नई पोस्ट करें

लगातर 3 दिन डाइट में शामिल करें ये चीजें और करें नेचुरल तरीके से 5 किलो वजन कम

2022-10-01 04:25:59 615

लगातर3दिनडाइटमेंशामिलकरेंयेचीजेंऔरकरेंनेचुरलतरीकेसे5किलोवजनकमShamita-Raqesh Breakup: शमिता शेट्टी-राकेश बापट ने तोड़ा रिश्ता, सबके सामने रख दी ब्रेकअप की बात******Highlightsशमिता शेट्टी (Shamita Shetty) और राकेश बापट (Raqesh Bapat) की जोड़ी बीते साल टीवी सेलेब्स की जोड़ियों में सबसे ज्यादा रोमांटिक कपल के तौर पर सामने आई। लोगों को बेसब्री से दोनों की शादी का इंतजार था। लेकिन इसी बीच इस कपल ने अपने फैंस को तगड़ा झटका दे दिया है। कपल ने सोशल मीडिया पर अपने ब्रेकअप का ऐलान कर दिया है।कुछ समय पहले शमिता और राकेश के बीच अलगाव की खबरें सामने आई थीं। लेकिन कपल ने इसे अफवाह बताया था। वहीं अब खुद राकेश और शमिता ने अपने ब्रेकअप का ऐलान करके सबको हैरान कर दिया है। 'बिग बॉस OTT' (Bigg Boss OTT) में बनी यह जोड़ी लोगों के लिए काफी पसंद थी। दोनों के बीच का प्यार लोगों ने खुद देखा। लेकिन 1 साल बाद दोनों के बीच में दरार आने लगी और रिश्ता खत्म हो गया है।शमिता और राकेश ने ब्रेकअप का ऐलान कर दिया है। दोनों ने सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखकर ये जानकारी दी है।शमिता और राकेश ने इस पोस्ट में यह साफ कर दिया है (Shamita Shetty and Raqesh Bapat confirms their break up) कि अब वह दोनों साथ नहीं हैं।इस रिश्ते के टूटने की खबर देते हुए शमिता ने अपनी इंस्टा स्टोरी पर लिखा है, 'मुझे लगता है यह बताना जरूरी है… राकेश और मैं अब साथ नहीं हैं… और पिछले कुछ समय से नहीं हैं, लेकिन ये म्यूजिक वीडियो उन सभी खूबसूरत फैंस के लिए है, जिन्होंने हमें इतना प्यार और सपोर्ट किया। अपना प्यार इसी तरह हम पर बरसाते रहें। यही पॉजिटिविटी है। आप सभी को प्यार और आभार।'शमिता की पोस्ट सामने आते ही लोगों ने राकेश बापट से इस रिश्ते पर सवाल करने शुरू किए। जिसके जवाब में उन्होंने भी इंस्टा स्टोरी पर इस ब्रेकअप की पुष्टि कर दी। राकेश ने लिखा है, 'मैं बताना चाहता हूं कि अब शमिता और मैं साथ में नहीं है। किस्मत ने हमें बहुत ही असामान्य परिस्थितियों में मिलाया। इतने प्यार और सपोर्ट के लिए बहुत-बहुत शुक्रिया #ShaRa फैमिली। एक प्राइवेट पर्सन होने के नाते मैं यह सार्वजनिक तौर पर ऐलान नहीं करना चाहता था कि हम अलग हो गए हैं, हालांकि मुझे महसूस हुआ कि अपने फैंस को इसकी जानकारी देनी चाहिए। मैं जानता हूं कि इस खबर के बाद आपका दिल टूट जाएगा, लेकिन उम्मीद है आप अलग होने के बावजूद प्यार बरसाते रहेंगे। आपके सपोर्ट के लिए शुक्रिया। ये म्यूजिक वीडियो आप सभी को समर्पित है।'आपको याद दिला दें कि इस जोड़ी को 'बिग बॉस ओटीटी' में देखा गया था। दोनों में दोस्ती हुई फिर दोस्ती प्यार में बदल गई। राकेश ने शमिता को खूब सपोर्ट किया उनका केयरिंग बॉयफ्रेंड वाला रूप लोगों को पसंद आया। इसके बाद शमिता शेट्टी 'बिग बॉस 15' की कंटेस्टेंट बनीं यहां भी राकेश बापट को बतौर वाइल्ड कार्ड एंट्री मिली थी। 'बिग बॉस 15' के बाद भी ये कपल एक-दूसरे के संग क्वालिटी टाइम बिताते देखा गया।

लगातर3दिनडाइटमेंशामिलकरेंयेचीजेंऔरकरेंनेचुरलतरीकेसे5किलोवजनकमJEE Main result 2021: आज जारी हो सकता है जेईई मेन सेशन 3 का रिजल्ट, ऐसे करें चेक******जेईई मेन सेशन 3 का रिजल्ट आज यानी शुक्रवार 6 अगस्त को घोषित किया जाएगा। इस परीक्षा कराने वाली एजेंसी नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) के एक सीनियर अधिकारी ने इंडिया टीवी से बात करते हुए इस बात की पुष्टि की कि छात्र आज शाम को रिजल्ट आने की उम्मीद कर सकते हैं, अगर देरी हुई तो रिजल्ट शनिवार को घोषित किया जाएगा।एनटीए अधिकारी ने कहा, 'जेईई मेन का परिणाम आज शाम तक घोषित किया जाएगा। हम एनटीए पोर्टल पर रिजल्ट को 12 बजे तक अपलोड करने का प्रयास करेंगे।दरअसल, बाढ़ से प्रभावित होने की वजह से महाराष्ट्र को छोड़कर देश भर के उम्मीदवारों के लिए जेईई मेन परीक्षा 20, 22, 25 और 27 जुलाई, 2021 को आयोजित की गई थी। इसके बाद NTA ने 3 और 4 अगस्त को इन इलाकों में परीक्षा आयोजित करने का ऐलान किया था। वहीं अब चूंकि 4 अगस्त (बुधवार) को परीक्षा समाप्त हो चुकी है और अब संभावना जताई जा रही है कि (एनटीए) जल्द ही जेईई मेन परीक्षा के परिणाम की घोषणा करेगी। इसी संबंध जब इंडिया टीवी ने एनटीए के एक सीनियर अधिकारी से बात की तो उन्होंने बताया कि आज शाम तक नतीजे आ जाएंगे।जेईई मेन परीक्षा का रिजल्ट चेक करने के लिए सबसे पहले उम्मीदवार इसकी आधिकारिक वेबसाइट jeemain.nta.nic.in पर लॉग ऑन करें। इसके बाद होमपेज पर जेईई मेन्स रिज्लट 2021 लिंक पर क्लिक करें। इसके बाद लॉगिन क्रेडेंशियल दर्ज करें। फिर जेईई मुख्य रिजल्ट में जो विवरण दिया गया है उसे देखें। इसके बाद जेईई मेन सत्र 3 2021 परिणाम स्कोरकार्ड डाउनलोड करें और उसका प्रिंटआउट लेकर भविष्य के लिए रख लें।लगातर3दिनडाइटमेंशामिलकरेंयेचीजेंऔरकरेंनेचुरलतरीकेसे5किलोवजनकमHapur Factory Explosion: हापुड़ में केमिकल फैक्ट्री का बॉयलर फटा, 9 लोगों की मौत, 19 घायल******Highlightsहापुड के धौलाना में कैमिकल फैक्टरी में ब्लास्ट से 9 लोगों की मौत हो गई जबकि 19लोग घायल हो गए। शुरुआती जानकारी के मुताबिक बॉयलर फटने से फैक्ट्री में जबर्दस्त ब्लास्ट हुआ और आग लग गई। इस ब्लास्ट की चपेट में आने से वहां काम कर रहे 9 फैक्ट्री कर्मचारियों की मौत हो गई।हादसे में 19 लोग घायल हुए हैं। फैक्ट्री में ब्लास्ट और आग की सूचना मिलते ही दमकल विभाग की आधा दर्जन गाड़ियां मौके पर पहुंच गईं।आसपास की कई फैक्टरियों की छतें उड़ींहादसा धौलाना क्षेत्र के यूपीएसआईडीसी (औद्योगिक क्षेत्र) में सीएनजी पंप के पीछे कृष्णा ऑर्गेनिक कंपनी में हुआ जहां बॉयलर फटने से आग लग गई।ब्लास्ट इतना तेज था कि आसपास की कई फैक्टरियों की छतें उड़ गईं। पुलिस प्रशासन व दमकल विभाग ने मौके पर पहुंच कर राहत कार्य शुरू किया और कई लोगों को वहां से सुरक्षित निकाला। सीएम योगी ने हादसे पर दुख जताया है।पीएम मोदी ने हादसे पर दुख जतायावहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हापुड़ केमिकल फैक्ट्री हादसे पर दुख जताया है। उन्होंने इस हादसे हृदय विदारक बताया और कहा कि जिन लोगों को इस हादसे में जान गंवानी पड़ी उनके प्रति मैं संवेदनाएं व्यक्त करता हूं। राज्य सरकार घायलों के इलाज और हरसंभव सहायता में तत्परता से जुटी है।

