नई पोस्ट करें

GDP वृद्धि दर दूसरी तिमाही में सुधरकर 6.2 प्रतिशत रहने की उम्मीद: FICCI सर्वेक्षण

2022-10-01 04:42:41 891

वृद्धिदरदूसरीतिमाहीमेंसुधरकर62प्रतिशतरहनेकीउम्मीदFICCIसर्वेक्षणSonali Phogat News: सोनाली फोगाट की तरह ही हुई थी पति संजय फोगाट की मौत, 15 साल की बेटी यशोधरा रह गईं अकेली******Highlights हरियाणा बीजेपी की नेता और टिकटॉक स्टार सोनाली फोगाट (Sonali Phogat Death) का गोवा में निधन हो गया है। गोवा पुलिस ने बताया है कि उनकी मौत हार्ट अटैक की वजह से हुई। वहीं सोनाली फोगाट की बहन का कहना है कि सोनाली ने सोमवार सुबह मां से बात के दौरान बताया था कि उन्हें खाने में कुछ गड़बड़ लग रही है और ऐसा लग रहा है कि कोई साजिश हो रही है। हालांकि सच्चाई क्या है, इस पर अभी साफ तौर पर कुछ कहा नहीं जा सकता है।पति की मौत भी संदिग्धहैरान करने वाली बात ये भी है कि सोनाली फोगाट (Sonali Phogat Death) के पति संजय फोगाट की मौत भी कुछ इसी तरह हुई थी। संजय फोगाट हिसार स्थित फार्म हाउस में 6 साल पहले मृत पाए गए थे। इस दौरान सोनाली फोगाट मुंबई में थी। संजय की मौत कैसे हुई, इसको लेकर कोई जानकारी आज तक सामने नहीं आई। सोनाली और उनके पति अब इस दुनिया में नहीं हैं, ऐसे में उनकी 15 साल की बेटी यशोधरा अकेली रह गई हैं।गौरतलब है कि सोनाली ने संजय फोगाट से शादी की थी लेकिन संजय का 2016 में निधन हो गया था। इसके बाद से सोनाली अपनी बेटी यशोधरा की अकेले ही परवरिश कर रही थीं। लेकिन अब यशोधरा अकेली पड़ गई हैं, जिसकी वजह से उनका परिवार और चाहने वाले लोग सदमें में हैं।कब हुआ सोनाली का निधनसोनाली फोगाट (Sonali Phogat Death) का शव आज गोवा में मिला है। जानकारी के अनुसार वह अपने स्टाफ के कुछ सदस्यों के साथ गोवा गई थीं जहां उन्हें हार्ट अटैक आया था। गोवा DG ने मौत की पुष्टि की है। DG के मुताबिक नार्थ गोवा के ST एंटिनी अस्पताल से पुलिस को सोनाली फोगाट के मौत की जानकारी मिली है। वैसे तो सोनाली सोशल मीडिया पर काफी फेमस हो चुकी थीं लेकिन उन्हें 'बिग बॉस 14' में बतौर प्रतियोगी देखा गया। सोनाली का डांस और उनकी बातों ने लोगों का मन मोह लिया था। सोनाली ने हरियाणा की आदमपुर सीट से बीजेपी नेता कुलदीप बिश्नोई के खिलाफ आखिरी चुनाव लड़ा था जिसमें उन्हें मात मिली थी।सोनाली फोगाट का विवादों से नाता रहा है। पुलिस अध‍िकारी को पीटने से लेकर पति की रहस्‍यमयी मौत तक, सोनाली कई बार चर्चा में रही हैं। साल 2016 में हरियाणा के एक फार्महाउस पर सोनाली फोगाट के पति संजय की लाश मिली थी। उनकी मौत कैसे हुई, इसको लेकर कोई जानकारी सामने नहीं आई। सोनाली उस वक्‍त मुंबई में थीं।

वृद्धिदरदूसरीतिमाहीमेंसुधरकर62प्रतिशतरहनेकीउम्मीदFICCIसर्वेक्षणIND vs WI: पहले वनडे में मिली जीत से गदगद कप्तान रोहित शर्मा, गेंदबाजों को दिया श्रेय******Highlightsभारत ने पहले वनडे मुकाबले में वेस्टइंडीज को 6 विकेट से हराकर 3 मैचों की सीरीज में 1-0 से बढ़त हासिल कर ली है। जीत के लिए मिले 177 रनों के लक्ष्य को भारतीय टीम ने महज 28 ओवरों में 4 विकेट खोकर हासिल कर लिया। भारतीय टीम का यह 1000वां वनडे मुकाबला था जिसमें उन्होंने शानदार जीत दर्ज की। इस जीत के बाद कप्तान रोहित शर्मा काफी खुश नजर आए और उन्होंने जीत का श्रेय टीम के खिलाड़ियों को दिया।रोहित ने कहा कि सच कहूं तो आज कई मौक़ों पर हमने अच्छा खेल दिखाया। हम हर मैच में बेहतर होना चाहते हैं। हम अपनी योजनाओं पर टिके रहे और मुझे बहुत ख़ुशी हुई। हम गेंद के साथ अधिक दबाव बना सकते थे और बल्लेबाज़ी के दौरान अपनी विकेट बचाकर जीत सकते थे। हम इन मामलों में बेहतर होना चाहेंगे।रोहित ने गेंदबाजों के प्रदर्शन को लेकर कहा कि जिस तरह से हमने गेंदबाज़ी की, वह बहुत सराहनीय था। एक टीम के रूप में हम हर मैच में बेहतर होना चाहते हैं। अगर टीम चाहती है कि हम कुछ बदलाव करें तो हम वो जरूर करेंगे। हमारी टीम ने वनडे क्रिकेट में पिछले कुछ समय में अच्छा किया है और मैं खिलाड़ियों को बेहतर प्रदर्शन करने की चुनौती देना चाहता हूं।अपनी बल्लेबाजी को लेकर रोहित ने कहा कि मैंने दो महीनों से क्रिकेट नहीं खेला है लेकिन मैं घर पर तैयारी कर रहा था। बल्लेबाज़ के तौर पर आपको लय पकड़नी होती है और प्रैक्टिस सेशन के बाद मुझे आत्मविश्वास था कि मैं अच्छा खेल दिखाऊंगा। इस पिच पर गेंदबाज़ों के लिए मदद थी इसलिए इस मैच में टॉस बहुत महत्वपूर्ण था। भारत में होने वाले मैचों में आपको अच्छा खेल दिखाना होता है। अगर आप वैसा करेंगे तो आप किसी भी टीम को हरा सकते हैं। इसलिए हम टॉस पर अधिक निर्भर नहीं होना चाहते हैं। बता दें कि दोनों टीमों के बीच दूसरे वनडे मैच 9 फरवरी को खेला जाएगा।वृद्धिदरदूसरीतिमाहीमेंसुधरकर62प्रतिशतरहनेकीउम्मीदFICCIसर्वेक्षणबिहार: समस्तीपुर में मिट्टी धंसने से 3 महिलाओं और एक बच्चे समेत 5 की मौत****** के जिले में छठ पूजा के लिए मिट्टी की खुदाई के दौरान जमीन धंसने से 5 लोगों की मौत हो गई। रिपोर्ट्स के मुताबिक, जिले के उजियारपुर थाना क्षेत्र में शुक्रवार सुबह मिट्टी धंसने से 3 महिलाओं और एक बच्चे समेत 5 लोगों की मौत हो गई जबकि 7 अन्य लोग घायल हो गए। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि नजीरगंज गांव के कुछ लोग सुबह नजीरपुर सुरहनिया तालाब के पास छठ पूजा में चूल्हा बनाने के लिए मिट्टी लेने गए थे।रिपोर्ट्स के मुताबिक, सभी लोग मिट्टी काट ही रहे थे कि उपर से मिट्टी का धंसने से बड़ा भाग गिर गया, जिसमें कई लोग दब गए। उजियारपुर के थाना प्रभारी मनोज कुमार ने बताया कि इस घटना में घटनास्थल पर ही 3 लोगों की मौत हो गई जबकि 7 अन्य लोग घायल हो गए। उन्होंने बताया कि 2 लोगों ने इलाज के दौरान अस्पताल में दम तोड़ दिया।रिपोर्ट्स के मुताबिक, दुर्घटना के बाद घटनास्थल पर राहत एवं बचाव कार्य शुरू कर दिया गया। मृतकोंकी पहचान अमित कुमार (15), रुना देवी (30), राम कुमारी देवी (35), लाल पासवान (43) और शिवजी सिंह (50) के तौर पर हुई है।घायलों को समस्तीपुर सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। एडीएम संजय उपाध्याय ने बताया कि मृतकों के परिजनों को 4 लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा की गई है।

GDP वृद्धि दर दूसरी तिमाही में सुधरकर 6.2 प्रतिशत रहने की उम्मीद: FICCI सर्वेक्षण

वृद्धिदरदूसरीतिमाहीमेंसुधरकर62प्रतिशतरहनेकीउम्मीदFICCIसर्वेक्षणएयर इंडिया में अपनी 100% हिस्सेदारी बेचेगी सरकार, नागरिक विमानन मंत्री ने संसद में दी जानकारी******Air India Sale । File Photo नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने गुरूवार को कहा कि सरकार ने सरकारी एयरलाइंस कंपनी एयर इंडिया के प्रस्तावित विनिवेश की प्रक्रिया के तहत उसमें अपनी शत प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने का फैसला किया है। एयर इंडिया पर 50,000 करोड़ रुपए से ज्यादा का कर्ज है। वह लंबे समय से नुकसान में चल रही है और इसके पुनरुद्धार के प्रयासों के तहत सरकार ने विनिवेश का निर्णय लिया है। नागर विमानन मंत्री ​ ने लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में कहा, 'नयी सरकार के गठन के बाद विशिष्ट वैकल्पिक प्रणाली (एआईएसएएम) का पुनर्गठन किया गया और एयर इंडिया के रणनीतिक विनिवेश को फिर से शुरू करने की मंजूरी दी गयी।' उन्होंने कहा कि एआईएसएएम ने एयर इंडिया के फिर से शुरू किए गएये रणनीतिक विनिवेश के लिए सार्वजनिक क्षेत्र की विमानन कंपनी में भारत सरकार की शत प्रतिशत हिस्सेदारी को बेचने की मंजूरी दे दी है। वित्त वर्ष 2018-19 में एयर इंडिया को 8556.35 करोड़ रुपए का कुल नुकसान होने का अनुमान लगाया गया है। मंत्री ने कहा कि विमानन क्षेत्र में सुधार के लिए अनेक कदम उठाये गये हैं, जिसमें जेट एयरवेज के एयरक्राफ्ट का दूसरी कंपनियों को ट्रांसफर भी शामिल है।गौरतलब है कि एयर इंडिया कंपनी पर कुल 58,000 करोड़ रुपए के कर्ज का बोझ है। एयर इंडिया ने पिछले वित्त वर्ष में लगभग 4600 करोड़ रुपए का ऑपरेटिंग नुकसान दर्ज किया। पिछले साल भी सरकार एयर इंडिया को बेचना चाहती थी, लेकिन कच्चे तेल की कीमतों में अस्थिरता के कारण सरकार ने इसे रोक दिया था। अब सरकार इसे बेचने के लिए एक बार फिर सक्रिय हुई है। कंपनी की पूरी हिस्सेदारी बेचने का प्रस्ताव नीति आयोग ने दिया था। जेट एयरवेज ने अप्रैल में नकदी संकट की वजह से ऑपरेशन पूरी तरह बंद कर दिया था।बीते 27 नवंबर को केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने राज्यसभा में कहा था कि हजारों करोड़ रुपए के कर्ज के बोझ तले दबी सरकारी एयरलाइन एयर इंडिया का निजीकरण नहीं हो पाता है तो सरकार इसे पूरी तरह से बंद कर देगी। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सरकार एयर इंडिया के सभी कर्मचारियों के हितों का ध्यान रखेगी। उन्होंने कहा था कि एयर इंडिया के निजीकरण या फिर बंद होने से किसी भी कर्मचारी का अहित नहीं होने दिया जाएगा।वृद्धिदरदूसरीतिमाहीमेंसुधरकर62प्रतिशतरहनेकीउम्मीदFICCIसर्वेक्षणTricolor Defaced: तिरंगे से अशोक चक्र हटाकर लिखा इस्लामिक कलमा, तेलंगाना से आई चौंकाने वाली तस्वीर******Highlightsआज शुक्रवार के दिन पैगंबर पर विवादित टिप्पणी को लेकर देश के कई इलाकों में विरोध के नाम पर हिंसा और आगजनी हुई। इसी बीच एक हैरान करने वाली तस्वीर भी सामने आई। तेलंगाना के महबूबनगर में नूपुर शर्मा की टिप्पणी विवाद पर प्रोटेस्ट किया गया लेकिन इस दौरान तिरंगे से बेअदबी की गई। विरोध के दौरान प्रदर्शनकारियों ने तिरंगे का अपमान किया। वीडियो में साफ दिख रहा है कि तिरंगे में अशोक चक्र की जगह कलमा लिख दिया गया।1 टाउन थाना पुलिस ने इस मामले पर जानकारी देते हुए कहा कि शुक्रवार की नमाज के बाद मुसलमानों ने मस्जिद-ए-रहमत, घंटाघर, न्यू टाउन में विरोध प्रदर्शन किया। नूपुर शर्मा और बीजेपी के खिलाफ नारेबाजी की। इसके बाद करीब 8 लोगों ने कलेक्टर को ज्ञापन देकर नूपुर शर्मा पर कार्रवाई की मांग की। पुलिस ने बताया कि विरोध में कुछ प्रदर्शनकारियों को तिरंगा लहराते देखा गया जिसमें अशोक चक्र की जगह कलमा लिखा हुआ था।