नई पोस्ट करें

शुक्रवार से ATM पर मिलेंगे 500 और 2000 के नए नोट

2022-10-01 05:56:46 742

शुक्रवारसेATMपरमिलेंगे500और2000केनएनोटSanjay Raut Detained: ED हिरासत में संजय राउत, बोले- झुकेंगे नहीं!, किरीट सोमैया का वार- हिसाब तो देना ही पड़ेगा******Highlights शिवसेना सांसद संजय राउत को प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने 9 घंटे की पूछताछ के बाद हिरासत में ले लिया है। पात्रा चॉल घोटाले (Patra Chawl Scam) से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में संजय राउत (Sanjay Raut) को ईडी ने हिरासत में लिया है। हिरासत में लिए जाने के बाद राउत की पहली प्रतिक्रिया सामने आई है।शिवसेना सांसद ने ट्वीट किया, "आप उसव्यक्ति को नहीं हरा सकते..जो कभी हार नहीं मानता! झुकेंगे नहीं! जय महाराष्ट्र"संजय राउत को हिरासत में लिए जाने के बाद बीजेपी नेता किरीट सोमैया ने हमला बोला। उन्होंने ट्वीट किया, "संजय पांडे के बाद घोटालेबाज संजय राउत अब ईडी की गिरफ्त में, नवाब मलिक के पड़ोसी बनेंगे संजय राउत, हिसाब तो देना ही पड़ेगा।"वहीं, राउत ने ईडी की सुबह ईडी की कार्रवाई शुरू होने के कुछ ही देर बाद ट्वीट किया, "मैं दिवंगत बालासाहेब ठाकरे की सौगंध खाता हूं कि मेरा किसी घोटाले से कोई संबंध नहीं है।" उन्होंने लिखा, "मैं मर जाऊंगा, लेकिन शिवसेना का साथ नहीं छोडूंगा।"गौरतलब है कि मनी लॉन्ड्रिंग मामले के में आज रविवार सुबह ही ईडी की टीम शिवसेना सांसद के मुंबई स्थित आवास पर पहुंची थी। ईडी ने राउत के खिलाफ कई समन जारी किए थे, उन्हें 27 जुलाई को भी तलब किया गया था। राउत को मुंबई के एक चॉल के पुनर्विकास और उनकी पत्नी एवं अन्य सहयोगियों की संलिप्तता वाले लेन-देन में कथित अनियमितताओं से जुड़े धनशोधन के एक मामले में पूछताछ के लिए ईडी ने तलब किया था।राउत इस मामले में अपना बयान दर्ज करवाने के लिए एक जुलाई को मुंबई में एजेंसी के समक्ष पेश हुए थे। इसके बाद एजेंसी ने उन्हें दो बार तलब किया था, लेकिन मौजूद संसद सत्र में व्यस्त रहने का हवाला देते हुए पेश नहीं हुए।

शुक्रवारसेATMपरमिलेंगे500और2000केनएनोटभारत के आर्थिक सुधारों का मुरीद हुआ अमेरिका, द्विपक्षीय व्यापार 500 अरब डॉलर करने का लक्ष्य****** इस समय दुनिया में सबसे तेजी से आर्थिक वृद्धि कर रहे भारत का विश्व की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था अमेरिका के साथ द्विपक्षीय व्यापार निकट भविष्य में 500 अरब डॉलर वार्षिक तक पहुंचने की संभावना है। यह बात वित्तीय सेवा परामर्श कंपनी पीडब्लयूसी और इंडो-अमेरिकन चैंबर ऑफ कॉमर्स की एक साझा रिपोर्ट में कही गई है। वर्तमान में भारत-अमेरिका का द्विपक्षीय व्यापार 100 अरब डॉलर से कुछ अधिक है। रिपोर्ट के अनुसार पिछले दो साल में दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंध अधिक प्रगाढ़ हुए हैं। दोनों देशों के बीच आने-जाने वाले लोगों संख्या और गणमान्य व्यक्तियों की परस्पर यात्राओं में इजाफा हुआ है। दोनों देश आतंकवाद से मिलकर लड़ने और व्यापार बढ़ाने के लिए भी पहल कर रहे हैं।रिपोर्ट में कहा गया है, दोनों देश आपस में द्विपक्षीय व्यापार को बढ़ाकर 500 अरब डॉलर वार्षिक तक पहुंचाने की उम्मीद कर रहे हैं जो इस समय 100 अरब डॉलर वार्षिक से कुछ अधिक है। इसमें अंतरिक्ष और रक्षा, बैंकिंग, वित्तीय सेवाएं एवं बीमा, रसायन, भारत में मालगाडिय़ों के लिए विशेष मार्ग परियोजनाएं, उर्जा और बुनियादी ढांचा जैसे दस क्षेत्रों को बड़ी संभावना वाला क्षेत्र बताया गया है। इसमें कहा गया है कि इससे ना केवल घरेलू वृद्धि को बढ़ावा मिलेगा बल्कि इससे विश्व के एक व्यावसरयिक केंद्र के रूप में भारत की स्थिति मजबूत होगी। इसी संबंध में बंदरगाह, आंतरिक जलमार्ग, खनिज तेल एवं गैस, औषधि और डिजिटलीकरण परियोजना क्षेत्र का भी उल्लेख किया गया है। इसमें यह भी कहा गया है कि यह क्षेत्र भारत सरकार और उद्योग जगत के मिलेजुले प्रयास से अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं।पीडब्ल्यूसी यूएस बिजनेस ग्रुप के भागीदार द्वारकानाथ ई. एन ने कहा, भारत में कारोबारी गतिविधियां इस समय सर्वकालिक तीव्र स्तर पर हैं। भारत ने अपनी अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों को वैश्विक कंपनियों के लिए खोला है और इसके लिए प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के नियमों में ढील दी गई है। लाइसेंस और नियामकीय बाधाएं खत्म की गई हैं एवं नए हाईटेक समाधान अपनाए जा रहे हैं। भारत हथियारों के वैश्विक आयात में 14 प्रतिशत की हिस्सेदारी के साथ सबसे बड़ा आयातक है और अमेरिका हथियारों के प्रमुख आपूर्तिकर्ताओं में एक है। इंडो-अमेरिका चैंबर ऑफ कॉमर्स के महासचिव रंजन खन्ना ने कहा, अमेरिका भारत का दूसरा सबसे बड़ा व्यापारिक भागीदार है और निकट भविष्य में इनके बीच व्यापार के 500 अरब डॉलर तक पहुंचने की संभावना है।