नई पोस्ट करें

'ब्रीद 2' की सफलता के बाद अभिषेक बच्चन ने साइन की 'ब्रीद 3'

2022-10-01 06:15:09 216

ब्रीद2कीसफलताकेबादअभिषेकबच्चननेसाइनकीब्रीदइंडियन आइडल 12 के पवनदीप और अरुणिता की चमकी किस्मत, दोनों कंटेस्टेंट को एक साथ लॉन्च कर रहे हिमेश रेशमिया******इंडियन आइडल 12 इन दिनों काफी सुर्खियों में हैं। इस शो के कंटेस्टेंट पवनदीप राजन और अरुणिता लोगों के दिलों में खास जगह बना चुके हैं। जहां एक ओर इंडियन आइडल के फिनाले की ओर बढ़ रहा है। वहीं दूसरी ओर इन दोनों कंटेस्टेंट को एक बड़ा ब्रेक मिल गया है। जी हां फेमस सिंगर अरुणिमा कांजीवाल और पवनदीप को म्यूजिक इंडस्ट्री में लांच करने जा रहे हैं। इस बात की खबर खुद अभिनेता ने फैंस को दी।इंडियन आइडल 12 में पवनदीप राजन और अरुणिता कांजीलाल की सिंगिंग को खूब पसंद किया जाता है। इसके साथ ही दोनों के लव एंगल की खूब चर्चा होती रहती है। दोनों ही अक्सर सोशल मीडिया में छाए रहते हैं। जिसके बाद इंडियन आइडल के जज हिमेश रेशमिया ने दोनों को लॉन्च करने का फैसला लिया।हिमेश ने इंस्टाग्राम पर गाने की अनाउंसमेंट करते हुए पोस्टर शेयर किया । जिसमें वह, पवनदीप और अरुणिमा नजर आ रहे हैं। इसके साथ ही हिमेश ने लिखा, 'पवनदीप और अरुणिता का पहला गाना तेरे बगैर रिलीज हो रहा है जो मेरे एल्बम का है। गाना 23 जून को रिलीज होगा जिसके लिरिक्स समीर अंजान ने लिखे थे। मूड दीवाना है, प्लीज अपना प्यार हमें दें।'बता दें कि 'इंडियन आइडल 12' में पवनदीप राजन और अरुणिता टॉप कंटेस्टेंट्स में शुमार हैं। दर्शकों से लेकर शो में आने वाले गेस्ट तक उनकी आवाज के कायल हैं। खुद हिमेश रेशमिया को अरुणिता और पवनदीप की आवाज बेहद पसंद है। हिमेश रेशमिया 'इंडियन आइडल 12' को जज कर रहे हैं। उनके अलावा अनु मलिक और मनोज मुंतशिर भी बतौर जज नजर आ रहे हैं।

ब्रीद2कीसफलताकेबादअभिषेकबच्चननेसाइनकीब्रीदClimate Change: जमकर अपना कहर बरपा रहा जलवायु परिवर्तन! जल चक्र में तेज बदलाव, तो कहीं शक्तिशाली तूफान और बाढ़ ने मचाई तबाही******Highlights अमेरिका के तमाम हिस्सों में जुलाई के उत्तरार्ध में शक्तिशाली तूफान प्रणाली की वजह से अचानक बाढ़ आने की घटनाएं हुई हैं। इसके चलते रिकॉर्ड बारिश से लेंट लुइस के आसपास के इलाके डूब गए और पूर्वी केंटुकी में जगह जगह भूस्खलन हुआ। इस बाढ़ में कम से कम 16 लोगों की मौत हो गई। एक अन्य आपदा में नेवादा की लॉस वेगास इलाका भी बाढ़ में जलमग्न हो गया। जलवायु परिवर्तन के कारण इस तरह की जलीय आपदा की घटनाएं अब लगातार सामने आ रही हैं। अमेरिका में शक्तिशाली तूफान के बाद इस गर्मी के मौसम में भारत और ऑस्ट्रेलिया में भीषण बाढ़ आई जबकि पिछले साल यह स्थिति पश्चिम यूरोप में थी।दुनियाभर के वैज्ञानिकों द्वारा किए गए अध्ययन में सामने आया है कि जल चक्र प्रचंड रूप धारण कर रहा है और ग्रह के गर्म होने के साथ इसकी प्रचंडता और बढ़ेगी। जलवायु परिवर्तन पर गठित अंतर सरकारी समिति के लिए वर्ष 2021 में तैयार अंतरराष्ट्रीय जलवायु आकलन रिपोर्ट का मैं सहलेखक था,जो विस्तृत तौर पर इस विषय की जानकारी देती है। इसमें दोनों कठोर मौसम का दस्तावेजीकरण किया गया है जिनमें अधिकतर इलाकों में घनघोर बारिश और भीषण सूखे से ग्रस्त इलाकों जैसे भूमध्य सागरीय क्षेत्र, दक्षिण पश्चिम ऑस्ट्रेलिया, दक्षिणी पश्चिम, दक्षिणी अमेरिका, दक्षिण अफ्रीका शामिल है। रिपोर्ट यह भी दिखाती है कि वैश्विक तापमान बढ़ने के साथ-साथ बारिश और सूखे की प्रचंडता भी बढ़ेगी।जल चक्र वायुमंडल, सागर, भूमि, जलाशय और जमी हुई बर्फ के बीच पानी के संचरण से बनता है। यह बारिश या बर्फबारी के तौर पर वायुमंडल से धरती पर गिर सकता है, भूमि द्वारा सोखा जा सकता है और नदियों-जलाशयों में बह सकता है, समुद्र में मिल सकता है, जम सकता है और वाष्पीकरण के जरिये दोबारा वायुमंडल में पहुंच सकता है। पेड़-पौधे भी पानी, भूमि से सोखते हैं और पत्तियों द्वारा इसे पसीने की तरह बाहर निकालते हैं। हाल के दशकों में कुल मिलाकर संघनन और वाष्पीकरण दोनों की दर बढ़ी है। जल च्रक के प्रचंड रूप धारण करने के कई कारण हैं, लेकिन सबसे महत्वपूर्ण तापमान का बढ़ना है, जिससे हवा में नमी की मात्रा की ऊपरी सीमा बढ़ जाती है।इससे और बारिश होने की क्षमता में भी वृद्धि होती है।जलवायु परिवर्तन के इस पहलू की पुष्टि आईपीसीसी रिपोर्ट में चर्चा किए किए हमारी सभी पंक्तियों में इंगित होती है। भौतिक के मूल सिद्धांत, कंप्यूटर मॉडल के पूर्वानुमान में ऐसे ही नतीजे की उम्मीद है। निगरानी आकंड़े भी पहले ही दिखा रहे हैं कि तापमान में वृद्धि के साथ बारिश की प्रचंडता बढ़ रही है। जलच्रक के इस और अन्य बदलावों को समझना आपदा से बचने की तैयारी करने से ज्यादा अहम है। जल सभी पारिस्थितिकी तंत्र और मानव समाज के लिए अहम संसाधन है, खासतौर पर कृषि के लिए। जल च्रक के प्रचंड होने का अभिप्राय है कि भीषण बाढ़ और सूखा व जलच्रक में समान अंतर की दर में वृद्धि। हालांकि, यह पूरी दुनिया में एक समान नहीं होगी।भीषण बारिश की स्थिति अधिकतर इलाकों में बढ़ने की उम्मीद है, लेकिन भूमध्य सागरीय क्षेत्र, दक्षिणी पश्चिम, दक्षिण अमेरिका और पश्चिमी उत्तरी अमेरिका के बड़े हिस्से के भीषण सूखे की चपेट में आने की आशंका हैं। वैश्विक स्तर पर दुनिया में प्रत्येक एक डि्ग्री सेल्सियस तापमान वृद्धि से दैनिक प्रचंड संघनन की दर में सात प्रतिशत वृद्धि होने की आशंका है। रिपोर्ट के मुताबिक वैश्चिक तापमान में वृद्धि के साथ जलचक्र के अन्य पहलुओं में बदलाव होगा, जिनमें पहाड़ों पर मौजूद ग्लेशियर में कमी, ऋतु के अनुसार इलाकों के बर्फ से ढके रहने की अवधि में कमी, जल्द बर्फ का पिघलना, विभिन्न क्षेत्रों में मानसून में विरोधाभासी बदलाव शामिल हैं, जिससे करोड़ों लोगों के जल संसाधन पर असर पड़ेगा।