नई पोस्ट करें

Nayanthara-Vignesh Shivan की शादी में Covid को मात देकर पहुंचे Shah Rukh Khan

2022-10-01 06:49:52 700

कीशादीमेंCovidकोमातदेकरपहुंचेPakistan: BSF ने 2 पाकिस्तानी मछुआरों को गिरफ्तार किया, भारत की सीमा में कर रहे थे घुसपैठ की कोशिश******Highlightsपाकिस्तान की तरफ भारत की सीमा में घुसपैठ की घटनाओं में कोई कमी नहीं आ रही है। इस बार घुसपैठ की कोशिश गुजरात की जल सीमा से की गई। जहां कार्रवाई करते हुए सीमा सुरक्षा बल BSF ने दो संदिग्ध पाकिस्तानी मछुआरों को गिरफ्तार किया है।मामला गुजरात के कच्छ जिले का है। जहां बीएसएफ कच्छ जिले के पास भारत-पाक सीमा के करीब 'हरामी नाला क्रीक' क्षेत्र से दो पाकिस्तानी मछुआरों को गिरफ्तार किया है। बीएसएफ ने शुक्रवार देर रात एक बयान जारी कर बताया कि दोनों पाकिस्तानी मछुआरों को कुछ दूर पीछा करने के बाद पकड़ लिया गया। हालांकि, पाकिस्तान की ओर भागने की कोशिश के दौरान उन्हें टखने में गोली लग गई।बीएसएफ ने बताया कि, ‘‘23 जून 2022 को शुरू हुए एक तलाशी अभियान में बीएसएफ भुज ने शनिवार को पीछा करते हुए हरामी नाला क्षेत्र से दो पाकिस्तानी मछुआरों को पकड़ा। दोनों को पाकिस्तान की ओर भागने की कोशिश करते समय टखने में गोली लग गई।’’ बीएसएफ के गश्ती दल ने बृहस्पतिवार को गश्त के दौरान हरामी नाला इलाके में मछली पकड़ने वाली पाकिस्तानी नौकाओं की आवाजाही देखी। बयान में कहा गया है, ‘‘गश्ती दल तुरंत मौके पर पहुंचा और हरामी नाला क्षेत्र के विभिन्न स्थानों से मछली पकड़ने वाली नौ पाकिस्तानी नौकाओं को जब्त कर लिया।’’BSF की कार्रवाई को देखते हुए पाकिस्तानी मछुआरों ने भागने की कोशिश की, लेकिन वो असफल रहे। मछुआरे 300 वर्ग किलोमीटर से अधिक के क्षेत्र में फैले इलाके में छिपे हुए थे। बीएसएफ ने तलाशी अभियान जारी रखा और पूरे इलाके की घेराबंदी कर पड़ोसी देश की तरफ भागने के सभी संभावित रास्तों को बंद कर दिया। बयान के मुताबिक, गश्ती दल ने भाग रहे पाकिस्तानी मछुआरों को चेतावनी दी, लेकिन जब वे नहीं रुके तो बीएसएफ के जवानों को दोनों को पकड़ने के लिए गोलियां चलानी पड़ीं। अधिकारियों ने बताया कि पाकिस्तानी मछुआरों को टखने में गोली लगी, जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया। बीएसएफ के अनुसार, इन मछुआरों की पहचान पाकिस्तान के जीरो प्वाइंट गांव के रहने वाले सदाम हुसैन (20) और अली बख्श (25) के रूप में हुई है।

कीशादीमेंCovidकोमातदेकरपहुंचेEmissions scandal: फॉक्सवैगन को बड़ा झटका, मेक्सिको ने लगाया 89 लाख डॉलर का जुर्माना****** एमिशन स्कैंडल में फसी कार कंपनी फॉक्सवैगन को एक और बड़ा झटका लगा है। मेक्सिको ने फॉक्सवैगन (मेक्सिको) पर 89 लाख डॉलर (करीब 5785 लाख रुपए) का जुर्माना लगाया है। मेक्सिको ने यह जुर्माना 2016 में बिना एमिशन स्टैंडर्ड्स पालन किए 45,494 गाड़ी बेचने के लिए कंपनी पर लगाया है। फॉक्सवैगन एमिशन स्कैंडल में यह आखिरी जुर्माना नहीं है।अटॉर्नी जनरल के पर्यावरण संरक्षण के कार्यालय ने कहा कि मेक्सिको के अधिकारी अभी भी 2009 से 2015 के दौरान बेचे गए वाहनों की बिक्री की जांच कर रहे हैं। संभवत: इन वाहनों में वह सॉफ्टवेयर हो सकता है जो एमिशन टेस्ट परीक्षणों में धोखाधड़ी करने में मदद करता है।volkswagen ameoहाल में ही जर्मनी की वाहन कंपनी फॉक्सवैगन ने भारत में एमिशन स्कैंडल को लेकर माफी मांगी है। कंपनी ने दोहराया कि उसकी कारें देश के नियमों का पालन करती हैं और स्वैच्छिक रूप से कदम उठाते हुए खामियों को दूर करने के लिए तीन लाख वाहन वापस मंगाए गए हैं। फॉक्सवैगन पैंसेजर कार के निदेशक मंडल के सदस्य बिक्री एवं विपणन जुरगेन स्टैकमान ने कहा कि फॉक्सवैगन ने कुछ गलतियां की है। मुझे इसका काफी अफसोस है। हम अपने ब्रांड को लेकर विश्वास फिर से बहाल करना चाहते हैं। मुझे पता है कि हमारे कई भारतीय ग्राहक इस बात से चकित हैं कि क्या उनकी कार भी इससे प्रभावित है।कीशादीमेंCovidकोमातदेकरपहुंचेTata Group ने लिया बड़ा फैसला, ग्रुप की 6 कंपनियों को Tata Steel में किया जाएगा मर्ज******ने बड़ा फैसला लिया है। ग्रुप ने देश की प्रमुख इस्पात कंपनी टाटा स्टील की छह सहायक कंपनियों का उसके साथ विलय करने की योजना को मंजूरी दे दी गई है। एक बयान में शुक्रवार को यह जानकारी दी गई। बयान में बताया गया कि इस संबंध में एक प्रस्ताव को कंपनी के बोर्ड ने बृहस्पतिवार को मंजूरी दी। टाटा स्टील द्वारा जारी बयान में कहा गया, ‘‘टाटा स्टील के निदेशक मंडल ने छह सहायक कंपनियों के टाटा स्टील में प्रस्तावित विलय की योजनाओं पर विचार किया और उन्हें मंजूरी दे दी।’’ये सहायक कंपनियां हैं ‘टाटा स्टील लॉन्ग प्रोडक्ट्स लिमिटेड’, ‘द टिनप्लेट कंपनी ऑफ इंडिया लिमिटेड’, ‘टाटा मेटालिक्स लिमिटेड’, ‘द इंडियन स्टील एंड वायर प्रोडक्ट्स लिमिटेड’ ‘टाटा स्टील माइनिंग लिमिटेड’ और ‘एस एंड टी माइनिंग कंपनी लिमिटेड’ । ‘टाटा स्टील लॉन्ग प्रोडक्ट्स लिमिटेड’ में टाटा स्टील की 74.91 प्रतिशत हिस्सेदारी है। इसके अलावा उसकी ‘द टिनप्लेट कंपनी ऑफ इंडिया लिमिटेड’ में 74.96 प्रतिशत, ‘टाटा मेटालिक्स लिमिटेड’ में 60.03 प्रतिशत और ‘द इंडियन स्टील एंड वायर प्रोडक्ट्स लिमिटेड’ में 95.01 प्रतिशत हिस्सेदारी है, जबकि ‘टाटा स्टील माइनिंग लिमिटेड’ और ‘एस एंड टी माइनिंग कंपनी लिमिटेड’ दोनों उसके पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनियां है। बोर्ड ने टाटा स्टील की सहयोगी कंपनी ‘टीआरएफ लिमिटेड’ (34.11 प्रतिशत हिस्सेदारी) की भी टाटा स्टील लिमिटेड में विलय को मंजूरी दी।