नई पोस्ट करें

लखीमपुर हिंसा: पुलिस ने 2 आरोपियों को किया गिरफ्तार, केंद्रीय मंत्री के बेटे आशीष से होगी पूछताछ

2022-10-01 06:19:26 068

लखीमपुरहिंसापुलिसने2आरोपियोंकोकियागिरफ्तारकेंद्रीयमंत्रीकेबेटेआशीषसेहोगीपूछताछचुनावी मौसम के बीच छुट्टी मनाने इटली रवाना हुए राहुल गांधी******साल 2022 में पांच राज्यों में चुनाव होने जा रहे हैं। ऐसे में हर राजनीतिक पार्टी इसके लिए पूरी मेहनत कर रही है। कांग्रेस के लिए यूपी में प्रियंका गांधी चुनाव प्रचार कर रही हैं। इस बीच कांग्रेस सांसद राहुल गांधी से जुड़ी बड़ी खबर सामने आ रही है। राहुल गांधी चुनाव और कोरोना के बीच छुट्टी मनाने के लिए इटलीरवाना हो चुके हैं।राहुल ने आज सुबह 4 बजे कतर एयरवेज़ की फ्लाइट पकड़ी थी। उनकी ये फ्लाइट दोहा के रास्ते होकर इटली पहुंची है। जानकारी के अनुसार, राहुल अभी कुछ दिनों तक बाहर ही रहेंगे।अभी कांग्रेस पार्टी भी इस पर बात करने से बच रही है। फिलहाल पार्टी ने इसको लेकर कोई प्रतिक्रिया भी नहीं दी है। ऐसे में कांग्रेस कार्यकर्ताओं को ये खबर जरूर थोड़ा निराश कर सकती है। क्योंकि कांग्रेस पंजाब में हर संभर प्रयास कर रही है। इस बीच राहुल गांधी की जनवरी के शुरुआत में भी एक रैली होने वाली थी। लेकिन अब राहुल गांधी विदेश रवाना हो चुके हैं।ये कोई पहली बार नहीं है जब राहुल गांधी अपने ट्रिप को लेकर चर्चा में हैं। पिछले साल भी राहुल गांधी नए साल का जश्न मनाने विदेश चले गए थे। वह भारत से इटली पहुंचे थे। यहां तक कि वह कांग्रेस स्थापना दिवस तक भी नहीं रुके थे। पिछले 28 दिसंबर को कांग्रेस के 136वें स्थापना दिवस के मौक़े पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और सोनिया गांधी दोनों अनुपस्थित थे। राहुल इस कार्यक्रम से ठीक एक दिन पहले इटली के लिए रवाना हुए थे और सोनिया गाँधी की तबियत ख़राब होने की वजह से कार्यक्रम की ज़िम्मेदारी प्रियंका गांधी को संभालनी पड़ी थी।कांग्रेस मुख्यालय में मौजूद मीडिया के लोगों ने जब प्रियंका गांधी से इसको लेकर सवाल पूछा था तो उन्होंने इसका कुछ जवाब नहीं दिया था। कांग्रेस के अन्य वरिष्ठ नेता भी इस सवाल से बचते हुए नज़र आए थे। मामले ने जब तूल पकड़ा तो कांग्रेस की तरफ से बयान जारी कर बताया गया था कि वह अपनी बीमार नानी को देखने के लिए इटली गए हैं। लेकिन एक बार फिर वह चुनाव और नए साल का जश्न मनाने के लिए विदेश चले गए हैं।

लखीमपुरहिंसापुलिसने2आरोपियोंकोकियागिरफ्तारकेंद्रीयमंत्रीकेबेटेआशीषसेहोगीपूछताछनौसेना का प्रशिक्षण विमान दुर्घटनाग्रस्त, दो लोगों की मौत******अमेरिकी नौसेना का एक विमान अलबामा राज्य में दुर्घटनाग्रस्त हो गया, जिससे उसमें सवार दो पायलटों की मौत हो गई। नौसेना के अधिकारियों ने यह जानकारी दी। अलबामा स्थित डब्ल्यूकेआरजी-टीवी ने एक न्यूज रिपोर्ट में कहा कि यूएस नेवी टी-6 बी टेक्सन 2 ट्रेनर विमान दुर्घटना शुक्रवार शाम को फॉली शहर के पास हुई। ‘नेवल एयर फोर्सेस’ के कमांडर के प्रवक्ता जैच हैरेल ने बताया कि टी-6बी टेक्सान 2 प्रशिक्षण विमान में सवार दोनों मृतकों के नाम अभी जारी नहीं किए गए हैं। जमीन पर किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है।फोले में दमकल विभाग के प्रमुख जोए डार्बी ने बताया कि विमान के नीचे गिरने के बाद उसमें आग लग गई और कई कारें एवं मकान इसकी चपेट में आ गए, लेकिन दमकल कर्मियों ने आग पर जल्द ही काबू पा लिया। विमान फोले शहर के निकट मागनोलिया स्प्रिंग्स कस्बे में दुर्घटनाग्रस्त हुआ।हैरेल ने बताया कि घटनास्थल के पास रिहायशी इलाका है, जहां बड़ी संख्या में लोग रहते हैं। उन्होंने बताया कि इस हादसे में कोई दमकल कर्मी घायल नहीं हुआ है। नौसेना की प्रवक्ता जूली जीगेनहोर्न ने बताया कि विमान ने फ्लोरिडा के पेनसाकोला से करीब 48.28 किलोमीटर पूर्वोत्तर में ‘नेवल एयर स्टेशन व्हाइटिंग फील्ड’ से उड़ान भरी थी। बाल्डविन काउंटी शेरिफ के कार्यालय ने ट्वीट किया कि अमेरिकी रक्षा मंत्रालय और नौसेना हादसे के संबंध में जांच करेंगे।लखीमपुरहिंसापुलिसने2आरोपियोंकोकियागिरफ्तारकेंद्रीयमंत्रीकेबेटेआशीषसेहोगीपूछताछओलंपिक लौ बुझाने के साथ बीजिंग शीतकालीन खेल हुए समाप्त, बर्ड्स नेस्ट स्टेडियम में हुआ रंगारंग समापन******Highlightsबीजिंग शीतकालीन ओलंपिक खेल रविवार को बर्ड्स नेस्ट स्टेडियम में रंगारंग समापन समारोह के बाद आधिकारिक लौ बुझाने के साथ समाप्त हो गये। अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के अध्यक्ष थॉमस बाक ने आधिकारिक रूप से बर्ड्स नेस्ट स्टेडियम में बीजिंग ओलंपिक खेलों का समापन किया। कोरोना वायरस महामारी के बीच आयोजित ये दूसरे ओलंपिक थे।कोविड-19 वायरस के कारण खिलाड़ी, मीडिया और कार्यकर्ता ‘बायो-बबल’ की पांबदियों में रहे। हालांकि 463 कोविड-19 पॉजिटिव मामले भी सामने आये। चीन पर मानवाधिकारों के उल्लघंन के आरोप लगाते हुए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कईयों ने ओलंपिक आयोजित करने के लिये अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति की निंदा की। कई देशों ने कोई आधिकारिक प्रतिनिधिमंडल नहीं भेजकर इन ओलंपिक का बहिष्कार किया। हालांकि उन्होंने अपने खिलाड़ियों को इन खेलों में हिस्सा लेने के लिये भेजा। भारत ने आधिकारिक तौर पर इन खेलों के राजनयिक बहिष्कार की घोषणा की थी। उद्घाटन और समापन समारोह के लिये भारत ने अपना कोई दूत नहीं भेजा।भारत सरकार ने घोषणा की थी बीजिंग में भारतीय दूतावास का कोई भी राजनयिक 2022 शीतकालीन ओलंपिक के उद्घाटन और समापन समारोह में हिस्सा नहीं लेगा क्योंकि चीन ने गलवान घाटी में हुई झड़प में शामिल एक सैन्य कमांडर को इन खेलों का मशालवाहक बनाया था। अब सभी खेलप्रेमियों की निगाहें पेरिस 2024 ओलंपिक पर लगी होंगी और अधिकारियों को उम्मीद है कि ये कोविड-मुक्त और विवाद मुक्त खेल होंगे।। मिलान और कॉर्टिना डी एमपेजाो में 2026 में मिलने के वादे के साथ ओलंपिक लौ औपचारिक रूप से बुझा दी गयी।

