नई पोस्ट करें

Chanakya Niti: इन घरों में खुद चलकर आती हैं मां लक्ष्मी, आप भी ये 3 चीजें करें फॉलो होगी बरकत

2022-10-01 05:10:20 270

इनघरोंमेंखुदचलकरआतीहैंमांलक्ष्मीआपभीये3चीजेंकरेंफॉलोहोगीबरकतPrithviraj: अक्षय कुमार, मानुषी छिल्लर की फिल्म की रिलीज तारीख बदली, जानिए कब होगी रिलीज******Highlights ने बुधवार को अपनी आने वाली फिल्म का नया पोस्टर और नई रिलीज डेट शेयर की। ऐतिहासिक ड्रामा फिल्म जो पहले 10 जून को रिलीज़ होने वाली थी, अब 3 जून को सिनेमाघरों में रिलीज होगी। डॉ चंद्रप्रकाश द्विवेदी द्वारा निर्देशित, फिल्म में मानुषी छिल्लर, सोनू सूद और संजय दत्त भी महत्वपूर्ण भूमिकाओं में हैं।अक्षय कुमार की आने वाली फिल्म 'पृथ्वीराज' शीर्षक परिवर्तन की मांग वाली एक जनहित याचिका के बाद विवादों में आ गई। न्यायमूर्ति डीएन पटेल और न्यायमूर्ति नीना बंसल कृष्णा की खंडपीठ ने दलीलें सुनने के बाद याचिकाकर्ता को न केवल निर्माताओं बल्कि प्रशंसकों को राहत देते हुए याचिका वापस लेने को कहा। खैर, अभिनेता द्वारा अपने सोशल मीडिया पर एक और अच्छी खबर साझा की गई जहां उन्होंने नई रिलीज की तारीख की घोषणा की। ऐतिहासिक ड्रामा जो पहले 10 जून को रिलीज होने वाली थी, अब इस साल 3 जून को आपके नजदीकी सिनेमाघरों में रिलीज होगी।अक्षय ने अपनी ताजा खबर में इस खबर को साझा करते हुए लिखा, "यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि सम्राट पृथ्वीराज चौहान की भव्य गाथा 3 जून को हिंदी, तमिल और तेलुगू में बड़े पर्दे पर जल्द ही आ रही है।"हाल ही में, अक्षय कुमार ने इंस्टाग्राम पर फिल्म के कुछ नए पोस्टर जारी किए। सम्राट पृथ्वीराज चौहान के अपने चरित्र के लिए, अक्षय ने लिखा, "पराक्रम में अर्जुन, प्रतीक्षा में भीष्म, ऐसे महान सम्राट पृथ्वीराज चौहान की भूमिका करना का सौभाग्य जीवन में कभी कभी मिलता है। एक जीवन भर की भूमिका। सम्राट पृथ्वीराज चौहान पर सिनेमाघरों में पहुंचे। 10 जून को हिंदी, तमिल और तेलुगू में।"मिस वर्ल्ड 2017 का खिताब जीतने वाली मानुषी इस फिल्म से बॉलीवुड में डेब्यू कर रही हैं। मानुषी की राजकुमारी संयोगिता चरित्र पोस्टर को साझा करते हुए, अक्षय ने लिखा, "राजकुमारी संयोगिता ने सच्चे प्यार और करुणा की एक कहानी बुनी है।"डॉ चंद्रप्रकाश द्विवेदी द्वारा निर्देशित, ऐतिहासिक नाटक सम्राट पृथ्वीराज चौहान के जीवन और वीरता पर आधारित है, जिन्होंने घोर के बेरहम आक्रमणकारी मुहम्मद के खिलाफ बहादुरी से लड़ाई लड़ी थी। सोनू सूद और संजय दत्त भी फिल्म का हिस्सा हैं।

इनघरोंमेंखुदचलकरआतीहैंमांलक्ष्मीआपभीये3चीजेंकरेंफॉलोहोगीबरकतYe Public Hai Sab Jaanti Hai: Domariyaganj की जनता ने बताया बीते पांच सालों कितना हुआ क्षेत्र का विकास?, देखें Video****** उत्तर प्रदेश इस समय पूरी तरह से चुनावी रंग में रंग चुका है. सियासी दल हार-जीत का आंकलन लगाने में जुट चुके हैं। इसी चुनावी माहौल के बीच 'इंडिया टीवी (India TV)' का खास कार्यक्रम 'ये पब्लिक है सब जानती है (Ye Public Hai Sab Jaanti Hai)' की टीम डुमरियागंज विधानसभा (Domariyaganj Assembly) क्षेत्र की जनता के बीच पहुंचा। जहां क्षेत्र की जनता ने आगामी विधानसभा चुनाव और इलाके की समस्याओं को लेकर अपने विचार हमारे साथ साझा किए। डुमरियागंज की जनता ने बताया कि मौजूदा विधायक ने क्षेत्र में सड़क निर्माण को लेकर बेहतर कार्य किया है। वहीं कुछ लोगों का मानना था कि बीते पांच सालों में क्षेत्र की सड़कों की स्थिति बेहद खराब रही । क्षेत्र की जनता इलाके में 4 करोड़ रुपये की लागत से बने मैरिज हॉल से काफी खुश दिखाई दी । क्षेत्र में बिजली (Electricity) की स्थिति को लेकर भी जनता ने संतोष व्यक्त किया । उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर (Siddharth Nagar) जिले के अंतर्गत आती है डुमरियागंज विधानसभा सीट (Domariyaganj Assembly Seat) । डुमरियागंज विधानसभा क्षेत्र में सामान्य वर्ग के साथ ही मुस्लिम मतदाताओं की संख्या भी अच्छी तादाद हैं । 2017 में राघवेंद्र प्रताप सिंह (Raghvendra Pratap Singh) ने भाजपा (BJP) की टिकट पर यहां से चुनाव लड़ा और विजयी हुए थे । डुमरियागंज विधानसभा सीट पर इस बार किस पार्टी का उम्मीदवार जीतेगा यह तो 10 मार्च को ही पता चल पाएगा । लेकिन चुनाव से पहले सियासी दल इस सीट पर जीत के लिए सभी समीकरण अपने पक्ष में करने में जुट गए हैं ।इनघरोंमेंखुदचलकरआतीहैंमांलक्ष्मीआपभीये3चीजेंकरेंफॉलोहोगीबरकतईपीएफओ से अगस्त में 14.81 लाख नए सदस्य जुड़े, जुलाई के मुकाबले 13 प्रतिशत की बढ़त******ईपीएफओ से अगस्त में 14.81 लाख नए सदस्य जुड़ेनई दिल्ली। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के साथ अगस्त महीने में शुद्ध रूप से 14.81 लाख नये सदस्य जुड़े हैं। यह आंकड़ा चालू वित्त वर्ष के पहले पांच महीनों के लिए रोजगार की बेहतर होती स्थिति को दर्शाता है। श्रम मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि ईपीएफओ के बुधवार को जारी अस्थायी पेरोल आंकड़ों के अनुसार, अगस्त, 2021 में शुद्ध रूप से 14.81 लाख नए सदस्य जोड़े गए। जुलाई की तुलना में अगस्त महीने में नए सदस्यों की संख्या में 12.61 प्रतिशत की बढ़त दर्ज की गई।मंत्रालय ने बताया कि कुल 14.81 लाख नए सदस्यों में से लगभग 9.19 लाख सदस्य पहली बार ईपीएफओ के सामाजिक सुरक्षा दायरे में आए हैं। इस दौरान शुद्ध रूप से 5.62 लाख सदस्य ईपीएफओ से बाहर निकले और उसके बाद फिर इसमें शामिल हुए। इससे पता चलता है कि ज्यादातर सदस्यों ने ईपीएफओ के साथ अपनी सदस्यता को जारी रखने का फैसला किया है। आयु के हिसाब से देखा जाए, तो अगस्त में 22 से 25 साल की आयुवर्ग में सबसे अधिक 4.03 लाख नामांकन हुए। वहीं 18 से 21 की आयुवर्ग में 3.25 लाख नामांकन हुए। इन आंकड़ों से पता चलता है कि पहली बार नौकरी पाने वाले बड़ी संख्या में संगठित क्षेत्र के कार्यबल में शामिल हो रहे हैं। अगस्त माह में ईपीएफओ से जुड़ने वाले नए सदस्यों का योगदान लगभग 49.18 प्रतिशत का है।राज्यवार तुलना के अनुसार महाराष्ट्र, हरियाणा, गुजरात, तमिलनाडु और कर्नाटक के प्रतिष्ठान इसमें आगे रहे। इन राज्यों में सभी आयुवर्ग में ईपीएफओ सदस्यों की संख्या में 8.95 लाख का इजाफा हुआ, जो कुल वद्धि के आंकड़े का 60.45 प्रतिशत है। ईपीएफओ ने कहा कि ये आंकड़े अस्थायी हैं और कर्मचारियों के रिकॉर्ड को अपडेट करना एक सतत प्रक्रिया है। ईपीएफओ अपने सदस्यों को उनकी सेवानिवृत्ति पर भविष्य निधि और पेंशन लाभ प्रदान करता है।

Chanakya Niti: इन घरों में खुद चलकर आती हैं मां लक्ष्मी, आप भी ये 3 चीजें करें फॉलो होगी बरकत

इनघरोंमेंखुदचलकरआतीहैंमांलक्ष्मीआपभीये3चीजेंकरेंफॉलोहोगीबरकतRamdas Athawale: ‘राहुल गांधी की यात्रा में दम नहीं और इस यात्रा से हमें कोई गम नहीं‘, इंदौर में रामदास आठवले ने कसा तंज******कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुवाई में निकाली जा रही ‘भारत जोड़ो यात्रा‘ पर केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले ने निशाना साधा है। उन्होंने बृहस्पतिवार को इसे ‘भारत तोड़ो यात्रा‘ बताया। उन्होंने यह दावा भी किया कि इस ‘बेदम‘ यात्रा से गांधी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने सियासी कामयाबी नहीं मिल सकती। उन्होंने राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा पर तंज किया। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी की यात्रा में दम नहीं और इस यात्रा से हमें कोई गम नहीं‘।गांधी की ‘यह भारत जोड़ो नहीं, भारत तोड़ो यात्रा है‘ः आठवलेआठवले ने अपने चिर-परिचित अंदाज में तुक मिलाते हुए इंदौर में संवाददाताओं से कहा, ‘गांधी की यात्रा भारत जोड़ो यात्रा नहीं, बल्कि भारत तोड़ो यात्रा है। इस यात्रा में कोई दम नहीं और इस यात्रा को लेकर हमें कोई गम नहीं। केंद्र में सामाजिक न्याय और अधिकारिता राज्य मंत्री आठवले ने कहा कि कई धर्मों, जातियों और भाषाओं वाले भारत को डॉ. भीमराव आम्बेडकर के बनाए संविधान ने काफी पहले जोड़ दिया था और अब प्रधानमंत्री मोदी ‘सबका साथ सबका विकास और सबका विश्वास‘ की भावना से देश जोड़ने के काम को आगे बढ़ा रहे हैं।उन्होंने यह भी कहा कि जब तक मोदी प्रधानमंत्री के रूप में देश की बागडोर संभाल रहे हैं, तब तक गांधी को राजनीतिक सफलता मिलने वाली नहीं है। भले ही वह कितनी भी यात्राएं निकालते रहें। गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री दिगंबर कामत समेत कांग्रेस के आठ विधायकों के सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी ‘भाजपा‘ में शामिल होने पर केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि कांग्रेस में राहुल गांधी के नेतृत्व को पसंद नहीं किया जा रहा है। इस दल में अब कुछ भी नहीं बचा है। गुलाम नबी आजाद कांग्रेस छोड़ चुके हैं और कई अन्य वरिष्ठ नेता पार्टी नेतृत्व से नाराज हैं।‘रेप के मामले मानवता के लिए कलंकः आठवलेभोपाल में नर्सरी की तीन वर्षीय छात्रा के साथ रेप और देश में महिलाओं के खिलाफ बढ़ते यौन अपराधों पर आठवले ने कहा कि ऐसे मामले ‘मानवता पर बहुत बड़ा कलंक‘ हैं। उन्होंने कहा कि इन मामलों के मुजरिमों को अदालत से फांसी की सजा मिलनी चाहिए और ऐसे लोगों को सबक सिखाने के लिए समाज को उनका बहिष्कार भी करना चाहिए।आठवले, कानूनों और सरकारी नीतियों के जरिये दिव्यांगों के प्रति संवेदना बढ़ाने के लिए सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय की आयोजित दो दिवसीय कार्यशाला के उद्घाटन समारोह में भाग लेने इंदौर आए थे। समारोह में इस विभाग के केंद्रीय मंत्री डॉ. वीरेंद्र कुमार और राज्य मंत्री प्रतिमा भौमिक ने भी शिरकत की।