नई पोस्ट करें

जुलाई में यात्री कारों की बिक्री 15 प्रतिशत बढ़ी, 30 दिन में बिकीं 2,98,997 यूनिट

2022-10-01 06:53:37 345

जुलाईमेंयात्रीकारोंकीबिक्री15प्रतिशतबढ़ी30दिनमेंबिकीं298997यूनिटTrain में मिलेगी विमानों की तरह आरामदायक सीट, TATA ने तैयार की 180 डिग्री तक घूमने वाली बर्थ******में विमानों की तरह आरामदायक सीट मिलेगी। घरेलू इस्पात कंपनी टाटा स्टील ने इस सीट का निर्माण किया है। सबसे पहले यह सीट अत्याधुनिक ट्रेन वंदे भारत में लगने वाली है। कंपनी खास सीटों की आपूर्ति सितंबर से शुरू करने जा रही है। यह देश में अपनी तरह की पहली सीट प्रणाली होगी। टाटा स्टील के उपाध्यक्ष (प्रौद्योगिकी एवं नवीन सामग्री कारोबार) देवाशीष भट्टाचार्य ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि कंपनी के कंपोजिट प्रभाग को वंदे भारत एक्सप्रेस की 22 ट्रेनों के लिए सीटें मुहैया कराने का ऑर्डर मिला है। इस ऑर्डर का मूल्य करीब 145 करोड़ रुपये है।भट्टाचार्य ने कहा, ‘ये खास तौर पर डिजाइन की गई सीट हैं। ये 180 डिग्री तक घूम सकती हैं और इनमें विमानों की सीटों की तरह की सुविधाएं मुहैया कराई गई हैं। यह ट्रेन सीट की अपनी तरह की भारत में पहली आपूर्ति है। सितंबर से इन सीटों की आपूर्ति शुरू होगी और 12 महीनों में इसे पूरा किया जाएगा।’’ वंदे भारत ट्रेनों के लिए तैयार की गईं ये सीट फाइबर रिइंफोर्स्ड पॉलिमर (एफआरपी) की बनी हैं और इनकी रखरखाव लागत भी काफी कम होगी। यह सुविधाजनक होने के साथ-साथ यात्रियों की सुरक्षा बढ़ाने में भी योगदान देगी। पूरी तरह घरेलू स्तर पर विकसित वंदे भारत ट्रेन 130 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ सकती है। यह देश की सबसे तेज ट्रेनों में से एक है।भट्टाचार्य ने बताया कि टाटा स्टील की शोध एवं विकास गतिविधियों पर वर्ष 2025-26 तक 3,000 करोड़ रुपये खर्च करने की तैयारी है। यह वर्ष 2030 तक टाटा स्टील को वैश्विक स्तर पर शीर्ष पांच इस्पात कंपनियों में पहुंचाने के लक्ष्य का ही हिस्सा है। इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए कंपनी शोध एवं विकास पर काफी ध्यान दे रही है। उन्होंने कहा कि टाटा स्टील सैंडविच पैनल बनाने के लिए महाराष्ट्र के खोपोली में एक नया संयंत्र लगा रही है जिसमें नीदरलैंड की एक कंपनी तकनीकी साझेदार है। इस संयंत्र में बनने वाले सैंडविच पैनलों का इस्तेमाल रेलवे एवं मेट्रो के कोच में इंटीरियर के लिए किया जाएगा।

जुलाईमेंयात्रीकारोंकीबिक्री15प्रतिशतबढ़ी30दिनमेंबिकीं298997यूनिटबिहार के पूर्व DGP गुप्तेश्वर पांडेय JDU में हुए शामिल****** ऐच्छिक सेवानिवृति लेने वाले बिहार के पूर्व पुलिस महानिदेशक (Ex DGP) गुप्तेश्वर पांडेय JDU में शामिल हो गए है। उन्होनें पटना स्थित JDU के कार्यालय में JDU कोज्वाइन कर लिया है। सेवानिवृति होने के बाद से ही उनके राजनीति में आने की चर्चा चल रही थी और अब वह आज JDU में शामिल होने वाले हैं। इससे पहले उन्होंने शनिवार को राज्य के मुख्यमंत्री और JDU अध्यक्ष नीतीश कुमार से मुलाकात भी की थी।इससे पहले गुप्तेश्वर पांडे ने बुधवार को कहा था कि ''मैं अभी किसी राजनीतिक दल में न शामिल हुआ हूं और न ही राजनीतिक व्यक्ति हूं। जब मैं तय करुंगा कि राजनीति में जाना और कौन दल में शामिल जाना है वह भी मैं बताउंगा।'' उन्होंने कहा था कि ''मैं चुनाव लड़ुंगा, यह भी मैंने अभी कहां कहा है। बक्सर, बेगूसराय, जहानाबाद और वाल्मीकि नगर संसदीय क्षेत्र सहित कई जिलों के शुभचिंतकों का दबाव है।"पांडेय ने कहा था "मैं सेवा के नियमों से बंधा हुआ नहीं, अब एक स्वतंत्र व्यक्ति हूं। मैं, यदि मैं चाहता हूं, तो देश के किसी भी अन्य नागरिक की तरह चुनाव लड़ सकता हूं। मैं वर्तमान में सैकड़ों लोगों से मिलने के लिए उत्सुक हूं।’’ ऐच्छिक सेवानिवृति ले चुके पूर्व पुलिस महानिदेशक ने कहा कि वह विभिन्न जिलों के अपने शुभचिंतकों से बात करेंगे। ‘‘उनसे बात करके तय करुंगा कि मुझे क्या करना है।''नीतीश कुमार के बारे में पूछे जाने पर पांडेय ने कहा था कि वह प्रशासन एवं पुलिसिंग के मामले में बिल्कुल सख्त हैं। उनका वीजन बहुत स्पष्ट है। पुलिसिंग के मामले में वह न किसी प्रकार का नाजायज राजनीतिक हस्तक्षेप करते हैं और न कोई सत्तारुढ दल का व्यक्ति करे, उसे बर्दाश्त करते हैं। नीतीश कुमार की ऐसे तारीफ करने बाद से ही उनके JDU में जाने के कयास लगाए जाने लगे थे।जुलाईमेंयात्रीकारोंकीबिक्री15प्रतिशतबढ़ी30दिनमेंबिकीं298997यूनिटCar के पिछले शीशे पर दी गई Red Lines की वजह जान लीजिए, बड़ी दुर्घटना का शिकार होने से बचने में करेगी मदद******Highlights आज के समय में कार से सफर करना आम बात हो गई है। वो चाहें आपकी पर्सनल हो या किराए की, लेकिन कई चीज ऐसी है जो आप नहीं जानते हैं। कार के पीछे केशीशे में क्यों होती है। ये लाइन्स सभी कारों में नहीं होती सिर्फ़ कुछ कारों में ही दी गई होती है। आख़िर ऐसा क्यों होता है और कंपनियां लाल रंग हीपीछे दे रही होती है? आज की ख़बर में हम आपको बताने वाले हैं। ऑटो कंपनियां गाड़ी के पीछे के शीशे में रेड लाइंस इसलिए देती हैं, ताकि किसी बड़ी दुर्घटना से पैसेंजर्स को बचाया जा सकें। सर्दियों के दिनोंजब गाड़ी के पीछे वाले शीशे पर फॉग जमा हो जाता है और ड्राइवर को पीछे नहीं दिखाई देता है तब वह स्टीयरिंग के पास दिए गए उस बटन को दबा देता है, जिससे पीछे की रेड लाइंसकनेक्ट होती है। उससे वह हिट होने लगती है। क्योंकि उन लाइंस से इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई होती है। गर्म होने से फॉग अपने आप कम हो जाता है और पीछे दिखाई देना शुरु हो जाता है।