नई पोस्ट करें

"5 NXT सुपरस्टार्स जो 2021 मेंस Royal Rumble मैच में चौंकाने वाली एंट्री कर सकते हैं "

2022-10-01 05:08:12 761

सुपरस्टार्सजो2021मेंसRoyalRumbleमैचमेंचौंकानेवालीएंट्रीकरसकतेहैं Hiring outlook: 2020 के पहले 6 महीने में बरसेंगी नौकरियां, 71% कंपनियों ने जताई नई भर्तियों की उम्मीद******New Job Survey रोजगार के मुद्दे पर सरकार के लिए राहत की खबर है। उद्योग जगत इस साल के पहले 6 महीने में जमकर नौकरियां बांटने जा रहा है। रोजगार को लेकर एक सर्वे की माने तो इस साल के पहले 6 महीने के दौरान 71 फीसदी कंपनियां नई भर्तिया करने जा रही है। इस दौरान सबसे ज्यादा नौकरियां एनालिटिक्स सेग्मेंट में मिलेंगी। वहीं आईटी सेल्स और मार्केटिंग में भी जॉब की बरसात होने वाली है।नौकरियों को लेकर ये रिपोर्ट नौकरी हायरिंग आउटलुक जनवरी-जून 2020 के नाम से पेश हुई है। साल में दो बार आने वाले इस सर्वे में इस बार देश भर से करीब 2400 कंपनियों ने हिस्सा लिया है। सर्वे के मुताबिक 55 फीसदी कंपनियों का मानना है कि वो जून तक न केवल मौजूदा जॉब पोजीशन के लिए आवेदन मांगने जा रही हैं, साथ ही वो इस दौरान नई नौकरियां भी देंगीं। वहीं 26 फीसदी कंपनियों ने सिर्फ नई नौकरी और 13 फीसदी कंपनियों ने मौजूदा जॉब पोजीशन के लिए आवेदन मांगने का फैसला किया है। यानि कुल 94 फीसदी कंपनियां पहले 6 महीने में भर्तियां करेंगी। वहीं 71 फीसदी कंपनियों में जॉब के नए मौके भी मिलने जा रहे हैं। सर्वे में सिर्फ 3 फीसदी कंपनियो ने माना है कि वो किसी तरह की कोई भर्ती नहीं करेगी। साथ ही सिर्फ 1 फीसदी कंपनियों ने माना को वो छंटनी करने जा रही हैं।नौकरी डॉट कॉम के चीफ बिजनेस ऑफिसर पवन गोयल के मुताबिक 6 महीने के दौरान सबसे ज्यादा नौकरी एनालिटिक्स सेग्मेंट में मिलेगी। सर्वे में शामिल 14 फीसदी कंपनियों ने इस सेग्मेंट के लिए नौकरी देने की बात कही है। इसके साथ ही आईटी, सेल्स और मार्केटिंग में भी नौकरियों को लेकर सकारात्मक संकेत बने हुए हैं। अगले 6 महीने के दौरान ऑफर होने वाली नौकरियों में अधिकांश नौकरियां 5 साल से कम अनुभव वाले कर्मचारियों के लिए है। इन 6 महीने के दौरान 3 से 5 साल के अनुभव वाले लोगों को ऑफर देने वाली कंपनियों का हिस्सा 62 फीसदी है। वहीं 1 से 3 साल के अनुभव वाले पेशेवर के लिए 51 फीसदी कंपनियों के पास नौकरियां हैं। 8 से 12 साल का अनुभव रखने वाले लोगों के लिए 30 फीसदी कंपनियों केपास नौकरियों के प्रस्ताव हैं। वहीं 12 साल से ज्यादा अनुभव वाले लोगों को 18 फीसदी कंपनियां जॉब ऑफर कर सकती है।इस दौरान 66 फीसदी कंपनियां मानती हैं कि नौकरी छोड़ने की दर 5 फीसदी या उससे ज्यादा रहेगी। इसमें से भी 40 फीसदी कंपनियांये अनुमान 10 फीसदी से ज्यादा का रख रही हैं। कंपनियों का अनुमान है कि उनके यहां काम कर रहे 1 से 3 साल के अनुभव वाले 46 फीसदी लोग अपनी नौकरी बदल सकते हैं। पहले 6 महीने के दौरान वेतन में बेहतर बढ़ोतरी दर्ज हो सकती है। 60 फीसदी कंपनियों के मुताबिक लोगों के वेतन में 5 से 30 फीसदी तक बढ़त मिल सकती है। कंपनियों की सबसे बड़ी चिंता काबिल लोगों की कमी को लेकर है। उनके मुताबिक 1 से 5 साल अनुभव श्रेणी में काबिल लोगों की कमी से 80 फीसदी से ज्यादा कंपनियां जूझ रही हैं।

सुपरस्टार्सजो2021मेंसRoyalRumbleमैचमेंचौंकानेवालीएंट्रीकरसकतेहैं Uttar Pradesh: यूपी में एक दुकान में लगी भीषण आग, महिला की जलकर हुई मौत******Highlights शामली जिले के थनभवन थाना क्षेत्र के भेसानी इस्लामपुर गांव में गुरुवार को देर रात एक दुकान में आग लगने से 35 वर्षीय एक महिला की जलकर मौत हो गयी। पुलिस ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।पुलिस के अनुसार मृतक की पहचान फरीदा (35) के रूप में हुई है। थाना प्रभारी अनिल कुमार ने बताया कि घटना देर रात करीब 2 बजे की है, जब पीड़िता दुकान में सो रही थी और उसका पति साजिद ऊपर की मंजिल पर था। इसी बीच अचानक दुकान में आग लग गई। दुकान में रखे पेट्रोल के चलते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया। दुकान में रखे पेट्रोल में भयंकर आग के चलते सारा सामान भी जलकर नष्ट हो गया।पुलिस ने बताया कि सूचना मिलने पर ग्रामीण मौके पर पहुंचे और आग पर काबू पाने का प्रयास किया। मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पुलिस ने बताया कि साजिद को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है। साजिद ने हालांकि दावा किया कि शार्ट-सर्किट के कारण उनकी किराने की दुकान में आग लग गई थी।कुछ दिनों पहले हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले में स्थित धार पंचायत में एक विवाहिता की जलने से मौत का मामला सामने आया था। इस दौरान कथित रूप से आग बुझाने के चक्कर में उसका पति भी झुलस गया था। हालांकि महिला के मायके पक्ष ने हत्या का इल्जाम लगाते हुए कहा कि उनकी बेटी आत्महत्या नहीं कर सकती है। उनका आरोप है कि महिला के ससुरालवालों ने कई बातें छुपाई, जिससे कुछ शक हो रहा है।