नई पोस्ट करें

डॉलर के मुकाबले रुपया 10 पैसे लुढ़का, 71.43 के स्‍तर पर हुआ बंद

2022-10-01 05:59:23 944

डॉलरकेमुकाबलेरुपया10पैसेलुढ़का7143केस्‍तरपरहुआबंदMaharastra news: गिरफ्तारी के डर से चोर ने चौथी मंजिल से लगाई छलांग, अस्पताल में हुई मौत, जानें क्या है पूरा मामला******Highlights चोरी होने की घटनाएं तो रोज आती ही रहती हैं। हर रोज चोरों के अलग-अलग कारनामें भी सुनने को मिलते रहते हैं। ऐसे में मुंबई की मरीन लाइस से एकदम अलग खबर देखने में आई है। जिसमें एक चोर को अपनी जान ही गंवानी पड़ी है।शुक्रवार को सुबह मरीन लाइस की जयंत महल सोसायटी में एक चोर चोरी करने के इरादे से घुसा था। चोर के घुसने के कुछ समय बाद वॉचमैन ने उसे देख लिया और फोन कर मरीन ड्राइव पुलिस को सूचना देकर बुला लिया। गिरफ्तारी के डर से चोर ड्रेनज पाइप की मदद से चौथी मंजिल की खिड़की के छज्जे पर चढ़ गया। पुलिस उसे उतारने के लिए मनाती रही। पुलिस ने इसके बाद फायर ब्रिगेड को भी बुला लिया।करीब 3 घंटे तक पूरा ड्रामा चलता रहा और पुलिस चोर को मनाती रही कि वो नीचे आ जाए उसे गिरफ्तार नहीं किया जाएगा लेकिन चोर मानने को तैयार नहीं हुआ। आखिरकार एक पुलिसकर्मी रस्सी बांधकर जब छज्जे पर उतरने लगा तो डर के मारे चोर ने वन्दे मातरम बोलते हुए सीधे छलांग लगा दी। जिससे वह बुरी तरह घायल हो गया। घायल हालत में उसे जे जे अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन आज उसकी मौत हो गई

डॉलरकेमुकाबलेरुपया10पैसेलुढ़का7143केस्‍तरपरहुआबंदरेखा के बंगले के बाहर भी लगा कंटेंनमेंट जोन का बैनर, सिक्योरिटी गार्ड हुआ था कोरोना वायरस से संक्रमित******कोरोना वायरस महामारी का कहर बढ़ता जा रहा है। लाखों लोग इस वायरस की चपेट में आ चुके हैं। एक्ट्रेस रेखा का एक सिक्योरिटी गार्ड कोरोना वायरस से संक्रमित हो गया है। जिसके बाद रेखा के मुंबई वाले बंगले को बीएमसी ने सील कर दिया है। रेखा के बंगले के बाहर एक नोटिस चिपका कर इसे कोरोना कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया है।रिपोर्ट्स के मुताबिक रेखा के बंगले के बाहर हमेशा 2 गार्ड रहते हैं जिनमें से एक कोरोना पॉजिटिव निकला है। सिक्योरिटी गार्ड का इस समय मुंबई के बीकेसी अस्पताल में इलाज चल रहा है। बीएमसी ने पूरे एरिया को सैनिटाइज कर दिया है। हालांकि रेखा के प्रवक्ता की तरफ से कोई आधिकारिक बयान सामने नहीं आया है।आपको बता दें इससे पहले आमिर खान, बोनी कपूर और करण जौहर के हाउस स्टाफ भीकोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। इन सभी सेलिब्रिटीज ने सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर करके जानकारी दी थी।आमिर खान ने सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर किया-आमिर ने लिखा- हैलो। मैं आप सभी को बताना चाहता हूं कि मेरे कुछ स्टाफ कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं। उन्हें तुरंत क्वारेंटाइन किया गया है। बीएमसी ऑफिशियल्स ने तुंरत उन्हें मेडिकिल फैसिलिटी प्रदान की है। मैं बीएमसी का शुक्रिया करना चाहता हूं कि वह मेरे स्टाफ का अच्छे से ध्यान रख रहे हैं। हम सभी का टेस्ट हो चुका है और रिपोर्ट नेगेटिव आई है। अभी मैं अपनी मां को टेस्ट कराने के लिए लेकर जा रहा हूं। वह आखिरी हैं जो टेस्ट कराने से रह गई हैं। प्रार्थना कीजिए उनकी रिपोर्ट भी नेगेटिव आए। इसके बाद आमिर ने बताया था कि उनकी मां की रिपोर्ट भी नेगेटिव आई है।बोनी कपूर ने प्रेस स्टेटमेंट में बताया था कि मैं, मेरे बच्चे और घर का बाकी स्टाफ बिल्कुल ठीक हैं और हम सब में से किसी को भी लक्षण नजर नहीं आ रहे हैं। यहां तक कि लॉकडाउन के शुरू होने से लेकर अब तक हम घर से बाहर नहीं निकले हैं। हम महाराष्ट्र सरकार और बीएमसी को तुरंत रिस्पॉन्स के लिए शुक्रिया कहना चाहते हैं।' जाह्ववी कपूर ने भी सोशल मीडिया पर पिता के द्वारा शेयर किया मैसेज पोस्ट किया था।करण जौहर के दो हाउस स्टाफ भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। फिल्ममेकर ने सोशल मीडिया पर खुद इस बात की जानकारी दी है। करण जौहर ने स्टेटमेंट जारी करते हुए बताया कि उनके पूरे परिवार का भी कोरोना टेस्ट हुआ है। करण जौहर ने स्टटेमेंट जारी करते हुए लिखा है- ''मैं जानकारी देना चाहता हूं कि हमारे घर काम करने वाले 2 मेंबर कोविड 19 पॉजिटिव पाए गए हैं। जैसे ही उन्हें सिम्पटम्स दिखें, पूरी बिल्डिंग क्वारंटीन कर दी गई। बीएमसी नको तुरंत जानकारी दी गई। हमारा बाकी परिवार और स्टाफ सुरक्षित है, और हम सभी ने कोरोना टेस्ट कराया जो निगेटिव आया है लेकिन फिर भी हम सुरक्षा के एहतियात से 14 दिन के लिए आइसोलेशन में हैं। हम इस बात की गारंटी लेते हैं कि उन्हें अच्छा इलाज और केयर दिया जाएघा, जिससे वो जल्द होकर लौट आए। यह कठिन समय है लेकिन हम घर पर रहकर सही सावधानी बरतेंगे। जिससे हम सभी इस वायरस से निपट सके। सभी लोग घर पर रहिए और सुरक्षित रहिए।''