नई पोस्ट करें

PBKS vs GT : पंजाब ने गुजरात को 8 विकेट से हराया, जानिए पूरे मैच का हाल

2022-10-01 07:11:42 431

पंजाबनेगुजरातको8विकेटसेहरायाजानिएपूरेमैचकाहालRajasthan Muslim Population: राजस्थान में बॉर्डर से सटे इलाकों में आई मस्जिदों-मदरसों की बाढ़, जानिए कौन कर रहा है फंडिंग******Highlights उत्तर प्रदेश और असम के अलावा में भी बॉर्डर से सटे इलाकों में मुसलमानों की आबादी बढ़ी है। साथ ही अचानक नए मदरसे और मस्जिदें दिखने लगी है। इस बदलाव को BSF ने भी नोटिस किया और इसकी रिपोर्ट होम मिनिस्ट्री को भेजी। दूसरे धर्मों के लोगों की आबादी में केवल 8-10% का फर्क आया है लेकिन मुसलमानों की आबादी में 25% तक बढ़ गई। ने अपनी रिपोर्ट में यहां तक कहा कि मदरसों की संख्या बढ़ गई है, मदरसों में जाने वाले बच्चों की संख्या में भी इजाफा हुआ है। इसके अलावा पोखरण, मोहनगढ़ और जैसलमेर जैसे सीमा वाले इलाकों में ऐसे मौलवी और मौलाना भी दिख रहे हैं जो बाहरी हैं। इन इलाकों के ज्यादातर मदरसों में पढ़ाने वाले मौलवी भी लोकल नहीं है। ये लोग बाहर से आकर इलाके की मस्जिदों में रह रहे हैं और कहा जा रहा है ये लोग मुस्लिम समुदाय को कट्टरपंथ की तालीम दे रहे हैं।चितौडगढ़ से बीजेपी सांसद सीपी जोशी ने कहा कि राजस्थान में कांग्रेस की सरकार तुष्टिकरण की नीति अपना रही है इसलिए बाहर से आए मुस्लिमों की चेकिंग नहीं की जा रही है। यूपी, असम और राजस्थान तो बड़े और पुराने राज्य हैं लेकिन करीब 22 साल पहले बने पहाड़ी राज्य उत्तराखंड में भी मुस्लिम आबादी बढ़ने की रफ्तार हैरान करने वाली है। उत्तराखंड के भी कुछ इलाके नेपाल से लगते हैं और इन्हीं जिलों में मुस्लिमों की आबादी तेज़ी से बढ़ी है। उत्तराखंड में पिछले 10 सालों में मुसलमानों की संख्या में ढाई गुना की बढ़ोतरी हो गई। कुछ ही दिन पहले खबर आई थी कि उत्तराखंड के जंगलों में बड़े पैमाने पर मज़ार बना दी गई हैं और रोहिंग्या मुसलमानों ने अपनी बस्ती बसा ली हैं जिसके बाद सरकार की तरफ से जंगल की ज़मीन से मज़ार और रोहिंग्या मुसलमानों को हटाने के ऑर्डर दिए गए हैं।यूपी में नेपाल की सीमा से लगे जिलों में और असम में बांग्लादेश से सटे इलाकों में मुसलमानों की बढ़ती आबादी को लेकर पहली बार नवंबर 2021 में डीजीपी क्रॉन्फ्रेस के दौरान प्रधानमंत्री मोदी की मौजूदगी में चिंता जाहिर की गई थी। इस डीजीपी कांफ्रेस की अध्यक्षता प्रधानमंत्री मोदी कर रहे थे और उनके सामने यूपी पुलिस ने एक डिटेल्ड रिपोर्ट पेश की थी। इसी रिपोर्ट को दो दिन पहले अपडेट किया गया। यूपी पुलिस ने अपनी प्रेजेंटेशन में इस बात को भी हाईलाइट किया था कि पहले बॉर्डर के पास वाले गांवों में हिंदू, मुस्लिम और सिखों की मिली जुली आबादी हुआ करती थी लेकिन अब इन जिलों में मुस्लिम आबादी काफी तेजी से बढ़ रही है।जाहिर है अगर पड़ोसी मुल्कों से (पाकिस्तान और बांग्लादेश) बड़ी संख्या में लोगों को हमारे बॉर्डर के इलाकों में भेजा जा रहा है तो ये चिंता की बात है। अगर पाकिस्तान और चीन की साजिश के तहत भारत की सरहद से सटे इलाकों में मुसलमानों को बसाया जा रहा है तो ये एक गंभीर मसला है। अगर इन इलाकों में बड़ी संख्या में मस्जिदों और मदरसों को फाइनेंस किया जा रहा है तो ये खतरे की बात है इसलिए यूपी और असम पुलिस की इस रिपोर्ट पर BSF की जानकारी पर तुरंत कार्रवाई होनी चाहिए।

पंजाबनेगुजरातको8विकेटसेहरायाजानिएपूरेमैचकाहालकांग्रेस का महाराष्ट्र में नांदेड़ और लातूर नगर पंचायत चुनाव में बजा डंका, किया बहुमत हासिल******Highlightsमहाराष्ट्र के जिले की चार नगर पंचायत और नांदेड़ की तीन नगर पंचायत के चुनाव के बुधवार को जारी किए गए नतीजे में कांग्रेस ने बहुमत हासिल किया है। एक अधिकारी ने बताया कि नांदेड़ की नायगांव नगर पंचायत में कांग्रेस ने सभी 17 सीटें जीती हैं। भारतीय जनता पार्टी ने नांदेड़ में तीन और लातूर में 14 सीटों पर विजय हासिल की है। अधिकारी ने कहा कि नांदेड़ में माहुर, अर्धापुर और नायगांव नगर पंचायत में 51 सीटों के लिए मतदान हुआ था जिनमें से कांग्रेस ने 33 सीटें जीती हैं।कांग्रेस ने नायगांव नगर पंचायत में सभी 17 सीटें और अर्धापुर में 17 में से 10 सीटें जीतने के बाद पूर्ण बहुमत हासिल कर लिया है। अधिकारी ने बताया कि ने अर्धापुर में दो सीटों पर विजय हासिल की। माहुर नगर पंचायत में 17 में से छह सीटों पर कांग्रेस, सात पर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और तीन पर शिवसेना ने विजय प्राप्त की। भाजपा को एक सीट पर जीत मिली।लातूर में चार नगर पंचायतों (प्रत्येक में 17 सीट) में 68 सीटों पर मतदान हुआ था। लातूर में भाजपा और राकांपा ने 14-14 सीटें जीती। कांग्रेस को सर्वाधिक 23 सीटें, शिवसेना और प्रहार को छह-छह सीटों पर जीत मिली। निर्दलीय उम्मीदवारों ने चार सीटों पर जीत दर्ज कराई।