नई पोस्ट करें

लगातार पांचवें महीने एक्‍सपोर्ट में दिखा सुधार, जनवरी में निर्यात 4.32 प्रतिशत बढ़कर 22.11 अरब डॉलर रहा

2022-10-01 05:04:18 927

लगातारपांचवेंमहीनेएक्‍सपोर्टमेंदिखासुधारजनवरीमेंनिर्यात432प्रतिशतबढ़कर2211अरबडॉलररहा4G स्‍पीड के मामले में जियो 11वें महीने नंबर वन, नवंबर में रही 25.6 एमबीपीएस की स्‍पीड****** देश में 4जी डाटा की डाउनलोड स्पीड के लिहाज से का दबदबा लगातार 11वें महीने कायम रहा है। कंपनी के नेटवर्क पर डाउनलोड स्पीड नवंबर महीने में 25.6 एमबीपीएस रिकॉर्ड की गई। दूरसंचार नियामक ट्राई के ताजा आकड़ों के अनुसार नवंबर महीने में दूसरी कंपनियों के मुकाबले जियो की 4जी डाउलनोड स्पीड ढाई गुना से भी अधिक रही। इस खंड में जियो का दबदबा लगातार 11वें महीने जारी रहा है। ट्राई के आकंड़ों के अनुसार नवंबर महीने में वोडाफोन के नेटवर्क पर डाउनलोड स्पीड 10.0 एमबीपीएस व भारती एयरटेल के 4जी नेटवर्क पर 9.8 एमबीपीएस रही। इस लिहाज से आ​इडिया 7.0 एमबीपीएस स्पीड के साथ चौथे स्थान पर रही।अक्‍टूबर में जियो ने 21.8 एमबीपीएस की सर्वाधिक स्‍पीड दर्ज की थी।जहां तक 3जी नेटवर्क पर डाउनलोड स्पीड का सवाल है तो नवंबर महीने में वोडाफोन के नेटवर्क पर यह 2.7 एमबीपीएस व एयरटेल के नेटवर्क पर 2.5 एमबीपीएस रही।ट्राई अपनी माईस्‍पीड एप्‍लीकेशन की मदद से रियल-टाइम आधार पर डाटा डाउनलोड स्‍पीड के आंकड़े एकत्रित करती है और उनका तुलनात्‍मक अध्‍ययन करती है।अपलोड स्‍पीड के मामले में नवंबर में वोडाफोन आइडिया से आगे निकल गई। वोडाफोन की स्‍पीड 6.9 एमबीपीएस रही। आइडिया की स्‍पीड 6.6 एमबीपीएस दर्ज की गई। जियो की अपलोड स्‍पीड 4.9 एमबीपीएस रही। एयरटेल की अपलोड स्‍पीड 4 एमबीपीएस की रही। अक्‍टूबर में अपलोड स्‍पीड के मामले में आ‍इडिया 7.1 एमबीपीएस के साथ टॉप पर थी।

लगातारपांचवेंमहीनेएक्‍सपोर्टमेंदिखासुधारजनवरीमेंनिर्यात432प्रतिशतबढ़कर2211अरबडॉलररहाXiaomi के MiA1 स्मार्टफोन की कीमतों में भारी गिरावट, जानिए कैसे खरीद सकते हैं कम रेट पर****** स्मार्टफोन के भारतीय बाजार में हाल ही में नंबर वन बनी चीन की स्मार्टफोन कंपनी Xiaomi ने अपने लोकप्रिय फोन MiA1 की कीमतों में 3 दिन के लिए कटौती करने का ऐलान किया है। Xiaomi इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर मनु कुमार जैन की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक 7 दिसंबर से 9 दिसंबर के बीच MiA1 पर 2000 रुपए की छूट दी जाएगी।​मनु कुमार के मुताबिक अगर खरीदार MiA1 स्मार्टफोन की खरीदारी 7 से 9 दिसंबर के बीच ई-कॉमर्स वेबसाइट फ्लिपकार्ट या Xiaomi की वेबसाइट mi.com से करते हैं तो उनको 2000 रुपए का डिस्काउंट दिया जाएगा। यानि 14999 रुपए का फोन 12,999 रुपए में मिलेगा।गौरतलब है कि फ्लिपकार्ट 7 दिसंबर से 9 दिसंबर के बीच इयर एंड सेल का आयोजन कर रहा है, इस सेल में कई तरह के ऑफर दिए जा रहे हैं साथ में भारतीय स्टेट बैंक के डेबिट कार्ड के जरिए पेमेंट करने पर 10 फीसदी का अतीरिक्त डिस्काउंट भी दिया जा रहा है।लगातारपांचवेंमहीनेएक्‍सपोर्टमेंदिखासुधारजनवरीमेंनिर्यात432प्रतिशतबढ़कर2211अरबडॉलररहादलित दूल्हे के घोड़ी पर बैठने को लेकर हुआ पथराव, 28 लोगों पर मुकदमा दर्ज******गुजरात के जिले में एक दलित दूल्हे को घोड़ी पर बैठने से रोका गया तथा उसकी बारात पर पथराव किया गया। इस घटना के बाद पुलिस ने एक गांव के सरपंच समेत 28 लोगों के खिलाफ एक मामला दर्ज किया है। अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि पथराव में एक व्यक्ति घायल हो गया। पुलिस उपाधीक्षक कुशल ओझा ने कहा कि यह घटना सोमवार को जिले के पालनपुर तालुक के तहत आने वाले मोटा गांव में हुई। गढ़ पुलिस थाने में एक दिन बाद गैरकानूनी रूप से एकत्रित होने (आईपीसी की धारा 143), आपराधिक धमकी (506) और एससी/एसटी (अत्याचार रोकथाम) कानून की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।ओझा ने बताया, ‘‘जब बारात गांव से गुजर रही थी, तो कुछ अज्ञात लोगों ने दो से तीन पत्थर फेंके, जिनमें दूल्हे का एक रिश्तेदार घायल हो गया। हमने प्राथमिकी दर्ज की है और मामले की जांच एससी/एसटी शाखा के पुलिस उपाधीक्षक को सौंप दी है।’’ उन्होंने बताया कि अभी तक किसी को भी गिरफ्तार नहीं किया गया है। प्राथमिकी वीराभाई सेखालिया की शिकायत पर दर्ज की गई है, जिन्होंने अपने छोटे भाई अतुल की शादी नजदीक के एक गांव की लड़की से सात फरवरी को तय की थी।पुलिस ने शिकायत के हवाले से बताया कि जब गांव के सरपंच भारतसिंह राजपूत और मोटा के कुछ अन्य प्रतिष्ठित लोगों को पता चला कि अतुल सेखालिया शादी में घोड़ी पर बैठेगा तो उन्होंने दूल्हे के पिता को बुलाया और उनसे ऐसा करने पर अंजाम भुगतने को कहा। जब सेखालिया परिवार नहीं माना तो सरपंच ने रविवार को ग्रामीणों की एक बैठक बुलायी।सेखालिया ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि बैठक में राजपूत और 27 अन्य लोगों ने सार्वजनिक रूप से दूल्हे के परिवार को कहा कि अनुसूचित समुदाय के लोग शादी में घोड़ी पर नहीं बैठ सकते, क्योंकि ‘‘सदियों से यह परंपरा रही है।’’शिकायत के अनुसार, सेखालिया परिवार ने इसके बाद पुलिस से सुरक्षा मांगी, लेकिन जब बारात सोमवार को दूध की एक दुकान के पास पहुंची तो कुछ आरोपियों ने शादी में शामिल बारातियों के ‘साफा’ पहनने को लेकर आपत्ति जतायी। कुछ आरोपियों ने जातिवादी टिप्पणियां कीं और अज्ञात लोगों ने पथराव किया। पुलिसकर्मियों की मदद से बारात फौरन दुल्हन के गांव के लिए रवाना हो गयी और शादी होने के बाद शाम को लौट आयी।(इनपुट- एजेंसी)

