नई पोस्ट करें

भारत का विदेशी मुद्रा भंड़ार 1.492 बिलियन डॉलर बढ़कर 641.008 बिलियन डॉलर पर पहुंचा

2022-10-01 06:13:23 918

भारतकाविदेशीमुद्राभंड़ार1492बिलियनडॉलरबढ़कर641008बिलियनडॉलरपरपहुंचाएसबीआई का तीसरी तिमाही में शुद्ध लाभ 41% बढ़कर 6,797.25 करोड़ रुपए पहुंचा, एनपीए घटा******SBI profit jumps 41per cent to Rs 6,797 crore in Q3 on lower provisioning देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) का शुद्ध लाभ वर्ष 2019 की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में एक साल पहले की इसी अवधि से 41 प्रतिशत बढ़कर 6,797.25 करोड़ रुपएहो गया। इसकी बड़ी वजह बैंक के फंसे कर्जों के लिए नुकसान का प्रावधान का होना है। एक साल पहले इसी अवधि में उसे 4,823.29 करोड़ रुपए का एकीकृत शुद्ध लाभ हुआ था। ने शेयर बाजारों को बताया कि तीसरी तिमाही में उसकी एकीकृत आय बढ़कर 95,384.28 करोड़ रुपए रही, जो 2018-19 की इसी तिमाही में 84,390.14 करोड़ रुपए थी। बैंक का प्रदर्शन परिसंपत्तियों के मोर्चे पर सुधरा है। 31 दिसंबर 2019 तक बैंक की सकल गैर-निष्पादित परिसंपत्तियां (एनपीए) गिरकर 6.94 प्रतिशत रही। एक साल पहले इसी अवधि में यह आंकड़ा 8.71 प्रतिशत पर था।इस दौरान, शुद्ध भी 3.95 प्रतिशत से गिरकर 2.65 प्रतिशत पर आ गया। एकल आधार पर, बैंक का शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में 41.2 प्रतिशत बढ़कर 5,583.36 करोड़ रुपये हो गया। 2018-19 की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में उसे 3,954.81 करोड़ रुपए का एकल शुद्ध लाभ हुआ था। स्टेट बैंक ने कहा, 'किसी भी तिमाही में यह उसका अब तक का सबसे अधिक शुद्ध लाभ है।'2019-20 की तीसरी तिमाही में बैंक की एकल आय बढ़कर 76,797.91 करोड़ रुपये रही, जो 2018-19 की इसी तिमाही में 70,311.84 करोड़ रुपए थी। एकल आधार पर, बैंक का फंसे कर्ज के लिए प्रावधान कम होकर 8,193.06 करोड़ रुपये रह गया। 2018-19 की तीसरी तिमाही के दौरान उसने 13,970.82 करोड़ रुपए का प्रावधान किया था।

भारतकाविदेशीमुद्राभंड़ार1492बिलियनडॉलरबढ़कर641008बिलियनडॉलरपरपहुंचाIPL 2022: RCB के खिलाफ मिली 8 विकेट से करारी हार के बाद कप्तान हार्दिक पांड्या ने बताई कहां हुई उनकी टीम से चूक******रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के हाथों आईपीएल के आखिरी लीग मैच में आठ विकेट से मिली हार के बाद गुजरात टाइटंस के कप्तान हार्दिक पंड्या ने कहा कि उनकी टीम दस रन पीछे रह गई। जीत के लिये 169 रन का लक्ष्य आरसीबी ने दो विकेट खोकर आठ गेंद बाकी रहते हासिल कर लिया। आरसीबी के लिए विराट कोहली ने बेहतरीन 73 रनों की पारी खेली।पंड्या ने मैच के बाद कहा ,‘‘ हम आखिर में दस रन पीछे रह गए। ग्लेन मैक्सवेल ने अपने चिर परिचित अंदाज में बल्लेबाजी की। हम सही रास्ते पर थे लेकिन लगातार दो विकेट गंवाने से लय टूटी। इससे यह सबक मिला है कि प्लेआफ में लगातार विकेट नहीं गंवाने हैं।’’मैच में अर्धशतक जमाने वाले पंड्या ने अपने फॉर्म के बारे में कहा ,‘‘ रन बनाकर हमेशा अच्छा लगता है। खिलाड़ियों के बीच अच्छा तालमेल है और यह मैच हमारे लिये सबक की तरह रहा।’’प्लेऑफ में पहुंचने के लिये आरसीबी को दिल्ली और मुंबई के बीच मैच में दिल्ली की हार की दुआ करनी होगी। आरसीबी के ऑलराउंडर मैक्सवेल ने कहा ,‘‘ हम उस मैच पर नजरें रखेंगे। कल गोल्फ खेलूंगा लेकिन फोकस मैच पर रहेगा। इस टीम ने इतनी मेहनत की है कि हम अंतिम चार में रहने के हकदार हैं। उम्मीद है कि मुंबई इंडियंस हमें वहां पहुंचायेगी।’’भारतकाविदेशीमुद्राभंड़ार1492बिलियनडॉलरबढ़कर641008बिलियनडॉलरपरपहुंचाBihar News: आतंकियों के निशाने पर था PM मोदी का बिहार दौरा! झारखंड पुलिस का रिटायर्ड दरोगा समेत 3 संदिग्ध गिरफ्तार******Highlightsपीएम मोदी का बिहार दौरा आतंकियों के निशाने पर था। जी हां, पुलिस ने इसका खुलासा करते हुए झारखंड पुलिस का रिटायर्ड दरोगा समेत 3 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं 26 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। 12 जुलाई को पीएम मोदी पटना पहुंचे थे। उनके दौरे से 15 दिन पहले फुलवारी शरीफ में संदिग्ध आतंकियों की ट्रेनिंग भी शुरू हो गई थी। जानकारी मिलते ही पुलिस ने यहां छापेमारी कर दो लोगों को गिरफ्तार किया है। कथित आतंकियों में से एक झारखंड पुलिस का रिटायर्ड दरोगा मोहम्मद जलालुद्दीन और दूसरा अहतर परवेज है। अहतर परवेज पटना के गांधी मैदान में हुए बम धमाके का आरोपी मंजर का सगा भाई है। पटना के SSP ने बताया कि- ''हम रूटीन काम के दौरान ऐसे संस्थानों (पीएफआई) पर नजर रखते हैं। पीएम के आते ही हम अलर्ट पर थे। हमें इसकी जानकारी मिली और बारीकी से जांच शुरू की। 26 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज हुआ है जिनमें से 3 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है।'' फुलवारी शरीफ में चल रही थी आतंक मचाने की ट्रेनिंगपुलिस ने बताया कि मोहम्मद जलालुद्दीन और अहतर परवेज दोनों संदिग्ध आतंकवादी पिछले कुछ समय से पटना के फुलवारी शरीफ इलाके में आतंक मचाने की ट्रेनिंग दे रहे थे। जानकारी के मुताबिक अहतर किराए पर मोहम्मद जलालुद्दीन के फुलवारीशरीफ स्थित अहमद पैलेस, नया टोला इलाके में फ्लैट लिया था और वहीं से वह देश विरोधी मुहिम चला रहा था। बताया जा रहा है कि अहतर परवेज और मोहम्मद जलालुद्दीन का मुख्य उद्देश्य हिंदुओं के खिलाफ मुस्लिमों को भड़काना था।भारत को 2047 तक इस्लामिक मुल्क बनाने का जिक्रजानकारी के मुताबिक अहतर परवेज और मोहम्मद जलालुद्दीन दोनों एनजीओ (NGO)के नाम पर आतंक की फैक्ट्री चला रहे थे। ज्यादातर यहां केरल, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु और देश के कई अन्य राज्यों से यहां युवा ट्रेनिंग लेने आते थे। पुलिस ने खुलासा किया है कि दोनों संदिग्धों का संबंध पाकिस्तान, बांग्लादेश और तुर्की समेत कई इस्लामिक देशों से है। इन देशों से फंडिंग हो रही थी। पुलिस ने बताया कि दोनों संदिग्ध आतंकवादियों के तार पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI)और सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (SDPI) से जुड़े हैं। पुलिस ने इन दोनों के पास से पीएफआई का झंडा, बुकलेट, पंपलेट और कई संदिग्ध दस्तावेज बरामद किए हैं। जिसमें भारत को 2047 तक इस्लामिक मुल्क बनाने का जिक्र किया गया है।