महाराष्ट्र की महाविकास आघाड़ी सरकार में चिकित्सा शिक्षा मंत्री अमित देशमुख और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण क्रमश: लातूर और नांदेड़ का प्रतिनिधित्व करते हैं। देशमुख और चव्हाण दोनों कांग्रेस के विधायक हैं।पंजाबनेगुजरातको8विकेटसेहरायाजानिएपूरेमैचकाहालरिश्वत के 5 लाख रुपये छोड़कर भाग रहा था इनकम टैक्स इंस्पेक्टर, CBI ने दौड़ाकर पकड़ा****** CBI के एक अधिकारी ने सिनेमाई अंदाज में मुंबई की सड़कों पर एक किलोमीटर से अधिक दूरी तक पीछा करने के बाद आयकर विभाग के अधिकारी आशीष कुमार को गिरफ्तार कर लिया। आयकर अधिकारी रिश्वत में लिए गए 5 लाख रुपये छोड़कर भाग रहा था। अधिकारियों के मुताबिक, यह घटना गुरुवार की रात करीब 10 बजे गोरेगांव ईस्ट में हुई। CBI टीम को शिकायत मिली थी कि आशीष कुमार और आयकर के दो अन्य निरीक्षकों, दिलीप कुमार तथा एसएन राय, ने एक व्यक्ति से 15 लाख रुपये की रिश्वत मांगी थी जिसके यहां हाल ही में आयकर विभाग ने छापा मारा था।अधिकारियों के खिलाफ शिकायत मिलने के बाद CBI ने जाल बिछाया। उन्होंने बताया कि तीनों आरोपी आयकर के बैलार्ड पियर कार्यालय में तैनात हैं और वे अलग-अलग की मांग कर रहे थे ताकि उसके मामले को रफादफा किया जा सके। CBI अधिकारियों के अनुसार, आशीष कुमार और शिकायतकर्ता ने सहमति जताई थी कि रिश्वत की राशि का भुगतान गोरेगांव के डिंडौसी फायर स्टेशन के सामने एक कार में किया जाएगा। उन्होंने कहा कि गुरुवार रात कुमार जैसे ही पैसे लेकर कार से बाहर निकला, उसने CBI अधिकारियों को अपनी ओर आते देखा। इसके बाद उसने रुपये से भरा बैग वहीं फेंक दिया और भागने लगा।अधिकारियों के मुताबिक, कर्मी विनीत जैन ने ट्रैफिक के बीच खदेड़ कर आशीष कुमार को पकड़ लिया। एक अन्य दिलीप कुमार को भी शिकायतकर्ता से 10 लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार कर लिया गया। तीसरे आरोपी एसएन राय के खिलाफ भी मामला दर्ज कर लिया गया है, लेकिन अभी तक वह गिरफ्तार नहीं हुआ है। इस बीच CBI प्रवक्ता आरसी जोशी ने कहा कि मुंबई में 2 और दिल्ली में एक स्थान पर आरोपियों के आवासीय और कार्यालय परिसर की तलाशी ली जा रही है। इस दौरान 7 लाख रुपये नकद और संपत्ति में निवेश से संबंधित दस्तावेज बरामद हुए हैं।

PBKS vs GT : पंजाब ने गुजरात को 8 विकेट से हराया, जानिए पूरे मैच का हाल

पंजाबनेगुजरातको8विकेटसेहरायाजानिएपूरेमैचकाहालSupreme Court: कोयला खनन की लीज रद्द करने पर केंद्र पर 1 लाख रुपये का जुर्माना, सुप्रीम कोर्ट ने 4 हफ्तों में अदा करने का दिया निर्देश******Highlights सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को अड़ियल और लापरवाह रुख के लिए केंद्र पर एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया। इस रुख के कारण निजी कंपनी बीएलए इंडस्ट्रीज को 1997 में मध्य प्रदेश में वैध तरीके से आवंटित कोयला ब्लॉक रद्द हो गया था। सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा कि केंद्रीय कोयला मंत्रालय निजी कंपनी की तरफ से खदान से निकाले गये कोयले पर अतिरिक्त शुल्क के भुगतान के दावे की हकदार नहीं थी। कोर्ट ने कहा कि केंद्र के इस प्रकार के दावे को खारिज किया जाता है।CJI एन वी रमण, जस्टिस कृष्ण मुरारी और जस्टिस हिमा कोहली की पीठ ने बीएलए इंडस्ट्रीज से संबंधित मामले के पूरे घटनाक्रम का जिक्र किया। कंपनी को निजी उपयोग वाले बिजली संयंत्र की कोयला जरूरतों को पूरा करने के लिये मध्य प्रदेश में मोहपानी कोलफील्ड में गोतीतोरिया (पूर्वी और पश्चिम) कोयला ब्लॉक आवंटित किया गया था।कोर्ट ने कहा, ‘‘हम प्रतिवादी संख्या-एक के आचरण के संबंध में टिप्पणियां करने के लिए विवश हैं। यह एक ऐसा मामला है जहां एक निजी कंपनी ने कामकाज शुरू करने के लिए बड़ी राशि निवेश करने से पहले सभी नियमों और कानूनों का पालन किया। जबकि दूसरी तरफ मामले के तथ्यों को देखने से ऐसा लगता है कि केंद्र सरकार ने कानून का पूरी तरह से पालन नहीं किया।’’ पीठ ने कहा कि निजी कंपनी को केंद्र के लापरवाह और अड़ियल रुख के कारण नुकसान उठाना पड़ा। एक जनहित याचिका पर 2014 के फैसले के परिणामस्वरूप कोयला ब्लॉक रद्द कर दिया गया था।़ाकोर्ट ने कहा, ‘‘इतना ही नहीं याचिकाकर्ता की समस्याओं को बढ़ाने के लिये प्रतिवादी संख्या-एक ने इस कोर्ट के समक्ष हलफनामा दायर किया। इसमें याचिकाकर्ता को अनुचित व्यवहार करने वाले खान मालिकों की श्रेणी में रखने की बात कही गयी। इसने यह निर्धारित करने के लिए आवश्यक जांच-पड़ताल नहीं की कि क्या याचिकाकर्ता को वैध प्रक्रिया के माध्यम से खदान आवंटित की गई थी। इस अड़ियल और लापरवाह रुख के कारण मौजूदा याचिकाकर्ताओं को नुकसान उठाना पड़ा।’’