नई पोस्ट करें

Jharhand News: देवघर में कई जगहों पर पुलिस का छापा, लगभग पांच किलो गांजा किया जब्त

2022-10-01 05:57:52 082

देवघरमेंकईजगहोंपरपुलिसकाछापालगभगपांचकिलोगांजाकियाजब्तCOVID relief package: सरकार लोगों को दे रही है राहत, मई में 55 करोड़ लोगों को दिया मुफ्त राशन******COVID relief package Govt provides free ration to 55 crore people in Mayसरकार ने गुरुवार को कहा कि उसने महामारी की दूसरी लहर के दौरान लोगों को राहत प्रदान करने की एक योजना के तहत मई में करीब 55 करोड़ लोगों को 28 लाख टन खाद्यान्न मुफ्त उपलब्ध कराया। यह वितरण राशन की दुकानों के जरिये किया गया। साथ ही प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (पीएमजीकेएवाई) के तहत जून में अब तक 2.6 करोड़ लाभार्थियों को 1.3 लाख मेट्रिक टन गेहूं और चावल उपलब्ध कराया गया है। खाद्य सचिव सुधांशु पांडे ने मीडिया से बातचीत के दौरान यह जानकारी दी। उन्होंने योजना के कार्यान्वयन की जानकारी देते हुए बताया कि राज्य और केंद्र शासित प्रदेश अब तक भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) के डिपो से 63.67 लाख टन (मई और जून के लिए योजना तहत किए जाने वाले कुल आवंटन का करीब 80 प्रतिशत हिस्सा) से ज्यादा खाद्यान्न ले चुके हैं। योजना के तहत केंद्र सरकार दो महीने (मई-जून 2021) के लिए मुफ्त खाद्यान्नों का वितरण कर रही है।वह राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (एनएफएसए) के तहत शामिल करीब 79.39 करोड़ लाभार्थियों को प्रति महीने प्रति व्यक्ति पांच किलोग्राम खाद्यान्न का वितरण कर रही है। योजना के तहत करीब 80 लाख टन खाद्यान्न का वितरण किया जाएगा। यह वितरण मौजूदा खाद्य कानून के तहत लाभार्थियों को मिलने वाले नियमित आवंटन से इतर किया जा रहा है। पांडे ने कहा कि मई 2021 के लिए करीब 55 करोड़ एनएफएसए लाभार्थियों को लगभग 28 लाख टन और जून 2021 के लिए करीब 2.6 करोड़ एनएफएसए लाभार्थियों को लगभग 1.3 लाख टन खाद्यान्न का वितरण किया गया है।उनके मुताबिक गुरुवार तक राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के तहत मई में 90 प्रतिशत और जून 2021 में 12 प्रतिशत लाभार्थियों को खाद्यान्न का वितरण किया गया। इसके तहत मई, जून माह में 13,000 करोड़ रुपये से अधिक सब्सिडी दी जा चुकी है। इसमें प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत दोनों महीनों के लिए 9,200 करोड़ रुपये से अधिक सब्सिडी दी गई है।

देवघरमेंकईजगहोंपरपुलिसकाछापालगभगपांचकिलोगांजाकियाजब्तAsia Cup 2022 : इन दो टीमों के बीच होगा फाइनल, ये दो मैच अभी बाकी******Highlights एशिया कप 2022 के सुपर 4 में पाकिस्तानी टीम ने अफगानिस्तान को हराकर फाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली है। इससे पहले श्रीलंका ने अफगानिस्तान और टीम इंडिया को हराकर पहले ही फाइनल के लिए अपनी सीट सुरक्षित कर ली थी। जो चार टीमें सुपर 4 में पहुंची थीं, उसमें से भारत और अफगानिस्तान का सफर अब खत्म हो गया है। हालांकि अभी फाइनल से पहले दो और मैच बाकी हैं, लेकिन इन दो मैचों का अब कोई मतलब नहीं रह गया है।भारत और अफगानिस्तान के बीच आज एशिया कप के सुपर 4 में मैच खेला जाएगा। हालांकि अब इस मैच का कोई भी मतलब नहीं रह गया है। इसके बाद श्रीलंका और पाकिस्तान के बीच भी एक मैच खेला जाना बाकी है। इस मैच का भी कोई मायने नहीं हैं। लेकिन दूसरा मैच इसलिए खास हो जाता है, क्योंकि पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच फाइनल खेला जाना है और इससे पहले दोनों टीमें आपस में सुपर 4 में भी भिड़ेंगी। दोनों टीमों का फाइनल खेलना पक्का है, लेकिन उन्हें फाइनल से पहले प्रैक्टिस का मौका मिल जाएगा। वहीं टीम इंडिया और अफगानिस्तान आज अपना आखिरी मुकाबला खेलेंगी।भारत और अफगानिस्तान के बीच आज मैच दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम पर खेला जाना है। इससे पहले एक ही दिन पहले अफगानिस्तान ने पाकिस्तान के खिलाफ शारजाह में अपना मैच खेला था, यानी उन्हें लगातार दो दिन मैच खेलने होंगे। साथ ही स्टेडियम भी अलग अलग होंगे। वहीं टीम इंडिया लगातार अपने मैच दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम पर ही खेल रही है। अफगानिस्तान की टीम भले पाकिस्तान से हार गई हो, लेकिन उसने पाकिस्तान को अच्छी टक्कर दी और छोटे स्कोर के बाद भी आखिरी ओवर तक मैच को लेकर आए। अब देखना होगा कि भारत और अफगानिस्तान की टीमें जब आपस में भिड़ंेगी तो मैच कैसा होगा। हालांकि दोनों टीमें चाहेंगी कि वे अपने एशिया कप समापन जीत के साथ करें।