लगातर 3 दिन डाइट में शामिल करें ये चीजें और करें नेचुरल तरीके से 5 किलो वजन कम

लगातर3दिनडाइटमेंशामिलकरेंयेचीजेंऔरकरेंनेचुरलतरीकेसे5किलोवजनकमRajat Sharma’s Blog: यूपी की चुनावी जंग में जाति कितना मायने रखती है?******समाजवादी पार्टी ने शुक्रवार को खुले तौर पर चुनाव आयोग के उस निर्देश का उल्लंघन किया जिसमें चुनावी राज्यों में सभी तरह की रैलियों पर प्रतिबंध लगाया गया था। सपा ने एक ‘वर्चुअल रैली’ आयोजित की जिसमें पार्टी के हजारों कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया। रैली में मौजूद लोगों को पार्टी सुप्रीमो अखिलेश यादव ने संबोधित भी किया।सोशल मीडिया पर हंगामा मचने के बाद देर रात उत्तर प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने गौतमपल्ली थाना प्रभारी दिनेश सिंह बिष्ट को 'कर्तव्यों के निर्वहन में घोर लापरवाही' के आरोप में निलंबित करने का निर्देश दिया। साथ ही उन्होंने एसीपी अखिलेश सिंह और लखनऊ मध्य निर्वाचन क्षेत्र के रिटर्निंग ऑफिसर गोविंद मौर्य को कारण बताओ नोटिस जारी किया। चुनाव आयोग ने यह कार्रवाई लखनऊ के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश द्वारा भेजी गई एक रिपोर्ट के आधार पर की। रिपोर्ट में कहा गया था कि रैली का आयोजन चुनाव आचार संहिता और कोविड प्रोटोकॉल का घोर उल्लंघन था।लखनऊ के पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने कहा, समाजवादी पार्टी के पार्टी मुख्यालय में लगभग 2,500 लोग जमा हुए, जो 15 जनवरी तक सारी फिजिकल रैलियों पर चुनाव आयोग के प्रतिबंध का उल्लंघन था। पुलिस कमिश्नर ने कहा, ‘हमारी पुलिस टीम ने कार्यक्रम का वीडियो बनाया है और इन लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है।’रैली का आयोजन सपा में शामिल हुए स्वामी प्रसाद मौर्य और धर्म सिंह सैनी सहित 8 विधायकों और मंत्रियों के स्वागत में किया गया था। इन मंत्रियों ने इसी हफ्ते बीजेपी की सरकार से इस्तीफा दे दिया था। पूरे भारत में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ने के साथ, चुनाव आयोग ने 15 जनवरी तक मतदान वाले राज्यों में सभी रैलियों पर प्रतिबंध लगा दिया था। उत्तर प्रदेश में अकेले शुक्रवार को 16 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए। इनमें से सिर्फ लखनऊ में ही 2,209 नए मामले दर्ज किए गए। चुनाव आयोग ने नुक्कड़ सभाओं पर भी प्रतिबंध लगाया हुआ है, और ज्यादा से ज्यादा सिर्फ 5 लोगों को ही घर-घर जाकर चुनाव प्रचार करने की इजाजत दी है।तथाकथित 'वर्चुअल रैली' के वीडियो में साफ नजर आ रहा है कि वहां हजारों पार्टी कार्यकर्ता मौजूद हैं और सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव समेत लगभग 50 नेता एक साथ मंच पर बैठे हुए हैं। चुनाव आयोग ने 5 से ज्यादा लोगों के इकट्ठा होने पर रोक लगाई हुई है और इस ‘वर्चुअल रैली’ में 50 से ज्यादा नेता एक साथ बैठे थे। ज्यादातर नेता बिना मास्क के थे, जबकि अखिलेश यादव ने अपनी जेब में मास्क रखा था जिसे वह कभी पहन लेते थे तो कभी उतार देते थे। जब रैली के वीडियो न्यूज चैनलों पर चलने लगे तो लखनऊ के डीएम ने रैली को रिकॉर्ड करने के लिए तत्काल पुलिस की एक टीम भेजी। लखनऊ के डीएम ने कहा, रैली की इजाजत नहीं ली गई थी।सपा की साइकिल पर सवार हुए स्वामी प्रसाद मौर्य ने दावा किया कि लखनऊ में समाजवादी पार्टी के दफ्तर से लेकर कालीदास मार्ग तक का पूरा इलाका कार्यकर्ताओं से पटा पड़ा है। मौर्य ने दावा किया, ‘अगर कोई कोविड प्रोटोकॉल नहीं होता, तो भीड़ सारे रिकॉर्ड तोड़ देती।’ सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा, चुनाव आयोग के दिशानिर्देश हैं, लेकिन हम और ज्यादा वर्चुअल रैलियां करेंगे और फिजिकल रैलियां भी करेंगे।मैं मानता हूं कि समाजवादी पार्टी को चुनाव के दौरान प्रचार करने का पूरा हक है, लेकिन उन्हें मालूम होना चाहिए कि राज्य में कोरोना की वजह से हालात सामान्य नहीं हैं। पूरे राज्य से नेताओं को अपने समर्थकों को लाने की इजाजत देकर साफ तौर पर कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन किया गया था। अब जब ये समर्थक अपने जिलों में लौटेंगे, तो वे सुपर स्प्रेडर्स के रूप में काम करेंगे। ऐसे में चुनाव आयोग अगर सख्त कार्रवाई करता है तो पार्टी के नेता इल्जाम लगाएंगे कि चुनाव आयोग निष्पक्ष नहीं है।सवाल यह भी है जब तमाम नेता पहले ही मीडिया के सामने आकर अपनी बात कह चुके थे, तो फिर सबको एक साथ लाकर, कार्याकर्ताओं को जुटाकर इतनी बड़ी रैली करने की क्या जरूरत थी? हो सकता है कि चुनाव आयोग द्वारा दिशानिर्देशों की घोषणा करने से पहले इस रैली की योजना बनाई गई हो। लेकिन प्रतिबंध लगने के बावजूद समाजवादी पार्टी के नेताओं ने अपनी रणनीति में बदलाव न करने का फैसला किया, और चुनाव आयोग के प्रतिबंध की धज्जियां उड़ाते हुए अपने समर्थकों को इकट्ठा किया। चुनाव आयोग की कार्रवाई से बचने के लिए उन्होंने इसे ‘वर्चुअल रैली’ का नाम दे दिया।