बीजेपी की निलंबित प्रवक्ता नूपुर शर्मा के पैगंबर मोहम्मद पर दिए विवादित बयान के विरोध में शुक्रवार को देश में कई शहरों में जुमे की नमाज के बाद प्रदर्शन देखने को मिले। रिपोर्ट्स के मुताबिक, दिल्ली की जामा मस्जिद, उत्तर प्रदेश के सहारनपुर, हैदराबाद, प्रयागराज, मुरादाबाद, लखनऊ और पश्चिम बंगाल के हावड़ा में मुसलमानों ने जुम्मे की नमाज के बाद विरोध-प्रदर्शन किया। कुछ जगहों पर नमाजियों ने पुलिस पर पथराव भी किया, जिसके जवाब में पुलिस ने भी लाठीचार्ज किया है। वहीं रांची में विरोध के दौरान हिंसा भड़क भी गई। जिसके बाद पुलिस ने रांची के कुछ इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया।वृद्धिदरदूसरीतिमाहीमेंसुधरकर62प्रतिशतरहनेकीउम्मीदFICCIसर्वेक्षणBLOG: नीतीश को रोकने के लिए बीजेपी ने क्या प्लान बनाया है?****** बिहार में सिर्फ सरकार नहीं बदली है, पूरी सियासत बदल गई है। मुख्यमंत्री ही हैं लेकिन बाकी सब बदल गया है। कल तक बिहार विधानसभा के स्पीकर रहे विजय सिन्हा को बीजेपी ने विधानसभा में अपना नेता बना दिया। मंडल-कमंडल आने के बाद ये पहला मौका है जब बिहार में विपक्ष का नेता अगड़ी जाति का होगा। जब लालू यादव की पत्नी राबड़ी देवी मुख्यमंत्री थीं तो सुशील मोदी विधानसभा में विपक्ष के नेता थे, जब नीतीश और तेजस्वी सरकार चला रहे ते तो प्रेम कुमार को मौका दिया गया था। सुशील मोदी और प्रेम कुमार दोनों ही पिछड़ी जाति से आते हैं।विपक्ष के नए नेता विजय सिन्हा भूमिहार बिरादरी से हैं और नीतीश कुमार के प्रमाणित विरोधी माने जाते हैं। विधानसभा के अंदर भी एक बार नीतीश और विजय सिन्हा आमने-सामने आ चुके थे, तब बीजेपी के सहारे नीतीश मुख्यमंत्री थे और विजय सिन्हा को बीजेपी ने ही स्पीकर बनवाया था। विधानसभा के अंदर जब झगड़ा हुआ तो नीतीश ने शर्त रखी थी कि विजय सिन्हा उनसे माफी मांगें, लेकिन उस वक्त विजय सिन्हा नहीं झुके और स्पीकर पद की मर्यादा का हवाला देते हुए बीजेपी ने भी मामले को रफा-दफा कर दिया। लेकिन जेडीयू के नेता कहते हैं कि नीतीश वो अपमान नहीं भूले हैं, और अब वही पुरानी सियासी दुश्मनी बिहार में दिखेगी।देश की सियासत में बिहार ऐसा राज्य है जहां हर पार्टी हर बड़ा फैसला जाति के हिसाब से ही लेती है। बिहार में भूमिहार वोट सिर्फ 6 फीसदी के करीब है, लेकिन इनका प्रभाव करीब 80 विधानसभा सीट और 10 लोकसभी सीट पर है। बीजेपी ने केंद्र में को कैबिनेट मंत्री बनाया है, जो भूमिहार बिरादरी से ही आते हैं। दरअसल जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह भी इसी बिरादरी से हैं और बिहार मंत्रिमंडल में नीतीश के सबसे करीबी मंत्री विजय चौधरी भी भूमिहार समाज से ही आते हैं। इसलिए बीजेपी ने अपने परंपरागत वोट बैंक को दिल्ली में गिरिराज और पटना में विजय सिन्हा वाला फॉर्मूला दिया है।सम्राट चौधरी को विधान परिषद में नेता बनाया गया है जो कुशवाहा बिरादरी से आते हैं। नीतीश खुद कुर्मी समाज से हैं और उन्होंने उपेंद्र कुशवाहा को अपनी पार्टी के संसदीय बोर्ड का चीफ बनाया है। बीजेपी अगड़ा-पिछड़ा समीकरण को बनाकर रखना चाहती है। इसलिए विधानसभा में भूमिहार तो विधान परिषद में कुशवाहा बिरादरी के नेता को फ्रंट लाइन में बिठाया गया है। बिहार में संजय जायसवाल प्रदेश अध्यक्ष हैं जो वैश्य समाज से आते हैं। इस तरह से वैश्य बिरादरी को भी साथ रखने की कोशिश होगी। केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय यादव बिरादरी से हैं और बीजेपी नेताओं का एक प्रभावशाली गुट इन्हें आगे रखकर अगली विधानसभा चुनाव लड़ना चहता है।बिहार में लोकसभा की 40 सीटे हैं। इसमें से बीजेपी के पास सत्रह और नीतीश कुमार के पास 16 सीटें हैं। 6 सीटें एलजेपी ने जीती थी और एक सीट कांग्रेस के पास है। बीजेपी इस बार कम से कम 30 सीटें लड़ना चाहती है। 2014 में जब नीतीश कुमार अकेले चुनाव लड़े तो सिर्फ 2 सीट जीत पाए थे। 2019 में नीतीश की पार्टी बीजेपी के साथ लोकसभा चुनाव लड़ी थी, अब 2024 में नीतीश कुमार की जेडीयू, तेजस्वी यादव की आरजेडी, लेफ्ट फ्रंट और जीतन राम मांझी की HUM सब एक साथ आ रहे हैं। बीजेपी के साथ सिर्फ एलजेपी के दोनों गुट दिखाई दे रहे हैं।अलग-अलग बिरादरी के परंपरागत वोटबैंक के नजरिए से देखें तो नीतीश और तेजस्वी का महागठबंधन भारी पड़ता दिखता है। लेकिन मोदी फैक्टर ऐसा है जहां जातियों वाला कैलकुलेटर कई बार बिगड़ जाता है। बीजेपी इस बार भी नरेंद्र मोदी को पिछड़ा समाज का प्रभावशाली प्रधानमंत्री के तौर पर प्रचारित करेगी और पिछड़े वोटर के लिए ये मान और स्वाभिमान दोनों का मसला है। इसलिए मोदी फैक्टर के सामने नीतीश और तेजस्वी फैक्टर कमजोर पड़ सकता है।(ये लेखक के निजी विचार है)

GDP वृद्धि दर दूसरी तिमाही में सुधरकर 6.2 प्रतिशत रहने की उम्मीद: FICCI सर्वेक्षण