भारत का विदेशी मुद्रा भंड़ार 1.492 बिलियन डॉलर बढ़कर 641.008 बिलियन डॉलर पर पहुंचा

भारतकाविदेशीमुद्राभंड़ार1492बिलियनडॉलरबढ़कर641008बिलियनडॉलरपरपहुंचाआज सूर्य कर रहा है तुला राशि पर प्रवेश, इन राशि के जातकों को होगा बिजनेस पर भारी नुकसान******सूर्यदेव आपके पहले स्थान पर गोचर करेंगे। सूर्यदेव के इस गोचर से अगले 30 दिनों के दौरान आपके प्रेम-संबंधों में कुछ उतार-चढ़ाव आ सकते हैं। आपको पैसों की आवाजाही बढ़ाने के लिये अधिक मेहनत करनी पड़ सकती है। समाज में उचित मान-सम्मान बनाये रखने में परेशानी आ सकती है। अतः 16 नवम्बर तक इन परेशानियों से बचने के लिये और सूर्यदेव की शुभ स्थिति सुनिश्चित करने के लिये रोज सुबह उठकर सूर्यदेव को जल से अर्घ्य दें।सूर्यदेव आपके बारहवें स्थान पर गोचर करेंगे। सूर्यदेव के इस गोचर से आपको शैय्या सुख की प्राप्ति होगी, लेकिन साथ ही आपके खर्चों में भी कुछ वृद्धि हो सकती है। आप अपने घर-परिवार की जरूरतों को पूरा करने में अधिक पैसा खर्च कर सकते हैं। अतः 16 नवम्बर तक जीवन में शैय्या सुख का लाभ बनाये रखने के लिये और पैसों की स्थिति पर कंट्रोल रखने के लिये -धर्म-कर्म के कामों में अपना हाथ बटायें और सुबह के समय अपने घर के खिड़की-दरवाजे खुले रखें, जिससे सूर्य की रोशनी घर में बनी रहे।भारतकाविदेशीमुद्राभंड़ार1492बिलियनडॉलरबढ़कर641008बिलियनडॉलरपरपहुंचाUS Spy Satellite: तीसरे विश्व युद्ध के मंडराते खतरों के बीच अमेरिका ने छोड़ा एक और जासूसी उपग्रह, जानें कैसे करेगा निगरानी******Highlights जिस तरह से विभिन्न देशों के बीच युद्ध चल रहा है और कई देशों के बीच युद्ध जैसे हालात लगातार बने हुए हैं, उसे देखकर तीसरे विश्व युद्ध की आशंका बढ़ती ही जा रही है। कई देशों ने अभी से तीसरे विश्व युद्ध की तैयारियां शुरू कर दी हैं। ऐसे में सुपर पॉवर अमेरिका ने अंतरिक्ष में अपना एक और जासूसी उपग्रह छोड़कर सबको परेशान कर दिया है। रूस, चीन और उत्तर कोरिया अमेरिका के इस मिशन से सर्वाधिक तनाव में हैं। क्या अमेरिका इस जासूसी उपग्रह से दुनिया के विभिन्न देशों की निगरानी करेगा? वैसे अमेरिका के पास इससे पहले भी कई ऐसे जासूसी उपग्रह हैं, जो विभिन्न देशों की निगरानी लगातार करते रहते हैं।हाल ही में अमेरिका के एक ऐसे ही उपग्रह ने समुद्र में उत्तर कोरिया की विनाशक जंग की तैयारी की पोल खोल दी है, जिससे पूरी दुनिया में हलचल मच गई है। अमेरिका ने स्पाई सैटेलाइट के जरिये समुद्र से ली गई तस्वीरों में पानी के भीतर उत्तर कोरिया के खतरनाक मंसूबों और तैयारियों को कैमरे में कैद किया है। जानकारों का कहना है कि अमेरिका तीसरे विश्व युद्ध के खतरों के बीच अपनी निगरानी क्षमता को बढ़ा रहा है। इसलिए अब एक नया जासूसी उपग्रह एनआरओएल-91 को प्रक्षेपित किया है।अमेरिका ने 24 सितंबर को अपराह्न 3.25 बजे एनआरओएल-91 नामक नए जासूसी उपग्रह का सफल प्रक्षेपण किया है। इसे कैलिफोर्निया के सांता बारबरा काउंटी स्थित वेंडेनबर्ग स्पेस फोर्स से प्रक्षेपित किया गया। यूएस राष्ट्रीय टोही कार्यालय के लिए वर्गीकृत इस उपग्रह को शनिवार को यूनाइटेड लांच एलायंस डेल्टा-4 हेवी रॉकेट के जरिये कक्षा में लांच किया गया। यह पश्चिमी तट से डेल्टा-4 का अंतिम प्रक्षेपण था। डेल्टा को ULA की अगली पीढ़ी के वल्कन सेंटर रॉकेटों द्वारा प्रतिस्थापित करने से पहले फ्लोरिडा से अतिरिक्त लांच की योजना बनाई गई है।डेल्टा IV हेवी कॉन्फ़िगरेशन पहली बार दिसंबर 2004 में लांच किया गया था। यह 1960 के बाद से डेल्टा रॉकेट की 387वीं उड़ान थी और वेंडेनबर्ग से 95वीं और अंतिम लांचिंग थी। राष्ट्रीय टोही कार्यालय अमेरिकी जासूसी उपग्रहों के विकास, निर्माण, प्रक्षेपण और रखरखाव की प्रभारी सरकारी एजेंसी है जो नीति निर्माताओं, खुफिया समुदाय और रक्षा विभाग को खुफिया डेटा प्रदान करते हैं। यह दुनिया के विभिन्न देशों की निगरानी करते हुए महत्वपूर्ण गुप्त जानकारियां अमेरिका को मुहैया कराती है।यह ऑप्टिकल इमेज टोही उपग्रह होते हैं। इनमें एक चार्ज कपल्ड डिवाइस(सीसीडी) लगी होती है। इसके जरिये यह सैकड़ों किलोमीटर की ऊंचाई से पृथ्वी के विभिन्न स्थानों की स्पष्ट तस्वीर खींच लेते हैं। अमेरिका के कई उपग्रह इतने अधिक शक्तिशाली हैं कि वह जमीन और पानी के अंदर चल रही गतिविधियों को भी अपने कैमरे में कैद कर लेते हैं।वैसे तो अमेरिका दुनिया के किसी भी देश की निगरानी अपने जासूसी उपग्रहों से करता रहता है, लेकिन वह इस बार अपने इस उपग्रह से विशेष रूप चीन और उत्तर कोरिया समेत रूस पर पैनी नजर रखेगा। क्योंकि अमेरिका को सबसे ज्यादा खतरा इन्हीं देशों से है। ताइवान मामले पर जिस तरह से अमेरिका और चीन के बीच वाकयुद्ध चल रहा है, उससे चीन अपने युद्ध की तैयारियों में जुटा है। इसी तरह यूक्रेन पर परमाणु हमले को लेकर रूस भी अपनी तैयारी कर चुका है। उधर उत्तर कोरिया भी खतरनाक हथियारों के ट्रायल में जुटा है। वह जमीन से लेकर समुद्र के भीतर तक जंग की तैयारियां कर रहा है। ऐसे में अमेरिका ने सभी देशों की निगरानी को और तेज करने के मकसद से इस उपग्रह को छोड़ा है।