नई पोस्ट करें

Deepti Sharma: दीप्ति के रन आउट से क्यों लगी इंग्लिश फैंस को इतनी 'मिर्ची'? जानिए इस मामले में क्या कहते हैं ICC के नियम

2022-10-01 04:59:08 167

दीप्तिकेरनआउटसेक्योंलगीइंग्लिशफैंसकोइतनीमिर्चीजानिएइसमामलेमेंक्याकहतेहैंICCकेनियमArvind Kejriwal Gujarat Visit: अरविंद केजरीवाल ने गुजरात में खेला बड़ा दांव- फ्री बिजली के बाद नौकरियों का किया वादा******Highlightsआम आदमी पार्टी (AAP) के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने गुजरात में आगामी विधानसभा चुनाव में अपनी पार्टी के सत्ता में आने पर राज्य में 3,000 रुपये मासिक बेरोजगारी भत्ता और हर युवा को नौकरी देने का वादा किया। नौकरी का वादा करने से पहले केजरीवाल ने बीजेपी शासित राज्य में सत्ता में आने पर प्रति माह 300 यूनिट तक मुफ्त बिजली का आश्वासन दिया था।गुजरात में विधानसभा चुनाव इस साल के अंत तक होने वाले हैं। वोट पाने के लिए 'रेवड़ी' या मुफ्त उपहार बांटने के संबंध में बीजेपी की आलोचना पर प्रतिक्रिया देते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि सत्ताधारी पार्टी ठेकेदारों, उनके दोस्तों और मंत्रियों को 'रेवड़ी' बांटती है, लेकिन वह उन्हें देश के लोगों के बीच बांटना चाहते हैं।केजरीवाल ने कहा, "यह जनता का पैसा है, जो कुछ भी आपको मुफ्त मिलता है, वह नागरिकों के लिए होना चाहिए न कि ठेकेदारों या मंत्रियों के लिए।" सौराष्ट्र क्षेत्र के गिर सोमनाथ जिले के वेरावल शहर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा कि अगर AAP गुजरात में सत्ता में आती है, तो उनकी पार्टी यह सुनिश्चित करेगी कि अगले पांच वर्षों में प्रत्येक बेरोजगार युवा को नौकरी मिले।उन्होंने कहा, "जब तक हम हर बेरोजगार युवा को नौकरी नहीं देते, तब तक उन्हें 3,000 रुपये प्रति माह बेरोजगारी भत्ता मिलेगा।" अपनी पार्टी के चुनाव पूर्व 'गारंटी' के हिस्से के रूप में, केजरीवाल ने 10 लाख सरकारी नौकरियां सृजित करने का वादा किया। AAP नेता ने सरकारी भर्ती परीक्षाओं के प्रश्नपत्र लीक होने पर रोक लगाने और दोषियों को दंडित करने के लिए कानून बनाने का भी वादा किया।हाल के दिनों में प्रतियोगी परीक्षाओं के प्रश्नपत्र लीक होने के कई मामले सामने आए हैं। केजरीवाल ने कहा, "हम यह सुनिश्चित करेंगे कि प्रश्नपत्र लीक के लिए जिम्मेदार माफिया को कड़ी सजा मिले और गुजरात में पेपर लीक की घटनाएं ना हों।" दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि AAP सत्ता में आने पर सहकारी क्षेत्र में भर्ती प्रक्रिया में सुधार करेगी और इसे पारदर्शी बनाएगी, ताकि सिफारिशों या रिश्वत के जरिए युवाओं को वहां नहीं रखा जा सके, जैसा कि अभी हो रहा है।उन्होंने कहा, "आप ठेकेदारों, अपने दोस्तों और मंत्रियों को रेवड़ी बांटते हैं और उन्हें स्विस बैंक में ले जाते हैं। केजरीवाल इसे देश के लोगों के बीच वितरित करना चाहता है। दोस्तों, हमें इस प्रणाली को रोकना होगा। यह जनता का पैसा है, जो कुछ भी आपको मिलता है, नागरिकों के लिए मुफ्त होना चाहिए।"

दीप्तिकेरनआउटसेक्योंलगीइंग्लिशफैंसकोइतनीमिर्चीजानिएइसमामलेमेंक्याकहतेहैंICCकेनियमNIOS 2021:10वीं, 12वीं 2021परीक्षा के लिए NIOS ने जारी किए एडमिट कार्ड, ऐसे करें चेक****** जनवरी-फरवरी 2021 में आयोजित होने वाली कक्षा 10 और कक्षा 12 परीक्षाओं के लिए NIOS एडमिट कार्ड 2021 जारी कर दिए गए हैं। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग (NIOS) के छात्र आधिकारिक वेबसाइट nios.ac.in से प्रवेश पत्र डाउनलोड कर सकते हैं। प्रैक्टिकल और थ्योरी के पेपर में अलग-अलग NIOS एडमिट कार्ड 2021 होते हैं। प्रैक्टिकल एग्जाम एडमिट कार्ड 10 जनवरी को जारी किए गए थे और 10 वीं और 12 वीं दोनों कक्षाओं के लिए चल रहे हैं, जबकि थ्योरी एग्जाम शुरू होने बाकी हैं।कौन NIOS 2021 एडमिट कार्ड डाउनलोड नहीं कर सकता है?ध्यान दें कि केवल वे ही जिन्होंने परीक्षा शुल्क जमा किया है, वे एडमिट कार्ड का उपयोग कर सकेंगे।साथ ही, जिन छात्रों ने अपने NIOS 2021 के आवेदन पत्र के साथ फोटो नहीं दी है, उन्हें अपने प्रवेश पत्र प्राप्त करने के लिए अपने क्षेत्रीय केंद्र से संपर्क करना होगा। NIOS 2021 की परीक्षा कोविद -19 सुरक्षा प्रोटोकॉल के साथ होगी। छात्रों को यह सुनिश्चित करना होगा कि वे हॉल में प्रवेश करने से पहले परीक्षा के लिए एनटीए द्वारा जारी किए गए सुरक्षा निर्देशों का पालन करें।दीप्तिकेरनआउटसेक्योंलगीइंग्लिशफैंसकोइतनीमिर्चीजानिएइसमामलेमेंक्याकहतेहैंICCकेनियमडिका और राल्टे की मदद से रीयल कश्मीर ने दर्ज की सीजन की पहली जीत******कोलकाता। दिपांडा डिका और लालरिंडिका राल्टे के चमकदार प्रदर्शन से रीयल कश्मीर ने शुक्रवार को यहां आई लीग फुटबॉल प्रतियोगिता मुकाबले में चेन्नई सिटी एफसी को 2-0 से हराकर सत्र की अपनी पहली जीत दर्ज की।मैच के दौरान गोल के मौके कम ही बने जिसमें दोनों टीमों ने एक दूसरे के प्रयासों को विफल किया। लेकिन डिका के 16वें मिनट में किये गये प्रयास से हुए गोल के बाद स्थानापन्न खिलाड़ी के तौर पर उतरे राल्टे (84वें मिनट) के अंत में किये गये गोल ने रीयल कश्मीर को पूरे अंक दिलाये।हालांकि मैच के दौरान गेंद पर दबदबा चेन्नई सिटी एफसी का ही था लेकिन रीयल कश्मीर के जवाबी हमलों ने उसे जीत की ओर अग्रसर किया।