मृतका के परिवारवालों ने उसके ससुराल में हंगामा भी किया और यही मांग करते रहे कि रजिता के पति को उनके सामने लाया जाए। माहौल बिगड़ने की आशंका के चलते मौके पर काफी संख्या में पुलिस बल तैनात है। देहरा का अतिरिक्त कार्यभार देख रहे डीएसपी ज्वालामुखी चंद्रपाल सिंह और एसएचओ नाजर सिंह भी मौके पर मौजूद थे। पुलिस की मौजदूगी में विवाहिता का अंतिम संस्कार कर दिया गया।सुपरस्टार्सजो2021मेंसRoyalRumbleमैचमेंचौंकानेवालीएंट्रीकरसकतेहैं केपीएस मल्होत्रा को यूनियन होम मिनिस्टर मेडल फॉर एक्सिलेंस इन्वेस्टिगेशन 2021 से नवाजा गया****** दिल्ली पुलिस कमिश्नर के सेक्रेटरियेट में डीसीपी के तौर पर कार्यरत केपीएस मल्होत्रा को यूनियन होम मिनिस्टर मेडल फॉर एक्सिलेंस इन्वेस्टिगेशन 2021 के तौर पर नवाजा गया है। केपीएस मल्होत्रा दिल्ली पुलिस के अलावा एनसीबी नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो और अंडमान निकोबार में अपनी शानदार सेवाएं दे चुके हैं। टेक्नोलॉजी पर फोकस करते हुए केपीएस मल्होत्रा के नेतृत्व में पहला डार्कनेट वेंडर psychotropic substances, पहला साइबर टेरर केस और espionage केस सुलझाया गया।केपीएस मल्होत्रा के नेतृत्व में कई हाईप्रोफाइल केस जैसे MoPNG, मिनिस्ट्री ऑफ पैट्रोलियम एंड नेचुरल गैस espionage केस, दिल्ली के स्कूलों में ईडब्ल्यूएस केस घोटाला, नारायण साईं की गिरफ्तारी और अंडरवर्ल्ड से जुड़े कई केस सुलझाए गए हैं।केपीएस मल्होत्रा ने बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में मुंबई में एनसीबी को हेड करके जांच की, इसके अलावा भारत से एक कपल को ड्रग्स की सप्लाई के केस में गलत तरीके से फंसाकर क़तर की जेल में बन्द करवाने वाले मामले में मौजूदा कमिश्नर राकेश अस्थाना जो उस वक्त एनसीबी के डीजी थे, जांच करके उस कपल को बाइज्जत बरी करवाकर वापिस भारत लाए। कतर कपल को रेस्क्यू कराने और डार्कनेट के मामले में केपीएस मल्होत्रा को अवार्ड दिया जा रहा है।झारखंड के न्यायाधीश उत्तम आनंद की मौत की जांच करने वाले केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) के अधिकारी वी के शुक्ला एजेंसी के उन 15 अधिकारियों की सूची में शामिल हैं, जिन्हें 2021 में “अन्वेषण में उत्कृष्टता के लिये गृहमंत्री का पदक” प्रदान किया गया है। अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। विजय कुमार शुक्ला सीबीआई की विशेष अपराध शाखा में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के पद पर तैनात हैं।न्यायाधीश की मौत के अलावा सथानकुलम पुलिस थाना में एक पिता और पुत्र की हिरासत में हत्या जैसे अन्य सनसनीखेज मामलों की जांच कर चुके हैं। इसके अलावा जम्मू-कश्मीर पुलिस के अधिकारी की पत्नी नेहा कुमारी की मौत की जांच करने वाले पुलिस उपाधीक्षक शाम दत्त, बैंक धोखाधड़ी मामलों की जांच करने वाले कौशल किशोर सिंह और आय से अधिक संपत्ति के मामलों की जांच करने वाले राजेन्द्र सिंह गुसाईं समेत सीबीआई के कुल 15 अधिकारियों को गृह मंत्री के पदक से सम्मानित किया।पर्दी समुदाय की लापता महिला की तलाश की जांच का नेतृत्व करने वाले पुलिस उपाधीक्षक अतुल हलेजा, आईआरएस अधिकारी के खिलाफ 40 लाख रुपये रिश्वत लेने का मामला दर्ज करने वाले महर्षि रे और भिंड जिले में एक नाबालिग लड़की के अपहरण की जांच करने वाले आशुतोष कुमार को भी “अन्वेषण में उत्कृष्टता के लिये गृहमंत्री का पदक” से सम्मानित किया गया।केन्द्रीय की ओर से इस पदक की शुरुआत 2018 में की गई थी और इसका उद्देश्य था विभिन्न राज्यों की पुलिस के अलावा केन्द्रीय जांच एजेंसियों द्वारा अपराधों की जांच में उच्च प्रोफेशनल मानकों को प्रोत्साहित करना तथा उत्कृष्ट अन्वेषण करने वाले जांच अधिकारियों की मेहनत को सम्मानित करना है।

सुपरस्टार्सजो2021मेंसRoyalRumbleमैचमेंचौंकानेवालीएंट्रीकरसकतेहैं इंग्लैंड ने वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला के लिए पॉल कोलिंगवुड को बनाया अंतरिम मुख्य कोच******Highlightsपूर्व आलराउंडर और कप्तान पॉल कोलिंगवुड को अगले महीने होने वाले वेस्टइंडीज दौरे के लिए इंग्लैंड टीम का अंतरिम मुख्य कोच नियुक्त किया गया है। इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने सोमवार को इस बात की जानकारी दी। टीम के असिस्टेंट कोच कोलिंगवुड क्रिस सिल्वरवुड की जगह लेंगे। जिन्हें आस्ट्रेलिया में एशेज श्रृंखला में 4-0 की शर्मनाक हार के बाद पिछले हफ्ते पद से हटा दिया गया।