नई पोस्ट करें

फिल्म 'चाची 420' में काम कर चुकी हैं फातिमा सना शेख, शेयर की थ्रोबैक पिक्चर

2022-10-01 04:58:27 940

फिल्मचाची420मेंकामकरचुकीहैंफातिमासनाशेखशेयरकीथ्रोबैकपिक्चरAlert: इस हफ्ते 2 दिन रहेगी बैंकों में हड़ताल, अटक सकते हैं आपके जरूरी काम******Alert: इस हफ्ते 2 दिन रहेगी बैंकों में हड़ताल, अटक सकते हैं आपके जरूरी कामHighlightsइस हफ्ते यदि आपको से जुड़ा कोई जरूरी काम है तो एक बार कैलेंडर में तारीखें जरूर नोट कर लें। दरअसल इस हफ्ते 2 दिन बैंकों में हड़ताल है। दरअसल बैंकों के संघ यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस (यूएफबीयू) ने पूरे देश में 16 और 17 दिसंबर को बैंकों की दो दिन की हड़ताल का आह्वान किया है। ऐसे में आपको बैंक से जुड़े कामकाज निपटाने में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।यूएफबीयू के संयोजक बी रामबाबू ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि संगठन ने बैंकिंग कानून (संशोधन) विधेयक 2021 के विरोध में और सरकारी बैंकों के निजीकरण के केंद्र के कथित कदम का विरोध करते हुए यह हड़ताल बुलाई है। यूएफबीयू के तहत बैंकों की नौ यूनियनें आती हैं।गौरतलब है कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस साल की शुरुआत में वित्त वर्ष 2021-22 का बजट पेश करते हुए 1.75 लाख करोड़ रुपये जुटाने के विनिवेश लक्ष्य के तहत सार्वजनिक क्षेत्र के दो बैंकों के निजीकरण की घोषणा की थी। इससे पहले सरकार ने 2019 में आईडीबीआई बैंक में अपनी बहुलांश हिस्सेदारी एलआईसी को बेचकर आईडीबीआई बैंक का निजीकरण कर दिया था। इसके अलावा पिछले चार साल में 14 सरकारी बैंकों का विलय किया गया है।यूएफबीयू ने यह आरोप भी लगाया है कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों को 13 कंपनियों के ऋण बकाया के कारण लगभग 2.85 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। साथ ही यह भी कहा है कि बैंक, यस बैंक और आईएलएंडएफएस जैसे संकटग्रस्त संस्थानों को उबारने का काम करते रहे हैं। यूएफबीयू द्वारा दिए गए आंकड़ों के अनुसार, 13 निजी कंपनियों का बकाया 4,86,800 करोड़ रुपये था और इसे 1,61,820 करोड़ रुपये में निपटाया गया, जिसके परिणामस्वरूप 2,84,980 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ।सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों का इस्तेमाल निजी क्षेत्र के संकटग्रस्त बैंकों जैसे ग्लोबल ट्रस्ट बैंक, यूनाइटेड वेस्टर्न बैंक, बैंक ऑफ कराड, आदि को राहत देने के लिए किया गया है। हाल के दिनों में, यस बैंक को सरकारी बैंक एसबीआई (भारतीय स्टेट बैंक) ने संकट से निकाला। इसी तरह निजी क्षेत्र की सबसे बड़ी एनबीएफसी (गैर बैंकिंग वित्त कंपनी), आईएलएंडएफएस को सार्वजनिक क्षेत्र के एसबीआई और एलआईसी ने संकट से निकाला।"

फिल्मचाची420मेंकामकरचुकीहैंफातिमासनाशेखशेयरकीथ्रोबैकपिक्चरKGF के इस एक्टर ने मांगी आर्थिक मदद, 3 साल से लड़ रहे हैं कैंसर से जंग******Highlights 'केजीएफ: चैप्टर 2' उन फिल्मों में से एक है जो हमेशा याद रखी जाएंगी। इस फिल्म के साथ-साथ फिल्म के किरदारों ने भी लोगों के दिलों में अपनी खास जगह बनाई है। सभी कलाकारों ने अपनी दमदार अदाकारी से लोगों के ज़हन पर अपनी छाप छोड़ दी है। ऐसे ही एक कलाकार है हरीश राय । एक्टर ने हाल ही में आर्थिक मदद की गुहार लगाई है। केजीएफ फेम इस एक्टर ने खुलाया किया है कि वो पिछले 3 साल से कैंसर से जूझ रहे हैं।हरीश राय लंबे वक्त से कई तरह की परेशानियों से गुज़र रहे थे। अपनी बीमारी का खुलासा करते हुए एक्टरने कहा कि - 'स्थितियां आपको महानता प्रदान कर सकती हैं या चीजें आपसे दूर ले जा सकती हैं। भाग्य से बचने का कोई रास्ता नहीं है। मैं 3 साल से कैंसर से लड़ रहा हूं। 'केजीएफ' में मेरी लंबी दाढ़ी होने के पीछे एक कारण था और वो थी ये बीमारी। इस बीमारी के कारण मेरी गर्दन में जो सूजन थी उसे छिपाने के लिए मैंने दाढ़ी रखी थी।'हरीश ने आगे कहा, 'मैंने अपनी सर्जरी पहले इसलिए टाल दी थी, क्योंकि मेरे पास पैसे नहीं थे। मैंने फिल्मों के रिलीज होने तक इंतजार किया। अब जबकि मैं चौथे स्टेज में हूं, चीजें और खराब होती जा रही हैं।' एक्टर ने ये भी बताया कि पहले उन्हें थायराइड था, जिसने बाद में कैंसर का रुप ले लिया। इसके साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि फैंस और इंडस्ट्री के लोगों से मदद मांगने के लिए उन्होंने एक वीडियो भी रिकॉर्ड किया था, लेकिन वो उसे पोस्ट करने की हिम्मत नहीं जुटा पाए।कन्नड़ फिल्म इंडस्ट्री के जाने-माने एक्टर हरीश राय ज्यादातर नेगेटिव रोल ही प्ले करते हैं। केजीएफ के अलावा उन्होंने 'जोड़ी हक्की', 'तयव्वा', 'संजू वेड्स गीता' जैसी कई हिट फिल्मों में काम किया है। केजीएफ में हरीश राय ने कासिम चाचा का रोल प्ले किया था।फिल्मचाची420मेंकामकरचुकीहैंफातिमासनाशेखशेयरकीथ्रोबैकपिक्चरयूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने 'आप की अदालत' में कहा, 'सुप्रीम कोर्ट अयोध्या विवाद हमें सौंप दे, हम 24 घंटे के अंदर निपटारा कर देंगे'******उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने अयोध्या विवाद पर आक्रामक रुख अपनाते हुए कहा कि 'लोगों का धैर्य जवाब दे रहा है, मैं कहना चाहता हूं कोर्ट अपना फैसला जल्दी करे, अगर नहीं कर सकता तो वो इसे हमें सौंप दे, हम 24 घंटे के अन्दर का समाधान कर देंगे।' योगी आदित्यनाथ जोर देकर कहा, 'इसमें 25वां घंटा नहीं लगेगा'। ने जब उनसे पूछा कि वे इस विवाद का निपटारा मेल-मिलाप और आपसी सहमति से करेंगे या डंडा चलाकर, योगी मुस्कुराए और कहा, 'यह विवाद प्रशासनिक नहीं, न्यायिक प्रणाली का हिस्सा बन चुका है। हमने सुप्रीम कोर्ट से अपील की है, फिर अपील करूंगा कि रामजन्मभूमि मामले का जल्द पटाक्षेप होना बहुत आवश्यक है। 