Deepti Sharma: दीप्ति के रन आउट से क्यों लगी इंग्लिश फैंस को इतनी 'मिर्ची'? जानिए इस मामले में क्या कहते हैं ICC के नियम

दीप्तिकेरनआउटसेक्योंलगीइंग्लिशफैंसकोइतनीमिर्चीजानिएइसमामलेमेंक्याकहतेहैंICCकेनियमनोएडा की इस फैक्ट्री में बन रहे हैं हर 3 सेकेंड में एक स्मार्टफोन, चाइनीज़ कंपनी ने किया कमाल******नोएडा की इस फैक्ट्री में बन रहे हैं हर 3 सेकेंड में एक स्मार्टफोन, चाइनीज़ कंपनी ने किया कमालस्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी ओप्पो ने शुक्रवार को कहा कि नोएडा में 110 एकड़ में फैली उसकी विनिर्माण इकाई में हर तीन सेकेंड में एक स्मार्टफोन का निर्माण किया जाता है। कंपनी ने कहा कि अपनी आपूर्ति श्रृखंला को बेहतर बनाए रखने के लिए फैक्ट्री में 12 लाख से अधिक फोन के लिए मैटेरियल्स स्टॉक करके रखा हुआ है।ओप्पो इंडिया के अध्यक्ष एल्विस झोउ ने कहा, " की बढ़ती लोकप्रियता के साथ हम बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए अपनी विनिर्माण क्षमताओं पर और काम करेंगे। चुस्ती, नवीनता और रचनात्मकता ओप्पो इंडिया के लिए सफलता की कुंजी होगी।"पढ़ें- पढ़ें-10,000 से अधिक मजबूत कार्यक्षमता के साथ फैक्ट्री में पीक सीजन के दौरान एक महीने में 60 लाख से अधिक स्मार्टफोन का निर्माण किया जाता है। इस विनिर्माण इकाई को चार भागों में विभाजित किया गया है, जिसमें असेम्बली, एसएमटी (सरफेस माउंट टेक्नोलॉजी), स्टोरेज और सप्लाई वेयरहाऊस शामिल हैं।स्मार्टफोन ब्रांड ओप्पो ने भारतीय बाजार में एफ-19 प्रो सीरीज के साथ केवल तीन दिनों में 230 करोड़ रुपये से अधिक की बिक्री की है। हाल ही में लॉन्च किए गए स्मार्टफोन की बिक्री ने अप्रत्याशित सफलता दर्ज की है। दो वेरिएंट्स एफ19 प्रो प्लस 5जी और एफ19 प्रो ने उपभोक्ताओं को खासतौर पर आकर्षित किया है। ओप्पो इंडिया के मुख्य विपणन अधिकारी दमयंत खनोरिया ने एक बयान में कहा, "2021 हमारे लिए एक ऐतिहासिक वर्ष साबित हो रहा है। अपने उपभोक्ताओं के विश्वास, ईमानदारी और प्यार के कारण, हम आने वाले महीनों और वर्षों में एक निरंतर गति निर्धारित करते रहेंगे। गति सब कुछ है।" ओप्पो एफ19 प्रो प्लस की कीमत 25,990 रुपये रखी गई है, जिसमें 8जीबी रैम और 128 जीबी स्टोरेज की सुविधा है। दूसरी ओर, 8 जीबी रैम प्लस 128 जीबी स्टोरेज विकल्प के साथ आने वाले ओप्पो एफ19 प्रो की कीमत 21,490 रुपये निर्धारित की गई है, जबकि 8 जीबी रैम प्लस 256 जीबी स्टोरेज मॉडल की कीमत 23,490 रुपये हैदीप्तिकेरनआउटसेक्योंलगीइंग्लिशफैंसकोइतनीमिर्चीजानिएइसमामलेमेंक्याकहतेहैंICCकेनियमसिर्फ फेफड़े खराब ही नहीं, सिगरेट पीने से है इन जानवेला बीमारियों का खतरा, जानिए कैसे छुड़ाएं ये बुरी आदत******बहुत से लोग ऐसे भी हैं जो ये कहते हैं कि उन्हें सिगरेट की आदत नहीं है, बस कभी-कभारही पी लेते हैं। तो कुछ लोग ऐसे हैं जो दिन भर में एक सिगरेट पीने की बात कह कर खुद को तसल्ली देते हैं। लेकिन 'अमेरिकन जर्नल ऑफ प्रीवेंटिव मेडिसिन' की एक रिपोर्ट कहती है कि एक सिगरेट पीना भी 10 सिगरेट के बराबर ही खतरनाक है। तो इसलिए एक सिगरेट पीने से भी सेहत पर गहरा असर पड़ता है।सिगरेट पीने पर धुंआ, टार और कार्बन मोनोक्साइड रेस्पिरेटरी ट्रैक के जरिए फेफड़ों को खराब करता है। ज्योत्सना हम सब जानते हैं लंग्स में करोड़ों छिद्र हैं। जिनकी मदद से हर दिन लंग्स 20 लाख लीटर हवा फिल्टर करते हैं। जिनके दम पर हमारी सांसे चलती हैं लेकिन स्मोकिंग की वजह से लंग्स के ये छिद्र बंद होने लगते हैं।सिगरेट पीने से ब्लड में निकोटिन घुलता है, जो ब्रेन में पहुंचकर लंबे वक्त में पार्किंसन जैसी बीमारी का खतरा बढ़ाता है। आइए स्वामी रामदेव से जानते हैं सिगरेट की लत छुड़ाने के आसान से उपाय। अस्थमा रोग को दूर करता है। रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। वजन घटाने में कारगर है। शुगर को कंट्रोल करने में मददगार है। तनाव और चिंता दूर करता है। इससे लंग मजबूत बनता है।फेफड़ों को ऑक्सीजन मिलता है। पाचन क्रिया को सुधारता है। पेट की मांसपेशियों को मजबूत करता है। वजन घटना में मदद मिलती है।ब्लड सर्कुलेशन अच्छा होता है। शरीर को स्वस्थ रखता है। तनाव और चिंता दूर करने में सहायक है।वजन घटाने में मदद करता है। नर्वस सिस्टम को ठीक करता है। पाचन से जुड़ी दिक्कतों को दूर करता है। ब्लड प्रेशर सामान्य होता है।दीप्तिकेरनआउटसेक्योंलगीइंग्लिशफैंसकोइतनीमिर्चीजानिएइसमामलेमेंक्याकहतेहैंICCकेनियमPAK vs ENG: मोहम्मद हसनैन की 'घटिया' गेंदबाजी से सोशल मीडिया पर मचा बवाल, बाबर आजम के छूटे पसीने******Highlightsपाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच जारी सात मैचों की टी20 सीरीज का चौथा मुकाबला काफी रोमांचक रहा। इस मैच में अपना 200वां टी20 इंटरनेशनल खेलने उतरी मेजबान पाकिस्तानी टीम ने रोमांचक मोड़ पर 3 रनों से जीत दर्ज की। इंग्लैंड ने जीता हुआ मैच गंवाया या पाकिस्तान ने हारते-हारते इसे जीता यह कहना एक ही बात होगी। फिलहाल सीरीज 2-2 की बराबरी पर आ गई है लेकिन पाकिस्तानी तेज गेंदबाज मोहम्मद हसनैन को लेकर सोशल मीडिया पर काफी बवाल मचा हुआ है। कई लोग उनकी 18वें ओवर की नो बॉल को विवादित बता रहे हैं।