नई पोस्ट करें

IPL 2021 की तैयारी के लिए क्वारंटीन में गए केकेआर के खिलाड़ी, शेयर की तस्वीरें

2022-10-01 06:22:27 027

कीतैयारीकेलिएक्वारंटीनमेंगएकेकेआरकेखिलाड़ीशेयरकीतस्वीरेंTS Singhdeo: 'मैं शायद कारगर नहीं था, इस वजह से छोड़ा पद', इस्‍तीफे के बाद टीएस सिंहदेव का बड़ा बयान******Highlightsछत्तीसगढ़ में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मंत्री ने कहा कि उन्होंने पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की ओर से कामकाज नहीं किए जाने की जिम्मेदारी लेते हुए इस विभाग के प्रभार से त्याग पत्र दिया है और पूछा कि यह ‘अनुशासनहीनत’ कैसे है? सिंहदेव ने सोमवार को कहा कि उनका दिल्ली जाने का कार्यक्रम है और उन्होंने आलाकमान से मिलने का समय मांगा है। उन्होंने कहा, “यदि मुलाकात होगी तब वर्तमान घटनाक्रम की जरूर बात होगी।'' इस्‍तीफे के सवाल पर सिंहदेव ने कहा, विभाग में शायद मैं कारगर नहीं हो रहा था। उन्‍होंने कहा, शायद मैं मंत्री ना रहूं तो बेहतर काम हो।सिंहदेव से पूछा गया कि क्या उन्होंने जो भी किया उसे वह अनुशासनहीनता मानते हैं, तो उन्होंने कहा, ''अपनी बात रखना अनुशासनहीनता कैसे होगी? केंद्र के मंत्री आकर मनरेगा और प्रधानमंत्री आवास को लेकर टिप्पणी करते हैं कि इसमें काम नहीं हुआ है। तब इसकी जिम्मेदारी मैंने अपने ऊपर ली है और विभाग से त्यागपत्र दिया है। इसमें अनुशासनहीनता कैसी?...मैंने तो सरकार का ही बचाव किया है। यदि मेरे विभाग में काम नहीं हो रहा है तब उसकी जिम्मेदारी मैंने ली है।''मुख्यमंत्री ने रविवार को संवाददाताओं से बातचीत के दौरान कहा था कि उन्हें सिंहदेव की ओर से त्यागपत्र देने की कोई जानकारी नहीं है। इस पर सिंहदेव ने कहा कि शनिवार को त्याग पत्र भेजा गया था, लेकिन मुख्यमंत्री का दफ्तर बंद होने की वजह से इसे ई-मेल किया गया और बाद में फिर से पत्र वाहक के हाथ इस्तीफा भेजा गया। मंत्री ने बताया, ''त्यागपत्र देने के बाद मुख्यमंत्री जी से आज विधानसभा में मुलाकात हुई लेकिन इस विषय पर कोई चर्चा नहीं हुई है। न ही उनका फोन आया है।'' जब उनसे पूछा गया कि क्या इस विषय पर मुख्यमंत्री से बात हो सकती है तब उन्होंने कहा कि बेहतर ​परिस्थिति की गुंजाइश हमेशा बनी रहती है।मुख्यमंत्री के साथ कथित मनमुटाव के बाद सिंहदेव ने शनिवार को पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग से इस्तीफा दे दिया था। राज्य में सिंहदेव के इस्तीफे के बाद नए राजनीतिक हालात के बारे में जब रविवार को मुख्यमंत्री से पूछा तो उन्होंने कहा कि उन्हें मीडिया के माध्यम से मंत्री के इस्तीफे की जानकारी मिली है और त्याग पत्र मिलने के बाद वह इस पर विचार करेंगे। वहीं कांग्रेस के छत्तीसगढ़ मामलों के प्रभारी पुनिया ने कहा था कि उन्होंने इस मुद्दे पर पार्टी महासचिव के सी वेणुगोपाल, राज्य के मुख्यमंत्री बघेल और सिंहदेव से बात की है। पुनिया ने कहा कि सिंहदेव ने मुख्यमंत्री से उन्हें पंचायत विभाग के प्रभार से मुक्त करने का अनुरोध किया है और बघेल को अनुरोध पत्र मिलने के बाद इस मुद्दे का समाधान किया जाएगा।मुख्यमंत्री बघेल को भेजे अपने त्यागपत्र में सिंहदेव ने कहा है, ''जन-घोषणा पत्र की विचारधारा के अनुरूप महत्वपूर्ण विषयों को दृष्टिगत रखते हुए, मेरा यह मत है कि विभाग के सभी लक्ष्यों को समर्पण भाव से पूर्ण करने में वर्तमान परिस्थितियों में स्वयं को असमर्थ पा रहा हूं। अतएव पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के भार से मैं अपने आप को अलग कर रहा हूं। आपने मुझे शेष जिन विभागों की जिम्मेदारी दी है, उन्हें अपनी पूर्ण क्षमता और निष्ठा से निभाता रहूंगा।'' सिंहदेव ने त्यागपत्र में राज्य में प्रधानमंत्री आवास योजना की स्थिति, विभाग और शासन के कामकाज, पंचायत विस्तार (अनुसूचित क्षेत्र) अधिनियम (पेसा कानून) को लेकर बनाए गए नियमों में बदलाव और मनरेगा का कार्य करने वाले रोजगार सहायकों की हड़ताल से उपजी स्थिति के संबंध में चिंता जाहिर की है।सिंहदेव के इस्तीफे के बाद रविवार शाम को मुख्यमंत्री के सरकारी निवास पर विधायक दल की बैठक हुई थी। इस बैठक में सिंहदेव मौजूद नहीं थे। कांग्रेस के नेताओं के मुताबिक बैठक में विधायकों ने सिंहदेव के इस कदम पर नाराजगी जताई थी। कांग्रेस विधायक दल की लगभग 2 घंटे तक चली बैठक के बाद राज्य के कृषि मंत्री रविंद्र चौबे ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि अधिकांश विधायकों ने सिंहदेव के त्याग पत्र पर सवाल उठाए हैं। मंत्री ने बताया, ''कांग्रेस विधायक दल की बैठक के दौरान विधायकों ने पार्टी के राज्य प्रभारी पीएल पुनिया के सामने अपनी बात रखी। पुनिया जी आलाकमान के प्रतिनिधि हैं।”

