नई पोस्ट करें

उत्तर प्रदेश में 20 रुपये को लेकर हुई कहासुनी में दुकानदार को मार डाला, 4 गिरफ्तार

2022-10-01 03:43:50 688

उत्तरप्रदेशमें20रुपयेकोलेकरहुईकहासुनीमेंदुकानदारकोमारडाला4गिरफ्तारफारुख अब्दुल्ला की बढ़ेगी मुसीबत! ईडी ने 11.86 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी की जब्त****** जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अब्दुल्ला के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शनिवार को बड़ी कार्रवाईकी है। ईडी ने फारुख अब्दुल्ला की 6 प्रॉपर्टी को जब्त किया है। ईडी ने जम्मू कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन (JKCA) घोटाला मामले में ये कार्रवाई की है। ED ने PMLA एक्ट के तहत 11.86 करोड़ की प्रॉपर्टी को जब्तकिया है।जम्मू-कश्मीर क्रिकेट घोटाला मामले में शनिवार को ने राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला से संबंधित 2 घर, 3 प्लॉट और एक अन्य प्रॉपर्टी को सीज कर दिया है। इससे पहले फरवरी माह में ईडी ने एहसान अहमद मिर्जा और मीर मंजूर गजनफर की 2.6 करोड़ की संपत्ति जब्त की थी।वित्तीय अपराधों की जांच करने वाली एजेंसी प्रवर्तन निदेशालय जम्मू-कश्मीर क्रिकेट निकाय से जुड़े धन-शोधन के आरोपों की जांच कर रही है। सीबीआई ने 2002-11 के बीच 43.69 करोड़ रुपये की कथित हेराफेरी के लिए 2018 में नेशनल कॉन्फ्रेंस के सांसद अब्दुल्ला और तीन अन्य के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया था।दरअसल, साल 2005-06 से 2011-12 तक J&KCA को BCCI से 94.06 करोड़ का फंड अलॉट हुआ था, जो कि J&K में क्रिकेट के डेवलेपमेंट के लिए था। लेकिन आरोप है कि J&K के पूर्व मुख्यमंत्री और J&KCA के तत्कालीन अध्यक्ष ने अहसान अहमद मिर्जा और मीर मंजूर गजनफर के साथ मिल कर 43.69 करोड़ रुपये का घोटाला किया और अपने बैंक खातों में इन पैसों को जमा कराया या कैश निकाल लिया।जम्मू-कश्मीर हाई कोर्ट ने JKCA में हुए घोटालों को लेकर जांच सीबीआई को सौंप दी थी, जिसमें फारूख अब्दुल्ला समेत खंजाची एहसान एहमद मिर्जा और मीर मंजूर गज्फनर समेत दूसरे आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज जांच शुरू की थी और उसी के आधार पर ईडी ने मनी लॉड्रिंग का मामला दर्ज किया था। ईडी ने जांच में पाया कि 2004 में JKCA के खजांची मुख्तारकांत ने इस्तीफा दे दिया था, जिसके बाद फारुख अब्दुल्ला ने एहसान अहमद मिर्जा को बिना इलेक्शन करवाए कोषाध्यक्ष बना दिया। 2006 में जब JKCA के इलेक्शन हुए तो मीर मंजूर गजनफर JKCA के खज़ांची बने, लेकिन कोर्ट के स्टे के कारण एहसान अहमद मिर्जा ही चार्ज संभाले रहे। जब कोर्ट का स्टे हट गया तो मीर मंजूर गजनफर को खजांची का चार्ज देने के बजाये फारूख अब्दुल्ला ने एक फाइनेंस कमेटी बना दी और दोनों को JKCA के खाते चलाने की मंजूरी दे दी।आरोप है कि इसके बाद दोनों ने J&K बैंक में संयुक्त नाम से अपने खाते खुलवा लिए और जेकेसीए के डेवलेपमेंट के लिये आये पैसों को अपने खाते में ट्रांसफर कर लिया। 2009 में हुए JKCA के चुनावों में एहसान अहमद मिर्जा खजांची बने और 2011 में हुए चुनावों में जनरल सेक्रेटरी और फारुख अब्दूल्ला अधयक्ष बने। आरोप है कि 2004 से 2012 तक लगातार JKCA के खातों से पैसे निजी खातों में जाते रहे।आपको बता दें कि, हाल ही में फारुख अब्दुल्ला ने कहा था कि हम चीन की मदद से जम्मू कश्मीर में फिर से धारा 370 लागू करवाएंगे, इससे पहले फारुख अब्दुल्ला ने कहा था कि हम चाहते हैं जम्मू कश्मीर पर चीन शासन करे। फारुख अब्दुल्ला ने ये बयान ऐसे समय में दिया था जब भारत और चीन के मध्य पिछले की महीनों से तनातनी चल रही है।

उत्तरप्रदेशमें20रुपयेकोलेकरहुईकहासुनीमेंदुकानदारकोमारडाला4गिरफ्तारविजय हजारे ट्रॉफी का 20 फरवरी से आगाज, 14 मार्च को होगा फाइनल******विजय हजारे ट्रॉफी का 20 फरवरी से आगाज होगा और 14 मार्च को टूर्नामेंट का फाइनल खेला जाएगा। विजय हजारे टूर्नामेंट 6 शहरों में खेला जाएगा जिसमें सूरत, इंदौर, बैंगलुरु, जयपुर, कोलकाता और तमिलनाडु शामिल हैं। टूर्नामेंट में हिस्सा लेने वाली टीमों को 5 एलीट ग्रुप और एक प्लेट ग्रुप में बांटा गया है।इसके बाद सभी टीमें राज्य नियामक अधिकारियों और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीओपीआई) के मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) के अनुसार COVID-19 परीक्षण प्रक्रियाओं और क्वॉरंटाइन से गुजरेंगी।बीसीसीआई सचिव जय शाह ने अपने पत्र में सभी संबद्ध इकाइयों से कहा, "भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड 20 फरवरी 2021 से विजय हजारे ट्रॉफी की शुरुआत करेगा। टीमों को 13 फरवरी को अपने संबंधित शहरों में इकट्ठा होना आवश्यक है और राज्य नियामक अधिकारियों और बीसीसीआई मानक संचालन प्रक्रियाओं (एसओपी) के अनुसार COVID-19 परीक्षण प्रक्रियाओं और क्वांरटाइन से गुजरना होगा।"विजय हजारे ट्रॉफी में कई बड़े चेहरे भी खेलते नजर आएंगे जिसमेंटी नटराजन, श्रेयस अय्यर, पृथ्वी शॉ और सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर शामिल हैं। नटराजन को विजय हजारे ट्रॉफी के लिये तमिलनाडु टीम में जगह दी गई है। ऑस्ट्रेलिया दौरे पर तीनों प्रारूपों में भारतीय टीम में डेब्यू करने वाले नटराजन इंग्लैंड के खिलाफ पहले दो टेस्ट में भारतीय टीम का हिस्सा नहीं हैं।