नई पोस्ट करें

अप्रैल-नवंबर के दौरान पकड़ी गई 12,000 करोड़ रुपए की GST चोरी, सरकार बदलने से नहीं आएगा प्रक्रिया में कोई बदलाव

2022-10-01 06:41:57 015

अप्रैलनवंबरकेदौरानपकड़ीगई12000करोड़रुपएकीGSTचोरीसरकारबदलनेसेनहींआएगाप्रक्रियामेंकोईबदलावब्रिटेन के प्रधानमंत्री बनते-बनते कैसे रह गए तगड़े दावेदार ऋषि सुनक? जानें हार के अहम कारण******Highlightsब्रिटेन की विदेश मंत्री लिज ट्रस ने भारतीय मूल के पूर्व वित्त मंत्री (Rishi Sunak) को कंजरवेटिव पार्टी नेतृत्व के लिए मुकाबले में हराया और अब वह प्रधानमंत्री के तौर पर बोरिस जॉनसन का स्थान लेंगी। ट्रस ब्रिटेन की तीसरी महिला प्रधानमंत्री होंगी। इसके साथ ही, 10 डाउनिंग स्ट्रीट में शीर्ष पद संभालने के लिए सुनक का ऐतिहासिक अभियान खत्म हो गया। चुनाव में 82.6 प्रतिशत वोटिंग हुई जिसमें सुनक को 60,399 वोट जबकि ट्रस को 81,326 वोट मिले।कंजरवेटिव पार्टी के बैकबेंच सांसदों की 1922 समिति के अध्यक्ष और पार्टी के नेतृत्व संबंधी चुनाव के लिए निर्वाचन अधिकारी सर ग्राहम ब्रैडी ने डाउनिंग स्ट्रीट के करीब महारानी एलिजाबेथ द्वितीय सम्मेलन केंद्र में औपचारिक रूप से ट्रस की जीत की घोषणा की। सर्वेक्षण संस्थानों, राजनीतिक विश्लेषकों और मीडिया संस्थानों को शायद ही कोई हैरानी हुई क्योंकि ट्रस चुनाव पूर्व कई सर्वेक्षणों में 42 वर्षीय सुनक से आगे रही थीं।ऋषि सुनक का जन्म 12 मई 1980 को ब्रिटेन के साउथेम्पटन में हुआ था। उनकी मां का नाम ऊषा सुनक और पिता का नाम यशवीर सुनक था। वह तीन भाई बहनों में सबसे बड़े हैं। उनके दादा-दादी पंजाब के रहने वाले थे। 1960 में वह अपने बच्चों के साथ पूर्वी अफ्रीका चले गए थे। बाद में यहीं से उनका परिवार इंग्लैंड शिफ्ट हो गया। तब से सुनक का पूरा परिवार इंग्लैंड में ही रहता है। ऋषि ने भारत के बड़े उद्योगपतियों में शुमार इंफोसिस के संस्थापक नारायणमूर्ति की बेटी अक्षता मूर्ति से शादी की है। सुनक और अक्षता की दो बेटियां हैं। उनकी बेटियों के नाम अनुष्का सुनक और कृष्णा सुनक है।ऋषि सुनक ने 2014 में पहली बार राजनीति में कदम रखा। 2015 में उन्होंने रिचमंड से चुनाव लड़ा और जीत हासिल की। 2017 में उन्होंने एक बार फिर जीत मिली। इसके बाद 13 फरवरी 2020 को उन्हें इंग्लैंड का वित्त मंत्री बनाया गया। इसी साल ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन पर तमाम तरह के आरोप लगे तो ऋषि सुनक ने इस्तीफा दे दिया। इसके बाद लगातार जॉनसन कैबिनेट के कई मंत्रियों ने इस्तीफा दिया।

अप्रैलनवंबरकेदौरानपकड़ीगई12000करोड़रुपएकीGSTचोरीसरकारबदलनेसेनहींआएगाप्रक्रियामेंकोईबदलावकेंद्र का राजकोषीय घाटा जून अंत में वार्षिक अनुमान का 18.2 फीसदी******केंद्र का राजकोषीय घाटा जून अंत में वार्षिक अनुमान का 18.2 फीसदीनई दिल्ली: महालेख नियंत्रक (सीजीए) द्वारी जारी आंकड़ों के मुताबिक केंद्र सरकार का राजकोषीय घाटा इस साल जून महीने के अंत में 2.74 लाख करोड़ रुपए रहा। यह पूरे साल के लिए बजट में अनुमानित घाटे का 18.2प्रतिशत है। जून, 2020 की समाप्ति पर राजकोषीय घाटा वित्त वर्ष 2020-21 के बजट अनुमानों का 83.2 प्रतिशत पहुंच गया था। समग्र रूप में इस बार जून के अंत में राजकोषीय घाटा 2,74,245 करोड़ रुपए था। सरकार काअनुमान है कि वित्त वर्ष 2021-22 की समाप्ति पर राजकोषीय घाटा 15,06,812 करोड़ रुपए या सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का 6.8 प्रतिशत रहेगा।वर्ष 2020-21 में राजकोषीय घाटा या व्यय एवं राजस्व के बीच अंतर सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का 9.3 प्रतिशत था। यह फरवरी में पेश किए बजट के संशोधित बजट अनुमान के 9.5 प्रतिशत से कम रहा जो राजकोषीयस्थिति में सुधार का परिणाम है। सीजीए के आंकड़े के मुताबिक केंद्र की कुल प्राप्तियां जून, 2021 के अंत तक 5.47 लाख करोड़ रुपए रहीं जो 2021-22 के बजट में कुल प्राप्ति के अनुमान का 27.7 प्रतिशत है। इसमें 4.12लाख करोड़ रुपए कर राजस्व (केंद्र का शद्ध हिस्सा), 1.27 लाख करोड़ रुपए का गैर कर राजस्व और 7,402 करोड़ रुपए का गैर ऋण पूंजीगत प्राप्तियां शामिल हैं।