वृद्धिदरदूसरीतिमाहीमेंसुधरकर62प्रतिशतरहनेकीउम्मीदFICCIसर्वेक्षणपंजाब के मेडिकल कॉलेज में फूटा 'कोरोना बम', 100 से ज्यादा छात्र और डॉक्टर हुए संक्रमित******Highlights के पटियाला में सरकारी मेडिकल कॉलेज के लगभग 100 से ज्यादा छात्र और रेजिडेंट डॉक्टर कोरोना से पॉजिटिव पाए गए हैं। अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी। जिला प्रशासन ने छात्रावास में रहने वाले सभी छात्रों को तत्काल अपने कमरे खाली करने को कहा है। कॉलेज में रिटायरमेंट और नव वर्ष की पार्टी को यहां कोरोना मामलों में बढ़ोतरी के लिए जिम्मेदार ठहराया जा रहा है।यह राज्य का दूसरा शिक्षण संस्थान है, जहां के मामलों में तेजी देखी गई है। इससे पहले, पटियाला में थापर इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी के 93 छात्र कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। कोविड -19 मामलों में बढोतरी के साथ, पंजाब ने मंगलवार को रात 10 बजे से सुबह बजे तक रोजाना राज्यव्यापी नाईट कर्फ्यू लगा दिया। 15 जनवरी तक सभी शैक्षणिक संस्थानों को बंद करने का आदेश दिया गया है।शिक्षण संस्थानों में स्कूल, कॉलेज, विश्वविद्यालय और कोचिंग संस्थान शामिल हैं। हालांकि, इन संस्थानों से ऑनलाइन शिक्षण के माध्यम से शैक्षणिक कार्यक्रम को बनाए रखने की उम्मीद की जाती है। हालांकि, मेडिकल और नर्सिंग कॉलेज सामान्य रूप से काम करना जारी रख सकते हैं।सरकार की तरफ से लिए गए फैसले में बार, सिनेमा हॉल, मॉल, रेस्तरां, स्पा को 50% क्षमता पर संचालित करने का नियम लागू किया गया है। वहीं जिम को पूरी तरह से बंद करने का फैसला लिया गया है। जिन लोगों ने कोविड वैक्सीन के दोनों टीके लगवा लिए हैं उन्हें ही सरकारी या प्राइवेट ऑफिस अटेंड करने की अनुमति है। पंजाब सरकार ने यह निर्णय कोरोना के बढ़ते संक्रमण और नए वेरिएंट से बचाव के एहतियात में लिया गया है।(इनपुट- एजेंसी)वृद्धिदरदूसरीतिमाहीमेंसुधरकर62प्रतिशतरहनेकीउम्मीदFICCIसर्वेक्षणहैकर्स ने वोडाफोन के 2000 ग्राहकों की व्यक्तिगत जानकारी चुराई, धोखाधड़ी की आशंका****** आपको जानकर हैरानी होगी कि हैकर्स ने टेलिकॉम सर्विस कंपनी वोडाफोन के लगभग 2000 ग्राहकों की व्यक्तिगत जानकारी इंटरनेट के जरिए हासिल कर ली है। इस जानकारी का इस्तेमाल किसी भी प्रकार के धोखाधड़ी के लिए की जाने की आशंका है।ये भी पढ़ें –इसकी जानकारी खुद वोडाफोन ने दी है। ऐसा माना जाता है कि इंटरनेट के जरिए धोखाधड़ी करने वालों ने 1,827 वोडाफोन मोबाइल फोन ग्राहकों के आनलाइन खातों तक पहुंचने के लिए डार्कवेब पर उपलब्ध पासवर्ड व यूजरनेम का इस्तेमाल किया। एक अंग्रेजी अखबार में छपी खबर के मुताबिक इन अपराधियों ने संभवत: उक्त ग्राहकों के नाम, उनके मोबाइल नंबर, बैंक कोड और बैंक खाता संख्या के अंतिम चार अंक हासिल कर लिए हैं।ये भी पढ़ें –अपराधियों ने इस घटना को पिछले बुधवार मध्यरात्रि और गुरूवार दोपहर के दौरान अंजाम दिया है। ब्रिटेन की राष्ट्रीय अपराध एजेंसी (एनसीए) इसकी जांच कर रही है। वोडाफोन ने एक बयान में कहा है, अपराधियों द्वारा हासिल की गई जानकारी से ग्राहकों के बैंक खातों तक सीधे नहीं पहुंचा जा सकता। हालांकि इस सूचना से 1827 ग्राहकों से धोखाधड़ी की आशंका है। ब्रिटेन में वोडाफोन के 1.8 करोड़ से अधिक ग्राहक हैं।

GDP वृद्धि दर दूसरी तिमाही में सुधरकर 6.2 प्रतिशत रहने की उम्मीद: FICCI सर्वेक्षण

वृद्धिदरदूसरीतिमाहीमेंसुधरकर62प्रतिशतरहनेकीउम्मीदFICCIसर्वेक्षणHappy Birthday Rani Mukerji: 16 साल की उम्र में सलीम खान ने रानी को ऑफर की थी ये फिल्म, इस वजह से किया मना******Highlightsशानदार एक्टिंग, आवाज़ और अपनी खूबसूरती से सालों से फैंस का दिल जीतने वाली एक्ट्रेस रानी मुखर्जी 21 मार्च को अपना 44वां जन्मदिन मना रही हैं। रानी ने अपने करियर में एक से बढ़कर फिल्में की हैं कभी बहू बनकर तो कभी मर्दानी का रोल निभाकर उन्होंने सबको चौंकाया। रानी मुखर्जी उन अभिनेत्रियों में से भी एक जिनकी ज्यादातर फिल्में हिट हुई हैं। उन्होंने बॉलीवुड के कई बड़े कलाकारों के साथ काम किया है। का जन्‍म 21 मार्च 1978 को मुंबई, महाराष्‍ट्र में हुआ था उनके पिता का नाम राम मुखर्जी और मां का नाम कृष्‍णा मुखर्जी है। फेमस डायरेक्टर अयान मुखर्जी और अभिनेत्री काजोल भी रानी के कज़िन ही हैं। रानी ने फिल्‍म निर्माता आदित्‍य चोपड़ा से शादी की है। दोनों की एक बेटी भी है। अपने फिल्मी करियर में रानी ने फिल्मों के साथ बहुत एक्सपेरिमेंट किया है। स्वीट, संस्कारी लड़की से लेकर डेयरिंग पुलिस, वकील के रोल में भी उन्होंने अपनी एक्टिंग से सबको इम्प्रेस किया है।रानी मुखर्जी ने 1996 में बंगाली फिल्म ‘बिएर फूल’ से करियर की शुरुआत की थी। हालांकि बॉलीवुड में उन्होंने इसी साल रिलीज हुई मूवी ‘राजा की आएगी बरात’ से कदम रखा था। आज भले ही उनकी आवाज लोगों को खूब पसेद आती हो, लेकिन एक समय था जब फिल्म निर्माता रानी की आवाज के चलते उन्हें रिजेक्ट कर देते थे। रानी मुखर्जी ने खुद एक इंटरव्यू में कहा था कि ‘गुलाम’ में आमिर खान, निर्देशक विक्रम भट्ट और निर्माता मुकेश भट्ट को लगा की उनकी असल आवाज किरदार को शोभा नहीं दे रही है इसलिए इस किरदार के लिए आवाज डब करवाई गई थी।