नई पोस्ट करें

IPL 2022, SRH vs LSG: आवेश खान के 'चौके' से लखनऊ ने हैदराबाद को 12 रनों से दी मात, दर्ज की सीजन की दूसरी जीत

2022-10-01 05:45:16 323

आवेशखानकेचौकेसेलखनऊनेहैदराबादको12रनोंसेदीमातदर्जकीसीजनकीदूसरीजीतसाल की दूसरी तिमाही में 50 प्रतिशत तक पहुंच जाएगा भारत का ऑनलाइन स्मार्टफोन बाजार******साल की दूसरी तिमाही में 50 प्रतिशत तक पहुंच जाएगा भारत का ऑनलाइन स्मार्टफोन बाजारनई दिल्ली: कोविड के कारण दुनियाभर की अर्थव्यवस्था पर कभी प्रभाव पड़ा है। दूसरी ओर, भारतीय ऑनलाइन स्मार्टफोन बाजार अप्रैल-जून तिमाही में 50 प्रतिशत को पार करने की संभावना है। 5जी स्मार्टफोन शिपमेंटपहली तिमाही 2021 में 7 प्रतिशत से दूसरी तिमाही में 15 प्रतिशत तक है, क्योंकि लगभग हर स्मार्टफोन कंपनी 5जी-रेडी कम कीमत वाली डिवाइस को लॉन्च करने के लिए दोगुना कम कर रही है।काउंटरपॉइंट रिसर्च केअनुसार, अप्रैल और मई दोनों महीनें में उम्मीद से बेहतर स्मार्टफोन कंपनियों में उछाल थी, क्योंकि हमने पहले ही उल्लेख किया है कि स्मार्टफोन बाजार लचीला रहता है। हमने जून में फोन बाजारों में कफी मजबूती देखी है।हालांकि, आपूर्ति श्रृंखला की कमी का भी दबाव था जिसका वैश्विक बाजार सामना कर रहा है, और भारत भी इससे अछूता नहीं था।इसके कारण, दूसरी तिमाही में स्मार्टफोन बाजार पिछले साल के मुकबले तिमाही से 14-18 प्रतिशत नीचे हो सकता है, जैसा कि आंकड़ों से पता चलता है। काउंटरपॉइंट ने कहा, कुल मिलाकर, हमारा मानना है कि बाजारपिछले साल की तरह साल-दर-साल विकास का प्रदर्शन करेगा। दूसरी तिमाही में विकास दर आधा हो चुका था। स्मार्टफोन ब्रांड रियलमी ने इस महीने की शुरूआत में घोषणा की थी कि, उसका लक्ष्य चिपसेट निमार्ताओंऔर अन्य उद्योग भागीदारों के समर्थन से अगले साल भारतीय यूजर्स के लिए 10,000 रुपये से कम के सेगमेंट में 5जी स्मार्टफोन लाना है।रियलमी इंडिया और यूरोप के वाइस प्रेसिडेंट, रियलमी और सीईओ माधव शेठ ने कहा, रियलमी का लक्ष्य 5 जी लीडर बनना है और यह मानता है कि 2021 के बाद से प्रत्येक भारतीय 5जी फोन का हकदार है। हम भारतऔर विश्व स्तर पर 5जी के लोकतंत्रीकरण का नेतृत्व कर रहे हैं, और अपने 5जी स्मार्टफोन के माध्यम से हम लगातार अधिक छलांग-आगे आश्चर्य और बाजार में सर्वश्रेष्ठ लाएंगे।काउंटरपॉइंट रिसर्च ने वर्चुअल 5जी इवेंट केदौरान खुलासा किया कि, भारत में मई में बिकने वाले लगभग 14 प्रतिशत स्मार्टफोन 5जी डिवाइस थे। काउंटरपॉइंट रिसर्च के रिसर्च डायरेक्टर तरुण पाठक ने इवेंट के दौरान कहा था कि,ऐसे कई बाजार और तकनीकी कारकहैं जो 4जी से 5जी वर्जन को सभी डिवाइसों में तेजी ला देगी। डाउनलोड गति में बड़े पैमाने पर प्रदर्शन को बढ़ावा देने और इमेजिंग, प्रोसेसर और बैटरी लाइफ में स्टेप-चेंज फीचर सेट में सुधार की उम्मीद है।

आवेशखानकेचौकेसेलखनऊनेहैदराबादको12रनोंसेदीमातदर्जकीसीजनकीदूसरीजीतमोदी सरकार के 2 साल, देखिए खास तस्वीरें...******नरेंद्र मोदी अपनी मां हीरा बेन मोदी के साथ...नरेंद्र मोदी अपनी मां को 7 RCR की सैर कराते हुए...सिंहस्थ विचार कुंभ में हिस्सा लेते नरेंद्र मोदी...कोयंबटूर एयरपोर्ट पर 12 साल के छोटे बच्चे के साथ नरेंद्र मोदी...प्रिंस विलियम और केट मिडिलटन की भारत यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी...10 एशिन देशों की यात्रा पर जाने वाली महिला बाईकरों के साथ नरेंद्र मोदी..अजमेर शरीफ के चिश्ती सैयद फख्र काज़मी और उनके डेलिगेशन के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी...तिरुवनंथपुरम में रैली के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी...साउदी अरब की यात्रा के दौरान मजदूरों के साथ खाना खाते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी...डॉ. भीम राव अंबेडकर की जयंती पर उनकी प्रतिमा को माला पहनाते नरेंद्र मोदी...वाराणसी में e-rickshaw चालकों और उनके परिवार वालों के साथ 'चाय पे चर्चा' करते नरेंद्र मोदी...e-rickshaw पर सवारी करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी...कामाख्या देवी के मंदिर से पूजा कर के निकलते नरेंद्र मोदी...आवेशखानकेचौकेसेलखनऊनेहैदराबादको12रनोंसेदीमातदर्जकीसीजनकीदूसरीजीतUdaipur Murder Case: कन्हैयालाल हत्याकांड में NIA ने दबोचा सातवां आरोपी, रियाज का है खास आदमी******Highlights: नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) ने पिछले महीने हुए उदयपुर में दर्जी कन्हैया लाल की हत्याकांड मामले में एक और आरोपी को गिरफ्तार किया है। एनआईए ने 31 वर्षीय फरहाद मोहम्मद शेख (Farhad Mohd Sheikh) नाम के एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। मामले में अब तक कुल 7 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं। आरोपी मुख्य आरोपी रियाज अख्तरी का करीबी सहयोगी है। NIA के एक प्रवक्ता ने रविवार को इसकी जानकारी दी।NIA के प्रवक्ता ने बताया कि शेख उर्फ बाबला को शनिवार शाम गिरफ्तार किया गया। प्रवक्ता ने कहा कि शेख दो मुख्य आरोपियों में से एक रियाज अख्तरी का करीबी है और उसने दर्जी को मारने की साजिश में सक्रिय रूप से हिस्सा लिया है। कन्हैया लाल (Kanhaiya Lal) की 28 जून को सिलाई की उनकी दुकान के अंदर चाकू से वार कर हत्या कर दी गई थी। रियाज अख्तरी (Riyaz Akhtari) द्वारा दर्जी पर किए गए भीषण हमले को गौस मोहम्मद (Gaus Mohammad) ने एक फोन के जरिए रिकॉर्ड किया और वीडियो को ऑनलाइन पोस्ट किया था। दोनों ने बाद में एक वीडियो में कहा था कि उन्होंने इस्लाम (Islam) के कथित अपमान का बदला लेने के लिए कन्हैया लाल की हत्या कर दी है। हत्या के कुछ ही घंटों बाद दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया था। बाद में 4 और लोगों को गिरफ्तार किया गया था।