लगातार पांचवें महीने एक्‍सपोर्ट में दिखा सुधार, जनवरी में निर्यात 4.32 प्रतिशत बढ़कर 22.11 अरब डॉलर रहा

लगातारपांचवेंमहीनेएक्‍सपोर्टमेंदिखासुधारजनवरीमेंनिर्यात432प्रतिशतबढ़कर2211अरबडॉलररहा4,000 पुलिसवालों की मौजूदगी में खेला जा रहा है चेन्नई-कोलकाता मैच, जानिए क्या है कारण?******कावेरी प्रबंधन बोर्ड की मांग कर रहे लोगों ने रात में (सीएसके) और (केकआर) के बीच होने वाले आईपीएल मैच के खिलाफ सड़कों पर उतरकर विरोध प्रदर्शन किया। प्रतिद्वंदी टीम को एम.ए. चिदंबरम स्टेडियम के पीछे वाले दरवाजे से अंदर ले जाया गया। परिसर सैकड़ों सुरक्षाकर्मियों की तैनाती के कारण किले में तब्दील हो गया है। एम.ए. चिदंबरम स्टेडियम को चेपॉक स्टेडियम के नाम से भी जाना जाता है। आईपीएल विरोधी कार्यकर्ताओं को शो खराब करने से रोकने के लिए स्टेडियम जाने वाली सभी सड़कों पर सुरक्षा का जाल बिछा दिया गया है। प्रदर्शनकारियों के समूह विभिन्न रास्तों से नारे लगाते हुए क्रिकेट स्टेडियम की ओर बढ़ रहे हैं।स्टेडियम के ऊपर आसमान में हेलीकॉप्टर चक्कर लगा रहा है। पुलिस ने कुछ तमिल समूहों के सदस्यों को हिरासत में लिया है। विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रदर्शनकारी सर्वोच्च न्यायालय द्वारा निर्देशित कावेरी प्रबंधन बोर्ड (सीएमबी) और कावेरी जल नियामक समिति (सीडब्ल्यूआरसी) का गठन नहीं करने के लिए मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। एसडीपीआई के सदस्यों ने मुख्य मार्ग अन्ना सलाई पर विरोध प्रदर्शन किया जिससे यातायात बाधित हुआ।इससे पहले प्रदर्शनकारियों ने अपना विरोध दर्ज कराने के लिए मैच के खिलाफ काले गुब्बारे उड़ाए। पुलिस ने क्रिकेट स्टेडियम की घेराबंदी करने का प्रयास करने वाले कुछ प्रदर्शनकारियों को भी हिरासत में लिया। तमिल फिल्म निर्माता भारतीराजा जैसी अन्य हस्तियों ने तमिलनाडु के साथ साथ कर्नाटक के लिए न्याय की मांग करते हुए सड़कों की ओर रुख किया। ये दोनों राज्य नदी जल पर विवाद को लेकर फंसे हुए हैं। पुलिस ने कहा था कि स्टेडियम में प्रवेश करने से पहले सभी दर्शकों की टटोल कर तलाशी ली जाएगी।सोमवार को अधिकारियों ने आईपीएल के लिए अभूतपूर्व सुरक्षा इंतजाम की घोषणा की थी। इसके अलावा, तमिलनाडु क्रिकेट संघ (टीएनसीए) ने दर्शकों को मोबाइल फोन, रिमोट कंट्रोल वाली गाड़ी की चाबियां, बैग, पेज, रेडियो, डिजिटल डायरी, लैपटॉप, कम्प्यूटर, टैप-रिकॉडर और दूरबीन या किसी भी प्रकार के इलेक्ट्रानिक उपकरणों को लाने से इनकार कर दिया था।लगातारपांचवेंमहीनेएक्‍सपोर्टमेंदिखासुधारजनवरीमेंनिर्यात432प्रतिशतबढ़कर2211अरबडॉलररहाएक सिम में करें इंटरनेट पैक रिचार्ज और ऐसे चलाएं 10 फोन में फास्ट 4G इंटरनेट****** अगर आपसे कहां जाएं कि एक सिम में Internetपैक डलवाएं और उसी से 10 मोबाइल फोन, लैपटॉप या टैबलेट में 4GInternetयूज करें तो शायद ही आप इस बात पर विश्‍वास नहीं करेंगे। लेकिन यह सच है। इसके लिए आपकों कुछ स्टेप फोलो करने होंगे। फिर आप एक सिम को रिचार्ज कर अपने सभी डिवाइस पर 4G इंटरनेट चला पाएंगे। हाल में Reliance Jio नेJioFi 2 OLED डिस्‍प्‍ले वाला डिवाइस लॉन्च किया है।इसके बॉक्‍स पर सिर्फ ‘जियोफाई’ लिखा हुआ है। डिवाइस का नया डिजाइन पिछले डिवाइसेज के कंप्‍यूटर माउस जैसे डिजाइन से अलग है, इसका लुक फ्लैट है और किनारे गोलाकार हैं। नए डिवाइस का डिस्‍प्‍ले वाई फाई कनेक्टिविटी, सिम कार्ड स्‍टेटस, बैटरी स्‍टेटस, ऑन/ऑफ स्‍टेटस और बहुत सारी जानकारी दिखाता है। इसके अलावा यह हाई डेफिनेशन वॉइस कॉल्स, वीडियो कॉल्स और जियो 4G वॉइस एप के जरिए मेसेजिंग की भी सुविधा देता है। यह पिछली डिवाइस से थोड़ा बड़ा है और इसमें 2,600 एमएएच की बैटरी दी गई है। इससे पहले वाले डिवाइसेज में 2,300 एमएएच की बैट्री थी। इस डिवाइस से एक साथ 10 डिवाइस कनेक्‍ट की जा सकेंगी और पूरी तरह चार्ज होने पर यह पांच घंटे का बैकअप देगी। इसके दाम 1,999 रुपए तय किए गए हैं और यह चुनिंदा शहरों में उपलब्‍ध है।4G smartphones under 5K newलगातारपांचवेंमहीनेएक्‍सपोर्टमेंदिखासुधारजनवरीमेंनिर्यात432प्रतिशतबढ़कर2211अरबडॉलररहाMindtree का Q4 मुनाफा 8.9% बढ़कर 198.4 करोड़ रुपए, 200 प्रतिशत का विशेष लाभांश देने की घोषणा******Mindtree Q4 net up 8.9 pc at Rs 198.4 crमध्यम दर्जे की आईटी कंपनी का एकीकृत शुद्ध लाभ मार्च 2019 को समाप्त तिमाही में 8.9 प्रतिशत बढ़कर 198.4 करोड़ रुपए पर पहुंच गया। इससे पहले वित्त वर्ष 2017-18 की जनवरी-मार्च तिमाही में उसका मुनाफा 182.2 करोड़ रुपए रहा था। माइडंट्री ने शेयर बाजार को बताया कि समीक्षाधीन अवधि में कंपनी की आय 25.6 प्रतिशत बढ़कर 1,839.4 करोड़ रुपए हो गई। एक साल पहले चौथी तिमाही में यह आंकड़ा 1,464 करोड़ रुपए था।कंपनी ने कहा कि उसके निदेशक मंडल ने 3 रुपए प्रति शेयर के भाव से अंतरिम लाभांश देने की घोषणा की है। साथ ही एक अरब डॉलर की आय का लक्ष्य हासिल करने और कंपनी की 20वीं वर्षगांठ पर 200 प्रतिशत (20 रुपए प्रति शेयर) का विशेष लाभांश देने की भी सिफारिश की है। निदेशक मंडल के इस फैसले पर अभी शेयरधारकों की मंजूरी ली जानी है।उल्लेखनीय है कि माइंडट्री ढांचागत क्षेत्र की प्रमुख कंपनी एलएंडटी की ओर से इकतरफा अधिग्रहण के प्रयासों का सामना कर रही है। यही वजह है कि कंपनी के निदेशक मंडल ने शेयरधारकों के लिए विशेष लाभांश और अंतरिम लाभांश की घोषणा सहित कई फैसले किए हैं।