नई पोस्ट करें

गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होंगे ऑटो रिक्शा चालक, हेल्थ वर्कर और सफाई कर्मचारी, पीएम मोदी ने दिया निर्देश

2022-10-01 05:54:09 452

गणतंत्रदिवसपरेडमेंशामिलहोंगेऑटोरिक्शाचालकहेल्थवर्करऔरसफाईकर्मचारीपीएममोदीनेदियानिर्देशविश्व धरोहर दिवस 2019: आज आप पूरा दिन फ्री में घूमें ताजमहल, लाल किला सहित भारत के इन ऐतिहासिक जगहों पर******आज विश्व धरोहर दिवस है। पूरी दुनिया में 18 अप्रैल को हर साल विश्व धरोहर दिवस के रुप में मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र की ईकाई यूनेस्को ने 18 अप्रैल को इस दिवस के रुप में घोषित किया है। यह एक ऐसा दिन है। जिस दिन आप भारत के सभी ऐतिहासिक स्थलों में फ्री में घूम सकते है। इस दिन बिल्कुल एंट्री रहोती है।आज आप लाल किला, कुतुब मीनार से लेकर ताजमहल हर एक जग फ्री में घूम सकेंगे। तो फिर देर किस बात की आज के सुहाने मौसम में करें इस ऐतिहासिक स्थलों का भ्रमण।भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग की आधिकारिक वेबसाइट ने इस बात की जानकारी दी है। वेबसाइट के मुताबिक 18 अप्रैल को ऐतिहासिक स्मारकों पर घूमने के लिए वहां कोई टिकट नहीं लगेगा। इसमें किन किन राज्यों के ऐतिहासिक स्मारकों की बात कही गई है उसका भी जिक्र किया गया है। इसमें दिल्ली के अलावा, आगरा, बेंगलुरु, औरंगाबाद, भोपाल, भुवनेश्वर, चंडीगढ़, चेन्नई, धारवाड़ और गोवा भी शामिल है। आपको बता दें कि आम दिनों पर इन जगहों पर घूमने के लिए काफी फीस देनी पड़ती है। आज पूरी दुनिया में यानी 18 अप्रैल को विश्व धरोहर दिवस मनाया जाता है। साल 1983 में यूनेस्को ने इसे मान्यता दी थी। खास बात ये है कि यूनेस्को की वर्ल्ड हेरीटेज साइट की लिस्ट में भारत के कई ऐतिहासिक स्मारकों का भी नाम शामिल है। इसमें मुख्य रुप से लाल किला, ताजमहल, अजंता-एलोरा की गुफाएं, जयपुर का जंतर-मंतर और हंपी की गुफाएं भी शामिल है।

गणतंत्रदिवसपरेडमेंशामिलहोंगेऑटोरिक्शाचालकहेल्थवर्करऔरसफाईकर्मचारीपीएममोदीनेदियानिर्देशसोने में दो दिन से जारी तेजी पर लगा ब्रेक, मांग घटने से 60 रुपए गिरकर भाव हुआ 29,050 रुपए/दस ग्राम****** वैश्विक बाजारों के कमजोर संकेत और स्थानीय आभूषण निर्माताओं की मांग घटने से स्थानीय सर्राफा बाजार में आज सोना 60 रुपए गिरकर 29,050 रुपए प्रति दस ग्राम रह गया। पिछले दो दिन की लगातार तेजी के बाद आज कीमती धातुओं के भाव गिरे हैं।उठाव कमजोर पड़ने से चांदी का भाव भी 50 रुपए गिरकर 38,500 रुपए प्रति किलो रह गया।अमेरिका में आर्थकि आंकड़ों के विश्लेषकों के अनुमान से भी बेहतर आने से डॉलर में मजबूती आ गई, जिससे कीमती धातुओं का आकर्षण कम हुआ। वैश्विक बाजारों में सिंगापुर में आज सोना 0.28 प्रतिशत गिरकर 1,237.50 डॉलर प्रति औंस रह गया, जबकि चांदी 0.49 प्रतिशत घटकर 16.18 डॉलर प्रति औंस रह गई।व्यापारियों के अनुसार स्थानीय आभूषण निर्माताओं और खुदरा विक्रेताओं की मांग कमजोर पड़ने से भी कीमती धातुओं पर असर पड़ा। राष्ट्रीय राजधानी में आज 99.9 प्रतिशत शुद्धता वाले सोने का भाव 60 रुपए घटकर 29,050 रुपए और 99.5 प्रतिशत शुद्धता वाले सोने का भाव भी 60 रुपए गिरकर 28,900 रुपए प्रति दस ग्राम रह गया। पिछले दो दिनों के कारोबार में सोना 160 रुपए चढ़ गया था।गिन्नी का भाव 24,400 रुपए प्रति आठ ग्राम पर स्थिर रहा।सोने की राह पर चलते हुए चांदी में भी गिरावट का रुख रहा। हाजिर चांदी का भाव 50 रुपए गिरकर 38,500 रुपए किलो और साप्ताहिक डिलीवरी चांदी का भाव 37,550 रुपए किलो पर स्थिर रहा।चांदी सिक्का, हालांकि, लिवाल 71,000 रुपए और बिकवाल 72,000 रुपए प्रति सैकड़ा पर स्थिर रहा।गणतंत्रदिवसपरेडमेंशामिलहोंगेऑटोरिक्शाचालकहेल्थवर्करऔरसफाईकर्मचारीपीएममोदीनेदियानिर्देशCAIT ने चीनी सामानों के बहिष्कार का किया आह्वान, 500 से ज्यादा वस्तुओं की लिस्ट की जारी****** कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स () ने वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीनी सेना की आक्रामकता की निंदा करते हुए चीनी सामनों के बहिष्कार का आह्वान किया है। सीएआईटी ने यह आह्वान ऐसे समय में किया है, जब लद्दाख में गलवान घाटी में भारत-चीन के बीच गतिरोध सोमवार को हिंसक हो गया, जिसमें दोनों पक्षों की तरफ कई लोग हताहत हुए हैं।