नई पोस्ट करें

Moon Lighting: सरकार ने युवाओं को क्यों दिया मून लाइटिंग कर सकने का संकेत, जानें ये क्या है?

2022-10-01 05:21:26 343

सरकारनेयुवाओंकोक्योंदियामूनलाइटिंगकरसकनेकासंकेतजानेंयेक्याहैबाजार को पसंद नहीं आई RBI की नीति, सेंसेक्स 205 अंकों की गिरावट के साथ 32597 पर हुआ बंद****** भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा द्विमासिक मौद्रिक समीक्षा में नीतिगत दरों के मोर्चे पर यथास्थिति कायम रखने के बीच बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स आज 205 अंक टूटकर 32,597.18 अंक पर आ गया। केंद्रीय बैंक ने रेपो दर को छह प्रतिशत पर बरकरार रखा है, लेकिन मुद्रास्फीति के अनुमान को बढ़ाया है। रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल की अगुवाई वाली छह सदस्यीय मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) ने शेष वित्त वर्ष के लिए मुद्रास्फीति के अनुमान को बढ़ाकर 4.3 से 4.7 प्रतिशत कर दिया है। केंद्रीय बैंक की मौद्रिक समीक्षा के बाद बांबे स्‍टॉक एक्‍सचेंज का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 205.26 अंक या 0.63 प्रतिशत की गिरावट के बाद 32,597.18 अंक पर आ गया। कारोबार के दौरान यह 32,565.16 अंक के निचले स्तर तक आया।नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी 10,033.35 अंक के निचले स्तर को छूने के बाद अंत में 74.15 अंक या 0.73 प्रतिशत के नुकसान के साथ 10,044.10 अंक पर बंद हुआ। शुरुआती कारोबार में यह 10,104.20 अंक के उच्चस्तर तक गया।केंद्रीय बैंक ने चालू वित्त वर्ष के लिए वृद्धि दर के अनुमान को 6.7 प्रतिशत पर कायम रखा है। ब्याज दर की दृष्टि से संवेदनशील शेयर नुकसान में रहे। बैंकिंग वर्ग का सूचकांक 1.23 प्रतिशत टूट गया। एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक, एचडीएफसी बैंक, बैंक आफ बड़ौदा, पंजाब नेशनल बैंक और यस बैंक के शेयर 2.27 प्रतिशत तक टूट गए।

सरकारनेयुवाओंकोक्योंदियामूनलाइटिंगकरसकनेकासंकेतजानेंयेक्याहैIND vs SA : विराट कोहली के फिटनेस पर केएल राहुल ने दिया बड़ा अपडेट, नेट्स में आए थे नजर******Highlightsभारत के कार्यवाहक कप्तान केएल राहुल ने गुरुवार को कहा कि विराट कोहली ने नेट्स पर अभ्यास शुरू कर दिया है और उन्हें दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज के निर्णायक मैच के लिये फिट हो जाना चाहिए। कप्तान कोहली पीठ के ऊपरी हिस्से में जकड़न के कारण दूसरे टेस्ट में नहीं खेल पाये थे जिसमें दक्षिण अफ्रीका ने सात विकेट से जीत दर्ज करके सीरीज 1-1 से बराबर की।राहुल ने मैच के बाद कहा, ‘‘विराट पहले से बेहतर महसूस कर रहे हैं, पिछले कुछ दिनों से नेट पर अभ्यास कर रहे हैं और दौड़ लगा रहे हैं। मुझे लगता है कि उन्हें ठीक होना चाहिए।’’मुख्य कोच राहुल द्रविड़ ने भी बाद में संवाददाताओं से बातचीत में कोहली की फिटनेस पर जानकारी दी। कोच ने कहा, "वह फिट लग रहा है और नेट्स पर अभ्यास कर रहा है।’’राहुल ने मोहम्मद सिराज की हैमस्ट्रिंग की चोट पर भी बात की जो उन्हें दूसरे टेस्ट के दौरान लगी थी। चोट के बावजूद सिराज मैच में गेंदबाजी करते रहे लेकिन अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं कर पाये।उन्होंने कहा, ‘‘ सिराज बेहतर महसूस कर रहा है। कुछ दिनों के विश्राम से उसे मदद मिल सकती है। हमारे पास उपयोगी गेंदबाज हैं तथा इशांत शर्मा और उमेश यादव इंतजार कर रहे हैं।’’सरकारनेयुवाओंकोक्योंदियामूनलाइटिंगकरसकनेकासंकेतजानेंयेक्याहैIND vs SA 2nd T20i Match: बारिश बिगाड़ सकती है खेल, जानिए कैसा रहेगा मौसम******Highlightsभारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच पांच टी20 मैचों की सीरीज का दूसरा मैच आज कटक के बाराबती स्टेडियम में खेला जाएगा। सीरीज का पहला मैच हारकर टीम इंडिया पीछे चल रही है। इसलिए भारतीय टीम के लिए आज का मैच जीतना बहुत जरूरी है। इस बीच कटक में बारिश की संभावना भी जताई जा रही है। हालांकि बारिश इतनी ज्यादा भी नहीं होगी, जिससे मैच पर बहुत ज्यादा देर तक खलल पड़े। भुवनेश्वर के क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र ने रविवार की शाम के समय किसी बड़ी बारिश की संभावना से इनकार किया है। यहां बारिश की संभावना 50:50 है।भारत दक्षिण अफ्रीका मैच से एक दिन पहले आरएमसी भुवनेश्वर के निदेशक एचआर बिस्वास ने पीटीआई को बताया है कि हम पक्के तौर पर यह नहीं कह सकते कि रविवार शाम को कटक में बारिश नहीं होगी। बारिश कुछ देर के लिए हो सकती है, लेकिन किसी बड़ी बारिश की कोई संभावना नहीं है। बिस्वास ने बताया कि आसमान में बादल छाए रहेंगे। शाम को गरज के साथ बारिश हो सकती है और इसका पता तीन से चार घंटे पहले चल पाएगा। हालांकि कोई भारी बारिश नहीं होगी जिससे मैच पर ज्यादा देर तक खलल पड़े।कटक के बाराबती स्टेडियम में करीब​ ढाई साल बाद कोई अंतरराष्ट्रीय मैच खेला जा रहा है। इसलिए यहां दर्शकों में मैच को लेकर जबरदस्त उत्साह देखने के लिए मिल रहा है। दर्शकों के इस मैच का जुनून इतना है कि दो दिन पहले ही टिकट काउंटर पर ​महिलाओं के बीच मारामारी तक की नौबत आ गई थी। इसके बाद पुलिस ने हल्का बल प्रयोग किया और सब कुछ शांत कराया। इस बीच ओडिशा क्रिकेट संघ के एक अधिकारी ने बताया है कि कि स्थिति का सामना करने के लिए तैयारियां कर ली गई हैं।उन्होंने कहा कि बीसीसीआई की तकनीकी समिति के परामर्श से हमने बेहतर जल निकासी के लिए रेत आधारित मैदान बनाया है। ओसीए ने इंग्लैंड से पूरे खेल के मैदान के लिए रेन कवर खरीदा है। इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया से एक और सुपर सॉपर भी खरीदा है। दिन भर बारिश होने पर भी मैदान की तैयारी तैयार रहेगी।

Moon Lighting: सरकार ने युवाओं को क्यों दिया मून लाइटिंग कर सकने का संकेत, जानें ये क्या है?

