नई पोस्ट करें

मदर डेयरी, अमूल के बाद इस संस्था ने भी बढ़ाए दूध के दाम, नई कीमतें आज से लागू, जानिए नए रेट

2022-10-01 06:10:11 088

मदरडेयरीअमूलकेबादइससंस्थानेभीबढ़ाएदूधकेदामनईकीमतेंआजसेलागूजानिएनएरेटआर्थिक वृद्धि दर अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में 4.5 प्रतिशत रहने का अनुमान: एसबीआई******SBIनई दिल्ली। देश की आर्थिक वृद्धि दर चालू वित्त वर्ष की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही के दौरान 4.5 प्रतिशत पर स्थिर रहने का अनुमान है। भारतीय स्टेट बैंक के अर्थशास्त्रियों ने आधिकारिक आंकड़े आने से दो दिन पहले बुधवार को यह अनुमान जताया। उनका यह भी कहना है कि देश के समक्ष आर्थिक रूप से कोरोना वायरस से प्रभावित होने का जोखिम है। इसका कारण विभिन्न वस्तुओं के लिये चीनी आयात पर उच्च निर्भरता है।केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय ने 2019-20 में सकल घरेलू उत्पाद यानि जीडीपी वृद्धि दर 5 प्रतिशत रहने का अनुमान जताया है जो 11 साल का न्यूनतम स्तर है। इसका मुख्य कारण घरेलू खपत में गिरावट और वैश्विक बाजारों में नरमी है जिसका असर देश के निर्यात पर पड़ा है। आर्थिक वृद्धि में नरमी को देखते हुए सरकार ने कई कदम उठाये हैं। इसमें 2019 में रिजर्व बैंक द्वारा प्रमुख दर में कुल 1.35 प्रतिशत की कटौती और कंपनी कर में उल्लेखनीय कमी शामिल हैं। एसबीआई के अर्थशास्त्रियों ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिये आर्थिक वृद्धि के अनुमान को संशोधित कर 4.7 प्रतिशत कर दिया जबकि पूर्व में इसके 4.6 प्रतिशत रहने का अनुमान जताया गया था।सरकार ने 2018-19 के लिये आर्थिक वृद्धि के आंकड़े को संशोधित कर कम किया है। उनका कहना है कि सरकार द्वारा 2018-19 के लिये वृद्धि आंकड़े को कम किया जाना बताता है कि नरमी की स्थिति अप्रैल 2018 में ही बन गयी थी। तीसरी तिमाही के अनुमान पर अर्थशास्त्रियों ने कहा कि उसके समग्र प्रमुख संकेतक बताते हैं कि वृद्धि दर पिछली तिमाही में 4.5 प्रतिशत के समान स्थिर रहेगी। इसमें 33 विभिन्न संकेतकों से प्राप्त जानकारी का विश्लेषण किया गया है। कोरोना वायरस के मामले में उन्होंने कहा कि औषधि समेत अन्य क्षेत्रों में आपूर्ति श्रृंखला से आर्थिक प्रभाव पड़ने की आशंका है।

मदरडेयरीअमूलकेबादइससंस्थानेभीबढ़ाएदूधकेदामनईकीमतेंआजसेलागूजानिएनएरेटBus Accident in Gujarat: सापुतारा के पास 50 से ज्यादा यात्रियों को ले जा रही एक बस खाई गिरी, टायर फटने से हुआ हादसा, कई घायल: गुजरात के गृहमंत्री हर्ष संघवी******Highlights सापुतारा के पास 50 से अधिक यात्रियों को ले जा रही एक बस खाई में गिर गई। हादसे में दो यात्रियों की मौत हो गई है, जबकि कई घायल हुए हैं. पुलिस मौके पर पहुंची, रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया. हादसे में जान गंवाने वाली दोनों महिला हैं। सभी यात्री सूरत और आसपास इलाकों के बताए जा रहे हैं। ये लोग सूरत से एक निजी बस से डांग जिले की यात्रा पर आए थे।गुजरात के गृहमंत्री हर्ष संघवी ने इस संबंध में एक ट्वीट कर जानकारी दी है। "डांग जिले के सापुतारा के पास 50 से अधिक यात्रियों को ले जा रही एक बस खाई में गिर गई। पुलिस मौके पर पहुंच कर रेस्क्यू ऑपरेशन चला रही है। टायर फटने से हुए हादसे में कई लोग घायल हैं।" बताया जा रहा है कि हादसे में करीब 50 यात्रियों को सकुशल बाहर निकाल लिया गया है। वहीं कई यात्रियों को चोटें आई हैं। इनमें से तीन की हालत गंभीर बनी हुई है। सभी घायलों को इलाज के लिए सैम गहन अस्पताल में भर्ती कराया गया है।मदरडेयरीअमूलकेबादइससंस्थानेभीबढ़ाएदूधकेदामनईकीमतेंआजसेलागूजानिएनएरेटIndia Action Against Pakistan: पाकिस्तानी दूतावासों के ट्विटर अकाउंट ब्लॉक, जानें क्या है वजह******HighlightsIndia Action Against Pakistan:भारत में ट्विटर ने संयुक्त राष्ट्र, तुर्की, ईरान और मिस्र में पाकिस्तान दुतावासों के आधिकारिक खातों पर (Pakistani embassies Twitter accounts blocked) बैन लगा दिया है। इससे पहले ट्विटर ने पाकिस्तान में राष्ट्रीय सार्वजनिक प्रसारक रेडियो पाकिस्तान के अकाउंट पर भी बैन लगा दिया था। ट्विटर इंडिया के इस कदम के बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने इनकी बहाली के लिए गुहार लगाई है। यह खबर ऐसे समय में आई है जब केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्रालय ने इससे पहले 16 यूट्यूब चैनल बंद कर दिए थे। इनमें से पाकिस्तान के 6 चैनल थे जो भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा, विदेश संबंधों और सार्वजनिक व्यवस्था से संबंधित दुष्प्रचार फैलाने का काम कर रहे थे ।