जल चक्र के इन पहलुओं के लिए एक समान ‘थीम’ है कि जितना ग्रीनहाउस गैस का उत्सर्जन होगा, उसका उतना ही ज्यादा असर होगा। आईपीसीसी नीतिगत अनुशंसा नहीं करती है। इसके बजाय यह वैज्ञानिक सूचना देती है, जिसका नीति बनाने के लिए सतर्कता के साथ मूल्यांकन करने की जरूरत है। रिपोर्ट में शामिल एक वैज्ञानिक सबूत, स्पष्ट तौर पर विश्व नेताओं को कहता है कि वैश्चिक तापमान वृद्धि को पेरिस समझौते के तहत 1.5 डिग्री पर तत्काल सीमित करने, त्वरित और बड़े पैमाने पर ग्रीन हाउस गैसों के उत्सजर्न को कम करने की जरूरत है। किसी खास लक्ष्य से परे यह स्पष्ट है कि जलवायु परिवर्तन के गंभीर असर सीधे तौर पर ग्रीन हाउस गैस के उत्सर्जन से जुड़े हैं। उत्सर्जन में कमी से असर (नकारात्मक) घटेगा। प्रत्येक डिग्री का एक छोटा सा हिस्सा भी मायने रखता है।ब्रीद2कीसफलताकेबादअभिषेकबच्चननेसाइनकीब्रीदबालों के ऐसे 5 प्रोडक्ट जिसमें आप सिर्फ करते हैं पैसे बर्बाद, हेयर भी हो जाते है खराब******अगर आप किसी महिला के बेडरूम या फिर बाथरूम में जाते हैं तो आपको सबसे ज्यादा बालों सबंधी प्रोडक्ट दिख जाते हैं। शायद आप भी इसी लिस्ट में शामिल हो कि खुद के बाल हेल्दी और सॉफ्ट रखने के लिए कई तरह के प्रोड्कट इस्तेमाल करते हैं। लेकिन आपको बता दें कि कुछ प्रोडक्ट ऐसे होते है जो किसी काम के नहीं होते है बल्कि आपके बालों को अधिक नुकसान पहुंचाने के साथ पैसों की बर्बादी करते हैं। जानें ऐसे ही 5 बालों के प्रोडक्ट के बारे में जिसमें सिर्फ आप खुद को बालों को कर रही हैं खराब।अगर आपके छोटे है या फिर तेजी से बढ़ नहीं रहे है तो आप मार्केट से कोई ऐसा हेयर प्रोडक्ट ले आती है जिसमें लिखा होता है तेजी से आपके बाल बढ़ेंगे। तो आपको बता दें कि आप मुर्ख बन गई है क्योंकि ऐसा कोई जादू नहीं है कि शैंपू लगाते ही आपके बाल बढ़ जाए।अगर आपको सच में बाल नहीं बढ़ रहे है तो मेडिकल ट्रीटमेंट की ओर रुख करें। जिससे आपको समस्या की तय तक जाकर हेल्दी बाल पा सकती हैं। आप यूहीं किसी शैंपू का इस्तेमाल करके बालों को पोषण तो दे सकते है लेकिन वह तेजी से बढ़ते नहीं है। बल्कि आराम से अपनी गति के अनुसार बढ़ते हैं।आज के समय में कई कंपनिया ऐसे शैंपू लाने लगी है। जिसमें वह वादा करती हैं कि इसमें कंडीशनर और शैंपू आपको एक ही बोतल में मिलेगा। ऐसे में एक बात क्लीयर कर दूं कि जहां शैंपू हमारे बालों को साफ करने के साथ गंदगी को हटाता है। वहीं दूसरी ओर कंडीशनर बालों को मॉश्चचराइज और सॉफ्ट बनाता है। जो ऐसे में दोनों चीजें एक में कैसे आ सकती हैं। अब आप समझदार है तो इस छोटी सी बात को खुद समझ गए होगे।आपके या फिर आपने देखा होगा कि जो लोग के बहुत ही कर्ली बाल होते है उनके सिर की तरफ बहुत ही छोटे-छोटे बाल होते है। इन्हीं के लिए जैल आता है। इस जैल की बात करें यह पानी से बना हुआ होता है। जो कुछ देर के लिए तो आपके बालों को नीचे कर देता है। लेकिन एक समय बात यह किसी काम का नहीं रहता है। लेकिन अगर आप लगातार इस्तेमाल करते है तो फिर आपके लिए ठीक है। नहीं इसमें पैसे बर्बाद करना है बस।बहुत अधिक मात्रा में प्रोटीन बालों के लिए बिल्कुल भी अच्छा नहीं है। इसलिए आपका कंडीशनर प्रोटीन युक्त न हो तो बेहतर है। बालों में ज्यादा प्रोटीन जाने से ये नेचुरल बाल खत्म होने के साथ-साथ ये कमजोर हो जाएगे। लेकिन अगर आप प्रोटीन हेयर ट्रीटमेंट लेना चाहते है तो जब इसे कोई डॉक्टर इस्तेमाल करने की सलाह दें।हम अपने बालों को सुखाने या फिर खूबसूरत बनाने के लिए बहुत ही चाव से हेयर डायर या फिर स्टेटनर का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन आपको बता दें कि यह आपके बालों के लिए अच्छा होने के बजाय बहुत ही खराब कर देता है। आप अपने बालों में सीधे इन एक्ससेरीज का इस्तेमाल करते है। यानी आप अपने बालों को खूबसूरत होने के साथ-साथ बिल्कुल जला देते है। यानी कि आपने नेचुरल बालों से खिलवाड़ किया तो अब कुछ फर्क तो नजर ही आएगा। इससे अच्छा है कि आप ड्राई स्प्रे इस्तेमाल करें। इससे आप एक्ससेरीज का इस्तेमाल सीधे बालों तो नहीं करेंगे।

'ब्रीद 2' की सफलता के बाद अभिषेक बच्चन ने साइन की 'ब्रीद 3'

ब्रीद2कीसफलताकेबादअभिषेकबच्चननेसाइनकीब्रीदCoronavirus से घटेगी मोबाइल फोन की बिक्री, इस साल भारत में बिकेंगे सिर्फ 12.7 करोड़ स्मार्टफोन******Smartphone sales in India to fall 21.6 per cent in 2020 कोविड-19 लॉकडाउन के कारण आपूर्ति और मांग दोनों प्रभावित होने के कारण इस साल भारत में करीब 12.7 करोड़ स्मार्टफोन बिकेंगे। यह साल के प्रारंभ में व्‍यक्‍त किए गए करीब 16.2 करोड़ यूनिट्स के बिक्री अनुमान से 21.6 प्रतिशत कम है। यह खुलासा एक नई रिपोर्ट से हुआ है। मार्केट रिसर्च फर्म टेकआर्क के अनुसार, साल 2019 की तुलना में बिक्री में वास्तविक गिरावट 12.5 प्रतिशत है। 2019 में 14.5 करोड़ स्मार्टफोन की बिक्री हुई थी। टेकआर्क के संस्थापक और प्रमुख विश्लेषक फैजल कावूसा ने कहा कि के लिए सबसे खराब अवधि खत्म हो रही है, क्योंकि उत्पादन और बिक्री दोनों की पूर्ति शुरू हो गई है। स्मार्टफोन ब्रांड ट्रैक पर बने रहने का प्रयास करेंगे, जिसका अर्थ है कि प्रयोगों पर कम ध्यान दिया जाएगा और उपभोक्ताओं के लिए प्रासंगिकता पर अधिक ध्यान दिया जाएगा।