नई पोस्ट करें

Pakistan को लगा एक और झटका, बाढ़ के चलते विकास दर पर पड़ेगा बड़ा असर

2022-10-01 05:49:20 831

कोलगाएकऔरझटकाबाढ़केचलतेविकासदरपरपड़ेगाबड़ाअसरkoffee with Karan 7: कॉफ़ी विद करण में आमिर खान ने अपनी एक्स वाइफ किरण राव को लेकर किया चौंकाने वाला खुलासा******Highlights करण जौहर का चैट शो कॉफी विद करण 7 इन दिनों खूब चर्चा में बना हुआ है। इस शो को लेकर रोज कोई न कोई खबर सामने आ रही है। करण इस शो के दौरान स्टार्स से मजेदार सवाल पूछते हुए नजर आ रहे है, जो फैंस को काफी पसंद आ रहे है। हाल ही में अन्यया पांडे और विजय देवरकोंडा भी करण के शो में पहुंचे थे, जो काफी चर्चा में रहे। इसी बीच शो का नया प्रोमो वीडियो सामने आया है। जिसमें करीना कपूर और आमिर खान नजर आ रहे है। शो में आमिर अपनी फॅमिली के बारे में बता करते नज़र आ रहे हैं।करण जौहर के शो में आमिर खान ने अपनी फॅमिली और एक्स वाइफ किरण राव के बारे में बातचीत की। आमिर ने पिछले साल ही अपनी पत्नी किरण राव से तलाक लिया। उसी बारे में बात करते हुए आमिर ने कहा कि हमारे रिश्ते में बहुत ही मान -सम्म्मान है। हमारे दिल में एक- दूसरे के लिए कोई कठोर भावना नहीं है। हम हमेशा एक परिवार रहेंगे। उन्होंने आगे कहा कि हम कितने ही बिज़ी क्यों न हों, हम हफ्ते में एक बार ज़रूर मिलते हैं।तो वहीँ करण जौहर ने इस शो में करीना कपूर से पूछा कि 'बच्चों के बाद अच्छी सेक्स लाइफ एक मिथ है या रिएलिटी?' ऐसे में करीना कपूर कहती हैं कि 'तुम्हें नहीं पता?' करण उनका मजा लेते हुए रिप्लाई देते हैं कि 'मेरी मां शो देख रही हैं और तुम मेरी सेक्स लाइफ के बारे में ऐसा बोल रही हो'। आमिर खान फिर करण को कहते हैं कि 'ये कैसे सवाल पूछ रहा है?'

कोलगाएकऔरझटकाबाढ़केचलतेविकासदरपरपड़ेगाबड़ाअसरICC Test Ranking में ऋषभ पंत ने लगाई लंबी छलांग, टॉप 10 में पहुंचे इतने भारतीय खिलाड़ी******इंग्लैंड को टेस्ट सीरीज में 3-1 से मात देने में भारत के लिए अहम भूमिका निभाने वाले विकेट कीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने ताजा आईसीसी रैंकिंग में 7 पायदान की लंबी छलांग लगाकर टॉस 10 खिलाड़ियों की सूची में अपनी जगह बना ली है। चार मैच की इस टेस्ट सीरीज में 54 की औसत से 270 रन बनाने वाले पंत अब 7वें स्थान पर पहुंच गए हैं और यह उनकी करियर बेस्ट रैंकिंग है। पंत के अलावा सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा को भी एक पायदान का फायदा हुआ है और वह भी पंत के साथ 7वें स्थान पर है। टॉप 10 में तीसरे भारतीय बल्लेबाज विराट कोहली है जो 814 अंकों के साथ 5वें स्थान पर मौजूद हैं।वहीं बात गेंदबाजी रैंकिंग की करें तो इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में सबसे अधिक 32 विकेट लेने वाले आर अश्विन एक पायदान की छलांग लगाकर दूसरे स्थान पर पहुंच गए हैं। अश्विन से ऊपर सिर्फ ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज पैट कमिंस है जिनके नाम 908 अंक है। वहीं इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन को दो पायदान का फायदा हुआ है वह अब चौथे स्थान पर है।वहीं ऑलाउंडर की रैंकिंग में बेन स्टोक्स और आर अश्विन को एक-एक स्थान का फायदा हुआ है। दोनों खिलाड़ी क्रमश: दूसरे और चौथे स्थान पर पहुंच गए हैं।वहीं इस सीरीज में अपने बल्ले से धमाल मचाने वाले वॉशिंगटन सुंदर को 39 पायदान का फायदा हुआ है और वह 62वें स्थान पर पहुंच गए हैं। बल्लेबाजों की रैंकिंग में रहाणे को एक और पुजारा को तीन पायदान का नुकसान हुआ है। वह क्रमश: 14वें और 13वें स्थान पर है।बता दें, इंग्लैंड को चार टेस्ट मैच की सीरीज में 3-1 से मात देने के बाद टीम इंडिया ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में जगह बनाने के साथ-साथ आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में भी टॉप किया था।भारत अब टेस्ट में पहले स्थान पर है जबकि वनडे और टी20 में दूसरे स्थान पर है।भारत को इंग्लैंड के खिलाफ अब अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में 12 मार्च से 5 मैच की टी20 सीरीज खेलनी है। इस सीरीज को जीतकर भारत आईसीसी टी20 रैंकिंग में टॉप पर पहुंचना चाहेगा।कोलगाएकऔरझटकाबाढ़केचलतेविकासदरपरपड़ेगाबड़ाअसरJammu Kashmir Tunnel Accident: जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर निर्माणाधीन सुरंग में हादसा, 10 लोग फंसे, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी******Highlightsजम्मू-श्रीनगर हाईवे बनिहाल के नजदीक खूनी नाला बन रहे निर्माणाधीन टनल में गुरुवार रातएक हादसा हुआ है। इस हादसे के कारण टनल में फंसे 3 लोगों को बचाया गया है। हालांकि 8 लोग अभी भी फंसे हुए हैं। ऑपरेशन अभी जारी है। जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर रामबन जिले के खूनी नाला मगरकोट के पास सुरंग निर्माण का काम शुरू होते ही गुरुवार की देर रात पहाड़ दरककर नीचे आ जाने से कम से कम आठ मजदूरों के दबे होने की आशंका है।