30 सितम्बर 2010 को इलाहाबाद उच्च न्यायालय की खंडपीठ ने जो फैसला दिया, वह जमीन के बंटवारे का नहीं था। केवल साबित करना था कि बाबरी ढांचा किसी हिन्दू मंदिर या स्मारक को तोड़कर बनाया गया था। उच्च न्यायालय के आदेश पर ए.एस.आई ने उत्खनन किया और साबित किया कि किसी प्राचीन हिन्दू स्मारक को तोड़ कर बाबरी ढांचा बनाया गया था।'योगी ने कहा, 'अब अनावश्यक रूप से बंटवारे का प्रश्न खड़ा करके इसे नए विवाद का जरिया बनाया गया। हम सुप्रीम कोर्ट से फिर कहेंगे कि न्याय समय पर देने से लोगों में संतुष्टि होती है, सौहार्द का कारण बनता है, जन-विश्वास का प्रतीक बनता है। लेकिन न्यायालय में जब अनावश्यक लेट होता है तो संस्थाएं जन विश्वास खोती हैं।''रामजन्भूमि के मुद्दे पर अनावश्यक लेट जनता के धैर्य के साथ-साथ उनका विश्वास का संकट खड़ा करता है। मैं कहना चाहता हूं कि न्यायालय फैसला जल्दी करे, और अगर नहीं कर सकता तो इसे हमें सौंप दे। हम 24 घंटे के अन्दर रामजन्भूमि विवाद का समाधान कर देंगे। 25वां घंटा नहीं लगेगा।'यह पूछे जाने पर कि केंद्र सरकार ट्रिपल तलाक की तरह अयोध्या पर अध्यादेश क्यों नहीं लाई, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा, 'यह सुप्रीम कोर्ट में सब-जूडिस मामला है। सब-जूडिस मामलों में संसद में चर्चाएं नहीं होती। हम लोग फिर भी न्यायालय पर छोड़ रहे हैं। अच्छा होता देश में सौहार्द के लिए न्यायालय 1994 की तत्कालीन सरकार ने जो एफिडेविट दिया था, उसके आधार पर न्याय दे देता, तो देश के अन्दर बहुत अच्छा मैसेज जाता। बहुत अच्छा उदाहरण प्रस्तुत होता। लेकिन यह अनावश्यक लेट होने से जनता का धैर्य जवाब देने की स्थिति की ओर बढ़ रहा है। यह जन आस्था का विषय है। हम जन आस्था का सम्मान करते हैं।'रजत शर्मा द्वारा यह पूछे जाने पर कि कहीं यह जल्दबाजी आनेवाले चुनाव को लेकर तो नहीं, योगी आदित्यनाथ ने कहा, 'सवाल चुनाव में फायदे या नुकसान का नहीं है। महत्वपूर्ण प्रश्न यह है कि ये आस्था का देश है और इस आस्था का सम्मान होना चाहिए।'उन्होंने कहा, 'ये आस्था और अनास्था की लड़ाई है। ये आस्था जो हमें भगवान राम के साथ जोड़ती है, दूसरी तरफ अनास्था जो तोड़ रही है, विध्वंसकारी रही है, विदेशी और विधर्मी रही है। मुझे लगता है कि उस आस्था ने विपरीत परिस्थितियों में भी हिम्मत नहीं हारी, आज भी हिम्मत नहीं हारेगी। रामजन्मभूमि मुद्दे का ठोस समाधान निकलेगा और अयोध्या में भगवान राम के भव्य मंदिर का निर्माण अवश्य होगा।'रजत शर्मा ने जब कहा कि कांग्रेस के नेता वादे कर रहे थे कि यदि वे सत्ता में आए तो राम मंदिर का निर्माण कराएंगे, योगी ने कहा, 'इस पूरे मसले की जड़ में कांग्रेस है। कौन हैं कांग्रेस का वो नेता, जो लन्दन में सैयद शूजा के साथ मिलकर भारत की चुनाव प्रक्रिया पर सवाल खड़े कर रहे हैं? कौन हैं कांग्रेस का वो नेता, जिसने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि रामजन्मभूमि विवाद पर सुनवाई 2019 के चुनाव के बाद करवायी जाए। पब्लिक में इसी बात को लेकर आक्रोश है। ये समस्या कांग्रेस की ही देन है। कांग्रेस नहीं चाहती कि समस्या का समाधान हो। तीन तलाक, राम मंदिर के समाधान का मतलब इस देश में तुष्टीकरण की राजनीति हमेशा-हमेशा के लिए समाप्त हो जाएगी।'यूपी में एसपी-बीएसपी गठबंधन पर मुख्यमंत्री ने कहा, 'उत्तर प्रदेश में 2014 के लोकसभा चुनाव और उसके बाद 2017 विधानसभा चुनाव में दो लड़के साथ आए थे, दोनों बुरी तरह परास्त हुए थे। इस बार बुआ-बबुआ एक ओर हैं, भाई-बहन भी एक गठबंधन बना के आ रहे हैं। चुनाव का परिणाम बीजेपी के पक्ष में 2014 और 2017 से बेहतर होगा। महागठबंधन खड़ा करके जातिवाद की सबसे खराब लड़ाई भी अगर लड़ी जाएगी तो यह लड़ाई 70-30 की होने जा रही है, जिसमें 70 प्रतिशत बीजेपी के पक्ष में होंगे और 30 प्रतिशत गठबंधन के पक्ष में होंगे। इस लड़ाई को हम वहीं ले कर जाएंगे।'कोलकाता में ममता बनर्जी द्वारा आयोजित रैली में 22 दलों के हिस्सा लेने पर योगी ने कहा, 'गठबंधन की कवायद आज की नहीं है। जब भी सरकार मजबूत होती है, तो ऐसी कवायद होती है। मुझे आश्चर्य है कि मुलायम सिंह जी (समाजवादी पार्टी के संस्थापक) चुप क्यों हैं। 2014 में वह पीएम के पद के उम्मीदवार थे। आज समाजवादी पार्टी भी उन्हें मानती है कि नहीं? मुलायम बयान नहीं दे रहे हैं, शायद संकोच में पड़े होंगे, उन्हें बयान जरूर देना चाहिए।राजनीति में प्रियंका गांधी की एंट्री के सवाल पर योगी ने कहा, 'कांग्रेस ने साबित कर दिया कि परिवार ही उनके लिए पार्टी है, परिवार के बाहर उनकी दृष्टि नहीं जा सकती'।कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा 'चौकीदार चोर है' टिप्पणी पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा, 'यूपीए के दौरान उन्होंने जमीन पर, पानी में, हवा में, अंतरिक्ष में और धरती के नीचे से पैसे की लूट मचाई। जो लोग मोदी जी पर उंगली उठा रहे हैं, उनके परिवार के इतिहास और डीएनए में भ्रष्टाचार है। वे विकास से लोगों का ध्यान हटाना चाहते हैं।'राहुल गांधी के मंदिर जाने और जनेऊ दिखाने के सवाल पर योगी आदित्यनाथ ने कहा, 'पंडित नेहरू की चौथी पीढ़ी के रूप में राहुल आए। वह अपने को 'एक्सिडेंटल हिन्दू' कहते थे। अब उन्होंने 'एक्सिडेंटल हिन्दू' से 'जनेऊधारी हिन्दू' तक की यात्रा की है। यह हमारी वैचारिक विजय है। आज राहुल को इस बात का अहसास होने लगा है कि अगर हिन्दुस्तान में रहना है, तो जनेऊ और टीका दिखाना ही पड़ेगा। राहुल ने साबित कर दिया कि पंडित नेहरु गलत थे।

