नई पोस्ट करें

Delhi Vidhan Sabha Chunav 2020: लोकसभा चुनाव में CM केजरीवाल और डिप्टी CM सिसोदिया की सीट पर कैसा था AAP का प्रदर्शन?

2022-10-01 05:45:29 999

लोकसभाचुनावमेंCMकेजरीवालऔरडिप्टीCMसिसोदियाकीसीटपरकैसाथाAAPकाप्रदर्शनCPIM की वरिष्ठ नेता शैलजा ने मैगसेसे अवॉर्ड ठुकराया, बताई ये बड़ी वजह******Highlightsमार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) की वरिष्ठ नेता और केरल की पूर्व स्वास्थ्य मंत्री के.के.शैलजा ने रेमन मैगसेसे पुरस्कार लेने से इनकार कर दिया है, क्योंकि फिलीपीन के दिवंगत राष्ट्रपति कम्युनिस्टों के खिलाफ कथित क्रूरता के लिए जाने जाते थे। माकपा की केंद्रीय समिति की सदस्य शैलजा ने पार्टी के राष्ट्रीय नेतृत्व से सलाह-मशविरा करने के बाद यह फैसला किया। शैलजा ने केरल में संवाददाताओं से कहा कि उन्होंने इस पुरस्कार को अस्वीकार कर दिया, क्योंकि उन्हें व्यक्तिगत तौर पर इसे प्राप्त करने में कोई दिलचस्पी नहीं है।वहीं, माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि यह पुरस्कार रेमन मैगसेसे के नाम पर है, जिनका फिलीपीन में कम्युनिस्टों को कथित तौर पर कुचलने का इतिहास रहा है। केरल की पूर्व स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि उन्हें उस काम के लिए पुरस्कार देने के लिए विचार किया गया, जो वास्तव में सामूहिक प्रयास था और उनके द्वारा इसे (पुरस्कार) व्यक्तिगत तौर पर प्राप्त करना सही नहीं है। रविवार को कुछ मीडिया संस्थानों ने खबर दी कि शैलजा ने पार्टी के साथ विचार-विमर्श के बाद पुरस्कार लेने से इनकार कर दिया है।मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी की नेता शैलजा ने कहा, ‘‘शायद गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) कम्युनिस्ट विचारधारा के पक्ष में नहीं हों। इसलिए यह सही नहीं था कि मैं इसे एक व्यक्ति के रूप में प्राप्त करती क्योंकि मुझे यह उस चीज के लिए मिल रहा था, जो वास्तव में एक सामूहिक प्रयास था। इसलिए, मैंने पुरस्कार स्वीकार नहीं करने का फैसला किया।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैंने उन्हें धन्यवाद दिया और विनम्रतापूर्वक यह कहते हुए पुरस्कार लेने से इनकार कर दिया कि मुझे इसे व्यक्तिगत रूप से प्राप्त करने में कोई दिलचस्पी नहीं है।’’ येचुरी ने नयी दिल्ली में संवाददाताओं से कहा कि यह पुरस्कार केरल में सार्वजनिक स्वास्थ्य के मुद्दों के प्रबंधन के लिए दिया जा रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘यह केरल में एलडीएफ सरकार और स्वास्थ्य विभाग का सामूहिक प्रयास है। इसलिए, यह कोई व्यक्तिगत प्रयास नहीं है।’’

लोकसभाचुनावमेंCMकेजरीवालऔरडिप्टीCMसिसोदियाकीसीटपरकैसाथाAAPकाप्रदर्शनCoronavirus: पिछले 24 घंटे में 28 हजार से ज्यादा नए केस, 338 और लोगों की गई जान******भारत में एक दिन में के 28,591 नए मामले सामने आने से महामारी के कुल मामलों की संख्या 3,32,36,921 पर पहुंच गई जबकि करीब 6,600 लोगों के संक्रमण मुक्त होने से उपचाराधीन मरीजों की संख्या कम होकर 3,84,921 रह गई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सुबह आठ बजे जारी अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, रविवार को 338 मरीजों की मौत से मृतकों की कुल संख्या 4,42,655 पर पहुंच गई। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि 24 घंटे की अवधि में 6,595 लोग संक्रमण मुक्त हुए हैं जिससे उपचाराधीन मरीजों की संख्या कम होकर 3,84,921 हो गई है जो संक्रमण के कुल मामलों का 1.16 प्रतिशत है। कोविड-19 से स्वस्थ होने की दर 97.51 प्रतिशत दर्ज की गई। 24 घंटों में उपचाराधीन मरीजों की संख्या में 6,595 की कमी दर्ज की गई।आंकड़ों के मुताबिक, शनिवार को कोविड-19 का पता लगाने के लिए 15,30,125 नमूनों की जांच की गई। इसके साथ ही देश में अब तक जांचे गए नमूनों की संख्या 54,18,05,829 हो गई है। मंत्रालय ने बताया कि दैनिक संक्रमण दर 1.87 प्रतिशत दर्ज की गई। पिछले 13 दिनों से यह तीन प्रतिशत से कम रही है। साप्ताहिक संक्रमण दर 2.17 प्रतिशत दर्ज की गई। पिछले 79 दिनों से यह तीन फीसदी से कम रही है। इस बीमारी से स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 3,24,09,345 हो गई है जबकि मृत्यु दर 1.33 प्रतिशत है।देश में अबतक कोविड-19 रोधी टीकों की 73.82 करोड़ खुराक दी जा चुकी है। देश में पिछले साल सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितंबर को 40 लाख से अधिक हो गई थी। वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितंबर को 50 लाख, 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख और 20 नवंबर को 90 लाख के पार चले गए।देश में 19 दिसंबर को ये मामले एक करोड़ के पार, चार मई 2021 को दो करोड़ के पार और 23 जून को तीन करोड़ के पार चले गए थे। आंकड़ों के अनुसार, देश में जिन 338 और मरीजों ने जान गंवाई है उनमें से 181 की मौत केरल में और 35 लोगों की मौत महाराष्ट्र में हुई। इस महामारी अभी तक 4,42,655 लोगों की मौत हो चुकी है। इनमें से सबसे अधिक 1,38,096 लोगों की मौत महाराष्ट्र में, 37,487 की कर्नाटक, 25,083 की दिल्ली, 22,874 की उत्तर प्रदेश, 22,484 की केरल और 18,567 लोगों की मौत पश्चिम बंगाल में हुई। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि 70 प्रतिशत से अधिक मौत अन्य गंभीर बीमारियों के कारण हुई है।लोकसभाचुनावमेंCMकेजरीवालऔरडिप्टीCMसिसोदियाकीसीटपरकैसाथाAAPकाप्रदर्शनRCF, NFL में दिसंबर तक अपने शेयर बेचेगी सरकार, 1,200 से 1,500 करोड़ रुपये जुटेंगे******RCF, NFL में शेयर बिक्री से सरकार जुटाएगी 1500 करोड़ रुपयेनई दिल्ली। सरकार दो उर्वरक कंपनियों राष्ट्रीय केमिकल्स एंड फर्टिलाइजर्स लि. (आरसीएफ) और नेशनल फर्टिलाइजर्स लि. (एनएफएल) के शेयरों की बिक्री इस साल दिसंबर के अंत तक कर सकती है। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। इस शेयर बिक्री से सरकार को 1,200 से 1,500 करोड़ रुपये से अधिक प्राप्त हो सकते हैं। अधिकारी ने कहा कि सरकार बिक्री पेशकश (ओएफएस) के जरिये आरसीएफ में अपनी 10 प्रतिशत तथा एनएफएल में 20 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचेगी। अनुमान है कि इस शेयर बिक्री से सरकार को 1,200 से 1,500 करोड़ रुपये मिल सकते हैं। इस शेयर बिक्री के लिए मर्चेंट बैंकरों की नियुक्ति पहले ही की जा चुकी है।अधिकारी ने कहा कि सरकार ने उर्वरक क्षेत्र के लिए जो कदम उठाए हैं, उनसे आगामी महीनों में शेयरों का मूल्यांकन बेहतर हो सकता है। बीएसई में शुक्रवार को आरसीएफ का शेयर 72.5 रुपये पर और एनएफएल का 53.95 रुपये पर बंद हुआ। सरकार की फिलहाल एनएफएल में 74.71 प्रतिशत तथा आरसीएफ में 75 प्रतिशत हिस्सेदारी है। सरकार ने 2021-22 में विनिवेश के जरिये 1.5 लाख करोड़ रुपये जुटाने का महत्वाकांक्षी लक्ष्य रखा है। पिछले वित्त वर्ष में सरकार ने विनिवेश से 38,000 करोड़ रुपये जुटाए थे। चालू वित्त वर्ष में सरकार अबतक एक्सिस बैंक, एनएमडीसी लि.और हुडको में हिस्सेदारी बिक्री से 8,300 करोड़ रुपये जुटा चुकी है।सरकार ने गोल्डमैन सैक्स ग्रुप इंक, जेपी मॉर्गन चेज एंड कंपनी तथा आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज सहित 10 मर्चेंट बैंकरों का चयन जीवन बीमा निगम (एलआईसी) के आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के प्रबंधन के लिए किया है। एलआईसी देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी है। इस आईपीओ के लिए बुक रनिंग लीड प्रबंधक (बीआरएलएम) की भूमिका निभाने के लिए 10 घरेलू और अंतराष्ट्रीय कंपनियों ने 26 अगस्त को निवेश एवं लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) के समक्ष प्रस्तुतीकरण दिया था। इसे देश के इतिहास का सबसे बड़ा आईपीओ बताया जा रहा है। एक अधिकारी ने कहा, ‘‘गोल्डमैन सैश ग्रुप इंक, जेपी मॉर्गन चेज एंड कंपनी, आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज लि. कोटक महिंद्रा कैपिटल कंपनी, जेएम फाइनेंशियल लि. सिटीग्रुप इंक तथा नोमुरा होल्डिंग्स इंक सहित कुल 10 बीआरएलएम का चयन आईपीओ के प्रबंधन के लिए किया गया है।’

Delhi Vidhan Sabha Chunav 2020: लोकसभा चुनाव में CM केजरीवाल और डिप्टी CM सिसोदिया की सीट पर कैसा था AAP का प्रदर्शन?

लोकसभाचुनावमेंCMकेजरीवालऔरडिप्टीCMसिसोदियाकीसीटपरकैसाथाAAPकाप्रदर्शनAIMIM सांसद ने कहा-BJP को सत्ता से बाहर रखने के लिए,Congress और NCP से गठबंधन के लिए तैयार******महाराष्ट्र में औरंगाबाद से AIMIM लोकसभा सांसद इम्तियाज जलील ने हाल ही में एनसीपी नेता टोपे से मुलाकात की है। इस दौरान आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर काफी चर्चा हुई है। सासंद इम्तियाज जलील ने कहा कि उनकी पार्टी हर हाल में बीजेपी को रोकना चाहतें हैं और इसके लिए उन्हे एनसीपी और कांग्रेस से गठबंधन करने में भी किसी प्रकार की दिक्कत नही है। इम्तियाज जलीली ने कहा कि एनसीपी नेता को इस बड़े कदम के लिए पार्टी प्रमुख शरद पवार से बात करने की अपील की है ।किसी भी दल से गठबंधन के लिए हैं तैयार- इम्तियाज जलीलइंडिया टीवी से बात करते हुए सांसद इम्तियाज जलील ने कहा कि आज जरुरी ये है कि बीजेपी को किसी भी हाल में अलग-अलग राज्यों में जीतने से रोका जाए। ऐसे में अगर उनकी पार्टी AIMIM को किसी भी दल से गठबंधन करना भी पड़े को वो इसके लिए तैयार हैं। उन्होने कहा कि राज्य के स्वास्थ्य मंत्री और एनसीपी नेता राजेश टोपे से कहा कि, ‘हम पर अक्सर बीजेपी की बी टीम होने का आरोप लगता है। मैं आपको ऑफर देता हूं की हम बीजेपी को रोकने के लिए आपके साथ गठबंधन के लिए तैयार है। कांग्रेस से भी हाथ मिला सकतें है। आप पवार साहब से बात करें और हमे बताएं।‘मुस्लिम वोटों केविभाजन को रोकने के लिए बनाई रणनीतिAIMIM यह बात अच्छी तरह से जानती है कि उनके चुनावी मैदान में उतरने से मुस्लिम वोटों का विभाजन होगा,और अगर ऐसा हुआ तो उसका फायदा बीजेपी को मिलेगा। यही वजह है कि वो एनसीपी और कांग्रेस से भी हाथ मिलाने के लिए तैयार है। इम्तियाज जलील का कहना है कि ‘हम एनसीपी के जवाब का इंतजार कर रहें है। अगर इन्हे लगता है कि मुस्लिम वोटों में बंटवारा हमारी वजह से होता है तो हम गठबंधन के लिए तैयार हैंगौरतलब है कि महाराष्ट्र में AIMIM का बड़ा वोटबैंक है।