रैली में स्वामी प्रसाद मौर्य ने को ‘भविष्य का मुख्यमंत्री’ बताया और दावा किया कि चुनावी जंग पिछड़ों, दलितों और अन्य का प्रतिनिधित्व करने वाले 85 प्रतिशत और बाकी के 15 प्रतिशत के बीच लड़ी जाएगी।सपा की चुनौती का मुकाबला करने के लिए यूपी के मुख्यमंत्री लगातार दौरे पर हैं, विभिन्न वर्गों और जातियों के नेताओं से मुलाकात कर रहे हैं। गोरखपुर के पीरू शहीद दलित बस्ती में शुक्रवार को योगी ने एक दलित अमृत लाल भारती के घर खिचड़ी खाई। मकर संक्रांति के मौके पर होने वाले इस आयोजन को 'खिचड़ी सहभोज' का नाम दिया गया है। स्थानीय बीजेपी नेताओं ने कहा कि योगी हर साल मकर संक्रांति के मौके पर दलितों के साथ भोजन करते हैं। इस मौके पर योगी ने कहा कि जो लोग वंशवाद की राजनीति में विश्वास रखते हैं और भ्रष्टाचार में लिप्त हैं, वे कभी भी सामाजिक न्याय के समर्थक नहीं हो सकते। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘ये नेता अपने परिवारों, माफिया सरगनाओं और भ्रष्ट व्यापारियों को बढ़ावा देते रहे हैं, वे कभी भी दलितों के लिए सामाजिक कल्याण को बढ़ावा नहीं दे सकते।’वक्त बदला है, पिछले 8 सालों में राजनीति का अंदाज बदला है, लोगों का मिजाज बदला है। आम लोगों के नजरिए में बदलाव की वजह से अब पूरा राजनीतिक शब्दकोष भी बदल गया है। 2014 तक राजनीति काफी हद तक जातियों और समुदायों पर आधारित थी, विकास की बात कुछ ही नेता करते थे, लेकिन अब यह ट्रेंड बदल गया है। इसके साथ ही नियमों में भी बदलाव किया गया है। पहले उम्मीदवार नामांकन दाखिल करते वक्त हलफनामे में अपने खिलाफ दर्ज मामलों का जिक्र करते थे। अब सभी उम्मीदवारों को सार्वजनिक तौर पर विज्ञापनों के जरिए अपने खिलाफ दर्ज मामलों के साथ-साथ यदि किसी मामले मे सजा हुई है, तो उसकी भी जानकारी देनी होगी।यह मान लेना कि मतदाता अब केवल जाति के आधार पर ही वोट करेंगे, गलत होगा। लोग कब तक अपनी जाति के लोगों को वोट देते रहेंगे, भले ही उनकी जाति का उम्मीदवार माफिया गैंगस्टर ही क्यों न हो? अपराधी और गैंगस्टर की कोई जाति नहीं होती। मेरा मानना है कि इस बार यूपी के मतदाता इस भ्रम को तोड़ देंगे कि वोट सिर्फ जाति के नाम पर मिल सकता है।लगातर3दिनडाइटमेंशामिलकरेंयेचीजेंऔरकरेंनेचुरलतरीकेसे5किलोवजनकमYogi Adityanath Oath Ceremony : योगी के मंत्रियों की लिस्ट से इस बार बाहर हैं ये बड़े नाम******Highlightsभारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेता योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को लगातार दूसरी बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ले रहे हैं। इस बार उनके मंत्रिमंडल में कई बड़े चेहरे नजर आ रहे हैं, वहीं, कुछ बड़े नामों की छुट्टी भी हो गई है। इनमें सबसे ज्यादा चौंकाने वाला नाम पूर्व उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा का है।जिन मंत्रियों के नाम इस बार की लिस्ट में नहीं हैं उनमें दिनेश शर्मा के अलावाकैबिनेट मंत्री सतीश महाना, आशुतोष टंडन और श्रीकांत शर्मा शामिल हैं। बता दें कि इस बार सीएम योगी की टीम में कई नए मंत्रियों को भी मौका दिया गया है जिनमें पीएम मोदी के करीबी नौकरशाह एके शर्मा और दयाशंकर सिंह जैसे नाम शामिल हैं।योगी आदित्यनाथ की टीम से , सतीश महाना, नीलकंठ तिवारी, सिद्धार्थ नाथ सिंह, जयप्रताप सिंह, मोहसिन रजा, आशुतोष टंडन और श्रीकांत शर्मा जैसे बड़े नाम इस बार गायब हैं। माना जा रहा है कि इनमें से कुछ लोगों को संगठन में जिम्मेदारी दी जा सकती है। बता दें कि उत्तर प्रदेश विधानसभा में पूर्ण बहुमत हासिल करने के बाद दोबारा सत्तासीन होने जा रही बीजेपी की नई सरकार के शुक्रवार की शाम होने वाले शपथ ग्रहण से पहले राज्‍य के काशी, मथुरा और अयोध्या समेत विभिन्न स्थानों पर मंदिरों में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने पूजा अर्चना कर लोक कल्याण की कामना की। को गुरुवार को बतौर पर्यवेक्षक केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और सह पर्यवेक्षक झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास की मौजूदगी में एक बार फिर सर्वसम्मति से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नवनिर्वाचित विधायक दल का नेता चुन लिया गया। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने उन्हें सरकार बनाने का न्योता दिया है। प्रदेश बीजेपी महामंत्री गोविंद नारायण शुक्ल ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा के अध्यक्ष जेपी नड्डा समेत देश भर के गणमान्य मेहमानों के अलावा 70 हजार कार्यकर्ताओं की मौजूदगी में भाजपा सरकार का शपथ ग्रहण समारोह होगा।लगातर3दिनडाइटमेंशामिलकरेंयेचीजेंऔरकरेंनेचुरलतरीकेसे5किलोवजनकमCWG 2022 INDIA SCHEDULE Today: आज दिखेगा बेटियों का दम, मुक्केबाजी में लवलीना-निकहत, तो क्रिकेट में स्मृति-हरमनप्रीत, पढ़ें पूरा शेड्यूल******Highlightsबर्मिंघम में जारी 22वें राष्ट्रमंडल खेलों का खूमार अपने चरम पर है। दुनियाभर के 72 देशों के 5000 से अधिक खिलाड़ियों के बीच पदक के लिए जोरदार मुकाबले देखने को मिल रहे है। इंग्लैंड में चल रहे कॉमनवेल्थ खेलों के पांच दिन पूरे हो चुके हैं और इस दौरान सैकड़ों मेडल दिए जा चुके हैं। भारतीय खिलाड़ियों का भी जलवा बरकरार है और रोजाना पदकों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है। पांचवें दिन भी भारत को दो गोल्ड समेत कुल चार मेडल मिले। आज छठा दिन है और एक बार फिर से कई पदक मिलने की उम्मीद है। भारत की तरफ से आज बेटियों पर सभी की नजर रहेगी। क्योंकि मुक्केबाजी में लवलीना-निकहत, क्रिकेट में स्मृति-हरमनप्रीत तो हॉकी में सविता पूनिया और उनकी टीम मैदान में होगी। इनके अलावा अलग-अलग खेलों में 10 से अधिक मुकाबले खेले जाएंगे।