अगर सोशल मीडिया रिएक्शंस की बात करें तो हसनैन की नो बॉल की तुलना लोगों ने मोहम्मद आमिर की फिक्सिंग वाली नो बॉल तक से करने लगे। आपको बता दें कि 2010 में पाकिस्तान के पूर्व पेसर मोहम्मद आमिर पर आरोप लगा था कि उन्होंने पैसे लेकर नो बॉल फेंकी है। ऐसा ही कुछ हसनैन की नो बॉल में भी देखने को मिला जो उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ अपने स्पेल के आखिरी और पारी के 18वें ओवर में फेंकी। कई लोगों ने यह भी लिखा कि, हसनैन ने पाकिस्तान को यह मैच हराने की जीतोड़ कोशिश की।दरअसल इस मैच में पहले खेलते हुए पाकिस्तान ने निर्धारित 20 ओवर में 4 विकेट पर 166 रन बनाए थे। जवाब में इंग्लैंड की शुरुआत लड़खड़ा गई। हसनैन ने शुरुआत में शानदार गेंदबाजी की और अंग्रेजों को शुरुआती दो झटके दिए। उन्होंने पहले 3 ओवर में 16 रन देकर दो विकेट लिए थे। इसके बाद वो फेंकने आए पारी का 18वां ओवर मैच इस वक्त रोचक मोड़ पर था और इंग्लैंड को जीत के लिए तीन ओवर में 33 रन चाहिए थे उनके तीन विकेट शेष थे। उसी बीच हसनैन का यह ओवर पाकिस्तान के लिए काफी बुरा साबित हुआ।18वें ओवर में मोहम्मद हसनैन की लियाम डॉसन ने खूब पिटाई की। खास बात थी इस ओवर की दूसरी गेंद पर उनकी नो बॉल जिसे लेकर विवाद खड़ा हुआ। हसनैन क्रीज से काफी बाहर थे और इस गेंद पर चौका भी आया था। इसके बाद फ्री हिट गेंद पर भी उन्होंने चौका खाया। इस ओवर की शुरुआत भी छक्के से हुई थी। यानी दो गेंदों पर ही उन्होंने 15 रन दे डाले थे। यहीं यह कारवां थमा नहीं और तीसरी व चौथी गेंद पर भी डॉसन ने चौका लगा दिया। इस ओवर में हसनैन ने 24 रन कुटवा दिए और पाकिस्तानी कप्तान बाबर आजम के पसीन छूट गए।18वें ओवर में हसनैन की कुटाई के बाद 2 ओवर में इंग्लैंड को महज 9 रन चाहिए थे। डॉसन शानदार लय में बल्लेबाजी कर रहे थे। 19वां ओवर लेकर आए हारिस रऊफ पर भी डॉसन ने चौका जड़ दिया। अब पाकिस्तानी कप्तान बाबर आजम के हाथ-पांव फूल गए थे लेकिन रऊफ ने हिम्मत नहीं हारी। इंग्लैंड को जीत के लिए 10 गेंदों पर महज 5 रन चाहिए थे। इतने में ही 19वें ओवर की तीसरी गेंद पर हारिस ने डॉसन को आउट कर दिया। फिर अगली ही गेंद पर ओली स्टोन भी गोल्डन डक का शिकार हो गए। यहां से मैच फिर पलट गया। 19 ओवर के बाद एक ओवर में चार रन इंग्लैंड को चाहिए थे और एक विकेट बाकी था। आखिरी ओवर लाए मोहम्मद वसीम जूनियर जिन्होंने पहली गेंद डॉट निकाल दी। उसके बाद दूसरी गेंद पर रीस टॉप्ली रन आउट हो गए और मैच इंग्लैंड 3 रनों से हार गई। सीरीज अब 2-2 की बराबरी पर है और 28-30 सितंबर व 2 अक्टूबर को निर्णायक तीन मुकाबले खेले जाएंगे।

Deepti Sharma: दीप्ति के रन आउट से क्यों लगी इंग्लिश फैंस को इतनी 'मिर्ची'? जानिए इस मामले में क्या कहते हैं ICC के नियम

दीप्तिकेरनआउटसेक्योंलगीइंग्लिशफैंसकोइतनीमिर्चीजानिएइसमामलेमेंक्याकहतेहैंICCकेनियमYeh Rishta Kya Kehlata Hai: अक्षरा और अभिमन्यु ने आखिर कर ली सगाई, तस्वीरें देख हो जाएगा प्यार******Highlightsस्टार प्लस के मशहूर शो है के अक्षरा और अभिमन्यु की आखिरकार सगाई हो गई है। शो के हालिया एपिसोड में दोनों की सगाई की रस्म हुई जिसमें अनुपमा भी शामिल हुई। अक्षरा और अभिमन्यु दोनों ही बेहद प्यारे लग रहे थे। दोनों ने मैचिंग ड्रेस पहना था। जैसे ही अनुपमा अभिमन्यु और अक्षरा के पास आती है, अभिमन्यु, अनुपमा की तारीफ करता है क्योंकि उन्होंने 45 की उम्र में अनुज से शादी करने का फैसला किया। अभिमन्यु आगे कहता है कि प्यार उम्र नहीं जानता और लोग अपने जीवन में किसी भी उम्र या स्थिति में प्यार में पड़ सकते हैं। अक्षरा भी उनकी बात से सहमत हैं।सगाई समारोह के बीच अक्षरा अनुपमा के साथ गाना गाती और डांस करती भी नजर आती है, बाद में अभिमन्यु भी डांस का हिस्सा बनता है। बाद में, सुहासिनी अबीरा से कहती है कि यह उनके लिए अंगूठियां बदलने का समय है। हालांकि, परिवार तब हैरान रह गए जब कायरव ने उन्हें बताया कि उसने अंगूठियां खो दी हैं। इसके लिए बिड़ला उसे ताना मारते हैं और यहां तक कि गोयनका भी उसपर गुस्सा करते हैं।हालांकि, अनुपमा बचाव के लिए आती है। वह उन्हें अंगूठियां दिखाती है और पूछती है कि क्या वे अंगूठियां हैं जिनके बारे में वे बात कर रहे हैं। अनुपमा उन्हें बताती है कि नियति ही उन्हें अंगूठियां लेकर उनके घर ले आई।अक्षरा और अभिमन्यु की सगाई की रस्म फिर शुरू होती है। फिर अक्षरा अपने घुटनों के बल बैठ जाती है और अभिमन्यु भी उसके साथ बैठ जाता है और वह अंगूठी पहना देती है। अभिमन्यु फिर उसे झूले से नीचे लटकाकर अंगूठी पहनाता है, ठीक उसी तरह जब अक्षरा ने पहली बार उससे अपने प्यार का इजहार किया था। वे सबसे आशीर्वाद मांगते हैं।फैंस को अब अक्षरा और अभिमन्यु की शादी का इंतजार है। बता दें, अभिमन्यु का रोल हर्षद चोपड़ा निभाते हैं वहीं अक्षरा का रोल निभाती हैं प्रणाली राठौड़। ये रिश्ता क्या कहलाता है स्टार प्लस पर सोमवार से शनिवार रात 9.30 बजे प्रसारित होता है।