शुक्रवारसेATMपरमिलेंगे500और2000केनएनोटजनवरी में भारतीय कंपनियों का प्रत्यक्ष विदेशी निवेश 57 प्रतिशत घट कर 1.82 अरब डॉलर पर आया : RBI****** जनवरी माह में भारतीय कंपनियों का विदेशों में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) 57.3 प्रतिशत घटकर 1.82 अरब डॉलर रह गया। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के आंकड़ों में यह बात सामने आई है। इससे एक साल पहले जनवरी में भारतीय कंपनियों ने विदेशों में 4.25 अरब डॉलर का निवेश किया था। दिसंबर में उनका निवेश 2.49 अरब डॉलर रहा था।स्मार्टफोन पर मिल रहा 6000 रुपए तक का कैशबैक, ये कंपनियां लेकर आईं स्कीम

शुक्रवार से ATM पर मिलेंगे 500 और 2000 के नए नोट

शुक्रवारसेATMपरमिलेंगे500और2000केनएनोटअगर मोदी के खेमे में लोगों को जाने से नहीं रोका तो 2019 में मुश्किल होगी : चिदंबरम****** 2019 चुनाव की रणनीति पर चिंता जताते हुए कांग्रेस के सीनियर नेता ने कहा है कि अगर विपक्षी दल के खेमे में लोगों को जाने से रोकने में नाकाम रहा तो अगले आम चुनाव में बीजेपी खिलाफ एकजुट होकर लड़ना मुश्किल होगा। उन्होंने यह भी कहा है कि अगले चुनाव में कौन किसके साथ होगा, अभी यह स्पष्ट नहीं है। लेकिन भाजपा को हराने के लिए कांग्रेस को अन्य विपक्षी दलों के साथ मिलकर एक व्यापक मंच बनाना होगा।चिदंबरम ने एक इंटरव्यू में कहा, "अभी कौन किसके साथ है, यह स्पष्ट नहीं है। कुछ विपक्षी दल -जद (यू), एआईएडीएमके मोदी खेमे से जुड़ रहे हैं। अन्य विपक्षी दलों के मामले में कई महत्वपूर्ण नेता और दलों के महत्वपूर्ण धड़े भाजपा खेमे से जुड़ रहे हैं। जब तक विपक्षी पार्टियां लोगों को भाजपा खेमे से जुड़ने से नहीं रोकते, तब तक एकजुट होकर लड़ना मुश्किल होगा।" पूर्व वित्तमंत्री ने कहा कि गुजरात में कांग्रेस ने 14 विधायक खो दिए और तृणमूल कांग्रेस ने त्रिपुरा में आठ विधायक गंवा दिए।उन्होंने कहा, "ये गंभीर झटके हैं। यह एक समस्या है और कांग्रेस पार्टी को इस समस्या का हल ढूंढ़ना है। पहले तो अपने नेताओं और कार्यकर्ताओं को भाजपा में जाने से हरहाल में रोकना होगा। उसके बाद अन्य विपक्षी दलों को एकजुट कर एक व्यापक मंच तैयार करना होगा। चूंकि कांग्रेस अकेला ऐसा दल है जिसका देश भर में विस्तार है, इसलिए विपक्षी दलों को मंच मुहैया कराना कांग्रेस की जिम्मेदारी है।"यह पूछे जाने पर कि ओडिशा के बीजू जनता दल(BJD) जैसे दलों को वे भाजपा-विरोधी मंच पर कैसे लाएंगे? चिदंबरम ने कहा, "इन मामलों से निपटना या नेताओं से बातचीत करना मेरी जिम्मेदारी नहीं है। मैं केवल इतना कह सकता हूं कि यह राष्ट्र हित में है कि सभी पार्टियां एक मंच पर आएं।" उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि समान विचारधारा वाले दलों को साथ लाया जा सकता है। उन्होंने कहा, "लोग इस काम में जुटे हुए हैं।"नोटबंदी के मुद्दे पर धारणा बनाने की लड़ाई भाजपा जीत गई है। इससे संबंधित एक सवाल पर चिदंबरम ने कहा, "मैं नहीं जानता कि वे (मोदी) जीत रहे हैं या नहीं। उन्होंने पहले लड़ाई जीती थी। लेकिन नोटबंदी की रिपोर्ट (भारतीय रिजर्व बैंक की) और जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद की विकास दर) जारी होने के बाद, मैं समझता हूं कि धारणाओं में बदलाव आया है।" उन्होंने कहा कि नोटंबदी के मुद्दे को विपक्षी दलों के बीच एक राय नहीं बन पाने के कारण भुनाया नहीं जा सका।उन्होंने कहा, "नीतिश कुमार, मुलायम सिंह यादव और नवीन पटनायक.. इन सभी ने नोटबंदी का स्वागत किया। विपक्षी दलों ने नोटबंदी के खिलाफ एक सुर में आवाज नहीं उठाई और मोदी की संवाद क्षमता ने लोगों को भरोसा दिला दिया कि यह देश के लिए कुछ अच्छी चीज है। लेकिन आरबीआई की रिपोर्ट के बाद भी मुझे शक है कि ज्यादातर लोग अभी भी नोटबंदी को सही ही मानते होंगे। लेकिन यह तो वक्त बताएगा।"कांग्रेस के बारे में चिदंबरम ने कहा, "गुजरात में हमने 14 विधायक खो दिए। अखबारों में खबरें छपीं कि बिहार में भी कुछ असंतोष है। लेकिन 14 विधायकों को खोने के बाद गुजरात में बाकी पार्टी मजबूत है और उसे अधिक आत्मविश्वास मिला है। तेलंगाना में पार्टी काफी सक्रिय है। लेकिन आंध्र प्रदेश में नांदयाल उपचुनाव का परिणाम काफी निराशाजनक रहा है। पार्टी के अंदर कुल मिलाकर मिली-जुली तस्वीर है।"कांग्रेस नेतृत्व बारे में और राहुल गांधी पार्टी की कमान कब संभालेंगे, इसके बारे में पूछे जाने पर चिदंबरम ने कहा कि वह उपाध्यक्ष हैं और उन्हें नहीं पता कि वह पार्टी अध्यक्ष का पद कब संभालेंगे।