टाटा समूह ने एयर इंडिया के साथ एयरएशिया इंडिया और विस्तार को मिलाने के विकल्प का मूल्यांकन करने के लिए एक कवायद शुरू की है। सूत्रों ने कहा कि तीनों एयरलाइन के बीच बेहतर परिचालन तालमेल कायम करने के लिए यह फैसला किया गया है। पूरे घटनाक्रम से परिचित सूत्रों ने बताया कि कंपनी के परिचालन निदेशक आर एस संधू के नेतृत्व में एक दल का गठन किया गया है। टाटा समूह ने पिछले साल अक्टूबर में 18,000 करोड़ रुपये में एयर इंडिया का अधिग्रहण किया था। उन्होंने कहा कि यह दल एयर इंडिया एक्सप्रेस और एयरएशिया इंडिया के साथ ही एयर इंडिया और विस्तार के बीच संचालन तालमेल बढ़ाने के लिए मूल्यांकन करेगा। एक सूत्र ने कहा, ‘‘एयर इंडिया के सीईओ और प्रबंध निदेशक कैंपबेल विल्सन ने इस दल का गठन किया है। यह दल एयर इंडिया एक्सप्रेस और एयरएशिया इंडिया तथा एयर इंडिया और विस्तार के बीच बेहतर तालमेल कायम करने के उपायों और विलय के लक्ष्य को हासिल करने के बारे में विचार करेगा।’’

Nayanthara-Vignesh Shivan की शादी में Covid को मात देकर पहुंचे Shah Rukh Khan

कीशादीमेंCovidकोमातदेकरपहुंचेSidhu Moosewala Murder: पेट्रोल पंप की रसीद ने सुलझाई सिद्धू मूसेवाला की हत्या की गुत्थी******Highlightsसिद्धू मूसेवाला की हत्या में इस्तेमाल की गई गाड़ी से मिले एक छोटे से सुराग ने पंजाब पुलिस को मर्डर से जुड़ी घटनाओं का खुलासा करने में मदद की। जिसके कारण मुख्य साजिशकर्ता लॉरेंस बिश्नोई सहित 10 लोगों को गिरफ्तार किया गया। जांचकर्ताओं ने गुरुवार को यह जानकारी दी। एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि पुलिस ने अपराध के पीछे चार शूटरों की पहचान की है।सिद्धू मूसेवाला 29 मई को शाम करीब पांच बजे दो व्यक्तियों- गुरविंदर सिंह और गुरप्रीत सिंह (चचेरे भाई) के साथ घर से निकले थे जिसके बाद अज्ञात लोगों ने उन्हें गोली मारकर हत्या की थी। इसके बाद मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कार्रवाई करते हुए हत्यारों को पकड़ने के लिए एडीजीपी (एंटी-गैंगस्टर टास्क फोर्स-एजीटीएफ) की देखरेख में एक विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया। मामले में एक महत्वपूर्ण सुराग हरियाणा के फतेहाबाद में एक पेट्रोल पंप की 25 मई की रसीद की बरामदगी थी।इसे एक बोलेरो कार से बरामद किया गया, जिसके बारे में माना जा रहा है कि इसका इस्तेमाल अपराध में किया गया था। एडीजीपी एजीटीएफ ने कहा कि बाद में इसे घटनास्थल से लगभग 13 किलोमीटर दूर ख्याला गांव के पास छोड़ दिया गया था, सीसीटीवी फुटेज जमा करने के लिए फतेहाबाद के पेट्रोल स्टेशन पर एक पुलिस टीम भेजी गई थी। उन्होंने कहा, "पुलिस टीमों ने सीसीटीवी फुटेज हासिल कर ली है और एक आरोपी की पहचान करने में कामयाबी हासिल की है। एक शूटर, जिसकी पहचान बाद में सोनीपत के प्रियव्रत के रूप में हुई। इसी तरह वाहन के मालिक का भी पता लगा लिया गया है।"पुलिस ने वारदात में इस्तेमाल महिंद्रा बोलेरो, टोयोटा कोरोला और व्हाइट ऑल्टो कार समेत सभी वाहन बरामद कर लिए हैं। टोयोटा कोरोला में हमलावरों ने टोयोटा कोरोला को पीछे छोड़ते हुए बंदूक की नोक पर एक सफेद ऑल्टो कार को रोका और छीन लिया, जो घटना के दौरान क्षतिग्रस्त हो गई और सफेद बोलेरो जीप के बाद खारा बरनाला गांव की ओर भाग निकले। ये सफेद ऑल्टो कार भी 30 मई को मोगा जिले के धर्मकोट के पास लावारिस पाई गई और सीसीटीवी फुटेज से आरोपी द्वारा लिए गए रास्ते की पहचान की गई।दिल्ली की तिहाड़ जेल से पंजाब पेशी वारंट पर लाए गए गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई को गिरफ्तार करने के अलावा, गिरफ्तार किए गए अन्य नौ आरोपियों की पहचान- बठिंडा के चरणजीत सिंह, सिरसा के संदीप सिंह उर्फ केकड़ा, बठिंडा में तलवंडी साबो के मनप्रीत सिंह, फरीदकोट के मनप्रीत भाऊ, अमृतसर के सराज मिंटू, हरियाणा के प्रभदीप सिद्धू, सोनीपत के मोनू डागर और पवन बिश्नोई और नसीब, (दोनों फतेहाबाद के निवासी हैं) के रूप में हुई है। उन्हें साजिश रचने, रसद सहायता प्रदान करने, रेकी करने और शूटरों को पनाह देने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।एडीजीपी ने कहा कि कोरोला वाहन का पंजीकरण नंबर असली पाया गया और मालिक की पहचान कर ली गई। हालांकि, जिस व्यक्ति के नाम से खरीद का हलफनामा बरामद हुआ था, वह वास्तविक मालिक नहीं था, बल्कि फिरोजपुर जेल में बंद गोल्डी बराड़ से जुड़े गैंगस्टर मनप्रीत मन्ना को अपना आधार कार्ड दिया था। 30 मई को उत्तराखंड के चमोली से गिरफ्तार किए गए मनप्रीत भाऊ ने पूछताछ के दौरान कहा कि उसने मन्ना के निर्देश पर मोगा के मनु कूसा और अमृतसर के जगरूप सिंह उर्फ रूपा के रूप में पहचाने गए दो संदिग्ध शूटरों को कार दी थी।उन्होंने यह भी खुलासा किया कि निशानेबाजों को सराज मिंटू द्वारा प्रदान किया गया था, जो गोल्डी बराड़ और सचिन थापन के करीबी सहयोगी हैं और माना जाता है कि वे शूटरों के समूह का हिस्सा थे। प्रभदीप सिद्धू उर्फ पब्बी, (जिसे 3 जून को पूछताछ में गिरफ्तार किया गया था) ने कहा कि उसने गोल्डी बराड़ के दो सहयोगियों को आश्रय दिया था, जो उसके साथ आए और उसके साथ रहे और उसने मूसेवाला के घर की रेकी करने में उनकी मदद की। उन्होंने घर का दौरा भी किया है और सुरक्षाकर्मियों से बातचीत की है और कैमरों आदि की जांच की है।