टनल निर्माण के दौरान खुदाई के काम में लगी मशीनरी भी दब गई है। बचाव कार्य शुरू कर दिया गया है। कई टीमें मौके पर डटी हैं। मलबा नीचे आने के साथ ही हाईवे पर वाहनों को रोक दिया गया है। इससे सैकड़ों छोटे-बड़े वाहन रास्ते में फंस गए हैं।बताते हैं कि खूनी नाला के पास सुरंग के एक ट्यूब का निर्माण पूरा हो गया है। जम्मू से श्रीनगर की ओर जाने के लिए दूसरे ट्यूब का निर्माण करने के लिए कार्यदायी एजेंसी ने गुरुवार की रात लगभग साढ़े 11 बजे जैसे ही मशीनरी को पहाड़ की खुदाई के लिए लगाया, वैसे ही पहाड़ का एक बड़ा हिस्सा नीचे आ गया। इससे काम में लगी पोकलैन मशीन, क्रेन तथा डंपर चपेट में आ गए। कंपनी के छह से आठ मजदूर भी मलबे में दब गए। मौके पर मौजूद दो गार्डों ने भागकर अपनी जान बचाई।जानकारी मिलते ही प्रशासन के आला अधिकारी टीम के साथ मौके पर पहुंच गए। एंबुलेंस को भी मौके पर बुलाकर तैयार रखा गया है ताकि मलबे में दबे मजदूरों के बाहर निकालते ही उन्हें अस्पताल पहुंचाया जा सके। अधिकारियों ने बताया कि मलबे को हटाने का काम जारी है। अतिरिक्त मशीनरी भी लगाई गई है ताकि जल्द से जल्द मलबे को हटाया जा सके। एसडीआरएफ को भी बुलाया गया है।जयदेव रॉय (23 वर्ष), गौतम रॉय (22 वर्ष), सुधीर रॉय (31 वर्ष), दीपक रॉय (33 वर्ष), परिमल रॉय (38 वर्ष) सभी निवासी पश्चिम बंगाल। शिव चौहान (26 वर्ष) निवासी असम, नवराज चौधरी (26 वर्ष) निवासी नेपाल, कुशीराम (25 वर्ष) निवासी नेपाल। मुजफ्फर (38 वर्ष)और इसरत 30 वर्ष दोनों निवासी जम्मू कश्मीर।विष्णु गोला, 33 वर्ष निवासी झारखंडअमीन, 26 वर्ष निवासी जम्मू कश्मीर

Pakistan को लगा एक और झटका, बाढ़ के चलते विकास दर पर पड़ेगा बड़ा असर

कोलगाएकऔरझटकाबाढ़केचलतेविकासदरपरपड़ेगाबड़ाअसरवरिष्ठ नागरिकों के लिए 8 प्रतिशत सालाना रिटर्न देने वाली पेंशन योजना को सरकार ने दी मंजूरी****** केंद्रीय मंत्रिमंडल ने वरिष्ठ नागरिकों के लिए एक पेंशन योजना को मंगलवार को मंजूरी दे दी। इसके अंतर्गत बीमा कंपनी भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) गारंटी के साथ दस साल के लिए 8 प्रतिशत रिटर्न उपलब्ध कराएगी। यह कदम सरकार की सामाजिक सुरक्षा व वित्तीय समावेशन कार्यक्रम के तहत उठाया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में यह मंजूरी दी गई।इस सरकारी स्कीम में हर महीने 2000 रुपए जमा कर बन सकते हैं करोड़पति, पेंशन भी मिलेगी, अकाउंट खोलने का यह है तरीकाकेंद्रीय मंत्रिमंडल ने वरिष्ठ पेंशन बीमा योजना 2017 शुरू करने को पूर्वव्यापी तौर पर मंजूरी दे दी।Gold Newजितनी देर, उतना बुरा: कंपनियों के AGM आयोजित करने के समय से आप ऐसे लगा सकते हैं उसकी हालत का अंदाजाकोलगाएकऔरझटकाबाढ़केचलतेविकासदरपरपड़ेगाबड़ाअसरपंजाब नेशनल बैंक के 2018-19 के फंसे कर्ज में 2,617 करोड़ रुपए का अंतर: आरबीआई रिपोर्ट******rbi report on pnb npa रिजर्व बैंक की जांच में पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के बीते वित्त वर्ष के फंसे कर्ज (गैर निष्पादित परिसंपत्ति) 2,617 करोड़ रुपए ज्यादा पायी गयी है। आरबीआई की जोखिम आकलन रिपोर्ट में यह जानकारी दी है। पंजाब नेशनल बैंक ने शेयर बाजार को बताया कि केंद्रीय बैंक की ओर से किए आकलन के अनुसार, 2018-19 में पीएनबी का सकल एनपीए 81,089.70 करोड़ रुपए था। यह द्वारा दिखाए गए 78,472.70 करोड़ रुपए के सकल एनपीए से 2,617 करोड़ रुपए अधिक है। यही नहीं, आरबीआई ने शुद्ध एनपीए में भी 2,617 करोड़ रुपए का अंतर पाया है। वहीं, फंसे कर्ज के लिए प्रावधान में 2,091 करोड़ रुपए का अंतर निकला है।बैंक ने कहा कि के आकलन के आधार पर उसे 2018-19 में 11,335.90 का शुद्ध घाटा हुआ होता जबकि बैंक ने 9,975.49 करोड़ रुपए का शुद्ध घाटा दिखाया था।पीएनबी ने कहा उसने पिछले वित्त वर्ष में 78,472.70 करोड़ रुपए का सकल दिखाया जबकि आरबीआई के आकलन के मुताबिक यह आंकड़ा 81,089.70 करोड़ रुपए था। इसी प्रकार, पीएनबी ने बीते वित्त वर्ष में शुद्ध एनपीए 30,037.66 करोड़ रुपए बताया। आरबीआई के मूल्यांकन के हिसाब से शुद्ध एनपीए 32,654.66 करोड़ रुपए था। बैंक ने 2018-19 में फंसे कर्ज के लिए 48151.15 करोड़ रुपए का प्रावधान किया था लेकिन इसके लिए 50,242.15 करोड़ रुपए का प्रावधान किये जाने की जरुरत थी।कोलगाएकऔरझटकाबाढ़केचलतेविकासदरपरपड़ेगाबड़ाअसरASHES 2021-22: माइकल वॉन ने कहा- बल्लेबाजी ने रूट को बतौर कप्तान निराश किया******Highlightsइंग्लैंड क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने बुधवार को कहा है कि मौजूदा एशेज सीरीज के पहले दो टेस्ट में बल्लेबाजी के प्रदर्शन ने कप्तान जो रूट को काफी निराश किया है। उन्होंने आगे कहा कि टीम अच्छा प्रदर्शन करने के लिए संघर्ष कर रही है। ब्रिस्बेन और एडिलेड में पहले दो टेस्ट में पहले नौ विकेट और फिर 275 रन से हारने के बाद इंग्लैंड पर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बॉक्सिंग डे टेस्ट से पहले एशेज हारने का खतरा मंडरा रहा है।