शुक्रवारसेATMपरमिलेंगे500और2000केनएनोटDelhi Special Assembly: BJP के सभी विधायकों को पूरे दिन के लिए निकाला सदन से बाहर, दिल्ली विधानसभा उपाध्यक्ष की कार्रवाई******Highlights दिल्ली विधानसभा की उपाध्यक्ष राखी बिड़ला ने शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी (BJP) के विधायक अजय महावर द्वारा सदन की कार्यवाही का वीडियो रिकॉर्ड किए जाने को लेकर उनकी पार्टी के विधायकों को विशेष सत्र के पूरे दिन के लिए मार्शल की मदद से बाहर निकाल दिया।आप के विधायकों ने अजय महावर पर मोबाइल से लाइव करने का आरोप लगाया है। इसी बात को लेकर सदन में हंगामा हो गया। अजय महावर समेत सभी विपक्षी विधायकों को मार्शल ने सदन से बाहर कर दिया। बीजेपी के सभी 8 विधायकों को पूरे दिन के लिए मार्शल आउट किया गया।बिड़ला ने महावर से पूछा कि क्या उन्होंने कानून के खिलाफ जाकर विधानसभा की कार्यवाही का वीडियो रिकॉर्ड किया है ? उन्होंने कहा, ‘‘क्या आपने वीडियो रिकॉर्ड किया है? यदि आपने ऐसा किया है, तो आपका फोन जब्त क्यों नहीं किया जाना चाहिए? यह सदन के कानून के खिलाफ है।’’महावर और उनकी पार्टी के विधायकों ने बिड़ला के प्रश्नों का उत्तर नहीं दिया। इस मुद्दे पर आम आदमी पार्टी (आप) और भाजपा विधायकों के बीच वाकयुद्ध छिड़ गया। इसके बाद बिड़ला ने कहा कि भाजपा विधायकों ने सदन का समय व्यर्थ किया है। उन्होंने भाजपा विधायकों को मार्शल की मदद से सदन से बाहर निकाल दिया। भाजपा के विधायक सदन से बाहर आ गए और विधानसभा परिसर में गांधी प्रतिमा के पास खड़े हो गए। उन्होंने आबकारी नीति 2021-22 से जुड़े विवाद को लेकर उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को गिरफ्तार किए जाने और मंत्रिमंडल से हटाए जाने की मांग करते हुए नारे लगाए।वहीं सदन में आज मनीष सिसोदिया ने भी अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि आज सदन के समक्ष रेड की कहानी बताने नहीं आया हूं। हजारों रेड कर लो, कुछ नहीं मिलेगा। सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली के एजुकेशन को आगे बढ़ाने का काम बिल्कुल किया है, वो अगर बेईमानी है, तो जो सजा हो, दे दो। उन्होंने आगे कहा कि अब 75 साल में यह होता है कि कोई अच्छा काम करे, तो सीबीआई लेकर आ जाओ।मनीष सिसोदिया ने कहा कि 7 साल के एक्सपीरियंस के आधार पर कह रहा हूं, एक सीरियल किलर की तरह चुनी हुई सरकारों को हटाने में जितनी मेहनत लगाते हो, उतने से कम में अच्छे स्कूल और अस्पताल बन जाते हैं। सिसोदिया ने कहा कि 'अगर किसी दूसरे राज्य के शिक्षामंत्री भी अच्छा काम करते तो केजरीवाल उसकी तारीफ करते। मोदी जी अच्छा काम करने वाले के ऊपर CBI और ED छोड़ देते है। ये मोदी की घटिया सोच दर्शाता है।' इसी घटिया सोच का नतीजा है कि आज देश के सभी बच्चों को औसत शिक्षा सिर्फ 6 साल मिलती है। हम सिर्फ पाकिस्तान के ऊपर हैं, जहां 5 साल है। दुनिया के विकसित देश 13 साल का औसत शिक्षा देता है।गौरतलब है कि दिल्ली में मचे सियासी बवाल के बीच आज दिल्ली विधानसभा का एकदिवसीय विशेष सत्र बुलाया गया है। इस विशेष सत्र में चल रहे सियासी विवाद को देखते हुए हंगामा हो रहा है।शुक्रवारसेATMपरमिलेंगे500और2000केनएनोटआठ शहरों में जनवरी-मार्च 2021 के दौरान आवासीय बिक्री 44 फीसदी बढ़ी: रिपोर्ट******आठ शहरों में जनवरी-मार्च 2021 के दौरान आवासीय बिक्री 44 फीसदी बढ़ी: रिपोर्टनई दिल्ली: नाइट फ्रैंक इंडिया के अनुसार आठ प्रमुख शहरों में इस साल जनवरी-मार्च के दौरान आवासीय बिक्री 44 प्रतिशत बढ़कर करीब 72,000 इकाई हो गई। महाराष्ट्र सरकार द्वारा स्टांप ड्यूटी घटाने के फैसले के कारण मुंबई महानगर क्षेत्र (एमएमआर) और पुणे ने अच्छा प्रदर्शन किया। नाइट फ्रैंक इंडिया ने एक बयान में कहा, ‘‘वर्ष 2021 की पहली तिमाही के दौरान 71,963 इकाइयां बेची गईं, जो 2020 की पहली तिमाही के मुकाबले 44 प्रतिशत अधिक है। बिक्री में इस जोरदार बढ़ोतरी ने डेवलपर्स को नई परियोजनाएं शुरू करने के लिए भी प्रोत्साहित किया, जो समीक्षाधीन तिमाही के दौरान पेश की गई 76,006 इकाइयों से साबित होता है।’’आठ प्रमुख शहरों के प्राथमिक आवासीय बाजारों में बिक्री बुकिंग के आंकड़ों के अनुसार जनवरी-मार्च 2021 में मुंबई में आवास की बिक्री 49 प्रतिशत बढ़कर सालाना 23,752 इकाई हो गई। इसी तरह पुणे में बिक्री में 75 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई।नाइट फ्रैंक इंडिया के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक शिशिर बैजल ने कहा, ‘‘2021 की पहली तिमाही में प्रमुख बाजारों में बिक्री में उल्लेखनीय वृद्धि हुई, जिसका नेतृत्व मुंबई और पुणे ने किया। इन दोनों बाजारों को स्टांप शुल्क में कमी के रूप में राज्य सरकार से पर्याप्त समर्थन मिला।’’ उन्होंने कहा कि रुझानों से लगता है कि लोग अब किराए पर रहने की जगह अपना मकान खरीदने को प्राथमिकता दे रहे हैं।