लखीमपुर हिंसा: पुलिस ने 2 आरोपियों को किया गिरफ्तार, केंद्रीय मंत्री के बेटे आशीष से होगी पूछताछ

लखीमपुरहिंसापुलिसने2आरोपियोंकोकियागिरफ्तारकेंद्रीयमंत्रीकेबेटेआशीषसेहोगीपूछताछग्रेटर नोएडा इमारत हादसा : 8 लोगों के शव मिले, राहत-बचाव कार्य जारी, मजिस्ट्रेट जांच के आदेश****** ग्रेटर नोएडा के में कल रात दो की घटना में 8 लोगों की मौत हो गई है। इस घटना के सिलसिले में पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है, जबकि 18 अन्य के खिलाफ गैर इरादतन हत्या और आईपीसी की अन्य धाराओं के तहत एक मामला दर्ज किया है। हादसे की मजिस्ट्रेट जांच का आदेश दिया गया है। बचाव टीम ने मलबे में दबी एक महिला समेत पांच लोगों के शवों को बाहर निकाला है। बचाव व राहत कार्य अभी भी जारी है। आशंका है कि अभी भी इमारत के मलबे में दर्जनभर लोग और दबे हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये मुआवजे का ऐलान किया है।मुख्य दमकल अधिकारी अरुण कुमार सिंह ने बताया कि दोनों इमारतों में दर्जनभर लोगों की फंसे होने की आशंका है। उन्होंने बताया कि रात से ही चल रहे बचाव और राहत कार्य में देर रात को दो लोगों के शवों को बाहर निकाला गया था, जबकि आज सुबह एक व्यक्ति के शव को बाहर निकाला गया है। उन्होंने बताया कि आज शाम छह बजे के करीब एक पुरुष और एक महिला के शव को बाहर निकाला गया। देर शाम एक साल की बच्ची का शव मलबे से निकाला गया। रात में दो और शव मिलने के बाद मरनेवालों की संख्या बढ़कर आठ हो गई है।दमकल अधिकारी ने बताया कि पांच शवों में से तीन की शिनाख्त हो पाई है। महिला का नाम प्रियंका है जबकि देर रात मिले दो शवों की पहचान रंजीत तथा शमशाद के रूप में हुई है। उन्होंने बताया कि प्रियंका के परिवार के तीन लोग अभी मलबे में फंसे हैं, जिसकी पुष्टि उनके परिजनों ने की है। उन्होंने बताया कि हमारा प्रयास है कि जल्द से जल्द मलबे में फंसे लोगों को बाहर निकाला जाए। उन्होंने बताया कि गाजियाबाद से आयीं एनडीआरएफ की टीमें रात से ही बचाव कार्य में लगी है। एनडीआरएफ, जिला पुलिस तथा ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अधिकारी बचाव कार्य में जुटे हुए हैं।राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के महानिदेशक संजय कुमार अपनी टीम द्वारा किये जा रहे राहत एवं बचाव कार्यों का जायजा लेने के लिए मौके पर पहुंचे। कुमार ने कहा कि मलबा बहुत ज्यादा है लेकिन इसमें दबे लोगों के अब भी जीवित होने की संभावना है, इसलिए मशीनों का सावधानी से इस्तेमाल किया जा रहा है, ताकि किसी को नुकसान ना पहुंचे। उन्होंने उम्मीद जताईकि बचाव अभियान कल तक पूरा हो जाएगा।वहीं मेरठ जोन के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) राम कुमार ने बताया कि बिसरख थाना क्षेत्र के शाहबेरी गांव में कल रात छह मंजिला एक निर्माणाधीन इमारत ढह गई। उसकी चपेट में आकर उससे सटी एक पांच मंजिला इमारत भी ढह गई। उन्होंने बताया कि बिसरख पुलिस ने इस सिलसिले में करीब दो दर्जन लोगों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। भूस्वामी गंगाशंकर द्विवेदी और दिनेश तथा संजय को गिरफ्तार कर लिया है। आईजी ने बताया कि अवैध इमारत का निर्माण करने को लेकर 18 अन्य लोगों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है।कुमार ने बताया कि राहत और बचाव कार्य में 12 जेसीबी मशीनें और दो पोकलेन मशीनें लगाई गई हैं।वहीं, गौतम बुद्ध नगर के जिलाधिकारी बृजेश नारायण सिंह ने घटना की मजिस्ट्रेट जांच का आदेश दिया है। सिंह ने बताया कि इस मामले की अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) कुमार विनीत सिंह के नेतृत्व में मजिस्ट्रेट जांच शुरू कर दी गई है। इस बीच, ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी पार्थ सेन सारथी ने आज एक विज्ञप्ति जारी कर कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर शाहबेरी गांव के भूमि अधिग्रहण के लिए जारी की गयी अधिसूचना 12 मई, 2011 को रद्द कर दी गयी थी।सारथी ने बताया कि प्राधिकरण की टीम मौके पर मौजूद एनडीआरएफ, दमकल विभाग और पुलिस की टीम के साथ मिलकर राहत एवं बचाव कार्य कर रही है। घटना के बाद मौके पर पहुंचे समाजवादी पार्टी के विधान परिषद सदस्य और पूर्व मंत्री राकेश यादव तथा अयूब अंसारी ने सरकार से मृतकों के परिजनों को 25- 25 लाख रुपए की अनुग्रह राशि देने की मांग की है। उन्होंने मृतकों के परिजन को सरकारी नौकरी और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की भी मांग की है।