सीएआईटी ने कहा कि मुख्य बात यह है कि 13 अरब डॉलर या लगभग एक लाख करोड़ रुपये तक की चीनी तैयार वस्तुओं का आयात दिसंबर 2021 से घटा दिया जाए। भारत मौजूदा समय में साल में 5.25 लाख करोड़ रुपये या 70 अरब डॉलर मूल्य की वस्तुओं का चीन से आयात करता है।सीएआईटी ने एक बयान में कहा, "प्रथम चरण ने सीएआईटी ने वस्तुओं की 500 से अधिक श्रेणियों को चुना है, जिनमें 3,000 से अधिक वस्तुएं शामिल हैं, जो भारत में भी बनाई जाती हैं, लेकिन सस्ते के लालच में अभी तक चीन से आयात की जा रही हैं।"बयान में कहा गया है, "इन वस्तुओं के निर्माण के लिए किसी अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी की जरूरत नहीं है और यदि जरूरत भी पड़ती है तो भारत उसके लिए अच्छी तरह तैयार है और भारत में विनिर्मित वस्तुओं का चीनी वस्तुओं के स्थान पर अच्छी तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है, जिससे इन वस्तुओं के लिए चीन पर भारत की निर्भरता घटेगी।"

गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होंगे ऑटो रिक्शा चालक, हेल्थ वर्कर और सफाई कर्मचारी, पीएम मोदी ने दिया निर्देश

गणतंत्रदिवसपरेडमेंशामिलहोंगेऑटोरिक्शाचालकहेल्थवर्करऔरसफाईकर्मचारीपीएममोदीनेदियानिर्देशकमजोर ग्लोबल संकेत और मांग घटने से सस्ता हुआ सोना, कीमतों में आई 200 रुपए की गिरावट****** घरेलू ज्वैलर्स की खरीदारी में कमी और कमजोर ग्लोबल संकेत के कारण सोने की कीमतों में जोरदार गिरावट दर्ज की गई। बुधवार को दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना 200 रुपए टूटकर 29,750 रुपए प्रति औंस पर बंद हुआ। वहीं कमजोर इंडस्ट्रीयल डिमांड के चलते चांदी 100 रुपए की गिरावट के साथ 43,100 रुपए प्रति किलो रह गई।सर्राफा कारोबारियों ने कहा कि कमजोर ग्लोबल संकेत के अलावा ज्वैलर्स और रिटेलर्स की खरीदारी घटी है। उन्होंने ने बताया कि भाव ज्यादा होने के कारण लोग सोने में खरीदारी से बच रहे हैं। हालांकि वेडिंग सीजन जारी है जिसकी वजह से कीमतों को सहारा मिल रहा है।गणतंत्रदिवसपरेडमेंशामिलहोंगेऑटोरिक्शाचालकहेल्थवर्करऔरसफाईकर्मचारीपीएममोदीनेदियानिर्देशनवजोत सिंह सिद्धू पर लटकी 'तलवार', सीएम अमरिंदर ने कही ये बड़ी बात****** पंजाब के मुख्यमंत्री और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच चल रहा विवाद और बढ़ गया है। में लोकसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि अपने विभाग को ठीक से संभाल नहीं पाए। स्थानीय निकाय मंत्री होने के नाते भी वो अर्बन में अच्छा काम नहीं कर पाए। चुनाव में अर्बन एरिया वोट हमारे लिए बहुत जरूरी थे ग्रामीण इलाकों में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया।सूत्रों की मानें तो कैप्टन अमरिंदर ने पार्टी नेतृत्व से दो टूक कह दिया है कि नवजोत सिंह सिद्धू की वजह से पंजाब और अन्य राज्यों में पार्टी को काफी नुकसान हुआ है। अब पार्टी को उनमें या नवजोत सिंह सिद्धू में से किसी एक को चुनना होगा। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि सिद्धू के विभाग को बदलने की सिफारिश हाई कमान से की जाएगी। बता दें कि, लोकसभा चुनाव से पहले भी सिद्धू के विभाग को बदलने की बात हाई कमान के समक्ष रखी गई थी।कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि पाकिस्तान आर्मी चीफ को सिद्धू का गले लगाना कतई बर्दाश्ह नहीं किया जाएगा। बेअदबी मामले को लेकर जब मैंने गठित की तो नवजोत सिद्धू ने मेरे पेरी हाथ लगाकर खुशी जाहिर की थी आज वो इस्तीफा देने की बात कर रहें हैं।इसके अलावा हाल ही में सिद्धू की पत्नी ने कहा था कि अगर पंजाब में कांग्रेस पार्टी सभी 13 सीटों पर नहीं जीतती है तो कैप्टन अमरिंदर सिंह को इस्तीफा दे देना चाहिए।आपको बता दें कि को 13 में से 8 सीटें, बीजेपी-अकाली दल को 4 और आम आदमी पार्टी को 1 सीट मिली हैं। कांग्रेस का दावा था कि वह पंजाब में इस बार सभी 13 सीटों पर जीत दर्ज करेगी।गणतंत्रदिवसपरेडमेंशामिलहोंगेऑटोरिक्शाचालकहेल्थवर्करऔरसफाईकर्मचारीपीएममोदीनेदियानिर्देशइस तरह घर पर करें Hair Spa, रिजल्ट देख आप भी हो जाएंगे हैरान****** में जाकरबालों में स्पा के पीछे आप हजारों रूपये खर्च कर दिए होंगे। लेकिन क्या आपको पता है स्पा के दौरान बालों में जो स्टीम दिया जाता है। यह स्टीमबालों के लिए बहुत ही खतरनाक होता। इस स्टीम के कारण ही धीरे-धीरे बाल कमजोर और दोमुहे जाते हैं साथ ही बाल रफ हो जाते हैं। आजआपको बताएंगे कैसेआराम से घर बैठे ही स्पा कर सकते हैं इसके लिए आपकोकिसी पार्लरजाकर इतना पैसा खर्च करनेकी जरूरत नहीं।