इनपुट के बाद, गोल्डी बराड़ और लॉरेंस बिश्नोई के करीबी सहयोगी मोनू डागर को प्रोडक्शन वारंट पर लाया गया। पूछताछ के दौरान उसने गोल्डी बराड़ के निर्देश पर सोनीपत निवासी प्रियव्रत और अंकित नाम के दो शूटरों को व्यवस्थित करने की बात कबूल की। उन्होंने यह भी खुलासा किया कि फतेहाबाद के रहने वाले पवन बिश्नोई और नसीब ने सादुल शहर से अपराध में इस्तेमाल की गई सफेद बोलेरो जीप खरीदी थी और बठिंडा निवासी केशव के माध्यम से शूटरों को सौंप दी थी और उन्हें ठिकाना भी मुहैया कराया था।संदीप केकड़ा, (जिसे 6 जून को गिरफ्तार किया गया था) ने पूछताछ के दौरान खुलासा किया कि सिरसा के निक्कू तख्त मल के साथ कलियांवाली का उसका भाई बिट्टू मूसवाला के हलचल की रेकी कर रहा था। उसने कहा कि 29 मई को उनके भाई बिट्टू ने उन्हें मोटरसाइकिल पर निक्कू के साथ जाने का काम सौंपा था, ताकि वह उनके प्रशंसक बनकर मूसेवाला के घर जा सकें। उसने स्वीकार किया कि उसने निक्कू के मोबाइल फोन पर गायक के साथ सेल्फी ली और बाद में सचिन थापन को एक वीडियो कॉल करके उन्हें मूसेवाला के बारे में वास्तविक समय की जानकारी दी थी।अब तक की जांच से पता चला है कि गिरफ्तार आरोपी लॉरेंस बिश्नोई और कनाडा के गैंगस्टर गोल्डी बराड़, सचिन थापन, अनमोल बिश्नोई और विक्रम बराड़ के निर्देश पर काम कर रहे थे, जो अब दुबई में हैं। इसके अलावा, इन गैंगस्टरों ने फेसबुक प्रोफाइल के जरिए हत्या की दो टूक जिम्मेदारी ली थी। बयान में कहा गया है कि लॉरेंस बिश्नोई, गोल्डी बराड़ और अन्य को इस मामले में उनके गिरोह के सदस्यों के साथ आरोपी और साजिशकर्ता के रूप में नामित किया गया है।इस बीच, एजीटीएफ और विशेष जांच दल (एसआईटी) केंद्रीय एजेंसियों और अन्य राज्य पुलिस बलों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं, ताकि संदिग्ध शूटरों और अन्य लोगों की जल्द से जल्द पहचान की जा सके और उन्हें गिरफ्तार किया जा सके।कीशादीमेंCovidकोमातदेकरपहुंचेKhatron Ke Khiladi 11: बिजली के झटके खा-खाकर अर्जुन बिजलानी का हुआ बुरा हाल, देखिए नया Promo******रिएलिटी शोके 11वें सीजन का फैंस बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। ये जल्द ही कलर्स टीवी पर शुरू होने वाला है। इससे पहले शो का नया प्रोमो सामने आया है, जिसमें टीवी के मशहूर एक्टर और कंटेस्टेंट अर्जुन बिजलानी अपने डर का सामना करते हुए दिखाई दे रहे हैं। ये वीडियो काफी मजेदार है, क्योंकि अर्जुन बिजली के झटके खाने के बावजूद हंसी-मजाक कर रहे हैं।इस वीडियो में दिखाया गया है कि अर्जुन बिजलानी ऐसा स्टंट कर रहे हैं, जिसमें उन्हें बिजली के झटके लग रहे हैं। रोहित शेट्टी हैं- 'बिजली के झटकों ने याद दिला दी है इनको इनकी नानी, ये हैं हमारे अर्जुन बिजलानी।' वहीं, अर्जुन भी स्टंट करते हुए गाते हैं- 'बिजली गिराने मैं हूं आई, कहते हैं मुझको बिजलानी बिजलानी'। फिर रोहित कहते हैं- 'ये है डर और डर का बैटल ग्राउंड, वेलकम टू केपटाउन।'इस वीडियो के कैप्शन में लिखा है- "डेयरडेविल बनने की राह में है बिजली के झटके। लिमिटलेस डर और एंटरटेनमेंट लेकर आ रहा है खतरों के खिलाड़ी 11.. जल्द ही कलर्स पर।"इस बार शो में अर्जुन बिजलानी के साथ दिव्यांका त्रिपाठी, निक्की तंबोली, विशाल आदित्य सिंह, आस्था गिल, सना मकबूल, अनुष्का सेन, श्वेता तिवारी, महक चहल, राहुल वैद्य, अभिनव शुक्ला, वरुण सूद और सौरभ राज जैन खतरों से खेलते दिखाई देंगे। शो को इस बार भी रोहित शेट्टी होस्ट कर रहे हैं।रोहित शेट्टी ने हाल ही में एक वीडियो शेयर किया था, जिसमें वो हेलिकॉप्टर पर खड़े नज़र आ रहे हैं। विमान पहाड़ों के नीचे से आता हुआ दिखाई देता है, ये सीन काफी रोमांचक है। इसके कैप्शन में रोहित ने लिखा- '7 साल पहले मैंने इसी जगह पर केप टाउन में खतरों के खिलाड़ी की अपनी यात्रा शुरू की थी, उसी स्टंट पायलट वॉरेन के साथ, जो मेरे अनुसार दुनिया के सर्वश्रेष्ठ स्टंट पायलटों में से एक है! 7 साल और 7 सीज़न बाद, दुनिया बहुत बदल गई है ... लेकिन जो नहीं बदला वह है इस शो की भावना! भारतीय टेलीविजन पर पहले कभी नहीं देखे गए एक्शन देखने के लिए तैयार हो जाइए। जल्द आ रहा है... खतरों के खिलाड़ी, सीजन 11'कीशादीमेंCovidकोमातदेकरपहुंचेChanakya Niti: किसी व्यक्ति को परखना हो तो इन बातों का रखें ध्यान, कभी नहीं खाएंगे धोखा******Highlightsभले ही आपको आचार्य चाणक्य की नीतियां और विचार थोड़े कठोर लगे लेकिन ये कठोरता ही जीवन की सच्चाई है। भागदौड़ भरी जिंदगी में आप इन विचारों को नजरअंदाज ही क्यों न कर दें लेकिन ये वचन जीवन की हर कसौटी पर आपकी मदद करेंगे। आचार्य चाणक्य के इन्हीं विचारों में से आज हम एक और विचार का विश्लेषण करेंगे। आज केविचार में चाणक्य जी ने ऐसे चीजों के बारे में बताया है जिन्हें जानकर आप किसी भी व्यक्ति की अच्छाई या फिर बुराई आसानी से जान सकते हैं। आइए जानते हैं।यथा चतुर्भिः कनकं परीक्ष्यते निघर्षणच्छेदनतापताडनैः ।तथा चतुर्भिः पुरुषः परीक्ष्यते त्यागेन शीलेन गुणेन कर्मणा ॥सोने की परख उसे घिस कर, काट कर, गर्म करके या फिर पीट कर की जाती है। उसी तरह एक व्यक्ति का परीक्षण उसके त्याग, आचरण, गुण और कर्म के द्वारा किया जाता है।