कन्हैयालाल हत्याकांड मामले में NIA ने जांच के दौरान जब रियाज अख्तरी और गौस मोहम्मद की कॉल डिटेल खंगाली गई तो कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। इनकी कॉल डिटेल में पाकिस्तान के 18 नंबरों का पता लगा है। इन नंबरों पर इनकी लंबी बातचीत होती थी। जबकि कुछ नंबर दावत-ए-इस्लामी से जुड़े हैं। एनआईए को पता चला है कि इन आरोपियों का देश के 25 राज्यों के लगभग 300 लोगों से लगातार संपर्क बना हुआ था।गौरतलब है कि उदयपुर में दर्जी कन्हैयालाल (Kanhaiya Lal) की हत्या कर दी गई थी, जिसके बाद सांप्रदायिक तनाव पैदा हो गया था। बता दें कि भाजपा की निलंबित प्रवक्ता नुपुर शर्मा (Nupur Sharma) ने एक टीवी डिबेट के दौरान पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ एक विवादास्पद टिप्पणी कर दी थी, जिसके बाद देशभर में भारी विरोध हुआ। इस बीच नूपुर (Nupur Sharma) को लेकर दर्जी कन्हैयालाल (Kanhaiya Lal) ने सोशल मीडिया पर नूपुर के समर्थन एक पोस्ट डाली थी, जिसको लेकर पिछले सप्ताह रियाज अख्तरी और गौस मोहम्मद नाम के दो लोगों ने कन्हैयालाल (Kanhaiya Lal) की चाकू से गला रेतकर हत्या कर दी थी।

IPL 2022, SRH vs LSG: आवेश खान के 'चौके' से लखनऊ ने हैदराबाद को 12 रनों से दी मात, दर्ज की सीजन की दूसरी जीत

आवेशखानकेचौकेसेलखनऊनेहैदराबादको12रनोंसेदीमातदर्जकीसीजनकीदूसरीजीतDTC Recruitment 2020: दिल्ली परिवहन निगम में 10वीं पास के लिए नौकरी का बड़ा मौका, 30 जून तक कर सकते हैं अप्लाई****** 10वीं पास के लिए नौकरी का शानदार मौका सामने आया है दरअसल दिल्ली परिवहन निगम (DTC) में ड्राइवर पदों के लिए वैकेंसी निकली हैं। इच्छुक उम्मीदवार इस वैकेंसी पर 30 जून तक आवेदन कर सकते हैं। ये वैकेंसी अनुबंध के आधार पर निकाली गई है। इस वैकेंसी में एक साल का अनुबंध होगा, लेकिन विभाग की ओर से इसको बढ़ाया भी जा सकता है। इस वैकेंसी पर उम्मीदवार ऑफलाइन मोड में आवेदन कर सकते हैं.इस वैकेंसी पर अप्लाई करने के लिए कैंडिडेट का 10वीं पास होना जरूरी है. इसके साथ ही उम्मीदवार की अधिकतम आयु सीमा 50 साल तय की गई है. इस वैकेंसी पर आवेदन करने के लिए कैडिडेट को अपने सभी डॉक्यूमेंट लेकर दिल्ली परिवहन मुख्यालय में पहुंचना होगा.आवेदन फॉर्म के साथ उम्मीदवार को हेवी/ट्रांसपोर्ट चालक लाइसेंस, 10वीं की मार्कशीट और सर्टिफिकेट, आधार कार्ड व पैन कार्ड आदि की फोटोकॉपी संलग्न (अटैच) करना होगा. बता दें कि लाइसेंस कम से कम 3 साल पुराना होना चाहिए।डीटीसी भर्ती 2020 के तहत फिलहाल उम्मीदावरों का चयन कान्ट्रैक्ट के आधार पर किया जाएगा। काम अच्छा रहने पर इसे आगे बढ़ाया जा सकता है। भर्ती के लिए आवेदन करने की आखिरी तारीख 30 जून 2020 है।आवेदन की अंतिम तिथि - 30 जून 2020बस ड्राइवर पद50 वर्षउम्मीदवार सभी जरूरी डॉक्यूमेंट की फोटोकॉपी को एप्लीकेशन फॉर्म के साथ जमा करें।सुबह 10:00 बजे से दिल्ली परिवहन निगम, आईपी एस्टेट नई दिल्ली में 30 जून 2020 तक आवेदन जमा कर सकते हैं।वह व्यक्ति जो पहले अनुबंध में डीटीसी में संविदा ड्राईवर के रूप में जुड़ा हुआ था, लेकिन किसी भी कारण से डीटीसी द्वारा ब्लैक-लिस्टेड कर दिया गया था. ऐसे कैंडिडेट अप्लाई नहीं कर सकते हैं.आवेशखानकेचौकेसेलखनऊनेहैदराबादको12रनोंसेदीमातदर्जकीसीजनकीदूसरीजीतDRI ने 42 किलो तस्करी के सोने को जब्त किया, 10 लोग गिरफ्तार******राजस्व खुफिया निदेशालय ने 8 दिसंबर को रायपुर, कोलकाता और मुंबई में अखिल भारतीय परिचालन में 42 किलोग्राम तस्करी के सोने से बने 500 ग्राम और 500 ग्राम के आभूषण जब्त किए है जिसकी कीमत 16.5 करोड़ रुपये थी। इस मामले में कुल 10 लोग गिरफ्तार किए गए है।आवासीय परिसर की तलाशी लेने पर सोने के बिस्कुट कई आभूषण मिले जिसका मूल्य सामूहिक रूप से Rs.5.57 करोड़ है जिसे सीमा शुल्क अधिनियम 1962 के तहत जब्त किया गया है।इस मामले में गिरफ्तार किए गए सात लोगों में श्री गोविंद मालवीय, श्री अन्ना राम, श्री महेंद्र कुमार, श्री फिरोज मुल्ला, श्री सूरज मगबुल मुल्ला, कैलाश जगताप और विशाल अंकुश माने है जिन्हें सीमा शुल्क अधिनियम के प्रावधानों के तहत गिरफ्तार किया गया।आवेशखानकेचौकेसेलखनऊनेहैदराबादको12रनोंसेदीमातदर्जकीसीजनकीदूसरीजीतTelangana Floods: तेलंगाना में भीषण बाढ़ में बहा टीवी पत्रकार, 3 दिन बाद पेड़ में फंसा हुआ मिला शव******Highlightsतेलंगाना के जगतियाल जिले में बाढ़ के पानी में कार के बह जाने के बाद लापता हुए एक का शव तीन दिन बाद मिला है। 48 घंटे से ज्यादा समय तक चले तलाशी अभियान के बाद, बचावकर्मियों ने शुक्रवार को एक तेलुगू समाचार चैनल एनटीवी के लिए काम करने वाले एक रिपोर्टर जमीरुद्दीन (tv journalist zamiruddin) के शव को बरामद किया। बचाव दल ने बुरी तरह से क्षतिग्रस्त कार को भी पानी से बाहर निकाला। टीवी पत्रकार का शव पेड़ में फंसा हुआ मिला।जानकारी के मुताबिक, लापता पत्रकार की कार का पता गुरुवार को ही लगा लिया गया था, लेकिन बाढ़ के पानी के तेज बहाव के कारण बचावकर्मी उसे बाहर नहीं निकाल पाए थे। पुलिस ने बताया कि जगतियाल में एक समाचार चैनल के पत्रकार 36 वर्षीय जमीरुद्दीन 12 जुलाई को बाढ़ से संबंधित खबरें कवर करने के लिए जिले के रैकल गांव में गए थे और इसके बाद वह लापता हो गए थे। रैकल के सहायक उप निरीक्षक देवेंद्र ने कहा, ‘‘जल स्तर बहुत ज्यादा होने के कारण जिस कार में वह सवार थे, वह बाढ़ के पानी में बह गई थी।’’