देवघरमेंकईजगहोंपरपुलिसकाछापालगभगपांचकिलोगांजाकियाजब्तकंपनियों के बोर्ड में शामिल होने से क्यों हिचकती हैं महिलाएं, वित्त मंत्री सीतारमण ने बताया कारण******Nirmala SitharamanHighlightsमुंबई वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कंपनियों के बोर्ड में शामिल होने को लेकर महिलाओं में कायम हिचक पर अफसोस जाहिर करते हुए सोमवार को कहा कि महिला उम्मीदवारों को इसके लिए राजी करने में खुद उन्हें भी दिक्कत हुई है। सीतारमण ने देश की वाणिज्यिक राजधानी मुंबई में बजट के बाद आयोजित एक कार्यक्रम में कहा, "मैंने मंत्री के रूप में कुछ लोगों को कंपनियों के बोर्ड में शामिल होने के लिए राजी करने की खुद भी कोशिश की है। हमें बोर्ड में उनके अनुभव की जरूरत है। लेकिन हमारे पास पर्याप्त महिलाएं नहीं आ रही हैं। यह एक गंभीर समस्या है।"दरअसल कानूनी प्रावधानों के मुताबिक देश की शीर्ष 1,000 कंपनियों को अपने बोर्ड में कम-से-कम एक स्वतंत्र महिला निदेशक को शामिल करना जरूरी होता है। इस बारे में पूछे जाने पर सीतारमण ने कहा, "मुझे उस तरह की महिलाओं के बारे में बताइए जिन्हें बोर्ड में शामिल किया जा सकता है। ऐसी महिलाएं कहां हैं?" उन्होंने उद्योग जगत से इस समस्या के सही समाधान के साथ आगे आने का अनुरोध करते हुए कहा कि सरकार की तरफ से उन्हें पूरा सहयोग मिलेगा।इस अवसर पर राजस्व सचिव तरुण बजाज ने कहा कि केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड में इस समय आधे से भी अधिक सदस्य महिलाएं हैं और उनके साथ काम करने का अनुभव काफी अच्छा रहा है।

Jharhand News: देवघर में कई जगहों पर पुलिस का छापा, लगभग पांच किलो गांजा किया जब्त

देवघरमेंकईजगहोंपरपुलिसकाछापालगभगपांचकिलोगांजाकियाजब्तFlash Back 2017: इस साल इन सीक्वल फिल्मों ने मचाई धूम, की ताबड़तोड़ कमाई****** सुपरस्टार सलमान खान और कैटरीना कैफ के शानदार अभिनय से सजी यह फिल्म क्रिसमस के मौके पर ही रिलीज की गई है। यह 2012 में रिलीज हुई फिल्म ‘एक था टाइगर’ का सीक्वल है। फिल्म बॉक्सऑफिस पर काफी बेहतरीन कमाई कर रही है। इसी के साथ कई नए रिकॉर्ड्स भी कायम कर चुकी है।देवघरमेंकईजगहोंपरपुलिसकाछापालगभगपांचकिलोगांजाकियाजब्तQueen Elizabeth II: महारानी को डॉग्स से काफी था प्यार, अब इनका क्या होगा बना चिंता का विषय******Highlights ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का निधन हो गया। इस खबर पूर ब्रिटेन में शोक की लहर दौड़ गई है। उनके अंतिम संस्कार की प्रक्रिया चालू हो गई है इसी बीच उनके प्रिय पालतू कुत्तों की व्यवस्था को लेकर असमंजस बरकरार है कि अब वे किसके पास रहेंगे। महारानी का स्कॉटलैंड स्थित बाल्मोरल कैसल में बृहस्पतिवार को निधन हो गया। वह 96 वर्ष की थीं। मीडिया में आईं रिपोर्ट के मुताबिक, महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के चार पालतू कुत्ते हैं, जिनमें से तीन के नाम म्यूइक, सैंडी, कैंडी हैं।राजकुमार एंड्रयू ने महारानी के पति फिलिप के 100वें जन्मदिवस के मौके पर उन्हें कॉकर स्पैनियल नस्ल का कुत्ता तोहफे में दिया था। महारानी के निधन के बाद उनके पालतू कुत्तों को किसके पास रखा जाएगा, इसे लेकर जारी असमंजस के बीच पत्रकार विक्टोरिया अरबिटर ने इंडिपेंडेंट अखबार से कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं है कि इन पालतू कुत्तों के रहने की व्यवस्था के संबंध में अवश्य योजना बनाई गई होगी। उन्होंने कहा कि शाही परिवार हमेशा से कुत्तों को पसंद करता रहा है। बेशक इनकी मालिकन का इनके साथ गहरा लगाव रहा था। महारानी के सभी बच्चे इन पालतू कुत्तों को स्नेह के साथ स्वीकार करेंगे।ब्रिटेन की महारानी की संपत्ति के बारे में अकसर अनुमान लगाया जाता है लेकिन खुद महारानी की तरफ से इस बारे में कभी कुछ सार्वजनिक नहीं किया गया। लेकिन उनकी आय के आधार पर कुछ विशेषज्ञों ने इस संबंध में अपना अनुमान लगाया है। गुडटू नामक वेबसाइट की रिपोर्ट के अनुसार, साल 2022 में महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की अनुमानित कुल संपत्ति 365 मिलियन पाउंड यानी 33.36 अरब रुपए से अधिक थी। वहीं मीडिया रिपोर्टस के अनुसार 2020 में उनकी कुल संपत्ति से 15 मिलियन पाउंड से अधिक थी और इसमें उनकी निजी आय और सोवेरिन ग्रांट शामिल हैं।