लाल रंग एक ऐसा कलर होता है जो दूर तक देखने में हमारी मदद करता है।आपने ये भी नोटिस किया होगा कि खतरा का रंग लाल होता है। कार के पीछे जो लाइट दी गई होती है वह भी लाल कलर की ही होती है, जो यह सूचित करता है कि आगे कोई खतरा है।गाड़ी की रफ्तार धीमी कर लेनी चाहिए। यातायात में रेड लाइट का मतलब गाड़ी को या तो धीमा करना या फिर रोक देना होता है। जब आप रोड क्रॉस कर रहे होते हैं तब भी आपको रेड लाइट दिखता है। जो यह संकेत दे रहा होता है कि रेड लाइट हटने तक गाड़ी को सीमा रेखा से पहले रोक देनी है।

जुलाई में यात्री कारों की बिक्री 15 प्रतिशत बढ़ी, 30 दिन में बिकीं 2,98,997 यूनिट

जुलाईमेंयात्रीकारोंकीबिक्री15प्रतिशतबढ़ी30दिनमेंबिकीं298997यूनिटनोरा फतेही का इंस्टाग्राम हैंडल इस वजह से हुआ था डिलीट, अकाउंट रीस्टोर होते ही एक्ट्रेस ने पोस्ट शेयर कर बताई वजह******Highlightsबॉलीवुड की डांसिंग डीवा का इंस्टाग्राम अकाउंट अचानक डिलीट होने के बाद उनके फैंस काफी परेशान और हैरान हो गए थे। फैंस उनके यूं इंस्टाग्राम अकाउंट से अचानक गायब होने के बाद यह कयास लगा रहे थे कि एक्ट्रेस ने अपना अकाउंट डिलीट करते हुए सोशल मीडिया से दूरी बना ली है।हालांकि,अब नोरा का अकाउंट एक बार फिर से चालू हो गया है। इस बारे में खुद नोरा ने इंस्टाग्राम पर स्टोरी शेयर करते हुए अपने फैंस को बताया कि उनका अकाउंट हैक करने की कोशिश की गई थी, जिसकी वजह से उनका अकाउंट गायब हो गया था।अकाउंट रिस्टोर होते ही नोरा ने अपने इंस्टा स्टोरी पर एक पोस्ट शेयर करते हुए लिखा, ‘क्षमा करें दोस्तों! कोई मेरे इंस्टाग्राम अकाउंट को हैक करने की कोशिश कर रहा था। कोई सुबह से मेरे अकाउंट का एक्सेस हासिल करने की कोशिश कर रहा था। इस परेशानी को जल्द ही सुलझाने में मेरी मदद करने के लिए इंस्टाग्राम टीम का धन्यवाद।’बता दें, सोशल मीडिया से अचानाक नोरा के गायब होने की खबर ने फैंस को चौंका दिया था। अब जाकर उनके फैंस ने राहत की सांस ली हैं।नोरा फतेही सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं। वह आए दिन अपनी ग्लैमरस तस्वीरें और वीडियोज शेयर करती रहती हैं, जिसे फैंस भी खूब पसंद करते हैं। वहीं एक्ट्रेस फिलहाल दुबई में हैं और अपने दुबई वेकेशन की रेगुलर अपडेट्स शेयर करती रहती हैं। हाल ही के पोस्ट में नोरा ने व्हाइट लायन्स संग फोटो और वीडियो शेयर की थी। एक्ट्रेस की सोशल मीडिया पर जबरदस्त फैन फॉलोइंग भी है। इंस्टाग्राम पर उनको 37.6 मिलीयन यूजर्स फॉलो करते हैं। वर्क फ्रंट की बात करें तो एक्ट्रेस आखिरी बार सिंगर गुरु रंधावा के साथ म्यूजिक वीडियो डांस मेरी रानी में नजर आई थीं जो 21 दिसंबर को रिलीज हुई थी।जुलाईमेंयात्रीकारोंकीबिक्री15प्रतिशतबढ़ी30दिनमेंबिकीं298997यूनिट2जी घोटाले पर फैसले के बाद 20% तक बढ़ गए इन कंपनियों के शेयर****** गुरुवार को CBI अदालत की तरफ से 2जी घोटाले के सभी आरोपियों को बरी किए जाने के बाद शेयर बाजार में कई कंपनियों के शेयरों में जबरदस्त उछाल देखने को मिला है। घोटाले में शेयर बाजार में लिस्ट कई कंपनियों या उनसे जुड़े शीर्ष अधिकारियों के नाम थे लेकिन कोर्ट से सभी आरोपियों के बरी होने के बाद शेयर बाजार में सभी संबधित कंपनियों के शेयरों में उछाल आया है। यूनिटेक, रिलायंस कम्युनिकेशन, डीबी रियलिटी, सन टीवी और आइडिया सेल्युलर के शेयरों मे जबरदस्त खरीदारी देखने को मिली है। यूनिटेक का शेयर आज करीब 20 प्रतिशत की तेजी के साथ 8.49 रुपए के ऊपरी स्तर तक पहुंच गया है, इसी तरह रिलायंस कम्युनिकेशन का शेयर 13.50 प्रतिशत बढ़कर 19.60 के ऊपरी स्तर तक पहुंच चुका है। डीबी रियलिटी का शेयर करीब 20 प्रतिशत बढ़कर 43.70 के ऊपरी स्तर तक गया है वहीं सन टीवी का शेयर करीब 6 प्रतिशत की तेजी के साथ 996 के ऊपरी स्तर तक गया है। आइडिया सेल्युलर का शेयर करीब 4 प्रतिशत की तेजी के साथ 102.45 के ऊपरी स्तर तक पहुंच गया है।गुरुवार को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में विशेष सीबीआई कोर्ट ने 2जी घोटाले के सभी 16 आरोपियों को बरी कर दिया है। अदालत के इस फैसले के बाद बड़ा सवाल यही उठता है कि 1.76 लाख करोड़ रुपए का घोटाला हुआ भी है या नहीं?