सरकारनेयुवाओंकोक्योंदियामूनलाइटिंगकरसकनेकासंकेतजानेंयेक्याहैकसौटी जिंदगी की 2 में स्पेशल एंट्री लेगा कुमकुम भाग्य का 'प्रेम'******एकता कपूर केशो में इस समय कई ट्विस्ट आ रहे हैँ। पहले नई कोमोलिका आमना शरीफ और अब एकपॉपुलर एक्टर की शो में एंट्री होने वाली है। शो में पॉपुलर टीवी शो 'कुमकुम भाग्य' के एक्टर नजर आने वाले हैं। शब्बीर की शो में एंट्री इस समय सुर्खियों का हिस्सा बनी हुई है।शब्बीर शो में किसी किरदार के रुप में नहीं बल्कि अपने आने वाले शो 'फिक्सर' के प्रमोशन के लिए कसौटी जिंदगी के में आएंगे। शो में उनका स्पेशल अपीयरंस होगा। 'फिक्सर' एक दिल्ली के एटीएस ऑफिसर की कहानी पर आधारित है। जिसमें शब्बीर इसमें लीड कैरेक्टर जयवीर मलिक का किरदार निभाते हुए नजर आएंगे।वर्कफ्रंट की बात करें तो शब्बीर 2002 में 'क्योंकि सास भी कभी बहू थीट शो में नेगेटिव रोल में दिखाई दिए थे। जिसके बाद से उन्होंने काफी लोकप्रियता हासिल हुई थी। इसके बाद वे 'कहीं तो होगा', 'कसौटी जिंदगी की', 'कयामत', 'कुमकुम भाग्य', 'कुंडली भाग्य' जैसे कई सीरियल्स में नजर आ चुके हैं। बता दें कि वे 'कसौटी जिंदगी की 1' का भी हिस्सा रह चुके है। शब्बीर ने प्रेरणा और अनुराग की बेटी स्नेहा के पति का किरदार निभाया था।कुमकुम भाग्य में शब्बीर को अभिषेक प्रेम मेहरा का किरदार निभाने के लिए 3 बार बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड मिल चुका है। यहीं नहीं वह कई फिल्मों में भी नजर आ चुके हैं। शब्बीर 'शूटआउट ऐट लोखंडवाला' और 'मिशन इस्तानबुल' में नजर आए थे।सरकारनेयुवाओंकोक्योंदियामूनलाइटिंगकरसकनेकासंकेतजानेंयेक्याहैPM Modi Lucknow Visit: आज लखनऊ में योगी के मंत्रियों से मिलेंगे मोदी, 3 बातों से जानिए क्यों अहम है यह बैठक?******Highlights प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुद्ध पूर्णिमा पर आजसोमवार को नेपाल की यात्रा पर हैं। शाम को आते समय वे कुशीनगर होते हुए लखनऊ पहुंचेंगे। यहां वे योगी आदित्यनाथ सरकार के मंत्रियों के साथ बैठक करेंगे। ये बैठक कई मायनों में अहम होगी। जानिए बैठक का एजेंडा क्या होगा। इसका मंत्रियों के साथ बैठक का योगी सरकार की गवर्नेंस पर क्या इम्पेक्ट पड़ेगा। नेपाल यात्रा के बीच लखनऊ में रुककर योगी सरकार के मंत्रियों के साथ पीएम मोदी की बैठक क्या संदेश देती है, पीएम के लिए यूपी अभी इतना अहम क्यों है।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर आजसोमवार को नेपाल के दौरे पर रहेंगे।इसके बाद कुशीनगर होते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी लखनऊ पहुंचेंगे। योगी ने सभी मंत्रियों को सोमवार की सुबह तक लखनऊ पहुंच जाने को कहा है। यहीं पर मंत्रियों के साथ रात्रिभोज के बाद पीएम मोदी दिल्ली रवाना हो जाएंगे। दिल्ली जाकर सीएम योगी ने प्रधानमंत्री को इस भोज के लिए न्यौता दिया था।पीएम नरेन्द्र मोदी का सोमवार को लखनऊ में सीएम योगी आदित्यनाथ के सरकारी आवास पर करीब 40 मिनट का समय रिजर्व रखा गया है। प्रधानमंत्री मोदी इसके बाद योगी आदित्यनाथ सरकार के मंत्रियों को सुशासन का पाठ पढ़ाएंगे। वह हर उस मंत्री से मिलेंगे और बातचीत करेंगे जो उनके 2024 के चुनाव के समीकरण में फिट बैठेगा।जानकारी के मुताबिक पीएम मोदी अपनी सरकार की लोक कल्याणकारी नीतियों की चर्चा करेंगे। कुछ ऐसी योजनाओं पर चर्चा होगी होगी जिसमें यूपी का कामकाज बहुत अच्छा रहा है। कुछ ऐसी योजनाओं पर भी बात होगी जिसमें कामकाज ठीक नहीं रहा है। ऐसा माना जा रहा है कि पीएम मोदी चाहते हैं कि 2024 चुनाव से पहले कामकाज बुलेट की रफ्तार से हो।जानकारी के अनुसार डिनर से पहले पीएम नरेन्द्र मोदी की योगी मंत्रिमंडल के साथ करीब साढे तीन घंटे तक बैठक होगी। इसमें सभी 52 मंत्री बारी-बारी से अपने मन की बात रखेंगे। सबको अपनी बात रखने के लिए तीन-तीन मिनट का समय दिया गया है। मुख्यमंत्री और दोनों डिप्टी सीएम का भी संक्षिप्त भाषण होगा। फिर पीएम भी मंत्रियों को शासन चलाने का मंत्र देंगे।पीएम मोदी दूसरी बार करेंगे योगी के घर रात्रिभोजपीएम मोदी के स्वागत में लखनऊ में जगह-जगह पोस्टर लगाए जा रहे हैं। इससे पहले 20 जून 2017 को पीएम मोदी ने योगी के घर डिनर किया था। इसमें विपक्ष के नेताओं को भी बुलाया गया था। तब मायावती और अखिलेश यादव तो नहीं आए थे, लेकिन मुलायम सिंह यादव डिनर में मौजूद रहे थे।नेपाली पीएम देउबा ने दिया था नेपाल आने का निमंत्रणनेपाल स्थित लुंबिनी एक प्रसिद्ध बौद्ध तीर्थ स्थल है। यहीं पर भगवान गौतम बुद्ध का जन्म हुआ था। नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा के निमंत्रण पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी वहां जा रहे हैं, जिन्होंने हाल में भारत का दौरा किया था और पीएम मोदी को नेपाल आने का निमंत्रण दिया था। भारतीय विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर बताया कि यह प्रधानमंत्री मोदी की आधिकारिक नेपाल यात्रा होगी। इस दौरान दोनों देशों के प्रधानमंत्री द्विपक्षीय संबंधों पर चर्चा करेंगे। पीएम मोदी की प्रधानमंत्री के रूप में यह 5वीं नेपाल यात्रा होगी।