महाराष्ट्र में AIMIM का एक सांसद, 2 विधायक, 130 पार्षद मौजूद हैं। इसके साथ ही महाराष्ट्र के मराठवाडा के कई जिलों में पार्टी की अच्छी पकड़ है। यह इलाका हैद्राबाद से सटा हुआ है।महाराष्ट्र में मुस्लिम आबादी करीब 12 प्रतिशत है। महाराष्ट्र के करीब 40 विधानसभा की सीटों पर मुस्लिम मतदाता सीधे असर डालते है।लोकसभाचुनावमेंCMकेजरीवालऔरडिप्टीCMसिसोदियाकीसीटपरकैसाथाAAPकाप्रदर्शनPetrol-Diesel Price Today: कच्चा तेल हुआ बहुत महंगा, भारत में बुधवार सुबह 6 बजे घोषित हुईं ताजा कीमतें******Petrol-Diesel Price TodayHighlights अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमतों में जोरदार उछाल आया है। विदेशी बाजार में कच्चा तेल 118 डॉलर प्रति बैरल के पार पहुंच गया है। जोकि बीत हफ्ते 108 डॉलर के नीचे आ गया था। ऐसे में 10 डॉलर की तेजी दुनिया की कई अर्थव्यवस्थाओं की कमर तोड़ रही है। लेकिन इसके बावजूद में पेट्रोल-डीजल के दाम (Petrol-diesel price) में 41वें दिन भी कोई बदलाव नहीं हुआ है।सरकारी तेल कंपनियों ने सुबह 6 बजे पेट्रोल-डीजल की कीमतों (Petrol-diesel price) की घोषणा। आज बुधवार 29 जून को भी देश की प्रमुख पेट्रोलियम कंपनियों ने पेट्रोल और डीजल के दामों में कोई बदलाव नहीं किया गया है।दिल्‍ली में पेट्रोल अब भी 96.72 रुपये और मुंबई में 109.27 रुपये लीटर बिक रहा है। देश में सबसे सस्ते पेट्रोल की बात करें तो यह पोर्ट ब्लेयर में है, जहां इसकी कीमत 84.10 रुपये है और डीजल ₹79.74 लीटर है।बीते साल नवंबर से दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 95.41 रुपये प्रति लीटर थी, जबकि डीजल 86.67 रुपये प्रति लीटर बिक रहा था। इसके बाद यूपी सहित 5 राज्यों में चुनाव खत्म होते ही कई बार पेट्रोल-डीजल के दामों में बदलाव देखने को मिला। रूस-यूक्रेन युद्ध के बाद देश में पेट्रोल-डीजल के दाम आसमान छूने लगे। 6 अप्रैल तक पेट्रोल-डीजल में करीब 10 रुपये का इजाफा हुआ। देश की राजधानी दिल्ली में 12 अप्रैल 2022 को पेट्रोल की कीमत (Delhi Petrol Price Today) 105.41 रुपए और डीजल (Delhi Diesel Price Today) 96.67 रुपए प्रति लीटर है। लेकिन 21 मई को केंद्र सरकार की पहल के बाद लोगों को एक बार फिर से राहत मिली।अगर आप पेट्रोल-डीजल के लेटेस्‍ट रेट चेक करना चाहते हैं तो इसके ल‍िए तेल कंपन‍ियां SMS के माध्‍यम से रेट चेक करने की सुविधा देती हैं। इंडियन ऑयल (IOC) के उपभोक्ता RSP<डीलर कोड> लिखकर 9224992249 नंबर पर व एचपीसीएल (HPCL) के उपभोक्ता HPPRICE <डीलर कोड> लिखकर 9222201122 नंबर पर भेज सकते हैं। बीपीसीएल (BPCL) उपभोक्ता RSP<डीलर कोड> लिखकर 9223112222 नंबर पर भेज सकते हैं।लोकसभाचुनावमेंCMकेजरीवालऔरडिप्टीCMसिसोदियाकीसीटपरकैसाथाAAPकाप्रदर्शनPM Narendra Modi Govt 8 Years: मोदी सरकार ने 8 साल में देश में क्या बदला? जानें इंडिया टीवी के मंच पर क्या बोले दिग्गज****** प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के 8 साल पूरे होने पर भारतीय जनता पार्टी देश भर में जश्न मना रही है। इस सिलसिले में बीजेपी केंद्र सरकार के बड़े-बड़े कामों को देश के हर शहर, हर गांव, हर बूथ तक पहुंचा रही है। वहीं विपक्ष महंगाई, रोज़गार और पेट्रोल-डीज़ल की कीमतों को लेकर लगातार मोदी सरकार को निशाना बना रहा है। जाहिर है इन सबके बीच लोगों के मन में एक ही सवाल है कि मोदी सरकार के 8 साल में देश क्या बदला है? पिछले 8 साल में मोदी सरकार ने कितने कमाल किए और मोदी सरकार पर कितने सवाल उठे। मोदी ने आठ साल में देश में क्या बदला, और क्या नहीं बदल पाए। मोदी सरकार के मंत्रियों और अलग-अलग क्षेत्र के दिग्गजों के साथ इन्हीं सवालों पर इंडिया टीवी संवाद के मंच पर चर्चा जारी है।

Delhi Vidhan Sabha Chunav 2020: लोकसभा चुनाव में CM केजरीवाल और डिप्टी CM सिसोदिया की सीट पर कैसा था AAP का प्रदर्शन?

लोकसभाचुनावमेंCMकेजरीवालऔरडिप्टीCMसिसोदियाकीसीटपरकैसाथाAAPकाप्रदर्शनबैंकों को मिल सकती है NPA पर राहत, वित्त वर्ष के अंत तक घटकर 6.9% पर आने का अनुमान******बैंकों को मिल सकती है NPA पर राहतनई दिल्ली। बैंकों की सकल गैर निष्पादित आस्तियां (एनपीए) यानी कुल फंसा कर्ज और शुद्ध एनपीए मार्च, 2022 के अंत तक घटकर क्रमशः 6.9 से 7 प्रतिशत के बीच और 2.2 से 2.3 प्रतिशत के बीच तक आने का अनुमान है। मार्च 2021 को समाप्त वित्त वर्ष में यह क्रमशः 7.6 प्रतिशत और 2.5 प्रतिशत था। रेटिंग एजेंसी इक्रा की एक रिपोर्ट में यह अनुमान लगाया गया है। सकल एनपीए और शुद्ध एनपीए 31 मार्च, 2020 को क्रमशः 8.6 प्रतिशत और 3.0 प्रतिशत थे।क्रेडिट रेटिंग एजेंसी ने कहा, "सकल एनपीए और शुद्ध एनपीए के मार्च, 2022 तक घटकर 6.9 से 7 प्रतिशत और 2.2 से 2.3 प्रतिशत तक आने उम्मीद है। इससे बैंकों के मुनाफे के मोर्चे पर कुछ राहत मिल सकेगी।’’ रेटिंग एजेंसी ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर के दौरान किसी नियामकीय राहत के अभाव में नए एनपीए का सृजन उच्चस्तर पर बना रहा। अप्रैल-जून तिमाही के दौरान नया एनपीए एक लाख करोड़ रुपये (सालाना आधार पर 4.1 प्रतिशत की दर) रहा। वहीं इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में यह 2.5 लाख करोड़ रुपये या 2.7 प्रतिशत रहा था। इक्रा का अनुमान हे कि चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में यह 70,000 से 80,000 करोड़ रुपये या 2.8 से 3.2 प्रतिशत रहेगा। हालांकि, चालू वित्त वर्ष की दूसरी छमाही के दौरान इसके घटकर 2-2.4 प्रतिशत रह जाने का अनुमान है।