जुलाईमेंयात्रीकारोंकीबिक्री15प्रतिशतबढ़ी30दिनमेंबिकीं298997यूनिटSwapna Shastra: क्या आपको भी सपने में बार-बार दिखता है सांप? इसका रहस्य जानकर रह जाएंगे दंग******अक्सर लोगों को नींद में सांप दिखाई देते हैं। सपने में कभी वो हमार पीछा कर रहे होते हैं, तो कभी बस अचानक से हमारे सामने खड़े हो जाते हैं, जिससे व्यक्ति घबराकर उठ जाता है। स्वप्न शास्त्र के अनुसार सांप के सपनों का मतलब अच्छा भी हो सकता है और बुरा भी। शास्त्रों में एक ओर सांप को जहां पूजनीय माना गया है वहीं दूसरी ओर इससे जुड़े कई मिथक भी हैं। चलिए आज हम आपको बताते हैं कि अगर आपके सपने में भी सांप आ रहे हैं, तो यह संकेत कितना शुभ है और कितना अशुभ।सुनहरे सांप को दिखनायदि सपने में सफेद या सुनहरा सांप दिखाई दे तो इसका मतलब है कि आपके किस्मत के दरवाजे खुलने वाले हैं। यदि सपने में सांप बिल में जाते दिखाई दे तो इसका मतलब है कि आपको अचानक से धन की प्राप्ति हो सकती है। सांप फन उठाए दिखे तो इसका मतलब है कि आपको संपत्ति की प्राप्ति होगी।यदि आप सपने में मरा हुआ सांप देखते हैं तो ये सपना शुभ माना जाता है। ऐसे सपने का मतलब है कि आपने राहु दोष से उत्पन्न सारे कष्ट झेल रहे हैं। वहीँ यदि आप सांप को पेड़ पर चढ़ते हुए देखें तो इसका मतलब है कि आपके जीवन में जल्द ही कोई शुभ घटना होने वाली है। यह तरक्की का भी संकेत है। साथ ही अचानक लाभ या रुका हुआ धन वापस मिलने का संकेत भी माना जाता है।सपने में यदि शिवलिंग पर सांप लिपटा हुआ दिखाई दे तो यह शुभ संकेत है। इसका मतलब यह है कि आपको भगवान शिव का आशीर्वाद मिलने वाला है। साथ ही जिस कार्य को पूरा करने के लिए आप लंबे समय से इंतेजार हैं उसमें शीघ्र ही सफलता मिलने वाली है।यदि सपने में सांप आपका पीछा कर रहा है और आप घबराए हुए हैं तो इसका मतलब है कि आप किसी चीज को लेकर डरे हुए हैं। ये सपना अशुभ माना जाता है। अगर सपने में सांप डंस लेता है तो ये सपना गंभीर रोग होने का संकेत देता है। इस सपने को देखने के बाद आप सतर्क हो जाएं।सपने में सांप के दांत दिखना भी अशुभ माना जाता है। इस सपने के आने का मतलब है कि आपको किसी से धोखा मिल सकता है। ये सपना नुकसान पहुंचने का भी संकेत देता है। यदि सपने में सांप और नेवले की लड़ाई देखते हैं तो इसका मतलब है कि आप किसी कानूनी पचड़े में फंस सकते हैं। ये सपना कोर्ट कचहरी के चक्कर लगने का भी संकेत देता है।

जुलाई में यात्री कारों की बिक्री 15 प्रतिशत बढ़ी, 30 दिन में बिकीं 2,98,997 यूनिट

जुलाईमेंयात्रीकारोंकीबिक्री15प्रतिशतबढ़ी30दिनमेंबिकीं298997यूनिटMaharashtra Governor Bhagat Singh Koshyari : 'अगर गुजरात और राजस्थान के लोगों को निकाल दो तो महाराष्ट्र में पैसा बचेगा ही नहीं', राज्यपाल कोश्यारी का बड़ा बयान******Highlights महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारीअपने बयान को लेकर विवादों में घिर गए हैं। उन्होंने शुक्रवार को मुंबई के अंधेरी वेस्ट में आयोजित एक कार्यक्रम में विवादित बयान दिया है। उन्होंने इस कार्यक्रम में कहा कि मुम्बई से अगर गुजराती और राजस्थानी लोगों को निकाल दो तो कोई पैसा बचेगा ही नहीं, तो मुम्बई काहे की आर्थिक राजधानी रह जायेगी। राज्यपाल के इस बयान का विरोध हो रहा है।संजय राउत ने ट्वीट कर जताई आपत्तिशिवसेना और एमएनएस ने राज्यपाल के इस बयान पर विरोध जताया है। शिवसेना नेता संजय राउत ने तो ट्वीट कर राज्यपाल के बयान पर कड़ी आपत्ति जताई है। उन्होंने सीएम शिंदे पर निशाना साधते हुए कहा-'सीएम शिंदे..सुन रहे हो..यह तुम्हारा महाराष्ट्र अलग है..अगर थोड़ा भी स्वाभिमान बचा है तो अभी राज्यपाल का इस्तीफा मांगो.. दिल्ली के सामने कितना झुकोगे??''महाराष्ट्र इसे बर्दाश्त नही करेगा'संजय राउत ने कहा-'राज्यपाल ने जिस तरह की बात कही वो निंदनीय है। महाराष्ट्र की जनता ने मुम्बई के लिए खून पसीना दिया है। हर चीज़ पैसों से नही तौल जाता है। बीजेपी और सीएम को चाहिए कि वह इस तरह के वक्तव्य के लिए उनकी निंदा करे और केंद्र सरकार को उन्हें तुरंत वापस बुलाना चाहिए। वो लगातार विवादित बयान देते हैं और महाराष्ट्र और मराठी मानुस का अपमान करते हैं। अब महाराष्ट्र इसे बर्दाश्त नही करेगा।राज्यपाल के दिये बयान पर पूरे राज्य में गुस्सा है। हर कोई उनके टिप्पणी की निंदा कर रहा है लेकिन अब तक बीजेपी और सीएम चुप हैं। हमे देखना है वो इस मुद्दे पर क्या कहते हैं। राज्यपाल का बयान उन 105 हुतात्माओं का अपमान है जिन्होंने मुम्बई को महाराष्ट्र के साथ रखने के लिए अपनी जान दी।'कांग्रेस ने भी राज्यपाल के बयान पर जताई आपत्तिमहाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने भी राज्यपाल के बयान पर आपत्ति जताई है। उन्होंने कहा-' राज्यपाल के बयान का हम विरोध करते हैं। उनको महाराष्ट्र के इतिहास के बारे में जानकारी भी नहीं होगी। हमारे देश के उद्योगपति धीरूभाई अंबानी को भी मुंबई और महाराष्ट्र ने एक बड़ा उद्योगपति बनाया है। महाराष्ट्र में सभी को इज्जत दी जाती है चाहे वो किसी भी राज्य का हो । भगतसिंह कोश्यारी का यह बयान सही नही है इसलिए देश के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और गृहमंत्री को इसमे हस्तक्षेप करना चाहिए और उन्हें राज्यपाल के पद से हटा देना चाहिए। राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी को महाराष्ट्र की जनता से माफी मांगनी चाहिए।