वाहन को गुरुवार को एक बाढ़ग्रस्त इलाके से बरामद किया गया। पुलिस और राजस्व अधिकारियों ने इलाके की तलाशी ली और पत्रकार का शव शुक्रवार सुबह रामजीपेट गांव में मिला। देवेंद्र ने बताया कि जमीरुद्दीन जगतियाल शहर का रहने वाला था और उसके परिवार में पत्नी और दो बच्चे हैं। विधायक एम.संजय कुमार, जगित्याल के जिलाधिकारी जी. रवि, पुलिस अधीक्षक सिंदु शर्मा और अन्य ने घटनास्थल का दौरा किया।12 जुलाई की रात जमीरुद्दीन अपने दोस्त के साथ बोर्नापल्ली में एनडीआरएफ कर्मियों द्वारा गोदावरी बाढ़ के पानी में फंसे 9 मजदूरों को बचाने के बाद जगतियाल लौट रहे थे, जब वह रास्ते में आए पुल को पार करने की कोशिश कर रहे थे, तो उनकी कार सड़क से नीचे गिर गई और बाढ़ के तेज बहाव में बह गई थी। जिसके बाद से ही वह लापता थे।

IPL 2022, SRH vs LSG: आवेश खान के 'चौके' से लखनऊ ने हैदराबाद को 12 रनों से दी मात, दर्ज की सीजन की दूसरी जीत

आवेशखानकेचौकेसेलखनऊनेहैदराबादको12रनोंसेदीमातदर्जकीसीजनकीदूसरीजीतसाल की दूसरी तिमाही में 50 प्रतिशत तक पहुंच जाएगा भारत का ऑनलाइन स्मार्टफोन बाजार******साल की दूसरी तिमाही में 50 प्रतिशत तक पहुंच जाएगा भारत का ऑनलाइन स्मार्टफोन बाजारनई दिल्ली: कोविड के कारण दुनियाभर की अर्थव्यवस्था पर कभी प्रभाव पड़ा है। दूसरी ओर, भारतीय ऑनलाइन स्मार्टफोन बाजार अप्रैल-जून तिमाही में 50 प्रतिशत को पार करने की संभावना है। 5जी स्मार्टफोन शिपमेंटपहली तिमाही 2021 में 7 प्रतिशत से दूसरी तिमाही में 15 प्रतिशत तक है, क्योंकि लगभग हर स्मार्टफोन कंपनी 5जी-रेडी कम कीमत वाली डिवाइस को लॉन्च करने के लिए दोगुना कम कर रही है।काउंटरपॉइंट रिसर्च केअनुसार, अप्रैल और मई दोनों महीनें में उम्मीद से बेहतर स्मार्टफोन कंपनियों में उछाल थी, क्योंकि हमने पहले ही उल्लेख किया है कि स्मार्टफोन बाजार लचीला रहता है। हमने जून में फोन बाजारों में कफी मजबूती देखी है।हालांकि, आपूर्ति श्रृंखला की कमी का भी दबाव था जिसका वैश्विक बाजार सामना कर रहा है, और भारत भी इससे अछूता नहीं था।इसके कारण, दूसरी तिमाही में स्मार्टफोन बाजार पिछले साल के मुकबले तिमाही से 14-18 प्रतिशत नीचे हो सकता है, जैसा कि आंकड़ों से पता चलता है। काउंटरपॉइंट ने कहा, कुल मिलाकर, हमारा मानना है कि बाजारपिछले साल की तरह साल-दर-साल विकास का प्रदर्शन करेगा। दूसरी तिमाही में विकास दर आधा हो चुका था। स्मार्टफोन ब्रांड रियलमी ने इस महीने की शुरूआत में घोषणा की थी कि, उसका लक्ष्य चिपसेट निमार्ताओंऔर अन्य उद्योग भागीदारों के समर्थन से अगले साल भारतीय यूजर्स के लिए 10,000 रुपये से कम के सेगमेंट में 5जी स्मार्टफोन लाना है।रियलमी इंडिया और यूरोप के वाइस प्रेसिडेंट, रियलमी और सीईओ माधव शेठ ने कहा, रियलमी का लक्ष्य 5 जी लीडर बनना है और यह मानता है कि 2021 के बाद से प्रत्येक भारतीय 5जी फोन का हकदार है। हम भारतऔर विश्व स्तर पर 5जी के लोकतंत्रीकरण का नेतृत्व कर रहे हैं, और अपने 5जी स्मार्टफोन के माध्यम से हम लगातार अधिक छलांग-आगे आश्चर्य और बाजार में सर्वश्रेष्ठ लाएंगे।काउंटरपॉइंट रिसर्च ने वर्चुअल 5जी इवेंट केदौरान खुलासा किया कि, भारत में मई में बिकने वाले लगभग 14 प्रतिशत स्मार्टफोन 5जी डिवाइस थे। काउंटरपॉइंट रिसर्च के रिसर्च डायरेक्टर तरुण पाठक ने इवेंट के दौरान कहा था कि,ऐसे कई बाजार और तकनीकी कारकहैं जो 4जी से 5जी वर्जन को सभी डिवाइसों में तेजी ला देगी। डाउनलोड गति में बड़े पैमाने पर प्रदर्शन को बढ़ावा देने और इमेजिंग, प्रोसेसर और बैटरी लाइफ में स्टेप-चेंज फीचर सेट में सुधार की उम्मीद है।आवेशखानकेचौकेसेलखनऊनेहैदराबादको12रनोंसेदीमातदर्जकीसीजनकीदूसरीजीतनोटबंदी और GST की अनिश्चितता के बावजूद 2017 अंत तक 29000 पर पहुंचेगा सेंसेक्‍स : BoFA-ML****** वैश्विक वित्तीय सेवा कंपनी बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच (BoFA-ML) ने दिसंबर, 2017 अंत के लिए बांबे स्‍टॉक एक्‍सचेंज के संवेदी सूचकांक सेंसेक्स का लक्ष्य 29000 अंक तय किया है। BoFA-ML ने कहा कि साल के दौरान भारतीय शेयर बाजार नोटबंदी और GST की वजह से पैदा हुई अनिश्चितता के बावजूद सकारात्मक रिटर्न देंगे।गूगल मैप से अनुमानित किराया देखकर ऐसे फटाफट बुक करें Ola और Uber कैब, नहीं है ऐप इंस्‍टॉल करने की जरूरतअगले वित्त वर्ष 2017-18 में आय में 12 से 14 प्रतिशत की दो अंक की वृद्धि दर्ज होगी। इसके अलावा 2018-19 में भी यह दहाई अंकों में रहेगी।कायम है जलवा : नोकिया 6 स्‍मार्टफोन के लिए महज 24 घंटे में हुए ढाई लाख रजिस्‍ट्रेशन

IPL 2022, SRH vs LSG: आवेश खान के 'चौके' से लखनऊ ने हैदराबाद को 12 रनों से दी मात, दर्ज की सीजन की दूसरी जीत

