नई पोस्ट करें

मारुति का दबदबा फ‍िर कायम, सबसे ज्‍यादा बिकने वाले टॉप-10 मॉडल्‍स में से 7 हैं इसके

2022-10-01 06:22:31 224

मारुतिकादबदबाफ‍िरकायमसबसेज्‍यादाबिकनेवालेटॉप10मॉडल्‍समेंसे7हैंइसकेममता की रैली लोकतंत्र को बचाने के लक्ष्य से आयोजित की गई थी: शत्रुघ्न सिन्हा******भाजपा नेतृत्व और मोदी सरकार पर ताजा हमला करते हुए असंतुष्ट भाजपा नेता ने रविवार को कहा कि कोलकाता की रैली ‘‘भारत के लोकतंत्र को बर्बाद होने से बचाने’’ के लक्ष्य से आयोजित की गई थी। यहां उन्होंने कई विपक्षी नेताओं के साथ मंच साझा किया था।अभिनेता से नेता बने पटना साहिब से सांसद हैं। रैली में अपनी मौजूदगी से उन्होंने पार्टी को चिंता में डाल दिया। उन्होंने रैली में मंच से कहा कि मोदी और अमित शाह के नेतृत्व में ‘लोकशाही’ की जगह ‘तानाशाही’ है। ‘लोकशाही’ अटल-आडवाणी के दौर की विशेषता थी।इसके बाद सिन्हा ने इस रैली को लेकर ट्वीट भी किए। उन्होंने कोलकाता में आयोजित रैली के बारे में कहा, ‘‘परिवर्तन के समर्थन में इस गठबंधन की एकता को समर्थन देने के लिए लाखों लोग आए। यह एक अद्भुत रैली थी और विशाल संख्या में श्रोता यहां पहुंचे थे।''इस रैली का आयोजन पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ने किया था। शनिवार को आयोजित रैली में 22 विपक्षी पार्टियों के नेता एक मंच पर आए और नरेंद्र मोदी सरकार को सत्ता से हटाने के लिए साथ लड़ाई लड़ने की घोषणा की। रैली में कहा गया कि ‘‘मोदी सरकार की ‘एक्सपायरी डेट’ (उपयोग करने की अवधि) खत्म हो गई है।’’ वहीं दूसरे ट्वीट में सिन्हा ने इस रैली के आयोजन के लिए ममता बनर्जी की तारीफ की।वहीं राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में एक संवाददाता सम्मेलन में भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव प्रताप रूडी ने कहा कि पार्टी ने विपक्ष की रैली में सिन्हा की उपस्थिति का ‘संज्ञान’ लिया है।

मारुतिकादबदबाफ‍िरकायमसबसेज्‍यादाबिकनेवालेटॉप10मॉडल्‍समेंसे7हैंइसकेDeMo: नोटबंदी के बाद धन के हेर-फेर मामले में ED ने हैदराबाद में जब्त किया 82 करोड़ रुपप का सोना******ED seizes 146 kg gold jewellery worth over Rs 82 cr of Hyderabad group (ED) ने नोटबंदी के बाद धन का हेर-फेर से जुड़े मनी लांड्रिंग मामले में हैदराबाद के एक आभूषण कारोबारी तथा उसके सहयोगियों के परिसरों पर छापेमारी कर 82 करोड़ रुपए से अधिक का करीब 146 किलोग्राम सोना जब्त किया है। ईडी ने गुरुवार को इसकी जानकारी दी। ईडी ने कहा कि हैदराबाद तथा विजयवाड़ा में मुसद्दीलाल ज्‍वैलर्स के शोरूम, उसके प्रवर्तक कैलाश गुप्ता, बालाजी गोल्ड नामक कंपनी तथा इसके भागीदार पवन अग्रवाल, एक अन्य कंपनी आस्था लक्ष्मी गोल्ड तथा इसके प्रवर्तक नील सुंदर थराड और चार्टर्ड एकाउंटेंट संजय सारदा के परिसरों पर पिछले कुछ दिनों पहले छापेमारी की गई। इसमें 82.11 करोड़ रुपए मूल्य का 145.89 किलोग्राम सोना जब्त किया गया।ईडी ने इन लोगों के खिलाफ तेलंगाना पुलिस की प्राथमिकी तथा आयकर विभाग की शिकायत के आधार पर आपराधिक मामला दर्ज किया है। इसमें कहा गया है कि इन लोगों ने नोटबंदी का जोरदार तरीके से फायदा उठाते हुए बिना हिसाब-किताब वाली भारी भरकम राशि को अवैध ढंग से अपने खातों में जमा कराया।एजेंसी ने अपने वक्तव्य में कहा है कि इस काम के लिए आरोपियों ने जालसाजी करते हुए 5,200 के करीब अग्रिम बिक्री रसीदें तैयार की। इन पर आठ नवंबर 2016 तारीखा डाली गई और पैन का उल्लेख करने से बचने के लिए इन्हें दो लाख रुपए से कम राशि का बनाया गया।उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आठ नवंबर 2016 को देर शाम उस समय चलन में रहे 500 और 1,000 रुपए के नोट को बंद कर दिया था।मारुतिकादबदबाफ‍िरकायमसबसेज्‍यादाबिकनेवालेटॉप10मॉडल्‍समेंसे7हैंइसकेआखिर 20 जनवरी को ही क्यों शपथ लेते हैं अमेरिकी राष्ट्रपति? जानिए- क्या है इनोग्रेशन डे******अमेरिका में राष्ट्रपति का चुनाव कभी भी हो जाए लेकिन राष्ट्रपति का कार्यकाल 20 जनवरी से उनकी पद की शपथ के साथ ही शुरू होता है। अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्‍ट्रपति 20 जनवरी को ही राष्‍ट्रपति पद की शपथ लेते हैं। इसी तारीख से राष्ट्रपति का चार साल का कार्यकाल शुरू होता है। यह सिलसिला लंबे वक्त से चलता आ रहा है और इस बार भी बरकरार है।अमेरिका के राष्ट्रपति के नए चार साल के कार्यकाल की शुरुआत करने के लिए एक समारोह का आयोजन किया जाता है। इस समारोह के दौरान ही नवनिर्वाचित राष्‍ट्रपति अपने पद की शपथ लेते हैं। यह राष्ट्रपति चुनाव के बाद 20 जनवरी को ही होता है। इसे ही इनोग्रेशन डे कहते हैं। इनोग्रेशन प्रत्येक नए राष्ट्रपति पद के लिए होता है, भले ही राष्ट्रपति दूसरे कार्यकाल के लिए पद पर बने रहें।क्‍या आपने कभी यह सोचा है कि आखिर अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के महीनों बाद 20 जनवरी को ही राष्ट्रपति शपथ ग्रहण समारोह क्यों आयोजित किया जाता है? दरअसल, इसके पीछे वजह यह है कि अमेरिकी संविधान में हुए 20वें संशोधन के तहत इस तारीख यानि 20 जनवरी का उल्लेख किया गया है। जबकि, संविधान में हुए 20वें संशोधन से पहले 4 मार्च को शपथ ग्रहण समारोह होता था।इस बार अमेरिका में जो बाइडन को राष्ट्रपति पद के लिए चुना गया है। 20 जनवरी को जो बाइडन शपथ ग्रहण करेंगे। उनका शपथ ग्रहण समारोह बेहद खास होगा। जो बाइडन के शपथ ग्रहण समारोह में लेडी गागा राष्ट्रगान गाएंगी जबकि जेनिफर लोपेज संगीत प्रस्तुति देंगी। राजधानी वाशिंगटन के वेस्ट फ्रंट में 20 जनवरी को होने वाले समारोह में बाइडन अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति के तौर पर शपथ लेंगे।अमेरिका के निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप बीते दिनों यह कह चुके हैं कि वह जो बाइडेन के शपथ ग्रहण समारोह में नहीं जाएंगे। ट्रंप ने खुद ट्वीट करते हुए घोषणा करते हुए कहा था कि ''जो पूछ रहे हैं मैं उन्हें बता दूं कि मैं 20 जनवरी को शपथ में नहीं जाऊंगा।'' 1869 में अमेरिका के 17वें राष्ट्रपति एंड्रयू जॉनसन के बाद ट्रंप ऐसे पहले राष्ट्रपति होंगे जो अपने उत्तराधिकारी के शपथग्रहण समारोह में नहीं जाएंगे।

