सुबह खाली पेट पी सकते हैं। इसके आपको फायदा होगा।नुसरतजहांऔरयशदासगुप्ताकीफिल्मSOSकोलकाता1अक्टूबरकोहोगीरिलीजYear Ender 2021: दिखी 2050 के भारत की तैयारी, एक्सप्रेसवे-एयरपोर्ट के साथ हेल्थ इंफ्रा के नाम रहा साल******Year Ender: 2021 में दिखी 2050 के भारत की तैयारी, एक्सप्रेसवे-एयरपोर्ट के साथ हेल्थ इंफ्रा के नाम रहा सालHighlights2021 का साल देश के लिए काफी चुनौतीपूर्ण रहा। 2020 में शुरू हुए कोरोना संकट ने 2021 में वीभत्स रूप अख्तियार किया। करीब आधे साल सरकार का पूरा जोर कोरोना की विभीषिका से निपटने में रहा। 2021 का साल गर्त में जा चुकी अर्थव्यवस्था को फिर से खड़ा का साल था। इस साल देश के प्रमुख संसाधनों का फोकस कोरोना के इलाज, वैक्सीन और हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने पर रहा। लेकिन इसके बावजूद 2050 में एक सशक्त और मजबूत इंफ्रास्ट्रक्चर वाला देश बनाने की सरकार की मुहिम भी रंग लाती दिखी।2021 के साल को एक्सप्रेस वे और एयरपोर्ट का साल कहें तो कुछ गलत नहीं होगा। उत्तर प्रदेश से लेकर उत्तराखंड, पंजाब, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, कर्नाटक जैसे राज्यों में एक्सप्रेसवे का जाल तेजी से फैल रहा है। इसके अलावा इस साल सरकार का पूरा फोकस हवाई नेटवर्क को छोटे शहरों से जोड़ने पर रहा। प्रमुख बौध​स्थल कुशीनगर में नए हवाई अड्डे से लेकर ग्रेटर नोएडा में नए इंटरनेशनल एयरपोर्ट का शिलान्यास चर्चा में रहा। इंडिया टीवी डिजिटल की टीम ने साल भर की इन्हीं झलकियों को एक साथ समेटकर बताने की कोशिश की है कि कैसे देश नए भारत के लिए तैयार हो रहा है।इकोनॉमी का चक्का तेजी से भागे, इसके लिए सरकार देश में एक्सप्रेस वे का जाल बिछाना चाहती है। इस समय देश में 2037 किमी. लंबे 18 एक्सप्रेस वे हैं। साल 2021 में एक्सप्रेस की दिशा में सबसे बेहतर रहा उत्तर प्रदेश, जहां इस साल अक्टूबर में लखनऊ और गाजीपुर के बीच 340 किमी. लंबे पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का उद्घाटन हुआ। इसके अलावा यूपी में मेरठ और प्रयागराज के बीच 36,230 करोड़ की लागत से 594 कि​मी लंबे गंगा एक्सप्रेस वे को भी मंजूरी मिली है। इसके अलावा मुंबई—नागपुर समृद्धि महामार्ग एक्सप्रेसवे का काम भी इस साल पूरा हुआ। वहीं बेंगलुरू—चेन्नई, दिल्ली—मुंबई, दिल्ली—देहरादून और दिल्ली—कटरा एवं अमृतसर लिंक एक्सप्रेस के लिए भी 2021 का साल अहम रहा।2021 का साल एविएशन सेक्टर के लिए हिचकोलों से भरा रहा। यह साल जहां सरकारी कंपनी एयर इंडिया की टाटा संस को बिक्री के कारण चर्चा में रहा, वहीं कई छोटे शहरों ने इस साल अपनी जमीन पर पहली बार हवाई जहाज देखा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस साल यूपी के प्रमुख बौद्ध स्थल कुशीनगर में हवाई अड्डे का उद्घाटन किया। वहीं बरेली, ग्वालियर, जबलपुर इस साल हवाई नेटवर्क से जुड़े। लेकिन इस साल सुर्खियां बटोरीं दिल्ली के करीब ग्रेटरनोएडा के जेवर में इंटरनेशनल हवाई अड्डे ने। इसके निर्माण का ठेका ज्यूरिख एयरपोर्ट को मिला है। इसके 2030 तक पूरी तरह से आपरेशनल होने की संभावना है।इस साल देश को पहला एयरपोर्ट जैसी खूबियों वाला रेलवे स्टेशन देखने को मिला। भोपाल के हबीबगंज स्टेशन को रानी कमलापति के रूप में नया नाम ही नहीं मिला, बल्कि यह देश का पहला हाईटेक स्टेशन भी बन गया है। इसके अलावा चिनाब नदी पर बन रहे दुनिया के सबसे उंचे पुल ने भी 2021 में सुर्खियां बटोरी। सरकार ने पुणे और नाशिक के बीच 235 किमी लंबे सेमी हाईस्पीड कॉरीडोर को भी मंजूरी दी। इस साल रेलवे ने रिकॉर्ड 6015 किमी. रूट का इलेक्ट्रिफिकेशन किया।2021 का साल देश में 5जी की तैयारियों का रहा है। संभव है कि नए साल की शुरुआत में भारतीय ग्राहकों को 5जी सेवाएं उपलब्ध हो जाएं, लेकिन 2021 में लोगों के हाथ में 5जी फोन आ गए। सरकारी रिपोर्ट के अनुसार 2021 में 4.7 करोड़ नए यूजर इंटरनेट से जुड़े, जिसके साथ ही देश में इंटरनेट के यूजर्स की संख्या 62.4 करोड़ के पार चली गई है। वहीं देश में 44 करोड़ लोग सोशल मीडिया का उपयोग कर रहे हैं, इनकी संख्या भी 8 करोड़ बढ़ी है।कोरोना संकट के बीच देश में सबसे अधिक सुधार की जरूरत अस्पतालों और मेडिकल सुविधाओं के क्षेत्र में रही। कोरोना की दूसरी लहर में सबसे अधिक कमी आक्सीजन के क्षेत्र में रही। भारत की सरकार ने इस ओर काफी तेजी से सुधार किया। इसके अलावा टेस्टिंग लैब की संख्या में भी भारी सुधार आया। सबसे बड़ी उपलब्धि वैक्सीन को लेकर है। कोरोना की वैक्सीन के निर्माण में भारत 2021 में आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ा।