डॉलरकेमुकाबलेरुपया10पैसेलुढ़का7143केस्‍तरपरहुआबंदबिटकॉइन ने दिया अमिताभ बच्‍चन को झटका, चंद दिनों में डूब गए 640 करोड़ रुपए******बॉलीवुड के शहंशाह यानि कि अमिताभ बच्‍चन कमाई के मामले में भी सिकंदर निकले। हाल के दिनों में सबसे चर्चा में रहे बिट कॉइन में पैसा लगाकर उन्‍होंने अरबों रुपए कमा लिए। रिपोर्ट के अनुसार अमिताभ ने बिटकॉइन की कीमतों में आई तेजी से 100 मिलियन डॉलर (640.3 करोड़ रुपए) कमाए थे। लेकिन कीमतों में आई गिरावट के चलते यह कमाई टिक न सकी और जितने समय में यह पैसा कमाया था वह उससे भी कम समय में डूब गया। बिटकॉइन में आ रहे उफान के बीच हर कोई इस वर्चुअल करंसी में पैसा लगाकर करोड़पति बनना चाह रहा है। इसमें पैसा लगाने वालों में सबसे बड़ा नाम जो सामने आया है वह है सुपरस्‍टार अमिताभ बच्चन का। अमिताभ ने 3-4 साल पहले बिटकॉइन में छोटा निवेश किया था। अमिताभ ने हैदराबाद की स्टैमपेड कैपिटल के शेयर्स लिए हुए हैं। यह ट्रेडिंग कंपनी खुद को रिसर्च पर आधारित वैश्विक ट्रेड हाउस बताती है, साथ ही हर नैनो सेकंड में करोड़ों रुपये का ट्रेड करती है। अपने रेग्युलेटरी कागजातों में कंपनी ने बच्चन को 'इंडिविजुअल नॉन-प्रमोटर शेयरहोल्डर' बताया है। पिछली तिमाही में अमिताभ के इस ट्रेडिंग कंपनी में 2.38 प्रतिशत शेयर्स थे। बीएसई रिकॉर्ड्स के मुताबिक, अमिताभ शेयरहोल्डर्स की लिस्ट में जून 2014 से हैं लेकिन अमाउंट बदलता रहा है।30 जून, 2014 में बच्चन के कंपनी में 3.39 प्रतिशत शेयर्स थे जिनकी कीमत 9 करोड़ रुपए के करीब थी लेकिन अब अमिताभ की हालिया होल्डिंग आधी होकर 4.7 करोड़ रुपए है। यह ट्रेडिंग कंपनी अमेरिका की एक कंपनी लॉन्गफिन कॉर्प की सब्सिडियरी है। स्टैमपेड का लॉन्गफिन में 37.14 प्रतिशत हिस्सा है, लॉन्गफिन का एक दूसरी कंपनी ने अधिग्रहण कर लिया जो बिटकॉइन बनाती है। इस तरह अमिताभ अप्रत्यक्ष रूप से इस कंपनी से जुड़े हैं। बिटकॉइन की कीमतों में भारी उतार-चढ़ाव से दो दिन में अमिताभ ने 640 करोड़ रुपये तो कमा लिए थे, लेकिन उससे भी कम समय में वह डूब गए।

डॉलर के मुकाबले रुपया 10 पैसे लुढ़का, 71.43 के स्‍तर पर हुआ बंद

डॉलरकेमुकाबलेरुपया10पैसेलुढ़का7143केस्‍तरपरहुआबंदभारतीय राजनीति में 17 साल बाद फिर ऑडियो क्लिप की कहानी****** राजस्थान की सियासत में मची हलचल के बीच एक ऑडियो क्लिप सामने आया है, जिसने 17 साल पहले छत्तीसगढ़ में सामने आए एक ऑडियो क्लिप की कहानी याद दिला दी है। छत्तीसगढ़ के तत्कालीन मुख्यमंत्री को उस ऑडियो क्लिप ने असहज स्थिति में डाल दिया था।छत्तीसगढ़ में यह ऑडियो क्लिप 2003 में लीक हुआ था। फर्क बस इतना है कि उस समय कांग्रेस के एक बड़े नेता-मुख्यमंत्री अजीत जोगी इसके मुख्य खिलाड़ी थे और राजस्थान में अब कांग्रेस पीड़ित की भूमिका में है और उसने भाजपा पर अशोक गहलोत की सरकार को गिराने की साजिश रचने का आरोप लगाया है।कांग्रेस ने गुरुवार को केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत और के खेमे के विधायक भंवरलाल शर्मा और जयपुर निवासी और भाजपा नेता संजय जैन के बीच विधायकों की खरीद-फरोख्त संबंधी बातचीत वाले तीन ऑडियो क्लिप जारी किए।छत्तीसगढ़ में जोगी के पास विधानसभा में बहुमत नहीं था, और उन्होंने बहुमत हासिल करने की कोशिश की थी। भाजपा के तत्कालीन नेता वीरेंद्र पांडे के साथ उनकी बातचीत टेप कर लिया गया था। उन्होंने कथित तौर पर प्रतिद्वंद्वी पार्टी भाजपा के विधायकों को अपने पाले में करने का प्रयास किया था। ऑडियो लीक होने के बाद सोनिया गांधी ने हस्तक्षेप किया और सुनिश्चित किया कि भाजपा विधायकों को न तोड़ा जाए। बाद में कांग्रेस ने जोगी को पार्टी से निलंबित कर दिया था।जोगी पर आरोप लगाते हुए, तत्कालीन केंद्रीय कानून मंत्री अरुण जेटली ने कहा था, "आवाजों में से एक (टेप में) जो सुनी जा सकता है, वह जोगी की हो सकती है और दूसरी भाजपा विधायक वीरेंद्र पांडे की है।" रिपोर्टों के अनुसार, जेटली ने स्पष्ट किया कि पांडे ने केवल जोगी को फंसाने के लिए यह बातचीत की थी। जोगी का प्रयास नाकाम रहने के बाद भाजपा के रमन सिंह ने राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी।कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने जयपुर में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत और अन्य के खिलाफ एक प्राथमिकी दर्ज करने और निष्पक्ष जांच की मांग की।डॉलरकेमुकाबलेरुपया10पैसेलुढ़का7143केस्‍तरपरहुआबंदUttarakhand News: चुनाव में उम्मीदवार की ओर से बांटी गई शराब, पीने से 5 लोगों की मौत****** उत्तराखंड के हरिद्वार से एक मामला सामने आया है, जहां पंचायत चुनाव के एक उम्मीदवार की ओर से बांटी गई शराब पीने से शनिवार को पांच लोगों की मौत हो गई, जबकि दो गांवों के कई अन्य लोग अस्पताल में भर्ती हैं। पुलिस ने बताया कि अस्पताल में भर्ती कुछ लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है। पुलिस ने बताया कि घटना के सिलसिले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है।