पूरे राजशाही परिवार की संपत्ति की बात करें तो फोर्ब्स मैग्जीन के अनुसार उनकी कुल संपत्ति 72.5 बिलियन पाउंड, यानी 6.631 अरब रुपए से अधिक है। महारानी के आय के प्रमुख स्रोतों के बारे में बात करें तो उन्हें सोवेरिन ग्रांट वार्षिक तौर पर सरकार से प्राप्त होती थी। जबकि बाकी दो स्रोत स्वतंत्र थे प्रिवी पर्स महारानी की निजी आय होती है, जिनमें करदाताओं का पैसा शामिल नहीं था।देवघरमेंकईजगहोंपरपुलिसकाछापालगभगपांचकिलोगांजाकियाजब्तSunil Chhetri: भारतीय कप्तान सुनील छेत्री बने साल के सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलर, 7वीं बार इस पुरस्कार को किया अपने नाम******Highlightsभारत की राष्ट्रीय फुटबॉल टीम के कप्तान सुनील छेत्री को 2021-22 सत्र के लिए अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (AIFF) का साल का सर्वश्रेष्ठ पुरुष फुटबॉलर चुना गया है। जबकि महिला वर्ग में मनीषा कल्याण को यह सम्मान मिला। छेत्री को सातवीं बार यह पुरस्कार मिला है जबकि मनीषा पहली बार इस पुरस्कार के लिए चुनीं गईं। छेत्री और मनीषा को राष्ट्रीय टीम के उनके कोच क्रमश: इगोर स्टिमक और थॉमस डेनरबी ने विजेता नामित किया।सक्रिय अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों के बीच तीसरे सर्वाधिक गोल करने वाले खिलाड़ी छेत्री को 2007 में पहली बार इस पुरस्कार के लिए चुना गया था। उन्होंने इसके बाद 2011, 2013, 2014, 2017 और 2018-19 सत्र में भी यह पुरस्कार जीता। स्टिमक ने कहा, ‘‘सुनील पांच गोल के साथ हमारे सर्वोच्च गोल करने वाले खिलाड़ी थे और सैफ कप में उन्हें टूर्नामेंट का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी भी चुना गया।’’उन्होंने कहा, ‘‘इसके अलावा उन्होंने कोलकाता में एएफसी एशियाई कप क्वालीफायर के तीसरे दौर में तीन मैच में चार गोल किए। उनकी प्रतिबद्धता, नेतृत्व, अनुशासन और कड़ी मेहनत बुरे और अच्छे समय में प्रभावशाली थी।’’ मनीषा को पहली बार साल की सर्वश्रेष्ठ महिला फुटबॉलर चुना गया। उन्होंने 2020-21 सत्र में साल की सर्वश्रेष्ठ उभरती हुई महिला फुटबॉलर का पुरस्कार जीता था। डेनरबी ने कहा, ‘‘मनीषा ने राष्ट्रीय टीम और अपने क्लब के लिए कुछ उत्कृष्ट प्रदर्शन किए हैं। उसने गोल किए हैं और नियमित रूप से गोल करने में सहायता भी की है।’’मनीषा ने हाल ही में साइप्रस के शीर्ष डिवीजन चैंपियन अपोलोन लेडीज के साथ एक बहु-वर्षीय अनुबंध पर हस्ताक्षर किए। इस टीम ने 2022-23 यूएफा महिला चैंपियंस लीग के क्वालीफाइंग दौर में जगह बनाई है। अन्य पुरस्कारों में मार्टिना थोकचोम को 2021-22 के लिए सर्वश्रेष्ठ उभरती हुई महिला फुटबॉलर चुना गया जबकि पुरुष वर्ग मे यह पुरस्कार विक्रम प्रताप सिंह की झोली में गया।

Jharhand News: देवघर में कई जगहों पर पुलिस का छापा, लगभग पांच किलो गांजा किया जब्त

देवघरमेंकईजगहोंपरपुलिसकाछापालगभगपांचकिलोगांजाकियाजब्तLIVE Streaming ENG U19 vs AFG U19 Semi Final : कब और कैसे देखें ऑनलाइन मैच लाइव, ऐसी हो सकती है आपकी Dream 11 टीम******अंडर 19 विश्व कप 2022 में आज सेमीफाइनल मैच खेला जाएगा। आज के मुकाबले में एक तरफ होगी इंग्लैंड की टीम तो दूसरी ओर अफगानिस्तान की टीम होगी। दोनों टीमों ने अभी तक अच्छा प्रदर्शन किया हैं, लेकिन आज का मैच दोनों के लिए ही काफी खास होने वाला है। अभी तक इन दोनों टीमों ने जो मैच खेले हैं, उसमें इंग्लैंड की टीम अपनी शानदार बल्लेबाजी के बल पर यहां तक पहुंची है, वहीं बांग्लादेश की ताकत उके स्पिनर्स हैं, जिनसे इंग्लैंड को बचकर रहना होगा। इस बीच अच्छी खबर ये है कि टीम के सभी खिलाड़ी प्लेइंग इलेवन में चुने जाने के लिए तैयार हैं, यानी मुकाबला बराबरी का हो सकता है।इंग्लैड अंडर 19 बनाम अफगानिस्तार अंडर 19, सेमीफानइल मैच 06:30 PM IST से शुरू होगा और मंगलवार, 1 फरवरी को सर विवियन रिचर्ड्स स्टेडियम, नॉर्थ साउंड, एंटीगुआ में खेला जाएगा।भारत में मैच का प्रसारण स्टार स्पोर्ट्स नेटवर्क से किया जाएगा और डिज्नी + हॉटस्टार Disney+ Hotstar ऐप पर लाइव देखा जा सकेगा।पीटीवी स्पोर्ट्स चैनल पर मैच का सीधा प्रसारण किया जाएगा। पीटीवी एप्प पर भी मैच देखा जा सकेगा।