दीप्तिकेरनआउटसेक्योंलगीइंग्लिशफैंसकोइतनीमिर्चीजानिएइसमामलेमेंक्याकहतेहैंICCकेनियमCovid-19 की दूसरी लहर के बीच यात्री वाहनों की बिक्री घटी, मई में बिके केवल 88,045 वाहन******Passenger vehicle sales in India dip 66 pc in May says SIAMकोविड-19 की दूसरी लहर के बीच विभिन्न राज्यों में लॉकडाउन की वजह से डीलरों को आपूर्ति प्रभावित होने से अप्रैल की तुलना में मई में यात्री वाहनों की बिक्री 66 प्रतिशत घटकर 88,045 इकाई रह गई। वाहन विनिर्माताओं के संगठन सियाम के आंकड़ों से यह जानकारी मिली है। इस साल अप्रैल में यात्री वाहनों की बिक्री 2,61,633 इकाई रही थी। के आंकड़ों के अनुसार, डीलरों को दोपहिया की आपूर्ति 65 प्रतिशत घटकर 3,52,717 इकाई रह गई, जो अप्रैल में 9,95,097 इकाई रही थी। मोटरसाइकिलों की बिक्री 56 प्रतिशत घटकर 2,95,257 इकाई रह गई। अप्रैल में 6,67,841 मोटरसाइकिलें बिकी थीं। इसी तरह मई में स्कूटर बिक्री 83 प्रतिशत घटकर 50,294 इकाई रह गई, जो इस साल अप्रैल में 3,00,462 इकाई रही थी।तिपहिया की बिक्री 13,728 इकाई से घटकर 1,251 इकाई रह गई। विभिन्न श्रेणियों में वाहनों की बिक्री मई में 65 प्रतिशत घटकर 4,42,013 इकाई रह गई, जो अप्रैल में 12,70,458 इकाई रही थी। सियाम के महानिदेशक राजेश मेनन ने कहा कि कोविड-19 संक्रमण के मामले बढ़ने की वजह से विभिन्न राज्यों में लॉकडाउन था। इसके चलते मई में वाहनों की बिक्री और उत्पादन प्रभावित हुआ।उन्होंने कहा कि इसके अलावा कई वाहन विनिर्माताओं ने औद्योगिक इस्तेमाल वाली ऑक्सीजन को मेडिकल इस्तेमाल को स्थानांतरित करने को अपने विनिर्माण संयंत्रों को बंद भी किया। इससे भी मई में बिक्री पर असर पड़ा।

Deepti Sharma: दीप्ति के रन आउट से क्यों लगी इंग्लिश फैंस को इतनी 'मिर्ची'? जानिए इस मामले में क्या कहते हैं ICC के नियम

दीप्तिकेरनआउटसेक्योंलगीइंग्लिशफैंसकोइतनीमिर्चीजानिएइसमामलेमेंक्याकहतेहैंICCकेनियमAadhaar-PAN की डिटेल्स शेयर करने वाले सावधान, CBIC ने जारी की चेतावनी******CBI warns against Aadhaar PAN details sharing without valid reasonsHighlights अगर आप भी आधार कार्ड (Aadhaar Card) और पैन कार्ड (Pan Card) बिना सोचे समझे शेयर कर देते हैं तो ये खबर आपके बेहद काम की है। आपके आधार कार्ड और पैन कार्ड दोनों डॉक्यूमेंट का गलत इस्तेमाल हो सकता है। धोखेबाज इन डिटेल्स का इस्तेमाल जीएसटी चोरी (GST Evasion) में कर सकते हैं। केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीआईसी) ने गुरुवार को एक महत्वपूर्ण चेतावनी जारी की है। दरअसल, CBIC ने यह चेतावनी पर्सनल डेटा की सुरक्षा को लेकर जारी की है।केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड () ने गुरुवार को जनता को सावधान करते हुए कहा कि वैध कारण या किसी मौद्रिक लाभ (Monetary Gains) के बिना आधार (Aadhaar) और पैन (PAN) विवरण साझा करने पर धोखेबाज इसका दुरुपयोग जीएसटी चोरी के लिए कर सकते हैं। सीबीआईसी ने एक ट्वीट में कहा कि आधार और पैन विवरण का इस्तेमाल जीएसटी (GST) चोरी के लिए को लेकर फर्जी संस्थाएं बनाने में किया जा सकता है और इसलिए लोगों को बिना किसी वैध कारण के इन्हें साझा करने से बचना चाहिए।सीबीआईसी ने ट्विटर पर लिखा है, ‘‘अपने व्यक्तिगत आंकड़े को सुरक्षित रखें, जिसका दुरुपयोग कर जीएसटी चोरी के लिए फर्जी संस्थाएं बनाने में किया जा सकता है।’’बीते वर्षों में वस्तु और सेवा कर (Goods and Services Tax/GST) अधिकारियों ने कई फर्जी कंपनियों का भंडाफोड़ किया, जिनका इस्तेमाल माल की वास्तविक आपूर्ति के बिना नकली चालान बनाकर धोखाधड़ी से इनपुट टैक्स क्रेडिट (Input Tax Credit/ITC) का दावा करने के लिए किया गया।आधार (Aadhaar) का गलत इस्तेमाल कर बैंकिंग धोखाधड़ी होने की शिकायतें मिलती रहती हैं। आधार बेस्ड ट्रांजैक्शन में भी कई यूजर्स अबतक धोखा खा चुके हैं। बैंक इसको लेकर हमेशा अपने कस्टमर्स को अलर्ट करते रहते हैं कि अपना कोई भी व्यक्तिगत डिटेल्स किसी से शेयर न करें।

दीप्तिकेरनआउटसेक्योंलगीइंग्लिशफैंसकोइतनीमिर्चीजानिएइसमामलेमेंक्याकहतेहैंICCकेनियममुंबई: बीजेपी नेता पर झुग्गीवासियों को परेशान करने के आरोप में केस दर्ज******Highlightsमहाराष्ट्र में एमएसईडीसीएल के एक अधिकारी को कथित तौर पर धमकाने और झुग्गीवासियों के बिजली चोरी करने के आरोप में भाजपा नेता एवं पूर्व मंत्री बबनराव लोनिकर पर अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है।सोशल मीडिया पर वायरल हुए एक ऑडियो क्लिप में भारतीय जनता पार्टी के नेता लोनिकर को महाराष्ट्र राज्य विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड(एमएसईडीसीएल)के एक अधिकारी को अपने औरंगाबाद स्थित आवास में बिजली आपूर्ति बाधित करने को लेकर कथित तौर पर चेतावनी देते हुए सुना जा सकता है।