पुलिस ने बताया कि पथरी थाने के एसएचओ को निलंबित कर दिया गया है। घटना से प्रभावित दोनों गांव- फूलगढ़ और शिवगढ़ इसी थाना क्षेत्र के तहत आते हैं। हालांकि, मुख्यमंत्री कार्यालय की रिपोर्ट में कहा गया है कि शुरुआती जांच में जहरीली शराब पीने को मौत की वजह नहीं बताया गया है। राज्य सरकार ने मामले की मजिस्ट्रेट जांच कराने के आदेश दिए हैं।हरिद्वार के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक योगेंद्र यादव ने कहा कि फूलगढ़ गांव में तीन लोगों- राजू, अमरपाल और भोला की जबकि शिवगढ़ गांव में दो लोगों मनोज और काका की शराब पीने के बाद मौत हुई है। उन्होंने बताया कि कुछ और लोग अस्पताल में भर्ती हैं। एसएसपी ने कहा कि शराब की गुणवत्ता की जांच की जा रही है। उन्होंने कहा कि यह पता करने का भी प्रयास किया जा रहा है कि मौत की वजह जरुरत से ज्यादा शराब पीना तो नहीं है।हरिद्वार के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने कहा कि ऐसी सूचना है कि पंचायत चुनाव के उम्मीदवार ने ग्रामीणों को शराब बांटी थी, उम्मीदवार की पहचान करने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने बताया कि घटना के संबंध में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है और पथरी थाने के एसएचओ रवींद्र सिंह को निलंबित कर दिया गया है। हरिद्वार के जिला मजिस्ट्रेट विनय शंकर पांडेय के हवाले से मुख्यमंत्री कार्यालय की रिपोर्ट में कहा गया है कि शुरुआती जांच से संकेत मिलता है कि इस मामले में अवैध शराब का सेवन मौत का कारण नहीं है। पांडेय ने कहा कि मौत के सही कारण का पता पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट और मजिस्ट्रेट की जांच रिपोर्ट आने पर चलेगा।डॉलरकेमुकाबलेरुपया10पैसेलुढ़का7143केस्‍तरपरहुआबंद'शोले' को पूरे हुए 45 साल, अमिताभ बच्चन, हेमा मालिनी ने बताई फिल्म की खासियत******ब्लॉकबस्टर फिल्म 'शोले' ने 15 अगस्त को अपने 45 साल पूरे कर लिए हैं। इस खास मौके पर फिल्म के कलाकार अमिताभ बच्चन, हेमा मालिनी और निर्देशक रमेश सिप्पी ने पीछे मुड़कर कुछ बीती बातों को याद किया। सिप्पी ने आईएएनएस को बताया, "'शोले' को जिस तरह से लिखा गया था और जिस तरह से इसके किरदारों को उकेरा गया था, उसके चलते ये आज भी लोगों के जेहन में ताजा है, चाहें वह गब्बर के संवाद हो या बसंती की बकबक। यहां तक कि सांभा जिसने फिल्म में केवल दो ही शब्द कहे थे, उसकी भी यादें आज भी लोगों के दिलों में बरकरार है।"फिल्म में जय का किरदार निभाने वाले अमिताभ ने कहा, "'शोले' में तीन ही घंटे में बड़ी ही खूबसूरती से बुराई पर अच्छाई की जीत दिखाई गई है। यह पहली बार था जब किसी भारतीय फिल्म के लिए एक डायलॉग सीडी जारी की गई थी। एक्शन वाले दृश्यों को पहली बार एक ब्रिटिश क्रू द्वारा निर्देशित किया गया था, उन्हें खासतौर पर फिल्म के लिए भारत में बुलाया गया था और इसके बाद फिल्म को ब्रिटेन में संपादित किया गया - कई सारी चीजें पहली बार हुईं। एक निर्देशक के रूप में रमेश सिप्पी जी ने इसके बनाने के दौरान कई अप्रचलित बदलाव किए जैसे कि इसका लोकेशन, एक्शन कॉर्डिनेशन, कैमरा वर्क, 70मिमी और स्केल - मेरे ख्याल से ये सबकुछ रंग लाई।"फिल्म में बसंती के किरदार को निभाने वाली दिग्गज अभिनेत्री हेमा मालिनी इस पर कहती हैं, "शूटिंग शुरू होने से पहले मुझे बताया गया था कि इसमें एक डांस सीक्वेंस है जहां मुझे एक उबड़ खाबड़ चट्टान के ऊपर कांच पर नांचना है। शूटिंग अप्रैल के महीने में हुई थी जब काफी गर्मी थी। मुझे याद है कि रमेश जी इस चीज को लेकर काफी पर्टिकुलर थे, लेकिन यह एक यादगार दृश्य बना।"यह फिल्म 1975 में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर रिलीज हुई थी।

डॉलर के मुकाबले रुपया 10 पैसे लुढ़का, 71.43 के स्‍तर पर हुआ बंद

डॉलरकेमुकाबलेरुपया10पैसेलुढ़का7143केस्‍तरपरहुआबंदHyderabad Mosque Demolition: असदुद्दीन ओवैसी के गढ़ में नगर निगम ने तोड़ी मस्जिद, प्रदर्शन शुरू******Highlightsअसदुद्दीन ओवैसी के गढ़ हैदराबाद में नगर निगम ने मंगलवार को एक मस्जिद तोड़ दी थी, जिसे लेकर अब विवाद बढ़ता जा रहा है। इसे लेकर अब वहां विरोध प्रदर्शन तेज हो गया है। हैदराबाद शहर के बाहरी इलाके शमशाबाद में नगरपालिका के अधिकारियों द्वारा एक मस्जिद को पूरी तरह तोड़ दिया गया। मस्जिद के तोड़ने के बाद विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया है। दरअसल, शमशाबाद के ग्रीन एवेन्यू कॉलोनी में मौजूद मस्जिद-ए-ख्वाजा महमूद को नगर निगम ने मंगलवार को भारी पुलिसबल की मौजूदगी में ध्वस्त कर दिया। नगर निगम का आरोप था कि यह मस्जिद गैरकानूनी तरीके से बनई गई थी।स्थानीय मुस्लिम आबादी अब इस मस्जिद के तोड़े जाने का विरोध कर रही है। AIMIM और MTB के नेता पिछले दो दिनों से इस मामले में विरोध कर रहे हैं। MTB के नेता अमजादुल्ला खान का कहना है कि मस्जिद का निर्माण तीन साल पहले शुरू किया गया था और पिछले दो सालों से जुमे की नमाज और रोज की पांच बार की नमाज यहीं अदा की जा रही थी। उन्होंने कहा कि श्मशाबाद ग्राम पंचायत की इजाजत के बाद ही 15 एकड़ भूमि पर ग्रीन एवेन्यू कॉलोनी का प्लॉट और बिक्री की गई थी, जिसमें 250 वर्ग गज के दो जमीन के टुकड़ों को मस्जिद के लिए चिह्नित किया गया था।