भारतकाविदेशीमुद्राभंड़ार1492बिलियनडॉलरबढ़कर641008बिलियनडॉलरपरपहुंचाभारत में 45 नए डेटा केंद्र बनाने की योजना, 2025 तक डेटा सेंटर की मांग 2,100 मेगावाट होने की उम्मीद****** बढ़ती मांग को देखते हुए भारत में 45 नए डेटा केंद्र बनाए जाएंगे, जिसकी क्षमता 1.3 करोड़ वर्ग फुट और 1,015 मेगावाट की होगी। इसके लिए 2025 तक का समय निर्धारित किया गया है। एनारॉक-बिंग्सवेंगर की रिपोर्ट के अनुसार, 2025 के अंत तक देश में 2.4 करोड़ वर्ग फुट और कुल आईटी क्षमता के 1,752 मेगावाट के साथ 183 डेटा सेंटर होंगे।आईटी क्षमता (लगभग 1,015 मेगावाट) के संदर्भ में नई आपूर्ति का 69 प्रतिशत से अधिक केवल मुंबई और चेन्नई में आएगा, उसमें से 51 प्रतिशत तो सिर्फ मुंबई में स्थापित करे की योजना है। वर्तमान में देश भर में 1.1 करोड़ वर्ग फुट में फैले 138 डेटा केंद्र हैं और 737 मेगावाट की आईटी क्षमता (बिल्डिंग तैयार) है। मौजूदा आईटी क्षमता का कम से कम 57 प्रतिशत सामूहिक रूप से मुंबई और चेन्नई में है।एनारॉक कैपिटल में औद्योगिक और लॉजिस्टिक और डेटा केंद्र के प्रेसिडेंट देवी शंकर ने कहा, "भारत के डेटा सेंटर उद्योग का वर्तमान आकार लगभग 5.6 अरब डॉलर है और यह बढ़ना तय है। वित्त वर्ष 2025 तक देश के कुल अनुमानित डेटा सेंटर की मांग 2,100 मेगावाट होने की उम्मीद है, जिसमें हाइपरस्केलर्स और उद्यमों के बीच का मिश्रण है।"रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में लगभग 2,688 मेगावाट भविष्य की अनियोजित आपूर्ति की अतिरिक्त संभावना है। रिपोर्ट में उल्लेख किया गया है, "इस आपूर्ति के लिए जमीन डीसी ऑपरेटरों ने दे दी है, लेकिन परियोजनाओं की वास्तविक मांग और पहले के नियोजित चरणों के परिणाम के आधार पर योजना बनाई जाएगी।"इस अनियोजित आईटी क्षमता का लगभग 78 प्रतिशत मुंबई और हैदराबाद में केंद्रित किया जाना है। बिन्सवांगर के मैनेजिंग पार्टनर जेफ बिनवांगर ने कहा, "डेटा सेंटर का होना बहुत सारे निर्णय लेने के लिए एक आधार है।" जहां 30 प्रतिशत कंपनियां डेटा प्रबंधन के लिए हाइब्रिड (क्लाउड प्लस डेटा सेंटर) होस्टिंग सेवाओं की ओर देख रही हैं, वहीं 72 प्रतिशत पेशेवरों ने कोविड-19 के बाद डेटा वृद्धि देखी है। उम्मीद जताई जा रही है कि बढ़ते टेक्नोलॉजी और नेटवर्क की उपलब्धता के चलते डेटा में वृद्धि देखने को मिल सकती है।

भारत का विदेशी मुद्रा भंड़ार 1.492 बिलियन डॉलर बढ़कर 641.008 बिलियन डॉलर पर पहुंचा

भारतकाविदेशीमुद्राभंड़ार1492बिलियनडॉलरबढ़कर641008बिलियनडॉलरपरपहुंचाMaharashtra News: महाराष्ट्र के बुलढाणा अर्बन बैंक के चेयरमैन और पूर्व विधायक चैनसुख संचेती के अपहरण की साजिश रचने वाले 3 आरोपी गिरफ्तार******Highlightsमहाराष्ट्र के बुलढाणा अर्बन बैंक के चेयरमैन और पूर्व विधायक चैनसुख संचेती के अपहरण की साजिश रचने के मामले में इंटेलिजेंस ब्यूरो ने 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। सबसे खास बात ये है कि इंटेलिजेंस ब्यूरो ने आरोपियों को एक ही टिप पर दिल्ली से इन तीनों साजिशकर्ताओं को गिरफ्तार कर बुलढाणा पुलिस के सौंप दिया। गिरफ्तार किए गए अपराधियों के नाम मिर्जा अवेज बेग, शेख साकिब शेख अनवर, और उबैद खान शेर खान है। ये तीनों बुलढाणा शहर के शेर-ए-अली चौक के रहने वाले हैं। बता दें कि तीनों आरोपियों ने जल्दी अमीर बनने के चक्कर में पूर्व विधायक और व्यापारी की अपहरण और फिरौती की साजिश रची थी। शिकायत मिलने पर इंटेलिजेंस ब्योरो के अधिकारियों ने तीनों अपराधियों को पकड़ कर बुलढाणा क्राइम ब्रांच को सौंप दिया।अपराध की दुनिया में कदम रख खूब सारे पैसे कमाने की मंशा थीपुलिस ने तीनों से पूछताछ की तो चौंकाने वाली जानकारी सामने आई और पता चला कि तीनों ने बुलडाना अर्बन बैंक के संस्थापक अध्यक्ष राधेश्याम चांडक और मलकापुर विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक चैनसुख संचेती को अपहरण कर 10 करोड़ की फिरौती मांगने की योजना बनाई थी। तीनों कुछ दिन पहले अजमेर में दर्शन के लिए गए थे। बेरोजगारी से तंग आकर उन्होंने अमीर बनने की शार्ट कट योजना बनाई। उन्होंने बैंक लूटने के लिए एक एयर गन भी खरीदी थी। बैंक लूटने के बाद, उनकी योजना एक कार खरीदने, एक कार्यालय बनाने और करोड़ों रुपए कमाने की थी। इसके पीछे एक अमीर व्यक्ति और एक बड़े राजनैतिक शख्शियत का अपहरण करने की इन तीनों ने साजिश तैयार कर ली।इंटेलिजेंस ब्योरो ने आरोपियों को किया गिरफ्तारतीनों ने मिलकर साजिश का ब्लू प्रिंट भी रेडी कर लिया। इसी बीच दिल्ली ये तीनों आरोपी आईबी की राडार पर आ गए। आईबी ने तुरंत कार्रवाई करते हुए तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर के बुलडाना पुलिस को सौंप दिया। पूछताछ के दौरान उसने राधेश्याम चांडक और पूर्व विधायक चैनसुख संचेती का अपहरण कर उनसे पैसे कमाने के लिए योजना का खुलासा किया।भारतकाविदेशीमुद्राभंड़ार1492बिलियनडॉलरबढ़कर641008बिलियनडॉलरपरपहुंचाGuruwar Aarti: गुरुवार के दिन करें भगवान विष्णु की ये आरती, मिलेगा मनचाहा फल******Highlights हिंदू धर्म के अनुसार हर दिन की न किसी भगवान को अर्पित किया गया है। हर दिन किसी न किसी भगवान की पूजा-आरती करने से लाभ मिलता है और अशांत मन भी शांत रहता है। जो शख्स भगवान से अपना रिश्ता जोड़े रखता है उसे जीवन में आने वाली परेशानियों से लड़ने की हिम्मत और साहस मिलता है। यदि आप सच्चे मन से भगवान की पूजा आराधना करते हैं तो आपको मनचाहा फल भी मिलता है।ऐसे में गुरुवार का दिन भगवान विष्णु को अर्पित किया गया है। इस दिन भक्त विष्णु भगवान की सच्चे मन से पूजा करते हैं। साथ ही सुबह-शाम उनकी आरती भी करते हैं। ऐसा करने घर-परिवार में शांति बनी रहती है और घर में खुशियों का वास होता है। माना जाता है कि भगवान विष्णु प्रसन्न होकर अपने भक्तों पर कृपा बरसाते हैं। जिससे भक्तों को धन-धान्य की कमी नहीं रहती है।ओम जय जगदीश हरे, स्वामी! जय जगदीश हरे।