लगातर 3 दिन डाइट में शामिल करें ये चीजें और करें नेचुरल तरीके से 5 किलो वजन कम

लगातर3दिनडाइटमेंशामिलकरेंयेचीजेंऔरकरेंनेचुरलतरीकेसे5किलोवजनकमसीमित दायरे में कारोबार करने के बाद सेंसेक्स 19 अंक गिरकर 31056 पर बंद, अबन ऑफश्योर समेत ये शेयर 10% तक उछले******हफ्ते के आखिरी सत्र में दिन भर सुस्त कारोबार के बाद सपाट बंद हुए है। बैंकिंग, ऑटो, FMCG और रियल्टी कंपनियों के शेयरों में तेजी से बाजार को आज सहारा मिला। वहीं, फार्मा और IT कंपनियों में हुई तेज बिकवाली के चलते बाजार अंत में लाल निशान पर फिसल गया। आखिरी में BSE का प्रमुख इंडेक्स अंक गिरकर 31056 के स्तर पर औरNSE का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स अंक बढ़कर 9588 के स्तर परबंद हुआ।मैक्स लाइफ इंश्योरेंस के डायरेक्टर एंड चीफ इन्वेस्टमेंट ऑफिसर, मिहिर वोरा ने एक बिजनेस चैनल को दिए इंटरव्यु में कहा कि तेजी के बाद अब बाजार फिलहाल कंसोलिडेशन के दौर में है। बाजार में वैल्युएशन को लेकर थोड़ा सतर्क रहना चाहिए। दिसंबर से बाजार ने काफी अच्छे रिटर्न दिए है। मानसून में सुधार के चलते दूसरी छमाही भी अच्छी रहने की उम्मीद है। मजबूत घरेलू फंड के चलते बाजार में ज्यादा प्राइस करेक्शन देखने को नहीं मिलेगा।मिहिर वोरा के मुताबिक फार्मा सेक्टर में कंपनियों की अपनी दिक्कतें बनी हुई हैं। लेकिन यह दिक्कतें अगले 1-2 साल में सुलझ सकती है और बड़ी फार्मा कंपनियां सुधार ला सकती है। ऑयल एंड गैस सेक्टर में डिस्टिब्यूशन और ऑयल मार्केटिंग कंपनियों पर नजर रहेगी। ऑयल प्राइसेज कमजोर है और इस पर ज्यादा बुलिश नजरिया नहीं है। लेकिन सरकार ने जो इन्हें पिछले 2 साल से प्राइसिंग फ्रीडम दिया है उसे देखते हुए ये सेक्टर अब भी वैल्यु दे सकता है।CLSA ने रिलायंस इंडस्ट्रीज पर निवेश की सलाह कायम रखते हुए लक्ष्य 1710 रुपए प्रति शेयर का तय किया है। मॉर्गन स्टैनली ने रिलायंस इंडस्ट्रीज पर ओवरवेट रेटिंग बरकरार रखते हुए 1,506 रुपए का लक्ष्य निर्धारित किया है।सिटी ने टाटा मोटर्स पर निवेश की सलाह बरकरार रखते हुए लक्ष्य 595 रुपए प्रति शेयर का तय किया है। जेपी मॉर्गन ने टाटा मोटर्स पर 570 रुपए का लक्ष्य निर्धारित किया है।बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच ने टाटा मोटर्स पर खरीद की सलाह बरकरार रखते हुए 600 रुपए का लक्ष्य निर्धारित किया है।डॉएश बैंक ने अशोक लेलैंड में निवेश की सलाह बरकरार रखते हुए लक्ष्य 107 रुपए प्रति शेयर का तय किया है। HSBC ने L&T फाइनेंस पर निवेश की सलाह बरकरार रखते हुए लक्ष्य 102 से बढ़ाकर 163 रुपए का तय किया है।जेफरिज ने अरबिंदो फार्मा पर दोबारा खरीद की सलाह देते हुए 750 रुपये का लक्ष्य निर्धारित किया है। सिटी ने अरबिंदो फार्मा पर निवेश की सलाह बरकरार रखते हुए लक्ष्य 1020 रुपए प्रति शेयर का तय किया है।लगातर3दिनडाइटमेंशामिलकरेंयेचीजेंऔरकरेंनेचुरलतरीकेसे5किलोवजनकमMarket outlook for next week: शेयर बाजार की अगले हफ्ते कैसी रहेगी चाल? सटीक आकलन यहां पढ़ें******Sensex पिछले कुछ महीनों से शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव का दौर देखने को मिल रहा है। ऐसे में निवेशकों को हर हफ्ते बाजार की चाल को लेकर ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है। जानकारों का कहना है कि अगल हफ्ता बाजार के लिए बड़ा उठापटक वाला हो सकता है। दरअसल, शेयर बाजारों की दिशा इस सप्ताह मुख्य रूप से भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक के नतीजों से तय होगी। इसके अलावा वैश्विक रुझान, विदेशी कोषों के रुख और कच्चे तेल की कीमतों पर भी बाजार भागीदारों की निगाह रहेगी।विश्लेषकों का कहना है कि बाजार में हाल में सुधार दिखा है, लेकिन यह अभी मजबूत नजर नहीं आ रहा है। इसकी वजह बढ़ती मुद्रास्फीति और भू-राजनीतिक तनाव के बीच वैश्विक स्तर पर नीतिगत रुख को सख्त किया जाना है। स्वस्तिका इन्वेस्टमार्ट के शोध प्रमुख संतोष मीणा ने कहा, रिजर्व बैंक की मौद्रिक समीक्षा, वैश्विक स्तर पर वृहद आंकड़े और कच्चे तेल के दाम इस सप्ताह बाजार की चाल तय करेंगे। रिजर्व बैंक की मौद्रिक समीक्षा बैठक के नतीजों की घोषणा आठ जून को होगी। रिजर्व बैंक द्वारा नीतिगत दरों में बढ़ोतरी तय मानी जा रही है, ऐसे में केंद्रीय बैंक की ‘टिप्पणी’ क्या रहती है, उसे देखना होगा। औद्योगिक उत्पादन (आईआईपी) के आंकड़े 10 जून को कारोबार बंद होने के बाद आएंगे।मीणा ने कहा कि वैश्विक मोर्चे पर गुरुवार को अमेरिका के बेरोजगारी दावों के आंकड़े और शुक्रवार को उपभोक्ता मूल्य सूचकांक के आंकड़े आने हैं। वैश्विक बाजारों की दृष्टि से ये काफी महत्वपूर्ण रहेंगे। उन्होंने कहा कि कच्चे तेल के दाम अभी ऊंचे हैं। यदि इनमें कमी नहीं आती, तो इससे बाजार की धारणा प्रभावित हो सकती है। इसके अलावा विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) अब भी बिकवाली कर रहे हैं। हालांकि, अब इसकी रफ्तार कुछ कम हुई है। मीणा ने कहा कि यदि कच्चे तेल के दाम में तेजी से रुपया कमजोर होता है, तो उनकी बिकवाली और बढ़ सकती है। बीते सप्ताह बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 884.57 अंक या 1.61 प्रतिशत के लाभ में रहा।रेलिगेयर ब्रोकिंग लि.के उपाध्यक्ष-शोध अजित मिश्रा ने कहा, तिमाही नतीजों का सीजन पीछे छूट चुका है। ऐसे में अब सभी का ध्यान मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की बैठक पर रहेगा। यह बैठक 6-8 जून तक होनी है। बाजार पहले ही नीतिगत दरों में एक और वृद्धि के लिए तैयार है। सभी का ध्यान मानसून के अनुकूल रहने के पूर्वानुमान के बीच रिजर्व बैंक की टिप्पणी पर रहेगा। उन्होंने कहा कि इसके अलावा वैश्विक बाजारों के प्रदर्शन और कच्चे तेल के दाम पर भी सभी की निगाह रहेगी। वृहद आर्थिक मोर्चे पर बाजार भागीदारों की निगाह 10 जून को आने वाले आईआईपी के आंकड़ों पर रहेगी। सैमको सिक्योरिटीज में इक्विटी शोध प्रमुख येशा शाह ने कहा कि इस सप्ताह मुद्रास्फीति पर सभी की निगाह रहेगी।