आवेशखानकेचौकेसेलखनऊनेहैदराबादको12रनोंसेदीमातदर्जकीसीजनकीदूसरीजीतPunjab News: नाले को पार करते हुए गिर गया था डेढ़ साल का बच्चा, छह दिन बाद मिला शव******Highlights पंजाब के कपूरथला में छह दिन पहले एक नाले में गिर गए डेढ़ साल के एक बच्चे का शव सोमवार को क्षत-विक्षत स्थिति में मिला। गौरतलब है कि अभिलाष नौ अगस्त को उस समय नाले में गिर गया था, जब वह अपनी चार-वर्षीय बहन के साथ नाले के ऊपर रखे खंभे पर चलकर उसे पार करने की कोशिश कर रहा था। अभिलाष प्रवासियों सुरजीत और मनीषा का पुत्र था। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) के एक दल ने बचाव अभियान शुरू किया था, लेकिन वह बच्चे को नहीं ढूंढ सके। अधिकारियों ने बताया कि सोमवार को कुछ लोगों ने शव को नाले में देखा।वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक(SSP) नवनीत सिंह बैंस ने बताया कि पुलिस द्वारा मौके पर पहुंचकर शव को पोस्टमॉर्टम के लिए सिविल अस्पताल भेज दिया गया है। उपायुक्त विशेष सारंगल ने कहा कि जिला रेड क्रॉस सोसाइटी बच्चे के दाह संस्कार में मृतक के परिवार की मदद करेगी। उन्होंने कहा कि वह राज्य सरकार को पत्र लिखकर परिवार के लिए आर्थिक मदद की मांग करेंगे। आपको बता दें कि अभिलाष छह दिन पहले नाले को क्रौस करते टाइम नाले में गिर गया था, जिसके बाद रेस्क्यू टीम ने उसे बचाने की कोशिश की लेकिन वे उसे बचा नहीं पाए।लुधियाना छह दिन से लापता बच्चे का शव एटीआइ के सामने खाली प्लाट में पड़ा मिला था। शव बुरी तरह से सड़ चुका था, परिवार ने कपड़ों से शव की पहचान की थी। सूचना मिलने पर पहुंची थाना शिमलापुरी पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर सिविल अस्पताल पहुंचाया। उसका पोस्टमार्टम करवाया था। पुलिस ने बताया था कि बच्चे की पहचान न्यू जनता नगर निवासी राजा राम के नौ वर्षीय बेटे प्रदीप कुमार के रूप में हुई थी। राजा राम ने पुलिस के पास शिकायत दर्ज कराई थी। इसमें उसने बताया कि उसका बेटा घर में बिना बताए कहीं चला गया और लौट कर नहीं आया।

आवेशखानकेचौकेसेलखनऊनेहैदराबादको12रनोंसेदीमातदर्जकीसीजनकीदूसरीजीतSpecial Ops 1.5 का ट्रेलर रिलीज से पहले लीक, नीरज पांडे की सीरीज में के के मेनन संग नजर आएंगे आफताब******साल 2020 में आई वेबसीरीज 'स्पेशल ऑप्स' को दर्शकों का भरपूर प्यार मिला। सस्पेंस और थ्रिलर से भरपूर इस सीरीज में हिम्मत सिंह के रोल में के के मेनन को काफी पसंद किया गया। सीरीज हिट रही और अबइस सीरीज को अलग एंगल देकर केवल हिम्मत सिंह के बैक स्टोरी को दिखाने का फैसला लिया है।इसे ‘स्पेशल ऑप्स 1.5’ नाम दिया गया है। कल इस सीरीज का ट्रेलर रिलीज होने वाला था मगर रिलीज से पहले ही ट्रेलर लीक हो गया और सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।पिछले सीजन में दिखाया गया कि हिम्मत सिंह अपने मिशन की सफलता के लिए किसी भी हद तक जा सकता है। अब मिनी सीरीज ‘स्पेशल ऑप्स 1.5’ दर्शकों को अतीत में वहां लेकर जाएगा जहां से एक युवा के रॉ एजेंट बनने की शुरुआत हुई थी।नीरज पांडे और शिवम नायर निर्देशित इस सीरीज के नए सीजन का दर्शकों को बेसब्री से इंतजार है। लेकिन मंगलवार को पोस्टर रिलीज के साथ कुछ ऐसा हुआ जिसकी उम्मीद किसी को नहीं थी। इंस्टाग्राम पर पोस्टर रिलीज हुआ जिसके जरिए ट्रेलर की रिलीज डेट भी अनाउंस की गई। लेकिन इसके कुछ ही देर बार एक वीडियो लीक हो गया,कहा जा रहा कि ये ‘स्पेशल ऑप्स 1.5’ का ट्रेलर का हिस्सा है। ट्विटर पर भी 'स्पेशल ऑप्स लीक ट्रेंड' कर रहा है। वीडियो देखर लोग काफी हैरान हो रहे हैं।इस वीडियो में के.के मेनन के साथ आफताब शिवदासानी भी नजर आ रहे हैं।हालांकि अभी तक हॉटस्टार के अधिकारियों या इस सीरीज के मेकर्स की तरफ से कोई ऑफिशियल स्टेटमेंट नहीं जारी किया गया है। लीक हुआ वीडियो सही है या नहीं इस बात का खुलासा तो तभी हो पाएगा जब ट्रेलर रिलीज होगा। अब देखने वाली बात ये होगी कि बुधवार को ट्रेलर सामने आने के बाद लोगों का रिस्पॉन्स कैसा रहता है।आवेशखानकेचौकेसेलखनऊनेहैदराबादको12रनोंसेदीमातदर्जकीसीजनकीदूसरीजीतभारत में इस साल से उपलब्‍ध होगी 5G सेवा, एयरटेल और जियो एक बार फ‍िर आए आमने-सामने******5G subscription in India to become available in 2022मोबाइल उपकरण बनाने वाली स्‍वीडन की कंपनी एरिक्‍सन ने अपने एक बयान में कहा है कि अगली पीढ़ी की 5जी टेक्‍नोलॉजी पर आधारित मोबाइल सेवाएं देश में 2022 तक उपलब्‍ध होने की पूरी संभावना है। एरिक्‍सन ने अपनी वार्षिक रिपोर्ट में अनुमान जताया है कि वर्ष 2025 के अंत तक 80 प्रतिशत मोबाइल कनेक्‍शन एलटीई तकनी (4जी) पर होने का अनुमान है। रिपोर्ट में कहा गया है कि 2022 तक देश में उपलब्‍ध हो जाएंगी और 2025 के अंत तक देश में 5जी यूजर्स की संख्‍या कुल मोबाइल कनेक्‍शन का पांच प्रतिशत होगा।भारती एयरटेल, रिलायंस जियो, वार्डे कैपिटल और यूवी असेट रिकंस्‍ट्रक्‍शन कंपनी ने कर्ज में डूबी रिलायंस कम्‍युनिकेशंस की संपत्ति खरीदने के लिए बोलियां जमा कराई हैं। तीन कंपनियों आरकॉम, रिलायंस टेलीकॉम और रिलायंस इंफ्राटेल लिमिटेड के लिए कुल 11 बोलियां आई हैं।आरकॉम के ऊपर करीब 33,000 करोड़ रुपए का कर्ज है। कर्जदाताओं ने अगस्‍त में 49,000 करोड़ रुपए का दावा जमा किया था। सूत्रों के मुताबिक कर्जदाताओं की समिति की शुक्रवार को फ‍िर से बैठक होगी, जिसमें बोलियों को अंतिम रूप दिया जाएगा। आरकॉम ने अपनी पूरी संपत्ति बिक्री के लिए रखी है।ऋण शोधन कार्यवाही में जाने से पहले कंपनी ने अपने 122 मेगाहर्ट्ज स्‍पेक्‍ट्रम का मूल्‍य 14,000 करोड़ रुपए आकलित किया था। इसके अलावा कंपनी ने अपने टॉवर कारोबार का मूल्‍य 7,000 करोड़ रुपए, ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क का मूल्‍य 3,000 करोड़ रुपए और डेटा सेंटर का मूल्‍य 4,000 करोड़ रुपए आंका गया था।