लखीमपुरहिंसापुलिसने2आरोपियोंकोकियागिरफ्तारकेंद्रीयमंत्रीकेबेटेआशीषसेहोगीपूछताछGold Bond: सोना खरीदने पर सरकार दे रही है डिस्काउंट, 22 अगस्त से आपको भी मिलेगा खरीदारी का मौका****** महंगाई के इस दौर में यदि सोना सस्ते में मिल जाए तो क्या बात है, और जब सरकार ही सोने की खरीद पर डिस्काउंट दे रही हो तो इससे बेहतर कुछ नहीं हो सकता। सोने में निवेश हमेशा सबसे सुरक्षित विकल्प माना जाता है। यही ध्यान में रखते हुए सरकार नवंबर 2015 से सॉवरेन गोल्ड बॉण्ड स्कीम चला रही है। इसमें सरकार ऑनलाइन या डिजिटल माध्यम से खरीद पर 50 रुपये प्रति ग्राम की दर से छूट दे रही है।भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने जानकारी देते हुए बताया कि सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (एसजीबी) स्कीम की वित्त वर्ष 2022-23 की दूसरी श्रृंखला 22 अगस्त से पांच दिनों के लिए खुल रही है। जिसमें कोई ​भी निवेशक गोल्ड बॉण्ड को खरीद सकता है। इसके लिए इश्यू प्राइज 5,197 रुपये प्रति ग्राम तय किया गया है। मौजूदा वित्तवर्ष के लिए SGB योजना का दूसरा चरण 22 से 26 अगस्त, 2022 के बीच खुलेगे।इस योजना की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसमें ग्राहकों को डिजिटल पेमेंट पर डिस्काउंट भी मिलता है। आरबीआई ने कहा, ‘‘ऑनलाइन या डिजिटल माध्यम से स्वर्ण बांड खरीदने वाले निवेशकों के लिये बॉण्ड की कीमत 50 रुपये प्रति ग्राम कम होगी। इस तरह के निवेशकों के लिए स्वर्ण बांड का निर्गम मूल्य 5]147 रुपये प्रति ग्राम है।’’रिजर्व बैंक ने बताया कि गोल्ड बॉन्ड स्कीम 2022-23 की दूसरी श्रृंखला 22 से 26 अगस्त के दौरान उपलब्ध होगी। केंद्रीय बैंक भारत सरकार की तरफ से बांड जारी करता है। ये भारत के नागरिक, अविभाजित हिंदू परिवार (एचयूएफ), ट्रस्ट, विश्वविद्यालयों और धर्मार्थ संस्थाओं को ही बेचे जा सकते है।पिछले वित्त वर्ष यानि 2021-22 में रिजर्व बैंक ने 10 किस्तों में गोल्ड बॉण्ड स्कीम पेश की। जिसमें कुल 12,991 करोड़ रुपये के एसजीबी जारी किये गये थे। यहां बता दें कि व्यक्तिगत खरीदार अधिकतम चार किलोग्राम सोना खरीद सकता है। वहीं एचयूएफ के लिए यह लिमिट 4 किलोग्राम और ट्रस्ट या ऐसी ही संस्थाओं के लिए लिमिट 20 किलोग्राम है।लखीमपुरहिंसापुलिसने2आरोपियोंकोकियागिरफ्तारकेंद्रीयमंत्रीकेबेटेआशीषसेहोगीपूछताछGold Rate Today: सोने की कीमत में हुआ बड़ा बदलाव, जानिए क्या है 22 और 24 कैरेट गोल्ड के दाम******Gold Rate : सोने की कीमत में एक बार फिर उछाल दर्ज किया गया है। सप्ताह के पहले दिन सोमवार को दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना 113 रुपये महंगा हो गया। ताजा बढ़ोत्तरी के बाद सोने के भाव 50,985 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गए। पिछले कारोबारी सत्र में सोना 50,872 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था।एचडीएफसी सिक्योरिटीज द्वारा जारी की गई कीमत के अनुसार आज चांदी की कीमत में भी बदलाव आया है। सोने की तर्ज पर चांदी भी 428 रुपये उछलकर 53,980 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई।अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना और चांदी दोनों बहुमूल्य धातुओं का भाव स्थिर रहा। इनके भाव क्रमशरू 1,711 डॉलर प्रति औंस और 18.15 डॉलर प्रति औंस पर थे। एचडीएफसी के वरिष्ठ विश्लेषक (जिंस) तपन पटेल ने कहा, ‘‘न्यूयॉर्क स्थित जिंस एक्सचेंज कॉमेक्स में सोने की हाजिर कीमत 1,711 डॉलर प्रति औंस थी, जिससे यहां सोने की कीमतों में मामूली गिरावट आई। शुक्रवार को सुधार के बाद डॉलर के मजबूत होने से सोने की कीमतों पर दबाव दिखा।’’स्थानीय सर्राफा बाजार में सोमवार को सोना 100 रुपये प्रति 10 ग्राम और चांदी के भाव में 350 रुपये प्रति किलोग्राम की वृद्धि शनिवार की तुलना में हुई। कारोबारियों के अनुसार, मूल्यवान धातुओं के औसत भाव इस प्रकार रहे। सोना 52300 रुपये प्रति 10 ग्राम, चांदी 54500 रुपये प्रति किलोग्राम, चांदी सिक्का 750 रुपये प्रति नग।मजबूत हाजिर मांग के कारण वायदा कारोबार में सोमवार को सोना 112 रुपये की तेजी के साथ 50,480 रुपये प्रति 10 ग्राम के भाव पर पहुंच गया। इस दौरान सटोरियों ने ताजा सौदे किए, जिससे सोने को बढ़त मिली। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में अक्टूबर डिलीवरी के लिए सोने का भाव 112 रुपये या 0.22 प्रतिशत की तेजी के साथ 50,480 रुपये प्रति 10 ग्राम पर था। इसमें 12,151 लॉट का कारोबार हुआ।वायदा कारोबार में सोमवार को चांदी की कीमत 308 रुपये की तेजी के साथ 53,330 रुपये प्रति किलोग्राम हो गई। इस दौरान कारोबारियों द्वारा अपने दांव बढ़ाने से चांदी को समर्थन मिला। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में दिसंबर डिलीवरी के लिए चांदी का भाव 308 रुपये या 0.58 प्रतिशत की तेजी के साथ 53,330 रुपये प्रति किलोग्राम था। इसमें 27,677 लॉट के लिए सौदे हुए।

लखीमपुर हिंसा: पुलिस ने 2 आरोपियों को किया गिरफ्तार, केंद्रीय मंत्री के बेटे आशीष से होगी पूछताछ

