नई पोस्ट करें

पाकिस्तान में जुमे के दिन शिया मस्जिद में मार डाले 57 नमाजी, सरगना को ढूंढ़ रही पुलिस

2022-10-01 05:13:37 848

पाकिस्तानमेंजुमेकेदिनशियामस्जिदमेंमारडाले57नमाजीसरगनाकोढूंढ़रहीपुलिसYe Public Hai Sab Jaanti Hai: छात्रों ने क्यों कहा- ‘नौकरी नहीं ‘लाठी’ देती है सरकार’ ?******Highlightsयूपी में विधानसभा चुनाव हो रहे हैं। नेता-जनता के बीच की दूरी काफी कम हो गई है। दावे और वादे जमकर हो रहे हैं। ऐसे में छात्रों के मन में क्या चल रहा है? क्या छात्रों को नेताओं की भाषा समझ में आ रही है? छात्रों को नेताओं के वादों पर कितना भरोसा है? जानने के लिए इंडिया टीवी (India TV)’ का खास शो (Show) ‘ये पब्लिक है सब जानती है’ ( ye Public Hai Sab Jaanti Hai) की टीम इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के छात्रों के बीच पहुंची। बातचीत के दौरान ज्यादातर छात्र सरकार से नाराज़ नज़र आए। छात्रों ने कहा कि ‘’जब देखो तब पेपर लीक हो जाते हैं। नौकरी मांगने पर छात्रों पर लाठियां बरसाई जाती हैं। सरकार जितनी नौकरियां देने का दावा कर रही है, वह सही नहीं है। छात्र मानसिक रूप से बीमार हो चुका है।’’ एक छात्र तो इतना परेशान दिखा कि उसने EVM में ‘नोटा’ बटन दबाने का अपना फैसला बता दिया। छात्र का कहना था कि ‘’जिनती भी राजनीतिक पार्टियां हैं, इनमें ऐसा कोई भी नेता नहीं है जो छात्रों की परेशानी को समझ सके।‘’दरअसल इलाहाबाद यूनिवर्सिटी को पूरब का ऑक्सफोर्ड कहा जाता है। इस विश्वविद्याल का इतिहास बहुत समृद्ध रहा है। यहां के पढ़े छात्र देश-दुनिया में नाम कमा रहे हैं। लेकिन कई सालों से इस विश्वविद्यालय की रैंकिंग लगातार गिरती जा रही है। नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क (NIRF) 2021 की रिपोर्ट के अनुसार यह संस्थान देश के शीर्ष 100 उच्च शैक्षिक संस्थानों में 88वें स्थान पर है।हर साल जब भी चुनाव होते हैं हर पार्टी युवाओं को आगे लाने का दावा करती है। यहां तक कि युवाओं का वोट पाने के लिए भी तमाम तरह के प्रलोभन छात्रों को दिए जाते हैं। लेकिन अकसर देखा जाता है कि छात्र अपनी तमाम मांगों को लेकर सड़क पर प्रदर्शन करते रहते हैं और सुनवाई कहीं नहीं होती है।

पाकिस्तानमेंजुमेकेदिनशियामस्जिदमेंमारडाले57नमाजीसरगनाकोढूंढ़रहीपुलिसSri Lanka Crisis: श्रीलंका में कब खत्म होगा आर्थिक संकट, प्रधानमंत्री विक्रमसिंघे ने दिया ये जवाब******Sri Lanka Crisis: गंभीर आर्थिक संकट का सामना कर रहे श्रीलंका के राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे ने ऐसी आशंका जताई है कि देश को अभी एक साल तक इस मु्श्किल दौर का सामना करना पड़ सकता है। विक्रमसिंघे ने शुक्रवार को एक सम्मेलन में कहा कि संकटग्रस्त अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए अलग हटकर सोचना होगा और लॉजिस्टिक्स एवं नाभिकीय ऊर्जा जैसे नए क्षेत्रों पर ध्यान देना होगा।‘‘श्रीलंका को दें नया रूप’’ विषय पर आयोजित सम्मेलन में कहा कि देश में किए जाने वाले जरूरी सुधारों के लिए ऊंचे कराधान की भी जरूरत होगी। उन्होंने कहा, ‘‘मेरा अनुमान है कि अगले छह महीने से एक साल तक यानी अगले साल जुलाई तक हमें अभी मुश्किल दौर का सामना करना पड़ेगा।देश को पटरी पर लाने के लिए श्रीलंका को लॉजिस्टिक्स और परमाणु ऊर्जा जैसे नए क्षेत्रों पर ध्यान देना होगा।’’ राजपक्षे शासन के खिलाफ व्यापक विरोध-प्रदर्शन और अशांति के बाद पिछले महीने राष्ट्रपति पद संभालने वाले विक्रमसिंघे ने कहा, ‘‘अगर आप भारत, बांग्लादेश और पाकिस्तान की अर्थव्यवस्थाओं को देखें तो यह पाएंगे कि कोलंबो, हम्बनटोटा और त्रिंकोमली में भी लॉजिस्टिक्स की बड़ी भूमिका हो सकती है। हमारी सामरिक स्थिति कुछ ऐसी ही है।’’उन्होंने कहा, ‘‘संपत्ति पर कराधान जैसे उपायों को हमें अपनाना होगा। आर्थिक पुनरुद्धार के अलावा सामाजिक सुरक्षा के लिए भी ऐसा करना होगा।’’ परमाणु ऊर्जा क्षेत्र में उतरने की जरूरत बताते हुए विक्रमसिंघे ने कहा, ‘‘आपके पास ज्यादा ऊर्जा होगी तो आप उसे भारत को बेच सकते हैं। हमें अलग हटकर सोचना होगा।’’पाकिस्तानमेंजुमेकेदिनशियामस्जिदमेंमारडाले57नमाजीसरगनाकोढूंढ़रहीपुलिसYeh Rishta Kya Kehlata Hai Written Update 21 Aug: वेदिका ने नायरा को मारा ताना, कहा- बीच में आ गई हो****** सीरियलमें आज के एपिसोड में दिखाया जाएगा कि कायरव को होश आ गया है। लेकिन वेदिका, कार्तिक और नायरा का लव ट्रायंगल शुरू हो चुका है। शो की शुरुआत में कार्तिक और नायरा डॉक्टर मेहता से हाथ जोड़कर गुजारिश करते हैं कि उन्हें कायरव से मिलने दे। लेकिन डॉक्टर मना कर देते हैं। डॉक्टर पल्लवी के कहने पर डॉक्टर मेहता दोनों को अंदर जाने देते हैं। दोनों आईसीयू में जाकर कायरव से मिलते हैं।