नई पोस्ट करें

VIDEO: 500 करोड़ का घूसखोर अफसर गिरफ्तार, वाशिंग मशीन से करोड़ों की ज्वैलरी बरामद

2022-10-01 05:41:30 265

करोड़काघूसखोरअफसरगिरफ्तारवाशिंगमशीनसेकरोड़ोंकीज्वैलरीबरामद2016 राष्ट्रपति चुनाव में रूसी हस्तक्षेप के लिए ओबामा जिम्मेदार: ट्रंप****** अमेरिकी राष्ट्रपति ने 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में कथित रूसी हस्तक्षेप को नहीं रोकने के लिए पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा को जिम्मेदार ठहराया है। ट्रंप ने कहा कि 2016 में हिलेरी क्लिंटन के चुनाव अभियान और डेमोक्रेटिक नेशनल समिति (डीएनसी) के कंप्यूटर नेटवर्क की रूसी हैकिंग को रोकने के लिए ओबामा ने उचित कदम नहीं उठाए।समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, शुक्रवार को ग्रैंड जूरी ने हिलेरी और डीएनसी के बारे में संवेदनशील जानकारी हासिल करने हेतु कंप्यूटर नेटवर्क्‍स हैक करने के प्रयासों के लिए मॉस्को के 12 खुफिया अधिकारियों पर आरोप दर्ज किए हैं।ट्रंप ने ट्वीट कर कहा, "आपने कल के जिन 12 रूसी अधिकारियों पर आरोप पत्र दाखिल होने की खबर सुनी वह घटना ओबामा के प्रशासन के हुई थी न कि ट्रंप प्रशासन में।" यह पहली बार है कि जब ट्रंप ने विशेष अभियोजक रॉबर्ट मुलर द्वारा शुक्रवार को लगाए गए आरोपों पर टिप्पणी की है।

करोड़काघूसखोरअफसरगिरफ्तारवाशिंगमशीनसेकरोड़ोंकीज्वैलरीबरामदमहाराष्ट्र में 40 से अधिक IPS अधिकारियों के तबादले के आदेश के खिलाफ याचिका दाखिल****** महाराष्ट्र सरकार द्वारा किए गए 40 से अधिक का तबादले के आदेश का खिलाफ सीनियर आईपीएस ऑफिसर ने CAT में याचिका डाली है। पुणे के पिम्परी चिंचवड़ के कमिश्नर के एल बिश्नोई का भी तबादला कर दिया गया था उन्होंने ही ये याचिका डाली है। उनकी जगह पर आईपीएस कृष्णप्रकाश को नया कमिश्नर बनाया गया है। दरअसल, लंबे समय से तबादले और प्रमोशन का इतंजार कर रहे वरिष्ठ आईपीएस अधिकारीयों की ट्रांसफर पोस्टिंग की लिस्ट आखिरकार 2 सितंबर को निकली लेकिन इसमे ऐसे कई सीनियर आईपीएस है जिनका तबादला कर दिया गया लेकिन उन्हें अभी नई पोस्टिंग नही दी गई। इसके अलावा सबसे महत्वपूर्ण बात ये कि कई अफसरों के कार्यकाल तक पूरे नहीं हुए थे ऐसे में उनके तबादले से अधिकारियों में असंतोष व्याप्त है।महाराष्ट्र एटीएस चीफ देवेन भारती से लेकर पुणे के पिम्परी के कमिश्नर सहित मुम्बई पश्चिम के अतिरिक्त आयुक्त मनोज शर्मा दक्षिण मुम्बई के अतिरिक्त आयुक्त निशित मिश्रा ऐसे दर्जन भर वरिष्ठ IPS हैं जिन्हें पोस्टिंग तक नहीं दी गई। भारती को ATS चीफ के पद से हटाना भी महत्वपूर्ण है क्योंकि लंबे समय से वो मुम्बई में कार्यरत है और क्राइम ब्रांच से लेकर जॉइंट सीपी लॉ एंड आर्डर के बाद अब ATS चीफ थे। अपराध जगत पर राकेश मारिया के बाद सबसे ज्यादा पकड़ रखने वाले IPS अधिकारी हैं ऐसे में उन्हें भी हटाया जाना सरकार की मंशा पर सवाल खड़े करता है।अकेले मुंबई शहर में 4 अतिरिक्त आयुक्त बदले गए लेकिन साफ सुथरी छवि के कई अधिकारी पोस्टिंग तक नहीं पा सके ऐसे में उद्धव सरकार के लिए ब्यूरोकैसी में आईपीएस अधिकारोयो की नाराजगी उनकी मुसीबत बढ़ा सकती है। वहीं, मनोज शर्मा मुम्बई पश्चिम के अतिरिक्त आयुक्त रहते हुए भी उन्हें सुशांत मामले की जांच से दूर रखा गया जबकि घटना उनके अधिकार क्षेत्र में हुई थी। शीना वोरा केस की तरह ही इस केस में भी जोनल डीसीपी सीधे पुलिस कमिश्नर को रिपोर्ट कर रहे थे जबकी अतिरिक्त आयुक्त को पूरी जानकारी डीसीपी द्वारा दी जानी चाहिए थी।इन अधिकारियों में नवी मुंबई के पुलिस आयुक्त संजय कुमार शामिल हैं जिन्हें अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (प्रशिक्षण और विशेष दस्ते) बनाया गया है। सरकार ने एक आदेश में कहा कि नागपुर के पुलिस आयुक्त भूषण कुमार उपाध्याय और उनके नासिक समकक्ष विश्वास नांगरे-पाटिल का भी तबादला कर दिया गया है और उन्हें क्रमश: अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (यातायात) तथा मुंबई का संयुक्त पुलिस आयुक्त (कानून व्यवस्था) नियुक्त किया गया है।करोड़काघूसखोरअफसरगिरफ्तारवाशिंगमशीनसेकरोड़ोंकीज्वैलरीबरामदMithun Monthly Horoscope August 2022: मिथुन राशिवालों को हो सकती है पेट की समस्या, लव मैरिज के बन रहे हैं योग******Highlights अगस्त का महीना शुरू हो चुका है, और ये महीना हर राशि के लिए अलग-अलग सौगात लेकर आया है। मिथुन राशिवालों के लिए ये महीना कैसा रहने वाला है और किन उपायों से ये महीना वो बेहतर कर सकते हैं इन सभी सवालों के जवाब आपको देंगे मशहूर ज्योतिषी चिराग बेजान दारूवाला। उससे पहले जानते हैं कि मिथुन राशि किन लोगों की होती है। 22 मई से 21 जून के बीच पैदा होने वाले लोगों की सूर्य राशि मिथुन होती है।मिथुन राशि वाले इस महीने हर काम बहुत सोच-समझकर और मन से करेंगे और सफलता भी प्राप्त करेंगे। किसी प्रतिष्ठित व्यक्ति से मुलाकात फायदेमंद साबित होगी। युवा अपना काम करने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे। जिसमें वे सफल हो सकते हैं। महीने के दूसरे सप्ताह में किसी प्रकार के धन से संबंधित हानि होने की आशंका है। यानी लेन-देन करते समय अधिक सावधानी बरतें। दूसरों के मामलों में दखल न दें। नहीं तो आपकी बदनामी हो सकती है। युवाओं के करियर में आसानी होगी। रोजगार में नए अवसर प्राप्त होंगे। अधूरे कामों को पूरा करने के लिए यह महीना काफी अच्छा रहेगा। परिवार के साथ घूमने-फिरने और खरीदारी करने में समय व्यतीत होगा। अपने बजट का ध्यान रखें। गृहस्थ जीवन में अच्छा तालमेल बना रहेगा। प्रेम संबंध को शादी में बदलने के बारे में परिवार से बात करने का यह सही समय है। सिर दर्द और बदन दर्द की शिकायत रहेगी। पेट और खून से जुड़ी समस्या हो सकती है।