इनघरोंमेंखुदचलकरआतीहैंमांलक्ष्मीआपभीये3चीजेंकरेंफॉलोहोगीबरकतदिल्ली में बिजली कंपनियों को ई-रिक्शा चार्जिंग से 150 करोड़ रुपये का चूना******ई-रिक्शा की बैटरी चार्ज करने के लिये बिजली की संगठित चोरी से में बिजली वितरण कंपनियों को सालाना करीब 150 करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा है। सूत्रों ने इसकी जानकारी दी है। दिल्ली में तीन कंपनियां बीएसईएस की दो बीवाईपीएल और बीआरपीएल एवं टाटा पावर डेल्ही डिस्ट्रीब्यूशन बिजली की आपूर्ति करती हैं। एक आकलन के अनुसार, शहर की सड़कों पर एक लाख से अधिक ई-रिक्शा दौड़ लगारहे हैं।सरकार से छूट मिलने के बाद भी इनमें से महज एक चौथाई की पंजीकृत हैं। बिजली विशेषज्ञों का दावा है कि समुचित चार्जिंग सुविधा की कमी से शहर के महत्वपूर्ण हिस्सों खासकर मेट्रो स्टेशनों के पासबिजली चोरी का संगठित गिरोह सक्रिय है। उन्होंने कहा, ‘‘चूंकि अधिकांश ई-रिक्शा पंजीकृत नहीं हैं, अवैध कनेक्शन के जरिये इन्हें चार्ज करने से करीब 150 करोड़ रुपये का सालाना नुकसान हो रहा है।’’टाटा पावर डेल्ही डिस्ट्रीब्यूशन के मुख्यकार्यपालक अधिकारी संजय बंगा ने कहा, ‘‘हम बिजली चोरी करने के चलन को दूर करने के लिये प्रतिबद्ध हैं और अवैध चार्जिंग पर कड़ी नजर रख रहे हैं। मैं सभी ई-रिक्शा मालिकों से वैध कनेक्शन लेने तथासुरक्षित एवं कानूनी तरीके से वाहन चार्ज करने की अपील करता हूं।‘‘ सूत्रों ने कहा कि औसतन एक ई-रिक्शा प्रतिदिन सात से दस यूनिट बिजली की खपत करता है। इस तरह प्रतिवर्ष एक ई-रिक्शा करीब2,500-3,600 यूनिट बिजली का उपभोग करता है। सामान्यत: रातों के दौरान बिजली चोरी चरम पर रहती है।सूत्रों ने कहा कि संगम विहार, कालकाजी, तुगलकाबाद, सराय काले खां, दक्षिणपुरी, रघुबीर नगर, टैगोर गार्डन, मादीपुर, सीलमपुर, यमुना विहार, शास्त्री पार्क, करावल नगर, मुस्तफाबाद, नंद नगरी, करोल बाग,कीकरवाला, केशवपुरम, सिविल लाइंस उन क्षेत्रों में शामिल हैं जहां ई-रिक्शा चार्ज करने के लिये सर्वाधिक बिजली चोरी होती है। उन्होंने कहा कि दबंग किस्म के स्थानीय लोग सामान्यत: चार्जिंग एवं पार्किंग रैकेटचलाते हैं। वे ई-रिक्शा मालिकों से प्रतिदिन 100 से 150 रुपये वसूल करते हैं। हालांकि वैध तरीके से ई-रिक्शा चार्ज करने का शुल्क 5.50 रुपये प्रति यूनिट है। सूत्रों ने कहा कि यदि ई-रिक्शा मालिक वैध तरीके सेचार्ज करें तो उनका 100-150 रुपये का रोजाना खर्च कम होकर 50 रुपये पर आ सकता है।इनघरोंमेंखुदचलकरआतीहैंमांलक्ष्मीआपभीये3चीजेंकरेंफॉलोहोगीबरकतAsia Cup 2022 Final: श्रीलंका बना एशिया का किंग, फाइनल में पाकिस्तान को जमकर धोया******Highlights श्रीलंका है एशिया का किंग। जिस अंदाज में श्रीलंकाई शेरों ने एशिया कप 2022 के फाइनल में पाकिस्तानियों को शिकस्त दी वह उन्हें किंग से कम कुछ भी नहीं बनाती। इस शानदार जीत के साथ श्रीलंकाई टीम एशिया कप के इतिहास में छठी बार चैंपियन बन गई। दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में पाकिस्तान के सामने एक बड़ लक्ष्य का पीछा करने की मुश्किल चुनौती थी जिसमें वे पूरी तरह से नाकाम रहे।एशिया कप 2022 के फाइनल में पाकिस्तान के लिए टॉस जीतने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं हुआ। कुल 40 ओवर के बाद, अंत में उन्होंने हारे हुए खिलाड़ियों के रूप में मैदान छोड़ा। पाकिस्तान के सामने जीत दर्ज करने के लए 171 रन का मुश्किल लक्ष्य था लेकिन उसकी पूरी टीम 20 ओवर में 147 रन बनाकर आउट हो गई। पाकिस्तान को पहला झटका कप्तान बाबर आजम के रूप में लगा। लगातार खराब फॉर्म में चल रहे बाबर को प्रमोद मदुशन ने 5 रन के निजी स्कोर पर चलता किया। मदुशन ने अगली ही गेंद पर फखर जमां को अपना शिकार बनाया। बैक टू बैक दो झटकों के बाद मोहम्मद रिजवान ने इफ्तिखार अहमद के साथ पारी के संभालने की भरपूर कोशिश की। इन दोनों ने मिलकर तीसरे विकेट के लिए 59 गेंदों पर 71 रन की साझेदारी की। इफ्तिखार के 32 रन पर आउट होने के बाद पूरी पाकिस्तानी टीम ताश के पत्तों की तरह ढह गई।एशिया कप के टॉप स्कोरर रिजवान ने भी 17वें ओवर में 55 के निजी स्कोर पर पांचवें विकेट के रूप में टीम का साथ छोड़ दिया। इस ओवर में स्पिनर हसरंगा ने तीन विकेट चटकाए और मैच को हर तरह से श्रीलंका की झोली में डाल दिया।श्रीलंका के लिए सबसे ज्यादा चार विकेट मदुशन ने लिए जबकि हसरंगा को 3 विकेट मिले और करुणारत्ने ने 2 विकेट अपने नाम किए।श्रीलंका ने पहली पारी में 170 रन बनाए जिसमें 71 रन अकेले भानुका राजपक्षे के शामिल थे। राजपक्षे ने 45 गेंदों की अपनी नाबाद पारी में 6 चौके और 3 छक्के लगाए। वहीं लोअर ऑर्डर में हसरंगा ने 21 गेंदों पर 36 रन की महत्वपूर्ण पारी खेली।श्रीलंका ने इस खिताबी जंग में 23 रनों से पाकिस्तान को हराया। लंका को ये जीत आठ सालों के बाद मिली। खास बात ये कि 2014 में भी श्रीलंका ने एशिया कप की ट्रॉफी फाइनल में पाकिस्तान को हराकर ही उठाया था।

Chanakya Niti: इन घरों में खुद चलकर आती हैं मां लक्ष्मी, आप भी ये 3 चीजें करें फॉलो होगी बरकत