इस पूरे मामले में नगर निगम का कहना है कि उसने मस्जिद तब गिराई जब उसे इस मामले में शिकायत मिली। नगर निगम का कहना है कि मस्जिद के पीछे जिस व्यक्ति का घर है उसने कुछ अन्य लोगों के साथ मिलकर श्मशाबाद नगर निगम में मस्जिद के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी, जांच करने पर पता चला कि मस्जिद अवैध है, इसलिए इसे गिरा दिया गया। नगर निगम के अधिकारियों का कहना है कि इस हमारा मक्सद किसी की भी भावना को आहत करना नहीं था, हमने जो भी किया वो कानून के अंतर्गत किया।हालांकि, इस पूरे मामले में अब AIMIM के स्थानीय नेता तेजी से अपना कड़ा विरोध दर्ज करा रहे हैं। वह लोग मांग कर रहे हैं कि मस्जिद का पुन: निर्माण कराया जाए और मस्जिद तोड़ने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। जिस तरह से इस मुद्दे को AIMIM के नेता उठा रहे हैं, उसे देखकर लगता है कि आने वाले दिनों में इसमें असदुद्दीन ओवैसी शामिल हो जाएंगे।डॉलरकेमुकाबलेरुपया10पैसेलुढ़का7143केस्‍तरपरहुआबंदHome Remedies for Hair Loss: कम उम्र में झड़ने लगे हैं बाल? ये घरेलू उपाय अपनाएं और पाएं लहराती जुल्फें******Highlights अधिकांश लोगों ने कभी न कभी अपने जीवन में, बालों का कुछ हद तक झड़ना अनुभव किया होगा! कम उम्र में बालों का झड़ना तो आज कल आम बात हो गयी है। वैसे तो किसी भी उम्र में बालों का झड़ना चिंता का विषय है, पर अगर आप कम उम्र के हैं तो इसका सीधा प्रभाव आपके आत्मसम्मान पर पड़ सकता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि आपकी इस चिंता को कुछ घरेलू उपाय दूर कर सकते हैं। इन उपायों को करने से बहुत जल्द आपके बाल झड़ने बंद हो सकते हैं।आज कल की व्यस्त जीवनशैली में लोग तनावग्रस्त हो रहे हैं जिसका सीधा प्रभाव उनकी त्वचा और बालों पर पड़ रहा है। इसके साथ ही बढ़ता प्रदूषण एवं अस्वस्थ जीवनशैली इस प्रभाव को दोगुना कर देती है। यहां तक कि उचित नींद न लेना एवं भोजन में लापरवाही भी आपके बाल झड़ने का कारण हो सकते हैं।यदि आप भरपूर नींद और भोजन नहीं लेते हैं तो आपके शरीर में प्रोटीन, विटामिन और मिनरल्स की कमी हो जाती है। जिनकी कमी से बालों की क्वालिटी पर असर पड़ता है और बाल टूटने लगते हैं। इसके अलावा हार्मोनल डिसबैलेंस या थायराइड, गठिया, हार्ट, कैंसर आदि की दवाओं का सेवन भी बालों के लिए हानिकारक होता है। यह समस्या जेनेटिक भी हो सकती है पर यदि आप बाल झड़ने के घरेलू उपाय अपनाकर इनकी अच्छे से देखभाल करें, तो आप इनका झड़ना रोक सकते हैं।

डॉलर के मुकाबले रुपया 10 पैसे लुढ़का, 71.43 के स्‍तर पर हुआ बंद

डॉलरकेमुकाबलेरुपया10पैसेलुढ़का7143केस्‍तरपरहुआबंदCovid cases India: देश में हर दिन पांव पसार रहा कोरोना, एक दिन में सामने आए 2,593 नए मामले, उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर हुई 15,873******Highlightsभारत में एक दिन में कोविड-19 के 2,593 नए मामले सामने आने से संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 4,30,57,545 पर पहुंच गयी जबकि उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 15,873 हो गयी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के रविवार सुबह आठ बजे तक के आंकड़ों के अनुसार, 44 और मरीजों के जान गंवाने से मृतकों की संख्या 5,22,193 पर पहुंच गयी। उपचाराधीन मरीजों की संख्या संक्रमण के कुल मामलों का 0.04 प्रतिशत है जबकि कोविड-19 से स्वस्थ होने की राष्ट्रीय दर 98.75 प्रतिशत है।आंकड़ों के अनुसार, 24 घंटों में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या में 794 की वृद्धि दर्ज की गयी है। संक्रमण की दैनिक दर 0.59 प्रतिशत दर्ज की गयी और साप्ताहिक संक्रमण दर 0.54 प्रतिशत दर्ज की गयी। इस बीमारी से उबरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 4,25,19,479 हो गयी है जबकि मृत्यु दर 1.21 प्रतिशत है। देशव्यापी कोविड-19 रोधी टीकाकरण अभियान के तहत अभी तक 187.67 करोड़ से अधिक खुराकें दी जा चुकी हैं।गौरतलब है कि देश में सात अगस्त 2020 को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त 2020 को 30 लाख और पांच सितंबर 2020 को 40 लाख से अधिक हो गई थी। संक्रमण के कुल मामले 16 सितंबर 2020 को 50 लाख, 28 सितंबर 2020 को 60 लाख, 11 अक्टूबर 2020 को 70 लाख, 29 अक्टूबर 2020 को 80 लाख और 20 नवंबर को 90 लाख के पार चले गए थे। देश में 19 दिसंबर 2020 को ये मामले एक करोड़ से अधिक हो गए थे। पिछले साल चार मई को संक्रमितों की संख्या दो करोड़ और 23 जून 2021 को तीन करोड़ के पार पहुंच गई थी।