पैसों के हिसाब से ये महीना उतार-चढ़ाव भरा रहेगा। धन प्रवाह होगा लेकिन धन टिकेगा नहीं। पैसों का रख-रखाव आसान नहीं होगा, धन का सही उपयोग करने में भी दिक्कत हो सकती है। आपको सलाह दी जाती है कि योजना बनाकर काम करें।बिजनेस में लाभ के योग हैं। पैसा कमाएंगे और धन का प्रवाह बना रहेगा, लेकिन चूंकि आप धन को मैनेज नहीं कर पाते हैं इसलिए धन की कमी महसूस कर सकते हैं। बिजनेस को बढ़ाने का सही समय है।नौकरी मिलने के योग हैं। पहले से नौकरी कर रहे हैं तो तरक्की मिलेगी और वेतन बढ़ेगा।आपके जीवनसाथी के लिए समय थोड़ा कठिन है। प्रेम संबंध में भी उतार-चढ़ाव की स्थिति दिख रही है, आपके लिए अच्छा यही होगा कि जीवनसाथी का साथ दें।आपको स्वास्थ्य के प्रति सावधान रहना होगा, चोट लगने की संभावना है। हालांकि कुछ गंभीर नहीं होगा, फिर भी आपको अपने स्वास्थ्य के प्रति चौकस रहने की सलाह दी जाती है।

VIDEO: 500 करोड़ का घूसखोर अफसर गिरफ्तार, वाशिंग मशीन से करोड़ों की ज्वैलरी बरामद

करोड़काघूसखोरअफसरगिरफ्तारवाशिंगमशीनसेकरोड़ोंकीज्वैलरीबरामद21वीं सदी के भारत की जरूरत है ‘मेक इन इंडिया’, कंधे से कंधा मिलाकर चले उद्योग जगत: प्रधानमंत्री******narendra modiHighlights प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को उद्योग जगत से आयात पर निर्भरता कम करने और घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देने की अपील की। उन्होंन कहा कि ‘मेक इन इंडिया’ 21वीं सदी के भारत की जरूरत है। मोदी ने उद्योग जगत से कहा कि उन वस्तुओं के आयात में कटौती के प्रयास होने चाहिए जिनका उत्पादन भारत में हो सकता है। उद्योग संवर्धन और आंतरिक व्यापार विभाग (डीपीआईआईटी) द्वारा ‘दुनिया के लिये भारत में विनिर्माण’ विषय पर आयोजित वेबिनार को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, आज दुनिया भारत को विनिर्माण शक्ति के रूप में देख रही है। उन्होंने कहा कि बजट में आत्मनिर्भर भारत और ‘मेक इन इंडिया’ के लिए की गई घोषणाएं उद्योग जगत एवं भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए महत्वपूर्ण हैं।मोदी ने कहा कि ‘मेक इन इंडिया’ अभियान 21वीं सदी के भारत की जरूरत है और यह हमें हमारी क्षमता दिखाने का अवसर देता है। उन्होंने कहा, हमें एक मजबूत विनिर्माण आधार बनाने के लिए पूरी शक्ति के साथ काम करना चाहिए। बजट में ‘आत्मनिर्भर भारत’ और ‘मेक इन इंडिया’ के लिए किए गए महत्वपूर्ण प्रावधानो का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि यह स्वीकार्य नहीं है कि भारत जैसा देश केवल एक बाजार बनकर रह जाए। उद्योग को वैश्विक मानकों का पालन करना होगा और प्रतिस्पर्धी बनना पड़ेगा। प्रधानमंत्री ने महामारी और अन्य अनिश्चितताओं के दौरान आपूर्ति श्रृंखला में व्यवधान का जिक्र करते हुए कहा कि युवा और प्रतिभाशाली आबादी से जुड़े लाभ, लोकतांत्रिक व्यवस्था, प्राकृतिक संसाधन हमें ‘मेक इन इंडिया’ की ओर बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करते हैं।उन्होंने ‘जीरो डिफेक्ट-जीरो इफेक्ट’ निर्माण के अपने आह्वान का उल्लेख करते हुए कहा कि भारतीय उत्पादों में किसी प्रकार की खामी नहीं होनी चाहिए और इस प्रतिस्पर्धी दुनिया में गुणवत्ता महत्वपूर्ण है। मोदी ने कहा कि अगर हम राष्ट्रीय सुरक्षा के परिदृश्य में देखें तो आत्मनिर्भर भारत और भी महत्वपूर्ण है। प्रधानमंत्री ने सेमी-कंडक्टर और इलेक्ट्रिक वाहन जैसे क्षेत्रों में नई मांग और अवसरों का उदाहरण दिया, जहां निर्माताओं को विदेशी स्रोतों पर निर्भरता को दूर करने की भावना के साथ आगे बढ़ना चाहिए। इसी तरह इस्पात और चिकित्सा उपकरणों जैसे क्षेत्रों में भी स्वदेशी विनिर्माण के लिए ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि इलेक्ट्रिक वाहनों, विशेष इस्पात और चिकित्सा उपकरणों जैसे क्षेत्रों में ‘मेक इन इंडिया’ समय की जरूरत है और कोयला, खनन तथा रक्षा क्षेत्रों को खोलने से उद्योगों के लिए अपार अवसरों के मार्ग खुले हैं।प्रधानमंत्री ने कहा कि उद्योगों को अपने उत्पादों के विज्ञापनों में ‘वोकल फॉर लोकल’ और ‘मेक इन इंडिया’ के बारे में बात करनी चाहिए। भारत में बड़ी संख्या में युवा प्रतिभाएं और कुशल मानव संसाधन हैं और विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिए इनका इस्तेमाल किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि निर्यात को प्रोत्साहित करने और विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिए एसईजेड कानून में सुधार किए गए हैं। प्रधानमंत्री ने बाजार में उत्पाद की उपलब्धता और उसकी तुलना में भारत में बने उत्पाद के बीच के अंतर का उल्लेख किया और अपनी निराशा जताते हुए कहा कि भारत के विभिन्न त्योहारों के दौरान विदेशों में बने सामग्रियों की आपूर्ति की जाती है जबकि स्थानीय विनिर्माता आसानी से इसे प्रदान कर सकते हैं। उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि 'वोकल फॉर लोकल' का दायरा दिवाली पर 'दीया' खरीदने से कहीं आगे जाता है। उन्होंने निजी क्षेत्र से अपने ‘मार्केटिंग’ और ‘ब्रांडिंग’ प्रयासों में वोकल फॉर लोकल’ और आत्मनिर्भर भारत जैसे कारकों को आगे बढ़ाने के लिए कहा।