उधर वंश हैरान है कि सारे घरवाले उदास क्यों हैं? तभी वेदिका आकर समझाती है कि सब थके हुए हैं इसलिए। इसके बाद वंश पूछता है कि कार्तिक ब्रो कहां हैं? वंश कहता है कि वो आएं तो उन्हें बोलियेगा कि हम सब डांस करेंगे। वंश चला जाता है। इसके बाद वेदिका पूछती है कि कायरव की कोई खबर आई? लेकिन दादी उदास होकर कहती हैं पता नहीं हमारी जिंदगी का सूरज कब निकलेगा?उधर कार्तिक और नायरा कायरव के पास आ जाते हैं। दोनों उसे देखकर रोने लगते हैं और उससे होश में आने को कहते हैं। मां और पिता दोनों जब साथ में कायरव का हाथ पकड़ते हैं तो उसे होश आ जाता है। उसे होश में आया देखकर कार्तिक और नायरा खूब खुश हैं। कार्तिक नायरा को अपनी बांहों में ले लेता है। कायरव अपने पापा कार्तिक से कहता है कि अब वो उससे दूर ना जाए। हमेशा उसके और उसकी मम्मा के साथ रहे। कार्तिक हामी भरता है।उधर आईसीयू के पीछे वेदिका कायरव, कार्तिक और नायरा को एकसाथ खुश देखती है तो उसे कहीं ना कहीं बुरा लगता है और वो वहां से चली जाती है। लेकिन नायरा उसे जाता देख लेती है, और उसे लगता है कि वो वेदिका और कार्तिक के बीच आ गई है।कार्तिक और नायरा आईसीयू से बाहर आते हैं और नायरा कार्तिक से कहती है कि वो घरवालों को बता दे कि कायरव ठीक है। इस पर कार्तिक उसे ताना मारते हुए कहता है कि तुम्हें कबसे मेरे घरवालों की चिंता होने लगी। ये सुनकर नायरा दुखी हो जाती है।कार्तिक घरवालों को फोन करके ये खुशखबरी देता है कि कायरव को होश आ गया है। दादी कार्तिक से कहती हैं कि अस्पताल के मंदिर में हाथ जोड़े। वो यहां भी दान पुण्यका काम करेंगी।घरवाले इस बात से परेशान हैं कि कार्तिक की पहली पत्नी ना सिर्फ शहर में बल्कि उसके बेटे के साथ उसकी जिंदगी में भी लौट आई है।वेदिका अस्पताल में अकेली उदास खड़ी रहती है। नायरा की नजर पड़ती है और वो उसके पास जाने वाली होती है तभी मनीष जी और अखिलेश वहां पहुंच जाते हैं और उससे कहते हैं कि वो आईसीयू में अंदर क्यों नहीं गई? वो कहती है कि उसे जाना अलाउड नहीं था।दादी उधर वंश को बताती हैं कि कायरव सच में कार्तिक का बेटा है। लेकिन वंश को कुछ समझ में नहीं आता कि कायरव कैसे कार्तिक का बेटा है? वो कहता है कि कार्तिक भैया नाटक कर रहे थे। वो पूछता है कि क्या कायरव को मॉल से खरीदा है या पॉट में उगाया गया है? दादी कहती हैं कि कहीं से खरीदा क्यों जाएगा, वो पैदा हुआ है तुम्हारी तरह।सुवर्णा दादी को आकर समझाती है कि उन्हें एक बार शांत दिमाग से सोचना चाहिए कि नायरा और कायरव... लेकिन दादी उसकी बात पूरी नहीं होने देती हैं और कहती हैं कि इस बारे में हम बात नहीं करना चाहते हैं।मनीष, अखिलेश और समर्थ को अस्पताल में देखकर कार्तिक हैरान रह जाता है। वो कहता है कि आप लोग यहां क्यों आ गए? लेकिन घरवाले कार्तिक से वापस घर जाकर आराम करने को कहते हैं। घरवालेये भी कहते हैं कि शादी के बाद की कुछ रस्में बची हैं तो कार्तिक तुम्हें और वेदिका को घर जाना चाहिए। लेकिन कार्तिक मना कर देता है वो कहता है इस वक्त कायरव से जरूरी कुछ नहीं है कोई रस्म अब नहीं होगी। ये सुनकर वेदिका एक बार फिर हर्ट हो जाती है।कल के एपिसोड में दिखाएंगे कि कार्तिक का डेबिट कार्ड अस्पताल में गिर जाता है वेदिका कहती है कि उसे दे दें, लेकिन अस्पताल का स्टॉफ कहता है कि ये कार्ड कार्तिक या उनकी वाइफ को मिलेगा और वो ये कार्ड नायरा को पकड़ा देते हैं। नायरा की नजर वेदिका पर पड़ती है और वो कार्ड वेदिका को देते हुए कहती है - सॉरी वो बीच में नहीं आना चाहती थी? लेकिन वेदिका दर्दभरा जवाब देती है और कहती है- फिर भी आ तो गई ना।

पाकिस्तान में जुमे के दिन शिया मस्जिद में मार डाले 57 नमाजी, सरगना को ढूंढ़ रही पुलिस

पाकिस्तानमेंजुमेकेदिनशियामस्जिदमेंमारडाले57नमाजीसरगनाकोढूंढ़रहीपुलिसएजाज खान की मुसीबतें नहीं हो रही हैं कम, 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया******: बॉलीवुड एक्टर को टिकटॉक पर विवादित वीडियो बनाने के सिलसिले में गिरफ्तार कर लिया गया था। एजाज की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। एजाज को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। एजाज खान (Ajaz Khan) पर धर्म के खिलाफ हिंसा को बढ़ावा देने का आरोप लगा है। साथ ही आपत्तिजनक वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर करने का मामला भी उनपर दर्ज है। इतना ही नहीं एजाज पर लोगों के बीच नफरत बढ़ाने के लिए भी शिकायत दर्ज कराई गई है।