भारत के खिलाफ हो रहा था दुष्प्रचारबंद किए गए सोशल मीडिया खातों में पाकिस्तान के छह और भारत के 10 यूट्यूब चैनल शामिल हैं। जिनको 68 करोड़ से अधिक देखने वाले लोग हैं। सरकार के मुताबिक किसी भी डिजिटल समाचार प्रकाशक ने आईटी नियम, 2021 के नियम 18 के तहत मंत्रालय को आवश्यक जानकारी नहीं दी। इन चैनल्स पर दहशत फैलाने, सांप्रदायिक विद्वेष भड़काने और सार्वजनिक व्यवस्था को बिगाड़ने के लिए झूठी जानकारी फैलाने का आरोप है । यही नहीं पाकिस्तान में सरकारी अकाउंट के अलावा, डिजिटल फोरेंसिक, रिसर्च एड एनालिटिक्स सेंटर (DFRAC) की एक रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ कि पाकिस्तानियों द्वारा बनाए गए कई नकली अकाउंट स्क्रीन के पीछे छिपे हुए हैं और भारत के प्रतिष्ठित संस्थानों को निशाना बनाने के एजेंडे के साथ हैशटैग चला रहे हैं।पाकिस्तान के ट्विटर हैंडल पर पहले भी लगा बैनयह पहला मौका नहीं है, जब पाकिस्तान के किसी आधिकारिक ट्विटर हैंडल के खिलाफ कार्रवाई हुई है। इससे पहले भी ट्विटर ने पाकिस्तान के राष्ट्रीय सार्वजनिक प्रसारक रेडियो पाकिस्तान के आधिकारिक हैंडल को भारत में बंद कर दिया था। पाकिस्तानी दूतावासों के ट्विटर अकाउंट भारत के खिलाफ नफरत भड़का रहे थे। भारत के खिलाफ झूठे और प्रोपेगेंडा ट्वीट किए गए थे। भारत ने अपने खिलाफ नफरत फैलाने वाले कई अन्य ट्विटर अकाउंट्स के खिलाफ भी ट्विटर से कार्रवाई का अनुरोध किया है, कई अकाउंट्स को ट्विटर ने भारत में बैन भी किया है।

मदर डेयरी, अमूल के बाद इस संस्था ने भी बढ़ाए दूध के दाम, नई कीमतें आज से लागू, जानिए नए रेट

मदरडेयरीअमूलकेबादइससंस्थानेभीबढ़ाएदूधकेदामनईकीमतेंआजसेलागूजानिएनएरेटये 5 आदतें आपके बालों के कमजोर और टूटने की हैं वजह******हर कोई चाहता है कि उसके बाल मजबूत, सुंदर और घने हों। लेकिन रोजाना की कुछ ऐसी आदतें होती हैं जिनकी वजह से बाल कमजोर होकर टूटने लगते हैं। ये ऐसी आदतें हैं जिन्हें आप समझते हैं कि आपके बालों के लिए ठीक हैं लेकिन धीरे-धीरे यही आदतें आपके बालों को नुकसान पहुंचाती हैं। जिसकी वजह से आपकेबाल कमजोर होते हैं और टूटने लगते हैं। जानिए ये 5 आदतें कौन सी हैं और किस तरह से आपके बाल टूटने का कारण है।नहाने के बाद ज्यादातर लोग बालों में तौलिए को लपेट लेते हैं। अगर आप भी ऐसा करते हैं तो इस बात को जान लें कि ऐसा करने से आपके बाल टूट सकते हैं। इसके साथ ही बालों को सुखाने के लिए हेयर ड्रायर का इस्तेमाल ना करें। इससे भी आपके बाल कमजोर होते हैं और जल्दी टूटने लगते हैं। अगर आप बालों को ड्रायर से सुखा भी रहे हैं तो उसकी बालों से दूरी ज्यादा होनी चाहिए।बालों को बांधने के लिए कई लोग प्लास्टिक के बैंड का इस्तेमाल करते हैं। अगर आप ऐसा करते हैं तो इस आदत को बदल लें। ऐसा इसलिए क्योंकि इलास्टिक बैंड के मुड़ने से आपके बालों पर दबाव पड़ता है। इससे आपके बाल टूट सकते हैं। अगर आपको अपने बालों को बांधना है तो कपड़े वाले हेयर बैंड का इस्तेमाल करें।बहुत सारे लोग कंडीशनर का इस्तेमाल बालों पर गलत तरह से करते हैं। इसकी वजह से भी बाल कमजोर होते हैं और जल्दी टूटने लगते हैं। ज्यादातर लोग बालों पर कंडीशनर लगाते हैं तो इसे बालों की जड़ों से लगाना शुरू करते हैं। ऐसा करने से बाल कमजोर होकर टूटने लगते हैं। इसलिए बालों पर कंडीशनर उसकी लेंथ पर ही लगाएं।कई लोग समय ना होने पर बालों को नहीं धोते हैं। ज्यादा समय तक गंदे बाल रहने से भी कमजोर हो जाते हैं जिसकी वजह से भी बाल टूटने लगते हैं। इसलिए बाल गंदे होने पर उसे धो लें।कई लोगों की आदत होती है कि वो चश्मा आंखों से हटाकर बालों की तरफ ऊपर की ओर कर लेते हैं। कभी कभी की तो ये आदत ठीक है लेकिन ऐसा लगातार करने से बाल पतले हो सकते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि चश्मे की जकड़न सिर में खून के प्रवाह को कम करती है जिससे बालों का विकास धीमा हो सकता है। इसलिए इस आदत को बदल लें।मदरडेयरीअमूलकेबादइससंस्थानेभीबढ़ाएदूधकेदामनईकीमतेंआजसेलागूजानिएनएरेटQueen Elizabeth: कितनी दौलत छोड़ गईं क्वीन एलिजाबेथ, जानिए कैसे होती थी महारानी की कमाई?******Highlightsब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का 96 वर्ष की आयु में निधन हो गया। उनके निधन से पूरी दुनिया में शोक की लहर है। वे दुनिया की सबसे शक्तिशाली महिलाओं में शमिल थीं। वे अकेली ऐसी महिला थीं विश्व की, जिन्हें विदेश यात्राके लिए पासपोर्ट या वीजा की आवश्यकता नहीं पड़ती थी। लेकिन ये जानना बड़ा दिलचस्प है कि 96 साल की महारानी के पास कितनी दौलत थी। साथ ही यह भी कि उनकी आय का स्रोत क्या था। इसे लेकर कई रिपोटर््स अलग अलग दावे करती हैं। हालांकि शाही परिवार के सदस्यों को करदाताओं की ओर से मोटी राशि प्राप्त होती है। लेकिन फिर भी शाही परिवार की आय के सोर्स अज्ञात हैं। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की आय के तीन स्रोत थे। इनमें सोवेरिन ग्रांट, प्रिवी पर्स और उनकी निजी संपत्ति से होने वाली आय शामिल है।ब्रिटेन की महारानी की दौलत के बारे में अक्सर अनुमान लगाया जाता है, लेकिन खुद महारानी की ओर से इस बारे में कुछ सार्वजनिक नहीं किया गया। हालांकि उनकी आय के आधार पर कुछ विशेषज्ञों ने अनुमान जरूर लगाया है। एक वेबसाइट की रिपोर्ट के अनुसार, साल 2022 में महारानी एलिजाबेथ सेकंड की अनुमानित कुल दौलत 365 मिलियन पाउंड यानी 33.36 अरब रुपए से अधिक थी।