बांग्लादेश में गाजी टीवी, टी स्पोर्ट्स और बीटीवी पर मैच का लाइव प्रसारण होगा जॉर्ज थॉमस, जैकब बेथेल, टॉम पर्स्ट (कप्तान), जेम्स रेव, विलियम लक्सटन, जॉर्ज बेल, रेहान अहमद, एलेक्स हॉर्टन (विकेटकीपर), थॉमस एस्पिनवाल, जेम्स बिक्री, जोशुआ बॉयडेन बिलाल सईदी, नांगेलिया खरोटे, अल्लाह नूर, सुलेमान सफी (कप्तान), एजाज अहमद अहमदजई, अब्दुल हादी, मोहम्मद इशाक (विकेटकीपर), नूर अहमद, इजहारुलहक नवीद, बिलाल सामी, नवीद जदरानमोहम्मद इशाकजॉर्ज थॉमस, जॉर्ज बेल, सुलेमान सफी रेहान अहमद, टॉम प्रेस्ट, जैकब बेथेल, इजाज अहमदजाइकइजहारुल्ला नवीद, नूर अहमद, थॉमस एस्पिनवालदेवघरमेंकईजगहोंपरपुलिसकाछापालगभगपांचकिलोगांजाकियाजब्तBulldozer Baraat: यूपी में 'बादशाह' की बुलडोजर से आई बारात, श्रावस्ती से बहराइच पहुंचा दूल्हा******Highlightsउत्तर प्रदेश के बहराइच जिले में श्रावस्ती से शनिवार को एक मुस्लिम दूल्हे की 'बुलडोजर' से बारात आई। बुलडोजर वाली इस बारात ने लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचा। उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार के दूसरे कार्यकाल का 'बुलडोजर' प्रतीक चिह्न बन गया है। यहां तक कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में मिली जीत के बाद योगी आदित्यनाथ को "बुलडोजर बाबा" का नाम दिया गया है।शनिवार को बहराइच जिले के रिसिया ब्लॉक के अंतर्गत लक्ष्मणपुर शंकरपुर निवासी सलीम की बेटी रुबीना का निकाह श्रावस्ती के बादशाह के साथ शनिवार को हुआ। निकाह घर पहुंचने से पहले बुलडोजर पर दूल्हे बादशाह को बिठाकर चौराहे पर घुमाया गया। बाराती अकील, भूरे, शकील समेत कई बुलडोजर पर सवार थे। बारातियों, घरातियों और क्षेत्र के लोगों में इस कदर उत्साह था कि चौक पर 'बुलडोजर बाबा' की जय की नारेबाजी होने लगी।श्रावस्ती से आए बाराती भूरे प्रधान ने कहा कि ''कारें तो सभी लाते हैं, कभी हाथी—घोड़ों पर बारात लाने का भी प्रचलन था। हम लोगों ने बुलडोजर पर बारात लाने का फैसला कर 'बादशाह- रुबीना' के निकाह को यादगार बनाने की सोची।’’ उन्होंने कहा कि यहां के लोगों द्वारा इस पहल को तवज्जो देना और भी अच्छा लगा। बहराइच सदर सीट से भाजपा विधायक और पूर्व मंत्री अनुपमा जायसवाल ने 'पीटीआई-भाषा' से कहा कि मुख्यमंत्री योगी जी का बुलडोजर सभी समुदायों के बीच सुशासन के प्रतीक के रूप में लोकप्रिय हो रहा है। उन्होंने कहा कि बुलडोजर सिर्फ अपराधियों के लिए ही भय का प्रतीक हो सकता है, शांतिप्रिय आमजन तो इसे शांति और अनुशासन का प्रतीक मानने लगे हैं। मुस्लिम समुदाय की बारात में इसका शामिल होना सभी समुदायों में योगी सरकार की लोकप्रियता का ज्वलंत उदाहरण है।गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश सरकार में कई माफिया, नेता और उपद्रव करने के आरोपी बुलडोजर के शिकार हो चुके हैं। बांदा जेल में बंद पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी, मुख्यमंत्री योगी पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के आरोपी बरेली की भोजीपुरा सीट से सपा विधायक तथा पूर्व मंत्री शहजिल इस्लाम और जेल में बंद पूर्व सांसद अतीक अहमद के कथित अवैध निर्माण पर बुलडोजर चल चुका है।

Jharhand News: देवघर में कई जगहों पर पुलिस का छापा, लगभग पांच किलो गांजा किया जब्त

देवघरमेंकईजगहोंपरपुलिसकाछापालगभगपांचकिलोगांजाकियाजब्तखरीफ फसलों की बुवाई 992 लाख हेक्टेयर के पार, इस बार होगा दालों का रिकॉर्ड उत्‍पादन****** अच्छी बरसात और अधिक बाजार कीमतों के कारण चालू खरीफ सत्र में अभी तक बुवाई के रकबे में 35 फीसदी की वृद्धि हुई है और यह बढ़कर 136.04 लाख हेक्टेयर हो गया है। पिछले सत्र की समान अवधि में दलहन बुवाई का रकबा 100.57 लाख हेक्टेयर था, जिससे दलहनों का उत्पादन बढ़ने और नई फसल के बाजार में आने के बाद खुदरा कीमतों के कम होने की उम्मीद बढ़ी है। सरकार को दलहन उत्पादन फसल वर्ष 2016-17 (जुलाई से जून) में बढ़कर दो करोड़ टन होने की उम्मीद है, जो उत्पादन पिछले वर्ष एक करोड़ 64.7 लाख टन था।19 अगस्त की स्थिति के अनुरूप बुवाई का कुल रकबा 992.76 लाख हेक्टेयर था, जो पिछले वर्ष की समान अवधि में 938.57 लाख हेक्टेयर था। इसमें कहा गया है कि धान की बुवाई चालू खरीफ सत्र में अभी तक 346.38 लाख हेक्टेयर में की गई है, जो पिछले सत्र में 334.26 लाख हेक्टेयर था। मोटे अनाजों की बुवाई का रकबा 180.20 लाख हेक्टेयर है, जो पिछले वर्ष की समान अवधि में 167.69 लाख हेक्टेयर था। तिलहनों की बुवाई का रकबा बढ़कर 175.49 लाख हेक्टेयर हो गया, जो पिछले वर्ष की समान अवधि में 168.49 लाख हेक्टेयर था। हालांकि गन्ने की बुवाई का रकबा घटकर 45.55 लाख हेक्टेयर रह गया, जो पहले 49.60 लाख हेक्टेयर था। कपास बुवाई का रकबा भी पहले के 110.23 लाख हेक्टेयर से घटकर 101.54 लाख हेक्टेयर रह गया।दालों का उत्पाद बढ़ाने पर जोर, 425 रुपए क्विंटल तक बढ़ाया MSP, बोनस भी देगी सरकारजूट बुवाई का रकबा पहले की समान अवधि के 7.73 लाख हेक्टेयर के मुकाबले घटकर 7.56 लाख हेक्टेयर रह गया। धान के साथ-साथ अन्य खरीफ फसलों की बुवाई का काम जून में दक्षिण पश्चिम मानसून के आरंभ के साथ शुरू होता है और कटाई का काम अक्‍टूबर महीने से शुरू होता है। दो निरंतर सूखा पड़े वर्षो के कारण भारत ने पिछले दो फसल वर्षों (वर्ष 2015-16 और वर्ष 2014-15) में करीब 25.2 तथा 25.2 करोड़ टन खाद्यान्नों का उत्पादन किया। चालू वर्ष में बेहतर बरसात की उम्मीद के कारण सरकार फसल वर्ष 2016-17 में 27 करोड़ टन के रिकॉर्ड उत्पादन करने का लक्ष्य कर रही है।