लखीमपुरहिंसापुलिसने2आरोपियोंकोकियागिरफ्तारकेंद्रीयमंत्रीकेबेटेआशीषसेहोगीपूछताछखराब फॉर्म से जूझ रहे पूर्व कप्तान विराट कोहली के समर्थन में आए वसीम जाफर, दिया यह बड़ा बयान******भारत के पूर्व क्रिकेटर वसीम जाफर ने वेस्टइंडीज के खिलाफ घरेलू सीरीज में खराब प्रदर्शन के बावजूद विराट कोहली का समर्थन किया है। जाफर ने कहा कि कोहली की तरह हर क्रिकेटर इस दौर से गुजरता है। मेहमान टीम के खिलाफ वनडे सीरीज में कोहली का खराब फॉर्म जारी रहा। उन्होंने तीन मैचों में 8, 18 और 0 के स्कोर बनाए थे और वह रन बनाने में संघर्ष करते दिखाई दिए थे।16 फरवरी को ईडन गार्डन में पहले टी20 में, कोहली 12 गेंदों पर केवल 17 रन ही बना सके। अपने खेल के दिनों में मुंबई का प्रतिनिधित्व करने वाले जाफर ने कहा कि कोहली को थोड़ा धैर्य दिखाने की जरूरत है, क्योंकि चीजें उनके हिसाब से नहीं चल रही हैं।जाफर ने ईएसपीएन क्रिकइंफो के हवाले से कहा, "हर क्रिकेटर इस दौर से गुजरता है, जहां वह स्कोर करने में असमर्थ होता है। मुझे लगता है कि कोहली अपने स्तर पर सर्वश्रेष्ठ प्रयास कर रहे हैं, लेकिन उन्हें थोड़ा धैर्य रखना चाहिए। मुझे लगता है कि एक बार जब वह इस दौर से निकल जाएंगे, तो वह लगातार रन बनाएंगे।"उन्होंने कहा, "मुझे यकीन है कि वह नेट्स पर बहुत मेहनत कर रहे हैं, जितना वह इतने सालों से करते आ रहे हैं। मुझे यकीन है कि हम फिर से उससे लगातार स्कोर करते देखेंगे।"भारतीय मुख्य कोच राहुल द्रविड़ ने इससे पहले टीम के साउथ अफ्रीका दौरे के दौरान कोहली का समर्थन करते हुए कहा था कि हर क्रिकेटर, खासकर जो लंबे समय तक खेलते हैं, ऐसे दौर से गुजरते हैं।द्रविड़ ने कहा, "भले ही उन्होंने अच्छी बल्लेबाजी की और उन शुरुआतों को बड़ी पारी में बदल नहीं सके, मुझे वास्तव में लगता है कि वह आने वाले दिनों में अधिक रन बनाएंगे।"लखीमपुरहिंसापुलिसने2आरोपियोंकोकियागिरफ्तारकेंद्रीयमंत्रीकेबेटेआशीषसेहोगीपूछताछBenefits of ITR Filing: समय से Tax Return फाइल करने पर मिलते हैं ये 7 लाभ, लोन से इंश्योरेंस तक जानिए कहां-कहां मिलता है फायदा******Highlightsआयकर रिटर्न (आईटीआर) दाखिल करने की समय सीमा 31 जुलाई, 2022 है। जुर्माना या जुर्माना से बचने के लिए, करदाताओं को समय सीमा से पहले अपना आईटीआर ऑनलाइन जमा करना होगा। आयकर नियम के अनुसार यदि किसी व्यक्ति की शुद्ध आय मूल छूट सीमा से अधिक हो तो उसे टैक्स रिटर्न दाखिल करना होता है। आपको बता दें कि टैक्स रिटर्न दाखिल करना आयकर कानून के अनुसार जरूरी तो है ही, साथ ही रिटर्न फाइल करने वाले नागरिकों को कई स्थानों पर कई लाभ भी मिलते हैं। आए जानते हैं इन्हीं फायदों के बारे मेंआपका आईटीआर आपको बेहद आवश्यक मानी जाने वाली जीवन बीमा पॉलिसी प्राप्त करने में मदद करता है। बीमा कंपनी को यदि ऐसा लगता है कि आपने रिटर्न फाइल नहीं किया है और आप कर की चोरी कर रहे हैं, तो वे आपको ज्यादा कवर नहीं देते हैं, या फिर देते भी हैं तो आपको यह बहुत महंगा पड़ता है। वहीं आईटीआर फाइल करने पर आपको आसानी से ज्यादा कवरेज वाला प्लान कम कीमत में मिल जाता है।यदि आप लोन लेना चाह रहे हैं तो बैंक आपसे पिछले तीन वर्षों के आईटीआर फाइलिंग दस्तावेज मांगता है। इससे बैंक के लिए आपकी वित्तीय स्थिति और ऋण चुकाने की क्षमता का मूल्यांकन करना आसान हो जाता है। इन दस्तावेजों को जमा करके आपके लोन की प्रोसेसिंग अवधि कम हो जाती है। क्रेडिट कार्ड प्रोसेसिंग के लिए भी यही बात लागू होती है।मान लीजिए कि आप दुर्घटना होने पर इंश्योरेंस क्लेम दायर करना चाहते हैं। कानूनी कार्रवाई करने से पहले बीमा कंपनियों को आपके आईटीआर प्रमाणों की आवश्यकता होती है। यदि आप आईटीआर की जानकारी नहीं देते हैं तो आपकी क्लेम राशि कम हो सकती है। परिस्थितियों के आधार पर आपके दावे को संभावित रूप से अस्वीकार किया जा सकता है।विदेश यात्रा कर रहे हैं और आपको पहले वीजा प्राप्त करना होगा। इसके लिए आपको आईटीआर प्रूफ भी पेश करने होंगे। यह सुनिश्चित करने के लिए है कि आपके पास एक स्थिर वित्तीय स्थिति है। यदि आप अंतरराष्ट्रीय स्तर पर यात्रा करना चाहते हैं तो वीजा के लिए आवेदन करते समय आपका सबसे हालिया टैक्स रिटर्न जमा करना होगा।यदि आपका स्टार्टअप है तो आपको बाहरी स्रोतों जैसे वेंचर कैपिटल या सीड इंवेस्टर्स से पैसों की आवश्यकता हो सकती है। ये निवेशक व्यवसाय की वित्तीय स्थिरता और लाभप्रदता का मूल्यांकन करने के लिए आपके आईटीआर की बारीकियों के बारे में पूछताछ कर सकते हैं। वे आपके आईटीआर फॉर्म का उपयोग करके भी ऑडिट रिपोर्ट में डेटा को क्रॉस-चेक कर सकते हैं।सेल्फ-इंप्लॉइड या स्वतंत्र फ्रीलांसरों को फॉर्म 16 प्राप्त नहीं होता है। उनका आईटीआर अक्सर एकमात्र रिकॉर्ड होता है जो दर्शाता है कि उन्होंने आयकर जमा किया है। इस सबूत के बिना, वे वित्तीय बाधाओं और लेन-देन संबंधी समस्याओं से निजात पा सकते हैं।एक वित्तीय वर्ष से किसी व्यक्ति या कंपनी के नुकसान को, यदि आवश्यक हो, अगले एक में ले जाया जा सकता है। इस तरह के नुकसान को ’व्यापार और पेशे की कमाई और लाभ’ या ’पूंजीगत लाभ से आय’ के तहत रिपोर्ट किया जा सकता है। लेकिन केवल अगर आपने समय सीमा से पहले अपना आईटीआर जमा किया है, तो आप इस लाभ के लिए पात्र होंगे। यदि आप उस बिंदु से बाद में फाइल करते हैं तो नुकसान आगे नहीं बढ़ाया जा सकता है।

लखीमपुर हिंसा: पुलिस ने 2 आरोपियों को किया गिरफ्तार, केंद्रीय मंत्री के बेटे आशीष से होगी पूछताछ