2022 में 33 अरब रुपए से अधिक थी महारानी की कुल अनुमानित संपत्तिब्रिटेन की महारानी की संपत्ति के बारे में अक्सर अनुमान लगाया जाता है लेकिन खुद महारानी की तरफ से इस बारे में कभी कुछ सार्वजनिक नहीं किया गया। लेकिन उनकी आय के आधार पर कुछ विशेषज्ञों ने इस संबंध में अपना अनुमान लगाया है। गुडटू नामक वेबसाइट की रिपोर्ट के अनुसारए साल 2022 में महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की अनुमानित कुल संपत्ति 365 मिलियन पाउंड यानी 33.36 अरब रुपए से अधिक थी। वहीं मीडिया रिपोटर््स के अनुसार 2020 में उनकी कुल संपत्ति से 15 मिलियन पाउंड अधिक थी और इसमें उनकी निजी आय और सोवेरिन ग्रांट शामिल हैं।कुल संपत्ति 6,631 अरब रुपए से अधिकपिछले कुछ वर्षों में महारानी पेपर की सालाना रिच लिस्ट में 30 स्थान तक नीचे गिर गईं। 2020 में वह 372वें स्थान पर थीं और 2018 के बाद से यह 30 स्थानों की गिरावट थी। पूरे राजशाही परिवार की संपत्ति की बात करें तो फोर्ब्स मैग्जीन के अनुसार उनकी कुल संपत्ति 72.5 बिलियन पाउंड , यानी 6.631 अरब रुपए से अधिक है। महारानी के आय के प्रमुख स्रोतों के बारे में बात करें तो उन्हें सोवेरिन ग्रांट वार्षिक तौर पर सरकार से प्राप्त होती थी। जबकि बाकी दो स्रोत स्वतंत्र थे प्रिवी पर्स महारानी की निजी आय होती है, जिनमें करदाताओं का पैसा शामिल नहीं था।पैलेस में आने वालों से नहीं होती कमाईलंदन के अलावा शाही परिवार की संपत्ति स्कॉटलैंड, वेल्स और उत्तरी आयरलैंड में भी है। यह महारानी की निजी संपत्ति है, जिसे बेचा नहीं जा सकता बल्कि यह उनके उत्तराधिकारियों को हस्तांतरित होगी।रॉयल कलेक्शन में 10 लाख से ज्यादा चीजें शामिलमहारानी की संपत्ति में सिर्फ उनकी शाही परिवार की निजी संपत्तियां ही शामिल नहीं हैं, बल्कि उन्हें दुनियाभर से कई बेशकीमती गिफ्ट्स भी मिलती रही हैं। इन संपत्तियों में बेशकीमती कलाकृतियां, हीरे जवाहरात, लग्जरी कारें, शाही स्टैंप कलेक्शन के साथ ही अच्छी नस्ल के घोड़े भी शामिल हैं। इनकी कीमता का अनुमान लगाया जाए तो यह करीब 10 खरब रुपए होती है, जो कि बहुत बड़ी रकम है। हालांकि यह संपत्ति ब्रिटेन के एक ट्रस्ट के पास है। ब्रिटेन के नए राजा किंग चार्ल्स की सालाना आय के बारे में बात की जाए तो उन्हें हर साल ‘Duchy of Cornwall‘ से करीब 21 मिलियन पाउंड की आय प्राप्त होती है।मदरडेयरीअमूलकेबादइससंस्थानेभीबढ़ाएदूधकेदामनईकीमतेंआजसेलागूजानिएनएरेटमुम्बई: परेल का लालबाग मार्केट को अगले 5 दिनों के लिए बंद, 48 घंटे में सामने आए कोरोना के 7 मामले******मुंबई में कोरोना का संकट थमने का नाम नहीं ले रहा है। जिसके चलते अनलॉक की प्रक्रिया भी बाधित होती दिख रही है। ताजा मामला कोरोना संकट से सबसे ज्यादा प्रभावित मुंबई के परेल से सामने आया है। यहां पर पिछले 48 घंटों में 7 कोरोना के मामले सामने आए हैं। जिसके बाद परेल के लालबाग मार्केट को अगले 5 दिनों के लिए बंद कर दिया गया है। बता दें कि इस पूरे मार्केट इलाके में अप्रैल से अब तक 50 कोरोना मामले सामने आ चुके है।बता दें कि लालबाग मार्केट शहर के साबसे पुराने मार्केट में से एक है। यह मार्केट ग्रोसरी, नमकीन, मिठाई और मसाले के लिए पूरे मुम्बई में मशहूर है। इसी लालबाग़ मार्केट के तहत आनेवाले चिवड़ा गली में ही लालबाग़ के राजा गणपति की मूर्ति स्थापित होती है। इस चिवड़ा गली की दुकानों को भी बंद रखा गया है। परेल के लालबाग़ इलाके में कोरोना के मामलों में यह तेज़ी 15 जून से दुकानें खुलने के बाद सामने आई। इसलिए एहतियातन बीएमसी ने मार्केट को 5 दिन तक बंद करने का फैसला लिया।एक तरफ जहां कोरोना वायरस मुंबई से निकलकर आसपास के इलाकों में फैल रहा है। वहीं मुंबई शहर प्रशासन के लिए एक नई परेशानी सामने आ रही है। मुंबई से कोरोना के मरीज गायब हो रहे हैं। कुल 70 कोरोना पॉजिटिव गायब हैं। इनके पते ठिकाने और फोन नंबर फर्जी पाए गए हैं। एक और हैरान करने वाली बात यह है कि जो मरीज गायब हैं, जब उनके मोबाइल पर फोन किया गया तो पता लगा कि जो नंबर इन लोगों ने दिए थे वो किसी हेल्थ ऑफिसर का है तो कोई नंबर पुलिस वाले का है। बृहन्‍नमुंबई म्‍युनिसिपल कार्पोरेशन (बीएमसी) इन्हें खोजने में नाकाम रही है और अब पुलिस से मदद मांगी गई है। डिप्टी चीफ मिनिस्टर अजीर पवार ने कहा है कि कोशिश कर रहे हैं। कोरोना के मरीजों को जल्दी ट्रेस कर लेंगे। वहीं शहर के मंत्री असलम शेख का कहना है कि कुछ लोगों से संपर्क नही हो पा रहा है ये बात सही है लेकिन वो भागे नहीं हैं, हो सकता है उनमें से कुछ प्रवासी मजदूर हों या कुछ और वजह हो।

मदर डेयरी, अमूल के बाद इस संस्था ने भी बढ़ाए दूध के दाम, नई कीमतें आज से लागू, जानिए नए रेट