फिल्म 'चाची 420' में काम कर चुकी हैं फातिमा सना शेख, शेयर की थ्रोबैक पिक्चर

फिल्मचाची420मेंकामकरचुकीहैंफातिमासनाशेखशेयरकीथ्रोबैकपिक्चरCrime News: चीन से जुड़ी शेल कंपनियों का मास्टरमाइंड भारत से भागने की कोशिश में गिरफ्तार******Highlightsसीरियस फ्रॉड इन्वेस्टिगेशन ऑफिस (SFIO) ने जिलियन कंसल्टेंट्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक डॉर्टसे नाम के एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि वह देश छोड़ने की फिराक में था। SFIO के अधिकारियों ने उसे बिहार से गिरफ्तार किया है। इससे पहले उन्होंने डॉर्टसे के गुरुग्राम, बेंगलुरु और हैदराबाद के ठिकानों पर छापेमारी की कार्रवाई की थी। कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय के अनुसार, डॉर्टसे (अधिकारियों द्वारा बताया गया नाम) एक रैकेट का मास्टरमाइंड है, जिसमें भारत में चीन से जुड़ी शेल कंपनियों को शामिल किया गया है।छापेमारी के बाद आरोपी को किया गया गिरफ्तारमंत्रालय ने एक बयान में बताया कि डॉर्टसे के ठिकानों पर 8 सितंबर को छापेमारी की गई जिसमें जिलियन कंसल्टेंट्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, गुरुग्राम में जिलियन हांगकांग लिमिटेड की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी, बेंगलुरु में फिनिंटी प्राइवेट लिमिटेड और हैदराबाद में एक पूर्व सूचीबद्ध कंपनी हुसिस कंसल्टिंग लिमिटेड शामिल हैं। छापेमारी के बाद आरोपी को गिरफ्तार किया गया। रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज (ROC) के पास दर्ज रिकॉर्ड के अनुसार डॉर्टसे ने खुद को हिमाचल प्रदेश के मंडी का निवासी बताया था।कई शेल कंपनियों में दिखावे के रूप में होता था कामसूत्रों के अनुसार ROC दिल्ली ने जांच के दौरान कई सबूत प्राप्त किए, जो स्पष्ट रूप से कई शेल कंपनियों में दिखावे के रूप में काम करने के लिए जिलियन इंडिया लिमिटेड द्वारा भुगतान किए जा रहे डमी निदेशकों की ओर इशारा करते है। कंपनी की मुहरों से भरे बक्से और डमी निदेशकों के डिजिटल हस्ताक्षर साइट से बरामद किए गए हैं। भारतीय कर्मचारी चाइनीज इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप के जरिए चीनी समकक्षों के संपर्क में थे। हुसिस लिमिटेड को भी जिलियन इंडिया लिमिटेड की ओर से काम करते हुए पाया गया। बताया जा रहा है कि हुसिस लिमिटेड का जिलियन हांगकांग लिमिटेड के साथ एक समझौता था।भारत से भागने की फिराक में था आरोपीकॉपोर्रेट मामलों के मंत्रालय ने 9 सितंबर, 2022 को जिलियन कंसल्टेंट्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड और 32 अन्य कंपनियों की जांच एसएफआईओ को सौंपी थी। डॉर्टसे और एक चीनी नागरिक जिलियन कंसल्टेंट्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड में निदेशक हैं। जांच के आधार पर, यह पता चला कि डॉर्टसे दिल्ली-एनसीआर से बिहार भाग गया था और सड़क मार्ग से भारत से भागने का प्रयास कर रहा था, जिसके बाद एसएफआईओ ने एक विशेष टीम गठित की। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि शनिवार को एसएफआईओ ने डॉर्टसे को गिरफ्तार किया। अदालत ने उसे ट्रांजिट रिमांड पर भेज दिया।फिल्मचाची420मेंकामकरचुकीहैंफातिमासनाशेखशेयरकीथ्रोबैकपिक्चरLuka Chuppi Box office collection Day 2: लोगों को खूब भा रही है कार्तिक-कृति की 'लुका-छुपी', जानिए कुल कमाई******लुका छिपी बॉक्स ऑफिस कलेक्शन(Luka Chuppi Box office collection): कार्तिक आर्यन और कृति सेनन स्टारर लुका छिपी दूसरे दिन भी बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचा रही है। लिव इन रिलेशनशिप और फैमिली ड्रामा का मिक्सचर लोगों को इतनी ज्यादा पसंद आ रही है कि इसकी कुल कमाई 18 करोड़ पहुंच गई हैं।ट्रेड एनालिस्ट तरण आदर्श ने ट्विट करते हुए इस बात की जानकारी दी कि लुका छिपी लोगों को काफी पसंद आ रही है। दूसरे दिन भी फिल्म का जादू लोगों पर चढ़ा हुआ है और फिल्म की कमाई 18.9 करोड़ पहुंच गई है।फिल्म की कमाई देखें तो फिल्म ने अपनी ओपनिंग 8 करोड़ से की है और दूसरे दिन कमाई 10.08 करोड़ तक पहुंच गई है। कुल मिलाकर फिल्म अभी तक 18.09 करोड़ की कमाई कर चुकी है।तरण आदर्श ने पहले दिन की कमाई देखते हुए पहले ही कहा दिया था कि फिल्म की कमाई दूसरे और तीसरे दिन बढ़ेगी।इसके साथ ही उन्होंने बताया कार्तिक आर्यन की यह अब तक की पहले दिन सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म है।यह कार्तिक आर्यन की फिल्मों के पहले दिन की कमाई है।छोटे शहरों पर फिल्में बनाने का चलन शुरू हो चुका है, छोटा शहर है तो वहां के मुद्दे और परेशानियां भी बड़े शहरों से अलग हैं। जैसे लिव इन रिलेशनशिप में रहना छोटे शहर में बहुत बड़ी बात है। इसी मुद्दे को लेकर 'लुका छुपी' फिल्म बनाई गई है। यह एक ऐसे कपल की कहानी है जो शादी से पहले एक-दूसरे को जानने और समझने के लिए साथ रहने का फैसला करते हैं। लेकिन मथुरा जैसे शहर में दोनों ये कैसे करेंगे?फिल्म में कार्तिक आर्यन गुड्डू शुक्ला के रोल में हैं, जो मथुरा लाइव नाम के एक छोटे केबल टीवी में पत्रकार है। उसी चैनल में इंटर्नशिप करने आई लड़की रश्मि त्रिवेदी से उसे प्यार हो जाता है। शादी से पहले रश्मि अपने होने वाले पति के बारे में जानना चाहती है इसलिए वो लिव इन में रहने की बात करती है।