बॉलीवुड एक्टर एजाज खान (Ajaz Khan) को फिल्मों से ज्यादा 'बिग बॉस' से पहचान मिली थी। मुंबई पुलिस ने गुरुवार को एजाज को अरेस्ट की थी। प्रोड्यूसर अशोक पंडित ने ट्वीट करके इस बात की जानकारी दी थी, साथ ही उन्होंने एफआईआर की कॉपी भी पोस्ट की थी। उन्होंने पोस्ट के कैप्शन में लिखा था- एजाज खान को उसके विवादास्पद टिकटॉक वीडियो के लिए अरेस्ट करने पर आपका धन्यवाद। मैंने इसकी कंप्लेन 16 जुलाई को जुहू पुलिस स्टेशन पर कराई थी। वो समाज के लिए खतरा है।एजाज खान (Ajaz Khan) को टिकटॉक में बनाए एक कॉन्ट्रोवर्शियल वीडियो की वजह से पुलिस ने अरेस्ट किया था। वीडियो में एजाज उन लोगों का समर्थन किया था जो तबरेज खान की मौत पर बदला लेने की बात कह रहे थे। बता दें, तबरेज मॉब लिंचिंग में मारा गया था। एजाज ने खुद भी कहा कि वो तबरेज की मौत का बदला लेंगे। कॉन्ट्रोवर्शियल वीडियो टिकटॉक ने हटा लिया लेकिन यह वीडियो मुंबई पुलिस की साइबर ब्रांच तक पहुंच गया। जिसके बाद तुरंत मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। एएनआई ने मुंबई पुलिस का ऑफिशियल स्टेटमेंट शेयर किया, जिसमें लिखा था- एक्टर एजाज खान को गिरफ्तार कर लिया गया है, उसके खिलाफ धर्म के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देने वाली आपत्तिजनक सामग्री के साथ वीडियो बनाने / अपलोड करने और बड़े पैमाने पर जनता के बीच नफरत पैदा करने के लिए मामला दर्ज किया गया है।पाकिस्तानमेंजुमेकेदिनशियामस्जिदमेंमारडाले57नमाजीसरगनाकोढूंढ़रहीपुलिसWeather Update: दिल्ली में छाए बादल, IMD ने जताई शनिवार से बारिश होने की आशंका******Highlightsराष्ट्रीय राजधानी में गुरुवार को बादल छाए रहने के साथ ही तेज हवाएं चल सकती हैं, जबकि शनिवार से कुछ दिन तक शहर में हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है। इंडियन मेट्रोलॉजिकल डिपार्टमेंट (IMD) ने इसकी जानकारी दी। दिल्ली और उत्तर-पश्चिम देश के अन्य हिस्सों में पिछले कुछ दिन में कुछ खास बारिश नहीं हुई है।विभाग के अनुसार, सफदरजंग ऑब्जर्वेटरी में न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री अधिक 28 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अधिकतम तापमान के 35 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है। दिल्ली और उत्तर-पश्चिम भारत के अन्य हिस्सों में पिछले कुछ दिन में कुछ खास बारिश नहीं हुई है, क्योंकि ‘मानसून ट्रफ’ (कम दबाव वाला क्षेत्र) देश के मध्य हिस्से में व्याप्त है।‘स्काईमेट वेदर’ में मौसम विज्ञान एवं जलवायु परिवर्तन प्रभाग के उपाध्यक्ष महेश पलावत ने बताया कि ‘मानसून ट्रफ’ (कम दबाव वाला क्षेत्र) कुछ समय के लिए उत्तरी हिस्सों की ओर बढ़ेगा और शनिवार से दिल्ली और अन्य क्षेत्रों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। इस दौरान केवल मामूली राहत मिलने की उम्मीद है।इसके बाद, बंगाल की खाड़ी के उत्तर-पश्चिम में एक चक्रवाती परिसंचरण बनने के कारण इसके कमजोर पड़ने और कम दबाव वाले क्षेत्र में तब्दील होने की संभावना है। पलावत ने बताया कि कम दबाव वाले क्षेत्र के पूरे उत्तर प्रदेश में उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने की संभावना है। इससे दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और बिहार में बारिश को एक नया दौर शुरू हो सकता है।सफदरजंग वेधशाला के अनुसार, जुलाई में अतिरिक्त बारिश के बाद अगस्त में अब तक केवल 20.1 मिमी बारिश दर्ज की गई है, जबकि सामान्य तौर पर इस महीने में 76.6 मिमी बारिश होती है। दिल्ली में एक जून को मानसून की शुरुआत होने के बाद से 330.9 मिमी बारिश दर्ज की गई, जबकि आमतौर पर इस अवधि में 360.4 मिमी बारिश होती है। उत्तर-पूर्व दिल्ली और पश्चिमी दिल्ली के अलावा बाकी सभी जिलों में इस मानसून के मौसम में अब तक सामान्य बारिश दर्ज की गई है।पाकिस्तानमेंजुमेकेदिनशियामस्जिदमेंमारडाले57नमाजीसरगनाकोढूंढ़रहीपुलिसPBKS vs GT : पंजाब किंग्स से आज खेलेगा ये धाकड़ खिलाड़ी, सोशल मीडिया पर तूफान******Highlightsआईपीएल में आज मयंक अग्रवाल की कप्तानी में पंजाब किंग्स की टीम एक बार फिर मैदान में उतरने जा रही है। पंजाब किंग्स का मुकाबला गुजरात टाइटंस से होगा। दोनों टीमें काफी मजबूत नजर आ रही हैं। पीबीकेएस अभी तक तीन मैच खेल चुकी है और दो में जीत दर्ज की है। टीम अभी प्वाइंट्स टेबल में पांचवें पायदान पर है। वहीं गुजरात टाइटंस दो मैच खेली है और दोनों में जीत हासिल की है। जीटी की टीम आईपीएल 2022 की प्वाइंट्स टेबल में नंबर चार पर है।इस बीच मैच से पहले दोनों टीमों का मैनेजमेंट प्लेइंग इलेवन को लेकर माथापच्ची कर रहा है। अब आस्ट्रेलिया के भी खिलाड़ी आईपीएल खेलने के लिए आ गए हैं, इसलिए अब टीमें पूरी हो गई हैं, लेकिन दिक्कत अब प्लेइंग इलेवन को लेकर आ रही है। जो विदेशी खिलाड़ी पहले से खेल रहे थे और अच्छा प्रदर्शन भी कर रहे थे, उन्हें टीम से बाहर करना आसान नहीं है, लेकिन आस्ट्रेलिया के बड़े खिलाड़ी भी लगातार अच्छा खेल दिखा रहे हैं, ऐसे में उन्हें भी नही छोड़ा जा सकता।