लगातर 3 दिन डाइट में शामिल करें ये चीजें और करें नेचुरल तरीके से 5 किलो वजन कम

लगातर3दिनडाइटमेंशामिलकरेंयेचीजेंऔरकरेंनेचुरलतरीकेसे5किलोवजनकम‘पाकिस्तान का एजेंडा आगे बढ़ा रही हैं महबूबा’, बोल बीजेपी में शामिल हुए पूर्व पीडीपी नेता******Highlights पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के पूर्व नेता सुरेंद्र चौधरी मंगलवार को अपने समर्थकों के साथ भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए। उन्होंने पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती पर पार्टी को बर्बाद करने और पाकिस्तानी एजेंडे को आगे बढ़ाने का आरोप लगाया। पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और जम्मू-कश्मीर के प्रभारी तरुण चुग ने चौधरी और उनके समर्थकों का बीजेपी में स्वागत किया। बीजेपी की जम्मू-कश्मीर इकाई के प्रमुख रविंदर रैना और पूर्व उपमुख्यमंत्री कवींद्र गुप्ता और देवेंद्र सिंह राणा सहित अन्य प्रमुख नेता इस मौके पर मौजूद थे।देवेंद्र सिंह राणा ने पिछले साल नेशनल कॉन्फ्रेंस छोड़ दी थी। प्रदेश हेडक्वॉर्टर में पूर्व एमएलसी चौधरी ने कहा, ‘मैंने पीडीपी के साथ विश्वासघात नहीं किया है, बल्कि पीडीपी ने मुझे धोखा दिया है।’ चौधरी ने कहा कि वह किसी व्यक्तिगत लाभ के लिए या किसी डर या दबाव में बीजेपी में शामिल नहीं हुए हैं। उन्होंने कहा, ‘मैं पार्टी की नीतियों, प्यार और सम्मान और देश को मजबूत करने के लिए इसमें शामिल हो रहा हूं। हम यह सुनिश्चित करने के लिए काम करेंगे कि जम्मू-कश्मीर में अगली सरकार भाजपा की बने।’रैना ने कहा, ‘चौधरी जम्मू में का चेहरा थे और उनके बीजेपी में शामिल होने से इस क्षेत्र में पार्टी खत्म हो गई है। नेशनल कॉन्फ्रेंस ने जम्मू में अपना चेहरा पहले ही खो दिया है, जब राणा ने पिछले साल पार्टी छोड़ दी और बीजेपी में शामिल हो गए।’

लगातर3दिनडाइटमेंशामिलकरेंयेचीजेंऔरकरेंनेचुरलतरीकेसे5किलोवजनकमश्वेता त्रिपाठी 'मिर्जापुर 2' में 'जीरो मेकअप लुक' में******अभिनेत्री श्वेता त्रिपाठी ने बहु-प्रतीक्षित वेब सीरीज 'मिर्जापुर 2' में अपने नए लुक से लोगों के दिलों को जीत लिया है। अब उन्होंने इस बात का खुलासा किया है कि अपने इस 'जीरो मेकअप लुक' के चलते उन्हें क्या करना पड़ा। सीरीज में श्वेता अपने गोलू के किरदार को दोहरा रही हैं। इसकी एक हालिया तस्वीर में वह किसी पर बंदूक ताने हुए और छोटे बालों में नजर आ रही हैं।श्वेता ने कहा, "इस शो के लिए मेरा 'जीरो मेकअप लुक' है। मैं बस चेहरे पर सनस्क्रीन लगाकर शूट पर चली जाती थी।"उन्होंने आगे बताया, "'मिर्जापुर' कुछ महीनों की एक लंबी प्रतिबद्धता थी। पहले पहल हमने शॉर्ट हेयर लुक के बारे में खूब चर्चा की, फिर मैंने बालों को काटने का सोचा, इसके बाद यह भी ख्याल आया कि चूंकि इस सीरीज पर काम एक लंबे समय तक के लिए चलना है, तो मेरी अन्य परियोजनाओं पर मेरा यह लुक सटीक नहीं बैठेगा। मैंने विग पहनने का आईडिया भी ठुकरा दिया, क्योंकि बनारस में धूप में शूटिंग करना था, तो कुल मिलाकर हमने इस पर काफी गहराई से सोचा, लेकिन फिर मुझे गुरु (निर्देशक) ने बाल कटवाने की सलाह दी।"श्वेता उन कलाकारों में से हैं जो अपने निर्देशक पर आंख मूंदकर भरोसा करती हैं।अपने निर्देशक की बात को मानते हुए और किरदार को ध्यान में रखते हुए श्वेता आखिकार इस शॉर्ट हेयर लुक के लिए पूरी तरह से तैयार हो गईं, जिसे अब दर्शकों द्वारा खूब पसंद किया जा रहा है।लगातर3दिनडाइटमेंशामिलकरेंयेचीजेंऔरकरेंनेचुरलतरीकेसे5किलोवजनकमअक्टूबर में केंद्र, राज्यों के बीच हुआ 32,000 करोड़ रुपए के IGST का बंटवारा, राज्‍यों को मिले 15,000 करोड़ से अधिक******IGST केंद्र और राज्यों के बीच अक्टूबर महीने में (आईजीएसटी) में पड़े 32,000 करोड़ रुपए का बंटवारा किया गया। एक अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि इसमें राज्यों का हिस्सा 15,000 करोड़ रुपए से अधिक का है। आईजीएसटी के बंटवारे से केंद्र और राज्यों के अक्टूबर माह के जीएसटी राजस्व में इजाफा हुआ है। माह के कुल राजस्व संग्रहण के आंकड़े एक नवंबर को जारी किए जाएंगे।यह पांचवां मौका है जब केंद्र और राज्यों के बीच आईजीएसटी कोष का बंटवारा किया गया है।इससे पहले सितंबर में आईजीएसटी के 29,000 करोड़ रुपए, अगस्त में 12,000 करोड़ रुपए, जून में 50,000 करोड़ रुपए और फरवरी में 35,000 करोड़ रुपए का बंटवारा किया गया था।अधिकारी ने कहा कि आईजीएसटी पूल में जब उल्लेखनीय राशि जमा हो जाती है तो उसका बंटवारा केंद्र और राज्यों के बीच किया जाता है ताकि यह केंद्र के पास बेकार न पड़ी रहे। अधिकारी ने कहा कि इस महीने 32,000 करोड़ रुपए का बंटवारा किया गया।जीएसटी के तहत वस्तुओं के उपभोग और सेवाओं पर जो कर लगाया जाता है उसका बंटवारा केंद्र और राज्य के बीच 50:50 में किया जाता है। इस तरह के कर को केंद्रीय जीएसटी (सीजीएसटी) और राज्य जीएसटी (एसजीएसटी) कहा जाता है। एक राज्य से दूसरे राज्यों को वस्तुओं की आवाजाही तथा आयात पर आईजीएसटी लगाया जाता है। आदर्श स्थिति यह मानी जाती है कि आईजीएसटी पूल में ‘शून्य’ राशि हो क्योंकि इस राशि का इस्तेमाल सीजीएसटी और एसजीएसटी के भुगतान में किया जाता है।