फिल्मचाची420मेंकामकरचुकीहैंफातिमासनाशेखशेयरकीथ्रोबैकपिक्चरKanwar Yatra: सावन की कांवड़ यात्रा को लेकर गृह मंत्रालय ने जारी की एडवाइजरी, राज्यों को दिए ये निर्देश******Highlights सावन का महीना आ चुका है। इस दौरान शिवभक्त कांवड़ लेकर हरिद्वार जाते हैं। जहां से वे गंगा नदी से जल लेकर भगवान शिव का जलाभिषेक करते हैं। वैसे यह आयोजन हर वर्ष होता था, लेकिन कोरना की वजह से पिछले 2 वर्षों से कड़े नियमों के बीच हो रहा था। लेकिन इस वर्ष कम होते कोरोना के खतरे को देखते हुए बड़ी सक्न्ह्या में शिवभक्त सावन के मेले में पहुंच सकते हैं। जिसको लेकर केंद्र समेत कई राज्यों की सरकार तैयार हैं।इसी बीच कांवड़ यात्रा को लेकर गृह मंत्रालय ने एडवाइजरी जारी की है। यह एडवाजरी इंटेलिजेंस ब्यूरो की थ्रेट रिपोर्ट के आधार पर जारी हुई है। सूत्रों के अनुसार, IB ने कावड़ यात्रा के दौरान कट्टरपंथियों से खतरे का अंदेशा जताया था। मंत्रालय द्वारा जारी एडवाइजरी में राज्य सरकारों से कहा गया है कि कावड़ यात्रा को लेकर किसी भी तरह के खतरे से निपटने के लिए ज्यादा से ज्यादा पुलिस बल तैनात किए जाए। उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश सहित अन्य राज्यों को कावड़ यात्रा के दौरान कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के निर्देश केंद्रीय गृह मंत्रालय ने दिए हैं। रेलवे बोर्ड को भी ट्रेनों में खतरे को देखते हुए सुरक्षा बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं।वहीं कांवड़ मेले को लेकर उत्तराखंड पुलिस ने भी विशेष तैयरी की है। उत्तराखंड पुलिस के डीजीपी अशोक कुमार ने बताया कि, "इस बार कांवड़ मेले के लिए प्रशासन ने विशेष प्रबंध किये हैं। कांवड़ मेला-2022 में राज्य में आने वाले सभी श्रद्धालुओं के लिए उत्तराखंड पुलिस द्वारा पंजीकरण के लिए पोर्टल खोला गया है।" उन्होंने कहा कि सभी भक्त पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराकर ही यहां आएं, इससे वे कई तरह की परेशानियों से बच सकते हैं और सुगम और सुरक्षित यात्रा के बाद अपने घर को वापसी कर सकेंगे।आपको बता दें कि श्रावण माह शुरू होते ही देशभर में शिव भक्तों की कांवड़ यात्रा शुरू हो चुकी है। अलग-अलग राज्यों में कांवड़ यात्रा मार्ग पर कई सुविधाओं के साथ सुरक्षा इंतजाम भी पुख्ता किए गए हैं। इंटेलिजेंस ब्यूरो से मिले इनपुट के आधार पर गृह मंत्रालय ने कट्टरपंथी तत्वों से खतरे की आशंका जताते हुए राज्य सरकारों को कांवड़ियों की सुरक्षा कड़ी करने के निर्देश दिए हैं। श्रावण माह में भक्त पवित्र नदियों का जल कंधे पर रखे कांवड़ में लेकर भगवान शिव के विभिन्न मंदिरों तक पहुंचते हैं और उनका जलाभिषेक करते हैं।

फिल्म 'चाची 420' में काम कर चुकी हैं फातिमा सना शेख, शेयर की थ्रोबैक पिक्चर

फिल्मचाची420मेंकामकरचुकीहैंफातिमासनाशेखशेयरकीथ्रोबैकपिक्चरकार्तिक आर्यन ने इटली से खरीदी 4.5 करोड़ की शानदार लैम्बोर्गिनी कार******युवा दिलों की धड़कन और बॉलीवुड के हैंडसम हंक कार्तिक आर्यन की कामयाबी में एक सबसे बड़ा मौका जुड़ गया हैं। गाड़ियों के शौकीन कार्तिक नेएकमहंगी गाड़ी से अपने सपनों की दुनिया को सजा लिया हैं। जी हा, कार्तिक नेसाढ़े चार करोड़ की लैम्बोर्गिनी खरीद ली हैं। कार्तिकने ये गाड़ी इटली से मंगाई है।आपको बता दे कि कार्तिक ने सपने से भी खूबसूरत इस कार को इटली से मुंबई लाने के लिए 50 लाख रुपये अतिरिक्त भरे हैं और तीन महीने के लंबे इंतेजार के बाद उनकी ये ड्रीम कार उनके बगल में खड़ी हैं। जिसे पाकर कार्तिक फूले नही समा रहे।इसके अलावा कार्तिक के पास बीएमडब्लू हैं जो उन्होंने साल 2017 में खरीदी थी और हाल ही में साल 2019 में कार्तिक ने अपनी मांको मिनी कूपर की एक शानदार कार तोहफे में दी थी जो उनकी मम्मी की पसंदीदा कार हैं।वाकई सपनों को देखना और उसे जितना, कार्तिक आर्यन ,इसका सबसे बेहतरीन उदाहरण हैं। सालों की कड़ी मेहनत के बाद साल 2017 से उनके तकदीर के सितारे बदले और आज के वक़्त कार्तिक बॉलीवुड के महंगे अभिनेता में से एक हैं। कोरोना से ठीक होने के बाद,14 दिनों के वनवास खत्म होते ही कार्तिक की ये खुशी शब्दो मे बयां नही हो सकती। बहुत ही जल्द कार्तिक अपने फिल्मो की शूटिंग शुरू कर सकते हैं।फिल्मचाची420मेंकामकरचुकीहैंफातिमासनाशेखशेयरकीथ्रोबैकपिक्चरअनुराग ठाकुर ने UAE में नौकरी के लिए शुरू की तेजस परियोजना, शुरुआती चरण में 10 हजार लोगों को किया जाएगा तैयार******Highlightsकेंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने रविवार को अंतरराष्ट्रीय परियोजना ‘तेजस’ (ट्रेनिंग फॉर अमीरात जॉब्स् ऐंड स्किल्स) की शुरुआत की। इसका मुख्य मकसद भारतीय कार्यबल को कुशल और संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के बाजार की जरूरतों के अनुसार तैयार करना है। दुबई यात्रा के दूसरे दिन सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने इस परियोजना की शुरुआत करने के दौरान संबोधित किया.इस दौरान अनुराग ठाकुर ने कहा कि भारत के पास युवा आबादी है और युवाओं की देश निर्माण और छवि निर्माण में सबसे बड़ी हिस्सेदारी है। उन्होंने कहा, ‘‘ हमारा ध्यान इस आबादी को कुशल बनाना और दुनिया को भारत से बड़े पैमाने पर कुशल कार्यबल मुहैया कराना है। ठाकुर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भारत-यूएई मजबूत रिश्तों के दृष्टिकोण को दोहराते हुए कहा कि तेजस का लक्ष्य शुरुआती चरण में यूएई में 10 हजार लोगों के मजबूत भारतीय कार्यबल को तैयार करना है।गौरतलब है कि ठाकुर तीन दिवसीय यात्रा पर शनिवार को यूएई गए थे। इस दौरे के दौरान कबीर खान और प्रियदर्शन सहित प्रख्यात भारतीय फिल्मकारों से मुलाकात की। इस दौरान अबू धाबी फिल्म आयोग के फिल्म आयुक्त हंस फरइकिन भी साथ मौजूद रहे। उन्होंने दुबई एक्सपो में इंडिया पवेलियन का भी दौरा किया और यूएई सरकार में अंतरराष्ट्रीय सहयोग मामलों के राज्यमंत्री रीम अल हाशमी से विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की।