पिछले कई साल से सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेलने वाले जॉनी बेयरस्टो भी भारत आ गए हैं और अपनी टीम से जुड़ भी गए हैं। पूरी संभावना है कि वे आज का मैच खेलेंगे। इसी को लेकर अब से कुछ देर पहले पंजाब किंग्स ने अपने ट्विटर हैंडल से एक ट्विट किया और जॉनी बेयरस्टो की प्रैक्टिस करती हुई वीडियो डाली है। साथ ही लिखा है बेयरस्ट्रोक लोडिंग। यानी ईशारा हो गया हे कि वे आज खेलेंगे। माना जा रहा है कि उनकी जगह भानुका राजापक्षे टीम से बाहर हो सकते हैं। वे भी विकेट कीपिंग करते थे। यानी पंजाब की टीम आज के मैच में जॉनी बेयरस्टो, लियाम लिविंगस्टोन, ओडीन स्मिथ और कगिसो रबाडा के साथ मैदान में उतरती हुई नजर आ सकती है।

पाकिस्तान में जुमे के दिन शिया मस्जिद में मार डाले 57 नमाजी, सरगना को ढूंढ़ रही पुलिस

पाकिस्तानमेंजुमेकेदिनशियामस्जिदमेंमारडाले57नमाजीसरगनाकोढूंढ़रहीपुलिस'स्‍टेच्‍यू ऑफ यूनिटी' ने तोड़ा चीन का रिकॉर्ड, ये हैं दुनिया की 5 सबसे ऊंची मूर्तियां******लौह पुरुष सरदार वल्‍लभ भाई पटेल की 143वीं पुण्‍यतिथि के मौके पर 31 अक्‍टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुनिया की सबसे ऊंची 'स्‍टेच्‍यू ऑफ लिबर्टी' का अनावरण किया। मात्र 4 साल के भीतर निर्मित हुई इस प्रतिमा की कुल ऊंचाई 182 मीटर है। इसको बनाने की लागत 2989 करोड़ रुपए आई है। भारत की शान बनी स्‍टेच्‍यू ऑफ लि‍बर्टी दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति भी बन गई है। इससे पहले दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति चीन में थी। आइए जानते हैं दुनिया की 5 सबसे ऊंची मूर्तियों के बारे में ()यह मूर्ति चीन के हेनान प्रांत में लुसान नामक स्‍थान पर स्थित है। भगवान बुद्ध इस मूर्ति की स्‍थापना 2002 में हुई थी। इसकी कुल ऊंचाई 153 मीटर है। यह प्रतिमा 20 मीटर ऊंचे कमल पर मौजूद है।स्‍टेच्‍यू ऑफ यूनिटी के अस्‍तित्‍व में आने के बाद दुनिया की यह तीसरी सबसे ऊंची मूर्ति म्‍यामार के मोन्‍यावा में है। यह मूर्ति भी गौतम बुद्ध की है। इसकी ऊंचाई 130 मीटर है। यह मूर्ति 13.5 मीटर ऊंचे सिंघासन पर खड़ी है।दुनिया की चौथी सबसे ऊंची मूर्ति जापान में है। यह मूर्ति कांसे से तैयार की गई है। इसकी लंबाई 120 मीटर है।बौद्ध देवी की यह प्रतिमा चीन के हैनान प्रांत में है। इसकी ऊंचाई 108 मीटर है। इस मूर्ति को बनने में 6 साल का वक्‍त लगा।पाकिस्तानमेंजुमेकेदिनशियामस्जिदमेंमारडाले57नमाजीसरगनाकोढूंढ़रहीपुलिसRSS से जुड़े संगठन ने चलाई मुहिम, चीनी सामानों के बहिष्कार से जुड़े 13 लाख लोग******(आरएसएस) से जुड़े स्वदेशी जागरण मंच की अपील पर अब तक 13 लाख से अधिक लोग चाइनीज वस्तुओं के बहिष्कार की मुहिम से जुड़े हैं। हर दिन एक लाख लोग इस अभियान से जुड़ रहे हैं। स्वदेशी जागरण मंच की ओर से चलाए गए डिजिटल हस्ताक्षर अभियान के दौरान यह आंकड़ा सामने आया है।स्वदेशी जागरण मंच के सह संयोजक अश्विनी महाजन ने आईएएनएस को बताया, " हस्ताक्षर अभियान की शुरूआत में 20 से 25 हजार लोग जुड़ रहे थे, लेकिन चीन के खिलाफ इधर बीच देश में उठे गुस्से के बीच तेजी से लोग हस्ताक्षर अभियान में हिस्सा ले रहे हैं। अब हर दिन एक लाख लोग ऑनलाइन अभियान से जुड़े रहे हैं। 5 जुलाई तक चलने वाले इस अभियाान को लेकर लोगों में उत्साह को देखते हुए हस्ताक्षर अभियान अभी चलता रहेगा।"दरअसल, समृद्ध और स्वावलंबी भारत के निर्माण के लिए संघ से जुड़े स्वदेशी जागरण मंच ने स्वदेशी स्वावलंबन अभियान संचालित किया है। इस अभियान के तहत लोग चाइनीज सामानों को न खरीदने का संकल्प लेते हुए संबंधित लिंक पर ऑनलाइन अपना ब्योरा भरते हैं। यह लिंक स्वदेशी जागरण मंच ने तैयार किया है।स्वदेशी जागरण मंच ने लोगों को स्वावलंबी भारत के निर्माण के लिए कई सुझाव दिए हैं। इसमें लोगों से सिर्फ स्थानीय और स्वदेशी उत्पाद ही खरीदने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। लोगों को उद्यमी और स्वरोजगारी बनने की भी सलाह दी जा रही है। स्वदेशी जागरण मंच, गौ आधारित जैविक खेती पर पर भी जोर दे रहा है। संगठन का मानना है कि इससे किसानों की कमाई बढ़ेगी।

पाकिस्तान में जुमे के दिन शिया मस्जिद में मार डाले 57 नमाजी, सरगना को ढूंढ़ रही पुलिस