शुक्रवार से ATM पर मिलेंगे 500 और 2000 के नए नोट

शुक्रवारसेATMपरमिलेंगे500और2000केनएनोटUric Acid: बढ़े हुए यूरिक एसिड को कम कर सकते हैं अखरोट और प्याज के नुस्खे, जानिए इस्तेमाल का सही तरीका******आजकल खराब लाइफस्टाइल की वजह से लोगों में आम समस्या है। इसमें पीड़ित मरीजों को कई तरह की परेशानियोंका सामना करना पड़ता है। यह एक तरह का केमिकल हैं, जो शरीर में प्यूरीन नाम के तत्व के टूटने से बनता है और जब शरीर में इसकी मात्रा सामान्य लेवल से ज्यादा बढ़ जाती है तो ये सेहत के लिए हानिकारक साबित होता है।ऐसे में दवाइयों के अलावा कुछ घरेलू नुस्खों को अपनाकर भी यूरिक एसिड की मात्रा को नियंत्रित की जा सकती है। तो आज हम आपको दो नुस्खों के बारे में बताएंगे और ये दो नुस्खे अखरोट और प्याज के हैं। तो आइए जानते हैं अखरोट और प्याज किस तरह से यूरिक एसिड के मरीजों के लिए असरदार है। साथ ही जानिए इसके सेवन का सही तरीका।अखरोट सेहत के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। इसमें प्रचुर मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट्स और पॉलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड पाया जाता है। ये सभी शरीर से यूरिक एसिड को बाहर निकालने में मदद करते हैं। जिसके कारण शरीर से बढ़े हुए यूरिक एसिड का लेवल अपने आप कम होने लगता है।अगर आप यूरिक एसिड के मरीज हैं तो अखरोट को अपनी डाइट में जरूर शामिल करें। इसके लिए बस आप रोजाना सुबह खाली पेट 2 से 3 अखरोट का सेवन करें। ऐसा करने से बढ़ा हुआ यूरिक एसिड कंट्रोल होने लगेगा।प्याज खाने का स्वाद बढ़ाने के अलावा बढ़े हुए यूरिक एसिड को भी नियंत्रित करने में कारगर है। हेल्थ एक्सपर्ट की मानें तो यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए शरीर का मेटाबॉलिज्म का ठीक होना जरूरी है। ऐसे में प्याज में वो सभी गुण होते हैं जो मेटाबॉलिज्म को बूस्ट कर यूरिक एसिड को नियंत्रित करने में सहायता करता है।प्याज का इस्तेमाल आप सलाद के रूप में कर सकते हैं। इसके अलावा प्याज का रस खाली पेट पीने से भी आपको असर दिखेगा।शुक्रवारसेATMपरमिलेंगे500और2000केनएनोटएशियाई खेल (एथलेटिक्स): फाइनल में भारतीय 'गुरू-चेले' की जोड़ी, 1500 मीटर में गोल्ड के दावेदार******जकार्ता। भरतीय धावक मंजीत सिंह और जिनसन जॉनसन ने यहां जारी 18वें एशियाई खेलों के 11वें दिन क्वालीफिकेशन दौर में शानदार प्रदर्शन करते हुए फाइनल में प्रवेश कर लिया। मंजीत सिंह ने बुधवार को हीट-1 में तीन मिनट 50.59 सेकेंड का समय निकाला जबकि जिनसन ने तीन मिनट 46.50 सेकेंड में रेस पूरी करते हुए फाइनल में जगह बनाई।मंगलवार को हुए 800 मीटर स्पर्धा के फाइनल की तरह मंजीत ने इस रेस में भी धीमी शुरुआत की लेकिन अंतिम क्षणों में उन्होंने अपनी रफ्तार बढ़ाई और पहले पायदान पर रहे। दूसरी ओर, जिनसन रेस की शुरुआत से ही लय में नजर आए और अंतिम क्षणों में अधिक तेजी दिखाते हुए दूसरा स्थान हासिल किया।मंजीत सिंह और जिनसन जॉनसन के बारे में कहा जाता है कि मंजीत सिंह की ही निगरानी में जिनसन जॉनसन ने अपनी तैयारी की है। दोनों बेहद अच्छे दोस्त हैं। आपको बता दें कि मनजीत सिंह ने मंगलवार को ट्रैक पर धूम मचाते हुए एशियाई खेलों की पुरुष 800 मीटर दौड़ में प्रबल दावेदार हमवतन जिनसन जॉनसन को पीछे छोड़ते हुए गोल्ड मेडल जीता। ये भारत के लिए बेहद खुशी का मौका था जब दोनों भारतीयों को एक साथ मेडल से नवाजा गया।

शुक्रवार से ATM पर मिलेंगे 500 और 2000 के नए नोट

शुक्रवारसेATMपरमिलेंगे500और2000केनएनोटप्रीमियर लीग: मैनचेस्टर सिटी ने चेल्सी को 6-0 से करारी शिकस्त दी******अर्जेंटीना के स्ट्राइकर सर्जियो अगुएरो की हैट्रिक के दम पर मौजूदा चैम्पियन मैनचेस्टर सिटी ने इंग्लिश प्रीमियर लीग (ईपीएल) के एक मुकाबले में चेल्सी को 6-0 से करारी शिकस्त दी। इस दमदार जीत के बाद सिटी के 65 अंक हो गए हैं और गोल अंतर के आधार पर तालिका में शीर्ष पर पहुंच गई है। लिरवपूल ने हालांकि, सिटी से एक मैच कम खेला है। दूसरी ओर, चेल्सी 50 अंकों के साथ छठे पायदान पर खिसक गई है। बीबीसी के अनुसार, अप्रैल 1991 के बाद से लीग में चेल्सी की ये सबसे बड़ी हार है।1991 में चेल्सी को नॉटिंगहम फॉरेस्ट ने 7-0 से मात दी थी। सिटी ने मैच के शुरुआती 25 मिनटों में ही अपनी जीत तय कर ली। पहला गोल चौथे मिनट में रहीम स्टर्लिग ने दागा। इसके नौ मिनट बाद, अगुएरो ने 25 गज की दूरी से दमदार गोल करते हुए मेजबान टीम की बढ़त को दोगुना कर दिया।