नई पोस्ट करें

Mutual Funds स्कीम में निवेश से पहले रखे इन 4 बातों का ख्याल, मिलेगा बंपर रिटर्न

2022-10-01 06:01:25 758

स्कीममेंनिवेशसेपहलेरखेइन4बातोंकाख्यालमिलेगाबंपररिटर्नमोबाइल वॉलेट की मौजूदा बैलेंस लिमिट की गई दोगुनी, बिना KYC इसमें रख सकते हैं अब 20000 रुपए****** 500 और 1000 रुपए के पुराने नोट बंद होने के बाद लोगों को कैश की परेशानी हो रही है। ऐसी परिस्थितियों के बीच अचानक ही Paytm, Freecharge, Mobikwik, Chillr, Axis Pay, Pockets, M-Pesa जैसे मोबाइल या डिजिटल वॉलेट के इस्‍तेमाल में खासी बढ़ोतरी देखी गई है। अब RBIने इन वॉलेट के मौजूदा बैलेंस लिमिट को बढ़ा कर दोगुना कर दिया है।Step By Step Guide : नोटबंदी के दौर में लोकप्रिय हो रहे हैं मोबाइल वॉलेट, जानिए कैसे करते हैं इनका इस्‍तेमालनोटबंदी के चलते Paytm की हुई चांदी, 4 महीने पहले ही पूरा किया साल का टार्गेट

स्कीममेंनिवेशसेपहलेरखेइन4बातोंकाख्यालमिलेगाबंपररिटर्नOJEE 2019 Exam Date: ओडिशा जेईई दूसरे राउंड की परीक्षा 21 जुलाई को होगी आयोजित , यहां करें आवेदन******:ओडिशा संयुक्त प्रवेश परीक्षा बोर्ड, ओजेईईबी द्वारा जारी आधिकारिक रिपोर्टों के अनुसार 21 जुलाई 2019 को ओजेईई परीक्षा का दूसरा दौर आयोजित करेगा। ओजेईई 2019 सेकंड राउंड, जिसे विशेष रूप से विशेष ओजेईई के रूप में जाना जाता है, ओडिशा राज्य में निजी तकनीकी संस्थानों में एमबीए, बीटेक और एमसीए पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए खाली सीटों को भरने के लिए निर्धारित तिथि को आयोजित किया जाएगा। जो अभ्यर्थी ओजेईई 2019 के पहले दौर की परीक्षा में उपस्थित नहीं हो सके थे, वे अब विशेष ओजेईई 2019 परीक्षा के लिए पंजीकरण कर सकते हैं। ओजेईई 2019 के दूसरे दौर के पंजीकरण 30 जून से शुरू हो गए हैं. इच्छुक आवेदक 10 जुलाई 2019 तक पंजीकरण करवा सकते हैं।अभ्यर्थी 15 जुलाई से ओजेईई परीक्षा के दूसरे राउंड के लिए एडमिट कार्ड डाउनलोड कर सकेंगे. ओजेईई के चेयरमैन एस के चंद के अनुसार, एमबीए, बी, टेक और एमसीए में प्रवेश के लिए बीटेक या ओजेईई 2019 के लिए जेईई मेन 2019 की परीक्षा में पहले से ही उपस्थित होने वाले उम्मीदवारों को विशेष ओजेईई की आवश्यकता नहीं है। उन्होंने यह भी कहा, जो उम्मीदवार 21 जुलाई को होने वाली ओजेईई सेकंड राउंड परीक्षा के लिए पंजीकरण करते हैं, वे 25 जुलाई 2019 को विशेष ओजेईई परिणाम 2019 की जांच कर सकेंगे। कॉलेजों की पसंद भरने की प्रक्रिया 25 से 27 जुलाई 2019 के बीच शुरू होगी।प्रारंभिक रिपोर्टों के अनुसार, विशेष ओजेईई 2019 परीक्षा 21 जुलाई 2019 को एक बैठक में आयोजित की जाएगी। इसकी अवधि एक घंटे यानी सुबह 10 से 11 बजे तक होने की उम्मीद है। जो उम्मीदवार ओजेईई 2019 के दूसरे दौर की परीक्षा के लिए उपस्थित होंगे, वे 25 जुलाई 2019 को अपना परिणाम देख पाएंगे. विशेष ओजेईई 2019 परिणाम घोषित होने के बाद, सीट आवंटन परिणाम के पहले दौर का पालन होगा। रिपोर्टों के अनुसार, पहले दौर की सीट अलॉटमेंट का परिणाम 30 जुलाई को घोषित किया जाएगा। इसके बाद 1 और 2 अगस्त 2019 को नोडल केंद्रों में दस्तावेज सत्यापन की प्रक्रिया शुरू होगी।स्कीममेंनिवेशसेपहलेरखेइन4बातोंकाख्यालमिलेगाबंपररिटर्न26 जनवरी को लाल किले पर हिंसा: पुलिस ने दायर की चार्जशीट, दीप सिद्धू के अलावा कई बड़े किसान नेताओं के नाम******नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने ट्रैक्टर रैली के दौरान लाल किला पर हुई हिंसा को लेकर तीस हजारी अदालत में चार्जशीट दाखिल कर दी है। इस मामले में क्राइम ब्रांच ने दीप सिद्दू, इकबाल सिंह, मनिंदर मोनी और खेमप्रीत सहित 16 लोगों को आरोपी बनाया है। दिल्ली पुलिस ने चार्जशीट में आरोपियों के ऊपर देशद्रोह, दंगा करना, हत्या की कोशिश और डकैती जैसी गंभीर धाराएं लगाई है।दिल्ली पुलिस सूत्रों ने बताया कि चार्जशीट में दीप सिद्धू और लखा सिधाना लाल किले की हिंसा के मुख्य साजिशकर्ता है। इतना ही नहीं सूत्रों के अनुसार चार्जशीट में कई बड़े किसान नेताओं के नाम भी शामिल है। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने सोमवार (17 मई) को ही तीस हजारी अदालत में यह चार्जशीट दायर कर दी थी । पुलिस सूत्रों के मुताबिक चार्जशीट करीब 3000 पेज की है जिसमें से 250 पेज में ऑपरेशनल पार्ट है और इसी ऑपरेशनल पार्ट में यह लिखा है कि कैसे इस पूरी साजिश को रचा गया और फिर अंजाम दिया गया।पुलिस सूत्रों के मुताबिक इस मामले में लखा सिधाना सहित 6 अन्य आरोपी अभी भी फरार चल रहे हैं।दिल्ली पुलिस सूत्रों के मुताबिक किसान ट्रैक्टर रैली के दौरान दिल्ली और लाल किले में हुई इस हिंसा को लेकर कुल 48 मुकदमे दर्ज किए थे। पुलिस सूत्रों के मुताबिक ये सभी मुकदमे दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच , स्पेशल सेल और लोकल पुलिस ने दर्ज किए थे। जिनमें 150 लोगों की गिरफ्तारी हुई थी। इन्ही 43 मुकदमों में से यह एक मुकदमा है जिसमें दिल्ली पुलिस ने चार्जशीट दाखिल की है।26 जनवरी को किसान रैली के नाम पर हिंसक भीड़ लाल किले में घुस गई थी और वहां पर तोड़ फोड़ की थी तथा सुरक्षाबलों के साथ हाथापायी भई की गई थी। इतना ही नहीं, कई ऐसे वीडियो वायरल हुए थे जिनमें देखा जा रहा था कि हिंसक भीड़ पुलिस कर्मियों की लाठी, डंडों और पत्थरों से पिटाई करती हुई नजर आई थी।