वॉन ने टेलीग्राफ में लिखा, "एशेज सीरीज में बल्लेबाजों ने कप्तान जो रूट को निराश किया है। वह हर टेस्ट मैच में बदलाव कर रहे हैं क्योंकि वह नहीं जानते हैं कि कौन सा बल्लेबाज बेहतर प्रदर्शन करेगा। मैं इसे देखकर कह सकता हूं कि एक अच्छी टेस्ट टीम बनने के लिए खिलाड़ियों का प्रदर्शन करना जरूरी है।"वॉन ने आगे उल्लेख किया कि ऑस्ट्रेलिया के शानदार प्रदर्शन ने इंग्लैंड को टीम के बारे में सोचने पर मजबूर किया है। वॉन ने पहले और दूसरे टेस्ट में इंग्लैंड टीम के चयन को खराब बताया है।उन्होंने कहा, "ब्रिस्बेन और एडिलेड टेस्ट के लिए चयन खराब था, दूसरे टेस्ट में जब उन्हें पता था कि यहां स्पिनर्स को मदद मिलने वाली है तो उन्होंने स्पिनर का चयन नहीं किया। वहीं ब्रिस्बेन में स्टुअर्ट ब्रॉड को मौका देना चाहिए था। जहां पिच से तेज गेंदबाजों को मदद मिल रही थी।"47 वर्षीय पूर्व क्रिकेटर ने यह भी कहा है कि मानसिकता के अलावा खराब बल्लेबाजी ने इंग्लैंड के कप्तान को दोनों टेस्ट में निराश किया है।

Pakistan को लगा एक और झटका, बाढ़ के चलते विकास दर पर पड़ेगा बड़ा असर

कोलगाएकऔरझटकाबाढ़केचलतेविकासदरपरपड़ेगाबड़ाअसरArvind Kejriwal: "दहलीज तक मिलेंगी RTO की सेवाएं," केजरीवाल ने ऑटोरिक्शा चालकों से किया बड़ा वादा******Highlights दिल्ली के मुख्यमंत्री और AAP के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को गुजरात के अहमदाबाद शहर में ऑटोरिक्शा चालकों की एक सभा को संबोधित किया। उन्होंने ऑटोरिक्शा चालकों से वादा किया कि वह उन्हें उत्पीड़न से बचाने तथा करप्शन को रोकने के लिए उनकी दहलीज तक RTO की सेवाएं उपलब्ध कराएंगे। इस दौरान केजरीवाल ने कहा कि ऑटोरिक्शा चालकों ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में उनकी जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। उन्होंने चालकों से अनुरोध किया कि वे दिल्ली की तरह यहां भी अपने यात्रियों के बीच और सोशल मीडिया के माध्यम से 'आप' का प्रचार-प्रसार करें। उन्होंने कहा कि दिल्ली में उनकी सरकार ने कोविड-19 के कारण लागू लॉकडाउन के दौरान लगभग 1.5 लाख चालकों को दो बार पांच-पांच हजार रुपये का भुगतान किया।केजरीवाल ने कहा, ‘‘दिल्ली में आपको लाइसेंस के नवीनीकरण, स्वामित्व परिवर्तन और परमिट या आरसी से लोन हटवाने जैसे कार्यों के लिए RTO जाने की आवश्यकता नहीं है। हमने एक फोन नंबर दिया है। कॉल करें और दिल्ली सरकार का एक अधिकारी आपके दरवाजे पर खुद पहुंचेगा। आप अपने लाइसेंस का नवीनीकरण उसी तरह करवा पाएंगे जैसे आप फोन पर पिज्जा ऑर्डर करते हैं।’’ केजरीवाल ने कहा कि इससे रिश्वतखोरी रुकेगी। उन्होंने कहा कि पुलिसकर्मियों, सरकारी अधिकारियों को रिश्वत के तौर पर दिया जाने वाला पैसा बच जाएगा। उन्होंने कहा, ‘‘आपको कोई रिश्वत देने की जरूरत नहीं होगी। लेकिन इसके लिए आपको ‘आप’ की सरकार बनानी होगी।’’कार्यक्रम में मौजूद कुछ ऑटोरिक्शा चालकों ने दावा किया कि उन्हें भारतीय दंड संहिता(IPC) की धारा 188 (लोक सेवक द्वारा विधिवत लागू आदेश की अवज्ञा) के तहत पुलिस द्वारा परेशान किया गया था। केजरीवाल ने कहा दिल्ली में भी उत्पीड़न के लिए इस (धारा) 188 का इस्तेमाल किया गया था, लेकिन उनकी सरकार ने लोगों को धारा-188 से मुक्त कर किया और गुजरात में भी ऐसा ही करेंगे। AAP नेता ने कहा कि पार्टी अपने वादे के अनुरूप 300 यूनिट तक मुफ्त बिजली मुहैया कराएगी जिससे ऑटोरिक्शा चालकों को पैसे बचाने और महंगाई से निपटने में मदद करेगी।कोलगाएकऔरझटकाबाढ़केचलतेविकासदरपरपड़ेगाबड़ाअसरTumbbad Trailer: आनंद एल रॉय की डरावनी फिल्म 'तुम्बाड' का रहस्यमयी ट्रेलर रिलीज, देखकर रोंगटे खड़े हो जाएंगे******आनंद एल रॉय की मोस्ट अवेटेड फिल्म ‘’ का ट्रेलर आज रिलीज कर दिया गया है। ट्रेलर रोंगटे खड़े करने वाला है। ट्रेलर में तुम्बाड नामक रहस्यमय जगह और उसके इर्दगिर्द घूमती पहेली की एक झलक दर्शकों के सामने पेश की गई है।भूतिया दृश्य और इंटेंस हॉरर थ्रिलर सेट-अप के साथ, तुम्बाड में एक ऐसे खजाने के लिए जंग लड़ी जाएगी जो एक आत्मा यानी रूह के कब्जे में है। फ़िल्म के इस दिलचस्प ट्रेलर में पौराणिक कथाओं से रूबरू करवाया गया है जो इस डरावनी फिल्म का सबसे महत्त्वपूर्ण हिस्सा है।तुम्बाड के मुख्य अभिनेता सोहम शाह अपने किरदार का सार पकड़ते हुए, फ़िल्म में महाराष्ट्र के कोंकनास्थ ब्रह्मन्स द्वारा पहने गए ठेठ पोशाक में दिखाई देंगे। अभिनेता ने अपने ट्विटर अकाउंट पर ट्रेलर शेयरकिया है।मध्ययुगीन काल से महाराष्ट्र के अंदरूनी हिस्सों को दिखाते हुए, "तुम्बाड" के टीज़र ने पौराणिक और डरावनी कहानी के एक दिलचस्प मिश्रण के साथ दर्शकों के रोंगटे खड़े कर दिए थे।कल्पना, एक्शन, भय और डर की झलक के साथ आनंद एल राय की तुम्बाड एक रोमांचकारी रोलर कॉस्टर सवारी की तरह होगी जो दर्शकों का मनोरंजन करते हुए मनुष्य के लालची व्यक्तित्व पर सवाल उठाते हुए नज़र आएगी।कलर येलो प्रोडक्शंस और लिटिल टाउन फिल्म्स प्रोडक्शन के सहयोग के साथ, "तुम्बाड" इरोज इंटरनेशनल और आनंद एल राय की प्रस्तुति है। 'फिल्म आई वेस्ट' और 'फिल्मगेट फिल्म्स' द्वारा सह-निर्मित तुम्बाड 12 अक्टूबर 2018 को रिलीज होने के लिए तैयार है।