सरकारनेयुवाओंकोक्योंदियामूनलाइटिंगकरसकनेकासंकेतजानेंयेक्याहैआज़ादी के जश्न को योग के साथ बनाएं खास, स्वामी रामदेव से जानिए देश के युवा कैसे बनेंगे बलवान-बुद्धिमान******Highlightsबने हैं आज हक़ीक़त उन्हीं के अफसानेआज़ाद हिंदुस्तान के सपने के लिए जिन्होंने अपनी जानें कुर्बान की लाल किले की प्राचीर पर शान से लहराते तिरंगे को देख उनकी रुह को सुकून मिल रहा होगा। दुनिया के ताकतवर मुल्कों से कंधे से कंधा मिलाकर खड़े भारत पर उन्हें फख्र हो रहा होगा पूरी दुनिया में इंडियंस नाम रोशन कर रहे हैं। बात साइंस की हो..आईटी सेक्टर्स की हो या फिर खेलों की...हर फील्ड में तिरंगे की शान बढ़ रही है...इस साल पहले ओलंपिक और अब कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत के खिलाड़ियों ने रिकॉर्डतोड़ प्रदर्शन किया हैं।इसलिए देश के पीएम ने इन खिलाड़ियों से मुलाकात कर उनका हौसला बढ़ाया और प्लेयर्स ये मुकाम इसलिए हासिल कर पाए क्योंकि हमें अपने तरीके से जीने की आजादी है। अपनी जान की परवाह किए बिना आज़ादी के नायकों ने अंग्रेज़ों से जंग लड़ी और आज के हिंदुस्तान की बुनियाद रखी। अब हम सब का फर्ज़ है कि देश की आन-बान-शान को बढ़ाएं। पूरी दुनिया को तिरंगे की ताकत बताएं। यही आज के युवाओं का मकसद होना चाहिए।इस राह में सबसे बड़ी मुश्किल है उनकी बिगड़ती सेहत। आज के युवा तमाम क्रोनिक डिज़ीज़ से जूझ रहे हैं। डायबिटीज़,हाइपरटेंशन,मोटापा,कैंसर, हार्ट प्रॉब्लम्स जैसी बीमारियां उनके सपनों पर ग्रहण लगा रही हैं। ज़रा सोचिए..दुनिया में सबसे ज़्यादा प्रीडायबिटिक युवा भारत में हैं।ऐसे में ज़रूरत है...चंद्रशेखर आज़ाद..भगत सिंह, सुभाष चंद्र बोस की तरह बलवान बनने की। महात्मा गांधी की तरह मज़बूत इच्छाशक्ति हांसिल करने की...देश के खिलाड़ियों की तरह बच्चे-बच्चे को तेज़तर्रार बनाने की और योग-आयुर्वेद के साथ ये मुमकिन है। नेचुरोपैथी की ताकत ना सिर्फ फौलादी बनाएगी बल्कि दुनिया जीत लेने का जज़्बा स्वस्थ शरीर के साथ और मज़बूत होगा। सुभाष चंद्र बोस ने कहा था ''देह से नहीं जो दिल से भी गुलाम हो गए हों...वो कभी आज़ादी हासिल नहीं कर सकते'' इसलिए जब दिल, दिमाग और शरीर बीमारियों से आज़ाद रहेंगे तभी देश के नौजवान बढ़ा पाएंगे हिंदुस्तान की शान

Moon Lighting: सरकार ने युवाओं को क्यों दिया मून लाइटिंग कर सकने का संकेत, जानें ये क्या है?

सरकारनेयुवाओंकोक्योंदियामूनलाइटिंगकरसकनेकासंकेतजानेंयेक्याहैGanesh Immersion: महाराष्ट्र में गणेश विसर्जन के दौरान 20 लोगों की गई जान, शिंदे-उद्धव गुट के समर्थकों में हुई मारपीट******Highlightsमहाराष्ट्र के विभिन्न इलाकों में गणेश मूर्ति के विसर्जन के दौरान हुई विभिन्न घटनाओं में कम से कम 20लोगों की मौत हो गई, जिनमें से 14 की मौत डूबने से हुई है। पुलिस ने शनिवार को यह जानकारी दी। गौरतलब है कि 31 अगस्त से शुरू हुआ 10 दिवसीय गणेश उत्सव शुक्रवार को संपन्न हुआ। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि प्रदेश के वर्धा जिले के सवांगी में तीन लोग डूब गए, जबकि एक अन्य देवली में डूब गया। उन्होंने बताया कि यवतमाल जिले में मूर्ति विसर्जन के लिए गए दो व्यक्ति तालाब में डूब गए।अधिकारी ने बताया कि प्रदेश के अहमदनगर जिले के सुपा और बेलवंडी में अलग-अलग घटनाओं में दो लोगों की डूबने से मौत हो गई, जबकि दो अन्य की मौत प्रदेश के जलगांव जिले में हो गई। उन्होंने बताया कि पुणे के घोड़ेगांव एवं यवात में, धूले जिले में, सतारा के लोनीकंड एवं सोलापुर शहर में एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई। उन्होंने बताया कि गणेश मूर्ति के विसर्जन के दौरान सड़क हादसे में नागपुर शहर के शक्करदारा इलाके में चार लोगों की मौत हो गई।नागरिक निकाय के एक अधिकारी ने बताया कि ठाणे के कोलबाद इलाके में बारिश के बीच एक पेड़ एक गणेश पंडाल पर गिर गया, जिससे इस घटना में 55 साल के एक व्यक्ति की मौत हो गई। उन्होंने बताया कि यह घटना शुक्रवार की रात को हुई। एक अन्य अधिकारी ने बताया कि इस बीच रायगढ़ के पनवेल में बिजली का झटका लगने से नौ साल की एक बच्ची समेत 11 लोग घायल हो गए।उन्होंने बताया कि यह घटना शुक्रवार शाम को वडघर कोलीवाडा में हुई। वहीं, प्रतिमाओं के विसर्जन के दौरान कई जगह कानून-व्यवस्था से जुड़ी घटनाएं भी हुईं। अधिकारी ने बताया कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे और मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के समर्थकों के बीच अहमदनगर जिले के तोपखाना में मारपीट हो गई। जलगांव में गणेश मूर्ति के विसर्जन के दौरान लोगों के एक समूह ने मेयर के बंगले पर पथराव किया।