मदरडेयरीअमूलकेबादइससंस्थानेभीबढ़ाएदूधकेदामनईकीमतेंआजसेलागूजानिएनएरेटओला ने लांच की 'शेयर एक्सप्रेस', 100 नए रुट्स पर 30 30 फीसदी तक कम वसूलेगी किराया****** शेयर्ड मोबिलिटी सेगमेन्ट में उपभोक्ताओं को और बेहतर एवं किफायती सेवाएं उपलब्ध कराने के प्रयास में कैब एग्रीगेटर ओला ने ‘शेयर एक्सप्रेस’ को लॉन्च किया है। नए फीचर को 100 से अधिक मार्गो के लिए शुरू किया है। शेयर एक्सप्रेस के इस्तेमाल से किराए में करीब 30 फीसदी की कमी आएगी।कंपनी ने बुधवार को एक बयान जारी कर बताया कि शेयर एक्सप्रेस, ओला शेयर राईड की कीमतों में 30 फीसदी तक कमी लाकर राईड शेयरिंग के अनुभव को कई गुना बेहतर एवं किफायती बनाती है।ओला के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और श्रेणी प्रमुख रघुवेश सरूप ने कहा, “ओला सड़कों पर प्रदूषण एवं जाम की समस्याओं को कम करने के लिए प्रतिबद्ध है। शेयर्ड राईड के लिए हमारा नया फीचर ‘शेयर एक्सप्रेस’ ओला शेयर को और अधिक किफायती बनाता है।cng carsमदरडेयरीअमूलकेबादइससंस्थानेभीबढ़ाएदूधकेदामनईकीमतेंआजसेलागूजानिएनएरेटWeather Update: आधा सितंबर बीता, लेकिन अभी भी सक्रिय है मानसून, जानिए किन राज्यों में होगी बारिश?******HighlightsWeather Update:सितंबर का पहला पखवाड़ा बीत चुका है। लेकिन मानसून की मेहरबानी अभी तक बनी हुई है। हालत यह है कि कुछ राज्यों में भारी बारिश की वजह से लोग परेशान हैं। वहीं कुछ जगह बारिश के ताजा दौर से लोगों को गर्मी और उमस से राहत मिली है। इसी बीच मौसम विभाग ने पूर्वानुमान जताया है कि दिल्ली समेत कई राज्यों में आज बारिश के आसार हैं। मौसम विभाग के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में आज का न्यूनतम 25 डिग्री सेल्सियस रहेगा, जबकि अधिकतम तापमान 30 डिग्री तक जाएगा। आज गुजरात, कोंकण, गोवा, राजस्थान मध्य प्रदेश, यूपी, बिहार आदि राज्यों में भी हल्की से मध्यम बारिश होगी।दिल्ली में मौसम बदला, आज भी बारिश के आसारराजधानी दिल्ली और एनसीआर में इन दिनों मौसम बदला हुआ है। बारिश और बादलों की मौजूदगी की वजह से गर्मी और उमस से राहत मिली है। बुधवार को राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में हवाएं भी चलीं, जिससे तापमान कम हो गया। मौसम विभाग के अनुसार राजधानी दिल्ली में आज न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस रहेगा। वहीं मध्यम बारिश का अनुमान भी जताया गया है।गुजरात के कई जिले भारी बारिश की चपेट मेंगुजरात में भी मानसून पूरी तरह बरस रहा है। राज्य के कई जिलों में भारी बारिश हो रही है। अहमदाबाद का न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस रहेगा। वहीं अधिकतम तापमान 32 डिग्री सेल्सियस रहने की उम्मीद है। यहां तेज बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है।मध्यप्रदेशः भोपाल में तेज बारिश का अलर्टमध्यप्रदेश में भी हाल के समय में खूब पानी बरस रहा है। राजधानी भोपाल के साथ ही बिजनेस सिटी इंदौर भी बारिश से तरबतर हो रहा है। यहां रुक रुककर बारिश का दौर जारी है। इसी बीच मौसम विभाग के अनुसार भोपाल का न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 29 डिग्री सेल्सियस रहने की उम्मीद है।यूपीः लखनऊ में तेज बारिश की उम्मीदउत्तर प्रदेश में भी हाल के समय में कुछ जगहों पर बारिश हुई है। इसी बीच राजधानी लखनऊ में आज न्यूतनम तापमान 24 और अधिकतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस रहेगा। वहीं आज लखनऊ में तेज बारिश होने की उम्मीद नजर आ रही है।बिहारः पटना में भी होगी बारिशबिहार में भी कई स्थानों पर बारिश की उम्मीद जताई गई है। इसी बीच राजधानी पटना में भी तेज बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। पटना में भी तापमान में आंशिक गिरावट दर्ज की गई है। यहां न्यूनतम तापमान 25 डिग्री और अधिकतम तापमान 31 डिग्री सेल्सियस रहने की उम्मीद है।

मदर डेयरी, अमूल के बाद इस संस्था ने भी बढ़ाए दूध के दाम, नई कीमतें आज से लागू, जानिए नए रेट

मदरडेयरीअमूलकेबादइससंस्थानेभीबढ़ाएदूधकेदामनईकीमतेंआजसेलागूजानिएनएरेट8 पटेल और 8 OBC, 2022 पर नजर, ऐसा है मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल का मंत्रिमंडल******गुजरात में आज राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने भूपेंद्र पटेल सरकार में 24 नए मंत्रियों को शपथ दिलवाई। इनमें से 10 कैबिनेट मंत्री और 14 राज्य मंत्री हैं। वहीं कैबिनेट में विजय रूपाणी के दौरान मंत्री रहे किसी भी नेता को शामिल नहीं किया गया है। प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले भूपेंद्र पटेल की टीम में सब नए चेहरे को मौका दिया गया है। भूपेंद्र पटेल की टीम में 8 पटेल और 8 OBC चेहरे हैं। सूबे में भविष्य की तैयारियों को देखते हुए कैबिनेट में सभी नए चेहरों को जगह दी गई है, वहीं कुछ विधायक ऐसे भी हैं जो पहली बार चुनाव जीतकर आए हैं।सूत्रों के मुताबिक गुजरात में अगले साल 2022 के विधान सभा चुनावों से पूरी तरह से बदलाव के मूड में थी। इसी सिलसिले में पार्टी ने चौकाने वाला फैसला लेते हुए राज्य के नये मुखिया यानी मुख्यमंत्री के रूप में के नाम का चुनाव किया गया था। विजय रुपाणी के इस्तीफे के बाद से ये चर्चा भी चल रही थी कि इस बार के कैबिनेट गठन में नो रिपीट थ्योरी पर फोकस करने की बात कही जा रही थी।