गैर ऋण पूंजीगत राजस्व में 3,406 करोड़ रुपए ऋण की वसूली और 3,996 करोड़ रुपए की विनिवेश आय के हैं। पिछले वित्त वर्ष (2020-21) की इसी अवधि के दौरान प्राप्तियां बजट अनुमान का 6.8 प्रतिशत थीं। सीजीएकी रिपोर्ट के अनुसार जून तक सरकार ने करों में राज्यों को हिस्से के रूप में 1,17,524 करोड़ रुपये हस्तांतरित किए। इस दौरान केंद्र का कुल व्यय 8.21 लाख करोड़ रुपए (बजट अनुमानों का 23.6 प्रतिशत) रहा। जिसमें से7.10 लाख करोड़ रुपए राजस्व खाते और 1.11 करोड़ रुपए पूंजी खाते से व्यय किया गया है।अप्रैलनवंबरकेदौरानपकड़ीगई12000करोड़रुपएकीGSTचोरीसरकारबदलनेसेनहींआएगाप्रक्रियामेंकोईबदलावBigg Boss 15: 'वीकेंड का वार' में सलमान खान लगाएंगे अफसाना खान की क्लास, जानिए क्यों?******पॉपुलर रिएलिटी शोसीजन 15 का आज वीकेंड का वार है। होस्ट सलमान खान का फैंस बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। पिछले हफ्ते प्रतीक सहजपाल पर उनका गुस्सा उतरा था और इस बार सिंगर अफसाना खान उनके निशाने पर होंगी।दरअसल, अफसाना खान ने इस हफ्ते एक्ट्रेस शमिता शेट्टी की बॉडी शेमिंग की थी। उनकी पर उम्र को लेकर भी तंज कसा था। इसको लेकर सलमान खान, अफसाना को जमकर सुनाएंगे। वो शो में अफसाना से कहेंगे कि उन्होंने शो में एक बॉलीवुड एक्ट्रेस के लिए 'बुड्ढी औरत', 'घर बैठने का टाइम है तेरा' और 'घटिया औरत' जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया है।अफसाना से सलमान खान पूछेंगे कि 'किसी के कैरेक्टर के बारे में बोलने वाली वो कौन होती हैं!' इस दौरान अफसाना अपना बचाव करती नज़र आएंगी, लेकिन सलमान उनकी एक भी नहीं सुनेंगे।इसके साथ ही सलमान, अफसाना के सेट पैटर्न के बारे में भी बोलेंगे। इसको लेकर जय भानुशाली, तेजस्वी प्रकाश, विशाल कोटियान और शमिता शेट्टी भी सलमान की बातों से सहमत होते नज़र आएंगे।सलमान यहीं नहीं रुकेंगे, वो ये तक कह देंगे कि अगर उनके पास पावर होती तो वो उन्हें घर से निकाल देते। वो कहेंगे- 'मेरा च्वॉइस होता तो मैं आपको इस घर से बेघर कर देता।' इस पर अफसाना कहती दिखाई देंगी को उन्हें घर से निकाल दिया जाए लेकिन सलमान एक बार फिर उन्हें 'अफसाना' कहकर चुप करा देते हैं।

अप्रैल-नवंबर के दौरान पकड़ी गई 12,000 करोड़ रुपए की GST चोरी, सरकार बदलने से नहीं आएगा प्रक्रिया में कोई बदलाव

अप्रैलनवंबरकेदौरानपकड़ीगई12000करोड़रुपएकीGSTचोरीसरकारबदलनेसेनहींआएगाप्रक्रियामेंकोईबदलावसरकार ने कैब कंपनियों पर लगायी लगाम, मूल किराये के डेढ़ गुने से ज्यादा नहीं हो सकता अधिकतम किराया******अघिकतम किराए की सीमा तयनई दिल्ली। सरकार ने शुक्रवार को ओला और उबर जैसी कैब कंपनियों के ऊपर मांग बढ़ने पर किराए बढ़ाने की एक सीमा लगा दी है। अब ये कंपनियां मूल किराये के डेढ़ गुने से अधिक किराया नहीं वसूल सकेंगी। सरकार का यह कदम अहम हो जाता है, क्योंकि लोग कैब सेवाएं देने वाली कंपनियों के अधिकतम किराये पर लगाम लगाने की लंबे समय से मांग कर रहे थे। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के द्वारा शुक्रवार को जारी मोटर वाहन एग्रीगेटर दिशानिर्देश 2020 के अनुसार, ‘‘एग्रीगेटर कंपनियों को मूल किराये के 50 प्रतिशत तक न्यूनतम किराये और डेढ़ गुने तक अधिकतम किराये वसूलने की मंजूरी दी जाती है।’’मंत्रालय ने कहा कि यह संसाधनों के इस्तेमाल को सुलभ करेगा और उन्हें बढ़ावा देगा, ये ट्रांसपोर्टेशन एग्रीगेशन के सिद्धांत का मूल सिद्धांत है। इससे गतिशील किराये के सिद्धांत को प्रमाणिक बनाया जा सकेगा, जो मांग व आपूर्ति के अनुसार संसाधनों का इस्तेमाल सुनिश्चित करने में प्रासंगिक है। नये दिशानिर्देशों के अनुसार, प्रत्येक सवारी (राइड) पर लागू किराये का कम से कम 80 प्रतिशत हिस्सा एग्रीगेटर के साथ जुड़े वाहन के चालक को मिलेगा। शेष हिस्सा एग्रीगेटर कंपनियां रख सकती हैं। मंत्रालय ने कहा कि जिन राज्यों में शहरी टैक्सी का किराया राज्य सरकार ने निर्धारित नहीं किया है, वहां किराया विनियमन के लिये 25-30 रुपये को मूल किराया माना जायेगा। राज्य सरकारें एग्रीगेटर द्वारा जोड़े गये अन्य वाहनों के लिये इसी तरह से किराया निर्धारित कर सकती हैं।