उत्तरप्रदेशमें20रुपयेकोलेकरहुईकहासुनीमेंदुकानदारकोमारडाला4गिरफ्तारग्रैमी अवॉर्ड 2020: ग्रैंड म्यूजिकल इवेंट में सैटिन स्लिट गाउन में बेहद खूबसूरत नजर आईं प्रियंका चोपड़ा******बॉलीवुड अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा अपनी शानदार एक्टिंग के साथ-साथ फैशन सेंस के कारण हमेशा सुर्खियों में बनी रहती हैं। अब प्रियंका हॉलीवुड केप्री-ग्रैमी अवॉर्ड्स 2020 की पार्टी में जलवे बिखेरती नजर आईं। आपको बता दें कि यह अवॉर्ड बेस्ट सिगंर्स को सम्मानित करने के लिए आयोजित किया जाता है। इस इवेंट में प्रियंका बेहद खूबसूरत लुक में नजर आईं। के लुक की बात करें तो उन्होंने फैशन डिजाइनर निकोलस जिब्रान के कलेक्शन का खूबूसरत हॉल्टर नेक का सैटिन गाउन पहने हुए नजर आईं। इस थाई स्लिट गाउन के साथ प्रियंका को एक क्लासी लुक दिया। प्रियंका का हॉल्टर नेक आगे से होते हुए पीछे पल्लू की की तरह आया। इस लुक में प्रियंका काफी हॉट नजर आईं।प्रियंका ने इस लुक के साथ मिनिमल मेकअप, बोल्ड आइज के साथ अपनी फेवरेट शेड की लिपस्टिक ब्राउन कलर की लगाए हुए नजर आईं। इस लुक के साथ प्रियंका ने बालों को ओपन रखा हुआ था। वहीं मैचिंग फुटविटर पहने हुए नजर आईं।प्रियंका चोपड़ा अपने हर लुक से हर किसी को इंप्रेस कर लेती हैं। प्रियंका कुछ दिन पहले भारत आईं थी और एक अवॉर्ड शो में वह डिजाइनरमसाबा गुप्ता के कलेक्शन से ब्लू कलर की प्रिंटेड साड़ी पहने हुए नजर आईं। इस लुक को देखकर फैंस के अलावा उनके पति और अमेरिकी सिंगर निक जोनस ने भी उनकी तारीफ की थी।प्रियंका के वर्कफ्रंट की बात करें तो हाल में ही निक जोनस के म्यूजिक वीडियो में वह हॉट अंदाज में नजर आईं थी। इसके अलावा राजकुमार के साथ नेटफ्लिक्स की फिल्म 'द व्हाइट टाइगर' मेंनजर आने वाली हैं।

उत्तर प्रदेश में 20 रुपये को लेकर हुई कहासुनी में दुकानदार को मार डाला, 4 गिरफ्तार

उत्तरप्रदेशमें20रुपयेकोलेकरहुईकहासुनीमेंदुकानदारकोमारडाला4गिरफ्तारViral Pic: ठंड में नहाने से बचने वालों को डरा देगी ये तस्वीर, लोगों के आ रहे फनी कमेंट्स******भारतसमेत पूरी दुनिया में इस वक्त ठंड का कहर जारी है। जो लोग ठंड में नहाने से बचने के बहाने बनाते हैं, उनके लिए ये खबर बहुत गंभीर परिणाम देने वाली हो सकती है। जरा सी ठंड में हाय हाय करने वालों को माइनस 45 (-45 ) डिग्री की ये तस्वीर डरा देंगी क्योंकि इतनी ठंड की कल्पना करके ही सिहरन होती है। बहरहाल तस्वीर की बात करते हैं जो सोशल मीडिया पर हो रही है।तस्वीर एक दिन पहले ओलेग नाम के ट्विटर यूजर ने पोस्ट की है और इसमें अंडे के फूटते ही वो जमता और नूडल्स जमे हुए दिख रहे हैं। कल्पना कीजिए जो शख्स नूडल खा रहा होगा, उसके मुंह में जाने से पहले ही नूडल जम गए तो उसका क्या हाल हो रहा होगा। यही हाल अंडे का दिख रहा है, ऑमलेट तो बनाना है लेकिन अंडा फोड़ने के बाद उसे फैंटे कैसे, वो तो जम गया।ये तस्वीर सर्बिया की बताई जा रही है जहां सर्दियों में तापमान माइनस से 50 डिग्री तक नीचे चला जाता है। कुछ सैन्य ठिकानों पर तो तापमान माइनस 75 डिग्री चला जाता है।ओलेग ने इस ठिठुरती तस्वीर के साथ कैप्शन दिया है - आज मेरे गृहनगर नोवोडिब्रिस्क, सर्बिया में तापमान -45 सेल्सियस।ये तस्वीर सोशल मीडिया पर तो वायरल हो गई है, इस पर मजेदार कमेंट्स आ रहे हैं, वो इसका मजा दोगुना कर रहे हैं।एक यूजर लिखता है - डियर ओलेग, हमारे यहां मुंबई में पिछले दो दिनों से तापमान 21 डिग्री सेल्सियस है, हम तुम्हारे स्थान के टेंपरेचर की कल्पना तक नहीं कर पा रहे।एक यूजर चिंता कर रहा है कि नित्यकर्म करते वक्त क्या हालात होते होंगे।एक यूजर ने लिखा है - हमारे यहां सुबह 17 डिग्री थी और हमने नहाना स्किप कर दिया।ओलेग का ये पोस्ट अब तक 17 हजार से ज्यादा बार रिट्वीट किया जा चुका है और 1.6 हजार यूजर इस पर कमेंट कर चुके हैं। इस पोस्ट को 57 हजार लाइक्स मिल चुके हैं और ये रफ्तार बढ़ रही है।उत्तरप्रदेशमें20रुपयेकोलेकरहुईकहासुनीमेंदुकानदारकोमारडाला4गिरफ्तारपाक कप्तान सरफराज अहमद की टिप्पणी से मोहम्मद आमिर के विश्व कप चयन पर संशय******कराची। मोहम्मद आमिर के विश्व कप के लिये चयन पर अनिश्चितता बन गयी है क्योंकि कप्तान सरफराज अहमद ने इस अनुभवी बायें हाथ के तेज गेंदबाज के एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में विकेट नहीं लेने के लिये चिंता व्यक्त की है।सरफराज ने एक टीवी चैनल से कहा, ‘‘जब आपका मुख्य गेंदबाज लगातार विकेट नहीं चटका रहा है तो निश्चित रूप से यह कप्तान के लिये चिंता की बात है।’’ ओवल में 2017 चैम्पियंस ट्राफी फाइनल में आमिर ने टीम की जीत में 16 रन देकर तीन विकेट चटकाये थे लेकिन इस 26 साल के क्रिकेटर ने तब से 14 वनडे में एक से ज्यादा विकेट नहीं लिया है और इनमें से नौ मैचों में एक भी विकेट नहीं ले सका है।चयनकर्ता 18 अप्रैल को विश्व कप के लिये पाकिस्तानी टीम की घोषणा करेंगे और सूत्रों का कहना है कि वे 23 अप्रैल को इंग्लैंड जाने के लिये 17 से 18 खिलाड़ियां के नाम की घोषणा करेंगे।