लखीमपुरहिंसापुलिसने2आरोपियोंकोकियागिरफ्तारकेंद्रीयमंत्रीकेबेटेआशीषसेहोगीपूछताछदेश के इस कांग्रेस शासित राज्य में सबसे कम है बेरोजगारी, जानिए क्या है कारण******बेरोजगारी लंबे वक्त से देश की सबसे बड़ी समस्याओं में शुमार रही है। देश का कोई भी राज्य इससे अछूता नहीं है। लेकिन इन आंकड़ों में देश के सबसे युवा राज्यों में से एक छत्तीसगढ़ ने बाजी मारी है। राज्य सरकार के आंकड़ों के अनुसार छत्तीसगढ़ में अगस्त महीने में बेरोजगारी दर 0.4 प्रतिशत रही जबकि इसी अवधि में देश की बेरोजगारी दर 8.3 प्रतिशत रही।जनसंपर्क विभाग के अधिकारियों ने बताया कि छत्तीसगढ़ पिछले कई महीनों से सबसे कम बेरोजगारी दर वाले राज्यों में उच्च स्थान पर बना हुआ है। अगस्त, 2022 में छत्तीसगढ़ की बेरोजगारी दर 0.4 प्रतिशत है। जबकि देश में बेरोजगारी दर 8.3 प्रतिशत है। जुलाई महीने में छत्तीसगढ़ की बेरोजगारी दर 0.8 प्रतिशत रही। मई में यह 0.7 प्रतिशत तथा मार्च-अप्रैल महीने में यह सबसे कम 0.6 प्रतिशत रही।अधिकारियों ने बताया कि राज्य में नई सरकार के गठन के बाद अर्थव्यवस्था की मजबूती के लिए कई कार्य किए गए। ऐसी योजनाओं पर जोर दिया गया तथा क्रियान्वयन किया गया जिससे रोजगार के नए अवसर सृजित हों। उन्होंने बताया कि सरकार बनने के साथ ही कर्ज माफी तथा समर्थन मूल्य में वृद्धि जैसे योजनाओं से शुरुआत की गई। इसके बाद राजीव गांधी किसान न्याय योजना, गोधन न्याय योजना, सुराजी गांव योजना, नरवा-गरवा-घुरवा-बाड़ी कार्यक्रम, राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन किसान न्याय योजना, नयी औद्योगिक नीति का निर्माण, वन तथा कृषि उपजों के संग्रहण की बेहतर व्यवस्था जैसे कई कदम उठाए गए।अधिकारियों ने बताया कि राज्य के स्कूलों में नियमित शिक्षक की भर्ती की जाएगी। आत्मानंद स्कूल के विस्तार के साथ ही अंग्रेजी माध्यम के कॉलेज की भी शुरुआत की जा रही है। गोधन न्याय योजना का विस्तार करते हुए गोमूत्र खरीदी की शुरुआत की गई है। खरीदे गए गोमूत्र से भी खाद तथा कीटनाशकों का निर्माण किया जाएगा, जिससे रोजगार के नये अवसरों का सृजन होगा।

लखीमपुरहिंसापुलिसने2आरोपियोंकोकियागिरफ्तारकेंद्रीयमंत्रीकेबेटेआशीषसेहोगीपूछताछभीगे हुए काले चने खाने के बाद ना खाएं 4 चीजें, फायदे की जगह सेहत को होगा नुकसान******काला चना सेहत के लिए बहुत हेल्दी होता है। कई लोग सुबह के नाश्ते में तो कुछ लोग शाम के नाश्ते में भीगे हुए काले चने खाना पसंद करते हैं। काले चने में प्रचुर मात्रा में प्रोटीन और फाइबर होता है। ये ना केवल एनीमिया के पेशेंट के लिए लाभकारी होता है बल्कि शुगर पेशेंट को भी इसे खाने की सलाह दी जाती है। यहां तक कि जो लोग जिम भी जाते हैं वो भी इसका सेवन करते हैं। जिससे कि वो अपने आपको हेल्दी रख सकें। लेकिन क्या आपको पता है गुणों का खजाना होने के बावजूद भी काले चने को खाने के बाद अगर आपने कुछ चीजों का सेवन किया तो ये आपकी सेहत पर भारी पड़ सकता है। जानिए काले चने को खाने के बाद किन चीजों को नहीं खाना चाहिए।काले चने में प्रचुर मात्रा में फाइबर होता है। इसकी वजह से लंबे वक्त तक आपका पेट भरा लगता है। लेकिन फिर भी ये बात आपको जानना जरूरी है कि काले चने को खाने के बाद आप अचार का सेवन ना करें। ऐसा इसलिए क्योंकि अचार को गलाने के लिए उसमें सिरका डाला जाता है। इन दोनों का सेवन करने से पेट से संबंधित दिक्कत होने के अलावा आपको दिल से संबंधित भी परेशानी हो सकती है। इसके अलावा सीने में जलन और दर्द भी हो सकता है। इसी कारण चने को खाने के बाद अचार से दूरी बना लें।अगर आपने सुबह खाली पेट काला चना भीगा हुआ खाया है तो उस दिन करेले का सेवन ना करें। ऐसा इसलिए क्योंकि भीगे हुए चने में जो ऑक्साइड होता है वही करेले में भी होता है। बस दोनों में थोड़ा अंतर होता है। करेले में जो ऑक्साइड होता है उसका स्तर बहुत ज्यादा होता है और भीगे हुए चने में कम। ये दोनों पेट में मिलकर सेहत को नुकसान पहुंचा सकते हैं।कई लोग भीगे हुए चने खाने के बाद दूध पीते हैं। अगर आप भी ऐसा करते हैं तो ये आदत बदल लें। ऐसा इसलिए क्योंकि आपको सफेद दाग की समस्या हो सकती है। इसी वजह से काला चना खाने के बाद इसका सेवन ना करें।अगर आप काले चने भीगे हुए खाने के बाद अंडा खाते हैं तो इस आदत को बदलने में ही समझदारी है। ये दोनों चीजें पेट में मिलकर रिएक्ट कर सकती है। इसी वजह से अंडा और काले चने के कॉम्बिनेशन से दूर रहें।Disclaimer: यह जानकारी आयुर्वेदिक नुस्खों के आधार पर लिखी गई है। इंडिया टीवी इनके सफल होने या इसकी सत्यता की पुष्टि नहीं करता है। इनके इस्तेमाल से पहले चिकित्सक का परामर्श जरूर लें।लखीमपुरहिंसापुलिसने2आरोपियोंकोकियागिरफ्तारकेंद्रीयमंत्रीकेबेटेआशीषसेहोगीपूछताछ'लाल सिंह चड्ढा' के तीसरे गाने 'फिर ना ऐसी रात आएगी' का पोस्टर हुआ आउट, 21 जून को गाना होगा रिलीज़******Highlightsबॉलिवुड सुपरस्टार आमिर खान (Aamir Khan) की अपकमिंग फिल्म 'लाल सिंह चड्ढा' (Laal Singh Chaddha) का ट्रेलर रिलीज किया जा चुका है।फिल्म के ट्रेलर को लोगों की मिली-जुली प्रतिक्रिया मिली है। आमिर खान ने अपनी स्ट्रैटिजी पर काफी काम किया है। तभी तो एक्टर ने फिल्म का ट्रेलर आईपीएल के फाइनल मैच के दौरान रिलीज किया था। अबफिल्म मेकर्स एक के बाद एक गाने रिलीज़ किए जा रहे हैं।फिल्म की रिलीज़ से पहले मेकर्स ऑडियंस के बीच बज़ बनाए रखना चाहते हैं। इसी बीच अब आमिर खान प्रोडक्शन्स ने ट्वीट के जरिए फिल्म के तीसरे गाने का पोस्टर शेयर कर दिया है। इस गाने का नाम है 'फिर ना ऐसी रात आएगी'। इस गाने के पोस्टर में आमिर और करीना कपूर खान एक साथ नजर आ रहे हैं।