कीतैयारीकेलिएक्वारंटीनमेंगएकेकेआरकेखिलाड़ीशेयरकीतस्वीरेंTips To Get rid of Cockroach: घर के किसी भी कोने में नज़र नहीं आएगा कॉकरोच, बस आज़माकर देखें ये तरीका******: मानसून आते ही हमारे आसपास मक्खी, मच्छर , कॉकरोच और बारिश में पाए जाने वाले कीड़ों की संख्या काफी बढ़ जाती है। मक्खी और मच्छर से तो इंसान फिर भी लड़ ले, लेकिन कॉकरोच को देखकर एक बार के लिए तो सभी डर जाते हैं। हालांकि गर्मी के मौसम में कॉकरोच ज्यादा पनपते हैं। कॉकरोच गंदगी के साथ-साथ बीमारियां भी फैलाते हैं। वैसे तो कॉकरोच घर के कोने-कोने में नजर आ जाते हैं, लेकिन इनका असली मकसद घर की रसोई में अपना ठिकाना बनाना होता है।यूं तो कॉकरोच किसी पर हमला या फिर किसी को भी काटता नहीं है। लेकिन अपने शरीर के जरिए ये कीड़ा कई सारे हानिकारक और विषैले बैक्टीरिया फैलाताहैं। अक्सर लोग घर से कॉकरोच भगाने या फिर इनका पूरी तरह से सफाया करने के लिए तरह-तरह की दवाईयों का इस्तेमाल करते हैं। बाज़ारों से जाकर इन्हें मारने की दवा भी लाते हैं। लेकिन फिर कुछ दिनों बाद कॉकरोच फिर से नजर आने लगते हैं। ऐसे में आज हम आपके लिए कुछ घरेलू नुस्खें लेकर आए हैं। जिनके इस्तेमाल से कॉकरोच भी भाग जाएंगे और घर के लोगों पर भी इसका कोई गलत प्रभाव नहीं होगा।लौंग का आयुर्वेद में काफी महत्व माना गया है। लौंग का इस्तेमाल पूजा-पाठ , दवाई और खाने को स्वादिष्ट बनाने के लिए किया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं लौंग का उपयोग कॉकरोच भगाने में भी किया जाता है। सही सुना आपने, लौंग की तेज महक से कॉकरोचों को भगाया जा सकता है। आप लौंग को घर के हर कोनों में रख दें। किचन से लेकर कमरे के हर कोने में लौंग की कुछ कलियां रखने के बाद आप देखेंगे कि इसकी महक से कॉकरोच भागने लगेंगे।हालांकि आपको इन्हें हर दिन बदल-बदलकर रखना होगा। साथ ही उन जगहों की सफाई भी अच्छे से करनी होगी। ताकि एक बार बागने के बाद दोबारा गंदगी देख कॉकरोच वापस न आ जाएं। रोजाना ऐसा करने से कुछ दिनों में आप देखेंगे कि घरों में कॉकरोच का घूमना बंद हो गया है।कीतैयारीकेलिएक्वारंटीनमेंगएकेकेआरकेखिलाड़ीशेयरकीतस्वीरेंDelhi News: दिल्ली में अब संपत्ति खरीदना हो सकता है महंगा, हस्तांतरण शुल्क एक प्रतिशत बढ़ाने का हुआ फैसला******Highlights दिल्ली में अब संपत्तियां खरीदना महंगा हो सकता है क्योंकि एकीकृत दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) ने राष्ट्रीय राजधानी में 25 लाख रुपये से अधिक की संपत्ति की खरीद पर हस्तांतरण शुल्क एक प्रतिशत बढ़ाने का फैसला किया है। आधिकारिक सूत्रों ने बुधवार को यह जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि बढ़ोतरी के बाद पुरुषों के लिए स्थानांतरण शुल्क चार प्रतिशत और महिलाओं के लिए तीन प्रतिशत हो जाएगा।वर्तमान में राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में संपत्ति की बिक्री और खरीद पर हस्तांतरण शुल्क पुरुषों के लिए तीन प्रतिशत और महिलाओं के लिए दो प्रतिशत है। मंगलवार को हुई एक बैठक में यह फैसला किया गया, जिसमें हस्तांतरण शुल्क में एक प्रतिशत की बढ़ोतरी करने का प्रस्ताव पेश किया गया था। प्रस्ताव दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) के विशेष अधिकारी द्वारा पारित किया गया था, जिन्हें नया सदन चुने जाने तक निगम को चलाने का अधिकार दिया गया है।25 लाख रुपये से अधिक की संपत्तियों पर हस्तांतरण शुल्क बढ़ाआधिकारिक सूत्रों ने बताया, ‘‘स्थायी समिति के तौर पर विशेष अधिकारी के समक्ष 25 लाख रुपये से अधिक मूल्य की संपत्तियों पर हस्तांतरण शुल्क में एक प्रतिशत की वृद्धि करने का प्रस्ताव रखा गया था। प्रस्ताव को एसओ (विशेष अधिकारी) ने मंजूरी दे दी। बढ़ोतरी के बाद पुरुषों के लिए स्थानांतरण शुल्क चार प्रतिशत और महिलाओं के लिए तीन प्रतिशत हो जाएगा।’’

IPL 2021 की तैयारी के लिए क्वारंटीन में गए केकेआर के खिलाड़ी, शेयर की तस्वीरें

कीतैयारीकेलिएक्वारंटीनमेंगएकेकेआरकेखिलाड़ीशेयरकीतस्वीरेंअमिताभ बच्चन के ब्लॉग ने पूरे किए 12 साल, कहा-एक भी दिन चूके बिना हर रोज लिखता हूं******मेगास्टार बॉलीवुड के उन चुनिंदा कलाकारों में से हैं, जो सोशल मीडिया पर अकसर काफी सक्रिय रहते हैं और इसके माध्यम से अपने तमाम विचारों को साझा करते रहते हैं। अमिताभ नियमित रूप से ब्लॉग भी लिखते रहते हैं और आज वह इसी की बारहवीं सालगिरह मना रहे हैं। यानि कि आज से बारह साल पहले ही उन्होंने अपने ब्लॉग लिखने की शुरुआत की थी। इंस्टाग्राम पर उन्होंने अपनी तस्वीरों के एक कोलाज को साझा कर इसकी जानकारी दीं।अपने पोस्ट के कैप्शन में उन्होंने लिखा, "आज मेरे ब्लॉग के 12 साल पूरे हुए..17 अप्रैल 2008 को इसकी शुरूआत हुई थी..