नितेश राणे ने राज्यपाल के बयान का किया समर्थननितेश राणे ने राज्यपाल के विवादित बयान पर मचे हंगामे के बाद ट्वीट कर उनके बयान का समर्थन किया। उन्होंने लिखा-' राज्यपाल के बयान से किसी का अपमान नहीं हुआ बल्कि समाज में उन लोगों को उनके योगदान का श्रेय उन्हें दिया गया। उनके विरोध में बोलने वाले ये बताएं कि उन्होंने कितने मराठी लोगों को धनवान बनाया? कितने मराठी भाषियों को BMC का कॉन्ट्रैक्ट दिया।' यही नहीं नितेश ने सीधे तौर पर उद्धव पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा-'तुम्हारे पक्ष प्रमुख अपनी सारी प्रॉपर्टी और पैसे नंद किशोर चतुर्वेदी को देकर रखा है वो चलता है क्या? तब मराठी मानुस याद नही आया?'जुलाईमेंयात्रीकारोंकीबिक्री15प्रतिशतबढ़ी30दिनमेंबिकीं298997यूनिटBigBasket ने फंडिंग के ताजा चरण में जुटाये 15 करोड़ डॉलर, मिरेइ, अलीबाबा व सीडीसी ग्रुप ने किया निवेश******BigBasket ऑनलाइन किराना प्लेटफॉर्म ने फंडिंग के ताजा चरण में दक्षिण कोरिया के मिरेई एसेट मैनेजमेंट, ब्रिटेन के सीडीसी समूह और मौजूदा निवेशक अलीबाबा से 15 करोड़ अमेरिकी डॉलर की राशि जुटाई है। बिगबास्केट ने पिछले साल फरवरी में अलीबाबा और अन्य से 30 करोड़ डॉलर जुटाए थे। नवंबर में उसने कहा था कि वह आगे 20 करोड़ डॉलर तक का नया कोष जुटाने का प्रयास करेगी।कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय के पास दायर दस्तावेजों के अनुसार, मिरेई ने लगभग छह करोड़ डॉलर का निवेश किया है, जबकि सीडीसी और अलीबाबा ने क्रमशः चार करोड़ डॉलर और पांच करोड़ डॉलर का निवेश किया है।किराना बाजार क्षेत्र देश में असंगठित खुदरा बाजार का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है।बिगबास्केट ने पहले कहा था कि इसका लक्ष्य वर्ष 2020 तक अपना कारोबार 2.5 अरब डॉलर (लगभग 17,500 करोड़ रुपए) तक ले जाना है, जो मौजूदा समय में लगभग 2,500 करोड़ रुपए है।देश में ऑनलाइन किराना बाजार द्वारा अगले कुछ सालों में मजबूत वृद्धि हासिल करने का अनुमान है। बिगबास्‍केट की प्रतिस्‍पर्धी कंपनियों में सॉफ्टबैंक प्रवृतित ग्रोफर्स, वॉलमार्ट प्रवृतित फ्लिपकार्ट, अमेजन और अन्‍य छोटी-छोटी इकाईयां शामिल हैं।

जुलाई में यात्री कारों की बिक्री 15 प्रतिशत बढ़ी, 30 दिन में बिकीं 2,98,997 यूनिट

जुलाईमेंयात्रीकारोंकीबिक्री15प्रतिशतबढ़ी30दिनमेंबिकीं298997यूनिटJhund Song Teaser: 'पंगा लेने वाले रोते...' 'झुंड' के पहले गाने को लेकर अमिताभ ने लिखी ये बात******Highlights बॉलीवुड के इस सदी के महानायक अमिताभ बच्चन की मूवी 'झुंड' के पहले गाने का टीजर रिलीज किया गया है। गाने के टीजर में अमिताभ नजर नहीं आ रहे हैं। बिग बी ने इसकी जानकारी शेयर करते हुए दमदार बात लिखी है। उनकी बात पर फैंस जमकर रिएक्शन दे रहे हैं। साथ ही गाने की पहल झलक को भी पसंद कर रहे हैं।अमिताभ ने टीजर शेयर करते हुए लिखा- "Panga lene wale rote reh jayenge jab yeh #Jhund aayega aur sab ka dil jeetke jayega" (पंगा लेने वाले रोते रह जाएंगे जब ये झुंड आएगा और सबका दिल जीत के जाएगा।) बता दें, गाना 'आया ये झुंड है' कल रिलीज होने वाला है।अमिताभ बच्चन की फिल्म 'झुंड' के निर्माताओं ने रविवार को फिल्म के पहले गाने 'आया ये झुंड है' का टीजर जारी किया है। 20-सेकंड के टीजर की शुरूआत युवा लड़कों और एक लड़की के एक गिरोह के साथ होती है, जो अपने हाथों में खेल का सामान लिए हैं। टीजर में मधुर मंत्रों के साथ देहाती आवाजों का भारी उपयोग किया गया है।फिल्म के निर्देशक नागराज मंजुले ने 'सैराट' के अपने अंतिम सफल जुड़ाव के बाद अपनी फिल्म के लिए संगीत निर्देशक जोड़ी अजय-अतुल के साथ फिर से सहयोग किया है। इसके अलावा, 'झुंड' में 'सैराट' फेम आकाश थोसर और रिंकू राजगुरु भी हैं।नागराज मंजुले द्वारा लिखित और निर्देशित फिल्म एक प्रोफेसर (अमिताभ बच्चन) की कहानी बताती है, जो सड़क पर रहने वाले बच्चों को फुटबॉल टीम बनाने के लिए प्रेरित करता है। यह फिल्म 4 मार्च 2022 को रिलीज होने वाली है।

जुलाईमेंयात्रीकारोंकीबिक्री15प्रतिशतबढ़ी30दिनमेंबिकीं298997यूनिटMaha Shivratri 2022: महाशिवरात्रि पर बन रहा है खास संयोग, जानिए शुभ मुहूर्त, पूजा विधि******Highlightsप्रत्येक वर्ष की फाल्गुन कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को भगवान शिव को अत्यंत ही प्रिय महाशिवरात्रि का व्रत किया जाता है। वैसे तो पूरे साल की प्रत्येक महीने की कृष्ण पक्ष और शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी को भगवान शंकर को समर्पित मास का व्रत किया जाता हैं। लेकिन वर्ष भर में की जाने वाली सभी शिवरात्रियों में से फाल्गुन कृष्ण पक्ष की शिवरात्रि का बहुत अधिक महत्व है। माना जाता है कि महाशिवरात्रि के दिन से ही सृष्टि का प्रारंभ हुआ था। जानिए महाशिवरात्रि का शुभ मुहूर्त, पूजा विधि।फाल्गुन कृष्ण चतुर्दश्याम आदिदेवो महानिशि।शिवलिंग तयोद्भूत: कोटि सूर्य समप्रभ:॥फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी को महानिशीथकाल में आदिदेव भगवान शिव करोड़ों सूर्यों के समान प्रभाव वाले लिंग रूप में प्रकट हुए थे।कई मान्यताओं में माना जाता है कि इस दिन भगवान शिव और माता पार्वती का विवाह हुआ है। 2 मार्च को रात 11 बजकर 43 मिनट से लेकर 12 बजकर 33 मिनट तक 1 मार्च शाम 6 बजकर 21 मिनट से रात्रि 9 बजकर 27 मिनट तक1 मार्च रात्रि 9 बजकर 27 मिनट से 12 बजकर 33 मिनट तक1 मार्च रात्रि 12 बजकर 33 मिनट से सुबह 3 बजकर 39 मिनट तक 2 मार्च सुबह 3 बजकर 39 मिनट से 6 बजकर 45 मिनट तक 2 मार्च को सुबह 6 बजकर 45 मिनट के बादशिवरात्रि का व्रत नित्य और काम्य दोनों है | इस व्रत के नित्य होने के विषय में वचन है कि जो व्यक्ति तीनों लोकों के स्वामी रुद्र की भक्ति नहीं करता, वह सहस्त्र जन्मों तक भ्रमित रहता है। लिहाजा ऐसा बताया गया है कि पुरुष या नारी को प्रति वर्ष शिवरात्रि पर भक्ति के साथ महादेव की पूजा करनी चाहिए। नित्य होने के साथ यह व्रत काम्य है, क्योंकि इसके करने से शुभ फल मिलते हैं।ईशानसंहिता के अनुसार इस व्रत को शिव भक्तों के अलावा विष्णु और अन्य भक्तों के द्वारा भी किया जा सकता है। साथ ही व्रती को इस दिन अहिंसा, सत्य, ब्रह्मचर्य, क्रोध का त्याग, दूसरों के प्रति दया और क्षमा का पालन करने वाला होना चाहिए।शिवरात्रि के दिन सबसे पहले चन्दन के लेप से आरम्भ कर सभी उपचारों के साथ शिव पूजा करनी चाहिए और साथ ही पंचामृत से शिवलिंग को स्नान कराना चाहिए। इसके बाद ‘ऊँ नमः शिवाय’ मंत्र का जाप करना चाहिए, साथ ही शिव पूजा के बाद गोबर के उपलों की अग्नि जलाकर तिल, चावल और घी की मिश्रित आहुति देनी चाहिए। इस तरह 5 बार होम के बाद किसी भी एकसाबुत फल की आहुति दें। सामान्यतया लोग सूखे नारियल की आहुति देते हैं । व्यक्ति यह व्रत करके, ब्राह्मणों को खाना खिलाकर और दीपदान करके स्वर्ग को प्राप्त कर सकता है।महा शिवरात्रि की पूजा विधि के विषय में भी अलग-अलग मत हैं-सनातन धर्म के अनुसार शिवलिंग स्नान के लिये रात्रि के प्रथम प्रहर में दूध, दूसरे में दही, तीसरे में घृत और चौथे प्रहर में मधु, यानि शहद से स्नान करना चाहिए।चारों प्रहर में शिवलिंग स्नान के लिये मंत्र भी हैं-प्रथम प्रहर में- ‘ह्रीं ईशानाय नमः’दूसरे प्रहर में- ‘ह्रीं अघोराय नमः’तीसरे प्रहर में- ‘ह्रीं वामदेवाय नमः’चौथे प्रहर में- ‘ह्रीं सद्योजाताय नमः’ मंत्र का जाप करना चाहिए।वहीं दूसरे, तीसरे और चौथे प्रहर में व्रती को पूजा, अर्घ्य, जप और कथा सुननी चाहिए, स्तोत्र पाठ करना चाहिए। साथ ही अर्घ्यजल के साथ क्षमा मांगनी चाहिए, लेकिन व्यक्तिगत रूप से मेरा विश्वास क्षमा मांगने में नहीं है क्योंकि क्षमा तो दूसरों से मांगी जाती है। मैंने तो खुद को शिव जी को अर्पित कर दिया है-अहं निर्विकल्पो निराकाररूपःविभुर्व्याप्य सर्वत्र सर्वेनिद्रियाणाम्।सदा मे समत्वं न मुक्तिर्न बन्धःचिदानंदरूपः शिवोऽहं शिवोऽहम्।।अर्थात् “मैं समस्त संदेहों से परे, बिना किसी आकार वाला, सर्वगत, सर्वव्यापक, सभी इन्द्रियों को व्याप्त करके स्थित हूं, मैं सदैव समता में स्थित हूं, न मुझमें मुक्ति है और न बंधन, मैं चैतन्य रूप हूं, आनंद हूं, शिव हूं, शिव हूं”।जुलाईमेंयात्रीकारोंकीबिक्री15प्रतिशतबढ़ी30दिनमेंबिकीं298997यूनिटHeatwave in Britain: ब्रिटेन में पड़ रही गर्मी की मार, मौसम विभाग ने रेड अलर्ट किया जारी******Highlights दुनिया में हर जगह मौसम और तापमान एक जैसा नहीं होता। भारत में मानसून की एंट्री तो हो चुकी है।लेकिन, जहां देश में बारिश से कई जगहों पर लोगों को बाढ़ का सामना करना पड़ रहा। तो वहीं, कई जगहों पर गर्मी से ज्यादा राहत देखने को नहीं मिली है। इस साल दुनिया में गर्मी का प्रकोप अपने चरम पर है। इस समय में ब्रिटेन में भीषण गर्मी से लोगों के हाल-बेहाल हैं। ब्रिटेन के मौसम विभाग ने राजधानी लंदन समेत मध्य, उत्तरी और दक्षिण-पूर्वी इंग्लैंड के इलाकों में भीषण गर्मी के कारण रेड अलर्ट जारी किया है। हर जगह ब्रिटेन में इस समय लोगों को अप्रत्याशित भीषण गर्मी का सामना करना पड़ रहा है।राजधानी लंदन के कुछ हिस्सों में सोमवार की रात काफी गर्म रही और तापमान 26 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम वैज्ञानिक रचेल आयेर्स ने कहा, “ब्रिटेन में मंगलवार का दिन गर्मी के मद्देनजर बेहद अप्रत्याशित हो सकता है, इंग्लैंड के कुछ इलाकों में इस दौरान तापमान संभवतः 41 डिग्री सेल्सियस के उच्च स्तर तक पहुंच जाएगा। यह एक रिकॉर्ड होगा। हमने पहली बार इंग्लैंड में अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस देखा है।’’रचेल आयेर्स के मुताबिक, भीषण गर्मी के कारण कुछ सड़क मार्गों को बंद किया जा सकता है। इसके अलावा ट्रेनों और उड़ानों को भी रद्द करने की संभावना है। भीषण गर्मी के कारण सड़कों पर फंसे हुए लोगों के स्वास्थ्य को भी गंभीर खतरा पैदा हो सकता है। पूर्वी इंग्लैंड के सफोल्क इलाके में सोमवार को अधिकतम तापमान 38.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। स्कॉटलैंड और वेल्स इलाकों में भी तापमान काफी ज्यादा रहा।