डॉलरकेमुकाबलेरुपया10पैसेलुढ़का7143केस्‍तरपरहुआबंदAsia Cup, SL vs BAN Live Streaming: श्रीलंका और बांग्लादेश के बीच कल करो या मरो का मुकाबला, कब, कहां और कैसे देखें लाइव मैच******Highlightsएशिया कप 2022 का पांचवां मुकाबला गुरुवार (1 सितंबर) को श्रीलंका और बांग्लादेश के बीच खेला जाएगा। दोनों टीमों के लिए यह मुकाबला बेहद महत्वपूर्ण होने वाला है। क्योंकि दोनों में से जो जीतेगा वह सुपर 4 स्टेज में पहुंचेगा, जबकि हारने वाली टीम बाहर हो जाएगी। ग्रुप बी का यह मुकाबला पूरी तरह से नॉकआउट होगा। ऐसे में दोनों के बीच एक जोरदार टक्कर देखने को मिल सकती है।श्रीलंका और बांग्लादेश के बीच एशिया कप का पांचवां मुकाबला 1 सितंबर को खेला जाएगा।एशिया कप 2022 का यह मैच दुबई के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में खेला जाएगा।एशिया कप 2022 के ग्रुप बी का यह मुकाबला भारतीय समय के हिसाब से शाम साढ़े सात बजे शुरू होगा जबकि इस मुकाबले का टॉस शाम सात बजे होगा।श्रीलंका और बांग्लादेश के बीच एशिया कप के इस अहम मुकाबले को भारत में स्टार स्पोर्ट्स नेटवर्क पर देखा जा सकता है। ये मैच हिंदी अंग्रेजी के अलावा कुछ अन्य क्षेत्रीय भाषाओं में भी उपलब्ध होगा।श्रीलंका और बांग्लादेश के बीच होने वाले इस मैच की लाइव स्ट्रीमिंग डिज्नी+ हॉटस्टार पर। इसके अलावा अन्य सभी ताजा अपडेट्स और स्कोरकार्ड के लिए आपके साथ भी जुड़े रह सकते हैं।शाकिब अल हसन (कप्‍तान), अनामुल हक, मुशफ़‍िकुर रहीम, अफ़‍ि‍फ हुसैन, मोसद्देक हुसैन, महमुदउल्‍लाह रियाद, महेदी हसन, मोहम्‍मद सैफ़ुद्दीन, हसन महमूद, मुस्‍ताफ़‍िजु़र रहमान, नासुम अहमद, शब्‍बीर रहमान, महेदी हसन मिराज, इबादत हुसैन, परवेज हुसैन इमॉन, नुरुल हसन सोहन, तस्‍कीन अहमद।दसुन शनाका (कप्तान), पथुम निसंका, कुसल मेंडिस, चरिथ असलंका, भानुका राजपक्षा, एशेन बंदारा, धनंजय डिसिल्वा, वनिंदु हसरंगा, महीश तीक्ष्णा, जेफरी वैंडरसे, प्रवीण जयविक्रमा, चमिका करुणारत्ने, दिलशान मदुशंका, मथीश पथिराना, दिनेश चांदीमल, नुवानिदु फर्नान्डो, अशिथ फर्नान्डो, प्रमोद मदुशन, नुवान तुसारा।डॉलरकेमुकाबलेरुपया10पैसेलुढ़का7143केस्‍तरपरहुआबंदDrone Facilities: भारत के इस शहर में Drone की मदद से होगा इलाज, जानिए कैसे करेगा काम?******Highlightsभारत में अग्रणी बनता जा रहा है। 27 मई को दिल्ली में ने ड्रोन महोत्सव की शुरुआत भी की थी तब उन्होनें ड्रोन टेक्नोलॉजी को भारत का भविष्य बताया था। अबकी एक कंपनी ड्रोन की मदद से इलाज उपलब्ध कराने की तैयारी कर रही है।बेंगलुरु स्थित एक स्टार्टअप ने अरुणाचल प्रदेश में आदिवासी और ग्रामीण समुदायों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के लिए ड्रोन का उपयोग करने के लिए सोमवार को एक पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया। यह परियोजना स्टार्टअप रेडविंग लैब्स द्वारा अरुणाचल प्रदेश के पूर्वी कामेंग जिले के एक शहर सेप्पा में होगी, जो सड़क-आधारित लॉजिस्टिक्स की तुलना में आठ गुना तेजी से चिकित्सा आपूर्ति देने में मदद करेगी।रेडविंग लैब्स 'मेड इन इंडिया' हाइब्रिड वर्टिकल टेक-ऑफ और लैंडिंग (वीटीओएल) ड्रोन प्रदान करेगी और परियोजना के लिए एंड-टू-एंड ऑपरेशन चलाएगी। राज्य में पायलट एरियल हेल्थकेयर डिलीवरी के लिए सीमित प्रायोगिक आधार पर हेल्थकेयर ड्रोन नेटवर्क स्थापित किया जा रहा है। नेटवर्क स्थानीय स्वास्थ्य केंद्रों में निदान और आपातकालीन उपचार को सक्षम करेगा।रेडविंग लैब्स के सीईओ और सह-संस्थापक अंशुल शर्मा ने एक बयान में कहा, "हमें उम्मीद है कि यह परीक्षण बड़े पैमाने पर अपनाने के लिए सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा में ड्रोन के लिए लागत और आपूर्ति श्रृंखला व्यवहार पर मात्रात्मक डेटा अंक देगा।"भारत ने 2021 में स्वास्थ्य सेवा में ड्रोन-आधारित डिलीवरी के परीक्षण और पायलट शुरू किए। तेलंगाना, नागालैंड, मणिपुर, मेघालय, ओडिशा और उत्तराखंड सहित कई राज्यों ने पायलट और प्रायोगिक उड़ानें की हैं।आज दुनिया में ड्रोन टेक्नोलॉजी का एक्सपर्ट बनने की ओर भारत तेजी से आगे बढ़ रहा है। 8 साल पहले यही वो समय था, जब भारत में हमने सुशासन के नए मंत्रों को लागू करने की कोशिश की थी।इज आफ डुइंग बिजनेस को अपना मंत्र बनाया। हमने टेक्नोलॉजी को सभी के लिए सुलभ करने की दिशा में कदम उठाए हैं, और आगे भी उठाने वाले हैं।हमारे यहां कुछ लोग टेक्नोलॉजी का डर ​दिखाकर उसे नकारने का प्रयास करते हैं, लेकिन बदलाव के साथ खुद को बदलने से ही तरक्की संभव होती है। पहले टेक्नोलॉजी को एंटी पुअर साबित करने की कोशिश की गई। उदासीन का वातावरण रहा, व्यवस्था का स्वभाव नहीं बन पाया था। इसका नुकसान गरीब और मिडिल क्लास को हुआ है। जो आशा से भरे लोग थे, उन्हें निराशा में जीना पड़ा। आने वाले समय में हमें और भी कई तरह की टेक्नोलॉजी को अपनाने के लिए तैयार रहना होगा।