आज 4424वां दिन है यानि कि मेरे ब्लॉग लिखने के चार हजार चार सौ चौबीस दिन..एक भी दिन चूके बिना मैं हर रोज लिखता हूं..! आप सभी को धन्यवाद..आपके प्यार व आपके बिना यह संभव नहीं हो पाता।"अमिताभ के इस पोस्ट को टाइगर श्रॉफ, भूमि पेडनेकर, अर्जुन कपूर सहित अब तक 194,255 लोग लाइक कर चुके हैं और यह क्रम निरंतर जारी है।कीतैयारीकेलिएक्वारंटीनमेंगएकेकेआरकेखिलाड़ीशेयरकीतस्वीरेंJohnson Baby का पाउडर पूरी दुनिया से होने जा रहा था बंद, फिर भारत में उससे पहले ही लाइसेंस क्यों रद्द कर दिया गया?******Highlights के ने जन स्वास्थ्य के हित में जॉनसन एंड जॉनसन प्राइवेट लिमिटेड का बेबी पाउडर निर्माण लाइसेंस रद्द कर दिया है। एक प्रेस रिलीज कर इसकी जानकारी दी गई है। राज्य सरकार की एजेंसी ने शुक्रवार को जारी एक प्रेस रिलीज में कहा कि कंपनी का प्रोडक्ट जॉनसन बेबी पाउडर नवजात शिशुओं की स्किन को प्रभावित कर सकता है। रेगुलेटर ने कहा कि शिशुओं के लिए पाउडर के नमूने लैब जांच के दौरान मानक पीएच मान के अनुरूप नहीं थे।प्रेस रिलीज में कहा गया है कि कार्रवाई कोलकाता स्थित केंद्रीय औषधि प्रयोगशाला(Central Pharmaceutical Laboratory) की निर्णायक रिपोर्ट के बाद की गई थी, जिसमें बताया गया था कि पाउडर का नमूना पीएच जांच के संबंध में आईएस 5339:2004 के अनुरूप नहीं है।प्रेस रिलीज के मुताबिक, FDA ने गुणवत्ता जांच के उद्देश्य से पुणे और नासिक से जॉनसन के बेबी पाउडर के नमूने लिए थे। सरकारी एनालिसिस्ट ने पाउडर के नमूनों को मानक गुणवत्ता के अनुरूप नहीं होना बताया था क्योंकि वे पीएच जांच में शिशुओं के त्वचा पाउडर के लिए आईएस 5339:2004 की विशिष्टता का पालन नहीं करते हैं। इसके बाद FDA ने जॉनसन एंड जॉनसन को Drugs and Cosmetics Act-1940 और नियमों के तहत एक कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। इसके अलावा कंपनी को यह आदेश भी दिया है कि इस प्रोडक्ट का सारा स्टॉक बाजार से वापस बुलाया जाए। जॉनसन एंड जॉनसन कंपनी ने सरकारी एनालिसिस्ट की रिपोर्ट को स्वीकार नहीं किया और इसे में भेजने के लिए कोर्ट में चुनौती दी है।12 अगस्त को कंपनी ने कहा था कि 2023 से दुनिया भर में का बेबी पाउडर (Baby Powder) बंद हो जाएगा। कंपनी का कहना है कि वो कानूनी लड़ाई से थक चुकी है। इसलिए वह अपने बेबी टैल्कम पाउडर के प्रोडक्शन पर रोक लगाने जा रही है।कंपनी के उपर आरोप है कि उसका बेबी पाउडर कैंसर का कारण बन रहा है। ऐसा उसके उपर सिर्फ एक देश में आरोप नहीं लगा है। दुनियाभर में हजारों केस दायर हुए हैं। जब कंपनी के उपर कैंसर होने के आरोप के बाद रिपोर्ट सामने आया तो कंपनी की सेल पर भी असर पड़ा और भारी गिरावट देखने को मिली। कंपनी अब टैल्क बेस्ड पाउडर की बदले कॉर्न स्टार्च बेस्ड पाउडर मार्केट में लाएगी।टैल्क जमीन के अंदर पाया जाता है। यह पूर्ण रुप से प्राकृतिक होता है। इसमें मैग्नीशियम, सिलिकॉन, हाइड्रोजन और ऑक्सीजन होता है। अगर आप उसके रासायनिक रुप को देखेंगे तो आपको उसमें मैग्नीशियम सिलिकेट नजर आएगा, जिसका केमिकल फॉर्मूला Mg3Si4O10(OH)2 है। आपको बता दें कि इसका इस्तेमाल नमी सोखने में भी किया जाता है। यह कॉस्मेटिक्स और पर्सनल केयर बनाने में भी यूज होता है।टैल्क जमीन की खुदाई करने के बाद मिलता है, जहां पर इसके लिए खुदाई की जाती है, वहीं पर एस्बेस्टस भी पाया जाता है। एस्बेस्टस से कैंसर होने का खतरा होता है। अब दोनों आस-पास ही पाए जाते हैं। इसलिए कंपनी के उपर ये आरोप लगाया जा रहा है कि उसके टैल्क बेस्ड पाउडर में भी एस्बस्टस है, जो कैसर को जन्म दे रहा है। हालांकि कंपनी इसे सुरक्षित बता रही है। उसका कहना है कि वह रिसर्च करने के बाद इसे तैयार करती है।कीतैयारीकेलिएक्वारंटीनमेंगएकेकेआरकेखिलाड़ीशेयरकीतस्वीरेंभारत में इस साल इंटरनेट ग्राहकों की संख्या 50 करोड़ के पार होगी: प्रसाद****** दूरसंचार मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने आज कहा कि देश में इंटरनेट ग्राहकों की संख्या इस साल 50 करोड़ पहुंच सकती है। डिजिटल देश ड्राइव 2.0 की शुरुआत करते हुए प्रसाद ने कहा, भारत में इंटरनेट उपयोग करने वालों की संख्या बढ़कर करीब 40 करोड़ पहुंच गई है। अगर हम ट्राई के आंकड़ें को देखे तो यह 33.2 करोड़ के आसपास है। सेवा प्रदाताओं के अनुसार यह संख्या 40.2 करोड़ पहुंच गई है। 2017 तक इनकी संख्या 50 करोड़ होगी। मुझे लगता है कि यह इसी साल हो सकता है। उन्होंने कहा कि भारत में मोबाइल ग्राहकों की संख्या 100 करोड़ के पार पहुंच गई है।लोकसभा में उनके द्वारा पेश आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार फरवरी के अंत में जीएसएम प्रौद्योगिकी आधारित मोबाइल ग्राहकों की संख्या 98.2 करोड़ हो गई, जबकि सीडीएमए नेटवर्क पर ग्राहकों की संख्या 4.45 करोड़ थी। प्रसाद ने कहा, आईटी और संचार मंत्री बनने के बाद मुझे वास्तव में एक अलग भारत का अनुभव हुआ।भारत बड़ी डिजिटल क्रांति के मुहाने पर है। भारतीय पहले प्रौद्योगिकी को देखते हैं, उसके बाद प्रौद्योगिकी अपनाते हैं और तब वे उसका लाभ उठाते हैं और इस प्रक्रिया में सशक्त होते हैं। डिजिटल देश 2.0 व्याख्यात्मक कहानी की पुस्तक है। इसमें लघु भारतीय कंपनियों के बारे में बताया गया है, जो अपने कारोबार को नया रूप देने के लिए इंटरनेट का उपयोग कर रही हैं।