जुलाईमेंयात्रीकारोंकीबिक्री15प्रतिशतबढ़ी30दिनमेंबिकीं298997यूनिटमहाराष्ट्र में कोरोना के 7924 नए मामले सामने आए, 24 घंटे में 227 लोगों की मौत****** महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 7924 नए मामले सामने आए हैं। महाराष्ट्र में आज सोमवार (27 जुलाई) को कोरोना मरीजो की संख्या 3,83,723 तक पहुंच गई है। आज कुल 227 लोगों की मौत हुई है वहीं आज 8706 लोगों को डिस्चार्ज किया गया है। में अब तक ठीक होने वाले मरीजों की कुल संख्या 2,21,944 तक पहुंच गई है। राज्य में एक्टिव मरीजों की अबतक कुल संख्या 1,47,592 है। वही अब तक पूरे राज्य में 13,883 लोगों की मौत हुई है। जिनमें से आज मुंबई में 24 घन्टे के भीतर 39 मौतें हुई है और अबतक मुम्बई में कुल 6132 कोरोना मरीजों की मौत हो चुकी है। वहीं राज्य में से मृत्यु दर की बात करें तो ये 3.62 प्रतिशत है।महाराष्ट्र में अभी तक कुल 2,21,944 लोग कोरोना से ठीक हो चुके हैं। महाराष्ट्र में कोरोना का रिकवरी रेट 57.84 प्रतिशत है। महाराष्ट्र स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन के मुताबिक, राज्य में अभी तक 19,25,399 लोगों के सैंपल लिए गए हैं जिनमें 3,83,723 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं, यानी राज्य में कोरोना संक्रमण की दर 19.92 प्रतिशत है।बृहन्मुंबई नगर निगम के मुताबिक, मुंबई के धारावी इलाके में आज 9 नए कोरोना के मामले सामने आए हैं, जिससे धारावी में कोरोना मामलों की कुल संख्या 2,540 हो गई जिसमें 98 सक्रिय मामले शामिल हैं।मुम्बई में 24 घन्टे के भीतर 1021 नये मामले सामने आए हैं। में आजतक कुल मरीजों की संख्या 1,10,182 तक पहुंच गई है। फिलहाल पूरे राज्य में तकरीबन 9,22,637 लोगों को होम क्वारंटाइन करवाया गया हैं वहीं पूरे राज्य में 44,136 लोगों को इंस्टिट्यूशनल क्वारंटाइन में रखा गया है। स्वास्थ विभाग की रिपोर्ट में बताया गया है कि महाराष्ट्र में आज रिकवरी रेट 57.84 प्रतिशत हो गया है।जुलाईमेंयात्रीकारोंकीबिक्री15प्रतिशतबढ़ी30दिनमेंबिकीं298997यूनिटFinancal Horoscope 2021: कुंभ राशि के जातकों के लिए बिजनेस स्टार्ट करने के लिए अच्छा साल, जानिए अन्य 3 राशियों की आर्थिक स्थिति******आचार्य इंदु प्रकाश के अनुसार धनु राशि के जातकों को कोई बड़ा सम्मान मिल सकता है। वहीं अगर कुंभ राशि के जातकों को बिजनेस स्टार्ट करने की सोच रहे हैं तो यह साल अच्छा साबित हो सकता है।इस साल आपकी आर्थिक स्थिति बढ़िया रहने वाली है। साल में आपको काफी अच्छे फायदे देखने को मिलेंगे। आपकी आमदनी के अनअपेक्षित सोर्स प्राप्त होंगे। एकाएक कोई नया प्रपोज़ल आपके सामने होगा और आप न नहीं कह पाएंगे. इस साल आप कोई नया वाहन खरीद सकते है। कोई राजकीय सम्मान भी मिल सकता है। आप अपनी रचनात्मकता के लिए प्रसिद्ध होंगे। इस वर्ष आर्थिक मामलों में आपकी स्थिति सामान्य रहेगी। आप अपने कारोबार को बढाने के लिए कोई बड़ा कदम उठाएंगे लेकिन कदम बढाने से पहले आप अपने बड़े या जो बड़ों के समान है उनकी राय लें या फिर अपने बिज़नेस के कलीग्स की राय ले। पैसों के लेन-देन से थोड़ा सतर्क रहें। लेकिन घबराने की जरूरत नहीं है सब ठीक हो जायेगा। इस वर्ष जो लोग रेस्टोरेंट चला रहे है उन्हें काफी फायदा होगा।आयेश गुरु अपने स्थान से दूसरे है अतः इस वर्ष में आपकी आर्थिक स्थिति मज़बूत होगी। आपकी पुरानी जायदाद आपको मिलेगी जिसे आप अपने फ्यूचर के लिए सेफ करेंगें या किसी अच्छी जगह इन्वेस्ट करेंगे। नौकरी पेशा युवा को अधिक मेहनत करनी पड़ेगी। जिनका परिणाम भी उन्हें अच्छा मिलेगा। अगर आप अपना बिज़नेस स्टार्ट करना चाहते है या फिर अपने फैमिली बिज़नेस को आगे बढ़ाना चाहते है तो उसके बार में थोड़ा सोच-विचार करलें और शुरू करने से पहले अपने बड़े-बुजुर्गों का आशीर्वाद लें जिससे आपका बिज़नेस अच्छा चले।इस राशि के लोगों की आर्थिक स्थिति सामान्य रहेगी। पैसों से संबंधित आपको थोड़ी परेशानी होगी। यदि आप किसी को क़र्ज़ दे रहे है तो क़र्ज़ देने से पहले आप उस व्यक्ति के बारे में अच्छे से जानकारी हासिल करलें जिसमे आपकी भलाई होगी, अन्यथा आपका सारा पैसा बर्बाद हो जायेगा। पैसों से संबंधित हिसाब-किताब रखें जिससे आगे चलकर आपको कोई प्रॉब्लम न हो। नौकरी कर रहे युवाओं को किसी अच्छी कंपनी में जॉब मिलेगी। बिजनेस वाले लोगों को कोई अच्छी औपोर्चुनिटी मिलेगी, जिनसे आपका बिज़नेस अच्छा चलेगा।