Mutual Funds स्कीम में निवेश से पहले रखे इन 4 बातों का ख्याल, मिलेगा बंपर रिटर्न

स्कीममेंनिवेशसेपहलेरखेइन4बातोंकाख्यालमिलेगाबंपररिटर्नआर माधवन के बेटे वेदांत ने डेनिश ओपन स्विमिंग मीट में जीता गोल्ड और सिल्वर******Highlightsअभिनेता आर माधवन इस वक्त सातवें आसमान में हैं क्योंकि उनके बेटे वेदांत माधवन ने डेनिश ओपन 2022 में तैराकी में स्वर्ण पदक जीता है। वेदांत ने 800 मीटर तैराकी स्पर्धा में ये पदक जीता और 8: 17.28 का समय लिया। 3 इडियट्स अभिनेता ने एक क्लिप साझा की जिसमें वेदांत के नाम की घोषणा सम्मान समारोह के दौरान की जा रही है। क्लिप को अपने इंस्टाग्राम हैंडल पर साझा करते हुए उन्होंने लिखा, "गोल्ड...आप सभी के आशीर्वाद और भगवान की सबसे बड़ी जीत की राह जारी है। आज वेदांत माधवन को 800 मीटर में गोल्ड मिला है है। अभिभूत और विनम्र।" पोस्ट में उन्होंने वेदांत के कोच, स्विमिंग फेडरेशन और पूरी टीम का भी शुक्रिया अदा किया।आर माधवन द्वारा पोस्ट साझा किए जाने के तुरंत बाद, इंडस्ट्री के लोगों ने और फैंस ने कमेंट करके एक्टर को बधाई दी। शिल्पा शिरोडकर ने लिखा, "बिल्कुल अद्भुत मैडी हम सभी के लिए गर्व का क्षण है। बधाई हो मेरे प्यारे वेदांत माधवन आपको ढेर सारा प्यार और आशीर्वाद भेज रहे हैं मेरे प्यारे..."। वहीं उनके फैंस ने लिखा, ''बधाई हो।''शनिवार को आर माधवन के बेटे ने उसी तैराकी स्पर्धा में सिल्वर जीता, लेकिन एक अलग वर्ग में। उन्होंने 1500 मीटर फ्रीस्टाइल तैराकी स्पर्धा में सिल्वर जीता और 15:57:86 समय लिया। क्लिप को साझा करते हुए, अभिनेता ने लिखा, "वेदांत माधवन ने कोपेनहेगन में डेनिश ओपन में भारत के लिए सिल्वर जीता। हमें बहुत गर्व है।"आर माधवन के बेटे वेदांत ने कई अंतरराष्ट्रीय तैराकी प्रतियोगिताओं में भारत का प्रतिनिधित्व किया है। कांस्य से लेकर स्वर्ण तक, उन्होंने विभिन्न श्रेणियों में कई पुरस्कार जीते हैं।आर माधवन की बात करें तो वह अगली बार भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के पूर्व वैज्ञानिक नंबी नारायणन के जीवन पर आधारित रॉकेट्री: द नांबी इफेक्ट में दिखाई देंगे। यह फिल्म 1 जुलाई 2022 को सिनेमाघरों में दस्तक देने वाली है।स्कीममेंनिवेशसेपहलेरखेइन4बातोंकाख्यालमिलेगाबंपररिटर्नSupreme Court on Amrapali: आम्रपाली ग्रुप के बायर्स के लिए सुप्रीम कोर्ट की बड़ी टिप्पणी, "प्राथमिकता यही, हर एक खरीदार को मिले उसका घर"******Highlights सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को स्पष्ट किया कि उसकी प्राथमिकता सबसे पहले यह है कि आम्रपाली समूह की कंपनियों के परेशान घर खरीदारों को उनके घर मिलें। इसके बाद अंत में वह रियल एस्टेट समूह के कर्जदाताओं के दावों पर विचार करेगा, जिन्होंने 2019 से पहले फाइनेंशियल हेल्प दी थी। जस्टिस यूयू ललित और जस्टिस बेला एम त्रिवेदी की पीठ ने कहा कि कोर्ट सबसे पहले प्रयास करेगी कि आम्रपाली समूह के हर एक घर खरीदार को उसका घर मिले।पीठ ने कहा कि इसके बाद यह नोएडा और ग्रेटर नोएडा जैसे प्राधिकरणों के दावों पर विचार करेगी और फिर बिजली बोर्ड या पेयजल विभागों जैसे अन्य वैधानिक निकायों/ संस्थानों के दावों पर विचार किया जाएगा। पीठ ने उत्तर प्रदेश सरकार के बिजली विभाग के एक वकील से कहा, "आपको कतार में लगना होगा और इन सभी निकायों के दावों का निपटारा होने के बाद ही हम निश्चित रूप से आपके दावों पर गौर करेंगे।" बिजली विभाग के वकील ने कहा कि उनका आम्रपाली ग्रुप ऑफ कंपनीज पर 9 करोड़ रुपये का बकाया है और इसे निपटाने की जरूरत है।पीठ ने कहा कि बिजली विभाग का बकाया चुकाया जा चुका है क्योंकि कोर्ट रिसीवर वरिष्ठ अधिवक्ता आर वेंकटरमणि को 2019 के फैसले द्वारा नियुक्त किया गया था और बकाया, यदि कोई है, तो यह 2019 से पहले का होना चाहिए। कोर्ट ने एक निजी फर्म मून बिल्डटेक प्राइवेट लिमिटेड के दावे पर विचार करने से भी इनकार कर दिया, जिसने दावा किया था कि उसने ब्याज की सुनिश्चित दर के साथ आम्रपाली ग्रुप ऑफ कंपनीज में निवेश किया है। सुप्रीम कोर्ट ने निजी फर्म की ओर से पेश अधिवक्ता एमएल लाहोटी से कहा कि उनका दावा पीड़ित घर खरीदारों की श्रेणी में नहीं आता, बल्कि यह वापसी के लिए निवेश का मामला है।