सूत्र ने कहा, ‘‘पाकिस्तान को इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की वनडे सीरीज खेलनी है, इसके अलावा मई में कुछ इंग्लिश काउंटी टीमों के खिलाफ भी कुछ मैच हैं। हर देश 23 मई तक विश्व कप के लिये 15 सदस्यीय टीम लगभग चयन हो चुका होगा तो चयनकर्ता शायद आमिर पर फैसला करने से पहले उनका प्रदर्शन देखना चाहेंगे। ’’सरफराज ने कहा, ‘‘मैं यह नहीं कह सकता कि वह (आमिर) विश्व कप टीम में होगा या नहीं लेकिन हमारी योजना के लिये चीजें स्पष्ट हैं और जब टीम की घोषणा होगी तो सभी को पता चल जायेगा। ’’उत्तरप्रदेशमें20रुपयेकोलेकरहुईकहासुनीमेंदुकानदारकोमारडाला4गिरफ्तारVodafone Idea पर आंतरिक गणना के आधार पर है 21,533 करोड़ रुपए का AGR बकाया, ग्रुप CEO आए भारत******AGR liabilities at Rs 21,533 cr as per self assessment, says Vodafone Idea वोडाफोन आइडिया ने शुक्रवार को कहा कि उसके स्‍व-आंतरिक आकलन के आधार पर उसके ऊपर केवल 21,533 करोड़ रुपए का सांविधिक समायोजित सकल राजस्‍व (एजीआर) बकाया है। कंपनी ने बताया कि उसने बकाये की स्‍वआकलन गणना रिपोर्ट दूरसंचार विभाग को सौंप दी है। सरकार के अनुमान के मुताबिक वोडाफोन आइडिया पर 53,000 करोड़ रुपए से अधिक का एजीआर बकाया है, इस लिहाज से कंपनी का यह बयान महत्‍वपूर्ण माना जा रहा है। कंपनी ने अभी तक दो किस्‍तों में सरकार को 3,500 करोड़ रुपए का भुगतान किया है। द्वारा गणना की गई एजीआर की देनदारी सरकार के मूल्‍यांकन का केवल 41 प्रतिशत है। वोडाफोन ग्रुप सीईओ निक रीड इस समय भारत दौरे पर हैं और उन्‍होंने शुक्रवार को वोडाफोन आइडिया एमडी रविंदर टक्‍कर के साथ वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ मुलाकात की।अभी उनकी बैठक दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद के साथ चल रही है। वह भारत में वोडाफोन आइडिया के काम करते रहने के विकल्‍पों को लेकर चर्चा कर रहे हैं। उल्‍लेखनीय है कि 17 मार्च को सुप्रीम कोर्ट में समायोजित सकल राजस्‍व (एजीआर) पर अंतिम सुनवाई होनी है और उससे पहले निक रीड के इस भारत दौरे को महत्‍वपूर्ण माना जा रहा है।

उत्तर प्रदेश में 20 रुपये को लेकर हुई कहासुनी में दुकानदार को मार डाला, 4 गिरफ्तार

उत्तरप्रदेशमें20रुपयेकोलेकरहुईकहासुनीमेंदुकानदारकोमारडाला4गिरफ्तारमिल गई वो जगह जहां चीन और पाकिस्तान रखते हैं अपनी मिसाइलें, इन हथियारों से भरा है जखीरा******Highlightsकिसी भी देश के लिए उसके हथियार और उन्हें रखने वाली जगहें बेहद संवेदनशील और खुफिया होती हैं। इनकी जानकारी ज्यादातर टॉप लेवल के लोगों को ही होती है। लेकिन चीन और पाकिस्तान के हथियारों का जखीरा कहां रखा है अब इसकी पूरी जानकारी दुनिया को मिल चुकी है। दरअसल, दुनिया भर के खतरनाक हथियारों की जानकारी देने वाली वेबसाइट NIT.ORG ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया है कि चीन और पाकिस्तान अपने खतरनाक हथियार कहां रखते हैं।इस वेबसाइट के मुताबिक चीन अपने हथियार चार जगहों पर रखता है। इनमें शामिल हैं जियुक्वान स्पेस लॉन्च सेंटर, ताइयुआन स्पेस लॉन्च सेंटर, शिचांग स्पेस लॉन्च सेंटर और हैनान स्पेस लॉन्च सेंटर। दुनिया के सुपर पावर मुल्क अमेरिका तक को टक्कर देने वाले चीन का प्रभाव पूरे एशियाई महाद्वीप में पड़ता है। NTI की वेबसाइट के मुताबिक चीन के पास ये 4 मिसाइल बेस हैं। इनमें से 2 एक्टिव, एक ऑपरेशनल और एक निर्माणाधीन मोड में है। इन चारों के चारों बेस में मिसाइलें मौजूद हैं। चीन अपने इन चारों बेस की सुरक्षा में कोई कोर कसर नहीं छोड़ता। उसे पता है कि अमेरिका कोई मौका नहीं छोड़ेगा उसे कमजोर करने के लिए और अगर अमेरिका को इन जगहों में घुसने का मौका मिल गया तो वह चीन के इन हथियारखानों को तबाह कर देगा।हिंदुस्तान को सबसे ज्यादा खतरा अपने पड़ोसी देश और दुश्मन देश पाकिस्तान से है। वह इसलिए क्योंकि 1965, 1971 और 1999 में पाकिस्तान ने भारत पर हमला करके अपने घातक मंसूबों के बारे में पहले ही बता चुका है। NIT की रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान की ज्यादातर मिसाइलों का बेस पंजाब के सरगोधा में मौजूद है। यहां वह अपने सबसे खतरनाक मिसाइलों को रखता है। इसकी सुरक्षा के लिए पाकिस्तान ने अपने सबसे खास सुरक्षाकर्मियों को लगा रखा है, ताकि इन हथियारों तक किसी की भी पहुंच ना हो सके।उत्तरप्रदेशमें20रुपयेकोलेकरहुईकहासुनीमेंदुकानदारकोमारडाला4गिरफ्तारउन्नाव रेप पीड़िता के एक्सीडेंट का मामला, FIR में एक मंत्री के दामाद का भी नाम, दिया ये बयान****** के साथ हुई में मामले में दर्ज प्राथमिकी में उत्तर प्रदेश के एक मंत्री का दामाद अरूण सिंह भी नामजद है। सीबीआई ने उन्नाव बलात्कार पीड़िता के सड़क दुर्घटना मामले में भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और नौ अन्य के खिलाफ हत्या के आरोपों के तहत मामला दर्ज किया है। अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी।मामले की जांच करने के लिए एजेंसी की तरफ से गठित विशेष टीम रायबरेली जिले के गुरबख्शगंज इलाके में हादसा स्थल पर पहुंची। सेंगर के अलावा दुर्घटना मामले में जिन लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की गई है उनमें उसका भाई मनोज सिंह सेंगर, अरूण सिंह, विनोद मिश्रा, हरी पाल सिंह, नवीन सिंह, कोमल सिंह, ज्ञानेन्द्र सिंह, रिंकू सिंह, वकील अवधेश सिंह और 15 से 20 अज्ञात व्यक्ति हैं। अरूण सिंह इस समय अमरनाथ यात्रा पर है। उसने माना कि वह उप्र के कृषि, कृषि शिक्षा और अनुसंधान राज्य मंत्री रणवेंद्र प्रताप सिंह (धुन्नी सिंह) के दामाद हैं।सिंह ने खुद को बेगुनाह बताया। सिंह ने बताया कि ''यह मुझे फंसाने की नीयत से किया गया है । मेरी लोकेशन ले ली जाये, मेरा नार्को टेस्ट करवा लिया जाये, मेरा पिछले छह माह का ट्रैक रिकार्ड लिया जाये। कहीं कोई कनेक्शन आता हो तो बतायें । मुझे विश्वास है कि मेरा दूर-दूर तक कोई नाता नहीं है। मैं सीबीआई को पूरा सहयोग करूंगा। जो भी जांच एजेंसी होगी, मेरी जांच होनी चाहिये, मैं खुद इंसाफ मांग रहा हूं ।'' उन्होंने कहा कि ''मुझे साजिशन फंसाया जा रहा है, मैं अपराधी नही हूं, मेरे ऊपर एक भी पुराना आपराधिक मामला नहीं है।’’ सिंह ने कहा कि ''मैंने प्रखंड प्रमुख के चुनाव में अवधेश सिंह को हराया था। वह मेरे खिलाफ राजनीतिक रंजिश रखते हैं।उन्होंने महेश (पीडिता के चाचा) और उसके परिवार को गुमराह करने का प्रयास किया है। मेरी सांत्वना पीड़ित बच्ची के साथ है। मैं नवाबगंज का ब्लाक प्रमुख हूं । मैंने भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठायी, जिसकी वजह से लोग आठ-आठ महीने के लिये जेल गये इसलिये उनका प्रयास है कि अरूण सिंह फंसे । धुन्नी सिंह मेरे ससुर है 2009 में मेरी शादी हुई थी, क्या किसी का दामाद होना अपराध है मैं अपराधी हूं क्या ? '' मंत्री रणवेंद्र प्रताप सिंह उर्फ धुन्नी सिंह ने बुधवार को माना कि उनके रिश्तेदार का नाम उन्नाव बलात्कार पीड़िता के साथ हुई सड़क दुर्घटना में शामिल है।उन्होंने कहा कि ''सीबीआई मामले की जांच कर रही है और मैं समझता हूं कि उससे बड़ी कोई जांच नहीं है और वह जब जांच कर रही है तो खुद साफ हो जायेगा और सत्य सामने आ जायेगा।।'' गौरतलब है कि भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली लड़की, उसकी चाची पुष्पा और मौसी शीला अपने वकील महेंद्र के साथ रायबरेली जेल में बंद अपने रिश्तेदार महेश सिंह से रविवार को मुलाकात करने जा रही थी। रास्ते में रायबरेली के गुरबख्श गंज क्षेत्र में उनकी कार और एक ट्रक के बीच संदिग्ध परिस्थितियों में टक्कर हो गयी थी। इस हादसे में शीला (50) ने स्थानीय अस्पताल में दम तोड़ दिया था।वहीं, हादसे में घायल कार सवार पुष्पा (45) को लखनऊ स्थित ट्रामा सेंटर में चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया था। केंद्र ने उत्तर प्रदेश सरकार की सिफारिश पर मंगलवार को इस मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी थी। जांच एजेंसी के प्रवक्ता ने दिल्ली में बताया, ‘‘मामले की त्वरित और सुचारू जांच के लिए सीबीआई ने एक टीम का गठन किया है।’’ टीम ने अपराध स्थल, मारूति स्विफ्ट कार को टक्कर मारने वाले ट्रक का निरीक्षण किया। दुर्घटना के बाद घटनास्थल पर सबसे पहले पहुंचे पुलिस अधिकारियों से भी सीबीआई की टीम ने बातचीत की।एजेंसी के सूत्रों ने बताया कि टीम महिला की सुरक्षा में तैनात पुलिस अधिकारियों से भी बातचीत करेगी और उनसे पूछेगी कि रविवार को वे पीड़िता के साथ क्यों नहीं थे, जब दुर्घटना हुई। सीबीआई ने सामान्य प्रक्रिया के अनुसार फिर से प्राथमिकी दर्ज करते हुए उत्तर प्रदेश पुलिस से दुर्घटना मामले की जांच अपने हाथ में ले ली। सबसे पहले पीड़िता के चाचा महेश सिंह की शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज की गई थी। सिंह रायबरेली जेल में बंद है। सिंह ने आरोप लगाया था कि बांगरमऊ से विधायक सेंगर के भाजपा से निलंबन के बाद से उसके रिश्तेदार पीड़िता के परिवार पर लगातार दबाव बना रहे थे। वे सेंगर के खिलाफ मामला वापस नहीं लेने की स्थिति में पीड़िता के पूरे परिवार की हत्या करने की कथित धमकियां दे रहे थे।प्राथमिकी के अनुसार सिंह ने यह भी आरोप लगाया था कि पीड़िता के परिवार की शिकायत पर स्थानीय पुलिस ने कोई ध्यान नहीं दिया। अधिकारियों ने बताया कि सीबीआई दल ने राय बरेली में स्थानीय पुलिस थाने के अधिकारियों से भी मुलाकात की। सीबीआई के प्रवक्ता ने कहा, ‘‘आरोप लगाया गया कि आरोपी व्यक्ति शिकायतकर्ता के परिवार के खिलाफ षड्यंत्र कर रहे हैं, उन्हें धमकी दे रहे हैं और उनका उत्पीड़न कर रहे हैं। इसमें आरोप लगाया गया कि इस मामले में 28 जुलाई 2019 को हुई दुर्घटना में दो लोगों की जान चली गई। उन्नाव की पीड़िता और परिवार के वकील का लखनऊ के एक अस्पताल में इलाज चल रहा है।’’

उत्तर प्रदेश में 20 रुपये को लेकर हुई कहासुनी में दुकानदार को मार डाला, 4 गिरफ्तार

उत्तरप्रदेशमें20रुपयेकोलेकरहुईकहासुनीमेंदुकानदारकोमारडाला4गिरफ्तारगोल्ड डिमांड 2020 तक 950 टन तक पहुंचने की संभावना, इस साल 750 टन होगी खपत******वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल (WGC) की रिपोर्ट के मुताबिक भारत में आर्थिक विकास और अधिक पारदर्शिता से सोने की डिमांड बढ़ने की संभावना है। WGC ने कहा कि 2020 तक सोने की डिमांड 950 टन पहुंच सकती है। हालांकि, 2017 में सोने की घरेलू खपत 650 से 750 टन तक रह सकती है।

उत्तरप्रदेशमें20रुपयेकोलेकरहुईकहासुनीमेंदुकानदारकोमारडाला4गिरफ्तार2020 तक भारत में इंटरनेट यूजर्स की संख्या 73 करोड़ होने की उम्मीद****** भारत में इंटरनेट यूजर्स की संख्‍या 2020 तक डबल होने का अनुमान है। नैसकॉम की एक ताजा रिपोर्ट में कहा गया है कि ग्रामीण क्षेत्रों में इंटरनेट की पहुंच बढ़ने से भारत में 2020 तक इंटरनेट यूजर्स की संख्या 73 करोड़ तक पहुंच जाने की संभावना है, जो 2015 के अंत तक रही कुल इंटरनेट यूजर्स की 35 करोड़ की संख्या का लगभग दोगुना होगा।भारत में इंटरनेट के भविष्‍य के बारे में नैसकॉम और अकामई टेक्नोलॉजीस की एक नवीनतम द फ्यूचर ऑफ इंटरनेट इन इंडिया रिपोर्ट के मुताबिक इंटरनेट इस्तेमाल करने वाली आबादी के आधार के मामले में चीन के बाद दूसरे स्थान पर भारत है और भारत इस क्षेत्र में सबसे तेजी से बढ़ता बाजार बना रहेगा।