उन्होंने कहा, अपनी कंपनी के उत्पादों पर गर्व करें और अपने भारतीय ग्राहकों में भी गर्व की भावना पैदा करें। इसके लिए कुछ साझा ब्रांडिंग पर भी विचार किया जा सकता है। प्रधानमंत्री ने विनिर्माण क्षेत्र की हस्तियों से कुछ क्षेत्रों को अपने हाथ में लेकर उसमें विदेशी निर्भरता को दूर करने के लिए काम करने का आह्वान किया। उन्होंने दोहराया कि इस तरह के वेबिनार बजट प्रावधानों के बेहतर परिणामों के लिए उचित, समय पर और निर्बाध कार्यान्वयन के लिए नीतियों को लागू करने में हितधारकों की आवाज को शामिल करने और एक सामूहिक दृष्टिकोण विकसित करने की दिशा में सरकार का एक अभूतपूर्व कदम है।करोड़काघूसखोरअफसरगिरफ्तारवाशिंगमशीनसेकरोड़ोंकीज्वैलरीबरामदPriyanka Chopra के देवर ने किया अपनी खूबसूरती पर बड़ा खुलासा, लेते हैं ये दर्दनाक ट्रीटमेंट******Highlights प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra) के देवर हॉलीवुड के जाने माने गायक जो जोनास (Joe Jonas) ने खुलासा किया है कि वह अपने चेहरे की खुबसूरती बरकरार रखने और महीन रेखाओं को ठीक करने के लिए इंजेंक्शन (Botox alternative Xeomin treatment) लेते हैं। पेजसिक्स डॉट कॉम की रिपोर्ट में गायक ने पीपुल को बताया कि हम सब बड़े हो रहे हैं तो इसकी जरुरत होती है, त्वचा को सही रखने के लिए।15 अगस्त को अपना 33वां जन्मदिन के दिन गायक जो जोनास ने इस मामले में खुलासा किया। उन्होंने बताया कि वह एक एंटी-रिंकल इंजेक्शन के लिए नए सेलिब्रिटी ब्रांड के पार्टनर हैं, जो डबल-फिल्टर किए गए फॉमूर्ले का उपयोग कर टेंपरेरी तौर पर आईब्रोज में सुधार करता है।जो जोनास (Joe Jonas) ने इंजेक्शन का उपयोग करने के अपने अनुभव के बारे में कहा, "मुझे नहीं लगता कि यह जरूरी है कि हमें इससे दूर रहना पड़े। हम इसके बारे में खुले और ईमानदार हो सकते हैं और आश्वस्त हो सकते हैं और वास्तव में सच बोलने से कतराते नहीं हैं।" वह न केवल अपनी फ्राउन लाइन्स का ट्रीटमेंट करते हैं, बल्कि अपनी आईब्रो के बीच के निशान को भी खत्म कराते हैं।गायक जो जोनास को उम्मीद है कि उसके कॉस्मेटिक ट्रीटमेंट के बारे में बात करने से, अन्य पुरुष भी ऐसा करने में सहज महसूस कर सकते हैं। जो जोनस ने आगे कहा, "मुझे ऐसा नहीं लगा कि मैं कुछ बड़ा या अलग करने वाला हूं, जिसे आप केवल फिल्म और टीवी पर देखते हैं, मैं एक दोस्त के साथ गया था। यह इतना भी तकलीफ भरा नहीं था।"इसके साथ ही गायक ने कहा है कि उनके लिए आत्मविश्वास से अधिक सुंदर कुछ नहीं है।करोड़काघूसखोरअफसरगिरफ्तारवाशिंगमशीनसेकरोड़ोंकीज्वैलरीबरामदAmravati Murder Case: अमरावती हत्याकांड: नूपुर शर्मा के फेवर में पोस्ट करने की वजह से हुई हत्या, ​कमिश्नर आरती सिंह का बयान******Highlightsमहाराष्ट्र के अमरावती जिले में भी उदयपुर हत्याकांड जैसा मामला सामने आया है। यहां एक मेडिकल व्यवसायी की समुदाय विशेष के लोगों ने गला रेतकर हत्या कर दी। यह मामला 21 जून का है। बीजेपी ने इस मामले की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी NIA से कराने की मांग की है। अमरावती जिले के मेडिकल व्यवसाई उमेश कोल्हे कि 21 जून को हत्या कर दी गई। इस बात को लेकर अमरावती में चर्चा है कि यह उदयपुर की घटना की तरह है।इसी बीचअमरावती हत्याकांड पर अमरावती की पुलिस कमिश्नर आरती सिंह का बयान आया है। उन्होंने कहा कि नूपुर शर्मा के फेवर में पोस्ट किया गया था। इस पोस्ट के कारण हत्या की गई। हत्या की साजिश में एक वेटरनरी डॉक्टर और केमिस्ट का एक कस्टमर भी शामिल है।पुलिस ने जांच के आधार पर आरोपियों को किया गिरफ्तार54 वर्ष के कोल्हे ने नूपुर शर्मा के विवादित बयान पर उनके समर्थन में सोशल मीडिया पर कुछ पोस्ट शेयर किए थे। भारतीय जनता पार्टी इसकी जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी से कराने की मांग कर रही है। अमरावती पुलिस इस संबंध में हत्या का मामला दर्ज कर चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है, लेकिन पुलिस इस संबंध में कुछ बोल नहीं रही है। प्राप्त जानकारी के अनुसार कूल्हे की हत्या गला काटकर की गई है, उमेश के बेटे संकेत की तरफ से पुलिस में शिकायत दर्ज की गई है। पुलिस ने जांच के आधार पर आतिफ रशीद, शमीम फिरोज अहमद, शाहरुख पठान, मुदस्सिर अहमद को गिरफ्तार किया है।मेडिकल स्टोर बंद करके जा रहे थे, रास्ते में रोका और हमला कियाजानकारी के मुताबिक उमेश कूल्हे मेडिकल स्टोर बंद करके घर जा रहे थे, उस दौरान न्यू हाई स्कूल के गेट के पास अचानक मोटरसाइकिल पर सवार लोगों ने उनको रोका। इसके बाद हमलावरों ने गले पर चाकू से वार करना शुरू कर दिया, इलाज के दौरान अस्पताल में उमेश की मौत हो गई।मामले को दबाना चाह रही है पुलिस: राज्यसभा सदस्य अनिल बोंडेभारतीय जनता पार्टी पुलिस पर आरोप लगा रही है कि इस मामले को पुलिस दबाना चाह रही है। भारतीय जनता पार्टी के राज्यसभा सदस्य अनिल बोंडे ने कहा कि अब तक मास्टरमाइंड पकड़ा नहीं गया है। जिन जिन लोगों को धमकियां मिलती हैं, उनको पुलिस संरक्षण दे। अनिल बोंडे ने कहा कि नूपुर शर्मा की पोस्ट को जिन्होंने सपोर्ट किया था उन्हें धमकी मिली है।