पाकिस्तानमेंजुमेकेदिनशियामस्जिदमेंमारडाले57नमाजीसरगनाकोढूंढ़रहीपुलिसतमिलनाडु में तीन रुपये सस्ता हुआ पेट्रोल, द्रमुक सरकार ने ऊंचे दाम के लिये केंद्र को दोषी ठहराया******आम आदमी को राहत देते हुए तमिलनाडु सरकार ने पेट्रोल के दाम घटाने का एलान किया है। राज्य सरकार ने पेट्रोल के दाम तीन रुपये घटाने की घोषणा करते हुए पेट्रोल, डीजल की ऊंची कीमतों के लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि लोगों को राहत देने का काम केंद्र सरकार का है। तमिलनाडु के वित्त मंत्री पलानीवेल त्यागराजन ने विधानसभा में संशोधित बजट पेश करते हुए कहा की सरकार ने पेट्रोल पर कर में तीन रुपये प्रति लीटर कटौती का फैसला किया है।उन्होंने कहा, ‘‘मैं सदन को बताते हुए बहुत खुश हूं कि सरकार ने पर कर की प्रभावी दर को तीन रुपये प्रति लीटर कम करने का फैसला किया है। इस कदम से राज्य में लोगों को राहत मिलेगी। इससे राज्य सरकार को हालांकि, सालाना 1,160 करोड़ रुपये के राजस्व का नुकसान होगा।’’उन्होंने कहा, ‘‘मई 2014 में पट्रोल पर कुल कर को 10.39 रुपये प्रति लीटर से बढ़ाकर केंद्र सरकार ने अब 32.90 रुपये प्रति लीटर कर दिया गया है। इसी तरह मई 2014 में डीजल पर लगने वाले कर को 3.57 रुपये से बढ़ाकर 31.80 रुपये प्रति लीटर कर दिया।’’उन्होंने कहा कि तमिलनाडु में 2.63 करोड़ दोपहिया वाहन है, जो गरीबों के लिए परिवहन का सबसे लोकप्रिय साधन बन गया है। उन्हें पेट्रोल की बढ़ती कीमत की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा हैं। वित्त मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री एम के स्टालिन मजदूर गरीब और मध्यम वर्ग के दर्द को महसूस करते हैं।द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (द्रमुक) ने दरअसल विधानसभा चुनावों के दौरान उनकी सरकार बनने पर पेट्रोल पर पांच रुपये और डीजल पर चार रुपये प्रति लीटर की कटौती करने का वादा किया था। हालांकि, विपक्षी एआईएडीएमके ने द्रमुक सरकार से अपने चुनावी वादे को पूरा करने की मांग की है।

पाकिस्तानमेंजुमेकेदिनशियामस्जिदमेंमारडाले57नमाजीसरगनाकोढूंढ़रहीपुलिसKashmir: नए आतंकियों का जीवन 90 दिन से ज्यादा नहीं- दिलबाग सिंह****** महानिदेशक(डीजीपी) दिलबाग सिंह ने कहा कि राज्य के मौजूदा सुरक्षा परिदृश्य में आतंकवाद से जुड़ने वाले नए आतंकियों का जीवन काल अब एक से 90 दिन तक रह गया है। जम्मू-कश्मीर में पांच अगस्त को अनुच्छेद 370 हटाने के एक वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में सिंह ने IANS के साथ बातचीत में कहा कि पहले आतंकवादी समूहों में शामिल होने के बाद नए रिक्रूट कई वर्षो तक आतंकवाद में संलिप्त रहते थे।डीजीपी के अनुसार, इस वर्ष अबतक आतंकवादी समूहों में कुल 80 लड़के शामिल हुए हैं और इनमें से 38 को आतंकवादी समूह में शामिल होने के पहले दिन से लेकर तीन महीने के अंदर मार डाला गया है। दिलबाग सिंह ने कहा कि इनमें से 22 को पकड़ लिया गया है, क्योंकि ये कुछ मामलों में संलिप्त थे और 20 आतंकवादी अभी भी सक्रिय हैं, जो सुरक्षा बलों की रडार पर हैं।दिलबाग सिंह के अनुसार, पुलिस ने लगभग आधा दर्जन एनकाउंटर में अभियान इसलिए रोक दिए, क्योंकि यह पता चला कि जहां आतंकी छिपे हुए हैं, उन परिसरों में अंदर बच्चे मौजूद हैं। उन्होंने कहा, "कुछ मामलों में हम आतंकियों के परिजनों को 20 किलोमीटर दूर से लेकर आए, ताकि वे उनकी अपील पर सरेंडर कर दें। पुलिस ने उनके खिलाफ कोई भी कार्रवाई नहीं करने का आश्वासन भी दिया, लेकिन उन्होंने सरेंडर नहीं किया क्योंकि उन्हें उनके सहयोगियों द्वारा धमकाया गया है, जो कुख्यात आतंकवादी हैं।"1987 बैच के अधिकारी ने कहा, "हम इन मामलों से इस बिनाह पर पहुंचे कि लड़के यह सोचते हैं कि उनके सहयोगी न केवल उन्हें मार देंगे, बल्कि उनके परिजनों को भी मार देंगे। यह संभवत: उनके वापस नहीं आने का एक कारण हो सकता है।" उन्होंने कहा, "इस वर्ष अबतक केवल घुसपैठ की 26 घटनाओं की पुष्टि हुई है। वहीं गत वर्ष जनवरी से जुलाई के बीच ऐसे मामलों की संख्या इससे दोगुनी थी। वहीं इस वर्ष संघर्षविराम उल्लंघन की घटनाएं बढ़कर 487 हो गईं।"उन्होंने कहा कि गत वर्ष संघर्षविराम उल्लंघन की 267 घटनाएं हुई थीं, जोकि इसवर्ष बढ़कर 487 हो गईं। पाकिस्तान की तरफ से संघर्षविराम उल्लंघन की घटनाओं में गत वर्ष के मुकाबले 75 फीसदी का उछाल आया है।पाकिस्तानमेंजुमेकेदिनशियामस्जिदमेंमारडाले57नमाजीसरगनाकोढूंढ़रहीपुलिसक्या सुनील जाखड़ की कांग्रेस से होगी छुट्टी? जानें, सियासी गलियारों में क्यों हो रही है ये चर्चा******Highlights पंजाब कांग्रेस के कद्दावर नेता सुनील जाखड़ की पार्टी से छुट्टी हो सकती है। पिछले हफ्ते हुई कांग्रेस की अनुशासनात्मक समिति की बैठक में सुनील जाखड़ और के. वी. थॉमस पर क्या कार्रवाई की जानी चाहिए, इसको लेकर चर्चा हुई थी। पार्टी ने दोनों ही नेताओं को एक हफ्ते का कारण बताओ नोटिस जारी किया था। इन दोनों नेताओं को एक हफ्ते के भीतर पार्टी की अनुशासनात्मक समिति के सामने अपनी बात रखने को कहा गया था।