लगातर3दिनडाइटमेंशामिलकरेंयेचीजेंऔरकरेंनेचुरलतरीकेसे5किलोवजनकमशेयर बाजार की कोई भी कंपनी PWC से नहीं करा सकेगी ऑडिटिंग, SEBI ने लगाया 2 साल का प्रतिबंध****** शेयर बाजार में लिस्ट कंपनियों में से कोई भी कंपनी ग्लोबल ऑडिटिंग संस्था प्राइस वॉटरहाउस कूपर्स (PWC) से अपने खातों की ऑडिटिंग नहीं करा सकेगी। सेबी ने PWC पर लिस्टेड कंपनियों के खातों की ऑडिटिंग के लिए 2 साल तक की रोक लगा दी है। सेबी ने यह फैसला 8000 करोड़ रुपए के सत्यम घोटाले में PWC का नाम आने के बाद सुनाया है। PWC पर यह प्रतिबंध अप्रैल 2018 से लागू हो जाएगा।सेबी ने PWC पर इसके अलावा 13.09 करोड़ रुपए का जुर्माना भी लगाया है और जनवरी 2009 से लेकर अबतक इस जुर्माने पर 12 प्रतिशत सालाना की दर से ब्याज देने के लिए भी कहा है। यह प्रतिबंध अप्रैल 2018 से लागू हो जाएगा लेकिन इस साल मार्च अंत तक इसका असर नहीं पड़ेगा।सेबी ने इसके अलावा PWC के दो पुराने पार्टनर्स एस गोपालकृष्णन और श्रीनिवास तल्लौरी पर भी 3 साल का प्रतिबंध लगाया है। इन दोनो का नाम सत्यम घोटाले से जोड़कर देखा जाता है। जब 2009 में सत्यम घोटाला उजागर हुआ था तो उस समय इन दोनो ने ही सत्यम के खातों की ऑडिटिंग की थी।लगातर3दिनडाइटमेंशामिलकरेंयेचीजेंऔरकरेंनेचुरलतरीकेसे5किलोवजनकमभारतीय सेना ने स्विच ड्रोन के लिए IIT के पूर्व छात्रों की कंपनी के साथ किया 1.46 अरब रुपये का करार****** ने मानवरहित ड्रोन 'स्विच' को हासिल करने के लिए ideaForge Technology नाम की कंपनी के साथ करीब 1.46 अरब रुपये का करार किया है। मुंबई की एक कंपनी ने गुरुवार को बताया कि इस यूएवी के डैने मानवरहित विमान में फिक्स रहते हैं और यह वर्टिकल टेकऑफ व लैंडिंग में सक्षम है। यह विमान ऊंचे अक्षांशों और खराब मौसम में भी दिन-रात निगरानी कर सकता है।बता दें कि इंडियन इंस्‍टीट्यूट ऑफ टेक्‍नोलॉजी बॉम्‍बे () के तीन पूर्व छात्रों और देश के शीर्ष इंजीनियरिंग इंस्‍टीट्यूट द्वारा यह कंपनी बनाई गई है। आइडियाफोर्ज टेक्नोलॉजी नाम की इस कंपनी का गठन वर्ष 2007 में अंकित मेहता, राहुल सिंह और आशीष भट्ट ने बॉम्‍बे आईआईटी की इनक्‍यूबेटर SINE में किया था। आईआईटी बॉम्‍बे ने अपने ऑफिशियल फेसबुक पेज पर लिखा है, 'SINE और अंकित, राहुल और आशीष को हमारी बधाई। ये वाकई प्रशंसनीय है कि इन्‍हें पिछले साल यह एलुमनी अचीवर अवार्ड के लिए चुना गया है।'अपनी बेवसाइट पर कंपनी ने एक बयान में लिखा कि यह भारतीय सेना को ideaForge's स्विच UAV के मानव रहित एरियल व्‍हीकल उपलब्‍ध कराएगी। ऑपरेशनल जरूरत संबंधी सभी मापदंडों को पूरा करने की क्षमता के कारण ideaForge को यह करार दिया गया।कंपनी ने बताया कि स्विच विमान को भारतीय सेना को एक साल में सौंप दिया जाएगा। आइडियाफोर्ज को इस करार को अंजाम देने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। कंपनी के सीईओ अंकित मेहता ने कहा कि उनकी कंपनी ने भारतीय सेना में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेने के लिए तैयार किए गए इस मानवरहित विमान में तकनीकी और सटीक प्रदर्शन के लिए अपने संपूर्ण अनुभवों का निचोड़ डाल दिया है। उन्होंने कहा कि स्विच यूएवी ने ट्रायल के दौरान एक दर्जन भारतीय कंपनियों और विदेशी कंपनियों के साथ मुकाबला किया है। यह मानवरहित विमान भारतीय सेना की उम्मीदों और आवश्यकताओं पर खरा उतरा है।

लगातर3दिनडाइटमेंशामिलकरेंयेचीजेंऔरकरेंनेचुरलतरीकेसे5किलोवजनकमGautam Adani ने बेटे Karan Adani को सौंपी देश की दूसरी सबसे बड़ी सीमेंट कंपनी की कमान******दुनिया के दूसरे सबसे अमीर शख्स गौतम अडाणी ने अपने सीमेंट कारोबार की कमान अपने पुत्र करण अडाणी को सौंपी है। अडाणी समूह अंबुजा सीमेंट्स और एसीसी लि. को खरीद कर अल्ट्राटेक के बाद देश की दूसरी सबसे बड़ी सीमेंट निर्माता कंपनी बन गई है। अडाणी समूह का कारोबार बंदरगाह और ऊर्जा से लेकर हवाईअड्डा तथा दूरसंचार तक फैला है और अब इसमें सीमेंट भी जुड़ गया है।समूह ने शुक्रवार को एक बयान में 6.5 अरब डॉलर में अंबुजा सीमेंट्स और एसीसी के अधिग्रहण की घोषणा की। सौदे में होल्सिम की अंबुजा और एसीसी में हिस्सेदारी के अधिग्रहण के साथ शेयरधारकों के लिये खुली पेशकश शामिल है। अडाणी द्वारा अधिग्रहण के तुंरत बाद दोनों सीमेंट कंपनियों ने मुख्य कार्यपालक अधिकारियों (सीईओ) और मुख्य वित्त अधिकारियों (सीएफओ) समेत इन कंपनियों के निदेशक मंडल ने इस्तीफे की घोषणा की है।समूह ने अपने संस्थापक चेयरमैन गौतम अडाणी को अंबुजा सीमेंट्स का प्रमुख नामित किया है। उनके पुत्र करण सीमेंट कारोबार की जिम्मेदारी संभालेंगे। फिलहाल वह समूह के बंदरगाह कारोबार को देखेंगे। उन्हें दोनों कंपनियों में बतौर निदेशक और एसीसी लि. में चेयरमैन पद के लिये नामित किया गया है।पैंतीस साल के करण ने अमेरिका के पुड्रर्यू विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में स्नातक की डिग्री हासिल की है। वह फिलहाल अडाणी पोर्ट्स और एसईजेड लिमिटेड की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। दुनिया के तीसरे सबसे अमीर व्यक्ति 60 वर्षीय गौतम अडाणी के दो बेटे करण और जीत हैं। छोटे पुत्र जीत ने पेन्सिलवेनिया विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड एप्लॉयड साइंसेज से स्नातक की डिग्री ली है। वह समूह में वित्त मामलों के उपाध्यक्ष हैं।