सबसे पहले हेयर स्पा क्रीम और को एक बर्तन में डालकर अच्छे से मिलाएं। इसके बाद अपनी बालों की लंबाई और मोटाई के हिसाब से क्रीम निकालकर उसे अच्छे से मिला लें। और अगर क्रीम ज्यादा थीक है तो आप उसमें हेयर सीरम मिला सकते हैं।आपने जब स्पा क्रीम तैयार कर लिया उसके बाद बालों में अच्छे से शेम्पू करें। शेम्पू करने के ठीक बाद बालों को अच्छे से सुखा लें। बालों में शेम्पू के बाद जब बाल अच्छी तरह से सुख जाए तो फिर उसे छोटे-छोटे टूकड़ों में बांटें और फिर आपने जो स्पा क्रीम बनाया है उसे बालों पर अच्छे से लगा लें।बालों में क्रीम लगाने के बादउसेकवर कर दें फिर उसके बादबालों में 4 से 5 मिनट तक स्टीम लें। जब ये सब अच्छे से हो जाए तो फिर साफ पानी से अपने बालों को धो लें।

गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होंगे ऑटो रिक्शा चालक, हेल्थ वर्कर और सफाई कर्मचारी, पीएम मोदी ने दिया निर्देश

गणतंत्रदिवसपरेडमेंशामिलहोंगेऑटोरिक्शाचालकहेल्थवर्करऔरसफाईकर्मचारीपीएममोदीनेदियानिर्देशUP News: CM योगी के शहर गोरखपुर में वार्डों के मुस्लिम नाम बदले गए, जाफरा बाजार हुआ आत्मा राम नगर, SP-कांग्रेस ने जताई आपत्ति******गोरखपुर नगर निगम ने परिसीमन का मसौदा आदेश जारी कर मुस्लिम नाम वाले करीब एक दर्जन वार्डो के नाम बदल दिए हैं। सरकार के इस कदम पर समाजवादी पार्टी (SP) और कांग्रेस ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, नाम बदलना परिसीमन अभ्यास का हिस्सा था, जिसके तहत गोरखपुर में वार्डो की संख्या 80 हो गई, जिनमें से कई नाम प्रतिष्ठित व्यक्तित्वों और स्वतंत्रता सेनानियों पर हैं।एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि लोग एक सप्ताह के भीतर अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं और उनके निस्तारण के बाद परिसीमन को मंजूरी दी जाएगी। समाजवादी पार्टी के नेता और इस्माइलपुर के नगरसेवक शहाब अंसारी ने आरोप लगाया कि नाम बदलना ध्रुवीकरण का एक प्रयास है। अंसारी ने कहा कि पार्टी इस संबंध में एक बैठक करेगी और एक प्रतिनिधिमंडल सोमवार को जिला मजिस्ट्रेट से मुलाकात कर आपत्ति जताएगी।कांग्रेस नेता तलत अजीज ने नाम बदलने की कवायद को पैसे की बबार्दी करार दिया। नेता ने पूछा, मैं यह समझने में विफल हूं कि सरकार इस अभ्यास से क्या हासिल करेगी। हालांकि, मेयर सीताराम जायसवाल ने कहा कि नए नाम गर्व की भावना पैदा करते हैं। उन्होंने कहा कि वार्डो का नाम अशफाकउल्लाह खान, शिव सिंह छेत्री, बाबा गंभीर नाथ, बाबा राघवदास, डॉ राजेंद्र प्रसाद और मदन मोहन मालवीय जैसी हस्तियों के नाम पर रखा गया है।नगर आयुक्त अविनाश सिंह ने कहा कि आपत्ति एक सप्ताह के भीतर अपर मुख्य सचिव, शहरी विकास विभाग, लखनऊ को भेजी जा सकती है। उन्होंने कहा कि आपत्तियों के निस्तारण के बाद परिसीमन को मंजूरी दी जाएगी। जिन नामों में बदलाव किया गया है उनमें मिया बाजार, मुफ्तीपुर, अलीनगर, तुर्कमानपुर, इस्माइलपुर, रसोलपुर, हुमायूंपुर उत्तर, घोसीपुरवा, दाउदपुर, जाफरा बाजार, काजीपुर खुर्द और चक्सा हुसैन शामिल हैं। नगर निकाय की ओर से जारी आदेश के अनुसार, इलाही बाग को अब बंधु सिंह नगर, इस्माइलपुर को साहबगंज और जाफरा बाजार को आत्मा राम नगर के नाम से जाना जाएगा। बता दें कि गोरखपुर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गृहनगर है।गणतंत्रदिवसपरेडमेंशामिलहोंगेऑटोरिक्शाचालकहेल्थवर्करऔरसफाईकर्मचारीपीएममोदीनेदियानिर्देशचंद्र ग्रहण 2020: साल का पहला चंद्र ग्रहण, दिखा दशक का पहला फुल मून, जानें क्यों नहीं लगेगा सूतक काल******साल 2020 का पहला चंद्रग्रहण शुक्रवार कोलग चुका है।ये चंद्र ग्रहण पूर्णिमा के दिन लगा है।10 जनवरी की रात को यह ग्रहण शुरू होकर 11 जनवरी तक रहेगा। आपको बता दें कि इस साल 3 चंद्रग्रहण के साथ 2 सूर्य ग्रहण पड़ेंगे। जानें चंद्र ग्रहण का समय और सूतक के बारे में।आपको बता दें कि इस साल हर चंद्र ग्रहण उपछाया ग्रहण होगा। जिसमें चांद चांद पूरी तरह छिपेगा नहीं और नाही चंद्रमा की काली छाया प्रथ्वी पर पड़ेगी।10 जनवरी 2020 को रात 10 बजकर 39 मिनट पर शुरू हो गया है11 जनवरी 2020 को आधी रात 2 बजकर 20 मिनट तककरीब 4 घंटेआपको बता दें कि ग्रहण से करीब 12 घंटे पहले सूतक की शुरुआत हो जाती है। लेकिन इस बार सूतक काल नहीं होगा।