आचार्य चाणक्य के इस कथन के अनुसार जब किसी सोने की शुद्धता की बात आती है तो उसे घिसकर, काटकर, गर्म करके या फिर पीटकर पता किया जाता है। ठीक इसी तरह किसी भी व्यक्ति को सिर्फ देखकर आप उसके बारे में सही तरीके से नहीं जान सकते हैं। ऐसे में आप सोने का उदाहरण ले सकते हैं, यानी कि किस तरह से उसे अपनी शुद्धता दिखाने के लिए कई चीजों का सामना करना पड़ता है। इसी तरह किसी व्यक्ति की सच्चाई जानने के लिए आप इन तरीकों का इस्तेमाल कर सकते हैं।किसी भी व्यक्ति को परखने का सबसे पहला तरीका है कि उसके द्वारा त्याग करना। दरअसल, आचार्य चाणक्य के मुताबिक जो इंसान दूसरों के सुख में खुश और उसके दुख में अपने सुख का त्याग कर दें तो समझ लीजिए कि वह अच्छा इंसान है। वहीं अगर कोई व्यक्ति आपके सामने खुद को सबसे अच्छा बताता है और समय आने पर सबसे पहले भाग जाता है तो इसका मतलब की वह आपकी जिंदगी में किसी काम का नहीं है।किसीव्यक्ति को जानना हो तो उसके आचरण को देखें, क्योंकि जो इंसान अच्छा होता है वह हर तरह की बुराईयों से दूर रहता है। वह किसी भीगलत काम मे शामिल नहीं होाता हैं साथ जो दूसरों के लिए मन में गलत भावनाएं नहीं रखते हैं। ऐसे लोग सबसे अच्छे होते हैं।किसी को समझने का तीसरा तरीका है उसकेगुण । हर व्यक्ति के अंदर कुछ गुण तो कुछ अवगुण होते हैं। अगर किसी के अंदर झूठ बोलना, अहंकार दिखना, लोगों का अपमान करना जैसै अवगुण है तो उससे तुरंत दूरी बना लेने में ही आपकी भलाई है।किसी भी व्यक्ति को आप उसके कर्मों के द्वारा आसानी से जान सकते हैं कि वह इंसान अच्छा है या नहीं। यदि कोई व्यक्ति गलत तरीके से धन कमाता है और हर काम गलत तरीके से करता हैं तो ऐसे व्यक्ति से दूर रहें। ऐसा इसलिए क्योंकि गलत व्यक्तिओं का असर आपके जीवन पर भी बुरा पड़ सकता है।

Nayanthara-Vignesh Shivan की शादी में Covid को मात देकर पहुंचे Shah Rukh Khan

कीशादीमेंCovidकोमातदेकरपहुंचेRaj Thackeray On Loudspeaker: मुंबई में राज ठाकरे के आवास के बाहर बढ़ाई गई सुरक्षा, MNS प्रमुख ने तेज आवाज में हनुमान चालीसा बजाने का किया है ऐलान******आज, यानी बुधवार 4 मई को MNS प्रमुख राज ठाकरे के मस्जिदों के बाहर हनुमान चालीसा के पाठ के आवाहन के बादमुंबई में MNS प्रमुख राज ठाकरे के आवास के बाहर सुरक्षा बढ़ाई गई है। साथ हीमुम्बई के दादर स्थित शिवतीर्थ के बाहरभीपुलिस सुरक्षा लगातार बढ़ाई जा रही है। सुरक्षा के लिए औरंगाबाद और धुलिया से SRPF की टुकड़ी तैनात की गई है। मंगलवार को राज ठाकरे समेत 4 लोगों के खिलाफ 1 मई को औरंगाबाद में किये गए भड़काऊ भाषण मामले में FIR दर्ज की गई। जिसके बाद कयास लगाए जा रहे थे कि औरंगाबाद पुलिस राज ठाकरे को हिरासत में लेगी, लेकिन अभी तक ऐसा नहीं हुआ है।बता दें, महाराष्ट्र में लाउडस्पीकर और हनुमान चालीसा का मुद्दा गरमाया हुआ है। इस बीच एमएनएस प्रमुख राज ठाकरे (Raj Thackeray) का बयान सामने आया है। उन्होंने सभी हिंदू भाई-बहनों के लिए लिखे पत्र के माध्यम से ये संदेश दिया है कि जिस मस्जिद के बाहर लाउडस्पीकर तेजी के साथ बज रहे हैं, उसके ठीक सामने 4 मई को हनुमान चालीसा के लिए लाउडस्पीकर लगाएं और हनुमान चालीसा का पाठ करें।राज (Raj Thackeray) ने कहा, 'इसके अलावा 100 नंबर पर कॉल करें और पुलिस को बताएं कि इससे हमें तकलीफ हो रही है। इसके अलावा इस बात की शिकायत भी करें और इलाके के लोगों के बीच में जाकर हस्ताक्षर अभियान चलाएं। उस हस्ताक्षर अभियान के जरिए जितना कलेक्शन होता है, उतने डॉक्यूमेंट पुलिस स्टेशन में शिकायत के तौर पर जमा करें।' साथ ही उन्होंने कहा, 'जिन मस्जिदों ने लाउडस्पीकर उतार दिया है, उनको किसी भी तरीके से कोई तकलीफ नहीं होनी चाहिए, इस बात का ध्यान रखें।'कीशादीमेंCovidकोमातदेकरपहुंचेझारखंड मुक्ति मोर्चा ने महागठबंधन से तोड़ा नाता, बिहार में अकेले चुनाव लड़ेगी पार्टी******झारखंड मुक्ति मोर्चा ने मंगलवार को बिहार विधानसभा चुनावों के लिए राष्ट्रीय जनता दल के नेतृत्व वाले महागठबंधन से अलग होने की घोषणा कर दी। पार्टी के केंद्रीय महासचिव सुप्रीयो भट्टाचार्य ने इसकी घोषणा करते हुए आरोप लगाया कि सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव की अगुवाई वाली RJD ने उनके साथ राजनीतिक मक्कारी की है। सुप्रीयो ने ऐलान किया कि ‘अच्छे दिन आने के अभी सिर्फ सपने देखने वाले लोगों’ से अलग अकेले ही वह चुनाव लड़ेगी। बता दें कि इस समय लालू के जेल में होने के कारण पार्टी से जुड़े फैसलों में तेजस्वी यादव की अहम भूमिका है।रिपोर्ट्स के मुताबिक, सुप्रीयो भट्टाचार्य ने द्वारा झारखंड की सीमावर्ती 7 विधानसभा सीटों पर अकेले दम पर लड़ने की घोषणा की है। इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि आगे दूसरे और तीसरे चरणों के लिए भी कुछ अन्य सीटों पर पार्टी अपने उम्मीदवार उतार सकती है। का यह कदम निश्चित तौर पर आरजेडी के नेतृत्व वाले महागठबंधन के लिए झटका है क्योंकि चुनावी राजनीति में एक-एक वोट की अपनी कीमत होती है। झारखंड की सीमावर्ती कुछ विधानसभा सीटों पर जेएमएम बड़ी संख्या में वोट बटोरकर की गणित को बिगाड़ सकता है।इस बीच बिहार विधानसभा चुनाव के लिए सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) में मंगलवार को सीटों का बंटवारा हो गया। बंटवारे के तहत बीजेपी 121 सीटों पर चुनाव लड़ेगी जबकि जेडीयू के हिस्से में 122 सीटें आईं हैं। जेडीयू ने अपने खाते से जीतनराम मांझी की 'हम' पार्टी को 7 सीटें दी हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में जॉइन्ट प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस आशय की घोषणा की गई। लोक जनशक्ति पार्टी के नेता चिराग पासवान को झटका देते हुए बीजेपी ने साफ किया कि नीतीश कुमार बिहार में एनडीए के नेता हैं और गठबंधन उनके नेतृत्व में चुनाव लड़ेगा।