वहीं, हरियाणा के महेंद्रगढ़ और सोनीपत जिलों में शुक्रवार शाम गणपति विसर्जन के दौरान छह लोग डूब गए। अधिकारियों ने बताया कि महेंद्रगढ़ में नहर में विसर्जन के दौरान चार युवकों की नहर में, जबकि सोनीपत में दो युवकों की यमुना नदी में डूबने से मौत हो गई। महेंद्रगढ़ की घटना के संबंध में सिविल सर्जन डॉक्टर अशोक कुमार ने पत्रकारों को बताया कि डूबने से चार लोगों की मौत हुई है। सात फीट ऊंची गणपति प्रतिमा के विसर्जन के दौरान नौ युवक नहर की तेजधार में बह गए। जिला प्रशासन नेNDRF की मदद से सभी को बाहर निकाला, जिनमें से चार लोगों की मौत हो गई, जबकि अन्य पांच अस्पताल में भर्ती हैं।सरकारनेयुवाओंकोक्योंदियामूनलाइटिंगकरसकनेकासंकेतजानेंयेक्याहैकोरोना संकट में निचली रैंकिंग वाले खिलाड़ियों की मदद करेगा टेनिस फेडरेशन******लुसाने| अंतर्राष्ट्रीय टेनिस महासंघ (आईटीएफ) ने गुरुवार को बताया है कि वह एटीपी और डब्ल्यूटीए एकल वर्ग में 501 से 700 रैंकिंग और युगल वर्ग में 176 से 300 रैंकिंग वाले खिलाड़ियों की कोविड-19 के समय में मदद करेगी।आईटीएफ ने पहले खिलाड़ियों के लिए राहत कार्यक्रम भी चलाया था जिसमें शीर्ष-500 खिलाड़ियों की मदद की थी, अब आईटीएफ ने बताया है कि वह एटीपी और डब्ल्यूटीए एकल वर्ग में 501 से 700 रैंकिंग और युगल वर्ग में 176 से 300 रैंकिंग वाले खिलाड़ियों के लिए अतिरिक्त 350,000 डॉलर की मदद मुहैया कराएगी।आईटीएफ के अध्यक्ष डेविड हैगार्टी ने कहा, "इस महामारी के कारण आए चुनौतीपूर्ण बदलावों के कारण आईटीएफ ने आईटीएफ ने ज्यादा से ज्यादा हितधारकों की मदद करने का फैसला किया है।"उन्होंने कहा, "हमारे पास असीमित संसाधन नहीं हैं, इसलिए हमारा ध्यान वहां लगाया है जहां सबसे ज्यादा जरूरत है। काफी कुछ अनिश्चित्ता है, लेकिन हम इस बात को लेकर आश्वस्त हैं कि हम एक साथ मिलकर सही फैसला लेंगे। टेनिस जल्द ही मजबूती से वापसी करेगा।"

Moon Lighting: सरकार ने युवाओं को क्यों दिया मून लाइटिंग कर सकने का संकेत, जानें ये क्या है?

सरकारनेयुवाओंकोक्योंदियामूनलाइटिंगकरसकनेकासंकेतजानेंयेक्याहैIPL 2022: वुड की जगह नहीं लेंगे तास्किन अहमद, बीसीबी ने एनओसी देने से किया इंकार******बांग्लादेश के तेज गेंदबाज तास्किन अहमद इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की नयी फ्रेंचाइजी लखनऊ सुपर जायंट्स की टीम में इंग्लैंड के तेज गेंदबाज मार्क वुड की जगह नहीं ले पाएंगे क्योंकि बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (बीसीबी) ने उन्हें अनापत्ति प्रमाणपत्र (एनओसी) देने से इन्कार कर दिया। स्थानीय मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार वुड के कोहनी की चोट के कारण बाहर होने के बाद सुपर जायंट्स ने 26 वर्षीय तास्किन से संपर्क किया था।रिपोर्ट के अनुसार बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने तास्किन को आईपीएल में हिस्सा लेने के लिए अनापत्ति प्रमाण पत्र देने से इनकार कर दिया है क्योंकि उसकी राष्ट्रीय टीम अभी दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर है। ‘क्रिकबज’ के अनुसार बीसीबी क्रिकेट संचालन के प्रमुख जलाल यूनुस ने कहा, ‘‘ हमें दक्षिण अफ्रीका के मौजूदा दौरे के बाद श्रीलंका के खिलाफ घरेलू श्रृंखला खेलनी हैं, इसलिए हमें लगता है कि आईपीएल में हिस्सा लेना उनके लिए सही नहीं होगा।’’ बांग्लादेश की क्रिकेट टीम अभी दक्षिण अफ्रीका दौरे पर है, जहां अभी वह एकदिवसीय श्रृंखला खेल रही है। इसके बाद दो टेस्ट मैचों की श्रृंखला होगी जो 11 अप्रैल तक चलेगी, जबकि आईपीएल 26 मार्च से शुरू होगा। यूनुस ने कहा, ‘‘हमने तास्किन से बात की है और उन्होंने पूरी स्थिति को समझा है। उन्होंने फ्रेंचाइजी को सूचित कर दिया है कि वह आईपीएल में नहीं खेल पाएंगे और दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए उपलब्ध रहेंगे तथा बाद में स्वदेश लौट आएंगे।’’बता दें कि सुपर जायंट्स ने पिछले महीने आईपीएल नीलामी में वुड को 7.5 करोड़ रुपये में खरीदा था।

सरकारनेयुवाओंकोक्योंदियामूनलाइटिंगकरसकनेकासंकेतजानेंयेक्याहैRupee Breakdown: 'रुपये में गिरावट चिंता की बात नहीं', जानिए सरकार के इस बयान के मायने******HighlightsRupee Breakdown:मंगलवार को जब से रुपये ने डॉलर के मुकाबले 80 का एतिहासिक न्यूनतम स्तर छूआ है, तब से मानो बवाल थमता नजर नहीं आ रहा है। विपक्षी पार्टियां जहां रुपये में गिरावट पर सरकार को कोस रही हैं, वहीं अर्थशास्त्री रुपये के और भी निचले स्तर पर जाने के अनुमान लगाने पर जुट गए हैं।विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया सोमवार को कारोबार के दौरान पहली बार 80 के स्तर को पार कर गया था। मंगलवार को रुपया कारोबार के दौरान 80.05 तक गया लेकिन अंत में छह पैसे की बढ़त के साथ 79.92 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ। इस साल रुपया अबतक 7.5 प्रतिशत या 5.63 रुपये टूट चुका है।