पोस्टर में लाल और रूपा के खूबसूरत रिश्ते को दिखाया गया है। आमिर घुटनों पर बैठकर करीना का हाथ थामें हुए दिखाई दे रहे हैं। साथ ही फैन्स को गाने की रिलीज डेट की जानकारी भी दी गई है और सवाल भी किया गया है कि अंदाजा लगाएं कि इसे किसने गाया है। यह गाना 21 जून को रिलीज़ किया जाएगा।लंबे वक्त के बाद आमिर खान की फिल्म 'लाल सिंह चड्ढा' रिलीज होने जा रही है। आमिर की यह फिल्म रक्षा बंधन के मौके पर यानी 11 अगस्त 2022 को बॉक्स ऑफिस पर दस्तक देगी। बता दें कि आमिर खान और करीना कपूर खान स्टारर फिल्म लाल सिंह चड्ढा हॉलीवुड फिल्म द फॉरेस्ट ग्रंप का रीमेक है। फिल्म के ट्रेलर को दर्शकों ने पसंद किया है और इसकी रिलीज का इंतजार भी बेसब्री से किया जा रहा है।

लखीमपुरहिंसापुलिसने2आरोपियोंकोकियागिरफ्तारकेंद्रीयमंत्रीकेबेटेआशीषसेहोगीपूछताछBudget 2022: पीएम मोदी ने शीर्ष कंपनियों के CEOs संग की बैठक, अर्थव्यवस्था को बेहतर करने के लिए मांगे सुझाव******Buget 2022: पीएम मोदी ने शीर्ष कंपनियों के CEOs संग की बैठक, अर्थव्यवस्था को बेहतर करने के लिए मांगे सुझावHighlights प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को विभिन्न क्षेत्रों की शीर्ष कंपनियों के मुख्य कार्यपालक अधिकारियों (सीईओ) से मुलाकात कर अगले साल के बजट के बारे में उनके सुझाव मांगे। प्रधानमंत्री ने बैंक, ढांचागत क्षेत्र, वाहन, दूरसंचार, उपभोक्ता उत्पाद, कपड़ा, नवीकरणीय ऊर्जा, होटल, स्वास्थ्य देखभाल, इलेक्ट्रॉनिक्स एवं अंतरिक्ष क्षेत्रों से जुड़ी प्रमुख कंपनियों के सीईओ से आर्थिक गतिविधियों के बारे में चर्चा की।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विभिन्न क्षेत्रों में इंडिया इंक के प्रमुख सीईओ के साथ बातचीत की और बजट 2022 के लिए इनपुट प्राप्त किया है। बैठक में देश में इंडस्ट्री के लिए एक बेहतर माहौल देने पर विचार-विमर्श किया गया। साथ ही कोरोना महामारी के बाद भारतीय अर्थव्यवस्था को कैसे फिर से जीवंत किया जाए इस पर भी चर्चा की गई।आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि कंपनियों के सीईओ के साथ की बैठक बजट-पूर्व तैयारियों का एक हिस्सा है। प्रधानमंत्री बजट के बारे में निजी क्षेत्र से सुझाव लेने के लिए लगातार कंपनियों के प्रतिनिधियों से बात की है। प्रधानमंत्री ने पिछले हफ्ते भी इक्विटी एवं उद्यम पूंजी निवेशकों के साथ एक बैठक की थी जिसमें भारत को निवेश के लिहाज से अधिक आकर्षक बनाने के बारे में चर्चा की गई थी।पीएम ने सीईओ से बैठक में कहा कि देश में सरकार ऐसा माहौल देगी कि कंपनियां बेहतर दे सकें और दुनिया की टॉप-5 कंपनियों में भारतीय कंपनियां भी अपनी पहुंच बनाएं। पीएम की यह बातचीत बजट के पहले कॉरपोरेट के अनुभवों और इच्छाओं को जानने की पहल है।टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज के सीईओ और एमडी राजेश गोपीनाथन ने बताया कि अनुसंधान, नवाचार पर उनका (PM) फोकस है। क्षमता में उनका विश्वास है कि भारत को और आगे बढ़ना है। उन्होंने एक बहुत स्पष्ट विजन रखा कि हर उद्योग में, हर क्षेत्र में शीर्ष 5 में हमें होना चाहिए, संभव हो तो नंबर 1 पर। उन्होंने कहा कि शीर्ष नेतृत्व से इस तरह की बातें देश को वर्तमान सफलता से आगे बढ़ने के लिए उत्साहित करेंगी।देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड (एमएसआईएल) के प्रबंध निदेशक और सीईओ केनिची आयुकावा (Kenichi Ayukawa) ने कहा कि पीएम मोदी के पास ग्रैंड विजन है, कोई भी इन्वेस्टर यहां इन्वेस्ट कर सकता है।बता दें कि, वित्त वर्ष 2022-23 के लिए आम बजट एक फरवरी 2022 को संसद में पेश किया जाएगा। वर्ष 2014 में सत्ता में आने के बाद से ही मोदी सरकार ने कई आर्थिक सुधार लागू किए हैं। फिलहाल इसका जोर विनिर्माण को बढ़ावा देने पर है। )लखीमपुरहिंसापुलिसने2आरोपियोंकोकियागिरफ्तारकेंद्रीयमंत्रीकेबेटेआशीषसेहोगीपूछताछउप-राष्ट्रपति पद के लिए मतदान कुछ देर में, वेंकैया नायडू ने कहा-मैं किसी पार्टी का आदमी नहीं हूं****** देश के पद के लिए आज मतदान होना है। पर्याप्त संख्या बल होने के कारण राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के उम्मीदवार वेंकैया नायडू का जीतना तय माना जा रहा है। UPA ने महात्मा गांधी के पौत्र, पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल और पूर्व राजनयिक गोपालकृष्ण गांधी को अपना उम्मीदवार बनाया है।वेंकैया नायडू ने मदतान के पूर्व कहा- मैं किसी व्यक्ति विशेष या किसी पार्टी के ख़िलाफ़ नहीं लड़ रहा हूं। मैं भारत के उप-राष्ट्रपति पद के लिए लड़ रहा हूं। मैं पार्टी का आदमा नहीं हूं। ज़्यादातर राजनीतिक दल मुझे समर्थन कर रहे हैं। मुझे भरोसा है कि वे मुझे ही वोट देंगे।''इस बीच NDA ने सही मतदान करने के लिए शुक्रवार को एक कार्यशाला का आयोजन किया। कार्यशाला के बाद डमी वोटिंग कराई गई जिसमें 16 सांसद फ़ेल हो गए यानी उन्होंने जो वोट दिया वो ग़लत था।इस पर प्रधानमंत्री मोदी की मौजूदगी में सांसदों को संबोधित करते हुए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा “ये शर्मनाक है”, ख़ासकर तब जबकि वे (सांसद) 15-16 लाख लोगों का प्रतिनिधित्व करते हैं और फिर भी ऐसी ग़लतियां करते हैं।”