नई पोस्ट करें

Kerala News: केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान पर प्रदेश सरकार ने संवैधानिक संकट पैदा करने का लगाया आरोप

2022-10-01 06:33:59 823

केरलकेराज्यपालआरिफमोहम्मदखानपरप्रदेशसरकारनेसंवैधानिकसंकटपैदाकरनेकालगायाआरोपIND vs IRE Records: दीपक हुड्डा आयरलैंड में अंतरराष्ट्रीय शतक लगाने वाले पहले भारतीय, सैमसन के साथ मिलकर बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड******Highlightsभारत के स्टार ऑलराउंडर दीपक हुड्डा ने एक बार फिर से अपनी बल्लेबाजी से सभी का दिल जीत लिया है। उन्होंने अपनी शानदार फॉर्म बरकरार रखते हुए टी20 अंतरराष्ट्रीय करियर का अपना पहला शतक लगाया। डबलिन में आयरलैंड के खिलाफ दूसरे मैच में उन्होंने ना सिर्फ अपना पहला अर्धशतक लगाया बल्कि उससे एक कदम आगे बढ़कर शतक भी पूरा किया।दाएं हाथ के बल्लेबाज इस मैच में तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे। उन्होंने पिछले मैच की फॉर्म को बरकरार रखते हुए मैदान के चारों तरफ शॉट खेले और 27 गेंदों में अपना पहला अर्धशतक लगाया। वह यहीं नहीं रूके और 55 गेंदों में अपना पहला शतक भी पूरा कर लिया। अपना पांचवां मैच खेल रहे दीपक 57 गेंदों में 104 रन बनाकर आउट हुए। उन्होंने अपनी पारी में नौ चौके और छह छक्के भी लगाए।दीपक के अलावा संजू सैमसन ने भी जबरदस्त खेल दिखाया। सीरीज का अपना पहला मैच खेल रहे सैमसन पारी की शुरुआत करने उतरे। उन्होंने पहली ही गेंद पर चौका लगाकर अपने इरादे जाहिर कर दिए। सैमसन ने भी तेजी से रन बटोरे और अपने टी20 अंतरराष्ट्रीय करियर का पहला अर्धशतक लगाया। वह 42 गेंदों में 77 रन का अपना सर्वोच्च स्कोर बनाकर आउट हुए। हालांकि आउट होने से पहले सैमसन ने ने हुड्डा के साथ मिलकर एक विश्व रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया।सैमसन और हुड्डा ने मिलकर दूसरे विकेट के लिए 176 रनों की विशाल साझेदारी की। यह भारत की तरफ से टी20 अंतरराष्ट्रीय में किसी भी विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी रही। इससे पहले रोहित शर्मा और केएल राहुल ने 2017 में श्रीलंका के खिलाफ पहले विकेट के लिए 165 रनों की साझेदारी की थी।दोनों ने मिलकर दूसरे विकेट के लिए ओवरऑल सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया। इससे पहले इंग्लैंड के जोस बटलर और डाविड मलान ने 2020 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 167* रन की अटूट साझेदारी की थी।

केरलकेराज्यपालआरिफमोहम्मदखानपरप्रदेशसरकारनेसंवैधानिकसंकटपैदाकरनेकालगायाआरोपहाय महंगाई! साबुन, बिस्किट से लेकर कार और TV तक, 2022 में जानिए कहां कटेगी आपकी जेब?******हाय महंगाई! साबुन, बिस्किट से लेकर कार और TV तक, 2022 में जानिए कहां कटेगी आपकी जेबHighlightsअगर आप 2021 में महंगाई को लेकर परेशान रहे हैं तो अपनी कमर मजबूत कर लीजिए। 2022 का साल आपके लिए महंगाई की नई सौगातें लेकर आया है। इस साल आप सिर्फ कार जैसी महंगी और पेट्रोल जैसी जरूरी चीजों की महंगाई से हैरान और परेशान नहीं रहेंगे। बल्कि आपको इस बार साबुन, तेल से लेकर बिस्कुट जैसी रोजमर्रा की वस्तुओं के लिए भी ज्यादा कीमतें चुकानी होगी।यदि शुरुआती रुझानों पर ध्यान दें, तो चौतरफा महंगाई आप पर आक्रमण करने को तैयार है। आने वाले समय में सभी उपभोक्ता वस्तुओं पर कम से कम 3-5 प्रतिशत की महंगाई की मार पड़ने वाली है। उदाहरण के लिए, दैनिक आवश्यक श्रेणी को लें। पिछले तीन हफ्तों में बिस्कुट, केक, ब्रेड और अंडे जैसे बेसिक पैकेज्ड फूड 8-15 फीसदी महंगे हो गए हैं। ब्रिटानिया, आईटीसी, पारले प्रोडक्ट्स और हिंदुस्तान यूनिलीवर (एचयूएल) जैसी फास्ट मूविंग कंज्यूमर गुड्स (एफएमसीजी) कंपनियों ने इसके लिए कृषि-वस्तुओं की कीमतों में लगातार वृद्धि, लॉजिस्टिक्स और पैकेजिंग सामग्री की बढ़ती लागत को जिम्मेदार ठहराया।बिस्कुट बनाने वाली देश की प्रमुख कंपनी ब्रि​टानिया ने हाल ही में निवेशकों को बताया कि कंपनी कीमतों में 6 फीसदी की बढ़ोतरी करने की योजना बना रही है। दूसरी ओर अग्रणी बिस्कुट निर्माता पारले प्रोडक्ट्स, जिसने पिछले साल मार्च में कीमतों में 10 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी की थी। यह कंपनी 20 रुपये और उससे अधिक की कीमत वाले पैक के लिए एमआरपी में एक बार फिर 5-10 प्रतिशत की वृद्धि के लिए तैयार है।महंगाई का सांप ग्राहकों को दो तरीके से डसने जा रहा है। एक ओर जहां बिस्किट और दूसरे प्रोडक्ट बनाने वाली कंपनियां जहां एमआरपी की दरें बढ़ाने पर विचार कर रही हैं। वहीं दूसरी ओर पैकेट के आकार को भी छोटा बनाते हुए कीमतें स्थिर रखने की कोशिश की जा रही है। बाजार के जानकार मानते हैं, कि दूसरा तरीका अपनाकर कंपनियां कीमत नहीं बढ़ती। जिससे ग्राहक के सेंटिमेंट और मांग दोनों पर सीधा प्रभाव नहीं पड़ता।देश की सबसे बड़ी गैर-तंबाकू एफएमसीजी कंपनी और प्रमुख साबुन और डिटर्जेंट निर्माता एचयूएल अपने लोकप्रिय साबुन और डिटर्जेंट ब्रांडों जैसे लक्स, डव, लाइफबॉय, रिन और सर्फ एक्सेल की कीमतें बढ़ा रही है। कंपनी डव उत्पादों की कीमतों में 12 फीसदी की बढ़ोतरी कर रही है। लक्स के 10 फीसदी, जबकि सर्फ एक्सेल बार के लिए उपभोक्ताओं को अब 20 फीसदी अधिक खर्च करना होगा।