माइंडट्री के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) और प्रबंध निदेशक आर रावनन ने कहा कि माइंडट्री ने एक अरब डॉलर के कारोबार का आंकड़ा पार करते हुए चौथी तिमाही और पूरे वित्त वर्ष में असाधारण प्रदर्शन किया है। माइंडट्री का शुद्ध लाभ 2018-19 में 32.2 प्रतिशत बढ़कर 754.1 करोड़ रुपए हो गया, जबकि आय 28.5 प्रतिशत बढ़कर 7,021.5 करोड़ रुपए हो गई।क्रिसिल का इस साल जनवरी-मार्च तिमाही में एकीकृत शुद्ध लाभ 6.8 प्रतिशत घटकर 76.6 करोड़ रुपए रहा।कंपनी जनवरी से दिसंबर के वित्त वर्ष के आधार पर काम करती है।वर्ष 2018 के जनवरी से मार्च के बीच कंपनी का एकीकृत शुद्ध लाभ 82.2 करोड़ रुपए रहा था।कंपनी ने बताया कि विदेशी विनिमय में 7.8 करोड़ रुपए के नुकसान के कारण उसका एकीकृत शुद्ध लाभ प्रभावित हुआ है।इस साल की पहली तिमाही में कंपनी की एकीकृत कमाई 422.9 करोड़ रुपए रही। वर्ष 2018 के जनवरी-मार्च में यह आंकड़ा 427.6 करोड़ रुपए का था।कंपनी के निदेशक मंडल ने 31 मार्च, 2019 को समाप्त वित्त वर्ष में एक रुपए के अंकित मूल्य पर प्रति शेयर छह रुपए का अंतरिम लाभांश देने का निर्णय किया है।

लगातार पांचवें महीने एक्‍सपोर्ट में दिखा सुधार, जनवरी में निर्यात 4.32 प्रतिशत बढ़कर 22.11 अरब डॉलर रहा

लगातारपांचवेंमहीनेएक्‍सपोर्टमेंदिखासुधारजनवरीमेंनिर्यात432प्रतिशतबढ़कर2211अरबडॉलररहा2020-21 में वाहनों के रजिस्‍ट्रेशन में आई 30 प्रतिशत कमी, FADA ने बताया पिछले आठ वर्षों में सबसे कम रहा आंकड़ा******vehicle registrations in India slips 30 pc to 1,52,71,519 units in 2020-21फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (फाडा) ने सोमवार को कहा कि भारत में वाहनों का कुल पंजीकरण 2020-21 में 29.85 प्रतिशत घटकर 1,52,71,519 इकाई रह गया, जो पिछले आठ वर्षों में सबसे कम है। वित्त वर्ष 2019-20 में कुल 2,17,68,502 वाहनों का पंजीकरण हुआ था। फाडा ने एक बयान में कहा कि इस दौरान ट्रैक्टर को छोड़कर सभी श्रेणी के वाहनों के पंजीकरण में कमी आई है। इस दौरान दोपहिया वाहनों का पंजीकरण 31.51 प्रतिशत, तिपहिया वाहनों का पंजीकरण 64.12 प्रतिशत, वाणिज्यिक वाहनों का 49.05 प्रतिशत और यात्री वाहनों का पंजीकरण 13.96 प्रतिशत घटा है। ये आंकड़ा पिछले आठ वर्षों में सबसे कम है। समीक्षाधीन अवधि में यात्री वाहनों का पंजीकरण 23,86,316 इकाई रहा, जो इससे पिछले वित्त वर्ष में 27,73,514 इकाई था। हालांकि, ट्रैक्टर का पंजीकरण पिछले वित्त वर्ष में 16.11 प्रतिशत बढ़कर 6,44,779 इकाई हो गया, जो इससे पिछले वर्ष में 5,55,315 इकाई था।दो-पहिया वाहनों के रजिस्‍ट्रेशन में 31.51 प्रतिशत गिरावट आई है और 2020-21 में कुल 1,15,33,336 इकाई पंजीकृत हुईं, जबकि एक साल पहले यह आंकड़ा 1,68,38,965 इकाई था। फाडा ने कहा कि चूंकि अप्रैल 2020 में भारत में लॉकडाउन था, और इस दौरान एक भी वाहन नहीं बिका और इसलिए पिछले साल अप्रैल के मुकाबले इस साल अप्रैल के आंकड़ों की तुलना नहीं की जा सकती। लेकिन मार्च 2021 की तुलना में अप्रैल 2021 में कुल वाहन पंजीकरण में 28.15 प्रतिशत की गिरावट आई है। अप्रैल माह में 11,85,374 इकाई का पंजीकरण कराया गया, जबकि मार्च में यह आंकड़ा 16,49,678 इकाई था। फाडा के अध्‍यक्ष विंकेश गुलाटी ने कहा कि भारत इस समय कोविड-19 की दूसरी लहर के साथ अपने मुश्किल दौर से गुजर रहा है। इस बार संक्रमण केवल शहरी बाजारों को ही नहीं बल्कि ग्रामीण भारत को भी प्रभावित कर रहा है। 5 अप्रैल से राज्‍यों ने आंशिक और पूर्ण लॉकडाउन लगाया है, जिसकी वजह से अप्रैल में वाहन पंजीकरण में दोहरे अंकों में गिरावट आई है।लगातारपांचवेंमहीनेएक्‍सपोर्टमेंदिखासुधारजनवरीमेंनिर्यात432प्रतिशतबढ़कर2211अरबडॉलररहाहीरो मोटोकॉर्प और स्पाइसजेट के नतीजे जारी, जानिये कैसा रहा दूसरी तिमाही में प्रदर्शन******हीरो मोटोकॉर्प और स्पाइसजेट के नतीजे जारीनई दिल्ली। हीरो मोटोकॉर्प, स्पाइसजेट और ग्रासिम इंडस्ट्रीज ने अपने तिमाही नतीजे जारी कर दिये हैं। इसमें से सिर्फ ग्रासिम इंडस्ट्रीज ने अपने प्रॉफिट में बढ़त दर्ज की है। वहीं हीरो मोटोकॉप का लाभ घटा है। दूसरी तरफ तिमाही के दौरान स्पाइसजेट के नुकसान में बढ़त दर्ज हुई है।देश की अग्रणी दोपहिया कंपनी हीरो मोटोकॉर्प का सितंबर में समाप्त चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही का एकीकृत शुद्ध लाभ 22 प्रतिशत घटकर 747.79 करोड़ रुपये रह गया। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में कंपनी ने 963.82 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था। कंपनी ने कहा है कि वह अपना पहला ईवी उत्पाद मार्च, 2022 में पेश करने की तैयारी कर रही है। शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कंपनी ने कहा कि तिमाही के दौरान उसकी एकीकृत परिचालन आय घटकर 8,538.85 करोड़ रुपये रह गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 9,473.32 करोड़ रुपये थी। तिमाही के दौरान कंपनी ने 14.38 लाख वाहन बेचे। यह पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि के 18.22 लाख इकाइयों के आंकड़े से 21 प्रतिशत कम है।स्पाइसजेट का शुद्ध घाटा सितंबर में समाप्त चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में बढ़कर 561.7 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में एयरलाइन कंपनी को 112.6 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था। कंपनी ने शुक्रवार को बयान में कहा कि तिमाही के दौरान उसकी कुल आय बढ़कर 1,538.6 करोड़ रुपये पर पहुंच गई, जो एक साल पहले समान तिमाही में 1,292.9 करोड़ रुपये थी। तिमाही के दौरान कंपनी का कुल खर्च बढ़कर 2,100.4 करोड़ रुपये हो गया, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 1,405.6 करोड़ रुपये था। एयरलाइन को चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 729 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था।