बिक्री के कुल 92 प्रतिशत में 5,001- 25,000 रुपए तक के सेलफोन शामिल होंगे। रिपोर्ट में कहा गया है कि एंट्री-लेवल सेगमेंट (5,000 रुपए तक) में गिरावट जारी रहेगी, जबकि प्रीमियम सेगमेंट (50,000 रुपए और उससे अधिक) कम से कम प्रभावित होंगे।कावूसा ने कहा कि हर यूजर का लक्ष्य आसपास की अनिश्चितताओं को देखते हुए जितना संभव हो सके उतना बचत करना होगा। इस कारण अपर प्राइस सेगमेंट से लेकर लोअर प्राइस सेगमेंट की मांग में कुछ बदलाव होंगे।ब्रीद2कीसफलताकेबादअभिषेकबच्चननेसाइनकीब्रीदBanas Dairy अपने मेंबर्स में बांटेगी 1650 करोड़ रुपये का मुनाफा, लाखों किसानों को फायदा******Highlightsकिसानो की आय दोगुनी करने का प्रधानमंत्री का सपना गुजरात सहकार क्षेत्र द्वारा साकार होता नजर आ रहा है, क्योंकि एक तरफ जहां किसानों की उपज के समर्थन मूल्य द्वारा किसानों की आय बढती नजर आ रही हैं वहीं, पशुपालकों के लिए बढ़ते दूध उत्पादन के साथ-साथ दूध के बढ़ते दाम भी दोगुना फायदा दे रहे हैं। हाल ही में एशिया की सबसे बड़ी डेयरी बनास डेयरी ने अपनी 54वीं वार्षिक सभा में सभी पशुपालकों में मूल्य वृद्धि को लेकर काफी उत्साह था।पशुपालकों के उत्साह को बढ़ाते हुए बनास डेयरी के चेयरमैन शंकर चौधरी ने दूध में फैट के भाव में 19.12% मूल्य वृद्धि की घोषणा की। इससे लाखों पशुपालकों को फायदा होगा। डेयरी को हुए 1650 करोड़ रुपये के मुनाफे को डेयरी अपने 3.5 लाख मेंबर्स में बांटेगी। पिछले साल डेयरी ने 1152 करोड़ रुपये का मुनाफा अपने मेंबर्स में बांटा था।पिछले 7 साल में बनास डेयरी ने न सिर्फ दूध के क्षेत्र में बल्कि डेयरी की जमीन से लेकर डेयरी की संपत्ति में भी भारी बढ़ोतरी हुई हैं। नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन में डेयरी के शंकरभाई चौधरी के प्रयासों से बनास डेयरी ने पिछले कुछ सालों में काफी महत्वपूर्ण सिद्धिया हासिल की है और दुनिया में अपना स्थान बनाया है। विश्व का पहला जिला होगा जहां प्रतिदिन सिर्फ दूध के लिए किसानों के खाते में 30 करोड़ रुपये जमा होते हैं। ये सिद्धि पशुपालकों और बनास डेयरी के कर्मयोगियों के सहयोग से हासिल हुई हैं।आज टेक्नोलॉजी के युग में भी बनास डेयरी प्रतिदिन प्रगति की ओर आगे बढ़ रही हैं और उसमे भी इस साल 1650 करोड़ रुपये की ऐतिहासिक मूल्य वृद्धि देकर बनास डेयरी ने पशुपालकों को उनकी मेहनत का उचित मूल्य दिया हैं।कुछ आंकड़े है जो कि बनास डेयरी की प्रतिबद्धता और सफलता की ओर साफ साफ इशारा करते हैं। बनास डेयरी प्रतिदिन 30.48 करोड़ रुपये दूध के लिए चुकाती हैं, हर महीने बनास डेयरी पशुपालकों को 927 करोड़ रुपये चुकाती हैं।पिछले सात सालों में 5723 करोड़ रुपये का मूल्य परिवर्तन चुकाया गया हैं और बनास डेयरी के इतिहास में सबसे ज्यादा 1650 करोड़ का 19.12% मूल्य वृद्धि की घोषणा की गई हैं। हालांकि ये आंकड़े तो गुजरात और बनास डेयरी की प्रगति के महज कुछ उदहारण है। आपको बता दें कि बनास डेयरी ने न सिर्फ दूध के क्षेत्र में बल्कि शहद उत्पादन, गोबर गैस उत्पादन जैसे कई क्षेत्रों में भी क्रांति लाई है जो की देश के लोगों के लिए प्रेरणादाई हैं।ब्रीद2कीसफलताकेबादअभिषेकबच्चननेसाइनकीब्रीदअब इस बड़ी कंपनी में होगी 12,500 लोगों की छंटनी, 95 प्रतिशत घटा शुद्ध लाभ******Carmaker company Nisan net profit is 95 percent compare will lay off staff जापान की संकटग्रस्त वाहन कंपनी ने कहा कि वह 12,500 लोगों की करेगी। कंपनी का अप्रैल-जून तिमाही में 95 प्रतिशत गिरा है। कंपनी की अमेरिका एवं यूरोपीय बाजारों में वाहनों की बिक्री कम हुई है। कंपनी के पूर्व प्रमुख कार्लोस घोसन की अचानक गिरफ्तारी के बाद निसान मुश्किलों का सामना कर रही है। वाहन निर्माता कंपनी का अप्रैल-जून तिमाही में शुद्ध लाभ तेजी से घटकर 6.4 अरब येन (5.9 करोड़ डॉलर) रह गया। कंपनी को पिछले साल की इसी तिमाही में 115.8 अरब येन का शुद्ध मुनाफा हुआ था। इस दौरान कंपनी की बिक्री 12.7 प्रतिशत घटकर 2,370 अरब येन रह गई।मुख्य कार्यकारी अधिकारी हीरोतो सैकावा ने कहा कि हम इस बात को स्वीकार करते हैं कि पहली तिमाही के नतीजे काफी मुश्किल वाले रहे।'' उन्होंने कहा कि हमें मालूम था कि बिक्री की रफ्तार कम रहेगी लेकिन हम स्वीकार करते हैं कि यह हमारी अपेक्षा से भी थोड़ा नीचे रहा। उन्होंने कहा कि लेकिन मुझे पूरा विश्वास है कि दूसरी और तीसरी तिमाही में हम पूरी तरह से वापसी कर सकते हैं।

'ब्रीद 2' की सफलता के बाद अभिषेक बच्चन ने साइन की 'ब्रीद 3'

ब्रीद2कीसफलताकेबादअभिषेकबच्चननेसाइनकीब्रीदPetrol-Diesel Price Today : 20 दिन बाद दाम में कटौती, जानिए अब घटकर कितना हुआ भाव******Oil companies cuts petrol and diesel price after 20 days on Monday पिछले 20 दिन के दौरान में बढ़ोतरी या स्थिरता के बाद आज सोमवार को पहली कटौती हुई है। पिछले हफ्ते अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में आई गिरावट और रुपए की रिकवरी की वजह से ऑयल मार्केटिंग कंपनियों की तेल आयात करने की लागत कम हुई है और उन्होंने पेट्रोल और डीजल के दाम घटाना शुरू कर दिए हैं। सोमवार को ने दिल्ली, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल के दाम में 11 पैसे तथा कोलकाता में 10 पैसे की कटौती की है जबकि दिल्ली में डीजल का दाम 14 पैसे, कोलकाता में 13 पैसे तथा मुंबई और चेन्नई में 15 पैसे प्रति लीटर घटाया गया है।20 दिन बाद हुई इस कटौती के बाद अब दिल्ली में पेट्रोल का दाम 76.84 रुपए, कोलकाता में 79.51 रुपए, मुंबई में 84.22 रुपए और चेन्नई में 79.76 रुपए प्रति लीटर हो गया है। डीजल की बात करें तो सोमवार को दिल्ली में इसका दाम 68.47 रुपए, कोलकाता में 71.03 रुपए, मुंबई में 72.65 रुपए और चेन्नई में 72.28 रुपए प्रति लीटर कर दिया गया है।