डॉलरकेमुकाबलेरुपया10पैसेलुढ़का7143केस्‍तरपरहुआबंदकोरोना संकट से कारोबारियों का भरोसा 2008 के बाद सबसे निचले स्तर पर पहुंचा: FICCI******FICCIनई दिल्ली। कोरोना संकट की वजह से भारतीय कारोबारियों का अर्थव्यवस्था पर भरोसा डगमगा गया है। उद्योग मंडल फिक्की की माने तो कोरोना संकट की वजह से 2008 के बाद कारोबारियों का कॉन्फिडेंस सबसे निचले स्तर पर आ गया है। फिक्की के ‘ कारोबारी आत्मविश्वास’ पर सर्वे के अनुसार कॉन्फिडेंस इंडेक्स गिरावट के साथ 43 अंक से नीचे आ गया है। पिछले सर्वे में ये 59 पर था। वहीं 2008 के दौरान ये सूचकांक 38 अंक से नीचे आ गया था। सर्वे में शामिल सभी कारोबारियों को मौजूदा आर्थिक स्थितियों और भविष्य को लेकर उम्मीदों के आधार पर अंक देने को कहा जाता है। सूचकांक कारोबारियों की इसी रैंकिंग पर आधारित है।भरोसे में गिरावट के बावजूद सर्वे में अनुमान दिया गया है कि सरकार के समय पर कदम उठाने से घरेलू अर्थव्यवस्था तेजी से सामान्य स्थिति में आएगी। उद्योग मंडल ने रिजर्व बैंक द्वारा नीतिगत दर में 1 प्रतिशत की और कटौती की भी मांग की है। सर्वे के अनुसार कोरोना वायरस महामारी के कारण वैश्विक आथिक संभावना खराब हुई है। भारत समेत कई देशों को महामारी को फैलने से रोकने के लिये कड़ाई से सामाजिक दूरी और ‘लॉकडाउन’ का पालन करना पड़ा है। इसके कारण आर्थिक गतिविधियां ठप हुई हैं।डॉलरकेमुकाबलेरुपया10पैसेलुढ़का7143केस्‍तरपरहुआबंदउत्तराखंड चुनाव 2022: कांग्रेस ने जारी किया घोषणापत्र, '500 रुपये के पार नहीं होंगे गैस सिलेंडर के दाम'******उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है। पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव ने दून में कांग्रेस के घोषणा पत्र 'उत्तराखंडी स्वाभिमान प्रतिज्ञा पत्र' को जारी करते हुए इसमें शामिल मुख्य बातें बताईं। पार्टी के घोषणा पत्र में रोजगार से लेकर महिलाओं तक को फोकस में रखा गया है।(इनपुट- एजेंसी)

डॉलरकेमुकाबलेरुपया10पैसेलुढ़का7143केस्‍तरपरहुआबंदAmerican President Race 2024: क्या डोनल्ड ट्रंप फिर से बनने वाले हैं अमेरिका के राष्ट्रपति, जानें क्यों अचानक हो रही इस बात की चर्चा******HighlightsAmerican President race: दुनिया का सर्वाधिक शक्तिशाली राष्ट्र कहे जाने वाले अमेरिका में एक बार फिर पूर्व राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप को लेकर चर्चा तेज हो गई है। क्या ट्रंप को दोबारा अमेरिका का राष्ट्रपति बनने का मौका मिल सकता है। क्या मौजूदा राष्ट्रपति जो बाइडन की विदाई हो जाएगी। हालांकि अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव भी अभी बहुत दूर है। फिर क्यों अचानक ट्रंप के दोबारा राष्ट्रपति बनने की संभावनाओं के स्वर प्रस्फुटित होने लगे हैं। आखिर क्या वजह है कि अमेरिका में इस बात की चर्चा जोर पकड़ रही है। जिस ट्रंप को अमेरिकी जनता ने वर्ष 2020 के राष्ट्रपति चुनाव में नकार दिया, अब ऐसा क्या हो गया कि उनको लेकर एक बार फिर से बहस छिड़ गई है। आइए आपको हम बताते हैं कि डोनल्ड ट्रंप के दोबारा राष्ट्रपति बनने को लेकर क्यों इन दिनों चर्चा हो रही है।वर्ष 2020 के इलेक्शन में रिपब्लिकन उम्मीदवार पूर्व राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप को मौजूदा राष्ट्रपति जो बाइडन के 306 के मुकाबले सिर्फ 232 इलेक्ट्रोरल वोट ही मिल सके थे। उस दौरान अमेरिकन जनता ट्रंप से बुरी तरह खफा थी। स्थिति यह थी कि ट्रंप की पार्टी के ही कई बड़े नेता उनके विरोध में हो गए थे। उनकी लोकप्रियता भी विभिन्न वजहों से लगातार घटती ही जा रही थी। लिहाजा राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार रहे जो बाइडन के सिर जीत का सेहरा बंध गया। अब वर्ष 2024 में अमेरिका में अगला राष्ट्रपति चुनाव होगा। इससे पहले रिपब्लिकन पार्टी में ट्रंप समर्थकों की संख्या बढ़ती जा रही है। रिपब्लिकन पार्टी में ज्यादातर नेताओं का मत है कि अगली बार होने वाले चुनाव में ट्रंप को दोबारा राष्ट्रपति उम्मीदवार बनने का मौका मिलना चाहिए।रिपब्लिकन पार्टी पर दिख रहा ट्रंप का बढ़ता प्रभावरिपब्लिकन पार्टी में ट्रंप के बढ़ते प्रभाव की इस बात से भी पुष्टि हो रही है कि उनके सभी प्रबल विरोधी व्योमिंग के प्राइमरी चुनाव में या तो हार गए या फिर कमजोर पड़ गए। ट्रम की मुख्य विरोधी लिज चेनी को भी हार का सामना करना पड़ गया। जबकि इसके विपरीत ट्रंप समर्थक सभी नेता चुनाव जीत गए हैं। वहीं दूसरी तरफ छह जनवरी 2021 में रिपब्लिकन पार्टी जिन 10 सांसदों ने ट्रंप पर महाअभियोग चलाए जाने का पक्ष लिया था, वह भी या तो चुनाव हार गए या फिर सेवा से मुक्त हो गए। ऐसे में अब ट्रंप विरोधियों के पस्त होने से उनके दोबारा राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार बनने की संभवानाएं जोर पकड़ रही हैं।राज्य में चुनाव अधिकारियों के पदों पर खड़े किए जा रहे ट्रंप समर्थक उम्मीदवारट्रंप के बढ़ते दबदबे की इस बात से भी पुष्टि होती है कि अमेरिका के विभिन्न राज्यों में होने वाले महत्वपूर्ण चुनाव अधिकारियों के पदों के लिए ट्रंप समर्थकों को ही उम्मीदवार बनाया गया है। शुरुआती रुझानों से पता चला है कि रिपब्लिकन वोटर ट्रंप को 2024 में अगला राष्ट्रपित उम्मीदवार बनाना चाहते हैं।