आप किसी पंचांग या फिर किसी ज्योतिषी से पूछे तो बताएगा कि उपछाया चंद्र ग्रहण को शास्त्रों में ग्रहण की श्रेणी में नहीं रखा जाता है। जिसके कारण ग्रहण में सूतक काल नहीं लगेगा।सूतक काल न लगने के कारण न ही मंदिरों के कपाट बंद किए जाए और न ही पूजा-पाठ वर्जित होगी। इस दिन आप नॉर्मल दिन की तरीके रह सकते है।10 जनवरी को पौष पूर्णिमा भीहै। इसलिए स्नान ग्रहण के बाद करना शुभ होगा।इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया, यूरोप, एशिया और अफ्रीका आदि देशों में भी दिखाई देगा।शास्त्रों में उपछाया चंदग्रहण को ग्रहण के रुप में नहीं माना जाता है। इसलिए पूर्णिमा तिथि के पर्व और त्योहार मनाए जाएंगे।आपको बता दें कि चंद्र ग्रहण के समय चंद्रमा सबसे पहले प्रथ्वी की उपछाया पर प्रवेश करता है। जिसे 'चंद्र मालिन्य' कहते है। इसके बाद चंद्रमा प्रथ्वी की वास्तविक छाया 'भूभा' में प्रवेश करता है। जिसे वास्तविक चंद्र ग्रहण माना जाता है। लेकिन कई बार ऐसा होता है कि चंद्रमा उपछाया में प्रवेश करके उपछाया शंकु से ही बाहर निकल जाता है और भूभा में प्रवेश नहीं कर पाता है। इसीकारण उपछाया के समय चंद्रमा का एक बिंब केवल धुंधला पड़ता है। जिसे नॉर्मल तरीके से नहीं देखा जा सकता है। इसलिए इसे उपछाया चंद्र ग्रहण कहते है।

गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होंगे ऑटो रिक्शा चालक, हेल्थ वर्कर और सफाई कर्मचारी, पीएम मोदी ने दिया निर्देश

गणतंत्रदिवसपरेडमेंशामिलहोंगेऑटोरिक्शाचालकहेल्थवर्करऔरसफाईकर्मचारीपीएममोदीनेदियानिर्देश‘टाइम बम’ की तरह हैं दिल्ली और दूसरे शहरों की डंप साइट, एनजीटी ने चेताया******Highlightsराष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) ने राष्ट्रीय राजधानी के ‘गाजीपुर लैंडफिल साइट’ पर आग लगने की घटनाओं पर गंभीर चिंता जताते हुए कहा है कि दिल्ली और अन्य शहरों में ‘डंप साइट’ किसी ‘टाइम बम’ की तरह हैं। गौरतलब है कि बुधवार को गाजीपुर लैंडफिल साइट पर भीषण आग लग गई थी और 28 मार्च के बाद से यह इस तरह की यह तीसरी घटना है। इसके बाद आसमान में धुएं का घना गुबार फैल गया और आस-पास के इलाकों में पहले से ही प्रदूषित हवा और अधिक प्रदूषित हो गई।पिछले साल, अधिकारियों ने गाजीपुर लैंडफिल साइट पर आग लगने की चार घटनाओं की सूचना दी थी। 2017 में, इसका एक बड़ा हिस्सा टूटकर सड़क पर गिर गया था जिससे दो लोगों की मौत हो गई थी। एनजीटी अध्यक्ष न्यायमूर्ति ए के गोयल के नेतृत्व वाली पीठ ने कहा कि दिल्ली और अन्य शहरों में ‘डंप साइट’ (कूड़ा-कचरा फेंकने की जगह) किसी ‘टाइम बम’ की तरह हैं क्योंकि वहां लगातार मीथेन जैसी घातक गैस उत्पन्न होती है जिससे विस्फोट होने का लगातार खतरा बना हुआ है।गोयल ने कहा, ‘‘यह चिंता का विषय है कि इस तरह की घटनाएं अन्य जगहों पर भी हो रही हैं और जहां कहीं भी कचरे का प्रबंधन नहीं हो रहा है वहां इसकी आशंका बनी हुई है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘कचरे के ढेर के आकार और घनी आबादी वाले इलाके में इसके स्थान को देखते हुए दिल्ली में स्थिति अधिक गंभीर हो सकती है। इसके लिए संबंधित विभागों की एक बहु-विभागीय समिति के गठन और प्रशासन द्वारा उच्च स्तर पर एक जिम्मेदार और त्वरित कार्रवाई किए जाने की आवश्यकता है।’’एनजीटी ने दिल्ली उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश न्यायमूर्ति एस पी गर्ग की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया। इस समिति में केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (डीपीसीसी), दिल्ली के शहरी विकास विभाग, पूर्वी दिल्ली नगर निगम, दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण और जिला मजिस्ट्रेट और पूर्वी दिल्ली के डीसीपी को सदस्य बनाया गया है। पीठ ने कहा, ‘‘डीपीसीसी समन्वय और अनुपालन के लिए नोडल एजेंसी होगी। समिति एक सप्ताह के भीतर अपनी पहली बैठक कर सकती है, स्थल का दौरा कर सकती है, हितधारकों के साथ बातचीत कर सकती है, वास्तविक स्थिति का पता लगा सकती है और संबंधित हितधारकों के साथ बातचीत के बाद आगे की कार्रवाई का सुझाव दे सकती है।’’हरित इकाई ने कहा कि समिति एक महीने के भीतर ई-मेल के माध्यम से रिपोर्ट सौंप सकती है। गाजीपुर के पास 1984 में कूड़ा-कचरा डालना शुरू किया गया था जिसके निस्तारण की कोई उचित व्यवस्था नहीं की गई और धीरे-धीरे यह ‘कूड़े के पहाड़’ में तब्दील हो गया। यह कचरा स्थल 70 एकड़ क्षेत्र में फैला है। डीपीसीसी ने 28 मार्च को लैंडफिल में आग लगने के बाद पूर्वी दिल्ली नगर निगम (ईडीएमसी) पर 50 लाख रुपये का जुर्माना लगाया था।