साल 1998 में रिलीज हुई आई फिल्म ‘कुछ कुछ होता है' में जब ट्विंकल खन्ना ने टीना मल्होत्रा का किरदार करने से मना कर दिया, तब वही रोल रानी मुखर्जी के हिस्से में आया और यही से उनकी करियर की गाड़ी ने रफ्तार पकड़ ली।रानी को पहली बॉलीवुड फिल्म सलमान के पिता और राइटर सलीम खान ने उस वक्त ऑफर की थी, जब वे 10वीं क्लास में थीं। हालांकि, उनके पिता राम मुखर्जी ने यह कहकर ऑफर ठुकरा दिया की रानी अभी बहुत छोटी हैं। इस फिल्म का नाम था ‘आ गले लग जा’, जो 1994 में रिलीज हुई थी।राजा की आएगी बारात, गुलाम, कुछ कुछ होता है, हेलो ब्रदर, बिछू, चोरी चोरी चुपके चुपके, नायक, मुझसे दोस्ती करोगे, साथिया, चलते चलते, एल ओ सी कारगिल, युवा, हम तुम, वीर-ज़ारा, ब्लैक, बंटी और बबली, पहेली, कभी अलविदा न कहना, बाबुल, तालाश, मर्दानी, हिचकी और मर्दानी 2।कुछ कुछ होता है (1998), युवा (2004) और नो वन किल्ड जेसिका (2011) फिल्मों में अपनी भूमिकाओं के लिए, मुकर्जी ने सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री के लिए फिल्मफेयर पुरस्कार जीता। उन्होंने साथिया (2002) और ब्लैक (2005) में अपनी भूमिकाओं के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए फिल्मफेयर क्रिटिक्स अवार्ड भी जीता, और हम तुम (2004) और ब्लैक (2005) में उनकी भूमिकाओं के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का फिल्मफेयर पुरस्कार प्राप्त किया।

वृद्धिदरदूसरीतिमाहीमेंसुधरकर62प्रतिशतरहनेकीउम्मीदFICCIसर्वेक्षणशिवपाल यादव बोले- मुझे सपा के विधायक दल की बैठक में नहीं बुलाया गया, दो दिन से कर रहा था इंतजार******Highlightsसमाजवादी पार्टी (सपा) के विधायक शिवपाल सिंह यादव ने शनिवार को कहा कि उन्हें पार्टी के विधायक दल की महत्वपूर्ण बैठक में नहीं बुलाया गया। सपा के विधायक दल की बैठक में अखिलेश यादव को सर्वसम्मति से नेता चुना गया। शिवपाल ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘मुझे बैठक के बारे में कोई जानकारी नहीं है, मैंने सपा के नेताओं से संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन मुझे इसके बारे में कोई जानकारी नहीं मिली है।’’जसवंत नगर सीट से सपा विधायक शिवपाल ने कहा, ‘‘मैंने हमेशा कहा है कि मुझे जो भी जिम्मेदारी दी जाएगी, मैं उसके अनुसार काम करूंगा लेकिन मुझे विधायक दल की बैठक के लिए नहीं बुलाया गया था, हालांकि मैं सपा का विधायक हूं।’’ गौरतलब है कि शिवपाल ने सपा के चुनाव चिह्न पर चुनाव लड़ा था। शिवपाल ने 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले अपनी पार्टी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) बनाई थी।सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के छोटे भाई शिवपाल ने आगे कहा कि उन्होंने ‘साइकिल’ के चुनाव चिह्न पर चुनाव लड़ा और यहां तक कि करहल और कई अन्य जगहों पर पार्टी के लिए प्रचार भी किया। इसके बावजूद, उन्हें नहीं पता कि सपा के विधायक दल की बैठक के बारे में उन्हे सूचित क्यों नहीं किया गया।बैठक में शामिल नहीं होने के बारे में पूछे जाने पर शिवपाल ने कहा, ‘‘यह राष्ट्रीय नेतृत्व को समझना है कि उसे क्या करना है, मुझे कोई निमंत्रण या जानकारी नहीं मिली है।’’ शिवपाल ने आगे कहा, ‘‘फिलहाल, भविष्य के लिए मेरी कोई योजना नहीं है, मैं सपा के साथ-साथ अपनी पार्टी में अपने समर्थकों से बात करूंगा। मुझे अभी भविष्य के बारे में कुछ नहीं कहना है।’’वृद्धिदरदूसरीतिमाहीमेंसुधरकर62प्रतिशतरहनेकीउम्मीदFICCIसर्वेक्षणहरियाणा विधानसभा चुनाव 2019 LIVE Updates: करनाल में राजनाथ ने कहा, पाकिस्तान को मजबूत करते हैं कांग्रेस के बयान******के मुख्यमंत्री औरनेता, 2 बार मुख्यमंत्री रहचुकेनेता,(JJP) के नेता और पूर्व लोकसभा सांसदसमेतदमामदिग्गज इस बारहरियाणाकेमेंएक-दूसरेकोपटखनीदेनेकीकोशिशमें हैं।इनकेअलावाबहुजन समाज पार्टी और इंडियन नेशनल लोकदलभीपूरेदमखमके साथमैदानमें डटे हुए हैं।इतनेकद्दावरनेताजबचुनावीअखाड़े मेंउतरेंगेतोखबरेंभीभरपूरआएंगी,इसलिएसे जुड़ी हर छोटी-बड़ी खबर केबारेमेंजाननेके लिएहमारेसाथ बनेरहें:

वृद्धिदरदूसरीतिमाहीमेंसुधरकर62प्रतिशतरहनेकीउम्मीदFICCIसर्वेक्षणआखिर क्यों इन दिनों दवाब महसूस कर रही हैं अमायरा दस्तूर****** बॉलीवुड अभिनेत्री इन दिनों अपने शो 'द ट्रिप' के दूसरे सीजन को लेकर चर्चा में आ गई हैं। हालांकि इसे लेकर वह थोड़ी नर्वस भी हैं। दरअसल उनका कहना है कि वह 'द ट्रिप' के दूसरे सीजन में लीजा हेडन की जगह पर शामिल होने को लेकर नर्वस हैं। दरअसल पहले सीजन में लीजा के काम को काम को काफी पसंद किया था। अमायरा का कहना है कि शो के पहले सीजन में लीजा बेहतरीन प्रदर्शन कर चुकी हैं।मॉडल से अभिनेत्री बनीं अमायरा को 'द ट्रिप' के 4 मुख्य किरदारों में से एक के लिए लीजा की जगह चुना गया है। इसमें श्वेता त्रिपाठी, मल्लिका दुआ और सपना पब्बी भी प्रमुख भूमिकाओं में हैं। वेब सीरीज की शूटिंग जुलाई में शुरू होगी।