आवेशखानकेचौकेसेलखनऊनेहैदराबादको12रनोंसेदीमातदर्जकीसीजनकीदूसरीजीतमध्य प्रदेश में कोरोना वायरस के 19 नए मामले, कोई मौत नहीं****** मध्य प्रदेश में मंगलवार को किसी भी व्यक्ति की कोरोना वायरस संक्रमण से मौत नहीं हुई है। प्रदेश में अब तक इस बीमारी से मरने वालों की संख्या 10,512 है। प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 19 नए मामले सामने आए और इसके साथ ही प्रदेश में अभी तक कुल 7,91,689 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। प्रदेश में फिलहाल कोविड-19 के केवल 190 मरीज हैं, उन सभी का इलाज चल रहा है। प्रदेश स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि पिछले 24 घंटों में प्रदेश के 52 जिलों में से 08 जिलों में ही संक्रमण के नये मामले आये, जबकि 44 जिलों में एक भी नया मामला नहीं आया है।उन्होंने कहा कि प्रदेश में पिछले 24 घंटों में के सात नए मामले भोपाल में आए, जबकि इंदौर में चार, ग्वालियर में तीन तथा कटनी, नरसिंहपुर, राजगढ़, सिवनी व शिवपुरी में एक-एक नया मामला आया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कुल 7,91,689 संक्रमितों में से अब तक 7,80,987 मरीज स्वस्थ हो गये हैं।अधिकारी ने बताया कि मंगलवार को कोविड-19 के 31 रोगी स्वस्थ हुए हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में मंगलवार को केवल 3,977 लोगों को कोविड-19 के टीके लगाए गये। इसी के साथ प्रदेश में अब तक 2,56,92,264 लोगों को टीका लग चुका है।वहीं, प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामलों में कमी आने के बाद सरकार द्वारा अब स्कूलों को खोलने की तैयारी शुरू हो चुकी है। यहां 26 जुलाई से स्कूलों में 11वीं और 12वीं की कक्षाएं एव छात्रावास खोले जाएंगे। वहीं कक्षा 9वीं और 10वीं की कक्षाएं 5 अगस्त से शुरू की जाएंगी।इस बाबत मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि स्कूल 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ प्रारंभ होंगे। कक्षाओं के खोले जाने के संबंध में क्राइसिस मैनेजमेंट समूह स्थानीय परिस्थितियों के अनुसार निर्णय लेंगे।आवेशखानकेचौकेसेलखनऊनेहैदराबादको12रनोंसेदीमातदर्जकीसीजनकीदूसरीजीतShashi Tharoor: शशि थरूर लड़ सकते हैं कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव, सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद अटकलें तेज******कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने आज सोमवार को पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से दिल्ली में मुलाकात की। हालांकि, अभी ये स्पष्ट नहीं है कि इस मुलाकात की वजह क्या है। थरूर ने सोनिया गांधी से मुलाकात ऐसे समय की है, जब हाल ही में उन्होंने ऐसे संकेत दिए हैं कि वह अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ सकते हैं। वहीं, सोनिया गांधी से मुलाकाता के कुछ घंटे पहले थरूर ने कांग्रेस में सुधार की मांग करने वाली एक पोस्ट को समर्थन करते हुए ट्वीट किया। उन्होंने कहा कि अध्यक्ष पद के हर उम्मीदवार को यह संकल्प लेना चाहिए कि निर्वाचित होने पर वह 'उदयपुर नवसंकल्प' को पूरी तरह लागू करेगा।तिरुवनंतपुरम से कांग्रेस सांसद थरूर ने ट्विटर पर पार्टी के युवा कार्यकर्ताओं की ओर से सुधार की मांग करने वाली याचिका का समर्थन किया। पार्टी कार्यकर्ताओं की ऑनलाइन याचिका के संबंध में शशि थरूर ने ट्वीट किया, ''मैं इस याचिका का स्वागत करता हूं, जिसे कांग्रेस के युवा सदस्यों के एक समूह की ओर से पार्टी में रचनात्मक सुधारों की मांग करते हुए प्रसारित किया जा रहा है। इसमें अब तक 650 से ज्यादा हस्ताक्षर इकट्ठे हुए हैं। मुझे इसका समर्थन करने और इसके आगे बढ़ने में खुशी हो रही है।''कांग्रेस कार्यकर्ताओं की ओर से प्रसारित की गई ऑनलाइन याचिका में पार्टी को मजबूत करने के लिए कदम उठाने संबंधी बातें कही गई हैं। ऑनलाइन याचिका में कहा गया है, "हम कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव लड़ने वाले हर उम्मीदवार से अपील करते हैं कि वह यह संकल्प ले कि ब्लॉक कमेटी से लेकर कांग्रेस कार्य समिति तक, पार्टी के सभी सदस्यों को वह साथ लेकर चलेगा और पदभार ग्रहण करने के 100 दिनों के भीतर उदयपुर नवसंकल्प को पूरी तरह लागू करेगा।" कांग्रेस ने मई में चिंतन शिविर के बाद 'उदयपुर नवसंकल्प' जारी किया था, जिसमें पार्टी के संगठन में कई सुधार के सुझाए दिए गए थे। इनमें 'एक व्यक्ति, एक पद' और 'एक परिवार, एक टिकट' की व्यवस्था की बातें प्रमुख हैं।बता दें कि कांग्रेस के अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने के सवाल पर शशि थरूर ने अब तक कोई स्पष्ट जवाब नहीं दिया है। पत्रकारों की ओर से चुनाव लड़ने के सवाल पर उन्होंने चुप्पी साधे रखी। पिछले दिनों एक इंटरव्यू में थरूर ने कहा था कि उन्होंने चुनाव लड़ने के बारे में अभी सोचा नहीं है। वहीं, विदेश से लौटने के बाद सोनिया गांधी पार्टी के नेताओं से मिल रहीहैं। सोनिया गांधी से आज शशि थरूर के अलावा, सांसद दीपेंद्र हुड्डा, बॉक्सर विजेंदर, मध्य प्रदेश के नए कांग्रेस प्रभारी जेपी अग्रवाल और झारखंड कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडे नेमुलाकात की।गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए अधिसूचना 22 सितंबर को जारी की जाएगी और नामांकन दाखिल करने की प्रक्रिया 24 से 30 सितंबर तक चलेगी। नामांकन वापस लेने की अंतिम तिथि 08 अक्टूबर है। एक से अधिक उम्मीदवार होने पर 17 अक्टूबर को वोटिंग होगी और नतीजे 19 अक्टूबर को घोषित किए जाएंगे।