अप्रैलनवंबरकेदौरानपकड़ीगई12000करोड़रुपएकीGSTचोरीसरकारबदलनेसेनहींआएगाप्रक्रियामेंकोईबदलाव32 साल बाद कश्मीर में लौटी नवरेह की रौनक, अपनी मातृभूमि पर धूमधाम से नववर्ष का पर्व मना रहे कश्मीरी पंडित****** के सारिका देवी मंदिर में आज 32 साल पुराना माहौल दिख रहा था और मौका था नए साल के आगाज का। देश के विभिन्न राज्यों से 1990 में कश्मीर से पलायन कर चुके कश्मीरी पंडित इस दिन को सेलिब्रेट करने के लिए कश्मीर पहुंचे। मंदिर में ने विशेष पूजा अर्चना कर खुशगवार माहौल मेंयह उम्मीद जताई कि बहुत जल्द कश्मीरी पंडित कश्मीर लौटेंगे, क्योंकि अब हालात पहले से बेहतर है।इंडिया टीवी से बात करते हुए कश्मीरी पंडितों ने कहा, कश्मीर हमारी धरती है। यह जगह जन्नत से कम नहीं है। इस जन्नत को नजर लग गई थी लेकिन अब पिछले कुछ वर्षों से हालात बदल गए हैं। हिंसा और आतंकवाद में भी कमी आई है। कश्मीर के भाईचारे की मिसाल आज भी जिंदा है, आज का माहौल 1990 से पहले जैसे माहौल को दर्शा रहा है। यहां पहुंचे हर कश्मीरी पंडित के चेहरे पर सुकून था। खुशी थी और एक नई उम्मीद क्या अपने घरों को दोबारा वापस लौटेंगे।नवरेह के इस मौके पर इंडिया टीवी के संवावददाता की मुलाकात एक कश्मीरी पंडित से हुई जो कश्मीर के अब्बा कदल इलाके में रहता था। पेशे से वह एक म्यूजिक टीचर था और कश्मीरी बच्चों को पढ़ाता था, लेकिन 1990 में उसके माता पिता की हत्या कर दी गई थी। वह इन सब यादों को ब्लॉक कर एक नई सुबह की शुरुआत कश्मीर में करना चाहता है। इंडिया टीवी से बात करते हुए भावुक हुए और कहा कि मेरी आत्मा यहां बस्ती है। यह मेरा वतन है। मैं कभी कश्मीर को छोड़कर नहीं चला गया। इस मंदिर में सुबह शाम में पूजा करता था लेकिन 32 साल बाद आज यहां आकर यह महसूस हो रहा है कि कश्मीर बदल रहा है। आज मंदिर की घंटियां बज रही है। काफी तादाद में लोग इस पर्व को मनाने के लिए यहां पर पहुंचे हुए हैं।इतना ही नहीं कि सिर्फ यहां से पलायन कर चुके कश्मीरी पंडित अपने घरों को वापस लौटना चाहते हैं बल्कि उनके बच्चे जिन्होंने यहां जन्म तो नहीं लिया, लेकिन अपने माता-पिता से कश्मीर के बारे में सुनकर वह भी यह महसूस करने लगे है कि जो कुछ 1990 के दशक में कश्मीरी पंडितों के साथ हुआ, उसके बावजूद कश्मीर न सिर्फ धरती पर स्वर्ग का एहसास दिलाता है बल्कि यह तस्वीर भी बयान करती है किकश्मीर में हालात अच्छे हो रहे हैं। यहां के लोग यहां का वातावरण देश के हर राज्य से बिल्कुल अलग है। माही और रक्षिता का कहना है कि हम खुश है पहली बार नए साल का यह पर्व मनाने का मौका कश्मीर में मिला। इन लोगों का यह भी कहना है कि इस ऐतिहासिक मंदिर में आकर बहुत खुश है क्योंकि जो कुछ इस मंदिर के बारे में सुना था वही इस मंदिर में आज देखने को भी मिल रहा है।आपको बता दें कि कश्मीर में 1990 के बाद पहली बार इतनी संख्या में कश्मीरी पंडित नवरेह का पर्व मनाने के लिए कश्मीर पहुंचे हैं। 32 साल बाद आज उस माहौल को देखकर कश्मीरी पंडितों की उम्मीदें जाग उठी है और यह यकीन हुआ है कि वह दिन अब दूर नहीं जब एक बार फिर कश्मीर में हिंदू, मुस्लिम और सिख एक साथ रहकर यहां की परंपरा और भाईचारे को फिर से कायम करने में सफल हो जाएंगे।अप्रैलनवंबरकेदौरानपकड़ीगई12000करोड़रुपएकीGSTचोरीसरकारबदलनेसेनहींआएगाप्रक्रियामेंकोईबदलावAsaduddin Owaisi on Raja Singh: 'एक बार फिर जेल भेजा जाना चाहिए', राजा सिंह की जमानत पर भड़के ओवैसी, कहा- गंभीर आरोप है******Highlights भारतीय मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने पैगंबर मोहम्मद पर विवादित टिप्पणी करने वाले और बीजेपी से अब निलंबित विधायक टी. राजा सिंह को लेकर कहा कि उनकी रिहाई का आदेश कल जारी किया गया। ओवैसी ने कहा, "हम उम्मीद करते हैं कि राज्य सरकार और पुलिस प्रशासन इसे सुधारेंगे। उन पर गंभीर आरोप हैं और उन्होंने एक वीडियो जारी किया था। उन्हें एक बार फिर जेल भेजा जाना चाहिए। यही हमारी मुख्य मांग है।"