VIDEO: 500 करोड़ का घूसखोर अफसर गिरफ्तार, वाशिंग मशीन से करोड़ों की ज्वैलरी बरामद

करोड़काघूसखोरअफसरगिरफ्तारवाशिंगमशीनसेकरोड़ोंकीज्वैलरीबरामदइटैलियन लीग में एसी मिलान ने बोलोग्ना को 5-1 से दी करारी शिकस्त******रोम| इटालियन क्लब एसी मिलान ने सेरी-ए लीग में अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए अपने घरेलू मुकाबले में बोलोग्ना को 5-1 से करारी मात दी। जबकि अटलांटा ने हेल्लास वेरोना के साथ 1-1 से ड्रॉ खेला। सेरी-ए लीग की दोबारा से शुरुआत होने के बाद मिलान अब तक अजेय चल रहा है। उसने अपने पिछले मैच में पारमा को 3-1 से हराया था।समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, एसी मिलान ने मैच के 10वें मिनट में ही एलेक्सिस सेलेमाईकेर्स ने गोल कर मिलान को 1-0 से आगे कर दिया। इस गोल के बाद 24वें मिनट में हकन कैल्हानोग्लू ने गोल कर मिलान की बढ़त को दोगुना किया।बोलोग्ना ने हाफ टाइम से पहले वापसी की और 44वें मिनट में टेकहिरो टॉमियासु ने बोलोग्ना के लिए पहला गोल किया और स्कोर 2-1 हो गया। मिलान ने पहले हाफ की समाप्ती पर 2-1 की बढ़त बरकरार रखी।हाफ टाइम के बाद भी मिलान ने अपना आक्रामक जारी रखा और मैच के 49वें मिनट में इस्माइल बेनेसर के गोल से मिलान की बढ़त 3-1 की हो गई। 56वें मिनट में एंटे रीबी ने एक और गोल कर मिलान की बढ़त 4-1 कर दिया। इसके बाद मैच के अंतिम मिनटों में डेविड कैलब्रिया ने मिलान के लिए पांचवां गोल किया और मिलान को 5-1 से जीत दिला दी।एसी मिलान अब 56 अंकों के साथ अंकतालिका में छठे स्थान पर काबिज है। एक अन्य मैच में, मौजूदा सीजन में सबसे ज्यादा गोल करने वाली अटलांटा की टीम को वेरोना से 1-1 से ड्रॉ खेलना पड़ा।करोड़काघूसखोरअफसरगिरफ्तारवाशिंगमशीनसेकरोड़ोंकीज्वैलरीबरामदUjjain Corridor: बीजेपी के लिए अहम है महाकाल कॉरिडोर, मुख्यमंत्री शिवराज के इस ड्रीम प्रोजेक्ट के बारे में कितना जानते हैं आप?******Highlights काशी विश्वनाथ की तर्ज पर उज्जैन के महाकाल मंदिर में एक भव्य कॉरिडोर बनकर तैयार हो चुका है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 11 अक्टूबर को इसका उद्घाटन करेंगे। महाकालकॉरिडोर काशीसे 4 गुना बड़ा है। भारतीय जनता पार्टी के लिए ये कॉरीडोरकाफीमहत्वपूर्ण है। आपको बता दें कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की पहली शाखा महाकाल मंदिर परिसर में लगाई गई थी। इसी महाकाल मंदिर से आरएसएस की शाखा का विस्तार पूरे भारत में हुआ। ऐसे में मध्य प्रदेश सरकारने इस मंदिर को बनाने में कोई कमीनहीं छोड़ी है।मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से बताया गया कि "महाकाल मंदिर कॉरिडोर की छटा अद्भुत, अविस्मरणीय और अलौकिक है।बाबा महाकाल की कृपा हम सभी पर सदैव बनी रहे। यही कामना, यही प्रार्थना है। जय बाबा महाकाल। इस दिव्य और भव्य कॉरिडोर का लोकार्पण देश के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी 11 अक्टूबर को करेंगे"मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज चौहान की ये महत्वकांक्षी योजना है। इस कॉरिडोर पर मुख्यमंत्री की नजर सीधे तौर पर थी। अब यह बनकर तैयार हो चुका है। इसको बनाने में लगभग 750 करोड़रुपए लगे। आपको बता दें कि यह प्रोजेक्ट कमलनाथ सरकार से जुड़ी थी। तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने 300 करोड़ रुपए की मंजूरी दी थी। हालांकि 2019 में सरकार गिर जाने के बाद यह प्रोजेक्ट बीजेपी के हाथों में चली गई। जिसके बाद वर्तमान मुख्यमंत्री शिवराज चौहान ने 350 करोड़ रुपए को बढ़ाकर 750 करोड़ रुपए कर दिए। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से स्पष्ट रूप से कहा था कि इस कॉरिडोर में किसी प्रकार की कोई कमी नहीं होनी चाहिए।इस कॉरिडोर के अंदर कई ऐसी चीजें हैं, जो काफी विशाल और भव्यहै। कॉरीडोर में शिव तांडव स्त्रोत, शिव विवाह, महाकालेश्वर वाटिका, महाकालेश्वर मार्ग, शिव अवतार वाटिका और पार्किंग सुविधा है। इस कॉरिडोर के निर्माण में प्रदेश सरकार ने 422 करोड़ों पर खर्च किए तो वही केंद्र सरकार समेत मंदिर समिति ने कॉरीडोर के ऊपर 21 करोड़ खर्च किए। महाकाल मंदिर प्रवेश द्वार, दुकान एवं मूर्तियों का निर्माण 7 मार्च 2019 से ही आरंभ हो गया था।इसे गुजरात की एक फॉर्म कंपनी से करवाया जा रहा था। प्रोजेक्ट को 2020 तक पूरा करना था लेकिन कई बार इसका समय बढ़ा दिया गया। ये कॉरीडोर काशी कॉरिडोर से भी बड़ा है। इस परिसर को घूमने में लगभग 5 से 6 घंटे का समय लग सकते हैं। इस कॉरिडोर के अंदर भगवान शिव के 190 अलग-अलग रूप के दर्शन होंगे। महादेव से जुड़ी हर चीज को दिखाने की कोशिश की गई है। सबसे बड़ी बात है कि हर घंटे में करीब एक लाख श्रद्धालु कॉरिडोर में प्रवेश कर सकेंगे।

VIDEO: 500 करोड़ का घूसखोर अफसर गिरफ्तार, वाशिंग मशीन से करोड़ों की ज्वैलरी बरामद