पिछले हफ्ते अंतरराष्ट्रीय बाजार में की कीमतों में करीब 6 प्रतिशत की भारी गिरावट आई है, इसके अलावा भी रिकवर होकर 68.52 प्रति डॉलर के स्तर तक आया है, इन दोनो वजहों से तेल कंपनियों की कच्चा तेल आयात करने के लिए लागत कम हुई है और वह इसका लाभ ग्राहकों तक पहुंचा रही हैं, फिलहाल अंतरराष्ट्रीय बाजार में अमेरिकी कच्चे तेल का दाम 70 डॉलर प्रति बैरल और ब्रेंट क्रूड का दाम 75 डॉलर प्रति बैरल के करीब है।ब्रीद2कीसफलताकेबादअभिषेकबच्चननेसाइनकीब्रीदByelections in Country: 3 लोकसभा और 7 विधानसभा सीट पर उपचुनाव संपन्न, पंजाब में सबसे कम व त्रिपुरा में सर्वाधिक मतदान******Highlights देश में गुरुवार को उपचुनाव संपन्न हुआ। त्रिपुरा में एक पुलिसकर्मी को चाकू मारने की घटना को छोड़कर, गुरुवार को पांच राज्यों और दिल्ली में लोकसभा की तीन और विधानसभा की सात सीटों के लिए उपचुनाव में मतदान कुल मिलाकर शांतिपूर्ण रहा। इस दौरान त्रिपुरा में सबसे अधिक 76.62 प्रतिशत मतदान हुआ। पंजाब, दिल्ली और उत्तर प्रदेश में मतदान 45 प्रतिशत से कम रहा जबकि झारखंड में यह 56 और आंध्र प्रदेश में 67 प्रतिशत रहा। हालांकि अंतिम आंकड़ों में बदलाव होने की उम्मीद है।उत्तर प्रदेश में 2 लोकसभा सीटों पर हुआ मतदानउत्तर प्रदेश में आजमगढ़ और रामपुर लोकसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में 43 प्रतिशत मतदान हुआ। समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी पर मतदान को बाधित करने के लिए सत्ता का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया। उन्होंने आरोप लगाया कि निर्वाचन आयोग को घटनाक्रम के बारे में अवगत कराया गया लेकिन चुनाव मशीनरी मूकदर्शक बनी रही।मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) किरण गिट्टे के अनुसार त्रिपुरा की चार विधानसभा सीटों के लिए हुए उपचुनाव में 76.62 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया। गिट्टे ने कहा कि अगरतला निर्वाचन क्षेत्र के कुंजाबन इलाके में ‘ऑफ-ड्यूटी’ पुलिसकर्मी समीर साहा को चाकू मारने सहित कुछ छिटपुट घटनाओं को छोड़कर मतदान प्रक्रिया काफी हद तक शांतिपूर्ण रही। साहा का फिलहाल अस्पताल में इलाज चल रहा है।उपचुनाव पर विपक्ष का आरोपविपक्षी कांग्रेस ने बड़े पैमाने पर धांधली किए जाने का आरोप लगाते हुए अगरतला निर्वाचन क्षेत्र के चार बूथ पर पुनर्मतदान की मांग की, जबकि तृणमूल कांग्रेस ने आरोप लगाया कि उपचुनाव के नाम पर ‘‘लोकतंत्र की हत्या की गई।’’पंजाब में हुई सबसे कम वोटिंगपंजाब में संगरूर लोकसभा सीट के लिए हुए उपचुनाव में करीब 37 प्रतिशत मतदान हुआ। मुख्यमंत्री भगवंत मान ने एक ट्वीट में निर्वाचन आयोग से मतदान का समय शाम सात बजे तक बढ़ाने की मांग करते हुए कहा कि धान की बुवाई के मौसम के कारण कई लोग अब भी खेतों में काम कर रहे हैं। राज्य के मुख्य सचिव ने भी मतदान का समय बढ़ाने की मांग की। हालांकि, आयोग ने ऐसी मांग करने के लिए अधिकारियों की खिंचाई की।दिल्ली में AAP vs BJPदिल्ली की राजेंद्र नगर विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में 43 प्रतिशत से अधिक मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। इस सीट पर हुए उपचुनाव को मोटे तौर पर आम आदमी पार्टी (आप) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बीच लड़ाई के रूप में देखा जा रहा है।आंध्र प्रदेश में भी चुनाव शांतीपूर्ण रहाआंध्र प्रदेश में आत्माकुरु विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में करीब 67 फीसदी ने मताधिकार का इस्तेमाल किया। राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी मुकेश कुमार मीना ने कहा, ‘‘कुछ मामूली घटनाओं को छोड़कर मतदान के दौरान हिंसा की कोई घटना नहीं हुई, कोई गंभीर शिकायत नहीं आई और कोई खलल नहीं पड़ा।’’

'ब्रीद 2' की सफलता के बाद अभिषेक बच्चन ने साइन की 'ब्रीद 3'

ब्रीद2कीसफलताकेबादअभिषेकबच्चननेसाइनकीब्रीदरॉयल एन्‍फील्‍ड जल्‍द लॉन्‍च करेगी 2 दमदार मोटरसाइकिलें, 650 सीसी इंजन से होंगी लैस******नई दिल्‍ली। भारतीय बाजार में अपनी दमदार मोटरसाइकिलों के साथ धूम मचाने वाली अब विदेशी कंपनियों को भी मजा चखाने की तैयारी में है। रॉयल एन्‍फील्‍ड अब 650 सीसी के सेगमेंट में दो नई मोटरसाइकिलें उतारने की तैयारी में है। कंपनी ने फिलहाल ऑस्‍ट्रेलिया के मार्केट में अपनी 650 सीसी बाइक पेश की हैं। माना जा रहा है कि कंपनी अब जल्‍द ही भारत और यूरोप के बाजार में भी अपनी इन मोटरसाइकिलों को पेश करेगी। आपको बता दें कि कंपनी ने पिछले साल 650 सीसी के दो इंजन पेश किए थे। तब कंपनी ने कहा था कि वह दो दमदार बाइक पर काम कर रही है। ये बाइक इंटरसेप्‍टर 650 और कॉन्‍टिनेंटल जीटी 650 के नाम से बाजार में कदम रखेंगी। रॉयल एन्‍फील्‍ड ने भारत में अपने चेन्‍नई प्‍लांट में इन दोनों बाइक का निर्माण शुरू कर दिया है। संभावना है कि नए वित्‍तीय वर्ष की शुरुआत में यानि कि अप्रैल या मई में कंपनी इन बाइक को बाजार में पेश कर सकती है।अभी चूंकि ये बाइक भारत में लॉन्‍च नहीं हुई हैं ऐसे में कीमतों के बारे में ज्‍यादा खुलासा नहीं हुआ है। लेकिन ऑस्‍ट्रेलिया में लॉन्‍च हुई बाइक के आधार पर हम इसका अंदाज लगा सकते हैं। ऑस्‍ट्रेलिया में इंटरसेप्‍टर 650 की कीमत की बात करें तो यहां यह 10 हजार ऑस्‍ट्रेलियन डॉलर (5 लाख रुपए) है। वहीं कॉन्‍टिनेंटल जीटी 650 की कीमत 10400 ऑस्‍ट्रेलियन डॉलर (5.2 लाख रुपए) रखी गई है। चूंकि ये बाइक भारत से बनकर ऑस्‍ट्रेलिया जाती हैं ऐसे में भारत में इनकी कीमत और भी कम होने की संभावना है।