आदित्य बिड़ला समूह की कंपनी ग्रासिम इंडस्ट्रीज का चालू वित्त वर्ष की सितंबर में समाप्त दूसरी तिमाही का एकीकृत शुद्ध लाभ 27.36 प्रतिशत बढ़कर 2,032.41 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में कंपनी ने 1,595.85 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था। शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कंपनी ने कहा कि तिमाही के दौरान उसकी परिचालन आय 25.71 प्रतिशत बढ़कर 22,564.22 करोड़ रुपये पर पहुंच गई, जो एक साल पहले समान तिमाही में 17,949.53 करोड़ रुपये थी। तिमाही के दौरान कंपनी का खर्च 24.16 प्रतिशत बढ़कर 15,998.90 करोड़ रुपये से 19,863.82 करोड़ रुपये पर पहुंच गया।

लगातार पांचवें महीने एक्‍सपोर्ट में दिखा सुधार, जनवरी में निर्यात 4.32 प्रतिशत बढ़कर 22.11 अरब डॉलर रहा

लगातारपांचवेंमहीनेएक्‍सपोर्टमेंदिखासुधारजनवरीमेंनिर्यात432प्रतिशतबढ़कर2211अरबडॉलररहादिल्ली में 'आदमखोर इंसान' की अफवाह, अफ्रीकी मूल के 6 लोगों को भीड़ बचाया गया****** राजधानी के द्वारका इलाके में तंजानिया की चार महिलाओं को उनके घर के बाहर स्थित उग्र भीड़ से बचाया गया। भीड़ का आरोप है कि ये नरभक्षी हैं और बच्चों को अगवा करते हैं। दो अलग अलग मामलों में अपने घरों में बंद तंजानिया की चार महिलाओं और नाईजीरिया के दो पुरूषों को पुलिस ने समय पर कार्रवाई करके बचा लिया। पुलिस ने शुकवार को यह जानकारी दी।इन अफ्रीकी मूल की महिलाओं के बारे में अफवाह फैलाई गई थी कि वे नरभक्षी हैं और बच्चे चुरा कर ले जाती हैं। पुरूषों के बारे में भी कहा जा रहा था कि वे भी नरभक्षी है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलिस को गुरुवार शाम जानकारी मिली थी कि चार महिलाओं का स्थानीय लोगों से झगड़ा हो रहा है। पुलिस को 41 मिनट के अंतराल में पांच फोन कॉल्स आये जिनमें कहा गया कि द्वारका के काकरोला इलाके में तंजानिया की महिलाओं से झगड़ा हो रहा है।जब पुलिस वहां पहुंची तो उसने पाया कि भीड़ ने उन महिलाओं के घर को घेरा हुआ है। स्थानीय लोगों का आरोप था कि उन्होंने एक बच्चे को मार दिया है और उसके मांस का सेवन किया है। हालांकि जांच से पता चला कि आरोप गलत हैं। जब पुलिस रात में इलाके में गश्त कर रही थी तो उन्होंने पाया कि नाइजीरिया के कुछ लोग एक कमरे में बंद हैं। उन्होंने पुलिस को बताया कि वे अपने कमरे में सो रहे थे तो अचानक कुछ लोगों ने कमरा बाहर से बंद कर दिया। इनमें से एक के पास भारतीय वीजा नहीं था। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। पुलिस ने कार्रवाई करके इन लोगों को भी लोगों के गुस्से से बचाया। इन दोनों मामलों में किसी को चोट नहीं पहुंची है।असल में एक 16 साल का बच्चा घर से गायब हो गया था। बच्चे की मां ने पुलिस को फोन किया और बच्चे के किडनैप होने की बात कही। बच्चे की मां ने पुलिस को बताया कि अफ्रीकी लोगों ने उसके बेटे को किडनैप किया है। इसके बाद किसी ने बच्चे को मार कर खा जाने की अफवाह फैला दी। अफवाह फैली तो भीड़ ने अफ्रीकी मूल के लोगों पर हमला शुरू कर दिया। द्वारका के ककरोला इलाके में तंजानिया की 4 महिलाओं और नाइजीरिया के 2 लोगों पर अटैक हो गया। सबकुछ पुलिस के सामने हुआ। बाद में पुलिस की जांच में किडनैपिंग की बात ग़लत साबित हुई।

लगातारपांचवेंमहीनेएक्‍सपोर्टमेंदिखासुधारजनवरीमेंनिर्यात432प्रतिशतबढ़कर2211अरबडॉलररहासीसीईए ने बिजली वितरण कंपनियों के लिए 3.03 लाख करोड़ रुपये की योजना को मंजूरी दी******बिजली वितरण कंपनियों के लिएयोजना को मंजूरीनई दिल्ली। आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीईए) ने बुधवार को बिजली वितरण कंपनियों (डिस्कॉम) के लिए 3.03 लाख करोड़ रुपये की पांच वर्षीय सुधार पर आधारित परिणाम से जुड़ी योजना को मंजूरी दी। बिजली और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री आर के सिंह सीसीईए की बैठक के बाद पत्रकारों को बताया, ‘‘हमने बिजली वितरण सुधारों के लिए बहुत कुछ किया है। इसे मजबूत करने की जरूरत है। आज मंत्रिमंडल ने 3.03 लाख करोड़ रुपये की नई योजना को मंजूरी दी, जिसमें 97,000 करोड़ रुपये का केंद्रीय परिव्यय शामिल है।’’ उन्होंने कहा कि डिस्कॉम को उनकी व्यवस्था को मजबूत करने के लिए धन दिया जाएगा।चालू वित्त वर्ष के आम बजट में सरकार ने सुधार आधारित परिणाम से जुड़ी बिजली वितरण योजना की घोषणा की थी। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के बाद अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए प्रोत्साहन पैकेज के तहत इस योजना की घोषणा की थी। सुधारों पर आधारित परिणाम से जुड़ी बिजली वितरण योजना के तहत डिस्कॉम को बुनियादी ढांचे की स्थापना, व्यवस्था के उन्नयन, क्षमता निर्माण और प्रक्रिया में सुधार के लिए वित्तीय सहायता दी जाएगी। इस योजना के तहत प्रत्येक राज्य को उसकी जरूरत के हिसाब से मदद दी जाएगी।