भक्त जनों के संकट, क्षण में दूर करे॥ ओम जय जगदीश हरे…जो ध्यावे फल पावे, दुःख विनसे मन का।सुख सम्पत्ति घर आवे, कष्ट मिटे तन का॥ ओम जय जगदीश हरे…मात-पिता तुम मेरे, शरण गहूं मैं किसकी।तुम बिन और न दूजा, आस करूं जिसकी॥ ओम जय जगदीश हरे…तुम पूरण परमात्मा, तुम अन्तर्यामी।पारब्रह्म परमेश्वर, तुम सबके स्वामी॥ ओम जय जगदीश हरे…तुम करुणा के सागर, तुम पालन-कर्ता।मैं मूरख खल कामी, कृपा करो भर्ता॥ ओम जय जगदीश हरे…तुम हो एक अगोचर, सबके प्राणपति।किस विधि मिलूं दयामय, तुमको मैं कुमति॥ ओम जय जगदीश हरेदीनबन्धु दुखहर्ता, तुम ठाकुर मेरे।अपने हाथ उठा‌ओ, द्वार पड़ा तेरे॥ ओम जय जगदीश हरे…विषय-विकार मिटा‌ओ, पाप हरो देवा।श्रद्धा-भक्ति बढ़ा‌ओ, संतन की सेवा॥ ओम जय जगदीश हरे…श्री जगदीशजी की आरती, जो कोई नर गावे।कहत शिवानन्द स्वामी, सुख संपत्ति पावे॥ ओम जय जगदीश हरे…

भारत का विदेशी मुद्रा भंड़ार 1.492 बिलियन डॉलर बढ़कर 641.008 बिलियन डॉलर पर पहुंचा

भारतकाविदेशीमुद्राभंड़ार1492बिलियनडॉलरबढ़कर641008बिलियनडॉलरपरपहुंचाMumbai News: गणेशोत्सव के दौरान सड़क पर किए 180 से ज्यादा गड्ढे, अब भुगतना पड़ेगा 3.66 लाख रुपए का जुर्माना, नगर निगम ने की कार्रवाई******Highlightsमहाराष्ट्र में गणेशोत्सव धूमधाम से मनाया जाता है, जिसमें कई बार लोग सड़क पर गड्ढे कर देते हैं। लेकिन इस बार गणेशोत्सव के दौरान सड़क पर 180 से ज्यादा गड्ढे करने पर जुर्माना लगाया गया है। बृहन्मुंबई नगर निगम ने इस साल गणेशोत्सव के दौरान सड़क पर 183 गड्ढे करने के लिए लालबागचा राजा सार्वजनिक गणेशोत्सव मंडल पर 3.66 लाख रुपए का जुर्माना लगाया है। यह जुर्माना 2000 रुपए प्रति गड्ढे के हिसाब से लगाया गया है। ये जानकारी BMC ने दी है।बता दें कोरोना की वजह से 2 साल बाद इस बार मुंबई में धूमधाम से गणेश उत्सव मनाया गया था। घरों और पंडालों में भगवान गणेश की प्रतिमाएं स्थापित की गई थीं और 10 दिनों तक पूजन-अर्चन के बाद 9 सितंबर को इनका विसर्जन किया गया।कब से शुरू हुआ था गणेश उत्सवदेश में पहली बार गणेश उत्सव की शुरूआत साल 1893 में हुई थी। इसके बाद हर साल धूमधाम से गणेश उत्सव मनाया जाने लगा। गणेश चतुर्थी के दिन से लेकर अनंत चौदस के दिन तक देश गणेश पूजा में रम जाता है।कहां धूमधाम से मनता है गणेश उत्सवमुंबई में गणेश उत्सव काफी उत्साह के साथ मनाया जाता है। मुंबई में पांडाल सजते हैं और गणेश उत्सव पर करोड़ों रुपए खर्च होते हैं। मुंबई मे लाल बागचा राजा की खास झांकी को देखने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं।पुणे में भी गणेश उत्सव की धूम रहती है। यहां गणेश उत्सव पर मराठी रीति-रिवाज से पूजा होती है। महिला और पुरूष पारंपरिक कपड़ो में डांस करते हैं और यहां ढोल-नगाड़ों के साथ गणेश जी का स्वागत होता है।हैदराबाद में गणेश उत्सव धूमधाम से मनाया जाता है। यहां पूरे 10 दिन तक गणपति बप्पा की पूजा होती है और अनंत चौदस के दिन बप्पा का विसर्जन होता है। यहां हर साल करीब 75 हजार पांडाल लगते हैं।दिल्ली में भी लोग पूरे उत्साह के साथ गणेश उत्सव में भाग लेते हैं। जगह-जगह धार्मिक आयोजन होते हैं और लोग डांस करते हैं।

भारतकाविदेशीमुद्राभंड़ार1492बिलियनडॉलरबढ़कर641008बिलियनडॉलरपरपहुंचाIndia on OIC Comments: 'पैगंबर विवाद में मुस्लिम मुल्कों के संगठन की टिप्पणी संकीर्ण मानसिकता वाली', भारत ने दिया करारा जवाब******Highlights पैगंबर मोहम्मद पर की गई टिप्पणी पर इस्लामिक देशों की प्रतिक्रिया के बाद भारत ने इन देशों को जवाब दिया है। नुपूर शर्मा द्वारा पैगंबर मोहम्मद पर टिप्पणी की गई थी, इसके बाद कतर, ईरान जैसे देशों ने ऐतराज जताया था। हालांकि भाजपा ने नुपूर शर्मा को पार्टी से निष्कासित कर दिया। इसी बीच भारत ने इस्लामिक मुल्कों के समूह की टिप्पणी को अवांछित और संकीर्ण मानसिकता वाली बताया है।अरब में आवाज उठी तब जाकर कार्रवाई की गई: ओवैसीउधर, ओवैसी ने भी नुपूर शर्मा के बयान पर प्रतिक्रिया दी है। उनका कहना है कि अरब देशों ने नुपूर शर्मा के पैगंबर मोहम्मद मामले पर बयान के खिलाफ आवाज उठाई तब जाकर उन्हें निष्कासित किया गया। उन्होंने सवाल किया कि 10 दिनों तक नुपूर शर्मा के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं हुई। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने भारत की विदेश नीति को बर्बाद किया है।ओआईसी ने की थी निंदादरअसल, सऊदी शहर जेद्दा में स्थित इस्लामिक सहयोग संगठन (OIC) ने भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा द्वारा पैगंबर मोहम्मद पर टिप्पणी की निंदा करते हुए कहा था कि यह 'भारत में इस्लाम के प्रति घृणा और तेज करने और मुसलमानों के खिलाफ दुर्व्यवहार के संदर्भ में आया है।' दरअसल, ओआईसी खुद को मुस्लिम दुनिया की सामूहिक आवाज कहता है। हालांकि नुपूर शर्मा के निष्कासन की कार्रवाई के बाद कतर, अरब और अन्य देशों ने स्वागत किया है।भारत ने किया टिप्पणी का विरोधओआईसी के इस ​हालिया बयान का विदेश मंत्रालय के आधिकारिक प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा है कि हमने आईओसी के महासचिव का बयान देखा है। भारत सरकार ओआईसी सचिवालय की इस अनुचित और संकीर्ण सोच वाली टिप्पणियों को ​सिरे से खारिज करती है।'क्या है आईओसी?गौरतलब है कि ओआईसी इस्लामिक देशों का एक संगठन है, जिससे मुस्लिम राष्ट्र जुड़े हुए हैं। इसके सदस्य देशों में कतर, ईरान जैसे देशों के अलावा पाकिस्तान भी शामिल है। भारत ने देश के आंतरिक मामलों खासकर जम्मू-कश्मीर से जुड़े मामलों पर टिप्पणी करने के लिए ओआईसी की अक्सर निंदा की है।