फिल्म 'चाची 420' में काम कर चुकी हैं फातिमा सना शेख, शेयर की थ्रोबैक पिक्चर

फिल्मचाची420मेंकामकरचुकीहैंफातिमासनाशेखशेयरकीथ्रोबैकपिक्चरRajasthan News: मिशन राजस्थान में जुटी BJP, JP नड्डा से मिले प्रदेश अध्यक्ष सतीश पुनिया और संगठन महामंत्री चंद्रशेखर******Highlightsभारतीय जनता पार्टी के चुनावी विजय अभियान में राजस्थान काएक स्थान प्रमुख है। अगले साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव जीतकर वह राजस्थान में सरकार बनाने में कोई कसर छोड़ना नहीं चाहती है। बीजेपी की कोशिश होगी कि 2024 के लोकसभा चुनावों से पहले वह राज्य में विजयी हासिल करके एक बड़ा चुनावी संदेश दे। जिसके लिए संगठन ने तैयारियां शुरू कर दी हैं।पिछले दिनों पार्टी के कामकाज को लेकर प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया और प्रदेश महामंत्री (संगठन) चंद्रशेखर ने पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा और संगठन महामंत्री बीएल संतोष को दिल्ली में फीडबैक दिया। दोनों नेता एक साथ दिल्ली गए थे। दोनों नेताओं ने प्रदेश में भाजपा की बूथ लेवल योजना और 200 विधानसभा क्षेत्रों में विस्तारक लगाए जाने की योजना की जानकारी विस्तार से दोनों शीर्ष नेताओं के सामने रखी। इसके अलावा प्रदेश में कांग्रेस सरकार के खिलाफ आने वाले समय में बनाए जाने वाले मुद्दों को लेकर भी चर्चा हुई।बैठक के बाद मीडिया में आई जानकारी के अनुसार, बताया जा रहा है कि प्रदेश में भाजपा आने वाले दिनों में गहलोत सरकार बड़ा आंदोलन खड़ा कर सकती है। वहीं संगठनात्मक स्तर पर ढ़ांचे को मजबूत करने के लिए प्रशिक्षण शिविरों और बूथ लेवल तक बनने वाली इकाइयों के काम में भी तेजी ला सकती है। इसके साथ ही राष्ट्रीय अध्यक्ष ने राज्य में नेताओं की गुटबाजी को लेकर नाराजगी जाहिर की है। सूत्रों की मानें तो जेपी नड्डा ने दोनों नेताओं को सभी को साथ लेकर चलने की सलाह दी है। साथ ही निर्देश दिया गया है कि गुटों में काम करने वाले नेताओं पर सख्ती बरती जाए।बताया जा रहा है कि पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने प्रदेश के सभी बड़े नेताओं को एक साथ चलकर चलने की नसीहत दी है। वहीं पार्टी की अब तक की गतिविधियों को लेकर संतोष व्यक्त किया है। यह भी कयास लगाए जा रहे हैं कि आने वाले दिनों में प्रदेश में केंद्रीय नेताओं के दौरे में गति आएगी। माना जा रहा है कि प्रदेश के कई बड़े नेता गुजरात के चुनावी प्रबंधन पर लगाए जा सकते हैं। यह भी बताया जा रहा है कि जेपी नड्डा ने पार्टी नेताओं संग इस संबंध में चर्चा की है। गुजरात चुनाव में राजस्थान के नेताओं को बड़ी संख्या में प्रबंधन के तौर पर लगाया जाएगा। हालांकि, भाजपा की तरफ से इस फीडबैक बैठक को लेकर विस्तृत जानकारी नहीं दी गई है।

फिल्मचाची420मेंकामकरचुकीहैंफातिमासनाशेखशेयरकीथ्रोबैकपिक्चरबुनियादी क्षेत्र के आठ उद्योगों का उत्पादन अक्टूबर में 5.8 प्रतिशत घटा, सरकार ने जारी किए आंकड़े******Core sector growth । File Photoदेश में बुनियादी क्षेत्रों (Core Sector) के आठ उद्योगों का उत्पादन अक्टूबर में 5.8 प्रतिशत घटा है जो आर्थिक नरमी के गहराने की ओर इशारा करता है। इस संबंध में शुक्रवार को सरकार ने आधिकारिक आंकड़े जारी किए। आठ प्रमुख उद्योगों में से छह में अक्टूबर में गिरावट दर्ज की गयी। देश में कोयला उत्पादन अक्टूबर में 17.6 प्रतिशत, कच्चा तेल उत्पादन 5.1 प्रतिशत और प्राकृतिक गैस का उत्पादन 5.7 प्रतिशत गिरा है। इस दौरान सीमेंट उत्पादन 7.7 प्रतिशत, स्टील 1.6 प्रतिशत और बिजली उत्पादन 12.4 प्रतिशत गिर गया। समीक्षावधि में सिर्फ उवर्रक क्षेत्र में सालाना आधार पर 11.8 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी।वहीं रिफाइनरी उत्पादों की वृद्धि दर घटकर 0.4 प्रतिशत पर आ गयी जो पिछले साल इसी माह में 1.3 प्रतिशत थी। अक्टूबर 2018 में बुनियादी क्षेत्र के इन आठ उद्योगों के उत्पादन में 4.8 प्रतिशत की बढ़त देखी गयी थी।इस साल अप्रैल-अक्टूबर अवधि में बुनियादी क्षेत्र के आठ उद्योगों की वृद्धि दर गिरकर 0.2 प्रतिशत रही जो पिछले साल इसी अवधि में 5.4 प्रतिशत थी। पिछले माह सितंबर में बुनियादी क्षेत्र के आठ उद्योगों का उत्पादन सालाना आधार पर 5.1 प्रतिशत गिरा था जो एक दशक का सबसे सुस्त प्रदर्शन था।फिल्मचाची420मेंकामकरचुकीहैंफातिमासनाशेखशेयरकीथ्रोबैकपिक्चरकंपनी से मिल 50,000 रुपए से महंगा गिफ्ट ढीली करेगा आपकी जेब, देना होगा GST****** आपकी पर्फोर्मेंस पर यदि आपकी कंपनी खुश भी है तो यह भी आपके लिए मुसीबत खड़ी कर है। यदि आपको अपनी कंपनी की ओर से महंगा गिफ्ट मिला है तो अब आपको इस पर जीएसटी देना होगा। यह टैक्‍स किसी भी प्रकार की गिफ्ट या मुफ्त मिली सुविधाओं पर भी देना होगा। सरकार ने आज स्पष्ट किया है कि नियोक्ता द्वारा कर्मचारी को एक साल में दिए गए 50,000 रुपए तक के उपहार पर वस्‍तु एवं सेवा कर (जीएसटी) नहीं लगेगा। इसके अलावा क्लब, हेल्थ एवं फिटनेस केंद्रों की मुफ्त सदस्यता पर भी जीएसटी नहीं लागू होगा। लेकिन यह राशि यदि 50 हजार से ज्‍यादा है तो आपको जीएसटी देना होगा।कंपनियों द्वारा अपने कर्मचारियों को दिए जाने वाले उपहार और अन्य लाभ पर जीएसटी में कर लगने की खबरों पर वित्‍त मंत्रालय ने स्थिति साफ करते हुए कहा है कि एक साल में नियोक्ता द्वारा अपने कर्मचारी को दिए गए 50,000 रुपये तक के उपहार पर जीएसटी नहीं लगेगा। बयान में कहा गया है कि 50,000 रुपये से अधिक का उपहार जीएसटी के दायरे में आएगा।