इससे पहले क्रिसिल ने अपनी रिपोर्ट में कहा था कि बैंकों के ग्रॉस एनपीए चालू वित्त वर्ष में बढ़कर 9 प्रतिशत तक पहुंच सकते हैं। क्रिसिल के मुताबिक अगर ऐसा होता है, तो यह वित्त वर्ष 2017-18 के अंत के 11.2 प्रतिशत के आंकड़े से काफी कम होगा। एजेंसी के अनुसार कर्ज पुनर्गठन और आपातकालीन ऋण सुविधा गारंटी योजना (ईसीएलजीएस) जैसे कोविड-19 राहत उपायों से बैंकों के सकल एनपीए को सीमित रखने में मदद मिलेगी।लोकसभाचुनावमेंCMकेजरीवालऔरडिप्टीCMसिसोदियाकीसीटपरकैसाथाAAPकाप्रदर्शनMuharram 2019: जानें इस्लाम में मुहर्रम का महत्व और इसके पीछे की पूरी कहानी******इस्लामी कैलेंडर के पहले महीने को 'मुहर्म'कहते हैंऔर महीने के 10वें दिन को यौम-ए-आशुरा के नाम से भी जाना जाता है।अरबी भाषा में इस अशुरा शब्द का मतलब होता है दसवां दिन। इस साल 10 सितंबर मंगलवार को 'मुहर्म' यानी अशुरा मनाया जाएगा। शिया मुस्लमान मुहर्म मनाते हैं और यह अशुरा यानि 10 दिन तक शोक के रूप में मनाते हैं। इसके पीछे की खास वजह यह है कि शिया मुस्लमान के मुताबिक इसी दिन पैगंबर मुहम्मद के पोते इमाम हुसैन को उनके परिवार के द्वारा धर्म की रक्षा करने के लिए उनकी शहादत दे दी गई थी।मुहर्म के पीछे की कहानी यह है कि हजरत मुहम्मद के नवासे हजरत इमाम हुसैन इस्लाम धर्म की रक्षा करने के लिए इराक के प्रमुख शहर कर्बला में यजीद से जंग लड़ रहे थे। यजीद के पास काफी बड़ीसैनाथीऔर वह अपने सैनिक बल के दम से हजरत इमाम हुसैन और उनके काफिले पर काफी जुल्म और शोषण कर रहा था। याजीद उस क्षेत्र में इतना ज्यादा जुर्म कर रहा था उसकी कोई सीमा न थी।यजीद ने वहां रह रहे लोग, बूढ़े, जवान, बच्चों पर पानी पीने तक पर पहरा लगा दिया था। भूख- प्यास के बीच जारी इस युद्ध में हजरत इमाम हुसैन ने यजीद के सामने हार मानने से ज्यादा अच्छा अपनी प्राणों की आहुति देना ही ठीक समझा। और यही वो दिन था जब हजरत इमाम हुसैन और पूरा काफिला शहीद हो गया। इसलिए इस दिन को इमाम हुसैन और उनके काफिले को याद करते हुए मुहर्म के तौर पर हर साल मनाया जाता है।

Delhi Vidhan Sabha Chunav 2020: लोकसभा चुनाव में CM केजरीवाल और डिप्टी CM सिसोदिया की सीट पर कैसा था AAP का प्रदर्शन?

लोकसभाचुनावमेंCMकेजरीवालऔरडिप्टीCMसिसोदियाकीसीटपरकैसाथाAAPकाप्रदर्शनबारबोरा क्रेजीकोवा ने जीता फ्रेंच ओपन महिला सिंगल का खिताब******चेक गणराज्य की गैर वरीय बारबोरा क्रेजीकोवा ने अनास्तासिया पेवलियुचेंकोवा को 6 .1, 2 .6, 6 .4 से हराकर फ्रेंच ओपन महिला एकल खिताब जीत लिया । क्रेजीकोवा के कैरियर का यह पांचवां खिताब है । पिछले पांच साल में रोलां गैरो पर खिताब जीतने वाली वह तीसरी गैर वरीय खिलाड़ी है ।वह अब वर्ष 2000 के बाद दोहरा खिताब जीतने वाली पहली महिला खिलाड़ी बनने की कोशिश में होंगी । उस समय मैरी पियर्स ने महिला एकल और युगल दोनों खिताब जीते थे । क्रेजीकोवा और कैटेरिया सिनियाकोवा पहले ही दो ग्रैडस्लैम युगल खिताब जीत चुकी हैं और अब उन्हें फाइनल खेलना है ।अनास्ताासिया के कैरियर का यह पहला ग्रैंडस्लैम फाइनल था । दूसरे सेट में उन्हें बायें पैर में चोट का उपचार कराना पड़ा । क्रेजीकोवा के कैरियर का यह दूसरा डब्ल्यूटीए एकल खिताब है। उसने पिछले महीने फ्रांस के स्ट्रासबर्ग में खिताब अपने नाम किया था ।फ्रेंच ओपन महिला वर्ग में लगातार छठी बार कोई नयी चैम्पियन बनी है । दूसरी वरीयता प्राप्त और चार बार की ग्रैंडस्लैम विजेता नाओमी ओसाका ने एक मैच के बाद मानसिक स्वास्थ्य का हवाला देकर नाम वापिस ले लिया था ।मीडिया से बातचीत की अनिवार्यता को लेकर उनकी अधिकारियों से ठन गई थी। नंबर एक खिलाड़ी ऐश बार्टी को बायें कूल्हे में चोट के कारण दूसरे दौर से बाहर होना पड़ा । सेरेना विलियम्स चौथे दौर में और गत चैम्पियन इगा स्वियातेक क्वार्टर फाइनल में हार गईथी ।

लोकसभाचुनावमेंCMकेजरीवालऔरडिप्टीCMसिसोदियाकीसीटपरकैसाथाAAPकाप्रदर्शनअगले साल 30 से अधिक IPO कतार में, बाजार से जुटाएंगे 30,000 करोड़ रुपये से अधिक रकम******अगले साल 30 से अधिक आईपीओ कतार मेंनई दिल्ली। वर्ष 2020 में आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के मामले में बाजार का प्रदर्शन अच्छा रहने के बाद अब अगले साल के लिए भी 30 से अधिक आईपीओ कतार में है। इनका कुल मूल्य 30,000 करोड़ रुपये से अधिक रहने का अनुमान है। इस साल विभिन्न कंपनियों ने आईपीओ के माध्यम से 25,000 करोड़ रुपये से अधिक की राशि जुटायी है। वहीं पिछले कुछ महीनों में आगे और निर्गम लाने की भी घोषणा की गयी है। तुलनात्मक तौर पर देखा जाए तो 2020 में कोविड-19 महामारी और उसके चलते लगे लॉकडाउन के बावजूद चालू वित्त वर्ष की दूसरी और तीसरी तिमाही में आईपीओ का प्रदर्शन बेहतर रहा। यह 2019 से बेहतर स्थिति है जब 16 आईपीओ ने मात्र 12,362 करोड़ रुपये ही जुटाए थे। जबकि उससे पिछले साल 2018 में 24 कंपनियों ने अपना आईपीओ जारी किया था और 30,959 करोड़ रुपये जुटाए थे। वर्ष 2019 में 2018 के मुकाबले पूरे 60 प्रतिशत की गिरावट देखी गयी थी।