गणतंत्रदिवसपरेडमेंशामिलहोंगेऑटोरिक्शाचालकहेल्थवर्करऔरसफाईकर्मचारीपीएममोदीनेदियानिर्देशसैमसंग वॉच 4 सीरीज नए चिपसेट, अधिक स्टोरेज के साथ होगी लॉन्च******सैमसंग वॉच 4 सीरीज नए चिपसेट, अधिक स्टोरेज के साथ होगी लॉन्चसियोल: दक्षिण कोरियाई टेक कंपनी सैमसंग अपनी अपकमिंग गैलेक्सी वॉच4 सीरीज की स्मार्टवॉच को बिल्कुल नए एक्सिनॉस वॉट920 चिपसेट के साथ 11 अगस्त को लॉन्च कर सकती है। सैममोबाइल की रिपोर्ट के मुताबिक, इस नए चिपसेट में पहले के कम्पैरिजन में बेहतार लाभ मिलेगा। उदाहरण के लिए, 2018 की गैलेक्सी वॉच की सभी सैमसंग घड़ियों ने 10एनमएक्सिनॉस 9110 का उपयोग किया है। नई रिपोर्ट बताती है कि वॉट920 ओएस एक्सिनॉस 9110 की तुलना में 1.25ऐस फास्ट प्रोसेसर टाइम और 8.8ऐस स्मूथ ग्राफिक्स प्रदर्शन दिया गया है।जीएसएमअरेना ने बताया कि नया चिपसेट 1.5जीबी रैम के साथ जोड़ा जाएगा जो कि पिछली गैलेक्सी वॉच की तुलना में एक और अपग्रेड है। ज्यादा पॉवर के साथ, गैलेक्सी वॉच 4 सीरीज में गूगल के वेयर ओएस फील के आधार पर वन यूआई वॉच बनाया गया है। बैटरी भी स्मूथ परफॉर्म करेगी। इस वॉच मे दोगुनी स्टोरेज भी दिया गया है। बात दें कि गैलेक्सी वॉच3 सीरीज में 8जीबी का इंटरनल स्टोरेज थी। वही अपग्रेड वॉच 4 में 16 जीबी के साथ पेश किया गया है। सैमसंग के स्मार्ट वॉच नए वन यूआई वेयर ओएस पर आधारित है,जिसकी वजह से गूगल प्ले स्टोर से ज्यादा ऐप्स डाउनलोड किया जा सकता है और ऑडियो ट्रैक ऐप्स भी स्टोर कर सकते है।गणतंत्रदिवसपरेडमेंशामिलहोंगेऑटोरिक्शाचालकहेल्थवर्करऔरसफाईकर्मचारीपीएममोदीनेदियानिर्देशसैमसंग ने डुअल कैमरे से लैस Samsung Galaxy Note 8 किया लॉन्‍च, कीमत है 67,900 रुपए****** सैमसंग ने आज भारतीय स्‍मार्टफोन बाजार में में अपना फ्लैगशिप डिवाइस Samsung Galaxy Note 8 लॉन्च कर दिया है। इसकी कीमत 67,900 रुपए है और इसकी बिक्री अमेजन और सैमसंग शॉप के जरिए की जाएगी। आपको बता दें कि इसकी खरीदारी के लिए कुछ दिनों पहले से ही रजिस्‍ट्रेशन हो रहे थे अब इसकी प्री-बुकिंग भी शुरू हो गई है। Samsung Galaxy Note 8 की सेल 21 सितंबर से शुरू होगी। ये मिडनाइट ब्लैक व मैपल गोल्ड कलर वैरिएंट्स में मिलेगा।आज पहली बार बिक्री के लिए उपलब्‍ध होगा Xiaomi का एंड्रॉयड वन फोन Mi A1, ये हैं इसके लॉन्‍च ऑफर्ससैमसंग ने Samsung Galaxy Note 8 लॉन्‍च करने के साथ कई इंट्रोडक्टरी ऑफर्स भी पेश किए हैं जिसमें वन-टाइम स्क्रीन रिप्लेसमेंट की सुविधा मिल रही है। इसके साथ ही ग्राहक इसकी खरीदारी के साथ वायरलैस चार्जर मुफ्त पा सकते हैं। वहीं HDFC बैंक क्रेडिट कार्ड उपभोक्ताओं को 4,000 रुपए का कैशबैक दिया जा रहा है और रिलायंस जिओ यूजर्स 448GB अतिरिक्त डाटा की सुविधा Samsung Galaxy Note 8 के साथ पा सकते हैं।Samsung Galaxy Note 8 की खासियत इसका डुअल रियर कैमरा सेटअप है। इसका एक कैमरा 12MP का वाइड एंगल है तो दूसरा 12MP का टेलीफोटो लेंस। इसके लेंस f/1.7 अपर्चर, डुअल पिक्सेल टेक्नॉलॉजी और 2x ऑप्टिकल जूम से लैस हैं। ये दोनों ही लेंस ऑप्टिकल इमेज स्टेबलाइजेशन (OIS) क्षमता के साथ है। इसके कैमरा में कई अलग-अलग मोड्स दिए गए हैं जैसे लाइव फोकस, फूड मोड, प्रो मोड, पैनॉरमा और स्लो मोशन आदि। Samsung Galaxy Note 8 में 8MP का फ्रंट कैमरा दिया गया है जो f/1.7 अपर्चर के साथ है।Apple iPhone 8 और iPhone X खरीदारों के लिए अच्‍छी खबर, 15 सितंबर से शुरू होगी इनकी प्री-बुकिंगSamsung Galaxy Note 8 में बिक्सबी वॉयस की सुविधा दी गई है और ये सैमसंग का पहला ऐसा स्मार्टफोन है जिसमें यह है। वहीं बिक्सबी वॉयस की सुविधा अब सैमसंग S8 और S8 प्लस को भी दी जाएगी। कंपनी का कहना है कि बिक्सबी वॉयस को अब भारतीय एक्सेंट के अनुसार ऑप्टिमाइज किया गया है।Samsung Galaxy Note 8 में 6.3 इंच का सुपर AMOLED इंफिनिटी डिस्प्ले है, जिसमें काफी कम बैजल्स दिए गए हैं और इसका रिजोल्‍यूशन 1440 x 2960 पिक्सेल है। इसमें वाइडस्क्रीन दी गई है जिसके साथ इसका एसपेक्ट रेशियो 18:5:9 है। इसके अलावा इसके क्वाड HD प्लस डिसप्‍ले की सुरक्षा के लिए कॉर्निंग गोरिल्ला ग्लास 5 की सुरक्षा इस पर दी गई है। Samsung Galaxy Note 8 मिडनाइट ब्लैक, ऑर्किड ग्रे, डीप सी ब्लू और मैपल गोल्ड कलर में मिलेगा। बता दें कि Samsung Galaxy Note 8 सैमसंग का पहला डुअल रियर कैमरा सेटअप वाला स्मार्टफोन है। जिसके साथ कंपनी ने इस बार S-पेन स्टायलस भी पेश किया है। Samsung Galaxy Note 8 डिजाइन के मामले में लगभग गैलेक्सी S8 जैसा ही है।