देवघरमेंकईजगहोंपरपुलिसकाछापालगभगपांचकिलोगांजाकियाजब्तCoronavirus महामारी का बुरा पड़ रहा है असर, JCB इंडिया ने की 400 कर्मचारियों की छंटनी******JCB India lays off 400 employees amid coronavirus pandemic अर्थमूविंग और निर्माण उपकरण बनाने वाली कंपनी जेसीबी इंडिया ने शुक्रवार को कहा कि उसने कोरोना वायरस महामारी के कारण अपने 400 स्थाई कर्मचारियों की छंटनी की है। मांग में कमी के कारण कार्यबल को समायोजित करने के लिए यह छंटनी की गई है। ने कहा कि मई और जून में उसके उत्पादों की मांग में इससे पिछले साल की समान अवधि की तुलना में 80 प्रतिशत की कमी आई है। जेसीबी इंडिया के प्रवक्ता ने कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण कई अन्य क्षेत्रों की तरह निर्माण उपकरण क्षेत्र भी बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। निर्माण कार्य धीमा होने के कारण अप्रैल के महीने में निर्माण उपकरण की मांग लगभग न के बराबार थी।प्रवक्ता ने कहा कि पिछले साल की इसी अवधि की तुलना में मई और जून में उत्पादों की मांग लगभग 80 प्रतिशत घट गई। उन्होंने कहा कि हमारे व्यापार पर बहुत बुरा असर पड़ा है। इस असाधारण स्थिति में टिकने के लिए हमें अपने कर्मचारियों की संख्या को फिर से समायोजित करने का कठिन और दर्दनाक निर्णय लेना पड़ा है, जिसके कारण 400 पद खत्म हो गए हैं। भारत 2007 से जेसीबी के सबसे बड़े बाजारों में एक है। इस समय जेसीबी इंडिया 5,000 से अधिक लोगों को रोजगार देता है।देवघरमेंकईजगहोंपरपुलिसकाछापालगभगपांचकिलोगांजाकियाजब्तSL vs PAK 1st Test Day 5 Highlights: पाकिस्तान की गॉल टेस्ट में ऐतिसाहिक जीत, श्रीलंका को 4 विकेट से हराया******पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच मौजूदा दो मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला टेस्ट मैच पाकिस्तानी टीम ने चार विकेट से जीत लिया है।इस मैच में पाकिस्तान ने गॉल में रिकॉर्ड लक्ष्य हासिल कर जीत अपने नाम की।चौथे दिन श्रीलंका की पारी 337 पर समाप्त हो गई थी और पहली पारी में 4 रन की लीड जोड़करपाकिस्तान को इस मैच को जीतने के लिए रिकॉर्ड 342 रनों का लक्ष्य मिला था। पांचवें दिन दूसरे सत्र में पाकिस्तान ने 6 विकेट खोकर यह लक्ष्य अपने नाम कर लिया। पाकिस्तान की इस ऐतिहासिक जीत के हीरो रहे ओपनर अब्दुल्लाह शफीक जिन्होंने नाबाद 160 रनों की पारी खेली। इस मैदान पर इससे पहले चौथी पारी का सर्वाधिक स्कोर 268 रन ही था।

देवघरमेंकईजगहोंपरपुलिसकाछापालगभगपांचकिलोगांजाकियाजब्तChandra Grahan 2020: 30 नवंबर को है साल का आखिरी चंद्र ग्रहण, जानें समय, सूतक काल और इससे जुड़ी अहम बातें******साल 2020 का आखिरी चंद्र ग्रहण नवंबर महीने के आखिरी में यानी कि 30 नवंबर कोहै। ये चंद्र ग्रहण महज उपच्छाया मात्र होगा। सौरमंडल में मीलों दूर घटने वाली इस खगोलीय घटना का जीवन पर प्रभाव पड़ेगा। साल 2020 में पड़ने वाला ये चौथा चंद्र ग्रहण है। जानें चंद्र ग्रहण का सूतक काल, धार्मिक मान्यता, कहां दिखेगा और इसका प्रभाव।30 नवंबर को चंद्र ग्रहण लगेगा। इसी दिन कार्तिक पूर्णिमा भी है और सोमवार का दिन है। 30 नवंबर दोपहर 1 बजकर 4 मिनट 30 नवंबर दोपहर 3 बजकर 13 मिनट 30 नवंबर शाम 5 बजकर 22 मिनटज्योतिषियों के अनुसार साल का ये अंतिम चंद्र ग्रहण वृषभ राशि और रोहिणी नक्षत्र में पड़ेगा। इसके साथ ही इस ग्रहण का असर थोड़ा बहुत सभी राशियों पर पड़ेगा।इस बार का चंद्र ग्रहण मात्र उपच्छाया मात्र है। इसी वजह से इस ग्रहण का सूतक काल भी मान्य नहीं होगा।30 नवंबर को साल 2020 का आखिरी चंद्र ग्रहण पड़ रहा है। ये चंद्र ग्रहण पूर्ण नहीं होगा यानी कि उपच्छाया मात्र होगा। ग्रहण से पहले चंद्रमा पृथ्वी की परछाई में प्रवेश करता है जिसे उपच्छाया कहते हैं। इसके बाद पृथ्वी की वास्तविक छाया में प्रवेश करता है। जब चंद्रमा पृथ्वी की वास्तविक छाया में प्रवेश करता है तब वास्तविक चंद्र ग्रहण होता है लेकिन कई बार वास्तविक छाया की बजाय उपच्छाया से ही बाहर निकल आता है तब उसे उपच्छाया चंद्र ग्रहण कहते हैं। इस चंद्र ग्रहण में चंद्रमा के आकार में कोई फर्क नहीं आता है। इसमें चंद्रमा पर एक धुंधली सी छाया मात्र नजर आती है। 