करोड़काघूसखोरअफसरगिरफ्तारवाशिंगमशीनसेकरोड़ोंकीज्वैलरीबरामदICICI बैंक का पहली तिमाही का शुद्ध लाभ 52 फीसदी बढ़कर 4,747.42 करोड़ रुपए पर******ICICI बैंक का पहली तिमाही का शुद्ध लाभ 52 फीसदी बढ़कर 4,747.42 करोड़ रुपए पर निजी क्षेत्र के आईसीआईसीआई बैंक का चालू वित्त वर्ष की जून में समाप्त पहली तिमाही का एकीकृत शुद्ध लाभ 52 प्रतिशत बढ़कर 4,747.42 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। प्रावधान में कमी की वजह से बैंक का शुद्ध लाभबढ़ा है। हालांकि, बैंक के खुदरा ऋण खंड पर दबाव भी बढ़ा है। संपत्ति के लिहाज से निजी क्षेत्र के इस दूसरे सबसे बड़े बैंक ने एकल आधार पर पहली तिमाही में 4,616.02 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया है जो इससेपिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही से 77 अधिक है। पिछले वित्त वर्ष की अप्रैल-जून तिमाही में महामारी की वजह से राष्ट्रव्यापी स्तर पर लॉकडाउन से बैंक का मुनाफा प्रभावित हुआ था।बैंक ने कहा कि तिमाही के दौरान उसकी कुल आय घटकर 24,379 करोड़ रुपये रह गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 26,067 करोड़ रुपये रही थी। तिमाही के दौरान बैंक का कुल प्रावधान 2,852 करोड़रुपये रहा, जो एक साल पहले समान अवधि में 7,594 करोड़ रुपये रहा था। बैंक के कार्यकारी निदेशक संदीप बत्रा ने कहा कि महामारी की दूसरी लहर की वजह से अप्रैल और मई के दौरान बैंक की ऋण वसूली बुरी तरहप्रभावित हुई। इससे बैंक की गैर-निष्पादित आस्तियां (एनपीए) बढ़ गईं।’’तिमाही के दौरान बैंक का सकल एनपीए 5.15 प्रतिशत रहा, जो इससे पिछली तिमाही में 4.96 प्रतिशत तथा एक साल पहले 5.46 प्रतिशत था। बैंक का नया एनपीए 7,231 करोड़ रुपये रहा। इसमें खुदरा और बिजनेसबैंकिंग कारोबार का हिस्सा 6,773 करोड़ रुपये तथा एसएमई और कॉरपोरेट खंड का 458 करोड़ रुपये रहा। खुदरा और बिजनेस बैंकिंग खंड में कुल ऋण पर एनपीए बढ़कर 3.75 प्रतिशत हो गया, जो मार्च तिमाही के दौरान3.04 प्रतिशत तथा एक साल पहले 2.04 प्रतिशत था। बत्रा ने कहा कि बैंक खुदरा खाते की स्थिति को लेकर चिंतित नहीं है। उन्होंने इस बात को स्वीकार किया कि पूर्व में प्रणाली में कॉरपोरेट खंड का प्रदर्शन सबसे खराबरहता था, लेकिन आज यह अच्छी स्थिति में है।

करोड़काघूसखोरअफसरगिरफ्तारवाशिंगमशीनसेकरोड़ोंकीज्वैलरीबरामदसरकार की घोषणा से भरभरा कर टूट गए इस सेक्टर के शेयर, जानिए कितना बड़ा हुआ नुकसान******Sugar StocksHighlightsसरकार द्वारा महंगाई को नियंत्रित करने के लिए कल चीनी के एक्सपोर्ट पर बैन लागाने की घोषणा क्या हुई, आज बाजार खुलते ही शुगर स्टॉक्स में हाहाकार मच गया। बाजार में चीनी की उपलब्धता बढ़ाने और कीमतों पर अंकुश लगाने के लिए सरकार ने 1 जून से चीनी निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया है।सरकार की घोषणा का असर चीनी स्टॉक्स पर सबसे ज्यादा देखने को मिला। नुकसान की आशंका से सबसे ज्यादा गिरावट डालमिया भारत शुगर एंड इंडस्ट्रीज के शेयरों में दिखाई दी। बीएसई पर इस कंपनी का शेयर 13.40 फीसदी लुढ़क गया।सरकार की घोषणा के बाद शेयर बाजार में इन स्टॉक्स की पिटाई की संभावना पहले से ही थी। हुआ भी वही, डालमिया भारत के बाद सबसे ज्यादा गिरावट वारिकेश शुगर में देखने को मिली। कंपनी का स्टॉक 9.38 फीसदी लुढ़क गया। वहीं उत्तम शुगर मिल्स 9.30 फीसदी और बलरामपुर चीनी मिल्स 8.56 फीसदी गिरे। साथ ही अवध शुगर एंड एनर्जी में 8.04 फीसदी, श्री रेणुका शुगर्स में 6.69 फीसदी और मवाना शुगर्स में 4.97 फीसदी की गिरावट आई।विदेश व्यापार महानिदेशालय (DGFT) ने मंगलवार को एक अधिसूचना में कहा, "चीनी (कच्ची, परिष्कृत और सफेद चीनी) का निर्यात 1 जून, 2022 से प्रतिबंधित श्रेणी में रखा गया है।" सरकार ने एक बयान में कहा कि चीनी सीजन 2021-22 (अक्टूबर-सितंबर) के दौरान देश में चीनी की घरेलू उपलब्धता और मूल्य स्थिरता बनाए रखने के लिए 1 जून से चीनी निर्यात को विनियमित करने का निर्णय लिया गया है।करोड़काघूसखोरअफसरगिरफ्तारवाशिंगमशीनसेकरोड़ोंकीज्वैलरीबरामद40 पैसे के लिए कोर्ट में घसीटा! क्या चंद पैसों से लाखों कमाते हैं होटल वाले******कर्नाटक की राजधानीसे एक बेहद दिलचस्प मामला सामने आया है। यहां के एक वकील और एक्टिविस्ट टी नारसिम्हा मूर्ति (T Narasimha Murthy) ने शहर के एक होटल के खिलाफ शिकायत के साथ Bangalore Rural and Urban Ist Additional District Consumer Disputes Redressal Commission से संपर्क किया है, जो बिल को rounding off करके निकटम रपये में बदल देता है।अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी रिपोर्ट के अनुसार, टी नारसिम्हा मूर्ति बेंगलुरु के एक होटल में गए थे, यहां उनका बिल 264.60 रुपये आया। हालांकि होटल ने इस बिल को राउंड ऑफ करते हुए 265 बना दिया और उनसे 40 पैसे ज्यादा चार्ज किए। इसको लेकर उन्होंने होटल के मैनजर और अन्य लोगों से बात भी की लेकिन कोई भी संतोषजनक उत्तर न दे सका, जिसका बाद T Narasimha Murthy ने होटल को कोर्ट में घसीट लिया।मूर्ति ने दावा किया, "अगर होटल वास्तविक बिल पर 40 पैसे या 50 पैसे की सीमा तक अधिक राशि जमा करता है, तो यह निर्दोष ग्राहकों को धोखा देकर सालाना लाखों रुपये कमाएगा।" आयोग ने शुक्रवार को मामले की सुनवाई की और इसे 20 अगस्त तक के लिए स्थगित कर दिया। इस मामले पर जब ब्रुहट बैंगलोर होटल्स एसोसिएशन के अध्यक्ष पीसी राव से बात की गई तो उन्होंने कहा, "मैं कोई टिप्पणी करने से बचूंगा क्योंकि मामला विचाराधीन है।"हालांकि, एक अन्य होटल व्यवसायी ने बताया कि बिल राशि को राउंड ऑफ करने के पीछे कोई दुर्भावनापूर्ण इरादा नहीं था। उन्होंने कहा, "चूंकि 50 पैसे का सिक्का या 1 रुपये से कम मूल्य के अन्य सिक्के उपयोग में नहीं हैं, इसलिए हम राशि को निकटतम रुपये में पूर्णांकित करते हैं। उदाहरण के लिए, यदि बिल का योग 264.50 रुपये है, तो हम इसे 264 रुपये कर देंगे।" यह पूछे जाने पर कि क्या हर कोई एक ही नियम का पालन करता है, उन्होंने कहा, "हमें यकीन नहीं है। हम अपनी अगली एसोसिएशन मीटिंग में इस मामले पर चर्चा करेंगे।"