सांसदों ने अलग अलग तरह की ग़लतियां कीं। छह सांसदों ने तो एकदम ही गलत तरह से वोट दिया जबकि पांच सांसदों को दोबारा मतपत्र लेना पड़ा। बाक़ी पांच सांसदों ने तो इस तरह से वोट दिया कि अगर विपक्ष आपत्ति कर दे तो उनके वोट को गिना ही नहीं जाएगा। शाह ने उनसे कहा कि वे अपने पैन घर ही रखकर आएं।बहरहाल, संसद के दोनों सदनों के 787 सदस्यीय प्रभावी निर्वाचक मंडल के बीच नायडू बहुत बेहतर स्थिति में हैं। राजग को लोकसभा में स्पष्ट बहुमत हासिल है और दक्षिण भारत के कुछ राजनीतिक दलों का भी समर्थन हासिल है।लोकसभा में अभी 543 और राज्यसभा में 244 सदस्य हैं। लोकसभा में दो सीट रिक्त हैं जबकि राज्यसभा में एक।भाजपा पदाधिकारियों के मुताबिक, राजग के राज्यसभा के 81 सदस्यों और लोकसभा के 338 सदस्यों के अलावा दोनों सदनों में अन्नाद्रमुक के 50, वाईएसआर कांग्रेस के 10 और तेलंगाना राष्ट्र समिति के 14 सदस्य भी नायडू के पक्ष में मत देंगे। इस तरह 493 सदस्यों के साथ नायडू 394 के जरूरी आंकड़े को आसानी से पार कर लेंगे। भाजपा को तो 500 मतों के मिलने की उम्मीद है।गोपालकृष्ण गांधी को कांग्रेस, वामदल, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी, द्रमुक, तृणमूल कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी और नेशनल कांफ्रेंस का समर्थन हासिल है। अब राजग में शामिल हो चुके जनता दल (यू) ने भी गांधी को समर्थन देने का ऐलान किया हुआ है।उप राष्ट्रपति व राज्यसभा सभापति हामिद अंसारी का कार्यकाल 10 अगस्त को समाप्त हो रहा है। नायडू अगर जीतते है तो वह भैरों सिंह शेखावत के बाद राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) की पृष्ठभूमि वाले दूसरे उप राष्ट्रपति होंगे।

लखीमपुरहिंसापुलिसने2आरोपियोंकोकियागिरफ्तारकेंद्रीयमंत्रीकेबेटेआशीषसेहोगीपूछताछपिछले साल 40 फीसदी घटी मकानों की बिक्री, दिल्‍ली-एनसीआर में आई सबसे तेज गिरावट****** देश के सात प्रमुख शहरों में घरों की बिक्री 2013 और 2014 के स्तर से 2017 में4 0% गिर गई है। पिछले साल 2,02,800 आवास बेचे गए। इसका प्रमुख कारण दिल्ली-एनसीआर के में तेज गिरावट होना रही। जमीन-जायदाद संबंधी सलाह देने वाली कंपनी एनारॉक ने यह जानकारी दी है। कंपनी ने अपने ताजा शोध में सात शहरों- दिल्ली-एनसीआर, मुंबई महानगर क्षेत्र (एमएमआर), पुणे, कोलकाता, चेन्नई, हैदराबाद और बेंगलुरु में पिछले पांच साल के दौरान आवास बिक्री का विश्लेषण किया है। कंपनी के चेयरमैन अनुज पुरी ने कहा कि पिछले पांच सालों में आवासीय बाजार के रुख को देखने से स्पष्ट होता है कि 2013 और 2014 आखिरी साल रहे जब इस उद्योग में तेजी देखी गई। इसके बाद आवासों की बिक्री में गिरावट आई और अभी तक उभरने के कोई स्पष्ट संकेत नहीं है।एनारॉक ने कहा कि 2013 और 2014 के दौरान औसत 3.3 लाख आवासों की बिक्री की गई थी। वर्ष 2013-14 के मुकाबले 2017 में आवासीय इकाई की बिक्री में औसतन करीब 40% की गिरावट आई है। दिल्ली-एनसीआर में 2013-14 के दौरान औसत बिक्री 1,16,250 इकाई से गिरकर 2017 में 37,600 इकाई रही। बेंगलुरु और चेन्नई में भी औसत बिक्री में गिरावट दर्ज की गई।लखीमपुरहिंसापुलिसने2आरोपियोंकोकियागिरफ्तारकेंद्रीयमंत्रीकेबेटेआशीषसेहोगीपूछताछयमन अड्डे पर मिसाइल और ड्रोन हमला, पांच लोगों की मौत: अधिकारी******यमन के दक्षिण में रविवार को एक प्रमुख सैन्य अड्डे पर एक मिसाइल और विस्फोटक लदे ड्रोन से हमले में कम से कम पांच सैनिकों की मौत हो गई। सेना एवं स्वास्थ्य अधिकारियों ने यह जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि दक्षिणी प्रांत लाहज में अल-आनद अड्डे पर कम से कम तीन विस्फोट हुए।इस अड्डे पर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त सरकार का नियंत्रण है। इस हमले में दो दर्जन से ज्यादा सैनिक घायल हो गए। यमन 2014 से ही गृह युद्ध में उलझा है। अधिकारियों ने बताया कि अड्डे के प्रशिक्षण इलाके में एक बैलिस्टिक मिसाइल गिरा, जहां सुबह में दर्जनों सैनिक अभ्यास कर रहे थे।अधिकारियों ने इसके लिए हुती विद्रोहियों को जिम्मेदार ठहराया है। ये अधिकारी नाम न ज़ाहिर करने की शर्त पर बात कर रहे थे क्योंकि ये मीडिया से बात करने के लिए अधिकृत नहीं हैं। वहीं हुती के सैन्य प्रवक्ता ने न तो इस हमले की जिम्मेदारी ली और न ही इससे इनकार किया।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 05:16
उद्धरण 1 इमारत
Agniveer Recruitment rally: उत्तराखंड में 19 अगस्त से 12 सितंबर तक चलेगी ‘अग्निवीरों’ की भर्ती रैली******Highlightsउत्तराखंड में ‘अग्निवीरों’ की भर्ती रैली 19 अगस्त को शुरू होगी और 12 सितंबर तक चलेगी। इसके लिए ऑनलाइन पंजीकरण की प्रक्रिया सेना की वेबसाइट के माध्यम से शुरू हो गयी है। प्रदेश के मुख्य सचिव सुखबीर सिंह सन्धु तथा वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के साथ सैन्य अधिकारियों की यहां हुई एक बैठक में सेना के जोनल भर्ती अधिकारी मेजर जनरल एन.एस. राजपुरोहित ने बताया कि उत्तराखंड के गढ़वाल क्षेत्र के सभी जनपदों के लिए भर्ती रैली 19 अगस्त से लेकर 31 अगस्त तक कोटद्वार में होगी। उन्होंने बताया कि कुमाऊं क्षेत्र में अल्मोड़ा, बागेश्वर, नैनीताल और उधमसिंह नगर के लिए भर्ती रैली 20 से 31 अगस्त तक रानीखेत में और चंपावत और पिथौरागढ़ के लिए पांच से 12 सितंबर तक पिथौरागढ़ में होगी।