10 जनवरी 5 जून5 जुलाई30 नवंबर को पड़ रहा हैदेवघरमेंकईजगहोंपरपुलिसकाछापालगभगपांचकिलोगांजाकियाजब्तCucumber Side Effects: खीरा खाने से होते हैं ये नुकसान, इन बातों को नहीं करें इग्नोर******इन दिनों मौसम में गर्मी का आलम है। ऐसे में लोग उन चीजों को खाना पसंद करते हैं जो हमारी बॉडी को ठंडक दे। ऐसे में खीरा या ककड़ी सबसे ज्यादा पसंद किए जाने वाले फलों में से है। विटामिन बी, विटामिन सी, विटामिन के, पोटेशियम और कॉपर से भरपूर खीरा न केवल आपको हाइड्रेटेड रखेगा बल्कि कई बीमारियों के जोखिम को कम करने में भी मदद कर सकता है। लेकिन अपने अद्भुत हेल्थ बेनिफिट्स के बावजूद, खीरा खाने के कई साइड इफेक्ट्स हैं। आइए जानते खीरा के साइड इफेक्ट।यदि आप पहले से ही पेट संबंधी गंभीर बीमारी हैं तो आप दोपहर के भोजन के दौरान खीरे के कुछ टुकड़े कर सकते हैं, लेकिन उसके बाद नहीं। कुकुर्बिटिन होने के कारण कुछ लोगों को अपच की समस्या हो सकती है।हम आपसे यह नहीं कह रहे हैं कि आप हमेशा के लिए खीरा खाना बंद कर दें। आप इन्हें सही समय पर और सही मात्रा में खाने में निहित है। दिन में कम मात्रा में खीरा खाने से आपके शरीर को कोई नुकसान नहीं होगा। इसके बजाय ये आपको हाइड्रेटेड रखेंगे, हड्डियों के स्वास्थ्य को बढ़ावा देंगे और वजन घटाने में भी मदद करेंगे।

देवघरमेंकईजगहोंपरपुलिसकाछापालगभगपांचकिलोगांजाकियाजब्तRussia-Ukraine War: अब क्या करेंगे पुतिन? यूक्रेन बोला- हम रूस को हराने में सक्षम, लेकिन चाहिए होंगे और हथियार******Highlightsयूक्रेन के विदेश मंत्री दिमित्रो कुलेबा ने रविवार को अपने जर्मन समकक्ष एनालेना बारबॉक के साथ एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि जवाबी हमले की सफलता से पता चलता है कि यूक्रेन रूस को हरा सकता है लेकिन इसके लिए और हथियारों की जरूरत है। कुलेबा ने कहा कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को नाराज करने के डर से कुछ सहयोगियों ने शुरू में यूक्रेन को हथियार देने में संकोच किया लेकिन "अब, भगवान का शुक्र है, हम अब उस तर्क को नहीं सुनते हैं। हमने दिखाया कि हम रूसी सेना को हराने में सक्षम हैं। हम इसे इन हथियारों के साथ कर रहे हैं, "उन्होंने कहा कि हमें जितने अधिक हथियार मिलेंगे, उतनी ही तेजी से हम रूसियों के खिलाफ जीतेंगे और यह युद्ध उतनी ही तेजी से समाप्त होगा।"जैसा कि रॉयटर्स की रिपोर्ट में कहा गया है कि बैरबॉक ने आगे सैन्य सहायता का वादा किया और पश्चिमी शैली के युद्धक टैंकों की आपूर्ति से इनकार नहीं किया।यूक्रेन की सेना ने यूक्रेन के रूसी कब्जे वाले क्षेत्रों पर जवाबी कार्रवाई शुरू की है, उक्रेन्स्का प्रावदा ने बताया। यूक्रेनी सशस्त्र बलों ने सितंबर की शुरूआत से यूक्रेन के क्षेत्र के अनुमानित 2,000 वर्ग किमी को रूसी कब्जे से मुक्त करा लिया है। खार्किव के आसपास के क्षेत्र में, यूक्रेनी सैनिकों ने 30 से अधिक बस्तियों पर नियंत्रण कर लिया है। 10 सितंबर को, यह बताया गया कि रूसी सैनिक इजि़यम शहर से पीछे हट गए हैं। यूक्रेनी सेना भी यूक्रेन के दक्षिण में एक सफल जवाबी कार्रवाई कर रही है - वर्तमान में वे विभिन्न क्षेत्रों में कई दर्जन किलोमीटर आगे बढ़ चुके हैं।जानकारों के मुताबिक इज़ियम शहर से रूस का बाहर निकलना यूक्रेन के लिए एक अहम कदम साबित हो सकता है। इसे पहले रूसी सेना कीव से खाली हाथ लौटी थी। खबरों के मुताबिक, जीत के गवाह रहे यूक्रेन के एक अधिकारी ने कहा कि क्षेत्र में रूसी सेना की हार के पहले संकेत शुक्रवार को मिले थे तब रूसी सेना ने एक रेलवे स्टेशन के पास एक सफेद झंडा दिखाया। उन्होंने बताया कि इस शहर में रातभर जमकर तोड़फोड़ की। यूक्रेन का कहना है कि देश के पूर्वोत्तर में जोरदार हमला हो रहा है।पिछले कुछ दिनों में, रूसी सीमावर्ती सैनिकों को भारी नुकसान हुआ है और वे गांव-गांव भाग रहे हैं। इस जीत से उत्साहित यूक्रेन के राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की ने कहा कि हम धीरे-धीरे अपने क्षेत्र को फिर से हासिल कर रहे हैं। एक अमेरिकी थिंक-टैंक ने दावा किया है कि खार्किव इलाके में हाल ही में चलाए गए ऑपरेशन में 2500 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र से रूसी सैनिक मारे गए हैं।