आने वाले वर्ष में कल्याण ज्वैलर्स, इंडिगो पेंट्स, स्टोव क्राफ्ट, सामही होटल्स, एपीजे सुरेंद्र पार्क होटल्स, न्यूरिका, मिसेज बैक्टर फूड्स और जोमैटो के आईपीओ कतार में है। वहीं यदि सरकार अपने इरादे पर आगे बढ़ती है तो 2021 में भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) के आईपीओ की भी बाजार में दस्तक देने की उम्मीद है। यह देश का अब तक का सबसे बड़ा आईपीओ होने का अनुमान है जो पिछले सभी रिकॉर्ड तोड़ सकता है। एलआईसी का बाजार मूल्यांकन हजारों अरब रुपये में होने का अनुमान है। बाजार विशेषज्ञों की माने तो इनमें से अधिकतर आईपीओ के जनवरी-मार्च में बाजार में आने की संभावना है। इस तरह चालू वित्त वर्ष का अंत सकारात्मक रुख के साथ होने की उम्मीद है। अन्य बड़े कॉरपोरेट आईपीओ में केरल के कल्याण ज्वैलर्स के आईपीओ का आकार 1,750 करोड़ रुपये और इंडिगो पेंट्स के आईपीओ का आकार लगभग 1,000 करोड़ रुपये का रहेगा।लोकसभाचुनावमेंCMकेजरीवालऔरडिप्टीCMसिसोदियाकीसीटपरकैसाथाAAPकाप्रदर्शनUPPSC JE Result 2013: जूनियर इंजिनयिर परीक्षा के नतीजे हुए घोषित, यहां से करें चेक****** उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने जूनियर इंजिनिनियर पदों के लिए आयोजित परीक्षा का रिजल्ट जारी कर दिया है। यह रिजल्ट परीक्षा आयोजित होने के तीन साल बाद जारी किया गया है। जिन आवेदकों ने यह परीक्षा दी है वो अपना रिजल्ट यूपीपीएसई की ऑफिशल वेबसाइट uppsc.up.nic.in पर जाकर देख सकते हैं।उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (UPPSC) की तरफ से जूनियर इंजीनियर की परीक्षा 22 मई 2016 को आयोजित की गई थी।वहीं परीक्षा का विज्ञापन 24 दिसंबर 2013 को जारी किया गया था। यह परीक्षा प्रयागराज (इलाहाबाद), वाराणसी, लखनऊ सहित कई परीक्षा केंद्रों पर आयोजित की गई थी जिसमे लाखों की संख्या में अभ्यर्थी शामिल हुए थे। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (UPPSC) की जूनियर इंजीनियर मेंस की परीक्षा में कुल 3710 अभ्यर्थी सफल हुए हैं। जूनियर इंजीनियर मेंस की परीक्षा में सफल हुए अभ्यर्थियों को अब इंटरव्यू के लिए उपस्थित होना होगा। इंटरव्यू डेट अभी आयोग ने जारी नहीं किया है।आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (UPPSC) इस भर्ती के जरिए जूनियर इंजीनियर के कुल 2462 पदों पर नियुक्तियां करेगा। नियुक्तियों से जुड़ी अधिक जानकारी अभ्यर्थी आयोग की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर चेक कर सकते हैं। आयोग की ऑफिशियल वेबसाइट पर पूरी जानकारी विस्तार में दी गई है।

लोकसभाचुनावमेंCMकेजरीवालऔरडिप्टीCMसिसोदियाकीसीटपरकैसाथाAAPकाप्रदर्शनGold खरीदने का गोल्डन चांस आ गया! देखें कई शहरों के आज का रेट******Gold खरीदने का गोल्डन चांस आ गया! देखें कई शहरों के आज के रेटआजकल देशभर में चर्चा है कि गोल्ड के दाम कम हो रहे हैं और गोल्ड खरीदने का ये गोल्डन चांस है, लेकिन बहुत से लोगों को लगता है कि सोना खरीदने में कुछ दिन और इंतजार करना चाहिए क्योंकि दामअभी और कम हो सकते हैं। अगर आपके मन में भी गोल्ड खरीदने को लेकर कोई कंफ्यूजन है तो सोल्यूशन देती हमारी यह रिपोर्ट जरूर देखिए। इस रिपोर्ट में आपके हर सवाल का जवाब मिल जाएगा। सोना सस्ता हो रहा है।पिछले तीन महीने के अंदर सोने की कीमत कितनी गिरी है इसके आंकड़े हम आपको बताते है। 13 जनवरी को 24 कैरेट 10 ग्राम गोल्ड की कीमत 49 हज़ार 460 रुपये थी। लेकिन अगले महीने 13 फरवरी को गोल्ड की रेट2 हज़ार से ज़्यादा गिरकर 47 हज़ार 340 पर आ गई। आज की तारीख़ में 24 कैरेट गोल्ड की कीमत 44 हजार 520 के आसपास है।पढ़ें- पढ़ें- देश की राजधानी दिल्ली में 24 कैरेट 10 ग्राम गोल्ड की कीमत 47990 रुपए रही जबकि 22 कैरेट की रेट 43990 रुपए हो गई। कोलकाता में गोल्ड की कीमत दिल्ली से सस्ती रही यहां 24 कैरेट की रेट 46930 रुपए जबकि22 कैरेट का रेट 44290 रहा। मुंबई में आज गोल्ड की रेट सबसे कम 44 हजार 520 रुपए और 22 कैरेट की रेट 1000 कम 43520 रुपए है। चेन्नई में 24 कैरेट की रेट 45590 जबकि 22 कैरेट की रेट सबसे कम 41790 रुपएहो गई है।पढ़ें- दिल्ली में 24 कैरेट का रेट 47990 और 22 कैरेट का 43990 है। कोलकाता में 24 कैरेट का रेट 46930 और 22 कैरेट का 44,290 है। मुंबई में 24 कैरेट का रेट 44520 और 22 कैरेट का 43520 है। चेन्नई में 24 कैरेट कारेट 45590 और 22 कैरेट का 41790 है।कुछ एक्सपर्ट मान रहे है कि अगर बाज़ार का माहौल ऐसा ही रहा तो गोल्ड 40 हज़ार के आसपास पहुंच सकता है जबकि कुछ लोग गोल्ड गिरती कीमत को सिर्फ मार्च एंड तक देख रहे हैं इसके बाद बाद मई में गोल्ड कीकीमत फिर से बढ़ सकती है। लेकिन पिछले साल की तुलना में देखा जाये तो मार्च के महीने में सोने की कीमत में ऑल टाइम हाई से12 हजार रुपये से भी ज़्यादा गिर चुकी है।अगस्त 2020 में सोना 28 फीसदी तक चढ़ा था और रेट 56 हज़ार से ऊपर चली गईं थी लेकिन अब रेट 12 हजार रुपये तक गिर चुकी हैं और अब गोल्ड 44 हजा़र 520 रुपये की रेट से बिक रहा है। इतना ही नहीं चांदी केदाम भी 10 हजार रुपए तक गिर चुके है।