सुप्रीम कोर्ट ने मामले में केंद्र को विधि खर्च के रूप में कंपनी को 4 हफ्ते के भीतर एक लाख रुपये देने का निर्देश दिया। कोर्ट ने वकील एमएल शर्मा की एक जनहित याचिका पर फैसला करते हुए 2014 में कहा था कि केंद्र द्वारा गठित निगरानी समिति की सिफारिशों के अनुसार 14 जुलाई 1993 के बाद से कोयला ब्लॉक का पूरा आवंटन मनमाना और दोषपूर्ण है। पीठ ने बीएलए इंडस्ट्रीज की याचिका पर फैसला करते हुए कहा कि निजी कंपनी को वैध प्रक्रियाओं के माध्यम से खनन पट्टा मिला था। कोयला ब्लॉक के आवंटन से कंपनी को नुकसान उठाने के साथ सार्वजनिक रूप से अपमान का भी सामना करना पड़ा।पंजाबनेगुजरातको8विकेटसेहरायाजानिएपूरेमैचकाहालयूपी की चीनी मिलों को सीएम योगी का तोहफा, बैंकों से 4,000 करोड़ रुपये का सस्ता कर्ज दिलवाएगी सरकार******योगी आदित्‍यनाथउत्‍तर प्रदेश की योगी आदित्‍य नाथ सरकार ने चीनी मिलों को बड़ा तोहफा दिया है। प्रदेश सरकार ने राज्य की चीनी मिलों को राष्ट्रीयकृत एवं अन्य बैंकों के जरिए आसान शर्तों पर 4,000 करोड रुपये का कर्ज उपलब्ध कराने का फैसला किया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज कैबिनेट बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा, ''गन्ना किसानों को पेराई सत्र 2016-17 और 2017-18 के बकाया गन्ना मूल्य का पूर्ण और त्वरित भुगतान सुनिश्चित कराने के दृष्टिगत प्रदेश की निजी चीनी मिलों को राष्ट्रीयकृत व अन्य बैंकों के माध्यम से 4000 करोड़ का सस्ता कर्ज उपलब्ध कराए जाने का प्रस्ताव मंजूर किया गया है।'' योगी ने कहा, ''बकाया गन्ना मूल्य के भुगतान के लिए आसान कर्ज हेतु अनुपूरक अनुदान के माध्यम से 4000 करोड़ का बजटीय प्रावधान किया गया है। यह राशि चीनी मिलों को बैंकों के माध्यम से मिलेगी, जिसे वह आरटीजीएस/ एनईएफटी के माध्यम से सीधे गन्ना किसानों के बैंक खातों में जमा करेंगे।''उन्होंने बताया कि गन्ना किसानों को पेराई सत्र 2017-18 की गन्ना खरीद के एवज में बकाया राशि का भुगतान सुनिश्चित कराने हेतु 4.50 रु. प्रति कुंतल की दर से चीनी मिलों को 500 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता उपलब्ध कराने के प्रस्ताव को स्वीकृत किया गया है। यह राशि गन्ना किसानों के खातों में जमा होगी।पंजाबनेगुजरातको8विकेटसेहरायाजानिएपूरेमैचकाहालएनसीपी प्रमुख शरद पवार का मोदी पर निशाना, कहा-'मुझसे पंगा मत लो'****** प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर परोक्ष हमला करते हुए एनसीपी (राकांपा) प्रमुख ने बृहस्पतिवार को कहा कि वह खुद किसी से पहले से पंगा नहीं लेते हैं, लेकिन ऐसा करने वाले को ‘‘उसकी जगह दिखा देते हैं।’’ पवार ने पुलवामा आतंकी हमले के बाद मोदी पर सेना के पराक्रम का राजनीतिक लाभ उठाने का भी आरोप लगाया।पीएम मोदी ने बुधवार को गोंडिया में एक चुनाव रैली में कहा था कि राकांपा नेताओं की नींद उड़ गई है। उन्होंने सोमवार को वर्धा में एक अन्य रैली में राकांपा प्रमुख पर यह कहकर हमला किया था कि पवार ने अपनी पार्टी पर पकड़ खो दी है और इसके भीतर ‘‘पारिवारिक कलह’’ चल रही है। मध्य महाराष्ट्र में यहां एक रैली को संबोधित करते हुए पवार ने मोदी पर परोक्ष हमला करते हुए कहा, ‘‘हम उस मिट्टी से हैं जहां छत्रपति शिवाजी महाराज का जन्म हुआ। हम खुद पहले से किसी पंगा नहीं लेते, लेकिन कोई यदि ऐसा करता है तो उसे उसकी जगह दिखा देते हैं।’’ शरद पवार यहां राकांपा उम्मीदवार राणा जगजीत सिंह पाटिल के लिए प्रचार करने पहुंचे थे।राकांपा प्रमुख ने कहा कि मोदी पूछते हैं कि उन्होंने रक्षामंत्री के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान क्या किया। उल्लेखनीय है कि पवार 1991 से 1993 तक देश के रक्षामंत्री थे। उस समय वह कांग्रेस में थे। पवार ने जवाबी हमला करते हुए कहा कि उन्होंने देश में हमले नहीं होने दिए जैसा कि मोदी की सरकार के दौरान हो रहा है। उन्होंने कहा कि मोदी कहते रहे हैं कि देश में पिछले 70 साल में पूर्ववर्ती सरकारों के दौरान कोई विकास नहीं हुआ, लेकिन मोदी को बताना चाहिए कि क्या उन्होंने इसमें अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली सरकारों (1998 से 2004) के कार्यकाल को भी जोड़ा है।पवार ने राष्ट्र निर्माण में योगदान के लिए पूर्व प्रधानमंत्री- जवाहर लाल नेहरू, लाल बहादुर शास्त्री और राजीव गांधी की सराहना की। उन्होंने कहा, ‘‘वर्तमान प्रधानमंत्री सुरक्षाबलों के शौर्य का अपने प्रचार के लिए इस्तेमाल करते हैं। यह सरकार यहां तक कि कुलभूषण जाधव तक की रिहाई कराने में असफल रही है। 56 इंच का सीना कहां चला गया?’’ उस्मानाबाद निर्वाचन क्षेत्र में लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में 18 अप्रैल को मतदान होगा।