फिल्मचाची420मेंकामकरचुकीहैंफातिमासनाशेखशेयरकीथ्रोबैकपिक्चरHoli in America 2022: न्यूयॉर्क में होली के मौके पर भगवान कृष्ण पर 'कठपुतली शो' का आयोजन होगा******Highlightsरंगों का त्योहार होलीभारत समेत पूरे विश्व में हर साल बड़े ही हर्षोउल्लास के साथ मनाया जाता है। होली का त्योहार केवल भारत के शहरों और गांव तक ही सीमित नहीं रह गया है। कई सालों से भारत समेत विदेशों में भी इस दिन को खूब धूमधाम के साथ मनाया जाता है। न्यूयॉर्क भी होली के रंग से खुद को अलग नहीं रख पाता। हर साल यहां होली के दिन कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। भारतीय मूल के लोग होली के इस पर्व को न्यूयॉर्क में बड़ी धूमधाम के साथ मनाते हैं।इस साल भी न्यूयॉर्क में होली के अवसर पर कई विशेष कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है।न्यूयॉर्क स्थित एक सांस्कृतिक संगठन होली पर यहां एक कठपुतली शो, कला गतिविधियों, भारतीय नृत्य कार्यशाला से लेकर एक कार्यक्रम आयोजित करने वाला है। कार्यक्रम में भारत के रंगों के त्योहार और यहां समुदायों के बीच भारतीय संस्कृति के बारे में जागरूकता फैलाने समेत विशेष कार्यक्रमों के जरिए होली का त्योहार मनाया जाएगा।दक्षिण एशिया की संस्कृति को बढ़ावा देने वाला संगठन ‘द कल्चरल ट्री’ न्यूयॉर्क सिटी के सांस्कृतिक केंद्र ‘द सीपोर्ट’ के साथ मिलकर 19 मार्च को होली के मौके पर विशेष कार्यक्रमों का आयोजन करेगा।कार्यक्रम के आयोजक ने बताया किहोली के समारोह में हम जिंदगी को, सबसे मजेदार त्योहारों में से एक के रंगों से भरेंगे और समुदाय को एक साथ लाएंगे।’’ संगठन ने बताया कि कठपुतली शो ‘कलर्स ऑफ कृष्णाज लव’ में भगवान कृष्ण के बचपन की प्रिय कहानियां बतायी जाएंगी। जिसमें राधा और सुदामा समेत उनके मित्रों और परिवारों के साथ खेल और हंसी-ठिठोली दिखायी जाएगी।फिल्मचाची420मेंकामकरचुकीहैंफातिमासनाशेखशेयरकीथ्रोबैकपिक्चरयूपी चुनाव 2022: रायबरेली में प्रियंका का 'महिला शक्ति संवाद', क्या वादों के जरिए महिलाओं को साध पाएगी कांग्रेस?******Highlightsआगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस भी अपनी सियासी जमीन को मजबूत करने और सत्ता की दावेदारी के लिए रण में उतर चुकी है। लगातार पार्टी के महासचिव प्रियंका गांधी और वायनाड से सांसद राहुल गांधी क्षेत्र में अलग-अलग दौरा कर रहे हैं। अमेठी दौरे के बाद आज प्रियंका गांधी राज्य के रायबरेली में 'महिला शक्ति संवाद' रैली को संबोधित करेंगी। इस संवाद के जरिए कांग्रेस महिला वोटबैंक को साधने की कोशिश करेगी। प्रियंका यहां की स्थानीय महिलाओं के साथ बातचीत करेंगी।ये कार्यक्रम रायबरेली के रिफॉर्म क्लब में आयोजित किया जाएगा, जिसमें प्रियंका गांधी वाड्रा महिला शक्ति संवाद रैली में शामिल होंगी। प्रियंका गांधी के सामने 2022 यूपी विधानसभा में पार्टी को जीत दिलाना सबसे बड़ी चुनौती है। राज्य में इस वक्त योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली भाजपा सरकार है। पीएम मोदी लगातार राज्य को बड़ी सौगात दे रहे हैं। इससे भाजपा के वोटबैंक में वृद्धि होने की संभावना है। वहीं, पूर्व सीएम अखिलेश यादव भी कांग्रेस और भाजपा को घेरकर सत्ता तक पहुंचने की जुगत में लगे हुए हैं।कांग्रेस करीब तीन दशक से राज्य की सत्ता से दूर है। मुख्यमंत्री एनडी तिवारी की अगुवाई में आखिरी बार साल 1988-89 तक कांग्रेस की राज्य में सरकार रही थी। उसके बाद से कांग्रेस सत्ता के लिए लगातार संघर्ष कर रही है लेकिन पार्टी को अब तक के विधानसभा चुनाव में निराशा ही हाथ लगी है।रायबरेली कांग्रेस का गढ़ माना जाता रहा है। गौरतलब है कि आगामी चुनाव में कांग्रेस की ओर से 40 फीसदी टिकट महिलाओं को दिये जाने की घोषणा की जा चुकी है। पिछले दिनों कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा ने अलग से महिलाओं के लिए घोषणापत्र जारी किया है। इसमें पार्टी की तरफ से कई वादे किए हैं। घोषणापत्र जारी करने के दौरान प्रियंका ने कहा था, " राजनीति में 40 फीसदी महिलाओं की भागीदारी होनी चाहिए। समाज में महिलाओं को लेकर काफी असंतुलन है।" लखनऊ में प्रियंका गांधी ने कहा था, "वो इसे सशक्त करना चाहती है। हमने एक महिला घोषणा पत्र बनाया है जिसमें हम ये कहना चाहते हैं कि हम महिलाओं को सचमुच सशक्त बनाना चाहते हैं और इसके लिए हमें एक ऐसा वातावरण बनाना पड़ेगा जहां महिलाओं की अभिव्यक्ति बंधनों को तोड़ सके।"प्रियंका ने घोषणापत्र जारी करने के दौरान महिलाओं को लेकर बड़े वादे करते हुए कहा था, " राज्य में कांग्रेस की सरकार बनने पर 8 लाख महिलाओं को यानी 40 फीसदी को रोजगार देंगे। हमने कुल 20 लाख रोजगार देने का वादा किया है। महिलाओं को मनरेगा में प्राथमिकता मिलेगी। सरकारी पदों पर 40 फीसदी महिलाओं की नियुक्ति की जाएगी।"कांग्रेस की तरफ से महिलाओं के लिए 10 आवासीय खेल अकादमी, लड़कियों के लिए इवनिंग स्कूल खोलेने, महिलाओं के लिए फ्री बस सेवा, महिलाओं द्वारा चलाए जाने वाले उद्योग को सस्ता ऋण जैसे कई वादे किए हैं। प्रियंका गांधी ने बारहवीं में छात्राओं को स्मार्ट फोन और ग्रेजुएशन में लड़कियों को स्कूटी दिया जाने का भी वादा किया है।