ओवैसी ने कहा, "पार्टी की ओर से हमारे विधायक और महासचिव अहमद पाशा कादरी ने तेलंगाना विधानसभा अध्यक्ष पोचाराम श्रीनिवास रेड्डी को लिखा कि बीजेपी से निलंबित विधायक राजा सिंह के खिलाफ निष्कासन की कार्यवाही शुरू की जाए। उनका रवैया एक विधायक के रूप में अशोभनीय है।"उन्होंने कहा, "राजा सिंह को पुलिस हिरासत में भेजा जाना चाहिए। उनकी आवाज का सैंपल लिया जाना चाहिए और एफएसएल को भेजा जाना चाहिए, ताकि उनके खिलाफ कानूनी रूप से मजबूत मामला बनाया जा सके। यह आखिरी बार होना चाहिए कि वह इस तरह का विवादित बयान दें।"इससे पहले असददुद्दीन ओवैसी ने पैगंबर मोहम्मद पर विवादित मामले में कल राजा सिंह की आलोचना की थी और कहा कि बीजेपी ने नूपुर शर्मा प्रकरण से कोई सबक नहीं सीखा है। बता दें कि नूपुर शर्मा की टिप्पणी के बाद अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तीखी प्रतिक्रिया हुई थी। शर्मा को बाद में पार्टी से निलंबित कर दिया गया था और बीजेपी ने राजा सिंह के खिलाफ भी यही कार्रवाई की है।गौरतलब है कि पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ विवादित टिप्पणी करने के मामले में कोर्ट ने मंगलवार को विधायक टी. राजा सिंह को चेतावनी देते हुए जमानत दे दी। कोर्ट ने पहले राजा सिंह को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजने का आदेश दिया था, लेकिन बाद अदालत ने रिमांड ऑर्डर वापस लेते हुए जमानत दे दी। पुलिस ने राजा सिंह को हैदराबाद के नामपल्ली कोर्ट में पेश किया था। राजा सिंह को जमानत मिलने के विरोध में हैदराबाद के चारमीनार के आस-पास प्रदर्शन किए गए।वहीं, राजा सिंह की टिप्पणी को लेकर बढ़े विवाद के बीच बीजेपी ने उन्हें पार्टी से निलंबित कर दिया। साथ ही पार्टी ने उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए 10 दिन में जवाब देने के लिए कहा है। पैगंबर मोहम्मद पर विवादित टिप्पणी मामले में उन्हें हैदराबाद पुलिस ने मंगलवार सुबह गिरफ्तार किया था। टी. राजा सिंह हैदराबाद की गोशामहल सीट से विधायक हैं।

अप्रैल-नवंबर के दौरान पकड़ी गई 12,000 करोड़ रुपए की GST चोरी, सरकार बदलने से नहीं आएगा प्रक्रिया में कोई बदलाव

अप्रैलनवंबरकेदौरानपकड़ीगई12000करोड़रुपएकीGSTचोरीसरकारबदलनेसेनहींआएगाप्रक्रियामेंकोईबदलावBigg boss 13 Highlights: टिकट टू फिनाले के लिए घर में बनीं दो टीम******Bigg Boss 13 Highlights: बिग बॉस के घर में आज टिकट टू फिनाले के लिए टास्क शुरू हो गया है। इस टास्क के लिए घरवाले दो टीमों में बट गया।इस टास्क के बीच दोनों टीम में लड़ाई भी हुई।। साथ ही देबोलीना भट्टाचार्जी और सिद्धार्थ शुक्ला की हुई लड़ाई। पॉवर कार्ड के टास्क के लिए सिद्धार्थ अपनी नाराजगी जताई।अप्रैलनवंबरकेदौरानपकड़ीगई12000करोड़रुपएकीGSTचोरीसरकारबदलनेसेनहींआएगाप्रक्रियामेंकोईबदलावByculla Vidhan Sabha Chunav Results: बायकुला में हारी AIMIM, शिवसेना की यामिनी यशवंत जाधव जीतीं****** में अगली सरकार भाजपा शिवसेना गठबंधन की होगी। यहां की राजधानी मुंबई कीबायकुला विधानसभा सीट पर अभी भी सबकीनजर टिकी हुई थींयहां पिछली बारदिग्गजों को मात देकर AIMIM के वारिस पठान ने चुनाव जीता था, लेकिन इस बार यहां हवा कुछ बदली नजर आई। यहां शिवसेना की यामिनी यशवंत जाधव ने जीत हासिल की। यामिनी ने यहा कुल 51180 वोट हासिल किए, जबकि वारिस पठान को 31157 वोट मिले।बायकुला मेंपिछले चुनाव में इस सीट पर मुकाबला काफी नजदीकी रहा था, वारिस को भाजपा-शिवसेना में गठबंधन न होने का फायदा मिला था। इस सीट पर जहां वारिस पठान को 25 हजार 310 वोट मिले, वहीं भाजपा के मधु चव्हाण को 23 हजार 942 वोट मिले।गौर करने वाली बात ये रही कि यहां शिवसेना प्रत्याशी भी ज्यादा पीछे नहीं रहा, शिवसेना के टिकट पर चुनाव लड़े अन्ना मधु चव्हाण को 22 हजार वोट मिले। इस सीट पर अखिल भारतीय सेना के बैनर तले चुनाव लड़ीं गीता अजय गावली को 20 हजार 841 और एमएनएस के संजय नाई को 19 हजरा 708 वोट मिले।

अप्रैल-नवंबर के दौरान पकड़ी गई 12,000 करोड़ रुपए की GST चोरी, सरकार बदलने से नहीं आएगा प्रक्रिया में कोई बदलाव