IPL 2021 की तैयारी के लिए क्वारंटीन में गए केकेआर के खिलाड़ी, शेयर की तस्वीरें

कीतैयारीकेलिएक्वारंटीनमेंगएकेकेआरकेखिलाड़ीशेयरकीतस्वीरेंFree Kashmir के बाद अब Free Kashmir from Islamic Terrorism का पोस्टर****** अमेरिका के राजदूत केनेथ आई जस्टर समेत 15 देशों के राजनयिक के काफिले के सामने आज दो कश्मीरी पंडितों ने जगती माइग्रेट टाउनशिप के रास्ते में प्रतिनिधिमंडल के काफिले के आगे 'फ्री कश्मीर फ्रॉम इस्लामिक टेररिजम' ('इस्लामिक आतंकवाद से कश्मीर को मुक्त करों') के पोस्टर दिखाए। यह प्रतिनिधिमंडल भारत में अमेरिका के राजदूत केनेथ आई जस्टर समेत 15 देशों के राजनयिकों के साथ जम्मू-कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस लेने के बाद मौजूदा स्थिति का मुआयना करने गुरुवार को श्रीनगर पहुंचा था। यह राजनयिक कश्मीर मुद्दें पर पाकिस्तान के दुष्प्रचार को गलत साबित करने की सरकार की कूटनीति का यह हिस्सा हैं। वे उपराज्यपाल जी.सी. मुर्मू और नागरिक समूह के सदस्यों के साथ मुलाकात भी करेंगे।राजनयिकों के इस प्रतिनिधिमंडल में अमेरिका के अलावा बांग्लादेश, वियतनाम, नोर्वे,मालद्वीप, दक्षिण कोरिया, मोरक्को और नाइजीरिया के राजनयिक भी शामिल हैं। अधिकारियों ने बुधवार को बताया था कि ब्राजील के राजनयिक आंद्रे ए कोरिये डो लागो को भी जम्मू-कश्मीर आना था लेकिन पूर्वव्यस्तता के कारण उन्होंने मना कर दिया। यूरोपीय संघ के देशों ने भारत को अवगत करा दिया है कि वे जम्मू कश्मीर का दौरा किसी और दिन करेंगे। ऐसा माना जा रहा है कि यूरोपीय संघ के देशों के प्रतिनिधियों ने फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती से मुलाकात करने की इच्छा जताई है।कीतैयारीकेलिएक्वारंटीनमेंगएकेकेआरकेखिलाड़ीशेयरकीतस्वीरेंआईसीसी विश्वकप 2019 में इंग्लैंड के खिलाफ मैच में धोनी की कोई गलती नहीं - होल्डिंग******आईसीसी विश्वकप 2019 जीतने वाली इंग्लैंड टीम के ऑलराउंडर खिलाड़ी बेन स्टोक्स ने अपनी किताब में टीम इंडिया पर आरोप लगाते हुए एक बात लिखी है। जिसमें उनका मानना है कि इस विश्वकप में इंग्लैंड के खिलाफ टीम इंडिया जीत सकती थी मगर अंत में बल्लेबाजों द्वारा कुछ ख़ास न किये जाने से भारत मैच हार गया और इस तरह पाकिस्तान को ग्रुप स्टेज से बाहर होना पड़ा। जिसमें टीम इंडिया के लिए फिनिशर के तौर पर बल्लेबाजी करने वाले महेंद्र सिंह धोनी और केदार जाधव की बल्लेबाजी पर भी सवाल उठाये गए। ऐसे में तमाम पाकिस्तानी क्रिकेटर द्वारा लगाये गए आरोप के बाद वेस्टइंडीज के दिग्गज गेंदबाज माइकल होल्डिंग ने धोनी का बचाव किया और कहा कि वो हर हाल में मैच जीतना चाहते थे।होल्डिंग ने इस मैच के बारे में अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, "खैर, आजकल लोग अपनी किताबों में कुछ भी लिख रहे हैं क्योंकि वो अपने विचार रखने के लिए स्वतंत्र हैं। उन्हें बस किताबों के द्वारा सुर्खिया बटोरने की जरूरत होती है।"होल्डिंग ने आगे कहा, "मैं ईमानदारी से कहूँगा कि बहुत से लोग वो मैच देख रहे थे लेकिन उनके अंदर बेन स्टोक्स जैसे ख्याल नहीं आए होंगे कि भारत ने जीतने की कोशिश नहीं की।“होल्डिंग ने माना, ऐसा लग रहा था कि भारत मैच अपने स्तर का नहीं खेल रहा है। जैसा कि वो करो या मरो के मैच में खेलता है। उन्होंने कहा, "ये कोई ऐसा मैच नहीं था जिसे भारत को जीतना ही था। लेकिन मुझे नहीं लगता कि कोई ये कहेगा की टीम प्लान है कि हमें इस मैच में हारना है। मैंने मैच देखा और ऐसा लगा कि भारत अपना शत- प्रतिशत नहीं दे रहा है। लेकिन ये कोई मुद्दा नहीं है कि वो जीतना नहीं चाहते थे। धोनी के चेहरे से लग रहा था कि वो इस मैच को किस कदर जीतना चाहते हैं। तो मेरे हिसाब से नहीं लगता कि टीम का ये निर्णय होगा कि हमें हारना है।"बता दें कि इंग्लैंड के खिलाफ भारत को उस मैच में जीत के लिए 338 रन का लक्ष्य मिला था, लेकिन रोहित के शतक और विराट को अर्धशतक के बाद भी भारत ने वो मैच 31 रन से गंवा दिया। भारत के पास पांच विकेट शेष थे और आखिरी के पांच ओवर में भारत ने जैसा खेल दिखाया उनके इरादे पर कई एक्टपर्स ने सवाल उठाए थे। अगर भारत वह मैच जीत जाता, तो इंग्लैंड विश्व कप के नॉकआउट चरणों में क्वालीफाई करने में विफल हो जाता। इसके बजाय, पाकिस्तान नॉकआउट के लिए क्वालीफाई करने के लिए सबसे आगे होता।