ब्रीद2कीसफलताकेबादअभिषेकबच्चननेसाइनकीब्रीद'सत्यमेव जयते 2' से जॉन अब्राहम संग फिल्मों में वापसी करने जा रही हैं दिव्या खोसला कुमार******: बॉलीवुड अभिनेता जॉन अब्राहम की हिट फिल्म 'सत्यमेव जयते' का सीक्वेल अगले साल गांधी जयंती यानि कि 2 अक्टूबर को रिलीज होगी। जॉन ने सोशल मीडिया पर इस रिलीज डेट की घोषणा करते हुए फिल्म के पोस्टर को भी साझा किया।उन्होंने ट्वीट किया, "'सत्यमेव जयते 2' 2 अक्टूबर, 2020 को रिलीज हो रही है।"फिल्म में दिव्या खोसला कुमार भी हैं, जो निर्माता भूषण कुमार की पत्नी हैं।दिव्या ने भी सोशल मीडिया पर पोस्ट करके अपनी खुशी जताई है-इस एक्शन-थ्रिलर फिल्म में जॉन के साथ काम करने के बारे में दिव्या ने कहा, "मैं जॉन और (निर्देशक) मिलाप जवेरी के प्रति वाकई शुक्रगुजार हूं, उन्होंने अपनी फिल्म में फीमेल लीड के तौर पर मुझे कास्ट करने का निश्चय किया। मुझे लगता है कि यह मेरे लिए एक काफी बड़ा मौका है। पहले मैंने निर्देशन किया है, लेकिन अभी पिछले कुछ समय से मैं एक्टिंग में वापस आने का सोच रही थी।"उन्होंने आगे कहा, "मैं जॉन की आभारी हूं, क्योंकि शादीशुदा अभिनेत्रियों के साथ काम करने के दौरान कुछ अभिनेताओं के दिमाग में कई तरह के रोकटोक रहते हैं, लेकिन अपने सह-कलाकारों के प्रति जॉन का दृष्टिकोण काफी खुला है। 'सत्यमेव जयते' और 'बाटला हाउस' जैसी अपनी हालिया फिल्मों में जॉन ने बेहतरीन काम किया है, इसलिए मुझे उनके साथ काम करने का इंतजार है।"मिलाप जावेरी इस फिल्म को निर्देशित करेंगे। इसकी पहली किश्त भी उन्होंने ही बनाई थी।ब्रीद2कीसफलताकेबादअभिषेकबच्चननेसाइनकीब्रीदFDI in Bharti Airtel: सरकार ने भारती एयरटेल में 100 प्रतिशत एफडीआई की मंजूरी दी******Government approves up to 100 per cent FDI in Bharti Airtel दूरसंचार विभाग ने भारती एयरटेल में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) 49 प्रतिशत से बढ़ाकर 100 प्रतिशत करने की मंजूरी दे दी है। कंपनी ने मंगलवार को इस संबंध में शेयर बाजार को सूचित किया। भारती एयरटेल को रिजर्व बैंक से भी कंपनी में विदेशी निवेशकों को 74 प्रतिशत तक हिस्सेदारी रखने की अनुमति है। शेयर बाजार को दी गयी सूचना के अनुसार, ' लिमिटेड को दूरसंचार विभाग से 20 जनवरी 2020 को की सीमा बढ़ाकर कंपनी की चुकता पूंजी के 100 प्रतिशत तक करने की मंजूरी मिल गयी है।' कुछ दिन पहले ही कंपनी ने वैधनिक बकाए के रूप में करीब 35,586 करोड़ रुपए का भुगतान किया। इसमें 21,682 करोड़ रुपए लाइसेंस शुल्क और 13,904.01 करोड़ रुपए स्पेक्ट्रम बकाया है। इसमें टेलीनॉर और टाटा टेली के बकाये शामिल नहीं हैं।बता दें कि 3 जुलाई 2014 को भारतीय रिजर्व बैंक ने कंपनी में विदेशी निवेशकों के लिए पेड कैपिटल का 74 फीसदी तक निवेश करने की मंजूरी दिया था, आसान भाषा में कहें तो इसका मतलब होता है कि किसी कंपनी ने स्टॉक के बदले प्राइमरी मार्केट से कितना रकम जुटाया है।भारती एयरटेल में 41 फीसदी के स्टेक के साथ भारती टेलिकॉम इकलौती सबसे बड़ी हिस्सेदार है। सिंग्टेल भारती टेलिकॉम में 45 फीसदी की हिस्सेदारी रखती है, जिसकी वजह से भारती एयरटेल में इस कंपनी की कुल हिस्सेदारी 35 फीसदी बनती है। इंडियन कॉन्टिनेन्ट इन्वेस्टमेंट लिमिटेड, वीरीदियन लिमिटेड जैसे टेकविदेशी निवेशकों की इस कंपनी में कुल 21.46 फीसदी की हिस्सेदारी है।अब इस मंजूरी के बाद भारती एयरटेल को विदेशी निवेशकों से भी पूंजी जुटाने में मदद मिलेगी। खासतौर पर एक ऐसे समय में, जब देश के ​टेलिकॉम सेक्टर की लगभग सभी कंपनियां वित्तीय संकट के दौर से गुजर रही हैं।

ब्रीद2कीसफलताकेबादअभिषेकबच्चननेसाइनकीब्रीदनाराज सांसद अंशुल वर्मा ने BJP कार्यालय के चौकीदार को थमाया इस्तीफा, सपा में हुए शामिल****** उत्तर प्रदेश के से सांसद अंशुल वर्मा ने बुधवार को भारतीय जनता पार्टी (BJP) से इस्तीफा देकर (सपा) की सदस्यता ग्रहण कर ली। वर्मा ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की उपस्थिति में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। इससे पहले अंशुल वर्मा ने भाजपा कार्यालय पहुंचकर अपना इस्तीफा वहां चौकीदार को सौंप दिया। इस दौरान उन्होंने कहा, "विकास किया है, विकास करेंगे, अंशुल थे अंशुल ही रहेंगे, चौकीदार नहीं कहेंगे।" को इस्तीफा सौंपने के सवाल पर उन्होंने कहा, "आजकल सबसे जिम्मेदार तो चौकीदार ही है, इसलिए मैंने सोचा क्यों न उसे ही अपना इस्तीफा दे दिया जाए। धनकुबेर चौकीदार को इस्तीफा देने का कोई मतलब ही नहीं था।" अंशुल ने कहा कि अगर विकास ही मानक था तो 24 हजार करोड़ रुपये लगाने की और विकास को आखिरी पायदान से चौथे पायदान पर लाने की उन्हें सजा मिली है।उन्होंने कहा, ''मैं सपा में बिना शर्त शामिल हुआ हूं। टिकट नहीं दिए जाने के पीछे शायद मेरी गलती यह थी कि मैंने पासी समुदाय के एक सम्मेलन के दौरान मंदिर परिसर में शराब बांटने के खिलाफ आवाज उठाई थी।'' उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ''मुझे उस पर दु:ख हुआ था और मैंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इस बारे में पत्र भी लिखा था।'' वर्मा ने कहा कि उनकी गलती ये भी हो सकती है कि उन्होंने अपने नाम के पहले 'चौकीदार' शब्द नहीं जोड़ा।गौरतलब है कि भाजपा ने इस बार वर्मा को टिकट न देकर हरदोई के पूर्व सांसद जय प्रकाश रावत को प्रत्याशी बनाया है। पार्टी से नाराजगी जाहिर करते हुए उन्होंने कहा, "सदन में मेरी उपस्थिती 95 प्रतिशत रही है। इसमें मेरा दोष कहा था, यह समझ से परे है।"