अप्रैलनवंबरकेदौरानपकड़ीगई12000करोड़रुपएकीGSTचोरीसरकारबदलनेसेनहींआएगाप्रक्रियामेंकोईबदलावFII ने साल भर में भारतीय बाजारों से निकाले 14.6 अरब डॉलर, निवेश में हिस्सेदारी 20% से भी नीचे******FIIHighlightsमुंबई। विदेशी कोषों ने घरेलू शेयर बाजार में वित्त वर्ष 2020-21 में 23 अरब डॉलर के रिकॉर्ड अतिरिक्त निवेश के बाद वित्त वर्ष 2021-22 में रिकॉर्ड बिकवाली की, जिससे एनएसई-500 में उनकी हिस्सेदारी घटकर 19.9 प्रतिशत या 582 अरब डॉलर रह गई। विदेशी कोषों की एनएसई-500 में अधिकतम हिस्सेदारी 21.4 प्रतिशत रही है।ब्रोकरेज फर्म बैंक ऑफ अमेरिका सिक्योरिटीज इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक, चालू वित्त वर्ष में इस सप्ताह की शुरुआत तक कुल एफपीआई बाह्य प्रवाह रिकॉर्ड 14.6 अरब डॉलर रहा। इसमें से सिर्फ मार्च में 5.4 अरब अमेरिकी डॉलर की निकासी हुई, जबकि फरवरी में 4.7 अरब डॉलर की निकासी देखी गई थी।ब्रोकरेज फर्म ने बताया कि 15 मार्च, 2022 तक एफपीआई हिस्सेदारी का मूल्य 582 अरब डॉलर था। यह निवेश मुख्य रूप से आईटी, ऊर्जा और स्वास्थ्य सेवा में रहा। इस दौरान वित्तीय क्षेत्र में किए गए निवेश में कमी हुई।

अप्रैलनवंबरकेदौरानपकड़ीगई12000करोड़रुपएकीGSTचोरीसरकारबदलनेसेनहींआएगाप्रक्रियामेंकोईबदलावIPO के लिए LIC कानून में होंगे 27 संशोधन, वित्त विधेयक में पेश किए प्रस्ताव******LICवित्तीय सेवा सचिव देबाशीष पांडा ने मंगलवार को कहा कि एलआईसी के शेयर बाजार में सूचीबद्धता को सुगम बनाने के लिये जीवन बीमा निगम कानून, 1956 में 27 संशोधन प्रस्तावित किये गये हैं। वित्त विधेयक के जरिये इन बदलावों का प्रस्ताव किया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को 2021-22 के बजट के साथ वित्त विधेयक को सदन के पटल पर रखा।इसके अलावा औद्योगिक विकास बैंक (उपक्रम का अंतरण और निरसन) अधिनियम, 2003 में भी संशोधन का प्रस्ताव किया गया है। इसका कारण इसके निजी इकाई बनने के बाद लाइसेंस को बनाये रखना है। उन्होंने कहा, ‘‘बिना लाइसेंस के बैंक को खरीदने का कोई मतलब नहीं है। इसीलिए वित्त विधेयक के जरिये संशोधन को रखा गया है।’’एलआईसी कानून में प्रस्तावित संशोधन के संदर्भ में उन्होंने कहा कि अधिनियम 1956 में अस्तित्व में आया और इसमें शेयर बाजार में सूचीबद्धता को लेकर प्रावधान नहीं है। उन्होंने कहा कि संशोधन से सूचीबद्धता बाध्यताओं के अनुरूप स्वतंत्र निदेशकों के साथ निदेशक मंडल के गठन का रास्ता साफ होगा। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को अपने बजट भाषण में अगले वित्त वर्ष में भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) का आरंभिक सार्वजनिक निर्गम लाने की घोषणा की। फिलहाल एलआईसी में सरकार की 100 प्रतिशत हिस्सेदारी है।अप्रैलनवंबरकेदौरानपकड़ीगई12000करोड़रुपएकीGSTचोरीसरकारबदलनेसेनहींआएगाप्रक्रियामेंकोईबदलावAkasa Airline का आकाश में आज से शुरू हुआ सफर, Rakesh इस प्लान से बनेंगे एविएशन सेक्टर के किंग******Highlights आज की शुरुआत हो गई है। यह भारत के में नया कदम है। इस प्राइवेट एयरलाइन की पहली कमर्शियल फ्लाइट सुबह के 10 बजकर 5 मिनट पर मुंबई से अहमदाबाद के लिए रवाना हुई। भारत के विमानन मंत्री और केंद्रीय मंत्री ने इसका उद्घाटन किया।दुनिया मंदी की आशंकाओं से घिरी हुई है। जेट ईंधन की कीमतें लगातार आसमान छू रही हैं और विमानन एक कुख्यात अस्थिर उद्योग है, लेकिन इन सब के बीच 'इंडिया के वॉरेन बफेट' कहे जाने वाले अरबपति और आकासा एयरलाइन के मालिक राकेश झुनझुनवाला एक नया जोखिम लेने की तैयारी में है। आकासा एयरलाइन की अगली फ्लाइट 13 अगस्‍त से बेंगलुरु-कोचि के बीच उड़ान भरेगी। उसके बाद 19 अगस्‍त से बेंगलुरु-मुंबई और 15 सितंबर से चेन्‍नई-मुंबई के लिए सेवाएं शुरू करेगी।आकासा एयर (Akasa Air Share) में सबसे अधिक शेयर राकेश झुनझुनवाला और उनकी पत्नी रेख की है. दोनों को जोड़ दिया जाए तो इनकी कुल हिस्सेदारी 45.97% की हो जाएगी। राकेश को शेयर बाजार का किंग भी कहा जाता है। वह जिस कंपनी में अपना पैसा लगा देते हैं, उसके शेयर की प्राइस आसमान छूने लगती है। कंपनी में विनय दुबे, नीरज दुबे, संजय दुबे, माधव भटकुली, कार्तिक वर्मा, पीएआर कैपिटल वेंचर्स का भी पैसा लगा हुआ है। राकेश के बाद कंपनी में सबसे ज्यादा शेयर विनय दूबे का है। उनकी हिस्सेदारी 16.13 फीसदी है.