PBKS vs GT : पंजाब ने गुजरात को 8 विकेट से हराया, जानिए पूरे मैच का हाल

पंजाबनेगुजरातको8विकेटसेहरायाजानिएपूरेमैचकाहालAdolf Hitler: इतने करोड़ में बिकी तानाशाह हिटलर की घड़ी, खासियत जानकर हैरान रह जाएंगे आप******Highlights जर्मनी के तानाशाह हिटलर के बारे में कौन नहीं जानता है। आप शायद उसके जन्म से मौत तक की उसकी पूरी ज़िंदगी जानते होंगे, लेकिन क्या आप उसकी उस घड़ी के बारे में जानते हैं, जो उसे उसके 44वें जन्मदिन पर दी गई थी? उस घड़ी की अमेरिका में निलामी हुई है और निलामी में उस घड़ी कि कीमत करोड़ों में लगी है। हालांकि अमेरिका का यहूदी समुदाय हिटलर की घड़ी की इस निलामी के पक्ष में नहीं था, लेकिन इसके बावजूद यह घड़ी बेची गई और इसे खरीददार ने 11 लाख डॉलर यानि कुल 8 करोड़ 70 लाख रुपए दे कर खरीदा।हिटलर की इस घड़ी की बोली लगाने को लेकर यहूदी समुदाय पहले से नाराज है और उसने इस ऑक्शन पर आपत्ति भी जताई थी। हालांकि इसके बावजूद भी अमेरिका के मैरीलैंड में अलेक्जेंडर हिस्टोरिकल ऑक्शन में इस घड़ी को एक ऐसे व्यक्ति को बेंच दिया गया जिसे कोई नहीं जानता। यानि बोली लगाने वाला शख्स गुमनाम है, उसने अपनी पहचान सार्वजनिक नहीं होने दी। शायद उसने ऐसा इसलिए किया होगा, क्योंकि हिटलर को पूरी दुनिया नफरत की नजरों से देखती है और यहूदी समुदाय भी हिटलर की घड़ी के ऑक्शन को लेकर खुश नहीं था।हिटलर को यह घड़ी 20 अप्रैल, 1933 को तब दी गई थी जब वह जर्मनी का चांसलर बना था। इसी दिन हिटलर का जन्मदिन भी था।नीलामीकर्ताओं ने कहा है कि दुनिया के सबसे अनुभवी और सम्मानित घड़ी के जानकारों और सैन्य इतिहासकारों ने पूरे शोध के बाद बताया है कि यह घड़ी वाकई एडॉल्फ हिटलर से संबंधित है। इस घड़ी को युद्ध की स्मृति चिन्ह के रूप में फ्रांसीसी समूह के एक सैनिक गुट ने तब लिया था, जब 4 मई 1945 को इस गुट ने हिटलर के पर्वतीय बरघोफ पर बने किले नुमा इमारत में धावा बोला था। यहां से युद्ध जीत कर जब फ्रांसीसी सैनिक अपने घर वापस आने लगे तो उस समूह के एक सैनिक सार्जेंट रॉबर्ट मिग्नॉट अपने साथ यह घड़ी फ्रांस ले आए। इसके बाद उन्होंने यह घड़ी अपने चचेरे भाई को बेच दिया और यह घड़ी तब से अब तक मिग्नॉटा परिवार के साथ ही रही।पंजाबनेगुजरातको8विकेटसेहरायाजानिएपूरेमैचकाहालकोरोना वायरस की चपेट में टीवी इंडस्ट्री बेहाल हुई, 100 करोड़ के नुकसान की आशंका******कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप से बचने के लिए सरकार ने लॉकडाउन का ऐलान किया है। जिसके चलते टीवी इंडस्ट्री पर भी इसका बहुत असर पड़ रहा है। कोरोना वायरस के चलते टीवी इंडस्ट्री का काम बिल्कुल ठप हो गया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक दो हफ्तों में टीवी इंडस्ट्री को लगभग 100 करोड़ का नुकसान हो चुका है।मुंबई पुलिस ने सभी प्रोडक्शन हाउस से किसी भी तरह की शूटिंग रोकने के लिए कहा है। मार्च महीने तक शूटिंग रोकने की फैसला लिया गया है। सभी सीरियल्स की शूटिंग के कुछ ही एपिसोड शूट किए हुए हैं। टीवी इंडस्ट्री में शूटिंग शिफ्ट के हिसाब से होती है।सीरियल्स की शूटिंग पूरी तरह से बंद होने की वजह से इसका असर इंडस्ट्री के साथ वहां काम करने वाले सपोर्ट स्टाफ पर पड़ रहा है।पिंकविला की रिपोर्ट के मुताबिक टीवी एंड वेब, आईएफटीपीसी के चेयरमैन जेडी मजिठिया ने कहा है कि हम पैनिक नहीं कर सकते हैं। आज हालात मुश्किल है कल पता नहीं क्या हो सकता है। कुछ प्रोड्यूसर्स के पास एपिसोड्स का बैंक नहीं है जिसकी वजह से वह एपिसोड रिपीट कर सकते हैं तो वहीं कुछ के पास कंटेंट होने की वजह से वह फ्रेश कंटेट लेकर आ सकते हैं। उन्होंने बताया 2 हफ्ते में टीवी इंडस्ट्री को कम से कम 100 करोड़ का नुकसान झेलना पड़ेगा।

PBKS vs GT : पंजाब ने गुजरात को 8 विकेट से हराया, जानिए पूरे मैच का हाल

पंजाबनेगुजरातको8विकेटसेहरायाजानिएपूरेमैचकाहालदिल्ली में सिर्फ 2-3 दिन के कोयले का स्टॉक बचा है? सत्येंद्र जैन का बड़ा बयान******बिजली संकट पर दिल्ली के पावर मिनिस्टर का एक बार फिर से बड़ा बयान आया है। दिल्ली के उर्जा मंत्री सत्येंद्र जैन ने आरोप लगाया कि दिल्ली में सिर्फ 2 से तीन दिन का ही कोयला बचा है। दिल्ली के सारे पावर प्लांट 55% कैपिसिटी से चल रहे हैं। अगर पूरी कैपिसिटी से चलेंगे तो कोयला खत्म हो जाएगा। सत्येंद्र जैन ने ये भी कहा कि सरकार 17 रुपये यूनिट बिजली खरीदकर सप्लाई कर रही है, वहीं NTPC ने दिल्ली में कटौती आधी कर दी है।