पिछले महीने वेस्टइंडीज दौरे के दौरान इंग्लैंड की टी20 टीम का प्रभार संभालने वाले 45 साल के कोलिंगवुड अभी बारबडोस में ब्रेक पर हैं। वो खिलाड़ियों के 25 फरवरी को एंटीगा पहुंचने पर उनके साथ जुड़ेंगे। इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) के बयान में कोलिंगवुड ने कहा, ‘‘मैं कैरेबियाई दौरे पर टेस्ट टीम का मार्गदर्शन करने को लेकर बेहद रोमांचित हूं। मैं दौरे की शुरुआत का इंतजार नहीं कर सकता।’’ कोलिंगवुड ने इंग्लैंड के लिए 68 टेस्ट, 197 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय और 36 टी20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले खेले हैं। टीम की घोषणा इसी हफ्ते की जानी है। पहला टेस्ट एंटीगा में एक मार्च से शुरू होगा।सुपरस्टार्सजो2021मेंसRoyalRumbleमैचमेंचौंकानेवालीएंट्रीकरसकतेहैं 2019-20 में बैंकों द्वारा दर्ज फ्रॉड दोगुना होकर 1.85 लाख करोड़ रुपय़े, 80% हिस्सा सरकारी बैंकों का******नई दिल्ली। पिछले वित्त वर्ष के दौरान बैंकों द्वारा 1 लाख रुपये से ऊपर के दर्ज किए गए फ्रॉड की कुल रकम दोगुना होकर 1.85 लाख करोड़ रुपये पहुंच गई है। वहीं ऐसे मामलों की संख्या में इसी दौरान 28 फीसदी की बढ़त देखने को मिली है। रिपोर्ट की गई कुल फ्रॉड की रकम का 80 फीसदी हिस्सा सरकारी बैंकों के खाते में है। वहीं सबसे ज्यादा फ्रॉड बैंकों से मिलने वाले कर्ज को लेकर किए गए हैं। ये सभी जानकारियां रिजर्व बैंक के द्वारा मंगलवार को जारी सालाना रिपोर्ट में सामने आई हैं।खास बात ये है कि धोखाधड़ी के ये मामले सिर्फ पिछले वित्त वर्ष में ही रिपोर्ट किए गए हैं, हालांकि इनमें से कई मामले पिछले कई साल से जुड़े हैं। रिजर्व बैंक के मुताबिक पिछले वित्त वर्ष में बैंकों और वित्तीय संस्थानों में धोखाधड़ी होने और उसका पता चलने का औसत समय 2 साल रहा है। वहीं 100 करोड़ रुपये से अधिक की धोखाधड़ी को रिपोर्ट करने का औसत समय इससे भी कही ज्यादा रहा है। इन घपले को दर्ज करने में औसत 63 महीने लगे। केंद्रीय बैंक ने संकेत दिए हैं कि वो ये जानने की कोशिश करेंगे कि रिपोर्टिंग में बैंकों को इतना वक्त क्यों लगा। रिजर्व बैंक लगातार कोशिश कर रहा है कि घपला होने और बैंकों द्वारा उसे दर्ज करने के बीच का वक्त कम से कम किया जाए।रिपोर्ट की माने तो कुल रकम में बड़े कर्ज का असर सबसे ज्यादा रहा है। कर्ज से जुड़े टॉप 50 फ्रॉड का हिस्सा फ्रॉड की पूरी रकम का 76 फीसदी है। वहीं 1.85 लाख करोड़ रुपये के कुल फ्रॉड में से 80 फीसदी हिस्सा सरकारी बैंकों का है, 18 फीसदी हिस्सा निजी बैंकों का है। कुल फ्रॉड का 98 फीसदी हिस्सा कर्ज सेग्मेंट से जुड़ा है। वहीं बाकी हिस्सा बैलेंस शीट, इंटरनेट बैंकिंग, कार्ड और विदेशों में जुड़े ट्रांजेक्शन को लेकर हुए घपलों का है।रिजर्व बैंक के नियमों के मुताबिक अगर कर्ज से जुडा कोई फ्रॉड दर्ज किया जाता है, तो बैंक को शेष बची धनराशि के 100 फीसदी के बराबर प्रोविजन रखना पड़ता है। ये वो एक बार में कर सकते हैं या फिर वो अगली 4 तिमाही में कर सकते हैं। खास बात ये है कि पिछले साल दर्ज हुए घपलों की संख्या में उछाल के बाद इस वित्त वर्ष में जून तिमाही के दौरान दर्ज हुए फ्रॉड में पिछले साल की इसी अवधि के मुकाबले गिरावट देखने को मिली है। अप्रैल से जून के बीच दर्ज घपलों में कुल 28,843 करोड़ रुपये की रकम शामिल थी, वहीं पिछले साल की इसी तिमाही में ये आंकड़ा 42 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा था।सुपरस्टार्सजो2021मेंसRoyalRumbleमैचमेंचौंकानेवालीएंट्रीकरसकतेहैं तीन श्रम संहिताओं के तहत नियमों को माह के अंत तक अंतिम रूप दे दिया जाएगा: श्रम सचिव******श्रम संहिताओं के नियमों को अंतिम रूप जल्दनई दिल्ली। औद्योगिक संबंध, पेशागत सुरक्षा, स्वास्थ्य और कामकाज की स्थिति तथा सामाजिक सुरक्षा संहिताओं के तहत नियमों को माह के अंत तक अंतिम रूप दे दिया जाएगा। इससे एक अप्रैल से पहले ही चारों श्रम सुधारों को लागू करने का रास्ता साफ हो जाएगा। श्रम मंत्रालय ने इस साल एक अप्रैल से चार श्रम संहिताओं को एक बार में लागू करने की योजना बनायी हुई है। मंत्रालय चार केंद्रीय श्रम कानूनों को चार व्यापक संहिताओं मजदूरी, औद्योगिक संबंधों, सामाजिक सुरक्षा तथा पेशागत सुरक्षा, स्वास्थ्य और कामकाज की स्थिति (ओएसएच) में समाहित करने के अंतिम चरण में है।श्रम सचिव अपूर्व चंद्र ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा, ‘‘हम माह के अंत तक औद्योगिक संबंधों, सामाजिक सुरक्षा और ओएसएच संहिताओं के तहत नियमों को तैयार कर लेंगे। चारों संहिता इसके अंतर्गत नियम अधिसूचित होने के बाद लागू हो सकती हैं।’’ मंत्रालय ने पिछले साल मानसून सत्र में संसद की मंजूरी के बाद संबंधित पक्षों की प्रतिक्रिया जानने के लिये मजदूरी को छोड़कर संहिताओं के तहत नियमों को पिछले साल नवंबर में जारी किया था। मजदूरी संहिता को संसद ने 2019 में मंजूरी दे दी थी और नियमों को भी अंतिम रूप दे दिया गया। लेकिन मंत्रालय ने इसके क्रियान्वयन को रोक लिया क्योंकि वह चारों संहिताओं को एक साथ लागू करना चाहता है। सचिव ने यह भी कहा कि मंत्रालय राज्यों के श्रम कानूनों का अध्ययन करने के लिये जल्दी ही कानूनी सलाहकार नियुक्त करेगा ताकि उसे केंद्रीय कानूनों के अनुरूप बनाया जा सके। श्रम का विषय संविधा की समवर्ती सूची में है। अत: इस पर केंद्र के साथ-साथ राज्य भी कानून बना सकते हैं।उन्होंने यह भी कहा कि विनिर्माण, खनन और सेवा क्षेत्रों के लिए मसौदा मॉडल स्थायी आदेश (स्टैन्डिंग आर्डर) को भी अगले महीने तक अंतिम रूप दे दिया जाएगा। मसौदा आदेश पर 30 दिनों के भीतर (अधिसूचना की तारीख से) प्रतिक्रिया प्राप्त करने के लिये 31 दिसंबर को अधिसूचित किया गया था।

सुपरस्टार्सजो2021मेंसRoyalRumbleमैचमेंचौंकानेवालीएंट्रीकरसकतेहैं राष्ट्रीय राजमार्गों के टोल प्लाजा पर हाइब्रिड लेन 15 फरवरी तक चालू रहेंगी******15 फरवरी तक जारी रहेंगी हाइब्रिड लेननई दिल्ली। फास्टैग को शुक्रवार यानी नए साल से अनिवार्य किया जा रहा है। ऐसे में लोगों को किसी तरह की असुविधा से बचाने के लिए राष्ट्रीय राजमार्गों के टोल प्लाजा पर हाइब्रिड लेन को 15 फरवरी तक चालू रखने का फैसला किया गया है। सरकार ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने स्पष्ट किया है कि हाइब्रिड लेन पर टोल का भुगतान फास्टैग के अलावा नकद भी किया जा सकता है। मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को बयान में कहा, ‘‘मंत्रालय ने एक दिसंबर, 2017 से पहले बेचे गए एम और एन श्रेणी के मोटर वाहनों में एक जनवरी, 2021 से फास्टैग को अनिवार्य कर दिया है।’’ एम श्रेणी से तात्पर्य कम से कम ऐसे चार पहिया वाहनों से हैं जिनमें यात्री यात्रा करते हैं। एन श्रेणी में कम से कम ऐसे चार पहिया वाहन आते हैं, तो माल ढुलाई के साथ लोगों को भी यात्रा कराते हैं। बयान में कहा गया है, ‘‘यह स्पष्ट किया जाता है कि केंद्रीय मोटर वाहन नियम जैसा तय था वैसे ही लागू होगा। लेकिन राष्ट्रीय राजमार्गों के टोल प्लाजा में हाइब्रिड लेन पर टोल का भुगतान फास्टैग के अलावा 15 फरवरी, 2021 तक नकद भी किया जा सकेगा।’’ हालांकि, फास्टैग लेन में टोल शुल्क का भुगतान सिर्फ फास्टैग से होगा।हाईवे पर यात्रा को तेज बनाने के लिए फास्टैग की शुरुआत 2016 में हुई थी। यह टोल प्लाजा पर शुल्क का भुगतान इलेक्ट्रॉनिक तरीके से करने की सुविधा है। फास्टैग को अनिवार्य किए जाने के बाद टोल प्लाजा पर वाहनों को रुकना नहीं पड़ेगा और टोल शुल्क का भुगतान इलेक्ट्रॉनिक तरीके से हो जाएगा। हाल ही में केंद्रीय मंत्री गडकरी ने एक वर्चुअल कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि फास्टैग यात्रियों के लिए काफी लाभदायक होगा क्योंकि उन्हें टोल प्लाजा पर नकद भुगतान के लिए रुकना नहीं पड़ेगा। इससे अलावा इससे समय और ईंधन की भी बचत होगी। फास्टैग की शुरुआत 2016 में हुई थी और चार बैंकों ने उस साल सामूहिक रूप से एक लाख टैग जारी किए थे। उसके बाद 2017 में सात लाख और 2018 में 34 लाख फास्टैग जारी किए गए। मंत्रालय ने इस साल नवंबर में अधिसूचना जारी कर एक जनवरी, 2021 से पुराने वाहनों या एक दिसंबर, 2017 से पहले के वाहनों के लिए भी फास्टैग को अनिवार्य कर दिया।सुपरस्टार्सजो2021मेंसRoyalRumbleमैचमेंचौंकानेवालीएंट्रीकरसकतेहैं UP चुनाव के लिए BJP के स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी, केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी का नाम गायब******Highlightsउत्तर प्रदेश में पहले चरण के विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा ने स्टार प्रचारकों की सूची जारी कर दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के साथ-साथ भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, अमित शाह, राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी और फिल्म अभिनेत्री एवं मथुरा से सांसद हेमा मालिनी समेत 30 नेताओं को भाजपा ने पहले चरण के चुनाव के लिए पार्टी का स्टार प्रचारक बनाया है। खास बात ये कि लिस्ट से केंद्रीय मंत्री का नाम गायब है। केंद्रीय मंत्री हाल ही में एक पत्रकार से बदसलूकी के मामले में चर्चा में आए थे। वहीं, उनके बेटे पर किसान आंदोलनकारियों पर जीप चढ़ाने का आरोप है।