करोड़काघूसखोरअफसरगिरफ्तारवाशिंगमशीनसेकरोड़ोंकीज्वैलरीबरामदनीलामी के बाद दिल्ली कैपिटल्स से मुंबई इंडियंस में शामिल हुआ ये ऑलराउंडर******भले ही आईपीएल 2019 के लिए खिलाड़ियों की नीलामी प्रक्रिया समाप्त हो गई हो लेकिन खिलाड़ियों की ट्रेडिंग अभी भी जारी है। अब दिल्ली कैपिटल्स ने अपने ऑलराउंडर जयंत यादव को मुंबई इंडियंस के साथ ट्रेड किया है। यानी अब जयंत यादव इस सीजन मुंबई इंडियंस के लिए खेलते नजर आएंगे। दाएं हाथ का यह स्पिनर 2015 से दिल्ली कैपिटल्स (तब दिल्ली डेयरडेविल्स) के लिए 10 आईपीएल मैच खेल चुका है।मुंबई ने इस सीजन के लिए दूसरी बार किसी खिलाड़ी को अपने साथ ट्रांसफर विंडो के जरिए जोड़ा है। इससे पहले तीन बार की विजेता ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर से दक्षिण अफ्रीका के विकेटकीपर बल्लेबाज क्विंटन डी कॉक को अपने साथ शामिल किया था।मुंबई इंडियंस के मालिक आकाश अंबानी ने इस पर संतुष्टि जताते हुए कहा है कि अब टीम सही संतुलन के साथ तैयार है। आकाश ने कहा, "मैं इस बात से खुश हूं कि जयंत अब मुंबई इंडियंस पल्टन का हिस्सा हैं। उनका बल्ले और गेंद से अनुभव तथा योग्यता शानदार है। नीलामी की सफलता के कुछ दिन बाद उनको अपनी टीम में शामिल कर हम खुश हैं।"जयंत भारत की तरफ से टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू कर चुके हैं। जयंत भारत की तरफ से चार टेस्ट मैचों में 228 रन बनाने के साथ-साथ 11 विकेट भी ले चुके हैं। अभी हाल ही में जयंत की ही कप्तानी में भारतीय अंडर-21 टीम ने 'इमर्जिंग नेशंस एशिया कप' के फाइनल तक का सफर तय किया था। हालांकि फाइनल में भारतीय टीम को श्रीलंका के हाथों मात्र 3 रनों से करीबी हार का सामना करना पड़ा था। आपको बता दें कि वीवो इंडियन प्रीमियर लीग 2019 सीजन की शुरूआत से 30 दिन पहले तक ट्रेडिंग विंडो 5:00 बजे (आईएसटी) तक खुला है। गौरतल है कि 18 दिसंबर को जयपुर में हुई आईपीएल 2019 के लिए खिलाड़ियों की नीलामी में 346 खिलाड़ियों की बोली लगी जिसमें 60 खिलाड़ियों को खरीदा गया था। इन खिलाड़ियों में 40 भारत के और 20 विदेशी खिलाड़ी शामिल थे।करोड़काघूसखोरअफसरगिरफ्तारवाशिंगमशीनसेकरोड़ोंकीज्वैलरीबरामदचीन के जासूसी जहाज के श्रीलंका पहुंचने पर चीनी राजदूत ने कहा, ऐसी यत्राएं तो आम बात हैं****** श्रीलंका के हंबनटोटा पोर्ट पर मंगलवार को चीन के एक हाई टेक्नॉलजी वाले ‘जासूसी’ जहाज ने लंगर डाल दिया। भारत ने जहां इस जहाज को लेकर सुरक्षा चिंताएं जाहिर की हैं, वहीं चीन ऐसा दिखा रहा है मानो वह इस बात को ज्यादा तवज्जो नहीं देता। श्रीलंका में चीन के राजदूत क्वी जेनहोंग ने मंगलवार को कहा कि इस तरह की यात्राएं तो होती रहती हैं। उन्होंने साथ ही भारत की चिंताओं से जुड़े सवालों को यह कहते हुए टाल दिया कि ये सवाल ‘भारतीय दोस्तों’ से पूछे जाने चाहिए।बता दें कि बैलेस्टिक मिसाइल और सैटेलाइट का पता लगाने में सक्षम जहाज ‘युआन वांग 5’ स्थानीय समयानुसार सुबह 8 बजकर 20 मिनट पर दक्षिणी बंदरगाह हंबनटोटा पर पहुंचा। यह 22 अगस्त तक वहीं रुकेगा। जहाज को निर्धारित कार्यक्रम के तहत 11 अगस्त को बंदरगाह पर पहुंचना था, लेकिन श्रीलंकाई अधिकारियों द्वारा इजाजत न दिए जाने के चलते इसमें देरी हुई थी। भारत की चिंताओं के बीच श्रीलंका ने चीन से इसकी यात्रा टालने को कहा था। शनिवार को, कोलंबो ने 16 से 22 अगस्त तक जहाज को बंदरगाह आने की इजाजत दी है।श्रीलंका ने कहा कि रक्षा मंत्रालय ने जहाज को निर्धारित अवधि के दौरान ईंधन भरवाने और अन्य कामों के लिए रुकने की इजाजत दी गई है। में के राजदूत क्वी जेनहोंग जहाज का स्वागत करने के लिए बंदरगाह पर मौजूद थे। इस दौरान सत्तारूढ़ श्रीलंका पोदुजाना पेरामुना पार्टी के अलग हुए ग्रुप के कई सांसद भी मौजूद थे। उन्होंने यात्रा के बारे में पूछे जाने पर कहा, ‘इस तरह के रिसर्च शिप के लिए श्रीलंका की यात्रा करना बहुत स्वाभाविक है। 2014 में भी इसी तरह का एक जहाज यहां आया था।’भारतीय चिंताओं के बारे में पूछे जाने पर राजदूत ने कहा, ‘मुझे नहीं पता, आपको भारतीय मित्रों से पूछना चाहिए।’ रिपोर्ट्स के मुताबिक, जहाज की सुरक्षा बहुत सख्त थी और किसी को भी उस पर जाने की इजाजत नहीं दी गई। यात्रा को स्थगित करने के श्रीलंका के फैसले पर देश में बहुत विवाद उत्पन्न हुआ क्योंकि जुलाई के मध्य में यात्रा को मंजूरी दे दी गई थी। जहाज के आगमन पर कैबिनेट के प्रवक्ता बंडुला गुणवर्धन ने कहा कि इस मुद्दे को सौहार्दपूर्ण ढंग से सुलझा लिया गया है। गुणवर्धन ने कहा, ‘हमारे लिए सभी देशों के साथ संबंध जरूरी हैं।’विदेश मंत्रालय ने कोलंबो में एक बयान में कहा कि चीनी पोत वांग यांग 5 के मुद्दे से निपटने में पड़ोस में सुरक्षा और सहयोग सर्वोच्च प्राथमिकता है। भारत ने पारंपरिक रूप से हिंद महासागर में चीनी सैन्य जहाजों के बारे में कड़ा रुख अपनाया है और अतीत में इस तरह की यात्राओं को लेकर श्रीलंका के समक्ष विरोध जताया है। 2014 में कोलंबो द्वारा चीन के परमाणु संचालित एक पनडुब्बी को अपने एक बंदरगाह में रुकने की इजाजत देने के बाद भारत और श्रीलंका के रिश्तों में काफी तनाव आ गया था।