Pakistan को लगा एक और झटका, बाढ़ के चलते विकास दर पर पड़ेगा बड़ा असर

कोलगाएकऔरझटकाबाढ़केचलतेविकासदरपरपड़ेगाबड़ाअसरघर बैठे अपने हार्ट पर रखें नजर, Agatsa कंपनी ने SanketLife नाम से लाॅन्च किया पोर्टेबल ECG डिवाइस******Highlightsलाइफस्टाइल के साथ गंभीर बीमारियों का खतरा तेजी से बढ़ा है। कई खबर हाल के दिनों में आईं हैं जिसमें हार्ट अटैक और कार्डियक अटैक से असमायिक मृत्यु हो गई है। इस खतरनाक बीमारी के शिकार कम उम्र के लोग भी हुए है। ऐसे में आपका हार्टकैसा है इसका हाल जानना जरूरी हो गया है। बदलते दौर के साथ नए चुनौतियों को सामना करने के लिए मेडिकल जगत भी नई-नई डिवाइस इजाद कर रहा है। Agatsaकंपनी ने SanketLife नाम से पोर्टेबल ईसीजी मशीन लेकर आई है। खास बात यह कि इस मशीन से घर बैठे ही सेकेंड में ईसीजी रिजल्ट प्राप्त कर सकते हैं। मशीन को स्मार्ट फोन से कनेक्ट करके ईसीजी रिपोर्ट को कहीं भी भेजा जा सकता है। जरूरत हो तो फोटो का प्रिंट भी निकाला सकता है। इस पोर्टेबल ईसीजी मशीन के विभिन्न पहलुओं पर हम पूरी जानकारी दे रहे हैं।विशेषज्ञों कहना है कि दिल की बीमारी से पीड़ित मरीजों के लिए यह डिवाइस बहुत कारगर है। दिल की धड़कन व सीने में दर्द आदि लक्षण लगने पर अस्पताल जाने के बजाए तुरंत डिवाइस से ईसीजी करें। इस रिपोर्ट को डॉक्टर को भेजकर जरूरी उपचार ले सकते हैं। इससे मरीज को आने-जाने की दिक्कत नहीं होगी। बल्कि उसे त्वरित इलाज मिलने में मदद मिलेगी।SanketLife 99.7 फीसदी तक सटीक रिजल्ट देता है।इसे क्लिनिक और पर्सनल दोनों ही तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है।अच्छी बात ये है कि इसके लिए आपको इंटरनेट की जरूरत नहीं होगी। इसे यूज करने के लिए सबसे पहले SanketLife ऐप को मोबाइल पर डाउनलोड करना होगा। इसके बाद डिवाइस को स्मार्टफोन से कनेक्ट करना होगा। यूजर्स को अब दिए गए प्वाइंट पर अपना अगूंठा लगाना होगा। इसके बाद यूजर्स टेस्ट करके रिपोर्ट जनरेट कर सकते हैं। प्रॉसेस को आसान बनाने के लिए कंपनी ने लीड्स दिया है। इससे किए गए टेस्ट की रिपोर्ट 99.7 फीसदी तक सही है। इसके लिए यूजर्स पर कोई हिडन ऐप चार्ज नहीं देना है। अब पोर्टेबल ईसीजी डिवाइस से घर बैठे दिल की धड़कन पर 24 घण्टे नजर रखी जा सकती है।

कोलगाएकऔरझटकाबाढ़केचलतेविकासदरपरपड़ेगाबड़ाअसरUP Election 2022: योगी के पास है इतनी संपत्ति, रिवाल्वर और राइफल के भी हैं मालिक******Highlightsगोरखपुर (उत्तर प्रदेश): उत्तर प्रदेश के गोरखपुर शहर विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी के तौर पर शुक्रवार को नामांकन दाखिल करने वाले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने हलफनामे में घोषणा की है कि उनके खिलाफ एक भी आपराधिक मुकदमा लंबित नहीं है। पहली बार विधानसभा का चुनाव लड़ने जा रहे 49 वर्षीय योगी ने खुद को अपने गुरु महंत अवैद्यनाथ का पुत्र बताया है। योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को गोरखपुर शहर से नामांकन दाखिल कर दिया। नामांकन के दौरान फाइल किए गए एफिडेविट में उन्होंने अपनी संपत्ति का ब्योरा भी दिया है। ने अपने नामांकन पत्र के साथ दाखिल हलफनामें में अपने पास 1 करोड़ 54 लाख 94 हजार 54 रुपए की संपत्ति मौजूद होने की जानकारी दी है और यह उनकी चल संपत्ति है। हलफनामे के अचल संपत्ति वाले कॉलम में उन्होंने 'लागू नहीं' लिखा है। योगी ने देनदारियों वाले कॉलम में 'लागू नहीं' का उल्लेख किया है। मुख्यमंत्री ने हलफनामे में बताया है कि उनके पास 20 ग्राम वजन के कुंडल हैं जिनकी कीमत खरीद के समय 49000 रुपये थी।इसके अलावा उनके पास 10 ग्राम की रुद्राक्ष माला है जो सोने की जंजीर में बनी हुई है। इसकी कीमत खरीद के समय 20000 रुपये थी। इसके अलावा उनके पास 12000 रुपये का एक मोबाइल फोन है। योगी ने यह भी घोषित किया है कि उनके पास एक लाख रुपये का रिवाल्वर और 80 हजार रुपये की राइफल भी है। शैक्षणिक योग्यता वाले कॉलम में योगी ने खुद को स्नातक बताया है। हलफनामें के मुताबिक, योगी ने वर्ष 1992 में पौड़ी गढ़वाल स्थित बहुगुणा विश्वविद्यालय श्रीनगर से बीएससी की डिग्री हासिल की है। योगी के पास कोई वाहन नहीं है। उनके पास डाकघर संसद मार्ग, नई दिल्ली के खाते में 35,24,708 रुपए हैं जबकि 2.33 लाख रुपए का बीमा है।