आकासा एयरलाइन की शुरुआती कीमत 3948 रुपये तय की गई है। जो मुंबई-अहमदाबाद रूट की है। इसी रूट पर दूसरी कंपनियों के एयरलाइन का किराया 4262 रुपये है। 22 जुलाई को जब कंपनी ने टिकट की बिक्री शुरु की तब कुछ ही घंटो में सारी टिकटें बिक गई।आकासा ने अब तक 72 विमानों का ऑर्डर दिया है। जिसकी डिलीवरी अगले चार साल में हो जाएगी। इसमें से 18 विमान अगले साल के मार्च महीने तक कंपनी को मिल जाएंगे। कंपनी ने अपने विमान में बिजनेस क्लास के लिए जगह नहीं दी है। एक ही श्रेणी की सीटें बनाई गई है। कंपनी मेट्रो शहर से लेकर टियर-2 से टियर-3 सिटी पर फोकस करेगी। कंपनी का मुख्य उद्देश्य उन वर्गों पर फोकस करना है जो अब तक महंगे टिकट होने के चलते कभी फ्लाइट का सफर नहीं कर पाए हैं। अगर कंपनी इसमें कामयाब हो जाती है तो वह विमान के क्षेत्र में एक बड़ी कंपनी बन जाएगी, क्योंकि भारत की एक बहुत बड़ी आबादी अभी तक फ्लाइट का सफर नहीं कर पाई है।

अप्रैलनवंबरकेदौरानपकड़ीगई12000करोड़रुपएकीGSTचोरीसरकारबदलनेसेनहींआएगाप्रक्रियामेंकोईबदलावविश्वस्तर पर स्मार्टफोन की बिक्री में 3.2% की आएगी गिरावट, रिपोर्ट में किया गया दावा******Report claims Worldwide smartphone sales will fall by 3.2 percent के पूर्वानुमान के अनुसार, इस साल प्रीमियम में 3.2 फीसदी की गिरावट आएगी, जो इस श्रेणी की सबसे खराब गिरावट मानी जाएगी। गार्टनर के सीनियर रिसर्च डायरेक्टर रंजीत अटवाल ने एक बयान में कहा, 'ऐसा उपभोक्ताओं द्वारा अपने फोन पर लंबे समय तक बने रहने और नई तकनीक के सीमित आकर्षण को देखते हुए होगा।' अध्ययन का अनुमान है कि 5-जी फोन की हिस्सेदारी 2020 में 10 फीसदी से बढ़कर 2023 तक 56 फीसदी हो जाएगी। अटवाल ने कहा, मोबाइल फोन के प्रमुख निर्माता मौजूदा 4-जी फोन की जगह लेने वाले 5-जी कनेक्टिविटी तकनीक की तलाश करेंगे।गार्टनर की ओर से कहा गया कि 2020 में स्मार्टफोन बाजार की वृद्धि दर 2.9 फीसदी होगी। अटवाल ने कहा, स्मार्टफोन की बिक्री वृद्धि को फिर से सुनिश्चित करने के लिए मोबाइल निर्माता 5-जी की सुविधाओं के साथ तेज गति, बेहतर नेटवर्क उपलब्धता और सुरक्षा के साथ आने वाले फोन पर जोर देना शुरू कर रहे हैं।अटवाल ने कहा कि 5-जी स्मार्टफोन के परिणामस्वरूप मोबाइल फोन के बाजार में फिर से वापसी की उम्मीद है और इसके 2020 में 2.9 फीसदी विकास दर की संभावना है। गार्टनर के ताजा पूवार्नुमान के अनुसार, दुनियाभर में कंप्यूटर, टैबलेट और मोबाइल जैसे उपकरणों में 3.7 फीसदी की गिरावट आएगी।अप्रैलनवंबरकेदौरानपकड़ीगई12000करोड़रुपएकीGSTचोरीसरकारबदलनेसेनहींआएगाप्रक्रियामेंकोईबदलावRajasthan High Court Recruitment 2019: राजस्थान हाईकोर्ट जूनियर पर्सनल असिस्टेंट की नोटिफिकेशन जारी, ऐसे करें आवेदन******राजस्थान हाईकोर्ट ने जूनियर पर्सनल असिस्टेंट पदों पर भर्तियों के लिए नोटिफिकेशन जारी कर दिया हैं। जो अभ्यर्थी राजस्थान जूनियर पर्सनल असिस्टेंट पदों पर आवेदन करना चाहते हैं वो विभाग की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर प्रेसकाइव्स फॉर्म में आवेदन 16 सिंतबर तक कर सकते हैं। आवेदन की अर्हता, आयु सीमा, चयन प्रक्रिया और वेतन भर्ती से जुड़ी अधिक जानकारी अभ्यर्थी हाईकोर्ट की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर प्राप्त कर सकते हैं। ऑफिशियल वेबसाइट hcraj.nic.in पर पूरी जानकारी विस्तार में दी गई है।राजस्थान हाईकोर्ट की तरफ से इस भर्ती के जरिए जूनियर पर्सनल असिस्टेंट के कुल 69 पदों पर नियुक्तियां की जाएंगी। राजस्थान हाईकोर्ट के इन पदों पर आवेदन करने के लिए अभ्यर्थियों को पास किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी ने लॉ की डिग्री होनी चाहिए, जबकि आयु 18 वर्ष से 40 वर्ष होनी चाहिए. आयु सीमा में छूट से अधिक जानकारी अभ्यर्थी नोटिफिकेशन में चेक कर सकते हैं।