मारुति का दबदबा फ‍िर कायम, सबसे ज्‍यादा बिकने वाले टॉप-10 मॉडल्‍स में से 7 हैं इसके

मारुतिकादबदबाफ‍िरकायमसबसेज्‍यादाबिकनेवालेटॉप10मॉडल्‍समेंसे7हैंइसकेSmart Invest: सिर्फ 5000 रुपये लगाकर हर महीने अकाउंट में पाएं 1.6 लाख रुपये, ये स्मार्ट तरीका आपको बना देगा करोड़पति******Highlightsहम सभी सुरक्षित भविष्य चाहते हैं, इसी के लिए हम निवेश और बचत करते हैं। लेकिन सुरक्षित भविष्य एक बड़ी पहेली है। आज जब हम 2022 में बैठे हैं, इस दौर में यदि कोई बुजुर्ग 50000 रुपये की पेंशन पा रहा है तो उसे हम पर्याप्त मान सकते हैं। लेकिन आज से 15 या 20 साल यह राशि कतई पर्याप्त नहीं होगी। ऐसे में भविष्य की योजना बनाते समय हमें महंगाई और रुपये के गिरते मूल्य या फिर निवेश की भाषा में कहें तो टाइम फैक्टर को भी ध्यान में रखना होगा।आज के दौर में यदि हम औसत महंगाई की दर को 6 प्रतिशत माल लें तो यदि आप आज 1 लाख रुपये कमा रहे हैं तो आपको 20 साल बाद इसी लाइफस्टाइल को मेंटेन करने के लिए 3.2 लाख / माह से अधिक की आवश्यकता होगी। 25 वर्षों के बाद, आपको समान जीवन स्तर के लिए 4.2 लाख रुपये से अधिक और 30 वर्षों के बाद 5.7 लाख रुपये से अधिक की आवश्यकता होगी।इससे साफा पता चलता है कि महंगाई के कारण उम्र बढ़ने के साथ-साथ जीवन यापन की लागत बढ़ती रहेगी। इसलिए, अपने करियर की शुरुआत से ही यदि आप फाइनेंशियल एडवाइजर की सलाह लेते हैं तो आप आसानी से अपने रिटायरमेंट की प्लानिंग कर सकते हैं।सेवानिवृत्ति/पेंशन के लिए जल्द से जल्द निवेश शुरू करना हमेशा बेहतर होता है, निवेश के लिए 20 से 30 साल की उम्र सबसे मुफीद मानी जाती है। आप जितनी जल्दी शुरू करेंगे, आपकी सेवानिवृत्ति राशि या पेंशन संपत्ति उतनी ही बड़ी होगी। आप अपने पेंशन लक्ष्यों में निवेश शुरू करने के लिए राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली (एनपीएस) का भी उपयोग कर सकते हैं।सरकार द्वारा समर्थित एनपीएस रिटायरेमेंट की योजना बनाने के लिए सबसे लोकप्रिय निवेश विकल्पों में से एक है। दिलचस्प बात यह है कि एनपीएस ट्रस्ट की आधिकारिक वेबसाइट पर एनपीएस कैलकुलेटर से पता चलता है कि 25 साल की उम्र से एनपीएस टियर -1 खाते में 5000 रुपये / महीने का योगदान करने से मासिक पेंशन 1.6 लाख रुपये से अधिक हो सकती है। हालाँकि, यहां आपको कुछ बातें याद रखनी होंगी।एनपीएस से डेढ़ लाख की पेंशन पाने के लिए जरूरी है कि आप 25 साल की उम्र से निवेश शुरू करें और 60 साल तक जारी रखें। आपके निवेश पर अपेक्षित रिटर्न 12 प्रतिशत है। कैलकुलेटर के अनुसार, यदि अपेक्षित रिटर्न घटकर 8 प्रतिशत रह जाता है, तो आप मासिक पेंशन के रूप में 57,000 रुपये से अधिक प्राप्त कर सकेंगे।एनपीएस कैल्कुलेटर के अनुसार यदि आप 25 वर्ष की आयु से प्रति माह 10,000 रुपये का निवेश करते हैं तो आप 3.2 लाख रुपये की पेंशन प्राप्त करने में सक्षम होंगे, बशर्ते ऊपर वर्णित अन्य सभी शर्तें समान रहें। आप एक बड़ा रिटायरमेंट फंड प्राप्त करने के लिए निवेश के दौरान अपना योगदान बढ़ा भी सकते हैं। एनपीएस नियमों के अनुसार, 60 वर्ष की आयु प्राप्त करने के समय एक ग्राहक अपनी संचित पेंशन राशि का 100 प्रतिशत तक एन्युटी खरीद सकता है।एनपीएस में पेंशन फंड का चयन और उस फंड का प्रदर्शन आपके रिटायरमेंट पर मिलने वाली राशि को तय करते हैं। फिलहाल एनपीएस के तहत कई फंड 12 प्रतिशत तक रिटर्न दे रहे हैं। लेकिन ऐसे उच्च रिटर्न की गारंटी भविष्य के लिए भी नहीं दी जा सकती है।कोई भी भारतीय नागरिक जिसकी उम्र 18 से 70 साल के बीच है, इसमें शामिल हो सकता हैम आप किसी भी बैंक में एनपीएस अकाउंट खुलवा सकते हैं। मैच्योरिटी के बाद निवेशक NPS में से 60 फीसदी पैसा निकाल सकते हैं। यानी कि 60 साल की आयु के बाद कोई व्यक्ति NPS में कुल जमा राशि में से 60 फीसदी अमाउंट बिना किसी टैक्स के निकाल सकता है।NPS अकाउंट ऑफलाइन या मैन्युअल रूप से खोलने के लिए, सब्‍सक्राइबर को पहले PoP-Point of Presence (यह बैंक भी हो सकता है) सर्च करना होगा। अपने नजदीकी PoP से एक सब्सक्राइबर फॉर्म लीजिए और इसे KYC पेपर्स के साथ जमा करें। एक बार जब आप शुरूआती निवेश करते हैं (500 रुपये या 250 रुपये मासिक या 1,000 रुपये से कम नहीं), तो PoP आपको एक PRAN – स्थायी रिटायरमेंट अकाउंट नंबर भेजेगा। इस संख्या और पासवर्ड की मदद से आप अपने अकाउंट को चला सकते हैं।यदि आप अपने खाते को अपने पैन, आधार/ या मोबाइल नंबर से जोड़ते हैं, तो एक खाता ऑनलाइन खोलना आसान है। आप अपने मोबाइल पर भेजे गए ओटीपी का उपयोग करके रजिस्ट्रेशन को मान्य कर सकते हैं। इसके बाद आपको एक PRAN (स्थायी सेवानिवृत्ति खाता संख्या) मिलेगी जिसकी मदद से आप NPS लॉग इन के लिए कर सकते हैं। अकाउंट कैसे खोला जाता है?मारुतिकादबदबाफ‍िरकायमसबसेज्‍यादाबिकनेवालेटॉप10मॉडल्‍समेंसे7हैंइसकेCoronavirus:बिहार में एक और पॉजिटिव केस, मरीजों की संख्या 10 हुई****** बिहार में कोरोना वायरस का एक और पॉजिटिव केस सामने आने के बाद मरीजों की संख्या बढ़कर 10 हो गई है। RMRI की जांच रिपोर्ट में NMCH के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती एक महिला कोरोना पॉजिटिव पायी गई। इससे पहले 90 लोगों का सैंपल टेस्ट के लिए लिया गया था लेकिन 89 का रिजल्ट निगेटिव आया।