इससे पहले 2017 में जब योगी आदित्यनाथ ने विधान परिषद का चुनाव लड़ा था, तब उन्होंने अपनी संपत्ति 95.98 लाख रुपये बताई थी। 5 साल में उनकी संपत्ति करीब 60 लाख रुपए बढ़ गई है। सीएम योगी के दिल्ली, लखनऊ और गोरखपुर की 6 जगहों पर अलग-अलग बैंकों में 11 अकाउंट्स हैं। इन अकाउंट्स में 1 करोड़ 13 लाख 75 हजार रुपए से ज्यादा जमा हैं।योगी आदित्यनाथ पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ने जा रहे हैं। 5 जून 1972 को जन्मे योगी आदित्यनाथ ने अपना पहला चुनाव 26 साल की उम्र में लड़ा था। योगी ने 1998 में पहली बार गोरखपुर से लोकसभा चुनाव लड़ा और जीता। इसके बाद 1999, 2004, 2009 और 2014 में लगातार 5 बार सांसद चुनकर आए। 2017 में योगी आदित्यनाथ यूपी के मुख्यमंत्री बने, उसके बाद उन्होंने सांसद पद से इस्तीफा दिया। इसके बाद वो विधान परिषद के सदस्य चुने गए।कोलगाएकऔरझटकाबाढ़केचलतेविकासदरपरपड़ेगाबड़ाअसरRanji Trophy 2022 Final Day 4 Highlights: दिन का खेल खत्म, मुंबई MP से 49 रन पीछे******- 374/10 (सरफराज खान- 134, गौरव यादव- 106/4)- 536/10(यश दुबे- 133, शुभम शर्मा- 116, रजत पाटीदार- 122, शम्स मुलानी- 173/5)

कोलगाएकऔरझटकाबाढ़केचलतेविकासदरपरपड़ेगाबड़ाअसरCorona in China: राशन खत्म, स्वास्थ्य सेवाओं का अकाल... चीन के फाइनेंशियल हब शंघाई में कोरोना का तांडव******Highlights चीन में शुक्रवार को कोरोना के 3,400 से अधिक मामले सामने आए। इसके अलावा 20,700 ऐसे मामलों का भी पता चला जिन मरीजों में कोविड के कोई लक्षण नजर नहीं आए। संक्रमण के अधिकतर मामले शंघाई में आए जहां, पिछले दो सप्ताह से महामारी के फैलाव को काबू में लाने के लिए बेहद सख्त लॉकडाउन जारी है। इस कराण अब वहां के लोगों में खाना और स्वास्थ्य सेवाओं के लिए त्राहिमाम मचा हुआ है। चीन में गुरुवार को संक्रमण के 3,472 मामलों का पता चला। ये मामले स्थानीय तौर पर संक्रमण के हैं। इसके अलावा 20,782 मामले ऐसे सामने आए जिनमें मरीजों में कोई लक्षण नजर नहीं आ रहे।चीन के नागरिक स्वास्थ्य आयोग ने शुक्रवार को बताया कि चीन के आर्थिक केंद्र शंघाई में गुरुवार को स्थानीय स्तर पर फैले कोविड-19 के 3,200 मामलों की और बिना लक्षण वाले 19,872 मामलों की पुष्टि की गई। शहर में पहले ही कोरोना वायरस संक्रमण की जांच के लिए कई दौर के परीक्षण किये जा चुके हैं। साथ ही संक्रमितों के इलाज के लिए अस्थायी अस्पताल बनाये जा चुके हैं। राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने बताया कि बीते चौबीस घंटे में कोरोना संक्रमितों के 28,778 करीबी लोगों को क्वारंटीन से मुक्त किया गया।गौरतलब है कि चीन के वुहान से 2019 में कोरोना वायरस संक्रमण का पहला मामला सामने आया था। बाद में कोरोना वायरस के संक्रमण ने वैश्विक महामारी का रूप ले लिया था। अब एक बार फिर यह उसी क्षेत्र में इतनी तेजी से बढ़ रहा है, जब बाकी दुनिया ने वायरस को लगभग नियंत्रित कर लिया है। शंघाई में स्थिति इतनी खराब होने लगी है कि आधिकारिक चीनी मीडिया ने भी जनता के असंतोष को उजागर करना शुरू कर दिया है। चीन के ग्लोबल टाइम्स में शुक्रवार को छपी रिपोर्ट के मुताबिक, शंघाई शहर कोरोना वायरस संक्रमण के ओमीक्रोन स्वरूप के खिलाफ अपने सबसे कठिन समय से गुजर रहा है। वहां के लोगों के बीच संदेह, चिंता और थकान बढ़ती ही जा रही है। कोई भी हृदय विदारक कहानी जनता के रोष को जगा सकती है।रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि इंटरनेट पर जनआक्रोश की सुनामी आ गई है। शंघाई में लाखों लोग भोजन की कमी, अपने पड़ोसियों को आइसोलेशन तक पहुंचाने में देरी और रोजमर्रा की परेशानियों से जूझ रहे हैं। गौरतलब है कि महामारी से शंघाई में सबसे अधिक बुजुर्ग आबादी प्रभावित है। शंघाई चीन के उन शहरों में से एक हैं जहां बुजुर्गों की आबादी सबसे ज्यादा है।अनिश्चितकालीन लॉकडाउन के दौरान इस समूह पर ज्यादा प्रभाव इसलिए भी आया क्योंकि अधिकतर लोग उम्र संबंधी पुरानी बीमारियों से भी ग्रसित हैं। चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने गुरुवार को अपने हैनान प्रांत के दौरे में कहा, ‘‘यह देखते हुए कि वैश्विक कोविड-19 महामारी की स्थिति अभी भी गंभीर है, हमें अपनी प्रतिक्रिया में कभी भी ढील नहीं देनी चाहिए। जीत दृढ़ता से आती है। ’’कोलगाएकऔरझटकाबाढ़केचलतेविकासदरपरपड़ेगाबड़ाअसरWorld Arthritis Day 2021: अर्थराइटिस के मरीज क्या खाएं और क्या न खाएं, देखें पूरी डाइट******घुटनों के सूजन होना, त्वचा परलाल दाने होना, जोड़ो में दर्द, अकड़न जैसे लक्षण अर्थराइटिस के होते है। गठिया की समस्या से बुजुर्ग ही नहीं बल्कि कम उम्र के लोग भी तेजी से शिकार हो रहे हैं। कई बार यह दर्द इतना ज्यादा बढ़ जाता है कि चलना-फिरना तक मुश्किल हो जाता है। खराब लाइफस्टाइल के अलावा आपके खानपान का भी बुरा असर शरीर पर पड़ता है।