सैमसंग ने लॉन्‍च किया गैलेक्‍सी C8, डुअल रियर कैमरे के साथ ये सब हैं इसकी खासियतेंये नया स्मार्टफोन ग्लास व मेटल बॉडी के साथ फ्रंट व बैक दोनों ओर से कर्व्ड डिजाइन के साथ है। फिंगरप्रिंट स्कैनर इसमें फोन के पिछले भाग पर दिया गया है, साथ ही इसे IP68 सर्टिफिकेट भी प्राप्त है जिसका मतलब है कि ये वाटर व डस्ट रेजिस्टंट है। ये 3300 mAh बैटरी के साथ एंड्रॉयड 7.1.1 नूगा ऑपरेटिंग सिस्टम पर आधारित है। इसमें USB टाइप-C चार्जिंग पोर्ट के साथ वायरलैस चार्जिंग की सुविधा भी दी गई है।Samsung Galaxy Note 8 में एक्सीनॉस 8895 चिपसेट दिया गया है। इसमें 6GB रैम है और अलग-अलग इंटरनल स्टोरेज के साथ इसके तीन वैरिएंट्स हैं, जिसमें 64GB, 128GB और 256GB इंटरनल स्टोरेज क्षमता वाले वैरिएंट्स शामिल हैं। वहीं इसकी मेमोरी को माइक्रो एसडी कार्ड से 256GB तक ही एक्सपेंड भी किया जा सकता है।

गणतंत्रदिवसपरेडमेंशामिलहोंगेऑटोरिक्शाचालकहेल्थवर्करऔरसफाईकर्मचारीपीएममोदीनेदियानिर्देशटारसंस आईपीओ इश्यू के दूसरे दिन 3 गुना से ज्यादा सब्सक्राइब, कल से गो फैशन का इश्यू******कल से गो फैशन का आईपीओनई दिल्ली। टारसंस प्रोडक्ट्स के आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) को आज इश्यू के दूसरे दिन 3.58 गुना सब्सक्रिप्शन मिला है। कंपनी के 1,023.84 करोड़ रुपये मू्ल्य के आईपीओ में 1,08,44,104 शेयरों की पेशकश की गयी थी। इसके मुकाबले अभी तक 3,88,07,802 शेयरों के लिए बोलियां मिल चुकी हैं। खुदरा व्यक्तिगत निवेशक खंड को 4.74 गुना और गैर-संस्थागत निवेशक श्रेणी में 3.98 गुना अभिदान मिला। वहीं पात्र संस्थागत खरीदार (क्यूआईबी) खंड को 1.30 गुना अभिदान मिला। आईपीओ के तहत 150 करोड़ रुपये के नये शेयर जारी किये गये हैं और 1,32,00,000 इक्विटी शेयरों की खुली बिक्री पेशकश (ओएफएस) लायी गयी है। आईपीओ के लिए मूल्य दायरा 635 से 662 रुपये प्रति शेयर रखा गया है। टारसंस प्रोडक्ट्स ने शुक्रवार को एंकर निवेशकों से 306 करोड़ रुपये जुटाए थे।कल से गो फैशन का आईपीओ खुलेगा, इश्यू में निवेशक 22 नवंबर तक एप्लीकेशन दे सकेंगे। बीते हफ्ते आए लैटेंट व्यू एनालिटिक्स लि.का आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) 300 गुना से ज्यादा सब्सक्राइब हुआ है। ये किसी इश्यू को अब तक मिला सबसे ऊंचा सब्सक्रिप्शन भी है। सेग्मेंट को हर सेग्मेंट से ऊंचा सब्सक्रिप्शन मिला था। गैर-संस्थागत निवेशकों के खंड को 850.66 गुना और पात्र संस्थागत खरीदारों (क्यूआईबी) के खंड में 145.48 गुना अभिदान मिला। खुदरा निवेशकों के लिए आरक्षित शेयरों पर 119.44 गुना बोलियां मिलीं । वहीं देश के अब तक के सबसे बड़े आईपीओ यानि पेटीएम के आईपीओ को करीब 2 गुना सब्सक्रिप्शन ही मिला।गणतंत्रदिवसपरेडमेंशामिलहोंगेऑटोरिक्शाचालकहेल्थवर्करऔरसफाईकर्मचारीपीएममोदीनेदियानिर्देशSaqlain Mushtaq supports Virat Kohli: ‘विराट मेरे दिल के बहुत करीब’, पाकिस्तानी कोच ने बाबर से तुलना पर दिया बड़ा बयान******Highlightsपूर्व भारतीय कप्तान विराट कोहली और पाकिस्तान के मौजूदा कप्तान बाबर आजम के बीच बेस्ट चुनने की बहस लगातार जारी है। वैसे तो बाबर खुद विराट को अपना आदर्श मानते हैं और दोनों खिलाड़ियों के बीच के रिश्ते भी काफी अच्छे हैं। लेकिन दोनों देशों के फैंस और खिलाड़ी इन दोनों के खेल की तुलना करने का मौका नहीं छोड़ते। एशिया कप 2022 में विराट ने जहां खूब रन बनाए तो वहीं बाबर का बल्ला खामोश रहा, इसके बाद एक बार फिर से बेस्ट की यह बहस शुरू हो गई, जिसमें पाकिस्तान के कोच सकलैन मुश्ताक भी कूद पड़े हैं।पूर्व क्रिकेटर और पाकिस्तान के मुख्य कोच सकलैन ने विराट की तुलना में बाबर को बेहतर बताया। लेकिन साथ ही उन्होंने विराट को अपने बेहद करीब बताकर अपनी बात को बैलेंस करने की कोशिश भी की। अंग्रेजी वेबसाइट स्पोर्ट्सकीड़ा से बातचीत में मुश्ताक ने दोनों खिलाड़ियों में बेस्ट चुनने के सवाल पर कहा कि वह इस मामले में बाबर के साथ ही जाएंगे लेकिन कोहली दिल के करीब हैं। उन्होंने कहा कि, बिलकुल मैं बाबर कहूंगा... लेकिन विराट मेरे दिल के करीब हैं।हाल ही में श्रीलंकाई दिग्गज सनथ जयसूर्या से भी भारत और पाकिस्तान के इन दोनों स्टार खिलाड़ियों में से एक किसी को एक को चुनने के लिए कहा गया था। इसपर जयसूर्या ने कहा था कि वह विराट के साथ जाना चाहेंगे, यहां तक कि उनका बेटा भी विराट का फैन है।बता दें कि विराट ने हाल ही में अफगानिस्तान के खिलाफ सुपर 4 राउंड के मुकाबले में अपना शतकों का सूखा खत्म किया था। उन्होंने टी20I करियर का अपना पहला और अंतरराष्ट्रीय करियर का 71वां शतक लगाते हुए कई रिकॉर्ड अपने नाम किए थे। विराट ने एशिया कप 2022 में दो अर्धशतक और एक शतक समेत 276 रन बनाए। जबकि बाबर ने पांच मैच में महज 63 रन बनाए।