भारतकाविदेशीमुद्राभंड़ार1492बिलियनडॉलरबढ़कर641008बिलियनडॉलरपरपहुंचाChandigarh News: चंडीगढ़ में कोरोना वैक्सीन की तीसरी डोज लगवाने पर मुफ्त छोले-भटूरे खिला रहा शख्स, पीएम मोदी कर चुके हैं तारीफ******Highlightsकोरोना के खिलाफ पूरा देश युद्ध लड़ रहा है। हर कोई अपनी तरफ से योगदान दे रहा है। जब देश में कोरोना के मामले पीक पर थे तब लोगों ने अपने स्तर पर तरह-तरह से मदद की थी। छोटे सा छोटा योगदान भी एक बड़ी मदद साबित हो रहा था। वैक्सीन आई, लोगों के मन में भ्रान्ति थी। लोगों ने खुद से ही इसकी जागरूकता के लिए अभियान चलाये। वैक्सीन लगवाने वलोन को कई होटलों और रेस्टोरेंट में फ्री खाने या छुट का भी ऑफर चला। अब इसी तरह का चंडीगढ़ में भी एक ऑफर चल रहा है।चंडीगढ़ के एक दुकानदार ने कोविड-19 के तीसरे डोज लेने वाले व्यक्तियों को छोले भटूरे मुफ्त देने की पेशकश की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस विक्रेता की पिछले साल मन की बात में तारीफ़ की थी। गौरतलब है कि सरकार के द्वारा फ्री में लगाए जाने के बाद भी कम लोग ही तीसरी डोज लगवा रहे हैं। इससे चिंतित 45 वर्षीय संजय राणा ने लोगों को टीका लगवाने के लिए प्रोत्साहित करने के मकसद से मुफ्त छोले भटूरे की पेशकश की है। इससे पहले भी संजय ने उन लोगों को मुफ्त में छोले-भटूरे खिलाए थे, जो पहली खुराक लेने गए और उसी दिन इसका प्रमाण प्रस्तुत किया। जिसके बाद प्रधानमंत्री ने मन की बात रेडियो कार्यक्रम में उनकी प्रशंसा की थी।पीएम मोदी ने कहा था, ''संजय राणा के 'छोले भटूरे' का स्वाद मुफ्त में चखने के लिए आपको यह दिखाना होगा कि आपने उसी दिन टीका लगवाया है। जैसे ही आप उन्हें टीकाकरण संबंधी संदेश दिखाएंगे, वह आपको स्वादिष्ट 'छोले भटूरे' देंगे।'' उनके इस प्रयास की सराहना करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा था, ''कहा जाता है कि समाज की भलाई के लिए काम करने के लिए सेवा और कर्तव्य की भावना की जरूरत होती है। हमारे भाई संजय इसे सही साबित कर रहे हैं।''राणा एक स्टॉल लगाकर साइकिल पर 'छोले भटूरे' बेचते हैं। उनका कहना है कि वह पिछले 15 साल से यह स्टॉल चला रहे हैं। तीसरी खुराक की धीमी गति से चिंतित राणा ने कहा, ''मैं उन लोगों को छोले भटूरे मुफ्त दे रहा हूं जो तीसरी डोज लेने के दिन ही इसका सबूत दिखाएंगे।'' राणा ने कहा, ''सभी पात्र लोग आगे आएं और संकोच न करें। पहले से ही हम देश के कई हिस्सों में संक्रमण में मामूली वृद्धि देख रहे हैं। हमें स्थिति के काबू से बाहर होने तक इंतजार क्यों करना चाहिए? अप्रैल-मई 2021 में जिस तरह की स्थिति बनी, हमें उससे सबक सीखना चाहिए।''

भारतकाविदेशीमुद्राभंड़ार1492बिलियनडॉलरबढ़कर641008बिलियनडॉलरपरपहुंचाUttar Pradesh: यूपी में करंट लगने से तीन मजदूरों की मौत, एक की हालत गंभीर******Highlights उत्तर प्रदेश में सहारनपुर जिले के एक गांव में शनिवार को एक किसान के खेत पर पेड़ काटने आये तीन मजदूरों की हाईटेंशन विद्युत लाइन की चपेट में आकर करंट लगने से मौत हो गई जबकि एक अन्य मजदूर गंभीर रूप से झुलस गया। घायलों को उपचार के लिए पीजीआई चण्डीगढ़ भेजा गया है।पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) सूरज राय ने मीडिया को बताया कि शनिवार को रामपुर मनिहारान थाने के तहत आने वाले मदनुकी गांव में एक किसान ने अपने खेत में लगे पेड़ों को कटवाने के लिए मजदूर बुलाए थे। गंगोह क्षेत्र के फतेहपुर ढोला निवासी सद्दाम (32), नौशाद (30), और अजय अपने साथी मजदूरों के साथ पेड़ काटने आये थे। राय ने बताया कि जब ये तीनों पेड़ काटने लगे तभी पास से गुजर रही विद्युत लाइन की चपेट में आकर करंट लगने से उनकी मौके पर ही मौत हो गयी जबकि इनका एक साथी आरिफ (29) गम्भीर रूप से झुलस गया।हादसे की जानकारी मिलते ही रामपुर मनिहारान थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और घायल मजदूर आरिफ को उपचार के लिए जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया लेकिन उसकी गंभीर हालत को देखते हुए उसे इलाज के लिए पी जी आई चंडीगढ़ में भर्ती कराने के लिए कहा गया है।इससे पहले अम्बेडकर नगर स्थित पुरानी एआरटीओ ऑफिस के पास सुबह शौच के लिए गया था, वहीं मजदूर करंट प्रवाहित बिजली की चपेट में आ गया था। मौके पर ही उसकी मौत हो गई थी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।हंसवर थाना क्षेत्र के नसीराबाद गांव निवासी विकास यादव (30) पुत्र जानकी यादव मजदूरी करता था। रविवार की सुबह पुरानी एआरटीओ ऑफिस के पास गिट्टी मोरंग उतारने का काम कर रहा था। इस दौरान शौच के लिए सड़क के किनारे गया, जहां बिजली तार की चपेट में आने से उसकी मौत हो गई थी। अकबरपुर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक संजय कुमार पांडेय ने बताया था कि विकास यादव के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया।भारतकाविदेशीमुद्राभंड़ार1492बिलियनडॉलरबढ़कर641008बिलियनडॉलरपरपहुंचाParshuram Jayanti 2022: परशुराम ने 21 बार धरती को किया था क्षत्रिय विहीन, जानिए क्या थी उनके क्रोध की वजह******: वैशाख मास की तृतीया तिथि को अक्षय तृतीया के साथ-साथ परशुराम जयंती भी मनाई जाती है। शास्त्रों के अनुसार भगवान परशुराम कलयुग में भी जीवित है। भगवान परशुराम विष्णु के छठे अवतार हैं। भगवान परशुराम एक ऐसे देवता हैं जिन्हें क्रोध बहुत ही जल्दी आता है। इस क्रोध में आकर यह कुछ भी कर देते थे। इनकी एक कथा है कि इन्होंने 21 बार क्षत्रियों का संहार किया। आखिर ऐसा क्या हुआ जो भगवान परशुराम ने ऐसा कदम उठाया। हिंदू धर्म के पुराणों में इसके बारे में विस्तार से बताया गया है।महिष्मती नगर के राजा सहस्त्रार्जुन क्षत्रिय समाज के है। इस वंश के राजा कार्तवीर्य और रानी कौशिक के पुत्र थे | सहस्त्रार्जुन का वास्तवीक नाम अर्जुन था। उन्होने दत्तत्राई को प्रसन्न करने के लिए घोर तपस्या की। दत्तत्राई उसकी तपस्या से प्रसन्न हुए और उसे वरदान मांगने को कहा तो उसने दत्तत्राई से 10000 हाथों का आशीर्वाद प्राप्त किया। इसके बाद उसका नाम अर्जुन से सहस्त्रार्जुन पड़ा। इसे सहस्त्राबाहू और राजा कार्तवीर्य पुत्र होने के कारण कार्तेयवीर भी कहा जाता है।