आवेशखानकेचौकेसेलखनऊनेहैदराबादको12रनोंसेदीमातदर्जकीसीजनकीदूसरीजीतचीन का 1 करोड़ से अधिक रोजगार सृजन का लक्ष्य, आर्थिक मंदी के बावजूद शहरी नागरिकों को मिलेगी नौकरी****** चीन ने इस साल शहरी नागरिकों के लिए आर्थिक मंदी के बावजूद 1.1 करोड़ नई नौकरियों के सृजन का लक्ष्य तय किया है। ‘पीपुल्स डेली’ की रिपोर्ट के अनुसार, यह कदम देश की आर्थिक वृद्धि को मध्यम से उच्च गति की ओर जारी रखने के लिए लिया गया है।रेनमिन यूनिवर्सिटी ऑफ चाइना के प्राध्यपाक झेंग गोंगचेंग ने कहा, “पिछले साल चीन ने 1.314 करोड़ शहरी रोजगारों का सृजन किया था और चीन को इस साल के लक्ष्य को भी हासिल कर लेना चाहिए।” उन्होंने कहा कि सेवा क्षेत्र और अधिक नौकरियों को पैदा कर सकता है।आवेशखानकेचौकेसेलखनऊनेहैदराबादको12रनोंसेदीमातदर्जकीसीजनकीदूसरीजीतCongress Leader leaving Party: गुलाम नबी से पहले ये दिग्गज नेता भी छोड़ चुके हैं कांग्रेस, जानें क्यों पार्टी से सभी का भंग हो रहा मोह******Highlights देश में करीब 60 वर्षों तक सत्ता के शीर्ष पर रही कांग्रेस से एक के बाद दिग्गज नेता पार्टी छोड़कर जा रहे हैं। इससे पीएम मोदी का कांग्रेस मुक्त भारत बनानेका नारा सच साबित होता दिख रहा है। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और कई बार केंद्र में मंत्री रहे वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने भी अब कांग्रेस पार्टी को अलविदा कह दिया है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि कांग्रेस में सबकुछ अच्छा नहीं चल रहा और पार्टीबेहद मुश्किल दौर से गुजर रही है। गुलाम नबी से पहले वर्ष 2014 में केंद्र में मोदी सरकार बनने के बाद से अब तक दर्जनों कांग्रेसी नेता पार्टी छोड़कर जा चुके हैं। ज्यादातर नेताओं ने भाजपा का ही दामन थामा है। इससे कांग्रेस पार्टी की लगातार दुर्गति हो रही है। हैरानी की बात तो यह है कि कांग्रेस पार्टी में रहकर लगभग अपनी उम्र गुजार देनेवाले दिग्गज कांग्रेसी भी पार्टी को टाटा कर रहे हैं। इससे पार्टी का अस्तित्व लगातार खतरे में पड़ता जा रहा है। साथ ही नेतृत्व पर गंभीर सवाल खड़ेहो रहेहैं। आखिर कुछ तोवजह है कि एक के बाद एक लगातार वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं का पार्टी से मोह भंग हो रहा है।आपको बता दें कि गुलाम नबी आजाद ने ऐसे वक्त में कांग्रेस पार्टी को अलविदा कहा है जब पार्टी में राष्ट्रीय अध्यक्ष ढूंढ़ने की कवायद तेजी से चल रही है। इस बीच में अंदर से छन-छन के खबरें आती रही हैं कि एक धड़ा राहुल गांधी को दोबारा पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने की कोशिश कर रहा है। कहीं गुलाम के आजाद होने की वजह गांधी परिवार का लगातार पार्टी पर कब्जा बने रहना तो नहीं है। आखिर ऐसा क्या हो गया कि कांग्रेस में इंदिरा, राजीव, संजय और सोनिया गांधी के करीबी रहे गुलाम नबी आजाद ने अचानक पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया। पार्टी में कुछ तो गड़बड़ जरूर चल रहा है। गुलाम नबी आजाद कांग्रेस नेतृत्व से नाराज चल रहे प्रमुख जी-23 नेताओं में शामिल थे। वह पहले भी कई बार पार्टी के आलाकमान और नेतृत्व पर सवाल उठा चुके हैं।उनसे पहले किन-किन बड़े दिग्गज कांग्रेसियों ने पार्टी को अलविदा कहा है आइए वह भी आपको बताते हैं।कई बार केंद्र में मंत्री रहे और सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील दिग्गज कांग्रेसी नेता कपिल सिब्बल भी अभी कुछ माह पहले ही पार्टी को अलविदा कह चुके हैं। वह जी-23ग्रुप के प्रमुख नेताओं में थे। पंजाब में कई बार कांग्रेस सरकार बनने पर मुख्यमंत्री रहे। राहुल गांधी से विवाद के चलते वर्ष 2022 में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान पार्टी छोड़ दी और कांग्रेस को पंजाब में करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा।मध्य प्रदेश की सियासत में बड़ा कद रखने वाले और कभी राहुल गांधी के सबसे करीबी रहे कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया भी वर्ष 2021 में पार्टी में अंदरूनी कलह के चलते भाजपा में शामिल हो चुके हैं। अब वह मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री हैं।राहुल गांधी के बेहद करीबी कहे जाने वाले पूर्व केंद्रीय मंत्री रहे जितिन प्रसाद भी कांग्रेस को अलविदा कह चुके हैं। करीब 32 वर्षों तक कांग्रेस में रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री आरपीएन सिंह ने भी यूपी चुनाव से पहले पार्टी का दामन छोड़ दिया। वह भाजपा में शामिल हो गए। यूपी सरकार में मंत्री हैं। कांग्रेस के दिग्गज नेता तरुण गोगोई के सबसे करीबी रहे हिमंत बिस्वा सरमा ने 2015 में कांग्रेस को छोड़ दिया था। इसके बाद वह भाजपा में शामिल हो गए थे। वर्तमान में वह भाजपा नीत सरकार में असम के मुख्यमंत्री हैं। मणिपुर से कांग्रेस विधायक रहे एन बीरेन सिंह ने भी वर्ष 2017 में कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था। भाजपा में शामिल हो गए। वहां भाजपा सरकार बनने पर मुख्यमंत्री हुए। अरुणाचल प्रदेश में कांग्रेस पार्टी की सरकार में मुख्यमंत्री रहे पेमा खांडू ने भी भाजपा का दामन थाम लिया। अब वहां भाजपा सरकार में मुख्यमंत्री हैं। दिग्गज कांग्रेसी नेता पीसी चाको भी कांग्रेस छोड़कर शरद पवार की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) में शामिल हो गए।पूर्व केंद्रीय मंत्री व वरिष्ठ नेता जयंती नटराजन ने वर्ष 2015 में ही कांग्रेस पार्टी छोड़ दी थी। उन्होंने राहुल गांधी समेत अन्य कांग्रेसियों पर काफी आरोप भी लगाए थे।