बता दें कि के. वी. थॉमस ने तो पार्टी के अनुशासनात्मक कमेटी को अपना जवाब भेजा लेकिन ने अनुशासनात्मक समिति द्वारा दिए गए शो कॉज नोटिस का कोई जवाब नहीं दिया। अनुशासनात्मक समिति की बैठक अब जल्द होगी, और सूत्रों की मानें तो पार्टी से उनके निलंबन की कार्यवाही भी अनुशासनात्मक कमेटी द्वारा की जा सकती है। सुनील जाखड़ और केवी थॉमस दोनों पर पार्टी विरोधी बयानबाजी का आरोप है।पंजाब चुनाव के दौरान सुनील जाखड़ ने आरोप लगाया था कि उन्हें हिंदू होने की वजह से पंजाब का मुख्यमंत्री नहीं बनाया गया जबकि ज्यादातर विधायक उनके समर्थन में थे, वहीं, दूसरी ओर केवी थॉमस कांग्रेस अध्यक्ष के निर्देश के बावजूद कन्नूर में मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल हुए थे।दोनों नेताओं के खिलाफ केंद्रीय नेतृत्व को राज्य की इकाई द्वारा चिट्ठी लिखी गई थी। जाखड़ और थॉमस, दोनों नेताओं को एक सप्ताह के भीतर जवाब देने का निर्देश दिया गया था। कांग्रेस की अनुशासनात्मक समिति की अगली बैठक जल्द होने वाली है, जिसमें दोनों नेताओं के भविष्य को लेकर फैसला किया जाएगा।

पाकिस्तानमेंजुमेकेदिनशियामस्जिदमेंमारडाले57नमाजीसरगनाकोढूंढ़रहीपुलिसIndependence day 2018: पीएम मोदी ने कहा, गगनयान से 2022 में अंतरिक्ष में जाएगा कोई भारतीय******प्रधानमंत्री ने आज कहा कि साल 2022 तक ‘‘गगनयान’’ के माध्यम से भारतीय अंतरिक्ष यात्री अंतरिक्ष में जायेंगे। देश के 72वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लाल किले की प्राचीर से राष्ट्र को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, ‘‘ आज मेरा सौभाग्य है कि इस पावन अवसर पर मुझे देश को एक और खुशखबरी देने का अवसर मिला है। साल 2022, यानि आजादी के 75वें वर्ष में और संभव हुआ तो उससे पहले ही, भारत ‘गगनयान’ के जरिये अंतरिक्ष में तिरंगा लेकर जा रहा है।’’उन्होंने कहा कि आजादी के 75 साल पूरे होने पर, वर्ष 2022 तक भारत का बेटा या बेटी अंतरिक्ष में जाएगी। मोदी ने कहा कि साल 2022 या उससे पहले ही, भारतीय वैज्ञानिकों ने मानवसहित गगनयान लेकर अंतरिक्ष में तिरंगे के साथ जाने का संकल्प लिया है। यदि संभव हुआ तो भारत इस उपलब्धि को हासिल करने वाला दुनिया का चौथा देश होगा।प्रधानमंत्री ने कहा कि इसरो की उपलब्धियों की सराहना करते हुए कहा कि देश के वैज्ञानिकों ने जब एकसाथ 100 से अधिक सैटलाइट अंतरिक्ष में पहुंचाया तो पूरी दुनिया देखती रह गई। अब देश का लक्ष्य मानव सहित यान अंतरिक्ष में भेजने का है। ध्यान रहे कि 12 अप्रैल 1961 को रूसी अंतरिक्ष वैज्ञानिक यूरी गागरीन दुनिया के पहले ऐसे व्यक्ति बन गए जिन्होंने अंतरिक्ष की यात्रा की।उल्लेखीय है कि चंद्रयान 1 भारत का पहला चंद्र अभियान था और इसरो ने इसे अक्तूबर 2008 में पेश किया था। मंगलयान भारत का मंगल अभियान था जो 2014 में शुरू हुआ था।पाकिस्तानमेंजुमेकेदिनशियामस्जिदमेंमारडाले57नमाजीसरगनाकोढूंढ़रहीपुलिसCovid-19: आर्थिक तंगी से परेशान उत्तराखंड सरकार करेगी खर्च में कटौती, अनुपयोगी पदों को खत्‍म करने का लिया निर्णय******Uttarakhand Government cost cut amid covid-19 कोविड 19 के कारण आर्थिक संसाधनों की कमी से जूझ रही उत्तराखंड सरकार ने खर्चों में कटौती करने का बड़ा फैसला किया है। मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह द्वारा इस संबंध में 2020-21 के लिए जारी निर्देशों में कहा गया है कि अतिरिक्त खर्चों के आलोक में प्रशासनिक व्यय में कमी लाए जाने के लिए गंभीर प्रयास अपेक्षित हैं। सिंह ने कहा कि पिछले एक दशक में कम्प्यूटरीकरण होने से विभागों के कार्यभार में कमी आई है, जिसके दृष्टिगत बदले परिवेश में अनुपयोगी पदों को चिन्हित कर उन्हें समाप्त किया जाए और इन पदों पर कार्यरत कर्मचारियों को अन्य पदों या अन्य विभागों में समायोजित कर दिया जाए।निर्देश में कहा गया है कि इसके अलावा, छोडकर अन्य विभागों में यथासंभव नए पद न स्वीकृत करें तथा अपरिहार्य परिस्थितियों में बाहय एजेंसियों से कार्य करा लिए जाए। इसमें रिक्त होने वाले चतुर्थ श्रेणी तथा अन्य तकनीकी पदों पर भी नियमित नियुक्तियां करने पर पाबंदी लगा दी गई है और उनके स्थान पर बाहय स्रोत से काम कराने को कहा गया है।इसी प्रकार, योजनाओं की समीक्षा कर अनुपयोगी योजनाओं को समाप्त करने को भी कहा गया है। सिंह ने कहा कि शासकीय कार्यों हेतु यात्राओं को न्यूनतम रखने और अपरिहार्य स्थितियों को छोड़कर अधिकारियों के लिए हवाई यात्रा की व्यवस्था इकोनॉमी श्रेणी में की जाए। निर्देशों में कहा गया है कि किसी भी अधिकारी को विदेशों में प्रशिक्षण या पाठ्यक्रम के लिए ऐसे दौरों की अनुमति नहीं दी जाएगी, जिसमें राज्य सरकार को व्यय करना पडे़।सरकारी विभागों, प्राधिकरणों और राज्य के अधीन सार्वजनिक उपक्रमों को नए अतिथि गृह खोलने पर प्रतिबंध लगाया गया है। नए वाहनों के क्रय तथा फर्नीचर बदलने पर भी रोक लगाई गई है। निर्देशों में कहा गया है सम्मेलनों, कार्यशालाओं का आयोजन निजी होटलों में नहीं होगा तथा राजकीय भोज भी पांच सितारा होटलों में नहीं होंगे। सूचना के आदान प्रदान के लिए ई—मेल तथा वीडियो कॉन्‍फ्रेंस जैसी सुविधाओं का उपयोग करने का भी निर्देश दिया गया है ताकि स्टेशनरी का कम इस्तेमाल हो और यात्रा व्यय से बचा जा सके। इसके अलावा, कैलेंडर, डायरी के मुद्रण को भी निषिद्ध कर दिया गया है।