डिस्कॉम की वित्तीय स्थिति को सुधारने के लिये सरकार लगातार कदम उठा रही है। हाल ही में आई एक रिपोर्ट के मुताबिक बिजली वितरण कंपनियों (डिस्कॉम) पर बिजली उत्पादक कंपनियों (जेनको) का बकाया अप्रैल, 2021 में एक साल पहले की तुलना में 11.2 प्रतिशत घटकर 81,628 करोड़ रुपये रह गया है। अप्रैल, 2020 तक डिस्कॉम पर बिजली वितरण कंपनियों का बकाया 91,915 करोड़ रुपये था। डिस्कॉम पर बिजली उत्पादकों का बकाया सालाना के साथ माह-दर-माह आधार पर लगातार बढ़ा है, जो क्षेत्र में दबाव का संकेत देता है। हालांकि, मार्च, 2021 में इसमें कुछ कमी आनी शुरू हुई थी।अप्रैल में डिस्कॉम पर जेनको का बकाया मार्च की तुलना में बढ़ा है। मार्च में यह 78,841 करोड़ रुपये रहा था। मार्च में डिस्कॉम पर कुल बकाया पिछले साल के समान महीने की तुलना में 3.4 प्रतिशत घटा। पिछले साल मार्च में यह 81,687 करोड़ रुपये रहा था।यह भी पढ़ें: यह भी पढ़ें:लगातारपांचवेंमहीनेएक्‍सपोर्टमेंदिखासुधारजनवरीमेंनिर्यात432प्रतिशतबढ़कर2211अरबडॉलररहाWorld Population Day: जनसंख्या नियंत्रण कार्यक्रम को लेकर CM योगी का बड़ा बयान, जानें क्या कहा******Highlights उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को कहा कि जनसंख्या नियंत्रण कार्यक्रम सफलतापूर्वक आगे बढ़े, लेकिन जनसांख्यिकी असंतुलन की स्थिति भी न पैदा हो पाए। लखनऊ में विश्व जनसंख्या दिवस के मौके पर 'जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा' की शुरुआत करते हुए योगी ने कहा, ''जब हम परिवार नियोजन/जनसंख्या स्थिरीकरण की बात करते हैं तो हमें ध्यान में रखना होगा कि जनसंख्या नियंत्रण कार्यक्रम सफलतापूर्वक आगे बढ़े, लेकिन डेमोग्राफिक इंबैलेंस की स्थिति भी न पैदा होने पाए।'' उन्होंने कहा, ''हम सभी जानते हैं कि बीते पांच वर्षों से देशभर में जनसंख्या स्थिरीकरण को लेकर व्यापक जागरूकता कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। एक निश्चित पैमाने पर जनसंख्या समाज की उपलब्धि भी है, लेकिन यह उपलब्धि तभी है, जब समाज स्वस्थ व आरोग्यता की स्थिति को प्राप्त कर सके।'''अगर हमारे पास कुशल श्रम शक्ति है तो यह समाज के लिए एक उपलब्धि है'मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से जारी ट्वीट के मुताबिक, योगी ने कहा कि अगर हमारे पास कुशल श्रम शक्ति है तो यह समाज के लिए एक उपलब्धि है, लेकिन जहां बीमारी, अव्यवस्था, पर्याप्त संसाधनों का अभाव हो, वहां जनसंख्या विस्फोट अपने आप में एक चुनौती भी होता है। योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश आबादी के लिहाज से देश का सबसे बड़ा प्रदेश है और आशा बहनें, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताएं, ग्राम प्रधान, क्षेत्र पंचायत समिति सहित अन्य प्रतिनिधिगण व शिक्षकगण स्वास्थ्य विभाग के साथ मिलकर जनसंख्या नियंत्रण कार्यक्रम को और बेहतरीन तरीके से आगे बढ़ा सकते हैं।सामूहिक प्रयास करने की सलाहउन्होंने इस दिशा में सामूहिक प्रयास करने की सलाह भी दी। मुख्यमंत्री ने विश्व जनसंख्या दिवस के अवसर पर समस्त प्रदेश वासियों को हार्दिक बधाई दी। कार्यक्रम में उप-मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक, स्वास्थ्य राज्य मंत्री मयंकेश्वर शरण सिंह और मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र सहित कई अन्य हस्तियां मौजूद थीं।

लगातारपांचवेंमहीनेएक्‍सपोर्टमेंदिखासुधारजनवरीमेंनिर्यात432प्रतिशतबढ़कर2211अरबडॉलररहाChanakya Niti: किसी से पहली मुलाकात में भूल कर न करें ये गलती, वरना पड़ सकता है पछताना****** आचार्य चाणक्य की नीतियां आज के दौर में भी उतनी ही प्रासंगिक हैं जितनी उनके अपने दौर में थी। एक सफल व्यक्ति के लिए आचार्य चाणक्य की नीतियां बेहद जरूरी होती हैं। आज की चाणक्य नीति में जानेंगे कि आचार्य चाणक्य ने किसी नए व्यक्ति से पहली बार मुलाकात को लेकर कौन सी युक्ति सुझाई है।आचार्य चाणक्य की नीतियों के मुताबिक हमें ऐसी वाणी बोलनी चाहिए जो न सिर्फ दूसरों को सुनने में अच्छी लगें। बल्कि इससे आपकी लोकप्रियता भी बढ़े। आचार्य चाणक्य के मुताबिक जो लोग इस बात को समझ कर चलते हैं, उन्हें अपने जीवन में सफलता मिलती है।आचार्य चाणक्य बताते हैं कि यदि आप किसी ऐसे व्यक्ति से मुलाकात कर रहे हैं जो आपके बारे में कुछ भी नहीं जानता हो तो उसके सामने अपनी कमजोरी का प्रदर्शन न करें। जब किसी ऐसे इंसान से किसी की मुलाकात होती है जो प्रभावशाली या शक्तिशाली है तो लोग उसके प्रभाव में खुद खो जाते हैं। लेकिन चाणक्य कहते हैं कि ऐसे लोगों से मिलते समय अपने आप को भी उतनी ही प्रभावशाली दिखाना जरूरी होता है।अगर आप किसी नए व्यक्ति से मिलते हैं और उससे आपकी दोस्ती हो जाती है तब भी अपने सीक्रेट शेयर करने से पहले जरूर सोच लें। चाणक्य कहते हैं कि किसी भी इंसान से नजदीकियां बढ़ने के बाद इंसान अपनी सारी बातें सामने वाले को बताने लगता है जबकि कुछ बातों को हमेशा गुप्त रखना चाहिए। इसलिए मुंह खोलने से पहले सौ बार सोच लेना चाहिए कि किससे क्या कहना ठीक रहेगा और क्या नहीं।लगातारपांचवेंमहीनेएक्‍सपोर्टमेंदिखासुधारजनवरीमेंनिर्यात432प्रतिशतबढ़कर2211अरबडॉलररहाIPL 2022, KKR vs PBKS Highlights: केकेआर ने 6 विकेट से पंजाब किंग्स को रौंदा, आंद्रे रसल ने खेली तूफानी पारी******Highlightsइंडियन प्रीमियर लीग 2022 का 8वां मैच कोलकाता नाइट राइडर्स और पंजाब किंग्स के बीच मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेला गया। केकेआर ने यह मैच 6 विकेट से जीता और आंद्रे रसल ने 31 गेंदों पर नाबाद 70 रनों की आतिशी पारी खेली। ऑरेंज कैप भी अब उनके नाम हो गई है। पहले खेलते हुए पंजाब की पूरी टीम 18.2 ओवर में 137 पर ऑल आउट हो गई थी। जवाब में केकेआर ने महज 14.3 ओवर में लक्ष्य हासिल कर लिया।गेंदबाजी में केकेआर के लिए उमेश यादव ने 4 ओवर में 1 मेडन 23 रन देकर 4 विकेट लिए। इसी के साथ 8 विकेट लेकर अभी तक वह पर्पल कैप होल्डर भी हो गए हैं। पंजाब का इस सीजन का यह दूसरा मैच था और उन्हें इस सीजन की पहली हार मिली है। इस जीत के साथ केकेआर के 3 मैचों में 4 अंक हो गए हैं और वह तालिका में टॉप पर भी पहुंच गई है।इस मुकाबले में केकेआर की बल्लेबाजी भी डगमगा गई थी और 51 रन पर टीम के चार विकेट गिर गए थे। इसके बाद आंद्रे रसल आए और उन्होंने सैम बिलिंग्स (25 नाबाद) के साथ पांचवें विकेट के लिए नाबाद 90 रनों की साझेदारी की। रसल ने इस पारी में दो चौके और आठ छक्के लगाए।