ऑडियो क्लिप में लोनिकर को कथित तौर पर अधिकारी को यह कहते सुना जा सकता है कि वह उन झुग्गियों की बिजली क्यों नहीं काट रहे हैं, जहां लोग बिजली चोरी कर रहे हैं। जालना की कांग्रेस इकाई के अध्यक्ष दिनकर घेवंडे की शिकायत पर लोनिकर के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। घेवंडे का आरोप है कि लोनिकर ने अपने बयान से दलित समुदाय के लोगों का अपमान किया है। हालांकि, लोनिकर ने ऑडियो क्लिप को फर्जी करार दिया है। इनपुट- भाषादीप्तिकेरनआउटसेक्योंलगीइंग्लिशफैंसकोइतनीमिर्चीजानिएइसमामलेमेंक्याकहतेहैंICCकेनियममहाराष्ट्र: तूफान से मरनेवालों की संख्या बढकर 6 हुई, सीएम ने मुआवजे का किया ऐलान******: महाराष्ट्र में निसर्ग तूफान से मरनेवालों की संख्या बढ़कर 6 हो गई है वहीं मुख्यमंत्री उद्भव ठाकरे ने मृतकों के परिजनों को चार लाख रुपये की आर्थिक मदद का ऐलान किया है। मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए एक अहम बैठक में चक्रवात से हुए नुकसान का जायजा लिया।मुख्यमंत्री ने कहा कि रायगढ़ जिले में क्षतिग्रस्त घरों में खाना पकाने के लिए पानी नहीं है। उन्हें तत्काल खाद्यान्न वितरण की आवश्यकता है। सिस्टम को उस काम को तुरंत शुरू करना चाहिए। MSEDCL को इस क्षेत्र में अधिक जनशक्ति तैनात करनी चाहिए और पहली बार बिजली की आपूर्ति शुरू करनी चाहिए। अस्पतालों और औषधालयों को बिजली की आपूर्ति करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि संकट बहुत बड़ा है, आप निश्चित रूप से सभी कोरोना में दिन-रात काम कर रहे हैं।इस बैठक में राजस्व मंत्री बालासाहेब थोरात, शहरी विकास मंत्री और ठाणे के संरक्षक मंत्री एकनाथ शिंदे, परिवहन मंत्री अनिल परब समेत पालघर, ठाणे, सिंधुदुर्ग, मुंबई शहर, मुंबई उपनगर, नासिक अहमदनगर, कोंकण मंडल आयुक्त बैठक में मौजूद थे।राजस्व मंत्री बालासाहेब थोरात ने कहा, 'हमें यह देखने को मिला कि वास्तव में सतर्कता क्या है।' बिजली की लाइनें और पोल गिरने के कारण पुनर्वास मुश्किल है। इस प्राथमिकता को जल्द से जल्द उठाने की जरूरत है। जितनी जल्दी मदद मिलेगी, उतने ही लोगों को राहत मिलेगी।'वहीं एकनाथ शिंदे ने कहा कि सौभाग्य से ठाणे जिला खतरे में नहीं था। पंचनामा शुरू कर दिया गया है। जिला कलेक्टर राजेश नार्वेकर ने कहा कि ठाणे विशेष रूप से हिट नहीं था। 162 मिट्टी के घर ढह गए, 360 पेड़ शाखाएं गिर गईं। जिले की सभी सड़कों और राजमार्गों को शुरू कर दिया गया है। । उन्होंने यह भी कहा कि उल्हासनगर में टेलीफोन सेवा कुछ समय के लिए बाधित हो गई थी।रायगढ़ के डिप्टी कलेक्टर डॉ पद्मश्री बानडे ने जानकारी दी कि रायगढ़ जिले में लाखों घर क्षतिग्रस्त हो गए हैं। 1 लाख से अधिक पेड़ गिर गए हैं। सभी संचार बाधित हो गए। बिजली व्यवस्था को काफी नुकसान पहुंचा है। जिले में 5 हजार हेक्टेयर कृषि को नुकसान पहुंचा है और पंचनामा के लिए टीमें निकली हैं। लेकिन आंतरिक सड़कें बहुत खराब हैं। कुछ जगहों पर एम्बुलेंस नहीं भेजी जा सकीं। लोग डरते हैं कि उनकी टेलीफोन और मोबाइल सेवाएं बाधित हो जाएंगी, वे दूसरों के साथ संवाद नहीं कर पाएंगे। टेलीकॉम सिस्टम शुरू करने के प्रयास चल रहे हैं। 500 ​​मोबाइल टावर बिजली की कमी के कारण ठप हैं। यह भी बताया गया कि 10 नौकाओं को आंशिक रूप से और 12 हेक्टेयर मछली की खेती को नुकसान पहुंचा है।रत्नागिरी के जिला कलेक्टर ने कहा कि सबसे ज्यादा नुकसान दापोली और मंडनगढ़ में हुआ। 3,000 पेड़ गिर गए हैं। उन्होंने यह भी बताया कि 14 सबस्टेशन, 1962 ट्रांसफार्मर, बिजली के खंभे ध्वस्त हो गए हैं और कुछ स्थानों पर जलापूर्ति व्यवस्था बाधित हुई है। पालघर, अहमदनगर, नासिक जिला कलेक्टर ने भी नुकसान की जानकारी दी।मुंबई शहर में 25 स्थानों पर पेड़ गिर गए। मुंबई उपनगरों में, 55 स्थानों पर पेड़ गिर गए और 2 घर ढह गए। संभागीय आयुक्त कोंकण ने यह भी बताया कि सुचारू बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए प्रयास चल रहे हैं। बैठक की शुरुआत में प्रमुख सचिव राहत और पुनर्वास किशोर राजे निंबालकर ने चक्रवात के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इस तूफान के कारण राज्य में 72.5 मिमी बारिश हुई। जालना में सबसे अधिक 152 मिमी बारिश हुई। राज्य में 78 हजार 191 नागरिकों को सुरक्षित स्थानों पर स्थानांतरित किया गया। 21 एनडीआरएफ और 6 एसडीआरएफ दस्ते तैनात किए गए थे।

दीप्तिकेरनआउटसेक्योंलगीइंग्लिशफैंसकोइतनीमिर्चीजानिएइसमामलेमेंक्याकहतेहैंICCकेनियमAkhilesh Attack Yogi Govt: 'ईज आफ डूइंग अपराध' प्रदेश बन गया है यूपी ? जानिए अखिलेश यादव ने योगी सरकार को लेकर क्या कहा******Highlights क्या उत्तर प्रदेश 'ईज आफ डूइंग अपराध' प्रदेश बन गया है ? यह सवाल इसलिए उठा कि समाजवादी पार्टी के चीफ अखिलेश यादव ने यूपी में अपराध को लेकर योगी सरकार पर निशाना साधा है। बीजेपी के शासनकाल में अपराधों में वृद्धि का आरोप लगाते हुए अखिलेश नेकहा कि ऐसा लगता है कि उत्तर प्रदेश 'ईज आफ डूइंग' अपराध प्रदेश बन गया है और प्रदेश बीजेपी सरकार की देश—विदेश तक जितनी बदनामी हुई है, वैसी पहले कभी नहीं हुई थी।अखिलेश यादव ने एक बयान में कहा, ‘चंदौली में एक मासूम बेटी के साथ बलात्कार और हत्या के आरोपों से घिरी उत्तर प्रदेश की पुलिस पर ललितपुर के पाली में पुलिसकर्मियों द्वारा ही सामूहिक बलात्कार का आरोप लगा है।’ उन्होंने कहा, ‘ललितपुर में बलात्कार की शिकायत करने पहुंची नाबालिग से थाने में ही थानाध्यक्ष ने बलात्कार किया। इस शर्मनाक घटना की शिकार 13 वर्षीय किशोरी की गंभीर स्थिति विचलित करने वाली है। इसी तरह बुलंदशहर में आठ साल की बच्ची से सामूहिक बलात्कार की शिकायत मिली है। आखिर लोग कहां और किस पर भरोसा करें?''शासन-प्रशासन से खिलवाड़ करने वालों पर क्यों नहीं चलता बुलडोजर' ?अखिलेश ने आरोप लगाया, ‘उत्तर प्रदेश की बीजेपी सरकार की देश-विदेश तक जितनी बदनामी हुई है वैसी कभी नहीं हुई थी। फिरौती, हत्या, अपराध और वसूली के बाद अब पुलिस बलात्कार से भी बदनामी कराने लगी है।’ सपा अध्यक्ष ने सवाल किया, ‘प्रदेश में बाबा बुलडोजर की बड़ी चर्चाएं हैं लेकिन यह बुलडोजर शासन-प्रशासन से खिलवाड़ करने वालों पर क्यों नहीं चलता? गरीबों की झुग्गी, बस्तियों को उजाड़ने में बिलकुल देरी नहीं करने वाला सरकार का बुलडोजर बच्चियों की नृशंस हत्या और बलात्कार करने वालो के घरों तक क्यों नहीं पहुंच रहा है'''अपराधियों के आगे नतमस्तक हो गई है बीजेपी सरकार'उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार अपराधियों के आगे नतमस्तक हो गयी है और यही वजह है कि राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति बिगड़ गयी है।दीप्तिकेरनआउटसेक्योंलगीइंग्लिशफैंसकोइतनीमिर्चीजानिएइसमामलेमेंक्याकहतेहैंICCकेनियमTokyo Olympics 2020 Women's Hockey : वंदना कटारिया ने रचा इतिहास, भारत ने साउथ अफ्रीका को 4-3 से हराकर क्वाटर फाइनल में पहुंचने की उम्मीदों को रखा बरकरार******टोक्यो। वंदना कटारिया की शानदार हैट्रिक के दम पर भारतीय महिला हॉकी टीम ने शनिवार को खेले गए अपने अंतिम ग्रुप मैच में दक्षिण अफ्रीका को 4-3 से हराकर नॉकआउट में पहुंचने की उम्मीदों को कायम रखा है। वंदना ने भारत के लिए चौथे, 17वें और 49वें मिनट में गोल किए। भारत के लिए चौथा गोल नेहा ने 32वें मिनट में किया। ग्रुप-ए में दक्षिण अफ्रीका की यह लगातार पांचवीं हार है। भारत को पांच मैचों में दूसरी जीत मिली है। शुरुआती तीन मुकाबले गंवाने के बाद भारत ने दो मैच जीते हैं।अब भारत को ब्रिटेन और आयरलैंड के बीच होने वाले मुकाबले का इंतजार है। ब्रिटेन के हाथों आयरलैंड की हार भारत को आगे ले जाएगी। और अगर आयरलैंड जीत जाता है तो भारत बाहर हो जाएगा क्योंकि तब आयरलैंड अंकों के मामले में भारत की बराबरी पर आ जाएगा और गोल डिफरेंस के मामले में आगे निकल जाएगा।प्रत्येक ग्रुप से चार-चार टीमों को नॉकआउट में जाना है। अभी भारत के पांच मैचों से छह अंक हैं। उसका गोल डिफरेंस -7 है। इस ग्रुप से आस्ट्रेलिया, जर्मनी और ब्रिटेन पहले ही नॉकआउट में पहुंच चुके हैं। एक स्थान बचा है, जिसके लिए भारत को आयरलैंड के बीच घमासान है।बहरहाल, मैच का पहला गोल भारत की वंदना ने चौथे मिनट में किया। उत्तराखंड निवासी वंदना ने एक बेहतरीन फील्ड गोल के माध्यम से भारत को 1-0 से आगे किया।दक्षिण अफ्रीकी टीम ने वापसी के लिए जोर लगाया और उसे 15वें मिनट में सफलता मिल भी गई। टैरीन क्रिस्टी ग्लेसबाई ने एक बेहतरीन फील्ड गोल के माध्यम से स्कोर 1-1 कर दिया।इसके दो मिनट बाद वंदना ने एक और गोल कर भारत को 2-1 से आगे कर दिया। वंदना ने यह गोल पेनाल्टी कार्नर पर किया। 30वें मिनट में कप्तान एरिन हंटर ने पेनाल्टी कार्नर पर गोल कर स्कोर एक बार फिर 2-2 कर दिया।इसके दो मिनट बाद नेहा ने पेनाल्टी कार्नर पर गोल कर भारत को 3-2 की लीड दिला दी लेकिन 39वें मिनट में मेरिजान मेरिएस ने एक शानदार फील्ड गोल के जरिए स्कोर 3-3 कर दिया।भारत को आगे जाने के लिए इस मैच में हर हाल में जीत की जरूरत थी और साथ ही उसे यह भी प्रार्थना करना है कि आयरलैंड की टीम ब्रिटेन से हार जाए। ऐसे में भारतीय टीम खूब जोर लगा रही थी।वंदना ने एक बार फिर अपना क्लास दिखाया और 49वें मिनट में पेनाल्टी कार्नर पर गोल कर भारत को एक बार फिर 4-3 से आगे कर दिया। भारत इस स्कोर को बचाने में सफल रहा और साथ ही उसने आगे जाने की सम्भावनाओं को भी जिंदा रखा है।

दीप्तिकेरनआउटसेक्योंलगीइंग्लिशफैंसकोइतनीमिर्चीजानिएइसमामलेमेंक्याकहतेहैंICCकेनियम32,000 कंपनियों पर सेबी और IT विभाग की टेढ़ी नजर, शेयर मूल्य में गड़बड़ी और टैक्‍स चोरी का है आरोप****** ब्‍लैकमनी और टैक्‍स चोरी के खिलाफ बड़ा कदम उठाते हुए भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) 15 जनवरी को अपनी बोर्ड मीटिंग में लांग टर्म कैपिटल गेंस (एलटीसीजी) और शेयर मूल्‍यों में हेराफेरी करने वाली 32,000 कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई करने का निर्णय लेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 8 नवंबर को नोटबंदी की घोषणा के बाद सेबी की यह पहली बैठक है।दीप्तिकेरनआउटसेक्योंलगीइंग्लिशफैंसकोइतनीमिर्चीजानिएइसमामलेमेंक्याकहतेहैंICCकेनियमले. गवर्नर ने 2015 की अधिसूचना को ठहराया सही : सेवाएं दिल्ली विधानसभा के दायरे से बाहर****** दिल्ली के अनिल बैजल ने आज कहा कि ‘‘सेवाओं’’ को के अधिकार क्षेत्र के बाहर बताने संबंधित गृह मंत्रालय की 2015 की एक अधिसूचना अभी तक वैध है। बैजल का यह बयान ऐसे समय में आया है जबकि आज दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने कुछ समय पहले कहा था कि ले. गवर्नर ने सेवा विभाग का नियन्त्रण राज्य सरकार को सौंपने से मना कर दिया है।