इनघरोंमेंखुदचलकरआतीहैंमांलक्ष्मीआपभीये3चीजेंकरेंफॉलोहोगीबरकतWorld Cup 2019: 'भगवा' रंग में छाई टीम इंडिया, धोनी और कोहली समेत सभी खिलाड़ियों का ऑरेंज जर्सी के साथ वायरल हुआ फर्स्ट लुक******इंग्लैंड एंड वेल्स में खेले जा रहे क्रिकेट विश्व कप 2019 में आईसीसी ने फुटबॉल की तर्ज पर होम एंड अवे जर्सी का चलन शुरू किया। जिसके चलते टीम इंडिया आगामी मैच में मेजबान यानी होम टीम इंग्लैंड के सामने अपनी अवे भगवा रंग की जर्सी पहनकर मैदान में उतरेगी। जिसको अधिकारिक तौर पर अब बीसीसीआई ने ट्वीटर पर ट्वीट के जरिये जर्सी को लांच कर दिया है।ऐसे में टीम इंडिया के सभी खिलाडियों ने भगवा रंग की जर्सी पहन कर फैंस के लिए सोशल मीडिया पर अपना फर्स्ट लुक जारी किया। जिसमें हमेशा से 'मेन इन ब्लू' के नाम से जाने वाले टीम इंडिया के खिलाड़ी पहली बार 'मेन इन ऑरेंज' में नजर आए।भारतीय कप्तान विराट कोहली, पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और उनके अन्य साथी इंडियन क्रिकेट टीम की नई जर्सी में शानदार फोटोशूट कराया। जिसकी तस्वीर इंटरनेट पर तेजी से वायरल हो रही है।इस तस्वीर में जर्सी का अगला भाग छाती की तरफ से गाढ़ा नीला नजर आ रहा है वहीं कंधे और जर्सी का पिछला भाग भगवारंग का ही है। सोशल मीडिया पर लोग इस जर्सी को काफी पसंद कर रहे हैं। एक फैन ने तो बीसीसीआई की इस पोस्ट पर कमेंट करते हुए लिखा 'जश्न की करो तैयारी आ रहे हैं भगवाधारी'बता दें कि विश्व कप में अजेय भारत इंग्लैंड के खिलाफ भारत अपना 7वां मैच खेलेगा। यदि वह यह मैच जीत जाता है तो सेमीफाइनल में जगह पक्की हो जाएगी। वहीं वर्ल्ड कप की दावेदार टीम मानी जा रही इंग्लैंड अभी तक सिर्फ 8 प्वाइंट के साथ चौथे स्थान पर है। सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए इंग्लैंड को अभी दो मैच जीतने होंगे। जिसमें उसके लिए करो या मरो की स्थिति वाला मैच साबित हो सकता है। हालाँकि दो में से अगर इंग्लैंड एक भी मैच जीतता है तब भी उसके सेमीफाइनल में जाने का मौका जीवित रहेगा।इनघरोंमेंखुदचलकरआतीहैंमांलक्ष्मीआपभीये3चीजेंकरेंफॉलोहोगीबरकतअमिताभ बच्चन ने 'कौन बनेगा करोड़पति' के सेट से शेयर की तस्वीर, लिखा- काम जारी रहना चाहिए******अमिताभ बच्चन ने कौन बनेगा करोड़पति की शूटिंग सभी सावधानियों के साथ शुरू कर दी है। सभी सावधानियों के साथ शूटिंग करने पर भी बिग बी के फैन्स को उनके स्वास्थ्य की चिंता हो रही है। कौन बनेगा करोड़पति के सेट से तस्वीर शेयर करते हुए एहतियात बरतने के लिए कहा है।बिग बी ने तस्वीर शेयर करते हुए लिखा- सुरक्षित रहें .. एहतियात बरतें .. काम जारी रहना चाहिए। तस्वीर में अमिताभ बच्चन कुर्सी पर बैठे हुए हैं और मेकअपमैन उनका मेकअप कर रहे हैं। सभी लोगों ने पीपीई किट पहनी हुई है।फैन्स की चिंता के बारे में बात करते हुए अमिताभ बच्चन ने लिखा- स्वास्थ्य पर ध्यान देने और देखभाल करने के लिए बहुत सी चिंताएं। प्यार और चिंता के साथ ली जाती हैं ।यह समझा जाता है कि आप सभी के अच्छे होने की कामना कैसे करते हैं । सेट पर सावधानियां सभी को देखने के लिए हैं और काम जारी है यह नहीं रुक सकता यह साथ में गड़गड़ाहट करता है .. देखें .. देखभाल और सावधानी देखें।अमिताभ बच्चन ने बीते महीने कौन बनेगा करोड़पति 12 की शूटिंग शुरू करने की जानकारी दी थी। बिग बी कोरोना वायरस से जंग जीत चके हैं। वह बीते महीने पहली बार शो के सेट पर आए थे।वर्कफ्रंट की बात करें तो अमिताभ बच्चन आखिरी बार गुलाबो सिताबो में नजर आए थे। वह जल्द ही रणबीर कपूर और आलिया भट्ट के साथ ब्रह्मास्त्र में नजर आएंगे। इसके अलावा वह झुड़ में नजर आने वाले हैं।

Chanakya Niti: इन घरों में खुद चलकर आती हैं मां लक्ष्मी, आप भी ये 3 चीजें करें फॉलो होगी बरकत

इनघरोंमेंखुदचलकरआतीहैंमांलक्ष्मीआपभीये3चीजेंकरेंफॉलोहोगीबरकतUP CM Yogi Oath Ceremony: योगी के शपथ ग्रहण समारोह की डेट फाइनल! जानिए अबतक का पूरा अपडेट******Highlightsभारतीय जनता पार्टी (भाजपा) योगी आदित्यनाथ के लिए एक भव्य शपथ ग्रहण समारोह की योजना बना रही है, जो अगले सप्ताह लगातार दूसरी बार मुख्यमंत्री का पद संभालेंगे। आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि शपथ ग्रहण समारोह लखनऊ के अटल बिहारी वाजपेयी इकाना क्रिकेट स्टेडियम में होने की संभावना है, जिसमें हजारों की संख्या में आमंत्रित लोगों की सूची होगी।उत्तर प्रदेश के मनोनीत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 25 मार्च को शाम 4 बजे राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ले सकते हैं।आधिकारिक सूत्रों से ये जानकारी सामने आयी है।