उत्तर प्रदेश चुनाव प्रभारी एवं केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, स्मृति ईरानी, जनरल वी के सिंह, मुख्तार अब्बास नकवी, राधा मोहन सिंह, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, दोनों उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य एवं दिनेश शर्मा, संजीव बालियान, जसवंत सैनी, अशोक कटारिया, सुरेंद्र नागर, भूपेंद्र सिंह, बी एल वर्मा, एस पी सिंह बघेल, साध्वी निरंजन ज्योति के अलावा प्रदेश के दिवंगत पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के बेटे राजवीर सिंह उर्फ राजू भैया को भी भाजपा ने पहले चरण के चुनाव के लिए अपना स्टार प्रचारक बनाया है।कांता कर्दम, रजनीकांत माहेश्वरी, मोहित बेनीवाल, धर्मेंद्र कश्यप, जेपीएस राठौड़ और भोला सिंह भी भाजपा के स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल है।आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में पहले चरण के तहत 10 फरवरी को 58 सीटों पर मतदान होना है। इन सीटों के लिए नामांकन दाखिल करने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। किसान आंदोलन की वजह से इन सीटों पर 2017 के प्रदर्शन को दोहराना भाजपा के लिए एक बड़ी चुनौती माना जा रहा है। हालांकि, भाजपा के एक बड़े नेता ने कुछ दिन पहले ही यह दावा किया था कि पहले चरण के चुनाव यानि 10 फरवरी से ही भाजपा की जीत का सिलसिला शुरू हो जाएगा और पार्टी 300 से ज्यादा सीटों के साथ प्रदेश में फिर से सरकार बनाएगी।(इनपुट- एजेंसी)

सुपरस्टार्सजो2021मेंसRoyalRumbleमैचमेंचौंकानेवालीएंट्रीकरसकतेहैं Delhi Corona New Guidelines: दिल्‍ली में कारों में अकेले यात्रा करने वालों को मास्क पहनने से छूट, जानिए नई गाइडलाइंस******Highlights दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामलों में गिरावट देखते हुए दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) ने स्कूलों, कॉलेजों और जिमों को फिर से खोलने का फैसला किया है। डीडीएमए ने दिल्ली में कोरोना को लेकर नई गाइडलाइंस (Delhi Corona New Guidelines) जारी की है। दिल्ली में नर्सरी से लेकर सभी कक्षाओं के लिये स्कूल फिर से खुलेंगे और कुछ प्रतिबंधों के साथ जिम को खोलने की अनुमति दी गई है। वहीं, कारों में अकेले यात्रा करने वाले ड्राइवरों को मास्क पहनने से छूट दी जाएगी।

सुपरस्टार्सजो2021मेंसRoyalRumbleमैचमेंचौंकानेवालीएंट्रीकरसकतेहैं Pitru Paksha 2018: पितृ पक्ष आज से शुरू, जानें श्राद्ध क्या है और श्राद्ध की तिथियां, किस दिन करें किस व्यक्ति का श्राद्ध******पितरो को समर्पित अश्विनी मास की कृष्ण पक्ष की पूर्णमासी में भाद्रपद का क्षय होने के साथ शुरु होते है। 16 दिन के लिए हमारे पितृ घर में विराजमान होते है। जो कि अपने वंश का कल्याण करते है। जिन लोगों की मृत्यु पूर्णिमा को हुई है, वह लोग सुबह तर्पण करें और मध्याह्न को भोजनांश निकालकर अपने पितरों को याद करें। इस बार पितृपक्ष 24 सितंबर से शुरु हो गए है।हिंदू कैलेंडर के अनुसार अश्विन मास की कृष्ण पक्ष में पितृपक्ष पड़ते है। जिस दिन पूर्णिमा होती है। हर साल सितंबर माह में पितृपक्ष माह की शुरुआत होती है। ज कि पूरे 16 दिन हो ती है। लेकिन इस बार एक दिन घटने के कारण ये 15 दिन ही होगें। जो कि 24 सितंबर से शुरु होकर 8 अक्टूबर को खत्म होंगे। श्राद्ध में जो दान हम अपने पूर्वजों को देते है वो श्राद्ध कहलाता है। जो जिस दिन इस संसार से मुक्ति पाता है उसी दिन उसका श्राद्ध किया जाता है। इस दिन ब्राह्मणों को दान-पुण्य किया जाता है। जिससे प्रसन्न होकर पूर्वज आपको मनचाहा वरदान देते है। इस बारे हरवंश पुराण में बताया गया है कि भीष्म पितामह ने युधिष्टर को बताया था कि श्राद्ध करने वाला व्यक्ति दोनों लोकों में सुख प्राप्त करता है। श्राद्ध से प्रसन्न होकर पितर धर्म को चाहनें वालों को धर्म, संतान को चाहनें वाले को संतान, कल्याण चाहने वाले को कल्याण जैसे इच्छानुसार वरदान देते है।25 सितंबर- प्रतिपदा26 सितंबर- द्वितीया27 सितंबर- तृतीया28 सितंबर- चतुर्थी29 सितंबर- पंचमी महा भरणी30 सितंबर- षष्ठी1 अक्टूबर- सप्तमी2 अक्टूबर- अष्टमी3 अक्टूबर- नवमी4 अक्टूबर- दशमी5 अक्टूबर- एकादशी6 अक्टूबर- द्वादशी7 अक्टूबर- त्रयोदशी, चतुर्दशी, मघा श्राद्ध8 अक्टूबर- सर्वपित्र अमावस्यायूं तो सभी जानते है कि व्यक्ति की मृत्यु के दिन ही उसका श्राद्ध किया जाता है, लेकिन आपको अपनी खबर में बता रहे है कि किस दिन किसका श्राद्ध करना चाहिए।सुपरस्टार्सजो2021मेंसRoyalRumbleमैचमेंचौंकानेवालीएंट्रीकरसकतेहैं NGT ने लगाई दक्षिणी दिल्ली में पेड़ों की कटाई पर 19 जुलाई तक रोक******राष्ट्रीय हरित अधिकरण () ने दक्षिणी दिल्ली की कॉलोनियों में पेड़ गिराए जाने पर यथास्थिति बनाए रखने को कहा है और निर्देश दिया है कि नेशनल बिल्डिंग्स कंस्ट्रक्शन कॉर्पोरेशन (एनबीसीसी) और केंद्रीय लोक निर्माण विभाग (सीपीडब्ल्यूडी) द्वारा 19 जुलाई तक कोई पेड़ नहीं काटा जाएगा।