इससे पहले मुंगेर निवासी एक मरीज को मौत हो गयी थी। बिहार स्वास्थ्य सोसायटी की स्टेट सर्विलांस अफिसर डॉक्टर रागिनी मिश्र ने बताया कि वार्ड ब्वॉय सहित एक निजी अस्पताल के दो कर्मचारी कोरोना वायरस से संक्रमित मुंगेर निवासी एक मरीज के संपर्क में आये थे। इस मरीज को पिछले हफ्ते उक्त अस्पताल में भर्ती कराया गया था और बाद में पटना एम्स में उपचार के दौरान मरीज की मौत हो गई थी।गौरतलब है कि कतर से लौटे मुंगेर निवासी एक मरीज को उपचार के लिए पहले इसी निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बाद में उसे पटना एम्स में भर्ती कराया गया जहां शनिवार उसकी मौत हो गयी । जिला प्रशासन ने इस निजी अस्पताल के सभी डॉक्टरों, नर्सों और कर्मचारियों को पृथक रहने का आदेश दिया था। मुंगेर निवासी उक्त मरीज के संपर्क में बीते दिनों में 64 व्यक्ति आए थे जिनमें से 55 के सैंपल जांच के लिए राजेंद्र मेमोरियल रिसर्च इंस्टीट्यूट (आरएमआरआई) में भेजे गये थे। ये रिपोर्ट आने के बाद एक और मरीज में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है।मारुतिकादबदबाफ‍िरकायमसबसेज्‍यादाबिकनेवालेटॉप10मॉडल्‍समेंसे7हैंइसकेINDIA TV: इंडिया टीवी 6 हफ्तों से लगातार भारत का नंबर-1 हिंदी न्यूज चैनल, होटल ताज पैलेस में मना उपलब्धि का जश्न******HighlightsINDIA TV: इंडिया टीवी 6 हफ्तों से लगातार भारत का नंबर 1 हिंदी न्यूज चैनल बना हुआ है। नेशन्स न्यूज रेटिंग चार्ट की रेटिंग के अनुसार इंडिया टीवी को नंबर वन बनने की यह उपलब्धि हासिल हुई है। इस उपलब्धि पर नई दिल्ली के होटल ताज पैलेस में इंडिया टीवी के चेयरमैन रजत शर्मा और मैनेजिंग डायरेक्टर रितु धवन द्वारा एक शानदार पार्टी होस्ट की गई। इसमें इंडिया टीवी स्टाफ के सभी कर्मचारियों ने उत्साह से हिस्सा लिया और नंबर 1 हिंदी न्यूज चैनल बनने होेने की उपलब्धि का जश्न मनाया।बेहतरीन टीम वर्क से हासिल हुई उपलब्धिइंडिया टीवी को यह उपलब्धि देश और दुनिया में होने वाली घटनाओं के तेजतर्रार और लगातार विश्वस्नीयता से भरी रिपोर्टिंग और रिपोर्टिंग इवेंट्स के कारण हासिल हुई है। न्यूज रिपोर्टर्स, एंकर्स, प्रोड्यूसर्स, कैमरापर्सन और असाइनमेंट स्टाफ के शानदार टीम एफर्ट और ग्राफिक्स डिजाइनर्स, रिसर्चर्स, वीडियो एडिटर्स, और प्रोग्रामर्स के बेहतरीन इनपुट्स के चलते इंडिया टीवी का न्यूज प्रसारण देश के घरों में तक पहुंचा। इस उपलब्धि में सेल्स और डिस्ट्रिब्यूशन टीम का योगदान भी कम नहीं रहा।देश का सबसे लंबा चलने वाला टीवी शो है ‘आप की अदालत‘रजत शर्मा अपने दो अहम शो ‘आप की अदालत‘ और प्राइम टाइम में आने वाले शो ‘आज की बात‘ के साथ इंडिया टीवी को मजबूती प्रदान कर रहे हैं। आप की अदालत जो कि एक बेहतरीन कोर्ट के सेट की तरह सजाया जाता है, अपनी यूनिक सेट के साथ भारत का सबसे लंबा चलने वाला टीवी शो है। प्रधान मंत्री, राजनेता, फिल्मी हस्तियों से लेकर गायक और धार्मिक गुरुओं तक पिछले 29 वर्षों के दौरान आप की अदालत में हिस्सा बनते रहे हैं। एडिटर इन चीफ रजत शर्मा ने एनाउंस किया कि जल्द ही आप की अदालत के नए एपिसोड्स भी इंडिया टीवी के दर्शक देख सकेंगे। ‘आज की बात‘ हर रात प्राइम टाइम में प्रसारित किया जाता है। इसमें दिन भर की घटनाओं का पूरा विश्लेषण होता है। यह न सिर्फ आम दर्शकों द्वारा सबसे ज्यादा देखा जाने वाला खास शो है, बल्कि राजनेताओं, जजेस और अन्य दिग्गज हस्तियों को देखा जाता है।‘दर्शकों के हित की बात करना रही है हमारी प्राथमिकता‘होटल ताज पैलेस में हुए सेलिब्रेशन प्रोग्राम के दौरान रजत शर्मा ने अपने कर्मचारियों को संबोधित करते हुए कहा कि ‘ कई बार लोग देखते और सोचते हैं कि दूसरे क्या देखते हैं और इस आधार पर अपनी चॉइस बनाते हैं। जबकि इंडिया टीवी में हम अपनी बात को ताकत के साथ कहने से कभी नहीं डरते। ऐसा कुछ नहीं बताते जिससे दर्शक भ्रमित हो। हमारे दर्शकों और लोगों के हित की कोई बात है तो हम उसे जरूर बताते हैं। यही हमारी प्राथमिकता रही है।‘सफलता का कोई शॉर्टकट नहीं होताः रितु धवनइस मौके पर मैनेजिंग डायरेक्टर रितु धवन ने कहा कि ‘साहस और दृढ़ विश्वास के साथ काम करते रहें। बाधाएं जीतने के लिए होती हैं और जोखिम उठाने के लिए ही होते हैं। सफलता का कोई शॉर्टकट नहीं होता है। इंडिया टीवी ग्लोरियस जर्नी इसका एक शानदार उदाहरण है।‘इंडिया टीवी का मूलमंत्र है ‘शोर कम, खबरें ज्यादा‘। इंडिया टीवी का नंबर होना कोई सरप्राइज नहीं हैं। न्यूज टीवी इंडस्ट्री में इंडिया टीवी पिछले 18 साल से अग्रणी और ‘ट्रेंड सेटर‘रहा है।

मारुति का दबदबा फ‍िर कायम, सबसे ज्‍यादा बिकने वाले टॉप-10 मॉडल्‍स में से 7 हैं इसके

मारुतिकादबदबाफ‍िरकायमसबसेज्‍यादाबिकनेवालेटॉप10मॉडल्‍समेंसे7हैंइसकेविराट कोहली ने ICC T20I रैंकिंग में लगाई छलांग, टॉप 5 बल्लेबाजों में हुए शामिल******भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही 5 मैच की टी20 सीरीज के दूसरे और तीसरे मुकाबले में लगातार दो नाबाद अर्धशतकीय पारी खेलने वाले भारतीय कप्तान विराट कोहली को ताजा आईसीसी रैंकिंग में एक स्थान का फायदा हुआ है। कोहली T20I के टॉप 5 खिलाड़ियों में शामिल हो गए हैं। वहीं इस सीरीज में अभी तक एक रन बनाने वाले केएल राहुल को एक पायदान का नुकसान हुआ है और वह तीसरे से चौथे स्थान पर पहुंच गए हैं।आईसीसी ने हाल ही में ताजा टी20 रैंकिंग जारी की है। इस रैंकिंग में विराट कोहली 744 अंकों के साथ 5वें और केएल राहुल 771 अंकों के साथ चौथे स्थान पर है। इस सूची में इंग्लैंड के बल्लेबाज डेविड मलान 894 अंकों के साथ टॉप पर है, वहीं एरॉन फिंच और बाबर आजम क्रमश दूसरे और तीसरे स्थान पर है।