ब्रीद2कीसफलताकेबादअभिषेकबच्चननेसाइनकीब्रीदजब 'कंस' पिता को अपमानित कर पद छीन ले तो धर्म की रक्षा को कृष्ण आते हैं: शिवपाल का अखिलेश पर तंज******Highlights श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के दिन प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष (Shivpal Singh Yadav) ने भतीजे अखिलेश यादव पर बड़ा तंज कसा है। शिवपाल ने यदुवंशियों को लेकर एक ओपन लेटर लिखा है। इसमें उन्होंने गीता का उल्लेख करते हुए जन्माष्टमी की बधाई तो दी ही, साथ ही इशारों-इशारों में एक बड़ा सियासी संदेश भी दे दिया।शिवपाल यादव ने बिना नाम लिए की तुलना क्रूर असुर राजा कंस से करते हुए लिखा, "समाज में जब भी कोई 'कंस' अपने पूज्य पिता को छल-बल से अपमानित कर पद से हटाकर अनाधिकृत अधिपत्य स्थापित करता है, तो धर्म की रक्षा के लिए मां यशोदा के लाल ग्वालों के सखा योगेश्वर श्रीकृष्ण अवश्य अवतार लेते हैं और अपने योग माया से अत्याचारियों को दंड देकर धर्म की स्थापना करते हैं। पत्र में शिवपाल ने अखिलेश पर ही तंज कसते हुए उन्हें कंस बताया है। हालांकि शिवपाल ने किसी के नाम का जिक्र नहीं किया है, लेकिन जानकार इसके मायने जरूर निकाल रहे हैं।आगे एक श्लोक भी है- यदा यदा हि धर्मस्य ग्लानिर्भवति भारत। अभ्युत्थानमधर्मस्य तदात्मानं सृजाम्यहम्... । इसके बाद उन्होंने लिखा, ''प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया भी ईश्वर द्वारा रचित विराट नियति और विधान का परिणाम है।''वहीं, आज पत्रकारों ने जब शिवपाल सिंह यादव से कांग्रेस में जाने की अटकलों के बाबत पूछा गया तो उन्‍होंने इसे फेक न्‍यूज बताया। कांग्रेस में जाने की बात को खारिज करते हुए उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी ने हमें गठबंधन का नहीं माना तो हम खुद ही अलग हो गए। 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव में अखिलेश यादव को विपक्ष को एकजुट करने की तैयारी के सवाल पर उन्‍होंने कहा कि समाजवादी पार्टी को अपनी कमियां दिखाई नहीं देती हैं, सपा अगर अपनी कमियों को दूर कर ले तो ये सब बातें नहीं होती, जो हो रही हैं। उन्‍होंने कहा कि हमारी बात करो तो हम विपक्ष को एक करने का प्रयास कर रहे हैं।हालांकि अखिलेश यादव का नाम लिए बगैर यादव ने कहा, ‘‘जब हमें ही गठबंधन का नहीं माना तो हम खुद ही अलग हो गए। अब अपनी पार्टी को मजबूत करने और इसे बढ़ाने में लगे हैं और इसलिए हमने पार्टी में युवाओं को जिम्मेदारी सौंपी है।''शिवपाल यादव सपा प्रमुख अखिलेश यादव के चाचा और सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के छोटे भाई हैं। चाचा-भतीजे के बीच 2016 में सपा की सरकार रहते ही अनबन शुरू हुई तो फिर दोनों के रास्ते जुदा जुदा हो गए। शिवपाल ने 2018 में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) का गठन किया लेकिन 2022 के विधानसभा चुनाव से पहले चाचा-भतीजा एक मंच पर आ गए। इसके बाद शिवपाल सपा के टिकट पर जसवंतनगर विधानसभा क्षेत्र से निर्वाचित हुए। हालांकि चुनाव परिणाम आने के बाद ही एक बार फिर दोनों के बीच अनबन शुरू हो गई।राष्ट्रपति चुनाव में शिवपाल ने अखिलेश यादव की पसंद के उम्मीदवार यशवंत सिन्‍हा का विरोध किया तो सपा ने भी उन्‍हें आजाद कर दिया। शिवपाल से पत्रकारों ने जांच एजेंसी ED के दुरुपयोग किए जाने के संदर्भ में सवाल किया तो उन्‍होंने दो टूक कहा कि छापा डालना और तफ्तीश करना ईडी का काम है, और जब शिकायत मिलेगी तो वह अपना करेगी ही। रही बात उसके दुरुपयोग करने की तो जब समीक्षा होगी तो सब सामने आ जाएगा।

ब्रीद2कीसफलताकेबादअभिषेकबच्चननेसाइनकीब्रीदक्षेत्रीय व्यापक आर्थिक भागीदारी सदस्य देशों के व्यापार मंत्रियों की बैठक 30-31 अगस्त को सिंगापुर में होगी****** भारत और चीन समेत क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक भागीदारी सदस्य देशों के व्यापार मंत्रियों की बैठक 30-31 अगस्त को सिंगापुर में होगी। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। अधिकारी ने कहा कि यह बैठक महत्वपूर्ण है क्योंकि 16 सदस्य देशों के इस समझौते को लेकर आगे की बातचीत के लिए राजनीतिक मार्गदर्शन की जरूरत है। वृहद व्यापार समझौते आरसीईपी का उद्देश्य वस्तु, सेवा, निवेश, आर्थिक तथा तकनीकी सहयोग, प्रतिस्पर्धा एवं बौद्धिक संपदा अधिकारों को शामिल करने का इरादा है।आरसीईपी में 10 आसियान देश (ब्रुनेई, कंबोडिया, इडोनेशिया, मलेशिया, म्यांमा, सिंगापुर, थाईलैंड, द फिलीपीन, लाओस और वियतनाम) और उनके छह मुक्त व्यापार समझौता (एफटीए) भागीदार भारत, चीन, जापान, दक्षिण कोरिया, ऑस्ट्रेलिया तथा न्यूजीलैंड शामिल हैं।समझौते को लेकर बातचीत 2012 में शुरू हुई थी, पर सदस्य देश आगे नहीं बढ़ पा रहे हैं। इस लिहाज से यह बैठक खासी महत्वपूर्ण है। इससे पहले बैंकाक में 23वें दौर की बातचीत हाल में संपन्न हुई लेकिन उसमें कोई खास प्रगति नहीं हुई।ब्रीद2कीसफलताकेबादअभिषेकबच्चननेसाइनकीब्रीदKartik Aaryan को मिला अब तक का सबसे बड़ा प्रोजेक्ट, एक्टर ने साजिद नाडियाडवाला और कबीर खान के साथ मिलाया हाथ******Highlightsकार्तिक आर्यन (Kartik Aaryan) की फिल्म ‘भूल भुलैया 2’ (Bhool Bhulaiyaa 2) ने सभी का दिल जीता। फैंस के दिल के साथ-साथ फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर भी जमकर कमाई की। कार्तिक आर्यन की ये फिल्म सुपरहिट साबित हुई। ऑडियंस के बीच फिल्म का क्रेज पांचवे हफ्ते तक भी देखा गया। इसी बीच एक्टर ने अपनी अपकमिंग फिल्म ‘शहजादा’ (Shehzada) से अपना फर्स्ट लुक भी शेयर किया था।