करोड़काघूसखोरअफसरगिरफ्तारवाशिंगमशीनसेकरोड़ोंकीज्वैलरीबरामदकंगना के 'लॉकअप' में नए कैदी की एंट्री से इस कंटेस्टेंट के गेम पर पड़ेगा असर!******Highlightsकंगना रनौत का शो लॉक अप इन दिनों खूब सुर्खियां बटोर रहा है। शो को दर्शकों का खूब प्यार मिल रहा है। शनिवार को शो के कंटेस्टेंट तहसीन पूनावाला एविक्ट हो गए हैं। शो को और भी ज्यादा इंटरेस्टिंग बनाने के लिए एक ऐसे वाइल्ड कार्ड कंटेस्टेंट की एंट्री कराई गई है, जिसके आने से शो में तहलका मचता हुआ दिखेगा। लॉकअप में वाइल्ड कार्ड के तौर पर अली मर्चेंट की एंट्री हुई है।अली मर्चेंट के एक्स पति रहे हैं। लॉकअप के लेटेस्ट एपिसोड के अनुसार अली मर्चेंट शो का हिस्सा बने हैं। अब देखना होगा कि अली मर्चेंट को देखकर सारा का कैसा रिएक्शन होता है। शादी के बाद जल्द ही दोनों अलग हो गए थे।ऑल्ट बालाजी ने सोशल मीडिया पर शो का प्रोमो रिलीज किया था। इसमें अली मर्चेंट के चेहरे से नकाब उतरता है और पीछे से आवाज आती है 'क्रेजी बॉयफ्रेंड को भूलना आसान है मगर जब एक्स हस्बैंड सामने आ जाए तो यह काफी क्रेजिएयर हो जाता है।' इस वीडियो पर यूजर्स अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।दरअसल, बिग बॉस 4 में सारा कंटेस्टेंट बनकर गई थीं। जहां शो के दौरान ही उनकी शादी कर दी गई थी। बाहर आकर उनके और अली के बीच काफी विवाद हुआ और शादी के दो महीने बाद इस कपल का तलाक हो गया। अब देखना मजेदार होगा कि अली के आने से शो में क्या नया ट्विस्ट आता है। सारा और अली एक दूसरे को देखकर कैसा रिएक्ट करते हैं।करोड़काघूसखोरअफसरगिरफ्तारवाशिंगमशीनसेकरोड़ोंकीज्वैलरीबरामदझारखंड में सियासी हलचल पर यूपीए अलर्ट, कल CM हाउस बुलाए गए सभी विधायक****** ऑफिस ऑफ प्रॉफिट से जुड़े विवाद में मुख्यमंत्री (Hemant Soren) के खिलाफ भाजपा की ओर से की गई शिकायत पर केंद्रीय चुनाव आयोग में सुनवाई पूरी होने के बाद की सरकार एक्स्ट्रा अलर्ट मोड में है। भाजपा ने मुख्यमंत्री पर अपने नाम माइनिंग लीज लेने का आरोप लगाते हुए उनकी विधानसभा सदस्यता रद्द करने की मांग की थी। इस बिंदु पर आयोग का फैसला किसी भी दिन आ सकता है। उधर माइनिंग लीज और शेल कंपनियों में निवेश के आरोपों से संबंधित याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने भी सुनवाई पूरी ली है और अपना फैसला सुरक्षित रखा है।चुनाव आयोग और सुप्रीम कोर्ट, दोनों के आगामी फैसले राज्य के सत्ता समीकरण को प्रभावित कर सकते हैं। लिहाजा, इन सबके मद्देनजर यूपीए ने शनिवार को सीएम आवास में अति आवश्यक मीटिंग कॉल की है। गठबंधन के सभी विधायकों को राज्य की राजधानी रांची के आस-पास मौजूद रहने को कहा गया है।माना जा रहा है कि किसी भी संभावित खतरे के मद्देनजर सरकार अपने गठबंधन की किलेबंदी की मजबूती सुनिश्चित करना चाहती है। बीते 30 जुलाई को कांग्रेस के तीन विधायक कोलकाता में 49 लाख रुपये कैश के साथ पकड़े गए थे। कांग्रेस नेतृत्व ने अपनी शुरुआती जांच में पाया था कि ये तीनों झारखंड की सरकार को गिराने के लिए असम से रची जा रही एक साजिश का हिस्सा बन गए थे और इसी वजह से इन तीनों को पार्टी ने निलंबित कर रखा है। कांग्रेस को लगता है कि साजिश के तार अब भी बुने जा सकते हैं। लिहाजा, तीन निलंबित विधायकों के अलावा पार्टी के अन्य 15 विधायकों की हर गतिविधि पर नेतृत्व की अब गहरी निगाह है।झामुमो ने भी अपने विधायकों को ऐसे ही निर्देश दिए हैं। विधानसभा में झामुमो के सचेतक विधायक मथुरा महतो ने कहा कि पार्टी के सभी विधायक शनिवार को सीएम आवास पर 11 बजे पहुंचेंगे। इधर झामुमो से ताल्लुक रखने वाले झारखंड विधानसभा के अध्यक्ष रवींद्रनाथ महतो को कनाडा में होने वाली राष्ट्रमंडल संसदीय संघ की बैठक में शिरकत करने के लिए गुरुवार को रवाना होना था, लेकिन उन्होंने अंतिम समय में यह प्रोग्राम स्थगित कर दिया। हालांकि इसके पीछे उन्होंने अपनी सेहत से जुड़े कारणों का हवाला दिया है। स्पीकर के साथ झामुमो के विधायक निरल पूर्ति को भी जाना था। उन्होंने भी यह कार्यक्रम रद्द कर दिया।क्या झारखंड की सरकार को वाकई कोई खतरा है? इस सवाल पर शुक्रवार को पार्टी के केंद्रीय प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि सरकार में कोई क्राइसिस नहीं है। राज्य में जबसे गठबंधन की सरकार बनी है, भाजपा तभी से हर कुछ रोज पर इसके गिरने की मियाद तय करती रहती है। भट्टाचार्य ने कहा कि शनिवार को बुलाई गई यूपीए की बैठक सुखाड़ के मुद्दे पर है।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 04:19
उद्धरण 1 इमारत
यूपी में नए साल के जश्न में लोगों ने गटकी 50 लाख लीटर शराब, देखें आंकड़ें****** बीते साल को अलविदा और नए साल का स्वागत करते हुए उत्तर प्रदेश के के शौकीनों ने नए साल की पूर्व संध्या पर 50 लाख लीटर शराब गटक ली। एक अधिकारी ने आबकारी विभाग के रिकॉर्ड के हवाले से बुधवार को यहां इस बात की जानकारी दी।अधिकारी ने कहा कि नए साल की पूर्व संध्या पर यह बिक्री दर्ज की गई। 2019 के पहले दिन शराब की बिक्री की जानकारी जुटाई जा रही है। आकंड़े बताते हैं कि शराब की दुकानों पर 31 दिसंबर को बिक्री लगभग दोगुनी रही। इसमें घरों व होटलों में लोगों द्वारा पी गई शराब शामिल नहीं है। नए साल की पूर्व संध्या पर 31 लाख लीटर देशी शराब की भी बिक्री हुई है।आंकड़े दर्शाते हैं कि भारतीय निर्मित विदेशी शराब (आईएमएफएल) की 18 लाख बोतलें बिकीं और बीयर की बिक्री ने 23 लाख बोतलों का आकंड़ा छुआ। आबकारी विभाग ने आईएएनएस को बताया कि पिछले साल नववर्ष की पूर्व संध्या पर शराब की बिक्री की तुलना में इस साल वृद्धि देखी गई।आबकारी विभाग के आंकड़ों के मुताबिक, हर साल शराब की बिक्री होली और नए साल की पूर्व की शाम पर बहुत अधिक होती है। आंकड़े दर्शाते हैं कि औसतन हर महीने आईएमएफएल की 1.60 करोड़ बोतलें और बीयर की 2.9 करोड़ बोतलें बिकती हैं।