केजरीवाल को लिखे एक पत्र में बैजल ने गृह मंत्रालय की 2015 की एक अधिसूचना के बारे में ध्यान दिलाया जिसमें संविधान के अनुच्छेद 239 और 239 एए के तहत ‘‘राष्ट्रपति निर्देश’’ जारी होते हैं। इसमें कहा गया कि ‘सेवाएं’ दिल्ली विधानसभा के अधिकारक्षेत्र के बाहर हैं परिणामस्वरूप दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र सरकार के पास ‘ सेवाओं ’ को लेकर कोई कार्यपालिका अधिकार नहीं हैं।पत्र में कहा गया, ‘‘इस अधिसूचना को दिल्ली हाईकोर्ट ने चार अगस्त 2016 के अपने एक आदेश में भी सही ठहराया था।’’ ले. गवर्नर ने कहा,‘‘ माननीय सुप्रीम कोर्ट के पीछे के निर्णय के चलते गृह मंत्रालय ने सुझाव दिया है कि निर्णय के अंतिम पैरा के अनुसार ‘सेवा’ सहित नौ अपील पर नियमित पीठ सुनवाई करेगी तथा गृह मंत्रालय की 21 मई 215 की अधिसूचना वैध बनी रहेगी।’’केजरीवाल ने दावा किया कि यह देश के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि केन्द्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश को मानने से स्पष्ट रूप से मना कर दिया है। बैजल के साथ 25 मिनट तक हुई बैठक के बाद केजरीवाल ने कहा कि ले. गवर्नर के मना करने के बाद देश में अराजकता फैल जाएगी।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 05:02
उद्धरण 1 इमारत
Jagannath Rath Yatra 2021: जानिए जगन्नाथ रथ यात्रा का धार्मिक महत्व, पुण्य और इतिहास******जगन्नाथ रथ यात्रा का हिंदू धर्म में बहुत अधिक महत्व होता है। इस रथयात्रा का आयोजन ओडिशाके पुरी में स्थितजगन्नाथ मंदिर से होता है। हिंदू पंचांग के अनुसार हर साल आषाढ़ माह में शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि को जगन्नाथ रथ यात्रा निकाली जाती है। इस यात्रा में भक्तों की भारी भीड़ होती है। हालांकि कोरोना वायरस की वजह से इस साल श्रद्धालुओं के बिना ही जगन्नाथ रथ यात्रा निकाली जा रही है।ओडिशा के पुरी मेंभगवान बलराम, श्री जगदीश और देवी सुभद्रा का रथोत्सव मनाया जा रहा है।इस दौरान अलग-अलग रथों में तीनों की मूर्तियां स्थापित करके बहुत ही भव्य तरीके से रथयात्रा निकाली जाती है | पुरी की यह रथ यात्रा सौहार्द्र, भाई-चारे और एकता का प्रतीक है | इस यात्रा में भाग लेने के लिये हज़ारों की संख्या में श्रद्धालु देश के अलग-अलग कोनों से यहां आते हैं और भगवान के रथ को खींचकर सौभाग्य पाते हैं | कहते हैं जो भी व्यक्ति रथ यात्रा में शामिल होता है, उसे हर प्रकार की सुख-समृद्धि मिलती है। लेकिन, इस बार कोरोना वायरस की वजह से भक्तों को इसमें शामिल होने का मौका नहीं मिल पाया है।सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार रथ यात्रा केवल पुरी में सीमित दायरे में निकाली जाएगी।कोर्ट ने कोरोना के डेल्टा प्लस वैरिएंट और तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए ओडिशा सरकार के फैसले को सही ठहराते हुए पूरे राज्य में रथ यात्रा को निकालने पर पाबंदी लगा दी है।हिन्दू धर्म में जगन्नाथ रथ यात्रा का बहुत बड़ा महत्व है। आषाढ़ शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि को जगन्नाथ रथ यात्रा निकाली जाती है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार रथयात्रा निकालकर भगवान जगन्नाथ को प्रसिद्ध गुंडिचा माता के मंदिर पहुंचाया जाता हैं, जहां भगवान 7 दिनों तक विश्राम करते हैं। इसके बाद भगवान जगन्नाथ की वापसी की यात्रा शुरु होती है। भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा पूरे भारत में एक त्योहार की तरह मनाई जाती है।भगवान श्रीकृष्ण के अवतार 'जगन्नाथ' की रथयात्रा का पुण्य सौ यज्ञों के बराबर बताया गया है। अगर कोई भक्त इस रथ यात्रा में शामिल होकर भगवान के रथ को खींचता है तो उसे यह फल प्राप्त होता है। जगन्नाथ रथयात्रा दस दिवसीय महोत्सव होता है। यात्रा की तैयारीअक्षय तृतीय के दिन श्रीकृष्ण, बलराम और सुभद्रा के रथों के निर्माण के साथ ही शुरू हो जाती है।सदियों से चली आ रही इस रथयात्रा के दौरान श्री जगन्नाथजी, बलभद्रजी और सुभद्राजी रथ में बैठकर अपनी मौसी के घर, गुंडिचा मंदिर जाते हैं जो यहां से तीन किलोमीटर दूर है। आषाढ़ शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को तीनों अपने स्थान पर आते हैं और मंदिर में अपने स्थान पर विराजमान हो जाते हैं। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस रथ यात्रा को देखने मात्र से सभी तरह के पापों से मुक्ति मिल जाती है और मृत्यु के बाद मोक्ष की प्राप्ति होती है।
2022-10-01 03:33
उद्धरण 2 इमारत