लेकिन कार्तिक आर्यन के फैंस के लिए एक बड़ी खुशखबरी सामने आई है। कार्तिक ने फिल्म ‘भूल भुलैया 2’ की सक्सेस के बाद एक बड़ी फिल्म साइन की है। बॉलीवुड के जाने माने निर्माता साजिद नाडियाडवाला ने फिर से एक रोमांचक कास्टिंग की है, दरअसल उन्होंने देश के दिल की धड़कन, कार्तिक आर्यन को बतौर लीड एक्टर लेते हुए अपनी बिग फिल्म पर काम करन शुरू कर दिया है।बता दें कि इस अनटाइटल्ड प्रोजेक्ट को कबीर खान डायरेक्ट करेंगे।बता दें साजिद नाडियाडवाला के प्रोडक्शन हाउस के सोशल मीडिया अकाउंट पर इस बात की ऑफिशल जानकारी भी दी गई है। पोस्ट के साथ कार्तिक आर्यन की इस बड़ी फिल्म की अनाउंसमेंट की गई है। कार्तिर आर्यन के लिए ये किसी बड़ी अटीवमेंट से कम नहीं है।मिली जानकारी के अनुसार इस बिग बजट वाली फिल्म में कार्तिक आर्यन का अवतार सबसे हटकर होगा। फिल्म की कहानी रियल स्टोरी पर बेस्ड होगी। अब तक एक्टर का ये अवतार किसी ने नहीं देखा होगा। फिलहाल फिल्म की डिटेल्स को रिवील नहीं किया गया है। कार्तिक आर्यन, कबीर खान और साजिद नाडियाडवाला के काम को देखना फैंस के लिए काफी मज़ेदार साबित होने वाला है।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 05:20
उद्धरण 1 इमारत
Corona Update In Delhi: डॉक्टरों की चेतावनी- दिल्ली में कोविड जैसे लक्षण वाले मरीजों की संख्या बढ़ रही है******Highlightsडॉक्टरों का कहना है कि पिछले दो सप्ताह में दिल्ली के कई अस्पतालों में कोविड के लक्षणों में बुखार, सामान्य जुकाम, खांसी और शरीर दर्द आदि से पीड़ित मरीजों की संख्या बढ़ी है। उन्होंने कहा कि यह मौसम की वजह से भी हो सकता है क्योंकि बारिश, आर्द्रता और तापमान में उतार-चढ़ाव के कारण स्वास्थ्य संबंधी जटिलताएं बढ़ रही हैं। कई बड़े सरकारी और निजी अस्पतालों के डॉक्टरों का कहना है कि कई मरीजों में यह लक्षण लगातार बने हुए हैं, लेकिन उन्होंने कोविड के लिए अपना ‘RT-PCR जांच’ नहीं कराया। अपोलो अस्पताल के वरिष्ठ डॉक्टर सुरंजीत चटर्जी ने कहा, ‘‘हमें कोविड के मामलों में वृद्धि नहीं दिख रही है। लेकिन पिछले दो सप्ताह में कई मरीज बुखार, सामान्य जुकाम, खांसी, दस्त, शरीर में दर्द और अन्य लक्षणों के साथ डॉक्टरी सलाह के लिए आ रहे हैं। कुछ मरीजों में इनमें से एक लक्षण है, जबकि कई अन्य में ज्यादा लक्षण नजर आ रहे हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ऐसे मरीजों की संख्या बढ़ रही है, लेकिन बहुत ज्यादा नहीं है। कोविड जैसे लक्षण होने के बावजूद आजकल बड़ी संख्या में लोग RT-PCR जांच नहीं करवा रहे हैं। ऐसे मरीजों को हम कोविड की जांच कराने को कहते हैं।’’ दिल्ली में मंगलवार को कोविड के 400 नये मामले आए और संक्रमण की दर 2.92 प्रतिशत दर्ज की गई। वहीं संक्रमण से एक व्यक्ति की मौत हुई।देश में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़कर 1,32,457 हुईभारत में पिछले एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के 16,906 नए मामले सामने आए जिसके बाद कुल मामले बढ़कर 4,36,69,850 हो गए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के बुधवार को अद्यतन आंकड़ों में यह जानकारी सामने आई। सुबह आठ बजे अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, कोविड-19 महामारी से 45 और लोगों की मौत हो गई जिसके बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 5,25,519 पर पहुंच गई। मंत्रालय ने कहा कि देश में कोविड के उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 1,32,457 हो गई है। उपचाराधीन मरीजों की संख्या संक्रमण के कुल मामलों का 0.30 प्रतिशत है जबकि कोविड से पीड़ित होने के बाद ठीक होने वाले मरीजों की दर राष्ट्रीय स्तर पर 98.49 प्रतिशत है। पिछले 24 घंटे में उपचाराधीन मरीजों की संख्या में 1,414 की वृद्धि दर्ज की गई है।मंत्रालय ने कहा कि संक्रमण की दैनिक दर 3.68 प्रतिशत है और साप्ताहिक दर 4.26 प्रतिशत है। महामारी से पीड़ित होकर ठीक होने वाले मरीजों की संख्या बढ़कर 4,30,11,874 हो गई है जबकि इससे मरने वालों की दर 1.20 प्रतिशत दर्ज की गई है। मंत्रालय के अनुसार, देश में अब तक कोविड रोधी टीके की 199.12 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी है। पिछले एक दिन में कोविड से होने वाली 45 मौत में से 17 केरल, 13 महाराष्ट्र, पांच पश्चिम बंगाल, दो-दो गुजरात तथा बिहार में हुईं जबकि छत्तीसगढ़, दिल्ली, झारखंड, कर्नाटक, ओडिशा, पंजाब और उत्तर प्रदेश से एक-एक मरीज की मौत हुई। देश में महामारी से अब तक 5,25,519 मरीजों की मौत हो चुकी है। इनमें से महाराष्ट्र से 1,47,991, केरल से 70,170, कर्नाटक से 40,125, तमिलनाडु से 38,028, दिल्ली से 26,285, उत्तर प्रदेश से 23,548 और पश्चिम बंगाल से 21,251 मरीजों की मौत हो चुकी है।
2022-10-01 05:10
उद्धरण 2 इमारत