देश में औद्योगिक ढ़ांचे में सुधार के लिए सरकार ने 2021 में नए इंडस्ट्रियल कॉरिडोर पर काम शुरू किया है। नवंबर 2021 में, एशियाई विकास बैंक (ADB) ने राष्ट्रीय औद्योगिक गलियारा विकास कार्यक्रम (NICDP) के लिए 250 मिलियन अमेरिकी डॉलर के ऋण को मंजूरी दी है। इसकी मदद से 17 राज्यों को जोड़ने वाले 11 औद्योगिक गलियारों का निर्माण होगा। वहीं अक्टूबर में ही देश में टेलिकॉम, गैस पाइपलान, रेल और सड़क परिवहन में मल्टीमॉडल कनेक्टिविटी के लिए पीएम ​गति​शक्ति योजना को भी मंजूरी मिली है।देश में इंफ्रा प्रोजेक्ट की घोषणाओं की चकाचौंध के बीच हमें अटके प्रोजेक्ट की स्याह सच्चाई पर भी गौर करना चाहिए। सरकार के आंकड़ों के अनुसार 2021 में देश में केंद्र सरकार के अटके मेगा प्रोजेक्ट की संख्या 144 पहुंच गई है। इन प्रोजेक्ट की लागत भी बढ़कर 14960 करोड़ पहुंच गई है। देश में इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर की 150 करोड़ रुपये या इससे अधिक के खर्च वाली 438 परियोजनाओं की लागत में तय अनुमान से 4.34 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा की बढ़ोतरी हुई है। देरी से चल रही 539 परियोजनाओं में 98 परियोजनाएं एक महीने से 12 महीने की, 109 परियोजनाएं 13 से 24 महीने की, 211 परियोजनाएं 25 से 60 महीने की तथा 121 परियोजनाएं 61 महीने या अधिक की देरी में चल रही हैं।

नुसरत जहां और यश दासगुप्ता की फिल्म 'SOS कोलकाता' 1 अक्टूबर को होगी रिलीज

नुसरतजहांऔरयशदासगुप्ताकीफिल्मSOSकोलकाता1अक्टूबरकोहोगीरिलीजBulli Bai App Case: तीन नाबालिग आरोपी रिहा, तीन की जमानत अर्जी खारिज******Highlightsमुंबई की एक अदालत ने बुल्ली बाई ऐप मामले में तीन विद्यार्थियों की जमानत मंजूर करते हुए कहा कि इन आरोपियों की ‘अपरिपक्व उम्र और नासमझी’ का दुरुपयोग ‘गहरी समझ रखने वाले’ अन्य आरोपी ने किया था। बांद्रा अदालत के मजिस्ट्रेट के.सी. राजपूत ने विशाल कुमार झा, श्वेता सिंह और मयंक अग्रवाल को 12 अप्रैल को जमानत मंजूर की थी वहीं आरोपियों ओंकारेश्वर ठाकुर और नीरज सिंह की जमानत अर्जी खारिज कर दी थी। इस मामले में विस्तृत आदेश मंगलवार को उपलब्ध कराया गया।अदालत ने जमानत पर रिहा किये गये आरोपियों के माता-पिताओं या अभिभावकों से कहा कि संभव हो तो वे अपने बच्चों को सोशल मीडिया पर व्यवहार सहित सामाजिक व्यवहार के मानकों की सीख देने के लिए ‘काउंसिलिंग’ करायें। इससे पहले मजिस्ट्रेट अदालत और सत्र अदालत ने इन सभी को जमानत देने से इनकार कर दिया था। आरोपियों ने इस मामले में पुलिस के आरोप-पत्र दायर करने के बाद नई याचिका दायर की थी।अदालत ने कहा कि दस्तावेजों से यही निष्कर्ष निकाला जा सकता है कि आरोपी नीरज बिश्नोई, ओंकारेश्वर ठाकुर और नीरज सिंह मुख्य रूप से ऐप के निर्माण और अपलोडिंग तथा सूचना के प्रसार से जुड़े व्यक्ति हैं। अदालत ने कहा कि आरोपी विशाल कुमार झा, श्वेता सिंह और मयंक अग्रवाल ने उन अभियुक्तों का अनुसरण किया था और वे कुछ छोटी-मोटी गतिविधियों में शामिल थे। अदालत ने कहा कि इस प्रकार विशाल, श्वेता और मयंक की भूमिका बिश्नोई, ठाकुर और नीरज सिंह की तुलना में ‘कम गंभीर’ प्रतीत होती है।अदालत के अनुसार, बिश्नोई, ठाकुर और नीरज उम्र की दृष्टि से परिपक्व थे और उनमें समझ भी थी, इसके बावजूद उन्होंने कम उम्र के तीन आरोपियों की अपरिपक्वता और नासमझी का दुरुपयोग किया। अदालत ने कहा कि विशाल, श्वेता और मयंक की परीक्षाएं आने वाली हैं और यदि उन्हें जेल में रखा जाएगा तो इसका उनके भविष्य पर विपरीत प्रभाव पड़ेगा। इसलिए इन तीनों पर लगे आरोपों और उनकी आयु को ध्यान में रखते हुए वे जमानत पर रिहा किये जाने के हकदार हैं, क्योंकि उनकी भूमिका ‘‘कम गंभीर है।’’नुसरतजहांऔरयशदासगुप्ताकीफिल्मSOSकोलकाता1अक्टूबरकोहोगीरिलीजप्रतिभा है, लेकिन इसे बरकरार रखने को कड़ी मेहनत करता हूं: रोनाल्डो****** रियल मेड्रिड के स्ट्राइकरने स्पेन के समाचार पत्र 'डियारियो एएस' के साथ साक्षात्कार में पिछले साल के अपने सुनहरे सफर कई कई यादें ताजा की। पिछले साल रोनाल्डो ने न केवल रियल के साथ स्पेनिश लीग और चैम्पियंस लीग खिताब जीता, बल्कि अपने पांचवें बालोन डी ओर पुरस्कार पर भी कब्जा जमाया।रोनाल्डो ने कहा कि उनके लिए 2017 कई स्तरों पर बेहतरीन साल रहा है।रोनाल्डो ने कहा, "अपने गुजरे हुए साल पर नजर डालना एक शानदार अहसास देता है। मैं देखता हूं कि मैंने क्या-क्या हासिल किया है।"पिछले साल रोनाल्डो ने सभी प्रतियोगिताओं में कुल 57 गोल दागे थे। उन्होंने कहा, "मुझे इस प्रतिभा आर्शिवाद के रूप में मिली है, लेकिन इसे बनाए रखने के लिए मैं कड़ी मेहनत करता हूं।"पिछले साल रियल से रोनाल्डो के स्थानांतरण के बारे में भी काफी चर्चा हुई। इसके अलावा, वह कर चोरी मामले के कारण भी सुर्खियों में बने रहे।रोनाल्डो ने इस सभी मुद्दों पर चर्चा न करना ही बेहतर समझा और अपनी ट्रॉफियों तथा मैचों में मिली जीत पर अधिक ध्यान दिया।

नुसरत जहां और यश दासगुप्ता की फिल्म 'SOS कोलकाता' 1 अक्टूबर को होगी रिलीज