Nayanthara-Vignesh Shivan की शादी में Covid को मात देकर पहुंचे Shah Rukh Khan

कीशादीमेंCovidकोमातदेकरपहुंचेक्या 77 वर्षीय बाइडन व्हाइट हाउस पहुंचने पर चीन पर नरम पड़ेंगे?******अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक उम्मीदवार और पूर्व उपराष्ट्रपति जो बाइडन की विदेश और आर्थिक नीतियों को अमेरिका के साथ ही दुनिया के बाकी हिस्सों में भी बड़ी उत्सुकता से देखा जाएगा। बाइडन के लिए यह माना गया है कि उनका चीन से साथ बेहतर जुड़ाव रहा है। बारीकी से लड़े गए चुनावों ने दर्शाया है कि वास्तव में अमेरिकियों की एक बड़ी संख्या ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के अमेरिका प्रथम सिद्धांत का समर्थन किया है।77 वर्षीय बाइडन राष्ट्रपति के रूप में पदभार संभालने के लिए सबसे उम्रदराज हैं, जिनके दूसरे कार्यकाल की संभावना नहीं है। ट्रंप का एजेंडा भी बदलना मुश्किल है, जो लगातार चुनाव की जांच करने की मांग के साथ आलोचना कर रहे हैं। हालांकि बाइडन और उपराष्ट्रपति कमला हैरिस अधिक सूक्ष्म रणनीति अपना सकते थे, विशेष रूप से आव्रजन और व्यापार जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों से संबंधित।विदेश नीति विश्लेषकों ने कहा कि भारत-अमेरिका संबंध अप्रभावित रहेंगे। प्रमित पाल चौधरी के अनुसार, भारत-अमेरिका संबंध द्विदलीय है और लगभग 90 प्रतिशत नीतियां समान रहेंगी। उन्होंने कहा, "बाइडन भारत के लिए अधिक फायदेमंद साबित हो सकते हैं, क्योंकि उनकी ओर से आव्रजन और व्यापार पर थोड़ा अधिक लचीला रुख अपनाने की उम्मीद है, हालांकि ट्रंप ने चीन पर सख्त रुख अपनाते हुए नरेंद्र मोदी सरकार को रक्षा प्रौद्योगिकी तक पहुंच प्रदान की थी।"चौधरी ने कहा कि भारत और अमेरिका ऑस्ट्रेलिया और जापान के साथ-साथ क्वॉड (चार देशों का समूह) टीम में भी सक्रिय रूप से शामिल रहे हैं। वाशिंगटन ने वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर सीमा संकट के दौरान नई दिल्ली को मजबूत और अस्पष्ट सहायता प्रदान की है।यूनाइटेड सर्विस इंस्टीट्यूशन ऑफ इंडिया एंड इंस्टीट्यूट ऑफ डिफेंस स्टडीज एंड एनालिसिस के प्रतिष्ठित फेलो संजय बारू ने इंडिया नैरेटिव डॉट कॉम को बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कश्मीर मुद्दे को संभालने और अल्पसंख्यकों के साथ हो रहे कथित बर्ताव पर कई डेमोक्रेट ने चिंता जताई है।उन्होंने कहा, "हालांकि कोई बड़ा नीति परिवर्तन नहीं होगा, मोदी और उनकी टीम को समान संबंध बनाने के लिए काम करना होगा। बारू ने कहा कि मानवाधिकारों और अल्पसंख्यकों से बर्ताव के सवाल सामने आएंगे, जिनसे भारत को निपटना होगा। कमला हैरिस, जो ह्यूस्टन में हाउडी मोदी कार्यक्रम में नहीं पहुंची थीं, वह कश्मीर मुद्दे पर मुखर रहीं हैं। उन्होंने पिछले साल एक बयान में कहा था, "हमें कश्मीरियों को याद दिलाना होगा कि वे दुनिया में अकेले नहीं हैं। हम स्थिति पर नजर रख रहे हैं।"अटल बिहारी वाजपेयी इंस्टीट्यूट ऑफ पॉलिसी रिसर्च एंड इंटरनेशनल स्टडीज के निदेशक शक्ति सिन्हा ने कहा कि बाइडन तत्काल कार्यकाल में एक नरम चीन नीति को अपना सकते हैं। उन्होंने कहा, "हमें इंतजार करना होगा और देखना होगा। लेकिन यह संभव है कि छोटी अवधि (शुरुआती दिनों में) में बाइडन एक नरम चीन नीति अपनाए, हालांकि अंतत: डेमोक्रेट विशेष रूप से चीन के हालिया आक्रमण और मानवाधिकारों के उल्लंघन के साथ यही स्थिति अपनाए नहीं रखेंगे।"

कीशादीमेंCovidकोमातदेकरपहुंचेगांधी जयंती 2019: महात्मा गांधी के बेहतरीन विचार जो आपके जीवन को देंगे नई दिशा******आज राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती है।राष्ट्रपिता मोहनदास करमचंद्र गांधी जिन्हें लोग महात्मागांधी के नाम से जानते हैं। 2 अक्टूबर 1869 में गुजरात के पोरबंदर में उनका जन्म हुआ था। वह भारतीय इतिहासका एक ऐसानगीना है जिन्होंने कभी कोई पद ग्रहण नहीं किया लेकिन दुनिया भर में उनकी छाप ऐसी पड़ी कि लोग आज भी उनका नाम लेते हैं। भारत को आजादी दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले महात्मा गांधी कीआज पूरा देश 150वीं जयती मना रहा है।महात्मा गांधी ने देश काऐसे समय में नेतृत्व दिया जब भारत को उसकी सबसे ज्यादा जरूरत थी। दुनिया को अहिंसा का पाठ पढ़ाने वाले बापू उसूलों के पक्के इंसान थे उन्होंने कभी भी दूसरों को उन नियमों का पालन करने को नहीं कहा जिनका पालन उन्होंने खुद कभी न किया हो। गांधी जी विचारों के अपनाकर न सिर्फ आपके जीवन में प्रकाश का मार्ग खुलेगा बल्कि उनके विचारों से दुनिया को देखने का नजरिया बदलेगा। के इस खास मौके में उनके जीवन से जुड़े कुछ ऐसे ही विचार बताने जा रहे है जिन्हें अपना कर आप सही रास्ते पर जा सकते है।खुद में बदलाव लाइए जो आप दुनिया में देखना चाहते हैं।अहिंसा परमो धर्मपाप से घृणा करो पापी से नहींडर शरीर की बीमारी नहीं है, यह आत्मा को मारता है।