Big Screen Phoneरिपोर्ट में कहा गया है कि इंटरनेट से जुड़ने वाले नए लोगों में 75 फीसदी भागीदारी ग्रामीण क्षेत्र के लोगों की है। इस आबादी का करीब 75 फीसदी इंटरनेट का प्रयोग स्थानीय भाषा में करेंगे।नैसकॉम के अध्यक्ष आर. चंद्रशेखर ने कहा कि भारत का इंटरनेट उपभोग पहले ही अमेरिका से आगे निकल गया है और वैश्विक रूप से दूसरे स्थान पर है। वर्ष 2020 तक यह देश के और दूरदराज के भू-भागों में फैलेगा, जिससे हर किसी के लिए और अवसर पैदा होंगे।उत्तरप्रदेशमें20रुपयेकोलेकरहुईकहासुनीमेंदुकानदारकोमारडाला4गिरफ्तारWorld News: दुनिया के लिए खतरा बन रहे हैं ये अमीर देश, परमाणु कार्रवाई से दहलने वाला है विश्व!******Highlights हाल में अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (आईएईए) की परिषद ने विशेष रूप से अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया के बीच न्यूक्लियर पनडुब्बी सहयोग पर विचार-विमर्श किया। यह चौथी बार है कि इस संस्था के सदस्य देशों ने स्वयं ही औपचारिक विषय के तरीके से इस सवाल पर चर्चा करने का निर्णय लिया। चर्चा में चीनी पक्ष ने अमेरिका-ब्रिटेन- ऑस्ट्रेलिया न्यूक्लियर पनडुब्बी सहयोग की चार समस्याएं पेश कीं, जिन पर सदस्य देशों ने व्यापक प्रतिक्रियाएं दीं। एक साल पहले अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया ने विश्व के विरोध को नजरअंदाज कर जानबूझकर ऑकस समझौता (AUKUS) कर यह सहयोग करने का निर्णय लिया, जिसका मकसद अमेरिका और ब्रिटेन ऑस्ट्रेलिया को कम से कम 8 नाभिकीय पनडुब्बियों का निर्माण करने को मदद देना है।विश्लेषकों का मानना है कि तीन देशों के सहयोग में न्यूक्लियर हथियारों की सामग्रियों का स्थानांतरण संबंधित है, जिसका सार न्यूक्लियर प्रसार ही है और यह वैश्विक सुरक्षा को भारी धमकी भी है। अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया तीनों न्यूक्लियर हथियारों की अप्रसार संधि के संस्थापक देश हैं। तीनों को न्यूक्लियर अप्रसार का कर्तव्य निभाना चाहिए। तीनों के बीच न्यूक्लियर पनडुब्बियों के सहयोग को आईएईए के सदस्य देशों की अनुमति पाने की जरूरत है। अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के विरोध के बावजूद तीनों देशों ने इसे आगे विकसित करने की पूरी कोशिश की।इस बार चीन ने जो सात समस्याएं पेश की हैं, वो मुख्यत: निम्न विषय शामिल हैं। तीनों देश सहयोग में नाभिकीय प्रसार के सार को छिपाने की कोशिश करते हैं और न्यूक्लियर हथियार के गैरकानूनी स्थानांतरण को कानूनी कार्रवाई में बदलने की कुचेष्टा करते हैं। तीनों देशों ने आईएईए के सदस्य देशों को छोड़कर खुद एजेंसी के सचिवालय से वार्ता की और उसे तीनों देशों के सहयोग की निगरानी को मुक्त करने का प्रस्ताव पेश करने के लिए दबाव बनाया।आईएईए की संबंधित संधि के मुताबिक सचिवालय और महानिदेशक को भी सदस्य देशों के अनुसार काम करना है। अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया के बीच नाभिकीय पनडुब्बी सहयोग का निर्णय केवल प्रभुसत्ता संपन्न देशों द्वारा लिया जा सकता है। मानों बैंक खुद काले पैसे का निपटारा नहीं कर पाते हैं क्योंकि बैंकों की कोई प्रवर्तन क्षमता नहीं है। तीनों देशों की यह कार्रवाई वास्तव में आईएईए में विभाजन करना चाहती है।हाल में अमेरिकी पत्रिका द नेशनल इंट्रेस्ट में एक लेख जारी हुआ कि ऑकस समझौता से वाशिंग्टन का दोहरा मापदंड देखा गया है। एक तरफ अमेरिका ऑस्ट्रेलिया के न्यूक्लियर पनडुब्बी पाने को अनुमति देता है, दूसरी तरफ अमेरिका ईरानी नाभिकीय योजना के खिलाफ मजबूत विरोधी रुख प्रकट करता है। आखिरकार कौन विश्व शांति भंग करने वाला है? हालिया दुनिया डांवाडोल की स्थिति में है। परमाणु प्रसार का खतरा बढ़ता जा रहा है। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटरेस ने चेतावनी दी कि मानव जाति और परमाणु हथियारों द्वारा दुनिया को नष्ट करने के बीच केवल एक गलतफहमी या एक गलत निर्णय की दूरी होती है। न्यूक्लियर सुरक्षा की रक्षा करना सभी देशों का समान कर्तव्य है।

उत्तरप्रदेशमें20रुपयेकोलेकरहुईकहासुनीमेंदुकानदारकोमारडाला4गिरफ्तारमोटापे के कारण विश्व कप में नहीं मिला था मौका, अब 29 किलो वजन कम कर IPL में CSK के लिए धमाल मचा रहे हैं तीक्षणा******Highlightsकिसी भी सपने को पूरा करने के लिए कठिन परिश्रम की जरूरत होती है। चाहे वह शारीरिक हो या फिर मानसिक। हालांकि मेहनत का परिणाम कई बार देर भी मिलता है लेकिन वह मिलता जरूर है। ऐसी ही एक कहानी है इंडियन प्रीमियर लीग 2022 में चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेलने वाले श्रीलंकाई स्पिन गेंदबाज महेश तीक्षणा की है जिन्होंने सीजन-15 में अपने खेल से सबको प्रभावित किया है।महेश तीक्षणा की कहानी काफी प्रेरणादायक है। एक समय था जब उन्हें उनकी फिटनेस को लेकर अंडर 19 विश्व कप की टीम में एक भी मैच में खेलने का मौका नहीं मिला था लेकिन उन्होंने अपने सपने को पूरा करने के लिए हार नहीं मानी और कड़ी मेहनत के बाद अपनी नेशनल टीम के लिए खेले और अब आईपीएल में सीएसके के लिए कमाल दिखा रहे हैं।यह साल 2019 की बात है। तीक्षणा श्रीलंकाई अंडर-19 टीम का हिस्सा थे लेकिन उन्हें विश्व कप में एक भी मैच में खेलना का मौका नहीं मिला। तीक्षणा सिर्फ ब्रेक के दौरान खिलाड़ियों को पानी पिलाने का काम करते रहे। ऐसा लगभग 10 मैचों तक चला और उसके बाद उन्होंने ठान लिया कि अपनी मेहनत के दम पर टीम के प्लेइंग इलेवन में जगह बनाएंगे।