पीठ ने कहा, "आपको कतार में लगना होगा। जैसा कि हमने कहा है कि हमारी प्राथमिकता सबसे पहले यह है कि घर खरीदारों को उनके फ्लैट, उनके दावा मिले और उसके बाद नोएडा और ग्रेटर नोएडा जैसे प्राधिकरणों के दावों से निपटेंगे और फिर बिजली विभाग, जल विभाग जैसे वैधानिक निकायों/संस्थानों के दावे होंगे। इसके पूरा होने के बाद, हम निश्चित रूप से उन लोगों के मामले पर विचार करेंगे, जिन्होंने आम्रपाली ग्रुप ऑफ कंपनीज में अपना पैसा लगाया है।” पीठ ने कहा कि वह 25 जुलाई को बाकी मामलों की सुनवाई करेगी, जब कोर्ट रिसीवर भी मौजूद रहेंगे।स्कीममेंनिवेशसेपहलेरखेइन4बातोंकाख्यालमिलेगाबंपररिटर्नमोदी 2019 के आम चुनाव में PM पद के लिए मुसलमानों के पसंदीदा उम्मीदवार: शाहनवाज हुसैन******भाजपा के वरिष्ठ नेता ने रविवार को कहा कि अगले लोकसभा चुनाव के लिए मुसलमानों के पसंदीदा उम्मीदवार हैं क्योंकि प्रधानमंत्री ने उस डर को दूर कर दिया है, जिसे कई पार्टियों ने उनके नाम का इस्तेमाल कर इस समुदाय के लोगों के मन में बिठा दिया था। हुसैन ने कहा कि मोदी पर मुसलमानों में, खासतौर पर महिलाओं के बीच विश्वास बढ़ा है। उन्होंने कहा, ‘‘2019 के चुनाव के लिए प्रधानमंत्री पद के पसंदीदा उम्मीदवार नरेंद्र मोदी हैं क्योंकि वह देश के सभी 132 करोड़ लोगों को सिर्फ भारतीय के रूप में देखते हैं। जबकि अन्य पार्टियां उन्हें वोट बैंक के रूप में देखती हैं।’’गौरतलब है कि भारत की 130 करोड़ की आबादी में मुसलमान करीब 14 फीसदी हैं। यह समुदाय उत्तर प्रदेश, बिहार झारखंड, असम, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, केरल और जम्मू कश्मीर में लोकसभा सीटों में अच्छी खासी संख्या में सीटों पर चुनाव नतीजे में अहम भूमिका निभाता है।हुसैन ने देश के में गरीबी और उनके पिछड़ेपन के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि पार्टी ने समुदाय के साथ अन्याय किया है जबकि मोदी ने उन्हें न्याय प्रदान किया है। उन्होंने कहा कि 2014 में कुछ लोग नरेंद्र मोदी का नाम लेकर दूसरों को डराया करते थे। आज, मुस्लिम समुदाय में बड़ी संख्या में लोग यह महसूस कर रहे हैं कि वह (मोदी) दिन रात काम करने वाले व्यक्ति हैं। मोदी ने सभी 132 करोड़ भारतीयों के साथ समान व्यवहार किया है। हुसैन ने कहा कि अन्य पार्टियां मोदी और भाजपा की दहशत फैला कर मुसलमानों के वोट लिया करती हैं लेकिन प्रधानमंत्री ने उस डर को दूर कर दिया है।भाजपा नेता ने कहा कि अब वे लोग देख रहे हैं कि मोदी सत्ता में हैं लेकिन इससे उन्हें कोई समस्या नहीं है। उन्होंने कहा कि मोदी ने मुसलमानों के खिलाफ एक भी वाक्य नहीं कहा है। पिछले साल उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री के ‘श्मशान-कब्रिस्तान’ बयान की गलत व्याख्या की गई, जबकि उन्होंने दोनों का ध्यान रखने की हिमायत की थी। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हमारी पार्टी में कुछ लोग भले ही बयानबाजी (कुछ खास) कर रहे हों, लेकिन भाजपा प्रमुख अमित शाह और प्रधानमंत्री के दिए बयानों पर मुसलमानों को पूरा भरोसा है।हुसैन ने कहा कि इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज किया गया है क्योंकि अतीत में अन्याय किया गया था और अब न्याय बहाल हुआ है। उन्होंने कहा, ‘‘इसका पहले का नाम प्रयागराज बदल दिया गया था। उस गलती को ठीक करने के लिए क्या यह गलत (कदम) है ? ’’ हुसैन ने राम मंदिर मुद्दे पर कहा कि भाजपा के लिए यह आस्था का विषय है, ना कि कोई चुनावी मुद्दा । उन्होंने कहा कि 29 अक्टूबर से (उच्चतम न्यायलय में) रोजाना सुनवाई होगी। हमे उम्मीद है कि इस मुद्दे का शीघ्र हल हो जाएगा और यह देश के सभी लोगों को स्वीकार्य होगा।हुसैन ने कहा कि कुछ लोग राम मंदिर के निर्माण के लिए एक कानून बनाए जाने की भी मांग कर रहे हैं। हर किसी को मांग करने का अधिकार है, उसे कोई कैसे रोक सकता है? सरकार के पास फैसला करने का अधिकार है और इसने इस बारे में कोई फैसला नहीं किया है। उन्होंने पांच राज्यों में आगामी विधानसभा चुनावों के बारे में बात करते हुए भरोसा जताया कि भाजपा मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में जीत हासिल करेगी। उन्होंने कहा, ‘‘मिजोरम में हमारे समर्थन के बगैर सरकार नहीं बनेगी जबकि तेलंगाना में हम सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरेंगे।’’बिहार से पूर्व सांसद हुसैन ने कहा कि भाजपा, जदयू, लोजपा और रालोसपा उनके राज्य में साथ मिल कर चुनाव लड़ेगी। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार नीत जदयू के साथ गठबंधन से बिहार में राजग की संभावनाएं मजबूत हुई हैं और गठबंधन राज्य में ‘‘मिशन 40’’ यानी सभी लोकसभा सीटें जीतने पर ध्यान केंद्रित कर रहा। हुसैन ने यह भी दावा किया कि पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दाम भाजपा की चुनावी संभावनाओं पर असर नहीं डालेंगे क्योंकि लोग जानते हैं कि ईंधन की समस्या वैश्विक है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार 2019 में ज्यादा बड़े जनादेश के साथ सत्ता में आएगी।