अमायरा ने कहा, "मैं कुछ समय से वेब सीरीज करना चाहती थी और अब 'द ट्रिप' के साथ यह मौका मिलने पर मैं उत्साहित हूं। मैं थोड़ी नर्वस हूं क्योंकि यह दूसरा सीजन है और मैं दवाब महसूस कर रही हूं क्योंकि शो के पहले सीजन में लीजा ने शानदार काम किया था। चूंकि यह हिदी में कॉमेडी का मेरा पहला प्रयास है, इसलिए मैं लोगों को अपनी यह प्रतिभा दिखाने के लिए उत्साहित हूं।" सोनाम नायर द्वारा निर्देशित नए सीजन की कहानी का खुलासा होना बाकी है।वृद्धिदरदूसरीतिमाहीमेंसुधरकर62प्रतिशतरहनेकीउम्मीदFICCIसर्वेक्षणTerrorism In Karnataka: शिवमोगा में पुलिस ने ISIS टेरर मॉड्यूल का भंडाफोड़ कर किए चौंकाने वाले खुलासे, दो आरोपी गिरफ्तार******Highlightsकर्नाटक राज्य में ISIS टेरर मॉड्यूल केस को लेकर शिवमोगा (Shivamogga) जिले के SP ने चौंका देने वाले खुलासे किए हैं। सिटी के पुलिस अधीक्षक लक्ष्मी प्रसाद के मुताबिक इस केस में गिरफ्तार किए गए दोनों युवक हाइली रेडिक्लाइस्ड थे। जो इस सिद्धांत पर चल रहे थे अंग्रेजों से जो आजादी मिली थी वो असली आज़ादी नहीं है, असली आजादी तभी मिलेगी जब भारत में शरिया लॉ लागू होगा। पुलिस के मुताबिक इस केस में अब तक फरार मुख्य आरोपी शारीक़ ने जबीउल्लाह को तैयार किया गया था। अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए इन्होंने प्रायोगिक तौर पर बम धमाके की ट्रैनिंग भी ली। इसके लिए इन्होंने अमेजॉन से टाइमर और अन्य बम बनाने की सामग्री खरीदी और कुछ धमाकों को अंजाम दिया था।ऐसे हुई थी आरोपियों की गिरफ्तारीदरअसल 15 अगस्त को वीर सावरकर पोस्टर विवाद को लेकर शिवमोग्गा में बवाल हुआ था और एक हिंदू युवक प्रेम सिंह पर चाकू से जान लेवा हमला किया था इस मामले में शिवमोग्गा ग्रामीण पुलिस ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ी, शारिक नाम के एक व्यक्ति की भूमिका का खुलासा हुआ, और उसके सहयोगी माज और यासीन का नाम सामने आया। माज और शारिक 2020 मेंगलुरु ग्रैफिटी मामले में अरेस्ट हुए और जेल भी गए थे।आरोपी आतंकी गतिविधियों में थे शामिलपुलिस के मुताबिक बेल पर छूटने के इन्होंने प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (ISIS) की आतंकी गतिविधियों को आगे बढ़ाने का फैसला किया, देश की एकता, सुरक्षा और संप्रभुता को भंग करने के लिए एक साजिश रची, विस्फोटक इक्कठा करना शुरू किया और क्रिप्टो करेंसी से पेमेंट किया। पुलिस की जांच में ये बात भी सामने आई कि इन लोगों ने भारत के राष्ट्रीय ध्वज को भी जलाया था।ऐसे हुई थी इन आरोपियों की मुलाकातसैयद यासीन पीयूसी की पढ़ाई कर रहा था जब उसकी मुलाकात माज मुनीर अहमद से हुई, जो उसके साथ पढ़ रहा था, माज़ मुनीर अहमद के माध्यम से यासीन शारिक से परिचित हो गया, जब भी यासीन माज़ से मिला वो और शारिक, यासीन से जिहाद की बात करते थे। शारिक ने जिहाद से जुड़ी फ़ाइलें, वीडियो/ऑडियो और उनके चरमपंथ, कट्टरवाद, ISIS के कार्यों और अन्य आतंक से संबंधित लिंक यासीन को टेलीग्राम, सिग्नल, इंस्टाग्राम, वायर, एलीमेंट आदि जैसे मैसेंजर ऐप के माध्यम से भेजना शुरू कर दिया।जांच में बरामद हुए ये सामानमामले की जांच को आगे बढ़ाते हुए तीनों आरोपियों और उनके रिश्तेदारों के घरों सहित शिवमोग्गा शहर, मंगलुरु शहर और तीर्थहल्ली में 11 जगहों पर एक साथ तलाशी ली गई। इस तलाशी में कुल 14 मोबाइल और 1 डोंगल, 2 लैपटॉप, 1 पेन ड्राइव और अन्य इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स, विस्फोट स्थल पर मिले। वहीं प्रायोगिक बम के अवशेष जिनमें बम बनाने के लिए आवश्यक सामग्री - रिले सर्किट, बल्ब, माचिस, तार, बैटरी, विस्फोटक सामग्री आदि और आधा जला भारत का तिरंगा और भड़काऊ दस्तावेज मिले हैं। मुख्य आरोपी शारिक की सघनता से तलाश की जा रही है।

वृद्धिदरदूसरीतिमाहीमेंसुधरकर62प्रतिशतरहनेकीउम्मीदFICCIसर्वेक्षणAkshay Kumar की फ्लॉप फिल्मों का 'कठपुतली' के बजट पर पड़ा असर, महज़ इतने करोड़ में फाइनल हुई डील******Highlights: बॉलीवुड की फिल्में इस वक्त बुरे दौर से गुज़र रही हैं। सोशल मीडिया पर जो भी फिल्म रिलीज़ हो रही है उसे लेकर यूजर्स बायकॉट करने की मांग करने लगते हैं। इन सब चीज़ों का असर पूरी एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री पर पड़ रहा है। फिल्में फ्लॉप हो रही हैं। मेकर्स को भारी नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। कुछ ऐसा ही हाल है अक्षय कुमार (AKshay Kumar) की फिल्मों का।अक्षय कुमार (AKshay Kumar) की पिछली सभी फिल्में फ्लॉप साबित हुई हैं। एक्टर की बैक टू बैक तीन फिल्में बॉक्स ऑफिस पर फ्लॉप हुई हैं। बच्चन पांडे (Bachchhan Paandey), सम्राट पृथ्वीराज (Samrat Prithviraj) और फिर रक्षा बंधन (Raksha Bandhan) ने अक्षय कुमार की उम्मीदों के साथ-साथ उनका फीस का बजट भी हिलाकर रख दिया है। आलम ये है कि अब मेकर्स अक्षय के साथ फिल्में करने से पहले कई बार सोच-विचार करने पर मजबूर हैं।