IPL 2021 की तैयारी के लिए क्वारंटीन में गए केकेआर के खिलाड़ी, शेयर की तस्वीरें

कीतैयारीकेलिएक्वारंटीनमेंगएकेकेआरकेखिलाड़ीशेयरकीतस्वीरेंiPhone 8 से एप्पल बनेगी दुनिया की पहली 1,000 अरब डॉलर की कंपनी, सितंबर में होगा लॉन्‍च****** उम्मीद से बेहतर आईपैड और आईफोन की बिक्री के अलावा एप्पल की आगामी iPhone 8 स्‍मार्टफोन की बिक्री से अमेरिका की की यह दिग्गज कंपनी दुनिया की पहली कंपनी बन सकती है, जिसका बाजार मूल्य 1000 अरब डॉलर होगा।मार्केट वॉच में बुधवार देर रात प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, एप्पल की तीसरी तिमाही के नतीजों के घोषणा के बाद से ही कंपनी के बाजार पूंजीकरण में 56 अरब डॉलर की बढ़ोतरी हुई है। निवेश सेवा कंपनी आरबीसी कैपिटल के विश्लेषकों ने अनुमान लगाया है कि एप्पल के शेयरों में यह तेजी जारी रहेगी, क्योंकि एपल सितंबर के मध्य में अपना फ्लैगशिप डिवाइस iPhone 8 लांच करने जा रही है। मीडिया रिपोट्र्स के मुताबिक एप्‍पल सितंबर में तीन नए स्‍मार्टफोन iPhone 7S, 7S Plus और iPhone 8 लॉन्‍च कर सकती है।आरबीसी के विश्लेषकों का कहना है कि iPhone 8 के लॉन्‍च से कंपनी को काफी फायदा होगा। प्रमुख विश्लेषक अमित दरयानानी के हवाले से बताया गया है कि एप्पल में 1,000 अरब डॉलर का बाजार पूंजीकरण हासिल करने की क्षमता है और यहां तक कि अगले 12 से 18 महीनों में इससे भी ज्यादा बढ़ने की क्षमता है।विश्लेषकों का कहना है कि नए आईफोन के मॉडल से प्रति शेयर 12 डॉलर तक का मुनाफा होगा। इस उच्च कीमत के प्रीमियम मॉडल से मुनाफा बढ़ेगा, लागत पर नियंत्रण और शेयर बायबैक से कंपनी के मूल्य में और वृद्धि होगी। दरयानानी का कहना है कि एप्पल के शेयरों की कीमत वर्तमान स्तर 160 डॉलर से बढ़कर 192 डॉलर तक हो सकती है। यह कंपनी द्वारा शेयर बायबैक की दर पर निर्भर करता है। इस तरह एप्पल का बाजार मूल्य 1,000 अरब डॉलर तक पहुंच जाएगा।

कीतैयारीकेलिएक्वारंटीनमेंगएकेकेआरकेखिलाड़ीशेयरकीतस्वीरेंIndependence Day 2022: आजादी के बाद लोगों को क्यों छोड़ना पड़ा अपना घर? उनके साथ क्या-क्या हुआ? जानिए बंटवारे का दर्द******Highlights इस साल देश को आजाद हुए 75 साल पूरे हो गए हैं। इस उपलक्ष्य में 'हर घर तिरंगा' अभियान चलाया जा रहा है। पूरा देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। 15 अगस्त, 1945 की आधी रात को देश को स्वतंत्रता तो मिली थी, लेकिन इसी समय उसका बंटवारा भी हुआ। जिसके बाद एक नए देश पाकिस्तान का जन्म हुआ। लेकिन आजादी की यही खुशी न जाने कितनों के लिए मातम में तब्दील हो गई। लोगों को अपने घर छोड़कर जाने को मजबूर होना पड़ा था। आज इसी बारे में विस्तार से बात कर लेते हैं।भारत को जब अंग्रेजों की 200 साल की गुलामी से आजादी मीली, तो उसके बाद बड़े स्तर पर रक्तपात भी देखने को मिला। भारत का विभाजन धार्मिक आधार पर और देश में दो प्रांतों के विभाजन पर आधारित हुआ था। बंगाल, भारत और पंजाब का सबसे बड़ा प्रांत था। यह विभाजन जिलों में हिंदू और मुस्लिम आबादी पर आधारित था। मुस्लिम बहुल पंजाब वर्तमान में पाकिस्तान है और मुस्लिम बहुल बंगाल वर्तमान में बांग्लादेश है। इतिहासकारों ने 1947 के विभाजन को 'मानव इतिहास में सबसे बड़ा और सबसे हिंसक राजनीतिक प्रवास' बताया है।आंकड़ों से पता चलता है कि 'इस खूनी विभाजन' के दौरान लगभग 1.5 करोड़ लोग अपने घरों से विस्थापित हो गए थे, विभाजन के बाद हुए सांप्रदायिक दंगों में दस लाख से अधिक लोगों की हत्या कर दी गई और कई के साथ बलात्कार किया गया। वाशिंगटन पोस्ट का अनुमान है कि उन महीनों में मारे गए लोगों की संख्या 2 लाख से 20 लाख के बीच है।हिंदू और सिख जान बचाने के लिए पाकिस्तान से भाग गए, एक ऐसा देश जो मुस्लिम धर्म पर आधारित है। भारत के मुसलमान जो पाकिस्तान का हिस्सा बनना चाहते थे, उन्होंने वहां बसने के लिए भारत छोड़ दिया। मिडनाइट्स फ्यूरीज: द डेडली लिगेसी ऑफ इंडियाज पार्टिशन' के लेखक निसिद हजारी ने कहा है, "जब विभाजन हुआ, तो भारत और पाकिस्तान के समान पृथ्वी पर शायद कोई दो देश नहीं थे।"बंटवारे के वक्त बड़ी संख्या में लोगों ने अपनी जान गंवाई और जीवनयापन बुरी तरह प्रभावित हुआ। घरों और इमारतों को आग लगा दी गई, उनमें लूटपाट हुई, महिलाओं के साथ रेप हुआ और बच्चों को उनके परिवारों के सामने मार दिया गया। जोट्रेनें शरणार्थियों को लेकर जा रही थीं, वह शवों के साथ लौट रही थीं। रास्ते में भीड़ द्वारा लोगों की हत्या की जा रही थी। इन्हें 'ब्लड ट्रेन' नाम दिया गया था। शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र के उच्चायुक्त का अनुमान है कि भारत के विभाजन के दौरान 1.4 करोड़ हिंदू, सिख और मुसलमान विस्थापित हुए थे।