पाकिस्तानमेंजुमेकेदिनशियामस्जिदमेंमारडाले57नमाजीसरगनाकोढूंढ़रहीपुलिसमुंबई बम ब्लास्ट के सरग़ना हाफ़िज़ सईद को झटका, 30 दिन बढ़ी नज़रबंदी******लाहौर हाईकोर्ट ने मुंबई बम ब्लास्ट के सरग़ना की नज़रबंदी की अवधि 30 दिन के लिए बढ़ा दी है. कोर्ट ने ये फैसला पंजाब सरकार की अपील पर किया है. हाफ़िज़ की 24 अक्टूबर को नज़रबंदी की अवधि खत्म हो रही है. जमात उद दावा प्रमुख और मुंबई हमले का मास्टरमाइंड सईद जनवरी से अपने घर में नजरबंद है.पंजाब सरकार ने दो दिन पहले आतंकवाद विरोधी कानून के तहत उसकी नज़रबंदी बढ़ाने का अपना आवेदन वापस ले लिया था.हाफिज सईद को कड़ी सुरक्षा के बीच तीन सदस्यीय प्रांतीय न्यायिक समीक्षा बोर्ड के सामने पेश किया गया. पंजाब न्यायिक समीक्षा बोर्ड के सदस्यों में न्यायमूर्ति यावर अली, न्यायमूर्ति अब्दुल सामी और न्यायमूर्ति आलिया नीलम शामिल हैं. बोर्ड सईद और उसके चार सहयोगियों- अब्दुल्ला उबैद, मलिक जफर इकबाल, अब्दुल रहमान आबिद और काजी काशिफ हुसैन की नज़रबंदी बढ़ाने के लिए पंजाब गृह विभाग के एक कानून अधिकारी की दलीलें सुन रहा था.24 अक्टूबर को नज़रबंदी की अवधि खत्म हो रही है. कानून के तहत सरकार किसी व्यक्ति को अलग-अलग आरोपों को लेकर तीन महीने तक हिरासत में रख सकती है. सरकार न्यायिक समीक्षा बोर्ड की मंज़ूरी के बाद ही हिरासत बढ़ा सकती है. लाहौर पुलिस ने लाहौर उच्च न्यायालय के आसपास कड़े सुरक्षा उपाय किए हैं, जहां सईद एवं अन्य बोर्ड के सामने पेश हुए.बोर्ड ने विधि अधिकारी को सुनने के बाद पंजाब के महाधिवक्ता एवं विदेश और गृह सचिवालयों को नोटिस जारी कर 19 अक्टूबर को अपने सामने पेश होकर ये बताने को कहा कि सरकार सईद की नजरबंदी क्यों बढ़ाना चाहती है.पाकिस्तानमेंजुमेकेदिनशियामस्जिदमेंमारडाले57नमाजीसरगनाकोढूंढ़रहीपुलिस213 रेल प्रोजेक्‍ट्स की लागत में हुआ 1.73 लाख करोड़ रुपए का इजाफा, देरी है इसके पीछे मुख्‍य वजह****** केंद्र सरकार की देरी से चल रही कुल 349 परियोजनाओं में से 213 रेल क्षेत्र से संबंधित हैं। इन विलंब वाली की लागत में 1.73 लाख करोड़ रुपए की वृद्धि हुई है। सांख्यिकी और कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय की अक्‍टूबर, 2017 की रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। रिपोर्ट के अनुसार, रेलवे की कुल 213 परियोजनाओं में विभिन्न कारणों से देर हुई हैं। इन परियोजनाओं की कुल मूल लागत 1,23,103.45 करोड़ रुपए थी, जो देरी की वजह से बढ़कर 2,96,496.70 करोड़ रुपए हो गई है। यह कुल लागत में 140.85 प्रतिशत की बढ़ोतरी है।मंत्रालय ने अक्‍टूबर 2017 में भारतीय रेल की 350 परियोजनाओं की निगरानी की है। इनमें से 36 परियोजनाओं में 12 महीने से लेकर 261 महीने का विलंब हुआ है। रेलवे के बाद बिजली क्षेत्र में विलंब वाली परियोजनाओं के कारण लागत बढ़ने के सर्वाधिक मामले रहे हैं।सांख्यिकी मंत्रालय द्वारा निगरानी की गई कुल 126 परियोजनाओं में 43 में विलंब के कारण लागत 58,728.23 करोड़ रुपए बढ़ी है।इन 43 परियोजनाओं की मूल लागत 1,04,449.62 करोड़ रुपए थी, जो बढ़कर 1,63,178.45 करोड़ रुपए पर पहुंच गई है। रिपोर्ट के अनुसार, इन 126 परियोजनाओं में से 64 में दो महीने से लेकर 136 महीने तक की देरी हुई है।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 05:12
उद्धरण 1 इमारत
बीजेपी सांसद साक्षी महाराज बोले- ये जब जिहाद करके वापस चले जाएंगे, पुलिस तब डंडा ठोकने आएगी******Highlightsयूपी के उन्नाव से बीजेपी सांसद साक्षी महाराज एक बार फिर सुर्खियों में हैं। उन्होंने फेसबुक पर एक समुदाय की भीड़ की तस्वीर के साथ पोस्ट किया है, जिस पर विवाद हो गया है। उन्होंने लिखा, 'आपके गली-मोहल्ले या आपके घर पर अचानक से ये भीड़ आ जाए तो इससे बचने का कुछ उपाय है आपके पास! अगर नहीं है तो कर लीजिए, पुलिस बचाने नहीं आएगी बल्कि खुद बचने के लिए किसी दड़बे में छिप जाएगी।'उन्होंने लिखा कि जब यह लोग करके वापस चले जाएंगे तब पुलिस डंडा ठोकने आ जाएगी और कुछ दिनों बाद मामला जांच कमेटी में जाकर खत्म हो जाएगा, ऐसे मेहमानों के लिये कोल्ड ड्रिंक की एक दो पेटी, कुछ ओरिजनल वाली तीर कमान हर घर में होनी चाहिए। जय श्री राम।