Mutual Funds स्कीम में निवेश से पहले रखे इन 4 बातों का ख्याल, मिलेगा बंपर रिटर्न

स्कीममेंनिवेशसेपहलेरखेइन4बातोंकाख्यालमिलेगाबंपररिटर्नKaali Movie Poster Controversy: मां काली विवाद में मध्य प्रदेश सरकार ने लिया बड़ा एक्शन, TMC सांसद महुआ मोइत्रा के खिलाफ FIR दर्ज******Highlights मां काली विवाद में मध्यप्रदेश में शिवराज सरकार ने टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा (Mahua Moitra) के खिलाफ बड़ा एक्शन लिया है। मोइत्रा के खिलाफ भोपाल में एफआईआर दर्ज की गई है। बता दें कि महुआ मोइत्रा ने देवी काली को लेकर विवादित और आपत्तिजनक बयान दिया था। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस मामले में कहा है कि महुआ मोइत्रा (Mahua Moitra) के बयान से हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची है। हिंदू देवी देवताओं का अपमान किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।महुआ मोइत्रा के खिलाफ आईपीसी की धारा 295 A के अंतर्गत मुकदमा दर्ज किया गया है। ये धारा धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए है।महुआ मोइत्रा ने TMC को ट्विटर पर कर दिया था अनफॉलोटीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा (Mahua Moitra) ने अपनी पार्टी तृणमूल कांग्रेस को ट्विटर पर अनफॉलो कर दिया है। इसकी वजह मां काली पर दिए उनके एक विवादास्पद बयान के बाद पार्टी और उनके बीच हुई तनातनी बताई जा रही है। दरअसल महुआ मोइत्रा ने बीते दिनों मां काली पर टिप्पणी करते हुए कहा था कि वह उन्हें एक मांस खाने वाली और शराब पीने वाली देवी के रूप में देखती हैं। हालांकि उनके इस बयान को टीएमसी का समर्थन नहीं मिला, बल्कि ममता बनर्जी की पार्टी ने इस पर बकायदा एक बयान जारी करते हुए कहा है कि पार्टी उनके इस बयान का समर्थन नहीं करती है।इसके बाद महुआ मोइत्रा (Mahua Moitra) ने टीएमसी को ट्विटर पर अनफॉलो कर दिया। इसके कुछ देर बाद ही महुआ मोइत्रा ने ट्विटर पर लिखा, 'जय मां काली! बंगाली देवी की पूजा बिना किसी डर के और बिना किसी तुष्टीकरण के करते हैं।'कहां दिया था विवादित बयानदरअसल महुआ मोइत्रा ने मां काली पर विवादित बयान एक कार्यक्रम के दौरान दिया था। महुआ मोइत्रा ने एक सवाल का जवाब देते हुए कहा था कि यह आप पर निर्भर करता है कि आप भगवान को कैसे देखते हैं। महुआ ने कहा था, 'अगर आप भूटान और सिक्किम जाएं तो वहां पूजा में भगवान को व्हिस्की चढ़ाई जाती है। वहीं आप उत्तर प्रदेश में जाएं और वहां किसी को प्रसाद के रूप में व्हिस्की दें तो उसकी भावनाएं आहत हो सकती हैं।स्कीममेंनिवेशसेपहलेरखेइन4बातोंकाख्यालमिलेगाबंपररिटर्नमानहानि के मामले में घिरे राहुल गांधी और रणदीप सुरजेवाला, अदालत ने पेश होने के लिए कहा****** एक स्थानीय ने सोमवार को अहमदाबाद जिला सहकारी बैंक (एडीसीबी) और इसके चेयरमैन अजय पटेल द्वारा दायर आपराधिक मानहानि मामले में और को सम्मन जारी किया। राहुल गांधी और रणदीप सुरजेवाला से 27 मई को अदालत के सामने उपस्थित होने को कहा गया है। इस बैंक में निदेशक हैं।कांग्रेसी नेताओं ने कथित रूप से आरोप लगाया था कि बैंक नवंबर 2016 में नोटबंदी के पांच दिन के अंदर ‘‘750 करोड़ रुपये’’ के प्रचलन से बाहर हुए नोटों को बदलने के ‘‘घोटाले’’ में लिप्त है। इसके बाद शिकायतकर्ताओं ने पिछले साल अदालत में याचिका दायर की थी। अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट एस के गढवी ने दोनों नेताओं के खिलाफ पहली नजर में साक्ष्य मिलने के बाद सम्मन जारी किए और उनसे 27 मई को अदालत में उपस्थित रहने को कहा।अदालत ने दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 202 (मामले की जांच करके यह फैसला करना कि कार्यवाही चलाने के पर्याप्त आधार हैं या नहीं) के तहत मामले की जांच के बाद यह आदेश दिया। इस जांच के तहत, साक्ष्य पेश किए गए और गवाहों से पूछताछ हुई। शिकायतकर्ताओं एडीसीबी और इसके चेयरमैन पटेल ने कहा कि दोनों नेताओं ने बैंक के खिलाफ ‘‘झूठे और मानहानिपूर्ण आरोप’’ लगाए हैं।राहुल गांधी और रणदीप सुरजेवाला ने कथित रूप से आरोप लगाया था कि एडीसीबी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पांच सौ और एक हजार रुपये के नोटों को प्रचलन से बाहर करने की घोषणा के पांच दिन के भीतर इन नोटों के 745.59 करोड़ रुपये जमा हुए थे। नोटबंदी की घोषणा आठ नवंबर 2016 को की गई थी। राहुल गांधी और रणदीप सुरजेवाला ने मुंबई के एक कार्यकर्ता द्वारा दायर आरटीआई आवेदन पर नाबार्ड के जवाब के आधार पर आरोप लगाये थे।वकील एस वी राजू के जरिए दायर याचिकाओं में एडीसीबी और पटेल ने अदालत से कहा कि दोनों कांग्रेसी नेताओं के बयान झूठे हैं क्योंकि बैंक ने इतने बड़े पैमाने पर नोट नहीं बदले। उन्होंने कहा कि बैंक के पास (वैध नोटों से) बदलने के लिए प्रचलन से बाहर हुए नोट इतने बड़े पैमाने पर नहीं थे और उनका दावा मानहानिपूर्ण है। राहुल गांधी ने ट्वीट किया था, ‘‘अहमदाबाद जिला सहकारी बैंक के निदेशक अमित शाह जी को बधाई कि आपकी बैंक ने पुराने नोट बदलने में पहला पुरस्कार प्राप्त किया। पांच दिन में 750 करोड़ रुपये।’’उन्होंने ट्वीट किया था, ‘‘लाखों भारतीय जिनकी जिंदगी नोटबंदी से बर्बाद हो गई वे आपकी उपलब्धि को सलाम करते हैं।’’ रणदीप सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा था, ‘‘हम उम्मीद करते हैं कि प्रधानमंत्री खुद आगे आकर अमित शाह के खिलाफ आरोपों पर जवाब देंगे, जिन्हें (शाह) उन्होंने नियुक्त किया है।’