फिल्मचाची420मेंकामकरचुकीहैंफातिमासनाशेखशेयरकीथ्रोबैकपिक्चरलालू फिर जाएंगे जेल या मिलेगी बेल? चारा घोटाले के सबसे बड़े मामले में कल आएगा CBI स्पेशल कोर्ट का फैसला******Highlights राजद सुप्रीमो बीते 24 घंटे से रांची के स्टेट गेस्ट हाउस के मेहमान बने हुए हैं। उनके इर्द-गिर्द समर्थकों और चाहने वालों का मेला लगा है। आने वाले 24 घंटे के भीतर यह तय हो जाएगा कि लालू प्रसाद इसी तरह की महफिल के मुख्य अतिथि बने रहेंगे या एक बार फिर उन्हें यह सब कुछ छोड़कर जेल का गेस्ट बनना पड़ेगा। बहुचर्चित के सबसे बड़े मुकदमे आरसी-47 ए/96 में 15 फरवरी को रांची स्थित सीबीआई की विशेष अदालत अपना फैसला सुनाएगी। अदालत ने लालू प्रसाद यादव सहित सभी 99 आरोपियों को निजी तौर पर कोर्ट में हाजिर रहने को कहा है।झारखंड में चारा घोटाले के कुल पांच मुकदमों में लालू प्रसाद यादव अभियुक्त बनाए गए थे। चार मुकदमों में पहले ही फैसला आ चुका है और इन सभी मामलों में अदालत ने उन्हें दोषी करार देते हुए सजा सुनाई थी। जिस पांचवें मुकदमे में मंगलवार को फैसला आना है, वह रांची के डोरंडा स्थित ट्रेजरी से 139.5 करोड़ रुपये की अवैध निकासी से संबंधित है। वर्ष 1996 में दर्ज हुए इस मामले में शुरूआत में कुल 170 लोग आरोपी थे। इनमें से 55 आरोपियों की मौत हो चुकी है, जबकि सात आरोपियों को सीबीआई ने सरकारी गवाह बना लिया।दो आरोपियों ने अदालत का फैसला आने के पहले ही अपना दोष स्वीकार कर लिया। छह आरोपी आज तक फरार हैं। बाकी 99 आरोपियों पर फैसला आना है। इस मामले के अन्य प्रमुख अभियुक्तों में पूर्व सांसद जगदीश शर्मा, डॉ आर.के. राणा, बिहार के तत्कालीन पशुपालन सचिव बेक जूलियस और पशुपालन विभाग के सहायक निदेशक के.एम. प्रसाद शामिल हैं। इस मुकदमे की सुनवाई के दौरान सीबीआई की स्पेशल कोर्ट में अभियोजन की ओर से कुल 575 लोगों की गवाही कराई गई, जबकि बचाव पक्ष की तरफ से 25 गवाह पेश किए गए।इसके पहले चारा घोटाले के चार मामलों में लालू प्रसाद यादव को कुल मिलाकर साढ़े 27 साल की सजा हुई, जबकि एक करोड़ रुपये का जुमार्ना भी उन्हें भरना पड़ा। इन मामलों में सजा होने के चलते राजद सुप्रीमो को आधा दर्जन से भी ज्यादा बार जेल जाना पड़ा। इन सभी मामलों में उन्हें हाईकोर्ट से जमानत मिली है। चारा घोटाले का सबसे पहला मुकदमा चाईबासा के तत्कालीन उपायुक्त अमित खरे के आदेश पर दर्ज हुआ था। चाईबासा में कोषागार से अवैध तरीके से 37.7 करोड़ रुपये की निकासी के इस मामले में लालू यादव समेत 44 आरोपी थे। इसमें लालू प्रसाद यादव को 5 साल की सजा हुई और इसके साथ ही 25 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया।दूसरा मामला देवघर स्थित ट्रेजरी से 84.53 लाख रुपये की अवैध निकासी का था। इसमें लालू प्रसाद यादव समेत 38 पर केस चला और आखिरकार अदालत ने उन्हें साढ़े तीन साल की सजा सुनाई और 5 लाख का जुर्माना लगाया। तीसरे मामले में चाईबासा कोषागार से 33.67 करोड़ रुपये की अवैध निकासी के मुकदमे में कोर्ट ने उन्हें 5 साल की सजा दी और 10 लाख का जुर्माना लगाया। दुमका कोषागार से 3.13 करोड़ रुपये की अवैध निकासी के चौथे मामले में लालू प्रसाद यादव को दो अलग-अलग धाराओं में 7-7 साल की सजा सुनाई गई और 60 लाख जुमार्ना भी लगाया गया।अब 15 फरवरी को सीबीआई की विशेष अदालत के न्यायाधीश एसके शशि पांचवें मामले में फैसला सुनायेंगे और जाहिर है कि इसपर लालू, उनके परिजनों, समर्थकों, विरोधियों सहित सबकी निगाहें टिकी हैं।(इनपुट- एजेंसी)फिल्मचाची420मेंकामकरचुकीहैंफातिमासनाशेखशेयरकीथ्रोबैकपिक्चरDiwali 2019: घर लाएं मां लक्ष्मी की ऐसी तस्वीर, कभी नहीं होगी धन की कमी******भारत में का त्योहार बहुत ही धूमधाम के साथ मनाया जाता है। इस खास मौके में हर एक घर चांदनी में नहा जाता है। दिवाली उत्सव का त्योहार धनतेरस के दिन से शुरू होता है। इस दिन सोना, चांदी या अन्य वस्तु की खरीददारी के साथ-साथ मां लक्ष्मी और गणपति की तस्वीर या फिर मूर्ति भी खरीदी जाती है। इस साल धनतेरस का त्योहार 25 अक्टूबर को है। वहीं दिवाली का खास त्योहार 27 अक्टूबर को है।शास्त्रों के अनुसार माना जाता है कि इस दिन मां लक्ष्मी धरती पर अपने भक्तों को आर्शीवाद देने के लिए आती हैं। जिसके कारण इस खास मौके पर माता लक्ष्मी और गणपति जी की पूजा की जाती है। जिससे मां की कृपा आपके ऊपर हमेशा बनी रहे।मां लक्ष्मी की पूजा करते समय हम कई तरह के नियमों का पालन करते है। इसी तरह मां लक्ष्मी की तस्वीर घर ला रहे हैं तो कुछ बातों का ध्यान रखना बहुत ही जरूरी है।शास्त्रों के मुताबिक अगर आप महालक्ष्मी की तस्वीर की पूजा-अर्चना कर रहे हैं तो इसे सफल बनाने के लिए महालक्ष्मी की तस्वीर काफी मायने रखती है। इसीलिए अगर आप मार्केट से मां लक्ष्मी की तस्वीर लेने जा रहे हैं तो इन बातों का ध्यान रखना है जरूरी।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 05:35
उद्धरण 1 इमारत