जुलाईमेंयात्रीकारोंकीबिक्री15प्रतिशतबढ़ी30दिनमेंबिकीं298997यूनिटभारत का विदेशी मुद्रा भंडार पहुंचा नई ऊंचाई पर, छुआ 454.49 अरब डॉलर का स्‍तर******India's forex reserves scale record high of 454.49 billion dollarभारत का विदेशी मुद्रा भंडार लगातार बढ़ रहा है। भारतीय रिजर्व बैंक ने शुक्रवार को बताया कि 13 दिसंबर को समाप्‍त सप्‍ताह के दौरान विदेशी मुद्रा भंडार 1.07 अरब डॉलर बढ़कर 454.492 अरब डॉलर के नए रिकॉर्ड स्‍तर पर पहुंच गया। इससे पिछले सप्‍ताह में विदेशी मुद्रा भंडार 2.342 अरब डॉलर की वृद्धि के साथ 453.422 अरब डॉलर पर पहुंचा था। समीक्षाधीन सप्‍ताह के दौरान समग्र प्रमुख घटक विदेशी मुद्रा आस्तियों में वृद्धि होने से मुद्रा भंडार का आकार बढ़ा है। आरबीआई के आंकड़ों के मुताबिक विदेशी मुद्रा आस्तियों का मूल्‍य 1.163 अरब डॉलर बढ़कर 422.422 अरब डॉलर हो गया।डॉलर मे व्‍यक्‍त किए जाने वाली विदेशी मुद्रा आस्तियों पर विदेशी मुद्रा भंडार में मौजूद गैर-अमेरिकी मुद्राओं यूरो, पौंड और येन में होने वाले उतार-चढ़ाव का भी प्रभाव पड़ता है। आरबीआई ने बताया कि समीक्षाधीन सप्‍ताह के दौरान देश के स्‍वर्ण भंडार का मूल्‍य 11 करोड़ डॉलर बढ़कर 26.968 अरब डॉलर हो गया।सप्‍ताह के दौरान अंतरराष्‍ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के साथ देश का विशेष निकासी अधिकार का मूल्‍य भी 20 लाख डॉलर बढ़कर 1.444 अरब डॉलर हो गया। इसी प्रकार आईएमएफ के पास देश के आरक्षित मुद्रा भंडार का मूल्‍य भी 1.4 करोड़ डॉलर की वृद्धि के साथ 3.658 अरब डॉलर पर पहुंच गया।जुलाईमेंयात्रीकारोंकीबिक्री15प्रतिशतबढ़ी30दिनमेंबिकीं298997यूनिटBank strike: बैंकों के विलय के खिलाफ 2 बैंक यूनियन 27 मार्च को करेंगी हड़ताल******Bank strike । File Photo बैंकिंग क्षेत्र की दो प्रमुख यूनियनें अखिल भारतीय बैंक कर्मचारी संघ (एआईबीईए) और ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन (एआईबीओए) 27 मार्च को बैंकों के महाविलय के विरोध में हड़ताल पर जाएंगी। हाल ही में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 10 बैंकों का विलय कर चार बैंक बनाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है, जिसका बैंककर्मी विरोध कर रहे हैं। इससे पहले बैंक यूनियनों ने 11 मार्च से प्रस्तावित तीन दिवसीय हड़ताल को वापस ले लिया था और अब इस हड़ताल की तारीख 27 मार्च तय की है। के महासचिव सी. एच. वेंकटचलम ने कहा, "डूबने वाले ऋण (बैड लोन) की बड़ी संख्या के कारण बैंकों को खुद समस्याओं का सामना करना पड़ता है। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ने 31 मार्च 2019 को समाप्त हुए वर्ष में 1,50,000 करोड़ रुपये का कुल सकल लाभ कमाया, लेकिन बैड लोन आदि के लिए कुल प्रावधान 216,000 रुपये का था। ऐसे में आखिर में बैंकों को 66,000 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ।"उन्होंने कहा, "क्या कोई विश्वास कर सकता है कि बैंकों के विलय से बड़े कॉर्पोरेट बैड लोन की वसूली होगी? जैसा कि हमने भारतीय स्टेट बैंक () में विलय के बाद देखा है, एसबीआई में बैड लोन बढ़ गया है। ये बैंक भी अब इसी तरह का जोखिमों का सामना कर रहे हैं।" वेंकटचलम के अनुसार, यूनियनों ने इस विलय के खिलाफ 27 मार्च की के साथ ही इस महीने में विभिन्न विरोध प्रदर्शनों की योजना बनाई है।उन्होंने कहा कि एसबीआई के विलय और पिछले साल बैंक ऑफ बड़ौदा में विलय के बाद सरकार ने 10 बैंकों के विलय की घोषणा की है, जिसका सीधा सा मतलब है कि छह बैंक आंध्रा बैंक, इलाहाबाद बैंक, कॉर्पोरेशन बैंक, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, सिंडिकेट बैंक और युनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया को बंद कर दिया जाएगा।वेंकटचलम ने कहा कि केवल 32.3 करोड़ जनसंख्या वाले संयुक्त राज्य अमेरिका में बैंकों की संख्या 1.35 अरब आबादी वाले भारत के की तुलना में कहीं अधिक है। उन्होंने कहा कि भारत में बैंकों की संख्या अत्यधिक नहीं हुई है, इसलिए यहां एकीकरण की कोई आवश्यकता नहीं है।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 06:45
उद्धरण 1 इमारत
Mathura Court: मथुरा कोर्ट में सुनवाई, शाही ईदगाह मस्जिद में माइक से अजान पर रोक लगाने और गर्मी की छुट्टी से पहले सर्वे कराने की मांग******श्रीकृष्ण जन्म स्थान मंदिर बनाम शाही ईदगाह मस्जिद मामले में आज सुनवाई के दौरान एक और प्रार्थना पत्र पेश किया गया। इसमें शाही ईदगाह मस्जिद में माइक से अजान पर रोक लगाने की न्यायालय से मांग की गई। अखिल भारतीय हिंदू महा सभा के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष दिनेश शर्मा ने माइक से अजान पर रोक लगाने का प्रार्थना पत्र दिया।मथुरा जिला जज राजीव भारती की कोर्ट में सिविल रिवीजन दाखिल हुआ। श्रीकृष्ण जन्म स्थान मंदिर बनाम शाही ईदगाह मस्जिद मामले में सर्वे कमिश्नर सिविल कोर्ट द्वारा जारी न करने को लेकर रिवीजन दाखिल हुआ। इस दौरान गर्मी की छुट्टियों के पहले सर्वे कराने की मांग की गई।सिविल जज सीनियर डिविजन ज्योति सिंह ने सर्वे कमिश्नर जारी करने के प्रार्थना पत्र पर सुनवाई की 1 जुलाई की तारीख दी थी। वादी राजेंद्र माहेश्वरी एडवोकेट और सौरभ गौड ने रिवीजन दाखिल किया।मथुरा की सिविल कोर्ट ने श्रीकृष्ण जन्मस्थान के मामले में आज की सुनवाई में कोर्ट ने हिन्दू पक्ष को सभी पक्षों को याचिका की कॉपी देने को कहा। हिन्दू पक्ष को अपने दावे की कॉपी मुस्लिम पक्ष को देने को कहा है।बता दें कि हाल ही में कृष्ण जन्मभूमि-शाही ईदगाह मस्जिद पर सुनवाई के लिए कोर्ट तैयार हो गया था। मथुरा कोर्ट ने सुनवाई के लिए इससे जुड़ी याचिका स्वीकार कर ली थी। याचिका में कहा गया था कि शाही ईदगाह मस्जिद कृष्ण जन्मभूमि के ऊपर बनी है, इसलिए उसे हटाया जाना चाहिए।