Mutual Funds स्कीम में निवेश से पहले रखे इन 4 बातों का ख्याल, मिलेगा बंपर रिटर्न

स्कीममेंनिवेशसेपहलेरखेइन4बातोंकाख्यालमिलेगाबंपररिटर्नहोली के दिन लखनऊ की कई मस्जिदों में बदला जुमे की नमाज पढ़ने का समय******Highlightsलखनऊ: इस्लामिक सेंटर ऑफ इंडिया ने शांति और व्यवस्था बनाए रखने के लिए होली के दिन मस्जिदों से जुमे की नमाज का समय बदलने के लिए बुधवार को आग्रह किया था । साथ ही ईदगाह इमाम मौलाना खालिद रशीद ने जुमे की नमाज के समय में बदलाव के अलावा स्थानीय मस्जिदों में नमाज पढ़ने का भी आग्रह किया था । चूंकि होली, शब-ए-बरात और शुक्रवार की नमाज एक ही दिन पड़ रहे हैं, इसलिए देश की गंगा-जमुनी संस्कृति को ध्यान में रखते हुए शांति और व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए यह प्रयास किया गया।इस्लामिक सेंटर ऑफ इंडिया के आग्रह के बाद जामा मस्जिद ईदगाह, मस्जिद ऐशबाग, अकबरी गेट पर एक मीनारा मस्जिद, मस्जिद शाहमीना शाह और मस्जिद चौक जैसी कुछ प्रमुख मस्जिदों सहित करीब 22 मस्जिदों ने जुमे की नमाज के समय को दोपहर 1.30 बजे के बाद बदल दिया है।होली के दिन ही शब-ए-बारात भी पड़ रहा है, इसलिए इस्लामिक सेंटर ऑफ इंडिया ने मुसलमानों से मस्जिदों और अपने प्रियजनों की कब्रों पर शाम 5 बजे के बाद जाने के लिए कहा है और इस मौके पर आतिशबाजी करने से मना किया है। चार साल पहले भी मौलवियों ने जुमे की नमाज का समय बदला था।

स्कीममेंनिवेशसेपहलेरखेइन4बातोंकाख्यालमिलेगाबंपररिटर्नप्याज ने मारी हाफ सेंचुरी, भाव 50 रुपए किलो तक पहुंचा, सितंबर से पहले राहत मिलने की उम्मीद कम****** थोक मार्केट में प्याज की कीमतों में आई जोरदार तेजी की वजह से रिटेल बाजार में भी अब इसके भाव आसमान पहुंचने लगे हैं। गुरुवार को पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में प्याज का रिटेल भाव 50 रुपए किलो दर्ज किया गया है। थोक बाजार की बात करें तो प्याज के कारोबार के लिए देशभर में सबसे बड़ी मंडी महाराष्ट्र के लासलगांव में गुरुवार को प्याज का औसत भाव बढ़कर 24.50 रुपए प्रति किलो दर्ज किया गया जो करीब 21 महीने में सबसे अधिक भाव है।मंडियों में सीमित सप्लाई की वजह से प्याज की कीमतों में बढ़ोतरी देखी जा रही है, कृषि विशेषज्ञों के मुताबिक खरीफ सीजन में पैदा होने वाले प्याज की आवक में सितंबर से पहले इजाफा नहीं होगा ऐसे में तबतक सप्लाई पर दबाव रह सकता है। ऐसा होने की स्थिति में प्याज की कीमतों में और बढ़ोतरी हो सकती है। इस साल खरीफ प्याज की पैदावार भी कम होने का अनुमान लगाया जा रहा है।हालांकि रिटेल मार्केट में सिर्फ कोलकाता में ही प्याज की कीमतें इस स्तर तक पहुंची हैं, देश की कई अन्य मंडियों में भाव इससे काफी नीचे है। गुरुवार को प्रमुख रिटेल मंडियों में प्याज का रिटेल भाव इस तरह से रहा।स्कीममेंनिवेशसेपहलेरखेइन4बातोंकाख्यालमिलेगाबंपररिटर्नमिथुन चक्रवर्ती अस्पताल में भर्ती? सामने आई तस्वीर******बॉलीवुड के डिस्को डांसर मिथुन किडनी को किडनी स्टोन की वजह से बेंगलुरु के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था, सर्जरी के बाद अब एक्टर को डिस्चार्ज कर दिया गया है। किडनी स्टोन की सफल सर्जरी के बाद अब उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। बीजेपी के पूर्व सांसद अनुपम हाज्रा ने मिथुन चक्रवर्ती की एक तस्वीर शेयर की है जिसमें एक्टर को हॉस्पिटल के बेड में लेटे हुए देखा जा सकता है। सांसद ने उनके जल्द ठीक होने के लिए विश किया है।मिथुन चक्रवर्ती के बेटे मिमोह चक्रवर्ती ने भी पुष्टि की है कि उनके पिता का किडनी स्टोन निकाला गया है और अब वो अस्पताल से डिस्चार्ज हो चुके हैं। उनकी तबीयत ठीक है।वर्क फ्रंट की बात करें तो मिथुन चक्रवर्ती को हाल ही में विवेक रंजन अग्निहोत्री की फिल्म 'द कश्मीर फाइल्स' में देखा गया था। अभिनेता जल्द ही एक बंगाली फिल्म में दिखाई देंगे। मिथुन चक्रवर्ती भारतीय जनता पार्टी के सदस्य भी हैं।