Jagannath Rath Yatra 2021: जानिए जगन्नाथ रथ यात्रा का धार्मिक महत्व, पुण्य और इतिहास******जगन्नाथ रथ यात्रा का हिंदू धर्म में बहुत अधिक महत्व होता है। इस रथयात्रा का आयोजन ओडिशाके पुरी में स्थितजगन्नाथ मंदिर से होता है। हिंदू पंचांग के अनुसार हर साल आषाढ़ माह में शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि को जगन्नाथ रथ यात्रा निकाली जाती है। इस यात्रा में भक्तों की भारी भीड़ होती है। हालांकि कोरोना वायरस की वजह से इस साल श्रद्धालुओं के बिना ही जगन्नाथ रथ यात्रा निकाली जा रही है।ओडिशा के पुरी मेंभगवान बलराम, श्री जगदीश और देवी सुभद्रा का रथोत्सव मनाया जा रहा है।इस दौरान अलग-अलग रथों में तीनों की मूर्तियां स्थापित करके बहुत ही भव्य तरीके से रथयात्रा निकाली जाती है | पुरी की यह रथ यात्रा सौहार्द्र, भाई-चारे और एकता का प्रतीक है | इस यात्रा में भाग लेने के लिये हज़ारों की संख्या में श्रद्धालु देश के अलग-अलग कोनों से यहां आते हैं और भगवान के रथ को खींचकर सौभाग्य पाते हैं | कहते हैं जो भी व्यक्ति रथ यात्रा में शामिल होता है, उसे हर प्रकार की सुख-समृद्धि मिलती है। लेकिन, इस बार कोरोना वायरस की वजह से भक्तों को इसमें शामिल होने का मौका नहीं मिल पाया है।सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार रथ यात्रा केवल पुरी में सीमित दायरे में निकाली जाएगी।कोर्ट ने कोरोना के डेल्टा प्लस वैरिएंट और तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए ओडिशा सरकार के फैसले को सही ठहराते हुए पूरे राज्य में रथ यात्रा को निकालने पर पाबंदी लगा दी है।हिन्दू धर्म में जगन्नाथ रथ यात्रा का बहुत बड़ा महत्व है। आषाढ़ शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि को जगन्नाथ रथ यात्रा निकाली जाती है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार रथयात्रा निकालकर भगवान जगन्नाथ को प्रसिद्ध गुंडिचा माता के मंदिर पहुंचाया जाता हैं, जहां भगवान 7 दिनों तक विश्राम करते हैं। इसके बाद भगवान जगन्नाथ की वापसी की यात्रा शुरु होती है। भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा पूरे भारत में एक त्योहार की तरह मनाई जाती है।भगवान श्रीकृष्ण के अवतार 'जगन्नाथ' की रथयात्रा का पुण्य सौ यज्ञों के बराबर बताया गया है। अगर कोई भक्त इस रथ यात्रा में शामिल होकर भगवान के रथ को खींचता है तो उसे यह फल प्राप्त होता है। जगन्नाथ रथयात्रा दस दिवसीय महोत्सव होता है। यात्रा की तैयारीअक्षय तृतीय के दिन श्रीकृष्ण, बलराम और सुभद्रा के रथों के निर्माण के साथ ही शुरू हो जाती है।सदियों से चली आ रही इस रथयात्रा के दौरान श्री जगन्नाथजी, बलभद्रजी और सुभद्राजी रथ में बैठकर अपनी मौसी के घर, गुंडिचा मंदिर जाते हैं जो यहां से तीन किलोमीटर दूर है। आषाढ़ शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को तीनों अपने स्थान पर आते हैं और मंदिर में अपने स्थान पर विराजमान हो जाते हैं। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस रथ यात्रा को देखने मात्र से सभी तरह के पापों से मुक्ति मिल जाती है और मृत्यु के बाद मोक्ष की प्राप्ति होती है।
2022-10-01 03:05
उद्धरण 3 इमारत
Asia Cup Super 4 Points Table : श्रीलंका या पाकिस्तान, जानिए कौन है नंबर वन******Highlightsएशिया कप 2022 में अब सुपर 4 के मुकाबले खेले जा रहे हैं। अभी तक श्रीलंका और पाकिस्तानी टीमें अपना एक एक मैच जीत चुकी हैं। वहीं टीम इंडिया और अफगानिस्तान को अपने अपने मैचों में हार का सामना करना पड़ा है। हालांकि अभी तक कोई भी टीम फाइनल की रेस से बाहर नहीं हुई है और न ही कोई टीम ऐसी है, जो फाइनल में पक्की एंट्री पा गई हो। इस बीच एशिया कप 2022 की प्वाइंट्स टेबल में कुछ बदलाव हुए हैं। ये देखना भी दिलचस्प है।टीम इंडिया को एशिया कप 2022 के अपने सुपर 4 के पहले ही मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा है। वहीं सुपर 4 के पहले मुकाबले में श्रीलंका ने अफगानिस्तान को हरा दिया था। भारत और अफगानिस्तान के बीच कॉमन बात ये हे कि ये दोनों टीमें लीग चरण में अपने दोनों मैच जीतकर यहां तक पहुंची थी, लेकिन सुपर 4 के पहले मैच में दोनों को हार का सामना करना पड़ा है। पाकिस्तान ने भले टीम इंडिया को हरा दिया हो, लेकिन इसके बाद भी पाकिस्तानी टीम प्वाइंट्स टेबल में नंबर एक पर नहीं है। यहां बाजी मारी है श्रीलंकाई टीम ने। पाकिस्तान और श्रीलंका के दो दो अंक हैं, लेकिन नेट रन रेट के मामले में श्रीलंका टीम पाकिस्तान से कहीं आगे है। एक मैच जीतने के बाद श्रीलंकाई टीम का नेट रन रेट प्लस 0.589 है, वहीं पाकिस्तान की बात करें तो उसका एक मैच जीतने के बाद नेट रन रेट प्लस 0.126 ही है। यानी श्रीलंका की टीम पाकिस्तान से आगे है। वहीं भारत और अफगानिस्तान की टीम की बात की जाए तो भारत का नेट रन रेट माइनस 0.126 है और अफगानिस्तान का नेट रन रेट माइनस 0.589 है। यानी टीम इंडिया भले हार गई हो, लेकिन इसके बाद भी वो अंक तालिका में अभी भी नंबर तीन पर बनी हुई है।टीम इंडिया को अभी अपने दो और मैच खेलने हैं। फानइल में जाने के उसके रास्ते खुले हुए हैं और दो मैच जीतने के बाद टीम भारतीय टीम फाइनल में जा सकती है। वहीं पाकिस्तान और श्रीलंका जीतने के बाद भी अभी भी फाइनल की रेस से बाहर हो सकते हैं। जो टीम फाइनल तक जाएगी, उसे अपने कम से कम दो मैच जीतने जरूरी होंगे। भारतीय टीम अब छह सितंबर को श्रीलंका और उसके बाद आठ सितंबर को अफगानिस्तान से भिड़ेगी, ये मैच सभी टीमों के लिए करो या मरो के होंगे, हर टीम को मैच जीतना जरूरी है।
वापसी