एनजीटी के कार्यवाहक अध्यक्ष न्यायमूर्ति जवाद रहीम की अध्यक्षता वाली पीठ ने आवास एवं शहरी विकास मंत्रालय, केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, सीपीडब्ल्यूडी और अन्य को नोटिस भी जारी किए और उनसे 19 जुलाई से पहले अपने जवाब दाखिल करने को कहा है।हरित पैनल ने परियोजना प्रस्तावकों से एक स्पष्ट विवरण देने और पेड़ों की सटीक संख्या के बारे में सूचित करने को कहा जिन्हें पुन: विकास परियोजना के लिए काटने का प्रस्ताव दिया गया है। अधिकरण, गैर सरकारी संगठन (NGO) सोसाइटी फॉर प्रोटेक्शन ऑफ कल्चर, हेरिटेज, इन्वायरमेंट, ट्रेडिशन्स एंड प्रमोशन ऑफ नेशनल अवेयरनेस की एक याचिका पर सुनवाई कर रहा था जिसने कॉलोनियों के पुन: विकास के लिए 16,000 से ज्यादा पेड़ों की प्रस्तावित कटाई पर रोक लगाने की मांग की है।

सुपरस्टार्सजो2021मेंसRoyalRumbleमैचमेंचौंकानेवालीएंट्रीकरसकतेहैं Delhi News: दिल्ली के उपराज्यपाल ने केजरीवाल सरकार की 47 फाइलें लौटाईं, जानिए क्यों नहीं की स्वीकार******Highlightsदिल्ली के उपराज्यपाल ने दिल्ली सरकार की 47 फाइलें वापस लौटा दी हैं। इसके पीछे कारण बताया जा रहा है कि इन सभी फाइलों पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साइन नहीं हैं। इस बाबत कुछ दिनों पहले ही दिल्ली के उपराज्यपाल वी के सक्सेना ने अरविंद केजरीवाल को लेटर लिखा था, जिसमें कहा था कि सरकार की फाइलों पर मुख्यमंत्री के साइन के बिना स्वीकार नहीं किया जाएगा।उपराज्यपाल सक्सेना ने जो फाइलें वापस भेजी हैं, उनपर सीएमओ के कर्मचारियों के हस्ताक्षर है। बताया जा रहा है कि इन फाइलों में शिक्षा विभाग और वक्फ बोर्ड से संबंधित फाइलें भी शामिल हैं। जानकारी मिली है कि दिल्ली के उपराज्यपाल ने 22 अगस्त को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को लिखा था कि उपराज्यपाल के विचार/अनुमोदन के लिए भेजी जाने वाली फाइलों पर सीएम के हस्ताक्षर नहीं होनी की ओर ध्यान केंद्रित करने की जरूरत है। हालांकि, इस पत्र के बाद भी मुख्यमंत्री और मुख्यमंत्री कार्यालय ने सीएम के हस्ताक्षर के बिना फाइलों को भेजना जारी रखा है।दिल्ली के उपराज्यपाल वी के सक्सेना ने सरकारी स्कूलों में कक्षाओं के लिए अतिरिक्त कमरों के निर्माण की जांच के संबंध में केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) की रिपोर्ट पर कार्रवाई करने में ढाई साल से अधिक की देरी को लेकर मुख्य सचिव से रिपोर्ट मांगी है। सूत्रों ने यह जानकारी दी। परियोजनाओं के निष्पादन में घोर अनियमितताएं और प्रक्रियागत खामियों का उल्लेख करते हुए रिपोर्ट सीवीसी द्वारा फरवरी 2020 में सतर्कता सचिव को भेजी गई, जिसमें आगे की जांच और कार्रवाई के लिए टिप्पणी मांगी गई थी। फिलहाल, इस मुद्दे पर दिल्ली सरकार की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।दिल्ली के उपराज्यपाल वी.के. सक्सेना ने 2017 से 2021 के बीच भारत के नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) की चार रिपोर्ट पेश किए जाने में ''अत्यधिक देरी'' को लेकर सोमवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पत्र लिखा। उपराज्यपाल ने केजरीवाल से सार्वजनिक धन की ''बर्बादी'' से बचने के लिए इस तरह की प्रथा से बचने को कहा। सक्सेना ने कहा कि यह भी स्पष्ट नहीं है कि विधानसभा में सभी लेखापरीक्षा रिपोर्टों को एक साथ पेश करने से नियंत्रक और महालेखा परीक्षक (सीएजी) की ''गंभीर'' टिप्पणियों पर चर्चा करने का अवसर मिल पाएगा या नहीं।सुपरस्टार्सजो2021मेंसRoyalRumbleमैचमेंचौंकानेवालीएंट्रीकरसकतेहैं IPL 2022 : मुंबई इंडियंस ने जोफ्रा आर्चर को 8 करोड़ में क्यों खरीदा, नीता अंबानी ने बताया******Highlightsमुंबई इंडियन्स की मालिक नीता अंबानी ने आईपीएल 2022 के लिए जोफ्रा आर्चर के उपलब्ध नहीं होने के बावजूद इंग्लैंड के तेज गेंदबाज को आठ करोड़ रुपये की भारी भरकम राशि में खरीदने के बाद कहा कि उनकी टीम का हमेशा शार्ट टर्म गोल और लॉग टर्म विजन होता है। जोफ्रा आर्चर दाईं कोहनी की सर्जरी से उबर रहे हैं लेकिन इसके बावजूद पांच बार की चैंपियन मुंबई इंडियन्स ने नीलामी के दूसरे दिन रविवार को आर्चर के लिए बड़ी बोली लगाई जबकि राजस्थान रॉयल्स और सनराइजर्स हैदराबाद भी बोली लगाने से पीछे नहीं हटे। इससे जाहिर होता है कि फ्रेंचाइजी की नजरें लॉगटर्म प्लानिंग पर टिकी हैं फिर इसके लिए भले ही आगामी सीजन में उन्हें आर्चर के बिना खेलना पड़े।नीता ने नीलामी के बाद कहा कि मुंबई इंडियन्स का हमेशा लघुकालीन लक्ष्य और दीर्घकालीन विजन होता है। हमने जो खिलाड़ी खरीदे हैं उनमें से कुछ दीर्घकालीन विजन को देखते हुए खरीदे गए हैं। उन्होंने कहा कि हमें हमारे प्रशंसकों को आश्वस्त करना था कि नीलामी में हमने अपना सर्वश्रेष्ठ किया और खिलाड़ियों को ध्यान में रखते हुए हमें उम्मीद है कि हम अच्छा खेलकर अपने प्रशंसकों को खुश कर पाएंगे। पंजाब किंग्स ने इंग्लैंड के लियाम लिविंगस्टोन को 11 करोड़ 50 लाख रुपये में खरीदा लेकिन आर्चर का आठ करोड़ में बिकना हैरानी भरा था। कोहनी की सर्जरी से उबर रहे आर्चर को 2023 और 2024 में खेलने की संभावना को देखते हुए नीलामी में उतरने की स्वीकृति दी गई।