स्वामी रामदेव के अनुसार गठिया की समस्या से निजात पाने के लिए जरूरी है कि आप अपने खानपान का विशेष ध्यान रखें। अगर आपने जल्द ही अर्थराइटिस से निजात नहीं पाई तो आगे चलकर ये बड़ारूप ले सकतीहै। वर्ल्ड अर्थराइटिस डे के मौके पर जानिए गठिया के मरीजों को किन चीजों का सेवन करना चाहिए और किन चीजों का नहीं।गठिया के मरीजों के लिए काफी फायदेमंद है। सर्दी के मौसम में बथुआ आसानी से मिल जाता है। आप इसे पराठा, सब्जी के अलावा जूस के रूप में सेवन कर सकते हैं। 3गठिया के मरीजों के लिए सहजन काफी फायदेमंद हो सकता है। सहजन की पत्तियों का काढ़ा बनाकर पीने से गठिया में फायदा हो सकता है। इससे जोड़ों के दर्द से राहत मिलती है। इसके अलावा आप सहजन की सब्जी भी खा सकते हैं।जोड़ों के दर्द के लिए पालक काफी फायदेमंद होता है। इसमें ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो गठिया के रोग को कम करने में मदद करता है।हल्दी में करक्यूमिन के साथ एंटी-इंफ्लेमेंट्री गुण पाए जाते हैं जो जोड़ों के दर्द के साथ-साथ सूजन को कम करने में मदद करते हैं।लहसुन में ऐसे गुण पाए जाते हैं जो हड्डियों को मजबूत बनाने के साथ-साथ अर्थराइटिस की समस्या से निजात दिला सकते हैं। अर्थराइटिस के मरीज खाली पेट 3-4 लहसुन की कली का सेवन करें। अगर आपके केवल लहसुन से एलर्जी हैं तो घी में लहसुन को हल्का भुनकर थोड़ा सा सेंधा नमक डालकर सेवन करें।गठिया के मरीजों को चना-छोले, राजमा, मूंग की दाल आदि का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि इसनें प्यूरीन पाया जाता है जो यूरिक एसिड की समस्या को बढ़ा देता है।ये फाइबर, पोटैशियम, विटामिन ए, विटामिन सी, कैल्शियम और आयरन से भरपूर होती है। लेकिन इसमें अधिक मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है। जिसके कारण यह अर्थराइटिस की समस्या को बढ़ा सकता है।कटहल का सेवन अर्थराइटिस के मरीजों को नहीं करना चाहिए। इससे आपके जोड़ों का दर्द अधिक बढ़ सकता है।गठिया के मरीजों को दही-छाछ का सेवन नहीं करना चाहिए। इसकी तासीर ठंडी होने के साथ इसमें अधिक मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है जो यूरिक एसिड को बढ़ा देता है।

कोलगाएकऔरझटकाबाढ़केचलतेविकासदरपरपड़ेगाबड़ाअसरदिल्ली में स्पीड लिमिट का उल्लंघन करने पर एक सप्ताह में 48 हजार से अधिक चालान जारी****** यातायात पुलिस ने गति सीमा से अधिक पर रफ्तार पर गाड़ी चलाने के लिए एक सप्ताह में 48,000 से अधिक चालान जारी किए हैं। अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी। यातायात पुलिस ने गति सीमा से अधिक रफ्तार पर वाहन चलाने संबंधी अधिसूचना आठ जून से संशोधित की थी। पुलिस के अनुसार, सात जून से 13 जून तक कुल 48,412 जारी किए गए जिनमें से 48,311 ऑनलाइन और 101 हाथोंहाथ जारी किए गए।यातायात पुलिस ने आठ जून को जारी एक अधिसूचना में राष्ट्रीय राजमार्ग, रिंग रोड और एयरपोर्ट मार्ग जैसे रास्तों पर कार और टैक्सी के लिए 60-70 किलोमीटर प्रति घंटा तथा बाजार और आवासीय क्षेत्रों में 30 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार तय की थी। गति सीमा से अधिक रफ्तार पर वाहन चलाने वालों के लिए मुख्य रूप से दो प्रकार से चालान जारी किया जाता है।पुलिस ने बताया कि पहला तरीका है ‘ओवर स्पीड वायलेशन डिटेक्टर’ (ओएसवीडी) प्रणाली। इस प्रक्रिया में किसी सड़क पर कैमरा लगा होता है जो वाहन की गति मापता है। बाद में वह डेटाबेस से आंकड़े लेता है और गति सीमा का उल्लंघन करने वालों को संदेश भेजता है। उन्होंने कहा कि दूसरा तरीका है ‘ट्राईपॉड इंटरसेप्टर’ कैमरा जिसे एक ट्राइपॉड के ऊपर लगाया जाता है और वह वाहन की गति माप लेता है। बाद में पुलिस वाहन को रोकने और चालान जारी करने का काम करती है।विशेष पुलिस आयुक्त (यातायात) ताज हसन ने कहा कि गति सीमा में बदलाव को ठीक कर लिया गया है। हसन ने कहा, “एक वर्ग के निजी और वाणिज्यिक वाहनों को एक ही श्रेणी में लाया गया है। हम ओएसवीडी के जरिये इलेक्ट्रॉनिक चालान जारी कर रहे हैं। दोपहिया वाहनों के लिए भी गति सीमा तय कर दी गई है। कुछ सड़कों पर गति सीमा में बदलाव था जिसे ठीक कर दिया गया है।”कोलगाएकऔरझटकाबाढ़केचलतेविकासदरपरपड़ेगाबड़ाअसरMyanmar News: म्यांमार में पॉलिटिकल प्रिजनर्स की मौत को लेकर दुनिया भर में हुई निंदा, सेना ने दी थी फांसी******Highlightsम्यांमार में 4 पॉलिटिकल प्रिजनर्स को फांसी देने का विरोध मंगलवार को और तेज़ हो गया और दुनिया भर की सरकारों ने इसकी कड़ी निंदा की। म्यांमार में सेना की अगुवाई वाली सरकार ने सोमवार को पॉलिटिकल प्रिजनर्स को फांसी देने की जानकारी दी थी। म्यांमार में दशकों के बाद पहली आधिकारिक तौर पर फांसी दी गई है। सेना ने 2021 में चुनी हुई नेता आंग सान सू ची की सरकार का फरवरी 2021 में तख्तापलट कर दिया था और तब से उस पर हजारों लोगों की हत्याएं करने का आरोप लगा है।