इस बीच आर्थिक मामलों के सचिव अजय सेठ ने कहा है कि रुपये में गिरावट चिंता की बात नहीं है। एक ओर जहां रुपये में गिरावट के चलते आम लोग महंगाई की मार झेल रहे हैं, ऐसे में सेठ का यह बयान आश्चर्यचकित जरूर करता है। आइए जानते हैं कि अजय सेठ के इस बयान के मायने क्या हैं?अजय सेठ के मुताबिक रुपये को बेहतर तरीके से प्रबंधित किया गया है, ऐसे में घरेलू मुद्रा की विनिमय दर में गिरावट को लेकर निश्चित तौर पर चिंता करने वाली कोई बात नहीं है। उन्होंने कहा कि रुपया ब्रिटिश पाउंड (British Pound), जापानी येन (Japanese Yen) और यूरो (Euro) जैसी कई विदेशी मुद्राओं की तुलना में मजबूत हुआ है। इससे इन मुद्राओं में आयात डॉलर के मुकाबले सस्ता हुआ है।आर्थिक मामलों के सचिव ने रुपये के मूल्य में गिरावट के लिये फेडरल रिजर्व द्वारा नीतिगत दर में वृद्धि को वजह बताया। इससे अमेरिका में निवेश को लेकर दुनियाभर से डॉलर की निकासी हुई। उन्होंने कहा, ‘‘आरबीआई ने दो सप्ताह पहले ही व्यापक स्तर पर कदम उठाये हैं। इसीलिए, जो भी कदम जरूरी हैं, उन्हें उठाया जा रहा है। अत: हमें इसको लेकर निश्चित रूप से चिंतित होने की जरूरत नहीं है। विदेशी मुद्रा में उतार-चढ़ाव के संदर्भ में इसे बेहतर तरीके से प्रबंधित किया जा रहा है।’’भारतीय रिजर्व बैंक ने विदेशी मुद्रा प्रवाह बढ़ाने के लिये कई उपाये किये हैं। इसमें कंपनियों के लिये उधारी सीमा बढ़ाना और सरकारी बॉन्ड में निवेश के लिये नियमों को उदार बनाना शामिल हैं। सेठ ने कहा कि रिजर्व बैंक रुपये के किसी खास स्तर पर गौर नहीं करता। वह ज्यादा उतार-चढ़ाव को रोकने के लिये काम करता है।सरकारनेयुवाओंकोक्योंदियामूनलाइटिंगकरसकनेकासंकेतजानेंयेक्याहैपीएम केयर में राज्यसभा सचिवालय के कर्मचारी देंगे 33 लाख रुपये की सहायता राशि****** राज्यसभा सचिवालय के लगभग 1300 कर्मचारी कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में आर्थिक सहायता के रूप में लगभग 33 लाख रुपये की सहायता राशि दान स्वरूप देंगे। राज्यसभा सचिवालय की ओर से मंगलवार को प्राप्त जानकारी के मुताबिक राज्यसभा के महासचिव और अन्य वरिष्ठ अधिकारी अपना दो दिन का वेतन और सामान्य कर्मचारी एक दिन का वेतन ‘पीमए केयर’ नाम से शुरु किये गये कोष में दान देंगे।उल्लेखनीय है कि कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिये प्रधानमंत्री की पहल पर इस कोष को शुरु किया गया है। राज्यसभा सचिवालय के एक अधिकारी ने बताया कि राज्यसभा के महासचिव देश दीपक वर्मा की अध्यक्षता में हुयी बैठक में सचिवालय के सभी कर्मचारियों द्वारा पीएम केयर कोष में दान देने का फैसला किया गया। इसके तहत लगभग 1300 कर्मचारियों एवं अधिकारियों द्वारा लगभग 33 लाख रुपये की सहायता राशि जुटायी जा सकेगी।कोरोना के खिलाफ जारी देशव्यापी अभियान में सहायता देने के बारे में राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू द्वारा किये गये आह्वान पर राज्यसभा सचिवालय ने यह पहल की है। नायडू ने हाल ही में संसद सदस्यों से सांसद निधि के माध्यम से और देशवासियों से पीएम केयर में अपनी स्वेच्छा से सहायता राशि देने की सार्वजनिक अपील की थी।

सरकारनेयुवाओंकोक्योंदियामूनलाइटिंगकरसकनेकासंकेतजानेंयेक्याहैअरविंद केजरीवाल का बयान, कहा- जिन्हें विधानसभा चुनाव में हार का डर है वे दंगे उकसा रहे हैं******दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर विपक्ष को जिम्मेदार ठहराया है। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हाल कि घटनाओंमें आम आदमी पार्टी का नाम घसीटा जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा किइस हिंसा से आम आदमी पार्टी का फायदा नहीं बल्कि नुकसान है। विपक्ष को फायदा हो सकता है। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में विपक्ष द्वारा जानबूझकर हिंसा फैलाई जा रही है। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इस हिंसा से विपक्ष को फायदा होने की उम्मीद उनको लगती है। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने आरोप लगाया कि पिछले चुनाव के पहले भी विपक्ष ने बवाना और त्रिलोकपुरी में हिंसा फैलाने का प्रयास किया था।मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि विपक्ष द्वारा जानबूझकर इस मामले में आम आदमी पार्टी का नाम घसीटा जाने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने दिल्ली की जनता से अपील की है किकिसी भी तरह से दिल्ली की शांति और अमन चैन खराब नहीं होने देना है। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने यह भी कहा कि विपक्ष की ऐसी कोशिशों चुनाव में जवाब दिया जाएगा।