अगुएरो ने मैच का अपना दूसरा गोल 19वें मिनट में किया। पहला हाफ समाप्त होने से पहले सिटी ने एक और गोल किया। 25वें मिनट में जर्मन मिडफील्डर इल्के गुडोंवान ने भी स्कोरशीट में अपना नाम दर्ज करा लिया। चेल्सी की टीम ने दूसरे हाफ में भी गोल नहीं किया और अपने खेल को बेहतर नहीं कर पाई। मैच के 56वें मिनट में मेजबान टीम को एक पेनल्टी मिली जिसे गोल में बदलकर अगुएरो ने अपनी हैट्रिक पूरी की। सिटी के लिए ये उनके करियर की 15वीं हैट्रिक थी, वो ईपीएल में कुल 11 हैट्रिक दाग चुके हैं।इसके बाद भी सिटी ने अपने खेल के स्तर को गिरने नहीं दिया। स्टर्लिग ने 80वें मिनट में गोल करते हुए मेजबान टीम की 6-0 से बड़ी जीत सुनिश्चित कर दी।

शुक्रवारसेATMपरमिलेंगे500और2000केनएनोटत्रिपुरा में माकपा की रैली पर भीड़ का हमला, 20 कार्यकर्ता घायल****** दक्षिण जिले में माकपा की एक रैली के दौरान भीड़ के हमले में कम से कम 20 पार्टी कार्यकर्ताओं के घायल होने की खबर है। पुलिस ने यह जानकारी दी।पुलिस ने कहा कि माकपा कार्यकर्ता की जांच की मांग को लेकर एक रैली निकाल रहे थे तभी भीड़ ने उनपर हमला किया।पुलिस अधीक्षक जय सिंह मीना ने कहा कि यहां से करीब 110 किलोमीटर दूर बेलोनिया कस्बे में आज सुबह माकपा समर्थकों ने एक रैली का आयोजन किया था, जिस पर करीब 25 लोगों ने हमला कर दिया।माकपा ने आरोप लगाया कि सत्ताधारी भाजपा के ‘‘गुंडों’’ ने रैली पर हमला किया।माकपा के बेलोनिया उप-मंडल सचिव तापस दत्ता ने कहा, ‘‘हमारी रैली पर हमला करने वाले भाजपा के गुंडे थे। जब हम पर हमला हुआ पुलिस वहां मौजूद थी।’’ उन्होंने कहा कि स्थानीय पुलिस थाने में एक शिकायत दर्ज कराई गई है।उन्होंने दावा किया कि माकपा के दक्षिण त्रिपुरा जिले के सचिव बासुदेव मजूमदार, त्रिपुरा ट्राइबल एरियाज आटोनॉमस डिस्ट्रिक काउंसिल (टीटीएएडीसी) के कार्यकारी सदस्य परीक्षित मूरासिंह घायलों में शामिल हैं।भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता अशोक सिन्हा ने माकपा के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि कम्युनिस्ट पार्टी की ‘‘झूठे, निराधार और राजनीति से प्रेरित’’ आरोप लगाने की आदत है।शुक्रवारसेATMपरमिलेंगे500और2000केनएनोटRahul Slams On Modi: 8 चीते तो आ गए लेकिन 8 साल में 16 करोड़ रोजगार क्यों नहीं आए, राहुल का मोदी से सवाल******Highlightsकांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा मध्य प्रदेश के कुनो राष्ट्रीय उद्यान (केएनपी) में नामीबिया से लाए गए चीतों को छोड़े जाने के बाद शनिवार को उन पर निशाना साधते हुए कहा कि आठ चीते तो आए गए, लेकिन आठ वर्षों में 16 करोड़ रोजगार क्यों नहीं आए। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘ 8 चीते तो आ गए, अब ये बताइए, 8 वर्षों में 16 करोड़ रोज़गार क्यों नहीं आए? युवाओं की है ललकार, ले कर रहेंगे रोज़गार।’’ कांग्रेस और राहुल गांधी का यह आरोप रहा है कि प्रधानमंत्री ने हर साल दो करोड़ नौकरियों का वादा किया था, जिसे उन्होंने पूरा नहीं किया।पीएम मोदी ने बर्थडे पर कूनो नेशनल पार्क में छोड़े चीतेप्रधानमंत्री मोदी ने शनिवार को मध्य प्रदेश के कुनो राष्ट्रीय उद्यान में नामीबिया से लाए गए चीतों को एक विशेष बाड़े में छोड़ा। इस मौके पर मोदी अपने पेशेवर कैमरे से चीतों की कुछ तस्वीरें भी खींचते हुए दिखाई दिए। भारत में चीतों को विलुप्त घोषित किए जाने के सात दशक बाद उन्हें देश में फिर से बसाने की परियोजना के तहत नामीबिया से आठ चीते शनिवार सुबह कुनो राष्ट्रीय उद्यान पहुंचे। पहले इन्हें विशेष विमान से ग्वालियर हवाई अड्डे और फिर हेलीकॉप्टरों से श्योपुर जिले में स्थित केएनपी लाया गया।

शुक्रवारसेATMपरमिलेंगे500और2000केनएनोटIPL 2020, MI vs DC : दिल्ली और मुंबई के बीच बादशाहत साबित करने की होगी जंग******इंडियन प्रीमियर लीग के मौजूदा सत्र में शनिवार को दूसरे मैच में मुंबई इंडियंस और दिल्ली कैपिटल्स के बीच भिड़ंत होगी। अबु धाबी के शेख जायद में खेले जाने वाले इस मैच में मुंबई और दिल्ली के बीच खुद को सर्वश्रेष्ठ साबित करने की जंग होगी। मौजूदा सीजन में दोनों ही टीमों का प्रदर्शन अभी तक शानदार रहा है।दिल्ली की टीम 6 मैचों में से 5 जीतकर 10 अंक के साथ पाइंट टेबल में टॉप पर बरकरार है। वहीं, मुंबई 4 जीत और 2 हार के साथ दूसरे स्थान पर कायम है। ऐसे में जब दोनों टीमें आज के मुकाबले में आमने-सामने होंगी तो खेल का रोमांच अपने चरम पर होगा।