एफएमसीजी के नक्शेकदम पर चलते हुए, देश में वाहन निर्माता जनवरी में कीमतों में बढ़ोतरी के एक और दौर के लिए तैयार हैं। हालांकि नए साल में कार की कीमतों में संशोधन असामान्य नहीं है, लेकिन इस साल कीमतों में बढ़ोतरी बहुत ज्यादा है। मारुति सुजुकी पिछले 12 महीनों में कीमतों में तीन बार वृद्धि कर चुकी है। इसके बाद भी वह एक बार फिर कीमतें बढ़ा रही है। इसके साथ ही किआ मोटर्स, महिंद्रा एंड महिंद्रा, होंडा, टाटा मोटर्स, वोक्सवैगन और टोयोटा, मर्सिडीज बेंज, ऑडी और वोल्वो जैसी लक्जरी कार निर्माता अपने मॉडलों की कीमतों में 1-3.5 प्रतिशत की बढ़ोतरी करने के लिए तैयार हैं। कार प्रेमियों को एंट्री और मिड-सेगमेंट यात्री वाहनों के लिए कम से कम 8,000 रुपये से 60,000 रुपये अधिक खर्च करने होंगे।हीरो मोटोकॉर्प पहले ही अपने एंट्री-लेवल मॉडल्स में 2,000 रुपये की बढ़ोतरी की घोषणा कर चुकी है। जबकि रॉयल एनफील्ड बाइक बनाने वाली कंपनी आयशर मोटर्स अपने लोकप्रिय मॉडलों की कीमतों में 3,000 रुपये से 5,000 रुपये तक की बढ़ोतरी कर रही है।महामारी ने जब 2020 की शुरुआत में दस्तक दी थी, तब सप्लाई में व्यवधान, कच्चे माल की कमी और ढुलाई की बढ़ती लागत ने उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स और टिकाऊ वस्तुओं की कीमतों में आग लगा दी थी। दो साल बाद भी, खरीदार नुकसान में हैं क्योंकि निर्माताओं ने रेफ्रिजरेटर, वाशिंग मशीन, माइक्रोवेव और टेलीविजन सेट जैसी आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में वृद्धि जारी रखी है। एलजी, पैनासोनिक, जॉनसन कंट्रोल्स-हिताची और सुपर प्लास्ट्रोनिक्स जैसे लोकप्रिय ब्रांडों ने पहले ही कीमतों में बढ़ोतरी शुरू कर दी है।केरलकेराज्यपालआरिफमोहम्मदखानपरप्रदेशसरकारनेसंवैधानिकसंकटपैदाकरनेकालगायाआरोपUN में PAK पीएम ने भारत को लेकर कही ये बड़ी बात, कश्मीर मुद्दे पर भी बोले शहबाज शरीफ****** पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने संयक्त राष्ट्र महासभभा (UNGA) के सत्र को संबोधित करते हुए भारत के बारे में बहुत कुछ कहा। शहबाज शरीफ ने कहा कि पाकिस्तान भारत समेत अपने सभी पड़ोसियों के साथ शांति चाहता है। उन्होंने कहा कि दक्षिण एशिया की शांति व स्थिरता कश्मीर मुद्दे के उचित और स्थाई समाधान पर निर्भर करती है। शरीफ ने कहा कि पांच अगस्त 2019 को जम्मू कश्मीर के स्पेशल दर्जे को बदलने के लिए भारत के 'अवैध और एकतरफा कदम' ने अमन की संभावनाओं को कम किया है, साथ ही क्षेत्रीय तनाव को भी भड़काया है।शरीफ ने कहा, “मेरे ख्याल से यह सही वक्त है जब भारत को यह संदेश साफ तौर पर समझना चाहिए कि दोनों देश हथियारों से लैस हैं। जंग कोई विकल्प नहीं है। सिर्फ शांतिपूर्ण संवाद ही इन मुद्दों को हल कर सकता है ताकि आने वाले वक्त में दुनिया और ज्यादा शांतिपूर्ण हो जाए।” शरीफ ने कहा कि नई दिल्ली ने जम्मू-कश्मीर में अपनी सैन्य तैनाती बढ़ा दी है, जिससे यह दुनिया का सबसे ज्यादा सैन्यीकृत क्षेत्र बन गया है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी आवाम कश्मीरियों के साथ खड़ी रही है और आगे भी खड़ी रहेगी। उन्होंने कहा कि वह ‘अपने भारतीय समकक्षों के साथ’ बातचीत करने के लिए आगे आने को तैयार हैं ताकि "हमारी पीढ़ियों को परेशानी न झेलनी पड़े और हम अपने संसाधनों को अपनी तकलीफों को कम करने और बाढ़ और बादल फटने की घटनाओं का सामना करने के लिए संरचनाओं के निर्माण पर खर्च कर सकें।”शरीफ ने कहा, “मैंने विश्व मंच को आश्वासन दिया है कि पाकिस्तान दक्षिण एशिया में शांति के लिए अपनी प्रतिबद्धता पर कायम हैं। भारत को उपयोगी वार्ता के लिए माहौल बनाने के वास्ते उचित कदम उठाने चाहिए।” भारत, पाकिस्तान से कई बार कह चुका है कि जम्मू कश्मीर उसका अभिन्न अंग था, है और रहेगा। शरीफ ने कहा कि भारत और पाकिस्तान को अधिक गोला-बारूद खरीदने और तनाव को बढ़ावा देने की कोशिश में अपने संसाधनों को बर्बाद नहीं करना चाहिए।अफगानिस्तान को लेकर PAK पीएम ने कहा कि इस वक्त अफगानिस्तान की अंतरिम सरकार को अलग-थलग करने से अफगान लोगों की पीड़ा बढ़ सकती है। शरीफ ने आतंकवाद पर कहा कि पाकिस्तान अफगानिस्तान से संचालित प्रमुख आतंकवादी समूहों से उत्पन्न खतरे को लेकर अंतरराष्ट्रीय समुदाय की चिंता को साझा करता है।

Kerala News: केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान पर प्रदेश सरकार ने संवैधानिक संकट पैदा करने का लगाया आरोप

केरलकेराज्यपालआरिफमोहम्मदखानपरप्रदेशसरकारनेसंवैधानिकसंकटपैदाकरनेकालगायाआरोपमहाराष्ट्र में सामने आए कोविड-19 के 4,456 नये मामले, 183 मरीजों की मौत******महाराष्ट्र में बुधवार को कोविड-19 से 183 और मरीजों की मौत के बाद मृतकों की तादाद 1,37,496 पर पहुंच गयी जबकि 4,456 नये मामले सामने आने के साथ ही कोरोना वायरस संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर प्रदेश में 64,69,332 हो गयी। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे के दौरान कोविड-19 के 4,430 मरीज संक्रमण मुक्त भी हुए, जिससे राज्य में इस जानलेवा वायरस के संक्रमण को मात देने वालों की संख्या बढ़कर 62,77,230 हो गयी। राज्य में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या 51,078 हो गयी है।स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी के मुताबिक महाराष्ट्र में से ठीक होने की दर 97.03 प्रतिशत हो गयी है जबकि मृत्यु दर 2.12 प्रतिशत बनी हुई है। धुले, जालना, हिंगोली और वाशिम जिलों के ग्रामीण हिस्सों के अलावा मालेगांव, धुले और नांदेड़ के नगर निगम क्षेत्रों में बीते 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण का एक भी नया मामला सामने नहीं आया। राज्य के अहमदनगर जिले में बुधवार को सर्वाधिक 653 नये मामले सामने आए, उसके बाद पुणे में कोरोना वायरस संक्रमण के 608 नये मामले दर्ज किए गए।