बात 16 मार्च को भारत और इंग्लैंड के बीच हुए तीसरे मुकाबले की करें तो इंग्लिश टीम ने 8 विकेट से मैच जीतकर सीरीज में 2-1 की बढ़त बना ली है। पहले मार्क वुड ने अपने तेज तर्रार गेंदबाजी से तीन भारतीय बल्लेबाजों को आउट कर 156 के स्कोर पर रोकने में मदद की, वहीं उसके बाद जॉस बटलर ने नाबाद 83 रन की पारी खेलकर 10 गेंद रहते इंग्लैंड को जीत दिलाई।भारत की और से हालांकि कप्तान कोहली ने 77 रन की नाबाद पारी खेली थी, लेकिन पावरप्ले में 24 रन पर तीन विकेट खोने की वजह से भारतीय टीम बड़ा स्कोर खड़ा करने में नाकामयाब रही। कोहली के अलावा कोई भी भारतीय बल्लेबाज 25 का आंकड़ा भी पार नहीं कर पाया।इस सीरीज का चौथा मुकाबला अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में 18 मार्च को खेला जाएगा। टीम इंडिया के लिए यह मैच अहम रहने वाला है, अगर यहां टीम इंडिया हर जाती है तो वह यह सीरीज भी गंवा देगी।मारुतिकादबदबाफ‍िरकायमसबसेज्‍यादाबिकनेवालेटॉप10मॉडल्‍समेंसे7हैंइसकेकर्नाटक: सुप्रीम कोर्ट ने भाजपा से मांगी विधायकों की लिस्ट, जानें रात भर क्या हुआ****** कर्नाटक में के नेतृत्व में बीजेपी की सरकारके शपथ ग्रहण पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगानेसे इनकार कर दियाहै। कांग्रेस-जेडीएस की याचिकापर सुप्रीम कोर्ट ने शपथ पर रोक से इनकार कियाहै। यानी अब तय कार्यक्रम के मुताबिक सुबह 9 बजे येदियुरप्पा मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। करीब तीन घंटे तक तीन जजों की बेंचने सुप्रीम कोर्ट के कोर्ट नंबर-6 में इस केस की सुनवाई के बाद शपथ पर रोक लगानेसे इनकारकरदिया। बेंगलुरु में आज सुबह शपथ ग्रहण समारोह होनेवाला है। बता दें कि कर्नाटक के गवर्नर वजुभाई वाला ने सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते बीजेपी को सरकार बनाने का न्योता दिया है। जानकारी ये भी मिली है कि राजभवन में शपथग्रहण की तैयारियां भी शुरू हो गई हैं।05.55 AM आज सुबह 9 बजे तय कार्यक्रम के मुताबिक येदियुरप्पा शपथ ग्रहण कर सकेंगे05.41 AM कोर्ट ने येदियुरप्पा को 15 और 16 मई की समर्थन चिट्ठी को भी जमा कराने को कहा है5.35AM​शपथ ग्रहण के संवैधानिकआदेश को हम नहीं रोक सकते-सुप्रीम कोर्ट​5.35AM सुप्रीम कोर्ट ने दोनों पक्षों से समर्थन का पत्र मांगा5.35AM अगली सुनवाई कल सुबह10.30 बजे होगी​बीजेपी को सरकार बनाने के लिए राज्यपाल की चिट्ठी मिल गई है। बहुमत साबित करने के लिए येदियुरप्पा को 15 दिन का वक्त मिला है। इससे पहले कुमारस्वामी भी एक प्रतिनिधिमंडल के साथ मिले और राज्यपाल के सामने सरकार बनाने का दावा पेश किया था। अब येदियुरप्पा की सबसे बड़ी परीक्षा विधानसभा में बहुमत साबित करने की होगी।बीएस येदियुरप्पा को कर्नाटक की राजनीति में अहम भूमिका निभाने वाले लिंगायत का समर्थन प्राप्त नेता माना जाता है। उन्होंने बीते समय में भाजपा छोड़कर अलग पार्टी बना ली थी। इसके बाद 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले उन्होंने अपने दल ‘कर्नाटक जनता पक्ष’ का वापस भारतीय जनता पार्टी में विलय कर दिया। येदियुरप्पा का जन्म 27 फ़रवरी 1943 को मांड्या जिले के बुक्कनकेरे में हुआ था। उनके पिता का नाम सिद्धलिंगप्पा और माता का नाम पुट्टतायम्मा था। कर्नाटक के तुमकुर जिले में येदियुर स्थान पर संत सिद्धलिंगेश्वर द्वारा बनाए गए शैव मंदिर के नाम पर उनका नाम रखा गया था।कांग्रेस दो मोर्चों पर काम कर रही है। एक तरफ विधायकों को एकजुट रखना है तो दूसरी तरफ वजुभाई वाला के फैसले को चुनौती देना है। कर्नाटक की लड़ाई अब दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट के दरवाजे तक पहुंच गई है। कांग्रेस ने गवर्नर के फैसले के खिलाफ के रजिस्ट्रार के यहां अपनी अर्जी दे दी है। कांग्रेस ने मांग की है कि मामले पर आज रात को ही सुनवाई की जाए। कांग्रेस की मांग ये है कि कल होने वाली येदियुरप्पा की शपथ को रोका जाए। दिल्ली के कृष्णा मेनन मार्ग पर पुलिस की सख्ती बढ़ाई गई है। कृष्णा मेनन मार्ग पर ही चीफ जस्टिस रहते हैं।कर्नाटक में दिन भर चले सियासी घटनाक्रम के बाद कांग्रेस ने अपने सभी विधायकों को एक रिसॉर्ट में शिफ्ट कर दिया है। कांग्रेस नेता अशोक गहलोत ने कहा कि पार्टी को ये फैसला मजबूरी में लेना पड़ रहा है क्योंकि बीजेपी लगातार विधायकों को लालच देकर तोड़ने की कोशिश कर रही है। अशोक गहलोत ने कहा कि उन्हें भरोसा है कि गवर्नर जेडीएस और कांग्रेस अलायंस को सरकार बनाने का मौका देंगे।कांग्रेस ने राज्यपाल के इस फैसले की आलोचना की है। कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि राज्यपाल का कर्तव्य है कि संविधान की रक्षा हो और सुप्रीम कोर्ट का फैसला लागू होना चाहिए, जब राज्यपाल के सामने हमारी मेजोरिटी खड़ी है तब हमें मौका नहीं देना इसका मतलब है कि बीजेपी को चांस दिया जा रहा है। खऱीद-फरोख्त का मौका दिया जा रहा है। मन की बात अब धन की बात होने वाली है।गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी सबसे बड़े दल के रूप में उभरी है लेकिन बहुमत के आंकड़े से दूर रही। एक तरफ कांग्रेस और जनता दल सेक्युलर ने मिलकर सरकार बनाने का दावा ठोका है, तो दूसरी तरफ बीजेपी नेता येदियुरप्पा भी मुख्यमंत्री बनने के लिए जोर लगा रहे थे। कुल 222 सीटों में से बीजेपी को 104, कांग्रेस को 78, जेडीएस एवं बीएसपी गठबंधन को 38, और अन्य को 2 सीटों पर जीत मिली है। भाजपा ने 5 साल पहले हुए चुनाव में 40 सीटों पर जीत दर्ज की थी।

मारुति का दबदबा फ‍िर कायम, सबसे ज्‍यादा बिकने वाले टॉप-10 मॉडल्‍स में से 7 हैं इसके