युवा सलामी बल्लेबाज इशान किशन को 15 करोड़ 25 लाख रुपये में खरीदने के बाद मुंबई ने टिम डेविड को उनके फिनिशिंग कौशल के कारण आठ करोड़ 25 लाख रुपये में खरीदा। इस साल की नीलामी के बारे में नीता अंबानी ने कहा कि मैं नए सीजन को लेकर रोमांचित हूं, लेकिन मैं आपको बता दूं कि बड़ी नीलामी बेहद मुश्किल होती है। वर्षों से हमारे परिवार का हिस्सा रहे खिलाड़ियों को जाने देना बहुत मुश्किल होता है। हम उन सभी की कमी खलेगी। उन्होंने कहा कि हार्दिक पंड्या हो या क्रूणाल पंड्या या फिर क्विंटन डिकॉक या ट्रेंट बोल्ट। हमने उन्हें दोबारा खरीदने का सर्वश्रेष्ठ प्रयास किया लेकिन नीलामी में क्या होगा इसकी भविष्यवाणी करना बेहद मुश्किल है। नीता ने कहा कि लेकिन हमें जो मिला हम उससे खुश हैं।(Bhasha inputs)

सुपरस्टार्सजो2021मेंसRoyalRumbleमैचमेंचौंकानेवालीएंट्रीकरसकतेहैं Lohri 2019: लोहड़ी मनाने के पीछे असली वजह है ये, 'दुल्ला भाटी' न होते तो आज लोहड़ी भी न होती******आज पौष शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि और रविवार का दिन है। आज दोपहर पहले 11 बजकर 06 मिनट तक सारे काम बनाने वाला रवि योग और राज योग भी रहेगा। आज के दिन सिखों के दसवें गुरु गोविंद सिंह जी का जन्मोत्सव मनाया जायेगा। इसके साथ ही आज का त्योहार भी मनाया जायेगा। लोहड़ी का ये त्योहार मकर संक्रांति से ठीक एक दिन पहले मनाया जाता है। उत्तर भारत में, खासकर कि पंजाब में इस त्योहार का महत्व है। जिन लोगों की नई-नई शादी हुई हो या जिनके घर में बच्चा हुआ हो, उन लोगों के लिये ये त्योहार विशेष महत्व रखता है।आज के दिन शाम के समय लकड़ियों और गोबर के उपलों को इकट्ठा करके जलाया जाता है और परिवार के साथ उसके चारों ओर घेरा बनाकर परिक्रमा की जाती है। परिक्रमा के समय जलती हुई आग में मूंगफली, रेवड़ी, तिल, मक्की के दाने आदि चीज़ें डालने की परंपरा है। कहते हैं ऐसा करने से दूसरों की बुरी नजर से छुटकारा मिलता है, घर में सुखद माहौल बनता है और व्यक्ति का स्वास्थ्य अच्छा रहता है।दरअसल लोहड़ी के इस त्योहार को मनाने के पीछे इतिहास के कुछ पन्ने भी जुड़े हैं। इस दिन को मुगलशासकों के विरुद्ध न्याय की लड़ाई लड़ने वाले लोकप्रिय नायक, परमवीर, हिन्दू गुर्जर अब्दुल्ला भाटी की याद में मनाया जाता है। अब्दुल्ला भाटी हमेशा सबकी मदद के लिये तैयार रहते थे। ऐसे ही एक बार उन्होंने एक ब्राह्मण की कन्या को मुगलशासक के चंगुल से छुडाया था और उसकी शादी एक सुयोग्य हिन्दू वर से करवायी थी। उस कन्या का नाम सुंदर मुंदरिए था। अब अब्दुल्ला भाटी कोई पंडित तो था नहीं, इसलिए उसने आस-पास पड़ी लकड़ियों और गोबर के उपलों को इकट्ठा करके उसमें आग जलायी और उसके पास जो कुछ खाने की चीज़ें जैसे मूंगफली, रेवड़ी आदि थीं, वो सब उसने आग में डाल दी और उन दोनों की शादी करवा दी। (शादी के समय अब्दुल्ला भाटी ने कुछ इस तरह का गीत भी गाया था...इस प्रकार उन दोनों की शादी तो हो गई, लेकिन बाद में मुगल शासकों ने अब्दुल्ला भाटी पर हमला कर दिया और वह मारा गया। तब से अब्दुल्ला भाटी की याद में लोहड़ी का ये त्योहार मनाया जाता है और शाम के समय लकड़ी और उपले जलाकर उसकी परिक्रमा की जाती है। आज के दिन एक-दूसरे को मूंगफली, रेवड़ियां आदि बांटने और खाने का भी रिवाज़ है।सुपरस्टार्सजो2021मेंसRoyalRumbleमैचमेंचौंकानेवालीएंट्रीकरसकतेहैं Sri Lanka: आर्थिक संकट से घिरे श्रीलंका में आपातकाल हटाया******श्रीलंका सरकार ने देश में लागू आपातकाल शनिवार को हटा लिया। देश में अभूतपूर्व आर्थिक संकट और सरकार विरोध प्रदर्शनों को देखते हुए दो सप्ताह पहले आपातकाल लागू किया गया था। श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे ने एक महीने के अंदर दूसरी बार छह मई की मध्यरात्रि आपातकाल लागू किया था।जानकारी के अनुसार राष्ट्रपति सचिवालय ने कहा है कि शुक्रवार मध्यरात्रि से आपातकाल हटा लिया गया है। देश में कानून-व्यवस्था में सुधार को देखते हुए यह फैसला लिया गया है। श्रीलंका में सरकार समर्थक और सरकार विरोधी प्रदर्शनों के दौरान हुई झड़पों में नौ लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 200 से अधिक लोग घायल हुए हैं।श्रीलंका साल 1948 में ब्रिटेन से आजादी मिलने के बाद से अभूतपूर्व आर्थिक संकट का सामना कर रहा है। हाल के समय में तो श्रीलंका अपने सबसे ख़राब आर्थिक दौर से गुजर रहा है। खाने-पीने की चीजों के अलावा पेट्रोलियम और गैस की क़ीमत लगातार बढ़ रही है। पिछले कई महीनों से देश में महंगाई दर दहाई अंकों में हैं। रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध छिड़ने के बाद श्रीलंका का संकट कहीं ज़्यादा गहराया है।