पढ़ें- कुछ लोगों का मानना है कि अभी सोने की कीमत और कम होंगी जबकि कुछ एक्सपर्ट का मानना है कि होली के बाद शादियों के सीज़न में सोने की कीमत बढ़ सकती हैं। अब सवाल है कि किसकी बात बात मानी जायेक्योंकि अलग-अलग राय बहुत कन्फ्यूज़न पैदा कर रही हैं इसलिए सबसे पहले गोल्ड की कीमतों के गिरने के कुछ कारण समझ लीजिए। शेयर मार्किट में तेजी, डॉलर में सुधार, इंपोर्ट ड्यूटी में कमी, सेंट्रल बैंकों में गोल्ड कीमांग कम, क्रिप्टो करेंसी में निवेश, गोल्ड में निवेश कम। आइए अब इन कारणों को डिटेल में भी समझ लीजिए।पूरी दुनिया में फैली कोरोना महामारी की वजह से शेयर मार्किट में भारी गिरावट आई ऐसे में इनवेस्टर्स ने गोल्ड में निवेश करना शुरू कर दिया था लेकिन अब हालात फिर से सुधरने लगे हैं और लोग शेयर मार्किट में इनवेस्टकर रहे हैं इसलिए गोल्ड की कीमत गिर रही है।इंटरनेशनल गोल्ड की ट्रेडिंग अमेरिकी डॉलर में होती है इसलिए कोरोना में डॉलर की कमजोरी से सोने का भाव बढ़ गये लेकिन अब डॉलर की कीमत फिर से सुधर रही है जिसका असर सोने की कीमत पर पड़ रहा है।सोने की कीमतों में कमी का एक बड़ा कारण इस साल बजट में सोना और चांदी में इंपोर्ट ड्यूटी यानी आयात शुल्क में कटौती होना है।वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इंपोर्ट ड्यूटी में 5 प्रतिशत की कटौती घोषणा कर दी है फिलहाल सोने और चांदी पर 12.5 फीसदी आयात शुल्क चुकाना पड़ता है लेकिन अब आने वाले दिनों में सोने और चांदी पर सिर्फ7.5 फीसदी इंपोर्ट ड्यूटी चुकानी होगी... इससे सोने और चांदी की कीमतों में कमी आने की उम्मीद है।इससे पहले जुलाई 2019 में सोने पर इंपोर्ट ड्यूटी 10 फीसदी से बढ़ाकर 12.5 फीसदी किया गया था जिसकी वजह से देश में सोने के दाम काफी बढ़ गये थे लेकिन अब ड्यूटी घटाने की वजह से दाम में कमी दिखना शुरू होगई है। इसके अलावा इंटरनेशनल मार्केट में गोल्ड के इनवेस्टमेंट में आई कमी की वजह से भी सोने के दाम कम हुए हैं।गोल्ड में इन्वेस्ट करने वालों को पिछले साल 2020 में सोने ने 28 फीसदी का रिटर्न दिया था जबकि उससे पहले 2019 में भी सोने का रिटर्न करीब 25 फीसदी रहा था। अगर आप लॉन्ग टर्म के लिए निवेश कर रहे हैं तो सोनाखरीदने का ये राइट टाइम हैं लेकिन ये दाम आने वाले 10 -15 दिन तक ही कम रह सकते हैं। इसके बाद सोने के दाम वापस बढ़ना शुरू हो जाएंगे इसलिए सोने में इन्वेस्ट करने के लिए लिए ये सही समय है जिसका फ़ायदाआपको दिवाली के आसपास मिल सकता है।लोकसभाचुनावमेंCMकेजरीवालऔरडिप्टीCMसिसोदियाकीसीटपरकैसाथाAAPकाप्रदर्शनशीर्ष 10 में से 8 कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 1.57 लाख करोड़ रुपए बढ़ा, आरआईएल शीर्ष पर******Eight of 10 most valued companies add Rs 1.57 lakh crore in market capitalisation, RIL shinesसेंसेक्स की शीर्ष 10 में से आठ कंपनियों का बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैप) पिछले सप्ताह कुल मिलाकर 1,57,270.8 करोड़ रुपए बढ़ा। इस दौरान रिलायंस इंडस्ट्रीज (आरआईएल) का बाजार पूंजीकरण सर्वाधिक 31,981 करोड़ रुपए बढ़ा। बीते सप्ताह सिर्फ टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) और इन्फोसिस के बाजार पूंजीकरण में गिरावट आयी। आलोच्य सप्ताह के दौरान का बाजार पूंजीकरण 31,981.45 करोड़ रुपए बढ़कर 9,08,888.02 करोड़ रुपए पर पहुंच गया। इसके अलावा एचडीएफसी बैंक का बाजार पूंजीकरण 23,503.35 करोड़ रुपएकी बढ़त लेकर 6,80,391.85 करोड़ रुपए, एचडीएफसी का बाजार पूंजीकरण 23,385.05 करोड़ रुपए अधिक होकर 4,16,003.19 करोड़ रुपए, भारती एयरटेल का बाजार पूंजीकरण 23,049.72 करोड़ रुपए उछलकर 2,94,381.87 करोड़ रुपए और आईसीआईसीआई बैंक का बाजार पूंजीकरण 20,676.16 करोड़ रुपए की वृद्धि के साथ 3,47,086.53 करोड़ रुपएपर पहुंच गया।इनके अलावा हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड का 18,617.38 करोड़ रुपए की बढ़त के साथ 4,67,512.81 करोड़ रुपए, भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) का बाजार पूंजीकरण 15,484.2 करोड़ रुपए की मजबूती के साथ 2,86,033.80 करोड़ रुपए और कोटक महिंद्रा बैंक का बाजार पूंजीकरण 573.46 करोड़ रुपए चढ़कर 3,15,920.07 करोड़ रुपए पर पहुंच गया।हालांकि इस दौरान टीसीएस का बाजार पूंजीकरण 10,656.8 करोड़ रुपए गिरकर 8,01,772.04 करोड़ रुपए पर और इन्फोसिस का 1,296.88 करोड़ रुपए कम होकर 3,30,983.22 करोड़ रुपएपर आ गया।बाजार पूंजीकरण के हिसाब से रिलायंस इंडस्ट्रीज शीर्ष पर बनी रही। इसके बाद टीसीएस, एचडीएफसी बैंक, हिंदुस्तान यूनिलीवर, एचडीएफसी, आईसीआईसीआई बैंक, इन्फोसिस, कोटक महिंद्रा बैंक, भारती एयरटेल और भारतीय स्टेट बैंक का स्थान रहा। आलोच्य सप्ताह के दौरान सेंसेक्स में 1,406.32 अंक यानी 3.53 प्रतिशत की बढ़त दर्ज हुई।