2022-10-01 03:55
उद्धरण 2 इमारत
यूपी चुनाव: बैन लगने से पहले कौन-सी पार्टी कर चुकी है कितनी रैलियां? जानिए वर्चुअल रैली से पहले की स्थिति******Highlightsदेश में पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं। इसमें उत्तर प्रदेश के चुनाव की सबसे ज्यादा चर्चा हो रही है। 403 सीटों वाले उत्तर प्रदेश का चुनाव 7 चरणों में होगा। पहला चरण 10 फरवरी से शुरू होगा। वहीं, नतीजों की घोषणा 10 मार्च को की जाएगा। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए चुनाव आयोग ने चुनावी रैली, नुक्कड़ सभाओं, जनसभाओं और रैलियों पर 15 जनवरी तक रोक लगा दी है।राजनीतिक विशेषज्ञों की मानें तो इसका फायदा बीजेपी और अन्य बड़ी पार्टियों को होगा। लेकिन छोटी पार्टियों को इसका नुकसान भी हो सकता है। उत्तर प्रदेश में बीजेपी की ताबड़तोड़ रैलियां हुई हैं। अभी पार्टी वर्चुअल रैली पर ही पूरा ध्यान दे रही है। बीजेपी की तरफ से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 17 चुनावी दौरे कर चुके हैं। पीएम मोदी ने बनारस से चुनावी बिगुल फूंका था और इसके बाद उन्होंने कई उद्घाटन और शिलान्यास किए।प्रधानमंत्री मोदी अलीगढ़, बनारस, कुशीनगर, सिद्धार्थनगर, झांसी, सुल्तानपुर, लखनऊ, ग्रेटर नोएडा, शाहजहांपुर, बलरामपुर, कानपुर, मेरठ और प्रयागराज में भी कई रैली कर चुके हैं। बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा 12 बार यूपी का दौरा कर चुके हैं। नड्डा ने यूपी की राजधानी लखनऊ के बूथ अध्यक्षों के सम्मेलन में हिस्सा लिया था। इसके बाद उन्होंने गोरखपुर, मेरठ, एटी में कई चुनावी कार्यक्रमों में हिस्सा लिया था। गृह मंत्री अमित शाह 12 अलग-अलग जगहों पर जनसभा कर चुके हैं।समाजवादी पार्टी की तरफ से अखिलेश यादव भी पीछे नहीं हैं। अखिलेश यादव ने चुनाव प्रचार का आगाज़ करने से पहले ही बता दिया था कि इस बार वह छोटी पार्टियों के साथ मिलकर ही मैदान में उतरेंगे। यही वजह है कि उन्होंने ज्यादा से ज्यादा पहुंच बनाने पर जोर दिया है। अभी तक वह यूपी के 80 फीसदी से ज्यादा जिलों में अपनी पार्टी की पहुंच बना चुके हैं। कांग्रेस की बात करें तो पार्टी पिछले कुछ समय से काफी सक्रिय नज़र आ रही है। प्रियंका गांधी की अगुवाई में लगातार प्रचार अभियान चलाया जा रहा है।कांग्रेस के लिए प्रियंका गांधी अमेठी, रायबरेली और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में जा चुकी हैं। ये सभी इलाके एक समय कांग्रेस का गढ़ माने जाते थे। कांग्रेस ने कोविड के प्रकोप को देखते हुए पहले ही चुनाव अभियान रोकने की घोषणा कर दी थी। इसके अलावा बीएसपी के लिए ये चुनाव किसी उम्मीद से कम नहीं है। बीएसपी नेता सतीश चंद्र मिश्रा लगातार प्रचार कर रहे हैं। उन्होंने पूर्वांचल में 9 जनसभाएं की थीं। इसके अलावा वह करीब 97 जनसभाएं कर चुके हैं और वो पार्टी का मैसेज जनता तक लेकर जा रहे हैं।
2022-10-01 03:34
उद्धरण 3 इमारत
टोयोटा किर्लोस्कर को 2020 की तीसरी तिमाही से वाहन उद्योग में तेजी लौटने की उम्मीद******Toyota Kirloskar Motorटोयोटा किर्लोस्कर मोटर को इस साल की तीसरी तिमाही से वाहन उद्योग में तेजी लौटने की उम्मीद है। कंपनी के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि एक अप्रैल से नये उत्सर्जन मानक भारत चरण-छह (बीएस-छह) लागू होने जा रहे हैं। ऐसे में उपभोक्ता नयी उत्सर्जन प्रौद्योगिकी तथा इसके कारण लागत में हुई वृद्धि को समझने की कोशिश करेंगे। कंपनी ने हाल ही में अपने लोकप्रिय बहुद्देश्यीय वाहन (एमपीवी) इनोवा क्रिस्टा का भारत चरण-छह संस्करण पेश किया है। कंपनी इस महीने के अंत तक या अगले महीने की शुरुआत में फॉर्च्यूनर जैसे मॉडलों का डीजल संस्करण भी बाजार में उतारने लगेगी। कंपनी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष (बिक्री एवं सेवा) नवीन सोनी ने पीटीआई भाषा से कहा, 'उपभोक्ताओं को नयी प्रौद्योगिकी समझने में कम-से-कम पहली दो तिमाही लगेगी। चूंकि बुनियाद मजबूत है, तीसरी तिमाही से तेजी आने लगेगी।' उल्लेखनीय है कि पिछले साल वाहन उद्योग में दो दशक की सबसे बड़ी गिरावट आयी है।सोनी ने कहा कि ने नयी प्रौद्योगिकी की लागत का पूरा बोझ उपभोक्ताओं पर नहीं डालकर कुछ हिस्से का खुद वहन करने का निर्णय लिया है। उन्होंने इनोवा क्रिस्टा के बीएस-छह संस्करण का उदाहरण देते हुए कहा, 'सबसे मुख्य चुनौती है कि यदि हम पूरी लागत का बोझ बाजार पर डालते तो यह बड़ी वृद्धि होती। यदि ऐसा होता तो उपभोक्ताओं के लिये इसे पचा पाना मुश्किल हो जाता। अत: हमने लागत वृद्धि का 50 प्रतिशत से कम ही बोझ उपभोक्ताओं पर डालने का निर्णय लिया।' सोनी ने कहा कि हालांकि हम कब तक इस अतिरिक्त बोझ का वहन कर सकेंगे, यह बड़ा सवाल है।
वापसी