अप्रैलनवंबरकेदौरानपकड़ीगई12000करोड़रुपएकीGSTचोरीसरकारबदलनेसेनहींआएगाप्रक्रियामेंकोईबदलावHBSE 10th Result 2019: हरियाणा बोर्ड के 10वीं के परिणाम हुए घोषित 57.39% छात्र पास, ऐसे करें चेक****** हरियाणा में का इंतजार खत्‍म हुआ। हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड (Haryana Board of School Education) 10वीं कीपरीक्षा के परिणाम ( BSEH 10th result 2019 ) हुए घोषित। HBSE बोर्ड चेयरमैन डॉ. जगबीर सिंह ने बताया कि परीक्षा के परिणाम दोपहर बाद 3 बजे घोषित किए जाएंगे। परीक्षार्थी आधिकारिक वेबसाइट bseh.org.in पर परिणाम चेक कर सकेंगे। बता दे कि दसवीं में 57.39% छात्र हुए पास।इस साल 10वीं में 3,64,967 स्टूडेंट्स ने परीक्षा दी थी। हरियाणा बोर्ड 10वीं परीक्षा 2019 का आयोजन इस साल 8 मार्च 2019 से 30 मार्च 2019 तक किया गया था। इस परीक्षा में राज्यभर के करीब चार लाख बच्चों ने भाग लिया था। बोर्ड दसवीं कक्षा का परिणाम परीक्षा खत्म होने के 42 दिनों के भीतर कर रहा है।सबसे पहले आप हरियाणा बोर्ड की ऑफीशियल वेबसाइट bseh.org.in पर जाएं।रिजल्ट के लिंक पर क्लिक करेंगे तो आप डायरेक्ट थर्ड पार्टी वेबसाइट इंडिया रिजल्‍ट पर चले जाएंगे।हरियाणा बोर्ड के 10वीं के रिजल्ट की जानकारी डालें और सबमिट करें।सबमिट करने पर रिजल्ट आपके सामने होगा. जिसे आप डाउनलोड कर सकते हैं।इससे पहले HBSE 12th Result 2019 की घोषणा बुधवार को पर की गई थी। इस बार 74.48 फीसदी स्टूडेंट्स पास हुए हैं। 82.48 फीसदी लड़कियां और 68.01 फीसदी लड़के पास हुए। भिवानी ने दीपक ने 497 अंक हासिल कर ओवरऑल टॉप किया था।पिछली बार की बात करें तो पिछले साल 10वीं में 51.15 फीसदी बच्चे पास हुए हैं। प्राईवेट परीक्षार्थियों का रिजल्ट 66.72 फीसदी रहा था। लड़कियों ने 55.34 प्रतिशत परिणाम देकर लडक़ों को पछाड़ दिया था। लड़कियों का उत्तीर्ण प्रतिशत 47.61 रहा था और परीक्षा में प्रथम स्थान पर जींद के कार्तिक रहे थे।अप्रैलनवंबरकेदौरानपकड़ीगई12000करोड़रुपएकीGSTचोरीसरकारबदलनेसेनहींआएगाप्रक्रियामेंकोईबदलावNagaland Minister: बीजेपी नेता को पत्नी की तलाश, पर खुद से पहले चाहते हैं सलमान खान की शादी!******Highlightsनगालैंड बीजेपी इकाई के अध्यक्ष, प्रदेश के उच्च शिक्षा और आदिवासी मामलों के मंत्री तेमजेन इमना अलांग का एक ट्वीट सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। यह ट्वीट उन्होंने पत्नी को लेकर किया है। इस पोस्ट पर मैट्रिमोनी ऐप शादी डॉट कॉम के फाउंडर ने भी कमेंट किया है, जिसपर मंत्री अलांग ने मजेदार जवाब दिया है। तेमजेन के पोस्ट को लोग काफी पसंद कर रहे हैं।'मैं अब भी उनकी (wife) तलाश में हूं।'दरअसल, तेमजेन इमना अलांग ने गूगल सर्च रिकमेंडेशन का एक स्क्रिनशॉट शेयर किया है। उन्होंने गूगल सर्च बॉक्स में अपने नाम के पहले 5 लेटर टाइप किए। जिसके बाद उनसे जुड़े कंटेंट की लिस्ट सामने आई। इस लिस्ट में पहले नंबर पर मंत्री Temjen Imna Along का नाम आता है। दूसरे पर Temjen Imna Along Twitter, तीसरे पर Temjen Imna Along age और चौथे नंबर पर Temjen Imna Along Wife दिखता है। वाइफ के सर्च रिकमेंडेशन को लेकर ही मंत्री ने ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा है, '' अयाली, गूगल सर्च मुझे एक्साइट करती है। मैं अब भी उनकी (wife) तलाश में हूं।'भाई हम बिंदास हैं, सलमान भाई की शादी का इंतजार है।'तेमजेन इमना अलांग का यह पोस्ट वायरल हो गया है। इसे कई हजार लाइक्स मिले हैं। बीजेपी नेता के इस पोस्ट पर मैट्रिमोनी ऐप शादी डॉट कॉम के फाउंडर अनपुम मित्तल ने कमेंट किया है। उन्होंने लिखा, ''कुछ करना पड़ेगा शादी डॉट कॉम। मित्तल के ट्वीट के जवाब में नगालैंड के उच्च शिक्षा मंत्री ने लिखा, ''भाई फिलहाल हम बिंदास हैं। सलमान भाई की शादी का इंतजार कर रहा हूं।''

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 05:59
उद्धरण 1 इमारत