गणतंत्रदिवसपरेडमेंशामिलहोंगेऑटोरिक्शाचालकहेल्थवर्करऔरसफाईकर्मचारीपीएममोदीनेदियानिर्देशSIYA Official Teaser: 'सिया' का रोंगटे खड़े कर देने वाला टीजर हुआ रिलीज, विनीत कुमार सिंह, पूजा पांडे की फिल्म******Highlightsफिल्म 'सिया' का पोस्टर जबसे रिलीज हुआ है तभी से यह फिल्म चर्चा में बनी हुई है। आज फिल्म मेकर्स ने फिल्म का पहला टीज़र रिलीज़ कर दिया है। मनीष मुंद्रा के निर्देशन में बनी यह फिल्म एक ईमानदार मानवीय कहानी है जो बातचीत और बहस को चिंगारी देने की गारंटी दे रही है। सिया का टीज़र रिलीज़ होते ही यह लोगों के बीच चर्चा का विषय बन गई है। टीजर में क्रूरता और निराशा का आभास हो रहा है और जो हिंसा और बलात्कार के शिकार हुए अनगिनत विक्टिम्स के बारे में है। इस फिल्म का टीज़र बहुत ही हार्ड हिटिंग है जिसमे सिया की दुर्दशा देख लोगों को तरस आ जायेगा। सभी का काम टीजर से ही इतना शानदार लग रहा है कि लोगों को अब फिल्म का इंतजार नहीं हो रहा है।'मसान' और 'न्यूटन' के निर्माता दर्शकों के समक्ष सिया नामक एक फिल्म लेकर आ रहे हैं जो भारत की एक और मानवीय कहानी को दर्शायेगा। इस फिल्म में पूजा पांडे और विनीत कुमार सिंह लीड रोल में नजर आएंगे। ये कहानी एक छोटे शहर की लड़की की है जो सभी बाधाओं को पार करते हुए न्याय के लिए लड़ने का फैसला करती है और सभी पुरुष प्रधान व्यवस्था के खिलाफ एक आंदोलन शुरू करती है।फिल्म के बारे में बात करते हुए निर्देशक मनीष मुंद्रा कहते हैं, “सिया सिर्फ एक फिल्म नहीं बल्कि एक आंदोलन है। यह एक आवाज है जो उन पीड़ितों के साथ गूंजती है जिन्होंने अकल्पनीय भावनात्मक, शारीरिक और मानसिक दर्द सहा है।”इस फिल्म को मनीष मुंद्रा ने डायरेक्ट किया है और यह फिल्म 16 सितंबर 2022 को देशभर में रिलीज होगी।गणतंत्रदिवसपरेडमेंशामिलहोंगेऑटोरिक्शाचालकहेल्थवर्करऔरसफाईकर्मचारीपीएममोदीनेदियानिर्देशUttar Pradesh Vidhan Sabha Chunav 2022: बीजेपी के चाणक्य देंगे यूपी को 'बूस्टर' डोज******Highlightsआने वाले समय में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह धुंआधाँर यूपी का दौरा करेंगे। गृहमंत्री अमित शाह 4 जनवरी तक यूपी दौरे पर रहेंगे। अयोध्या में रोड शो से पहले रामलला का दर्शन करेंगे। अयोध्या/गोरखपुर/बरेली में अमित शाह का रोड शो होगा।भारतीय जनता पार्टी की तैयारियों को अमित शाह बूस्टर डोज देंगे। गृह मंत्री अमित शाह उत्तर प्रदेश के अपने दौरे में 140 विधानसभा क्षेत्रों को कवर करेंगे, अमित शाह की एक सभा में सात विधानसभा क्षेत्रों को शामिल किया जाएगा। देश के गृहमंत्री अगले 10 दिनों में 7 बार उत्तर प्रदेश का दौरा करेंगे। 24 तारीख को उनका यूपी दौरा प्रयागराज से शुरू होगा और 4 जनवरी तक चलेगा। जनवरी के पहले हफ्ते में वे अयोध्या जाएंगे। अयोध्या में रामलला के दर्शन करेंगे, साथ ही शहर में रोड शो में भी शामिल होंगे।गृह मंत्री के दौरों को अंतिम रूप दिए जाने का काम जारी है, इसमें तीन ओबीसी बहुल विधानसभा क्षेत्र, 2 शहरी बहुल क्षेत्र, एक दलित बहुल क्षेत्र और एक मुस्लिम बहुल विधानसभा क्षेत्र शामिल होगा। अमित शाह के इस तूफानी दौरे में तीन रोड शो आखिरी 3 दिनों में होगे, जो अयोध्या, गोरखपुर और बरेली में होने हैं। अमित शाह जन विश्वास यात्रा में शामिल होते वक्त ये रोड शो करेंगे। इस दौरान अमित शाह 21 सभाएं करने की तैयारी में हैं।गृह मंत्री अमित शाह ने 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में पार्टी अध्यक्ष के पद पर रहते हुए भी चुनावों की कमान अपने हाथ में रखी थी। नतीजों ने उत्तर प्रदेश में 35 सालों के चुनावों का इतिहास तोड़ दिया था। पार्टी ने 2017 के विधानसभा की 325 सीटें जीती थी, 2019 में एक बार फिर अमित शाह ने लोकसभा चुनावों में पार्टी का परचम लहराया था और अब फिर यूपी को अपने नाम करने गृह मंत्री अमित शाह चुनावी मैदान में उत्तर रहे है।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 05:41