वहीं दूसरी तरफ दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी ने कहा है कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के लोग आग में घी छिड़कने का काम कर रहे हैं। मनोज तिवारी ने कहा कि पुलिस ने जो एफआई आर दर्ज की है उसमें आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के नेताओं के नाम शामिल है जिससे साफ जाहिर होता है कि इस साजिश के पीछे कौन है। मनोज तिवारी ने दिल्ली के लोगों से अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील की है, उन्होंने कहा कि सिटीजनसिफ एक्ट ऐसा कुछ भी नहीं है जो भारत के लोगों से संबंधित हो।सरकारनेयुवाओंकोक्योंदियामूनलाइटिंगकरसकनेकासंकेतजानेंयेक्याहैचुनावों का असर! मार्च में कितना तगड़ा झटका देंगे पेट्रोल-डीजल? 70 दिनों से नहीं बदले दाम,******चुनावों का असर! मार्च में कितना तगड़ा झटका देंगे पेट्रोल-डीजल? 70 दिनों से नहीं बदले दाम,Highlightsपेट्रोल या डीजल से चलने वाली कार और बाइक चलाने वालों के अच्छे दिन चल रहे हैं। इसे चुनावी राहत कहें या आपकी खुशनसीबी! जो भी हो, बीते 70 दिनों से देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं हुआ है। 4 नवंबर को दिवाली के दिन केंद्र और भाजपा शासित राज्य सरकारों द्वारा एक्साइज और वैट दरों में कटौती के बाद 10 से 17 रुपये तक की गिरावट आई थी। तब से दामों में कोई बदलाव नहीं हुआ है।देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं, जिसकी आचार संहिता बीते शनिवार को ही लागू हुई है। लेकिन तेल के दाम करीब ढाई महीने से स्थिर हैं। माना जा रहा है कि चुनाव खत्म होने तक यानि 10 मार्च तक पेट्रोल और डीजल की कीमतों से लोगों को राहत मिलती रहेगी। यूपी के कानपुर में 4 नवंबर के बाद से 95.23 रुपये में पेट्रोल व 86.49 रुपये में डीजल मिल रहा है। वहीं मध्य प्रदेश के भोपाल शहर में पेट्रोल की कीमत 107.23 रुपये और डीजल की कीमत 90.87 रुपये प्रति लीटर है।कागजी तौर पर देखा जाए तो पेट्रोल डीजल की कीमतें तय करने का अधिकार सरकारी तेल कंपनियों पर है। लेकिन बीते कुछ वर्षों में देश में राज्यों के चुनावों के बीच तेल की कीमतों पर ब्रेक लग जाता है। कच्चे तेल का भाव इस समय 84 डॉलर के पार है, बावजूद इसके आने वाले समय में इनके दामों में बढ़ोत्तरी का कोई इरादा नहीं है।नवंबर से देखा जाए तो क्रूड की कीमतें गिरावट के बाद एक बार फिर चढ़ने लगी हैं। आंकड़ों के मुताबिक, 11 नवंबर को क्रूड ऑयल का भाव 85 डॉलर प्रति बैरल था। एक दिसंबर को घटकर यह 69 डॉलर पर आ गया था। तब से लेकर अब तक इसमें करीबन 16 डॉलर की बढ़ोत्तरी हुई है। दिसंबर में जहां क्रूड की कीमत में कटौती का फायदा जहां ग्राहकों को नहीं मिला, वहीं तेल कंपनियों ने 16 डॉलर के उछाल से भी आम जनता को दूर रखा। दिसंबर के बाद से कीमतें फिर उफान पर हैं। फिलहाल क्रूड 84 डॉलर पर है, जिसके 95 डॉलर तक जाने की संभावना है। ऐसे में चुनावों के बाद तगड़ा झटका लगना तय है।कच्चे तेल की कीमतोें का सीधा असर भारत के इंपोर्ट बिल पर पड़ता है। साथ ही यह महंगाई और रुपए की कीमत के लिए भी हानिकारक है। कोरोना की दस्तक के बावजूद देश में परिवहन गतिविधियां जारी हैं। जिससे तेल के उपयोग में कोई कमी नहीं है। क्रूड महंगा होने के बावजूद कीमतें न बढ़ाना सरकारी खजाने की सेहत के लिए फायदेमंद कतई नहीं है।

सरकारनेयुवाओंकोक्योंदियामूनलाइटिंगकरसकनेकासंकेतजानेंयेक्याहै'केजीएफ चैप्टर 2' में अधीरा का रोल निभाएंगे संजय दत्त, फिल्म को लेकर हैं एक्साइटेड******वर्ष 2021 वास्तव में बॉलीवुड के मेगा-स्टार, संजय दत्त के लिए एक स्पेशल साल है। इस साल, अभिनेता कई बड़े बजट की फिल्मों के साथ सिल्वर स्क्रीन पर नजर आएंगे। अभिनेता की सबसे खास फिल्मों में से एक, 'केजीएफ चैप्टर 2' है, जो अभिनेता की पहली पैन-इंडिया फिल्म होगी। उनके करीबी एक सूत्र ने खुलासा किया, संजय दत्त केजीएफ चैप्टर 2 के लिए बेहद उत्साहित हैं, क्योंकि यह उनकी पहली पैन इंडिया फिल्म होगी।अभिनेता ने शूटिंग शेड्यूल मैनेज करते हुए, यह सुनिश्चित किया कि फिल्म शूट, किरदार से जुड़ी तैयारियां और स्क्रिप्ट रीडिंग से किसी प्रकार का कोम्प्रोमाईज न हो। फिल्म की स्क्रिप्ट और नरेशन सुनने के बाद, उन्होंने एक पल में हामी भर दी थी।फिल्म 16 जुलाई, 2021 में रिलीज होने के लिए तैयार है, जिसकी घोषणा हाल ही में की गई थी। दर्शक संजय दत्त को फिल्म में डरावने विलन 'अधीरा' की भूमिका में देखने के लिए उत्सुक हैं। इस फिल्म में संजय दत्त और यश के अलावा रवीना टंडन भी अहम भूमिका में हैं। इस फिल्म का टीजर सुपरस्टार यश के जन्मदिन पर रिलीज हुआ था जिसने 24 घंटे के भीतर 100 मिलियन व्यूज के साथ सबसे ज्यादा देखे जाने वाले टीजर को इतिहास बना दिया था।वर्ष 2021 में, संजय दत्त अपने किरदार के साथ कई बहुमुखी प्रतिभा पेश करेंगे और विभिन्न शैलियों में कई फिल्मों का हिस्सा होंगे। उनकी पाइपलाइन में 'तुलसीदास जूनियर', 'शमशेरा' और 'भुज: द प्राइड ऑफ इंडिया' है। उनके लाइन-अप को देखते हुए, अभिनेता इस वर्ष ऑन-स्क्रीन पात्रों की एक विस्तृत श्रृंखला का चित्रण करेंगे, जिसके लिए हम निश्चित रूप से उत्साहित हैं।