उस दौरान तीक्षणा का वजन 150किलो से भी अधिक के थे। उन्होंने खुद सोशल मीडिया पर इसके बारे में बताया लेकिनसाल 2020 में उन्होंने वजन कम करने की शुरुआत की और कड़ी मेहनत के बाद उन्होंने लगभग 30 किलो वजन कम किया। इसका परिणाम यह हुआ कि उन्हें 2021 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ श्रीलंका के लिए लिमिटेड ओवरों में डेब्यू का मौका मिल गया।तीक्षणा श्रीलंका के लिए चार वनडे और 15 टी20 इंटरनेशनल खेल चुके हैं। वनडे में उन्होंने 6 और टी20 में 14 विकेट लिए हैं।महेश तीक्षणा को आईपीएल में भी इतनी आसानी से मौका नहीं मिला। सीएसके के लिए पिछले साल वह पहले नेट बॉलर के तौर पर जुड़े थे। वहां उन्होंने काफी मेहनत की जिसके कारण मेगा ऑक्शन में सीएसके ने 70 लाख की बोली लगाकर उन्हें खरीदा और अब वह अपनी टीम के लिए शानदार गेंदबाजी कर रहे हैं।तीक्षाणा को इस सीजन में अब तक कुल 8 मैचों में खेलने का मौका मिला है जिसमें उन्होंने 7.41 की इकॉनमी रेट से कुल 12 विकेट लिए हैं। इन दौरान उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 33 रन खर्च कर 4 विकेट लेने का रहा।हालांकि डिफेंडिंग चैंपियन चेन्नई सुपर किंग्स के लिए इंडियन प्रीमियर लीग 2022 कुछ खास नहीं रहा। टूर्नामेंट में निराशाजनक प्रदर्शन के कारण वह अब प्लेऑफ की रेस से भी लगभग बाहर हो चुकी है लेकिन इन सबके बावजूद टीम के लिए तीक्षणा एक सकारात्मक पहलू भी सामने निकलकर आए है।उत्तरप्रदेशमें20रुपयेकोलेकरहुईकहासुनीमेंदुकानदारकोमारडाला4गिरफ्तारUpdate: मलाइका अरोड़ा को मिली अस्पताल से छुट्टी, कार एक्सीडेंट में हुई थीं चोटिल******Highlightsमलाइका अरोड़ा शनिवार को मुंबई-पुणे राजमार्ग पर एक कार दुर्घटना में घायल हो गईं और बाद में उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। अभिनेत्री को कुछ मामूली चोटें आई हैं। हादसा उस वक्त हुआ जब मलाइका पुणे से लौट रही थीं और मुंबई-पुणे हाईवे पर खालापुर टोल प्लाजा के पास कुछ कारें आपस में टकरा गईं। बॉलीवुड अभिनेत्री को नवी मुंबई के अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया है।अपोलो अस्पताल ने कहा, "मलाइका अरोड़ा खान का मुंबई पुणे हाईवे पर एक्सीडेंट हो गया। उन्हें इलाज के लिए नवी मुंबई के अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया।"एक्ट्रेस को डॉक्टर की निगरानी में थींऔर रविवार सुबह उन्हें छुट्टी दी गई। अब वो अस्पताल से घर आ चुकी हैं।मलाइका एक फैशन इवेंट से घर लौट रही थीं, जिसके बारे में उन्होंने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर अपडेट भी पोस्ट किया था। लौटते वक्त उनके ड्राइवर का संतुलन बिगड़ गया और उनकी रेंज रोवर एक्सप्रेसवे पर तीन कारों से टकरा गई।स्थानीय पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है और मामले की जांच कर रही है।

उत्तरप्रदेशमें20रुपयेकोलेकरहुईकहासुनीमेंदुकानदारकोमारडाला4गिरफ्तारShani Amavasya 2021: इस बार शनि अमावस्या पर लगेगा सूर्य ग्रहण, इन राशियों को हो सकती है दिक्कत******Highlightsसाल का आखिरी ग्रहण 04 दिसंबर 2021 को लगने जा रहा है। जब चन्द्रमा, पृथ्वी और सूर्य के मध्य से होकर गुजरता है और पृथ्वी से देखने पर सूर्य पूर्ण या आंशिक रूप से ढक जाता है, तब सूर्यग्रहण लगता है। इस बार सूर्य आंशिक रूप से ढका हुआ दिखाई देगा और आंशिक रूप से ग्रहण को 'खण्डग्रास ग्रहण' कहते हैं। यह ग्रहण अनुराधा नक्षत्र के साथ ज्येष्ठा और वृश्चिक राशि पर लगेगा। हालांकि यह सूर्यग्रहण भारत में अदृश्य है। यह ग्रहण दक्षिणी अफ्रीका, दक्षिण अमेरिका, आस्ट्रेलिया के दक्षिण भाग, अंटार्कटिका, प्रशान्त महासागर, अटलांटिक महासागरीय क्षेत्र में दृश्य रहेगा।इस दिन शनि अमावस्या भी है। मार्गशीर्ष की अमावस्या को अगहन या 'दर्श अमावस्या' के नाम से भी जाना जाता है। धार्मिक रूप से इस अमावस्या का बड़ा ही महत्व है। इस दिन देवी लक्ष्मी या कमला के पूजन का विधान है। आइए जानते हैं कि शनि अमावस्या के दिन पड़ने वाले इस सूर्यग्रहण का विभिन्न राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा। साथ ही इससे बचने के लिए क्या उपाय करना चाहिए।यह सूर्यग्रहण आपके आठवें स्थान पर लगेगा। जन्मपत्रिका में आठवें स्थान का संबंध आपकी आयु से है। लिहाजा सूर्य का यह ग्रहण आपकी आयु पर लगेगा। आपके स्वास्थ्य में कुछ उतार-चढ़ाव हो सकते हैं।सूर्य के इस ग्रहण के अशुभ प्रभावों से बचने के लिए काली गाय या बड़े भाई की सेवा करनी चाहिए।यह सूर्यग्रहण आपके सातवें स्थान पर लगेगा। जन्मपत्रिका में सातवें स्थान का संबंध जीवनसाथी से होता है। लिहाजा जीवनसाथी से आपके संबंधों पर सूर्य का यह ग्रहण लगेगा। आज जीवनसाथी के साथ कुछ अनबन हो सकती है। अतः इस ग्रहण के अशुभ फलों से बचने के लिए भोजन करने से पहले एक रोटी के टुकड़े की अग्नि में आहुति देनी चाहिए।यह सूर्यग्रहण आपके छठे स्थान पर लगेगा। जन्मपत्रिका में छठे स्थान का संबंध स्वास्थ्य, शत्रु और मित्र से होता है। अतः आपके स्वास्थ्य, शत्रु और मित्रों पर सूर्य का यह ग्रहण लगेगा। इस दौरान शत्रु आप पर हावी होने की कोशिश कर सकते हैं। संभलकर रहें और दोस्तों का साथ बनाए रखें। साथ ही इस ग्रहण के प्रभावों से बचने के लिए कुत्ते को रोटी खिलानी चाहिए।यह सूर्यग्रहण आपके पांचवें स्थान पर लगेगा। जन्मपत्रिका में पांचवे स्थान का संबंध विद्या, गुरु, संतान और विवेक से है। साथ ही रोमांस आदि विषयों से भी है। अतः आपकी इन सब स्थितियों पर सूर्य का यह ग्रहण लगेगा। ग्रहण के अशुभ प्रभावों से बचने के लिए पक्षियों को दाना डालना चाहिए।