विभाजन की हिंसा के दौरान दोनों तरफ 83,000 महिलाओं और लड़कियों का बलात्कार या अपहरण किया गया था। विभाजन के दौरान अक्सर पैदल ही प्रवास करने वालों की संख्या - हिंदू और सिख भारत में और मुसलमान पाकिस्तान में 1.5 करोड़ थी। 15 अगस्त को भारत की स्वतंत्रता की घोषणा के 48 घंटे बाद ही ब्रिटिश सैनिकों ने घर के लिए जाना शुरू कर दिया था। उनकी वापसी अगले साल फरवरी में पूरी हुई।कीतैयारीकेलिएक्वारंटीनमेंगएकेकेआरकेखिलाड़ीशेयरकीतस्वीरेंGood News : विप्रो ने दी खुशखबरी, 1 सितम्बर से जूनियर कर्मचारियों की बढ़ेगी सैलरी******विप्रो ने दी खुशखबरी, 1 सितम्बर से जूनियर कर्मचारियों की बढ़ेगी सैलरीनयी दिल्ली। कोविड-19 से प्रभावित आर्थिक गतिविधियों के बीच आईटी कंपनी विप्रो लिमिटेड ने शुक्रवार को कहा कि वह एक सितम्बर से अपने कनिष्ठ कर्मचारियों का वेतन बढ़ाएगी। कंपनी ने एक बयान में कहा कि विप्रो बैंड बी3 (सहायक प्रबंधक और नीचे) तक के सभी पात्र कर्मचारियों के लिए योग्यता आधारित वेतन वृद्धि (एमएसआई) शुरू करेगी, जो एक सितम्बर से प्रभावी होगी। उसने कहा कि कंपनी ने एक जनवरी 2021 को इन बैंड वर्ग में आने वाले लगभग 80 प्रतिशत योग्य कर्मचारियों का वेतन बढ़ाने की घोषणा की थी।इस वर्ष यह यह दूसरी वेतन बढ़ोतरी है।कंपनी ने कहा कि जैसा कि पहले घोषणा की गई, सभी बैंड सी1 (प्रबंधक और ऊपर के पद) के सभी पात्र कम्रचारियों को एक जून से वेतन वृद्धि का लाभ मिलेगा। विप्रो ने कहा, ‘‘औसतन, अपतटीय कर्मचारियों के लिए वेतन वृद्धि उच्च एकल अंकों में होगी जबकि यह ऑनसाइट कर्मचारियों के लिए मध्य-एकल अंकों में होगी। कंपनी शीर्ष प्रदर्शन करने वालों को अधिक वेतन वृद्धि के साथ पुरस्कृत करेगी।’’ कंपनी ने हालांकि कुल कितनी वेतन बढ़ोतरी की है, उसकी जानकारी नहीं दी। विप्रो आम तौर पर जून के दौरान वेतन में वृद्धि करती है। विप्रो में कर्मचारियों को पांच श्रेणियों में (ए से लेकर ई तक) में रखा गया है। इसमें बी3 बैंड में सबसे ज्यादा कर्मचारी हैं जो कि कंपनी के कुल 1.97 लाख कर्मचारियों में सबसे ज्यादा हैं।विप्रो के सीईओ थिएरी डेलापोर्ट ने वित्त वर्ष 2020-21 में 87 लाख डॉलर (करीब 64.3 करोड़ रुपए) का वेतन पैकेज हासिल किया। विप्रो ने शेयर बाजार को दी सूचना में बताया कि डेलापोर्ट को यह वेतन छह जुलाई, 2020 से 31 मार्च, 2021 की अवधि के लिए दिया गया और इसमें एक बारगी नकद, वार्षिक शेयर अनुदान, एक बारगी आरएसयू (सीमित शेयर यूनिट) शामिल हैं। केपजैमिनी के पूर्व अधिकारी डेलापोर्ट ने छह जुलाई को विप्रो के सीईओ और प्रबंध निदेशक का पद संभाला था। उन्होंने पद पर अबिदाली नीमचवाला की जगह ली। सूचना के अनुसार डेलापोर्ट को 13.1 लाख डॉलर का वेतन एवं भत्ते (9.6 करोड़ रुपए), 15.4 लाख डॉलर का कमीशन एवं वैरिएबल पे और 51.8 लाख डॉलर के अन्य लाभ दिए गए। उन्हें इस अवधि में 7,58,719 डॉलर का दीर्घकालीन मुआवजा (विलंबित लाभ) भी दिया गया।

कीतैयारीकेलिएक्वारंटीनमेंगएकेकेआरकेखिलाड़ीशेयरकीतस्वीरेंशेयर बाजार ने लगाई तेजी हैट्रिक, सेंसेक्स 107 अंक और निफ्टी 26 अंक बढ़कर बंद******शेयर बाजार लगातार तीसरे दिन तेजी के साथ बंद होने में कामयाब रहे है। का 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स गुरुवार को 107 अंक बढ़कर 27,247 पर और NSE का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स 26 अंक बढ़कर 8407 के स्तर पर बंद हुआ है।कीतैयारीकेलिएक्वारंटीनमेंगएकेकेआरकेखिलाड़ीशेयरकीतस्वीरेंअमेरिका: शख्स ने अपने 3 मासूम बच्चों समेत पत्नी को भी मार डाला, खुद की भी जान ली****** गोलीबारी की घटनाओं को आए दिन झेलने वाले अमेरिका में एक और बड़ी वारदात की खबर सामने आ रही है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, अमेरिका के सदर्न कैलिफोर्निया में एक घर में हुई गोलीबारी की घटना में एक ही परिवार के 3 बच्चों समेत 5 सदस्यों की मौत हो गई है। मृतकों में एक 3 साल का बच्चा भी शामिल है। पुलिस ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि इस घटना को बच्चों के पिता ने अंजाम दिया जो कि उनकी मां से अलग रहता था।पुलिस ने बताया कि जब वह घटनास्थल पर पहुंची तो कई लोग घायल अवस्था में मिले थे। रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह घटना शनिवार को पैराडाइज हिल में हुई, जो -मेक्सिको सीमा से 35 किलोमीटर दूर उत्तर में स्थित है। पुलिस ने कहा कि उन्हें 911 पर सुबह 6.49 बजे फोन आया। जब वे घटनास्थल पर पहुंचे, तो उन्हें गोली लगने से घायल कई लोग मिले। 