स्कीममेंनिवेशसेपहलेरखेइन4बातोंकाख्यालमिलेगाबंपररिटर्नबेंगलुरू और गोवा में आयकर विभाग ने बरामद किए 4 करोड़ रुपए, कार की स्‍टेपनी से निकली नोटों की गड्डियां******चुनावों में धन के इस्‍तेमाल को लेकर बेहद सतर्क है। इसी के चलते आयकर विभाग ने बेंगलुरु और गोवा में बड़ी कार्रवाई की है। विभाग ने दोनों जगहों पर छापेमारी में 4 करोड़ रुपए बरामद किए गए हैं। इस दौरान नोटों को छुपाने के अजीबोगरीब हथकंडे भी सामने आ रहे हैं। बेंगलुरु में विभाग को गाड़ी के स्‍पेयर टायर से अंदर से ढाई करोड़ रुपए के करेंसी नोट मिले हैं।लोकसभा चुनाव को देखते हुए पूरे देश में काले धन पर आयकर की छापेमारी जारी है। इसी क्रम में शनिवार को आयकर विभाग की टीम ने कर्नाटक और गोवा राज्यों से कुल 4 करोड़ से भी ज्यादा के कैश बरामद किए हैं। इसी दौरान एक व्यक्ति की गाड़ी में रखे स्पेयर टायर से लगभग 2.30 करोड़ के कैश बरामद किए गए।कर्नाटक के बेंगलुरु में एक गाड़ी में रखे पहिए से 2.30 करोड़ कैश बरामद किए गए। सभी नोट 2000 रुपए के थे। इन नोटों को गाड़ी के टायर के अंदर छुपा कर रखा था। जानकारी के मुताबिक इतनी बड़ी मात्रा में कैश बेंगलुरु से शिवमोगा ले जाया जा रहा था। आयकर विभाग की टीम ने छापे के दौरान 4 करोड़ से ज्यादा कैश की बरामदगी की है।स्कीममेंनिवेशसेपहलेरखेइन4बातोंकाख्यालमिलेगाबंपररिटर्नCorona News: पुणे में ओमिक्रोन के सबसे खतरनाक वेरिएंट के मिले 7 मरीज, 9 साल का बच्चा भी संक्रमित******Highlightsमहाराष्ट्र के लिए एक बार फिर कोविड के ओमिक्रोन के वेरिएंट बीए 4 और बीए 5 ने बड़ी चिंता खड़ी कर दी है। पुणे में 7 कोविड मरीजो में ओमिक्रोन के ये दोनों वेरिएंट मिलने से स्वस्थ एजेंसियां सतर्क हो गई हैं। खासबात ये है कि इन 7 मरीजो में एक 9 साल का छोटा बच्चा भी शामिल है, जबकि 4 मरीजों की विदेश ट्रेवल हिस्ट्री है। गंभीर बात ये है कि जिन मरीजों में ओमिक्रोन का ये वेरिएंट मिला है, उनमें बच्चे को छोड़कर सभी मरीजों ने कोविड वेक्सीन की दोनों डोज ले रखी थी, जबकि 1 मरीज ने बूस्टर डोज भी लिया था।पुणे के बीजे मेडिकल कॉलेज में व्होल जीनोमिक सिक्वेंसिंग टेस्ट में ये जानकारी सामने आई है कि 4 मरीजों को बीए 4 और 3 मरीजों को बीए 3 के वेरिएंट का संक्रमण हुआ है। इसे इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड एड्यूकेशन रिसर्च सेंटर ने कंडक्ट किया और इंडियन बायलोजिकल डेटा सेंटर-फरीदाबाद लैब ने कन्फर्म किया है। ये सभी मरीज पुणे के ही रहने वाले हैं और इनके सेम्पल 4 मई से 16 मई के बीच लिए गए थे। इनमें 4 पुरुष और 3 महिलाएं हैं। इसमें से 2 मरीज साउथ अफ्रीका और बेल्जियम गए थे जबकि बाकी 3 केरला और कर्नाटक गए थे।आज महाराष्ट्र भर में कोविड के नए 529 केस मिले जबकि 2772 कोविड के एक्टिव मामले राज्यभर में हैं। एक वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा कि ये हल्के वैरिएंट हैं और चिंता की कोई बात नहीं है। उन्होंने कहा कि सभी रोगियों में हल्के लक्षण हैं और घरों पर ही उनका इलाज चल रहा है। दक्षिण अफ्रीका समेत दुनिया के कुछ हिस्सों में अप्रैल में ओमीक्रोन के वेरिएंट के बारे में पता चला था, लेकिन महाराष्ट्र में अब तक इसका कोई मामला सामने नहीं आया था। पिछले सप्ताह तमिलनाडु और तेलंगाना में भी इसके मामले सामने आए थे।

स्कीममेंनिवेशसेपहलेरखेइन4बातोंकाख्यालमिलेगाबंपररिटर्नहवाई यात्री अलर्ट रहें, गणतंत्र दिवस के कारण प्रभावित होंगी करीब 1000 उड़ानें******गणतंत्र दिवस परेड की तैयारियों के मद्देनजर एक सप्ताह रोजाना दो घंटे दिल्ली का आसमान के लिए प्रतिबंधित होने के कारण करीब एक हजार उड़ानें रद्द की जाएंगी या उनका समय बदला जाएगा। हवाईअड्डा के एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इंदिरा गांधी हवाई अड्डा आने वाली और यहां से जाने वाली उड़ानें इससे प्रभावित होंगी। उन्होंने कहा कि करीब 500 घरेलू उड़ानें रद्द की जाएंगी तथा कई अंतरराष्ट्रीय उड़ानों की समयसारिणी में बदलाव किया जाएगा।सूत्रों के अनुसार, भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण ने इस संबंध में सूचना जारी किया है। सूचना के अनुसार, 18 से 26 जनवरी तक 10:35 बजे से 12:15 बजे तक दिल्ली हवाईअड्डे पर कोई भी विमान उतर नहीं सकेगा और न ही वहां से उड़ान भर सकेगा।अधिकारी ने कहा कि इससे रोजाना औसतन 100 उड़ानें प्रभावित होंगी। हम 40 अंरराष्ट्रीय उड़ानों को इस समय से पहले या इसके बाद में व्यवस्थित करेंगे। शेष 60 में से भी कुछ उड़ानों को समय देने की कोशिश की जाएगी। मतलब कि लगभग 50 उड़ानें रोजाना रद्द होंगी।स्कीममेंनिवेशसेपहलेरखेइन4बातोंकाख्यालमिलेगाबंपररिटर्नचौथी लहर की आशंका! एशिया में तेजी से फैल रही कोरोना महामारी, रोज आ रहे 15 लाख केस******औसतन हर चार महीने पर सार्स-कोव-2 वायरस का एक नया वेरिएंट सामने आने के मद्देनजर संयुक्त राष्ट्र (UN) महासचिव ने आगाह किया है कि कोविड-19 महामारी अभी खत्म नहीं हुई है, क्योंकि एशिया में बड़े पैमाने पर इसके मामले दर्ज किए जा रहे हैं। गुतारेस ने सरकारों और दवा कंपनियों से हर जगह, हर व्यक्ति तक टीके पहुंचाने के लिए मिलकर काम करने का आह्वान किया। यूएन महासचिव ने शुक्रवार को गावी कोवैक्स एडवांस मार्केट कमिटमेंट समिट-2022 में दिए एक वीडियो संदेश ‘वन वर्ल्ड प्रोटेक्टेड-ब्रेक कोविड नाउ’ में कहा, “यह बैठक इस बात की याद दिलाने के लिए अहम है कि कोविड-19 महामारी अभी खत्म नहीं हुई है। रोजाना औसतन 15 लाख नए मामले सामने आ रहे हैं। एशिया में बड़े पैमाने पर मरीज मिल रहे हैं। पूरे यूरोप में एक नई लहर फैल रही है।”