पार्टी कार्यक्रम के लिए आमंत्रित लोगों की एक सूची तैयार कर रही है और मेहमानों में विभिन्न सरकारी योजनाओं के लाभार्थी शामिल होंगे जिन्हें 'लाभार्थी' कहा जाता है। इन्होंने भाजपा को सत्ता में वापस लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। स्टेडियम में करीब 200 वीवीआईपी के लिए भी व्यवस्था की जा रही है। इससे पहले सूत्रों के हवाले से खबर आयी थी कि21 मार्च को दोपहर 3 बजे के बाद सीएम पद की शपथ ले सकते हैं और मंत्रियों की लिस्ट पर अभी मंथन जारी है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, अमित शाह और अन्य, भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों और विपक्ष सहित कुछ प्रमुख नेताओं को आमंत्रित किया जाएगा। तैयारियों का निरीक्षण कर रहे अधिकारियों ने बताया कि समारोह शैली और भव्यता में 'बेजोड़' होगा।खबर है कि योगी के शपथ समारोह में विपक्ष के नेताओं को भी निमंत्रण दिया जाएगा।मालूम हो कि योगी आदित्यनाथ मंत्रिमंडल के सहारे बीजेपी 2024 लोकसभा चुनाव को भी साधने की कवायद कर रही है। बीजेपी 2024 के लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए ऐसे नेताओं को मंत्रिमंडल में शामिल करना चाहती है जिनके जरिए तमाम मतदाताओं को साधा जा सके और लोकसभा चुनाव में ज्यादा से ज्यादा सीटें हासिल की जा सके।

इनघरोंमेंखुदचलकरआतीहैंमांलक्ष्मीआपभीये3चीजेंकरेंफॉलोहोगीबरकतहवाई सफर भी होगा महंगा, तेल कंपनियों ने इस साल 5वीं बार विमान ईंधन में की भारी बढ़ोत्तरी******Air TicketHighlights अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तेल की कीमतें सात साल के उच्चतम स्तर पर पहुंचने के साथ ही देश में विमान ईंधन की कीमतों में मंगलवार को 3.3 प्रतिशत की वृद्धि हुई और यह अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई। वैश्विक बाजार में तेल की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी के चलते इस साल विमान ईंधन या एविएशन टर्बाइन फ्यूल (एटीएफ) की कीमतों में यह पांचवीं बढ़ोतरी है।किसी एयरलाइन की परिचालन लागत में विमान ईंधन की लगभग 40 प्रतिशत हिस्सेदारी है। दूसरी ओर पेट्रोल और डीजल की कीमतें लगातार 116वें दिन स्थिर बनी रहीं। माना जा रहा है कि उत्तर प्रदेश और पंजाब जैसे राज्यों में विधानसभा चुनाव के बाद कीमतों में बढ़ोतरी हो सकती है।सार्वजनिक क्षेत्र की तेल विपणन कंपनियों की मूल्य अधिसूचना के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी में एटीएफ की कीमत 3,010.87 रुपये प्रति किलोलीटर या 3.22 प्रतिशत बढ़कर 93,530.66 रुपये प्रति किलोलीटर हो गई।आज से LPG सिलेंडर की कीमतों में भारी बढ़ोत्तरी कर दी गई है। देश की प्रमुख सरकारी गैस कंपनी इंडेन ने 1 मार्च से कीमतों में वृद्धि की घोषणा की है। हालांकि कीमतों में वृद्धि 19 किलो के कमर्शियल एलपीजी सिलेंडर में की गई है। दिल्ली में इसकी कीमत 105 रुपये बढ़ गई है। इस बढ़ोत्तरी का सीधा असर होटलों और रेस्टोरेंट से लेकर सड़क किनारे लगने वाली रेहड़ियों पर पड़ेगा। बता दें कि कल ही दूश की प्रमुख डेयरी अमूल ने दूध की कीमतों में 2 रुपये की बढ़ोत्तरी कर दी थी।इनघरोंमेंखुदचलकरआतीहैंमांलक्ष्मीआपभीये3चीजेंकरेंफॉलोहोगीबरकतGoogle ने किया RIL को 33,737 करोड़ रुपये का भुगतान, Jio Platforms में हासिल की 7.73% हिस्‍सेदारी******Google pays Rs 33,737 cr for 7.73pc stake in Jio Platformsअल्‍फाबेट इंक की इकाई गूगल ने रिलायंस इंडस्‍ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) की डिजिटल इकाई जियो प्‍लेटफॉर्म्‍स में 7.73 प्रतिशत हिस्‍सेदारी का अधिग्रहण करने के लिए 33,737 करोड़ रुपये का पूरा भुगतान कर दिया है। अरबपति मुकेश अंबानी की इस कंपनी में फेसबुक जैसे वैश्विक निवेशकों की लिस्‍ट में अब गूगल भी शामिल हो गई है। इस भुगतान के साथ यूएस टेक कंपनी गूगल द्वारा किसी भारतीय कंपनी में यह अबतक का सबसे बड़ा निवेश भी है। 13 वित्‍तीय और रणनीति निवेशकों को 11 हफ्ते में अपनी 33 प्रतिशत हिस्‍सेदारी बेचकर 1.52 लाख करोड़ रुपये की राशि जुटाई है। इससे आरआईएल को अपने तय समय से पहले पूरे कर्ज को चुकाने में मदद मिली है। आरआईएल ने मार्च, 2021 तक कर्ज मुक्‍त कंपनी बनने का लक्ष्‍य तय किया था और कंपनी अपने इस लक्ष्‍य से पहले ही पूरी तरह से कर्ज मुक्‍त कंपनी बन गई है।आरआईएल ने शेयर बाजारों को दी गई जानकारी में कहा कि सभी कानूनी मंजूरियां प्राप्‍त होने के बाद आरआईएल की सब्सिडियरी जियो प्‍लेटफॉर्म ने गूगल इंटरनेशनल एलएलसी से 33,737 करोड़ रुपये की राशि हासिल कर ली है। जियो प्‍लेटफॉर्म ने गूगल इंटरनेशनल एलएलसी को इक्विटी शेयर आवंटित कर दिए हैं, जिससे जियो प्‍लेटफॉर्म लिमिटेड के 7.73 प्रतिशत इक्विटी शेयर गूगल इंटरनेशनल एलएलसी को प्राप्‍त हो गए हैं।गूगल और जियो प्‍लेटफॉर्म दोनों एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्‍टम और प्‍ले स्‍टोर के लिए ऑप्‍टीमाइजेान के साथ एक एंट्री-लेवल अफोर्डेबल स्‍मार्टफोन को विकसित करने के लिए भी समझौता ज्ञापन पर हस्‍ताक्षर करेंगे। जियो प्‍लेटफॉर्म के पास भारत की सबसे ई और सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी जियो का स्‍वामित्‍व है। इसके भारत में 40 करोड़ से अधिक यूजर्स हैं।