सत्येंद्र जैन ने कहा कि किसी भी पॉवर प्लांट में कोयले का स्टॉक कम से कम 15 दिन से कम का नहीं होना चाहिए। वैसे तो 20 से 30 दिन का स्टॉक होना चाहिए। ज्यादात्तर प्लांट्स में 2 से 3 दिन का स्टॉक बचा है और NTPC ने सारे प्लांट्स अपनी क्षमता से 55 फीसदी पर कर दिए हैं। इस वक्त कोयले की बहुत बड़ी दिक्कत है, इसीलिए यूपी के सीएम ने भी प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है। उन्होंने कहा कि हम 17 रुपये यूनिट, 20 रुपये यूनिट बिजली खरीद कर सप्लाई कर पा रहे हैं।आपको बता दें, कि दिल्ली, पंजाब और यूपी समेत पांच राज्यों के मुख्यमंत्री पीएम मोदी को चिट्ठी लिखकर बिजली संकट की हालत बता चुके हैं। कई राज्यों में कोयले की कमी की वजह से पावर प्लांट बंद हो चुके हैं। बिजली की कटौती 10 से 12 घंटे तक हो रही है लेकिन उर्जा मंत्री आरके सिंह का कहना है कि इसे राजनीतिक मुद्दा बनाया जा रहा है। बिजली संकट जैसी कोई स्थिति नहीं है।केंद्रीय उर्जा मंत्री आर के सिंह का दावा है कि देश में बिजली संकट का मुद्दा जान बूझकर बनाया जा रहा है, जिन राज्यों में विपक्षी दलों की सरकारें हैं, वहां जान बूझकर संकट की बात प्रचारित की जा रही है। उर्जा मंत्री ने कहा कि बिजली संकट को लेकर राजनीति बंद करें। बिजली की डिमांड बढ़ने से देश में कोयले की आपूर्ति जरूर प्रभावित हुई है लेकिन इसे जल्द ही दूर कर लिया जाएगा।

पंजाबनेगुजरातको8विकेटसेहरायाजानिएपूरेमैचकाहालCoornavirus Unlock 1: उत्तराखंड में कोरोना वायरस के 75 नए मामले सामने आए******हमारे दैनिक जीवन में खबरों की बेहद महत्वपूर्ण भूमिका होती है। दिनभर देश-दुनिया से जुड़ी सभी तरह की खबरों के लिए आप बने रहिए इंडिया टीवी न्यूज के साथ जो आपको हर तरह की ब्रेकिंग न्यूज, ब्रेकिंग स्टोरी वीडियो, लाइव टीवी और अन्य बेहतरीन शो एक मंच पर उपलब्ध कराता है ताकि आप हर पल अपडेट रहें।आप यहां सिर्फ एक पेज पर सभी तरह की ताजा खबरेंऔर ब्रेकिंग न्यूज की लाइव कवरेज देख और पढ़ सकते हैं।फिलहाल दुनिया वैश्विक महामारी से बहुत परेशान है। पूरी दुनिया में अभी तक कुल 74,51,957 लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं जबकि 4.18 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं 3.73 लाख लोग कोरोना को मात देकर ठीक हो चुके हैं।पंजाबनेगुजरातको8विकेटसेहरायाजानिएपूरेमैचकाहाल888 रुपए में पेश हुआ सबसे सस्‍ता स्‍मार्टफोन Docoss X1, ये है बुकिंग का तरीका****** आप भले ही रिंगिंग बैल्‍स का फ्रीडम 251 अभी तक नहीं खरीद पाए हों लेकिन आप 888 रुपए में Smartphone का सपना जरूर पूरा कर सकते हैं। स्‍मार्टफोन कंपनी डोकोस ने आज देश का सबसे सस्‍ता स्‍मार्टफोन Docoss X1 बाजार में उतारा है। इसकी कीमत महज 888 रुपए रखी है। इस फोन के लिए कैश ऑन डिलिवरी की सुविधा उपलब्ध है। इसके लिए आपको 99 रुपये डिलिवरी चार्ज अतिरिक्त देना होगा। कंपनी द्वारा अखबारों में दिए गए विज्ञापन के मुताबिक, फोन के लिए बुकिंग वेबसाइट और एसएमएस के जरिए बुधवार सुबह 6 बजे से ही शुरू हो गई है। आखिरी बुकिंग 29 अप्रैल रात 10 बजे तक होगी। कंपनी ने अपने विज्ञापन में भरोसा दिया है कि हैंडसेट की डिलिवरी दो मई से शुरू हो जाएगी।विज्ञापन के मुताबिक, Docoss X1 स्‍मार्टफोन में चार इंच का डिस्‍प्‍ले है। फोन में 1.3GHz का डुअल कोर चिपसेट लगा है। Docoss X1 फोन एंड्रॉएड 4.4 किटकैट पर रन करता है। रैम एक जीबी जबकि इंटरनल मेमोरी 4जीबी की है, जिसे 32 जीबी तक माइक्रोएसडी कार्ड के जरिए एक्‍सपैंड किया जा सकता है। इस फोन का बैक कैमरा 2MP फ्लैश के साथ जबकि फ्रंट फेसिंग कैमरा 0.3MP का है। डुअल सिम सपोर्ट वाला यह फोन वाईफाई और 3जी कनेक्‍ट‍िविटी भी सपोर्ट करता है। इसके अलावा, इसमें 1300mAh की बैटरी भी लगी हुई है। फोन पर एक साल की वॉंरटी भी दी जा रही है।Smartphone under 5000कंपनी के मुताबिक Docoss X1 स्मार्टफोन की बुकिंग दो तरीके से की जा सकती है। आप कंपनी की वेबसाइट पर लॉग ऑन कर सकते हैं, वहीं एसएमएस के जरिये भी बुकिंग कर सकते हैं। इसके लिए आपको अपना नाम पता और पिन कोड 9616003322 पर एसएमएस करना होगा। इस फोन के लिए कैश ऑन डिलिवरी की सुविधा उपलब्ध है। इसके लिए आपको 99 रुपये डिलिवरी चार्ज अतिरिक्त देना होगा। इस स्मार्टफोन की बुकिंग बुधवार, 27 अप्रैल को सुबह 6 बजे से शुरू हो चुकी है। आप 29 अप्रैल रात 10 बजे से पहले पहले Docoss X1 स्‍मार्टफोन को बुक कर सकते हैं। आपको इस फोन को पाने के लिए लंबा इंतजार नहीं करना होगा। कंपनी इस फोन की डिलिवरी 2 मई से ही शुरू कर देगी।FREEDOM 251: फोन मिलने के बाद ही पैसा लेगी रिंगिंग बेल्स, बुकिंग अमाउंट लौटाना किया शुरूDatawind ने वॉइस कॉलिंग टैबलेट के साथ मिलेगा 1 साल मुफ्त इंटरनेट, कीमत 4444 रुपए