ऐसे जिएं जैसे कि आपको कल मरना है और सीखें ऐसे जैसे आपको हमेशा जीवित रहना हैकीशादीमेंCovidकोमातदेकरपहुंचेMohammed Siraj: टीम इंडिया को T20 फॉर्मेट में मोहम्मद सिराज की जरूरत नहीं, भारतीय तेज गेंदबाज ने इंग्लैंड में ढूंढा ठिकाना******Highlights भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज एशिया कप में टीम इंडिया का हिस्सा नहीं हैं। ऑस्ट्रेलिया में अक्टूबर नवंबर में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप में भी सिराज भारतीय टीम का हिस्सा होंगे इसकी उम्मीद बेहद कम है। यानी टी20 फॉर्मेट के इन दो बड़े टूर्नामेंट के बीच ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका के खिलाफ होने वाली दो सीरीज में भी भारतीय टीम को उनकी जरूरत नहीं पड़ेगी। ऐसी स्थिति में सिराज ने अपना ठिकाना इंग्लैंड में ढूंढ निकाला है।मोहम्मद सिराज सितंबर में वारविकशायर के लिए इंग्लिश काउंटी चैम्पियनशिप में खेलेंगे। भारतीय तेज गेंदबाज वारविकशायर के सीजन के अंतिम तीन फर्स्ट क्लास मैचों में मैदान में उतरेंगे। वह इस समय जिम्बाब्वे में वनडे सीरीज में खेल रहे हैं जहां पहले मैच में उन्होंने 8 ओवर में 36 रन देकर एक विकेट अपने नाम किया।वारविकशायर काउंटी क्लब ने मीडिया रिलीज में कहा, ‘‘वारविकशायर काउंटी क्रिकेट क्लब ने भारतीय अंतरराष्ट्रीय तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज से काउंटी चैम्पियनशिप सीजन के अंतिम तीन मैचों के लिये करार किया है। 28 साल का यह खिलाड़ी 12 सितंबर को समरसेट के खिलाफ घरेलू मुकाबले से पहले एजबेस्टन में पहुंच जायेगा।’’दाएं हाथ के तेज गेंदबाज ने जुलाई में एजबेस्टन में भारत और इंग्लैंड के बीच पांचवें और अंतिम टेस्ट की पहली पारी में 66 रन देकर चार विकेट झटके थे। इसके बाद उन्होंने तीन वनडे मैचों में छह विकेट चटकाए थे। सिराज भारत के लिये सभी फॉर्मेट में 26 मैचों में 56 विकेट ले चुके हैं। उन्होंने कहा, ‘‘मैं वारविकशायर से जुड़ने के लिये बेताब हूं। मुझे हमेशा भारतीय टीम के साथ इंग्लैंड में खेलने में मजा आया है और मैं काउंटी क्रिकेट का अनुभव हासिल करने के लिये उत्साहित हूं।’’ उन्होंने आगे कहा, ‘‘एजबेस्टन विश्व स्तरीय स्टेडियम है और इस साल टेस्ट के लिए वहां जो माहौल था, वो काफी स्पेशल था। मैं सितंबर में खेलने के लिए उत्साहित हूं और उम्मीद करता हूं कि टीम को सीजन का समापन अच्छी तरह करने में मदद करूंगा।’’मोहम्मद सिराज इस सीजन में वारविकशायर का प्रतिनिधित्व करने वाले दूसरे भारतीय खिलाड़ी हैं। उनसे पहले क्रुणाल पंड्या ने रॉयल लंदन कप वनडे चैम्पियनशिप के लिए इस क्लब से करार किया था।

कीशादीमेंCovidकोमातदेकरपहुंचेदेश में आने वाली है कोरोना की चौथी लहर? IIT कानपुर के प्रोफेसर ने किया बड़ा खुलासा******देश में कोरोना के मामले एक बार फिर बढ़ने लग गए हैं। ऐसे में सवाल है कि क्या ये कोरोना की चौथी लहर है जो भारत में एक बार फिर कोरोना केस बढ़ने लगे हैं? IIT कानपुर के प्रोफेसर ने इसको लेकर राहत की खबर दी है। प्रोफेसर मणीन्द्र अग्रवाल कोरोना वायरस की पहली, दूसरी और तीसरी लहर को लेकर अपने गणितीय सूत्र के हिसाब से अनुमान पेश करते आए हैं, जो करीब-करीब सही साबित होता रहा है।प्रोफेसर मणीन्द्र अग्रवाल का कहना है कि करोड़ों की आबादी में 70-80 केस हो जाने से कोविड संक्रमण की गंभीरता का पता नहीं लगाया जा सकता है। अगर म्यूटेंट में बदलाव होता है और कोई नया वायरस आता है तो उस वक्त की स्थिति पर अभी टिप्पणी नहीं की जा सकती। फिलहाल तो देश में वायरस के पुराने म्यूटेंट ही असर दिखा रहे हैं।भारत में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के 2,183 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 4,30,44,280 हो गई, जबकि देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या घटकर 11,542 रह गई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सोमवार को अद्यतन आंकड़ों में यह जानकारी दी गई। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा सोमवार सुबह आठ बजे अद्यतन किए गए आंकड़ों के अनुसार, 214 और संक्रमितों की मौत से महामारी से जान गंवाने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 5,21,965 पर पहुंच गई है।मंत्रालय ने बताया कि देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या कुल मामलों का 0.03 प्रतिशत है, जबकि संक्रमण मुक्त होने वालों की राष्ट्रीय दर 98.76 प्रतिशत है। आंकड़ों के मुताबिक, बीते 24 घंटों में उपचाराधीन मरीजों की संख्या में 16 मामलों की गिरावट आई है। मंत्रालय ने बताया कि देश में दैनिक संक्रमण दर 0.83 प्रतिशत, जबकि साप्ताहिक संक्रमण दर 0.32 प्रतिशत दर्ज की गई है।आंकड़ों के अनुसार, स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या बढ़कर 4,25,10,773 हो गई है, जबकि संक्रमण से मृत्यु दर 1.21 प्रतिशत है। मंत्रालय ने बताया कि भारत में अब तक कोविड-19 रोधी टीकों की 186.54 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी हैं। गौरतलब है कि देश में सात अगस्त 2020 को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त 2020 को 30 लाख और पांच सितंबर 2020 को 40 लाख से अधिक हो गई थी।संक्रमण के कुल मामले 16 सितंबर 2020 को 50 लाख, 28 सितंबर 2020 को 60 लाख, 11 अक्टूबर 2020 को 70 लाख, 29 अक्टूबर 2020 को 80 लाख और 20 नवंबर को 90 लाख के पार चले गए थे। देश में 19 दिसंबर, 2020 को ये मामले एक करोड़ के पार हो गए थे।