लगातारपांचवेंमहीनेएक्‍सपोर्टमेंदिखासुधारजनवरीमेंनिर्यात432प्रतिशतबढ़कर2211अरबडॉलररहासोने में बीते हफ्ते 50 रुपए की मामूली तेजी, चांदी कीमतों में 900 रुपए की जोरदार गिरावट****** मजबूत वैश्विक संकेतों और ज्वैलर्स की खरीदारी के कारण बीते सप्ताह दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना 50 रुपए की उछाल के साथ 29,300 रुपए प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ। हालांकि, इंडस्ट्रीयल और सिक्का बनाने वालों की डिमांड घटने से चांदी 900 रुपए की गिरावट के साथ 42,000 रुपए के स्तर से नीचे 41,750 रुपए प्रति किलो पर आ गई। रामनवमी के उपलक्ष्य में मंगलवार को बाजार बंद रहे।सर्राफा व्यापारियों ने कहा कि अमेरिका द्वारा सीरिया पर मिसाइल के हमले के बाद राजनीतिक चिंता बढ़ने से सोने की कीमतों को सहारा मिल रहा है। वहीं सुरक्षित निवेश के लिए सोने की मांग बढ़ने से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कीमतें पांच माह के उच्चतम स्तर को छू गई। इस परिस्थिति में यहां सोने की कीमतों में तेजी आई। दूसरी ओर बाजार आगामी शादी विवाह के सीजन की मांग को पूरा करने के लिए घरेलू हाजिर बाजार में स्थानीय ज्वैलर्स की लिवाली बढ़ने के कारण भी तेजी को समर्थन प्राप्त हुआ।वैश्विक स्तर पर न्यूयॉर्क में सोना सप्ताहांत में तेजी दर्शाता 1,253.80 डॉलर प्रति औंस पर बंद हुआ। राष्ट्रीय राजधानी में 99.9 और 99.5 प्रतिशत शुद्धता वाले सोने की कीमत मजबूत शुरुआत हुई। मजबूत वैश्विक संकेतों के कारण यह 29,400 रुपए और 29,250 रुपए प्रति 10 ग्राम क ऊंचाई को छू गई। बाद में इसे प्रतिरोध का सामना करना पड़ा और 29,275 रुपए और 29,125 रुपए प्रति 10 ग्राम तक लुढ़क गया। अंत में सोना 50 रुपए की मामूली तेजी के साथ क्रमश: 29,300 रुपए और 29,150 रुपए प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ। पूरे सप्ताह छिटपुट सौदों के कारण गिन्नी के भाव भी सीमित दायरे में घट बढ़ के बाद 24,400 रुपए प्रति आठ ग्राम के पिछले सप्ताहांत के बंदस्तर पर ही बंद हुए।उतार चढ़ाव भरे कारोबार में चांदी तैयार की कीमत 900 रुपए की गिरावट के साथ सप्ताहांत में 41,750 रुपए प्रति किग्रा पर बंद हुई। चांदी साप्ताहिक डिलीवरी की कीमत 950 रुपए की गिरावट के साथ 41,380 रुपए प्रति किग्रा पर बंद हुई। दूसरी ओर चांदी सिक्कों के भाव लिवाल 71,000 रुपए और बिकवाल 72,000 रुपए प्रति सैंकड़ा पर अपरिवर्तित बंद हुए।लगातारपांचवेंमहीनेएक्‍सपोर्टमेंदिखासुधारजनवरीमेंनिर्यात432प्रतिशतबढ़कर2211अरबडॉलररहामुंबई से चलने को तैयार 145 ट्रेनें लेकिन डिब्बे खाली, मजदूरों को स्टेशन तक लाने में नाकाम सरकार: रेल मंत्री******प्रवासी मजदूरों को लेकर रेलवे और महाराष्ट्र सरकार के बीच तनातनी अपने चरम पर है। रेल मंत्री ने आज आरोप लगाया है कि महाराष्ट्र सरकार मजदूरों को स्टेशन तक लाने में नाकाम रही है। ट्रेनें मजदूरों के इंतजार में खाली खड़ी हैं, मजदूर मुंबई के विभिन्न इलाकों में तैयार खड़े हैं, लेकिन राज्य सरकार मजदूरों की लिस्ट बनाकर उन्हें स्टेशन तक ला नहीं पा रही है। रेल मंत्री ने ट्वीट कर बताया कि आज मुंबई से 145 ट्रेनें देश के ​विभिन्न राज्यों के लिए रवाना होनी हैं। दोपहर 3 बजे तक 50 ट्रेनों का रवाना होना था लेकिन मजदूरों की कमी के चलते अभी तक सिर्फ 13 ट्रेनें रवाना हो सकी हैं।इससे पहले महाराष्ट्र सरकार ने आरोप लगाया था कि रेलवे से राज्य सरकार ने 80 ट्रेनें मांगी थीं लेकिन रेलवे 30 ट्रेनें ही उपलब्ध करा पाया। इस बीच आज सुबह मुंबई के धारावी में 4 से 6 हजार मजदूर सुबह से जुटे हुए हैं। लेकिन बदइंतजामी के कारण वे अभी तक सीएसटी स्टेशन तक नहीं पहुंच सके हैं। पीयूष गोयल ने ट्वीट कर महाराष्ट्र सरकार से गुजारिश की है कि वे मजदूरों को स्टेशन तक पहुंचाने में पूरा सहयोग करें। यात्रियों को स्टेशन समय पर पहुंचाएं। जिससे समय पर ट्रेनों का संचालन हो सके।रेलवे ने बताया कि श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के संचालन के लिए लगातार प्रयास हो रहे हैं। लेकिन राज्य सरकार की ओर से इसमें योगदान नहीं मिल पा रहा है। रेलवे ने आज 145 ट्रेनों का प्रबंध किया है। महाराष्ट्र को आज राज्यवार लिस्ट प्रदान कर दी गई थी। लेकिन दोपर 12 बजे तक 25 ट्रेनों को रवाना होना था। लेकिन पैसेंजर न मिलने के कारण कोई भी ट्रेन रवाना नहीं हुई है। मुंबई सीएसटी से पहली ट्रेन ही 12.30 बजे रवाना हो पाई है।रेलवे द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार आज जो 145 ट्रेनें रवाना होनी हैं उसमें सबसे ज्यादा 68 ट्रेनें उत्तर प्रदेश के लिए रवाना होंगी। इसके अलावा बिहार के लिए 27, पश्चिम बंगाल के लिए 41, ओडिशा और तमिलनाडु के लिए 2, छत्तीसगढ़, राजस्थान, झारखंड, उत्तराखंड और केरल के लिए 1—1 ट्रेनें रवाना होंगी।रेलवे ने बताया कि सोमवार को महाराष्ट्र सरकार के लिए रेलवे ने 125 ट्रेनों की पेशकश की थी। लेकिन राज्य सरकार 41 ट्रेनों की जानकारी ही दे सकी। इनमें से सिर्फ 39 ट्रेनें ही रवाना की जा सकी हैं। 2 ट्रेनों का यात्री न मिलने के कारण कैंसिल करना पड़ा है।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 05:16