मारुतिकादबदबाफ‍िरकायमसबसेज्‍यादाबिकनेवालेटॉप10मॉडल्‍समेंसे7हैंइसकेसुबह चार बजे से मतों की गिनती का काम पूरा होने तक बंद रहेगी दिल्ली की यह सड़क****** ने द्वारका के निवासियों को सूचित करते हुए एक परामर्श जारी किया है कि सेक्टर 9 में सड़क संख्या 224 बृहस्पतिवार की सुबह चार बजे से लोकसभा चुनाव के लिए मतों की गिनती का काम पूरा होने तक बंद रहेगी।निवासियों से कहा गया है कि अवरूद्ध सड़क से आने-जाने के लिए वे अपने पहचान पत्र और सोसाइटी से संबंधित दस्तावेजों को साथ लेकर चले। पश्चिम दिल्ली के लिए मतगणना केन्द्र द्वारका है और यहां खुली सड़कें हैं जिन पर भारी यातायात देखा जाता है।परामर्श में कहा गया है, ‘‘सेक्टर 9 में इंटीग्रेटेड इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के सामने सड़क संख्या 224 सेक्टर 8/9 रेड लाइट से 19/20 रेडलाइट तक सुबह चार बजे से मतगणना समाप्त होने तक बंद रहेगी।’’इस बीच राष्ट्रीय राजधानी के सभी सात संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों में मतगणना केन्द्रों के आसपास सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

मारुतिकादबदबाफ‍िरकायमसबसेज्‍यादाबिकनेवालेटॉप10मॉडल्‍समेंसे7हैंइसकेनोमूरा ने कहा अभी और घटेगी थोक मुद्रास्फीति, 2018 में औसतन 2.8 प्रतिशत पर रहेगी****** थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) पर आधारित मुद्रास्फीति आगामी महीनों में और नीचे आएगी। 2018 में यह औसतन 2.8 प्रतिशत पर रहेगी। नोमूरा की एक रिपोर्ट में यह अनुमान जताया गया है।जापान की वित्‍तीय सेवा क्षेत्र की प्रमुख कंपनी ने कहा कि सब्जियों के दाम घटने और अनुकूल आधार प्रभाव की वजह से आगामी महीनों में थोक मुद्रास्फीति और नीचे आएगी। नोमूरा के शोध नोट में कहा गया है कि आगामी सप्ताह में खाद्य वस्तुओं (सब्जियों) के दाम और घटने और ईंधन मुद्रास्फीति पर अनुकूल आधार प्रभाव से आगामी महीनों में थोक मुद्रास्फीति और नीचे आएगी। उसके बाद यह स्थिर होगी।नोमूरा का अनुमान है कि थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति 2017 के 3.1 प्रतिशत से घटकर 2018 में औसतन 2.8 प्रतिशत रहेगी।आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार थोक मुद्रास्फीति सितंबर में घटकर 2.60 प्रतिशत पर आ गई। सब्जियों की अगुवाई में खाद्य वस्तुओं के दाम घटने से मुद्रास्फीति घटी है।मारुतिकादबदबाफ‍िरकायमसबसेज्‍यादाबिकनेवालेटॉप10मॉडल्‍समेंसे7हैंइसकेसोना खरीदने का मौका हाथ से न जाने देना, WGC ने कहा अगले 30 सालों तक स्‍वर्ण बाजार का जलवा रहेगा कायम******goldवैश्विक स्वर्ण बाजार पर काम करने वाले एक निकाय के अनुसार चीन और भारत की अर्थव्यवस्थाओं के विस्तार के साथ सोने में अगले तीन दशक तक चमक तुलनात्मक रूप से बनी रहेगी।चीन के 2048 तक दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने और भारत उससे ठीक पीछे रहने का अनुमान है। (डब्ल्यूजीसी) ने अपनी एक ताजा रिपोर्ट- दीर्घकालिक वैश्विक निवेश चुनौतियों का सामना-अप्रैल 2018 में कहा है कि सोने की मांग में आभूषणों की हिस्सेदारी 50 प्रतिशत के आसपास है। उभरती हुई अर्थव्यवस्थाओं खासकर भारत और चीन की आर्थिक व्यवस्थाओं में लगातार विस्तार तथा मध्यम वर्ग के उपभोक्ताओं का अनुपात बढ़ने से सोने को समर्थन मिलेगा। भारत और चीन गोल्‍ड के सबसे बड़े खरीदार हैं।हालांकि, भू-राजनीतिक दृष्टि से अगले तीन दशक कठिन होने से सोने को लेकर उत्साह के सामने चुनौतियां भी आएंगी। रिपोर्ट में कहा गया है कि अमेरिका और चीन के बीच व्यापार टकराव जारी रहने की उम्मीद है। यूरोप को लेकर इसमें कहा गया है कि उसे आबादी की बढ़ती आयु और घटती जनसंख्या की समस्या का सामना करना पड़ सकता है। उसे अफ्रीका से अपने यहां पलायन की समस्या का भी सामना करना पड़ सकता है।परिषद ने कहा कि बढ़ती आय से प्रेरित सोने में निवेश मांग में सकारात्मक रुख रहेगा हालांकि, इसमें उतार-चढ़ाव होता रहेगा। आर्थिक तेजी और राजनीतिक तनाव के मद्देनजर अगले दशकों में सोने में निवेश का मुख्य स्त्रोत बना रहेगा।डब्ल्यूजीसी की राय में प्रौद्योगिकी में सोने का उपयोग भी बढ़ने की उम्मीद है।

मारुतिकादबदबाफ‍िरकायमसबसेज्‍यादाबिकनेवालेटॉप10मॉडल्‍समेंसे7हैंइसकेचालू वित्त वर्ष में आर्थिक वृद्धि दर 10 से 10.5 प्रतिशत रहेगी: रिपोर्ट******चालू वित्त वर्ष में आर्थिक वृद्धि दर 10 से 10.5 प्रतिशत रहेगी: रिपोर्टमुंबई: घरेलू रेटिंग एजेंसी ब्रिकवर्क रेटिंग्स ने सोमवार को चालू वित्त वर्ष 2021-22 के लिए देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में वृद्धि के अपने अनुमान को संशोधित कर 10-10.5 प्रतिशत कर दिया। इससे पहले रेटिंग एजेंसी ने नौ प्रतिशत की वृद्धि का अनुमान लगाया था। एजेंसी ने कहा कि आर्थिक वृद्धि के कई संकेतक आर्थिक गतिविधियों में उम्मीद से ज्यादा तेजी से पुनरुद्धार की ओर इशारा कर रहे हैं। क्रेडिट रेटिंग एजेंसी ने सोमवार को जारी एक रिपोर्ट में कहा, "हम वित्त वर्ष 2021-22 के लिए अपने सकल घरेलू उत्पाद में वृद्धि के अनुमान को पहले के नौ प्रतिशत से संशोधित कर 10-10.5 प्रतिशत कर रहे हैं।"एजेंसी ने वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में 7.4 प्रतिशत संकुचन के आधार पर वित्त वर्ष 2021-22 की दूसरी तिमाही के लिए जीडीपी वृद्धि 8.3 प्रतिशत (सालाना आधार पर) होने की उम्मीद जतायी है। वित्त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही में देश की जीडीपी 20.1 प्रतिशत की दर से बढ़ी। एजेंसी का मानना ​​​​है कि महामारी की तीसरी लहर ना आने पर आने वाले तिमाहियों में भी सुधार देखने को मिलेगा।रिपोर्ट में कहा गया कि टीकाकरण की तेज रफ्तार को देखते हुए संभावित तीसरी लहर के जोखिम का वृद्धि पर असर सीमित है। इसमें कहा गया, हालांकि कच्चे तेल, खनिज उत्पादों, कच्चे माल की बढ़ती लागत, कोयले की आपूर्ति में कमी आदि से वृद्धि की रफ्तार पर असर पड़ सकता है।