साक्षी महाराज के इस फेसबुक पोस्ट को खबर लिखे जाने तक 6 हजार से ज्यादा लाइक मिल चुके थे और 900 से ज्यादा लोगों ने इस पर कमेंट किया था। इस पोस्ट को 675 लोगों ने शेयर भी किया था।गौरतलब है कि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है, जब साक्षी महाराज अपने बयान की वजह से सुर्खियों में आए हों। पहले भी उनके कई बयानों पर विवाद हो चुका है। जहांगीरपुरी हिंसा पर भी साक्षी के बयान पर विवाद हुआ था। उन्होंने पत्थरबाजी को पत्थर जिहाद का नाम दिया था।साक्षी महाराज सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं और वह अक्सर फेसबुक पर अपने अपडेट्स देते रहते हैं।
2022-10-01 04:09
उद्धरण 2 इमारत
बैंकों ने ब्याज दरों में 0.75% कटौती में से मात्र 0.29% लाभ ग्राहकों तक पहुंचाया- रिजर्व बैंक******Reserve Bank governor Shaktikanta Das के गवर्नर ने बुधवार को कहा कि पिछली तीन मौद्रिक समीक्षाओं के दौरान नीतिगत ब्याज दरों में कुल 0.75 प्रतिशत की कटौती की गयी लेकिन ने इस दौरान अब तक को कर्ज पर ब्याज में कुल 0.29 प्रतिशत की कमी का ही लाभ दिया है। उन्होंने बैंकों से सस्ते धन का और अधिक लाभ ग्राहकों तक पहुंचाने का आग्रह किया। केंद्रीय बैंक ने बुधवार को मौद्रिक समीक्षा में रेपो दर में 0.35 प्रतिशत की कटौती कर इसे 5.4 प्रतिशत पर ला दिया है। इसे मिलाकर वर्ष 2019 में नीतिगत ब्याज दर में कुल 1.10 प्रतिशत की कमी की गयी है। बता दें कि रेपो दर वह दर होती है जिस पर केंद्रीय बैंक वाणिज्यिक बैंकों को एक दिन के लिए नकदी उधार देता है इसके यह दर कम होने से बैंकों के धन की लागत कम होती है और वे भी ग्राहकों को कम दर पर उपलब्ध करा सकते हैं। आरबीआई गवर्नर दास ने कहा कि बैंकों ने उनके ऋण ग्राहकों को मात्र 0.29 प्रतिशत ब्याज दर कटौती का लाभ पहुंचाया है जबकि जून तक रिजर्व बैंक ने नीतिगत ब्याज दरों में 0.75 प्रतिशत की कटौती की थी।उन्होंने कहा कि बैंकों ने ऐसा रुख तब अपना रखा है जबकि वे जिस वित्तीय बाजार पर निर्भर करते हैं वह रिजर्व बैंक की नीतियों के हिसाब से चल रहा है। दास ने यहां संवाददाताओं से कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि नीतिगत निर्णय को आगे बढ़ाने के लिए आने वाले हफ्तों और महीनों में बैंक काम करेंगे। अगस्त की मौद्रिक समीक्षा नीति में ब्याज दरों में 0.35 प्रतिशत की कटौती का निर्णय 4:2 की सहमति से किया गया।
2022-10-01 04:00
उद्धरण 3 इमारत
यूपी में 1 सितंबर से खुलेंगे कक्षा 6 से 8 तक के स्कूल****** उत्तर प्रदेश में कक्षा छह से लेकर 8वीं तक के स्कूल एक सितंबर से शुरू हो जाएंगे। मुख्यमंत्री ने इस संबंध में निर्देश जारी कर दिए हैं। इसके अलावा कोचिंग संस्थाओं के संचालन की भी अनुमति दे दी गई है। बुधवार को एक उच्चस्तरीय बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्कूल-कॉलेजों में नए सत्र की शुरुआत की तैयारियों की समीक्षा की।माध्यमिक विद्यालयों के लिए शासन द्वारा जारी गाइडलाइन को बेहतर बताते हुए मुख्यमंत्री ने इसी तर्ज पर सभी शिक्षण संस्थानों के लिए दिशा-निर्देश जारी करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि जूनियर हाईस्कूलों में 06वीं से 08वीं तक की कक्षाओं में दाखिले की प्रक्रिया 16 अगस्त से शुरू कर दी जाए। स्थिति का आकलन करते हुए एक सितंबर से पढ़ाई भी शुरू की जा सकती है। इस दौरान कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जारी गाइडलाइन का पूरी तरह पालन करना होगा।मुख्यमंत्री के निर्देश पर प्राथमिक को छोड़ सभी शिक्षण संस्थान स्वतंत्रता दिवस के दिन 15 अगस्त से खुलेंगे। हालांकि पढ़ाई 16 अगस्त से शुरू होगी। माध्यमिक विद्यालय दो पालियों में सुबह 8 से 12 बजे और अपराह्न् 12:30 बजे से शाम 4:30 बजे तक खुलेंगे। आधे विद्यार्थियों को पहली पाली में, बाकी विद्यार्थियों को दूसरी पाली में बुलाया जाएगा। इसके साथ ही अब 6वीं से 8वीं तक की कक्षाओं में दाखिला शुरू करने की तैयारी है।उन्होंने कहा कि बच्चों और अभिभावकों की स्वास्थ्य सुरक्षा को शीर्ष प्राथमिकता देते हुए प्राथमिक से ऊपर के विद्यालयों में भौतिक रूप से पठन-पाठन होना चाहिए। राज्य स्तरीय स्वास्थ्य विशेषज्ञ सलाहकार समिति ने विगत दिनों स्कूलों के खोले जाने के संबंध में अपनी अनुशंसा दी है। विशेषज्ञों की सलाह के अनुसार, 16 अगस्त से 50 फीसदी क्षमता के साथ दो पालियों में विद्यालयों में पठन-पाठन हो।स्कूल खुलने के साथ ही सभी शिक्षण संस्थानों में 18 वर्ष से अधिक आयु के विद्यार्थियों का टीकाकरण भी किया जाएगा। मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार टीकाकरण शिविर स्कूल परिसर में ही आयोजित होंगे।
वापसी