10,167 के ऑल टाइम हाई पर बंद हुआ निफ्टी, सेंसेक्‍स में आया 250 अंक का उछाल****** दिवाली से पहले ही देश के शेयर बाजारों में पटाखे फूटने लगे हैं। नेशनल स्‍टॉक एक्सचेंज का निफ्टी आज 10,167 अंक के नए रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया। वहीं बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 250 अंक की बढ़त के साथ करीब दो महीने के उच्चस्तर पर पहुंच गया। मुद्रास्फीति स्थिर रहने और औद्योगिक उत्पादन के आंकड़ों में मजबूती से निवेशकों में उत्साह था, जिससे बाजार में तेजी आई।घरेलू संस्थागत निवेशकों की लिवाली का सिलसिला भी जारी रहा।डॉलर के मुकाबले रुपए में मजबूती से भी बाजार धारणा को बल मिला।निफ्टी आज 71.05 अंक या 0.70 प्रतिशत के लाभ से 10,167.45 अंक के नए रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया। कारोबार के दौरान इसने 10,191.90 अंक के नए रिकॉर्ड स्तर को भी छुआ। इससे पहले 18 सितंबर को निफ्टी 10,153.10 अंक पर बंद हुआ था। वहीं 19 सितंबर को निफ्टी ने कारोबार के दौरान 10,178.95 अंक का रिकॉर्ड बनाया था। यह रिकॉर्ड भी आज टूट गया।बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स आज सकारात्मक रुख के साथ खुलने के बाद अंत में 250.47 अंक या 0.78 प्रतिशत के लाभ से 32,432.69 अंक पर बंद हुआ। दो अगस्त के बाद यह इसका सबसे ऊंचा बंद स्तर है। कल के कारोबार में सेंसेक्स 348 अंक चढ़ा था।साप्ताहिक आधार पर सेंसेक्स में 618.47 अंक या 1.94 प्रतिशत तथा निफ्टी में 187.75 अंक या 1.88 प्रतिशत का लाभ रहा।
2022-10-01 05:51
उद्धरण 2 इमारत
CBSE 12th Economics Paper 2020: जानिए कैसा था 12वीं का इकोनॉमिक्‍स का पेपर, क्‍वेश्‍चन पेपर में आए सभी सवाल पढ़ें यहां******सीबीएसई कक्षा 12वीं का इकनॉमिक्सपेपर आज आयोज‍ित क‍िया गया। परीक्षा का आयोजन सुबह 10.30 बजे से दोपहर 1.30 बजे तक किया गया था। छात्रों के मुताबिक 12वीं इकनॉमिक्स का पेपर काफी आसान था और अधिकतर छात्रों को परीक्षा में अच्छे अंक आने की उम्मीद है यहां हम आपके सामने भी इकनॉमिक्स का क्वेश्चन पेपर दे रहे हैं ताकि आप भी पेपर की कठिनाई के स्तर का अंदाजा लगा सकें।सीबीएसई क्लास 12वीं इकनॉमिक्स पेपर कुल 80 नंबर का था। एग्जाम कुल 3 घंटे का था यानी सुबह के 10.30 बजे शुरू हुआ था और दोपहर बाद 1.30 बजे समाप्त हुआ।12वीं इकनॉमिक्स के पेपर में तीन पार्ट्स में बांटा गया था। पहले पार्ट में इंट्रोडक्टरी मैक्रोइकनॉमिक्स, दूसरे में इंडियन इकनॉमिक डिवेलपमेंट और तीसरे में प्रॉजेक्ट इन इकनॉमिक्स था।के 'महर्षि विद्या मंदिर सीनियर सेकेंडरी स्कूल'के छात्रने बताया कि पेपर ज्यादा लंबा नही था। हालांकि सेक्शन बी मुश्किल था। लेकिन ओवर ऑल पेपर की बात करें तो अच्छा था। मैं इसे समय पर पूरा करने में सक्षम था। मुझे हाईस्कोर की उम्मीद है।
2022-10-01 05:43
उद्धरण 3 इमारत
चालू वित्तीय वर्ष में 8.4 से 10.1 फीसदी तक वृद्धि हासिल कर सकती है भारतीय अर्थव्यवस्था: NCAER******चालू वित्तीय वर्ष में 8.4 से 10.1 प्रतिशत तक वृद्धि हासिल कर सकती है भारतीय अर्थव्यवस्था: एनसीएईआरनयी दिल्ली: आर्थिक थिंक टैंक एनसीएईआर को उम्मीद है कि भारतीय अर्थव्यवस्था मौजूदा वित्तीय वर्ष में 8.4-10.1 प्रतिशत की वृद्धि हासिल कर सकती है। पिछले वित्तीय वर्ष में अर्थव्यवस्था में 7.3 प्रतिशत का संकुचन हुआ था। नेशनल काउंसिल ऑफ अप्लाइड इकोनॉमिक रिसर्च (एनसीएईआर) ने अर्थव्यवस्था की तिमाही समीक्षा जारी करते हुए आर्थिक वृद्धि को बढ़ावा देने के लिए मजबूत वित्तीय समर्थन पर जोर दिया।एनसीएईआर ने एक बयान में कहा, "हमारा आकलन है कि वित्तीय वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद में 11.5 प्रतिशत की वृद्धि होगी जबकि पूरे वित्तीय वर्ष में 8.4-10.1 प्रतिशत की वृद्धि होगी।" इसमें कहा गया, "हालांकि, उच्च वृद्धि में आधार प्रभाव की बड़ी भूमिका है। वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही इससे पिछले साल 2020-21 की पहली तिमाही में आई बड़ी गिरावट के ऊपर हासिल होगी।2021-22 के अंत पर, जीडीपी स्थिर मूल्यों पर, 2019-20 के जितनी ही 1,46,000 अरब रुपए (146 लाख करोड़) के बराबर रहेगी।" एनसीएईआर के आकलन के मुताबिक 2020-21 में आर्थिक वृद्धि में 7.3 प्रतिशत का संकुचन हुआ। रिपोर्ट में कहा गया कि कोविड-19 की पहली लहर के मुकाबले संक्रमण मामलों की संख्या और मृत्यू के लिहाज से दूसरी लहर चार गुणा बड़ी थी। इसने पहली लहर से पहले ही बुरी तरी तरह प्रभावित अर्थव्यवस्था को और नुकसान पहुंचाया है।
वापसी