इनघरोंमेंखुदचलकरआतीहैंमांलक्ष्मीआपभीये3चीजेंकरेंफॉलोहोगीबरकतChina's Warning to Bangladesh on Quad: क्वाड से घबराए चीन ने भारत के इस पड़ोसी देश को दी नसीहत, जानें क्या कहा?******Highlights विस्तारवादी रवैया अपनाने वाला चीन 'क्वाड' से हमेशा बौखलाया हुआ रहता है। क्योंकि इस संगठन को व​ह चीन विरोधी मानता है। वह इस संगठन को इसलिए खतरा मानता है क्योंकि इसमें अमेरिका, आस्ट्रेलिया, जापान और भारत जैसी शक्तियां शामिल हैं। हाल ही में चीन के विदेश मंत्रालय ने भारत के पड़ोसी देश बांग्लादेश को इस समूह से दूर रहने की नसीहत दे डाली है।चीन ने बांग्लादेश को नसीहत देते हुए कहा कि वह गुटबाजी की राजनीति से दूर रहे। करीब सालभर पहले चीन ने सार्वजनिक तौर पर बांग्लादेश को क्वाड समूह में शामिल नहीं होने का सुझाव दिया था। क्वाड चार देशों का समूह है, जिसमें भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया शामिल हैं।चीनी विदेश मंत्रालय में एशियाई मामलों के विभाग के महानिदेशक लिउ जिनसोंग ने चीन में बांग्लादेश के राजदूत महबूब-उज-जमां से बुधवार को कहा, 'चीन मानता है कि बांग्लादेश समेत अन्य क्षेत्रीय देश अपने देशों और क्षेत्र के मूलभूत हितों का ध्यान रखेंगे तथा अपनी स्वतंत्रता बरकरार रखते हुए शीत युद्ध की मानसिकता और गुटबाजी की राजनीति को खारिज करेंगे।' बीजिंग में जारी विदेश मंत्रालय के एक बयान में कहा गया कि लिउ ने राजदूत के साथ बैठक में कहा कि क्षेत्रीय देशों को सच्चे बहुपक्षवाद की रक्षा करनी चाहिए और इस क्षेत्र में शांति और विकास के लिए कड़ी मेहनत से प्राप्त माहौल को संरक्षित करना चाहिए।दक्षिण चीन सागर पर ड्रेगन करता है दादागिरीबयान के मुताबिक, बैठक के दौरान लिउ ने अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन के हालिया भाषण पर भी हमला बोला, जिसमें ब्लिंकन ने चीन पर विस्तारवादी होने का आरोप लगाया था। अमेरिका इससे पहले भी चीन पर कई बार हमले बोल चुका है।दक्षिण चीन सागर में चीन की दादागिरी को सभी जानते हैं। अमेरिका कई बार चीन के दक्षिण चीन सागर पर दावे और इस सागर के आसपास रहने वाले द्वीपीय देशों को डराने धमकाने के मामले में आगाह कर चुका है। चीन को घेरने के लिए अमेरिका ने आस्ट्रेलिया, जापान और भारत जैसे देशों को जोड़कर क्वाड का गठन किया है। इस संगठन से चीन चिढ़ा रहता है। पिछले दिनों जापान में आयोजित क्वाड देशों के समूह की बैठक से भी चीन बौखला गया था।इनघरोंमेंखुदचलकरआतीहैंमांलक्ष्मीआपभीये3चीजेंकरेंफॉलोहोगीबरकतमहिंद्रा बंद कर सकती है अपने 4 मॉडल्स, बिक्री में कमी की वजह से फैसला संभव****** SUV गाड़ियां बनाने वाली देश की बड़ी कंपनी अपने 4 मॉडल्स को बंद कर सकती है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जिन मॉडल्स पर रोक लगाने पर विचार हो रहा है उनकी सेल कम है और कंपनी उनके अपग्रेड वर्जन नहीं उतारेगी। ये 4 मॉडल्स हैं महिंद्रा वेरिटो, महिंद्रा वाइब, महिंद्रा जायलो और महिंद्रा नूवो स्पोर्ट्स। इन चारों मॉडल्स को बाजार में बहुत ठंडा रिस्पॉन्स मिला है जिस वजह से कंपनी इन्हें बनाना बंद कर सकती है। हालांकि 4 मॉडल्स को बंद करने के अलावा महिंद्रा 4 नए मॉडल्स लॉन्च करने की भी तैयारी कर रही है। लॉन्च होने वाले चारों मॉडल्स एसयूवी होंगे, कंपनी Mahindra U321 MPV, Mahindra S201, Electric और Mahindra Rexton G4SUV को इस साल या अगले साल लॉन्च किया जा सकता है।कंपनी की सेल की बात करें तो इस साल जनवरी के दौरान महिंद्रा की पैसेंजर गाड़ियों की बिक्री में करीब 17 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है, जनवरी के दौरान कंपनी ने करीब 23686 पैसेंजर गाड़ियों की सेल की है। कुल बिक्री की बात करें तो उसमें 32 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। बिक्री में ज्यादा योगदान महिंद्रा को लोकप्रिय मॉडल्स का है। जिन मॉडल्स की बिक्री नहीं हो रही है उन्हें अब महिंद्रा बंद करने की योजना बना रही है।

इनघरोंमेंखुदचलकरआतीहैंमांलक्ष्मीआपभीये3चीजेंकरेंफॉलोहोगीबरकतDC vs CSK, IPL 2021 : धोनी ने बताया दिल्ली के खिलाफ सीएसके को क्यों मिली हार******इंडियन प्रीमियर लीग 2021 के 50वें मैच में चेन्नईस सुपरकिंग्स को दिल्ली कैपिटल्स के हाथों तीन विकेट से हार के सामना करना पड़ा। इस मुकाबले में मिली हार के बाद सीएसके के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अपनी निराशा जाहिर की और कहा की टीम इस हार से प्रभावित नहीं होगी।मैच के बाद धोनी ने कहा, ''हमने दो विकेट गंवाने के बाद अच्‍छा प्रदर्शन किया, लेकिन बाद में हम धीमे हो गए। यह ऐसा विकेट नहीं था जिस पर खुलकर बल्लेबाजी कर सकें, रूककर गेंद आ रही थी, गेंदबाजों के लिए मूवमेंट था, लेकिन अगर बल्लेबाज समझदारी से खेलें तो यहां रन बन सकते थे।''