नुसरतजहांऔरयशदासगुप्ताकीफिल्मSOSकोलकाता1अक्टूबरकोहोगीरिलीज'कोहली के पास धोनी थे, यहां सीनियर्स को सफलता बर्दाश्त नहीं होती,' पाकिस्तानी क्रिकेटर का अपने ही क्रिकेट बोर्ड पर आरोप******Highlightsपाकिस्तान के क्रिकेटर अहमद शहजाद आपको याद होंगे। उनके लुक को हमेशा भारत के पूर्व कप्तान विराट कोहली से जोड़ा जाता था। अक्सर यह भी कहा जाता था कि वह कोहली के हमशक्ल हैं। लेकिन जिस तरह उनके करियर पर ब्रेक लगा ऐसा किसी ने नहीं सोचा था। अब क्रिकेट पाकिस्तान से बात करते हुए उन्होंने अपने ही देश के क्रिकेट बोर्ड (PCB) पर आरोप लगाए हैं। उन्होंने विराट कोहली और एमएस धोनी का भी जिक्र अपनी इस बातचीत में किया।आपको बता दें कि शहजाद को 2016 में पाकिस्तान क्रिकेट टीम से बाहर कर दिया गया था। उन्होंने साफतौर पर कहा कि तत्कालीन कोच वकार यूनिस द्वारा पेश की गई एक रिपोर्ट से उनका करियर काफी प्रभावित हुआ। उस रिपोर्ट में कहा गया था कि, अहमद शहजाद और उमर अकमल को अपने खेल में सुधार के लिए घरेलू क्रिकेट खेलना होगा। यह कहकर उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया था। अब करीब 6 साल बाद उन्होंने इसे लेकर बयान दिया है।मोहम्मद शहजाद ने क्रिकेट पाकिस्तान से बात करते हुए कहा कि, “मैंने खुद रिपोर्ट नहीं देखी है, लेकिन पीसीबी के एक अधिकारी ने मुझे बताया था कि ये टिप्पणी मेरे बारे में की गई थी। लेकिन मेरा मानना है कि इन बातों पर आमने-सामने चर्चा की जानी चाहिए और मैं उस चुनौती को लेने के लिए तैयार हूं। फिर हम देखेंगे कि कौन सही है और कौन गलत।” उन्होंने यह भी कहा कि, उस टिप्पणी से उनके करियर को नुकसान पहुंचा और उन्हें अपनी बात कहने का मौका नहीं दिया गया।शाहजाद ने आगे भारतीय क्रिकेट का हवाला दिया। एमएस धोनी और विराट कोहली पर उन्होंने कहा कि, 'मैंने यह पहले भी कहा है और फिर से कह रहा हूं कोहली का करियर आगे बढ़ा क्योंकि उनके पास एमएस धोनी थे, लेकिन दुर्भाग्य से यहां पाकिस्तान में, आपके लोग आपकी सफलता को बर्दाश्त नहीं कर पाते। हमारे सीनियर खिलाड़ी और पूर्व क्रिकेटर क्रिकेट दुनिया में किसी को सफल होते देखकर उसे पचा नहीं पाते हैं। यह पाकिस्तान क्रिकेट के लिए दुर्भाग्यपूर्ण है।'मोहम्मद शहजाद ने 2009 में पाकिस्तान के लिए वनडे और टी20 डेब्यू किया था। इसके चार साल बाद उन्हें टेस्ट टीम में भी जगह मिली। वह शीर्ष क्रम के बल्लेबाज थे और ओपनिंग करते थे। उन्होंने पाकिस्तान के लिए 13 टेस्ट, 81 वनडे और 59 टी20 मुकाबले खेले हैं। टेस्ट में उन्होंने 982 रन बनाए और 176 उनका सर्वाधिक स्कोर रहा। वनडे में भी उनके बल्ले से 2605 और टी20 में 1471 रन निकले। उन्होंने वनडे क्रिकेट में 2 विकेट भी झटके हैं। 7 अक्टूबर 2019 को उन्होंने पाकिस्तान के लिए आखिरी इंटरनेशनल मुकाबला टी20 फॉर्मेट में खेला था। इसके अलावा 2017 से वह वनडे व टेस्ट टीम से बाहर हैं।

नुसरतजहांऔरयशदासगुप्ताकीफिल्मSOSकोलकाता1अक्टूबरकोहोगीरिलीजYamaha ने हाइब्रिड सिस्‍टम के साथ लॉन्‍च किए दो स्‍कूटर, कम पेट्रोल में तय करेंगे ज्‍यादा लंबी दूरी******Yamaha launches Ray ZR 125 Fi and Street Rally 125 Fi scooter with hybrid systemदो-पहिया निर्माता इंडिया यामाहा मोटर (India Yamaha Motor) ने मंगलवार को भारतीय बाजार में दो हाइब्रिड स्‍कूटर मॉडल लॉन्‍च करने की घोषणा की है। स्‍कूटर की कीमत 76,830 रुपये (एक्‍स-शोरूम दिल्‍ली) से शुरू होगी। ये दो मॉडल्‍स हैं रे जेडआर 125 एफआई हाइब्रिड (Ray ZR 125 Fi Hybrid) और स्‍ट्रीट रैली 125 एफआई हाइब्रिड (Street Rally 125 Fi Hybrid), जो 125सीसी इंजन के साथ आते हैं और 8.2पीएस का पावर आउटपुट प्रदान करते हैं। स्‍टैंडर्ड फीचर के तौर में दोनों मॉडल्‍स एक स्‍मार्ट मोटर जनरेटर (एसएमजी) सिस्‍टम के साथ सुसज्जित है जो हाइब्रिड सिस्‍टम की अतिरिक्‍त कार्यक्षमता प्रदान करता है। ऑफ कंपनीज के चेयरमैन मोटोफूमी शीतारा ने एक बयान में कहा कि नए रेजर 125 एफआई और स्‍ट्रीट रैली 125 एफआई के हाइब्रिड वर्जन की पेशकश यामाहा को भारत में हाइब्रिड स्‍कूटर की पेशकश का विस्‍तार करने की अनुमति देते हैं। फसीना 125 एफआई हाइब्रिड को मिली अपार प्रतिक्रिया से हमें बाजार में अपनी स्थिति के और अधिक मजबूत होने की उम्‍मीद है। रेजर 125 एफआई हाइब्रिड और स्‍ट्रीट रैली 125 एफआई हाइब्रिड दोनों में कनेक्‍टेड फीचर्स, फुल डिजिटल इंस्‍ट्रूमेंटेशन, साइड स्‍टैंड इंजन कट ऑफ स्विच, पावर असिस्‍ट इंडीकेटर सहित कई फीचर्स हैं। हाइब्रिड वाहन का सबसे बड़ा फायदा यह है कि यह एक स्‍वच्‍छ ईंधन पर चलता है और बेहतर माइलेज प्रदान करते हैं। एक हाइब्रिड वाहन ट्वीन पावर्ड इंजन (पेट्रोल इंजन और इलेक्ट्रिक मोटर) द्वारा संचालित होते हैं जो ईंधन उपभोग को कम करता है और ईंधन की बचत करता है।होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया (एचएमएसआई) ने अपनी 184.4 सीसी की पूरी तरह नई सीबी200एक्स बाइक की घरेलू बाजार में आपूर्ति शुरू कर दी है। इस बाइक की कीमत 1.44 लाख रुपये है। इसका अनावरण पिछले महीने किया गया था। इसकी आपूर्ति कंपनी की ‘रेड विंग’ डीलरशिप के जरिये की जा रही है।कंपनी ने मंगलवार को बयान में कहा कि इस बाइक के लिए ग्राहक को पहली चाबी सौंपने के समारोह का आयोजन फरीदाबाद (हरियाणा) में फरीदाबाद-होंडा में किया गया। होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया प्राइवेट लि.के निदेशक (बिक्री एवं विपणन) यादविंदर सिंह गुलेरिया ने कहा कि उस बाइक को पेश जाने के पहले दिन से ही हमारे डीलर नेटवर्क पर इसको लेकर काफी पूछताछ आ रही है। विशेषरूप से नई पीढ़ी के ग्राहक बाइक के बारे में पूछताछ कर रहे हैं। अब स्थिति सामान्य हो रही है और लोग कामकाज के लिए घर से बाहर निकलने लगे हैं, उन्हें ऐसे वाहन की जरूरत महसूस हो रही है जो उनकी सभी उम्मीदों को पूरा कर सके।नुसरतजहांऔरयशदासगुप्ताकीफिल्मSOSकोलकाता1अक्टूबरकोहोगीरिलीजSRH vs RCB, Match Preview: सनराइजर्स और आरसीबी के बीच मुकाबले में कार्तिक और उमरान मलिक पर होगी सबकी नजर******खराब शुरूआत के बाद लगातार चार मैच में जीतने वाली सनराइजर्स हैदराबाद की टीम इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) मुकाबले में शनिवार को जब रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (आरसीबी) का सामना करने के लिए मैदान में उतरेगी तो शानदार लय में चल रहे उसके युवा तेज गेंदबाज उमरान मलिक के सामने दिनेश कार्तिक और फाफ डुप्लेसी जैसे दिग्गजों को रोकने की चुनौती होगी। उमरान ने इस सत्र में अपनी तूफानी गेंदों से सभी का ध्यान आकर्षित किया है। उनकी तेज गति ने श्रेयस अय्यर जैसे स्थापित बल्लेबाजों को भी परेशान किया है।अनुभवी भुवनेश्वर कुमार के साथ इस 22 साल के गेंदबाज ने शानदार जोड़ी बनायी और दोनों ने पंजाब किंग्स के खिलाफ पिछले मैच में सात विकेट झटक कर मैच का रुख मोड़ दिया था। इस दोनों के अलावा तेज गेंदबाजी विभाग में सनराइजर्स के पास यॉर्कर-विशेषज्ञ टी नटराजन और दक्षिण अफ्रीका के मार्को यानसेन जैसे प्रभावी गेंदबाज भी है। यानसेन भी अपने कोण और विविधताओं से बल्लेबाजों को परेशान करने में सफल रहे हैं।इन गेंदबाजों के सामने शानदार लय में चल रहे अनुभवी डुप्लेसी और कार्तिक को रोकने की चुनौती होगी। कप्तान डुप्लेसी ने लखनऊ सुपर जायंट्स के खिलाफ शीर्ष क्रम के लड़खड़ाने के बीच एक बार फिर दमदार पारी खेली। वह चार रन से शतक से चूक गये लेकिन उनकी पारी से टीम ने 18 रन की शानदार जीत दर्ज की। दूसरी ओर कार्तिक लीग में अपने सर्वश्रेष्ठ सत्र का लुत्फ उठा रहे है। अंक तालिका में आसीबी अगर शीर्ष चार में है तो वह इस विकेटकीपर बल्लेबाज की दमदार बल्लेबाजी के कारण है।उन्होंने सात पारियों में 32,14, 44, सात, 34, 66 और 13 रन बनाये है और इस दौरान केवल एक बार आउट हुए हैं। लेकिन इन दोनों के अलावा सिर्फ ग्लेन मैक्सवेल ही आरसीबी के लिए लगातार अच्छी पारियां खेल पाये है। इस मैच में सब की निगाहें पूर्व कप्तान विराट कोहली पर भी होगी जो जल्द ही खराब लय से उबरना चाहेंगे। जोश हेजलवुड, मोहम्मद सिराज, हर्षल पटेल और वानिंदु हसरंगा की मौजूदगी में टीम की गेंदबाजी हालांकि मजबूत है।हैदराबाद की टीम में कप्तान केन विलियमसन और निकोलस पूरन के अलावा बल्लेबाजी में कोई बड़ा नाम नहीं है लेकिन अभिषेक शर्मा और राहुल त्रिपाठी के अलावा दक्षिण अफ्रीका के एडेन मार्कराम ने अब तब के अपने प्रदर्शन से प्रभावित किया है। हैदराबाद की टीम इस मैच में जीत के साथ तालिका में शीर्ष चार में पहुंच जाएगी तो वही आरसीबी के बार शीर्ष स्थान हासिल करने का मौका होगा। केन विलियमसन (कप्तान), अभिषेक शर्मा, राहुल त्रिपाठी, एडेन मार्कराम, निकोलस पूरण, अब्दुल समद, प्रियम गर्ग, विष्णु विनोद, ग्लेन फिलिप्स, आर समर्थ, शशांक सिंह, वाशिंगटन सुंदर, रोमेरियो शेफर्ड, मार्को यानसन, जे सुचित, श्रेयस गोपाल, भुवनेश्वर कुमार, सीन एबॉट, कार्तिक त्यागी, सौरभ तिवारी, फजलहक फारूकी, उमरान मलिक, टी नटराजन। विराट कोहली, ग्लेन मैक्सवेल, मोहम्मद सिराज, फाफ डुप्लेसी, हर्षल पटेल, वानिंदु हसरंगा, दिनेश कार्तिक, जोश हेजलवुड, शाहबाज अहमद, अनुज रावत, आकाश दीप, महिपाल लोमरोर, फिन एलन, शेरफेन रदरफोर्ड, जेसन बेहरेनडॉर्फ, सुयश प्रभुदेसाई, चामा मिलिंद, अनीश्वर गौतम, कर्ण शर्मा, डेविड विली, रजत पाटीदार, सिद्धार्थ कौल।