उद्धरण 1 इमारत
International Yoga Day 2019: शिल्पा शेट्टी ने मुंबई में गेट वे ऑफ इंडिया पर किया योग******आज पूरे देशभर में पांचवा मनाया जा रहा है। योग दिवस के अवसर पर बॉलीवुड एक्ट्रेस ने मुंबई के गेट वे ऑफ इंडिया पर योग किया। शिल्पा अपनी फिटनेस का खास ख्याल रखती हैं। वह रोजाना एक्सरासइज और योगा करती हैं। वह अपने सोशल मीडिया अकाउंटपर योग करते हुए वीडियो शेयर करती रहती हैं। वह लोगों को स्वस्थ जीवनशैली बिताने के लिए प्रेरित करती हैं।शुक्रवार की सुबह शिल्पा शेट्टी ने पांचवा इंटरनेशनल योगा डे मना रही थीं। शिल्पा ने हजारों लोगों के साथ योगा किया। शिल्पा ने गुरुवार को भी हजारों लोगों के साथ सूरत में योगा किया था। जिसकी वीडियो उन्होंने अपने सोशल मीडिया सूरत में लोगों के साथ योग करते हुए वीडियो शेयर की थी।वीडियो के साथ उन्होंने लिखा- ''इंटरनेशनल योगा डे के लिए क्यों इंतज़ार करना, जब हर दिन योगा डे हो सकता है? 3000 से ज्यादा लोगों के साथ कितना शानदार सेशन रहा। सूरत में मज़ा आया। फिर से आने का इंतज़ार नहीं कर सकती।''
2022-10-01 05:17
उद्धरण 2 इमारत
बैंकों का ग्रॉस NPA मार्च 2020 तक घट कर हो सकता है 8%, मार्च 2018 में यह आंकड़ा था 11.5 प्रतिशत******Gross NPAs of banks may reduce to 8% by March 2020 बकाये ऋण की वसूली बढ़ने तथा नए एनपीए में कमी आने की वजह से देश में बैंकों की (एनपीए) चालू वित्त वर्ष के अंत तक कम होकर 8 प्रतिशत पर आ सकती है। एक रिपोर्ट में यह अनुमान लगाया गया है। बैंकों में सकल एनपीए का स्तर मार्च 2018 में बकाया कर्ज के 11.5 प्रतिशत था, जो मार्च 2019 में घटकर 9.3 प्रतिशत पर आ गया।रेटिंग एजेंसी क्रिसिल ने एक रिपोर्ट में कहा है कि वित्त वर्ष 2019-20 में बैंकों की संपत्ति गुणवत्ता में निर्णायक रूप से बदलाव आना चाहिए। मार्च 2020 तक सकल एनपीए 8 प्रतिशत पर आ जाने का अनुमान है, जो दो साल में 3.5 प्रतिशत कमी दर्शाता है। कर्ज बिगड़ने के नए मामलों में कमी के साथ-साथ मौजूदा एनपीए खातों में वसूली में वृद्धि से ऐसा संभव हो सका है। एजेंसी के अनुसार सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों का सकल एनपीए मार्च 2018 के 14.6 प्रतिशत के स्तर से 4 प्रतिशत कम होकर मार्च 2020 तक 10.6 प्रतिशत पर आ जाने का अनुमान है।रिपोर्ट में कहा गया है कि फंसे कर्ज के मामलों में कमी पिछले वित्त वर्ष से देखी जा रही है। ताजा एनपीए वित्त वर्ष 2018-19 में आधा होकर 3.7 प्रतिशत पर आ गया, जो इससे पूर्व वित्त वर्ष में 7.4 प्रतिशत था। वहीं वित्त वर्ष 2019-20 में इसके 3.2 प्रतिशत पर आ जाने का अनुमान है।क्रिसिल ने कहा है कि इसका कारण यह है कि बैंकों ने वित्त वर्ष 2015-16 से करीब 17 लाख करोड़ रुपए के दबाव वाले कर्ज को एनपीए के रूप में चिन्हित किया। रिजर्व बैंक के एनपीए को लेकर कड़े नियम तथा संपत्ति गुणवत्ता समीक्षा के कारण एनपीए चिन्हित करने में तेजी देखी गई। इसमें कहा गया है कि आरबीआई का 2019-20 के अंत तक छोटे एवं मझोले उद्यमों (एसएमई) के कर्ज के पुनर्गठन को लेकर रुख को देखते हुए बैंकों के कुल एनपीए में सुधार की प्रवृत्ति बनी रहनी चाहिए।
2022-10-01 05:00
उद्धरण 3 इमारत
Panchak June 2022: शुरू हो चुके हैं मृत्यु पंचक, इस दौरान भूलकर भी न करें ये काम******हिंदू पंचांग में हर महीने 5 दिन ऐसे होते हैं जिन्हें पंचक कहा जाता है और इस दौरान कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता है। पंचक भी 5 तरह के होते हैं- रोग पंचक, अग्नि पंचक, राज पंचक, चोर पंचक और मृत्यु पंचक। इन पंचक में सबसे ज्यादा भय जिस पंचक से लोगों को होता है वो है मृत्यु पंचक से। क्योंकि मृत्यु पंचक के समय अगर किसी की मौत हो गई तो उस परिवार के 5 लोगों की मौत होती है ऐसा माना जाता है। इस बार 18 जून यानी कि शनिवार से मृत्यु पंचक शुरू हुए हैं और ये पंचक 23 जून 2022 तक चलेंगे।जिस महीने का पंचक शनिवार से शुरू होता है उस महीने ये मृत्यु पंचक होता है। यह सबसे ज्यादा अशुभ पंचक माना जाता है। इस दौरान बहुत सावधानी बरतने की जरूरत होती है, इस दौरान कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता है। इस बार 18 जून से शुरू हुआ ये मृत्यु पंचक 23 जून तक चलेगा इस दौरान आपको न ही कोई शुभ कार्य करना है न ही कोई शॉपिंग करनी है। अपनी सेहत का ख्याल भी रखना होगा।
वापसी