डीसीजीआई ने कोविड-19 की दवा पर ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स से मांगी सफाई****** भारत के दवा नियामक ने के उस दावे के बारे में स्पष्टीकरण मांगा है, जिसमें उसने कथित रूप से 'मित्या दावा' किया था कि कोविड-19के ऐसे मरीजों के इलाज में फैबीफ्लू का इस्तेमाल किया जा रहा है जिन्हेंदूसरी बीमारियां भी हैं। साथ ही इस दवा की कीमत को लेकर सफाई भी मांगी गई है। दवा नियामक ने एक संसद सदस्य की शिकायत के बाद यह कदम उठाया है।भारत के दवा महानियामक () डॉ. वी जी सोमानी ने मुंबई स्थित कंपनी को लिखे एक पत्र में कहा गया है कि उनके कार्यालय को एक सांसद से पता चला है कि फैबीफ्लू (फेविपिरवीर) से इलाज की कुल लागत लगभग 12,500 रुपये होगी और 'ग्लेनमार्क द्वारा प्रस्तावित लागत निश्चित रूप से भारत के गरीब, निम्न मध्यम वर्ग और मध्यम वर्ग के लोगों के हित में नहीं है।'कंपनी की ओर से तत्काल कोई टिप्पणी नहीं की गई। शिकायत में यह कहा गया है कंपनी ने यह दावा किया है कि उसकी यह नयी औषधि हायपरटेंसन व मधुमेह जैसे दूसरे रोगों से पीड़ित संक्रमण के रोगियों के इलाज में कारगर है। जबिक इसके प्रोटोकोल के संक्षिप्त परिचय में कहा गया है कि इसे सहरुग्णता की दशाा वाले लेागों पर आजमाने के लिए नयी तैयार किया गया था।
2022-10-01 04:25
उद्धरण 2 इमारत
Corona Vaccine बनाने वाली कंपनी Serum Institute ने किया बड़ा सौदा, 3456 करोड़ रुपये में करेगी Magma Fincorp का अधिग्रहण******भारत में कोरोना वायरस वैक्‍सीन बनाने वाली (Serum Institute) की एनबीएफसी इकाई पूनावाला फाइनेंस (Poonawalla Finance) ने गैर-बैंकिंग वित्‍तीय कंपनी मैग्‍मा फ‍िनकॉर्प (Magma Fincorp) में नियंत्रणकारी 60 प्रतिशत हिस्‍सेदारी का अधिग्रहण करने की घोषणा की है। पूनावाला फाइनेंस ने बताया कि वह यह हिस्‍सेदारी 3456 करोड़ रुपये में खरीदेगी। पूनावाला फाइनेंस, जो बड़े स्‍तर पर पेशेवरों को वित्‍तीय सेवा उपलब्‍ध कराती है, ने कहा कि यह अधिग्रहण ग्रुप कंपनी राइजिंग सन होल्डिंग्‍स के जरिये किया जाएगा। बुधवार को हुई इस घोषणा के बाद गुरुवार को मैग्‍मा फ‍िनकॉर्प के शेयरों में शुरुआती कारोबार के दौरान 10 प्रतिशत का उछाल आया। बीएसई पर कंपनी का शेयर 9.94 प्रतिशत उछलकर 93.40 रुपये पर पहुंच गया, जो इसका 52 हफ्तों का उच्‍च स्‍तर है। एनएसई पर कंपनी का शेयर 9.99 प्रतिशत उछलकर 93.55 रुपये पर पहुंच गया। दोनों कंपनियों के बीच यह सौदा शेयरधारकों की मंजूरी और नियामकीय स्‍वीकृति पर निर्भर होगा। मैग्‍मा फ‍िनकॉर्प के 3456 करोड़ रुपये के तरजीह शेयर राइजिंग सन को हस्‍तांरित किए जाएंगे, जिसके परिणामस्‍वरूप राइजिंग सन की कंपनी में हिस्‍सेदारी 60 प्रतिशत होगी।सौदे के मुताबिक मैग्‍मा फ‍िनकॉर्प 45.80 करोड़ शेयर राइजिंग सन को और 3.57 करोड़ शेयर संजय चारमिया और मयंक पोद्दार को ट्रांसफर करेगी। इस सौदे के पूरा होने के बाद मौजूदा प्रवर्तक समूह की हिस्‍सेदारी घटकर 13.3 प्रतिशत रह जाएगी, जबकि राइजिंग सन की हिस्‍सेदारी 60 प्रतिशत होगी। इस सौदे के बाद मैग्‍मा फ‍िनकॉर्प की शुद्ध संपत्ति बढ़कर 6300 करोड़ रुपये से अधिक हो जाएगी। तरजीह शेयर मिलने के बाद राइजिंग सन होल्डिंग्‍स मैग्‍मा फ‍िनकॉर्प और इसकी सहयोगी इकाइयों की प्रवर्तक बन जाएगी और इसका नाम बदलकर पूनावाला फाइनेंस कर दिया जाएगा। इस सौदे के बाद अदार पूनावाला बोर्ड के चेयरमैन होंगे और पूनावाला फाइनेंस के मौजूदा एमडी और सीईओ अभय भूटाडा नई इकाई के मैनेजिंग डायरेक्‍टर होंगे। संजय चामरिया नई इकाई के वाइस-चेयरमैन रहेंगे। राइजिंग सन के डायरेक्‍टर अदार पूनावाला ने कहा कि देश में वित्‍तीय सेवा क्षेत्र में अपार संभावनाएं हैं और यह प्रस्‍तावित सौदा इस क्षेत्र में उन्‍हें आगे बढ़ने में काफी मदद करेगा। मैग्‍मा फ‍िनकॉर्प ने तीन दशक पहले एक एनबीएफसी के रूप में अपना काम शुरू किया था। यह कमर्शियल फाइनेंस, एग्री फाइनेंस, एसएमई फाइनेंस, मॉर्टगेज फाइनेंस और जनरल इंश्‍योरेंस के अलावा अफोर्डेबल हाउसिंग के लिए फाइनेंस उपलब्‍ध कराती है। मैग्‍मा 21 राज्‍यों में 298 ब्रांचों के साथ 50 लाख से अधिक ग्राहकों को अपनी सेवाएं उपलब्‍ध करवा रही है और इसके लोन बुक का आकार 15,000 करोड़ रुपये है।
2022-10-01 04:16
उद्धरण 3 इमारत
Indian Railways: कोरोना की दूसरी लहर के बीच 40 ट्रेनें रद्द, देखिए पूरी लिस्ट****** कोरोना की दूसरी लहर का रेल सेवाओं पर भी असर पड़ रहा है। देश के कई राज्यों में बढ़ते कोरोना मरीजों की संख्या के चलते हालात बेहद खराब हो गए हैं। ऐसे में रेलवे द्वारा संचालित की जा रही ट्रेनों की संख्या में भी कटौती की जा रही है। वहीं यात्रियों की संख्या कम होने के चलते अब ट्रेनों को रद्द करने का भी फैसला किया गया है।कोविड-19 की वर्तमान परिस्थितियों एवं कम यात्री भार के कारण 40 रेलसेवाऐं अग्रिम आदेशों तक रद्द कर दी गई हैं। ने बहुत कम यात्रियों के कारण 40 रेल सेवाएं अग्रिम आदेशों तक रद्द कर दी हैं। उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी लेफ्टिनेंट शशि किरण ने बताया कि रेलवे द्वारा कोरोना वायरस की वर्तमान परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए तथा कम यात्रियों के कारण 40 रेलसेवाओं को अग्रिम आदेशों तक रद्द किया जा रहा है। उनके अनुसार जिन ट्रेन को रद्द किया गया है उनमें जयपुर-दिल्ली सराय रोहिल्ला डबल डेकर मंगलवार से न तो दिल्‍ली जाएगी और न ही आएगी।अधिकारी के मुताबिक इसके अलावा बठिण्डा -लालगढ स्पेशल, लालगढ-अबोहर स्पेशल, अबोहर-जोधपुर स्पेशल, जैसलमेर-लालगढ स्पेशल, भिवानी-मथुरा स्पेशल व श्रीगंगानगर-रेवाडी स्पेशल ट्रेन शामिल हैं। ये सभी ट्रेन अगले आदेश तक रद्द रहेंगी।हालांकि, रविवार को देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के बीच रेल संचालन को लेकर रेलवे बोर्ड के चेयरमैन सुनीत शर्मा ने कहा कि कोरोना के फैलते संक्रमण के बावजूद ट्रेनों का परिचालन बंद नहीं किया जाएगा। साथ ही शर्मा ने और ट्रेनों के संचालन को लेकर भी जानकारी दी।
वापसी