जानिए क्या है मथुरा का विवाद13.37 एकड़ भूमि के मालिकाना हक का विवाद है। इसमें 10.9 एकड़ जमीन श्री कृष्ण जन्मस्थान के पास और 2.5 जमीन शाही ईदगाह मस्जिद के पास है। सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता हरिशंकर जैन, विष्णु शंकर जैन, रंजना अग्निहोत्री ने वाद दायर किया था।मथुरा का विवाद भी कुछ-कुछ अयोध्या जैसाकाशी और मथुरा का विवाद भी कुछ-कुछ अयोध्या की तरह ही है। हिंदुओं का दावा है कि काशी और मथुरा में औरंगजेब ने मंदिर तुड़वाकर वहां मस्जिद बनवाई थी। औरंगजेब ने 1669 में काशी में विश्वनाथ मंदिर तुड़वाया था और 1670 में मथुरा में भगवा केशवदेव का मंदिर तोड़ने का फरमान जारी किया था। इसके बाद काशी में ज्ञानवापी मस्जिद और मथुरा में शाही ईदगाह मस्जिद बना दी गई। सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता हरिशंकर जैन, विष्णु शंकर जैन, रंजना अग्निहोत्री ने वाद दायर किया था।मुस्लिम पक्ष के वकील की दलीलउधर, शाही ईदगाह मस्जिद से जुड़े मामले पर मुस्लिम पक्ष के वकील ने कहा है कि 1968 के पुराने समझौते पर मंदिर ट्रस्ट ने कभी आपत्ति नहीं जताई है और इस मामले पर बाहरी लोग याचिका दायर कर रहे हैं। शाही ईदगाह ट्रस्ट के एडवोकेट तनवीर अहमद ने कहा है कि यह बेहद अजीब है कि कृष्ण जन्मभूमि ट्रस्ट और संस्थान ने अब तक इस मामले पर कोई स्टैंड नहीं लिया है, जबकि हिंदू याचिकाकर्ताओं ने उनको पार्टी बनाया हुआ है।
2022-10-01 04:56
उद्धरण 2 इमारत
BigBasket ने फंडिंग के ताजा चरण में जुटाये 15 करोड़ डॉलर, मिरेइ, अलीबाबा व सीडीसी ग्रुप ने किया निवेश******BigBasket ऑनलाइन किराना प्लेटफॉर्म ने फंडिंग के ताजा चरण में दक्षिण कोरिया के मिरेई एसेट मैनेजमेंट, ब्रिटेन के सीडीसी समूह और मौजूदा निवेशक अलीबाबा से 15 करोड़ अमेरिकी डॉलर की राशि जुटाई है। बिगबास्केट ने पिछले साल फरवरी में अलीबाबा और अन्य से 30 करोड़ डॉलर जुटाए थे। नवंबर में उसने कहा था कि वह आगे 20 करोड़ डॉलर तक का नया कोष जुटाने का प्रयास करेगी।कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय के पास दायर दस्तावेजों के अनुसार, मिरेई ने लगभग छह करोड़ डॉलर का निवेश किया है, जबकि सीडीसी और अलीबाबा ने क्रमशः चार करोड़ डॉलर और पांच करोड़ डॉलर का निवेश किया है।किराना बाजार क्षेत्र देश में असंगठित खुदरा बाजार का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है।बिगबास्केट ने पहले कहा था कि इसका लक्ष्य वर्ष 2020 तक अपना कारोबार 2.5 अरब डॉलर (लगभग 17,500 करोड़ रुपए) तक ले जाना है, जो मौजूदा समय में लगभग 2,500 करोड़ रुपए है।देश में ऑनलाइन किराना बाजार द्वारा अगले कुछ सालों में मजबूत वृद्धि हासिल करने का अनुमान है। बिगबास्‍केट की प्रतिस्‍पर्धी कंपनियों में सॉफ्टबैंक प्रवृतित ग्रोफर्स, वॉलमार्ट प्रवृतित फ्लिपकार्ट, अमेजन और अन्‍य छोटी-छोटी इकाईयां शामिल हैं।
2022-10-01 04:48
उद्धरण 3 इमारत
गुजरात चुनाव के पहले चरण के मतदान से पूर्व सोने-चांदी में आई गिरावट, 200 रुपए और सस्‍ता हुआ सोना****** गुजरात विधान सभा चुनाव के पहले चरण का मतदान शनिवार को हो और उससे पहले घरेलू हाजिर बाजार में आभूषण विक्रेताओं की कमजोर मांग के बीच विदेशों में नकारात्‍मक रुख की वजह से सोने-चांदी में गिरावट रही। दिल्ली सर्राफा बाजार में आज सोना 200 रुपए गिरकर 29,750 रुपए प्रति 10 ग्राम पर आ गया।औद्योगिक इकाइयों और सिक्का निर्माताओं का उठाव घटने के कारण चांदी तैयार भी 425 रुपए टूटकर 38,000 रुपए के स्तर से नीचे 37,700 रुपए प्रति किलोग्राम पर आ गई। बाजार सूत्रों ने कहा कि निवेशकों को अमेरिकी ब्याज दर में वृद्धि होने की पूरी उम्मीद है। इसके अलावा अमेरिका में कर सुधारों में प्रगति से डॉलर में तेजी आई और इसके कारण सुरक्षित निवेश के विकल्प के तौर पर बहुमूल्य धातुओं की मांग प्रभावित हुई और सोना एक बड़ी साप्ताहिक गिरावट की ओर कदम बढ़ा रहा है। विदेशों में इस कमजोरी के रुख से यहां सर्राफा बाजार में सोने की कीमत में गिरावट आई।वैश्विक स्तर पर न्यूयॉर्क में कल सोना 1.27 प्रतिशत घटकर 1,247.80 डॉलर प्रति औंस और चांदी 1.41 प्रतिशत घटकर 15.70 डॉलर प्रति औंस के भाव बोली जा रही थी।बाजार सूत्रों ने कहा कि घरेलू हाजिर बाजार में आभूषण एवं फुटकर विक्रेताओं की मांग में गिरावट के कारण सर्राफा कीमतों पर दवाब बढ़ा है। राष्ट्रीय राजधानी में 99.9 और 99.5 प्रतिशत शुद्धता वाला सोना 200 - 200 रुपए घटकर क्रमश: 29,750 रुपए और 29,600 रुपए प्रति 10 ग्राम के भाव पर आ गया। विगत दो दिन में इसमें 300 रुपए की गिरावट आई है।हालांकि गिन्नी (आठ ग्राम) 24,400 रुपए पर अपरिवर्तित रही।सोने की ही तरह चांदी तैयार 425 रुपए घटकर 37,700 रुपए प्रति किलोग्राम व चांदी साप्ताहिक डिलीवरी 355 रुपए घटकर 36,980 रुपए प्रति किलोग्राम के भाव बोली गई। चांदी सिक्का के भाव (लिवाल) 71,000 रुपए और (बिकवाल) 72,000 रुपए प्रति सैकड़ा पर अपरिवर्तित रहे।
वापसी