सूर्यग्रहण आपके चौथे स्थान पर लगेगा। जन्मपत्रिका में चौथे स्थान का संबंध माता, भूमि-भवन और वाहन से है। सूर्य का यह ग्रहण माता के साथ आपके संबंधों पर और भूमि-भवन और वाहन पर लगेगा। इस दौरान किसी काम में आपको माता से सहयोग पाने के लिए थोड़ी अधिक मेहनत करनी पड़ सकती है। अतः इस ग्रहण के अशुभ प्रभावों से बचने के लिए आपको किसी जरूरतमंद को भोजन कराना चाहिए।यह सूर्यग्रहण आपके तीसरे स्थान पर लगेगा। जन्मपत्रिका में तीसरा स्थान भाई-बहनों से संबंध रखता है। भाई-बहनों के साथ आपके रिश्ते पर यह ग्रहण लगेगा। इसलिए भाई-बहनों के साथ आपके रिश्ते में थोड़ी खटास आ सकती है। अतः इस ग्रहण के अशुभ प्रभावों से बचने के लिए धार्मिक कार्यों में अपना सहयोग देना चाहिए और किसी के गलत कार्यों में उसका साथ देने से बचना चाहिए।यह सूर्यग्रहण आपके दूसरे स्थान पर लगेगा। जन्मपत्रिका में दूसरा स्थान धन से संबंध रखता है। अतः आपके धन या आर्थिक स्थिति पर यह ग्रहण लगेगा। आपको आर्थिक रूप से कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। स ग्रहण के अशुभ प्रभावों से बचने के लिए नारियल, नारियल का तेल या कुछ बादाम मन्दिर या किसी धर्मस्थल पर दान करना चाहिए।यह सूर्यग्रहण आपके पहले स्थान पर लगेगा। जन्मपत्रिका में पहला स्थान स्वयं का स्थान होता है, शरीर का स्थान होता है। अतः यह ग्रहण स्वयं आप पर और आपके शरीर पर लगेगा। इस दिन आपके अन्दर ऊर्जा की कमी रहेगी। इस ग्रहण की अशुभ स्थिति से बचने के लिए सूर्यदेव को जल चढ़ाना चाहिए।यह सूर्यग्रहण आपके बारहवें स्थान पर लगेगा। जन्मपत्रिका में बारहवें स्थान का संबंध शैय्या सुख से है, आपके खर्चों से है। लिहाजा आपके शैय्या सुख और आपके खर्चों पर यह ग्रहण लगेगा। आपको शैय्या सुख पाने में मुश्किलें होंगी और खर्चों में बढ़त होगी। इस ग्रहण की अशुभता से बचने के लिए आपको अपने घर की खिड़की, दरवाज़े खुले रखने चाहिए और उचित मात्रा में रोशनी रखनी चाहिए।यह सूर्यग्रहण आपके ग्यारहवें स्थान पर लगेगा। जन्मपत्रिका में ग्यारहवें स्थान का संबंध आमदनी और कामना पूर्ति से है। इस ग्रहण का असर आपकी आमदनी और आपकी इच्छाओं पर होगा। किसी इच्छा की पूर्ति करने में परेशानी आ सकती है। अतः सूर्यग्रहण के अशुभ प्रभावों से बचने के लिए इस दिन रात को सोते समय अपने सिरहाने पर 5 मूली या 5 बादाम रखकर सोएं और अगले दिन उन्हें किसी मन्दिर या धर्मस्थल पर दान कर दें।यह सूर्यग्रहण आपके दसवें स्थान पर लगेगा। जन्मपत्रिका में दसवें स्थान का संबंध आपके और पिता के करियर की सफलता से संबंध रखता है। लिहाजा इस ग्रहण का प्रभाव आपके खुद के और आपके पिता के करियर के ऊपर रहेगा। आपको अपने करियर के डिसीजन लेने में कुछ दिक्कतें आ सकती हैं। इस ग्रहण के प्रभाव से बचने के लिए आप सफेद या शरबती रंग की टोपी या पगड़ी सिर पर पहनें।यह सूर्यग्रहण आपके नवें स्थान पर लगेगा। जन्मपत्रिका में नवां स्थान भाग्य से संबंध रखता है। इसलिए आपके भाग्य या किस्मत पर यह ग्रहण लगेगा इस दौरान आपकी किस्मत आपका पूरी तरह से साथ नहीं दे पाएगी। अपने भाग्य को ग्रहण के प्रभाव से बचाने के लिए आपको मन्दिर में गुड़ का दान करना चाहिए।उत्तरप्रदेशमें20रुपयेकोलेकरहुईकहासुनीमेंदुकानदारकोमारडाला4गिरफ्तारCongress Presidential Election: कांग्रेस की तेलंगाना इकाई ने भी राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष बनाए जाने के सुर में सुर मिलाया******Highlightsतेलंगाना प्रदेश कांग्रेस कमेटी (TPCC) ने भी वायनाड से लोकसभा सदस्य राहुल गांधी को पार्टी की कमान सौंपने के विभिन्न प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सुर में सुर मिलाते हुए बुधवार को एक प्रस्ताव पारित किया और राहुल से पार्टी अध्यक्ष का पद संभालने का अनुरोध किया। पार्टी नेता और प्रदेश निर्वाचन अधिकारी राजमोहन उन्नीथन की अध्यक्षता में प्रदेश कांग्रेस कमेटी (PCC) के नए प्रतिनिधियों की बैठक में यह सर्वसम्मति से इस संबंध में एक प्रस्ताव पारित किया गया।राहुल गांधी को AICC अध्यक्ष पद संभालने का किया अनुरोधकांग्रेस विधायक दल (CLP) के नेता मल्लू भट्टी विक्रमार्क ने बैठक के बाद संवाददाताओं को बताया कि प्रदेश अध्यक्ष और सांसद ए.रेवंत रेड्डी ने यह प्रस्ताव पेश किया। उन्होंने बताया कि बैठक में कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी को पार्टी की प्रदेश इकाई का अध्यक्ष, कार्यकारिणी समिति और AICC के सदस्यों को नामित करने या चयन करने के लिए अधिकृत करने का भी एक प्रस्ताव पारित किया गया। तेलंगाना से PCC के नए प्रतिनिधियों की बैठक में हिस्सा लेने के बाद कांग्रेस सांसद एन. उत्तम रेड्डी ने ट्वीट किया, ‘‘सर्वसम्मति से दो प्रस्ताव पारित किए गए, पहला- AICC अध्यक्ष को पार्टी की प्रदेश इकाई का अध्यक्ष, कार्यकारिणी समिति और AICC सदस्यों को नामित करने या चयन करने के लिए अधिकृत करना और दूसरा- राहुल गांधी को AICC अध्यक्ष पद संभालने के लिए अनुरोध करना।’’विभिन्न राज्यों के कांग्रेस इकाई ने भी राहुल के नाम को आगे बढ़ायाकांग्रेस की राजस्थान, छत्तीसगढ़, बिहार, तमिलनाडु समेत कुछ अन्य राज्यों की प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष बनाए जाने के लिए पहले ही प्रस्ताव पारित कर दिया है। राहुल गांधी ने 2019 के आम चुनाव में पार्टी की करारी हार के बाद अध्यक्ष पद छोड़ दिया था। कांग्रेस ने पिछले माह कहा था कि इसके अध्यक्ष का चुनाव 17 अक्टूबर को होगा और 19 अक्टूबर को परिणाम घोषित किया जाएगा। यदि नामांकन पत्र की वापसी के बाद केवल एक ही उम्मीदवार चुनाव मैदान में रह जाएगा, तो अध्यक्ष के नाम की घोषणा आठ अक्टूबर को ही हो जाएगी।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 04:00