लोकसभाचुनावमेंCMकेजरीवालऔरडिप्टीCMसिसोदियाकीसीटपरकैसाथाAAPकाप्रदर्शनCitizenship Amendment Bill: लोकसभा में पास हुआ नागरिकता संशोधन बिल, अमित शाह बोले- किसी भी धर्म के लोगों को डरने की जरूरत नहीं****** सिटीजनशिप अमेंडमेंट बिल लोकसभा में पास हो गया है। मोदी सरकार द्वारा लोकसभा में पेश किए गए नागरिकता संशोधन बिल के पक्ष में 311 वोट पड़े जबकि विपक्ष में 80 वोट पड़े।इस बिल को पास करने से पहले संसद में चर्चा करते हुए अमित शाह ने कहा कि जब तक नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री हैं, जब तक भारत सरकार का धर्म संविधान ही है और देश में किसी धर्म के लोगों को डरने की जरूरत नहीं है। उन्होंने लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए कहा कि यह विधेयक लाखों करोड़ों शरणार्थियों को यातनापूर्ण नरक जैसे जीवन से मुक्ति दिलाने का साधन बनने जा रहा है जो लोग भारत के प्रति श्रद्धा रखते हुए हमारे देश में आए, उन्हें नागरिकता मिलेगी। शाह ने कहा कि देश में एनआरसी आकर रहेगा और जब एनआरसी आयेगा तब देश में एक भी घुसपैठिया बच नहीं पायेगा।उन्होंने कहा कि किसी भी को कभी स्वीकार नहीं किया जायेगा। विधेयक में अफगानिस्तान, और पाकिस्तान से धार्मिक प्रताड़ना के कारण भारत आए हिन्दू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदायों के लोगों को भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन करने का पात्र बनाने का प्रावधान है। विपक्षी सदस्यों की आशंकाओं को खारिज करते हुए शाह ने कहा कि मैं सदन के माध्यम से पूरे देश को आश्वास्त करना चाहता हूं कि यह विधेयक कहीं से भी असंवैधानिक नहीं है और संविधान के अनुच्छेद 14 का उल्लंघन नहीं करता।उन्होंने कहा कि यह विधेयक किसी धर्म के खिलाफ भेदभाव वाला नहीं है। तीन देशों के अंदर प्रताड़ित अल्पसंख्यकों के लिए है जो घुसपैठिये नहीं, शरणार्थी हैं। उन्होंने अपनी बात दोहराई कि अगर इस देश का विभाजन धर्म के आधार पर नहीं होता तो मुझे विधेयक लाने की जरूरत ही नहीं पड़ती। शाह ने कहा कि नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री रहते हुए देश में किसी धर्म के लोगों को डरने की जरूरत नहीं है। यह सरकार सभी को सम्मान और सुरक्षा देने के लिए प्रतिबद्ध है। जब तक मोदी प्रधानमंत्री हैं, संविधान ही सरकार का धर्म है।उन्होंने बताया कि 1947 में पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की आबादी 23 प्रतिशत थी। 2011 में 23 प्रतिशत से कम होकर 3.7 प्रतिशत हो गयी। बांग्लादेश में 1947 में अल्पसंख्यकों की आबादी 22 प्रतिशत थी जो 2011 में कम होकर 7.8 प्रतिशत हो गयी। शाह ने कहा कि भारत में 1951 में 84 प्रतिशत हिंदू थे जो 2011 में कम होकर 79 फीसदी रह गये, वहीं मुसलमान 1951 में 9.8 प्रतिशत थे जो 2011 में 14.8 प्रतिशत हो गये। उन्होंने कहा कि इसलिये यह कहना गलत है कि भारत में धर्म के आधार पर भेदभाव हो रहा है । उन्होंने कहा कि धर्म के आधार पर भेदभाव न हो रहा है और ना आगे होगा। उन्होंने कहा कि यह कहना गलत होगा कि भारत में धर्म के आधार पर भेदभाव हो रहा है। देश में धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं हो रहा है और ना आगे होगा। उन्होंने कहा, ‘‘ मैं दोहराना चाहता हूं कि देश में किसी शरणार्थी नीति की जरूरत नहीं है। भारत में शरणार्थियों के संरक्षण के लिए पर्याप्त कानून हैं।’’गृह मंत्री ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि मोहम्मद अली जिन्ना ने जिस द्विराष्ट्र नीति की बात की, उसे कांग्रेस ने क्यों स्वीकार किया। रोका क्यों नहीं। महात्मा गांधी ने विरोध किया था लेकिन कांग्रेस ने धर्म के आधार पर देश का विभाजन स्वीकार किया था, यह ऐतिहासिक सत्य है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस देश में ऐसी धर्मनिरपेक्ष पार्टी है जिसकी केरल में सहयोगी मुस्लिम लीग है और महाराष्ट्र में शिवसेना उसकी सहयोगी है। शाह ने एनआरसी विफल होने के विपक्ष के कुछ सदस्यों के विचार पर कहा, ‘‘मैं फिर से आश्वस्त करना चाहता हूं कि जब हम एनआरसी लेकर आएंगे तो देश में एक भी घुसपैठिया बच नहीं पाएगा।’’शाह ने कहा कि हमारा रुख साफ है कि इस देश में एनआरसी लागू होकर रहेगा। हमारा घोषणापत्र ही इसकी पृष्ठभूमि है। शाह ने कहा कि एनआरसी और इस विधेयक में कोई संबंध नहीं है। वोट बैंक के लिए घुसपैठियों को शरण देने की कोशिश करने वालों को हम सफल नहीं होने देंगे। गृह मंत्री ने एआईएमआईएम के असदुद्दीन ओवैसी के बयान पर कहा कि हमें मुसलमानों से कोई नफरत नहीं है। आप भी नफरत पैदा करने की कोशिश मत करना। उन्होंने साफ किया कि इस देश के किसी मुसलमान का इस विधेयक से कोई वास्ता नहीं है।लोकसभाचुनावमेंCMकेजरीवालऔरडिप्टीCMसिसोदियाकीसीटपरकैसाथाAAPकाप्रदर्शनजानिए कब शुरू होगी ‘फुकरे 3’ की शूटिंग? ऋचा चड्ढा ने किया खुलासा******बॉलीवुड अभिनेत्री ऋचा चड्ढा का कहना है कि दोस्तों के जिंदगी पर आधारित हिट कॉमेडी फ्रेंचाइजी ‘फुकरे’ की तीसरी फिल्म ‘फुकरे 3’ की शूटिंग फरवरी में शुरू होगी। कोविड-19 महामारी के कारण ‘फुकरे 3’ की शूटिंग पिछले साल टाल दी गयी थी।ऋचा के मुताबिक फिल्म की शूटिंग छह अलग-अलग शहरों में होगी, जिसकी तैयारी उन्होंने शुरू कर दी है। फिल्म का निर्देशन मृगदीप सिंह लांबा करेंगे। महाराष्ट्र में पिछले साल अप्रैल में ही फिल्म की शूटिंग शुरू होने वाली थी, लेकिन लॉकडाउन के कारण फिल्म की शूटिंग टाल दी गयी थी।ऋचा ने कहा, ‘‘हम तैयार हैं, हम अगले महीने फिल्म की शूटिंग करने जा रहे हैं। मेरा कॉस्ट्यूम ट्रायल का कार्यक्रम है, मैं फिल्म के लिए घुड़सवारी भी सीख रही हूं। फिल्म बहुत ही शानदार और बेहतर होने वाली है, मैं वास्तव में बेहद उत्साहित हूं।’’‘फुकरे 3’ का निर्माण रितेश सिधवानी और फरहान अख्तर की कंपनी एक्सेल इंटरटेनमेंट कर रही है।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 05:52