कैबिनेट में पटेल समाज के 8, ओबीसी समुदाय से 8, अनुसूचित समुदाय से 2, अनुसूचित जनजाति से 3, ब्राह्मण समाज के 2 और जैन समाज से 1 विधायक को मंत्री बनाया गया है।इसी तरह नए सीएम की नई कैबिनेट में शामिल मंत्रियों की बात करें तो इन प्रमुख चेहरों को भूपेंद्र पटेल कैबिनेट में जगह मिली है।ऋषिकेश पटेल (विसनगर) (पटेल)गजेंद्र परमार (प्रतिंज) (ओबीसी)किरीट सिंह वाघेला (कंकराज) (ओबीसी)नरेश पटेल, गणदेवी (ST)कानू देसाई, पारडी (ब्राह्मण)जीतू चौधरी (कपराडा) STहर्ष संघवी (मजुरा) जैनमुकेश पटेल (ओलपाड) कोली (obc)पूर्णेश मोदी सूरत (obc)वीनू मोर्दिया (कतरगाम) पटेलअरविंद रैयानी (राजकोट) पटेलराघवजी पटेल (पटेल) जामनगरब्रिजेशमेरजा (पटेल) मोरबीदेव मालम (केशोद) कोली (obc)किरीट सिंह राणा (लिंबडी) (obc)आर.सी. मकवाना (महुवा, भावनगर (कोली))जीतू वघानी: भावनगर पश्चिम (पटेल)जगदीश पांचाल (निकोल) ओबीसीनिमिषा सुथार (मोरवा हदफ) STप्रदीप परमार (असरवा) एस.सी.अर्जुन सिंह चौहान (महमदवाद) ओबीसी)कुबेर डिंडोर (संतरामपुर) एसटीमनीषा वकील : एससीराजेंद्र त्रिवेदी (रावपुरा) वड़ोदरा (ब्राह्मण)

मदरडेयरीअमूलकेबादइससंस्थानेभीबढ़ाएदूधकेदामनईकीमतेंआजसेलागूजानिएनएरेटवेस्टइंडीज के खिलाफ घरेलू सीरीज के लिए कुलदीप-विश्नोई को टीम में मिली जगह, रोहित की वापसी******Highlightsवेस्टइंडीज के खिलाफ घरेलू टी20 और वनडे सीरीज के लिए भारतीय टीम का ऐलान कर दिया गया है। कोहली की कप्तानी छोड़ने के बाद नवनियुक्त कप्तान रोहित शर्मा की टीम में वापसी हुई है। बुधवार शाम सिलेक्शन कमेटी की बेंगलुरु में मीटिंग के बाद टीम का ऐलान किया गया।सीनियर स्पिनर कुलदीप यादव की टीम में वापसी हुई है। इसके साथ ही अंडर-19 क्रिकेट से अपनी पहचान बनाने वाले लेग स्पिनर रवि बिश्नोई को भी लिमिटेड ओवर की सीरीज के लिए पहली बार भारतीय टीम में चुना गया है। साथ ही तेज गेंदबाज आवेश खान को भी वनडे और टी-20 टीम में जगह दी गई है। वनडे टीम में दीपक हुड्डा को शामिल किया गया है जबकि वेंकटेश अय्यर वनडे टीम में जगह बनाने में असफल साबित हुए हैं। वहीं, जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी को आराम दिया गया है। केएल राहुल दूसरे वनडे मैच से टीम के साथ जुड़ेंगे। जबकि ऑलराउंडर रविंद्र जडेज घुटने की चोट के कारण टीम में शामिल नहीं किए गए हैं।रोहित शर्मा (कप्तान), केएल राहुल (वीसी), रुतुराज गायकवाड़, शिखर, विराट कोहली, सूर्य कुमार यादव, श्रेयस अय्यर, दीपक हुड्डा, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), डी चाहर, शार्दुल ठाकुर, वाई चहल, कुलदीप यादव, वाशिंगटन सुंदर , रवि बिश्नोई, मो. सिराज, प्रसिद्ध कृष्णा, अवेश खानरोहित शर्मा (कप्तान), केएल राहुल (वीसी), ईशान किशन, विराट कोहली, श्रेयस अय्यर, सूर्य कुमार यादव, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), वेंकटेश अय्यर, दीपक चाहर, शार्दुल ठाकुर, रवि बिश्नोई, अक्षर पटेल, युजवेंद्र चहल, वाशिंगटन सुंदर, मो. सिराज, भुवनेश्वर, अवेश खान, हर्षल पटेलमदरडेयरीअमूलकेबादइससंस्थानेभीबढ़ाएदूधकेदामनईकीमतेंआजसेलागूजानिएनएरेट'हमने उसे चलना सिखाया और वो हमें रौंदते चला गया', ईद पर छलका चाचा शिवपाल का दर्द****** समाजवादी पार्टी के प्रमुख एवं अपने भतीजे पर निशाना साधते हुए समाजवादी नेता ने मंगलवार को कहा कि उन्होंने उन्हें "संतुष्ट" करने के लिए अपने आत्मसम्मान से समझौता किया, लेकिन बदले में उन्हें केवल "दर्द" मिला। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के परिणाम के बाद से शिवपाल सिंह अपने भतीजे अखिलेश यादव से नाराज चल रहे हैं। यह क्रम उन्होंने ईद के दिन भी जारी रखा। अखिलेश पर निशाना साधते हुए एक ट्वीट किया है। इसमें उन्होंने अपना दर्द बयां किया है। कहा कि हमने उसे चलना सिखाया और वो हमें रौंदते चला गया।प्रगतिशील समाजवादी पार्टी-लोहिया (PSPL) के प्रमुख ने अपने भतीजे के साथ अनबन की खबरों के बीच मंगलवार को अपने ट्वीट में किसी का नाम लिए बिना कहा, ''अपने सम्मान के न्यूनतम बिंदु पर जाकर मैंने उसे संतुष्ट करने का प्रयास किया। इसके बावजूद भी अगर नाराज हूं तो किस स्तर तक उसने हृदय को चोट दी होगी।''शिवपाल ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले अखिलेश यादव के नेतृत्व वाली समाजवादी पार्टी (सपा) के साथ गठबंधन किया था। दोनों नेताओं ने 2017 के विधानसभा चुनाव से पहले रास्ते अलग कर लिए थे, जिसके बाद शिवपाल ने अपनी पार्टी बनाई थी। हालांकि, उन्होंने पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव के कहने पर मेलमिलाप के बाद इस साल सपा के चुनाव चिह्न पर विधानसभा चुनाव लड़ा था। मार्च में सपा विधायकों की बैठक में शिवपाल को आमंत्रित नहीं किए जाने पर उनके और अखिलेश के बीच मतभेद फिर सामने आ गए थे।वरिष्ठ समाजवादी नेता ने खुद को आहत महसूस करते हुए विधायक के रूप में शपथ लेने में देरी की थी। शपथ लेने के बाद, शिवपाल ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की थी जिससे उनके भाजपा में शामिल होने की अटकलें तेज हो गईं। इन अटकलों को तब और बल मिला जब उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को फॉलो करना शुरू कर दिया। दोनों के बीच जुबानी जंग का सिलसिला जारी है। विधायकों की बैठक में न बुलाए जाने से नाराज शिवपाल यादव ने बगावत का झंडा बुलंद कर लिया है तो अखिलेश उन्हें जल्द चले जाने को कह रहे हैं। अटकलें हैं कि शिवपाल यादव आजम खान के साथ मिलकर कोई नया मोर्चा बना सकते हैं।अखिलेश ने कई मौकों पर अपने चाचा की भाजपा के साथ बढ़ती नजदीकियों की खबरों पर कटाक्ष किया है। उन्होंने एक अवसर पर अपने चाचा को एक स्पष्ट संदेश में कहा कि भाजपा से नजदीकी रखने वालों के लिए सपा में कोई जगह नहीं है।