माना जाता है महिष्मती सम्राट सहस्त्रार्जुन अपने घमंड में इतना चूर हो गया कि उसे कुछ भी याद न रहा और वह धर्म की सभी सीमाओं को लांघ चुका था। उसके अत्याचार व अनाचार से पूरी जनता परेशान हो चुकी थी। वह इतना घंमड में चूर हो गया था कि उसने वेद –पुराण और धार्मिक ग्रंथों को तक नहीं छोड़ा। उन्हें गलत बताकर ब्राह्मण का अपमान करता ऋषियों के आश्रम को नष्ट कर उनका वध कर देता था। इससे ज्यादा तब परेशान हो गए जब वह अपनी खुशी और मनोरंजन के लिए अबला स्त्रियों को उठा कर उनता सतीत्व खत्म करने लगा।एक बार सहस्त्रार्जुन अपनी पूरी सेना के साथ झाड–जंगलों से पार करता हुआ जमदग्नि ऋषि के आश्रम में विश्राम करने के लिए पहुंचा। महर्षि जमदग्रि ने सहस्त्रार्जुन को आश्रम का मेहमान समझकर स्वागत सत्कार में कोई कसर नहीं छोड़ी। कहते हैं ऋषि जमदग्रि के पास देवराज इन्द्र से प्राप्त दिव्य गुणों वाली कामधेनु नामक अदभुत गाय थी।महर्षि ने उस गाय के मदद से कुछ ही पलों में देखते ही देखते पूरी सेना के भोजन का प्रबंध कर दिया। कामधेनु के ऐसे विलक्षण गुणों को देखकर सहस्त्रार्जुन को ऋषि के आगे अपना राजसी सुख कम लगने लगा। उसके मन में ऐसी अद्भुत गाय को पाने की लालसा जागी। उसने ऋषि जमदग्नि से कामधेनु की मांग की। ऋषि जमदग्नि ने कामधेनु को आश्रम के प्रबंधन और जीवन के भरण-पोषण का एकमात्र जरिया बताकर कामधेनु को देने से इंकार कर दिया। इस पर सहस्त्रार्जुन ने क्रोधित होकर ऋषि जमदग्नि के आश्रम को उजाड़ दिया और कामधेनु को ले जाने लगा। तभी कामधेनु सहस्त्रार्जुन के हाथों से छूट कर स्वर्ग की ओर चली गई।जब परशुराम अपने आश्रम पहुंचे तब उनकी माता रेणुका ने उन्हें सारी बातें विस्तारपूर्वक बताई। परशुराम माता-पिता के अपमान और आश्रम को तहस नहस देखकर आवेशित हो गए। पराक्रमी परशुराम ने उसी वक्त दुराचारी सहस्त्रार्जुन और उसकी सेना का नाश करने का संकल्प लिया।परशुराम अपने परशु अस्त्र को साथ लेकर सहस्त्रार्जुन के नगर महिष्मतिपुरी पहुंचे। जहां सहस्त्रार्जुन और परशुराम का युद्ध हुआ। किंतु परशुराम के प्रचण्ड बल के आगे सहस्त्रार्जुन बौना साबित हुआ। भगवान परशुराम ने दुष्ट सहस्त्रार्जुन की हजारों भुजाएं और धड़ परशु से काटकर कर उसका वध कर दिया।सहस्त्रार्जुन के वध के बाद पिता के आदेश से इस वध का प्रायश्चित करने के लिए परशुराम तीर्थ यात्रा पर चले गए। तब मौका पाकर सहस्त्रार्जुन के पुत्रों ने अपने सहयोगी क्षत्रियों की मदद से तपस्यारत महर्षि जमदग्रि का उनके ही आश्रम में सिर काटकर उनका वध कर दिया |सहस्त्रार्जुन पुत्रों ने आश्रम के सभी ऋषियों का वध करते हुए, आश्रम को जला डाला। माता रेणुका ने सहायतावश पुत्र परशुराम को विलाप स्वर में पुकारा। जब परशुराम माता की पुकार सुनकर आश्रम पहुंचे तो माता को विलाप करते देखा और माता के समीप ही पिता का कटा सिर और उनके शरीर पर 21 घाव देखे।यह देखकर परशुराम बहुत क्रोधित हुए और उन्होंने शपथ ली कि वह जब तक उस वंश का ही सर्वनाश नहीं कर देंगे बल्कि उसके सहयोगी समस्त क्षत्रिय वंशों का 21 बार संहार कर भूमि को क्षत्रिय विहिन कर देंगे। पुराणों के उनुसार उन्होने इस वचन को पूरा भी किया था। भगवान परशुराम ने 21 बार पृथ्वी को क्षत्रिय विहीन करके उनके रक्त से समन्तपंचक क्षेत्र के पांच सरोवर को भर कर अपने संकल्प को पूरा किया। कहा जाता है कि महर्षि ऋचीक ने स्वयं प्रकट होकर भगवान परशुराम को ऐसा करने से रोक दिया था तब जाकर किसी तरह क्षत्रियों का विनाश भूलोक पर रुका। तत्पश्चात भगवान परशुराम ने अपने पितरों के श्राद्ध क्रिया किया और उनके आज्ञानुसार अश्वमेध और विश्वजीत यज्ञ भी किया।

भारतकाविदेशीमुद्राभंड़ार1492बिलियनडॉलरबढ़कर641008बिलियनडॉलरपरपहुंचाइंदौर के बाद जयपुर में भी डॉक्टरों से मारपीट का मामला आया सामने, एक शख्स गिरफ्तार******इंदौर में डॉक्टरों से मारपीट का मामला सामने आने के बाद अब जयपुर से भी इसी प्रकार का एक मामला सामने आया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार यह घटना 31 मार्च की है। जयपुर के रामगंज इलाके में डॉक्टरों की एक टीम कोरोना मरीजों की पहचान के लिए गई थी। जिससे स्थानीय लोगों ने मारपीट की। इस मामले में डॉक्टर की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने शिकायत के आधार पर रिजवान खान को गिरफ्तार किया है।बता दें कि जयपुर के रामगंज इलाके में 31 मार्च को डॉक्टरों की टीम कोरोना मरीजों की जांच करने के लिए गई थी। जिसके साथ हुई मारपीट की गई थी। पुलिस थाना रामगंज क्षेत्र में जगन्नाथ शाह के रास्ते में मेडिकल टीम पर हमला करने के मामले को लेकर डॉक्टर अनिल शर्मा ने रिपोर्ट दर्ज की। इस शिकायत के आधार पर 31 मार्च को धारा 353 332 188 आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया गया है। वहीं आरोपी रिजवान खान को अरेस्ट किया गया गया है।बता दें कि बुधवार को इंदौर के टाटपट्टी बाखल में कोरोना की जांच करने गई टीम पर एक वर्ग के लोगों ने पथराव कर दिया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर हालात काबू में किए। इंदौर में कोरोना के मरीजों की बड़ती हुई संख्या के बाद भी लोग स्वास्थ्य महकमें का सहयोग नहीं कर रहे हैं। दरअसल, इंदौर में 26 इलाकों के चिन्हित किया गया है जहां सबसे ज्यादा कोरोना पाजीटिव मरीज मिले है। इन सभी इलाकों को क्वरंटाईन किया गया है लेकिन इन इलाकों में स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंच रही है, तो यहां के रहवासी स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी और कर्मचारियों के साथ दुर्व्यहार कर रहे है।