कुआलालंपुर में म्यांमार पर संयुक्त राष्ट्र(United Nation) के विशेष दूत नोइलीन हेजर के साथ एक प्रेस कांफ्रेंस में मलेशिया के विदेश मंत्री सैफुद्दीन अब्दुल्ला ने कहा, "हम मानते हैं कि यह इंसानियत के खिलाफ अपराध है।" उन्होंने कहा कि दक्षिणपूर्व एशियाई राष्ट्रों के संगठन (आसियान) के विदेश मंत्रियों की आगामी बैठक में म्यांमार में पॉलिटिकल प्रिजनर्स को फांसी देने के मुद्दे पर चर्चा की जाएगी। यह बैठक कंबोडिया में अगले एक हफ्ते में होनी है। म्यांमार भी प्रभावशाली आसियान ग्रुप का हिस्सा है। ग्रुप पिछले साल म्यांमार को लेकर 5 सूत्रीय योजना पर सहमत हुआ था और इसे लागू करने की कोशिश कर रहा है। इसके तहत सभी संबंधित पक्षों के बीच बातचीत, मानवीय सहायता का प्रावधान, हिंसा को तुरंत रोकना और विशेष दूत का सभी पक्षों से मिलना शामिल है।अब्दुल्ला ने कहा कि ऐसा लगता है कि म्यांमार के Junta Ruler पांच सूत्रीय स्कीम का मजाक उड़ा रहे हैं। बैंकॉक में लोकतंत्र समर्थक हजारों प्रदर्शनकारियों ने म्यांमार के दूतावास के बाहर प्रदर्शन किया। उन्होंने भारी बारिश के बावजूद नारेबाजी की और झंडे लहराए। एक प्रदर्शनकारी ने कहा कि तानाशाह अपनी ताकत का मनमाने तरीके से इस्तेमाल कर रहे हैं। म्यांमार सरकार ने सोमवार को घोषणा की थी कि उसने ‘नेशनल लीग फॉर डेमोक्रेसी’ (एनएलडी) के पूर्व सांसद, लोकतंत्र समर्थक एक कार्यकर्ता और दो अन्य लोगों को पिछले साल सत्ता पर सेना के कब्जे के बाद हुई हिंसा के मामले में फांसी दे दी है। इनमें 41 वर्षीय फ्यो जेया थॉ शामिल हैं, जो सू ची की पार्टी के पूर्व सांसद हैं।न्यूजीलैंड की विदेश मंत्री नानैया महुता ने कहा, "म्यांमार के सैन्य शासन ने बर्बर कृत किया है। न्यूजीलैंड कठोर शब्दों में इसकी निंदा करता है।" वहीं, ऑस्ट्रेलिया की विदेश मंत्री पेन्नी वॉन्ग ने कहा, "वह राजनीतिक कैदियों को फांसी दिए जाने से हैरान हैं। ऑस्ट्रेलिया सभी परिस्थितियों में किसी भी व्यक्ति के लिए मौत की सजा का विरोध करता है।"इससे पहले, यूरोपीय संघ, जापान, ब्रिटेन, अमेरिका, कनाडा, नॉर्वे और दक्षिण कोरिया भी एक संयुक्त बयान में म्यांमार में पॉलिटिकल प्रिजनर्स को फांसी देने की निंदा कर चुके हैं। आसियान ने भी इसकी निंदा करते हुए कहा कि यह सैन्य नेतृत्व और विरोधियों के बीच बातचीत कराने की उसकी कोशिशों के लिए झटका है। संगठन ने कहा, “हम सभी संबंधित पक्षों से तत्काल ऐसी कार्रवाई से बचने का आह्वान करते हैं, जो संकट को और बढ़ाए, सभी पक्षों के बीच शांति वार्ता में बाधा डाले और न सिर्फ म्यांमार की, बल्कि पूरे क्षेत्र की शांति, सुरक्षा और स्थिरता को खतरे में डाले।”

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 05:33
उद्धरण 1 इमारत
हल्दी के तेल की मसाज से दूर होगा जोड़ों का दर्द, ब्लड सर्कुलेशन होगा बढ़िया******Highlightsहल्दी मसाले के साथ साथ वो औषधि है जिसे कच्चा, पक्का, मसाले के रूप में औऱ यहां तक कि तेल के रूप में भी इस्तेमाल किया जाए तो फायदेमंद होती है। चलिए आज हल्दी के तेल की बात करते है। हल्दी के तेल में अल्फा करम्यूमिन तत्व पाया जता है। इसके साथ ही एंटी इंफ्लेमेटरी गुण भी होता है जो शरीर के दर्द, सूजन और खून के जमाव को कम करने में मदद करता है। -सर्दियों में जोड़ों का दर्द बहुत सताता है। कई लोगों को गठिया की वजह से भी जोड़ों में काफी दर्द रहता है। ऐसे में हल्दी के तेल की मसाज के फायदा मिलता है। रोज रात को सोने से पहले हल्दी के तेल को हलका गर्म करके जोड़ों पर लगाने से जोड़ों के दर्द में काफी आराम मिलता है औऱ जोड़ खुल जाते हैं।आपके शरीर में कहीं भी दर्द हो रहा हो, कहीं जख्म के बाद दर्द हो रहा हो तो हल्दी के तेल का इस्तेमाल आपके शरीर के दर्द को दूर करने में कारगर होगा। इससे जोड़ों का दर्द भी कम होता है औऱ वाटर रिटेंशन के चलते पैदा हुई सूजन और दर्द में भी राहत मिलती है।जैसे हल्दी शरीर के जख्म और सूजन में राहत देती है वैसे ही हल्दी का तेल भी शरीर में सूजन की समस्या से छुटकारा दिलाने में मदद करता है। दरअसल हल्दी के तेल में एंटी बैक्टीरियल और एंटी ऑक्सीडेंट के गुण पाए जाते हैं।अगर शरीर में कहीं पर सूजन की परेशानी हो रही है तो हल्दी के तेल को हलका गर्म करके उस जगह पर हल्के हाथ से मालिश करनी चाहिए।ब्लड सर्कुलेशन का सही रहना हमारे शरीर के लिए बहुत जरूरी है।कई बार ब्लड शरीर में सही से सर्कुलेट नहीं होता और कई तरह की बीमारियां हो जाती है। हल्दी का तेल इस्तेमाल करने से शरीर का ब्लड सर्कुलेशन ठीक रहता है। इससे शरीर के किसी भी हिस्से में ब्लड जमता नहीं है, इससे शरीर में खून का बहाव भी सही होता है। इसे रोज शरीर की मालिश करने से फायदा होगा।