अधिकारी के मुताबिक पुणे शहर में बीते 24 घंटे के दौरान कोविड-19 के सर्वाधिक 32 मरीजों की मौत हुई। राजधानी मुंबई में कोरोना वायरस संक्रमण के 415 नये मामले सामने आए जबकि चार मरीजों की मौत हुई। महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे के दौरान 1,78,004 नमूनों की कोविड-19 जांच की गयी। राज्य में अब तक 5,41,54,890 नमूनों की कोविड-19 जांच हो चुकी है।वहीं, ठाणे में कोरोना वायरस संक्रमण के 205 नए मामले आए हैं जिससे जिले में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 5,51,444 हो गई है। अधिकारी ने बताया कि नए मामले मंगलवार को दर्ज किए गए और संक्रमण से तीन और मरीजों की मौत हुई है जिससे जिले में मृतक संख्या बढ़कर 11,289 हो गई है। ठाणे में कोविड-19 मृत्यु दर 2.04 प्रतिशत है। एक अन्य अधिकारी ने बताया कि पड़ोस के पालघर जिले में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,34,541 हो गई है जबकि मृतक संख्या 3,293 है।केरलकेराज्यपालआरिफमोहम्मदखानपरप्रदेशसरकारनेसंवैधानिकसंकटपैदाकरनेकालगायाआरोपहर बैंक में FD का ब्याज अलग-अलग, जानिए 1, 3 या 5 साल के लिए कहां मिलेगा सबसे ज्यादा रिटर्न******FD, Interest rateHighlights बैंकों द्वारा सावधि जमा (FD) पर ब्याज दर में बढ़ोतरी से निवेशकों का रुझान एक बार फिर से एफडी में बढ़ा है। ऐसे में अगर आप भी एफडी कराने की सोच रहे हैं और यह तय नहीं कर पा रहे हैं कि अधिक रिटर्न के लिए किस बैंक का चुनाव करना बेहतर होगा तो हम आपको उन बैंकों का नाम बता रहे हैं। आप निवेश की समय अवधि के अनुसार ज्यादा रिटर्न के लिए बैंक का चुनाव कर सकते हैं।बैंकिंग विशेषज्ञों का कहना है कि अधिक ब्याज के लालच में किसी भी बैंक, एनबीएफसी या स्मॉल फाइनेंस बैंक में निवेश करना सही नहीं होता है। किसी भी बैंक का चुनाव उसके वित्तीय साख को देखते हुए करें। इससे बाद में पछताना नहीं होगा।केरलकेराज्यपालआरिफमोहम्मदखानपरप्रदेशसरकारनेसंवैधानिकसंकटपैदाकरनेकालगायाआरोपAsia Cup Qualifiers 2022: भारत-पाकिस्तान के साथ ग्रुप ए में कौन सी होगी तीसरी टीम? इन चार टीमों के बीच क्वॉलीफायर से होगा फैसला******Highlightsएशिया कप 2022 के शुरू होने में एक हफ्ते का समय बाकी है। यूएई में आयोजित होने वाले इस बहुराष्ट्रीय टूर्नामेंट में कुल छह टीमें हिस्सा लेंगी। गत विजेता भारत दूसरी बार टी20 का खिताब अपने नाम करना चाहेगा। लेकिन इसके लिए उसे सबसे पहले पाकिस्तान और क्वॉलीफाइंग टीम की चुनौती से पार पाना होगा। भारत शुरुआती दौर में ग्रुप ए में पाकिस्तान और एक क्वॉलीफाइंग टीम के साथ राउंड रोबिन लीग के तहत मुकाबले खेलेगा और इसके बाद नॉक आउट मुकाबले खेले जाएंगे। इस टूर्नामेंट की शुरुआत 27 अगस्त से हो रही है। लेकिन अभी ग्रुप ए की तीसरी टीम का नाम तय नहीं हुआ है। ऐसे में एशिया कप क्वॉलीफायर में सिंगापुर, हांगकांग, कुवैत और मेजबान यूएई की टीम खेलेगी।एशिया कप क्वॉलीफायर के मुकाबले 20 अगस्त से 24 अगस्त तक ओमान के अल-अमीरात क्रिकेट ग्राउंड में खेले जाएंगे।एशिया कप में छह टीमें हिस्सा ले रहीं हैं। भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका, अफगानिस्तान और बांग्लादेश के अलावा एक और टीम इसमें शामिल होगी, जिसका फैसला क्वॉलीफायर टूर्नामेंट से होगा। क्वॉलीफायर की विजेता टीम ग्रुप ए में भारत और पाकिस्तान से जुड़ेगी।एशिया कप क्वॉलीफायर में चार टीमें खेलेंगी। यह राउंड रोबिन लीग फॉर्मेट में खेला जाएगा, जिसमें सभी टीमें एक-दूसरे से तीन-तीन मैच खेलेंगी।

Kerala News: केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान पर प्रदेश सरकार ने संवैधानिक संकट पैदा करने का लगाया आरोप

केरलकेराज्यपालआरिफमोहम्मदखानपरप्रदेशसरकारनेसंवैधानिकसंकटपैदाकरनेकालगायाआरोपरूस की इकोनॉमी पर भारी पड़े स्विफ्ट प्रतिबंध, रूसी बैंकों पर बंदिशों के बाद रूबल 26% टूटा******RussiaHighlightsपश्चिमी देशों द्वारा स्विफ्ट वैश्विक भुगतान प्रणाली से रूसी बैंकों को बाहर करने के बाद सोमवार तड़के अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रूबल लगभग 26 प्रतिशत टूट गया। रूस की मुद्रा 105.27 रूबल प्रति डॉलर के रिकॉर्ड निचले स्तर पर कारोबार कर रही थी। इससे पहले शुक्रवार को डॉलर के मुकाबले रूबल 84 के स्तर पर था।बीते सप्ताहांत अमेरिका और अन्य पश्चिमी देशों के साथ ही जापान ने भी रूस के खिलाफ आर्थिक प्रतिबंधों में बढ़ोतरी की। इससे पहले घोषित प्रतिबंधों ने रूसी मुद्रा को डॉलर के मुकाबले ऐतिहासिक निचले स्तर पर ला दिया था।रूस और यूक्रेन के बीच बढ़ते तनाव के कारण कच्चे तेल की कीमतों में तेजी के चलते रुपया सोमवार को शुरुआती कारोबार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 40 पैसे टूटकर 75.33 पर आ गया। अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में डॉलर के मुकाबले रुपया कमजोर खुला। रुपया 75.78 और 75.70 के सीमित दायरे में कारोबार कर रहा था। शुरुआती सौदों में स्थानीय मुद्रा अपने पिछले बंद भाव से 40 पैसे की गिरावट के साथ 75.73 पर थी। रुपया पिछले सत्र में 27 पैसे की तेजी के साथ 75.33 पर बंद हुआ था। इसबीच छह प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले अमेरिकी डॉलर की स्थिति को दर्शाने वाला डॉलर सूचकांक 0.78 प्रतिशत बढ़कर 97.37 पर था। वैश्विक तेल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड वायदा 4.24 प्रतिशत बढ़कर 102.08 डॉलर प्रति बैरल के भाव पर था।