भारतकाविदेशीमुद्राभंड़ार1492बिलियनडॉलरबढ़कर641008बिलियनडॉलरपरपहुंचाKrishna janmashtami 2022: भगवत गीता पढ़ने से मिलते हैं कई फायदे, बेचैन मन भी हो जाता है शांत******: जीवन में की दफा हमें समझ नहीं आता है कि हम क्या करें और क्या न करें। कभी बार बेवजह की चीज़ों के चलते हमारा मन भी अशांत रहता है। ऐसे में हमें भगवत गीता को पढ़ना चाहिए। यह महज़ किताब नहीं है। इस गीता में हमारी हर समस्या का हल भी है। हिंदू धर्म में इसका काफी महत्व है। इसका रोजाना अध्ययन करने से आप पाएंगे कि आपके जीवन काफी बदलाव आने शुरू हो गए हैं।गीता का ज्ञान भगवान श्रीकृष्ण ने कुरुक्षेत्र के युद्ध के मैदान में अर्जुन को दिया था। गीता का संदेश भगवान श्रीकृष्ण के मुख से निकला हुआ अमृत समान शब्द है। इसमें जीवन में आने वाली समस्याओं से कैसे लड़ना है उसका भी ज्ञान मौजूद है। चलिए जानते हैं भगवतगीता पाठ करने के फायदों के बारे में।गीता का अध्ययन करने से व्यक्ति धीरे-धीरे क्रोध,लालच और मोह माया के बंधनों से मुक्त हो जाता है। ऐसे में कोई भी बंद उस व्यक्ति को रोक नहीं पाता है।कई बार हम अशांत मन के चलते अपना ही नुकसान कर बैठते हैं। ऐसे में जो व्यक्ति गीता पढ़ता है उसका मन शांत रहता है। उसे बेवजह किसी भी बात पर क्रोध नहीं आता है।दुनियादारी से दूर जो व्यक्ति रोजाना गीता पढ़ता है वह अपने मन पर काबू पा लेता है। इस तरह के व्यक्ति अपने मन को गलत दिशा में जाने से रोक लेते हैं।गीता पढ़ने वाले व्यक्ति को सच और झूठ, ईश्वर और जीव का ज्ञान हो जाता है। उसे अच्छे और बुरे की समझ आ जाती है।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 05:35
उद्धरण 1 इमारत
Diabetes: अगर आपके पैर में दिख रहे ये 3 संकेत तो बढ़ा हो सकता है ब्लड शुगर लेवल******आजकल ज्यादातर लोग जिस बीमारी की चपेट में है वो मधुमेह है। इस बीमारी में पेशेंट का ब्लड शुगर लेवल बढ़ा रहता है। ऐसा इसलिए क्योंकि इस बीमारी से पीड़ित व्यक्ति के शरीर में पर्याप्त मात्रा में इंसुलिन नहीं बन पाता है। इसी वजह से उच्च रक्त शर्करा की स्थिति बनी रहती है। जिन पशेंट की डायबिटीज कंट्रोल में नहीं रहती है उन मरीजों को दिल से संबंधित बीमारी, रक्तचाप और स्ट्रोक जैसी बीमारियों का खतरा और ज्यादा बढ़ जाता है। इसी वजह से मधुमेह को साइलेंट किलर भी कहा जाता है। ऐसे में आज हम आपको पैरों में दिखने वाले कुछ ऐसे लक्षणों के बारे में बताते हैं जो ये संकेत करते हैं कि आपका ब्लड शुगर लेवल बढ़ा हुआ है।अगर किसी भी व्यक्ति के शरीर में ब्लड शुगर लेवल बढ़ा हुआ है तो उसका पहला संकेत है पैरों का सुन्न पड़ जाना। हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार जिन लोगों के शरीर में रक्त शर्करा का स्तर बढ़ा होता है उनके शरीर में खून का संचार प्रभावित होता है। ऐसे में लोगों को पैरों में कोई भी हरकत महसूस नहीं हो पाती है। इसके साथ की किसी प्रकार का दर्द और चुभन का अहसास नहीं हो पाता है।दूसरा संकेत है पैरों में सूजन आना। जब आप लंबे समय तक एक ही पोजीशन में खड़े या फिर बैठें रहें तो अक्सर लोगों के पैर में सूजन आ जाती है। लेकिन इसका दूसरा कारण ब्लड शुगर लेवल का बढ़ना भी हो सकता है। हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार अगर आपके पैरों में सूजन लगातार आ रही है तो इसका मतलब हो सकता है कि आपका ब्लड शुगर लेवल बढ़ा हो।पैरों में अगर कोई भी घाव जल्दी भर नहीं रहा तो ये भी ब्लड शुगर लेवल बढ़ा होने का इशारा करता है। हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार ब्लड शुगर लेवल बढ़ा होने के कारण शरीर में बैक्टीरिया फैलने लगता है। इसी वजह से मरीजों में इंफेक्शन हो सकता है और घाव होने लगते हैं।Disclaimer: यह जानकारी आयुर्वेदिक नुस्खों के आधार पर लिखी गई है। इंडिया टीवी इनके सफल होने या इसकी सत्यता की पुष्टि नहीं करता है। इनके इस्तेमाल से पहले चिकित्सक का परामर्श जरूर लें।
2022-10-01 05:35
उद्धरण 2 इमारत
Begusarai News: बेगूसराय में सड़कों पर गोलियां बरसाने वाले संदिग्धों की तस्वीरें जारी, जानकारी देने वालों को मिलेगा इनाम****** बिहार के बेगूसराय जिले में मंगलवार को 2 मोटरसाइकिलों पर सवार 4 लोगों की ओर से अलग-अलग स्थानों पर की गई गोलीबारी के बाद से दहशत का माहौल है। इस घटना के सिलसिले में गश्त में चूक के आरोप में 7 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मंगलार की शाम को हुयी इस गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत हो गयी थी जबकि 10 अन्य घायल हो गये थे। काफी देर तक हमलावरों की पहचान में जुटी पुलिस के आखिरकार संदिग्ध हमलावरों की तस्वीरें CCTV से निकालने में कामयाबी मिल गई है।बेगूसराय क्षेत्र के डीआईजी द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, 'तस्वीरों में बेगुसराय में सीरीयल फायरिंग एवं हत्या की घटना में शामिल संदिग्ध हैं। नारंगी शर्ट पहने हुए एवं उसके पीछे बैठे संदिग्ध के बारे में जो भी पुलिस को सही सूचना देगा उसे 50,000 रुपये का इनाम दिया जाएगा और उसकी पहचान गुप्त रखी जाएगी। सूचना 9431822953 या 9431800011 पर कॉल/SMS/WhtasApp के माध्यम से दी जा सकती है।' पुलिस ने जो तस्वीरें जारी की हैं उनमें 2 मोटरसाइकिलों पर 4 लोग सवार नजर आ रहे हैं, हालांकि उनका चेहरा बहुत साफ नहीं है।इस बीच अपर पुलिस महानिदेशक (हेडक्वॉर्टर) जितेंद्र सिंह गंगवार ने बताया, ‘गश्त में लगे 7 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है, क्योंकि वे बदमाशों को नहीं रोक सके।’ उन्होंने बताया कि पुलिस हमलावरों को पकड़ने के लिए छापेमारी कर रही है। जिलान्तर्गत राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 28 पर फुलवरिया, बछवाड़ा, तेघड़ा एवं चकिया थाना क्षेत्रों में मोटरसाइकिल सवार 2 अज्ञात बदमाशों ने विभिन्‍न स्थानों पर गोलीबारी की, जिसमें बरौनी थाने के हाजीपुर के रहने वाले 31 साल के चंदन कुमार की मृत्यु हो गई थी जबकि 10 अन्य लोग घायल हो गये थे।रिपोर्ट्स के मुताबिक, बछवाड़ा, तेघड़ा, फुलवड़िया और बरौनी थानों के अलावा जीरोमाईल पुलिस चौकी, एफसीआई पुलिस चौकी, एवं चकिया पुलिस चौकी के कर्मियों ने सही ढंग से काम नहीं किया, जिससे आरोपी पकड़े नहीं गये। सस्पेंड हुए पुलिसकर्मियों में फुलवड़िया थाने के आरक्षी निरीक्षक शशि भूषण सिंह, जीरोमाईल पुलिस चौकी के आरक्षी निरीक्षक मुकरू हेम्ब्रम, चकिया पुलिस चौकी के सहायक आरक्षी निरीक्षक विनोद प्रसाद, तेघड़ा थाना के सहायक आरक्षी निरीक्षक कृष्ण कूमार, एफसीआई पुलिस चौकी के रमेन्द्र कुमार यादव, बरौनी थाने के संजय कुमार एवं बछवाड़ा थाने के रामकिशोर सिंह शामिल हैं।