यूपी सरकार में केंद्रीय मंत्री रहे जीके वासन ने 2014 में मोदी सरकार बनने के बाद ही कांग्रेस को टाटा कर दिया था। उन्होंने भी कांग्रेस के आलाकमान पर तमिलनाडु की कांग्रेस इकाई की अनदेखी का आरोप मढ़ा था। सोनिया गांधी के बेहद करीबी रहे टॉम वडक्कन ने भी पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक के बाद कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए थे। उनका स्टैंड इस मसले पर पार्टी से अलग था। महाराष्ट्रमें दिग्गज कांग्रेसियों में गिने जाने वाले रंजीत देशमुख विलासराव सरकार में मंत्री रहे। उन्होंने भी कांग्रेस पार्टी को छोड़ दिया था। हरियाणा के वरिष्ठ कांग्रेसी नेता चौधरी वीरेंद्र सिंह ने वर्ष 2014 में ही कांग्रेस को छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए। फिर मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री बने। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष रह चुकीं रीता बहुगुणा जोशी ने वर्ष 2016 में कांग्रेस छोडड़कर भाजपा में शामिल हो गईं। 2017 में योगी सरकार में महिला एवं बाल विकास मंत्री भी रहीं। उनके पिता स्वर्गीय हेमवती नंदन बहुगुणा भी दिग्गज कांग्रेसी थे और यूपी के लंबे समय तक मुख्यमंत्री रहे। अभिनेत्री उर्मिला मतोंडकर ने सिर्फ पांच महीने ही कांग्रेस पार्टी को अलविदा कह दिया था। लंबे समय तक कांग्रेस की ओर से गोवा के मुख्यमंत्री रहे। वर्ष 2022 के विधानसभा चुनाव से पहले ही कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया। इसके बाद वह तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए। मणिपुर के पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष गोविंददास कौंथोजम ने कांग्रेस से इस्तीफा देकर हाल ही में भाजपा ज्वाइन कर लिया है।कांग्रेस पार्टी के दिल्ली के दिग्गज नेता और सीएम चेहरा रहे अजय माकन भी पार्टी को अलविदा कह चुके हैं।उत्तराखंड के पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता हरक सिंह रावत भी कांग्रेस पार्टी छोड़ चुके हैं।गुजरात के वरिष्ठ कांग्रेसी नेता व पूर्व मुख्यमंत्री रहे शंकर सिंह वाघेला भी कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे चुके हैं।पूर्व कांग्रेसी नेता रहे अखिलेश सिंह की पुत्री और रायबरेलवी की सदर सीट से विधायक अदिति सिंह ने वर्ष 2022 में यूपी विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा का दामन थाम लिया था। उन्होंने प्रियंका गांधी वाड्रा और राहुल गांधी पर गंभीर आरोप लगाए थे। यूपी से कांग्रेस के नेता और राहुल गांधी के करीबी इमरान मसूद ने वर्ष 2022 में पार्टी को अलविदा कह दिया। कांग्रेस पंजाब इकाई के प्रमुख सुनील जाखड़ ने भी पार्टी हाईकमान पर चापलूसों और चुगलखोरों से घिरा होने का आरोप लगाकर इस्तीफा दे दिया था।युवा कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल ने भी कुछ माह पहले कांग्रेस छोड़ दिया था। इसके बाद वह भाजपा में शामिल हो गए। पार्टी नेतृत्व और राहुल गांधी पर जमकर निशाना साधा था।पूर्व केंद्रीय मंत्री आश्वनी कुमार करीब 40 वर्ष तक कांग्रेस में रहे। इसके बाद उन्होंने पार्टी से इस्तीफा दे दिया। इस प्रकार दर्जनों अन्य कांग्रेसी भी पार्टी छोड़ चुके हैं।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 05:05
उद्धरण 1 इमारत
'बिग बॉस 13' के एक्स कंटेस्टेंट विशाल आदित्य सिंह का खुलासा, मधुरिमा तुली संग कोई दुश्मनी नहीं******: पूर्व युगल (एक्स कपल) और ने रियलिटी टीवी शो 'नच बलिए' और के मंच पर अपने झगड़ों को लेकर काफी सुर्खियां बटोरीं हैं। एक-दूसरे को गाली देने से लेकर शारीरिक हिंसा में शामिल होने तक दोनों अक्सर विवादों के साथ सुर्खियों में रहे। ऐसा लगता है कि अब दोनों अपने झगड़ों के दौर से आगे बढ़ चुके हैं। विशाल ने हाल ही में आईएएनएस को दिए एक साक्षात्कार में मधुरिमा के साथ अपने हालिया संबंधों के बारे में बात की।विशाल आदित्य सिंह ने कहा, "मेरे दिल में उसके लिए कोई घृणा नहीं है। हम अभी भी दोस्त हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हम रोज मिलते हैं या रोज बात करते हैं। हम अपने झगड़े से आगे बढ़ गए हैं। हम अब परिपक्व व्यवहार करते हैं। उसके लिए कटु भावनाएं नहीं है और मधुरिमा और मेरे बीच कोई दुश्मनी नहीं है।"विशाल ने यह भी बताया कि 'बिग बॉस-13' के बाद उनका जीवन कैसे बदल गया है। उन्होंने कहा, "मैं उस शो का हिस्सा बनकर धन्य महसूस करता हूं। अब अधिक लोग मुझे जानते हैं। मेरी पहुंच बढ़ गई है। मुझे 'बिग बॉस' के कारण बहुत लोकप्रियता मिली। यहां तक कि मेरा पेशेवर जीवन भी बदल गया है और मुझे कई ऑफर मिले हैं।"हाल ही में विशाल आदित्य सिंह और रश्मि देसाई एक फैशन शो में रैंप वॉक करते नज़र आए थे, जिसका वीडियो और फोटो खूब वायरल हुएथे।
2022-10-01 04:55
उद्धरण 2 इमारत
भारत नवाचार सूचकांक 2019: कर्नाटक टॉप पर, छोटे राज्‍यों में दिल्‍ली ने मारी बाजी, ये है पूरी लिस्‍ट******india Innovation Index 2019 ने ज्ञान साझेदार के रूप में प्रतिस्‍पर्धी क्षमता के लिए संस्‍थान (इंस्‍टीट्यूट फॉर कम्पीटिटिवनेस) के साथ मिलकर 'भारत नवाचार सूचकांक (III) 2019' जारी किया है। के मामले में कर्नाटक अव्वल है, प्रमुख राज्यों में पहले तीन स्थान पर कर्नाटक के अलावा तमिलनाडु वमहाराष्ट्र हैं।केंद्र शासित प्रदेश एवं छोटे राज्यों की श्रेणी में दिल्ली पहले पायदान पर है। दरअसल यह सूचकांक राज्यों की नवाचार की क्षमता और प्रदर्शन के सतत आकलन के लिए बनाया गया है। इस सूचकांक के निर्माण के लिए पांच सक्षम बनाने वाले पैमानों और दो प्रदर्शन के पैमानों पर राज्यों को परखा गया। सक्षम बनाने वाले पैमानों में मानव संसाधन, निवेश, कारोबार का माहौल, सुरक्षा और कानूनी वातावरण को रखा गया था। वहीं, ज्ञान के उत्पादन और ज्ञान के प्रसार को प्रदर्शन के पैमानों में रखा गया था।