उद्धरण 1 इमारत
ठेकेदार की आत्महत्या से कर्नाटक में सियासी तूफान, मंत्री ईश्वरप्पा की गिरफ्तारी की मांग हुई तेज******Highlightsकांग्रेस ने कर्नाटक के ग्रामीण विकास मंत्री के. एस. ईश्वरप्पा पर सरकारी ठेके में 40 पर्सेंट का कमीशन लेने का आरोप लगाने वाले एक ठेकेदार के कथित आत्महत्या के मामले को लेकर बुधवार को कहा कि ‘हत्या और भ्रष्टाचार के आरोप में’ मंत्री की गिरफ्तारी न्याय के लिए जरूरी है। पार्टी महासचिव और कर्नाटक प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया, ‘हत्या और भ्रष्टाचार के आरोप में मंत्री ईश्वरप्पा की गिरफ्तारी ही बीजेपी कार्यकर्ता को न्याय दिलाने का एकमात्र रास्ता है। प्रधानमंत्री चुप क्यों हैं? मुख्यमंत्री चुप क्यों हैं? बीजेपी अध्यक्ष चुप क्यों हैं?’सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि बीजेपी की चुप्पी इस का संकेत है कि सत्ता में शीर्ष पर बैठे लोगों की भ्रष्टाचार में संलिप्तता है। ठेकेदार संतोष के पाटिल ने आरोप लगाया था कि ईश्वरप्पा ने बेलगावी जिले के हिंदाल्गा गांव में निकाय कार्य कराने के लिए जारी निधि में से 40 प्रतिशत कमीशन की मांग की थी। मंगलवार को एक लॉज में पाटिल का शव पाया गया था। उडुपी पुलिस ने ईश्वरप्पा और उनके सहयोगियों बसवराज रमेश तथा अन्य के विरुद्ध आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया है। मंत्री ने आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोपों का खंडन किया है।बीजेपी के महासचिव और कर्नाटक प्रभारी अरुण सिंह ने ईश्वरप्पा का इस्तीफा मांगने को लेकर बुधवार को कांग्रेस पर पलटवार करते हुए राजस्थान में हो रहे ‘अत्याचार और बलात्कार’ का हवाला दिया। सिंह ने बेलगावी जिले के चिक्कोड़ी में कहा, ‘यह बेहद दुखद घटना है। मैं इस पर अपना दुख व्यक्त करता हूं। मुख्यमंत्री इस पूरे मामले की जांच करवा रहे हैं। इसके पीछे कौन सा कोण है? इसके पीछे कौन है? किसने उसे आत्महत्या के लिए उकसाया? इस पर जांच के बाद शीघ्र ही निर्णय लिया जाएगा।’कांग्रेस पार्टी ने ईश्वरप्पा की गिरफ्तारी और सरकार से बर्खास्तगी की मांग की है। मंत्री की बर्खास्तगी को लेकर सरकार पर दबाव बनाने के बारे में पूछे गए सवाल पर सिंह ने कहा कि विपक्षी दल को देखना चाहिए कि उसके द्वारा शासित राजस्थान में दलितों पर किस प्रकार के अत्याचार किये जा रहे हैं। सिंह ने दावा किया, ‘जयपुर में एक एम्बुलेंस में एक महिला का रेप किया गया, करौली और धौलपुर में महिलाओं पर अत्याचार किया जा रहा है और उनकी हत्या की जा रही है। प्रियंका गांधी सवाई माधोपुर में थीं जब एक महिला की हत्या हो गई लेकिन वह घटनास्थल पर नहीं गई।’सीएम बसवराज बोम्मई ने कहा, ‘एक FIR दर्ज की गई है। मैं अब उनसे (ईश्वरप्पा) बात करने जा रहा हूं और उनसे जानकारी एकत्र करूंगा। कुछ चीजों को लेकर उनसे फोन पर बात करूंगा और आमने-सामने की बातचीत के लिए उन्हें तलब करूंगा। जांच पूरी होने पर सच्चाई सामने आ जाएगी। इस मामले में पृष्ठभूमि बहुत महत्वपूर्ण है।’ उन्होंने जोर दिया कि मामले में कोई हस्तक्षेप नहीं होगा और जांच कानून के अनुसार होगी। उन्होंने कहा, ‘हमारे राष्ट्रीय नेता इस पूरे मामले से अवगत हैं। यहां तक कि मैंने भी उन्हें सूचित कर दिया है।'वहीं, निकाय ठेकेदार संतोष के. पाटिल के परिजनों ने कहा है कि वह उसका शव तब तक नहीं लेंगे जब तक कि इस मामले में आरोपी गिरफ्तार नहीं हो जाते। उडुपी पुलिस ने पाटिल की मौत के मामले में आवश्यक कार्रवाई बुधवार को पूरी कर ली। हालांकि, पाटिल के भाई प्रशांत समेत उसके परिवार ने कहा है कि जब तक प्राथमिकी में नामजद 3 आरोपी गिरफ्तार नहीं हो जाते तब तक वे पाटिल का शव नहीं लेंगे। उडुपी पुलिस द्वारा दर्ज प्राथमिकी में आत्महत्या के लिए उकसाने के लिए ईश्वरप्पा को प्रथम आरोपी बनाया गया है।लॉज का दौरा करने के बाद प्रशांत ने मंगलवार रात को एक शिकायत दर्ज कराई थी तथा ईश्वरप्पा और उनके स्टाफ के कर्मचारियों रमेश तथा बसवराज को आरोपी बनाया था। प्रशांत ने कहा कि शव का पोस्टमॉर्टम होने से पहले आरोपियों को गिरफ्तार किया जाना चाहिए। उन्होंने उडुपी में कहा, ‘हम शव को मनिपाल ट्रांसफर नहीं होने देंगे। हमने पहले ही मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई को अपने रुख से अवगत करा दिया है। हम न्याय के लिए लड़ रहे हैं और संतोष की आत्मा की शांति के लिए यह फैसला लिया है।’बता दें कि के बेलगावी जिले के एक ठेकेदार तथा बीजेपी कार्यकर्ता संतोष पाटिल ने आरोप लगाया था कि मंत्री ईश्वरप्पा ने एक काम के लिए अपने सहायकों के मार्फत उससे 40 प्रतिशत कमीशन की मांग की थी। मंगलवार को उडुपी स्थित एक लॉज में पाटिल ने कथित तौर पर जहर का सेवन कर आत्महत्या कर ली थी। उसने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और केंद्रीय पंचायत राज मंत्री गिरिराज सिंह को पत्र लिख कर ईश्वरप्पा पर अपने द्वारा किए गए काम के लिए 40 प्रतिशत कमीशन मांगने का आरोप लगाया था।
2022-10-01 04:28
उद्धरण 2 इमारत