दिल्ली कैपिटल्स की टीम पर निगाह डाले तो, टीम हर विभाग में मजबूत नजर आ रही है। बल्लेबाजी में टीम के पास पृथ्वी शॉ, कप्तान श्रेयस अय्यर और ऋषभ पंत जैसे शानदार बल्लेबाज है। शिमरोन हेटमायेर जैसा खिलाड़ी भी लय हासिल कर चुका है। हालांकि सलामी बल्लेबाज शिखर धवन की फॉर्म दिल्ली के लिए चिंता का कारण बनी हुई है। वहीं, मिडिल आर्डर में मौजूद मार्कस स्टोइनिस का प्रदर्शन पहले ही मैच से कमाल का रहा है और टीम के लिए आखिरी के ओवरों में धुआंधार बल्लेबाजी करने की जिम्मेदारी लगातार वह संभाले हुए हैं।गेंदबाजी में दिल्ली के पास ऑरेंज कैप होल्डर कगिसो रबाडा हैं जो टूर्नामेंट 15 विकेट अपने नाम कर चुके हैं। वहीं, एनरिक नोर्जे भी रबाडा का बखूबी साथ दे रहे हैं। स्पिन विभाग में मौजूद अश्विन और अक्षर पटेल भी टीम के प्रदर्शन में बराबर योगदान दे रहे हैं।दूसरी तरफ मौजूद मुंबई की टीम किसी भी मामलें में दिल्ली से कम नहीं है। बल्लेबाजी से लेकर गेंदबाजी तक हर खिलाड़ी मैच विनर है। टॉप आर्डर में मौजूद कप्तान रोहित शर्मा, इशान किशन और सूर्यकुमार यादव अच्छी लय में हैं। वहीं, मिडिल आर्डर का जिम्मा संभाल रहे हार्दिक पंड्या और कीरोन पोलार्ड जैसे हरफनमौला खिलाड़ी इस सीजन अपनी काबिलियत कई मैचों में साबित कर चुके हैं। क्रुणाल पंड्या भी अपनी उपयोगिता साबित कर चुके हैं।गेंदबाजी के मामलें में मुंबई की टीम का पलड़ा भारी नजर आ रहा है। टीम के तेज गेंदबाजी में जसप्रीत बुमराह और ट्रेट बोल्ट का लीथल कॉम्बिनेशन है जो मजबूत से मजबूत बैटिंग आर्डर को धराशायी करने की काबिलियत रखता है।दिल्ली और मुंबई के बीच अब तक कुल 24 मुकाबले खेले गए हैं जिसमें दोनों ही टीमों ने 12-12 मैच अपने नाम किए हैं। ऐसे में ये मुकाबला कांटे की टक्कर माना जा रहा है।श्रेयस अय्यर (कप्तान), अजिंक्य रहाणे, एलेक्स कैरी, जेसन रॉय, पृथ्वी शॉ, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), शिखर धवन, शिमरन हेटमायेर, अक्षर पटेल, क्रिस वोक्स, ललित यादव, मार्कस स्टोयनिस, कीमो पॉल, आवेश खान, हर्षल पटेल, ईशांत शर्मा, कैगिसो रबाडा, मोहित शर्मा, रविचंद्रन अश्विन, संदीप लामिछाने, एनरिक नॉर्खिया, तुषार देशपांडे।रोहित शर्मा (कप्तान), आदित्य तारे (विकेटकीपर), अनमोलप्रीत सिंह, अनुकूल रॉय, क्रिस लिन, धवल कुलकर्णी, दिग्विजय देशमुख, हार्दिक पांड्या, ईशान किशन, जेम्स पैटिनसन, जसप्रीत बुमराह, जयंत यादव, कीरन पोलार्ड, क्रूणाल पांड्या, मिशेल मैक्लेंघन, मोहसिन खान, नाथन कल्टर नाइल, प्रिंस बलवंत राय, क्विंटन डी कॉक (विकेटकीपर), राहुल चहर, सौरभ तिवारी, शेरफाने रदरफोर्ड, सूर्यकुमार यादव, ट्रेंट बोल्ट।शुक्रवारसेATMपरमिलेंगे500और2000केनएनोटAlia Bhatt की इस आदत से हर रात परेशान होते हैं रणबीर कपूर, एक्ट्रेस का सीक्रेट हुआ रिवील******Highlightsबॉलीवुड एक्टर रणबीर कपूर और आलिया भट्ट (Alia Bhatt) अपनी पर्सनल लाइफ को लेकर भी चर्चा में हैं। आलिया-रणबीर ने इस साल अप्रैल में शादी रचाई थी और जल्द ही दोनों पेरेंट्स बनने वाले हैं। फिल्म के प्रमोशन के दौरान आलिया ने खूब अपना बेबीबंप फ्लॉन्ट किया जिसे लेकर उन्हें ट्रोलिंग का भी सामना करना पड़ा। फैंस को रणबीर-आलिया के बच्चे का इंतजार है लेकिन इस बीच रणबीर कपूर ने आलिया को लेकर एक ऐसा खुलासा कर दिया है जिसे जानने के बाद आपको भी रणबीर पर तरस आ जाएगा। दरअसल, रणबीर कपूर ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया कि आलिया की स्लीपिंग पोजीशन अलग है, जिसकी वजह से उन्हें बेड में सोने के लिए सिर्फ एक कोना ही मिलता है।रणबीर कपूर (Ranbir Kapoor) ने बताया कि आलिया रात में सोते हुए पूरे बेड पर राउंड करती है, ऐसे में वह कॉर्नर में पहुंच जाते हैं। आलिया की इस आदत की वजह से रणबीर कपूर को रोजाना स्ट्रगल करना पड़ता है। वहींआलिया भट्ट ने रणबीर को लेकर सीक्रेट रिवील करते हुए बताया कि रणबीर मेरी बातों को शांत होकर सुनता है जो कि अच्छी बात है। लेकिन जब मुझे लगता है कि उसे बोलना चाह‍िए जो कि कुछ जगहों पर जरूरी है। वो वहां भी चुप रहता है। ऐसे में रणबीर कपूर की चुप्पी से आलिया परेशान हो जाती हैं। फिल्म के प्रमोशन के दौरान आलिया-रणबीरअपने सीक्रेट्स शेयर कर रहे हैं जिन्हें जानने के लिए फैंस बेताब रहते हैं।आलिया भट्ट (Alia Bhatt) के लिए साल 2022 लकी साबित हुआ है। इस साल रिलीज हुईंआलिया की तीनों फिल्में हिट रही हैं। साल के शुरुआत में ही आलिया की फिल्म 'गंगूबाई काठियावाड़ी' रिलीज हुई थी जिसने तहलका मचा दिया था। इस फिल्म में लोगों ने आलिया के अभिनय की खूब तारीफ भी की थी। इसके बाद आलिया भट्ट ने शादी के बाद अपने पहले हॉलीवुड प्रोजेक्ट 'हार्ट ऑफ स्टोन' की शूटिंग भी की जिसके लिए वह 1 महीने तक लंदन में थीं।फिल्म में 'सुपर वुमन' एक्ट्रेस गैल गेडॉट अहम भूमिका निभाती नजर आएंगी। फिल्म में आलिया 'केया धवन' नाम की लड़की का किरदार निभा रही हैं।आलियाके साथ जेमी डॉर्ननने भी काम किया है।जेमीडॉर्नन'फिफ्टी शेड्स ऑफ ग्रे' में भी नजर आए थे।'हार्ट ऑफ स्टोन' में आलिया की झलक भी दिखाई गईजिसेदेखकर लग रहा है कि फिल्म में भरपूर एक्शन होने वाला है।आलिया भट्ट (Alia Bhatt)आने वाले समय में फरहान अख्तर के निर्देशन में बनने वाली फिल्म 'जी ले जरा' में कैटरीना कैफ और प्रियंका चोपड़ा के साथ नजर आएंगी।