केरलकेराज्यपालआरिफमोहम्मदखानपरप्रदेशसरकारनेसंवैधानिकसंकटपैदाकरनेकालगायाआरोपExclusive: इनसाइड एज 3 के एक्टर तनुज विरवानी ने कहा- आने वाले समय में जरूर करूंगा पर्दे के पीछे काम******Highlights'इनसाइड एज' के नए सीजन ने अपने ट्रेलर से दर्शकों का दिल जीत लिया है। ट्रेलर में तनुज विरवानी के स्टार क्रिकेटर 'वायु राघवन' के किरदार को दिखाया गया है जो भारतीय टीम की कप्तानी का मजबूत दावेदार बनने के लिए अपने खेल को और निखारना चाहता है। इंडिया टीवी पर तनुज विरवानी ने खास बातचीत करते हुए वेब सीरिज के बारे में काफी बातें बताई। अपने किरदार के बारे में बात करते हुए कहते हैं कि मैं सीजन 1 का बहुत बड़ा फैन हूं। क्योंकि इंडिया का पहला लीगल ड्रामा है। इस सीजन से पहले हमने ये कहानी छोटे पर्दे में नहीं देखी थी। जब लॉकडाउन के बाद शूटिंग शुरू हुई तो मैने देखा कि हर कोई बड़े-बड़े डायलॉग्स बोल रहे थे तो मैने प्रोड्यूसर से पूछा कि क्या मैं भी एक वकील हूं? इस बारे में प्रोड्यूसर ने कहा कि नहीं आप सिर्फ एक उद्यम पूंजीपति (venture capitalist)हो।तनुज ने आगे कहा कि इस शब्द को सुनते ही मेरे दिमाग में आया कि आखिर ये वेंचर कैप्लीस्ट होता क्या है? इसके बाद मैने रिसर्च की, जिसके बाद मुझे पता चला कि वास्तव में इस शब्द का मतलब क्या है।ओटीटी प्लेटफॉर्म के बारे में बता करते हुए तनुज कहते हैं कि मैं इस प्लेटफॉर्म से बहुत पहले से जुड़ा हुआ हूं। लेकिन कोरोना के बाद से इस प्लेटफार्म का बहुत महत्व बढ़ गया है। क्योंकि सिनेमाघर बंद थे तो यह ओटीटी के लिए एक बड़ा बूम साबित हुआ।क्या ओटीटी आने वाले समय में एक वह भविष्य है जिसे लोग ज्यादा पसंद करें। इस सवाल का जवाब देते हुए तनुज ने कहा कि सिनेमाघर जाने का जो एक्सपीरियंस होता है। वह लोग घरों पर रहकर अपने मोबाइल, टीवी आदि से कंपेयर नहीं कर सकते हैं। क्योंकि वहां एक अलग माहौल होता है। जहां पर आप अधिक लोगों के साथ एक अंधेरे कमरे में बैठे होते हैं और हर एक सीन में एक साथ रिएक्ट कर रहे हैं। यह एक कम्यूनिटी से भरा हुआ एक्सपीरियंस है। वहीं वेबसीरिज अकेले का एक्सपीरियंस होता है।ओटीटी पर आप डायरेक्शन , प्रोडक्शन पर भी जाएंगे क्या? इस सवाल का जवाब देते हुए तनुज ने कहा कि मुझे कभी लगा कि मैं एक्टर बनूं। हमेशा में चाहता था कि मैं राइटर, डायरेक्टर बनूं। जब मैं असिस्टेट डायरेक्टर था जब भी मैं हमेशा समझने की कोशिश करता था कि कैसे -कैसे काम होता है। इसलिए आने वाले समय में मैं जरूर कैमरे के पीछे जाकर कुछ करना चाहूंगा। यहां तक कि लॉकडाउन के समय मैंने कुछ फिल्मों की स्क्रिप्ट लिखने के साथ-साथ उन्हें एडिट करके इंस्टाग्राम पर अपलोड की थी।

Kerala News: केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान पर प्रदेश सरकार ने संवैधानिक संकट पैदा करने का लगाया आरोप

केरलकेराज्यपालआरिफमोहम्मदखानपरप्रदेशसरकारनेसंवैधानिकसंकटपैदाकरनेकालगायाआरोपरणधीर कपूर ने डिमेंशिया से पीड़ित होने की बात का किया खंडन, कहा- 'रणबीर कुछ भी बोलता है'******Highlightsहाल ही में रणबीर कपूर ने खुलासा किया था कि करीना कपूर के पिता और अनुभवी अभिनेता रणधीर कपूर डिमेंशिया से पीड़ित हैं। रणबीर के बयान के बाद अब उनके चाचा यानी रणधीर कपूर का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा ऐसा कुछ भी नहीं है रणबीर कुछ भी बोलता है। उन्हें डिमेंशिया जैसी कोई बीमारी नहीं है।एक इंटरव्यू में नेरणबीर के बयान को सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि मैं एकदम ठीक हूं। जब उनसे रणबीर के बयान पर पूछा गया कि तो इस पर उन्होंने हंसते हुए कहा कि 'नहीं, ऐसा कुछ भी नहीं हुआ। बिल्कुल भी नहीं। मैं बिल्कुल ठीक हूं। हां मुझे अभी पिछले साल अप्रैल 2021 में कोविड हुआ था।'रणबीर ने ऐसा क्यों कहा? इस पर रणधीर बोले, ‘यह रणबीर की मर्जी, वह जो चाहता है उसे कहने का पूरा अधिकार है। एक्टर आगे बोले, 'मैंने कभी ऐसा नहीं कहा, मैं पूरी तरह ठीक हूं। दरअसल, मैं अभी अपने दोस्त राहुल रवैल के साथ गोवा से लौटा हूं। हम वहां गोवा फेस्टिवल में गए थे।'आपको बता दें हाल ही में रणबीर ने खुलासा करते हुए कहा था कि मेरे अंकल रणधीर कपूर, जो डिमेंशिया के शुरुआती चरण से गुजर रहे हैं, वह शर्माजी नमकीन देखने के बाद मेरे पास आए, उन्होंने कहा पिताजी को बताओ कि वह अद्भुत हैं और वह कहां है चलो उसे बुलाओ।'शर्माजी नमकीन' का प्रीमियर 31 मार्च को अमेज़न प्राइम वीडियो पर हो गया है। 'शर्माजी नमकीन' हाल ही में सेवानिवृत्त हुए एक व्यक्ति की कहानी है, जो एक महिलाओं के किटी सर्कल में शामिल होने के बाद खाना पकाने के अपने जुनून का पता लगाता है। हितेश भाटिया द्वारा निर्देशित फिल्म में जूही चावला, सुहैल नैयर, तारुक रैना, सतीश कौशिक, शीबा चड्ढा और ईशा तलवार के साथ परेश रावल भी हैं। वास्तव में, यह पहली हिंदी फिल्म है जहां दो अभिनेता - ऋषि कपूर और परेश रावल - एक साथ एक ही किरदार निभा रहे हैं।