नुसरतजहांऔरयशदासगुप्ताकीफिल्मSOSकोलकाता1अक्टूबरकोहोगीरिलीज"द स्मार्टटेकइंडिया" के दूसरे संस्करण पर सम्मेलन का उद्घाटन, 03-15 दिसंबर तक नई दिल्ली में होगा आयोजित******"द स्मार्टटेकइंडिया" -के दूसरे संस्करण पर सम्मेलन का उद्घाटन, 03-15 दिसंबर तक नई दिल्ली में होगा आयोजितHighlightsनई दिल्ली: अगले माह 03 से 15 दिसंबर, 2021 तक आयोजित होने वाले "द स्मार्ट टेक इंडिया इनिशिएटिव" के दूसरे संस्करण पर सम्मेलन को संबोधित करते हुए डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा, स्टार्ट-अप इको-सिस्टम ने भारत में युवाओं के लिए आजीविका के अपार अवसर पैदा किए हैं और यह अब ग्रामीण क्षेत्रों में तेजी से अपनी पैठ बना रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में विश्व के अग्रणी देशों में से एक के रूप में उभर रहा है और हाल ही में इसने वैश्विक नवाचार सूचकांक 2021 में 46वें स्थान पर आकर प्रमुख 50 अभिनव देशों की सूची में प्रवेश किया है ।डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा, महामारी के कारण आर्थिक संकट के बावजूद, भारतीय स्टार्टअप इको-सिस्टम में पहले से ही 35 नई इकाइयां (यूनिकॉर्न्स) हैं, जो इस वर्ष के लिए अनुमानित संख्या को पार कर गए हैं। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने हाल ही में एक आत्मनिर्भर भारत के निर्माण की दिशा में भारतीय स्टार्टअप को नवाचार और मूल्य निर्माण में सबसे आगे रखा है। उन्होंने कहा कि एक नए पुनरुत्थान वाले भारत के सपने को साकार करने के लिए उद्योग और हितधारकों के साथ सहयोग को व्यवस्थित रूप से उपयोग में लाए जाने की आवश्यकता है।डॉ जितेंद्र सिंह ने कहा की भारतीय स्टार्ट-अप पारिस्थितिकी तंत्र दुनिया में अभी भी तीसरे स्थान पर बना हुआ है, जिसमें सहयोग दे रहे कई पक्ष इस उल्लेखनीय विकास को और बढ़ावा दे रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि भारत ने अपने व्यापार और नवाचार के माहौल में भी लगातार सुधार किया है और अब विश्व बैंक की नवीनतम वार्षिक रेटिंग के अनुसार, देश व्यवसाय करने में आसानी के मामले में 190 अर्थव्यवस्थाओं में 63वें स्थान पर है।जितेंद्र सिंह ने कहा कि भारतीय वाणिज्य एंव उद्योग मंडल (एएसएसओसीएचएएम–एसोचैम), नेशनल एसोसिएशन ऑफ सॉफ्टवेयर एंड सर्विसेज कंपनीज (एनएएसएससीओएम-नैसकॉम), भारतीय उद्योग परिसंघ (कॉन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री –सीआईआई) और भारतीय वाणिज्य एवं उद्योग महासंघ (फेडरेशन ऑफ़ इंडियन चैम्बर्स ऑफ़ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री- एफआईसीसीआई - फिक्की ) जैसे सभी उद्योग संघों ने स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र के विकास में बहुत योगदान दिया है।उन्होंने कहा, विभिन्न सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम (पीएसयू) और बहुराष्ट्रीय कंपनियां देश में लगातार विकसित हो रहे नवाचार और स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र से जुड़ी हुई हैं और कई मंत्रालय और विभाग यानी विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी), जैव-प्रौद्योगिकी विभाग (डीबीटी), वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान विभाग (डीएसआईआर), रक्षा अनुसन्धान और विकास विभाग (डीआरडीओ), अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान परिषद (आईसीएमआर), भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर), सूक्ष्म , लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय (एमएसएमई) और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (एमईआईटीवाई) देश में स्टार्टअप के नेतृत्व वाले नवाचार पारिस्थितिकी तंत्र को बढ़ावा देने के लिए सक्रिय रूप से योगदान दे रहे हैं।डॉ. जितेंद्र सिंह ने बताया कि विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी) पिछले साल से ही "द स्मार्टटेकइंडिया" पहल का समर्थन कर रहा है और इस साल फिर से डीएसटी ने स्मार्टटेकइंडिया 2021 के लिए एसोचैम के साथ हाथ मिलाया है, ताकि नवाचार की भावना के उल्लास को मनाया जा सके और उसे पुरस्कृत किया जा सके तथा इसके साथ ही स्टार्टअप्स, सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यमों (एमएसएमई) और बाजार के अग्रणी व्यवसायियों (मार्केट लीडर्स) द्वारा अपने उत्पादों और सेवाओं का प्रदर्शन करने के लिए भारतीय प्रौद्योगिकी को एक वैश्विक मंच प्रदान किया जा सके। उन्होंने कहा कि विगन और प्रद्योगिकी विभाग (डीएसटी) स्वच्छ ऊर्जा और पानी के नए क्षेत्रों - विशेष रूप से स्वच्छ कोयला प्रौद्योगिकी, मेथनॉल, सौर ऊर्जा, उन्नत और बेहतर (स्मार्ट) ग्रिड, बेहतर (स्मार्ट) भवन, कार्बन कैप्चर और उसके उपयोग में तकनीकी नेतृत्व वाले मिशन चला रहा है। उन्होंने कहा कि डीएसटी के एक अन्य प्रमुख मिशन, राष्ट्रीय सुपरकंप्यूटिंग मिशन का लक्ष्य देश की कुल कंप्यूटिंग क्षमता को 45 पेटाफ्लॉप्स में उन्नत करना है।