शुक्रवारसेATMपरमिलेंगे500और2000केनएनोटUS Open 2018: एंडी परे दूसरे दौर में, सिमोना हालेप उलटफेर का शिकार होकर बाहर******हिप इंजरी से उबरने के बाद शानदार वापसी करते हुए ब्रिटेन के दिग्गज टेनिस खिलाड़ी एंडी मरे ने साल के चौथे और आखिरी ग्रैंड स्लैम अमेरिकी ओपन के अगले दौर में कदम रख लिया है। मरे ने पुरुष एकल वर्ग के पहले दौर में ऑस्ट्रेलिया के जेम्स डकवर्थ को मात दी।ब्रिटेन के 31 वर्षीय खिलाड़ी मरे ने लुइस एम्सट्रोंग स्टेडियम में खेले गए इस मैच में डकवर्थ को 6-7 (5-7), 6-3, 7-5, 6-3 से हराकर अगले दौर में कदम रखा। दूसरे दौर में मरे का सामना स्पेन के फर्नादो वर्डास्को से होगा। मरे ने कहा कि वो इस समय टेनिस में अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की उम्मीद नहीं कर रहे हैं।वहीं, महिलाओं में वर्ल्ड नम्बर-1 टेनिस खिलाड़ी सिमोना हालेप को साल के चौथे ग्रैंड स्लैम अमेरिकी ओपन के पहले दौर में ही उलटफेर का शिकार होना पड़ा। रोमानिया की दिग्गज हालेप को महिला एकल के पहले दौर में वर्ल्ड नम्बर-44 केया कनेपी ने मात देकर बाहर किया।एस्टोनिया की टेनिस खिलाड़ी कनेपी ने हालेप को सीधे सेटों में 6-2, 6-4 से मात दी और अगले दौर में प्रवेश कर लिया। हालेप ने कहा, "मुझे लगता है कि ये शहर काफी व्यस्त है। मुझे छोटी जगह पसंद है। मैं काफी शांत रहने वाली इंसान हूं। मैं शिकायत नहीं कर रही। मैं बस ये कहूंगी कि कोर्ट में पहुंचने के बाद मैं 100 प्रतिशत अच्छा महसूस नहीं कर रही थी।"शुक्रवारसेATMपरमिलेंगे500और2000केनएनोटBihar News: बिहार में फिर जहरीली शराब का तांडव, 5 लोगों की गई जान, जांच में जुटी पुलिस******Highlightsबिहार में सारण के मढ़ौरा के भुवालपुर में एक बार फिर जहरीली शराब पीने से 5 लोगों के मौत की हो गई है। अभी कुछ ही दिन पहले 13 लोगों की मौत जहरीली शराब पीने से हुई थी। आज फिर मढ़ोरा के भुवालपुर में करीब 8 से 9 लोगों ने जहरीली शराब पी ली, जिसमें 5 लोगों की मौत हुई है और एक को पटना रेफर किया गया है। बाकी दो लोगों का इलाज छपरा के सदर अस्पताल में चल रहा है। पुलिस इस मामले की जांच में जुट गई है। कहा जा रहा है कि यह आंकड़ा और भी बढ़ सकता है। घटना के बाद पूरे गांव में कोहराम मचा हुआ है।मृतकों की हुई पहचान, एक की हालत गंभीर, छपरा रेफरअभी कुछ दिनों पहले ही छपरा में जहरीली शराब पीने से कई लोगों की मौत हो गई थी। कई लोगों की आंखों की रोशनी भी चले जाने की बात कही गई थी। अब फिर से छपरा में जहरीली शराब का तांडव देखने को मिला है। सारण के भुवालपुर में जिन लोगों की जहरीली शराब पीने से मौत हुई है, उनकी पहचान गड़खा के औढ़ा गांव निवासी करमुल्ला खान का बेटा अलाउद्दीन खान, मढ़ौरा थाना क्षेत्र भुवालपुर गांव निवासी देव महतो का बेटा कामेश्वर महतो, भीकन सिंह का बेटा रोहित कुमार सिंह और परशुराम राम के बेटे राजेंद्र राम शामिल हैं। द्वारिका महतो के बेटे राम लायक महतो की स्थिति गंभीर है। उसे छपरा सदर अस्पताल भेजा गया है।कुछ दिन पहले भी जहरीले जाम से हुई थी कई मौतेंबिहार के सारण जिले में जहरीली शराब कांड से मरने वालों की संख्या 9 पहुंच गई थी। वहीं 17 लोगों की आंखों की रोशनी चली गई थी। पीड़ित सारण जिले के मकेर और भेलडी थाना क्षेत्र के गांवों के रहने वाले हैं। अधिकांश पीड़ितों ने धानुका टोली गांव से नकली शराब खरीदी थी। इसके बाद बुधवार की रात उन्होंने अलग-अलग जगहों पर शराब का सेवन किया और उसके बाद उनकी तबीयत बिगड़ गई। गुरुवार सुबह 35 वर्षीय चंदन कुमार और 60 वर्षीय कमल महतो नाम के दो लोगों की मौत हो गई।सारण के जिलाधिकारी राजेश मीणा ने बताया कि नकली शराब का सेवन किया गया था। अन्य मृतकों की पहचान ओम नाथ महतो, चंदेश्वर महतो, सकलदीप महतो, धनीराम महतो, राजनाथ महतो और दो अन्य के रूप में हुई है।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 04:38
उद्धरण 1 इमारत