पंजाबनेगुजरातको8विकेटसेहरायाजानिएपूरेमैचकाहालनहीं रहे 'महाभारत' के 'भीम' प्रवीण कुमार, 74 साल की उम्र में निधन******बीआर चोपड़ा के मशहूर टीवी सीरियल ‘महाभारत’ में भीम का किरदार निभाने वाले प्रवीण कुमार सोबती का निधन हो गया है। वह 74 साल के थे। प्रवीण कुमार ने अपने करियर में एक्टिंग के अलावा खेल में भी हिस्सा लिया था। वह एक एथलीट भी थे। (इनपुट: जोइता मित्रा सुबर्णा)प्रवीण कुमार सोबती ने दो बार ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व किया था। एशियन और कॉमनवेल्थ गेम्स में उन्होंने देश के लिए कई गोल्ड और सिल्वर मेडल हासिल किए। खेल के प्रति उनके योगदान के लिए साल 1967 में उन्हें अर्जुन अवार्ड से नवाजा गया था।स्पोर्ट्स में सफल करियर बनाने के बाद, प्रवीण ने 70 के दशक के अंत में शोबिज में अपना करियर शुरू किया। टाइम्स ऑफ इंडिया के साथ एक इंटरव्यू में, प्रवीण ने अपनी पहली बॉलीवुड फिल्म के बारे में बताया था। उस वक्त वह कश्मीर में एक टूर्नामेंट में थे। उनकी पहली भूमिका रविकांत नगाइच के निर्देशन में बनी एक ऐसी फिल्म में थी, जहां उनका कोई डायलॉग नहीं था।बाद में, प्रवीण ने साल 1981 में फिल्म 'रक्षा' में अहम भूमिका निभाई। बॉलीवुड में अमिताभ बच्चन की 'शहंशाह' में 'मुख्तार सिंह' के रूप में उनकी सबसे यादगार उपस्थिति थी।प्रवीण की फिल्मोग्राफी में 'करिश्मा कुदरत का', 'युद्ध', 'जबरदस्त', 'सिंहासन', 'खुदगर्ज', 'लोहा', 'मोहब्बत के दुश्मन', 'इलाका' और अन्य जैसे कई फिल्मों का हिस्सा रहे। 80 के दशक के आखिरी वक्त में उन्हें बीआर चोपड़ा की 'महाभारत' में भीम की भूमिका निभाने के लिए साइन किया गया। दर्शकों के जेहन में यह किरदार काफी अहम रहा।साल 2013 में, प्रवीण ने राजनीति में अपना करियर बनाने की कोशिश की और वज़ीरपुर निर्वाचन क्षेत्र से आम आदमी पार्टी के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ा लेकिन हार गए। बाद में वे भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए। प्रवीण ने 2021 में पंजाब सरकार से पेंशन नहीं मिलने पर नाराजगी जताई थी।पंजाबनेगुजरातको8विकेटसेहरायाजानिएपूरेमैचकाहालरिटेल महंगाई मार्च में पहुंची पांच माह के उच्‍च स्‍तर पर, फरवरी में औद्योगिक उत्‍पादन 1.2 फीसदी घटा******दूध, अंडा, खाद्य तेल, ईंधन एवं बिजली की महंगाई से रिटेल महंगाई मार्च में बढ़कर पांच महीने के उच्च स्तर 3.81 प्रतिशत पर पहुंच गई।उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति फरवरी में 3.65 प्रतिशत थी।दूध एवं दुग्ध उत्पाद तथा अंडा जैसे प्रोटीन युक्त खाने के सामान आलोच्य महीने में महंगे हुए और इनकी महंगाई दर क्रमश: 5.13 प्रतिशत तथा 2.96 प्रतिशत रही। तैयार खाना, स्नैक और मिठाई की कीमतों में भी मार्च में सालाना आधार पर 6.13 प्रतिशत की वृद्धि हुई।सांख्यिकी और कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार हालांकि सब्जियों के दाम लगातार नीचे बने हुए हैं। इसके भाव इस बार मार्च महीने में एक साल पहले की तुलना में 8.57 प्रतिशत नीचे रहे। कुल मिलाकर खाद्य मुद्रास्फीति आलोच्य महीने में 1.85 प्रतिशत रही, जो फरवरी में 2.01 प्रतिशत थी। ईंधन और बिजली श्रेणी में महंगाई दर मार्च महीने में बढ़कर 5.75 प्रतिशत रही।इस साल सामान्‍य से कम मानसून की वजह से खाद्य कीमतों में वृद्धि की संभावना के चलते भारतीय रिजर्व बैंक ने लगातार अपनी तीसरी द्वीमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा में प्रमुख ब्‍याज दरों को अपरिवर्तित रखा है।खुदरा (CPI) मुद्रास्फीति फरवरी में बढ़कर 3.65 प्रतिशत हुई, खाद्य और ईंधन कीमतों में वृद्धि का हुआ असरफरवरी में औद्योगिक उत्पादन 1.2 प्रतिशत गिरा, जो इस क्षेत्र का चार महीने का सबसे खराब प्रदर्शन है। आलोच्य माह में खास कर विनिर्माण इकाइयों और पूंजीगत तथा उपभोक्ता सामान क्षेत्र के उत्पादन में तेज गिरावट ने औद्योगिक वृद्धि को डुबाया।फरवरी, 2016 में औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर 1.99 प्रतिशत रही थी। बीते वित्त वर्ष 2016-17 के पहले 11 माह यानी फरवरी तक औद्योगिक उत्पादन कुल मिला कर 0.4 प्रतिशत प्रतिशत की नाम मात्र की वृद्धि के साथ एक साल पहले के स्तर पर ही बना रहा। वर्ष 2015-16 के पहले 11 महीनों में औद्योगिक वृद्धि 2.6 प्रतिशत थी।सीएसओ ने जनवरी के औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर के आंकड़ों को संशोधित कर 3.27 प्रतिशत कर दिया है। पिछले महीने जारी अस्थायी आंकड़ों में जनवरी की वृद्धि 2.74 प्रतिशत बताई गई थी। इससे पहले अक्‍टूबर में औद्योगिक उत्पादन 1.87 प्रतिशत घटा था। इसके बाद नवंबर में यह 5.59 प्रतिशत चढ़ा था।फरवरी में औद्योगिक उत्पादन में गिरावट की प्रमुख वजह विनिर्माण क्षेत्र रहा। आईआईपी में 75 प्रतिशत का भारांश रखने वाले विनिर्माण क्षेत्र में माह के दौरान दो प्रतिशत की गिरावट आई। फरवरी, 2016 में इस क्षेत्र का उत्पादन 0.6 प्रतिशत बढ़ा था।