मंत्री महोदय ने याद किया कि 2016 में डीएसटी ने एक नया कार्यक्रम, नेशनल इनिशिएटिव फॉर डेवलपिंग एंड हार्नेसिंग इनोवेशन (निधि) को एक छत्र पहल के रूप में तैयार किया था, जो प्रौद्योगिकी व्यवसाय ऊष्मायन (टेक्नोलॉजी बिजनेस इन्क्यूबेटर्स –टीबीआई) के माध्यम से संचालित तकनीक-आधारित स्टार्टअप की बाजार में खपत की प्रक्रिया के लिए नवाचार के विभिन्न चरणों का समर्थन करता है। उन्होंने कहा कि विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी) का प्रौद्योगिकी विकास बोर्ड भी स्वदेशी तकनीक आधारित समाधानों को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।स्मार्ट टेक्नोलॉजीज नवाचारों पर ध्यान केंद्रित करते हुए, डॉ जितेंद्र सिंह ने कहा, ये नवाचार एयरोस्पेस और रक्षा, वित्तीय सेवाओं, स्वास्थ्य देखरेख (हेल्थकेयर) , कृत्रिम बुद्धिमत्ता (एआई) और स्वचालन (ऑटोमेशन), उद्योग 4.0 और स्मार्ट गतिशीलता (मोबिलिटी) जैसे कई क्षेत्रों में एक विघटनकारी क्रांति पैदा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमारी राष्ट्रीय आकांक्षाएं भी अब पर्यावरण अनुकूल (हरित) होने के लिए तैयार हैं और राष्ट्रीय हाइड्रोजन मिशन के साथ ही नवीकरणीय ऊर्जा पर हमारी निर्भरता उत्तरोत्तर बढती जाएगी।नुसरतजहांऔरयशदासगुप्ताकीफिल्मSOSकोलकाता1अक्टूबरकोहोगीरिलीजपाकिस्तान की साजिश नाकाम, अमृतसर के पास पकड़ा गया नशीले पदार्थों का अबतक का सबसे बड़ा जखीरा******सीमा शुल्क विभाग ने ट्रक के जरिए व्यापार मार्ग से तस्करी कर लाई जा रही 532 किलोग्राम संदिग्ध हेरोइन अटारी सीमा पर बरामद की है। इसकी कीमत करीब 3,000 करोड़ रुपये बताई गई है। भारतीय सीमाशुल्क के इतिहास में यह अब तक की सबसे बड़ी बरामदगी बताई जाती है।अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी। सीमा शुल्क (निवारक) आयुक्त दीपक कुमार गुप्ता ने बताया कि हेरोइन की खेप और अन्य 52 किलोग्राम संदिग्ध मिश्रित मादक पदार्थ ट्रक में सेंधा नमक के सैकड़ों बोरों के नीचे छिपाकर रखा गया था। यह ट्रक पाकिस्तान से एकीकृत जांच चौकी (आईसीपी) से शनिवार को अटारी पहुंचा था।उन्होंने कहा,‘‘अंतरराष्ट्रीय संगठित मादक पदार्थ तस्करी का भंडाफोड़ करने में एक बड़ी सफलता हासिल करते हुए अमृतसर के सीमा शुल्क निवारक आयुक्तालय ने अटारी स्थित आईसीपी पर आयात खेप में 532 किलोग्राम संदिग्ध हेरोइन और 52 किलोग्राम संदिग्ध मिश्रित नशीले पदार्थ जब्त किए हैं।’’ गुप्ता ने कहा कि भारतीय सीमा शुल्क के इतिहास में यह अब तक की सबसे बड़ी उपलब्धि है।शनिवार को दोपहर करीब डेढ़ बजे सेंधा नमक की खेप की जांच के दौरान एक बोरे में सफेद पदार्थ रखा मिला। 600 बोरों की जांच में 15 में नशीला पदार्थ होने का संदेह हुआ। 15 बोरों की आगे की जांच में उनमें 532 किलोग्राम हेरोइन और 52 किलोग्राम मिश्रित मादक पदार्थ पाया मिला। गुप्ता ने कहा,‘‘अंतरराष्ट्रीय बाजार में हेरोइन की कीमत 2,700 करोड़ रुपए बताई जाती है।

नुसरतजहांऔरयशदासगुप्ताकीफिल्मSOSकोलकाता1अक्टूबरकोहोगीरिलीजKrishna Janmashtami: आपके शहर में जन्माष्टमी को लेकर Bank कब रहेंगे बंद और कहां नहीं रहेगी छुट्टी, पढ़िए पूरी डिटेल******Highlights इस बार को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई है कि किसी तारीख को बंद रहेंगे और कब से काम हो सकेगा। की अवकाश कैलेंडर सूची के अनुसार, जन्माष्टमी के अवसर पर देश भर के अधिकांश निजी और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक बंद रहेंगे, लेकिन बैंकों में छुट्टी 18, 19 या 20 अगस्त में से कब होगी, इस बारे में हम आपको आज बताने वाले हैं।सिर्फ बैंक ही नहीं बल्कि सरकारी दफ्तरों और शिक्षण संस्थानों में भी छुट्टी को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई है। हरियाणा सरकार ने अधिसूचित किया है कि 19 अगस्त को सरकारी कार्यालयों और शैक्षणिक संस्थानों में 18 अगस्त को जन्माष्टमी त्योहार के अवसर पर छुट्टी मनाई जाएगी।हिंदू पंचाग के अनुसार, अष्टमी तिथि की 18 अगस्त शाम 9 बजकर 21 मिनट से प्रारंभ होकर 19 अगस्त 10 बजकर 59 मिनट समाप्त हो रही है। ऐसे में कुछ लोग जिस दिन तिथि शुरू होती है उस दिन त्योहार मनाते हैं वहीं कुछ साधू-संत व वैष्णव समाज के लोग उदया तिथि (यानी जिस दिन उस तिथि में सूर्योदय हुआ हो) उस दिन पूरे दिन त्योहार मनाते हैं। ऐसे में देखा जाए तो गृहस्थ जीवन जीने लोगों के लिए 18 अगस्त को ही जन्माष्टमी का व्रत रखने की सही तिथि होगी।अगस्त को त्योहारों का महीना कहा जाता है। त्योहारों में ही आपको सबसे ज्यादा पैसे की जरूरत होती है, लेकिन इस बार अगस्त के महीने में कुल 10 दिनों तक बैंक बंद रहने वाले हैं, इसलिए आप अपनी जरूरत के हिसाब से कैश पहले ही निकाल कर रख लें। दरअसल, हर बार अगस्त के महीने में 6 साप्ताहिक छुट्टियां रहती हैं, लेकिन इस बार इन 6 छुट्टियों में चार और त्योहारों की भी छुट्टियां जुड़ गई हैं। बता दें, बाकि की 6 छुट्टियां तो बीत चुकी हैं। अभी जन्माष्टमी की छुट्टी चल रही है, इसके अलावा अगस्त में और तीन दिन बैंक बंद रहेंगे।