मारुतिकादबदबाफ‍िरकायमसबसेज्‍यादाबिकनेवालेटॉप10मॉडल्‍समेंसे7हैंइसकेकानपुर में जीका वायरस के 13 नए मामले आए, कन्‍नौज में भी पहले मरीज की पुष्टि****** उत्तर प्रदेश के कानपुर में जीका वायरस के 13 और मामले सामने आए हैं। वहीं कन्नौज में भी इस वायरस से संक्रमित पहले मरीज की पुष्टि हुई है। अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी। कानपुर के जिलाधिकारी विशाख जी अय्यर ने रविवार को बताया कि कानपुर में जीका वायरस के 13 ताजा मामले आने से कुल संक्रमितों की संख्‍या 89 हो गई है। उन्‍होंने बताया कि स्‍वास्‍थ्‍य टीमों ने गुरुवार और शुक्रवार को कुल 238 व्‍यक्तियों के रक्‍त के नमूने लिए थे और उन्‍हें लखनऊ में किंग जार्ज चिकित्‍सा विश्‍वविद्यालय और पुणे की प्रयोगशाला भेजा गया था और शनिवार को मिली रिपोर्ट में 13 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई।कानपुर के चीफ मेडिकल ऑफिसर (सीएमओ) डॉ. नेपाल सिंह ने बताया कि कांटैक्ट ट्रेसिंग टीम पॉजिटिव मरीजों की रिपोर्ट बना रही है, अभी कोई मरीज गम्भीर नहीं है। हालांकि बच्चों को बाल रोग विशेषज्ञों की निगरानी में रखा जा सकता है। स्वास्थ्य विभाग ने स्क्रीनिंग और सैम्पल लेने का अभियान सघन कर दिया है। बता दें कि, कानपुर में 23 अक्‍टूबर को जीका वायरस का पहला मामला वायु सेना के एक अधिकारी में मिला था। कानपुर में कुल 79 संक्रमितों में 47 पुरुष और 32 महिलाएं हैं। वहीं डीएम विशाख जी ने नगर निगम के कमांड एंड कंट्रोल सेंटर को जीका कंट्रोल रूम में तब्दील करने का आदेश दिया है। एसीएम सप्तम दीपक पाल को उसका नोडल अफसर बनाया गया है।जिलाधिकारी विशाख जी अय्यर ने कहा कि जीका मच्छर के जरिये फैलने वाली बीमारी है, इसलिए मच्छरों से छुटकारा पाना ही सुरक्षित तरीका है। बीमारी के प्रसार को रोकने के लिए, स्वास्थ्य दल लार्वा विरोधी छिड़काव और बुखार के रोगियों की पहचान करने, गंभीर रूप से बीमार लोगों और गर्भवती महिलाओं की जांच करने सहित स्वच्छता कार्यक्रम चला रहे हैं। स्वास्थ्य अधिकारियों को घर-घर जाकर नमूने लेने को भी कहा गया है। एक अन्य अधिकारी ने बताया कि भारतीय वायुसेना स्टेशन के हैंगर की परिधि में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। अधिकारियों के मुताबिक संक्रमित व्‍यक्ति कानपुर के शिवराजपुर क्षेत्र के एक गांव मे रुकने के दौरान जीका वायरस की चपेट में आया।वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी जीका वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सख्त कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। कन्‍नौज से मिली खबर के अनुसार यहां भी एक व्यक्ति के जीका वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। अधिकारियों के मुताबिक मरीज की उम्र 45 साल है और वह कन्नौज सदर तहसील के एक गांव का रहने वाला है। स्वास्थ्य विभाग ने इस गांव को निषिद्ध क्षेत्र घोषित किया है। संक्रमित युवक के चार परिजनों के अलावा 19 लोगों के नमूने जांच के लिए भेजे गए हैं।कन्नौज के मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. विनोद कुमार ने बताया कि कानपुर में जीका वायरस संक्रमित मरीज मिलने के बाद शासन के निर्देश पर गांव में तीन नवंबर को 32 लोगों के नमूने जांच के लिए भेजे गये थे। जांच में एक व्यक्ति के संक्रमित होने की पुष्टि हुई। उन्होंने बताया कि मरीज दो हफ्ते पहले शिवराजपुर के एक गांव में गया था। वापस लौटने पर उसे जुकाम, बुखार व खांसी की शिकायत हुई। सीएमओ ने बताया कि संक्रमित मरीज अभी पूरी तरह से ठीक है।

मारुतिकादबदबाफ‍िरकायमसबसेज्‍यादाबिकनेवालेटॉप10मॉडल्‍समेंसे7हैंइसकेभारतीय रियल एस्‍टेट में बैंकों की हिस्‍सेदारी घटकर हुई 24%, प्राइवेट इक्विटी हैं सबसे बड़े भागीदार****** देश के रियल एस्‍टेट सेक्‍टर का कुल वित्त पोषण 2011 के 3.8 अरब डॉलर से 40 प्रतिशत बढ़कर 2016 में 5.4 अरब डॉलर हो गया लेकिन इस सेक्‍टर को दिए जाने वाले कर्ज में बैंकों का हिस्सा उल्लेखनीय रूप से घटा है। एक रिपोर्ट के अनुसार रियल्‍टी क्षेत्र को दिए जाने वाले कर्ज में बैंकों का हिस्सा 2010 में 57 प्रतिशत था, जो 2016 में घटकर 24 प्रतिशत रह गया।नाइट फ्रैंक इंडिया ने अपनी पूंजी बाजार रिपोर्ट के पहले संस्करण ’रियल एस्‍टेट में संस्‍थागत वित्‍त पोषण का विश्‍लेषण’ में कहा है कि पिछले कुछ साल में रियल एस्टेट क्षेत्र को बैंकों द्वारा दिए जाने वाले ऋण में काफी गिरावट आई है। 2010 में यह 50 से 57 प्रतिशत था, जो 2016 में घटकर 24 से 26 प्रतिशत रह गया।रिपोर्ट कहती है कि बढ़ती गैर निष्पादित आस्तियों (एनपीए), जोखिम के लिए ऊंचे प्रावधान तथा रियल एस्टेट सेक्‍टर में बढ़ते नुकसान की वजह से बैंकों द्वारा ऋण की पेशकश घटी है। वहीं इसकी भरपाई प्राइवेट इक्विटी (पीई) कंपनियों ने की है। रिपोर्ट में कहा गया है कि पिछले कुछ साल से रियल एस्टेट क्षेत्र की वित्त पोषण की जरूरत का करीब तीन-चौथाई हिस्‍सा प्राइवेट इक्विटी द्वारा पूरा किया जा रहा है। 2010 में यह आंकड़ा एक-चौथाई का था।वर्ष 2015 में 2010 के बाद इस क्षेत्र में सबसे अधिक पीई निवेश आया। 100 से अधिक सौदों में पीई निवेश 3.6 अरब डॉलर का रहा। नाइट फ्रैंक इंडिया के एग्‍जीक्‍यूटिव डायरेक्‍टर और प्रमुख (कैपिटल मार्केट्स) राजीव बैराठी ने कहा कि अब भारत में रियल एस्‍टेट मार्केट परिपक्‍व हो रहा है ऐसे में हमें उम्‍मीद है कि पीई आगे भी प्रमुख भूमिका निभाते रहेंगे। आरईआईटी के रूप में वाणिज्यिक संपत्ति को सार्वजनिक बाजार बनाने तथा बैंकों द्वारा एनपीए कम करने के लिए तनावग्रस्‍त संपत्ति की बिक्री ऐसे मुख्‍य कारक हैं जो भारतीय रियल एस्‍टेट मार्केट में और अधिक विदेशी पूंजी को आकर्षित करेंगे।