गुतारेस ने कहा कि कुछ देशों में महामारी की शुरुआत के बाद से मृत्यु दर सबसे अधिक दर्ज की जा रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वेरिएंट ने सबको हैरत में डाल दिया था और यह इस बात की याद दिलाता है कि उच्च टीकाकरण दर के अभाव में वायरस कितनी जल्दी उत्परिवर्तित होकर फैल सकता है। यूएन महासचिव ने अफसोस जताया कि कुछ उच्च आय वाले देश अपने नागरिकों को दूसरी बूस्टर खुराक देने की तैयारी कर रहे हैं, जबकि एक-तिहाई वैश्विक आबादी का टीकाकरण शुरू भी नहीं हुआ है। उन्होंने कहा, “यह हमारी असमान दुनिया का एक क्रूर सत्य है। यह नए स्वरूपों के अस्तित्व में आने, अधिक मौतें… होने और मानव समाज के लिए आर्थिक दुश्वारियां बढ़ने की प्रमुख वजह भी बन रहा है।”गुतारेस ने कहा कि अगले वेरिएंट की दस्तक को लेकर ‘अगर’ नहीं, बल्कि ‘कब’ का सवाल उठना चाहिए। उन्होंने कहा, “हम इस साल के मध्य तक हर देश की 70 प्रतिशत आबादी के टीकाकरण के लक्ष्य से बहुत दूर हैं। औसतन हर चार महीने पर नए वेरिएंट का सामने आना इस बात की चेतावनी देता है कि समयसीमा का पालन कितना अहम है।” गुतारेस ने कहा कि सरकारों और दवा कंपनियों को एक साथ काम करने की जरूरत है, ताकि हर जगह हर व्यक्ति को टीके पहुंचाए जा सकें, न कि सिर्फ अमीर देशों में। (WHO) ने कहा था कि कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन स्वरूप का एक नया स्वरूप, जो पहली बार ब्रिटेन में पाया गया था, वायरस के पिछले स्वरूपों की तुलना में अधिक संक्रामक प्रतीत होता है। डब्ल्यूएचओ ने पिछले सप्ताह कहा था कि एक्सई स्वरूप (बीए.1-बीए.2) का पहली बार ब्रिटेन में 19 जनवरी को पता चला था और तब से इसके 600 से अधिक रूपों की पुष्टि की गई है। इस हफ्ते जारी डब्ल्यूएचओ की साप्ताहिक संक्रमण रिपोर्ट में उसके छह क्षेत्रों में 90 लाख से अधिक नए मामले सामने आने और 26,000 से अधिक मौतें होने की जानकारी दी गई है। सभी क्षेत्रों से नए साप्ताहिक मामलों और मौतों की संख्या में घटते रुझान के संकेत मिले हैं। वैश्विक स्तर पर तीन अप्रैल तक 48.9 करोड़ से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं और 60 लाख से अधिक मौतें हुई हैं।देशों की बात करें तो सबसे अधिक नए साप्ताहिक मामले दक्षिण कोरिया (2,058,375 नए मामले, 16 प्रतिशत की गिरावट), जर्मनी (1,371,270 नए मामले, 13 प्रतिशत की कमी), फ्रांस (959,084 नए मामले, 13 प्रतिशत की वृद्धि), वियतनाम (796,725 नए मामले, 29 प्रतिशत की गिरावट) और इटली (486,695 नए मामले, तीन प्रतिशत की गिरावट) में दर्ज किए गए। वहीं, मौतों की बात करें तो सबसे ज्यादा जानें अमेरिका (4,435 मौतें, 10 प्रतिशत की गिरावट), रूस (2,357 मौतें, 18 प्रतिशत की गिरावट), दक्षिण कोरिया (2,336 मौतें, 5 प्रतिशत गिरावट), जर्मनी (1,592 मौतें, 5 प्रतिशत की वृद्धि) और ब्राजील में (1,436 मौतें, 19 प्रतिशत की गिरावट) गईं।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 06:13
उद्धरण 1 इमारत
Mangal Gochar: मंगल करने जा रहे हैं मेष राशि में गोचर, इन 4 राशियों के जीवन में होंगे बड़े बदलाव******Highlightsमंगल को साहस, व्यवसाय और पराक्रम का कारक माना गया है। मंगल देव 27 जून को सुबह 5 बजकर 39 मिनट पर मीन राशि से निकलकर मेष राशि में गोचर करेंगे। मंगल का ये गोचर इन 4 राशियों के लिए जीवन में बदलाव लेकर आ रहा है। आइए ज्योतिषी चिराग बेजान दारूवाला से जानते हैं कि मंगल के मेष राशि में गोचर का इन 4 राशि पर क्या असर होगा।मेष राशि का स्वामी मंगल है इसलिए मंगल का यह गोचर उत्तम है। यह गोचर आपके जीवन में कई तरह के सकारात्मक बदलाव लेकर आ रहा है। आप ऊर्जा से भरे रहेंगे और अपने अटके हुआ अधूरे काम पुरे होंगे। करियर में लाभ होने की पूरी संभावना है। आपका स्वास्थ्य अच्छा रहेगा और आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। जमीन से जुड़े मामलों को पूरा करने का यह अच्छा समय है। वाहन चलाते समय सावधानी बरतने की जरूरत है> जीवनसाथी के साथ अच्छा संबंध बनाए रखने के लिए ज्यादा प्रयास करना चाहिए।कर्क के लोग जिम्मेदारियों को पूरा करने के लिये प्रतिबद्ध रहेंगे। आपकी कई इच्छाएं पूरी हो सकती हैं। इस राशि के जातक सेना, पुलिस आदि क्षेत्रों में कार्यरत हैं उन्हें पदोन्नति मिलने की संभावना है। जो शादीशुदा हैं उन्हें संतान की खुशखबरी मिल सकती है। आपका स्वास्थ्य अच्छा रहेगा लेकिन अत्यधिक भोजन करने से आपको बचना चाहिये। करियर में अच्छे परिणाम मिलने की संभावना है । आपके प्रेम संबंधों में भी सफलता मिलेगी।