ट्रंप के खिलाफ चल रही जांच से हो सकती है मुश्किलट्रंप के खिलाफ नवंबर 2020 में जार्जिया में चुनावी नतीजे बदलने के लिए आपराधिक साजिश रचने का आरोप है। इसके अलावा छह जनवरी 2021 को समर्थकों को भड़काकर अमेरिकी संसद भवन कैपिटल हिल पर हमले करवाने का भी आरोप है। वहीं दूसरी तरफ ट्रंप उल्टे डेमोक्रेटिक पार्टी पर चुनाव में धांधली का आरोप लगाते रहे हैं। हालांकि ट्रंप के सामने मुश्किल तभी पैदा होगी, जब चुनाव से पहले उन्हें दोषी करार दे दिया जाए। अन्यथा ट्रंप इसे अपने खिलाफ साजिश बताकर दोबारा चुनाव मैदान में उतर सकते हैं।वर्ष 2020 का राष्ट्रपति चुनावरिपब्लिकन उम्मीदवार डोनल्ड ट्रंप को मिले वोट 46.9 फीसद कुल इलेक्ट्रोरल वोट 232डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बाइडन को मिले वोट 51.3 फीसद कुल इलेक्ट्रोरल वोट 306डॉलरकेमुकाबलेरुपया10पैसेलुढ़का7143केस्‍तरपरहुआबंदRussia-Ukraine war: क्या रूस के सैनिकों को जहर देकर मार रहा यूक्रेन, पुतिन के आरोपों से दुनिया में सनसनी******Highlights रूस और यूक्रेन युद्ध का फिलहाल कोई अंत होता नहीं दिखाई दे रहा है। गोलियों, तोपों, मिसाइलों से आगे निकलकर अब यह युद्ध जहर के स्तर तक उतर आया है। यह बात हम नहीं कह रहे , बल्कि रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमिर पुतिन ने यूक्रेन पर लगाया है। पुतिन के अनुसार यूक्रेन रूसी सैनिकों को खतरनाक रसायन देकर मार रहा है। ऐसा रसायन जिससे आने वाली नस्लों को भी नहीं बचाया जा सकता है। क्या सचमुच अब यूक्रेन रूस से मुकाबला करने के लिए खतरनाक जहरीले रसायनों का इस्तेमाल कर रहा है।रूसी रक्षा मंत्रालय ने भी इस संबंध में दावा किया है कि जुलाई के अंत में यूक्रेन के दक्षिण-पूर्वी क्षेत्र जापोरिज्जिया के रूसी-नियंत्रित हिस्से में तैनात कुछ सैनिकों को बोटुलिनम टॉक्सिन टाइप बी नाम का जहर दिया गया था। इससे सैनिकों की हालत बहुत ज्यादा बिगड़ गई। रूस का आरोप है कि जेलेंस्की के शासन में यू्क्रेनी सेना रसायनिक आतंकवाद फैला रही है। वहीं यूक्रेन ने रूस के इन आरोपों को पूरी तरह से गलत बताया है। यूक्रेनी गृह मंत्रालय के अधिकारियों का कहना है कि रूसी सैनिकों की यह हालत डिब्बाबंद एक्सपायरी मीट खाने की वजह से हो सकती है। किसी को जहर नहीं दिया गया है।किसी भी देश से युद्ध छिड़ने पर रासायनिक जहर का इस्तेमाल अंतरराष्ट्रीय संधियों के मुताबिक नहीं किया जा सकता। यह रासायनिक आतंकवाद की श्रेणी में आता है। ऐसा करना किसी भी देश के लिए जुर्म है। अपने सैनिकों को यूक्रेनियों द्वारा जहर दिए जाने की आशंका से तिलमिलाया रूस अब रासायनिक आतंकवाद का सुबूत जुटा रहा है। दावा है कि रूसी सैनिकों को बोटुलिनम टॉक्सिन टाइप बी नाम का जहर दिया गया था। यह न्यूरोटॉक्सिक जहर है। इससे बोटुलिज्म नामक खतरनाक बीमारी हो सकती है। इस रसायन का चिकित्सीय इस्तेमाल भी हो सकता है। रूस इन सबूतों को रासायनिक हथियार निषेध संगठन को सौंपेगा।बोटुलिनम टॉक्सिन टाइप बी बहुत ही जहरीला रसायन है। यह एक्सपायर हो चुके खाद्य पदार्थों में पाया जाता है। अगर कोई व्यक्ति ऐसे खाद्य पदार्थ का सेवन करता है तो उसे बोटुलिज्म नामक दुर्लभ और जानलेवा बीमारी हो सकती है। यह रसायन शरीर की नसों पर घातक हमला करता है। यह बीमारी होने पर आंखों, चेहरे, मुंह और गले को नियंत्रित करने वाली मांसपेशियों कमजोर होन लगती हैं। इससे गर्दन, हाथ, धड़ और पैरों तक फैल सकती है। इससे सांस लेने में दिक्कत हो सकती है। मरीज की मौत भी हो सकती है। इस जहर से शरीर पैरालाइज भी हो सकता है। इस जहर के असर से नसों में खून का प्रवाह बंद हो सकता है। यह तंत्रिका तंत्र को नुकसान पहुंचा सकता है या पूरी तरह से तंत्र को नष्ट कर सकता है।यह रसायन से तैयार कच्ची सब्जियों में भी हो सकता है। इसे खाने से आंत में प्रवेश कर सकता है। इससे बेचैनी और आंत में सूजन या घाव की दिक्कत हो सकती है। यह एक्सपायर हो चुके डिब्बाबंद खाद्य पदार्थों के खाने से भी हो सकता है।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 06:35
उद्धरण 1 इमारत
इलाहाबाद हाई कोर्ट का आदेश, झांसी में फर्जी मुठभेड़ के आरोपी पुलिस कर्मियों पर दर्ज हो मुकदमा******इलाहाबाद हाई कोर्ट ने एक आदेश में झांसी के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) और गुरसहाय और मोठ थानों के थाना प्रभारियों (एसएचओ) को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है कि याचिकाकर्ता शिवांगी यादव के इस कथन के साथ कि उसके पति की एक फर्जी मुठभेड़ में नृशंस हत्या की गई है, प्राथमिकी दर्ज की जाए। उक्त आदेश पारित करते हुए हाई कोर्ट ने निर्देश दिया कि इस प्राथमिकी की प्रति सुनवाई की अगली तारीख 29 सितंबर, 2022 को अदालत के समक्ष प्रस्तुत की जाए।याचिकाकर्ता शिवांगी यादव ने हाई कोर्ट से गुहार लगाई थी कि पांच अक्टूबर, 2019 को झांसी के मोठ थाने के अंतर्गत उसके पति पुष्पेंद्र यादव की एक फर्जी मुठभेड़ में नृशंस हत्या के षड़यंत्र की जांच के लिए स्वतंत्र एसआईटी गठित की जाए। सोमवार को उक्त निर्देश पारित करते हुए न्यायमूर्ति सुनीत कुमार और न्यायमूर्ति सैयद वाइज मियां की पीठ ने कहा, "इस अदालत की ओर से 19 फरवरी, 2022 को पारित विस्तृत आदेश के संबंध में याचिकाकर्ता का यह बयान दर्ज करना न्याय हित में होगा कि उसके पति की एक फर्जी मुठभेड़ में नृशंस हत्या की गई।"