(इनपुट/आईएएनएस)सरकारनेयुवाओंकोक्योंदियामूनलाइटिंगकरसकनेकासंकेतजानेंयेक्याहै18-44 वर्ष के कितने लोगों को लग चुकी है वैक्सीन, स्वास्थ्य मंत्री ने दी जानकारी****** देश में पहली मई से उन सभी लोगों को वैक्सीन लगवाने की अनुमति दे दी गई है जिनकि आयु 18-44 वर्ष के बीच है लेकिन वैक्सीन की कमी की वजह से अभी तक इस आयुवर्ग के ज्यादा लोगों को वैक्सीन नहीं मिल पायी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने बताया कि फिलहाल देशभर में अबतक 12 लाख ऐसे लोगों को ही वैक्सीन मिल पायी है जिनकी आयु 18-44 वर्ष के बीच है। ने बताया कि देशभर में अबतक 16.5 करोड़ लोगों को वैक्सीन दी जा चुकी है जिनमें अधिकतर को पहली डोज मिली है और भारत सरकार ने सभी राज्यों से आग्रह किया है कि वैक्सीन का टीका लगाने में पहले उन लोगों को प्राथमिकता दी जाए जिनको पहली डोज मिली हुई है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि राज्यों से कहा गया है कि वे अपने यहां वैक्सीन की कुल सप्लाई का 70 प्रतिशत उन लोगों को लगाए जिन्हें पहले टीका लग चुका है और 30 प्रतिशत टीके उनको लगाएं जो पहली बार टीका लगवा रहे हैं।स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देशभर में अबतक लगभग 16.50 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाई गई है जिनमें 13.21 करोड़ लोगों को पहली डोज मिली है और 3.29 करोड़ लोगों को दोनों डोज दी जा चुकी हैं। देशभर में महाराष्ट्र, राजस्थान, गुजरात, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल और कर्नाटक में सबसे तेजी से वैक्सीन लगाई जा रही है। महाराष्ट्र में अबतक 1.72 करोड़, राजस्थान में 1.37 करोड़, गुजरात में 1.34 करोड़, उत्तर प्रदेश में 1.33 करोड़, पश्चिम बंगाल में 1.15 करोड़ और कर्नाटक में 1.02 करोड़ लोगों को वैक्सीन की पहली या दूसरी खुराक मिल चुकी है। केंद्र सरकार ने सभी राज्यों से आग्रह किया है कि आने वाले दिनों में वैक्सीन लगाने की गति को तेजी से बढ़ाएं।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 04:42
उद्धरण 1 इमारत
MP Board 12th Result 2019:15 मई को घोषित हो सकते हैं मध्य प्रदेश बोर्ड के 12वीं के नतीजे, इन वेबसाइट पर करें चेक******मध्‍यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (MPBSE) मध्य प्रदेश बोर्ड 10वीं, 12वीं रिजल्ट 2019 (MP board 12th results 2019) के नतीजे 15 मई को घोषित कर सकता है। एमपी बोर्ड रिजल्ट 2019 को बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट mpresults.nic.in पर नतीजे चेक किए जा सकेंगे।आपको बता दें कि मध्यप्रदेश में माध्यमिक शिक्षा मंडल की ओर से संचालित मुख्य परीक्षाएं इंटर की 2 मार्च से 2 अप्रैल तक चली थीं।प्रदेश की सबसे बड़ी इन परीक्षाओं में लगभग 18 लाख छियासठ हजार से अधिक परीक्षाथीर् सम्मिलित हुए। हाईस्कूल परीक्षा में इस वर्ष 11,32,741 परीक्षार्थी तथा हायर सेकेंड्री परीक्षा में लगभग 7,32,319 परीक्षार्थी सम्मिलित हुए। हाईस्कूल परीक्षा के लिए 3,864 परीक्षा केन्द्र और हायर सेकेंड्री परीक्षा के लिए 3,554 परीक्षा केन्द्र बनाए गए थे।पिछले साल मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने 10वीं और 12वीं का रिजल्ट 14 मई को जारी किया था। साल 2018 में 10वीं क्लास में 66 फीसदी छात्र और 12वीं क्लास में 68 फीसदी छात्र पास हुए थे।
2022-10-01 03:57
उद्धरण 2 इमारत
होंडा 16 मई को भारत में लॉन्‍च करेगी नई अमेज़, पहले 20000 ग्राहकों के लिए होगी खास कीमत******honda होंडा अपनी नई अमेज़ को बाजार में उतारने के लिए तैयार है। कंपनी ने बुधवार को नई अमेज़ का भारत में उत्‍पादन शुरू कर दिया है। होंडा कार्स इंडिया लिमिटेड के राजस्‍थान के टपुकरा स्थि‍त मैन्‍यु‍फैक्‍चरिंग प्‍लांट में होंडा अमेज़ का उत्‍पादन किया जा रहा है। होंडा अपनी इस नई अमेज़ को 16 मई को भारतीय बाजार में लॉन्‍च करेगी। कार की डिलिवरी लॉन्‍चिंग के बाद ही शुरू कर दी जाएगी। कंपनी ने जानकारी देते हुए बताया कि होंडा अपनी इस नई अमेज़ को एक खास ऑफर के साथ पेश कर रही है। इसके तहत पहले 20000 ग्राहकों को यह नई कार एक खास कीमत पर उपलब्‍ध कराई जाएगी। हालांकि कंपनी ने अभी कीमतों की घोषणा नहीं की है। गौरतलब है कि भारत वैश्‍विक स्‍तर पर पहला देश है जहां पर होंडा की नई अमेज का उत्‍पादन शुरू किया गया है। वहीं भारत पहला देश होगा जहां इसे लॉन्‍च किया गया है। होंडा कार्स इंडिया लिमिटेड के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट और डायरेक्‍टर राजेश गोयल ने बताया कि होंडा के लिए भारत एक अहम बाजारों में से एक है। इसीलिए कंपनी ने अपनी नई अमेज़ को वैश्‍विक स्‍तर पर सबसे पहले भारत में लॉन्‍च किया जा रहा है। उन्‍होंने कहा कि यह कार कंपनी की सेल्‍स और कारों की तकनीक के बारे में गेम चेंजर साबित होगी। कंपनी ने इस कार को सबसे पहले फरवरी में हुए ऑटो एक्‍सपो के दौरान पेश किया था। जहां इसकी डिजाइनिंग को लेकर काई अच्‍छा रिस्‍पॉन्‍स मिला था।आपको बता दें कि होंडा ने अपनी अमेज को सबसे पहले 2013 में भारतीय बाजार में उतारा था। यह कंपनी की एंट्री सेगमेंट सेडान कार है। होंडा अब तक भारतीय बाजार में करीब 2.5 लाख अमेज़ बेच चुकी है। नई अमेज की बात करें तो यह देखने में काफी कुछ होंडा सिटी जैसी दिखाई देती है। अन्‍य बदलावों की बात करें तो इसमें नई ग्रिल के साथ नई डिज़ाइन के हैडलैंप और एलईडी लाइट दी गई है। कार में रियर पार्किंग सेंसर्स, रियर कैमरा और आलॉय व्हील्स को भी नई तरह से पेश किया गया है।