उद्धरण 1 इमारत
Update: मलाइका अरोड़ा को मिली अस्पताल से छुट्टी, कार एक्सीडेंट में हुई थीं चोटिल******Highlightsमलाइका अरोड़ा शनिवार को मुंबई-पुणे राजमार्ग पर एक कार दुर्घटना में घायल हो गईं और बाद में उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। अभिनेत्री को कुछ मामूली चोटें आई हैं। हादसा उस वक्त हुआ जब मलाइका पुणे से लौट रही थीं और मुंबई-पुणे हाईवे पर खालापुर टोल प्लाजा के पास कुछ कारें आपस में टकरा गईं। बॉलीवुड अभिनेत्री को नवी मुंबई के अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया है।अपोलो अस्पताल ने कहा, "मलाइका अरोड़ा खान का मुंबई पुणे हाईवे पर एक्सीडेंट हो गया। उन्हें इलाज के लिए नवी मुंबई के अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया।"एक्ट्रेस को डॉक्टर की निगरानी में थींऔर रविवार सुबह उन्हें छुट्टी दी गई। अब वो अस्पताल से घर आ चुकी हैं।मलाइका एक फैशन इवेंट से घर लौट रही थीं, जिसके बारे में उन्होंने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर अपडेट भी पोस्ट किया था। लौटते वक्त उनके ड्राइवर का संतुलन बिगड़ गया और उनकी रेंज रोवर एक्सप्रेसवे पर तीन कारों से टकरा गई।स्थानीय पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है और मामले की जांच कर रही है।
2022-10-01 03:32
उद्धरण 2 इमारत
Viral Pic: ठंड में नहाने से बचने वालों को डरा देगी ये तस्वीर, लोगों के आ रहे फनी कमेंट्स******भारतसमेत पूरी दुनिया में इस वक्त ठंड का कहर जारी है। जो लोग ठंड में नहाने से बचने के बहाने बनाते हैं, उनके लिए ये खबर बहुत गंभीर परिणाम देने वाली हो सकती है। जरा सी ठंड में हाय हाय करने वालों को माइनस 45 (-45 ) डिग्री की ये तस्वीर डरा देंगी क्योंकि इतनी ठंड की कल्पना करके ही सिहरन होती है। बहरहाल तस्वीर की बात करते हैं जो सोशल मीडिया पर हो रही है।तस्वीर एक दिन पहले ओलेग नाम के ट्विटर यूजर ने पोस्ट की है और इसमें अंडे के फूटते ही वो जमता और नूडल्स जमे हुए दिख रहे हैं। कल्पना कीजिए जो शख्स नूडल खा रहा होगा, उसके मुंह में जाने से पहले ही नूडल जम गए तो उसका क्या हाल हो रहा होगा। यही हाल अंडे का दिख रहा है, ऑमलेट तो बनाना है लेकिन अंडा फोड़ने के बाद उसे फैंटे कैसे, वो तो जम गया।ये तस्वीर सर्बिया की बताई जा रही है जहां सर्दियों में तापमान माइनस से 50 डिग्री तक नीचे चला जाता है। कुछ सैन्य ठिकानों पर तो तापमान माइनस 75 डिग्री चला जाता है।ओलेग ने इस ठिठुरती तस्वीर के साथ कैप्शन दिया है - आज मेरे गृहनगर नोवोडिब्रिस्क, सर्बिया में तापमान -45 सेल्सियस।ये तस्वीर सोशल मीडिया पर तो वायरल हो गई है, इस पर मजेदार कमेंट्स आ रहे हैं, वो इसका मजा दोगुना कर रहे हैं।एक यूजर लिखता है - डियर ओलेग, हमारे यहां मुंबई में पिछले दो दिनों से तापमान 21 डिग्री सेल्सियस है, हम तुम्हारे स्थान के टेंपरेचर की कल्पना तक नहीं कर पा रहे।एक यूजर चिंता कर रहा है कि नित्यकर्म करते वक्त क्या हालात होते होंगे।एक यूजर ने लिखा है - हमारे यहां सुबह 17 डिग्री थी और हमने नहाना स्किप कर दिया।ओलेग का ये पोस्ट अब तक 17 हजार से ज्यादा बार रिट्वीट किया जा चुका है और 1.6 हजार यूजर इस पर कमेंट कर चुके हैं। इस पोस्ट को 57 हजार लाइक्स मिल चुके हैं और ये रफ्तार बढ़ रही है।
2022-10-01 03:30
उद्धरण 3 इमारत
संसदीय समिति ने 20 अप्रैल को फि‍र बुलाया RBI गवर्नर उर्जित पटेल को, नोटबंदी के बाद जमा नोटों की देनी होगी जानकारी****** संसदीय समिति ने नोटबंदी के मुद्दे पर भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर उर्जित पटेल को एक बार फिर बुलाने का फैसला किया है। उन्हें 20 अप्रैल को बुलाया जा सकता है।समिति पटेल से जानना चाहती है कि नोटबंदी के बाद चलन से वापस लिए गए कितने नोट बैंकों में जमा हुए और उनकी जगह नई मुद्रा की आपूर्ति करने का काम काम कितना हुआ है।जानकार सूत्रों के अनुसार पूर्व केंद्रीय मंत्री एम वीरप्पा मोइली की अध्यक्षता वाली वित्त मामलों की स्थायी समिति की बैठक 20 अप्रैल को होने की संभावना है।गवर्नर पटेल के साथ-साथ आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकांत दास व वित्तीय सेवा सचिव अंजलि छिब दुग्गल को भी समिति के समक्ष हाजिर होने को कहा गया है।समिति ने नोटबंदी के मुद्दे पर पिछली बैठक 18 जनवरी को की थी। समिति ने अब 20 अप्रैल को रिजर्व बैंक व वित्त मंत्रालय के अधिकारियों की उपलब्धता की जानकारी ली है।सूत्रों का कहना है कि समिति द्वारा अपनी रिपोर्ट को अंतिम रूप दिए जाने से पहले यह शायद आखिरी मौखिक गवाही होगी। रिजर्व बैंक के गवर्नर यदि उस तिथि को नहीं आए तो एक और बैठक बुलाई जा सकती है।पिछली बैठक में पटेल ने चलन से बाहर हुए नोटों के बैंक में जमा होने का आंकड़ा समिति को नहीं बताया था। उन्‍होंने केवल यह जानकारी दी थी कि 9.2 लाख करोड़ रुपए मूल्‍य के नए नोट जारी किए गए हैं। पिछले साल 8 नवंबर को यह घोषणा की गई थी कि देश में 500 और 1000 रुपए के नोट के रूप में 15.44 लाख करोड़ रुपए की मुद्रा चलन में है जो कुल मुद्रा का 86 प्रतिशत है।
वापसी