याचिकाकर्ता के मुताबिक, इससे पूर्व उसने झांसी के एसएसपी को 11 अक्टूबर, 2019 को एक प्रार्थना पत्र दिया था, लेकिन प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई। याचिका में आरोप लगाया गया है कि पुष्पेंद्र की एक फर्जी मुठभेड़ में पुलिस द्वारा हत्या की गई और इस फर्जी मुठभेड़ के साक्ष्य को मिटाने और इस मुठभेड़ में शामिल पुलिस अधिकारियों को बचाने के लिए परिजनों की अनुपस्थिति में उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया।याचिकाकर्ता की ओर से यह आरोप भी लगाया गया कि मुठभेड़ और पुष्पेंद्र की मृत्यु से जुड़े दस्तावेजों को भी परिवार को नहीं दिया गया। याचिकाकर्ता ने राज्य सरकार को इस मामले की निष्पक्ष जांच के लिए एक एसआईटी गठित करने का निर्देश देने और इस मुठभेड़ की जांच केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) के सुपुर्द करने का भी अनुरोध अदालत से किया।
2022-10-01 05:25
उद्धरण 2 इमारत
Rajasthan Board RBSE 10th Result 2021: राजस्थान बोर्ड की 10वीं कक्षा का रिजल्ट जारी, ऐसे करें चेक****** राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (आरबीएसई) ने 10वीं कक्षा का रिजल्ट घोषित कर दिया है। 10 वीं कक्षा के छात्र अपना रिजल्ट बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट पर चेक कर सकते हैं। इस बार राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (आरबीएसई) की10वीं कक्षा में इस वर्ष 99.56 फीसदी छात्र-छात्राएं सफल घोषित हुए हैं।लड़कियों ने लड़कों से बेहतर प्रदर्शन किया है। लड़कियों का उत्तीर्ण प्रतिशत 99.62 प्रतिशत है, जबकि 99.56 प्रतिशत लड़कों ने कक्षा 10 की परीक्षा सफलतापूर्वक उत्तीर्ण की है।आरबीएसई 10वीं कक्षा का रिजल्ट आधिकारिक वेबसाइट rajresults.nic.in और rajeduboard.rajasthan.gov.in पर भी चेक किए जा सकता है।आधिकारिक नोटिस के अनुसार, आरबीएसई कक्षा 10वीं की परीक्षा के लिए कुल 12,14,512 छात्रों ने पंजीकरण कराया था, इनमें माध्यमिक व्यवसायिक शिक्षा में 48,843, प्रवेशिका में 8355, वरिष्ठ उपाध्याय परीक्षा के लिए 3823 स्टूडेंट्स रजिस्टर्ड हैं।राजस्थान बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन, अजमेर (RBSE) Rajasthan Board RBSE 10th Result 2021 प्रोविजनल मार्कशीट उपलब्ध कराएगा। छात्र अपने रोल नंबर या नाम के माध्यम से अपना रिजल्ट (Rajasthan Board RBSE 10th Result 2021) देख सकेंगे।राजस्थान बोर्ड 10वीं रिजल्ट 2021 को घोषित किये जाने के बाद स्टूडेंट्स अपनी मार्कशीट और सर्टिफिकेट की डिजिटल कॉपी भारत सरकार के डिजीलॉकर से डाउनलोड कर पाएंगे। इसके दो विकल्प है- वेबसाइट और डिजीलॉकर ऐप्प। छात्र डिजीलॉकर वेबसाइट, digilocker.gov.in पर विजिट करके पहले रजिस्ट्रेशन करें और फिर लॉगिन करके डाउनलोड कर सकते हैं। साथ ही, स्टूडेंट्स डिजीलॉकर ऐप्प को गूगल प्ले स्टोर या ऐप्प स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं और फिर इसमें लॉगिन करके छात्र-छात्राएं अपनी मार्कशीट और सर्टिफिकेट डाउनलोड कर पाएंगे।बता दें कि, इस साल राज्य में कक्षा 10 की परीक्षाएं कोविड-19 की दूसरी लहर के कारण रद्द कर दी गई थीं। बीते जून में बोर्ड ने कक्षा 10 के रिजल्ट के लिए क्राइटेरिया का ऐलान किया था, जिसके तहत स्टूडेंट्स का रिजल्ट तैयार किया गया है।
2022-10-01 04:37
उद्धरण 3 इमारत
'ट्यूबलाइट' Box Office Collection, Day 4: ईद पर भी नहीं जली ट्यूबलाइट****** सलमान खान की फिल्म ' ईद के मौके पर भी कुछ खास कमाल नही दिखा पाई। ऐसा माना जा रहा था कि फिल्म ईद पर धमाका कर देगी लेकिन ऐसा कूछ नहीं हुआ।कमाई बढ़नेकी बजाय उल्टा घट गई है।ट्रेड एनालिस्ट तरण आदर्श ने ट्विटर पर चौथे दिन का आंकड़ा शेयर किया है। फिल्म ने चौथे दिन यानी सोमवारको 19.09 करोड़ की कमाई की है। 4 दिन में फिल्म ने कुल 83.86 करोड़ की कमाई की है। यानी 4 दिन में फिल्म 100 करोड़ का आंकड़ा भी नहीं पार कर पाई है।फिल्म के कम बिजनेस के पीछे सबसे बड़ी वजह हैदर्शकों की नाराजगी। सलमान के फैंस उनकोएक्शन करते ही देखना चाहते हैं, सलमान का इमोशनलअवतार उनके फैंस को पसंद नहींआ रहा है।​अगर हम सलमान की पिछली फिल्मों की बात करें तो साल 2015 में आई फिल्म 'बजरंगी भाईजान' ने शुक्रवार से रविवार तक 102.60 करोड़ की कमाई की थी और 2016 में आई 'सुल्तान' ने बुधबार से रविवार तक 105.53 करोड़ की कमाई की थी। 'ट्यूबलाइट' फिल्म सिर्फ 'जय हो' को ही पीछे छोड़ पाई है, 2014 में रिलीज हुई फिल्म 'जय हो' ने अपने फर्स्ट वीकेंड में 60 करोड़ 68 लाख रुपये कमाए थे।ट्यूबलाइट को मिले खराब रिव्यू के बाद सलमान अभी से अपनी अगली फिल्म की तैयारी में लग चुके हैं। खबर है कि सलमान फिल्म की शूटिंग जल्द ही शुरू कर देंगे और इस फिल्म का टाइटल होगा 'भरत'।
वापसी