3 साल का बच्चा, 29 साल की महिला और 31 साल का एक आदमी अंदर मृत पाए गए। पांच साल के बच्चे और नौ साल के बच्चे को अस्पताल ले जाया गया लेकिन दोनों ने ही दम तोड़ दिया।पुलिस ने बताया कि एक 11 वर्षीय लड़के को भी अस्पताल में भर्ती कराया गया। सैन डिएगो पुलिस विभाग के मैट डोब्स ने कहा कि एक मां और 4 बच्चे मुख्य घर से सटे ग्रैनी फ्लैट में रहते थे, जहां परिवार के अन्य सदस्य रहते थे, लेकिन यह स्पष्ट नहीं है कि कुल कितने लोग अहाते में रहते थे। पुलिस को घर में एक बंदूक मिली। पुलिस ने कहा कि बच्चों का पिता उनकी मां के साथ नहीं रहता था। उसने अपनी पत्नी और अपने बच्चों को गोली मारने के बाद खुद की भी जान दे दी।

कीतैयारीकेलिएक्वारंटीनमेंगएकेकेआरकेखिलाड़ीशेयरकीतस्वीरेंमध्य प्रदेश के इंदौर में कोरोना के डेल्टा प्लस वेरिएंट की दस्तक, दो मामले मिले******मध्य प्रदेश के इंदौर जिले में कोरोना वायरस के डेल्टा प्लस वेरिएंट की दस्तक की तसदीक हो गई है और 35 वर्षीय महिला समेत दो लोग वायरस के इस प्रकार से संक्रमित पाए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी। कोविड-19 की रोकथाम के लिए नोडल अधिकारी डॉ. अमित मालाकार ने संवाददाताओं को बताया, ‘‘दिल्ली के राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (एनसीडीसी) की जांच रिपोर्ट में इंदौर की 35 वर्षीय महिला और 42 वर्षीय पुरुष को कोरोना वायरस के डेल्टा प्लस स्वरूप से संक्रमित बताया गया है। इन लोगों के नमूने अन्य संक्रमितों के नमूनों के साथ जीनोम अनुक्रमण (सीक्वेंसिंग) के लिए जुलाई में एनसीडीसी भेजे गए थे।"उन्होंने बताया कि इंदौर में के 17 महीने के इतिहास में यह पहली बार है, जब संक्रमितों में कोरोना वायरस का डेल्टा प्लस वेरिएंट मिला है। मालाकार ने बताया, "वायरस के डेल्टा प्लस वेरिएंट से संक्रमित दोनों मरीजों ने कोविड-19 रोधी वैक्सीन की दोनों खुराकें पहले ही ले रखी थीं। इसलिए वे जुलाई में संक्रमण की जद में आने के बाद महामारी के गंभीर दुष्प्रभावों से बच गए और अपने घरों में पृथक-वास में इलाज के बाद संक्रमणमुक्त हो चुके हैं।"उन्होंने बताया कि एहतियात के तौर पर स्वास्थ्य विभाग ने दोनों व्यक्तियों के सम्पर्क में आए कुल 88 लोगों के नमूने लिए हैं और इनकी कोविड-19 की जांच कराई जा रही है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक करीब 35 लाख की आबादी वाले इंदौर जिले में अब तक कोविड-19 के कुल 1,53,046 मरीज मिले हैं। इनमें से 1,391 लोगों की इलाज के दौरान मौत हो चुकी है। गौरतलब है कि इंदौर, राज्य में कोविड-19 से सबसे ज्यादा प्रभावित रहा है। हालांकि, महामारी की दूसरी लहर के कमजोर पड़ने पर इन दिनों जिले में रोजाना मिलने वाले नये संक्रमितों की तादाद इकाई अंक पर सिमट गई है।कीतैयारीकेलिएक्वारंटीनमेंगएकेकेआरकेखिलाड़ीशेयरकीतस्वीरेंडिस्कॉम पर बिजली उत्पादन कंपनियों का कुल बकाया 37% बढ़कर 70,000 करोड़ रुपए के करीब पहुंचा****** बिजली का वितरण करने वाली कंपनियों यानी पर कंपनियों का कुल बकाया सितंबर 2019 में एक साल पहले के इसी माह के मुकाबले 37 प्रतिशत बढ़कर 69,558 करोड़ रुपए पर पहुंच गया। इससे बिजली क्षेत्र पर दबाव का पता चलता है। वेब पोर्टल और भुगतान पुष्टि एवं उत्पादकों की बिल-प्रक्रिया में पारदर्शिता लाने हेतु बिजली खरीद विश्लेषण एप 'प्राप्ति' के अनुसार सितंबर, 2018 तक वितरण कंपनियों पर बिजली उत्पादन कंपनियों का कुल बकाया 50,583 करोड़ रुपए था। इस पोर्टल को मई, 2018 में शुरू किया गया था।इसका मकसद उत्पादों और वितरण कंपनियों के बीच बिजली खरीद प्रक्रिया में पारदर्शिता लाना था। इस साल सितंबर में उत्पादक कंपनियों द्वारा भुगतान के लिये दी जाने वाली 60 दिन की 'छूट' अवधि के बाद वितरण कंपनियों पर बकाया राशि 52,408 करोड़ रुपए थी, जो इससे पिछले साल इसी महीने में 34,658 करोड़ रुपए थी।बिजली उत्पादक कंपनियां डिस्कॉम को बिजली आपूर्ति बिलों के भुगतान के लिए 60 दिन का समय देते हैं। उसके बाद यह राशि समय पर नहीं चुकाई गई बकाया राशि की श्रेणी में आ जाती है और उत्पादक कंपनियां ज्यादातर मामलों में जुर्माने के रूप में ब्याज भी वसूलती हैं।बिजली उत्पादक कंपनियों को राहत के लिए केंद्र सरकार ने एक अगस्त से भुगतान सुरक्षा व्यवस्था लागू की है। इसके तहत डिस्कॉम को बिजली आपूर्ति पाने के लिए ऋण पत्र की जरूरत होगी। अगस्त, 2019 में डिस्कॉम पर कुल बकाया 80,087 करोड़ रुपए था। इसमें से 60,935 करोड़ रुपए का बकाया ऐसा था जो बिजली कंपनियां समय पर चुका नहीं पाई थीं।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 05:40