पिछले साल चार मई को संक्रमितों की संख्या दो करोड़ और 23 जून, 2021 को तीन करोड़ के पार पहुंच गई थी। इस साल 26 जनवरी को मामले चार करोड़ के पार पहुंच गए थे।कीशादीमेंCovidकोमातदेकरपहुंचेAsia Cup 2022: टीम इंडिया को एशिया कप के लिए राहुल द्रविड़ की जगह मिला 100% रिकॉर्ड वाला कोच, BCCI ने स्टेटमेंट जारी कर किया ऐलान******Highlights एशिया कप 2022 के आगाज से पहले भारतीय दल में एक बड़ा बदलाव हुआ है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने टीम इंडिया के हेड कोच को बदल दिया है। एशिया कप के लिए कप्तान रोहित शर्मा और तमाम खिलाड़ियों के साथ भारतीय टीम की योजनाओं को अमलीजामा पहनाने की तैयारी कर रहे हेड कोच राहुल द्रविड़ की जगह एक अन्य महान चेहरे को इस किरदार में सामने लाया गया है।बीसीसीआई ने बेंगलुरु स्थित नेशनल क्रिकेट एकेडमी के क्रिकेट हेड वीवीएस लक्ष्मण को एशिया कप 2022 के लिए टीम इंडिया का अंतिरम हेड कोच बनाया है। भारतीय बोर्ड को ये फैसला टीम के रेग्यूलर हेड कोच राहुल द्रविड़ के कोविड-19 से संक्रमित होने के चलते लेना पड़ा। मेडिकल टेस्ट का रिजल्ट आने के बाद मंगलवार को द्रविड़ के कोविड पॉजिटिव होने की खबर आई जिसके बाद से ही टीम के हेड कोच के तौर पर लक्ष्मण के एशिया कप में शामिल होने की अटकलें लगने लगी थीं।बीसीसीआई ने द्रविड़ के कोविड पॉजिटिव होने के एक दिन बाद एक ऑफिशियल स्टेटमेंट जारी कर बतौर अंतरिम हेड कोच लक्ष्मण के नाम पर मुहर लगा दी।भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने अपनी स्टेटमेंट में कहा, “एनसीए के क्रिकेट हेड मि वीवीएस लक्ष्मण यूएई में होने वाले एसीसी एशिया कप 2022 के लिए टीम इंडिया के अंतरिम हेड कोच होंगे।”“भारतीय टीम के साथ जिम्बाब्वे दौरे पर ओडीआई सीरीज के लिए जाने वाले मि लक्ष्मण कोविड पॉजिटिव मि राहुल द्रविड़ की गैर-हाजिरी में टीम की तैयारियों का ख्याल रखेंगे। मि द्रविड़ यूएई के लिए टीम की रवानगी से पहले ही कोविड पॉजिटिव हो गए थे। मि द्रविड़ टेस्ट के निगेटिव आने और बीसीसीआई मेडिकल टीम से हरी झंडी मिलने के बाद टीम से जुड़ेंगे।”“मि लक्ष्मण दुबई में भारतीय स्क्वॉड से जुड़ चुके हैं। लक्ष्मण ने उपकप्तान केएल राहुल, दीपक हुड्डा और आवेश खान के साथ हरारे से सीधे दुबई के लिए उड़ान भरी थी।”बता दें कि हालिया जिम्बाब्वे दौरे पर टीम इंडिया ने वीवीएस लक्षमण की कोचिंग में वनडे सीरीज को 3-0 से जीता। वहीं जून के अंत में हुए आयरलैंड दौरे पर भी वीवीएस लक्ष्मण मेंटॉर के तौर पर टीम इंडिया के साथ गए थे। भारतीय टीम ने आयरलैंड के खिलाफ हुई दो टी20 मैच की सीरीज को 2-0 से जीता था।

कीशादीमेंCovidकोमातदेकरपहुंचेEdible Oil : सस्ता होगा खाने का तेल? निर्मला सीतारमण ने बताया सरकार उठा रही है ये बड़ा कदम******Edible OilEdible Oil :बीते 2 महीने में ​कच्चा तेल ही नहीं बल्कि खाने के तेल के दाम भी आम आदमी का तेल निकाल रहे हैं। वहीं इंडोनेशिया द्वारा तेल का निर्यात रोकने के बाद भारत में कीमतों की आग आम लोगों को झुलसा रही है।इस बीच केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को कहा कि रूस एवं यूक्रेन के बीच जारी संघर्ष के बीच भारत खाद्य तेलों के आयात के लिए नए विकल्पों की तलाश कर रहा है। सीतारमण ने यहां विदेश व्यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी) के एक कार्यक्रम में कहा कि रूस-यूक्रेन संघर्ष की वजह से भारत को खाद्य तेलों के आयात में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।उन्होंने कहा, ‘‘खाद्य तेल के आयात में कई बाधाए हैं। हम खाद्य तेलों का आयात नहीं कर पा रहे हैं। हमें सूरजमुखी तेल मिल रहा था लेकिन अब ऐसा नहीं हो पा रहा है।’’ भारत यूक्रेन से बड़े पैमाने पर सूरजमुखी तेल का आयात करता रहा है लेकिन मौजूदा हालात में ऐसा नहीं हो पा रहा है।सीतारमण ने कहा, ‘‘ऐसी स्थिति में हम कई दूसरे बाजारों से खाद्य तेलों का आयात कर रहे हैं और कुछ नए बाजारों पर भी हमारी नजर है।’’ इसके साथ ही उन्होंने घरेलू कारोबारियों से इस मौके का फायदा उठाते हुए तेल निर्यात की संभावनाओं पर गौर करने को कहा। उन्होंने कहा, ‘‘उद्योगपतियों को हरेक चुनौती को अवसर में बदलने का मौका देखना चाहिए। केंद्र सरकार अपना समर्थन देने के लिए हमेशा ही तैयार है।’’सीतारमण ने भारतीय उद्योगों से ऑस्ट्रेलिया और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में साझा उद्यम लगाने के लिए भागीदार तलाशने का भी अनुरोध किया। उन्होंने कहा, ‘‘इन दोनों देशों में साझा उद्यम साझेदार का चयन करने से घरेलू उद्यमियों के लिए अपना विस्तार करने में मदद मिलेगी।’’भारत ने पिछले कुछ महीनों में ऑस्ट्रेलिया और यूएई के साथ मुक्त व्यापार समझौतों (एफटीए) पर हस्ताक्षर किए हैं। इससे अधिकांश भारतीय उत्पादों को इन दोनों देशों में शुल्क-मुक्त पहुंच मिलेगी।कीशादीमेंCovidकोमातदेकरपहुंचेबच्चों के लिए जल्द मिल सकती है कोरोना की सिंगल वैक्सीन! Sputnik M भारत लाने की तैयारी में डॉ रेड्डीज******SputnikHighlights भारत में 12 से 18 साल की उम्र के किशारों को भी जल्द कोरोना से बचाव का टीका मिल सकता है। दवा निर्माता कंपनी डॉ रेड्डीज लैबोरेटरीज ने शुक्रवार को कहा कि वह भारत में 12 से 18 साल की श्रेणी के लिए रूस के स्पुतनिक एम, एक COVID-19 वैक्सीन लाने के लिए भारतीय दवा नियामक के साथ चर्चा कर रही है।