अडाणी समूह ने दोनों कंपनियों के निदेशक मंडल में स्वतंत्र निदेशकों को भी नामित कर दिया है। इनमें अंबुजा सीमेंट्स बोर्ड में भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के पूर्व चेयरमैन रजनीश कुमार और एसीसी बोर्ड में शेल इंडिया के पूर्व प्रमुख नितिन शुक्ला शामिल हैं। समूह ने नीरज अखौरी के स्थान पर अजय कुमार को अंबुजा सीमेंट्स का सीईओ बनाया है। श्रीधर बालकृष्णन एसीसी के सीईओ होंगे।अंबुजा सीमेंट्स के नये निदेशक मंडल ने तरजीही आधार पर वॉरंट आवंटन के जरिये कंपनी को गति देने के लिये 20,000 करोड़ रुपये की पूंजी डाले जाने को मंजूरी दी है। यह अडाणी का सबसे बड़ा अधिग्रहण है। साथ ही यह देश के बुनियादी ढांचा और सामाग्री खंड में अबतक का सबसे बड़ा विलय एवं अधिग्रहण सौदा है। बयान के अनुसार, अडाणी परिवार ने अपने विशेष उद्देश्यीय इकाई एंडेवर ट्रेड एंड इन्वेस्टमेंट लि. के जरिये स्विस कंपनी होल्सिम के साथ सौदा और खुली पेशकश प्रक्रिया पूरी करने के साथ अधिग्रहण पूरा कर लिया है।इस सौदे के पूरा होने के बाद अडाणी की अंबुजा सीमेंट्स में 63.15 प्रतिशत और एसीसी में 56.69 प्रतिशत हिस्सेदारी (अंबुजा सीमेंट्स के जरिये 50.05 प्रतिशत हिस्सेदारी) होगी। अंबुजा सीमेंट्स और एसीसी लि. का बाजार पूंजीकरण अभी 19 अरब डॉलर है। बयान के अनुसार, ‘‘सौदे के वित्तपोषण के तहत 4.50 अरब डॉलर का कर्ज 14 अंतरराष्ट्रीय बैंकों से लिया गया हैं। इसमें बार्कलेज बैंक और डॉयचे बैंक एजी शामिल हैं।लगातर3दिनडाइटमेंशामिलकरेंयेचीजेंऔरकरेंनेचुरलतरीकेसे5किलोवजनकमAaj Ka Panchang 3 August 2021: जानिए मंगलवार का पंचांग, शुभ मुहूर्त और राहुकाल******आज श्रावण कृष्ण पक्ष की उदया तिथि दशमी और मंगलवार का दिन है। दशमी तिथि आज दोपहर 12 बजकर 59 मिनट तक रहेगी। आज रात 12 बजकर 7 मिनट तक ध्रुव योग रहेगा।साथ ही आज देर रात 1 बजकर 44 मिनट तक रोहिणी नक्षत्र रहेगा। इसके अलावा आज दोपहर 12 बजकर 59 मिनट तक स्वर्ग लोक की भद्रा रहेगी। आज मंगला गौरी व्रत भी है।आचार्य इंदु प्रकाश से जानिए मंगलवारका पंचांग, शुभ मुहूर्त और राहुकाल।दशमी तिथि -आज दोपहर 12 बजकर 59 मिनट तक : दोपहर बाद 03:49 से शाम 05:30 तक : दोपहर बाद 03:59 से शाम 05:36 तक : दोपहर बाद 03:52 से शाम 05:34 तक : दोपहर बाद 03:32 से शाम 05:13 तक : दोपहर बाद 03:43 से शाम 05:22 तक: दोपहर 02:59 से शाम 04:38 तक : शाम 04:02 से शाम 05:41 तक : दोपहर बाद 03:25 से शाम 05:00 तकसूर्योदय- सुबह 5 बजकर 43 मिनट परसूर्यास्त- शाम 7 बजकर 10 मिनट पर

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 06:36
उद्धरण 1 इमारत
Uttarakhand News: उत्तराखंड में हुआ भीषण सड़क हादसा, बद्रीनाथ जा रही कार खाई में गिरी; 3 की मौत******Highlights बद्रीनाथ जा रही एक कार के शुक्रवार को गहरी खाई में जा गिरने से उसमें सवार मुंबई के तीन श्रद्धालुओं की मौत हो गयी और तीन अन्य घायल हो गए। मुनि की रेती के पुलिस थानाध्यक्ष रितेश शाह ने बताया कि हादसा ब्रहमपुरी श्री राम तपस्थली के नजदीक हुआ जब कार अनियंत्रित होकर अचानक 50 मीटर गहरी खाई में गिर गयी।उन्होंने बताया कि श्रद्धालु हरिद्वार से हिमालयी धाम बद्रीनाथ जा रहे थे। हादसे के समय कार में रूद्रप्रयाग के उखीमठ निवासी चालक समेत छह लोग सवार थे। पुलिस ने बताया कि घटना की सूचना मिलते ही वरिष्ठ पुलिस उपनिरीक्षक रमेश कुमार सैनी और उपनिरीक्षक आशीष शर्मा राज्य आपदा प्रतिवादन बल की टीम के साथ मौके पर पहुँचे।पुलिस ने बताया कि खाई से तीनों शवों को बरामद कर लिया गया है जबकि घायलों को बाहर निकाल कर ऋषिकेश के एक सरकारी अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है । घायलों में चालक भी शामिल है।कुछ दिनों पहले मुनि की रेती क्षेत्र के PWD तिराहे पर यात्रियों से भरी एक डबल डेकर बस पलट गई थी। बस में करीब 65 यात्री सवार थे। इस सड़क हादसे में एक महिला की मौत हो गई जबकि कम से कम 15 यात्री घायल बताए जा रहे थे। सभी लोग बलिया अगरसंडा के रहने वाले हैं। प्रभारी निरीक्षक रितेश शाह समेत कई पुलिसकर्मी मौके पर मौजूद रहे और यात्रियों को रेस्क्यू किया गया। घायलों को सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया गया।हादसे को लेकर लोगों ने बताया कि बस बेकाबू होकर सड़क पर अचानक पलट गई। सभी घायलों को 108, प्राइवेट वाहनों से AIIMS और सरकारी अस्पतालों में भेजा गया। दो पुलिस टीमें हॉस्पिटल के लिए रवाना की गईं और पुलिस ने दुर्घटनाग्रस्त बस का नंबर UP 54T 8131 बताया।
2022-10-01 04:26
उद्धरण 2 इमारत
ऋषभ पंत ने इस दौरे को बताया अपने जीवन का टर्निंग प्वॉइंट, कहा- दर्द से जूझते हुए इंजेक्शन लगवाकर की थी बल्लेबाजी******भारत के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने टेस्ट क्रिकेट में विदेशी सरजमीं पर शानदार प्रदर्शन कर अपनी अलग पहचान बनाई है। 2020-21 के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर उन्होंने भारत को हार से बचाया और सीरीज में ऐतिहासित जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई। पंत ने उस दौरे को अपने ‘जीवन का टर्निंग प्वाइंट’ बताया है। आपको बता दें कि उनकी बदौलत वहां भारत एक मैच ड्रॉ कराने और दूसरा जीतने में सफल रहा था।उसी बीच ऋषभ पंत ने यह भी बताया कि वह किस तरह दर्द से जूझ रहे थे लेकिन फिर भी उन्होंने दर्द निवारक इंजेक्शन लगवाए और बल्ला पकड़कर मैदान पर उतर गए। पंत ने उस दौरे पर सिडनी और ब्रिसबेन में अंतिम दो टेस्ट में अपनी दो शानदार पारियां खेली जिससे चोटों से जूझ रही भारतीय टीम पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए श्रृंखला जीतने में सफल रही।हालांकि इससे पहले पंत के लिए सब कुछ अच्छा नहीं रहा था और 2019 विश्व कप से पहले इस आक्रामक विकेटकीपर बल्लेबाज को भारत की सीमित ओवरों की टीम से बाहर कर दिया गया था। ड्रीम इलेवन के यूट्यूब चैनल पर महिला टीम की क्रिकेटर जेमिमा रोड्रिग्स से बात करते हुए पंत ने याद किया कि कैसे टीम से बाहर किए जाने के बाद उन्होंने सभी से बात करना बंद कर दिया था।