नुसरतजहांऔरयशदासगुप्ताकीफिल्मSOSकोलकाता1अक्टूबरकोहोगीरिलीजDHFL मामले में पूर्व प्रमोटर वधावन की दूसरी अपील खारिज, जानिए क्या है पूरा मामला******dhflHighlightsराष्ट्रीय कंपनी विधि अपीलीय न्यायाधिकरण (एनसीएलएटी) ने कर्ज में डूबी कंपनी डीएचएफएल के संदर्भ में राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) की मुंबई पीठ के आदेश को खारिज कर दिया है।एनसीएलटी ने डीएचएफएल के प्रशासक को कंपनी के पूर्व प्रमोटर कपिल वधावन की दूसरी समाधान पेशकश को ऋणदाताओं के समक्ष विचार के लिए रखने को निर्देश दिया था। अपीलीय न्यायाधिकरण ने पाया कि एनसीएलटी ने वधावन के दूसरे प्रस्ताव पर विचार करने का आदेश इस तथ्य को नजरअंदाज करते हुए पारित किया है कि डीएचएफएल की ऋणदाताओं की समिति (सीओसी) पहले ही बहुमत से पीरामल कैपिटल एंड हाउसिंग फाइनेंस की समाधान योजना को मंजूरी दे चुकी है और प्रशासक ने इसे उसके समक्ष मंजूरी के लिए रखा है। एनसीएलएटी ने एबिक्स सिंगापुर के मामले में आए उच्चतम न्यायालय के हालिया फैसले का हवाला देते हुए कहा, सीओसी द्वारा समाधान योजना को मंजूरी देने के बाद संबंधित पक्षों के बीच किसी तरह की बातचीत की गुंजाइश नहीं बचती।एनसीएलएटी की तीन सदस्यीय पीठ ने 27 जनवरी, 2022 को पारित अपने फैसले में कहा, यह फैसला एनसीएलटी के अधिकार क्षेत्र से बाहर है। ऐसे में यह फैसला टिकने योग्य नहीं है और इसे खारिज किया जाता है। एनसीएलएटी ने यह निर्देश सीओसी, डीएचएफएल प्रशासक और पीरामल कैपिटल एंड हाउसिंग फाइनेंस की ओर से यूनियन बैंक ऑफ इंडिया द्वारा दायर याचिकाओं पर दिया है। इन याचिकाओं में एनसीएलटी के आदेश को चुनौती दी गई थी। इससे पहले 19 मई, 2021 को एनसीएलटी ने दीवान हाउसिंग फाइनेंस कॉरपोरेशन लिमिटेड (डीएचएफएल) के प्रशासक को निर्देश दिया था कि वह वधावन के दूसरे प्रस्ताव को सीओसी के समक्ष विचार, निर्णय और मतदान के लिए रखे और उसे 10 दिन के अंदर इसकी जानकारी दे। इस आदेश को सीओसी, प्रशासक और पीरामल ने अपीलीय न्यायाधिकरण के समक्ष चुनौती दी थी।अपीलीय न्यायाधिकरण के समक्ष इस अपील के लंबित रहने के दौरान एनसीएलटी ने सात जून, 2021 को पीरामल कैपिटल एंड हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड की समाधान योजना को मंजूरी देने का आदेश पारित किया था। याचिकाकर्ताओं का कहना था कि डीएचएफएल की कॉरपोरेट दिवाला समाधान प्रक्रिया (सीआईआरपी) के दौरान वधावन कई पत्र और प्रस्ताव भेजते रहे हैं। सीओसी का मानना है कि इस तरह के प्रस्तावों पर विचार करने की जरूरत नहीं है। वधावन का दूसरा प्रस्ताव भी अलग रूप में पहली पेशकश के समान ही है। डीएचएफएल के खिलाफ दिवाला एवं ऋणशोधन अक्षमता कार्रवाई 20 नवंबर, 2019 को शुरू की गई थी। एनसीएलटी ने डीएचएफएल के निदेशक मंडल को भंग कर दिया था और इसके कामकाज के प्रबंधन के लिए प्रशासक नियुक्त किया था।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 05:19
उद्धरण 1 इमारत
राज बावा ने U19 वर्ल्ड कप में रचा इतिहास, 162 रनों की तूफानी पारी खेलकर तोड़ा शिखर धवन का 14 साल पुराना रिकॉर्ड******Highlightsभारत और युगांडा के बीच आईसीसी अंडर 19 वर्ल्ड कप 2022 का 22वां मुकाबला खेला जा रहा है। इस मैच में भारतीय बल्लेबाज राज बावा ने 162 रनों की नाबाद पारी खेलकर इतिहास रच दिया। राज बावा अब आईसीसी अंडर 19 वर्ल्ड कप के इतिहास में भारत के ओर से एक पारी में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं। भारत ने युगांडा के खिलाफ पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 50 ओवर में 5 विकेट के नुकसान पर 405 रन बनाए।राज बावा ने अपनी इस धमाकेदार पारी की मदद से भारतीय सलामी बल्लेबाज शिखर धवन का 14 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ा है। अंडर 19 वर्ल्ड कप में बावा से पहले एक पारी में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड धवन के नाम था। गब्बर के नाम से मशहूर ​धवन ने 2004 में स्कॉटलैंड के खिलाफ ढाका में 155 रनों की नाबाद पारी खेली।कुल मिलाकर, यह U19 विश्व कप में आठवां सर्वोच्च व्यक्तिगत स्कोर है, जिसमें श्रीलंका के एच बोयागोडा अभी भी टूर्नामेंट के पिछले संस्करण में केन्या के खिलाफ 191 रनों की पारी के साथ शीर्ष पर हैं।बात भारतीय पारी की करें तो राज बावा के अलावा सलामी बल्लेबाज अंगक्रिश रघुवंशी ने 144 रनों की धुआंधार पारी खेली। रघुवंशी ने इस दौरान 22 चौके और 4 गगनचंबी छक्के लगाए। रघुवंशी और बावा के बीच तीसरे विकेट के लिए 206 रनों की साझेदारी हुई थी।भारत अंडर 19 वर्ल्ड कप के पहले दो मैच जीतकर पहले ही सुपर लीग स्टेज के लिए क्वालीफाई कर चुकी है। साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहला मुकाबला टीम इंडिया ने 45 रनों से जीता था, वहीं दूसरी मुकाबले में उन्होंने आयरलैंड को 174 रनों से पटखनी दी थी।