कंपनी ने तीसरी तिमाही के परिणामों की घोषणा के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि रूस की सिंगल खुराक COVID-19 वैक्सीन स्पुतनिक लाइट के तीसरे चरण के क्लीनिकल ट्रायल डेटा नियामक को प्रस्तुत कर दिया गया है और अनुमोदन की प्रतीक्षा कर रहा है।दीपक सपरा के सीईओ- एपीआई और सर्विसेज डॉ. रेड्डीज ने यह भी कहा कि कंपनी अपनी फैक्ट्री में एक COVID-19 दवा मोलनुपिरवीर बनाने के लिए पूरी तरह से तैयार है। इसके लिए उसने दवा की प्रीक्वालिफिकेशन के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन से संपर्क किया है।उन्होंने कहा कि "रूस में, स्पुतनिक एम को 12 से 18 साल के बच्चों के लिए नियामक द्वारा मंजूरी दी गई है। वही डेटा यहां उपलब्ध कराया गया है। हम इसे यहां लाने की प्रक्रिया में हैं।"उन्होंने आगे कहा कि अगर भारतीय नियामक ऐसा कहता है तो कंपनी शायद भारत में एक और दौर का क्लिनिकल परीक्षण कर सकती है। रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष (आरडीआईएफ) ने पिछले महीने कहा था कि उसने स्पुतनिक एम के पंजीकरण के लिए भारतीय नियामक के पास मंजूरी के लिए आवेदन किया है।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 06:49
उद्धरण 1 इमारत
Highlights, ICC U19 World cup 2022: ऑस्ट्रेलिया ने अफगानिस्तान को 2 विकेट से हराया, प्लेऑफ में तीसरा स्थान किया हासिल******आईसीसी अंडर 19 विश्व कप 2022 के आखिरी प्लेऑफ राउंड मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने अफगानिस्तान को 2 विकेट से हराकर तीसरा स्थान हासिल किया। इस मुकाबले में अफगानिस्तान की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 49.2 ओवर में 201 रन का स्कोर खड़ा किया था। इसके जवाब में ऑस्ट्रेलियाई टीम 8 विकेट खोकर 49.1 ओवर में 202 रन बना लिए हैं।
2022-10-01 06:12
उद्धरण 2 इमारत
ईडी ने पीएमएलए मामले में यूनिटेक समूह से जुड़ी 197 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की****** प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने रियल एस्टेट कंपनी यूनिटेक समूह के खिलाफ धनशोधन के एक मामले में 197 करोड़ रुपये से ज्यादा की संपत्ति जब्त की है। मनी लॉन्ड्रिंग की जांच के सिलसिले में यूनिटेक समूह पर अपना शिकंजा कसते हुए, ईडी ने शनिवार को कहा कि उसने कंपनी की 197 करोड़ रुपये मूल्य की 10 संपत्तियों को कुर्क किया है, जिसमें कर्नोस्टी ग्रुप के अलप्पुझा और गंगटोक में दो रिसॉर्ट शामिल हैं।एजेंसी ने शनिवार को इस बारे में बताया। धन शोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत सिक्किम (गंगटोक) और केरल (अलप्पुझा) में एक- एक रिसॉर्ट समेत कुल 10 संपत्तियां अस्थायी तौर पर जब्त की गयी है। ने कहा, ‘‘इन अचल संपत्तियों का मूल्य 197.34 करोड़ रुपये हैं और कार्नोस्टी ग्रुप की विभिन्न कंपनियों के पास इन संपत्तियों का मालिकाना हक है।’’ ईडी ने एक बयान में दावा किया, ‘‘यूनिटेक समूह ने अपराध के जरिए अर्जित 325 करोड़ रुपये के धन को कार्नोस्टी ग्रुप में लगाया और बदले में कार्नोस्टी ग्रुप ने इस धन से कई अचल संपत्तियों की खरीदारी की।’’कुछ दिन पहले एजेंसी ने यूनिटेक समूह की 152.48 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की थी। यूनिटेक समूह और इसके प्रवर्तकों के खिलाफ पीएमएलए के तहत एक आपराधिक मामला दर्ज किया गया था। आरोप लगे थे कि यूनिटेक के मालिकों संजय चंद्रा और अजय चंद्रा ने 2,000 करोड़ रुपये से ज्यादा धन अवैध तौर पर साइप्रस और कैमन आइलैंड में भेजे थे। हाल में एजेंसी ने मामले में जांच के तहत दिल्ली-एनसीआर और मुंबई में 35 परिसरों पर छापेमारी की थी। कंपनी और प्रवर्तकों के खिलाफ दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) द्वारा दर्ज कई प्राथमिकियों का अध्ययन करने के बाद पीएमएलए का मामला दर्ज किया गया था।
2022-10-01 04:23
उद्धरण 3 इमारत
Kesariya Song Out: रणबीर-आलिया की फिल्म Brahmāstra के गाने 'केसरिया' ने लगाई आग, 1 घंटे में मिला 1 मिलियन से ज़्यादा व्यूज़******Highlightsजल्द ही पेरेंट बनने वाले कपल रणबीर कपूर और आलिया भट्ट की बहुप्रतीक्षित फिल्म ‘ब्रह्मास्त्र’ का पहला गाना ‘केसरिया’ आज लॉन्च हो गया है। इस गाने की खूबसूरती देखते ही बनती है। गाने में आलिया और रणबीर के बीच की बॉन्डिंग काफी रिफ्रेशिंग लग रही है। इस गाने में आलिया और रणबीर को बनारस की गलियों में रोमांस करते हुए दिखाया गया है। साथ ही दोनों को वाराणसी के मंदिर में भगवान शिव की पूजा करते हुए देखा जा सकता है।आलिया भट्ट ने इंस्टाग्राम पर इस गाने की एक क्लिप शेयर करते हुए लिखा, “हमारे प्यार की आवाज, अब आपकी है। केसरिया अब जारी हो चुका है।”इस गाने के टीज़र को दर्शकों ने पहले ही ख़ासा पसंद किया था,तो ऐसे में ये गाना तो हिट होना ही था।एक तरह से कहा जाए तो इस गाने को इस साल का लव एंथम कहना गलतनहीं होगा। इस गाने में दर्शकों को आलिया और रणबीर की केमेस्ट्री बेहद पसंद आ रही है। वहीँ कुछ दर्शक रणबीर-आलिया की जोड़ी को ऋषि कपूर और नीतू कपूर की जोड़ी के साथ तुलना कर रहे हैं।‘ब्रह्मास्त्र’ के ‘केसरिया’ गाने को अर्जित सिंह ने अपनी सुरीलीआवाज से बेहद खूबसूरत बना दिया है। इसका म्यूजिक प्रीतम ने दिया है और इसके बोल मशहूर गीतकार अमिताभ भट्टाचार्य ने लिखे हैं, जो सीधे लोगों के दिलों में उतर जाते हैं। कुछ ही घंटेमें गाने को यूट्यूब पर 20लाख से ज्यादा व्यूज मिल चुके हैं।
वापसी