ऐसे में खिलाड़ी कुमार की अपकमिंग फिल्म कठपुतली (Cuttputlli) रिलीज के लिए तैयार है। फिल्म की कहानी सीरियल किलर मर्डर मिस्ट्री पर बेस्ड है। इस फिल्म को रंजीत एम तिवारी (Ranjit M Tewari ) ने डायरेक्ट किया है, जो इससे पहले अक्षय के साथ फिल्म बेल बॉटम (Bell Bottom) कर चुके हैं।अक्षय कुमार की फिल्म कठपुतली (Cuttputlli) 2 सितंबर को डिज्नी प्लस हॉटस्टार पर रिलीज होगी। मिली जानकारी के अनुसार मेकर्स ने फिल्म के OTT राइट्स पहले ही सेल कर दिए हैं। खबरें है किफिल्म के डायरेक्ट ओटीटी रिलीज के लिए 180 करोड़ रुपये की डील हुई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि 135 करोड़ रुपये फिल्म के लिए और 45 करोड़ रुपये म्यूजिक आदि के लिए चार्ज किए गए हैं।अक्षय कुमार की तीन फिल्मों के फ्लॉप होने का असर उनकी आने वाली फिल्मों पर भी पड़ सकता है। एक्टर सालभर फिल्में करने के लिए जाने जाते हैं और इस बात में कोई शक भी नहीं है। खिलाड़ी कुमार के पास फिलहाल फिल्मों की लाइन लगी हुई है। वर्क फ्रंट की बात करें तो अक्षय के पास अभी 'जॉली एलएलबी 3' के साथ ही 'गोरखा', 'राम सेतु', 'सेल्फी', 'मिशन सिंड्रेला' और 'कैप्सूल गिल' जैसी फिल्में हैं। वहीं, अक्षय कुमार फिल्म 'द एंड' से डिजिटल डेब्यू करने वाले हैं।वृद्धिदरदूसरीतिमाहीमेंसुधरकर62प्रतिशतरहनेकीउम्मीदFICCIसर्वेक्षणIFFM 2022: रणवीर सिंह को फिल्म '83' के लिए मिला एक्टर ऑफ द ईयर का अवार्ड, फैंस बोले 'आप डिजर्व करते हैं'******Highlightsरणवीर सिंह ने जब से न्यूड फोटोशूट करवाया था तब से वह और भी ज्यादा चर्चा में हैं। वहीं रणवीर सिंह को लेकर एक अच्छी खबर आई है। फ़िल्म '83' में भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान कपिल देव की भूमिका में अपने करियर का बेस्ट परफॉर्मेंस देने वाले बॉलीवुड सुपरस्टार रणवीर सिंह को प्रतिष्ठित इंडियन फ़िल्म फेस्टिवल ऑफ मेलबर्न (IIFM) में बेस्ट एक्टर ऑफ द ईयर का अवार्ड मिला है।कबीर खान द्वारा निर्देशित '83' की रिलीज के बाद से ही अपनी बेहतरीन परफॉर्मेंस से रणवीर ने अवॉर्ड फंक्शन में अपना जलवा बिखेरा है। उनका कहना है कि '83' उनकी शानदार फिल्मोग्राफी में हमेशा सबसे अधिक पसंद की जाने वाली फिल्मों में से एक रहेगी। ओमिक्रॉन जब पीक पर था उस वक्त '83' को 12.64 करोड़ की ओपनिंग मिली और भारत में इसने कुल 110 करोड़ रुपये का कलेक्शन किया। '83' का कुल ग्लोबल कलेक्शन 200 करोड़ का है। कोविड महामारी के बाद के बॉलीवुड फिल्मों के परिणामों को देखते हुए, '83' का बॉक्स ऑफिस रिजल्ट अभी भी बॉलीवुड के लिए एक बहुत बड़ा प्लस है।रणवीर कहते हैं, "मैं IFFM के सभी जूरी मेंबर्स को धन्यवाद देना चाहता हूं, जिन्होंने मेरे करियर की बेहतरीन फ़िल्म '83' में कपिल देव की भूमिका के लिए बेस्ट एक्टर ऑफ द ईयर का अवार्ड दिया। यह हमेशा मेरी फिल्मोग्राफी की सबसे पसंदीदा फिल्मों में से एक रहेगी।" उन्होंने कहा, "लेकिन तारीफों से ज्यादा, फ़िल्म को बनाने के प्रोसेस को मैं हमेशा संजो कर रखूंगा। मुझे यह मौका देने के लिए, मुझे गाइड करने के लिए और अपनी लीडरशिप से मुझे प्रेरित करने के लिए मैं कबीर सर का आभारी हूं। इस सम्मान को मैं '83' की कास्ट एंड क्रू के साथ शेयर करता हूं जो मेरे लिए बहुत प्रिय है।रणवीर इस सम्मान को कपिल देव की विश्व कप विजेता टीम के हर सदस्य को समर्पित करते हैं। वे कहते हैं, "मैं यह सम्मान कपिल के डेविल्स को समर्पित करता हूं, जो सपने देखने की हिम्मत करने वाले जेंटलमेन का एक बेहतरीन ग्रुप है, जिन्होंने अपनी कोशिशों और उपलब्धियों के जरिए हमें दिखाया कि हम भारतीय दुनिया में बेस्ट हो सकते हैं।"किरदार में समा जाने की अपनी असाधारण खासियत की वजह से रणवीर को सर्वसम्मति से उनकी पीढ़ी का बेस्ट एक्टर समझा जाता है। 'बैंड बाजा बारात' में अपनी डेब्यू से लेकर 'लुटेरा' और 'बाजीराव मस्तानी' तक, 'पद्मावत' से 'सिम्बा' तक, 'गली बॉय' से '83' तक - रणवीर ने पिछले 10 वर्षों में भारतीय सिनेमा के इतिहास में सबसे शानदार परफॉर्मेंसेज दी हैं।हाल ही में जारी IIHB TIARA रिसर्च में, रणवीर देश के कूलेस्ट सुपरस्टार की लिस्ट में सबसे ऊपर हैं। यह एक बहुत ही अहम ब्रांड एट्रिब्यूट है जो उन्हें ब्रांड एंडोर्समेंट स्पेस में सबसे अधिक मांग वाला चेहरा बनाती है। इसी रिसर्च के अनुसार रणवीर बॉलीवुड में ट्रेंडिएस्ट सुपरस्टार होने के मामले में भी टॉप पर हैं। वर्तमान में रणवीर की ब्रांड वैल्यू 158 मिलियन अमरीकी डालर है, जो 2020 की उनकी 102.93 मिलियन अमरीकी डालर की ब्रांड वैल्यूएशन में अच्छी ग्रोथ को दर्शाता है। वह वर्तमान में भारत के मोस्ट वैल्यूड फ़िल्म पर्सनालिटी हैं।आपको बता दें कि रणवीर सिंह इन दिनों अपनी आगामी फिल्म 'रॉकी और रानी की प्रेम कहानी' की शूटिंग में बिजी हैं। इस फिल्म में एक बार फिर वह आलिया भट्ट के साथ नजर आएंगे। रोहिट शेट्टी की सर्कस और सिंबा 2 में नजर आने वाले हैं। हाल ही में वह आलिया के साथ 'कॉफी विद करण 7' में मेहमान बनकर पहुंचे थे।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 05:27