देवघरमेंकईजगहोंपरपुलिसकाछापालगभगपांचकिलोगांजाकियाजब्तMonsoon session: मानसून सत्र में महंगाई, अग्निपथ समेत जनहित के कई मुद्दे उठाएगी कांग्रेस- बोले मल्लिकार्जुन खड़गे******Highlightsकांग्रेस ने गुरुवार को फैसला किया कि वह संसद के आगामी मानसून सत्र के दौरान महंगाई, बेरोजगारी, सेना में भर्ती की नई अग्निपथ स्कीम, जांच एजेंसियों के कथित दुरुपयोग और जनहित के कई अन्य मुद्दे दोनों सदनों में उठाएगी। पार्टी के संसद मामलों के रणनीतिक समूह की बैठक में यह फैसला किया गया। बैठक की अध्यक्षता कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने की।इस बैठक में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, अधीर रंजन चौधरी, जयराम रमेश, पी चिदंबरम, मणिकम टैगोर और कुछ अन्य नेता शामिल हुए। बैठक के बाद राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष खड़गे ने संवाददाताओं से कहा, "इस सत्र में महंगाई को हम प्राथमिकता देंगे। हम अग्निपथ स्कीम का विषय भी सदन में उठाना चाहते हैं। हम बेरोजगारी का मुद्दा भी उठाएंगे। हम संघीय ढांचे पर हो रहे हमले का विषय सदन में चर्चा में शामिल कराना चाहते हैं।"खड़गे ने कहा, "डॉलर के मुकाबले रुपये का मूल्य घटा है और आर्थिक परिस्थिति कमजोर हो रही है। हमारा प्रयास होगा कि इस सत्र में इस बारे में भी चर्चा होगी। हम अल्पसंख्यकों के साथ हो रहे अन्याय और हेट स्पीच पर भी दोनों सदनों में चर्चा चाहते हैं। जांच एजेंसियों का जिस तरह से दुरुपयोग किया जा रहा है उस बारे में भी हम चर्चा की मांग करेंगे।"उन्होंने आगे कहा कि बेरोजगारी सहित जनहित के अन्य मुद्दों को भी उठाया जाएगा। कांग्रेस नेता ने यह दावा भी किया कि संसद सत्र से पहले होने वाली सर्वदलीय बैठकों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आखिरी समय में आते हैं और सिर्फ तस्वीरें खिंचवाते हैं।गौरतलब है कि संसद का मानसून सत्र 18 जुलाई को आरंभ होकर 12 अगस्त तक चलेगा। इसमें कुल 26 दिनों की अवधि में 18 बैठकें होंगी। वर्तमान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का कार्यकाल 24 जुलाई को और उपराष्ट्रपति के रूप में एम वेंकैया नायडू का कार्यकाल 10 अगस्त को समाप्त हो रहा है। संसद का यह सत्र खास रहने वाला है, क्योंकि 18 जुलाई को राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए मतदान होना है। दूसरी ओर, उपराष्ट्रपति का चुनाव 6 अगस्त को होगा। उपराष्ट्रपति पद के लिए यदि निर्विरोध निर्वाचन नहीं हुआ तो उसी दिन मतों की गणना भी होगी।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 06:32
उद्धरण 1 इमारत
FPI: विदेशी निवेशकों ने इन 5 कंपनियों में तेजी से बढ़ाया निवेश, स्टाॅक में आ सकता है बड़ा उछाल******Highlightsविदेशी निवेशकों ने अप्रैल-जून तिमाही में भारतीय कंपनियों में अधिक दिलचस्पी दिखाई है, जिससे पांच कंपनियों में इन संस्थाओं की हिस्सेदारी में तेजी से वृद्धि हुई है। यह वृद्धि इस साल जुलाई के अंत से खरीदार बनने से पहले पिछले 9 महीनों में इक्विटी के शुद्ध विक्रेता बने रहने के बाद भी है। मार्केट एक्सपर्ट का मनना है कि जब भी किसी कंपनी में विदेशी निवेशक अपनी हिस्सेदारी बढ़ाते हैं तो उसमें तेजी आती है। ऐसे में इन पांच शेयरों में तेजी आ सकती है। ऐसे में आने वाले दिनों में भारतीय बाजार एक बार फिर से नए हाई पर पहुंच सकता है।प्रभुदास लीलाधर द्वारा संकलित आंकड़ों के अनुसार, विदेशी निवेशकों ने 31 मार्च को 0.64 प्रतिशत की तुलना में आरएचआई मैग्नेसिटा इंडिया लिमिटेड में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाकर 2.2 प्रतिशत कर दी। जबकि, एसाब इंडिया लिमिटेड में हिस्सेदारी 0.21 प्रतिशत से बढ़कर 0.64 प्रतिशत हो गई, टाटा कॉफी लिमिटेड में यह 0.71 प्रतिशत से बढ़कर 1.78 प्रतिशत हो गई, हिंदुस्तान कॉपर लिमिटेड में यह 0.67 प्रतिशत बढ़कर 0.31 प्रतिशत हो गई और मैंगलोर में आंकड़ों से पता चलता है कि रिफाइनरी एंड पेट्रोकेमिकल्स लिमिटेड में यह 0.77 प्रतिशत से बढ़कर 1.6 प्रतिशत हो गया।इसके अलावा, कुछ अन्य राज्य के स्वामित्व वाली संस्थाएं जैसे- इंडिया बैंक, राष्ट्रीय केमिकल एंड फर्टिलाइजर्स लिमिटेड, आदि हैं जहां एफपीआई की हिस्सेदारी बढ़ी है। एक्सपट्र्स का मानना है कि होल्डिंग में बढ़ोतरी वैल्यू शेयरों में इंटरेस्ट के शिफ्ट होने की वजह से हुई है। भारतीय इक्विटी में विदेशी निवेशकों की आमद 28 जुलाई से अब तक 21,000 करोड़ रुपये से अधिक है। लगभग 9 महीने तक इक्विटी में बिकवाली करने के बाद विदेशी निवेशक जुलाई के अंत से खरीदार बन गए।विशेषज्ञों का मानना है कि विदेशी निवेशक भारतीय बाजार में लौट आए हैं क्योंकि भारत पसंदीदा गंतव्य है क्योंकि देश में दुनिया की बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के बीच विकास की सबसे अच्छी संभावनाएं हैं। एफपीआई ऑटो, कैपिटल गुड्स, एफएमसीजी और टेलीकॉम में शुद्ध खरीदार बन गए हैं।