मदरडेयरीअमूलकेबादइससंस्थानेभीबढ़ाएदूधकेदामनईकीमतेंआजसेलागूजानिएनएरेटराहुल ने नौकरियां पैदा करने की योजना का खाका बनाया, बताया- सरकार बनने के बाद क्या करेंगे****** कांग्रेस अध्यक्ष ने एंजेल टैक्स हटाने का वादा करके अपनी पार्टी की बड़ी योजना का संकेत दिया है, जिसके जरिए उन्होंने उद्यमिता और स्टार्टअप को बढ़ावा देकर नौकरियां पैदा करने का खाका बनाया है। उन्होंने कहा कि किसी भी नए कारोबार के लिए पहले तीन साल तक अनुमति लेने की कोई जरूरत नहीं होगी।गांधी ने गुरुवार को अपने चुनावी अभियान के दौरान ट्वीट के जरिए अपने वादे के बारे में बताया, जिसे भाजपा सरकार के और स्टैंडअप इंडिया के जवाब के रूप में देखा जा रहा है।राहुल ने गुरुवार को ट्वीट में कहा, "युवा नया कारोबार शुरू करना चाहते हैं? भारत के लिए नौकरियां पैदा करना चाहते हैं? आपके लिए हमारी यह योजना है: 1. किसी नए कारोबार के लिए पहले तीन साल तक कोई अनुमति लेने की जरूरत नहीं। 2. एंजेल टैक्स को गुडबाय 3. आप कितनी नौकरियां पैदा करते हैं उसके आधार पर ठोस प्रोत्साहन और टैक्स क्रेडिट। 4. आसान बैंक क्रेडिट।"कांग्रेस नेता गौरव वल्लभ ने बताया कि भाजपा सरकार अर्थव्यवस्था को प्रोत्साहन देने के सुनहरे मौके से चूक गई है। उन्होंने कहा, "उन्होंने नोटबंदी की और वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) का कार्यान्वयन त्रुटिपूर्ण रहा। अर्थशास्त्रियों ने सरकार के आंकड़ों पर सवाल उठाए हैं। स्टार्टअप इंडिया, स्टैंडअप इंडिया का जमीनी स्तर पर कोई असर नहीं है। स्किल इंडिया सिर्फ नाम के लिए रह गया है।"राहुल गांधी की घोषणा को लोकसभा चुनाव से पहले 'युवाओं के प्रति प्रीति' दिखाने के तौर पर देखा जा रहा है। राहुल भाजपा की अगुवाई वाली सरकार को हर साल दो लाख नौकरियां पैदा करने के वादे को पूरा करने में विफल बताकर सरकार पर लगातार हमले करते रहे हैं।मदरडेयरीअमूलकेबादइससंस्थानेभीबढ़ाएदूधकेदामनईकीमतेंआजसेलागूजानिएनएरेटकरिश्मा कपूर ने फिल्म इंडस्ट्री में पूरे किए 30 साल, रहीं हैं 90 के दशक की हिट अभिनेत्री******अभिनेत्री करिश्मा कपूर ने गुरुवार को इंस्टाग्राम पर अपने हिट गानों की फ्लैशबैक वीडियो क्लिप शेयर कर बॉलीवुड में अपने 30 साल पूरे होने का जश्न मनाया। क्लिप के साथ कैप्शन में उन्होंने लिखा, "90 के दशक से अब तक की यादें । हैशटैग 30 इयर्स ऑफ ग्रेटिट्यूट।"वीडियो क्लिप में नब्बे और 2000 के दशक की फिल्मों के करिश्मा कपूर के लोकप्रिय गीतों जैसे 'हीरो नंबर 1', 'कुली नंबर 1', 'दिल तो पागल है', 'जुबैदा', 'दुल्हन हम ले जाएंगे', 'हम साथ साथ हैं', 'राजा बाबू' और 'अंदाज अपना अपना' आदि का मैश अप दिखाया गया है।करिश्मा की पहली फिल्म 'प्रेम कैदी' 21 जून, 1991 को रिलीज हुई थी। इस फिल्म का निर्देशन के मुरली मोहन राव ने किया था और हरीश ने सह अभिनय किया था। अभिनेत्री को आखिरी बार पर्दे पर उनकी पहली वेब सीरीज 'मेंटलहुड' में देखा गया था, जो पिछले साल रिलीज हुई थी।उनके इंस्टाग्राम पोस्ट पर कुछ ही मिनटों बाद, उनके उद्योग मित्रों और प्रशंसकों की ओर से टिप्पणियों का आना शुरू हो गया।सोनम कपूर की बहन रिया कपूर ने लिखा 'फैशन आइकन'।मलाइका अरोड़ा और महीप कपूर ने दिल के इमोजीस के साथ कमेंट किया।उनके प्रशंसक ने भी उनके इंस्टाग्राम पेज पर कमेंट किए, "आप बहुत शानदार थी। आपकी सभी फिल्में देखना पसंद किया है हमने। आपको फिर से आना चाहिए।"एक प्रशंसक ने लिखा, "ऐसी शानदार अभिनेत्री, सिल्वर स्क्रीन पर आपको मिस करती हूं।"

मदरडेयरीअमूलकेबादइससंस्थानेभीबढ़ाएदूधकेदामनईकीमतेंआजसेलागूजानिएनएरेटGold Rate Today: रुपए के कमजोर पड़ने से सोना 70 रुपए चढ़ा, चांदी में भी आया 230 रुपए का उछाल******Gold prices up Rs 70 on rupee depreciation अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया कमजोर पड़ने से गुरुवार को दिल्ली सर्राफा बाजार में सोने का भाव 70 रुपए की तेजी के साथ 38,930 रुएए प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया। एचडीएफसी सिक्युरिटीज ने यह जानकारी दी। बुधवार को सोना 38,860 रुपए प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था। ही तरह, चांदी भी 230 रुपए की तेजी के साथ 46,510 रुपए प्रति किग्रा पर बंद हुई। बुधवार को यह 46,280 रुपए प्रति किग्रा के भाव पर बंद हुई थी। एचडीएफसी सिक्युरिटीज के वरिष्ठ विश्लेषक (जिंस) तपन पटेल ने कहा कि रुपए की विनिमय दर में गिरावट के चलते दिल्ली में 24 कैरेट सोने का भाव 70 रुपए चढ़ गया।