आरएलडी के प्रदेश अध्यक्ष ने अखिलेश यादव और जयंत चौधरी पर लगाए गंभीर आरोप, इस्तीफा दिया******Highlightsराष्ट्रीय लोक दल की उत्तर प्रदेश इकाई के अध्यक्ष मसूद अहमद ने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी को शनिवार को पत्र लिखकर इस्तीफा दे दिया। उन्होंने समाजवादी पार्टी और RLD गठबंधन नेतृत्व द्वारा तानाशाही रवैया अपनाते हुए विधानसभा चुनाव में पार्टी के टिकट बेचे जाने समेत कई गंभीर आरोप लगाते हुए पद छोड़ दिया। मसूद ने जयंत को लिखे पत्र में सपा और आरएलडी के गठबंधन के टिकट बेचे जाने का आरोप लगाया। उन्होंने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा, ‘अखिलेश ने जिसको जहां मर्जी आई धन संकलन करते हुए टिकट दिए जिससे गठबंधन बिना बूथ अध्यक्षों के चुनाव लड़ने पर मजबूर हुआ।’मसूद ने जयंत और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर तानाशाह की तरह काम करने का आरोप लगाते हुए कहा, ‘उदाहरण के तौर पर स्वामी प्रसाद मौर्य को बिना सूचना के फाजिलनगर भेजा गया और वह चुनाव हार गए। अखिलेश और आपने (जयंत) डिक्टेटर (तानाशाह) की तरह कार्य किया जिससे गठबंधन को हार का मुंह देखना पड़ा। मेरा यह सुझाव है कि जब तक अखिलेश जी बराबर का सम्मान नहीं देते तब तक इस गठबंधन को स्थगित कर दिया जाए। विधानसभा चुनाव में टिकटों की बिक्री की गई। धन संकलन की कोशिश में प्रत्याशियों का ऐलान समय रहते नहीं हुआ और बिना तैयारी के चुनाव लड़ा गया।’मसूद ने कहा, ‘सभी सीटों पर लगभग आखिरी दिन पर्चा भरा गया। किसी भी प्रत्याशी को यह नहीं बताया गया कि कौन कहां से चुनाव लड़ेगा। कीमती समय में सभी कार्यकर्ता आप तथा जी के चरणों में पड़े रहे और चुनाव की कोई तैयारी नहीं हो पाई।’ उन्होंने आरोप लगाया कि उनके कई बार चेतावनी देने के बाद भी आज समाज पार्टी के अध्यक्ष चंद्रशेखर रावण को अपमानित किया गया जिससे नाराज होकर दलित वोट सपा-रालोद गठबंधन से कटकर बीजेपी के पास चला गया, जिसका खामियाजा गठबंधन को भुगतना पड़ा।मसूद ने और सपा अध्यक्ष अखिलेश पर आरोप लगाते हुए पत्र में कहा है, ‘आपने तथा अखिलेश ने सुप्रीमो कल्चर अपनाते हुए संगठन को दरकिनार कर दिया। लालू (आरजेडी नेता लालू प्रसाद यादव) तथा सपा के नेताओं का चुनाव प्रचार में उपयोग नहीं किया गया। पार्टी के समर्पित पासी तथा वर्मा (दोनों जातियां) नेताओं का इस्तेमाल नहीं किया गया जिससे चुनाव में उनकी बिरादरी का वोट गठबंधन से छिटक गया।’ मसूद ने अपने पत्र को अपना त्यागपत्र भी बताया और आरोप लगाया कि जौनपुर सदर जैसी सीटों पर पर्चा भरने के आखिरी दिन 3-3 बार टिकट बदला गया।मसूद ने कहा, ‘एक-एक सीट पर सपा के 3-3 उम्मीदवार हो गए। इससे जनता में गलत संदेश गया। नतीजा यह हुआ कि कम से कम 50 सीटों पर गठबंधन 200 से लेकर 10,000 मतों के अंतर से हार गया।’ गौरतलब है कि हाल में संपन्न राज्य विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी को 111 और राष्ट्रीय लोक दल को 8 सीटें ही हासिल हुई थीं। जाटलैंड में प्रभावी माने जाने वाले राष्ट्रीय लोकदल को पश्चिमांचल में भी खास कामयाबी नहीं मिल सकी।
2022-10-01 04:29
उद्धरण 3 इमारत
Q3 Results: ITC का शुद्ध लाभ 16.75% बढ़ा, HCL को हुआ 2,194 करोड़ का मुनाफा****** विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत का शुद्ध लाभ 31 दिसंबर 2017 को समाप्त तीसरी तिमाही में 16.75 प्रतिशत बढ़कर 3,090.20 करोड़ रुपए पर पहुंच गया।इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में कंपनी ने 2,646.73 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ कमाया था। तिमाही के दौरान कंपनी की कुल आय घटकर 10,579.11 करोड़ रुपए पर आ गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 14,257.9 करोड़ रुपए रही थी।कंपनी ने कहा कि अप्रत्यक्ष करों के पुनर्गठन, उत्पादों की बिक्री से सकल राजस्व और सेवाओं तथा उत्पाद शुल्क की वजह से आलोच्य तिमाही की तुलना पिछले वर्ष की समान तिमाही से नहीं की जा सकती।तिमाही के दौरान कंपनी का कुल खर्च 6,362.4 करोड़ रुपए रहा, जो एक साल पहले समान अवधि में 10,303.71 करोड़ रुपए रहा था।कंपनी का सिगरेट सहित एफएमसीजी खंड का कारोबार 7,500.97 करोड़ रुपए रहा, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 10,857.23 करोड़ रुपए रहा था।समीक्षाधीन अवधि में कंपनी के होटल कारोबार की आय 404.44 करोड़ रुपए रही, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 370.51 करोड़ रुपए रही थी।देश की चौथी सबसे बड़ी सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी एचसीएल टेक्नोलॉजी का एकीकृत शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में छह प्रतिशत बढ़कर 2,194 करोड़ रुपए रहा।पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में कंपनी का शुद्ध लाभ 2,070 करोड़ रुपए था।कंपनी ने एक बयान में कहा कि समीक्षावधि में उसकी आय 8.4 प्रतिशत सुधरकर 12,808 करोड़ रुपए रही। इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में यह आय 11,814 करोड़ रुपए थी।कंपनी के अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी सी. विजयकुमार ने कहा कि पिछली तिमाही का परिणाम बेहद अच्छा रहा है। स्थिर मुद्रा नियमों पर तिमाही आधार पर यह 3.3% वृद्धि रही है, जबकि सालाना आधार पर 11.2% वृद्धि हुई है। कंपनी ने प्रति शेयर दो रुपए का लाभांश देने की घोषणा की है।पीसी ज्वैलर्स का शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में 52 प्रतिशत बढ़कर 162.71 करोड़ रुपए पर पहुंच गया। देश में आभूषण बिक्री के 84 स्टोरों का परिचालन करने वाली कंपनी ने इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में 106.97 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ कमाया था।तिमाही के दौरान कंपनी की कुल आय बढ़कर 2,690.42 करोड़ रुपए पर पहुंच गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में 2,121.28 करोड़ रुपए रही थी।पीसी ज्वैलर्स के प्रबंध निदेशक बलराम गर्ग ने कहा कि तीसरी तिमाही में हमारा मुनाफा बिक्री के ऊंचे आंकड़े तथा मुनाफा मार्जिन में तीन प्रतिशत वृद्धि की वजह से बढ़ा है। हमने अधिक हीरे के आभूषणों की बिक्री की।
वापसी