केरलकेराज्यपालआरिफमोहम्मदखानपरप्रदेशसरकारनेसंवैधानिकसंकटपैदाकरनेकालगायाआरोपRobin Uthappa : रॉबिन उथप्पा ने वन डे को लेकर कही ये बात, विराट कोहली का किया समर्थन******Highlightsटीम इंडिया के खिलाड़ी रहे रॉबिन उथप्पा ने कहा है कि टी20 क्रिकेट में लोगों की रुचि बढ़ी है, वहीं टेस्ट क्रिकेट भी काफी रोचक हो गया है। लेकिन वन डे क्रिकेट से फैंस की दूरी बढ़ गई है। हाल ही में टीम इंडिया के पूर्व कोच रवि शास्त्री ने भी कहा था कि वन डे क्रिकेट को अब घटाकर 40 ओवर का कर देना चाहिए, इससे पहले वन डे 60 ओवर का होता था, लेकिन फिर इसे 50 ओवर का कर दिया गया था। 40 ओवर का वन डे क्रिकेट होने से लोगों की उत्सुकता बनी रहेगी। वहीं पाकिस्तानी क्रिकेटर रहे शाहिद अफरीदी ने भी कुछ ऐसी ही बात कही थी। रॉबिन उथप्पा ने ये भी कहा कि टीम इंडिया के पूर्व कप्तान विराट कोहली मैच विनर हैं और दुनिया के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खिलाड़ियों में से एक हैं।रॉबिन उथप्पा मंगलवार को क्रिकचैट पावर्ड बाय परिमैच में अपनी बात रख रहे थे। 2007 आईसीसी टी20 विश्व कप के दौरान भारत की जीत में महत्वपूर्ण योगदान देने वाले रॉबिन उथप्पा ने भी वनडे मैचों में उद्घाटन और समापन सत्र के महत्व पर चर्चा की और मौजूदा वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज में संजू सैमसन की विकेटकीपिंग क्षमताओं की सराहना की। हाल ही में इस मुद्दे पर बहस हुई थी कि क्या विराट कोहली को खेल से ब्रेक लेना चाहिए क्योंकि वह खराब फॉर्म से गुजर रहे हैं, तो उथप्पा ने कहा कि हमारे पास उनकी स्थिति या खेल जीतने की उनकी क्षमता पर सवाल उठाने का न तो अधिकार है और न ही कोई आधार है।उन्होंने आगे कहा कि विराट कोहली मैच विजेता हैं और दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में से एक हैं।रोहित शर्मा के बाद टीम इंडिया का अगला कप्तान कौन होगा, इसको लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में रॉबिन उथप्पा ने कहा कि जसप्रीत बुमराह एक बेहतर टेस्ट कप्तान हो सकते हैं। वहीं वन डे और टी20 के लिए केएल राहुल और ऋषभ पंत में से कोई भी बेहतर कप्तान साबित हो सकता है। जसप्रीत बुमराह ने अभी एक जुलाई से पांच जुलाई तक इंग्लैंड के साथ खेले गए टेस्ट मैच में कप्तानी की थी, हालांकि भारतीय टीम को इसमें हार का सामना करना पड़ा था। तीन दिन तक टीम इंडिया इस मैच में रही और आखिरी दो दिन में मैच हार गई। वहीं अगर वन डे और टी20 की बात की जाए तो इस फॉर्मेट में भी कई कप्तान भारतीय टीम को मिले। ऋषभ पंत, हार्दिक पांड्या और ऋषभ पंत ने भी कप्तानी की। अभी केएल राहुल चोटिल हैं और उसके बाद कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं, इसलिए वे कप्तानी नहीं कर पाए। अब वेस्टइंडीज के साथ होने वाली टी20 सीरीज के लिए रोहित शर्मा एक बार फिर कप्तानी करते हुए नजर आएंगे।केरलकेराज्यपालआरिफमोहम्मदखानपरप्रदेशसरकारनेसंवैधानिकसंकटपैदाकरनेकालगायाआरोपRail यात्रियों के लिए खुशखबरी! बदल गए ट्रेन में सफर करने के न‍ियम, यात्रा करना हुआ अब आसान******New Dlelhi Railway Stationयात्री (Train Passengers) अब बिना रिजर्वेशन (Reservation of Seat) के भी यात्रा कर सकते हैं। रेलवे ने खास सुविधा शुरू की है, जिसके तहत यात्री बिना रिजर्वेशन भी ट्रेन यात्रा (Train Journey) कर सकते हैं। नई गाइडलाइंस के मुताबिक, यात्री प्लेटफॉर्म टिकट (Platform Ticket) लेकर भी ट्रेन में अपनी यात्रा की शुरूआत कर सकते हैं। उसके बाद टिकट चेकर (TC or TTE) के पास जाकर टिकट बनवानी होगी।अब रेलयात्री ट्रेन में बिना रिजर्वेशन (Without Reservation) के भी यात्रा कर सकते हैं। दरअसल रेलवे ने उन यात्रियों के लिए खास नियम बनाया है जिन्हें किसी कारणवश अचानक ट्रेन से सफर (Train Journey) करना पड़ जाता है तो उनके पास केवल एक ही विकल्प तत्काल में रिजर्वेशन (Tatkal Reservation) कराने का होता है। ऐसे में बिना रिजर्वेशन के ट्रेन में यात्री सफर भी नहीं कर सकते, जिससे उन्हें बेहद असुविधा का सामना करना पड़ता है। रेलवे के इस नियम के आने के बाद रेल यात्रियों को अचानक सफर करने में काफी आसानी होने वाली है। रेलवे ने ऐसे समय के लिए खास सुविधा शुरू की है, जिसके तहत यात्री बिना रिजर्वेशन भी ट्रेन यात्रा कर सकते हैं।अब यात्री प्लेटफॉर्म टिकट लेकर भी ट्रेन में अपनी यात्रा की शुरूआत कर सकते हैं, लेकिन इसके बाद टिकट चेकर के पास जाकर टिकट बनवानी होगी। प्लेटफॉर्म टिकट लेकर यात्रा शुरू करने के तुरंत बाद टीटीई से संपर्क करना होगा। खास बात ये है कि कई बार ट्रेन सीट खाली नहीं होती, उसके बावजूद यात्री अपना सफर जारी रख सकते हैं। रेलवे के नियम के अनुसार, ट्रेन में सीट खाली नहीं होने पर टीटीई आपको रिजर्व सीट देने से मना जरूर कर सकता है, लेकिन यात्रा करने से नहीं रोक सकता। इस हिसाब से अगर यात्री के पास रिजर्वेशन नहीं है तो सिर्फ 250 रुपये पेनाल्टी चार्ज के साथ वे अपने गंतव्य स्थल की टिकट बनवा सकते हैं। इसके लिए यात्री द्वारा ली गई टिकट की कीमत काटकर शेष किराया वसूल किया जाएगा। गौरतलब है कि रेलवे के इस नियम के अनुसार प्लेटफॉर्म टिकट केवल प्लेटफॉर्म पर जाने के लिए ही नहीं, बल्कि ट्रेन में चढ़ने का भी पात्र बनाता है। इसमें खास बात यह है कि यात्री को किराया भी उसी श्रेणी का देना होगा, जिसमें वे सफर कर रहे होंगे।

केरलकेराज्यपालआरिफमोहम्मदखानपरप्रदेशसरकारनेसंवैधानिकसंकटपैदाकरनेकालगायाआरोपसाल 2020: अमिताभ बच्चन, बिग बॉस और दिल बेचारा पर किए गए सबसे ज्यादा ट्वीट******साल 2020 में अमिताभ बच्चन और सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म 'दिल बेचारा' बॉलीवुड से जुड़े दो ऐसे नाम रहे, जिन्हें लेकर सबसे ज्यादा ट्वीट किया गया, जबकि अगर टेलीविजन की बात करें, तो रिएलिटी शो 'बिग बॉस' सबसे अधिक हॉट टॉपिक बना रहा। दिसहैपेन्ड2020 ट्विटर की रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में 2020 के टॉप एंटरटेनमेंट ट्वीट्स में अमिताभ बच्चन, विजय और दिवंगत हॉलीवुड स्टार चैडविक बोसमैन ने अपनी जगह बनाई है। सुशांत की आखिरी फिल्म 'दिल बेचारा' हिंदी फिल्मों को लेकर किए ट्वीट में टॉप पर रही है, जबकि अगर टेलीविजन शोज और वेब की बात करें, तो 'बिग बॉस' और 'मिजार्पुर 2' ने इस सूची में अपना परचम लहराया है।