पंत ने कहा, ‘‘मैं किसी से भी बात नहीं कर रहा था, यहां तक कि अपने परिवार और दोस्तों के साथ भी नहीं। मुझे अकेले समय बिताने की जरूरत थी। मैं प्रत्येक दिन अपना दो सौ प्रतिशत देना चाहता था।’’ इसे अपने जीवन का सबसे मुश्किल समय करार देते हुए इस क्रिकेटर ने कहा, ‘‘मैं सोच रहा था कि अब क्या होगा। मैं 22-23 साल का था। यह मानसिक रूप से मेरे जीवन का सबसे मुश्किल दौर था। मैं सोच रहा था कि अब क्या होगा।’’उन्होंने कहा, ‘‘अचानक सब कुछ रुक गया-आपको दो प्रारूप से बाहर कर दिया गया। शोर बढ़ता जा रहा था। सभी मुझे कह रहे थे कि यह संभव नहीं है। लेकिन साथ ही मैं अकेला बैठकर सोच रहा कि व्यक्तिगत रूप से अब मुझे क्या करना है। मेरे दिमाग में सिर्फ यही विचार आ रहा था कि चाहे कुछ भी हो मुझे प्रत्येक दिन कड़ी मेहनत करनी है। आप अपना दो सौ प्रतिशत दो। हम नतीजे को स्वीकार करेंगे, चाहे कुछ भी हो।’’पंत ने कहा, ‘‘मैं स्वयं से कह रहा था कि मेरे पास कोई विकल्प नहीं, मुझे अच्छा प्रदर्शन करना होगा। मुझे भारत को जिताना होगा।’’ ऑस्ट्रेलिया पर भारत की 2-1 की जीत के दौरान पंत टीम इंडिया की ओर से शीर्ष स्कोरर रहे। उन्होंने पांच पारियों में 274 रन बनाए और उनका औसत 68.50 का रहा। एडीलेड में गुलाबी गेंद के टेस्ट में रिद्धिमान साहा के चोटिल होने के बाद पंत को अंतिम एकादश में शामिल किया गया था।सिडनी में तीसरे टेस्ट के तीसरे दिन बल्लेबाजी करते हुए उनकी कोहनी में चोट लगी थी लेकिन उन्होंने 97 रन की पारी खेलकर भारत को हार से बचाया। पंत ने कहा, ‘‘मैंने मैच के दौरान दर्द निवारक इंजेक्शन लिया, नेट पर गया और मैं बल्ला पकड़ने का प्रयास कर रहा था लेकिन काफी दर्द हो रहा था। मैं घबरा रहा था और चोट लगने के बाद डरा भी हुआ था। इसके बाद पैट कमिंस, मिशेल स्टार्क और जोश हेजलवुड ने काफी तेज गति से गेंदबाजी की।’’पंत ने कहा कि उन्हें शतक से चूकने का मलाल नहीं है लेकिन उन्हें बुरा लग रहा था कि भारत उस स्थिति से मैच नहीं जीत पाया। उनके आउट होने के बाद रविचंद्रन अश्विन और हनुमा विहारी ने मैच ड्रॉ कराया और इस दौरान उन्होंने काफी गेंदों को अपने शरीर पर झेला। भारत ने इस सीरीज के आखिरी टेस्ट में ब्रिसबेन के गाबा क्रिकेट ग्राउंड पर पहली बार जीत दर्ज करते हुए इतिहास रचा था और सीरीज पर भी कब्जा किया था।
2022-10-01 04:19
उद्धरण 3 इमारत
Market outlook for next week: शेयर बाजार की अगले हफ्ते कैसी रहेगी चाल? सटीक आकलन यहां पढ़ें******Sensex पिछले कुछ महीनों से शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव का दौर देखने को मिल रहा है। ऐसे में निवेशकों को हर हफ्ते बाजार की चाल को लेकर ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है। जानकारों का कहना है कि अगल हफ्ता बाजार के लिए बड़ा उठापटक वाला हो सकता है। दरअसल, शेयर बाजारों की दिशा इस सप्ताह मुख्य रूप से भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक के नतीजों से तय होगी। इसके अलावा वैश्विक रुझान, विदेशी कोषों के रुख और कच्चे तेल की कीमतों पर भी बाजार भागीदारों की निगाह रहेगी।विश्लेषकों का कहना है कि बाजार में हाल में सुधार दिखा है, लेकिन यह अभी मजबूत नजर नहीं आ रहा है। इसकी वजह बढ़ती मुद्रास्फीति और भू-राजनीतिक तनाव के बीच वैश्विक स्तर पर नीतिगत रुख को सख्त किया जाना है। स्वस्तिका इन्वेस्टमार्ट के शोध प्रमुख संतोष मीणा ने कहा, रिजर्व बैंक की मौद्रिक समीक्षा, वैश्विक स्तर पर वृहद आंकड़े और कच्चे तेल के दाम इस सप्ताह बाजार की चाल तय करेंगे। रिजर्व बैंक की मौद्रिक समीक्षा बैठक के नतीजों की घोषणा आठ जून को होगी। रिजर्व बैंक द्वारा नीतिगत दरों में बढ़ोतरी तय मानी जा रही है, ऐसे में केंद्रीय बैंक की ‘टिप्पणी’ क्या रहती है, उसे देखना होगा। औद्योगिक उत्पादन (आईआईपी) के आंकड़े 10 जून को कारोबार बंद होने के बाद आएंगे।मीणा ने कहा कि वैश्विक मोर्चे पर गुरुवार को अमेरिका के बेरोजगारी दावों के आंकड़े और शुक्रवार को उपभोक्ता मूल्य सूचकांक के आंकड़े आने हैं। वैश्विक बाजारों की दृष्टि से ये काफी महत्वपूर्ण रहेंगे। उन्होंने कहा कि कच्चे तेल के दाम अभी ऊंचे हैं। यदि इनमें कमी नहीं आती, तो इससे बाजार की धारणा प्रभावित हो सकती है। इसके अलावा विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) अब भी बिकवाली कर रहे हैं। हालांकि, अब इसकी रफ्तार कुछ कम हुई है। मीणा ने कहा कि यदि कच्चे तेल के दाम में तेजी से रुपया कमजोर होता है, तो उनकी बिकवाली और बढ़ सकती है। बीते सप्ताह बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 884.57 अंक या 1.61 प्रतिशत के लाभ में रहा।रेलिगेयर ब्रोकिंग लि.के उपाध्यक्ष-शोध अजित मिश्रा ने कहा, तिमाही नतीजों का सीजन पीछे छूट चुका है। ऐसे में अब सभी का ध्यान मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की बैठक पर रहेगा। यह बैठक 6-8 जून तक होनी है। बाजार पहले ही नीतिगत दरों में एक और वृद्धि के लिए तैयार है। सभी का ध्यान मानसून के अनुकूल रहने के पूर्वानुमान के बीच रिजर्व बैंक की टिप्पणी पर रहेगा। उन्होंने कहा कि इसके अलावा वैश्विक बाजारों के प्रदर्शन और कच्चे तेल के दाम पर भी सभी की निगाह रहेगी। वृहद आर्थिक मोर्चे पर बाजार भागीदारों की निगाह 10 जून को आने वाले आईआईपी के आंकड़ों पर रहेगी। सैमको सिक्योरिटीज में इक्विटी शोध प्रमुख येशा शाह ने कहा कि इस सप्ताह मुद्रास्फीति पर सभी की निगाह रहेगी।
वापसी