2022-10-01 03:31
उद्धरण 3 इमारत
Yoga Day 2021: कपालभाति- भस्त्रिका सहित ये प्राणायाम करने से मिलेगी एनर्जी, साथ ही दूर होंगी ये बीमारियां******आज यानि 21 जून को दुनियाभर में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। योग दुवस के मौके पर स्वामी रामदेव से प्राणायाम के बेहतरीन फायदे बताए। स्वामी रामदेव के अनुसार रोजाना थोड़ा समय निकालकर अगर आप प्राणायाम करते हैं आप कैंसर, डायबिटीज, ब्लड प्रेशर जैसी कई खतरनाक बीमारियों से खुद का बचाव कर सकते हैं। इसके साथ ही ऑक्सीजन लेवल बढ़ने के साथ शरीर का हर एक अंग मजबूत बनता है। इसलिए शरीर को फिट रखने के साथ ऑक्सीजन लेवल बढ़ाने के लिए रोजाना अनुलोम विलोम, भस्त्रिका, कपालभाति, शीतली, शीतकारी, नाड़ी शुद्धि, सूर्य भेदी, चंद्र भेदी सहित अन्य प्राणायाम करना चाहिए।स्वामी रामदेव के अनुसार कोरोना काल में ब्रीदिंग एक्सरसाइज काफी कारगर साबित हुई है। इसके द्वारा आप अपने फेफड़ों को मजबूत करने के साथ ऑक्सीजन लेवल बढ़ा पाए है। जानिए इन्हें करने की विधि। रोजाना कपालभाति करने से आपके नर्वस सिस्टम के न्यूरॉन ठीक ढंग से काम करेंगे। जिससे आपको मिर्गी की समस्या नहीं होगी। इसके लिए रोजाना 10-15 मिनट कपालभाति करे।कपालभाति प्राणायाम के लिए रीढ़ की हड्डी को सीधा करके पद्मासन पर बैठ जाए। अगर आप जमीन में नहीं बैठ सकते हैं तो कुर्सी पर बैठे सकते है। सबसे पहले अपनी नाक के दोनों छिद्रों के माध्यम से एक गहरी श्वास लें। साथ ही पेट को भी अंदर की और बहार की ओर धकेले। इस प्रकिया को बार-बार दोहराएं।असबसे पहले पद्मासन की मुद्रा में बैठ जाएं। अब दाएं हाथ की अनामिका और सबसे छोटी उंगली को मिलाकर बाएं नाक पर रखें और अंगूठे को दाएं वाले नाक पर लगा लें। तर्जनी और मध्यमा को मिलाकर मोड़ लें। अब बाएं नाक की ओर से सांस भरें और उसे अनामिका और सबसे छोटी उंगली को मिलाकर बंद कर लें। इसके बाद दाएं नाक की ओर से अंगूठे को हटाकर सांस बाहर निकाल दें। इस आसन को 15 मिनट से लेकर आधा घंटा कर सकते हैं। इस आसन को करने से तनाव को कम करता है। कफ से संबंधित समस्या को दूर करता है। मन को शांत करता है जिससे एकाग्रता बढ़ती है। दिल को स्वस्थ रखता है और ब्लड सर्कुलेशन बेहतर करता है।इस प्राणायाम को 3 तरह से किया जाता है। पहले में 5 सेकंड में सांस लें और 5 सेकंड में सांस छोड़े। दूसरे में ढाई सेकंड सांस लें और ढाई सेकंड में छोड़ें। तीसरा तेजी के साथ सांस लें और छोड़े। इस प्राणायाम को लगातार 5 मिनट करें। इस आसन को रोजाना 5-10 मिनट करें।इस प्राणायाम को रोजाना करने से हाइपरटेंशन, अस्थमा, हार्ट संबंधी बीमारी, टीवी, ट्यूमर, बीपी, लिवर सिरोसिस, साइनस, किसी भी तरह की एनर्जी और फेफड़ों के लिए अच्छा माना जाता है।इस प्राणायाम को करने के लिए पहले सुखासन या पद्मासन की अवस्था में बैठ जाएं। अब अंदर गहरी सांस भरते हैं। सांस भरकर पहले अपनी अंगूलियों को ललाट में रखते हैं। जिसमें 3 अंगुलियों से आंखों को बंद करते हैं। अंगूठे से कान को बंद कते हैं। मुंह को बंदकर 'ऊं' का नाद करते हैं। इस प्राणायाम को 3-21 बार किया जा सकता है।इस आसन को करने से शरीर में ऑक्सीजन की कमी नहीं होती है। इसके साथ ही लंग्स और हार्ट मजबूत होते है। इम्यूनिटी बूस्ट होने पर मदद मिलती है। जिससे आप खुद को संक्रामण बीमारियों से बचा सकते हैं।सबसे पहले आराम से रीढ़ की हड्डी सीधी करके बैठ जाएं। इसके बाद जीभ को बाहर निकालकर सांस लेते रहें। इसके बाद दाएं नाक से हवा को बार निकालें। इस प्राणायाम को 5 से 10 मिनट तक कर सकते हैं। इस आसन को करने से मन शांत होगा, तनाव, हाइपरटेंशन के साथ-साथ एसिडिटी से निजात मिलेगा। अगर आपको गुस्सा अधिक आता है ये प्राणायाम काफी कारगर हो सकता है।इस प्राणायाम में होंठ खुले, दांत बंद करें। दांत के पीछे जीभ लगाकर, दांतो से धीमे से सांस सांस अंदर लें और मुंह बंद करें। थोड़ी देर रोकने के बाद दाएं नाक से हवा बाहर निकाल लें और बाएं से हवा अंदर लें। इस आसन को करने से तनाव, हाइपरटेंशन से निजात मिलता है। इसके साथ ही अधिक मात्रा में ऑक्सीजन अंदर जाती है।इस प्राणायाम में सांस केवल दाहिने नथुने और बाएं नथुने से छोड़ना होता है। अंगूठे का इस्तेमाल करते हुए दाएं नासिका को बंद करे और अनामिका का उपयोग बाएं नासिका को बंद करने के लिए किया जाता है।
वापसी