मारुतिकादबदबाफ‍िरकायमसबसेज्‍यादाबिकनेवालेटॉप10मॉडल्‍समेंसे7हैंइसकेदिल्ली में रोज कट रहे चार-पांच हजार चालान, 'लाल-बत्ती' जम्प करना नहीं हो रहा बंद******वाहन चालान की भारी-भरकम राशि को लेकर भले ही देश भर में कोहराम मचा हुआ है, लेकिन दिल्ली में 'रेड-लाइट' जंप करने वाले बाज नहीं आ रहे हैं। इसका जीता-जागता उदाहरण है पांच दिन के वे आंकड़े, जिसे दिल्ली पुलिस ने जुटाए हैं। दिल्ली यातायात पुलिस द्वारा एक सितंबर से पांच सितंबर तक जुटाए गए आंकड़ों के मुताबिक, इन पांच दिनों में 20 से 25 हजार के बीच कुल चालान काटे गए। यानी प्रतिदिन चार-पांच हजार चालान। इनमें से सबसे ज्यादा चालान चौराहे पर 'लाल-बत्ती' पार करने वालों के कटे हैं। यह अनुमानित संख्या ढाई हजार से ऊपर बताई जाती है।इसी तरह शराब पीकर वाहन चलाने के आरोप में इन पांच दिनों में 254 लोगों के चालान कटे। जबकि सबसे ज्यादा चालान जिस मद में काटे गए, वह है बिना हेलमेट दोपहिया वाहन चलाने वालों के। ऐसे चालान की संख्या चार हजार से ऊपर है। इसी तरह करीब 1300 चालकों के चालान बिना सीट-बेल्ट के वाहन चलाने के जुर्म में काटे गए। जबकि खतरनाक तरीके से वाहन चलाने वाले जिन लोगों के चालान काटे गए, उनकी अनुमानित संख्या 1600 के करीब बताई जाती है।दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता अनिल मित्तल ने इस बारे में बताया, "सरकार कानून बनाती है। पुलिस उसे अमल में लाती है। जहां तक जुर्म से बचने की जिम्मेदारी का सवाल है, तो कुछ हद तक जनता भी इसे निभाए। वाहन स्वामियों को खुद भी सड़क पर अपनी और दूसरों की सुरक्षा के लिए सजग होना पड़ेगा, तभी सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे।"उन्होंने आगे कहा, "जहां तक पिछले पांच दिनों में यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों के चालान काटे जाने का सवाल है, तो अभी तक दिल्ली सरकार की ओर से कोई नई अधिसूचना जारी नहीं हुई है। ऐसे में बेलगाम लोगों को सड़क पर खुलेआम कुछ भी करने की छूट नहीं दे सकते। लिहाजा पुलिस ने यातायात नियमों का पालन न करने वालों का कोर्ट-चालान कर दिया है। चालान का भुगतान अदालत में ही होगा। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने मौके पर चालान काटकर जुर्माने की राशि किसी से नहीं ली है।"

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-01 06:08
उद्धरण 1 इमारत
#monsoon2017: गुजरात समेत इन इलाकों में प्री-मानसून में भारी बारिश, 9-15 जून तक सेंट्रल इंडिया पहुंचेगा******कई राज्यों में प्री-मानसून बारिश शुरू हो गई है। के मुताबिक गुजरात के कई इलाकों मेंप्री-मॉनसून बारिश ने भारी तबाही मचाई है। साथ ही, अगले तीन दिनों तक दक्षिण गुजरात, सौराष्ट्र-कच्छ, दमन, दादरा नगर हवेली में बारिश और तूफान का अनुमान लगाया है। वहीं, मौसम विभाग का कहना है 9-15 जून तक सेंट्रल इंडिया और ईस्ट इंडिया के ज्यादातर हिस्सों में मानसूनी बारिश शुरू हो जाएगी।मौसम विभाग के मेुताबिक 25-31 मई के बीच देश में सामान्य से 17 फीसदी अधिक बारिश हुई है। फिलहाल मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां सामान्य बनी हुई है। 7 जून तक मानसून साउथ पेननसुला, अरब सागर और बंगाल की खाड़ी के और हिस्सों में दस्तक दे देगा। 3 जून को पश्चिम बंगाल के कई हिस्सों में तेज हवाएं चल सकती है। साथ ही, असम, मेघालय, केरल, अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, मिजोरम, मणिपुर, त्रिपुरा, कर्नाटक के तटीय इलाके और लक्ष्यद्वीप में भारी बारिश का अनुमान है। हालांकि, राजस्थान के पश्चिमी इलाके में अभी भी गर्म हवाएं लोगों को परेशान करती रहेंगी। मौसम विज्ञान केंद्र का पूर्वानुमान है कि बिहार में 10 जून तक मानसून पहुंच जाएगा। इसके पूर्व 6 जून से बिहार के विभिन्न हिस्सों में प्री मानसून की अच्छी बारिश होने की संभावना है। मौसम विज्ञानियों ने भोपाल में इस बार पड़ी भीषण गर्मी के साथ मौजूदा स्थिति को बेहतर मानसून के तय समय से आने के लिए अनुकूल परिस्थिति बताया है। हालांकि पिछले वर्षों के आंकड़ों पर गौर करें,तो विगत दस सालों में सिर्फ 2013 में ही मानसून अपने निर्धारित समय पर आया है। मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक सब कुछ ठीक-ठाक रहने पर मानसून के 15 जून को भोपाल में दस्तक देने के संकेत दिए हैं।भोपालमें मानसून के आगमन की औसत तिथि 13 जून निर्धारित है। वरिष्ठ मौसम विज्ञानी एसके डे ने बताया कि मानसून की गतिविधियां काफी अनुकूल हैं। मौजूदा स्थिति को देखते हुए मानसून के 13 से 15 जून तक प्रदेश में दाखिल होने की पूरी संभावना हैदक्षिणी-पश्चिमी मानसून की अगर यही रफ्तार रही तो दिल्ली-एनसीआर में यह 25 जून के आसपास दस्तक दे देगा। 20 जून के आसपास प्री मानसून बारिश की भी संभावना है। हालांकि इस संबंध में कोई भी अधिकृत घोषणा सप्ताह भर बाद ही होगी।बांग्लादेश के तटीय इलाकों में आए चक्रवाती तूफान मोरा के कारण केरल और पूर्वोत्तर राज्यों में दक्षिणी-पश्चिमी मानसून समय से पूर्व आ गया है। केरल में मानसून की आधिकारिक तिथि एक जून है
2022-10-01 04:40
उद्धरण 2 इमारत