उद्धरण 1 इमारत
बिहार में शराब पीने वाले नहीं जाएंगे जेल, बशर्ते बताना होगा शराब खरीदने का माध्यम****** शराबबंदी वाले राज्य में अब शराब पीकर पकड़े जाने पर अब आप जेल जाने से बच सकते हैं। इसके लिए लेकिन आपको उन तस्करों और कारोबारियों के विषय में बताना होगा, जहां से आपने शराब खरीदी थी। मद्य निषेध एवं उत्पाद विभाग के सूत्रों के मुताबिक सोमवार को विभागीय बैठक में ऐसा निर्णय लिया गया है। सूत्रों का कहना है कि जेलों में कैदियों की संख्या में हो रही वृद्धि के कारण सरकार को ऐसा निर्णय लेना पड़ा है।मद्य निषेध एवं उत्पाद विभाग के संयुक्त आयुक्त कृष्ण कुमार ने सोमवार को पटना में पत्रकारों से चर्चा करते हुए इसकी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि शराब पीने वाले व्यक्ति अगर पकड़े जाते हैं, तो वैसी स्थिति में अब जेल नहीं भेजा जाएगा। बशर्ते शराब पीने वाला व्यक्ति शराब के स्रोत की जानकारी दे दे। यानी यह बता दे कि उसे शराब कहां और किससे शराब मिली। इसके बाद अगर पुलिस या उत्पाद विभाग की कार्रवाई में बताई गई जगह से शराब बरामद हो जाती है या शराब बेचने वाला पकड़ा जाता है, तो शराब पीने वाले को जेल नहीं भेजा जाएगा।उन्होंने स्वीकार भी किया कि ऐसा फैसला लेने का कारण कैदियों की संख्या बढ़ना बताता है। उन्होंने कहा कि अब तक ऐसे मामलों में 3.50 लाख से 3.75 लाख तक लोग जेल भेज दिए हैं। उन्होंने यह भी कहा कि विभाग का मानना है कि ऐसे पकड़े गए लोगों को सुधारा जा सकता है, जबकि माफियाओं को इसका डर भी होगा कि अब वे भी पकड़े जा सकते हैं।उन्होंने कहा कि इसका उद्देश्य शराब के अवैध कारोबार की जड़ तक पहुंचना है। शराब के विरुद्ध अभियान में जेल जाने वालों में शराब पीने वालों की संख्या अधिक थी। नए निर्देश का मकसद शराब बेचने वालों को जेल भेजना है।उल्लेखनीय है कि शराब तस्करी रोकने के लिए विभाग ड्रोन और हेलीकॉप्टर तक इस्तेमाल कर रहा है।(इनपुट- एजेंसी)
2022-10-01 03:27
उद्धरण 2 इमारत
रेनो इंडिया ने लॉन्‍च की नई क्विड, कीमत है इसकी 2.67 लाख रुपए से शुरू******renault kwidफ्रांस की कार निर्माता कंपनी रेनो ने सोमवार को अपनी छोटी कार का नया संस्करण भारतीय बाजार में पेश किया है। कंपनी ने अपने सुरक्षा मानकों को बेहतर बनाते हुए इस मॉडल को भारत में पेश किया है। दिल्ली में इसकी एक्स-शोरूम कीमत 2.67 से 4.63 लाख रुपए के बीच है। कंपनी ने एक विज्ञप्ति में जानकारी दी कि नई क्विड में 0.8 लीटर और एक लीटर के पेट्रोल इंजन का विकल्प है। इसमें मैनुअल और ऑटोमेटेड ट्रांसमिशन का भी विकल्प मौजूद है।इसमें पैदलयात्रियों की सुरक्षा से जुड़े फीचर के साथ-साथ एंटी-लॉक ब्रेकिंग और इलेक्ट्रॉनिक ब्रेकफोर्स वितरण प्रणाली लगी है। इसमें ड्राइवर सीट के लिए एयरबैग और ड्राइवर एवं उसके साथी की सीट बेल्ट लगाने के लिए अलर्ट और स्‍पीड अलर्ट की सुविधा स्‍टैंडर्ड के तौर पर सभी वेरिएंट्स में उपलब्‍ध कराई गई है। इसके अलावा नई क्विड में 17.64 सेंटीमीटर का टचस्क्रीन मीडिया और नेवीगेशन सिस्‍टम भी दिया गया है, जो एंड्रॉयड और एप्‍पल कारप्‍ले दोनों के लिए संगत है और इसमें पुश टू टॉक फीचर भी दिया गया है। क्विड रेनो के लिए भारत में सबसे सफल मॉडल्‍स में से एक है और इसकी अब तक 2.75 लाख यूनिट बिक चुकी हैं।
2022-10-01 03:22
उद्धरण 3 इमारत
20 फीसदी घटी नेचुरल गैस की कीमतें****** सरकार ने नेचुरल गैस की कीमतों में 20 फीसदी की कटौती कर दी है। इससे सीएनजी और पीएनजी के दाम घटने की संभावना बढ़ गई है। नेचुरल गैस का दाम 3.82 डॉलर प्रति दस लाख ब्रिटिश थर्मल यूनिट (एमएमबीटीयू) से घटकर 3.15 डॉलर हो गई है। नई कीमतें एक अप्रैल से सितंबर तक लागू रहेंगी। केन्द्र की नेशनल डेमोक्रेटिक अलायंस (एनडीए) सरकार द्वारा अक्टूबर 2014 में तय फार्मूले के मुताबिक गैस के दाम में हर छह महीने में संशोधन होगा और इस लिहाज से अगला बदलाव एक अप्रैल को होना है।पेट्रोलियम मंत्रालय ने गुरुवार को संशोधित दाम की घोषणा की। एक अप्रैल 2016 से नेचुरल गैस का दाम कम होकर 3.15 डॉलर प्रति एमएमबीटीयू होगा। यह दाम 30 सितंबर 2016 तक लागू रहेगा। फार्मूले के मुताबिक दाम प्रत्येक छमाही आधार पर तय किये जायेंगे। दाम की गणना दुनिया के प्रमुख गैस उत्पादक देश अमेरिका, कनाडा और रूस के औसत दाम के आधार पर की जायेगी। जिस छमाही के लिये दाम तय किया जायेगा उससे इन देशों के तीन माह पहले एक साल के औसत मूल्य के आधार पर गैस का दाम तय किया जायेगा।इस फार्मूले के मुताबिक अप्रैल 2016 से सितंबर 2016 छमाही के लिए तीन माह पहले समाप्त हुए एक साल यानी एक जनवरी से 31 दिसंबर 2015 की अवधि के औसत बेंचमार्क दाम के आधार पर गैस का मूल्य 3.15 डॉलर प्रति एमएमबीटीयू होगा। इसका मौजूदा मूल्य 3.82 डॉलर प्रति एमएमबीटीयू है। विशुद्ध क्लोरिफिक मूल्य के आधार पर गैस का दाम 3.50 डॉलर रह सकता है जबकि इस समय यह 4.24 डॉलर प्रति एमएमबीटीयू है।
वापसी