LIC के निवेशकों को भारी नुकसान, Share टूटकर 721 रुपये पर आया, जानिए, अगला भाव क्या?******LIC में निवेश करने वाले निवेशकों को लगातार नुकसान उठाना पड़ रहा है। गुरुवार को शेयर 16.45 रुपये गिरकर 721.60 रुपये पर बंद हुआ। यह इसका अब तक का सबसे निचला स्तर है। अगर LIC IPO के इश्यू प्राइस को देंखे तो यह 949 रुपये था। यानी इश्यू प्राइस से यह शेयर 25 फीसदी टूट चुका है। गौरतलब है कि एलआईसी में निवेश करने वाले अधिकांश निवेशक पॉलिसी होल्डर है। ऐसे में उनके मन में लगातार डर बना हुआ है कि आखिर यह शेयर कहां तक टूट सकता है। तो आइए, जानते हैं कि एलआईसी का शेयर भाव कहां तक लुढ़कर जा सकता है।आईआईएफएल सिक्योरिटीज में वाइस प्रेसिडेंट अनुज गुप्ता ने इंडिया टीवी को बताया कि एलआईसी के कमजोर तिमाही नतीजे के बाद शेयर में बिकवाली है। वहीं, आरबीआई द्वारा ब्याज दरों में बढ़ोतरी से बाजार में घबराहट का माहौल है। इससे बाजार में बिकवाली हावी है। ऐसे में LIC Share का भाव अब 690 से लेकर 710 रुपये तक पहुंच सकता है। हालांकि, अगर यह स्टॉक 700 रुपये के आसपास आता है तो निवेश करने का बेहतरीन मौका होगा। जियोजित बीएनपी के अनुसंधान प्रमुख, विनोद नायर ने बताया कि दूसरी बीमा कंपनियों के मुकाबले एलआईसी की वित्तीय स्थिति मजबूत है। ऐसे में निवेशक लंबी अवधि का लक्ष्य बनाकर इसमें निवेश कर सकते हैं। लंबी अवधि में यह स्टॉक अच्छा रिटर्न दे सकता है।एलआईसी के शेयर में लगातार बिकवाली से कंपनी का मार्केट कैप एक चौथाई कम हो गया है। लिस्टिंग के एक महीने से भी कम समय में, एलआईसी के बाजार मूल्य का लगभग एक-चौथाई हिस्सा खत्म हो गया है। आईपीओ इश्यू प्राइस 949 रुपये पर एलआईसी का बाजार पूंजीकरण 6,00,242 करोड़ रुपये था, और अब बीएसई पर गिरकर 4,58,024 करोड़ रुपय रह गया है। 17 मई, 2022 को स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध होने के बाद से एलआईसी के शेयर की कीमत में तेजी से गिरावट आई है।
2022-10-01 03:44
उद्धरण 2 इमारत
हुआवे जीटी-2 स्मार्टवॉच भारत में 5 दिसंबर को होगी लॉन्च, जानिए क्या हैं फीचर******Huawei SmartWatch GT 2 Launched in India on 5 December, 2019 स्मार्टफोन निर्माता दिग्गज कंपनी हुआवे ने सोमवार को कहा कि पांच दिसंबर को भारत में लॉन्च होने वाली बहुप्रतीक्षित हुआवे जीटी-2 स्मार्टवॉच की बिक्री ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरीके से होगी। इस स्मार्टवॉच में ए-आई चिपसैट होगी, जिससे इसकी बैटरी लाइफ काफी बेहतर रहेगी। न्यूज पोर्टल जीएसएम एरिना ने बताया कि कंपनी ने यह भी पुष्टि की है कि स्मार्टवॉच अमेजन और फ्लिपकार्ट पर ऑनलाइन उपलब्ध होगी। वॉच जीटी-2 ग्राहकों की आवश्यकताओं के अनुरूप और उनकी जीवनशैली को उन्नत करने के लिए बेहतर उत्पाद है। इस डिवाइस में 150 मीटर से अधिक रेडियस के साथ सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की क्षमता है। नई हुआवे वॉच सीरीज में थ्री-डी ग्लास स्क्रीन होगी और इसके दो हफ्ते की लंबी बैटरी बैकअप के साथ आने की संभावना है।उन्नत फिटनेस ट्रैकिंग सुविधाओं से लैस, हुआवे वॉच जीटी-2 ट्रायथलॉन/हाइक सहित विभिन्न कसरत करने वाले तरीकों की निगरानी करेगी। स्मार्टवॉच में ब्लूटूथ कॉलिंग, इन-डिवाइस म्यूजिक और लगभग 500 गानों को स्टोर और प्ले करने की क्षमता होगी। हुआवेई की जीटी सीरीज वाली स्मार्टवॉच काफी सफल रही है, जिसने अपनी लॉन्चिग के बाद से वैश्विक स्तर पर 20 लाख यूनिट की बिक्री की है।
2022-10-01 03:38
उद्धरण 3 इमारत
Rahul Slams On Modi: 8 चीते तो आ गए लेकिन 8 साल में 16 करोड़ रोजगार क्यों नहीं आए, राहुल का मोदी से सवाल******Highlightsकांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा मध्य प्रदेश के कुनो राष्ट्रीय उद्यान (केएनपी) में नामीबिया से लाए गए चीतों को छोड़े जाने के बाद शनिवार को उन पर निशाना साधते हुए कहा कि आठ चीते तो आए गए, लेकिन आठ वर्षों में 16 करोड़ रोजगार क्यों नहीं आए। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘ 8 चीते तो आ गए, अब ये बताइए, 8 वर्षों में 16 करोड़ रोज़गार क्यों नहीं आए? युवाओं की है ललकार, ले कर रहेंगे रोज़गार।’’ कांग्रेस और राहुल गांधी का यह आरोप रहा है कि प्रधानमंत्री ने हर साल दो करोड़ नौकरियों का वादा किया था, जिसे उन्होंने पूरा नहीं किया।पीएम मोदी ने बर्थडे पर कूनो नेशनल पार्क में छोड़े चीतेप्रधानमंत्री मोदी ने शनिवार को मध्य प्रदेश के कुनो राष्ट्रीय उद्यान में नामीबिया से लाए गए चीतों को एक विशेष बाड़े में छोड़ा। इस मौके पर मोदी अपने पेशेवर कैमरे से चीतों की कुछ तस्वीरें भी खींचते हुए दिखाई दिए। भारत में चीतों को विलुप्त घोषित किए जाने के सात दशक बाद उन्हें देश में फिर से बसाने की परियोजना के तहत नामीबिया से आठ चीते शनिवार सुबह कुनो राष्ट्रीय उद्यान पहुंचे। पहले इन्हें विशेष विमान से ग्वालियर हवाई अड्डे और फिर हेलीकॉप्टरों से श्योपुर जिले में स्थित केएनपी लाया गया।
वापसी