अब अगर बात इंटरनेशनल वेब सीरीज की करें, तो 'मनी हाइस्ट' को लेकर देश में सबसे ज्यादा चर्चा हुई। भारतीय मनोरंजन दुनिया में जिस ट्वीट को सबसे अधिक बार रीट्वीट किया गया, वह फरवरी में विजय के अपने फैंस के साथ ली गई सेल्फी रही। जुलाई में बिग बी ने ट्विटर पर बताया था कि वह कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं और उनके इस ट्वीट को सबसे ज्यादा लाइक मिले और 'ट्वीट ऑफ द ईयर' का खिताब भी मिला।'ब्लैक पैंथर' स्टार बोसमैन का अगस्त में 43 साल की उम्र में कोलन कैंसर की वजह से निधन हो गया। वह चार साल से इस बीमारी से जूझ रहे थे। उनके निधन की खबर को लेकर किए गए ट्वीट को वैश्विक मनोरंजन के क्षेत्र में भारत में सबसे ज्यादा रीट्वीट, लाइक किया गया और इसे 'ट्वीट ऑफ इंडिया' कहा गया।केरलकेराज्यपालआरिफमोहम्मदखानपरप्रदेशसरकारनेसंवैधानिकसंकटपैदाकरनेकालगायाआरोपRussia Ukraine News: खारकीव से सुरक्षित वापस लौटी अंबाला की बेटी, कहा- मुश्किल से बचाई जान******Highlightsअंबाला शहर के शालीमार कालोनी की रहने वाली छात्रा नेहा यूक्रेन में एमबीबीएस करने गई थी। मगर वहां के जो हालात हैं उससे बचकर वापस आना ही अपने आप में बड़ी बात है। नेहा के वापस लौटने पर परिवार में खुशी का माहौल है, देर रात नेहा अंबाला पहुंची। इस दौरान परिवार के साथ-साथ अन्य लोगों ने आरती उताकर नेहा का स्वागत किया। जब से यूक्रेन पर रूस द्वारा हमला किया गया है, तब से परिवार नेहा की सुरक्षा को लेकर चिंतित था, लेकिन जब वह कल वापस अंबाला आई तो परिवार की खुशी का ठिकाना न रहा। वहीं नेहा ने कहा कि वहां पर माहौल चिंताजनक है और हजारों स्टूडेंट्स अभी भी फंसे हुए हैं।नेहा ने बताया कि अब वहां पर हालात बहुत ज्यादा खराब है। नेहा ने बताया कि पहले सिवीलियंस पर कोई हमला नहीं होता था, लेकिन अब वह भी होने लगा है। हम 6 लोगों ने मिलकर ग्रुप में निकलने का फैसला किया और इस दौरान रोमानिया बॉर्डर तक पहुंचने के लिए कई बार ट्रेन चेंज की और कई बार बसें बदली। कई किलोमीटर तक पैदल भी चला पड़ा। रोमानिया बॉर्डर पर भी पहुंचने पर खारकीय के बच्चों पर ध्यान नहीं दिया जा रहा था।नेहा ने कहा- मेरा सरकार से आग्रह है कि वहां के स्टूडेंट्स की मदद की जाए, क्योंकि अब तो उनके पास खाना भी खत्म हो गया है। रोमानिया बॉर्डर पर स्टूडेंट्स बहुत ज्यादा थे। रोमानिया बार्डर पर हजारों स्टूडेंट्स एंट्री का इंतजार कर रहे हैं। ठंड बहुत ज्यादा है खाने के लिए कुछ नहीं है।

केरलकेराज्यपालआरिफमोहम्मदखानपरप्रदेशसरकारनेसंवैधानिकसंकटपैदाकरनेकालगायाआरोपJama Masjid In Controversy: आरटीआई में हुआ खुलासा, सार्वजनिक जमीन पर बनी है अलीगढ़ की जामा मस्जिद, बीजेपी नेता ने की तोड़ने की मांग******Highlightsयूपी के अलीगढ़ स्थित ऐतिहासिक जामा मस्जिद को लेकर विवाद हो गया है। दरअसल अलीगढ़ के आरटीआई एक्टिविस्ट केशव देव शर्मा ने जामा मस्जिद (Jama Masjid)को लेकर नगर निगम में आरटीआई दाखिल की थी, जिसके जवाब में नगर निगम ने बताया है कि ऊपरकोट स्थित 300 वर्ष पुरानी जामा मस्जिद का निर्माण सार्वजनिक जगह पर हुआ है और यह मस्जिद ऐतिहासिक धरोहर है।आरटीआई का जवाब मिलने के बाद केशव देव ने डीएम को पत्र लिखकर सार्वजनिक संपत्ति पर बनी मस्जिद को तोड़ने की मांग की है। भाजपा नेताओं का भी कहना है कि जो सार्वजनिक संपत्ति पर बना है, वो अवैध है और उसे टूटना चाहिए। वहीं सपा नेता इस मामले को लेकर बीजेपी पर हमला बोल रहे हैं और कह रहे हैं कि ये जनहित के मुद्दों से लोगों को भटकाने की कोशिश है।दरअसल अलीगढ़ के आरटीआई एक्टिविस्ट केशव देव शर्मा ने जून 2021 में जन सूचना अधिकार अधिनियम के तहत नगर निगम से कुछ बिंदुओं पर जानकारी मांगी थी। जिसमें पूछा गया था कि जामा मस्जिद (Jama Masjid) किसकी जमीन पर बनी है? इसका कितना टैक्स जाता है? जामा मस्जिद जिस जमीन पर बनी है, उस जमीन का मालिकाना हक किसका है?नगर निगम ने आरटीआई के जवाब में कही ये बातइस पर नगर निगम ने आरटीआई का जवाब दिया कि जामा मस्जिद पर मालिकाना हक किसी का नहीं है और यह सार्वजनिक जमीन पर बनी हुई है। नगर निगम के जवाब के बाद केशव देव शर्मा ने 8 मई को जिलाधिकारी अलीगढ़ के साथ-साथ कमिश्नर अलीगढ़ मंडल, नगर आयुक्त नगर निगम अलीगढ़, उपाध्यक्ष विकास प्राधिकरण को पत्र लिखकर सरकारी सार्वजनिक भूमि से जामा मस्जिद (Jama Masjid) सहित अवैध कब्जा हटाने की मांग की। इसके लिए उन्होंने 15 दिन का समय दिया है और उसके बाद वह कोर्ट की शरण लेने की बात कह रहे हैं।इस मामले के सामने आने के बाद बीजेपी की वरिष्ठ नेता व पूर्व मेयर शकुंतला भारती ने कहना है कि आरटीआई में अगर नगर निगम कह रहा है कि ये अवैध है तो फिर वो जामा मस्जिद हो या कोई और चीज, उसे टूटना चाहिए। हम इस बात को लेकर सरकार को पत्र लिखेंगे और सीएम को इस बात से परिचित करवाएंगे।पूर्वसपा विधायक जमीर उल्लाह ने बीजेपी पर साधा निशानावहीं इस मामले में सपा के पूर्व विधायक जमीर उल्लाह का कहना है कि भाजपा के लोगों के पास कोई मुद्दा नहीं है। ये मस्जिद(Jama Masjid) जब 1728 में बनी, तब नगर निगम का नाम तक नहीं था और ना ही भाजपा का नाम था। उस दौरान साबित खान गवर्नर थे और उन्होंने ही यह मस्जिद बनाई।जमीर ने कहा कि ये लोग पेपर मांग रहे हैं, नगर निगम कुछ दिखा रहा है। यह माहौल को खराब करने की सोची समझी साजिश है। इसमें बीजेपी के लोगों का कुछ मकसद है। अगर आरटीआई डालनी थी तो सरकार से ये पूछ लेते कि आपने नौकरियां कितनी दीं। कितने लोग डॉक्टर हैं।