उद्धरण 1 इमारत
ब्राजील महिला विश्व कप 2023 की मेजबानी की दौड़ से हटा******साओपाउलो। ब्राजील 2023 में होने वाले महिला विश्व कप फुटबॉल की मेजबानी की दौड़ से हट गया है क्योंकि कोरोना वायरस महामारी के प्रभाव के कारण वह फीफा को जरूरी वित्तीय आश्वासन देने की स्थिति में नहीं है। ब्राजील फुटबॉल परिसंघ ने इसके साथ ही सोमवार को जारी बयान में कहा कि वह मेजबानी के दावे में कोलंबिया का समर्थन करेगा।मेजबानी की दौड़ में कोलंबिया के अलावा अब जापान तथा ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड (संयुक्त मेजबान) रह गये हैं। दक्षिण अमेरिकी महाद्वीप में इससे पहले कभी महिला विश्व कप का आयोजन नहीं किया गया।इस पर 25 जून को फैसला किये जाने की संभावना है। परिसंघ ने कहा कि राष्ट्रपति जैर बोलसोनारो के प्रशासन ने फीफा से कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण पड़े प्रभाव से पैदा हुई आर्थिक स्थिति में वह वित्तीय गारंटी नहीं दे सकता है।ब्राजील लेटिन अमेरिकी देशों में कोविड-19 से सर्वाधिक प्रभावित रहा है और यहां अभी तक 37,000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।
2022-10-01 05:21
उद्धरण 2 इमारत
कश्मीर में सरपंच की हत्या में शामिल हिज़बुल मुजाहिद्दीन मॉड्यूल का भंडाफोड़, तीन गिरफ्तार******जम्मू-कश्मीर के कुलगाम जिले में एक सरपंच की हत्या में शामिल हिजबुल मुजाहिदीन (एचएम) मॉड्यूल का भंडाफोड़ करने बाद आतंकवादियों के तीन सहयोगियों को सोमवार को गिरफ्तार किया गया। सरपंच शब्बीर अहमद मीर की आतंकवादियों ने शुक्रवार रात कुलगाम के अदौरा स्थित उनके आवास के पास हत्या कर दी थी।कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी), विजय कुमार ने ट्विटर पर कहा, ‘कुलगाम पुलिस ने हाल ही में सरपंच शब्बीर अहमद मीर की हत्या में शामिल प्रतिबंधित आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया और सक्रिय रूप से शामिल आतंकवादियों के तीन सहयोगियों को गिरफ्तार किया।’ उन्होंने कहा कि पुलिस ने संबंधित सामग्री के साथ-साथ अपराध को अंजाम देने में इस्तेमाल किए गए वाहनों को भी जब्त कर लिया है।कुमार ने कहा, ‘जांच के दौरान पता चला कि सरपंच की हत्या हिजबुल मुजाहिदीन आतंकवादी मुश्ताक यातू ने हिजबुल मुजाहिदीन के प्रमुख आतंकवादी फारूक नल्ली के निर्देश पर की।’ पुलिस ने पहले कहा था कि मीर को श्रीनगर के एक सुरक्षित होटल में आवास दिया गया था, लेकिन वह इसे छोड़ कर बिना अधिकारियों को बताए अपने घर पहुंच गए।
2022-10-01 04:37
उद्धरण 3 इमारत
कोरोना वायरस से हुई मौतों की संख्या ने 1000 के आंकड़े को किया पार, 42000 से ज्यादा संक्रमित******चीन में कोरोना वायरस से हुई मौतों एक हजार का आंकड़ा भी पार कर दिया है। ताजा रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह वायरस चीन में अभी तक 1011 लोगों की जान ले चुका है। मृतकों की संख्या में यदि फिलीपींस और हांगकांग में हुई एक-एक व्यक्ति की मौत को मिला दिया जाए तो यह आंकड़ा 1013 हो जाता है। चीन की सरकारी मीडिया के मुताबिक, इस वायरस से पीड़ितों की संख्या 42,300 पर पहुंच गई है। कोरोना वायरस से हुई मौतों का आंकड़ा वर्ष 2003 में फैली सीवियर अक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (SARS) से हुई मौतों से काफी ज्यादा है जिसके चलते 774 लोगों की मौत हुई थी। के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने पर नियंत्रण पाने के लिए किए जा रहे प्रयासों का निरीक्षण करने के लिए सोमवार को मास्क पहनकर बीजिंग का दौरा किया। इस मौके पर जिनपिंग ने कहा कि वैसे तो स्थिति ‘बहुत गंभीर’ है लेकिन चीन इस महामारी पर पूर्ण जीत हासिल करेगा। यह बीमारी उनके नेतृत्व के लिए सबसे बड़ी चुनौती के रूप में सामने आयी है। जिनपिंग इन दिनों ज्यादातर अपने घरों में ही रहे जबकि उनके नंबर 2 और प्रधानमंत्री ली क्विंग एवं अन्य वरिष्ठ कम्युनिस्ट पार्टी पदाधिकारियों ने विषाणु के केंद्र वुहान और अन्य प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया।चीन के तियानजिन यूनिवर्सिटी में कोरोना वायरस की जांच के लिए एक नए टेस्ट विकसित किया गया है, जिसकी जांच रिपोर्ट महज 15 मिनट में आ जाएगी। इससे महामारी का रूप लेती इस बीमारी के संभावित मरीजों की स्क्रीनिंग के समय में बचत होगी। ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक, तियानजिन यूनिवर्सिटी ने बीजिंग बायोटेक कंपनी के साथ मिलकर इस जांच किट का विकास किया है। इस जांच किट का फिलहाल क्लीनिकल ट्रायल किया जा रहा है और इसके बाद इसे मंजूरी के लिए स्वास्थ्य नियामक को भेजा जाएगा।
वापसी