कर्नाटक: सुप्रीम कोर्ट ने भाजपा से मांगी विधायकों की लिस्ट, जानें रात भर क्या हुआ****** कर्नाटक में के नेतृत्व में बीजेपी की सरकारके शपथ ग्रहण पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगानेसे इनकार कर दियाहै। कांग्रेस-जेडीएस की याचिकापर सुप्रीम कोर्ट ने शपथ पर रोक से इनकार कियाहै। यानी अब तय कार्यक्रम के मुताबिक सुबह 9 बजे येदियुरप्पा मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। करीब तीन घंटे तक तीन जजों की बेंचने सुप्रीम कोर्ट के कोर्ट नंबर-6 में इस केस की सुनवाई के बाद शपथ पर रोक लगानेसे इनकारकरदिया। बेंगलुरु में आज सुबह शपथ ग्रहण समारोह होनेवाला है। बता दें कि कर्नाटक के गवर्नर वजुभाई वाला ने सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते बीजेपी को सरकार बनाने का न्योता दिया है। जानकारी ये भी मिली है कि राजभवन में शपथग्रहण की तैयारियां भी शुरू हो गई हैं।05.55 AM आज सुबह 9 बजे तय कार्यक्रम के मुताबिक येदियुरप्पा शपथ ग्रहण कर सकेंगे05.41 AM कोर्ट ने येदियुरप्पा को 15 और 16 मई की समर्थन चिट्ठी को भी जमा कराने को कहा है5.35AM​शपथ ग्रहण के संवैधानिकआदेश को हम नहीं रोक सकते-सुप्रीम कोर्ट​5.35AM सुप्रीम कोर्ट ने दोनों पक्षों से समर्थन का पत्र मांगा5.35AM अगली सुनवाई कल सुबह10.30 बजे होगी​बीजेपी को सरकार बनाने के लिए राज्यपाल की चिट्ठी मिल गई है। बहुमत साबित करने के लिए येदियुरप्पा को 15 दिन का वक्त मिला है। इससे पहले कुमारस्वामी भी एक प्रतिनिधिमंडल के साथ मिले और राज्यपाल के सामने सरकार बनाने का दावा पेश किया था। अब येदियुरप्पा की सबसे बड़ी परीक्षा विधानसभा में बहुमत साबित करने की होगी।बीएस येदियुरप्पा को कर्नाटक की राजनीति में अहम भूमिका निभाने वाले लिंगायत का समर्थन प्राप्त नेता माना जाता है। उन्होंने बीते समय में भाजपा छोड़कर अलग पार्टी बना ली थी। इसके बाद 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले उन्होंने अपने दल ‘कर्नाटक जनता पक्ष’ का वापस भारतीय जनता पार्टी में विलय कर दिया। येदियुरप्पा का जन्म 27 फ़रवरी 1943 को मांड्या जिले के बुक्कनकेरे में हुआ था। उनके पिता का नाम सिद्धलिंगप्पा और माता का नाम पुट्टतायम्मा था। कर्नाटक के तुमकुर जिले में येदियुर स्थान पर संत सिद्धलिंगेश्वर द्वारा बनाए गए शैव मंदिर के नाम पर उनका नाम रखा गया था।कांग्रेस दो मोर्चों पर काम कर रही है। एक तरफ विधायकों को एकजुट रखना है तो दूसरी तरफ वजुभाई वाला के फैसले को चुनौती देना है। कर्नाटक की लड़ाई अब दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट के दरवाजे तक पहुंच गई है। कांग्रेस ने गवर्नर के फैसले के खिलाफ के रजिस्ट्रार के यहां अपनी अर्जी दे दी है। कांग्रेस ने मांग की है कि मामले पर आज रात को ही सुनवाई की जाए। कांग्रेस की मांग ये है कि कल होने वाली येदियुरप्पा की शपथ को रोका जाए। दिल्ली के कृष्णा मेनन मार्ग पर पुलिस की सख्ती बढ़ाई गई है। कृष्णा मेनन मार्ग पर ही चीफ जस्टिस रहते हैं।कर्नाटक में दिन भर चले सियासी घटनाक्रम के बाद कांग्रेस ने अपने सभी विधायकों को एक रिसॉर्ट में शिफ्ट कर दिया है। कांग्रेस नेता अशोक गहलोत ने कहा कि पार्टी को ये फैसला मजबूरी में लेना पड़ रहा है क्योंकि बीजेपी लगातार विधायकों को लालच देकर तोड़ने की कोशिश कर रही है। अशोक गहलोत ने कहा कि उन्हें भरोसा है कि गवर्नर जेडीएस और कांग्रेस अलायंस को सरकार बनाने का मौका देंगे।कांग्रेस ने राज्यपाल के इस फैसले की आलोचना की है। कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि राज्यपाल का कर्तव्य है कि संविधान की रक्षा हो और सुप्रीम कोर्ट का फैसला लागू होना चाहिए, जब राज्यपाल के सामने हमारी मेजोरिटी खड़ी है तब हमें मौका नहीं देना इसका मतलब है कि बीजेपी को चांस दिया जा रहा है। खऱीद-फरोख्त का मौका दिया जा रहा है। मन की बात अब धन की बात होने वाली है।गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी सबसे बड़े दल के रूप में उभरी है लेकिन बहुमत के आंकड़े से दूर रही। एक तरफ कांग्रेस और जनता दल सेक्युलर ने मिलकर सरकार बनाने का दावा ठोका है, तो दूसरी तरफ बीजेपी नेता येदियुरप्पा भी मुख्यमंत्री बनने के लिए जोर लगा रहे थे। कुल 222 सीटों में से बीजेपी को 104, कांग्रेस को 78, जेडीएस एवं बीएसपी गठबंधन को 38, और अन्य को 2 सीटों पर जीत मिली है। भाजपा ने 5 साल पहले हुए चुनाव में 40 सीटों पर जीत दर्ज की थी।
2022-10-01 04:07
उद्धरण 3 इमारत
IND vs WI: चोट के बाद वाशिंगटन सुंदर की दमदार वापसी, वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन विकेट लेकर दिखाया अपना दम******ऊंगली में लगी की चोट के कारण पांच महीने क्रिकेट से दूर रहने वाले स्पिन गेंदबाज वाशिंगटन सुंदर धमाकेदार वापसी की है। वेस्टइंडीज के खिलाफ दमदार प्रदर्शन के बाद इस स्पिनर ने माना कि उन्होंने इन पांच महीनों के समय का इस्तेमाल खुद को बेहतर करने में किया क्योंकि बतौर खिलाड़ी यही उनके हाथ में था।वाशिंगटन इसके कारण टी20 विश्व कप में भी नहीं खेल सके लेकिन रविचंद्रन अश्विन के सफेद गेंद के खेल में निराशाजनक प्रदर्शन और उनके बाहर किये जाने के बाद उन्होंने अंतरराष्ट्रीय वापसी की और वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले वनडे में 30 रन देकर तीन विकेट चटकाये।वाशिंगटन ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘‘काफी सारी चुनौतियां थीं लेकिन मैं बतौर क्रिकेटर खुद में सुधार करने के लिये जो कुछ कर सकता था, वह करना चाहता था। यही मेरे हाथ में था और मैं इसी पर ध्यान लगाये था। ’’वाशिंगटन पिछले दो वर्षों में समझ चुके हैं कि परेशानियां आती रहेंगी लेकिन उन्हें इनसे निपटने के लिये तरीका निकालना होगा।टी20 विश्व कप के बाद कोविड-19 के कारण दक्षिण अफ्रीका की फ्लाइट चूकने वाले इस खिलाड़ी ने कहा, ‘‘हां, चुनौती हमेशा बनी रहेंगी, पिछले दो वर्षों में विशेषकर मैंने यही महसूस किया है। ’’इस युवा स्पिनर ने कहा, ‘‘लेकिन मायने यही रखता है कि मैं खुद को कैसे आगे बढ़ाता हूं, खुद को सुधार करते रहना अहम है। मैंने इस पर ध्यान लगाने की कोशिश की। ’’
वापसी