पंजाबनेगुजरातको8विकेटसेहरायाजानिएपूरेमैचकाहालकांग्रेस का चुनाव आयोग पर बड़ा आरोप, कहा- EC यूपी और गोवा के लिए अलग-अलग कोविड मानदंड लागू कर रहा******Highlightsगोवा में कांग्रेस ने सोमवार को भारतीय चुनाव आयोग (ईसीआई) पर चुनावी राज्यों उत्तर प्रदेश और गोवा में दो अलग-अलग कोविड प्रोटोकॉल मानकों का पालन करने का आरोप लगाया। पेरनेम विधानसभा क्षेत्र में पार्टी कार्यकतार्ओं की एक बैठक में बोलते हुए, गोवा के प्रभारी अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव दिनेश गुंडू राव ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता अमित शाह को 5,000 समर्थकों के साथ बड़ी पदयात्रा करने की अनुमति दी जा रही है। गोवा में चुनाव अधिकारियों ने तटीय राज्य में कांग्रेस पार्टी द्वारा आयोजित छोटी-छोटी बैठकों पर भी नकेल कसने हुए पक्षपात किया है।उन्होंने कहा, के कारण बड़ी बैठकें नहीं हो सकती हैं। इसे लेकर दिशानिर्देश जारी किए गए हैं और जब भी लोग इकट्ठा होते हैं, तो एक उड़न दस्ता मामला दर्ज करता है। विशेष रूप से जब कांग्रेस पार्टी की बैठकों की बात आती है, तो वे और मामले दर्ज करने के लिए तैयार होते हैं। इसलिए लोगों को संदेश देने के लिए हमें छोटी-छोटी बैठकें करनी होंगी। हमें घर-घर जाना होगा। राव ने कहा, मैं एक दिन टीवी देख रहा था। अमित शाह ने उत्तर प्रदेश में लगभग 5,000 लोगों के साथ एक पदयात्रा का आयोजन किया। किसी ने उनके खिलाफ मामला दर्ज नहीं किया।उन्होंने आगे कहा, मैं से अनुरोध करता हूं, यूपी के लिए एक नियम और गोवा के लिए दूसरा नियम न बनाएं। पूरे देश के लिए एक नियम रखें। विपक्षी दलों को प्रचार करने का मौका नहीं देना, उन्हें लोगों के पास जाने की अनुमति नहीं देना (सही नहीं है)। लोग भाजपा सरकार के खिलाफ हैं। वे उन्हें गोवा में घर भेजना चाहते हैं। एआईसीसी सचिव ने यह भी कहा कि सत्तारूढ़ भाजपा ने देश में सभी संस्थानों पर नियंत्रण कर लिया है और सत्ताधारी पार्टी के लाभ के लिए इनका इस्तेमाल किया जा रहा है।उन्होंने कहा, बीजेपी ने हमारे सभी संस्थानों पर नियंत्रण कर लिया है। चाहे वह आयकर, सीबीआई (केंद्रीय जांच ब्यूरो), ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) या चुनाव आयोग जैसे अन्य विभाग विभाग हो। उनका उपयोग उनके लाभ के लिए किया जा रहा है। इसलिए गोवा में भी, वे नहीं चाहते कि अन्य राजनीतिक दल प्रचार करें और बड़े समारोह आयोजित करें।इनपुट- आईएएनएसपंजाबनेगुजरातको8विकेटसेहरायाजानिएपूरेमैचकाहालBihar News: बच्चे को सीने में दबाए घायल बंदरिया पहुंची क्लिनिक, डॉक्टर ने घाव साफ कर किया इलाज, देखें VIDEO******Highlights बिहार के (Sasaram) के शाहजमा मोहल्ले में स्थित एक निजी क्लिनिक में एक घायल बंदर अपने बच्चे के को गोद में लेकर इलाज के लिए पहुंच गई जो कौतूहल और चर्चा का विषय बना हुआ है। बताया जाता है कि शाहजमा मोहल्ले में डॉ. एस.एम. अहमद के मेडिको नामक क्लीनिक में दोपहर के सन्नाटे के दौरान अचानक एक बंदरिया अपने कलेजे से एक अपने छोटे से बच्चे को लगाए क्लीनिक के अंदर आ गई और मरीज वाले टेबल पर बैठ गई।बंदरिया के चेहरे पर चोट के निशान थे। शायद किसी ने उसे पत्थर मार दिया था जिससे वह घायल हो गई थी और इलाज के लिए खुद डॉक्टर के यहां पहुंच गई। यह अनोखा दृश्य देखने के लिए भीड़ इकट्ठा हो गई। डॉ. एस.एम.अहमद ने बताया कि पहले तो वो खुद थोड़ा डर गए, लेकिन उसके चेहरे के जख्म को देखकर उन्हें समझते देर नहीं लगी कि यह जानवर घायल है और इलाज के लिए उनके पास आई है। सबसे बड़ी बात है कि डॉक्टर ने जब उसे टिटनेस का इंजेक्शन दिया, तो आराम से उसने लगवा लिया। साथ ही चेहरे के चोट वाली घाव पर दवा भी लगवाई। इसके बाद काफी देर तक वह पेशेंट वाले टेबल पर वह जाकर लेट भी गई और अपने नन्हे बच्चे को कलेजे से लगाए रखा।क्लिनिक में दूसरे पेशेंट भी बैठे थे लेकिन उन्हें परेशान नहीं किया। थोड़ी देर में डॉ. एस एम अहमद के क्लिनिक के आगे तमाशबीन बच्चों, राहगीरों की भीड़ इकट्ठा हो गई। इलाज पूरा हो जाने के बाद डॉक्टर साहब ने जब भीड़ को वहां से हटाया, तो आसानी से अपने बच्चे को लेकर वह बंदरिया निकल गई। यह पूरा माजरा कौतूहल भरा था। डॉक्टर खुद अचंभित है, जिस प्रकार से एक जानवर में तमाम ज्ञानेंद्रियां विकसित है और वह यह समझ कर उसके पास आई कि यहां उसका इलाज हो जाएगा, यह बड़ी बात है। घायल बंदरिया का इलाज करने वाले डॉक्टर कहते हैं कि उनके लिए ये एक कौतूहलपूर्ण अनुभव रहा।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 05:13