उन्होंने कहा कि मैं हिंदू-मुसलमान समेत सभी से ये अपील करता हूं कि आप लोग एक साथ खड़े हों और देश को बचाएं। अगर यह लोग ऐसे ही करते रहे तो देश का हाल श्रीलंका जैसा होगा। इन लोगों से पूछे कि मंदिर-मस्जिद की राजनीति छोड़कर ये बताएं कि नौकरियां कहां हैं?जमीरने बीजेपी पर लगाया असल मुद्दो से ध्यान भटकाने का आरोपजमीर ने कहा कि बीजेपी के वो लोग पागल हैं, जो कह रहे हैं कि इस मस्जिद(Jama Masjid) को तोड़ना चाहिए। उनकी सोच गंदी है और उनको अक्ल नहीं है। इन लोगों की बातों पर कोई ध्यान ना दें। उनको यह भी नहीं मालूम कि ये जामा मस्जिद सरकार के संरक्षण में है। किला और जामा मस्जिद सरकार के गजट में है। यह हमारी धरोहर है। यह हमारे हिंदुस्तान की खूबसूरती है। इन लोगों से पूछो कि क्या तुमने जिंदगी में कुछ किया है। कुछ तो मुल्क के लिए कर लो। ये सिर्फ मुख्य समस्याओं से ध्यान भटकाने का मामला है।नगर आयुक्त ने इस मामले में कही ये बातवहीं इस मामले में नगर आयुक्त गौरांग राठी ने कहा कि हमें किसी पार्टी विशेष से कोई पत्र प्राप्त नहीं हुआ है। आरटीआई के माध्यम से जून 2021 में एक क्वेरी आई थी। उसमें यह पूछा गया था कि जो शहर की जामा मस्जिद है वह किसकी जमीन पर है। कौन इसका मालिक है और उससे संबंधित दो-तीन सवाल और थे। उसके संबंध में नगर निगम द्वारा इसका भी जवाब दिया गया और सही जवाब दिया गया था। उसमें 128 हेक्टेयर का रकवा है और जो सार्वजनिक भूमि पर स्थित है। अभी किसी भी धार्मिक स्थल पर शहर में कोई भी कार्यवाही के लिए ना तो कोई विचार है ना ही प्रत्याशित है। यह जो गलत अफवाह है, हम इसकी निंदा करते हैं। हम यह स्पष्ट करना चाहेंगे कि नगर निगम केवल और केवल अतिक्रमण अभियान पोखर की भूमि से अवैध कब्जे और सफाई व्यवस्था करने के लिए चला रहा है।अलीगढ़ के ADM सिटी ने कही ये बातअलीगढ़ के एडीएम सिटी से जब इस मसले पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि इसमें कोई शिकायत हमारे पास नहीं आई है और ना ही हम कोई जांच कर रहे हैं। कल जब मामला संज्ञान में आया, जैसाकि नगर आयुक्त महोदय ने भी अब अपना बयान दिया है कि 300 साल पुरानी मस्जिद है शहर की मस्जिद। उसमें किसी तरह का कोई विवाद नहीं है और ना ही कोई शिकायत आई है।उन्होंने कहा कि पता नहीं क्या मामला है और किस तरह की चीजें सामने आई हैं। आरटीआई में किसी ने सूचना मांगी थी और उन्होंने वह दी है। प्रशासन के पास अपने रिकॉर्ड होते हैं और हमें अगर मिलता है, तो हम भी चेक कर लेंगे। बिना जाने हम कुछ नहीं कहेंगे।उन्होंने कहा कि भ्रामक खबर यह है कि आरटीआई में लिखा है कि सार्वजनिक जमीन है, जोकि हमें मीडिया के माध्यम से मालूम पड़ा। यह बहुत पुरानी मस्जिद है। 300 साल से भी ज्यादा पुरानी मस्जिद। इसमें प्रशासन से किसी ने शिकायत नहीं की है और ना कोई आरटीआई मांगी है।वहीं आरटीआई का जवाब देने के बाद नगर निगम और प्रशासन बैकफुट पर है। नगर निगम ने खुद जवाब में लिखकर दिया है कि यह मस्जिद सार्वजनिक जमीन पर है, और जब सार्वजनिक जमीन पर उसी चीज को तोड़ने की बात कुछ लोग कर रहे हैं तो नगर निगम और प्रशासन मामले पर अपनी सफाई दे रहा है। आने वाले दिनों में मस्जिद का ये विवाद तूल पकड़ सकता है।केरलकेराज्यपालआरिफमोहम्मदखानपरप्रदेशसरकारनेसंवैधानिकसंकटपैदाकरनेकालगायाआरोपई-वाणिज्य कंपनियां बुनियादी ढांचा, मालवहन पर आठ अरब डॉलर निवेश करेंगी: अध्ययन****** देश में ऑनलाइन खरीदारी की बढ़ती लोकप्रियता के चलते अगले कुछ सालों में मालवहन, बुनियादी ढांचे और गोदाम इत्यादि में ई-कॉमर्स कंपनियों द्वारा छह से आठ अरब डॉलर का निवेश किए जाने की उम्मीद है। एसोचैम-पीडब्ल्यूसी के एक अध्ययन में आज यह उम्मीद जताई गई।अध्ययन के अनुसार ई-कॉमर्स कंपनियां दूसरे और तीसरे दर्जे के शहरों में विस्तार कर रही हैं। छोटे शहरों में हवाई मालवहन की मांग भी बढ़ रही है। देश में ई-कॉमर्स क्षेत्र साल दर साल 35-40 फीसदी सालाना की दर से वृद्धि कर रहा है और अगले पांच सालों में इसके 100 अरब डॉलर को पार कर जाने की उम्मीद है।रिपोर्ट के अनुसार भारत में 2020 तक ई-कॉमर्स क्षेत्र का आकार 80 अरब डॉलर तक पहुंचने की संभावना है। ऐसे में अगले कुछ सालों में ई-कॉमर्स कंपनियां मालवहन, बुनियादी ढांचा और गोदाम इत्यादि पर छह से आठ अरब डॉलर निवेश कर सकती हैं। Fixed Price: देश में घटा ऑनलाइन शॉपिंग का क्रेज, भारी डिस्काउंट के अभाव में e-commerce कंपनियों का निकला दम

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 06:19
उद्धरण 1 इमारत
इंटेक्स क्लाउड 4जी स्मार्ट: सिर्फ 4,999 रुपये में 5-इंच डिस्प्ले, लेटेस्ट एंड्रॉइड और 5-मेगापिक्सल कैमरे वाला स्मार्टफोन****** ने एक नया स्मार्टफोन मार्केट में उतारा है, जिसे सबसे कम कीमत का 4जी बताया जा रहा है। कंपनी के इस हैंडसेट को क्लाउड 4जी स्मार्ट नाम दिया गया है और इसकी कीमत 4,999 रुपये रखी गई है। इस फोन को फ्लिपकार्ट से खरीदा जा सकता है।इंटेक्स क्लाउड 4जी एंड्राइड लॉलीपॉप सुपर स्मूद 5.1 ऑपरेटिंग सिस्टम पर काम करता है। यह इस डिवाइस पर मल्टीटास्किंग को बनाता है सीमलेस। आप एक साथ कई एप्लिकेशन्स पर काम कर सकते हैं।क्लाउड 4जी स्मार्ट में 5-इंच का टीएफटी डिस्प्ले है, जो 854 x 480 पिक्सल का रेज़ोल्यूशन देता है। इस स्मार्टफोन पर फोटो, गेम्स औऱ वेब पेज को शानदार तरीके से डिस्प्ले होते हैं। इस डिवाइस की स्क्रीन 16.7 मिलियन रंगों को डिस्प्ले करने में सक्षम है, जिससे इस स्मार्टफोन को यूज़ करने वालों को मिलता है शानदार व्यूइंग अनुभव।