2022-10-01 04:41
उद्धरण 3 इमारत
Skin Care: दमकती त्‍वचा पाने के लिए अपनाएं ये आयुर्वेदिक टिप्स, दिखने लगेंगे एकदम जवां******Highlightsहर कोई अपनी उम्र से कम दिखना चाहता है। ऐसे में लोग स्किन केयर प्रोडक्ट्स पर सबसे ज्यादा खर्च कर देते हैं। खाद्य सामग्री के बाद व्यक्ति ब्यूटी प्रोडक्ट्स खरीदने में ही सबसे ज्यादा खर्च करता है। इन प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करने वाले ज्यादातर लोग इसके दुष्प्रभाव से अनजान रहते हैं। इसमें उपयोग होने वाले रासायनिक और सिरेमिक स्किन को थोड़े समय के लिए चमक तो देते हैं लेकिन इसका साइड इफेक्ट जीवनभर के लिए हो सकता है।एक स्वस्थ और युवा दिखने वाली त्वचा के लिए सबसे पहले, को अंदर से पोषण देना जरूरी है। इसके बाद यह धीरे-धीरे बाहर से भी अपने आप ठीक हो जाएगी।प्राचीन प्राकृतिक चिकित्सा पद्धति आयुर्वेद के शोधों के अनुसार, त्वचा की देखभाल के लिए घरेलू उपचार के साथ आयुर्वेदिक उपचार से नैचुरल रूप से स्किन संबंधी रोगों का इलाज किया जा सकता है और प्राकृतिक तौर पर स्वस्थ त्वचा प्राप्त कर सकते हैं। न्यूरोपैथी सिस्टम युवा दिखना और युवा महसूस करने जैसे दो अलग-अलग अवधारणाओं को बताती है और इसके लिए पहला कदम है व्यक्ति को अंदर से युवा करना ताकि वह बाहर से भी युवा दिख सके।एंटी-एजिंग सिद्धांत को आयुर्वेद में रसायन के रूप में जाना जाता है। यह सिद्धांत कुछ जड़ी-बूटियों और दैनिक आहार के बारे में बताती हैं जो आपके नैचुरल तरीके से शारीरिक और मानसिक रूप से बेहतर करती है। वात दोष का असंतुलन मन में चिंता को जन्म देता है जो व्यक्ति को मानसिक रूप से प्रभावित करता है। उम्र बढ़ने के साथ-साथ हड्डियां और मांसपेशियां कमजोर होने लगती हैं और शरीर के अन्य अंग अपनी ताकत खोने लगते हैं। आयुर्वेद न केवल इसके कारण को ठीक करता है बल्कि पूरे शरीर में सकारात्मकता लाता है। यहां न्यूरोपैथी सिस्टम में कुछ ऐसी चीजों के बारे में बताया गया है जिसके द्वारा आप अंदर के साथ-साथ बाहर से भी युवा नजर आने लगेगे।नैचुरल एंटीऑक्सीडेंट कोशिकाओं के क्षय को रोकने में सहायक होते हैं और क्षतिग्रस्त स्किन को छीक करने में मदद करते हैं। इतना ही नहीं ब्लड सर्कुलेशन को बैलेंस तरीके से बढ़ाने के साथ उम्र बढ़ने के संकेत को कम कर देते हैं। ऐसे में आप चाहे तो एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर अश्वगंधा, आंवला, गुडुची, जिनसेंग जैसी चीजों का इस्तेमाल कर सकते हैं।त्रिफला औषधीय गुणों से भरपूर है। जैसा कि नाम से पता चलता है कि त्रिफला तीन फलों आंवला, बहेड़ा और हरड़ से मिलकर बनी है। त्रिफला के पाउडर में अत्यधिक एंटी-एजिंग गुण होते हैं। यह मिश्रण तृप्ति हार्मोन को बढ़ाने और रक्त को शुद्ध करने में सहायक है जो उम्र बढ़ने की प्रणाली के खिलाफ ढाल बनकर खड़े रहते हैं। त्रिफला को स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा एक प्रभावी प्राकृतिक औषधि के रूप में अनुमोदित किया गया है। ऐसे में जवां बने रहने के लिए भोजन के बाद 5-10 ग्राम चूर्ण को एक चम्मच शहद के साथ एक गिलास गुनगुने पानी के साथ सेवन करे। इससे आपको लाभ मिलेगा।आयुर्वेद में घी का अधिक महत्व है। इसे सेहत और सुंदरता के लिए किसी अमृत से कम नहीं माना जाता है। जहां एक ओर यह त्वचा को पोषण प्रदान करता है। वहीं दूसरी ओर यह त्वचा की रंगत में भी सुधार करता है। गाय का पुराना घी हो तो इसका फायदा कई गुना बढ़ जाता है। गाय का घी पित्त और वात को कम करने के साथ त्वचा संबंधी सभी समस्याओं से छुटकारा दिलाता है।स्वस्थ, चमकदार और युवा दिखने वाली त्वचा के लिए कुछ और उपाय भी किए जा सकते हैं। इसके लिए पहला कदम एक स्वस्थ जीवन शैली को अपनाना और उसका पालन करना है।अच्छे स्वास्थ्य के लिए समय-समय पर खुद को डिटॉक्स करना जरूरी है। डिटॉक्स आपके शरीर को आंतरिक रूप से साफ करने में मदद करता है। सप्ताह में कम से कम एक दिन के लिए डिटॉक्स का प्लान बनाएं।पानी का सेवन उचित मात्रा और उचित समय अंतराल में करना शरीर को पूरे दिन के लिए हाइड्रेटेड रखने में मदद करता है। रोजाना लगभग 3-4 लीटर पानी पीना चाहिए। यह आपके शरीर में नमी बनाए रखता है और रक्त प्रवाह को बनाए रखता है। इसके साथ ही आपकी स्किन हेल्दी रहती है।स्वस्थ आहार से त्वचा स्वस्थ रहती है। अपने दैनिक आहार में संतुलित पौष्टिक आहार शामिल करने का प्रयास करें। स्वस्थ दिखने वाली त्वचा के लिए अपनी डाइट में अधिक फल और खाद्य जैसे गाजर, टमाटर, जामुन, खुबानी और नट्स आदि को शामिल करें।शरीर को अच्छे रक्त प्रवाह और स्वास्थ्य के लिए एक्सरसाइड की जरूरत होती है। आपको रोजाना आधा घंटा टहलना चाहिए या व्यायाम करना चाहिए। यह आपके शारीरिक के साथ-साथ आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा रहेगा। रोजाना एक्सरसाइज करने से आपकी त्वचा स्वस्थ और चमकदार बनती है।लेखक विकास चावला, संस्थापक और निदेशक, वेदास क्योर
वापसी