उद्धरण 1 इमारत
Dabangg 3: किच्चा सुदीप का फर्स्ट लुक आया सामने, सलमान खान ने कहा- विलेन जितना बड़ा हो, भिड़ने में उतना ही मजा आता है******सलमान खान की फिल्म 'दबंग 3' में चुलबुल पांडे का लुक देखने के बाद फैंस के लिए एक और लुक की तस्वीर भाईजान ने शेयर की है। जिसमें उन्होंने किच्चा सुदीप को दर्शको से परिचय कराया।सलमान खान ने अपने इंस्टाग्राम अंकाउट में साउथ इंडियन सुपरस्टार किच्चा सुदीप को पोस्टर शेयर किया। जिसमें उन्होंने लिखा, 'विलेन जितना बड़ा हो, उससे भीड़ने में उतना ही मजा आता आता है। मिलिए किच्चा सुदीप से जो दबंग 3' में बल्ली का किरदार निभा रहे है।दबंग 3 में सुदीप विलेन के रुप में नजर आ रहे है। इससे पहले दबंग में प्रकाश राज और दबंग 2 में सोनू निगम विलेन के रुप में नजर आ चुके हैं।वहीं सुदीप ने सलमान खान के साथ तस्वीर शेयर करते हुए सलमान खान को शुक्रिया कहा।आपको बता दें, सलमान खान की फिल्म 'दबंग 3' इसी साल 20 दिसंबर को रिलीज होने वाली है। इस फिल्म में सलमान खान के अलावा सोनाक्षी, किचा सुदीप नजर आने वाले है।
2022-10-01 04:59
उद्धरण 2 इमारत
साप्ताहिक राशिफल 4 से 10 मार्च: इन राशि वालों के लिए यह सप्ताह है खास, आ सकते हैं शादी के लिए रिश्ते****** इस सप्ताह आप यह अपेक्षा रख सकते है कि आपमें कार्य करने को लेकर असीम उर्जा, योजना बनाने को लेकर एक रचनात्मक सकारात्मकता व परिणामों को लेकर संतुष्टि आपको मिले। हालांकि इसे हासिल करने के लिये आपको कड़ी मेहनत व अनवरत प्रयास भी करने होंगें क्योंकि उत्पादकता के लिहाज से इस सप्ताह भी ख़ास सुधार देखने को नहीं मिल रहा। आपका प्रेमजीवन हालांकि काफी खुशगवार हो सकता है तो वहीं सामाजिक कार्यों में भी आपकी भागीदारी बढ़ सकती है। फिलहाल आप अपने सामाजिक जीवन से जितनी खुशियाँ प्राप्त कर सकते है, करें| कुल मिलाकर आपके लिये यह सप्ताह काफी अच्छा रहने वाला है। इस सप्ताह आपको खुद में भावनात्मक तौर पर मजबूती लाने का प्रयास करना होगा। इस दौरान आपके व्यक्तित्व में कुछ परिवर्तन आ सकते हैं और इन परिवर्तनों के बदौलत आप अपने सभी कार्यों को बहुत ही ख़ूबसूरती के साथ पूरा कर सकेंगे। इस समय कुछ भी नामुमकिन नहीं लगेगा। आपके प्रयोग करने की प्रवृति के चलते आपकी ज़िन्दगी और भी रोचक होगी और आप अपने कार्यों को अनोखे तरीके से अंजाम तक पहुचाएंगे। कुल मिलाकर जीवन में किसी खास का आना आपके लिये लाइफ के हर पहलू में एक ताजगी लाने वाला रहेगा। आप घर से लेकर दफ्तर तक काफी उत्साहित रह सकते हैं। हालांकि कई बार उत्साह में आकर भावुक होकर हम गलत निर्णय भी ले सकते हैं।
2022-10-01 04:37
उद्धरण 3 इमारत
दिल्ली में सिर्फ 2-3 दिन के कोयले का स्टॉक बचा है? सत्येंद्र जैन का बड़ा बयान******बिजली संकट पर दिल्ली के पावर मिनिस्टर का एक बार फिर से बड़ा बयान आया है। दिल्ली के उर्जा मंत्री सत्येंद्र जैन ने आरोप लगाया कि दिल्ली में सिर्फ 2 से तीन दिन का ही कोयला बचा है। दिल्ली के सारे पावर प्लांट 55% कैपिसिटी से चल रहे हैं। अगर पूरी कैपिसिटी से चलेंगे तो कोयला खत्म हो जाएगा। सत्येंद्र जैन ने ये भी कहा कि सरकार 17 रुपये यूनिट बिजली खरीदकर सप्लाई कर रही है, वहीं NTPC ने दिल्ली में कटौती आधी कर दी है।सत्येंद्र जैन ने कहा कि किसी भी पॉवर प्लांट में कोयले का स्टॉक कम से कम 15 दिन से कम का नहीं होना चाहिए। वैसे तो 20 से 30 दिन का स्टॉक होना चाहिए। ज्यादात्तर प्लांट्स में 2 से 3 दिन का स्टॉक बचा है और NTPC ने सारे प्लांट्स अपनी क्षमता से 55 फीसदी पर कर दिए हैं। इस वक्त कोयले की बहुत बड़ी दिक्कत है, इसीलिए यूपी के सीएम ने भी प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है। उन्होंने कहा कि हम 17 रुपये यूनिट, 20 रुपये यूनिट बिजली खरीद कर सप्लाई कर पा रहे हैं।आपको बता दें, कि दिल्ली, पंजाब और यूपी समेत पांच राज्यों के मुख्यमंत्री पीएम मोदी को चिट्ठी लिखकर बिजली संकट की हालत बता चुके हैं। कई राज्यों में कोयले की कमी की वजह से पावर प्लांट बंद हो चुके हैं। बिजली की कटौती 10 से 12 घंटे तक हो रही है लेकिन उर्जा मंत्री आरके सिंह का कहना है कि इसे राजनीतिक मुद्दा बनाया जा रहा है। बिजली संकट जैसी कोई स्थिति नहीं है।केंद्रीय उर्जा मंत्री आर के सिंह का दावा है कि देश में बिजली संकट का मुद्दा जान बूझकर बनाया जा रहा है, जिन राज्यों में विपक्षी दलों की सरकारें हैं, वहां जान बूझकर संकट की बात प्रचारित की जा रही है। उर्जा मंत्री ने कहा कि बिजली संकट को लेकर राजनीति बंद करें। बिजली की डिमांड बढ़ने से देश में कोयले की आपूर्ति जरूर प्रभावित हुई है लेकिन इसे जल्द ही दूर कर लिया जाएगा।
वापसी