इंटेक्स क्लाउड स्मार्ट को बेहतरीन स्पीड देता है 1.5 गीगाहर्ट्ज़ का क्वाडकोर प्रोसेसर। आप इस हैंडसेट पर वीडियो गेम्स खेलें या फोटो एडिट करें या फिर कोई और एप्लिकेशन यूज़ करें, आपको कहीं कोई लैग नहीं मिलेगा और फोन हैंग नहीं होगा। इस फोन में 1 जीबी रैम और 8 जीबी इंटरनल मेमोरी है, जिसे माइक्रो एसडी कार्ड की मदद से 32 जीबी तक बढ़ाया जा सकता है।इस स्मार्टफोन में 5-मेगापिक्सल का ऑटो-फोकस मुख्य कैमरा फ्लैश के साथ लगा है, जिससे अच्छी फोटो खींची जा सकती हैं। आप इस फोन से 1280 x 720 रेज़ोल्यूशन के शानदार वीडियो 30 फ्रेम्स पर सेकेंड की स्पीड से बना सकते हैं। शानदार सैल्फी खींचने व वीडियो कॉलिंग करने के लिए इस फोन में 2-मेगापिक्सल फ्रंट कैमरा भी दिया गया है।इस हैंडसेट में मातृभाषा सर्विस इंस्टाल्ड है, जो 21 भारतीय भाषाओं को स्पोर्ट करती है। आप हिंदी या किसी भी अन्य भारतीय भाषा में मैसेज लिख या पढ़ सकते हैं। इसके अलावा इस फोन में हाइब्रिड सिम स्लॉट है, आप एक सिम या दो सिम यूज़ कर सकते हैं। इसमें 2,000 एमएएच की बैटरी लगी है। ये फोन 4जी को स्पोर्ट करता है साथ ही इसमें वाई-फाई, ब्यूटूथ और ग्रैविटी सेंसर भी हैं।
2022-10-01 05:36
उद्धरण 2 इमारत
Myanmar Army: म्यांमार की सेना ने काया में बिछाई बारूदी सुरंगे, कई लोगों की मौत******Highlightsम्यांमार में पिछले साल हुए तख्तापलट के बाद से हालात बेकाबू ही होते जा रहे हैं। पिछले काफी महीनों से लगातार सेना द्वारा आम लोगों पर अत्याचार की कई खबरें सामने आई हैं। Amnesty International ने एक ताजा रिपोर्ट में बताया है कि म्यांमार की सेना ने थाइलैंड बॉर्डर के पास संघर्षग्रस्त काया इलाके में और उसके आसपास के गांवों में बारूदी सुरंगें बिछा दी हैं, जिसकी चपेट में आने से कई लोग मारे गए हैं और घायल हुए हैं।एमनेस्टी इंटरनेशनल के मुताबिक, इस इलाके का दौरा करने वाले उसके रिसर्चर्स ने पाया कि लोगों के मकानों और चर्चों के आसपास बिछाई गईं बारूदी सुरंगों में कम से कम 20 लोग मारे गए और कई अन्य लोग दिव्यांग हो गए। रिसर्चर्स ने एक ऐसे इलाके में गांववालों से बातचीत की जो फरवरी 2021 से सेना के नियंत्रण में है। सेना ने तब म्यांमार की लोकतांत्रिक तरीके से चुनी गई सरकार को बाहर कर देश की बागडोर अपने हाथ में ले ली थी, और तभी से उसका जातीय करेनी सशस्त्र समूहों से मुकाबला चल रहा है।1997 में हुए ‘ओटावा कन्वेंशन’ सहित तमाम अंतरराष्ट्रीय समझौतों के तहत दुनिया भर में हजारों लोगों की हत्या और उनके विकलांग होने का कारण बने हथियारों पर रोक लगाने के इरादे से मानवों को निशाना बनाने वाली बारूदी सुरंगों के इस्तेमाल पर बैन लगा दिया गया था। ‘एमनेस्टी इंटरनेशनल क्राइसिस रिस्पॉन्स’ के उपनिदेशक मैट वेल्स ने एक बयान में कहा, ‘म्यांमार की सेना द्वारा बारूदी सुरंगों का इस्तेमाल घृणित एवं क्रूर है। विश्व भर में जब ऐसे हथियारों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है, तब सेना ने उन्हें लोगों के बरामदों, मकानों, सीढ़ियों और चर्चों के आसपास बिछा दिया है।’Amnesty International की रिपोर्ट के मुताबिक, काया के करीब 20 गांवों में बारूदी सुरंग बिछाई गई हैं। बता दें कि करेनी मानवाधिकार समूह ने इस महीने की शुरुआत में आरोप लगाया था कि की आर्मी काया के गांवों और बस्तियों में बारूदी सुरंग बिछा रही है। संयुक्त राष्ट्र बाल कोष ने भी पिछले महीने बताया था कि देश के कई क्षेत्रों में बारूदी सुरंगों और बाकी हथियारों की वजह से कई बच्चों की जान गई और कई दिव्यांग हो गए। इसमें सबसे अधिक बच्चे उत्तरपूर्वी म्यांमार के शान राज्य से थे।
2022-10-01 05:18
उद्धरण 3 इमारत
Shubman Gill IND vs WI: शुभमन गिल ने तोड़ा सचिन तेंदुलकर का 25 साल पुराना रिकॉर्ड, डेब्यू के 3 साल बाद लगाई पहली ODI फिफ्टी******Highlights भारत के लिए वेस्टइंडीज दौरे पर व्हाइट बॉल क्रिकेट में शुभमन गिल ने जोरदार वापसी की है। 2019 में वनडे डेब्यू करने के बाद से यह उनका चौथा एकदिवसीय मुकाबला है। इस मुकाबले में उन्होंने कप्तान शिखर धवन के साथ पारी की शुरुआत की और 53 गेंदों पर 64 रनों की शानदार पारी खेली। उनके वनडे करियर का यह पहला अर्धशतक है। उन्होंने इस पारी में 6 चौके और दो छक्के भी लगाए। इस दौरान उन्होंने क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर के भी एक 25 साल पुराने रिकॉर्ड को तोड़ा।शुभमन गिल ने इस मुकाबले में शिखर धवन के साथ 119 रनों की शानदार शतकीय साझेदारी की। उन्हें लंबे समय बाद वनडे टीम में मौका मिला। हालांकि भारत के लिए वह टेस्ट मैच 11 खेल चुके हैं। वनडे क्रिकेट में उन्होंने यहां अपना पहला अर्धशतक जड़ा। वहीं कैरेबियाई लैंड पर यानी वेस्टइंडीज में वह फिफ्टी लगाने वाले दूसरे सबसे युवा भारतीय बल्लेबाज बने और उन्होंने मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर को पीछे छोड़ा। उन्होंने 22 साल 317 दिन की उम्र में यह कर दिखाया। विराट कोहली इस मामले में पहले नंबर पर हैं जिन्होंने 22 साल 215 दिन की उम्र में यहां पहली फिफ्टी लगाई थी।भारतीय टीम वेस्टइंडीज के साथ इस दौरे पर तीन वनडे व पांच टी20 मैचों की सीरीज खेलेगी। वनडे सीरीज में नियमित कप्तान रोहित शर्मा नहीं हैं। वहीं शिखर धवन टीम की कप्तानी कर रहे हैं। 22, 24 और 27 जुलाई को तीन वनडे मैच खेले जाएंगे। इससे पहले भारत ने इंग्लैंड को उसके ही घर में टी20 व वनडे दोनों सीरीज में 2-1 से मात दी थी। इस दौरे पर टी20 सीरीज के लिए रोहित शर्मा वापसी करेंगे और टीम की कमान भी संभालेंगे।
वापसी