देश में 16-16 घंटों तक बिजली की कटौती हो रही है। एटीएम खाली पड़े हुए हैं और पेट्रोल पंपों पर लंबी कतारें देखने को मिल रही हैं। श्रीलंका पेट्रोल, डीजल गैस से लेकर चीनी तक,अधिकतर चीज़ें आय़ात करता है और यह सब फ़िलहाल बाधित है.श्रीलंका के सेंट्रल बैंक के मुताबिक कोरोना संक्रमण की शुरुआत के समय देश में मंहगाई दर पांच फीसदी से थोड़ा ज़्यादा थी जो फरवरी, 2022 तक 18 फीसदी पर पहुंच गई थी। यह पिछले साल की तुलना में 13 फीसदी ज़्यादा रही। ज़रूरी सामानों की सप्लाई सीमित है। लिहाजा मांग बढ़ने की वजह से महंगाई भी बढ़ रही है।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 05:43
उद्धरण 1 इमारत
RBI जल्द ही नई सीरीज में जारी करेगा 500 रुपए का नया नोट, होंगी ये खूबियां****** भारतीय रिजर्व बैंक (RBI)‍ जल्‍द महात्‍मा गांधी (नई) श्रृंखला में 500 का नया नोट जारी करेगा। इसमें दोनों नंबर पैनलों में इनसेट में E लिखा होगा। नोट के पिछली तरफ स्‍वच्‍छ भारत का लोगो छपा होगा।BSNL ने लॉन्च किया 99 रुपए में अनलिमिटेड FREE वॉयस कॉलिंग और इन्टरनेट का नया प्लानRBI के अनुसार 500 रुपए के नए नोटों में कुछ चीजें अतिरिक्‍त होंगी। उदाहरण के तौर पर नंबर पैनल में स्‍टार हो सकता है। इन नोटों के पैकेट में 100 नोट होंगे लेकिन वे क्रमवार नहीं होंगे। बताते चलें कि सरकार ने संसद में एक सवाल के जवाब में कहा था कि अन्‍य मूल्‍य वर्ग में भी नए डिजाइन के बैंक नोट जारी किए जाएंगे।bikes under 50,000 rsAirtel ने पोस्‍टपेड ग्राहकों के लिए लॉन्‍च किया Infinity प्लान, 549 रुपए में मिलेगा अनलिमिटेड वॉयस कॉलिंग, डेटा, SMS और बहुत कुछवित्त राज्यमंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने लोकसभा में एक लिखित जवाब में बताया कि राजनयिक मिशनों ने सरकार के हाल के अर्थव्यवस्था को अधिक पारदर्शी बनाने के प्रयास की सराहना करते हुए पत्र लिखा है। इस कदम का प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) पर सकारात्मक असर होगा।
2022-10-01 05:04
उद्धरण 2 इमारत
अतुल सभरवाल की 'बर्लिन' में मुख्य भूमिका निभाएंगे अपारशक्ति खुराना******Highlightsबॉलीवुड अभिनेता अपारशक्ति खुराना 2022 की शुरूआत अतुल सभरवाल की अगली फिल्म 'बर्लिन' से करेंगे, जो एक रोमांचक सस्पेंस थ्रिलर है। इस फिल्म में वह मुख्य भूमिका में होंगे। 'धोखा राउंड डी कॉर्नर' के बाद इस जॉनर में अभिनेता की यह दूसरी फिल्म होगी और यह इसी महीने रिलीज होगी। इसकी शूटिंग प्रमुख शहरों दिल्ली, आगरा और भोपाल में की जाएगी।अपारशक्ति ने कहा, 'मैं अब सेट पर आने के लिए और इंतजार नहीं कर सकता।'"साल 2021 मेरे लिए अनुभवों से भरा रहा है। एक पॉजिटिव नोट पर मुख्य भूमिका निभाने की अपनी यात्रा शुरू करने के साथ, मुझे अलग-अलग, गंभीर शैलियों का पता लगाने का अवसर भी मिला, जो कि मैं पहले दिन से करना चाहता था। वहां पहुंचने में मेरी मदद अतुल सभरवाल से बेहतर और कौन कर सकता था?"अपने निर्देशक की प्रशंसा करते हुए, अपारशक्ति ने अतुल के पिछले प्रोजेक्ट को याद किया।"मैंने अतुल सर के काम का बहुत बारीकी से पालन किया है और मैं बेझिझक उनपर भरोसा करता हूं, खासकर जब इस मुश्किल शैली में कहानी कहने की बात आती है। मुझे अभी तक याद है कि 'माई वाइफ्स मर्डर' अपने समय से आगे की फिल्म थी।"उन्होंने आगे कहा, "पंकज त्रिपाठी अभिनीत 'पाउडर' को पसंद किया गया और 'क्लास ऑफ 83' की उनकी आखिरी कृति से पता चलता है कि वह अपने शिल्प के साथ कितने अच्छे हैं। वह इस शैली के लिए आवश्यक बारीकियों को खूबसूरती से पकड़ते हैं और मैं उनके लिए इस परियोजना का नेतृत्व करने के लिए उत्साहित हूं।"
2022-10-01 03:53
उद्धरण 3 इमारत
सटोरियों ने T-20 में की साउथ अफ़्रीका के सूपड़े साफ की भविष्यवाणी****** साउथ अफ़्रीका में सटोरियों ने आज हेने वाले दूसरे टी-20 मैच में साउथ अफ़्रीका के हारने की बात की है. बता दें कि टीम इंडिया तीन मैचों की सिरीज़ में 1-0 से आगे है. आज दूसरा मैच सेंचुरियन में होना है. टेस्ट सिरीज़ 1-2 से हारने के बाद टीम इंडिया ने ज़बरदस्त वापसी करते हुए वनडे सिरीज़ 5-1 से जीती थी. ये जीत इंडिया ने साउथ अफ़्रीका में 25 साल बाद हासिल की है.टीम इंडिया ने साउथ अफ़्रीका में हर फ़ॉर्मेट में अब तक आठ में से सात मैच जीते हैं. साउथ अफ़्रीका के BET.co.za के मुताबिक इंडिया आज का भी मैच जीतने का प्रबल दावेदार है. इंडिया के पक्ष में 11/20 जबकि मेज़बान के पक्ष में 27/20 का भाव है.तीसरा और अंतिम टी-20 मैच शनिवार को खेला जाएगा.
वापसी