2022-10-01 05:07
उद्धरण 2 इमारत
क्या गलत थी पीसीबी की कोविड-19 रिपोर्ट? दूसरे टेस्ट में नेगेटिव मिले मोहम्मद हफीज******पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने कल अपने 7 कोरोना संक्रमित खिलाड़ियों की सूची जारी कि थी जिसमें दिग्गज बल्लेबाज मोहम्मद हफीज का भी नाम था, लेकिन जब हफीज ने दोबारा खुद इसकी जांच करवाई तो उनका टेस्ट नेगेटिव आया।हफीज ने अपने ट्विटर आकाउंट के जरिए इसकी जानकारी खुद दी। हफजी ने अपनी नेगेटिव रिपोर्ट की तस्वीर ट्वीट करते हुए लिखा 'कल पीसीबी द्वारा कोविड-19 संक्रमित पाए जाने की रिपोर्ट के बाद मैंने अपनी संतुष्टि के लिए अपने घर वालों के साथ दूसरा टेस्ट करवाया और मेरे साथ पूरे परिवार की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। अल्लाह सबको सलामत रखें।'उल्लेखनीय है, कल पाकिस्तान ने मोहम्मद हफीज और वहाब रियाज सहित सात और पाकिस्तानी क्रिकेटर कोरोना पॉजिटिव पाए जाने की जानकारी दी थी। इससे पहले इंग्लैंड दौरे पर जाने वाले पाकिस्तान के तीन खिलाड़ी- हैदर अली, हैरिस राउफ और शादाब खान 22 जून को कोरोना टेस्ट में पॉजिटिव पाए गए थे। पीसीबी ने जानकारी दी थी कि रविवार को रावलपिंडी में टेस्ट किए जाने से पहले तक इन लोगों में कोरोना वायरस के कोई लक्षण नहीं थे।पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के सीईओ वसीम खान ने मीडिया सम्मेलन में कहा, "यह बहुत अच्छी स्थिति नहीं है और यह 10 फिट और युवा एथलीट हैं ... अगर खिलाड़ियों के साथ ऐसा हो सकता है तो यह किसी के साथ भी हो सकता है।"खान ने बताया, "एक सपोर्ट स्टाफ मेंबर मलंग अली भी COVID-19 टेस्ट में पॉजिटिव आया है। यह चिंता की बात है लेकिन इस समय घबराना नहीं चाहिए खिलाड़ियों और अधिकारियों को इंग्लैंड पहुंचने पर दोबारा कोरोना टेस्ट किया जाएगा।" वसीम ने बताया कि खिलाड़ी और अधिकारी अब लाहौर में इकट्ठा होंगे और टेस्ट का एक और दौर 25 जून को होगा। इसके अगले दिन संशोधित टीम घोषित की जाएगी।पाकिस्तान की 29 सदस्यीय टीम को 28 जून को इंग्लैंड के लिए रवाना होना है। इस दौरे पर पाकिस्तानी टीम इंग्लैंड इंग्लैंड के खिलाफ तीन मैचों की टेस्ट और इतने ही मैचों की टी-20 सीरीज खेलेगी।
2022-10-01 04:45
उद्धरण 3 इमारत
Bandhan Bank का चौथी तिमाही मुनाफा 68% बढ़कर हुआ 651 करोड़ रुपए, PNBHF विदेशी बाजार से जुटाएगी एक अरब डॉलर******Bnadhan Bnak निजी क्षेत्र के का शुद्ध लाभ बीते वित्त वर्ष की चौथी तिमाही (जनवरी-मार्च) के दौरान 68 प्रतिशत बढ़कर 650.87 करोड़ रुपए पर पहुंच गया। इससे पिछले वित्त वर्ष 2017-18 की समान तिमाही में बैंक ने 387.86 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ कमाया था। शेयर बाजारों को भेजी सूचना में बैंक ने कहा कि तिमाही के दौरान उसकी कुल आय बढ़कर 2,220.51 करोड़ रुपए पर पहुंच गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष के दौरान 1,553.97 करोड़ रुपए रही थी।तिमाही के दौरान बैंक की शुद्ध ब्याज आय 45.60 प्रतिशत बढ़कर 1,258 करोड़ रुपए रही, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 864 करोड़ रुपए रही थी।समीक्षाधीन अवधि में बैंक की ब्याज से इतर आय 91.13 प्रतिशत बढ़कर 388 करोड़ रुपए पर पहुंच गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 203 करोड़ रुपए थी।मार्च तिमाही के दौरान बैंक की सकल गैर निष्पादित आस्तियां (एनपीए) बढ़कर कुल ऋण का 2.04 प्रतिशत रही, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही के दौरान 1.25 प्रतिशत थी। हालांकि, तिमाही के दौरान बैंक का शुद्ध एनपीए या डूबा कर्ज 0.58 प्रतिशत पर कायम रहा। बंधन बैंक के निदेशक मंडल ने तीन रुपए प्रति शेयर के लाभांश की सिफारिश की है। इसके लिए शेयरधारकों की मंजूरी ली जाएगी।पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस विदेशी बाजारों से एक अरब डॉलर (करीब 6,954 करोड़ रुपए) जुटाएगी। इसके अलावा आवास वित्त कंपनी 10,000 करोड़ रुपए बांड जारी कर जुटाएगी। पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस ने शेयर बाजार को दी सूचना में कहा कि उसके निदेशक मंडल की बैठक नौ मई को होगी। इसमें विदेशों से एक अरब डॉलर तक वाणिज्यिक कर्ज से जुटाने के प्रस्ताव पर विचार किया जाएगा। इसे एक या अधिक किस्तों में जुटाने का प्रस्ताव है।निदेशक मंडल विभिन्न किस्तों में बांड के जरिये 10,000 करोड़ रुपए तक जुटाने पर भी विचार करेगा। पंजाब नेशनल बैंक की आवास वित्त इकाई नौ मई को चौथी तिमाही के वित्तीय नतीजे की घोषणा करेगी।
वापसी