वृश्चिक राशि के जातको की मानसिक और शारीरिक क्षमता मजबूत होगी। आपके कार्यक्षेत्र में जो भी प्रॉजेक्ट दिया जाएगा आप उसे पूरी लगन के साथ पूरा करेंगे। अगर किसी केस के चक्कर में कोर्ट-कचहरी के चक्कर लगा रहे थे तो इस दौरान केस में विजय प्राप्त हो सकती है। करियर में सफलता मिलेगी, सेवा क्षेत्र के जातकों के लिए अच्छा समय हैं। विरोधी नुकसान नहीं पहुंचा पाएंगे। असेहत पर ध्यान देने की जरूरत है।मंगल के गोचर से आपके साहस और पराक्रम में वृद्धि होगी और अपने शत्रुओं पर विजय प्राप्त कर पाएंगे। अपने भाई-बहनों के सेहत पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। सरकारी क्षेत्र में काम करने वालों को इस गोचर के दौरान लाभ की प्राप्ति होगी। मंगल के प्रभाव से नेतृत्व करने की क्षमता अच्छी होगी। करियर में सफलता प्राप्त होगी। कार्यस्थल पर सम्मान और प्रसिद्धि मिलेगी। यात्राओं के भी योग हैं। दुश्मनों पर जीत हासिल करेंगे।
2022-10-01 06:02
उद्धरण 2 इमारत
ऑनलाइन गेम में 40 हजार रुपये गंवाने पर 13 साल के लड़के ने फांसी लगाकर दी जान****** मध्य प्रदेश के छतरपुर में ऑनलाइन गेम में कथित तौरपर 40 हजार रुपए गंवाने पर 13 वर्षीय लड़के ने फांसी लगाकर कर ली। पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) शशांक जैन ने बताया कि छठी कक्षा के एक छात्र ने शुक्रवार दोपहर को अपने घर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली और घटनास्थल से एक सुसाइड नोट मिला है। उन्होंने बताया, ‘‘सुसाइड नोट में छात्र ने लिखा है कि उसने मां के खाते से 40 हजार रुपये निकाले और इस पैसे को ‘‘ फ्री फायर’’ गेम में बर्बाद कर दिया। छात्र ने अपनी मां से माफी मांगते हुए लिखा है कि अवसाद के कारण वह आत्महत्या कर रहा है।’’पुलिस ने बताया कि लड़के ने जब यह कदम उठाया तब उसकी मां और पिता घर पर नहीं थे। छात्र की मां प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग में नर्स हैं और घटना के समय जिला अस्पताल में थीं। उन्होंने बताया कि रुपयों के लेनदेन को लेकर छात्र की मां के फोन पर संदेश आया, जिसके बाद मां ने अपने बेटे को इसके लिए डांट लगाई थी। इस पर लड़के ने कमरे में खुद को बंद कर लिया। कुछ देर बाद उसकी बड़ी बहन वहां पहुंची तो उसने कमरा अंदर से बंद पाया और इसकी सूचना अपने माता-पिता को दी। उन्होंने बताया कि कमरे के दरवाजे को तोड़ा गया तो लड़का पंखे से लटका मिला।इससे पहले, जनवरी माह में मध्य प्रदेश के सागर जिले के ढाना कस्बे में भी इसी प्रकार का ममला सामने आया था। एक पिता ने ‘‘फ्री फायर’’ गेम की लत के कारण अपने बेटे से मोबाइल फोन छीन लिया तो 12 वर्षीय छात्र ने कथित तौर पर फांसी लगा ली थी।
2022-10-01 03:59
उद्धरण 3 इमारत
क्या संकट में शार्क टैंक अशनीर ग्रोवर की भारतपे? सीईओ समीर ने किया ये खुलासा******BharatPeHighlightsनयी दिल्ली। विवादों में घिरी कंपनी भारतपे के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) सुहैल समीर ने कर्मचारियों को एक पत्र लिखकर कहा है कि कंपनी में संचालन संबंधी खामियों के ‘‘गंभीर आरोपों’’ को देखते हुए बाहरी विशेषज्ञों की निगरानी में ऑडिट जरूरी हो गया था। भारतपे के सह-संस्थापक अशनीर ग्रोवर की कंपनी के निदेशक मंडल के साथ जारी तनातनी के बीच समीर ने यह पत्र लिखा है।इस पत्र में उन्होंने कर्मचारियों से नेतृत्व में भरोसा बनाए रखने का अनुरोध करते हुए कहा कि लेखाकारों की अंतरिम रिपोर्ट अगले एक-दो हफ्ते में आ सकती है। उन्होंने संचालन प्रक्रिया संबंधी आरोपों के बारे में विस्तार से कुछ नहीं कहा। इस पत्र की एक प्रति पीटीआई-भाषा के पास भी है। इसमें समीर ने कहा है कि संचालन संबंधी समीक्षा जानी-मानी एवं प्रतिष्ठित ऑडिट कंपनियां (एसएएम, अल्वारेज ऐंड मार्शल तथा पीडब्ल्यूसी) कर रही हैं।समीर ने कहा, ‘‘कुछ आंतरिक शिकायतों के आधार पर हमने हमारी संचालन प्रक्रिया का पूरा ऑडिट करवाने का फैसला किया। समीक्षा के कुछ निष्कर्ष हमारी जैसी तेज वृद्धि करने वाली कंपनी के लिहाज से मानक हैं लेकिन कुछ गंभीर आरोप भी हैं जिनकी अभी पुष्टि की जा रही है।’’उन्होंने कहा कि ऐसा कुछ नहीं है जिसे सुधारा नहीं जा सकता और इनमें से किसी का भी कारोबार की सेहत पर कोई असर नहीं पड़ेगा। समीर ने बताया कि लेखाकार एक-दो हफ्ते में निदेशक मंडल के साथ अंतरिम रिपोर्ट साझा करेंगे। समीर ने पत्र में लिखा कि भारतपे के पास बैंक में बड़ी मात्रा में, करीब 50 करोड़ डॉलर की नकदी है। इसके अलावा मौजूदा निवेशक भी कंपनी का समर्थन जारी रखेंगे। उन्होंने कहा कि कंपनी को निकट भविष्य में पूंजी जुटाने की जरूरत नहीं है।गौरतलब है कि भारतपे के सह-संस्थापक ग्रोवर इस समय कथित धोखाधड़ी, अभद्र व्यवहार और कॉरपोरेट प्रशासन से जुड़े मामलों में जांच का सामना कर रहे हैं। वह इन दिनों लंबी छुट्टी पर चल रहे हैं।
वापसी