उम्मीदवारों के लिए होगी पूरी व्यव्स्थासन्धु ने मेजर जनरल को आश्वासन दिया कि राज्य सरकार भर्ती प्रक्रिया में सेना को हर संभव सहयोग देगी। उन्होंने कहा कि सरकार का पूरा प्रयास होगा कि राज्य के युवाओं को भर्ती प्रक्रिया में शामिल होने में किसी भी प्रकार की समस्या न हो। मुख्य सचिव ने भर्ती प्रक्रिया के सुव्यवस्थित संचालन के लिए जिलाधिकारियों एवं पुलिस अधीक्षकों को नोडल अधिकारी तैनात करने तथा रैली के दौरान युवाओं के रहने-खाने के साथ ही बिजली, पानी, सफाई, शौचालयों की उचित व्यवस्था करने को कहा। उन्होंने अधिकारियों को भर्ती स्थल पर एम्बुलेंस, चिकित्सा अधिकारी आदि की व्यवस्था करने तथा परिवहन विभाग को युवाओं को भर्ती स्थलों तक आने-जाने में सुविधा के लिए बसों की व्यवस्था करने को कहा।नौकरी के नाम पर ठगी रोकने के लिए पुलिस की मददमुख्य सचिव ने भर्ती प्रक्रिया में भर्ती के नाम पर होने वाली ठगी और लेनदेन जैसी घटनाओं को रोकने हेतु पुलिस को विशेष अभियान चलाने को कहा। उन्होंने भर्ती स्थल एवं आसपास के क्षेत्रों में लगातार कैमरों एवं खुफिया माध्यम से निगरानी करने को भी कहा। उत्तराखंड एक सैन्य बहुल प्रदेश है, जहां बडी संख्या में युवा सेना में अपना करियर तलाशते हैं।अग्निवीरों को मिलने वाली सुविधाएं4 साल की सेवाएं देने के बाद अग्निवीरों को सेवा निधि पैकेज दिया जाएगा, जोकि इनकम टैक्स से मुक्त होगा। ये सेवानिधि 10.04 लाख रुपए होगी। इसके अलावा सेवाओं के दौरान अग्निवीरों को हर साल 30 दिन की छुट्टी और मेडिकल लीव मिलेगी। इन समस्त सेवाओं के अलावा अग्निवीरों को यूनिफॉर्म अलाउंस, कैंटीन सुविधा, मेडिकल सुविधा, हार्डशिप अलाउंस मिलेगा।इसके अलावा अगर कोई अग्निवीर ड्यूटी के दौरान दिव्यांग होता है तो उसे 44 लाख रुपए की अनुग्रह राशि दी जाएगी। इसके अलावा उसको सेवानिधि और बकाया ड्यूटी की पूरी सैलरी दी जाएगी। इसके अलावा अग्निवीरों का कुल 48 लाख रुपए का बीमा होगा। अगर कोई अग्निवीर ड्यूटी के दौरान शहीद होता है तो उसके परिजनों को 44 लाख रुपए एक मुश्त और सेवा निधि पैकेज दिया जाएगा।
2022-10-01 04:55
उद्धरण 2 इमारत
Gold rate on 25/11/2019: कमजोर वैश्विक रुख के कारण सोने में आई 166 रुपए की गिरावट******Gold declines Rs 166 on weak global trendअंतरराष्‍ट्रीय बाजारों में बिकवाली के चलते सोमवार को राष्‍ट्रीय राजधानी में सोने की कीमत 166 रुपए की गिरावट के साथ 38,604 रुपए प्रति दस ग्राम रह गई। एचडीएफसी सिक्‍यूरिटीज के मुताबिक शनिवार को सोने का बंद भाव 38,770 रुपए प्रति दस ग्राम था। एचडीएफसी सिक्‍यूरिटीज के वरिष्‍ठ विश्‍लेषक (कमोडिटीज) तपन पटेल ने कहा कि अंतरराष्‍ट्रीय बाजारों में में गिरावट आने से दिल्‍ली में भी 24 कैरेट सोने की हाजिर कीमत 166 रुपए घट गई।उन्‍होंने बताया कि चांदी भी 402 रुपए की गिरावट के साथ सोमवार को 45,178 रुपए प्रति किलोग्राम रही, जिसका शनिवार को बंद भाव 45,580 रुपए प्रति किलोग्राम था।अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में सोना और चांदी दोनों गिरावट के साथ क्रमश: 1458 डॉलर प्रति औंस और 16.86 डॉलर प्रति औंस पर कारोबार कर रहे थे।पटेल ने कहा कि अमेरिका और चीन के बीच व्‍यापार तनाव कम होने की संभावना के चलते अंतरराष्‍ट्रीय हाजिर बाजार में सोने की कीमत 1460 डॉलर प्रति औंस से नीचे आने की वजह से घरेलू बाजार में भी इसका असर दिखाई दिया।अमेरिका और चीन के बीच इस साल के अंत तक किसी समझौता होने की रिपोर्ट आने के बाद व्‍यापार तनाव में कमी आने की ताजा संभावना के चलते वैश्विक शेयर बाजारों में तेजी का रुझान रहा।
2022-10-01 04:09
उद्धरण 3 इमारत
French League -1 : पोछेटिनो के मार्गदर्शन में पीएसजी ने हासिल की पहली जीत******पेरिस| फ्रांस के फुटबॉल क्लब पेरिस सेंट जर्मेन ने ब्रेस्ट को 3-0 से हरा कर फ्रेंच लीग में शानदार जीत दर्ज की है। यह क्लब की नए कोच माउरिसियो पोछेटिनो के मार्गदर्शन में पहली जीत है। वहीं लियोन ने रेनेस में 2-2 से ड्रॉ खेला।समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, पीएसजी ने पोछेटिनो के क्लब के साथ पहले मैच में ड्रॉ मैच खेला था, लेकिन शनिवार को खेले गए मैच में टीम ने सुधार करते हुए जीत हासिल की।मोइस कीन द्वारा 16वें मिनट में किए गए गोल ने पीएसजी को बढ़त दिला दी। इसके बाद आखिरी के 10 मिनट में माउरो इकार्डी और पाब्लो साराबिया ने गोल कर टीम की जीत सुनिश्चित कर दी।मैच के बाद पोछेटिनो ने कहा, "हमें साथ में काम करते हुए अभी कुछ ही समय हुआ है और हमने दो बेहद प्रतिस्पर्धी मैच खेले हैं।"उन्होंने कहा, "खिलाड़ियों ने जो प्रयास किए मैं उससे बेहद खुश हूं। यह एक बेहतर प्रदर्शन था और एक अहम जीत।"इस जीत के साथ ही पीएसजी ने लियोन के साथ अंकों के फासले को कम कर लिया है। दोनों टीमों में अब सिर्फ एक अंक का अंतर है।लियोन, रेनेस के खिलाफ हार की तरफ बढ़ रही थी। क्लेमेंट ग्रीनिएर और बेंजामिन बाउरिगेयुड ने रेनेस को 2-0 से आगे कर दिया था। लियोन ने मैच के आखिरी मिनटों में वापसी करते हुए मैच ड्रॉ करा दिया। 79वें मिनट में मेमफिस डेपे ने लियोन के लिए पहला गोल किया और इसके तीन मिनट बाद जेसन डेनायेर ने लियोन को बराबरी पर ला दिया।
वापसी