उद्धरण 1 इमारत
'डांस दीवाने' के सेट पर 'केकेके 11' के फाइनलिस्ट संग पहुंचे होस्ट रोहित शेट्टी******: 'खतरों के खिलाड़ी 11' के फाइनलिस्ट और होस्ट रोहित शेट्टी 'डांस दीवाने' के आगामी 'महासंगम' एपिसोड के लिए 'डांस दीवाने' के सेट पर पहुंचे। शो में जज माधुरी दीक्षित, तुषार कालिया और धर्मेश येलांडे, 'स्टंट मास्टर' रोहित शेट्टी, मेजबान भारती सिंह और हर्ष लिंबाचिया के साथ, सभी 'खतरों के खिलाड़ी' के साहसी फाइनलिस्ट अर्जुन बिजलानी, राहुल वैद्य, दिव्यांका त्रिपाठी, श्वेता तिवारी और विशाल आदित्य सिंह एक साथ नजर आएंगे। एपिसोड स्टंट और डांस परफॉर्मेंस से भरपूर होने वाला है।इस विशेष 'महासंगम' एपिसोड में, अभिनेता और साहसी 'खिलाड़ी' (खिलाड़ी) अर्जुन बिजलानी एक बार फिर मेजबान के रूप में नजर आएंगे। उन्हें अक्सर शो के पिछले सीजन में अभिनेत्री माधुरी दीक्षित के साथ मस्ती करते देखा गया था।इस बार भी वह भव्य जज के साथ कुछ मजेदार पल साझा करेंगे और लावणी नृत्य करते हुए प्रतियोगी के साथ थिरकेंगे।अपने अनुभव के बारे में बात करते हुए, अर्जुन बिजलानी कहते हैं कि 'डांस दीवाने' के सेट पर होना मेरे लिए घर वापसी जैसा है। मैं पिछले दो सीजन से इस शो के साथ एक होस्ट के रूप में जुड़ा हुआ हूं और इस साल भी इसे होस्ट करता, अगर मैं 'खतरों के खिलाड़ी' की शूटिंग नहीं कर रहा होता। 'डांस दीवाने' के सेट पर 'महासंगम' एपिसोड की शूटिंग में मुझे बहुत मजा आया क्योंकि यह बहुत सारी यादें वापस ले आई और मुझे यकीन है कि यह दर्शकों के लिए एक यादगार वीकेंड होगा।कलर्स पर प्रसारित होता है 'डांस दीवाने'।
2022-10-01 04:50
उद्धरण 2 इमारत
रोल्स रॉयस ने लॉन्‍च की आठवीं पीढ़ी की नई फेंटम, इसकी कीमत है 9.5 करोड़ से लेकर 11.5 करोड़ रुपए तक****** लक्जरी कार निर्माता ने मंगलवार को उत्तर भारत में अपने फेंटम सिरीज की आठवीं पीढ़ी की नई कार को लॉन्‍च किया। नए एल्यूमिनियम सुपरफ्रेम प्लेटफार्म पर बनी इस आठवीं पीढ़ी की फेंटम कार की कीमत 9.5 करोड़ से लेकर 11.5 करोड़ रुपए तक है। फेंटम को दुनिया की सबसे लक्जरियस कार का दर्जा प्राप्त है। कंपनी का कहना है कि नई फेंटम इसके पुराने मॉडल से 30 फीसदी अधिक मजबूत और हल्‍की है। कंपनी ने इसके निर्माण में उसी प्लेटफॉर्म का उपयोग किया है, जिस पर उसने अपने पहले एसयूवी-द कुलिनन का निर्माण किया है।इस कार में 6.75 लीटर का विशालकाय वी12 इंजन लगा है। यह 8 स्पीड ऑटोमेटिक गियरबॉक्स से सुसज्जित है। यह कार 0 से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार 5.3 सेकेंड में पकड़ सकती है।नई फेंटम कार में स्टारलिट रूफ के अलावा दरवाजों को खोलने और बंद करने के लिए बटन लगे हैं। इस कार का निर्माण बिजनेस क्लास को ध्यान में रखकर किया गया है और कंपनी का दावा है कि कार बाजार में इससे अधिक लक्जरियस कार अभी नहीं उतरी है।
2022-10-01 03:56
उद्धरण 3 इमारत
Madhya Pradesh Crime: चचेरे भाइयों ने कुल्हाड़ी से काटी युवक की गर्दन, जादू-टोना करवाने का था शक******Highlightsमध्य प्रदेश के दमोह जिले के एक गांव में दो लोगों ने जादू-टोना करवाने के शक में एक युवक की कथित तौर पर कुल्हाड़ी मारकर हत्या कर दी। यह घटना हिंडोरिया थाना क्षेत्र के खंचारी पटी गांव में शनिवार को हुई। बांदकपुर पुलिस चौकी के प्रभारी उप-निरीक्षक बी एस हजारी ने रविवार को बताया कि करीब दो सप्ताह पहले खंचारी पटी गांव में एक कुएं का दूषित पानी पीने से दर्जनों लोग बीमार हुए थे। इनमें से दो लोगों की बाद में मौत हो गई थी।मृतकों में एक गेंदाबाई पाल नाम की महिलाभी शामिल थी।आपको बता दें कि पुलिस के मुताबिक दूषित पानी पीने से हुई मौतों में एक गेंदाबाई पाल नाम की महिला भी मौत हुई थी। सब इंपस्पेक्टर हजारी ने कहा कि गेंदाबाई के परिजनों को शक था कि उसके चचेरे भाइयों ने महिला पर कोई जादू-टोना करवाया है, जिससे उसकी मौत हुई है। इसी बात को लेकर दोनों परिवारों के बीच तनाव चल रहा था। हजारी के मुताबिक, शनिवार सुबह परम पाल और गेंदारानी का पति पर्वत पाल अपने चचेरे भाई मोहन पाल के पास पहुंचे और कहा कि रविवार को तेरहवीं है, जिसके लिए लकड़ी काटने चलना है, इसलिए साथ में चलो। जिसके बाद उसकी हत्या कर दी गई।सब इंपस्पेक्टर हजारी ने बताया कि जब मोहन कुल्हाड़ी लेकर अपने चचेरे भाइयों के साथ घर के पीछे बाड़े में गया तो इसी दौरान पीछे खड़े परम और पर्वत ने कुल्हाड़ियों से मोहन की गर्दन पर वार कर दिया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। हजारी के अनुसार, घटना की जानकारी जैसे ही परिजनों को मिली, उन्होंने पुलिस को सूचित किया। इसके बाद पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और हत्या का मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी।
वापसी