उन्होंने कहा, दिल्ली के बड़े बल्लेबाज क्रीज पर थे, ''इसीलिए वह शुरुआती रन तो बनने की उम्मीद थी, लेकिन हमने अंत तक मैच पर पकड़ बनाए रखी यह अच्छी बात रही। हम अब अगले मैच पर ध्यान देंगे।''वहीं सीएसके के मिली इस जीत पर दिल्ली के कप्तान ऋषभ पंत ने कहा, ''हमारे लिए मुश्किल मैच रहा, लेकिन जीतकर अच्‍छा लगा। पावरप्‍ले के बाद हमने अच्‍छी गेंदबाजी की, जहां तक बल्‍लेबाजी की बात है हमने शुरुआती विकेट गंवाए लेकिन हम हमेशा इस चेज के पीछे रहे।''टीम की बल्लेबाजी को लेकर पंत ने कहा, ''शिखर ने अच्‍छी बल्‍लेबाजी की, वह उम्‍मीद पर खरे उतरे। अश्विन को ऊपर भेजने का मतलब यही था कि बायें और दायें हाथ का संतुलन बना रहे।''इनघरोंमेंखुदचलकरआतीहैंमांलक्ष्मीआपभीये3चीजेंकरेंफॉलोहोगीबरकतJammu Kashmir Delimitation: जम्मू कश्मीर में नए परिसीमन के बाद पीडीपी और नेशनल कॉन्फ्रेंस की उल्टी गिनती शुरू?******Highlights परिसीमन आयोग ने केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के विधानसभा क्षेत्रों के परिसीमन पर अंतिम रिपोर्ट जारी कर दी है। गुरुवार को नई दिल्ली में जम्मू कश्मीर परिसीमन आयोग ने एक बैठक के बाद रिपोर्ट को जारी किया। रिपोर्ट के जारी होने के साथ ही केंद्र शासित प्रदेश में विधानसभा चुनाव कराए जाने का रास्ता साफ हो गया है। माना जा रहा है कि जम्मू-कश्मीर के विधानसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी और अन्य राष्ट्रीय दलों के बेहतर प्रदर्शन करने के आसार हैं और शायद यही कारण है कि अब तक प्रदेश पर अपना प्रभुत्व कायम रखने वाली पीडीपी और नेशनल कॉन्फ्रेंस जैसी पार्टियों के लिए मुश्किलें बढ़ने वाली हैं।जम्मू कश्मीर परिसीमन आयोग की रिपोर्ट में जम्मू संभाग में 6 सीटें व कश्मीर संभाग में 1 विधानसभा सीट को बढ़ाया गया है। इस गणित को समझें तो यही फैक्टर राष्ट्रीय दलों के लिए एक बड़ा बोनस साबित हो सकता है। चूंकि मुस्लिम बाहुल्य कश्मीर क्षेत्र में पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) और नेशनल कॉन्फ्रेंस का दबदबा है। लेकिन अब जम्मू संभाग जहां घाटी केक्षेत्रीय दल कमजोर हैं, में विधानसभा सीटों की सख्या बढ़ने के साथ ही बीजेपी और कांग्रेस जैसे राष्ट्रीय दलों का पलड़ा भारी होने की संभावना है। इतना ही नहीं नए परिसीमन में कश्मीरी पंडितों और पीओजेके विस्थापितों को प्रतिनिधित्व के मौके बढ़ने के साथ ही माना जा रहा है इसका भी सीधा फायदा बीजेपी जैसे राष्ट्रीय दलों को ही जाएगा।जम्मू कश्मीर में परिसीमन आयोग की रिपोर्ट में पहली बार 9 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित की गई हैं, जबकि अनुसूचित जाति के लिए पहले की तरह ही 7 विधानसभा सीटें हैं। ऐसा पहली बार हो रहा है जब सभी पांच संसदीय सीटों में बराबर विधानसभाएं बांटी गई हैं। परिसीमन की प्रक्रिया पूरी होने से यहां पर सात विधानसभा सीटों में बढ़ोतरी होगी। रिपोर्ट में जम्मू संभाग में 6 व कश्मीर संभाग में 1 विधानसभा सीट को बढ़ाया गया है।90 विधानसभा सीटों में 43 जम्मू को और 47 कश्मीर क्षेत्र में रखी गई हैं। वहीं विस्थापित कश्मीरियों और माइग्रेंट के लिए अतिरिक्त सीटों की सिफारिश की गई है। जिसका मतलब है कि घाटी की नई विधानसभा में कश्मीरी पंडितों और पीओजेके (पाकिस्तान के कब्जे वाला जम्मू कश्मीर) विस्थापितों को प्रतिनिधित्व मिल सकता है।परिसीमन आयोग ने जम्मू और कश्मीर को परिसीमन के लिए एक ही इकाई के रूप में माना है। इस रिपोर्ट में पटवार मंडल सबसे निचली प्रशासनिक इकाई है जिसे तोड़ा नहीं गया है। सभी विधानसभा क्षेत्र संबंधित जिले की सीमा के भीतर ही रहेंगे। लालचौक और माता वैष्णोदेवी के नाम से भी नई विधानसभा सीटें रखी गई हैं। परिसीमन आयोग की रिपोर्ट गजट में भी प्रकाशित की गई है।परिसीमन आयोग की फाइनल रिपोर्ट के बाद जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव अक्टूबर तक हो सकते हैं। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने फरवरी में कहा था कि परिसीमन की प्रक्रिया जल्द पूरी होने वाली है। अगले 6 से 8 महीने में विधानसभा के चुनाव होंगे। माना जा रहा है कि विधानसभा चुनाव अमरनाथ यात्रा के बाद कराए जा सकते हैं क्योंकि यात्रा की सुरक्षा व्यवस्था के लिए केंद्रीय बल प्रदेश में पहले से ही मौजूद रहेंगे।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 05:31
उद्धरण 1 इमारत