फटी एड़ियां शर्मिंदगी के साथ साथ परेशानी का सबब बन जाती है। अगर आप भी इस समस्या से जूझ रहे हैं तो हल्दी के तेल में नारियल के तेल की कुछ बूंदे मिलाकर रोज रात को सोने से पहले अपनी फटी एड़ियों पर लगाएं और हल्के हाथ से मसाज भी करें। इससे कुछ ही दिन में फटी एड़ियां ठीक होकर मुलायम हो जाएंगी।हल्दी का तेल सिर की रूसी यानी डैंड्रफ को खत्म करने में भी बहुत कारगर है। अगर नियमित तौर पर हल्दी के तेल में थोड़ा सा नारियल का तेल मिलाकर बालों में लगाया जाए तो रूसी जल्द खत्म हो जाती है।Disclaimer: यह जानकारी आयुर्वेदिक नुस्खों के आधार पर लिखी गई है। इंडिया टीवी इनके सफल होने या इसकी सत्यता की पुष्टि नहीं करता है। इनके इस्तेमाल से पहले चिकित्सक का परामर्श जरूर लें।
2022-10-01 04:34
उद्धरण 2 इमारत
Chanakya Niti: प्रेम संबंधों में पड़ रही है दरार कहीं आप भी तो नहीं कर रहे हैं ये 4 गलतियां******आचार्य चाणक्य ने अपने नीति शास्त्र के जरिए जीवन से जुड़ी समस्याओं का समाधान बताया है। चाणक्य ने मनुष्य को प्रभावित करने वाले सभी विषयों को बहुत ही गहराई से अध्ययन किया था। आचार्य चाणक्य की अर्थनीति, कूटनीति और राजनीति विश्व विख्यात है, जो हर एक को प्रेरणा देने वाली है। ये भले ही कठिन हो लेकिन इन्हें अपनाकर आप सफलता पा सकते हैं और सही रास्ते पर चल सकते हैं। ने प्रेम संबंधों के बारे में भी अपने विचार व्यक्त किए हैं। चाणक्य की मानें तो व्यक्ति के प्रेम संबंधों में कुछ कारणों की वजह से खटास आ जाती है और इसके चतले इंसान की सुख-शांति छिन जाती है। आइए जानते हैं उन बातों के बारे में जिनका ध्यान रख प्रेम संबंधों में तनाव को दूर किया जा सकता है-हर कोई इंसान सम्मान चाहता है। जब इंसान के सम्मान को ठेस पहुंचती है तो वो अंदर से टूट जाता है और खुद को कमजोर समझने लगता है। जब आदर सम्मान में कमी आती है तो रिश्ता कमजोर पड़ जाता है। इसीलिए रिश्ते में एक दूसरे को सम्मान देना चाहिए। चाणक्य कहते हैं कि प्रेम संबंधों के बीच अहंकार की जगह नहीं होनी चाहिए। चाणक्य प्रेम को सादगी का ही रूप मानते हैं। प्रेम संबंधों के बीच यदि अहंकार आ जाता है तो आप साथी की अहमियत कम आंकने लगते हैं दूसरा साथी खुद को कमजोर समझने लगता है, जिससे रिश्ते में दूरी आ जाती है इसीलिए रिश्ते में कभी अहंकार नहीं करना चाहिए।आचार्य चाणक्य कहते हैं कि रिश्तों में आजादी का होना बहुत जरूरी है। कहते हैं अगर किसी रिश्ते को ज्यादा बंधन में रखा जाए तो इंसान घुटन महसूस करने लगता है, जिन रिश्तों में आजादी नहीं होती है, वो कुछ समय बाद ही ऊबने लगते हैं और कैद महसूस करते हैं जिसके चलते कुछ समय बाद रिश्ता खत्म हो जाता है।आचार्य चाणक्य कहते हैं कि शक रिश्ते की नींव को हिला देता है। शक रिश्ते को का जाता है इसीलिए रिश्ते में कभी भी शक नहीं करना चाहिए। शक की हल्की सी आंच मजबूत रिश्‍ते को तोड़ देती है।
2022-10-01 03:34
उद्धरण 3 इमारत
महागठबंधन की चौथी रैली कल, 25 साल बाद एक मंच पर होंगे मायावती और मुलायम****** सपा-बसपा-रालोद महागठबंधन की चौथी रैली शुक्रवार को मैनपुरी में होगी। इस दौरान बसपा अध्यक्ष भी अपने दशकों पुराने प्रतिद्वंद्वी सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के लिए वोट मांगेंगी। मैनपुरी की क्रिश्चियन फील्ड में होने वाली इस रैली में मायावती और मुलायम के मंच साझा करने की सम्भावना है। इसके जरिये महागठबंधन प्रतिद्वंद्वियों को यह संदेश देने की कोशिश करेगा कि सभी दल भाजपा के खिलाफ एकजुट हैं।सपा के जिलाध्यक्ष खुमान सिंह वर्मा ने बताया कि सपा प्रमुख अखिलेश यादव, बसपा मुखिया मायावती और राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष चौधरी अजित सिंह रैली को सम्बोधित करेंगे। इस मौके पर सपा संस्थापक भी मौजूद रहेंगे। रैली की तैयारियों में जुटे मैनपुरी सदर से सपा विधायक राज कुमार उर्फ राजू यादव ने बताया कि मुलायम ने कल रैली में हिस्सा लेने की पुष्टि की है। शुरू में ऐसी खबरें थीं कि मुलायम रैली में शामिल नहीं होंगे। वर्मा ने बताया कि रैली स्थल पर 40 लाख लोगों को जुटाने की तैयारी की गई है।इस बीच, बसपा जिलाध्यक्ष शिवम सिंह ने बताया कि मायावती शुक्रवार को सैफई के रास्ते मैनपुरी पहुंचेंगी।मालूम हो कि वर्ष 1993 में गठबंधन कर सरकार बनाने वाली सपा और बसपा के बीच पांच जून 1995 को लखनऊ में हुए गेस्ट हाउस काण्ड के बाद जबर्दस्त खाई पैदा हो गई थी। हालांकि लोकसभा चुनाव से पहले सपा से हाथ मिलाने के बाद मायावती स्पष्ट कर चुकी हैं कि दोनों पार्टियों ने भाजपा को हराने के लिए आपसी गिले-शिकवे भुला दिए हैं। अब सबकी निगाहें कल मायावती के सम्बोधन पर होंगी।
वापसी