2022-10-01 04:58
उद्धरण 2 इमारत
कंगाल पाकिस्‍तान फिर IMF के दरवाजे पर, 6 अरब डॉलर की मांग रहा भीख******कंगाल पाकिस्‍तान फिर IMF के दरवाजे पर, 6 अरब डॉलर की मांग रहा भीखपाकिस्तान छह अरब डॉलर के ऋण पैकेज को फिर से पटरी पर लाने के लिए अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ) के साथ अगले सप्ताह बातचीत शुरू करने जा रहा है। मीडिया की खबरों में यह जानकारी दी गईहै। ‘द एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ की रिपोर्ट के अनुसार, पांच दिन की तकनीकी वार्ता वर्चुअल तरीके से चार अक्टूबर को शुरू होगी। इसमें दोहा, कतर से आईएमएफ की टीम जुड़ेगी। यदि यह वार्ता सफलतापूर्वक संपन्न होती है, तोआईएमएफ पाकिस्तान को तत्काल एक अरब डॉलर जारी करेगा।पाकिस्तान और आईएमएफ ने जुलाई, 2019 में छह अरब डॉलर के ऋण के लिए करार किया था। जनवरी, 2020 में यह कार्यक्रम पटरी से उतर गया था। इससाल मार्च में संक्षिप्त अवधि के लिए यह कार्यक्रम फिर शुरू हुआ, लेकिन जून में यह फिर पटरी से उतर गया। इस ऋण करार को लेकर दोनों पक्षों के बीच जून से अगस्त के दौरान कोई गंभीर वार्ता नहीं हुई है।पाकिस्तान से जुडी एक और खबर सामने आई है जिसमें वह बासमती के श्रेय को लेकर एक हारी हुई लड़ाई लड़ रहा है। यूरोपीय संघ ने हाल ही में पाकिस्तानी चावल की एक खेप को खारिज कर दिया था। इसलिए, जो वहखुले बाजार में नहीं बेच सकता था, वह सोशल मीडिया के माध्यम से बेच सकता है और इसके लिए 5वीं जेन वारफेयर कौशल के लिए धन्यवाद कहा जा सकता है।डिसइंफोलैब ने एक रिपोर्ट में कहा कि इस अभियान काफायदा उठाकर 30 सितंबर से पाकिस्तानी अकाउंट्स ने भारतीय खाद्य उत्पादों का बहिष्कार कर भारत को बदनाम करने का एक और अभियान शुरू कर दिया। इसमें कहा गया है कि व्यवसाय का बहिष्कार एक आर्थिकपहलू के साथ जुड़ा हुआ है।इस अभियान के विश्लेषण ने पाकिस्तान की ट्रोल फैक्ट्रियों के यांत्रिकी के बारे में दिलचस्प जानकारी दी है। रिपोर्ट में कहा गया है कि वे भारत विरोधी एजेंडे को आगे बढ़ा रहे हैं, कुछ दिनों के बाद चावल बेचने के अवसर काएहसास करने के बाद, उन्होंने इस अभियान की शुरूआत की। ये अकाउंट डिजिटल पाकिस्तान के विभिन्न ट्रोल समूहों का हिस्सा हैं। रिपोर्ट के अनुसार, इन अकाउंट्स के विश्लेषण से, हम देखते हैं कि वे खुद को पाक सेना,आईएसआई, आईएसपीआर आदि से जोड़ते हैं। अभी तक यह पुष्टि नहीं हुई है कि प्रचारित किए जा रहे चावल के ब्रांड पाक फौज के हैं, या उनसे स्वतंत्र हैं।ये अकाउंट अपने ट्वीट में उसी टेम्पलेट का उपयोग करते हुए ट्रोल समूहों के उसी समूह को भी टैग करते हैं, जिसका वे हिस्सा हैं, ताकि इन समूहों के अन्य सदस्य इन ट्वीट्स को आगे बढ़ा सकें। कई ट्रोल समूह सोशलमीडिया पर भारत के बदनाम करने के साथ ही पाकिस्तान के चावल को आगे बढ़ाने में प्रमुख भूमिका निभा रहे हैं।
2022-10-01 04:10
उद्धरण 3 इमारत
NEET Counselling 2020: नीट काउंसलिंग का फाइनल रिजल्ट जारी, ऐसे करें चेक******मेडिकल काउंसिल कमेटी (MCC) ने कल राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (NEET) 2020 के लिए काउंसलिंग के पहले दौर का परिणाम अपनी आधिकारिक वेबसाइट mcc.nic.in पर कल यानी 6 नवंबर को जारी कर दिया है। परीक्षा के लिए उपस्थित होने वाले उम्मीदवार काउंसलिंग के परिणामों की जाँच कर सकते हैं ।NEET काउंसलिंग 2020 का पहला दौर 28 अक्टूबर को शुरू हुआ था और 2 नवंबर को शाम 5 बजे दौरा किया था। जो उम्मीदवार NEET परीक्षा 2020 के लिए उपस्थित हुए थे, वे अपने कॉलेज आवंटन को MCC की आधिकारिक वेबसाइट पर, अर्थात mcc.nic.in पर देख सकते हैं।नोटिस में कहा गया है, "परिणाम की किसी भी विसंगति को ईमेल आईडी पर ईमेल के माध्यम से DGHS के MCC को सूचित किया जा सकता है: , 6 नवंबर, 2020 को अपराह्न 08:00 बजे तक। इसके बाद परिणाम अंतिम माना जाएगा। । "यह भी बताया गया है कि उम्मीदवार को NEET काउंसलिंग 2020 में आवंटित कॉलेज को रिपोर्ट करने के लिए किसी भी टिकट की बुकिंग से पहले MCC द्वारा अंतिम परिणाम जारी करने के लिए इंतजार करना होगा।
वापसी