अमेरिका-चीन के बीच व्यापार समझौते पर हस्ताक्षर होने में दिसंबर तक की देर हो सकने की खबर सामने आने से निवेशकों की धारणा प्रभावित हुई तथा गुरुवार को आरंभिक कारोबार में सोना 14 पैसे की गिरावट के साथ 71.11 रुपए प्रति डॉलर पर कमजोर रुख दर्शाता खुला। अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना गिरावट दर्शाता 1,487 डॉलर प्रति औंस और चांदी 17.54 डॉलर प्रति औंस पर कारोबर कर रही थी।मदरडेयरीअमूलकेबादइससंस्थानेभीबढ़ाएदूधकेदामनईकीमतेंआजसेलागूजानिएनएरेटछत्तीसगढ़ का अजीब गांव, जहां 40 की उम्र में ही आ जाता है बुढ़ापा******'रहिमन पानी राखिये, बिन पानी सब सून..' रहीम की ये पंक्ति पानी की महत्ता को दर्शा रही है कि यदि पानी नहीं रहेगा तो कुछ भी नहीं रहेगा, लेकिन जब पानी अमृत के बजाय जहर बन जाए तो पूरा जीवन अपंगता की ओर बढ़ चलता है। यह कोई कहानी नहीं बल्कि हकीकत है।बीजापुर जिला मुख्यालय से तकरीबन 60 किमी दूर भोपालपटनम में स्थित छत्तीसगढ़ का एक ऐसा गांव जहां पर युवा 25 वर्ष की आयु में ही लाठी लेकर चलने को मजबूर हो जाते हैं और 40 साल के पड़ाव में प्रकृति के नियम के विपरित बुढ़े होने लग जाते हैं। यहां 40 फीसदी लोग उम्र से पहले ही या तो लाठी के सहारे चलने लगते हैं या तो बुढ़े हो जाते हैं। इसकी वजह कोई शारीरिक दोष नहीं, बल्कि यहां के भूगर्भ में ठहरा पानी है। जो इनके लिए अमृत नहीं, बल्कि जहर साबित हो रहा है।यहां के हैंडपंपों और कुओं से निकलने वाले पानी में फ्लोराइड की मात्रा अधिक होने के कारण पूरा का पूरा गांव समय से पहले ही अपंगता के साथ-साथ लगातार मौत की ओर बढ़ रहा है। शुद्ध पेयजल की व्यवस्था नहीं होने के कारण मजबूरन आज भी यहां के लोग फ्लोराइड युक्त पानी पीने को मजबूर हैं, बावजूद शासन-प्रशासन मौत की ओर बढ़ रहे इस गांव और ग्रामीणों की ना तो सुध ले रहा है ना ही इस खतरनाक हालात से बचने के लिए कोई कार्ययोजना तैयार करता नजर आ रहा है, जबकि इस गांव में आठ वर्ष के उम्र से लेकर 40 वर्ष तक का हर तीसरे व्यक्ति में कुबड़पन, दांतों में सड़न, पीलापन और बुढ़ापा नजर आता है।प्रशासन ने यहां तक सड़क तो बना दी, पर विडंबना तो देखिए कि सड़क बनाने वाले प्रशासन की नजर इन पीड़ितों पर अब तक नहीं पड़ पाई।यहां के सेवानिवृत्त शिक्षक तामड़ी नागैया, जनप्रतिनिधि नीलम गणपत और फलोराइड युक्त पानी से पीड़ित तामड़ी गोपाल का कहना है कि गांव में पांच नलकूप और चार कुएं हैं, इनमें से सभी नलकूपों और कुओं में फलोराइड युक्त पानी निकलता है। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग ने सभी नलकूपों को सील कर दिया था लेकिन गांव के लोग अब भी दो नलकूपों का इस्तेमाल कर रहे हैं।उनका कहना है कि हर व्यक्ति शहर से खरीदकर पानी नहीं ला सकता है, इसलिए यही पानी पीने में इस्तेमाल होता है। यही नहीं, बल्कि गर्मी के दिनों में कुछ लोग तीन किमी दूर इंद्रावती नदी से पानी लाकर उबालकर पीते हैं।इनमें से तामड़ी नागैया का कहना है कि यह समस्या पिछले तीस सालों से ज्यादा बढ़ी हैए क्योंकि तीस साल पहले तक यहां के लोग कुएं का पानी पीने के लिए उपयोग किया करते थे, मगर जब से नलकूपों का खनन किया गया तब से यह समस्या विराट रूप लेने लगा और अब स्थिति ऐसी है कि गांव की 40 फीसदी आबादी 25 वर्ष की उम्र में लाठी के सहारे चलनेए कुबड़पन को ढोने और 40 वर्ष की अवस्था में ही बुढ़े होकर जीवन जीने को मजबूर है। यहां पर लगभग 60 फीसदी लोगों के दांत पीले होकर सड़ने लगे हैं।बताया जा रहा है कि यह पूरा गांव भू गर्भ में स्थित चट्टान पर बसा हुआ है और यही वजह है कि पानी में फ्लोराइड की मात्रा अधिक है और इस भू गर्भ से निकलने वाला पानी यहां के ग्रामीणों के लिए जहर बना हुआ है।जानकार बताते हैं कि वन पार्ट पर मिलियन यानि पीपीएम तक फ्लोराइड की मौजूदगी इस्तेमाल करने लायक हैए जबकि पीपीएम को मार्जिनल सेप माना गया है। डेढ़ पीएम से अधिक फलोराइड की मौजूदगी को खतरनाक माना गया है और गेर्रागुड़ा में डेढ़ से दो पीपीएम तक इसकी मौजूदगी का पता चला है और लोगों पर इसका खतरनाक असर साफ नजर आ रहा है।(इनपुट-आईएएनएस)

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 05:22
उद्धरण 1 इमारत
President Election: राष्ट्रपति पद के लिए NDA उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को शिवसेना का समर्थन, उद्धव ठाकरे ने किया ऐलान******Highlightsजैसी कि संभावना जताई गई थी, शिवसेना ने मंगलवार को घोषणा की कि वह विपक्ष के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार की जगह NDA की उम्मीदवार का समर्थन करेगी। शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने पार्टी के सांसदों, विधायकों और आदिवासियों सहित अन्य नेताओं के साथ विचार-विमर्श के बाद इस बात की औपचारिक घोषणा की। उद्धव ठाकरे ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, उनकी पार्टी शिवसेना, राष्ट्रपति पद के लिए द्रौपदी मुर्मू का समर्थन करेगी।