उत्तर प्रदेश में कोविड वैक्सीनेशन 11 करोड़ पार, बना एक और रिकॉर्ड******कोरोना वैक्सीन के मामले में दूसरे राज्यों पीछे करते हुए उत्तर प्रदेश ने आपने नाम एक और रिकॉर्ड कायम किया है। महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल कई राज्यों से आगे चलकर यूपी ने 11 करोड़ से अधिक लोगों को वैक्सीन की डोज दी है। यह आंकड़ा पार करने वाला यूपी देश का एकमात्र राज्य है। राज्य सरकार से मिली जानकारी के अनुसार 3 अगस्त को 5 करोड़ डोज पूरा करने के बाद अगले 63 दिनों में 6 करोड़ और वैक्सीन डोज दी गई। जबकि वैक्सीनेशन कार्यक्रम की शुरूआत में पहले एक करोड़ वैक्सीन लगाने में करीब 100 दिन लगे थे। की देशव्यापी स्थिति को देखें तो यूपी पहले पायदान पर बना हुआ है। दूसरे स्थान पर 8.40 करोड़ डोज लगाकर महाराष्ट्र है, जबकि मध्य प्रदेश, गुजरात और पश्चिम बंगाल, क्रमश: तीसरे, चौथे और पांचवें स्थान पर हैं। उत्तर प्रदेश में वैक्सीनेशन की ताजा स्थिति के अनुसार 18 वर्ष से अधिक उम्र के 15 करोड़ 4 लाख लोगों को वैक्सीन लगाया जाना है।खबर लिखे जाने तक इसमें से 60 फीसदी से अधिक (8 करोड़ 82 लाख से अधिक) लोगों ने वैक्सीन की पहली डोज ले ली है, जबकि 2 करोड़ 21 लाख से अधिक लोगों को दोनों डोज लग चुकी है। राज्य सरकार के अनुसार यूपी में विगत 24 घंटे में हुई 1 लाख 36 हजार 516 सैम्पल की टेस्टिंग में 67 जिलों में संक्रमण का एक भी नया केस नहीं पाया गया।लखनऊ में 08, झांसी में 02 नए संक्रमित मिले, जबकि प्रयागराज, अंबेडकर नगर, जौनपुर, फरूर्खाबाद, बाराबंकी और मैनपुरी में एक-एक व्यक्ति के कोविड पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई। इसी अवधि में 17 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए। वर्तमान में प्रदेश में एक्टिव कोविड केस की संख्या 158 रह गई है। अब तक 16 लाख 86 हजार 821 प्रदेशवासी कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर स्वस्थ हो चुके हैं।ताजा स्थिति के मुताबिक अमेठी, अमरोहा, बागपत, बलिया, बलरामपुर, भदोही, एटा, फतेहपुर, गाजीपुर, गोंडा, हमीरपुर, हापुड़, हरदोई, हाथरस, जालौन, कानपुर देहात, कानपुर नगर, कासगंज, कुशीनगर, लखीमपुर-खीरी, ललितपुर, महोबा, मऊ, मुरादाबाद, मुजफ्फरनगर, रामपुर, संतकबीरनगर, श्रावस्ती, सीतापुर, वाराणसी और उन्नाव जिलों में कोविड का एक भी मरीज शेष नहीं है। यह जनपद आज कोविड संक्रमण से मुक्त हैं।
2022-10-01 04:19
उद्धरण 3 इमारत
बंगाल:130 दिन बाद परिवार को सौंपा गया पीड़ित का शव, चुनाव के बाद हुई हिंसा में हुई थी मौत****** अदालत के निर्देश पर गुरुवार कोकोलकाता पुलिस ने 130 दिनों के बाद दिवंगत भाजपा कार्यकर्ता अभिजीत सरकार का शव उनके परिवार और पार्टी के नेताओं को सौंप दिया। 2 मई को विधानसभा चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद पश्चिम बंगाल में हुई चुनाव के बाद हुई हिंसा में कथित रूप से सरकार की मौत हो गई थी।सरकार के शव को जांच के उद्देश्य से यहां एनआरएस मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में सुरक्षित रखा गया है। कोर्ट के निर्देश के बाद उसे उसके परिवार को सौंप दिया गया। अदालत ने पहले शरीर पर डीएनए परीक्षण का आदेश दिया था, क्योंकि सरकार का परिवार इसकी पहचान नहीं कर सका था।परिवार ने लगातार आरोप लगाया था कि कोलकाता पुलिस मामले की ठीक से जांच नहीं कर रही है और हत्या के लिए जिम्मेदार 'तृणमूल गुंडों' को गिरफ्तार नहीं कर रही है, जो न केवल बेखौफ घूम रहे हैं, बल्कि परिवार के सदस्यों को धमकी भी दे रहे हैं। पीड़िता के बड़े भाई बिस्वजीत सरकार ने सुप्रीम कोर्ट और कलकत्ता हाईकोर्ट में सरकार की मौत की जांच के लिए याचिकाएं दायर की हैं।सरकार की कथित तौर पर एक टेलीविजन केबल से गला घोंटकर हत्या कर दी गई थी। वह एकमात्र भाजपा कार्यकर्ता थे जिनकी राज्य की राजधानी में चुनाव के बाद हुई हिंसा में मौत हो गई थी।19 अगस्त को, राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की एक रिपोर्ट के आधार पर कलकत्ता उच्च न्यायालय ने राज्य में चुनाव के बाद की हिंसा के दौरान दुष्कर्म और हत्या के मामलों की सीबीआई जांच का आदेश दिया था।केंद्रीय एजेंसी द्वारा परिवार के सदस्यों से बात करने के बाद सरकार ने शव शरीर को छोड़ने का अनुरोध किया, जिस पर अदालत ने अनुमति दी थी।एनआरएस मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में दोपहर में कोहराम मच गया, जब बिस्वजीत सरकार भाजपा नेताओं के साथ शव को कब्जे में लेने वहां पहुंचे।सांसद अर्जुन सिंह, सजल घोष और अन्य सहित भाजपा नेताओं ने पुलिस के असहयोग के कारण शव को परिवार को सौंपने में अनावश्यक देरी की शिकायत की।भाजपा नेता देवदत्त माजी वहां मौजूद पुलिस अधिकारियों के साथ जुबानी जंग में लगे दिखे। माजी ने कथित तौर पर एक होमगार्ड को थप्पड़ मार दिया जब कोलकाता पुलिस के जवान मुर्दाघर में प्रवेश बिंदु का प्रबंधन कर रहे थे, जहां शव रखा गया था।माजी ने कहा, "पुलिस ने हमें रोकने की कोशिश की तो कुछ धक्का-मुक्की हुई। मैंने जानबूझकर किसी को नहीं मारा। अगर आरोप लगाए गए, तो मैं अदालत में उनका मुकाबला करूंगा।"माजी का बचाव करते हुए, बंगाल भाजपा प्रमुख दिलीप घोष ने कहा, "अगर उन्होंने होमगार्ड को थप्पड़ मारा, तो उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया। मैं किसी को इतना अमानवीय नहीं मान सकता। वे अभी भी हमारे लोगों को परेशान और अपमान कर रहे हैं।"इसके बाद पार्थिव शरीर को मध्य कोलकाता में राज्य भाजपा मुख्यालय ले जाया गया। बाद में इसे सरकार के घर ले जाया गया। दोपहर में दाह संस्कार हुआ।
वापसी