बाजार से सस्ता सोना खरीदने का सुनहरा मौका, कल से गोल्ड बॉन्ड स्कीम की 10वीं किस्त हो रही शुरू******Gold BondHighlights बाजार से सस्ता सोना खरीदने का एक और मौका आपको सोमवार यानी 28 फरवरी से मिलने जा रहा है। दरअसल, स्वर्ण बॉन्ड योजना 2021-22 की दसवीं किस्त 28 फरवरी से खुलने जा रही है। यह चार मार्च तक खुली रहेगी। इसमें आप 5,109 रुपये प्रति ग्राम की दर से सोना खरीद सकते हैं। इसमें सोने की शुद्धता की चिंता और रखने का जोखिम बिल्कुल नहीं होता। कीमत बढ़ने के साथ ही निवेश पर ब्याज का भुगतान किया जा सकता है। ऐसे में अपनी जरूरत के अनुसार सोने में निवेश कर सकते हैं।सरकार की यह योजना रिजर्व बैंक लॉन्च करता है। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने कहा कि स्वर्ण बॉन्ड योजना 2021-22 की दसवीं किस्त अभिदान के लिए 28 फरवरी से चार मार्च तक खुली रहेगी। केंद्रीय बैंक ने शुक्रवार को एक बयान में कहा, स्वर्ण बॉन्ड का आधार मूल्य 5,109 रुपये प्रति ग्राम होगा। सरकार ने आरबीआई के साथ परामर्श के बाद ऑनलाइन आवेदन करने वाले निवेशकों को 50 रुपये प्रति ग्राम की छूट देने का फैसला किया है। इनके लिए उन्हें डिजिटल माध्यम से भुगतान करना होगा। आरबीआई ने कहा, ऑनलाइन भुगतान करने वाले निवेशकों के लिए गोल्ड बॉन्ड का निर्गम मूल्य 5,059 रुपये प्रति ग्राम होगा।" स्वर्ण बॉन्ड योजना 2021-22 की नौवीं किस्त दस से 14 जनवरी तक अभिदान के लिए खुली थी और इस दौरान निर्गम मूल्य 4,786 प्रति ग्राम सोना था। भारतीय रिजर्व बैंक भारत सरकार की ओर से बॉन्ड जारी करेगा।केंद्रीय बैंक के अनुसार ये बॉन्ड स्टॉक होल्डिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (एसएचसीआईएल), नामित डाकघरों और एनएसई तथा बीएसई जैसे मान्यता प्राप्त शेयर बाजारों के जरिए बेचे जाएंगे। योजना के तहत आम निवेशक न्यूनतम एक ग्राम सोना और अधिकतम चार किलो ग्राम सोना के लिये निवेश कर सकते हैं। हिंदु अविभाजित परिवार चार किलो और न्यास तथा इसी प्रकार की इकाइयां प्रत्येक वित्त वर्ष में 20 किलो के लिए आवेदन कर सकती हैं।
2022-10-01 04:10
उद्धरण 2 इमारत
फीफा विश्व कप 2018: कब, कहां, कैसे देख सकते हैं फ्रांस बनाम क्रोएशिया फाइनल मैच****** में आज बनाम का मुकाबला खेला जाना है। दोनों के बीच आज कड़ी टक्कर देखने को मिलेगी और फैंस को रोमांचक मुकाबला देखने को मिल सकता है। क्रोएशिया जहां पहली बार विश्व कप के फाइनल में पहुंचा है। तो वहीं, फ्रांस की टीम 1998 में एक बार खिताब अपने नाम कर चुकी है। हालांकि अब टीम का इरादा 20 साल के बाद दोबारा खिताब पर कब्जा जमाने का होगा। दोनों देशों के बीच ये मुकाबला ल्यूज्ह्निकी स्टेडियम में खेला जाएगा। आइए आपको बताते हैं कि आप फाइनल मैच का लुत्फ कब, कहां और कैसे उठा सकते हैं।फीफा विश्व कप में फ्रांस बनाम क्रोएशिया का मैच 15 जुलाई रविवार (Sunday) को खेला जाएगा।फीफा विश्व कप में फ्रांस बनाम क्रोएशिया का मैच ल्यूज्ह्निकी स्टेडियम में खेला जाएगा।फीफा विश्व कप में फ्रांस बनाम क्रोएशिया मुकाबला भारतीय समयानुसार रात 08:30 बजे शुरू होगा।फीफा विश्व कप में फ्रांस बनाम क्रोएशिया का फाइनल मैच Sony Ten 2, Sony Ten HD, Sony Ten 3, Sony Ten 3 HD और Sony ESPN में देख सकते हैं।फीफा विश्व कप में फ्रांस बनाम क्रोएशिया फाइनल मुकाबले की लाइव स्ट्रीमिंग SonyLiv पर देख सकते हैं। इसके अलावा आप फ्रांस बनाम क्रोएशिया मैच की लाइव अपडेट्स Khabar Indiatv Sports पर देख सकते हैं।
2022-10-01 03:44
उद्धरण 3 इमारत
Siya Movie: 'आंखों देखी', 'मसान' और 'न्यूटन' के मेकर्स अब लेकर आ रहे हैं एक और शानदार फिल्म 'सिया'******Highlightscannes film festival में दो बार अवार्ड जीत चुकी फिल्म 'मसान' 8वें वार्षिक मोज़ेक इंटरनेशनल साउथ एशियन फिल्म फेस्टिवल (MISAFF) की ओपनिंग फिल्म 'आंखों देखी' और 'ऑस्कर' में इंडिया की आधिकारिक एंट्री फिल्म 'न्यूटन' के बाद अब फिल्म मेकर्स अपने दर्शकों के सामने 'सिया' नाम की फिल्म लेकर आ रहे हैं।यहभारत की एक और मानवीय कहानी को बताता है।आपको बता दें कि निर्माता मनीष मुंद्रा इस फिल्म के साथ निर्देशन की दुनिया में कदम रख रहे हैं।सिया एक छोटे शहर की लड़की की कहानी है, जो सभी परेशानियों का सामना करते हुए न्याय के लिए लड़ने का फैसला करती है और शातिर पुरुष प्रधान व्यवस्था के खिलाफ एक आंदोलन शुरू करती है।बैनर ने इस फिल्म में प्रतिभाशाली अभिनेत्री पूजा पांडेय को सिया और रंगबाज़ के विनीत कुमार सिंह मुख्या भूमिका के लिए चुना है।निर्देशक मनीष मुंद्रा कहते हैं, साल दर साल महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामले बढ़ते जा रहे हैं। सिया, महिलाओं के प्रती हो रहे अपराध को चित्रित करने का एक प्रयास है। जहाँ शक्तिहीन, निर्दोष महिलाओं कोएकसेक्स ऑब्जेक्ट के रूप में देखा जाता है।पूजा पांडेय कहती हैं, ''एक महिला के रूप में, यह कहानी मुझे महत्वपूर्ण लगी। यह एक ऐसी कहानी है जिसे बताना बहुत ज़रूरी है, यह अनगिनत पीड़ितमहिलाओं की भावनाओं को बतातीहै।"विनीत कुमार सिंह कहते हैं," एंटरटेनमेंट और इम्पैक्टफूल मेसेज के बीच हमेशा से एक फाइन लाइन होनी चाहिए। दृश्यम फिल्म सिया के ज़रिये इस लक्ष्य को पूरा करने में विश्वास रखते हैं। यहफिल्म पावर-पैक, हार्ड-हिटिंग है, जो निश्चितरूप से दर्शकों ध्यान अपनी ओर आकर्षित करेगी।''दृश्यम फिल्म द्वारा निर्मित, इस फिल्म को मनीष मुंद्रा ने डायरेक्ट किया है और 16 सितंबर 2022 को देशभर में रिलीज होगी।
वापसी