ठाकरे ने कहा कि शिवसेना बिना किसी दबाव के मुर्मू को समर्थन देने की घोषणा कर रही है। उन्होंने कहा, ‘‘शिवसेना सांसदों की बैठक में किसी ने मुझ पर दबाव नहीं डाला।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मेरी पार्टी के आदिवासी नेताओं ने मुझसे कहा कि यह पहली बार है कि किसी आदिवासी महिला को राष्ट्रपति बनने का मौका मिल रहा है।’’ ठाकरे ने कहा, ‘‘दरअसल, वर्तमान राजनीतिक माहौल को देखते हुए, मुझे उनका समर्थन नहीं करना चाहिए था। लेकिन हम संकीर्ण मानसिकता वाले नहीं हैं।’’आपको बता दें कि उद्धव ठाकरे का यह फैसला महाविकास अघाड़ी (MVA) गठबंधन के लिए भी झटका है। दरअसल, MVA के बाकी दोनों साथी कांग्रेस और शरद पवार की पार्टी नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी (NCP), विपक्ष के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा का समर्थन कर रही है लेकिन अब जब उद्धव ने एनडीए उम्मीदवार के समर्थन की बात कह दी है तो जाहिर तौर पर माना जा रहा है कि उद्धव ने संजय राउत की राय को दरकिनार करके पार्टी के सांसदों की बात मान ली है।इससे पहले सोमवार को महाराष्ट्र में शिवसेना के 18 लोकसभा सदस्यों में से 13 ने राष्ट्रपति चुनाव पर एक महत्वपूर्ण बैठक में भाग लिया था और उनमें से अधिकतर ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू का समर्थन करने का सुझाव दिया था। लेकिन संजय राउत का कहना था कि शिवसेना को यशवंत सिन्हा को समर्थन देना चाहिए। हालांकि इस मामले पर आखिरी फैसला उद्धव ठाकरे को ही लेना था।
2022-10-01 05:17
उद्धरण 2 इमारत
यूपी के 6 जिलों से मस्जिदों और अन्य स्थानों से कुल 79 विदेशी नागरिक पकड़े गए****** कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के चलते दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज तबलीगी मामले को लेकर सख्ती बरती जा रही है। उत्तर प्रदेश के 6 जिलों से मस्जिदों और अन्य स्थानों से कुल 79 पकड़े गए हैं। इनमें लखनऊ में 24, बहराइच में 17, बिजनौर में 8, मेरठ में 10, प्रयागराज में 9 और भदोही में 11 हैं। इन्हें फिलहाल क्वारेंटीन किया गया है। अभी इन सभी के बारे में जांच की जा रही है, यदि गैर कानूनी ढंग से उनके निवास की बात सामने आएगी तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी। तब्लीगी जमात से इनका कोी डायरेक्ट संबंध है या नहीं इसकी जांच की जा रही है। के राज्य में बढ़ते मामलों को रोकने के लिए योगी सरकार लगातार कड़े फैसले ले रही है। बीते मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को आगरा, मेरठ का दौरा रद्दकर गाजियाबाद से लखनऊ लौटना पड़ा। उन्होंने कोरोना वायरस से निपटने के लिए बनी 11 समितियों व शासन के बड़े अफसरों के साथ बैठक की। मुख्यमंत्री ने कहा- जमात में शिकरत करने वालों को खोजा जाए और जो जहां मिलें, वहीं तत्काल क्वॉरेंटाइन किया जाए।दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में विदेशों से पहुंचे तब्लीगी जमात के सदस्यों की उत्तर प्रदेश में भी तलाशी शुरू हो गई है। दरअसल उत्तर प्रदेश से भी कुल 168 लोग इस जमात में शामिल हुए थे, जिनमें से अबतक करीब 157 लोगों को पुलिस ने चिह्नित कर लिया है। यह यभी प्रदेश के 19 अलग-अलग जिलों के रहने वाले रहे हैं, साथ ही जिलों को अलर्ट भी किया गया है। लिस्ट में लखनऊ, बाराबंकी, बहराइच, गोंडा, बलरामपुर, गाजियाबाद, प्रयागराज, भदोही, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, मेरठ, बागपत, बिजनौर, आगरा, वाराणसी, हापुड़, मथुरा, शामली और सीतापुर के लोग शामिल हैं। लिस्ट में मुजफ्फरनगर के सबसे ज्यादा 28 लोग और राजधानी लखनऊ के 20 लोग शामिल हैं।
2022-10-01 05:16
उद्धरण 3 इमारत
कोहली ने मैदान पर की ऐसी हरकत की आईसीसी ने लगा दी फटका और ठोंका जुर्माना******दुबई। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली को आईसीसी की आचार संहित के उल्लंघन का दोषी पाया गया है। आईसीसी के मुताबिक किसी इंटरनेशनल मैच में अनावश्यक अपील के नियम का उल्लंघन करने पर कोहली पर मैच फीस का 25 फीसदी जुर्माना लगाया गया है। आईसीसी ने रविवार को एक बयान जारी कर इसकी पुष्टि की। आईसीसी का कहना है कि कोहली को आचार संहिता के उल्लंघन का लेबल-1 का दोषी पाया गया है। कोहली शनिवार को अपनी टीम के साथ अफगानिस्तान के खिलाफ विश्व कप मुकाबला खेल रहे थे। इस मैच को भारत ने 11 रनों से जीता।आईसीसी के बयान के मुताबिक कोहली ने अफगान पारी के 29वें ओवर में अम्पायर अलीम डार के पास जाकर आक्रामक और गलत तरीके से एलबीडब्लू की अपील की थी। कोहली ने अपनी गलती मान ली है और जुर्माना भी स्वीकार कर लिया है। इसी कारण इस मामले को लेकर आगे की सुनवाई की जरूरत नहीं पड़ी।इसके अलावा आईसीसी ने इस घटना को लेकर कोहली के खाते में एक डीमेरिट अंक जोड़ दिया है। सितम्बर 2016 में रिवाइज्ड कोड के लागू होने के बाद से कोहली की यह दूसरी गलती है।कोहली के खाते में अब दो डीमेरिट अंक हैं। एक अंक उन्हें जनवरी 2018 में दक्षिण अफ्रीका के साथ हुए टेस्ट मैच के दौरान मिला था।
वापसी