इस दृष्टि से शेष शीर्ष 10 प्रमुख राज्‍यों में क्रमश: तमिलनाडु, महाराष्ट्र, तेलंगाना, हरियाणा, केरल, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, गुजरात और आंध्र प्रदेश हैं। शीर्ष 10 प्रमुख राज्‍य मुख्‍यत: दक्षिण एवं पश्चिम भारत में केंद्रित हैं। सिक्किम और दिल्‍ली क्रमश: पूर्वोत्‍तर एवं पहाड़ी राज्‍यों और केंद्र शासित प्रदेशों/सिटी राज्‍यों/छोटे राज्‍यों में शीर्ष स्‍थान पर हैं। दिल्ली, कर्नाटक, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, तेलंगाना और उत्तर प्रदेश कच्‍चे माल को उत्‍पादों में तब्‍दील करने के मामले में सर्वाधिक दक्ष राज्‍य हैं।इस मौके पर नीति आयोग के उपाध्‍यक्ष डॉ. राजीव कुमार, नीति आयोग के सीईओ श्री अमिताभ कांत, विज्ञान विभाग में सचिव श्री आशुतोष शर्मा, जैव प्रौद्योगिकी विभाग में सचिव रेणु स्‍वरूप और आयुष सचिव वैद्य राजेश कोटेचा की उपस्थिति में इस सूचकांक को जारी किया गया।डॉ. राजीव कुमार ने उम्‍मीद जताई कि भारत नवाचार सूचकांक दरअसल नवाचार परिवेश के विभिन्‍न हितधारकों के बीच सामंजस्‍य सृजित करेगा और भारत आगे चलकर प्रतिस्‍पर्धी क्षमता वाले सुशासन की ओर अग्रसर हो जाएगा। अमिताभ कांत ने कहा कि दुनिया में अग्रणी अभिनव देश बनने के लिए अपनी असंख्य चुनौतियों के बीच भारत के पास एक अनूठा अवसर है। रेणु स्‍वरूप ने कहा कि प्रतिस्‍पर्धी क्षमता के केंद्रीय बिन्‍दु के रूप में क्लस्‍टर आ‍धारित नवाचार से लाभ उठाया जाना चाहिए। आशुतोष शर्मा ने कहा कि देश में नवाचार के माहौल को बेहतर बनाने के लिए यह सूचकांक एक बड़ी शुरुआत है क्‍योंकि यह अभिनव आइडिया के कच्‍चे माल एवं उत्‍पाद दोनों से ही जुड़े घटकों पर फोकस करता है। वैद्य कोटेचा ने कहा कि यह सूचकांक एक-दूसरे के साथ राज्‍य के प्रदर्शन के मानकीकरण और प्रतिस्‍पर्धी संघवाद को बढ़ावा देने के लिए एक अच्‍छा प्रयास है।इसका मतलब है नई पहल। इसके तहत यह देखा जाता है कि कौन राज्य किस क्षेत्र में और क्यों बेहतर कर रहा है। वहां राज्य के संसाधन, तकनीक और मानव संसाधन के बीच कैसा ताममेल है। इसके लिए उसने किस तरह की मदद ली और उनमें किस तरह की चुनौतियां सामने आईं और उसे कहां तक हल करने में सफल रहा। साथ ही इसका वहां के लोगों पर क्या असर पड़ा। नवाचार में निवेशक, शोधकर्ता और आविष्कारक सभी को एक मंच मिलता है।देश के सभी राज्यों की भौगोलिक और आर्थिक स्थिति भिन्न हैं। जब केन्द्र सरकार कोई योजना बनाती है तो कई बार किसी राज्य के लिए वह उतना फायदेमंद नहीं हो पाता जितनी उम्मीद होती है। नवाचार सूचकांक के जरिए राज्यों का मजबूत और कमजोर पक्ष सामने आएगा। इससे जरूरत के मुताबिक नीति बनाने में मदद मिलेगी।कर्नाटक131तमिलनाडु252महाराष्‍ट्र313तेलंगाना494हरियाणा527केरल648उत्‍तर प्रदेश7155पश्चिम बंगाल8116गुजरात969आंध्र प्रदेश10810पंजाब11713ओडिशा121011राजस्‍थान131212मध्‍य प्रदेश141314छत्‍तीसगढ़151417बिहार161615झारखंड171716सिक्किम1111हिमाचल प्रदेश225उत्‍तराखंड341मणिपुर434जम्‍मू –कश्‍मीर553त्रिपुरा669अरुणाचल प्रदेश776असम8112नगालैंड997मिजोरम10810मेघालय11108दिल्‍ली131चंडीगढ़222गोवा315पुडुचेरी456अंडमान एवं निकोबार द्वीप547दमन एवं दीव673दादरा एवं नागर हवेली784लक्षद्वीप868
2022-10-01 03:47
उद्धरण 3 इमारत
Satyendra Jain: सत्येंद्र जैन की मुसीबत बढ़ी, करीबी के घर से मिला 2.82 करोड़ कैश, 133 सोने के सिक्के******Highlightsदिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री (Satyendar Jain) की मुसीबत बढ़ती हुई नजर आ रही है। सोमवार को उनके और उनके सहयोगियों के परिसरों पर प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने छापेमारी की। इस दौरान ईडी ने 2.82 करोड़ रुपये कैश और काफी मात्रा में सोना बरामद किया गया। बताया जा रहा है कि छापेमारी में भारी मात्रा में कैश के साथ 133 सोने के सिक्के भी मिले हैं।ED ने मंगलवार को बताया कि सोमवार को दिनभर चली यह कार्रवाई पीएमएलए के तहत की गई थी। बता दें कि मनी लॉन्ड्रिंग केस में गिरफ्तार सत्येंद्र जैन के कई ठिकानों पर की टीमें छापेमारी कर रही हैं। वहीं दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के साथ ही हवाला ऑपरेटर्स के ठिकानों पर भी ईडी छापेमारी कर रही है।बता दें कि 30 मई को ED ने सत्येंद्र जैन को गिरफ्तार कर लिया था। उनके खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग केस में ED ने ये कार्रवाई की थी। अधिकारियों ने बताया था कि प्रवर्तन निदेशालय ने कोलकाता की एक कंपनी से जुड़े हवाला लेनदेन से जुड़े मामले में ये गिरफ्तारी की थी। गिरफ्तारी के बाद सत्येंद्र जैन को कोर्ट में पेश किया गया था। जैन अभी 9 जून तक ईडी की कस्टडी में रहेंगे।सत्येंद्र जैन पेशे से आर्किटेक्ट का काम करते हैं। उन्होंने अन्ना के आंदोलन में बड़ी भूमिका निभाई थी। इसके बाद केजरीवाल ने उन्हें सरकार बनने पर अपनी कैबिनेट में शामिल किया था।जैन पर पहले भी कई तरह के आरोप लग चुके हैं, जिसके बाद से वह दिल्ली सरकार के विवादित नेता रहे। उनकी बेटी सौम्या जैन को जब दिल्ली के मोहल्ला क्लीनिक के लिए सलाहकार बनाया गया था, तब भी खूब हंगामा हुआ था। इस मामले की जांच सीबीआई के पास गई थी। जैन के खिलाफ अप्रैल में भी ED ने कार्रवाई की थी और जैन के परिवार और कंपनियों की 4.81 करोड़ रुपये की संपत्तियां कुर्क की थीं। इसके बाद बीजेपी ने आप सरकार पर निशाना साधते हुए जैन के इस्तीफे की मांग की थी।
वापसी